सरगुजा

जलजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए करें जरूरी इंतजाम- कलेक्टर
13-Jun-2021 9:20 PM (53)
 जलजनित बीमारियों की रोकथाम के  लिए करें जरूरी इंतजाम- कलेक्टर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 13 जून।
कलेक्टर संजीव कुमार झा ने शनिवार को एसडीएम, जनपद सीईओ तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ऑनलाइन बैठक लेकर जलजनित बीमारियों के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बरसात में जलजनित बीमारियों के संक्रमण का खतरा आदिवासी बाहुल्य दुर्गम गांवों में बढ़ जाता है। ऐसे गांवों में अभी से ही दवाई की पर्याप्त उपलब्धता और मेडिकल टीम का गठन सनिश्चित करें।

कलेक्टर ने कहा कि जिले के मैनपाट, सीतापुर, बतौली, लुण्ड्रा, लखनपुर तथा उदयपुर के कुछ बसाहटों में शुद्ध पेयजल की उपलब्धता नही होने पर वहां जल जनित रोग फैलने की आशंका बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि जिन बसाहटों में ढोढ़ी या कुंआ का पानी पीने के लिए उपयोग किया जाता है वहां क्लोरीनिकरण कराएं एवं क्लोरिन का टेबलेट भी बांटें। लगातार जन जागरूकता अभियान चलाएं और सबसे महत्वपूर्ण सूचना तंत्र को मजबूत करें। सूचना तंत्र के रूप में वर्तमान में ग्राम कोरोना निगरानी दल गठित है उन्हें सक्रिय करें। किसी भी बसाहट में किसी की तबीयत खराब होती है तो तत्काल बीएमओ को सूचना मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम अपने अनुभाग के जनपद सीईओ एवं बीएमओ की बैठक लेकर व्यापक रणनीति बनाएं। कलेक्टर ने कहा कि बरसात में ग्रामीण क्षेत्रो में सांप काटने की घटना भी बढ़ जाती है। इसके उपचार के लिए सभी स्वास्थ्य केंद्रों में एन्टीवेनम की उपलब्धता सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने कोविड टीकाकरण की समीक्षा करते हुए कहा कि जिन गांवों में ज्यादा लोग टीकाकरण के लिए शेष है वहां जनजागरूकता अभियान एवं लोगो को समझाईश देकर सभी का टीकाकरण कराएं। जनपद सीईओ अपने अधीनस्थ सभी सचिव, रोजगार सहायक, तकनीकी सहायक और आंगनबाड़ी कार्यक्रताओं का टीकाकरण सनिश्चित करे। बताया गया कि अब तक 582 में से 398 गांव कोरोना मुक्त हो गए है लेकिन अभी भी करीब 25 प्रतिशत गांवों में कोरोना संक्रमित हैं।

बैठक में जिला पंचायत सीईओ विनय कुमार लंगेह, अपर कलेक्टर एएल धु्रव, श्रीमती तनूजा सलाम, एसडीएम, सीएमएचओ, बीएमओ, जनपद सीईओ सहित निगरानी दल के सदस्य ऑनलाइन जुड़े थे।

 

अन्य पोस्ट

Comments