सरगुजा

निगम की खाली भवन में 100 बिस्तरीय कोरोना सेंटर शुरू करवाएं महापौर
20-Apr-2021 9:05 PM (28)
 निगम की खाली भवन में 100 बिस्तरीय कोरोना सेंटर शुरू करवाएं महापौर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 20 अप्रैल। भाजपा मंडल नगर अंबिकापुर के अध्यक्ष मधुसूदन शुक्ला ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि सदी के इस बहुत बड़े महामारी में सरगुजा संभाग के साथ पूरे छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो गई हैं।

दूरस्थ सरगुजा संभाग में चिकित्सा के अभाव को देखते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एवं तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा ने सरगुजा अंचल को मेडिकल कॉलेज के रुप में एक बहुत बड़ी सौगात दी थी, और छत्तीसगढ़़ के हेल्थ मंत्री सरगुजा से बनने पर पूरे सरगुजा संभाग को बहुत उम्मीद थी कि अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल जो स्वास्थ्य मंत्री के होम टाउन में हैं वह एक मॉडल के रुप में पूरे छत्तीसगढ़ ही नही पूरे भारत वर्ष में एक मॉडल के रुप में जाना जायेगा, परंतु इस कोरोना महामारी ने हेल्थ मंत्री की योग्यता एवं संभाग के लोगों की जीवन रक्षा की सोच को उजागर कर दिया हैं।

स्वास्थ्य मंत्री की हठधर्मिता के कारण आयुष्मान कार्ड का लाभ न मिलना एवं वैक्सीन को डंप करके रख देना,आम नागरिकों को बहुत नुकसान पहुॅचाया हैं।

नगर के प्रथम नागरिक महापौर डॉ अजय तिर्की जो स्वयं चिकित्सक है वे भी व्यवस्था सुधारने की गुहार लगा रहे है, जबकि उन्हे नगरनिगम की अनेक सर्वसुविधायुक्त भवन जो खाली पड़े है, उसमें सारी व्यवस्था उपलब्ध कराकर 100 बिस्तरीय कोविड सेंटर प्रारंभ कर शहर के लोगो की चिंता करते हुये सुविधाएं देने का प्रयास करना चाहिए और शहरीय क्षेत्रो में शत् प्रतिशत टिकाकरण करने को निगम के पूरे अमले के साथ जुट जाना चाहिए।

विगत् सवा दो वर्षो में 166 पदो पर नर्सो की भर्ती की प्रकिया पूरी कर नर्सो की कमी से मेडिकल कॉलेज अस्पताल को निजात दिलाने की बात हो या फिर इस महामारी काल में संभाग के सभी जिला अस्पतालों में वायरोलॉजी लैब के स्थापना की बात हो,ऑक्सीजन प्लांट से लेकर मरीजो को ऑक्सीजन सप्लाई देने की बात हो, टेस्टिंग होने के बाद 4 से 6 दिन में रिपोर्ट आने की बात हो, गुणवत्तापूर्वक भोजन एवं पानी की बात हो, सफाई व्यवस्था की बात हो, सभी व्यवस्था आज फेल हैं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बार-बार दौरा करने एवं मिटिंग लेने के बाद भी यहां की समस्याएं दिखी क्यों नहीं और यदि दिखी तो उसका निराकरण क्यों नहीं किया गया।

आज जब मीडिया के अनुसार 149 मौते जिला मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हो चूकी हैै, ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री का खुद निरीक्षण न कर कांग्रेस के पदाधिकारीयों की टीम भेजना लापरवाही एवं गैरजिम्मेदारी दर्शाता हैं। आज पूरे प्रदेश में 3 दिन के लिये आरटीपीसीआर कि जॉच बंद किया जाना एवं हजारों जॉच की रिपोर्ट पेंडिंग होना भी छत्तीसगढ़ सरकार की असफलता का प्रमाण हैं। ऐसे में जब छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी की विदाई हो रही थी उस समय हजारो की भीड़ और फ्री पास बांटकर रायपुर में क्रिकेट आयोजित कर छत्तीसगढ़ सरकार ने फिर से छत्तीसगढ़वासियों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर पूरे छत्तीसगढ़ को मौत के मुंह में धकेल दिया हैं। जरुरत इस बात की है कि ऑक्सीजन, आईसीयू बेड की बृद्वि आरटीपीसीआर की निरंतर अधिक से अधिक जॉच हो एवं दूसरे दिन रिपोर्ट मिले, सभी जिलो में वायरोलॉजी लैब की स्थापना हो तभी हम इस महामारी से लड़ सकेंगे। इस पुनित कार्य में भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ता बढ़-चढ़ कर सहयोग देने को तैयार हैं, उनकी भी सेवाओं का लाभ लेकर इस महामारी पर विजय पाने की जरुरत है, अन्यथा सरगुजा अंचल की जनता ऐसे घोर गलती पर कभी माफ नही करेगी।

अन्य पोस्ट

Comments