छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

Previous12345Next
04-Aug-2020 7:02 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 4 अगस्त।
भगवान श्रीराम की जन्म स्थली अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर निर्माण हेतु भूमि पूजन 5 अगस्त बुधवार को किया जा रहा है। भगवान श्रीराम का वन गमन मार्ग में पडऩे वाले छत्तीसगढ़ प्रयाग, धर्म नगरी राजिम में भी जबरदस्त उत्साह देख ने को मिल रहा है और इस दिन कई धार्मिक कार्यक्रम होंगे। दीप जलाने की तैयारी जोर शोर से की जा रही है। इसके लिए सभी धार्मिक, सामाजिक और व्यावसायिक संगठन लगे हुए है। इसकी तैयारी के परिप्रेक्ष्य में पूर्व सांसद चंदूलाल साहू ने शनिवार को भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक लेकर अन्य कार्यक्रमों के आयोजन की तैयारी हेतु दिशा निर्देश दिए। 

श्री साहू ने बताया कि बजरंग अखाड़ा में बुधवार की शाम 5 बजे से रामायण मंडलियों द्वारा रामायण का पठन किया जाएगा और विभिन्न संगठनों द्वारा दीप जलाए जाएंगे। बजरंग अखाड़ा स्थल, पंडित सुन्दरलाल शर्मा चौक, शिवाजी चौक, नेताजी चौक, गायत्री मंदिर, श्री राजिव लोचन मंदिर, मां महामाया मंदिर, बाबा गरिब नाथ महादेव मंदिर सहित अन्य स्थानों में 501 दीप जलेंगे। इसके अलावा घरो में भी शाम को दीप जलाए जाएंगे। 

बजरंग अखाड़ा के संरक्षक महेश यादव ने बताया कि गायत्री परिवार, मां महामाया शीतला प्रबंध समिति, किसान सेवा समिति, प्रजापति ब्रम्हाकुमारी, व्यापारी संघ, किराना, कपडा सर्राफा, हार्डवेयर, होटल, जनरल, पान, सैलुन, फुटकर, थोक सब्जी, व्यापारी, अधिवक्ता संघ, बेरोजगार संघ, श्री राजिव लोचन कुलेश्वर नाथ बोल बम कंावरिया संघ, नवचेतना युवा मंच संघ सहित नगर के सामाजिक धार्मिक संस्थाओं के लोग दीपोत्सव में शामिल होंगें और दीप जलाएंगे तथा बजरंग अखाड़ा परिसर में इसी दिन जिम का शुभारंभ भी किया जाएगा। बजरंग दल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख तुषार कदम ने बताया कि श्री राजिव लोचन मंदिर, श्री रामचंद्र मंदिर में भी दीप जलाए जाएंगे।


04-Aug-2020 7:01 PM

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजिम, 4 अगस्त। शनिवार को शहर के आमापारा स्थित भोज राम साहू के घर में दिनदहाड़े लूट के आरोपियों का घटना के 3 दिन बाद सुराग नहीं मिला है। 

पुलिस शहर में लगे सीसीटीवी को खंगाल रही है। वहीं आरोपियों की तलाशी के लिए गरियाबंद एसपी भोजराम पटेल के निर्देशन में 4 टीम बनाई गई है। एक टीम में चार सदस्य हैं। इस तरह 16 पुलिसकर्मी आरोपियों को पकडऩे में लगे हुए हैं। जांच में सहायता हेतु पिछले महीने राजिम से गरियाबंद तबादला हुआ निरीक्षक विकास बघेल को भी राजिम बुलाया गया है। 

पुलिस का एंगल भोज राम साहू के व्यवसाय से जुड़े और गांव से जुड़े कुछ बिंदुओं पर है। चूंकि भोजराम के गृह ग्राम परसदा जोशी पितई बंद रोड में ही 7 किलोमीटर दूर पर स्थित है।बताया जाता है कि दोनों लुटेरों भोज राम के घर में 20 मिनट तक रहे और पोखरा हथखोज की ओर बाइक से जाते हुए देखे गए हैं। पुलिस का अनुमान है कि यह रोड पोखरा से टीला चंपारण होकर आरंग से रायपुर जाया जाता है। दूसरा हथखोज, बरोंडा होकर महासमुंद जाता है। 

बहरहाल पुलिस सीसीटीवी खंगाल रही है। इसमें दोनों लुटेरों दिख रहे हैं। मामले में पुलिस संदेहियों को पकडक़र पूछताछ कर रही है। वहीं घटना के बाद परिवार के सदस्य सदमे में हैं।
 


