छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

Previous1234567Next
23-Sep-2020 7:23 PM

गरियाबंद, 23 सितंबर। गरियाबंद जिले में कोरोना वायरस के प्रसार के रोकथाम हेतु कलेक्टर छतर सिंह डेहरे द्वारा संपूर्ण गरियाबंद जिले को कन्टेमेंट जोन घोषित करते हुए आज से 30 सितम्बर रात 12 बजे तक संपूर्ण लॉकडाउन का आदेश किया गया है। इसके साथ ही जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। केवल मेडिकल दुकानों को निर्धारित समय पर खुलने की अनुमति होगी। 

दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 30, 34 सहपठित ऐपिडेमिक एक्ट 1837 यथासंशोधित 2020 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी छतर सिंह डेहरे द्वारा 21 सितम्बर को आदेश प्रसारित किया गया है। पूर्व में जारी आदेश को अधिनामित करते हुए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 सम्पूर्ण जिले में 23 सितम्बर रात्रि 9 बजे से 30 सितम्बर की रात्रि 12 बजे की अवधि हेतु लागू की गई है तथा गरियाबंद जिले अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया गया है। 

यह स्पष्ट किया गया है कि दुग्ध व्यवसाय हेतु कोई दुकान/पार्लर नही खोले जायेगें। 
केवल दुकान/ पार्लर के सामने फिजिकल डिस्टेंसिंग एवं मास्क संबंधी निर्देशों का पालन करते हुए उपरोक्त समयावधि में केवल दुग्ध विक्रय की अनुमति होगी। पैट शॉप/एक्वेरियम को केवल पशुओं को पशुचारा देने हेतु प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक एवं संध्या 5 बजे से 6 बजे तक शॉप खोलने की अनुमति होगी। एल.पी.जी. गैस सिलेन्डर की एजेसियों केवल टेलिफोनिक या ऑनलाईन ऑर्डर लेंगे तथा ग्राहकों को सिलेन्डरों की घर पहुंच सेवा उपलब्ध करायेंगे। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/प्रतिष्ठानों पर विधि अनुसार कड़ी कार्रवाई की जायेगी। 
 


23-Sep-2020 7:23 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 23 सितंबर।
लॉकडाउन के पूर्व आम जनमानस को कम से कम दिक्कतों का सामना करना पड़े इसके लिए क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य व राजिम कोऑपरेटिव सोसायटी अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के राजिम,बेलटुकरी,सिंधौरी,किरवई में संचालित सहकारी उचित मूल्य दुकानों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान चंद्रशेखर साहू ने उचित मूल्य दुकानों में मौजूदा खाद्यान्नों की स्थिति,वितरण व्यवस्था, गुणवत्ता और मात्रा पर विशेष निगरानी रखी व स्टॉक मिलान भी किया । श्री साहू ने दुकान संचालक और हितग्राहियों से कोरोना के असर को देखते हुए सामुदायिक दूरियां,लागू पाबंदियों के दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की।

चंद्रशेखर साहू ने राशन दुकान में वितरण हेतु आये चने में लगे कीड़े व गुणवत्ताहीन राशन को देखकर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि नागरिक आपूर्ति विभाग गरीब परिवार को राशन के नाम पर गुणवत्ताहीन व कीड़ेयुक्त चने का वितरण कर रही है यह किसी भी कीमत में स्वीकार्य नहीं होगा। उन्होंने राशन दुकानों में बेवजह भीड़ ना लगाते हुए धैर्य बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक अपने घरों में रहें। स्वास्थ्य निर्देशों का पालन और कोरोना सैनिकों का सम्मान करें।
 


23-Sep-2020 7:20 PM

राजिम, 23 सितंबर।  कृषि विधेयक के संबंध में पूर्व सांसद चंदूलाल साहू ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के हित के लिए प्रतिबद्घ है। किसानों को उपज का उचित भाव मिले तथा खेती आधुनिक एवं उन्नात हो इसके लिए लगातार प्रयासरत है। इसी के चलते संसद में तीन विधेयक पेश किया जो दोनों सदनों लोकसभा एवं राज्यसभा में पास भी हो गया। यह ऐतिहासिक कृषि सुधार बिल देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए महत्वपूर्ण है, इससे किसान बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त होगा। उन्होंने आगे बताया कि किसान अपनी उपज कहीं भी कभी भी बेच सकेंगे जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा और अन्नादाता सशक्त होंगे। विपक्ष विरोध के लिए विरोध कर रहे हैं और किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। इस बिल से मंडी व्यवस्था बंद हो जाएगी। सरकारी नियंत्रण समाप्त हो जाएगा एवं न्यूनतम निर्धारित मूल्य समाप्त हो जाएगी, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आश्वस्त कर चुके हैं। पूर्व सांसद साहू ने कहा कि सरकारी खरीद व्यवस्था कभी बंद नहीं होगी। किसी प्रकार से न्यूनतम समर्थन मूल्य प्रणाली खत्म नहीं होगी और न ही पूंजीपतियों का किसी प्रकार से दखल होगा। यह बिल क्रांतिकारी बिल होगा। पिछले 1973 में जो बिल बना था उसमें अभूतपूर्व सुधार हुआ है। अड़तिया प्रथा बंद होगा। विपक्ष इस बिल के बारे में सही अध्ययन नहीं किए हैं। आज किसान अपनी उपज को मंडी एरिया से बाहर जाकर किसी भी संस्था को या किसी भी स्थान में बेच सकेगा, जहां उसे ज्यादा मूल्य प्राप्त होगा।
 


