छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous123456789...3738Next
26-Sep-2021 6:06 PM (33)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 26 सितंबर।
आज जहाँ एक ओर सारी दुनिया अलगाववाद जातिवाद सम्प्रदायवाद धर्मवाद नक्सलवाद आंतकवाद जैसे खूनी संघर्षों से जूझ रही है, ऐसे में सदियों से भारत का समूचे विश्व को शांति का पैगाम देना किसी संजीवनी से कम नही और यह योग के माध्यम से ही संभव हो रहा है।

भारत के प्रयासों से ही आज समूचा विश्व 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में योग कर रहा है। योग के माध्यम से हमें शारीरिक व मानसिक सुकून आनंद व सुख की प्राप्ति होती है।जीवन पर्यन्त मनुष्य के हर कार्य व चेष्टा आनंद की प्राप्ति के लिए ही होती है और जहाँ आनंद है वहीं सुख- शांति भी है।

उक्त बातें विगत दिनों योगाचार्य संजय गिरि नें लायंस क्लब वरदान के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम विश्व शांति दिवस के अवसर पर डोमनहिल चिरमिरी में मुख्यातिथि के आसंदी से कही।
श्री गिरि ने आगे कहा कि इस शांति के पैगाम के कारण ही भारत हमेशा से ही विश्व गुरु रहा है और पुन: स्थापित हो रहा है। कार्यक्रम को आगे संबोधित करते हुए चिरमिरी लायंस क्लब वरदान की अध्यक्ष मुनमुन जैन ने कहा कि हमारे देश के लाखों शहीदों नें देश के लोगों की शांति के लिए हँसते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी। जो आज हम सबके लिए अनुकरणीय व प्रासंगिक भी है। 

उन्होंने कहा कि शांति व अशांति के बीच केवल एक अ ही है। इसके लिए आज हम सबको गहरे प्रयास करने होंगे। तभी सभी मानव जाति में शांति स्थापित हो सकेगा। इसके लिए उन्होनें योगाचार्य जी के योग के माध्यम से क्षेत्र में शांति के प्रयासों को सराहनीय बताते हुए नित्य ही योग करने की सलाह दी। इस दौरान क्षेत्र के युवा व्यवसायी नरेश केशरवानी नें भी विश्व में शांति के लिए भारत की महती भूमिका बताया। युवा अधिवक्ता राम अंजोर नें भी विश्व शांति पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम में उपस्थित मीडिया के साथी शिव दास मुखर्जी ने भी विश्व शांति दिवस की बधाई देते हुए सभी को ईमानदारी से इस दिशा में प्रयास करने की बात कही। कार्यक्रम की शुरुवात अतिथियों व लायंस क्लब के साथियों के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

इस अवसर पर लायंस क्लब वरदान की अध्यक्ष मुनमुन जैन, कोषाध्यक्ष रश्मि ठाकुर, सदस्य सुमन बंसल, युवा भारत पतंजलि के जिला प्रभारी राम सहोदर, रामेश्वर पांडेय, अधिवक्ता राम अंजोर, रामबाबू गुप्ता, बल्लू गुप्ता,आभा अग्रवाल, तैयबअली, युवा व्यवसायी विनायक बंसल व क्षेत्र के अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
 


26-Sep-2021 5:54 PM (22)

अग्रहरी समाज धूमधाम से मनाएगी अग्रसेन जयंती

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 26 सितंबर।
समाज के उत्थान के लिए वरिष्ठ जनों के साथ आगे आया युवा वर्ग। लंबे समय के बाद अग्रहरी समाज की बैठक जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के गायत्री शक्तिपीठ बैकुंठपुर के प्रांगण में रखी गयी। इस बैठक में अग्रहरी समाज क वरिष्ठजन एवं युवा वर्ग समेत समाज की महिला मण्डल ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। साथ ही समाज को समय के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने और अपने समाज केा एक नई दिशा की ओर ले जाने का संकल्प सभी वरिष्ठ एवं युवा वर्ग साथ ही महिला मण्डल  ने ली।

 इस बैठक में अग्रहरी समाज के लोगों को एकजुट करने पर जोर देते हुए नई कार्यकारिणी बनाने व समय समय पर समाज के द्वारा विभिन्न कार्यक्रम संपन्न कराने की बात रखी गयी जिसमें वरिष्ठ जनों ने अशीर्वाद सहित हर संभव मदद के लिए युवा वर्ग का साथ देने की बात कही। बैठक के दौरान समाज के वरिष्ठजनों,युवा वर्ग महिलाओं ने अपने विचार साझा किये जिससे एक मजबूत कडी बन कर उभरी। वरिष्ठ जनों के सुझाव को युवा वर्ग ने अपने समाज के उत्थान और एक नई दिशा की ओर ले जाने के लिए आशीर्वाद स्वरूप ग्रहण किया। 

अग्रहरी समाज के इस बैठक में कई मुद्दों पर गहन  चिंतन की गयी साथ ही अग्रसेन जयंती मनाने, दशहरा मिलन करने, अग्रहरी समाज की पारंपरिक पृष्ठभूमि त।ैयार करने की बाते रखी गयी। समय के साथ समाज केा नई दिशा व उर्जा को मद्देनजर रखते हुए सभी के सहयोग व सर्व सम्मति  से समाज के बेहतर नेतृत्व के लि नवयुवक अग्रहरी समाज का गठन किया गया जिसकी बागडोर राजीव गुप्ता को देकर उन्हे जिले का अध्यक्ष बनाया गया है। वही सचिव के रूप में अंकित  गुप्ता को जिम्मेदारी दी गयी है सभी युवा वर्ग ने एक स्वर में पूर्ण सहयोग देने की बात कही।

अग्रसेन जयंती भव्य रूप से मनाने का निर्णय
आयोजित बैठक में अग्रसेन जयंती को भव्य रूप से मनाने का निर्णय हुआ जिसमें सभी वरिष्ठजनों ने सहमति जाहिर करते हुए कार्यक्रम की रूप रेखा तैयार कर उसे सफल बनाने का जिम्मेदारी  युवा वर्ग के कंधों पर सौंपा गया। युवा वर्ग ने पूरे जोश के साथ वरिष्ठजनों का आशीर्वाद लेकर उनके दिशा निर्देश पर पूरे कार्यक्रम को सफल बनाने में कोई कमी नही नही होने का आश्वासन दिया और कहा कि अग्रसेन जयंती धूम धाम के साथ पूरे जिले में अग्रहरी समाज के लोग मिलकर मनायें जिसकी जल्द रूप रेख तैयार की जायेगी।


26-Sep-2021 5:49 PM (19)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 26 सितम्बर।
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर मेें दूसरे प्रांतों से आये लोगों को आसानी से यहां का पहचान पत्र बन जा रहा है जिनके बारे में छानबीन भी नहीं हो रही है और पहचान पत्र राशन कार्ड आदि के माध्यम से जल्द ही विभिन्न तरह की योजनाओं का लाभ उठा रहे है। 

सबसे अहम बात यह है कि बाहरी राज्यों से आये लोग यहां आकर रह रहे हैं और छोटे व्यवसाय कर रहे हैं लेकिन उनके द्वारा कभी भी थाने में मुसाफिरी नही लिखाई जा रही है वही कई लोगों के किरायेदार बने हुए हैं, लेकिन मकान मालिक भी ऐसे लोगों की जानकारी थाने में उपलब्ध नहीं कराती जो कि जरूरी किया गया है लेकिन इस निर्देश का शहर में लगातार अवहेलना की जा रही है।

जानकारी के अनुसार कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर के कई क्षेत्रों में बिहार, झारखंड, यूपी के लोग आकर यहां निवास कर रहे है तथा कुछ न कुछ व्यवसाय में संलग्न है। ऐसे लोगों की कोई जानकारी थाने में दर्ज नहीं है। जबकि नियमानुसार बाहर से आने वाले लोग जो कुछ दिनों तक यहां रहकर व्यापार करते है या निवास करते है तो ऐसे लोगों को अपनी उपस्थिति व पूर्ण जानकारी  थाने में दर्ज करायी जानी होती है जिसका पालन नहीं किया जा रहा है जो सुरक्षा व शांति के लिए गंभीर बात है। वहीं आधार कार्ड में पता आसानी से बदले जाने का आप्शन है, आधार कार्ड यूपी बिहार का होने की दशा में उसका पता स्थानीय करवा कर यहां का राशन कार्ड बनवाया जा रहा है। शहर में ऐसे सैकड़ों लोगो की संख्या बढ़ती जा रही है जिन्हें आसपास के लोग भी सही ढंग से जानते नहीं है।