04-Aug-2020 7:00 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 4 अगस्त।
पुलिस ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली द्वारा वितरण किए जाने वाले 60 बोरा चावल व 100 बोरा चना का अवैध परिवहन करते एक पिकअप को जब्त कर खाद्य विभाग के सुपुर्द किया है। 

उक्त मामला गरियाबन्द जिला अंतर्गत फिंगेश्वर थाना क्षेत्र के पुरैना चौक का है। रविवार रात्रि तकरीबन 1 से 1.30 बजे करीब पुलिस गश्त के दौरान कुण्डेल से राजिम मार्ग पर पिकअप में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत गरीबों को दिए जाने वाला चावल एवं चना जिसमें 100 बोरा चना एवं 60 बोरा चावल बिना कागजात के अवैध परिवहन करते पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस द्वारा चालक से कागजात पूछा गया, किन्तु कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किये जाने पर वाहन सहित राशन को फिंगेश्वर पुलिस थाना लाया गया। कार्रवाई के लिए जिला खाद्य अधिकारी के सुपुर्द कर विवेचना के लिए प्रस्तुत किया गया है।उपरोक्त संबंध में जिला खाद्य अधिकारी का कहना है कि राशन सामग्री कहां से लाई गई और कहां ले जाई जा रही थी, इसकी जांच के बाद ही खुलासा होगा। 

वेदवती दरियो एसएचओ फिंगेश्वर ने बताया कि रात्रि गश्त के दौरान पुरैना चौक पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली में दिये जाने वाले चावल एवं चना राशन सामग्री से भरी पिकप वाहन रोक कर पूछताछ करने पर माकूल जवाब नहीं दिये जाने, दस्तावेज नहीं होने पर अग्रिम कार्यवाही थाना लाकर खाद्य विभाग को सौंपा गया है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जिला खाद्य अधिकारी एच आर डडसेना ने बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में वितरण किये जाने वाले चावल एवं चना से भरी पिकप वाहन से अवैध परिवहन किया गया है। विवेचना के बाद ही पता चल पायेगा।
 


04-Aug-2020 4:41 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 4 अगस्त। सोमवार को नगर पालिका द्वारा रक्षाबंधन पर कोरोना संक्रमण के मद्देनजर एक रक्षासूत्र मास्क का अभियान चलाया गया। पालिका के जनप्रतिनिधियों ने महिलाओं और महिला पुलिसकर्मियों को मास्क वितरण किए और रक्षाबंधन के अवसर पर अपने भाईयों को रक्षा सूत्र के साथ ही मास्क भी बांधने की अपील की। 

अभियान को लेकर सुबह से ही नगर पालिका अध्यक्ष गफ्फु मेमन के नेतृत्व में जनप्रतिनिधि सड़कों और चौक-चौराहों में मास्क बांटते दिखे। जनप्रतिनिधियों ने नगर के मुख्य चौक चौराहों, स्थानीय बाजार और सड़कों पर आवा जाही कर रही महिलाओं को मास्क देकर उन्हें रक्षाबंधन की बधाई देते हुुए रक्षा सूत्र के रूप में एक मास्क भी बांधने की अपिल की।

ज्ञात हो कि इस समय पूरा देश कोरोना संकटकाल से गुजर रहा है। ऐसे में कोरोना से बचने के लोगों को मास्क लगाने की हिदायत दी गई है। इसे लेकर रक्षाबंधन पर नपा अध्यक्ष ने यह अभियान चलाने का निर्णय लिया ताकि इस पवित्र त्यौहार के अवसर पर कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए अच्छा संदेश लोगों के बीच जाए। 

'छत्तीसगढ़' से में नगर पालिका अध्यक्ष गफ्फु मेमन ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते सुरक्षा की दृष्टि से मास्क लगाना जरूरी है। हमारे द्वारा भाई बहन के बंधन के पवित्र त्यौहार पर एक रक्षासूत्र मास्क का भी बांधने की अपील की गई है। यह एक जागरूकता अभियान भी है जिससे लोग कोरोना के प्रति सावधानी भी बरतें और घर से बाहर निकलने के पहले स्वयं मास्क लगाकर निकलें ताकि व्यक्ति खुद भी सुरक्षित हो और इससे अन्य लोग भी सुरक्षित हो। 

इस अवसर पर उनके साथ नगर पालिका के उपाध्यक्ष सुरेन्द्र सोनटेके, सभापति आसिफ मेमन, वंष गोपाल सिन्हा, नीतु देवदास, पार्षद रितिक सिन्हा, विमला साहू और छगन यादव भी मौजूद थे।  

 