23-Sep-2020 7:19 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 23 सितंबर।
रायपुर कलेक्टर ने 21 सितंबर की रात 9 बजे से सम्पूर्ण रायपुर जिला को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए पूर्ण लॉकडाउन के आदेश जारी किया है। जिसका व्यापक असर नवापारा शहर में भी देखने को मिला। केवल आवश्यक जरुरी सेवाओं को छोडक़र नगर की शेष दुकानें पूरी तरह से बंद रहीं। लॉकडाउन के पहले दिन मंगलवार को शहर के दोनों छोर की सभी दुकानें व गल्ली-मोहल्ले भी पूरी तरह से वीरान नजर आ रहे थे। लॉकडाउन के कड़े नियमों के भय के चलते और नवापारा पुलिस की गश्ती से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले, जिससे नवापारा शहर का बंद पहले ही दिन सफल रहा। 

पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन ने नगर के चारों ओर नाकेबंदी कर जबरदस्ती घूमने वालें लोगों को रोककर पूछताछ करते रहे। मुख्य नगर पालिकाधिकारी भूपेन्द्र उपाध्याय ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ पुख्ता इंतजाम किया है। नगर प्रशासन ने लोगों से सख्ती से लॉकडाउन पालन करने की दशा में हर तरह के कदम उठाये हैं। जिसमें कोई भी नागरिक बेवजह फालतू नहीं घूम सकेगा। बेवजह घूमने पर उसे जेल भेजने की कार्यवाही भी की जा सकेगी। श्रीउपाध्याय ने कहा कि सभी नागरिक अपनी जागरूकता एवं आत्म नियंत्रण के माध्यम से अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करें। 

इधर स्थानीय पुलिस प्रशासन का अमला लॉकडाउन को सफल बनाने में लगातार जुटे रहे। वहीं जरुरी सेवाओं के नाम पर केवल दूध, दवाई, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी व अस्पताल खुले थे। पेट्रोल पंप में भी कड़ाई से नियमों का पालन किया जा रहा था और कलेक्टर द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार केवल एंबुलेंस व आपात सेवा वाले वाहनों को ही पेट्रोल दिया जा रहा था। नगर के दोनों मुख्य मार्ग गंज रोड व सदर रोड पूरी तरह बंद के चलते वीरान थी। वहीं नगर के अन्य भीड़भाड़ वाले जगहों पर पुलिस की कड़ी निगरानी थी और स्थानीय पुलिस प्रसाशन लॉकडाउन को सफलता के साथ लागू करने में जुटे थे। 

एसआइ श्री मिश्रा ने कहा कि लॉकडाउन के नियमों को लागू कराने के लिए स्थानीय पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। नगर के बस स्टैंड स्थित दीनदयाल उपाध्याय चौक व पुल के समीप स्थानीय पुलिस बैरिकेटिंग कर बेवजह घूमने फिरने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रही है।

राजिम में 30 तक पूर्ण लॉकडाउन
गरियाबंद कलेक्टर छतरसिंह डेहरे के आदेश के बाद आज 23 सितंबर की रात्रि 9 बजे से 30 सितंबर की रात्रि 12 बजे तक गरियाबंद जिला में लॉकडाउन रहेगा। इसके लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार राजिम क्षेत्र के महत्वपूर्ण आने जाने वाले रास्ते जिसमें पंडित श्यामाचरण शुक्ला चौक नदी पुल, शिवाजी चौक, चौबेबांधा चौक, पथर्रा रोड में बेरीकेट्स लगाकर पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। 

अनावश्यक आने जाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही की जाएगी। इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक गरियाबंद, थाना प्रभारी राजिम के साथ अवलोकन कर कठोर कार्यवाही करने का आवश्यक निर्देश दिया गया है।
 


23-Sep-2020 7:18 PM

गरियाबंद, 23 सितंबर। बीते दिनों केंद्र सरकार द्वारा लाये गये कृषि विधेयक पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता गेंदलाल सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार का यह बिल किसान विरोधी है। उन्होंने इसे गरीब छोटे किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने वाला बिल कहा। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसानों की हितैषी है तो डीजल के दाम क्यों कम नहीं कर रही हैं? जबकि हमारे पड़ोसी देशों में भारत से कम दर पर डीजल बेचा जा रहा है। केंद्र की भाजपा सरकार वाकई में किसानों को उनकी मेहनत का वाजिब दाम दिलवाना चाहती है तो बिल में एमएससी दर पर किसानों की फसलों को खरीदने का प्रावधान करें, अगर कोई व्यापारी एमएससी दर से कम पर खरीदता है तो उस व्यापारी पर सजा का प्रावधान होना चाहिए।

केंद्र की मोदी सरकार किसानों की आय को दोगुनी करने का वादा करके सत्ता में आई थी, किसानों की आय दोगुनी नहीं तो कम से कम समर्थन मूल्य पर ही किसानों की फसलों का दाम देने वाला ही बिल पास कर दे। लेकिन मोदी सरकार ऐसा नहीं करेंगी, क्योंकि ये भाजपा सरकार किसानों की नहीं पूंजीपतियों की सरकार हैं। यह बिल पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए बनाया गया है। किसान के लिए नहीं हैं।भाजपा के सबसे पुराने घटक दल अकाली दल ने किसान विरोधी इस बिल के विरोध में हरसिमरत कौर बादल ने मोदी कैबिनेट से इस्तीफ़ा दे दिया है, और बिल के विरोध में किसानों के साथ अकाली दल खड़ा हुआ है, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि ये बिल किस तरह से किसान विरोधी हैं? किसानों को उनकी ही ज़मीन पर मज़दूर बनाने और  कालाबाज़ारी को बढ़ावा देना वाला है। 