आने के साथ ही बनता जाता है राशन कार्ड
छग के दूसरे जिले के साथ दूसरे प्रांत से कोरिया जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में आकर निवास करने वाले कई लोग विभिन्न तरह के व्यापार कर रहे है। जिनको यहां रहते एक वर्ष से भी कम समय होता है और उनका राशन कार्ड तत्काल बन जाता है। इस कार्य में पार्षदों द्वारा उनकी पहचान को सत्यापित कर दिया जाता है और एक वर्ष से कम समय होने के बावजूद इससे अधिक समय से पहचान कर सत्यापित कर दिये जाते है जिसके आधार पर राशन कार्ड बन जाता है। इस प्रक्र्रिया में उचित रूप से जांच पड़ताल भी नहीं की जाती। इस तरह बाहरी लोगों के यहां निवास एवं राशन कार्ड बनाने में संबंधित वार्ड के पार्षदों की बडी भूमिका रहती है। यहॉ यह भी उल्लेखनीय है कि बाहरी राज्यों से आये लोगों द्वारा राशन कार्ड निवास को प्रथम प्राथमिकता देते है और इन दस्तावेजों को बनवाकर योजनाओं का लाभ भी ले रहे है।

मकान मालिक दायित्वों से दूर
शहर में बाहरी क्षेत्र के कई लोग किराये के मकान में रहकर अपना कारोबार करते हैं। मकान मालिकों के द्वारा अपने यहां किरायेदार के रूप में रहने वालों की पूरी जानकारी भी अपने पास पुख्ता रूप से नहीं रखते है सिर्फ पूछताछ कर किराये पर मकान दे देते है। जबकि मकान मालिक का दायित्व बनता है कि ऐसे लोगों की पूरी जानकारी दस्तावेजों के साथ अपने पास रखे और इसकी सूचना भी पूर्ण रूप से पुलिस को दे, लेकिन इसे गंभीरता से नही लिया जा रहा है।

बाहरी लोग ले रहे योजनाओं का लाभ
बहर से आये लोग शहर के विभिन्न क्षेत्रों में निवास कर रहे है और अपना कारोबार कर रहे है। जिनके द्वारा पार्षदों से मिलकर अपना राशन कार्ड व निवास प्रमाण पत्र के लिए औपचारिकता आसानी से पूरी करवा ले रहे है। जिसके बाद राज्य शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ भी उठा रहे हैं कई बाहरी लोगों को आये ज्यादा समय भी नही हुआ कि उनके नाम से पीएम आवास भी एलॉट हो गया है और राशन कार्ड बनने से सुविधाओं का लाभ भी उठा रहे हैं।  


26-Sep-2021 5:44 PM (22)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 26 सितंबर।
कोरिया जिले के विभाजन के बाद पूरा कोरिया जिला अशांत हो चुका है। मनेन्द्रगढ़ जिले की घोषणा  से मनेन्द्रगढ़ में होली दिवाली एक साथ मनाई गई थी, परन्तु बाद में नाम में परिवर्तन के बाद से भरतपुर, केल्हारी, खडग़वां और चिरमिरी में जिला मुख्यालय बनाए जाने की मांग तेज हो गई।  चिरमिरी से आज 200 से ज्यादा जिला मुख्यालय बनाओ संघर्ष समिति के सदस्य पैदल रायपुर के लिए निकले, जिन्हें सीमा तक छोडऩे चिरमिरी के लोगों का हुजूम देखा गया। दूसरी ओर बैकुंठपुर कोरिया बचाव मंच में क्रमिक हड़ताल में पटना, सोनहत, खडगवां, पोडी बचरा सहित पूरे क्षेत्र से हर वर्ग के लिए हिस्सा ले रहे है। कांग्रेस के लिए यह निर्णय गले की हड्डी बनता जा रहा है।

ज्ञात हो कि 15 अगस्त 2021 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरिया जिले का विभाजन करते हुए नए जिले के रूप में मनेन्द्रगढ़ के नाम की घोषणा की, जिसके बाद मनेन्द्रगढ में जमकर खुशी मनाई गई। वहीं चिरमिरी को जिला बनाने की मांग को लेकर क्रमिक भूख हडताल शुरू हो गई, तो कोरिया जिलामुख्यालय में कोरिया बचाव मंच के बैनर तले कोरिया के विभाजन को लेकर क्रमिक धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया गया, बाद में मनेन्द्रगढ से सैकड़ो की संख्या में लोग आभार जताने मुख्यमंत्री के पास रायपुर पहुंचें, तो वहां जिले का नाम बदल कर मनेन्द्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर कर दिया गया, जिसके बाद चिरमिरी में खुशी तो मनाई गई, परन्तु जिला मुख्यालय की मांग पर बीते एक माह से ज्यादा समय से क्रमिक हड़ताल जारी है, वहीं रविवार को पहले 40 लोग मुख्यमंत्री से जिलामुख्यालय की मांग को लेकर रायपुर के लिए पैदल निकले, जिसके बाद उनका चिरमिरी में जगह जगह जोरदार स्वागत हुआ।धीरे धीरे पैदल रायपुर जाने वाले की संख्या 200 के पार पहुंच गई। 

इधर, नए नाम की घोषणा के बाद भरतपुर में भी धरना प्रदर्शन हुआ। यहां केल्हारी या जनकपुर को जिलामुख्यालय बनाए जाने की मांग की गई।

बैकुंठपुर में जारी है क्रमिक प्रदर्शन
कोरिया बचाव मंच के बैनर तले सभी राजनैतिक दल, धर्म, समाज के लोग कोरिया विभाजन का विरोध कर रहे है। शनिवार को गांधी प्रतिमा पर रैली के रूप में जाकर माल्यार्पण किया गया, जिसमें काफी संख्या में आमजन उपस्थित रहे। वहीं हर दिन लोग क्रमिक धरना प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे है। जिसके कारण काफी संख्या में लोगों को जुड़ाव बढता जा रहा है। इससे राज्य सरकार की छवि पर काफी बुरा असर देखा जा रहा है। कोरिया बचाव मंच का कहना है कि कोरिया का विभाजन बेहद गलत निर्णय है, कोरिया के साथ विभाजन में अब अन्याय बर्दाश्त नहीं होगा।  

कई मामलों में फंसा है पेंच
कोरिया जिले के चिरमिरी, मनेन्द्रगढ भरतपुर को जिला बनाने की घोषणा के बाद अब तक जिले की सीमाएं तय नहीं हो पाई है। दरअसल, मामले में कई पेंच फंसे हुए है, सबसे ज्यादा विवाद खडगवां को लेकर देखा जा रहा है, खडग़वां विकासखंड का आधा हिस्सा बैकुंठपुर विधानसभा में तो आधा हिस्सा मनेन्द्रगढ विधानसभा में आता है, वहीं जनपद पंचायत खडगवां के समस्त जनपद सदस्यों ने कोरिया में रहने को लेकर प्रस्ताव पास कर दिया है। इसके अलावा एक तिहाई ग्राम पंचायत भी कोरिया में रहने के पक्ष में हैं। दूसरी ओर चिरमिरी खडग़वां विकासखंड में है, और चिरमिरी के कुछ वार्ड बैकुंठपुर विकासखंड में, ऐसे में सीमा तय करने में राज्य सरकार को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। इसके अलावा कोरिया वन मंडल बैकुंठपुर के चिरमिरी, खडग़वा, कोटाडोल परिक्षेत्र एक साथ है। इनका निर्धारण केन्द्र सरकार करती है।

कम खुशी ज्यादा गम
मनेन्द्रगढ के जिला बनने से बैकुंठपुर के लोगों ने किसी प्रकार का विरोध अब तक नहीं जताया है, परन्तु जिले के विभाजन को लेकर काफी नाराजगी है, वहीं मनेन्द्रगढ चिरमिरी भरतपुर को जिला बनाए जाने के बाद खुशी कम और गम ज्यादा देखा जा रहा है, इसका कांग्रेस को अब तक राजनैतिक फायदा मिलते नहीं दिख रहा है, क्योंकि अलग अलग क्षेत्रों को जोडने से उन क्षेत्रों के लोगों की उम्मीद बढ़ गई है। यदि वो पूरी नहीं होती है तो उसका नुकसान कांग्रेस को होना तय है, पहले सिर्फ बैकुंठपुर में विभाजन का विरोध था, परन्तु अब पूरे जिले भर में कही ना कहीं खुशी कम और नाराजगी ज्यादा देखी जा रही है।  
 


25-Sep-2021 7:03 PM (27)

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया) 25 सितंबर। बीते 6 वर्षो से जर्जर कोरिया जिलामुख्यालय बैकुंठपुर से होकर गुजरने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग 43 की सड़क को लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। सड़क के लिए संसदीय सचिव व बैकुंठपुर विधायक अंबिका सिंहदेव के अनुरोध पर केन्द्रीय मंत्री नितीन गडकरी से 9 करोड़ रू मिल भी गए, परन्तु बात अब शहर के चौड़ीकरण को लेकर अटकी है, यदि सड़क बन जाएगी तो चौड़ीकरण होने का मामला फिर ठंडे बस्ते में चला जाएगा, परन्तु अब शहर के चौड़ीकरण को लेकर प्रशासनिक तैयारी जोरों पर है, तय है कि इसके लिए जनप्रतिनिधियों की हरी झंडी प्रशासन को मिल चुकी है।