04-Aug-2020 3:37 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
छुरा, 4 अगस्त। गरियाबंद जिले के छुरा ब्लॉक के दुल्ला संकुल टोनही डबरी प्राथमिक स्कूल के प्रधानपाठक खोरबाहरा दीवान की सेवानिवृत्ति पर ऑनलाइन विदाई दी गई है। 

प्रधानपाठक श्री दीवान की नियुक्ति 7-8-1979 में हुई थी, वे 31 जुलाई 2020 को सेवानिवृत्त हुए। कोरोनाकाल में स्टाफ एवं अन्य शिक्षकों ने शासन के नियमों का पालन करते हुए उनको सम्मानपूर्वक विदाई दी। इतने अच्छे आयोजन के संचालन के लिए खोरबाहरा दीवान प्रधानपाठक ने सभी शिक्षकों को धन्यवाद ज्ञापित किया। 

गरियाबंद डीएमसी श्याम चंद्राकर ने भी ऑनलाइन जुड़कर उनको विदाई दी। डीएमसी के साथ लगभग 35 लोग इस ऑनलाइन विदाई कार्यक्रम में जुड़कर शामिल हुए।

कार्यक्रम में संकुल समन्वय हेमलाल ध्रुव, संकुल प्रभारी आनंद दास, शिक्षक सुनील राजपूत, पूनम चंद्राकर, मोतीलाल साहू, सुशांत दिव्याकर , लोकनाथ भोई, टेप देवांगन, गिरधर,जागेश्वर, खेलावन, मनराखन लाल बंधवारे एवं शिक्षिका अल्का सिन्हा, मोहिनी गोस्वामी, साबरा बेगम ऑनलाइन माध्यम से मौजूद रहे।


04-Aug-2020 2:46 PM

नवापारा-राजिम, 4 अगस्त। पिछले दिनों ग्राम पंचायत कुर्रा में फलदार एवं छायादार पौधरोपण का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस दौरान ग्राम पंचायत कार्यालय परिसर के अलावा विभिन्न स्थानों पर क्रमश: पौधरोपण किया। इस अवसर पर ग्राम पंचायत कुर्रा के सरंपच गोवर्धन तारक, उपसरपंच डामेश साहू, पंच तिजिया बाई साहू, मोतीलाल साहू सहित अनेक पंचगण, पंचायत प्रतिनिधि के अलावा ग्रामवासी उपस्थित थे। 


04-Aug-2020 2:45 PM

नवापारा-राजिम, 4 अगस्त। रक्षाबंधन पर ग्राम मानिकचौरी में सूर्या फाउंडेशन के तत्वावधान में क्रिकेट ग्राउंड में बरगद के पौधे का रोपण सरपंच बुध्देश्वर साहू की उपस्थिति में किया गया। इस दौरान सूर्या फाउंडेशन के चिन्ता यादव, गजेंद्र साहू, हितेश तारक, शिवा यादव, हर्ष साहू, डोमन साहू, ओमकुमार साहू, आदि उपस्थित थे।


04-Aug-2020 2:44 PM

शुभ संयोग में मना रक्षाबंधन 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 4 अगस्त। आखिरी सावन सोमवार के शुभ संयोग में इस बार रक्षाबंधन का पर्व मनाया गया। वैसे इस बार सावन के पवित्र माह सोमवार से प्रारंभ हुआ और समापन भी सोमवार को हुआ। अंतिम सावन सोमवार रक्षाबंधन के अवसर पर सुबह 9.28 बजे तक भद्रा थी, लिहाजा बहनों ने इस अवधि में राखी बांधने से परहेज किया। इस दौरान घरों एवं देवलयों में शिवजी की पूजा की गई। फिर 9.30 बजे के बाद से भाइयों की कलाई सजाने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह रात तक चलता रहा। इस मौके पर भाइयों ने संकल्प लिया कि वे हमेशा अपनी बहन की रक्षा करेंगे। इधर सुबह से शाम तक क्षेत्र के सभी शिव मंदिरों में भक्तों का आना जाना लगा रहा। कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए बारी-बारी से भक्तों द्वारा विशेष पूजा अर्चना जलाभिषेक का विशेष श्रृंगार किया गया और बेलपत्र, पुष्प अर्पित कर भगवान शिव से इस वैश्विक महामारी को दूर करने मनोकामना भी मांगा गया। रक्षाबंधन के साथ सावन महीने का भी समापन हो गया है। 

ज्ञात हो कि कोरोना महामारी के चलते इस वर्ष एक के बाद एक सभी त्योहारों इस महामारी की भेंट चढ़ते जा रहे हैं। इस वर्ष कोई भी त्योहार उत्साहपूर्वक धूमधाम से नहीं मनाया जा सका। 