बिल को कानूनी मान्यता मिलने के बाद एक तरह से जमाख़ोरी को वैधता मिल जाएगी। 


23-Sep-2020 7:15 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 23 सितंबर।
एनएचएम प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर नियमितीकरण की मांग को लेकर फिंगेश्वर और राजिम ब्लॉक के 2 सौ संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी मंगलवार को चौथे दिन भी सीएचसी में नारेबाजी कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर डटे रहे। इस दौरान सरकार द्वारा 50 कर्मचारियों की बर्खास्तगी की निंदा करते हुए प्रदेश के 13 हजार कर्मचारियों ने सामूहिक त्याग पत्र देने की पेशकश की है। 

इस अवसर पर एनएचएम संघ के बीपीएम सौरभ विरमानी ने आंदोलनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आंदोलन के हर कदम पर सामने खड़ा होकर हम साथ देंगे। ज्ञात हो कि कांग्रेस सरकार ने चुनावी जन घोषणा पत्र में प्रदेश के सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने का वायदा किया था। सरकार बनने के करीब 2 साल बाद भी नियमितीकरण की कोई प्रक्रिया तक शुरू नहीं की हैं, जिसे लेकर रोष है। एनएचएम में कार्यरत प्रदेश के 13 हजार एवं गरियाबंद जिले से दो सौ कर्मियों की हड़ताल से प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह ठप हो गई हैं। प्राइवेट हॉस्पिटल का खर्चा वहन ना कर सकने वाली आम जनता इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हो रही है। खासकर पीएचसी, सीएचसी के कोविड सेंटर्स, जहां पर संविदा कर्मियों का पूरा अमला तैनात है। यहां कोरोना रोगी का चिह्नांकन करना, उनके सैंपल एकत्र करना, मैनेजमेंट सर्विलांस कार्य, अस्पताल हस्तांतरण या स्थानांतरण करवाना, कंटेनमेंट जोन के साथ-साथ ओपीडी, आईपीडी की सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई हैं। 

हड़ताल में एनएचएम कर्मचारी संघ फिंगेश्वर ब्लॉक इकाई से डॉ. शिल्पा हरिमानी, डॉ. देवेंद्र बंजारे, डॉ. स्वाति मिश्रा, मदन मिश्रा, संतोष साहू, गोविंद यादव, घनश्याम साहू, डिगेश्वरी साहू, हेमंत ठाकुर, धरम साहू, धनेश्वरी साहू, रवि विश्वकर्मा, चंचल गोस्वामी, विजय लक्ष्मी टंडन, सुरेश निषाद, पूर्णिमा गजेंद्र, पूनम सोनी, डॉ. मनोज कुमार, चंचल गोस्वामी सहित सभी कर्मचारी शामिल रहे।

 


21-Sep-2020 6:22 PM

राजिम, 21 सितंबर। राजिम विधायक अमितेश शुक्ला के प्रयासों से किरवई रोड से निर्माणाधीन हाई स्कूल भवन तक मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण के लिए 20 लाख रुपये की स्वीकृति मिली है। इस पर बेलटुकरी सरपंच भावना प्रकाश देवांगन ने हर्ष व्यक्त किया है। श्रीमती देवांगन बताया कि विधायक अमितेश शुक्ला बेलटुकरी के विकास के लिए हर संभव मदद करने की बात कहते हुए उन्होंने स्कूली छात्र-छात्राओं को समस्या से न जूझना पड़े इसलिए सड़क निर्माण की शीघ्र स्वीकृति दिलाई है। इससे ग्रामीणों में हर्ष का माहौल है तथा शुक्ला के प्रति आभार व्यक्त किया है। भावना ने कहा कि कोरोना काल के बावजूद ग्राम पंचायत में विकास के काम लगातार हो रहे हैं तथा विकास की गति निरंतर जारी रहेगी।

 


21-Sep-2020 6:21 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 21 सितंबर।
शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिजली के प्राचार्य एवं समस्त शिक्षकों को कोरोना काल में पढ़ई तुंहर दुआर योजना के तहत स्कूली छात्र छात्राओं को शिक्षा से सतत् जोडऩे व ऑनलाइन क्लास लेने के कारण स्कूल शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया है। संस्था के प्राचार्य पूरन लाल साहू ने बताया कि शासन के मंशा अनुरूप विद्यार्थियों के घर-घर जाकर पुस्तक वितरण करते हुए सभी छात्र-छात्राओं से मोबाइल नंबर लेकर लिंक से जोड़ते हुए पढऩे के लिए प्रेरित किए। संस्था के व्याख्याता विनय कुमार साहू द्वारा गणित विषय के सर्वाधिक 75 ऑनलाइन क्लास लिए जिसमे 952 विद्यार्थी शामिल हुए। इनके साथ-साथ वे विकासखण्ड स्तरीय टेक्निकल टीम के रूप में भी कार्य किया। वहीं शाला के प्राचार्य पूरन लाल साहू द्वारा राजनीति शास्त्र, संस्कृत, दिनेश कुमार साहू हिन्दी, रेखा सोनी अंग्रेजी, गीतांजली नेताम भूगोल, अर्थशास्त्र, संतोषी गिलहरे विज्ञान एवं शशि ठाकुर द्वारा हिन्दी व सामाजिक विज्ञान का ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं।