जानकारी के अनुसार कोरिया जिला मुख्यालय के छिंदडांड से लेकर जमगहना मोड़ तक एनएच सड़क जर्जर हो चुकी है। एनएच के पुर्ननिर्माण का कार्य लगभग पूर्णता की ओर है, एनएच का बायपास बन जाने से शहर की ओर आने वाली सड़क का काम बचा हुआ है। दरअसल, सड़क की ऐसी हालत आज से नही है, बीते 6 साल से सड़क का ऐसा ही हाल रहा है, वर्ष 2018 में भाजपा की सरकार के समय जिले में पहुंची विकासयात्रा के ठीक पहले सडकों के गड्ढे भर कर काम चलाया गया था। उसके बाद कांग्रेस की सरकार आई और पहली बार सडक के चौड़ीकरण को लेकर बात आगे बढी, कांग्रेस सरकार के बीच के एक वर्ष तत्कालीन कलेक्टर ने इस ओर कोई कार्रवाई नहीं की। उनके स्थानांतरण के बाद जिले की प्रशासनिक आला अधिकारियो की चुस्त दुरूस्त टीम अब इस ओर काम करने की दिशा में जुट गई है, जानकारी यह है कि बारिश के खत्म होते ही जिला प्रशासन शहर के चौड़ीकरण में जुट जाएगा।

शहर का चौड़ीकरण है जरूरी

बैकुंठपुर शहर के बीच से निकलने वाली एनएच शहर के अंदर आकर एकदम सकरी हो जाती है, विवेकानंद तिराहे से ओड़की नाका तक पहुंचनें में आधा घंटा से ज्यादा लग जाता है, कई बार यहां जाम की स्थिति निर्मित हो जाती है। अब लोग मुखर होकर शहर के चौड़ीकरण होने की बात करने लगे है। सूत्र बताते हैं कि जिला प्रशासन शहर के चौड़ीकरण के लिए योजनाबद्ध तरीके से काम कर रहा है, चूंकि 9 करोड़ की आ चुके है, चौड़ीकरण होने में बीच सड़क पर आने वाले बिजली के खंभों को शिफ्ट किया जाएगा। जिसके लिए बड़ी राशि की जरूरत होगी। इसके अलावा सड़क बार बार बनाए जाने से राशि भी ज्यादा खर्च होगी और समय भी। यदि केन्द्र से मिली राशि से सड़क का निर्माण हो जाता है तो शहर के चौड़ीकरण का प्रोजेक्टर अधर में लटक जाएगा।

और सड़क होती चली गई जर्जर

एनएच की यह सडक वर्षो से खराब है, पहली बार यह सड़क खराब हुई है ऐसी कोई बात नही है। कई वर्षो से जर्जर इस सड़क पर जगह जगह जानलेवा गढ्ढे हो गये है बरसात के दिनों में सडक पर बने गढ्ढो में पानी भर जाता है। प्रतिदिन भारी संख्या में छोटे बडे वाहन चल रहे है इसी मार्ग से बड़े लोड वाहन भी गुजरते है। गढ्ढेयुक्त व जर्जर सडकों के कारण आये दिन दुर्घटना होती रहती है। जिम्मेदार विभाग के अधिकारी जर्जर सडकों व गढ्ढो को भरने के लिए कई बार मरम्मत कार्य कराया गया लेकिन बारिश के कारण स्थिति जस की तस हो जाती है।

सांसद को पत्र लिखकर अतिरिक्त राशि की मांग

इधर, संसदीय सचिव व बैकुंठपुर विधायक अंबिका सिंहदेव ने कोरबा संासद ज्योत्सना महंत को पत्र लिखकर राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए अतिरिक्त राशि की मांग की। उन्होंने पत्र में लिखा है कि राष्ट्रीय राजमार्ग 43 कटनी से गुमला सडक हेतु 974.647 लाख रूपये की स्वीकृति दी गयी है लेकिन कोरिया जिला मुख्यालय से लगे करीब 13 किमी की दूरी सड़क जो कि मुख्यालय बैकुंठपुर से होकर गुजरती है। इसके लिए 1600 लाख रूपये अतिरिक्त राशि की आवश्कता होगी। जिसे स्वीकृति दिलाने की मांग की गयी।

कब होगा सड़क चौड़ीकरण 

कोरिया जिलामुख्यालय बैकुण्ठुपर से होकर गुजरी राष्ट्रीय राजमार्ग 43 के चौडीकरण को लेकर हर कोई सवाल पूछ रहा है कि आखिर कब होगा चौड़ीकरण। कांग्रेस सरकार बनने के बाद दो वर्ष पूर्व राष्ट्रीय राजमार्ग का चौड़ीकरण की शुरूआत हुई थी।

शहर क्षेत्र से गुजरने वाली उक्त मार्ग के चौडीकरण के लिए नापजोख की प्रक्रिया शुरू हुई थी कि कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया और शहर क्षेत्र में सडक चौडीकरण का कार्य अधर में लटक गया। इसके बाद अब तक दुबारा सडक चौडीकरण का कार्य शुरू नहीं हो पाया है। शहर क्षेत्र में एनएच  43 का चौड़ीकरण कर दिया जाता है तो इससे यातायात सुगम हो जायेगा और वर्तमान में संकरी सउक के कारण शहर क्षेत्र में आये दिन जाम की स्थिति से लोगों को निजात मिल जायेगा।


25-Sep-2021 7:01 PM (28)

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया) 25 सितंबर। कोरिया जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्यमंत्री ग्राम सडक एवं विकास योजना के तहत बनी पक्की सडकों की जांच के लिए संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने पंचायत मंत्री को पत्र लिखा है। संसदीय सचिव ने पत्र लिखकर जिन सड़को ंकी जांच की मांग की है उसे लेकर ग्रामीणों ने उनके शिकायत की थी।

जानकारी के अनुसार संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव ने मुख्यमंत्री ग्राम सडक एवं विकास योजना की सड़क को लेकर शिकायतें विभिन्न पंचायत क्षेत्रों से मिली जिसे संसदीय सचिव ने गंभीरता से लिया और शिकायत मिलने के बाद पंचायत मंत्री को सडकों की सूची के साथ संबंधित सडक निर्माण के गुणवत्ता की जांच की मांग के लिए पत्र लिखा है।

कौन-कौन सी सड़क की जांच

संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव को बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बैकुंठपुर जनपद पंचायत में पंचायत एवं ग्रामीण विकास अंतर्गत निर्मित सडक को लेकर कई जगहों से ग्रामीणों की शिकायत मिली, जिनमें जगतपुर से लोटानपारा तक 1.60 किमी, डूभापानी से कोरचाडॉड तक 4.530 किमी, पोडी से मुगुम तक 10.30 किमी तथा रतनपुर, भरदा व्हाया चोपन तक बनायी गयी मुख्यमंत्री ग्राम सडक योजना के कार्य में भ्रष्ट्राचार किये जाने की शिकायत की गयी है जिसकी जांच की मांग को लेेकर पंचायत मंत्री को पत्र लिखकर जांच की मांग की गयी।


25-Sep-2021 6:59 PM (33)

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया),  25 सितंबर। कलेक्टर श्याम धावड़े ने कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ पहुंचविहीन गांव आनंदपुर तथा बैकुंठपुर विधान सभा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पटमा में उप स्वास्थ्य केंद्र भवन निर्माण के लिए जिला खनिज न्यास मद से 56.32 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की गयी है। जिसके लिए पहली बार क्रियान्वयन एजेंसी कार्यपालन अभियंता छग गृह निर्माण मण्डल  परियोजना संभाग कोरिया को बनाया गया है।

दरअसल, कुछ दिनों पूर्व नव पदस्थ कोरिया कलेक्टर श्याम धावडे कोरिया जिले के दुरस्थ  ग्राम भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आनंदपुर पहुंचे थे। यहां तक पहुॅचने के लिए कलेक्टर श्री धावड़े के साथ जिला पंचायत के सीईओ और अन्य अधिकारियों ने बाईक चलाकर लंबी दूरी तय कर उबड खाबड रास्तों से होकर तथा नदी नालों को पार कर दूरस्थ ग्राम आनंदपुर पहुंचे थे। वहां पहुंच कर कलेक्टर श्री धावड़े ने स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया और ग्रामीणों से रूबरू होकर समस्याओं को जाना था। जिसके बाद कलेक्टर कोरिया श्याम धावडे के निर्देश पर दुरस्थ वनांचल ग्राम आनंदपुर में उप स्वास्थ्य केंद्र भवन निर्माण के लिए स्वीकृति प्रदान की गयी और इसके लिए जिला खनिज न्यास से 28.16 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान की गयी। इस भवन के बन जाने के बाद वनांचल क्षेत्र आनंदपुर सहित आस पास के कई पहुंचविहीन क्षेत्रों के लोगों को अपने ही क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधा मिल सकेगी। अभी आनंदपुर क्षेत्र के लोगों को समुचित स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिल पा रही थी लेकिन कलेक्टर के दौरे के बाद क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ करने के निर्देश दिये गये जिसके बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भी बाईक से आनंदपुर पहुंचे और वहां की स्वास्थ्य व्यवस्था को जायजा लेकर सुविधाओं में बढोतरी करने के निर्देश दिये थे।

