बलौदा बाजार

अच्छी बारिश से फसल को मिली संजीवनी, रोपाई बियासी निदाई का काम होगा शुरू, किसान खुश
24-Jul-2021 9:07 PM (110)
अच्छी बारिश से फसल को मिली संजीवनी, रोपाई  बियासी निदाई का काम होगा शुरू, किसान खुश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कसडोल, 24 जुलाई।
क्षेत्र में हुई अच्छी बारिश ने खेतों के पीले पड़ रहे मुरझाए फसल को फिर से हराभरा होने का अवसर दे दिया है। किसानों के मुरझाए चेहरों में खुशियाली लौट आई है। क्षेत्र में बारिश के बाद अब रोपाई निंदाई बियासी का काम जोरों से शुरू हो जाएगा।

कसडोल पूरा क्षेत्र, जिसमें तहसील के 2 नगरपंचायत टुंड्रा एवम कसडोल सहित 118 ग्राम पंचायतों के 230 गांव बारिश नहीं होने से फसल बर्बाद होते देख चिंता में पड़ गए थे। सूखे खेतों में दरार पडऩें लगे थे। खेती किसानी का काम जो 15 दिनों से रुक गया था अब जोरों से शुरू हो जाएगा। बीती रात भर हुई बारिश से पूरे क्षेत्र को कमोवेश लाभ मिला है। अभी भी बादलों का लुका छिपी जारी रहने से  क्षेत्रों में वर्षा की संभावना बनी हुई है। अच्छी बारिश से पूरा क्षेत्र लाभान्वित कसडोल तहसील क्षेत्र के सभी 230 ग्रामों में 15 दिनों से बारिश थमा हुआ था। किंतु रविवार को दिन 12 बजे से 3 बजे शाम तक 3 घण्टे की 20 एम एम हुुुई। अच्छी बारिश का लाभ मैदानी क्षेत्रों को ही मिला था। 

कसडोल नगर के अलावा आसपास के हटौद असनीद खरहा बम्हनी बैगन्दबरी खररी बिलारी कोहत्र चरौदा कोट पीसीद सेल कटगी सर्वा बैजनाथ आदि 50 ग्रामों को लाभ मिला था। इसी तरह मैदानी क्षेत्र के ही टुंड्रा तथा आसपास के हसुवा बलौदा बरपाली गिधौरी कुम्हारी नरधा बरेली मोहतरा कौवाताल गिरौद आदि 30, 40 गांव को फायदा मिंला है। मिली विश्वस्त सूत्रों के अनुसार सोनाखान 18 टोला अर्जुनी महराजी 12 गांव राजादेवरी क्षेत्र के 42 गांव तथा बार नवापारा अभयारण्य क्षेत्र के 20 गांव एवम बोरसी पुटपुरा अर्जुनी बलदाकछार औरई खुड़मुड़ी आदि 20-25 ग्रामों में बारिश से वंचित रहना पड़ा था जिसे रातभर हुई बारिश नें फसल के लिए संजीवनी का काम किया है।

राजादेवरी क्षेत्र में निजी सिंचाई बोर की अधिकता से बचाया जा रहा है, किंतु शेष ग्रामो को फसल बचाने जल्द बारिश की जरूरत है। गौरतलब हो कि 4 एवं 5 जुलाई तक 622 एम एम जिले की सर्वाधिक वर्षा रिकार्ड हुई है। जिसके बाद से 15 दिनों तक बारिश के अभाव में इन इलाकों की फसल पानी के लिए तरस रहा था, जिसे नया जीवन मिंला है। पूरे क्षेत्र में अब निंदाई बियासी रोपाई का काम शुरू हो जाएगा। किसानों के मायूस चेहरों में अब खुशी लौट आई है।
 

अन्य पोस्ट

Comments