21-Sep-2020 6:20 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 21 सितंबर।
रविवार को सेठ फूलचंद अग्रवाल स्मृति महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना, रेडक्रॉस एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राष्ट्रीय सेवा योजना पोंड़ के संयुक्त तत्वावधान में फिट इंडिया व स्वास्थ्य जागरूकता का आयोजन कोविड 19 के नियमों का पालन करते हुए किया गया। कार्यक्रम के प्रथम चरण में स्वयंसेवक व ग्रामीण युवाओं को प्रो. लोमश साहू योगाचार्य के निर्देश में अनुलोम-विलोम, प्राणायाम, तारासन, बज्रासन, सूर्य नमस्कार व अनेक विधा से योगाभ्यास कराया। साथ ही ग्रामीण छात्राओं की 200 मीटर की दौड़ का आयोजन किया गया। जिसमें मुस्कान गिलहरे प्रथम, राधिका वर्मा व्दितीय स्थान पर रही। जिन्हें उचित उपहार से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ग्राम सरपंच ओमप्रकाश साहू ने अपने विचार रखते हुए कहा कि जीवन में अपने स्वास्थ्य को स्वस्थ, निरोग रखना हो तो प्रतिदिन कम से कम 40 मिनट कसरत तथा योग करें। लम्बे समय तक जीना है तो प्रकृति के नियमों के साथ जीना सीखो। 

वहीं कार्यक्रम के दूसरे चरण में स्वयंसेवकों ने ग्राम पोंड़ के चौक चौराहों पर कोरोना के अनेक स्लोगन दीवारों पर लिखकर कोरोना महामारी से बचने के लिए जागरूकता लाने का प्रयास किये। कार्यक्रम संयोजक डॅा. आरके रजक ने स्वयंसेवकों को निर्देशित किया कि घर-घर दस्तक देकर स्वच्छता, सफाई, कोरोना महामारी से बचने के उपाय का संदेश ग्रामजनों को दें। उन्होंने लोगों को समझाईश देते हुए कहा कि प्रकृति के गोद में अनेक औषधि जैसे गिलोय जो आज कोरोना महामारी के लिए कारगर साबित हो रहा है, मधुमेह, ब्लड प्रेशर, बुखार, मलेरिया आदि में केवल इसके तने के रस का सेवन करने से ही स्वास्थ्य लाभ मिल रहा हैं। जहां चिकित्सक विफल हो जाते हैं वहां आयुर्वेदिक उपचार कारगर साबित हो रहा है। 

स्वयंसेवकों ने अलग-अलग टोली में बंटकर ग्राम के सभी वर्गों को इस महामारी से बचने के लिए जड़ी-बूटी का काढ़ा, गरम पानी, ताजा भोजन का ही सेवन करने, सड़े-गले पदार्थों को नष्ट करने सहित सोशल डिस्टेंस, मास्क, सेनेटाइजर करने के लिए प्रेरित किया। उल्लेखनीय है कि राज्य संपर्क अधिकारी डॉ. समरेन्द्र सिंह, पं. रविशंकर विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ. नीता वाजपेयी, जिला संगठक डॉ. ज्ञानेन्द्र शुक्ला के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए समय-समय पर महाविद्यालय के कोरोना योध्दा ग्राम, शहर व मुहल्ले में अपने स्तर पर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। 

इस जागरूकता अभियान में महाविद्यालय व विद्यालय के 52 स्वयंसेवकों ने हिस्सा लिया। जिसमें प्रमुख रूप से प्रियंका साहू, काजल साहू, हुमेश्वरी साहू, मीना साहू, तुकेशकुमार, ज्ञानेश्वर, जितेन्द्र मन्नाडे, सोनू बंजारे, तोरणलाल सोनवानी, नेमीचंद साहू, गंगा साहू, भुनेश्वरी साहू, धनेश्वरी डहरे, तारणी बारले, ग्राम उपसरपंच ललितकुमार मन्नाडे व वरिष्ठ स्वयंसेवकों की उपस्थिति रही। कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए ग्राम सरपंच ओमप्रकाश साहू, उपसरपंच ललितकुमार मन्नाडे, कार्यक्रम संयोजक डॉ. आरके रजक, कार्यक्रम अधिकारी नेमीचंद साहू, प्रो. लोमशकुमार साहू, अविनाश शर्मा, चितरंजन साहू, विकास साहू, लक्ष्मीनारायण साहू की भूमिका रही। 


20-Sep-2020 8:04 PM

जनप्रतिनिधियों ने की प्रतिबंध लगाने की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

नवापारा राजिम, 20 सितंबर। नगर के गंज रोड से रेत भरी हाइवा के तेज रफ्तार के चलते कांग्रेस और भाजपा के नेता आक्रोशित हंै। उन्होंने प्रशासन और पुलिस का ध्यान आकर्षित करते हुए ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की है।

 जनप्रतिनिधियों का कहना है कि गोबरा नवापारा नगर मुख्य मार्ग से इन दिनों बड़ी संख्या में हाइवा जैसी भारी वाहन चल रही हैं। जिस पर रोक लगाने के लिए नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष विजय गोयल, पूर्व उपाध्यक्ष दयालुराम गाड़ा, जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रतीराम साहू, वरिष्ठ भाजपा नेता बलदेव सिंग हुंदल, पार्षद मंगराज सोनकर, चुम्मन कंडरा सहित स्थानीय नागरिकों ने प्रशासन, पुलिस थाना, उपतहसील कार्यालय से मांग की है। इस संबंध में रतीराम साहू ने कहा कि गंज रोड, सोमवारी बाजार मार्ग में भारी भरकम वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध था, लेकिन वर्तमान समय में प्रशासन की उदासीनता के चलते पुन: भारी वाहनों का आवागमन समय सीमा का परवाह न कर तेज गति से होने लगा है, जिससे दुर्घटनाओं की भी आशंका बनी रहती है।

