बस्तर

शिक्षकों को फ्रंटलाइन वर्कर का मिले दर्जा
11-May-2021 9:50 PM (44)
शिक्षकों को फ्रंटलाइन वर्कर का मिले दर्जा

  पूर्व युवा आयोग अध्यक्ष भंजदेव ने की सीएम से मांग    

जगदलपुर, 11 मई। कोरोना आपदाकाल में चिन्हांकित फ्रंटलाइन वर्कर्स के अलावा इस लड़ाई में प्रदेश के प्रधानाचार्य एवं समस्त शिक्षकों चाहे सरकारी हो या प्राइवेट की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही है। हम मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से यही माँग करते हंै कि सभी को कोरोना फ्रंट लाइन वॉरियर्स का दर्जा दिए जाने की मांग करता हूं।

पूर्व युवा आयोग अध्यक्ष कमल चंद भंजदेव ने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों की ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से आज भी पढ़ाई करवा रहे है, ऐसे कुछ शिक्षक भी है, जो स्कूल जाकर ऑनलाइन के क्लास ले रहे हैं, जहाँ सुविधा नहीं है जैसे मोबाइल या लैपटॉप नहीं है, इन्हें भी प्रथम श्रेणी का दर्जा मिलना चाहिए, ताकि वे भी वैक्सीन अपने परिवार के साथ लगा सकें, ताकि हमारे बच्चों को जो शिक्षा मिलनी है, वो मिलती रहे, ताकि उनके स्वास्थ्य का भी ख्याल रखा जाए। प्रधानाचार्य एवं छतीसगढ़ के शिक्षकों को फ्रंट लाइन वर्कर मानते हुए उनके परिजनों को कोविड टीकाकरण में प्राथमिकता दें। वर्तमान में कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों के द्वारा अपनी जान को जोखिम में डालकर जिस तरह से बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं, उसे देखते हुए छत्तीसगढ़ के समस्त प्रधानाचार्य एवं शिक्षकों को फ्रंटलाइन वर्कर मानते हुए वैक्सीनेशन में प्राथमिकता देने की मांग करता हूं।

अन्य पोस्ट

Comments