03-Aug-2020 5:43 PM

गरियाबंद। आज सावन सोमवार के अंतिम दिन भूतेश्वर नाथ शिव लिंग में पूजा करने भक्तों की भीड़ लगी रही। कोरोना संक्रमण के चलते दर्शनार्थी कम ही पहुंचे। ज्ञात हो कि गरियाबंद जिले के ग्राम मरौदा में घने जंगलों और पहाडिय़ों के बीच विश्व का विशालतम प्रकृति प्रदत्त शिवलिंग स्तिथ है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि शिवलिंग पहले छोटे से टीले के जैसा था। धीरे-धीरे इसकी गोलाई और लंबाई बढ़ती गई जो आज भी जारी है।


02-Aug-2020 8:09 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 2 अगस्त।
हफ्ते भर के लॉकडाउन के बाद आज शहर में दुकानें खुली। बाजार खुलने के बाद रविवार को बाजार में रौनक देखने को मिली। सोमवार को रक्षाबंधन का त्यौहार होने के चलते बड़ी संख्या में लोग खरीददारी के लिए सडक़ों पर आवाजाही करते नजर आए। वहीं दुकानो में भी जमकर भीड़ देखने को मिली। हालांकि इस दौराना लोगों ने स्वयं से सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन भी किया। 

ज्ञात हो कि 26 जुलाई से एक अगस्त नगर पालिका गरियाबंद और नगर पंचायत छुरा में पूर्ण लॉकडाउन कर दिया गया था। जिसके बाद रविवार से पुन: बाजार और दुकानें खुली। इधर तीन अगस्त को राखी का त्यौहार होने से आज से ही सुबह दुकान खुलते ही लोगों की भीड़ दुकान में जुटने लगी। 

राखी के दुकान के अलावा, किराना, कपड़ा, मिठाई, सोना चांदी सहित अन्य दुकानों में दिनभर खरीदी ब्रिकी चलती रही। इधर दुकान खुलने के बाद व्यापारियों ने भी राहत की सांस ली। त्यौहार के ठीक हफ्ते भर पहले लॉकडाउन के चलते वे भी परेशान थे। ज्ञात हो कि रक्षाबंधन हिन्दुओं के प्रमुख त्यौहार में से एक है। इसे लेकर लोगो में काफी उत्साह रहता है। इस दौरान उपहार देने की परंपरा भी निभाई जाती है। इसके चलते बाजार में मिठाई और अन्य दुकानों में जबर्दस्त खरीदी ब्रिकी होती है।
 


01-Aug-2020 7:28 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

गरियाबंद, 1 अगस्त। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर  अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के नेतृत्व में कॉरपोरेट्स कृषि छोड़ो के नारे के साथ पं. सुन्दर लाल शर्मा चौक राजिम में 9 अगस्त को 12 बजे किसान मुक्ति सत्याग्रह करने का निर्णय लिया है। बैठक में शामिल सदस्यों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के आवश्यक निर्देशों का पालन करते हुए यह आयोजन करने का निर्णय लिया है।

उक्त आशय की जानकारी देते हुए अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के राज्य सचिव तेजराम विद्रोही ने बताया कि 9 अगस्त एक ऐतिहासिक दिन है। जब हमारा देश 9 अगस्त 1942 को अंग्रेजों का उपनिवेश था, तब हमारे स्वतंत्रता-प्रेमी लोगों ने ब्रिटिश भारत छोड़ो का युद्धघोष किया था। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने इस साल 9 अगस्त को देशी और विदेशी कॉरपोरेट्स भारतीय कृषि छोड़ो का आह्वान किया है।  जब हमारा देश कोविड 19 के कारण बहुत गंभीर संकट के बीच है, जब कोविड प्रभावित व्यक्तियों की संख्या 16 लाख को पार कर रही है, तब मोदी सरकार जीडीपी को प्राथमिकता देते हुए जीवन को प्राथमिकता देने के बजाय कॉरपोरेट हितों को प्राथमिकता दे रही है। मोदी सरकार के अप्रयुक्त, अनियोजित और अचानक लॉकडाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था काफी खराब है। सभी सार्वजनिक संस्थाओं जैसे रेलवे, बैंक, बीमा, शैक्षणिक संस्थानों आदि का निजीकरण- ठेकाकरण कर आत्मनिर्भर भारत नहीं बल्कि अमेरिका का गुलाम भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। इसलिए 9 अगस्त को हमें केंद्र और राज्य सरकारों के भारत विरोधी, कृषि विरोधी, किसान विरोधी कार्यक्रमों को परास्त करने के लिए एक देशव्यापी शक्तिशाली किसान आंदोलन के लिए आवश्यक उपाय और कदम उठाने होंगे। चर्चा में किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू, जहुर राम, ललित कुमार, उत्तम कुमार, भोजलाल नेताम सम्मिलित हुए।