 वरिष्ठ भाजपा नेता बलदेव सिंग हुंदल ने रेतभरी भारी वाहनों पर अंकुश लगाने की मांग करते हुए कहा कि नवापारा प्रवेश द्वार से लेकर अंतिम छोर तक भारी व्यस्ततम मार्ग है। यहां छोटे-छोटे ठेले-खोमचे फुटपाती व्यवसायी के अलावा बड़े-बड़े प्रतिष्ठान स्थापित है। ऐसे व्यस्त मार्ग से रेत से भरी हाईवा दिन-भर दौड़ रही है, जो न्याय संगत बात नहीं है। इस पर तुरंत रोक लगनी चाहिए।

पूर्व पालिकाध्यक्ष विजय गोयल ने मुख्य नगर पालिकाधिकारी को पत्र लिखकर सूचित किया है कि भारी-भरकम रेत भरी हाइवा शहर के बीच से निकलने लगी है इससे अभी मंडी रोड में नए बने गौरवपथ के क्षतिग्रस्त होने का अंदेशा है। इस पर तत्काल प्रतिबंध लगाना चाहिए। चूंकि यह शहरी इलाका है, पूरा मार्केट गंज रोड पर बसा हुआ है, पूरा दिन बल्कि रात में भी चहल-पहल बनी रहती है, कभी भी दुर्घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता।

उन्होंने बताया कि सोमवारी बाजार के अलावा इस मार्ग पर स्टेट बैंक, यूनियन बैंक, कृषि उपज मंडी, निजी अस्पताल, सरकारी अस्पताल, कपड़ा दुकान, हार्डवेयर दुकान, मेडिकल स्टोर्स, किराना दुकान, होटल, फ ल के ठेले, सब्जी पसरा, स्कूल, पेट्रोल पंप, कृषि दवाईयों की दुकानें, मंदिरें एवं  चौक-चौराहे हंै। जहां लोगों का आना जाना व वातावरण भीड़ भरा रहता है। गोयल ने कहा कि स्थानीय प्रशासन यदि यह कहकर अपना पल्ला झाड़ती है कि ये मामला राजस्व विभाग का है तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बयान है। उन्होंने पालिका परिषद, पालिका प्रशासन से निवेदन किया है कि नगर के गौरव पथ को बचाने के लिए उक्त विषय को तत्काल संज्ञान में लेते हुए भारी वाहन खासकर रेत गाडिय़ों को पुन: प्रतिबंधित करें। गोयल ने पत्र की प्रतिलिपि तहसीलदार एवं थानेदार को भी भेजी है।

गोयल ने अपने पत्र में लिखा है कि यदि इस मार्ग पर भारी-भरकम हाइवा चलते रहा तो पन्द्रह साल पहले वाली गंज रोड अपने वास्तविक रूप में फिर आ जाएगी। गोयल ने पत्र में लिखा है कि गंज रोड पर लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत आता है, जिसका निर्माण विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर कार्य किया था। परिषद ने उक्त मार्ग को पालिका के अधीन करने लोक निर्माण विभाग से पत्राचार भी किया था, ताकि पालिका अपने हिसाब से गौरव पथ का मेंटेनेंस कर सके।


20-Sep-2020 8:02 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 20 सितंबर। एनएचएम के हड़तालरत अधिकारी-कर्मचारियों को कलेक्टर ने 24 घंटे के भीतर ड्यूटी पर लौटने नोटिस जारी किया है। अन्यथा अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।

 कलेक्टर ने जारी नोटिस में  कहा है कि, एस्मा भी लागू है। अधिनियम की कंडिका 5 का उल्लंघन किए जाने की स्थित में दण्डात्मक कार्यवाही का प्रावधान है। छत्तीसगढ़ अत्यावश्क सेवा संधारण तथा विक्षिन्ता निवारण अधिनियम 1979 के प्रावधान के तहत कार्रवाई की जाएगी। आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 एवं 56 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत  के लिए प्रस्ताव प्रेषित किया जाएगा। छत्तीसगढ़ एपिडेमिक डिसीज कोविड-1 रेगुलेशन्स 2020 में उल्लेखित प्रावधानों के तहत कार्यवाही और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत नियुक्ति एवं सेवा शर्तों में उल्लेखित कंडिकाओं के उल्लंघन करने के कारण अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। 

जारी नोटिस में यह भी कहा गया है कि, 24 घण्टे की  अवधि के भीतरअपने कर्तव्य पर उपस्थित होकर सामान्य रूप से कार्य निष्पादन करें। वहीं सीएमएचओ ने सभी विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारियों से हड़ताल में जाने वाले कर्मचारियों की सूची माँगी है।


20-Sep-2020 7:57 PM

नवापारा-राजिम, 20 सितंबर। कोरोना संक्रमितों की संख्या को बढ़ते देखे इस बार अब नगर में भी सख्त लॉकडाउन रहेगा। नगर में भी 21 से 28 सितंबर तक सब बंद होगा।

सीएमओ भूपेन्द्र उपाध्याय ने बताया कि रायपुर कलेक्टर के आदेशानुसार नवापारा शहर को भी पूर्ण लॉकडाउन किया जा रहा है। आगामी 21 सितंबर को रात 9 बजे से यह आदेश लागू हो जाएंगा। इसमें किराना, सब्जी, राशन, फल, समेत सभी तरह की दुकानें और कारोबार बंद रहेंगे। केवल मेडिकल एवं इमरजेंसी सेवा को छूट दी गई है, वह भी अति आवश्यक होने पर। शहर में लॉकडाउन की खबर से रविवार को बाजारों में लोगों की भीड़ रही। खासतौर से किराना, डेलीनीड्स और सब्जी बाजारों में लोगों ने जमकर खरीदारी की।

नवापारा थाना प्रभारी कृष्णचंद सिदार ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान बेवजह घूमने वालों के आदेशानुसार कार्रवाई की जाएगी।