पटमा भी खुलेगा उप स्वास्थ्य केन्द्र

इसी तरह बैकुंठपुर विधानसभा अंतर्गत ग्राम पटमा में जन अपेक्षाओं व समस्याओं को देखते हुए संसदीय सचिव व क्षेत्रीय विधायक अंबिका सिंहदेव की पहल पर उप स्वास्थ्य केंद्र भवन की स्वीकृति दी गयी। इसके लिए भी खनिज न्यास की मद से 28.16 लाख रूपये स्वीकृत की गयी। अब दोनों स्थानों पर उप स्वास्थ्य केंद्र भवन बनाने का काम जल्द शुरू किया जायेगा।


24-Sep-2021 6:49 PM (42)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया),  24 सितंबर। बंजर पड़ी भूमि पर अब हरे भरे पेड़ लहलहाने लगे है, यहां ना सिर्फ साल, पीपल, सीसम सहित कई प्रजाति के हजारों पौधे लगाए गए है, बल्कि औषधी पौधों को भी लगाकर कई विभागों को जोड़ा गया है।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने बैकुंठपुर के आनी ग्राम पंचायत से लगी गई 60 एकड़ बंजर भूमि को उपजाउ और हरा भरा करने की योजना बनाई जिसके बेहतर परिणाम सामने आने लगे है। पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन को ध्यान में रखकर किया गया उनका यह प्रयास रंग लाता दिख रहा है।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने ग्राम पंचायत आनी से लगे बंजर पहाड़ों पर वृहद पौधारोपण कर 60 एकड़ से ज्यादा के क्षेत्र को हराभरा बना दिया है। दरअसल, बैकुंठपुर से लगे एनएच बायपास के आसपास बड़़े बड़े बंजर पहाड़ नजर आया करते थे, यहां की भूमि राजस्व के अंतर्गत आती थी। इन पहाड़ों में बड़ी बड़ी चट्टानें थी, और भूमि एकदम पथरीली हुआ करती थी। जिनके आसपास एक्का दुक्का ही बड़े पेड़ नजर आते थे, शहर से कुछ दूरी पर स्थित यह क्षेत्र पूरी तरह से बंजर और विरान था।

कलेक्टर श्री धावड़े ने इस क्षेत्र का चयन मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के लिए किया। उन्होंने सभी विभागों को पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन का ध्यान रखते हुए इसकी अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने को कहा और उन्हें उक्त बंजर क्षेत्र को अलग अलग विभाग को बांट दिया। जिसके बाद अब आने वाले समय के लिए एनएच सडक़ के किनारें बेहद हराभरा उद्यान के रूप में विकसित होने लगा है। इसके लिए कलेक्टर ने पूरे क्षेत्र को फेंसिग तार का घेरावा करवा दिया है, जिससे कोई मवेशी इसके अंदर जाकर पौधों को नुकसान न कर सके।

10 एकड़ में कई प्रजाति के पेड़

कोरिया वन मंडल के बैकुंठपुर परिक्षेत्राधिकारी अखिलेश मिश्रा के नेतृत्व में 30 प्रकार की प्रजातियों के पौधों का रोपण किया गया है। काम देख रहे छतरपाल ने बताया कि सागौन, खम्हार, आंवला, पीपल, बरगद, सीसम, नीलगिरी, साल, दहिमन, साजा, हर्रा, बहेरा, कुलू, खैर, जामुन, रोहिना, डूमर, नीम, करंज, सिरस के साथ कई प्रजातियों के पौधे अब बढऩे लगे हैं। इसके लिए वन विभाग को कलेक्टर श्याम धावड़े ने 10 एकड़ भूमि दी गई, भूमि पूरी तरह से उबड़ खाबड़ और पथरीली थी, परन्तु अब कुछ स्थान पर बड़ी बड़ी चट्टानें बची है। 10 एकड़ भूमि पर अब हरे हरे लहलहा रहे हैं। परिक्षेत्राधिकारी श्री मिश्रा ने बताया कि इस कार्य में वन प्रबंधन समितियों की बड़ी भूमिका रही है। 

कृषि विज्ञान केन्द्र की भी भूमिका

कलेक्टर के इस प्रोजेक्ट में कृषि विज्ञान केन्द्र ने लेमन नेपिसर घास की खेती की है। वहीं लगभग 50 प्रकार के औषधीय पौधों का रोपण किया है। इस कार्य मे लगे कृषि विभाग प्रभारी रणजीत सिंह राजपूत की माने तो कोरिया में हर तरह के पौधों के रोपण में केवीके ने सफलता पाई है, इस बंजर भूमि पर कलेक्टर महोदय के निर्देश पर काफी तादात में हमने नेपियर और लेमन ग्रास की खेती की है, जिसके अच्छे परिणाम दिख रहे है। इसके अलावा 50 प्रकार के औषधीय पौधों को भी लगाया गया है। इसके अतिरिक्त आनी स्थित इस बंजर भूमि पर उद्यान और कृषि विभाग ने भी काफी मात्रा में पौधा रोपण किया है। कुछ एकड़ भूमि में कई तरह के फूलों की खेती भी की गई है।

लगातार मानिटरिंग और बारिश

कलेक्टर श्याम धावड़े के साथ जिला पंचायत सीईओ कृणाल दुदावत इस बंजर क्षेत्र को एक बार भी हराभरा करने लगातार यहां दौरा करते है, हर सप्ताह दोनों यहां पहुंचकर पौधों की स्थिति और विभागों के काम की समीक्षा करते है। उनके दौरे को देखते हुए अन्य विभाग भी पौधों पर विशेष ध्यान रखते है, दूसरी और जुलाई में शुरू किए इस पौधारोपण के बाद जिले में अच्छी बारिश होती रही, जिससे लगाए गए पौधे अब पूरी तरह से जमीन पर निर्भर होकर लग गए। इस पूरे क्षेत्र में लगाए गए पौधों को बारिश के पानी से काफी लाभ पहुंचा है।


23-Sep-2021 9:24 PM (35)

वीडियोकॉल से पिता से कराई बात

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 23 सितंबर। कोरिया पुलिस द्वारा बीते 2 माह में कई प्रकार की कार्रवाई की जा रही है। आज थाना मनेन्द्रगढ़ टीम द्वारा कोरिया पुलिस की नई पहल के मद्देनजर थाना में बीते 7 साल से लापता लडक़ी को मनेन्द्रगढ़ टीम द्वारा अपनी सूझबूझ से पुलिस ने ढूंढ निकाला।

 लापता लडक़ी की पिता के रिपोर्ट पर 7 वर्ष से लडक़ी की हरसंभव तलाश जारी थी, जिस पर वर्तमान थाना प्रभारी मनेन्द्रगढ़ सचिन सिंह और उनकी टीम ने सफलता हासिल कर ली है। लापता लडक़ी को वीडियो कॉल के माध्यम से लडक़ी के पिता से बात कराई गई। बात करते वक्त पिता और बेटी भावुक हो गए। बेटी के बच्चों को देखकर पिता के चहरे पर खुशी नजर आई और उन्होंने पुलिस का आभार व्यक्त किया है। पुलिस अधीक्षक कोरिया संतोष कुमार सिंह ने थाना प्रभारी और उनकी टीम को बधाइयाँ दी है।


23-Sep-2021 6:47 PM (24)

लेक्टर कर रहे हैं अभियान की मॉनिटरिंग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 23 सितम्बर।क टीकाकरण महाअभियान के बेहतर परिणाम सामने आने लगे है। तीसरे दिन 15 हजार लोगों का टीका लगाया गया है। तीन दिन में टीकाकरण का आंकड़ा कुल 37 हजार पर पहुंच गया है। जो अभी जिले के टीकाकरण अभियान में एक रिकार्ड है। वहीं कलेक्टर श्याम धावड़े ने इस अभियान में हर किसी की भागीदारी की अपील करते हुए हर संस्थाओं को जुडऩे को कहा है।

इस संबंध में कलेक्टर श्याम धावड़े ने सभी लोगों से अपील की है कि स्वयं को, अपने परिवार को और अपने कोरिया जिले को कोरोना की तीसरी लहर से सुरक्षित करने के लिए टीका अवश्य लगवाएं। वैश्विक महामारी से चल रही इस जंग को जीतने में जिला प्रशासन का सहयोग करें।