01-Aug-2020 5:53 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 1 अगस्त। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर  अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के नेतृत्व में कॉरपोरेट्स कृषि छोड़ो के नारे के साथ पं. सुन्दर लाल शर्मा चौक राजिम में 9 अगस्त को 12 बजे किसान मुक्ति सत्याग्रह करने का निर्णय लिया है। बैठक में शामिल सदस्यों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के आवश्यक निर्देशों का पालन करते हुए यह आयोजन करने का निर्णय लिया है।

उक्त आशय की जानकारी देते हुए अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के राज्य सचिव तेजराम विद्रोही ने बताया कि 9 अगस्त एक ऐतिहासिक दिन है। जब हमारा देश 9 अगस्त 1942 को अंग्रेजों का उपनिवेश था, तब हमारे स्वतंत्रता-प्रेमी लोगों ने ब्रिटिश भारत छोड़ो का युद्धघोष किया था। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने इस साल 9 अगस्त को देशी और विदेशी कॉरपोरेट्स भारतीय कृषि छोड़ो का आह्वान किया है।  जब हमारा देश कोविड 19 के कारण बहुत गंभीर संकट के बीच है, जब कोविड प्रभावित व्यक्तियों की संख्या 16 लाख को पार कर रही है, तब मोदी सरकार जीडीपी को प्राथमिकता देते हुए जीवन को प्राथमिकता देने के बजाय कॉरपोरेट हितों को प्राथमिकता दे रही है। मोदी सरकार के अप्रयुक्त, अनियोजित और अचानक लॉकडाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था काफी खराब है। सभी सार्वजनिक संस्थाओं जैसे रेलवे, बैंक, बीमा, शैक्षणिक संस्थानों आदि का निजीकरण- ठेकाकरण कर आत्मनिर्भर भारत नहीं बल्कि अमेरिका का गुलाम भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। इसलिए 9 अगस्त को हमें केंद्र और राज्य सरकारों के भारत विरोधी, कृषि विरोधी, किसान विरोधी कार्यक्रमों को परास्त करने के लिए एक देशव्यापी शक्तिशाली किसान आंदोलन के लिए आवश्यक उपाय और कदम उठाने होंगे। 

चर्चा में किसान सभा के उपाध्यक्ष मदन लाल साहू, जहुर राम, ललित कुमार, उत्तम कुमार, भोजलाल नेताम सम्मिलित हुए।
 


01-Aug-2020 5:04 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 1 अगस्त। शुक्रवार को जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा राजिम के शाखा प्रबंधक रमेश कुमार शर्मा के सेवा निवृत्त होने पर राजिम ब्रांच परिसर में सोसायटी अध्यक्ष एवं आस पास के ब्रांच मैनेजर व बैंक के कर्मचारियों की उपस्थिति में विदाई दी गई। 

जिपं सदस्य एवं कॉपरेटिव सोसायटी राजिम के अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू ने कहा कि रमेश शर्मा अपने कर्मनिष्ठा से ब्रांच एवं अधीनस्थ प्राथमिक समितियों को नित नई आयाम तक पहुंचाने में अतुलनीय योगदान रहा। सबके साथ मितव्ययिता से संबंध स्थापित कर आज वे अपने लंबे और उपलब्धियों से परिपूर्ण सेवाकाल से सेवानिवृत्त हो रहे हैं साथ ही संयोग से आज उनका जन्मदिन भी है। सहजयोग से निर्मित यह संयोग आज आप सबके साथ मिलकर महायोग में परिवर्तन हो रहा है। श्री शर्मा जी के स्थान को आसानी से भरा नहीं जा सकता।  
इस अवसर पर बासीन सोसायटी अध्यक्ष फगेन्द्र यदु,रक्सा सोसायटी अध्यक्ष गोपाल साहू,हेड आफिस रायपुर के ग्रेड एक अधिकारी गौर जी,राजिम शाखा प्रबंधक पी के कश्यप जी,अभनपुर धमतरी शाखा प्रबंधक शिवेंद्र शर्मा,तिल्दा शाखा प्रबंधक राकेश ठाकुर,फिंगेश्वर अविनाश शर्मा,फखीरा खान,संजीव दिवान एवं राजिम ब्रांच के सहायक लेखपाल भोजराम कुर्रे, आई.पी. साहू,एस.के.साहू, सुपरवाइजर के.आर. साहू, टी आर साहू, के एल गायकवाड़, ओमकार साहू, तोरण साहू, लोकेश साहू,डी के साहू, भानबाई साहू, अमृत साहू, सुदेश देवांगन, दिनेश चंद्राकर सहित सभी अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।


