कोरिया

नया सत्र शुरू, लेकिन स्कूलों में सन्नाटा
16-Jun-2021 8:47 PM (87)
नया सत्र शुरू, लेकिन स्कूलों में सन्नाटा

बैकुंठपुर, 16 जून। राज्य के स्कूल शिक्षा विभाग ने 16 जून से नये शिक्षा सत्र की शुरूआत कर दी, लेकिन इस वर्ष पहली बार शिक्षा सत्र की शुरूआत में शिक्षक व छात्र विद्यालयों में नहीं रहेंगे। वहीं जिले में शुरू हुए 16 जून से शिक्षा सत्र में शिक्षकों के स्कूलों में उपस्थित होने के संबंध में आदेश जारी नहीं हो पाया। जिसके संबंध में शिक्षकों के वाट्सअप ग्रुप में कोई आदेश प्रसारित नहीं होने के कारण नये शिक्षा सत्र के पहले दिन स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति भी नहीं रही।

जानकारी के अनुसार कोरिया जिले में आदेश जारी नही होने के कारण कई विद्यालयों में शिक्षक नहीं पहुंचे वहीं जिले के कई स्कूल ऐसे रहे, जहां शिक्षक पहुंचे और आवश्यक साफ-सफाई में लगे रहे। इस बार स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा तय समय में शिक्षा सत्र की शुरूआत कर दी। इस तरह इस बार प्रवेश उत्सव भी शिक्षा सत्र शुरू होने के साथ नहीं मनाया गया।

 शिक्षा विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार नये शिक्षा सत्र में आगामी आदेश तक बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जा रहा है। सिर्फ शिक्षक स्कूल जाएंगे और प्रवेश संबंधी प्रक्रिया करने, पुस्तक वितरण, स्थानांतरण प्रमाण पत्र देने, प्रगति पत्रक देने आदि कई तरह के कार्य करेंगे। 
उल्लेखनीय है कि गत शिक्षा सत्र में भी कोरोना संक्रमण के चलते स्कूलों का संचालन नहीं हुआ। सत्र के बीच में बड़े कक्षाओं के विद्यार्थियों को स्कूल कुछ दिनों तक बुलाया गया था, लेकिन फिर कोरोना संक्रमण बढऩे के कारण बड़े विद्यार्थियों को भी बुलाना बंद कर दिया गया। बीते शिक्षा सत्र में सभी कक्षाओं के विद्यार्थियों को जनरल प्रमेाशन देकर अगली कक्षा में प्रोन्नत कर दिया गया। वहीं 10 की परीक्षा स्थागित कर दी गयी थी और असाईमेंट के आधार पर उत्तीर्ण किया गया तथा 12 वी बोर्ड की परीक्षा विद्यार्थियों को घर बैठे देने की सुविधा प्रदान की गयी थी।

सत्र की शुरूआत हुई लेकिन स्कूलों में सन्नाटा
शिक्षा विभाग द्वारा 16 जून से शिक्षा सत्र की शुरूआत कर दी है, लेकिन इस दिन बच्चों के विद्यालय नहीं आने  के आदेश के कारण बच्चे विद्यालयों में नहीं आये जिससे कि इस बार शिक्षा सत्र की शुरूआत तो हुई, लेकिन पहले ही दिन विद्यालयों में सन्नाटा पसरा रहा। जब तक विद्यालयों में विद्यार्थियों की उपस्थिति नहीं होगी, तब तक विद्यालयों में सन्नाटा ही रहेगा। इस दौरान सिर्फ शिक्षकों के स्कूल आने के आदेश है।

आमाराईट योजना के तहत पढ़ाई से जोड़ा
शिक्षा विभाग द्वारा कक्षा पहली से कक्षा 12 तक के विद्यार्थियों को अवकाश के दिनों में भी घर में पढ़ाई से जुड़े रहे, इसके लिए उक्त कक्षाओं के सभी विद्यार्थियों को आमाराईट योजना के तहत होम वर्क करने के लिए विभिन्न विषयों से संबंधित प्रश्न प्रदान किये, जिसे विद्यार्थी घर बैठकर प्रश्नों के उत्तर लिखेंगे और स्कूलों में जमा करेंगे, जिसकी जांच कर चालू शिक्षा सत्र के अंतिम में प्रगति पत्र में दर्ज किये जाएंगे।

अन्य पोस्ट

Comments