20-Sep-2020 7:14 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 20 सितंबर।
अंचल में धान की फसलों में तनाछेदक का प्रकोप देखते ही किसान खेतों में दवाई छिडक़ाव कर रहे हैं। किसान फसल को बचाने प्रयास में लग गए हंै। इस समय किसान प्रतिदिन खेतों में जाकर फसल का मुआयना कर रहे हैं कि कहीं कोई बीमारी न लग जाए।

 हरहुना किस्म की धान फसल पकने की कगार पर है। वहीं सरना सहित लेट वरायटी की फसल अभी गभोट की स्थिति में है। हरहुना में जहां भुरा माहो, चाप का खतरा मंडरा रहा है। वहीं अन्य फसल में शीथब्लास्ट, पत्ती मोड़, तनाछेदक कहर बरपा रहा है। 

राजिम और नवापारा क्षेत्र के ग्राम बकली, पितईबंद, रावड़, कुम्ही, कोमा, किरवई, बेलटुकरी, भैंसातरा, धुमा, परतेवा, पाण्डुका, सरकड़ा, कोपरा, सुरसाबांधा, श्यामनगर, बरोण्डा, सिंधौरी, चौबेबांधा, छांटा, सोठ, कुर्रा, आलेखुंटा, परसदा नवागांव, बुढ़ेनी, भेण्डरी, चंदना, चमसूर, कोलियारी, लखना, चम्पारण सहित अंचल भर के किसानों ने बताया कि वर्तमान में धान की फसल अच्छी मात्रा में तैयार हो रही है। वर्तमान में खेतों में नमी बनी हुईं है। उमस की वजह से तनाछेदक शुरुआती अवस्था में है तथा ब्लास्ट का प्रकोप भी दिखाई दे रहा है। 
 


19-Sep-2020 6:05 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 19 सितंबर।
जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रतीराम साहू ने कहा कि देश के किसानों के हित में इस नए कानून को वापस लिया जाना चाहिए, क्योंकि किसान ही देश की रीढ़ है। नरेंद्र मोदी ने पहले नोटबन्दी लागू कर देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ रखी थी। वहीं अब नया कानून बनाकर देश के किसानों की कमर तोडऩे को आतुर हैं।

नए कानून से किसान धोखाधड़ी व ठगी के शिकार होंगे। इस कानून से किसानों को न तो उचित मूल्य मिल पायेगा और न ही समय पर भुगतान हो पाएगा। वर्तमान समय में कृषि उपज मंडी के माध्यम से धान बेचने पर एक सौदा पत्रक एक आधार होने के बाद भी भुगतान के लिए महीनों तक भटकना पड़ता है। लेकिन नए कानून से कोई भी व्यक्ति या कंपनी कही भी खरीदी करेगा, जिसका कहीं कोई पकड़ नहीं होगा। विवाद की स्थिति में किसान को अनुविभागीय अधिकारी को शिकायत करना होगा जिस पर कार्यवाही के लिए तीस दिन लगेंगे।

दूसरे तरफ कृषि उपज मंडी भी बंद होने की कगार पर आ जायेगी। सौदा पत्रक नहीं होने से किसी प्रकार का शुल्क राशि मंडी समिति में जमा नही होगा। ऐसी स्थिति में मंडी समिति के कामकाज प्रभावित होंगें। कर्मचारियों को वेतन दे पाना भी मुश्किल होगा। 

रतीराम साहू ने कहा कि भाजपा सरकार को किसानों के प्रति जरा भी चिंता है तो वर्तमान में अपने स्वत: द्वारा घोषित समर्थन मूल्य में मंडियों में धान खरीदी की व्यवस्था को ठीक कर ले तो किसानों का भला हो सकता है। उन्होंने आगे कहा कि किसानों के साथ किसी भी प्रकार की छलावा नहीं होना चाहिये। जब तक किसान का जीवन खुशहाल नहीं होगा तब तक देश खुशहाल नहीं हो सकता। 
 


18-Sep-2020 7:48 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 18 सितम्बर। छत्तीसगढ़ शासन खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग महानदी भवन द्वारा 4 सितम्बर को जारी आदेश के तहत जिला खाद्य अधिकारी हुलेश कुमार डडसेना का स्थानांतरण जिला रायगढ़ के लिए हुआ है। कलेक्टर  छतर सिंह डेहरे द्वारा आदेश के परिपालन में श्री डडसेना को नवीन पदस्थापना स्थल जिला रायगढ़ में कार्यभार ग्रहण करने एकतरफा भारमुक्त किया गया है। जिले में नवपदस्थ खाद्य अधिकारी  जी.पी. राठिया के जिला गरियाबंद में पदभार ग्रहण करने तक सहायक खाद्य अधिकारी शाह जफर खान प्रभार में रहेंगे।


18-Sep-2020 7:47 PM

राज्यपाल के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 18 सितंबर। रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर की परीक्षाओं को हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की तर्ज पर आयोजित कराने परीक्षा प्रारूप में संशोधन की छात्रों की मांग को लेकर क्षेत्र के भाजपा नेता एवं जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू ने राज्यपाल अनुसुईया उइके के नाम तहसीलदार राजिम को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन के माध्यम से चंद्रशेखर साहू ने कहा कि रविशंकर विश्वविद्यालय रायपुर के द्वारा परीक्षा संबंधी को भी दिशानिर्देश जारी किए गए हैं वो अव्यवहारिक हैं चूंकि परीक्षा तिथि को ही परीक्षा होने के दो घंटे के भीतर ही परीक्षार्थियों को उत्तरपुस्तिका जमा करने के निर्देश विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा जारी किए गए हैं या स्पीड पोस्ट के द्वारा भी जमा करने के निर्देश दिए गए हैं किंतु क्षेत्र के नवापारा, राजिम व कोपरा स्थित महाविद्यालयों में दूर-दराज के विद्यार्थी पढऩे आते हैं उन्हें अपनी उत्तरपुस्तिकाओं को दो घंटे के भीतर जमा करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ेगा व सर्वर की समस्या के कारण स्पीड पोस्ट में भी बाधा उत्पन्न हो सकती है साथ ही कोरोना संक्रमण के चलते उन्हें आवागमन की सुविधा भी उपलब्ध नहीं हो सकेंगी, ऐसी विषम परिस्थितियों में कोरोना संक्रमण के प्रसार भी संभावित है जो पूर्णत: अव्यवहारिक सा प्रतीत होता है।