01-Aug-2020 5:03 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 1 अगस्त। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम व संस्थागत आपातकालीन स्थिति से निपटने हेतु जिले में डेडिकेटेड कोविड ट्रीटमेंट सेंटर स्थापित किया गया है। उक्त संस्था में कार्यरत् स्टाफ एवं भर्ती मरीजों हेतु निर्धारित मेन्यू अनुसार चाय, नाष्ता, भोजन की व्यवस्था किया जाना है।
 इस हेतु कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अंतर्गत डेडिकेटेड कोविड ट्रीटमेंट सेंटर देवभोग रोड, गरियाबंद में चाय, नाष्ता, भोजन व्यवस्था उपलब्ध कराने हेतु इच्छुक पंजीकृत फर्म/स्व सहायता समूह/अन्य अनुभवी संस्था/व्यक्ति के द्वारा आवेदन आमंत्रित की गई है। संबंधित फर्म/स्वसहायता समूह/अन्य अनुभवी संस्था/व्यक्ति के द्वारा 12 अगस्त तक कार्यालयीन दिवस एवं समय में कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी गरियाबंद में उपस्थित होकर जानकारी ले सकते हैं एवं आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। 
 


01-Aug-2020 4:57 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 1 अगस्त। जिला में कोविड-19 वायरस के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रण एवं रोकथाम को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर द्वारा गणेश उत्सव पर जारी निर्देशों का समिति द्वारा पालन किये जाने पर ही गणेश मूर्ति स्थापित कर सकेंगे।

कलेक्टर छत्तरसिंह डेहरे द्वारा जारी दिशा निर्देशानुसार मूर्ति की ऊंचाई 4 / 4 फिट, अधिक नहीं होनी चाहिए। पंडाल कम से कम 5 हजार वर्ग फिट, की खुली जगह पर होनी चाहिये। जिसमें गली या सड़क का हिस्सा प्रभावित न हो। 20 व्यक्ति से अधिक मण्डप के सामने न हो  मूर्ति स्थापित करने वाले समिति या व्यक्ति एक रजिस्टर संधारित करेगी जिसमें आने जाने वालों का नाम, पता , मोबाइल नंबर दर्ज किया जाएगा ताकि कोरोना संक्रमित होने पर कांटेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके। समिति द्वारा 4 सीसीटीवी लगया जावेगा ।
 


01-Aug-2020 4:44 PM

नपाध्यक्ष व पार्षद ने सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 1 अगस्त। गणेशोत्सव को लेकर जिला प्रशासन ने गाइड लाइन जारी कर दी है। जारी आदेश से नगर सहित जिले की 80 फीसदी समितियां इस बार गणेश मूर्ति की स्थापना नहीं कर सकेंगी। समितियों ने इसे लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। गाईड लाइन में संशोधन की मांग करते हुए नगरपालिका अध्यक्ष व पार्षद ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है।

समिति वालों का कहना है कि प्रशासन द्वारा जारी गाइड लाइन के पालन में इतना खर्च हो जाएगा जितना गणेश उत्सव में नहीं होता है। दूसरी ओर किसी भी व्यक्ति के पंडाल स्थल पर संक्रमित पाए जाने पर उसके इलाज के खर्च की जवाबदारी भी समिति पर थोपी गई है।   

शुकव्रार को नगर पालिका के अध्यक्ष एवं प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष गफ्फु मेमन, नपा उपाध्यक्ष व गरियाबंद भाजपा मंडल अध्यक्ष सुरेन्द्र सोनटेके तथा पार्षद वंश गोपाल सिन्हा ने कलेक्टर से मिलकर इसे लेकर आपत्ति दर्ज की है। उन्होंने इस फरमान को अनुचित बताते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपकर मांग की है कि जारी आदेश की कंडिका 12 में संशोधन किया जाए। किसी भी व्यक्ति के संक्रमित पाए जाने पर उसके इलाज का खर्च समिति नहीं शासन द्वारा वहन किया जाए। 

ज्ञात हो गरियाबंद में हर साल में गणेश उत्सव धूमधाम से आपसी भाईचारे के साथ मनाया जाता है परंतु इस बार कोरोना संक्रमण और प्रशासन की सख्त गाइड लाईन गणेशोत्सव पर भारी पड़ रही है। 

