सरगुजा

कांग्रेस पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने बृहस्पति के खिलाफ किया निंदा प्रस्ताव पारित, बर्खास्तगी की मांग
27-Jul-2021 7:26 PM (70)
कांग्रेस पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने बृहस्पति के खिलाफ किया निंदा प्रस्ताव पारित, बर्खास्तगी की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 27 जुलाई। अविभाजित सरगुजा के कांग्रेस पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, पूर्व जनप्रतिनिधियों ने रामानुजगंज विधायक बृहस्पति सिंह के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर उन्हें कांग्रेस से निष्कासित करने की मांग की है।

विधायक बृहस्पति सिंह विगत तीन दिन से स्वास्थ्य पंचायत मंत्री टीएस सिंह देव पर अपनी हत्या का षड्यंत्र रचने का आरोप लगा सुर्खियों में आये थे। शुरुआती चुप्पी के बाद आज टीएस सिंह देव समर्थकों ने बृहस्पत सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। उनके गृह जिले बलरामपुर सहित सरगुजा, सूरजपुर और कोरिया जिला की जिला एवं ब्लॉक कांग्रेस कमिटी के पदाधिकारियों, कांग्रेस के सभी अनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारियों, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, पार्षदों, जिला और जनपद सदस्यों पूर्व विधयकों ने अलग-अलग बैठक कर निंदा प्रस्ताव पारित कर कांग्रेस हाईकमान को पत्र भेज कर बृहस्पति सिंह के निष्कासन की मांग की है। सरगुजा जिला मुख्यालय में सरगुजा जिले के कांग्रेसजनों की बैठक हुई।

 20 सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष अजय अग्रवाल ने निंदा प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए कहा कि बृहस्पति अनर्गल तथ्य हीन और निराधार बातें कर न सिर्फ टीएस सिंह देव बल्कि कांग्रेस कमजोर कर रहे हैं। सरगुजा सहित प्रदेश की जनता वृहस्पति सिंह के चरित्र तथा टी एस सिंह देव के कार्य व्यवहार को बखूबी समझती है।

महापौर अजय तिर्की ने प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि जिस तरह की बयानबाजी बृहस्पति सिंह द्वारा की गई, वह कोई मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति ही कर सकता है। कोरोना काल के बाद उनकी दिमागी हालत खराब हो गई है। साधारण रोडरेज घटना जो उनके फॉलो गार्ड के साथ अंबिकापुर के बंगाली चौक में घटित हुई थी, उसे सियासी रंग देकर मीडिया व सोशल मीडिया में अनर्गल प्रलाप कर झूठी ब्यानबाजी करने तथा आधारहीन गंभीर आरोप लगाकर सरगुजा संभाग में पार्टी को स्थापित करने में पूरा जीवन समर्पित करने वाले वरिष्ठ नेता व स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव की छवि को धूमिल करने की जो साजिश रची गई है उसकी सभी जगह निंदा हो रही है।

बैठक में पदाधिकारियों तथा सदस्यों ने पार्टी संगठन के खिलाफ निरंतर कुत्सित षड्यंत्र रचने तथा पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलग्न रामानुजगंज विधायक बृहस्पति सिंह के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया । इसकी प्रति कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजी गयी। यह मांग की गई है कि पार्टी फोरम से हटकर अनर्गल बयानबाजी कर अनुशासनहीनता करने वाले विधायक बृहस्पति सिंह को तत्काल कांग्रेस पार्टी से निष्कासित किया जाए।

 निंदा प्रस्ताव में उल्लेखित है कि विधायक बृहस्पति सिंह हमेशा पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहते हैं। टिकट न मिलने पर दो बार कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी के विरुद्ध निर्दलीय विधान सभा का चुनाव लड़ चुके हैं। विगत 5 विधानसभा चुनाव में जब उन्हें टिकट नहीं मिला तो कांग्रेस प्रत्याशियों ने उन पर भाजपा को मदद पहुचाने की शिकायत दर्ज करायी है। कांग्रेस पार्टी का विधायक रहते विगत लोकसभा एवं जिला पंचायत चुनाव में भी उन पर भाजपा को मदद करने का आरोप कांग्रेस प्रत्याशियों ने लगाया था। जबकि टीएस सिंह देव व उनका परिवार हमेशा से कांग्रेस के प्रति निष्ठावान रहा है। पीढिय़ों से इनका परिवार सरगुजा संभाग में कांग्रेस को स्थापित करने के लिए समर्पित रहा है।