उन्होंने उच्च शिक्षा मंत्री से भी मांग किया कि सभी विश्वविद्यालयों के लिए एक साथ सार्वभौमिक नियम बनाये जाएं इसके लिए दुर्ग विश्वविद्यालय की तर्ज पर जो सुविधाएं छात्रों को दी गई है कि परीक्षा के पांच दिनों के भीतर उत्तरपुस्तिका को परीक्षा केंद्र में जमा कर सकते हैं उसी प्रकार ही रविशंकर विश्वविद्यालय व अन्य विश्वविद्यालयों में भी यह सुविधा उपलब्ध हो जिससे छात्र छात्राएं इस संकटकाल में अवसादग्रस्त न हों।


18-Sep-2020 7:43 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

नवापारा-राजिम, 18 सितंबर। वेतन नहीं देने और अपनी जगह दूसरे शिक्षकों से कक्षाएं लेने का आरोप लगाते हुए नवकार पब्लिक स्कूल के शिक्षकों ने स्कूल के बाहर हंगामा किया।

संस्था के शिक्षक रमेश सिंह राजपूत, राजेश सिंह, ओमप्रकाश साहू, रौशनी देवांगन, पायल देवांगन, टिकेश्वरी साहू, दीक्षा गुप्ता, पवन तारक, वीरेंद्र साहू, डाकेश्वर साहू, मोनिका कंसारी आदि ने बताया कि वर्तमान में स्कूल संचालक द्वारा उन सभी को स्कूल की ऑनलाइन क्लासेस नहीं लेने दी जा रही है और उसकी जगह बाहर के शिक्षक क्लास ले रहे हैं, जिससे वे सभी बेरोजगार हो गए। वहीं उनकी सैलेरी भी पिछले कई महीनों से लंबित है।

शिक्षकों ने बताया कि ऑनलाइन क्लास प्रारम्भ करने के लिए हमने जब संस्था संचालक से इस मामले पर चर्चा की तो उन्होंने पूरी सैलेरी ना देकर सिर्फ  30 प्रतिशत सैलरी देने की बात कही। जिस पर हम सभी ने असमर्थता जताते हुए इतने में काम करने से मना करते हुए 50 प्रतिशत राशि देने की मांग की, लेकिन उन्होंने हमारी एक ना सुनी। जिसके बाद हम सभी ने फैसला कर इस मामले को विकासखंड शिक्षाधिकारी, जिला शिक्षाधिकारी, अनुविभागीय अधिकारी, जिलाधीश आदि को पत्र लिखा और कार्यवाही कर न्याय दिलाने के लिए ज्ञापन सौंपा।

महीनों बीत जाने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारियो ने शिक्षकों की सुध तक नहीं ली। सोमवार को शिक्षकों ने पालको को स्कूल बुलाया और स्कूल संचालक से बातचीत करना चाहा, सभी ने उनके समक्ष 50 प्रतिशत सैलेरी व पिछले सैलेरी की भुगतान के साथ जल्द से जल्द जॉब में वापसी की मांग की है। जहां भी उन्होंने गोलमोल जवाब दिया व सैलरी को लेकर कुछ भी बोलने से मना कर दिया।


18-Sep-2020 7:40 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 18 सितंबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 70 वें जन्मदिन के अवसर को सेवा दिवस के रूप में यादगार बनाते हुए जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू ने ग्राम पंचायत श्यामनगर में पंचायत प्रतिनिधियों के साथ मुक्तिधाम में पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण की शपथ ली। ततपश्चात ग्राम के उपस्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ एएनएम प्रभादेवी साहू व मितानिनों को कोरोना वॉरियर्स के रूप में शॉल व श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

इस दौरान जिला पंचायत सदस्य चंद्रशेखर साहू ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के इस महामारी मे कोरोना वारियर्स अपने जीवन का परवाह किए बिना निरंतर सेवाएं प्रदान कर उल्लेखनीय कार्य कर रहे हैं व कोरोना महामारी की दु:खद घड़ी में तत्परता के साथ मानव जीवन की रक्षा में लगे हुए हैं।यह समाज के लिए प्रशंसनीय कार्य है। उपस्थित जनों ने प्रधानमंत्री मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए शासन द्वारा जारी गाईडलाइन का पालन करने, सर्तकता और सावधानी के साथ कोरोना को हराने का संकल्प लिया।

इस अवसर पर वरिष्ट भाजपा नेता कृषलाल साहू बूथ अध्यक्ष किर्तन साहू सरपंच प्रतिनिधि छन्नू साहू,डॉ गोपाल साहू,प्रमोद साहू,बेदराम निषाद,खेलावन साहू,चेलाराम साहू,स्वच्छता दूत जितेंद्र साहू,ईश्वर साहू,ओमप्रकाश साहू,तुलसी यादव,सहित ग्राम वाशी उपस्थित थे।