कोरोना संक्रमण के चलते गरियाबंद प्रशासन ने सार्वजनिक गणेशोत्सव समितियों के लिए कड़े निर्देश जारी किए हैं, जिसमें गणेशजी की मूर्ति की साइज से लेकर पंडाल तक की साइज तय कर दी गई है। मूर्ति स्थापना से विसर्जन तक भोग, भंडारा, प्रसाद वितरन, विसर्जन झांकी, बैठक व्यवस्था, जगराता सहित अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों में रोक लगा दी है। गणेश जी के दर्शन के लिए आने वाले हर किसी का नाम, पता, मोबाइल नंबर नोट करना होगा नोट कराने के अलावा पंडालों में सीसी कैमरे, थर्मल स्क्रीनिंग, हैडवॉश, आक्सीमीटर, क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था अनिवार्य कर दी है। साथ ही फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ लोगों के आने जाने के लिए बांस-बल्ली के बैरिकेड्स लगाने के भी निर्देश दिए हैं। गणेश दर्शन के लिए आने वाले लोगो के लिए मास्क की अनिवार्यता की गई है। वहीं घरों में मूर्ति स्थापना के लिए नगर पालिका या पंचायत से शपथ पत्र प्राप्त करना भी अनिवार्य कर दिया है। इतनी सक्त गाइड लाइन को देखते हुए समिति वाले चिंता में पड़ गए हैं। एक तरफ गली या छोटे सार्वजनिक स्थलों वाली समितियां गाइड लाइन के मुताबिक इस बार गणेश उत्सव का आयोजन नहीं कर सकेंगे। कारण कि पांच हजार स्केव्यर फीट खुली जगह ही नहीं मिलेगी। 
 


01-Aug-2020 4:38 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 1 अगस्त। 6 दिन पूर्व मुख्यमंत्री ने 4 फीट ऊंची गणेश प्रतिमा की स्वीकृति दी। इसके बाद सार्वजनिक रूप से बैठाए जाने वाले गणेश समितियों के लिए जारी नियम कायदों की लंबी फेहरिस्त है। 

जिला प्रशासन ने बुधवार को संक्रमण के प्रभाव और इसके रोकथाम को ध्यान में रख दो दर्जन से अधिक नियम निर्देश जारी किए हैं। 15 फीट के पंडाल, उसके सामने पांच हजार फीट खुली जगह के अलावा मंडप के दोनों ओर चार सीसीटीवी कैमरे और दर्शनार्थियों के नाम, मोबाइल, नंबर दर्ज करने जैसे कड़े नियम बनाए गए हैं। बिना सांस्कृतिक कार्यक्रम, ध्वनि विस्तार यंत्र और बिना डीजे के उत्सव स्थल पर सैनिटाइजर, हैंडवाश के अलावा थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था समिति को करनी होगी। पूरे 9 दिन के उत्सव के दौरान कोई भी व्यक्ति या भक्त संक्रमित पाया जाता तो उसकी जवाबदेही समिति की होगी। उसके इलाज का संपूर्ण व्यय भी समिति को उठाना होगा। मूर्ति स्थापना, विसर्जन और प्रतिदिन पूजन के बाद प्रसाद, चरणामृत या कोई भी खाद्य या पेय पदार्थ के वितरण पर पाबंदी के साथ भोग भंडार भी प्रतिबंधित रहेगा। विसर्जन के लिए केवल चार व्यक्ति को ही अनुमति होगी।


01-Aug-2020 4:36 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 1 अगस्त। प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी एवं फिंगेश्वर अध्यक्ष यशवंत साहू ने जारी विज्ञप्ति में कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को शिक्षक ही धरातल पर उतारने का काम करेंगे। शिक्षा नीति पूरी तरह तभी सफल होगा जब शिक्षक इसे अपने मन की बात समझकर क्रियान्वित करेंगे। बंद एसी कमरों में नीतियां तैयार तो की जा सकती है लेकिन जमीनी हकीकत अलग होती है। चटर्जी ने कहा कि शिक्षा में संरचनात्मक सुधार किए बिना शिक्षा नीति बनाने से अपेक्षित परिणाम नहीं मिलेगा। प्राथमिक में 1 से 5 तक 5 कक्षा 4 विषय, पूर्व माध्यमिक में 6 से 8 तक तीन कक्षा और 6 विषय एवं उच्चतर माध्यमिक में 9 से 12 तक 4 कक्षा 6ध्5 विषय है। कक्षाओं की संख्या और विषयों की संख्या के अनुपात में शिक्षक होना था,जबकि नई शिक्षा नीति में अनुपात 25रू1 अथार्त 25 छात्रों पर 1 शिक्षक होने का उल्लेख है, जोकि अव्यवहारिक है।
 


