बस्तर

लॉकडाउन के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों में उड़ रही नियमों की धज्जियां
22-Apr-2021 8:23 PM (66)
लॉकडाउन के बावजूद ग्रामीण क्षेत्रों  में उड़ रही नियमों की धज्जियां

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 22 अप्रैल। नगरनार थाना क्षेत्र के कई ग्राम पंचायतों में धारा 144 व लॉकडाउन के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है।

 ज्ञात हो कि कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए बुधवार की शाम कलेक्टर ने एक सप्ताह के लॉकडाउन को बढ़ाकर 26 अप्रैल सुबह 6 बजे तक कर दिया गया है । साथ ही शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में हाट-बाजारों व दुकान बंद करने का आदेश दिया गया। बावजूद इसके भी नगरनार थाना क्षेत्र के माड़पाल व उपनपाल में लोगों की लापरवाही लगातार सामने आ रही है। बंद के आदेश के बाद भी ग्रामीण क्षेत्रों में हाट बाजार लगते हुए नजर आए, वहीं कुछ ग्राम पंचायत में दुकानें भी खुली नजऱ आई,  जहां पर न तो मास्क का उपयोग किया जा रहा है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का लोग पालन करते दिख रहे हैं।

जब ‘छत्तीसगढ़’ ने कुछ ग्रामीणों से पूछा तो उन्होंने नाम नहीं छापने के शर्त पर बताया कि हमें पता है कि कोरोना महामारी की वजह से पूरा लॉकडाउन किया गया है, वह सिर्फ शहर के लिए है। यहाँ पर कोई कार्रवाई नहीं होती। यहाँ पुलिस आती ही नहीं है।

जब इस विषय में थाना प्रभारी शिवशंकर गेंदले से जानकारी ली गई तो उनका कहना है कि मैं रोज बंद करवाता हूं मेरे आने के बाद खोल देते होंगे तो नहीं पता। पेट्रोलिंग गाड़ी में घूमता हूं एक ही गांव में दिन भर थोड़े ही घूमते रहूंगा। इस गांव से उस गांव जाना होता है,घूम-घूम के जहां-जहां दुकानें खुली रहती है वहां कार्रवाई करता हु। इसके बावजूद भी कुछ बदमाश टाइप के लोग भी हैं। बंद कराने के बाद मेरे आते ही दुकान को खोल देते हैं। मेरे थाना क्षेत्र में 56 गांव है कहां-कहां कार्रवाई करूं। अभी तक 40 से 50 दुकान व बेवजह घूमने वाले लोगों के पर कार्रवाई भी की गई है। ग्रामीणों को भी समझदारी होनी चाहिए और पंचायत के जनप्रतिनिधि का भी दायित्व बनता है कि वह आदेश का कड़ाई से पालन कराएं।

अन्य पोस्ट

Comments