कलेक्टर श्याम धावड़े के साथ जिला सीईओ कृणाल दुदावत बीते तीन दिन से टीकाकरण महा अभियान का सफल बनाने रात दिन दौरा कर रहे है। इसके अलावा कोरोना की तीसरी लरह को लेकर तैयारियों का जायजा भी ले रहे है। बुधवार को दोनों जिला अस्पताल पहुंचें, जहां शुरू हुए दूसरे ऑक्सिजन प्लांट का मुआयना किया। इसके लिए जिले में 201 टीकाकरण केंद्र तैयार किये गए हैं। साथ ही 10 मोबाइल टीकाकरण टीमें भी गांव-गांव जाकर टीकाकरण कर रही हैं। कलेक्टर का यह प्रयास रंग ला रहा है। इस महाभियान के दो दिनों में 37 हजार से अधिक टीके लगाए गए हैं। 

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार बीते कल सघन कोविड टीकाकरण अभियान के तीसरे दिन 15 हजार 93 टीके लगाए गए। कोरोना की तीसरी लहर से जिले की जनता को सुरक्षित करने कलेक्टर ने अभियान स्वरूप टीकाकरण करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा है कि टीकाकरण के साथ साथ जन जागरूकता का कार्य भी जारी रहे। कोरोना से बचाव के लिए जिले में 22 सितम्बर 2021 की स्थिति में 3 लाख 52 हजार 472 टीके लगाए जा चुके है। जिले में 2 लाख 67 हजार 3 लोगों को पहला टीका एवं 85 हजार 469 लोगो को दोनों टीके लगाए गए है। जिन हितग्राहियों ने अभी तक डोज नहीं लिया है तथा जिनके दूसरा डोज शेष है, वे शीघ्र टीकाकरण करवाकर स्वयं व अपने परिवार को कोरोना की संभावित तीसरी लहर से सुरक्षित करें।
 


22-Sep-2021 5:35 PM (45)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 22 सितंबर।
कोरिया जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनहत में बीते कई महिनों कई दवाओं का टोटा है, जिसकी मांग को लेकर भाजयुमो मण्डल अध्यक्ष मनोज साहू के नेतृत्व में भाजयुमो कार्यकर्ता मंगलवार को सोनहत एसडीएम से मिलकर दवाएं उपलब्ध कराने की मांग का ज्ञापन सौंपा।

इस संबंध में भाजयुमो के युवा नेता मनोज साहू ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनहत मे आवश्यक दवाइयों कि कमी है जैसे पेन्टाप,मनोसेफ एसिलांक जैसी कई जीवन रक्षक दवाईयां उपलब्ध नहीं है, जिसके अभाव में उपचार के लिए मरीजों के परिजनों को आवश्यकता पडऩे पर निजी मेडिकलो से दवाईयां खरीदना पड़ रही है। उन्होंने कहा कि यह दवाई तब खरीदनी पड़ती है जब केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण योजना तहत आयुष्मान भारत कार्ड लागू है, यह योजना सरकार ने इसलिए लांच की है कि गरीब मरिजों को आर्थिक नुकसान ना हो मरिजों का सरकारी पैसे से इलाज हो सके,स  परंतु प्रशासनिक अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे। कार्ड होने के बावजूद स्वास्थ्य केन्द्र में दवाईयों के अभाव में मरीजो का पैसा खर्च होता है।  

उन्होंने बताया कि  उक्त समस्याओं का तत्काल निराकरण कर दवाईयां उपलब्ध कराने की मांग की है, तथा समस्याओं का जल्द निराकरण न होने की स्थिति में भाजयुमो आगे की मांग की रणनीति तैयार करेगी।इस दौरान मनेजर भगत, विवेक साहू एवं अन्य भाजयुमो कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 


22-Sep-2021 5:32 PM (35)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया),  22 सितंबर।
  पुलिस अधीक्षक कोरिया संतोष सिंह के द्वारा कोटाडोल में आयोजित निज़ात कार्यक्रम में आमजनों को सम्बोधित किया गया। दुर्गम इलाके में एसपी कोरिया ने निजात अभियान के तहत बैठक भी ली। 

कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि अत्यधिक नशा विशेषकर कैनबीज जिसमें गांजा शामिल है, के अधिकतम सेवन करने वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ भी शामिल है, कोरिया पुलिस द्वारा इससे व अन्य ड्रग्स से निज़ात पाने के लिए ही इस अभियान की शुरूआत की गई है। कोरिया पुलिस द्वारा पिछले दो माह में अवैध नशे के कारोबार में शामिल 288 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी की गई है। 

जिला पंचायत सदस्य फुलमति सिंह ने कहा कि पहले अपने घर से बदलाव करना होगा, तो समाज बदलेगा। एसडीएम आरपी चौहान ने इस बात पर बल दिया कि नशा नाश का कारण है। कोटाडोल के डॉक्टर सुमित गुप्ता ने कहा कि अच्छे मनोबल से नशे के आदी लोग भी इससे निजात पा सकते हैं। 

कार्यक्रम के शुरुआत में कोटाडोल के सम्मानीय नागरिकों के द्वारा पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह का स्वागत किया गया। नारकोटिक्स व ड्रग्स के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही एवं जागरूकता अभियान के तहत थाना कोटाडोल की टीम ने इस कार्यक्रम को आयोजित किया था।

थाना कोटाडोल के ‘निजात’ कार्यक्रम में तकरीबन पांच सौ से अधिक महिला, पुरुष, छात्र छात्राएं सहित जनप्रतिनिधि, जनपद सदस्य चंद्रप्रताप सिंह, मायासिंह, ज्योति सिंह, रामप्रकाश मानिकपुरी, एसडीओपी राकेश कुमार कुर्रे, राजाराम, रमेश गुप्ता, मानिकचंद परस्ते, मंशाराम यादव, सरपंच शयामवती, शिवभरन सिंह, मानमती व क्षेत्र के कुल 21 गावों के सरपंच उपस्थित रहे।

एसडीएम ने लोगों से उपस्थित लोगों से कोविड वैक्सीन भी लगवाने को कहा। रामकरण यादव ने मंच संचालन व थाना प्रभारी तेजनाथ सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया। सभी द्वारा अवैध नशे के इस मुहिम में सहभागी बनने के लिए शपथ लिया गया। उक्त कार्यक्रम में सेल्फी स्टैंड लगाया गया जिसमें सभी लोगो ने बढ़-चढक़र यादगार सेल्फी ली।
 


22-Sep-2021 5:31 PM (40)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 22 सितंबर।
वैक्सीनेशन में पिछड़े कोरिया जिले में कलेक्टर श्याम धावड़े की पहल रंग लाते दिख रही है, एक ओर जहां प्रतिदिन 2 हजार से ढाई हजार वैक्सीन लगाई जाती थी, बीते दो दिन में रिकार्ड 22 हजार से ज्यादा लोगों का वैक्सिनेशन हुआ है। जिसकी मॉनिटरिंग स्वयं कलेक्टर कर रहे है, इस कार्य में उन्होंने हर विभाग को लगाया है, साथ नोडल अधिकारियों की भी जिम्मेदारी तय की है। अभी पहले डोज के 2 लाख 10 हजार और दूसरे डोज के 3 लाख 82 हजार से ज्यादा लोगों का वैक्सीन का लगाया जाना बाकी है।

सोमवार को कलेक्टर श्याम धावड़े ने टीएल के बाद वैक्सीन अभियान की शुरूआत की, वे स्वयं सोनहत पहुंचें और पहले दूरस्थ क्षेत्रों को वैक्सिनेट करने पर जोर दिया। वहीं दूसरे दिन खडग़वां तहसील के कई ग्रामों का दौरा कर वैक्सिनेशन मे लगे मेडिकल स्टॉॅफ और अन्य अधिकारी कर्मचारियों का उत्साहवर्धन किया। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में अब तक हेल्थ वर्करों को  पहला डोज 8648, दूसरा डोज 7066, फ्रंटलाइन वर्करों को पहला डोज 6498, दूसरा डोज 4785, 45 प्लस को पहला डोज 119048, दूसरा डोज 43304, 18 से 44 वर्ष को पहला डोज 122117, दूसरा डोज 25865 लग चुका है। जिले मेें कुल पहला डोज 256311 और दूसरा डोज 81020 लगाया गया है। पहले के मुकाबले दूसरे डोज को लेकर लापरवाही बरती जा रही है। बीच में वैक्सिनेशन की रफ्तार एकदम धीमी हो गई थी।

कलेक्टर की मुहिम से पकड़ी रफ्तार
कलेक्टर श्याम धावड़े की वैक्सिनेशन को लेकर जारी मुहिम से वैक्सिनेशन की राफ्तार में तेजी आई है। जानकारी के अनुसार 19 सितंबर को कुल 4357 लोगों को वैक्सिनेट किया गया था, इसमें पहला डोज 2782 और दूसरा डोज 1575 लोगों को लगाया गया था, जबकि मुहिम शुरू होने के बाद 20 सितंबर को 11303 लोगों को वैक्सीन लगाई गई, जिसमें पहला डोज 7954 और दूसरा डोज 3349 लोगों को लगाया गया। 21 सितंबर को 11330 लोगों को वैक्सीन लगाई गई, जिसमें पहला डोज 7787 और दूसरा डोज 3543 लोगों को लगाया गया। आंकडों से साफ नजर आ रहा है कि वैक्सिनेशन की मुहिम रंग लाने लगी है। प्रशासन ने प्रतिदिन 12950 वैक्सीन लगाने का और 30 सितंबर तक जिले मे पूर्ण वैक्सिनेशन का लक्ष्य रखा है।