01-Aug-2020 4:35 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 1 अगस्त। ग्राम दूतकैंया (खपरी) में बिरझु राम धु्रव के बेटे सेवक राम धु्रव का निधन हो गया। अंतिम यात्रा में परिजनों एवं ग्रामवासियों ने सोशल डिस्टनसिंग का पालन करते हुए मास्क लगाकर सम्मिलित हुए। सेवकराम के अंतिम संस्कार के पश्चात उनकी याद में बरगद का पौधा लगाया गया। इस अवसर पर ग्रामवासियों ने एक निर्णय लेते हुए घोषणा किया कि भविष्य में किसी भी परिवार में किसी सदस्य का निधन होने पर मृतक संस्कार सम्पन्न करने हेतु पीडि़त परिवार को प्रत्येक घर से पचास रुपये और एक-एक किलो चांवल दान स्वरूप सहयोग किया जायेगा। इस फैसले को ग्रामीणों ने एक अच्छा एवं सराहनीय कदम बताया। इस दौरान मृतक के पिता बिरझु राम धु्रव, छोटे भाई छोटू, कृष, मोहनलाल के अलावा राजा सोनी सरपंच प्रतिनिधि, भारत यादव उपसरपंच, उत्तम साहू, परमेश्वर साहू, तुकाराम साहू, बोधन साहू, भागवत साहू, मदन लाल साहू, दुर्गेश साहू, रामावतार यादव, प्यारी साहू, लखन लाल साहू, श्रवण कुमार साहू, मोहन लाल साहू, गरीबदास मानिकपुरी आदि उपस्थित थे।
 


01-Aug-2020 4:33 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 1 अगस्त। प्रयाग साहित्य समिति राजिम के तत्वावधान में कथाकार, कलम के सिपाही प्रेमचंद की जयंती मनाई। इस मौके पर उनके छायाचित्र पर दीप प्रज्वलित कर फूल माला अर्पित करते हुए उनकी पूजा अर्चना की। समिति के अध्यक्ष टीकमचंद सेन ने उन्हें याद करते हुए कहा कि प्रेमचंद जी अपने साहित्य में वेश्यावृत्ति, बाल विवाह, बेमेल विवाह, दहेज प्रथा जैसे सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाई। वह महिलाओं की शिक्षा एवं विधवा विवाह के पक्ष में भी लिखा। महिलाओं के खिलाफ अन्याय  सहन नहीं होता था। उन्होंने भारतीय समाज का गहन अध्ययन किया।  

लेखक एवं कवि संतोष कुमार सोनकर मंडल ने कहा कि साहित्य का शायद ही कोई पहलू उनसे छूटा हो जिसे उन्होंने नहीं लिख पाया। साहित्य को यथार्थ से जोडऩे और समाजोन्मुुखी बनाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान है।  

हास्य कवि गोकुल सेन में कहा कि प्रेमचंद के ईदगाह में हामिद के द्वारा अपनी दादी के लिए चिमटा खरीद कर लाना यह सिद्ध करती है कि अपने परिवार के लिए हम सबको चिंतित होना चाहिए। 

साहित्यकार तुकाराम कंसारी ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद जी गरीबी एवं अभाव में जीवन व्यतीत किया। अभाव का प्रभाव स्पष्ट रूप से देखने को मिला। उनके उपन्यास गोदान, सेवासदन, कर्मभूमि, रंगभूमि आदि में मजदूरों की जिंदगी और उनके संघर्ष की कहानी स्पष्ट रूप से झलकती है। 

शायर जितेंद्र सुकुमार साहिर ने बताया प्रेमचंद एक ऊर्जावान साहित्यकार थे उनकी उपन्यास कहानी पढ़कर आज के साहित्यकारों को ऊर्जा मिलती है प्रेमचंद जी के बचपन का नाम धनपत राय था किंतु शुरुआती दौर में ये नवाब राय के नाम से उर्दू लेखन भी करते थे।  

कवि नूतन साहू ने कहा कि प्रेमचंद बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे वह कहानीकार व लेखक थे। सरस्वती प्रेस के संस्थापक थे और साथ ही साथ उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में बढ़-चढ़कर के हिस्सा लिया। वह साहित्य जगत में अमर हो गए। जब तक सूरज चांद रहेगा प्रेमचंद जी की जी इस जग में नाम रहेगा। इस दरमियान सोशल डिस्टेंसिंग का बराबर पालन किया गया।
 


Previous12345Next