टीएस सिंहदेव स्वयं तीसरी बार छत्तीसगढ़ विधान सभा में विधायक और वर्तमान में स्वस्थ्य, पंचायत सहित आधा दर्जन महत्वपूर्ण विभागों के मंत्री हैं। पिछले चुनाव में जन घोषणा पत्र समिति के संयोजक और परिवर्तन यात्रा के प्रभारी रहे। झारखंड विधानसभा चुनाव में स्क्रीनिंग कमिटी के अध्यक्ष और ओडिशा के प्रभारी के रूप में कार्य किया। इनकी माता स्व. देवेंद्र कुमारी सिंह देव अविभाजित मध्य प्रदेश में मंत्री रह चुकी हैं। पिता स्व.एमएस सिंह देव मध्यप्रदेश में राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष रहे हैं। वर्तमान में इनकी बहन आशा कुमारी हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस विधायक और कांग्रेस वर्किंग कमिटी की सदस्य हैं। देश भर की महिला विधायकों में सबसे ज्यादा बार चुनाव रिकार्ड उनके नाम है। भतीजे आदित्येश्वर सिंह देव कांग्रेस के डाटा एनालिसिस विभाग एवं एआईसीसी मेम्बर हैं।सरगुजा जिला पंचायत में लोक निर्माण विभाग के सभापति हैं। सरगुजा संभाग में कांग्रेस सभी 14 विधान सभा, अधिकांश जिला पंचायत और नगरीय निकायों में जीतती रही है इसके पीछे टीएस सिंह देव का कुशल नेतृत्व बड़ा कारण है। उनके सभ्य,सरल,सहज,उदार व्यक्तित्व से समूचा छत्तीसगढ़ वाकिफ़ है।

प्रस्ताव में आगे कहा गया है कि विधायक बृहस्पत सिंह के द्वारा मीडिया में निरन्तर झूठ बोलकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने वाले कृत्य से सरगुजा की जनता बहुत व्यथित तथा आक्रोशित है, इसलिये उनके खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्यवाही कर तत्काल पार्टी से निष्कासित किया जाये।

 जिला और ब्लॉक कांग्रेस कमिटियों के अतिरिक्त जिले की सहकारी बैंकों, नगर निगम व नगर पंचायत के पार्षदगण, जिला और जनपद पंचायत सदस्यों, महिला कांग्रेस,एनएसयूआई, यूथ कांग्रेस,सेवादल,अजा,अजजा, पिछड़ा वर्ग,अल्पसंख्यक कांग्रेस व्यापार,चिकित्सा विधि प्रकोष्ठ,असंगठित कामगार कांग्रेस अन्य अनुषांगिक संगठनों ने निंदा प्रस्ताव पारित कर बृहस्पति सिंह के बर्खास्तगी की मांग की।

आज की बैठक में प्रदेश महामंत्री द्वितेंद्र मिश्र, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष हेमंत सिन्हा, श्रीमती नीता विश्वकर्मा ,सफीक खान अरविंद सिंह ,हेमंत तिवारी मोहम्मद इस्लाम ,संध्या रवानी, सीमा सोनी ,हेमंती प्रजापति, जनार्दन त्रिपाठी,सैयद अख्तर हुसैन,आशीष वर्मा, मधु दीक्षित ,सुदामा कुर्रे संजीव मंदिल वार ,बीजू गुप्ता,अविनाश, सुधांशु गुप्ता रशीद अंसारी ,शांतनु मुखर्जी निक्की खान, नितेश चौरसिया शमा परवीन ,रूही गजाला अंजना केरकेटा ,गीता रजक कुसुम मिंज,नुसरत फातिमा ,भूपेंद्र सिंह ,जॉन लकड़ा अरुण मिंज,सतीश बारी,आशीष जयसवाल, आलोक सिंह, शैलेंद्र प्रताप सिंह ,पूर्णिमा सिंह ,रियाजुल हक ,सुभाष पैकरा,आनंद तिग्गा,विनोद एक्का प्रभात रंजन सिन्हा सहित कांग्रेस जन उपस्थित थे।

अन्य पोस्ट

Comments