बस्तर

शिक्षक व पत्नी की कोरोना से मौत, बस्तर पुलिस ने दोनों बच्चों को किया परिजनों के सुपुर्द
11-May-2021 3:54 PM (66)
 शिक्षक व पत्नी की कोरोना से मौत,  बस्तर पुलिस ने दोनों बच्चों को किया परिजनों के सुपुर्द

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
जगदलपुर,11 मई।
मदर्स डे पर बस्तर में कोरोना से एक शिक्षक व उनकी पत्नी की मौत के बाद पड़ोसियों ने इंसानियत को भी भूला दिया।दंपत्ति के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, जो पूरी तरह से स्वस्थ हैं। शिक्षक की मौत के बाद पड़ोसियों ने बच्चे को देखा तक नहीं। बच्चे काफी देर तक भूखे-प्यासे घर में ही अकेले पड़े रहे। हालांकि बाद में बच्चों को पुलिस अपने साथ ले गई। शिक्षक के परिवार वालों को इसकी सूचना दे दी गई है। 

रविवार को जगदलपुर जिले में 7 लोगों की कोरोना से मौत हुई है, इनमें से एक शिक्षक व उनकी पत्नी भी शामिल हैं। कोरोना संक्रमित शिक्षक और उसकी पत्नी की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। डॉक्टर के अनुसार कोरोना पॉजिटिव शिक्षक की मौत मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान 9 मई को हो हुई, जिसके 2 घंटे बाद ही होम आइसोलेशन में कोरोना पॉजिटिव पत्नी की भी मौत हो गई। 

डॉक्टर के अनुसार 49 वर्षीय शिक्षक बास्तानार के सरकारी स्कूल में पदस्थ थे। गत 6 मई को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद गंभीर अवस्था में उन्हें मेडिकल कॉलेज लाया गया था। उनकी पत्नी को भी किलेपाल में होम आइसोलेशन में रखा गया था। पति का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा था, जहां 9 मई की सुबह उनकी मौत हो गई, इसके थोड़ी देर बाद पत्नी की भी मौत हो गई। दोनों के दो छोटे-छोटे बच्चे भी हैं। शिक्षक रायगढ़ के रहने वाले थे। 

स्थानीय लोगों का कहना है कि कोरोना से पति-पत्नी की मौत ने लोगों में भय पैदा कर दिया है। मृतक शिक्षक मूलत: रायगढ़ के रहने वाले थे। दंपति के शव को मर्च्यूरी में रखा गया था। प्रशासन ने उनके परिजनों को उनकी मौत की सूचना दे दी है। कोविड से दंपति की हुई मौत के बाद पूरे बास्तानार इलाके में गम का माहौल है। बस्तर में लॉकडाउन के बावजूद भी हर दिन बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान की जा रही है। हर रोज 6 से अधिक लोगों की जान कोरोना से जा रही है।

बस्तर सांसद ने की मदद की पहल

कोरोना से शिक्षक व उनकी पत्नी की मौत से दो मासूम बच्चों की मदद के लिए सांसद दीपक बैज सामने आये व  बच्चों ंको एक महीने का आधा वेतन देने का ऐलान भी किया है, साथ ही भविष्य में हर संभव मदद करने  का आश्वासन भी बस्तर सांसद ने दिया।

जब इस विषय मे कोड़ेनार थाना प्रभारी संतोष सिंह से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि मृतक भागीरथी ओगरे जिला रायगढ़ के रहने वाले थे, जो कि विगत 10 वर्षों से बस्तानार के हायर सेकेंडरी स्कूल मे पदस्थ थे और 4 वर्षों से अब तक प्रिंसिपल के प्रभार में थे। नौ मई को कोरोना के चलते दंपत्ति की मौत हो गई, जिसके बाद निगम कर्मचारियों द्वारा दंपत्ति का अंतिम संस्कार जगदलपुर में किया गया। दोनों बच्चे हमारे पास थे। मृतक के परिजनों को सूचना दी गई, जिसके बाद दोनों बच्चों को सोमवार को परिजनों के सुपर्द किया गया।
 

अन्य पोस्ट

Comments