गांव-गांव पहुंच रहे अधिकारी
पूर्व में कलेक्टर द्वारा 60 नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है, वैक्सीन के लिए उन्हें उनके दिए ग्राम पंचायत में उपस्थित रह कर कार्य करने को कहा गया है। ऐसे में गांव गांव अधिकारी पहुंच रहे है। इसके अलावा शहर से लेकर गांव गांव तक वैक्सीनेशन का कार्य करने में स्वास्थ्य विभाग का दल टीकाकरण करने पहुंच रहा है। टीके को लेकर विभिन्न तरह की भ्रांतियों के चलते टीकाकरण नहीं करवा रहे है जिन्हें प्रोत्साहित करने का कार्य भी सरकारी अमले व जनप्रतिनिधियों द्वारा किया जा रहा है। इतना ही नही कलेक्टर विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों का दौरान कर वहां टीकाकरण की स्थिति प्राप्त कर रहे है। इसके अलावा जिन ग्रामों में कलेक्टर पहुंच रहे है उन गांवों के लोगों को जो अब तक टीकाकरण किन्ही कारणों से नही करा पाये है उन्हें टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित कर रहे है।

दूसरे डोज को लेकर बरत रहे लापरवाही
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन का कार्य लगातार जारी है। जिले के ज्यादातर लोग वैक्सीनेशन का पहला डोल तो ले लिये है लेकिन दूसरा डोज निर्धारित समय पर नही लगवा रहे है। शहरी क्षेत्र में स्थिति तो ठीक है। शहरी क्षेत्र में जागरूक लोगों द्वारा पहला व दूसरा डोज अधिकतर ने ले लिया है लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में कई ऐसे है जिन्होन पहला डोज तो ले लिया है लेकिन दूसरा डोज की समय पूरा होने के बाद भी टीकाकरण केंद्र तक नही जा रहे है।

बाकी है वैक्सीनेेशन
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कोरिया जिले में कुल जनसंख्या 6 लाख 57 हजार 488 है, जिसमें 337331 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। इसमें पहला डोज 256311 और दूसरा डोज 81020 लगाया गया है। जिसमें 18 से 44 के 4 लाख 91 हजार 816 और 45 प्लस के 1 लाख 644 कुल 5 लाख 92 हजार 460 लोगों को वैक्सीन का लगाया जाना बाकि है।
 


21-Sep-2021 6:51 PM (31)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया) 21 सितंबर। भाद्रपद में बारिश की रफ्तार कम हो जाती है लेकिन इस वर्ष भद्रपद में ही लगातार कई दिनों की बारिश जिले में होती रही।कोरिया जिले में गत मंगलवार से बारिश शुरू हई जो लगातार शनिवार तक हल्की बारिश जारी रही इसके बाद शनिवार को दोपहर बाद बारिश थमी इसके बाद रात्रि में फिर से बारिश होती रही और रविवार से कुछ राहत मिली लेकिन इस दिन भी बारिश हुई । इसी बीच सोमवार को दिन भर मौसम  आसमान में बादलों का डेरा रहा और शाम ढलते ढलते जिले में अचानक जमकर बारिश करीब एक घंटे तक होती रही।

इस दिन जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर सहित जिले के कई क्षेत्रों में जमकर मूसलाधार बारिश हुई। जमकर हुई बारिश के कारण सडकों पर पानी भर गया और कुछ घंटों के लिए सडकों पर आवाजाही कम हो गयी थी। इस तरह विदा हेाती बारिश भाद्रपद में तीसरे सप्ताह तक जमकर बरसे। जिससे कि खेत खलिहानों में पानी भर गया। वर्तमान में धान फसलों के लिए गिर रहा पानी काफी लाभदायक है। वर्तमान में कई दिनों तक हुई बारिश के बाद धान खेतों केा पर्याप्त पानी मिल गया। अभी धान के पौधों से बालियॉ निकल रही है ऐसे में पानी काफी जरूरी था जो कि कइ्र दिनेां के बारिश ने पूरी कर दी। इससे अब धान की फसलों को नई जान मिल गयी जिससे कि इस वर्ष भी धान की बम्पर उत्पादन की संभावना बढ गयी है।

बरसात का पानी कई लोगों के घरों में

शहर में सोमवार की शाम को हुई जमकर घंटे भर की बारिश के बाद शहर की सडकों पर पानी बहने लगा और सडकों पर कई जगहों पर पानी भर गया। वही भारी बारिश के कारण शहर के कई मोहल्लों में कुछ लोगों के घरो में भी पानी घुस गया था जिस कारण उन परिवारों को भारी परेशानी का सामना करना पडा। इसके पूर्व भी बारिश के दौरान शहर के कई क्षेत्र में लोगों के घरों तक पानी घुसता रहा। नपा द्वारा शहर क्षेत्र में व्यवस्थित रूप से पानी निकासी की व्यवस्था बनाये जाने की जरूरत है ताकि बरसात का पानी लोगों के घरों तक न पहुॅचे।

पेड़ टूटे, विद्युत पोल भी धाराशायी, बिजली घंटों गुल

सोमवार की शाम को हुई भारी बारिश के बाद कई क्षेत्रों में पेड टुट गये व विद्युत पोल भी धाराशायी हो गये। वही बारिश के साथ ही शहर की बिजली धंटों गुल कर दी गयी। जानकारी के अनुसार सोमवार केा बारिश के दौरान शहर के ओडगी क्षेत्र में कई पेड के व सके डंगाल टुटकर गिर गये। वही इसी क्षेत्र में विद्युत पोल भी  गिर। वही बारिश के दौरान से शहर क्षेत्र में धंटों बिजली गुल रही। जिसके बाद विद्युत की बहाली कुछ क्षेत्र में हो गयी लेकिन शहर के कई क्षेत्रो में आधी रात तक अंधेरे में डुबे रहे। आधी रात होने पर बिजली बहाल हो पायी। जिससे कि बिजली नही होने से लोगों केा भारी परेशानियों का सामना रात्रि के दौरान करना पडा। वही कई क्षेत्र में तो पूरी रात अंधेरे में रहा दूसरे दिन सुबह भी बिजली व्यवस्था बहाल नही हो पायी थी।

कई दिनों बाद दर्शन दिये सूर्य देव

कोरिया जिले में बीते कुछ दिनों से लगातार मौसम बारिश के कारण आसमान में बादल छाये रहे जिसके चलते सूर्य देव का दर्शन नही हो पा रहा था। करीब एक सप्ताह के बाद मंगलवार को सुबह से मौसम साफ हुआ और सूर्य देव दर्शन दिये।  उल्लेखनीय है कि कई दिनों तक लगातार बारिश व आसमान में बादल छाये रहने के कारण सूर्य का दर्शन नही हेा पा रहा था। जिसके बाद मंगलवार को सुबह से धूप दिखाई दिया हालांकि इस दिन भी दोपहर के समय आसमान में बादल उमडने घुमडने के कारण सूर्य बादलों से ढंकता रहा लेकिन अब मौसम के खुलने का संकेत मिल गया है।


21-Sep-2021 6:46 PM (25)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 21 सितंबर। कलेक्टर श्याम धावड़े ने अचानक सोमवार को  समय सीमा की बैठक ली, बैठक में उन्होंने जिले भर के एसडीएम की। जमकर क्लास ली, कहा नियम कानून के नाम पर बेवजह आम लोगो को घूमाने का काम बंद हो। सभी नोडल अधिकारियों को भी कहा गांव में जाओ तो पता लगाया करो राजस्व के किस काम के लिए कितनी राशि मांगी जा रही है।

बैठक में उन्होंने सभी एसडीएम से पूछा कि जाति निवास बनवाने में कितने पैसे लगते है किसी ने 16 रुपए बताये किसी से 200 रुपए, कलेक्टर ने कहा कि मुझे फोटोकॉपी और कागज़ के खर्च की जानकारी मत दीजिए, कौन कितने में बना रहा है ये सब मुझे पता है, नियम कानून की आड़ लेकर लोगो को महीनों घुमाया जा रहा है।

उन्होंने एसडीएम और तहसीलदार भरतपुर दोनो को भी कड़े लहजे में कहा कि वहां लोग परेशान है, अपर कलेक्टर को भी उन्होंने कहा कि वो भरतपुर जाएं, कलेक्टर ने कहा कि राज्य बंट गया तो क्या जाति बदल गई, बैगा जनजाति के जाति निवास में देरी की जा रही है। मैं बिल्कुल बर्दाश्त नही करूँगा। उन्होंने कहा कि आप लोगो को वंचित लोगो की मदद करना चाहिए, आगे भर्तियां निकलेंगी जाति निवास लोगो के काम आएगा। आगे बढऩे से किसी को नही रोकना चाहिए।