17-Sep-2020 7:38 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

गरियाबंद, 17 सितंबर। जिले के कई किसानों ने निजी बीज कंपनी के धान से अलग-अलग चरणों में बालियां निकलने की शिकायत उप संचालक कृषि गरियाबंद से की है। गुरूवार को किसानों ने सौंपे ज्ञापन में उक्त कंपनी से उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है।

ज्ञात हो कि गरियाबंद जिला आदिवासी एवं वनांचल जिला है। यहां के अधिकतर किसान कृषि कार्य कर अपनी जीवकोपार्जन करते हैं। जिसके कारण यहां धान का फसल मुख्य फसल के रूप में किसान खेती करते हैं। किन्तु बीते वर्ष की भांति इस वर्ष भी अधिक पैदावारी फसल लेने के लिए बाजार से खरीदा गया निजी बीज कम्पनी के 8433 किस्म की हायब्रिड धान किसानों के लिए घाटे का सौदा साबित हो रहा है।

किसानों के अनुसार निजी बीज कम्पनी 3-4 वर्षों से इस किस्म की धान को 135 से 140 दिन का बताकर बेचती आ रही है और इस वर्ष भी ऐसा ही किया, किन्तु किसानों को उक्त कम्पनी द्वारा दिये गये धान बीज का उपयोग अपनी खेतों में बोनी के बाद अब पौधों से निकलने वाली धान की बालियां 3 अलग-अलग चरणों में निकल रही है, जिससे किसानों को 30 से 40 फीसदी तक नुकसान होने का अनुमान है।

इस संबंध में किसान से पूछने पर बताया कि उन्होंने लगभग 10 एकड़ में यह किस्म के धान को लगाया है और अब उन्हें उत्पादन में 5 से 6 ही एकड़ का मिलेगा बाकी का नुकसान हो जाएगा। जिसकी शिकायत कृषि अधिकारी से की गई। जहां फसलों की जानकारी लेने कृषि अधिकारी खेत पहुंचे और उनका मानना है कि किसानों को इससे भारी नुकसान होगा।

इसी तरह क्षेत्र के कई किसानों द्वारा उक्त कम्पनी के हायब्रिड धान बीज खरीद कर अधिक उपज लेने का खमियाजा भुगतना पड़ रहा है। परेशान किसानों ने उप संचालक कृषि गरियाबंद को इस विषय में ज्ञापन सौंपा है और त्वरित कार्रवाई कर उक्त कम्पनी से उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है ।

उप संचालक कृषि एफ आर कश्यप ने बताया कि फसल के भौतिक निरीक्षण के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।


17-Sep-2020 6:23 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 17 सितम्बर।
कोरोना संक्रमण के दौर में नगर के पार्षद प्रसन्न शर्मा एवं उनके परिवार ने अपने पूर्वजों के स्मरण में अनेक मेडिकल सामग्री जैसे ऑक्सीजन मशीन, बैैड, व्हीलचेयर, वाकर आदि जरूरतमंदों को उपलब्ध करवा रहे हैं। जरूरतमंद वार्ड 13 के पार्षद कार्यालय से भी मेडिकल सामग्री नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। 

पार्षद श्री शर्मा ने बताया कि पितृपक्ष के अवसर अपने स्वर्गीय माता-पिता की स्मृति में मेरे परिवार द्वारा रायपुर के मेडिकल प्रतिनिधि पीयूष शर्मा के निर्देशन में रायपुर की संस्था युवा पहल की प्रेरणा से यह सेवा योजना शुरू की गई है। इसमें 1 नग ऑक्सीजन मशीन, 1 नग पेशेंट बेड, 1 व्हीलचेयर और 1 वाकर उपलब्ध रहेगा। भविष्य में इस सेवा में और विस्तार किया जाएगा। प्रसन्न शर्मा ने बताया कि वे पितृपक्ष में अपने पूर्वजों की स्मृति में हर साल किसी न किसी जरूरतमंद लोगों को उनकी मांग अनुसार मदद करते थे। दो साल पहले स्वामी शांतानंद के शोडषी कार्यक्रम में भी मेडिकल सामग्री दी गई थी। कुछ समय पूर्व राजिम के एक परिवार को ऑक्सीजन मशीन की जरूरत हुई तो उन्होंने मुझसे संपर्क किया तब रायपुर युवा पहल के कार्यालय में पता किया तो उक्त मशीन को कोई जरूरतमंद व्यक्ति उपयोग कर रहा था। बस उसी दिन से ये बात मन में आ गई थी कि इस पितृपक्ष में इस क्षेत्र में इस सेवा की शुरुआत करेंगे, जो आज साकार हो गया। इस दौरान नंदकुमार शर्मा, सुभाषिनी शर्मा, कौस्तुभ शर्मा, अदिति शर्मा, कमलेश साहू, राकेश सोनी आदि लोग उपस्थित थे।

अब नवापारा में भी युवा पहल की टीम करेगी मदद
युवा पहल के प्रतिनिधि पीयूष शर्मा ने बताया कि यह संस्था विगत कई वर्षों से रायपुर में संचालित है। इसकी शाखा वर्तमान में रायपुर, बिलासपुर, मरवाही-पेण्ड्रा और दुर्ग में है और अब राजिम नवापारा में भी शुरू हो गया है। इस संस्था के अंतर्गत जरूरतमंद लोगों को ब्लड, एम्बुलेंस, शवयात्रा के लिए वाहन, गरीब बच्चों की पढ़ाई व चिकित्सा सुविधा के साथ ही ऐसे बुजुर्ग जिनके परिजन विदेशों में हैं और उन्हें हॉस्पिटल - बैंक आने जाने, सब्जी, राशन, दवाई आदि के लिए संस्था के वॉलंटियर मुफ्त सेवा देते हैं। 
 


Previous1234567Next