कलेक्टर ने जाति निवास बनाने में सबसे बेहतर काम करने पर बैकुंठपुर एसडीएम को शाबासी दी, कहा की 3 हजार आवेदन में साढ़े तीन हजार आवेदन का निराकरण किया, ज्यादा से ज्यादा लोगो के जाति निवास बनाकर बेहतर काम करके दिखाया है, इसके लिए उन्होंने बैकुंठपुर तहसीलदार को बधाई दी। वही बाकी एसडीएम को कहा दूसरी ओर आप हो जो साइन करने के नाम पर आजकल कल परसो कर लोगो को घुमा रहे हो। और आपकी प्रोग्रेस भी सही नही है।

कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक  में अधिकारियों से पूछा कि केसीसी क्या है? तब हैरानी की बात है ये सामने आई कि कई अधिकारी और राजस्व विभाग के एक बड़े अधिकारी तक केसीसी के बारे में नहीं जानते दिखे, उन्होंने भी हाथ ऊपर उठा दिया, जिस पर कलेक्टर ने हैरानी जताई और कहा कि जब राजस्व के बड़े अधिकारी को यह बात नहीं पता है तो क्या होगा?

 जिसके बाद जिला पंचायत सीईओ श्री दुदावत ने बताया कि जिस तरह आप लोग के पास बैंक क्रेडिट कार्ड होता है उस तरह किसानों को पास किसान क्रेडिट कार्ड होता है जिससे किसान अपनी खेती के लिए समय समय पर ऋण ले सकता है। कलेक्टर ने एक अधिकारी से पूछा आपने केसीसी से बनवाया है कि नहीं? जिस पर अधिकारी ने कहा उसके पास उसके नाम से जमीन नहीं है,  तो कलेक्टर ने तपाक से कहा 35 एकड़ जमीन तो है मैं छापा नहीं मारने वाला हूँ, जिसके बाद बैठक में हंसी के फव्वारे छूट गए। कलेक्टर ने कहा कि आप सब मैं यही कहना चाहता हूं कि केसीसी का ज्यादा ज्यादा किसानों को लाभ मिले, कई फायदों के साथ उन्हें बिना ब्याज के ऋण मिल सकता है, उन्हें फायदा दिलाइये। ताकि वो खुशहाल हो सके।

टीएल की बैठक में कलेक्टर ने जिले में वैक्सिनेशन की स्थिति की समीक्षा की, सभी एसडीएम से कहा आप टारगेट सेट करो, और आपके सेट किये टारगेट में यदि आप सफल नही हुए तो कार्यवाही के लिए तैयार रहे। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए हम वैक्सिनेशन में काफी पीछे है, इसलिए अब कोई कोताही नही बरती जानी चाहिए। हर हाल में हमे लक्ष्य तक पहुंचना है। उन्होंने 30 सितंबर तक लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए है।

कलेक्टर ने सोमवार को टीएल बैठक रखने के संबंध में बताते हुए कहा कि वो देखना चाहते थे कि 3 दिन की छुट्टी के बाद अधिकारी कितने सजग है। वही मंगलवार से सभी को वैक्सिनेशन में युद्व स्तर पर लग कर काम करने के निर्देश दिए। वही बैठक में कई अधिकारी नही आ पाए, जिसके बाद अनुपस्थित अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया। गौरतलब है कि कलेक्टर श्याम धावडे और जिला पंचायत सीईओ कुणाल दुदावत की जुगलबंदी से कोरिया जिले में प्रशासनिक कसावट बनी है  साथ ही सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन पर लगातार मोनिटरिंग की जा रही है।


21-Sep-2021 5:55 PM (42)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 21 सितंबर। ए
क पखवाड़े से बच्चो में फैली मौसमी बीमारी को राज्य सरकार के निर्देश पर अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल की टीम जांच में लिए जिला अस्पताल बैकुंठपुर पहुंची, वहीं आज भी ओपीडी में 100 से ज्यादा बच्चों की जांच की गई। राहत की बात ये है कि आरटीपीसीआर टेस्ट में भी अब तक एक भी पॉजिटिव मामला सामने नही आया है।

इस संबंध में जिला अस्पताल में पदस्थ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. भास्कर दत्त मिश्रा ने बताया कल 200 बच्चे ओपीडी में आये थे आज भी लगभग 100 से ज्यादा ही बच्चों की जांच की गई है। 15 बच्चों को डिस्चार्ज किया गया है। अभी 50 बच्चे भर्ती है। 

इन दिनों निमोनिया और मौसमी बीमारी के  कहर से बच्चे खासे परेशान है। छोटे छोटे बच्चे इसकी चपेट में है। सोमवार को जिले भर से 200 बच्चे ओपीडी में जांच के लिए पहुंचे थे, वही मंगलवार को 100 से ज्यादा बच्चों की जांच की गई है। अब भी कुछ बच्चो को ऑक्सीजन दिया जा रहा है। वही बच्चों के मामले में जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग खास तौर पर नजऱ बनाये हुए है। नए शिशु वार्ड के शुरू हो जाने से अब जमीन पर किसी का इलाज नही हो रहा है। वही मंगलवार को दिनभर धूप निकलने के बाद उमस और गर्मी के कारण बच्चो को लेकर काफी संख्या में उनके माता पिता जिला अस्पताल में देखे गए। इधर, कलेक्टर के निर्देश के बाद जिला अस्पताल प्रबंधन भी बच्चो की देखभाल में पूरी गंभीरता दिखा रहा है।

40 बच्चों की रिपोर्ट नेगेटिव
17 सितंबर को 40 बच्चों की एंटीजन रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सेम्पल भेजा गया था। आज आई जांच रिपोर्ट में सभी नेगेटिव पाए गए है। वहीं कल और बच्चों की आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सेम्पल भेजे गए है। जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है।  रिपोर्ट नेगेटिव आ रही है. ये स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के लिए राहत भरी खबर है।

दो-दो जांच टीम पहुंची
राज्य सरकार ने बच्चो के मामले में अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज और अम्बिकापुर जिला अस्पताल की टीम को बैकुंठपुर जिला अस्पताल भेजा, मेडिकल कॉलेज की टीम में 4 सदस्य जबकि अम्बिकापुर जिला अस्पताल की टीम में दो सदस्य है। दोनो टीम ने जिला अस्पताल बैकुंठपुर पहुंच कर बच्चो के संबंध में जानकारी ली। बच्चों का हाल जाना। जानकारी जुटा कर दोनों टीम अम्बिकापुर रवाना हो गयी।

 


20-Sep-2021 9:14 PM (53)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 20 सितम्बर। कोरोना संक्रमण के कारण बीते डेढ़ साल से बंद विद्यालय तो खुल गए, परन्तु विद्यालयों में बच्चों की पढ़ाई ठप है। स्कूल बंद रहने के लिए बच्चों की पढ़ाई से दूर हो गए, स्कूल खुलने पर उनकी पढ़ाई बेहद जरूरी थी, पर ऐसा नहीं हो रहा है, ज्यादातर स्कूलों के शिक्षक जाति निवास बनवाने में रात रात तक व्यस्त है तो बचे शिक्षक अब वैक्सीनेशन में जुट गए हंै। ऐसे बच्चों की पढ़ाई भगवान भरोसे हो गई है।

जानकारी के अनुसार कोरोना संक्रमण के कारण बीते डेढ़ वर्ष से स्कूल बंद रहे जिस कारण विद्यार्थियों की पढ़ाई बुरी तरह से प्रभावित हुई हालंाकि लॉकडाउन के दौरान पढ़ाई तुंहर तुआर के तहत ऑन लाईन कक्षाएं संचालित होती रही और मोहल्ला क्लास भी चलता रहा। इसी बीच चालू सत्र से विद्यालय खुले और अब सभी कक्षाओं को खोलने की अनुमति देने के बाद सभी कक्षाएं खुल गयी है। ऐसे में विद्यार्थियों के पढ़ाई को पटरी पर लाने की जरूरत है लेकिन अधिकारियों के निर्देश पर शिक्षकों केा कई तरह के कार्यो में उलझा कर रखा दिया गया है जिस कारण शिक्षक पढ़ाई नही करा पा रहा है। शिक्षकों के पास इतना काम हो गया है कि वे सरकारी आदेश का पालन पहले कर रहे है जिसके कारण उनके पास समय नही बच पा रहा कि  वह कक्षा में बच्चों की पढ़ाई करायें। अधिकारियों द्वारा अपने द्वारा दिये गये आदेश का पालन कराने कार्यवाही की बात करते है। 

जानकारी के अनुसार स्कूल खुलने के बाद शिक्षकों केा जाति निवास आय प्रमाण पत्र बनवाने के लिए महीने भर परेशान होना पड़ा, इसी बीच वैक्सीनेशन के लिए भी शिक्षकों की ड्यूटी लगायी गयी वर्तमान में भी जिले के कुछ ब्लाकों में शिक्षकों केा कोरोना वैक्सीनेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग केे साथ ड्यूटी लगा दी गयी है। वही हाल में संपन्न बेस लाईन आंकलन का मूल्यांकन कर ऑन लाईन एंट्री करने के कारण शिक्षकों के पास विद्यार्थियों के पढाई के लिए समय नही बच रहा हैं। वही सभी बच्चों को निर्धारित लर्निंग आउटकम भी एचीव कराना है ऐसे में यह सब कैसे होगा। इस तरह शिक्षक कई कामों के बोझ के तले दबे हुए है जिस कारण विद्यार्थियों को पढ़ाई नहीं करा पा रहे।

एक माह से ज्यादा समय तक जाति निवास प्रमाण पत्र में उलझे

चालू सत्र में स्कूल खुलने के बाद शिक्षकों द्वारा विभिन्न कक्षाओं में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू कर दी और रिजल्ट वितरण के साथ नाम जोडऩे काटने का कार्य किया गया। इसके बाद शिक्षकों को बच्चों के जाति आय निवास प्रमाण पत्र बनाने के कार्य में लगा दिया गया और प्रत्येक विद्यालयों के संस्था प्रमुखों को लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए समय सीमा निर्धारित कर दी गयी अन्यथा कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये थे। जिसके पालन में विद्यालयों में शिक्षक बच्चों के जाति आय निवास प्रमाण पत्र बनाने के कार्य में जुट गये।

पालकों सं संपर्क कर आवश्यक दस्तावेज जुटाने में जुट गये। घर घर बच्चों के पहुंच कर शिक्षक उनके जाति निवासी आय प्रमाण पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज लेने पहुंचते। कई बार तो उन्हे वापस लौटना पड़ता क्योकि परिवार के लोग खेत या जंगल चले गये होते थे। इस तरह एक बच्चे के घर कई बार चक्कर लगाने के बाद आवश्यक दस्तावेज मिल पाता जिसके बाद बच्चे का आवेदन तैयार कर जमा करना पड़ रहा था। शिक्षकों द्वारा घर घर पहुंच कर यह कार्य कराने को देखकर ग्रामीण भी यह समझते कि यह कार्य गुरूजी का है इसलिए वे निश्चिंत रहते।  इस तरह जाति निवास आय प्रमाण पत्र केा लेकर शिक्षकों को खास परेशान होना पड़ा। जबकि शिक्षकों से गैर शिक्षकीय कार्य नही कराने के निर्देश है बावजूद शिक्षकों से ही राजस्व विभाग के कार्य का दायित्व सौंप दिया गया जबकि ग्राम पंचायत के सचिव , रोजगार सहायक, आंबा कार्यकर्ता के माध्यम से भी यह कार्य कराया जा सकता था।

वैक्सीनेशन में भी लगी शिक्षकों की ड्यूटी

कोरिया जिले के कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए स्कूल खुलने के बाद शिक्षकों की भी ड्यूटी लगायी गयी। जबकि पर्याप्त संख्या में मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ता मौजूद है। बावजूद स्कूल खुलने के बाद शिक्षकों की ड्यूटी वैक्सिनेशन कार्य में लगाया गया तथा वर्तमान में भी कुछ जगहों पर शिक्षकों का सहयोग लिया जा रहा है ऐसे में शिक्षक विद्यार्थियों को कैसे पढाई करा सकेगा। उल्लेखनीय है स्कूल बंद रहने के दौरान शिक्षक विभिन्न नाकों में ड्यूटी किये तथा स्वास्थ्य विभाग का सहयोग किये लेकिन स्कूल खुलने के बाद भी शिक्षकों की सेवाएॅ ली जा रही है ऐसे में विद्यालयों में पढाई प्रभावित होना निश्चित है।

विभागीय काम में भी उलझे शिक्षक

जानकारी के अनुसार गैर शिक्षकीय कार्य के अलावा शिक्षकों केा विभागीय कई कार्य में उलझा दिया जाता है जिससे कि शिक्षकों के पास विद्यार्थियों को पढाई कराने के लिए समय कम बचता है। जानकारी के अनुसार जाति निवासी प्रमाण सपत्र बनाने के साथ ही शिक्षकों को डीबीटी फार्म फार्म भरकर ऑन लाईन करने के निर्देश है लेकिन इसके लिए प्रत्येक विद्यार्थियों के आधार कार्ड, मोबाईल नम्बर सहित खाता की जानकारी शिक्षकों केा प्राप्त करना है इसके बाद ही ऑन लाईन एंटी हो सकता है। इसी तरह हाल की में समाप्त हुए बेस लाईन आंकलन के बाद कापियों का मूल्यांकन करना फिर अंको ऑन लाईन एंटी करने के कार्य में लगे हुए है। इस कार्य में जहां नेट की कनेक्टिीविटी नहीं है वहां के शिक्षकों को दिक्कतों का सामना करना पड रहा है।

शिक्षक वैक्सीनेशन में स्कूल शिक्षक विहीन

इन दिनों लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की मांग पर शिक्षकों केा वैक्सिनेशन के कार्य में लगा दिया गया है। जिसमें इस बात का भी ध्यान नहीं रखा गया कि जहां एकल शिक्षक है वहां के शिक्षकों को तो छोड़ दिया जाये। जिले के कई क्षेत्रों में इस तरह की स्थिति निर्मित हो रही है कि जिन विद्यालयों में मात्र एक शिक्षक है वहॉ के शिक्षक को भी वैक्सिनेशन में ड्यूटी लगा दी जा रही है जिससे कि विद्यालय शिक्षक विहीन हेा जा रहे है। यानी स्कूलों में पढ़ाई को ज्यादा महत्व नहीं दिया जा रहा है सिवाय वक्सीनेशन के।


20-Sep-2021 7:36 PM (31)

नशे का धंधा छोड़ें या फिर कोरिया-एसपी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 20 सितंबर।
रविवार को कोरिया पुलिस द्वारा डोमनहिल के स्टाफ क्लब में नशा व ड्रग्स के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान निजात सम्पन्न हुआ।
 निजात की बैठक में कोरिया जिले के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने कड़े लहजे में ड्रग्स और नशे के कारोबारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि वे या तो नशे का धंधा छोड़ दें या फिर कोरिया। नहीं तो उनका जेल जाना सुनिश्चित है उन्हें कोई बचा नहीं सकता। 

कार्यक्रम में मुख्य अतिथिति के तौर पर उपस्थित विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नशा जिस प्रकार से सामाजिक आर्थिक और शारीरिक क्षति पहुंचा रहा है। इसे नशा के स्थान पर नाश कहा जाना ज्यादा उचित होगा।

निजात अभियान के तहत पुलिस द्वारा त्रिस्तरीय कार्य किया जा रहा है, जिसमें पहला पुलिस द्वारा सख्त एक्शन दूसरा समाज की सहभागिता और तीसरा नशे के दलदल में फंस चुके नशा रोगियों के लिए पुनर्वास कार्यक्रम। श्री जायसवाल ने निजात कार्यक्रम को प्रमुखता से समाज के अंतिम छोर तक ले जाने का आह्वान भी किया। 

कार्यक्रम को अन्य वक्ताओं ने भी वक्ताओं ने संबोधित किया और सभी ने इस नशे की लत से बाहर होने की सलाह दी। कार्यक्रम में मुख्य रूप से चिरमिरी नगर पालिक निगम की सभा पति गायत्री बिरहा, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष नीता डे, पूर्व विधायक श्याम बिहारी जायसवाल व दीपक पटेल, पूर्व महापौर डमरू बेहरा, कांग्रेस के चिरिमिरी ब्लॉक अध्यक्ष सुभाष कश्यप, मुख्य महाप्रबंधक एसईसीएल चिरमिरी घनश्याम सिंह, चिरमिरी ओसीपी सब एरिया मैनेजर, कुरासिया सब एरिया मैनेजर, नगर निगम के निर्वाचित पार्षद, मनोनीत पार्षद, वरिष्ठ कांग्रेसी के साथ शहर के समाजिक संगठन, धर्मिक संगठन एवं सभी राजनैतिक संगठन के पदाधिकारी कार्यकर्ता व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। सभी ने कार्यक्रम के अंत में पुलिस कप्तान का स्वागत करते हुए उनका आभार व्यक्त किया।

 


20-Sep-2021 7:32 PM (27)

मंच ने निकाला मशाल जुलूस, सैकड़ों लोग हुए शामिल

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 20 सितंबर। 
चिरिमिरी जिला मुख्यालय बनाओ मंच द्वारा 17 अगस्त से जारी अनिश्चितकालीन क्रमिक भूख हड़ताल के 34 वें दिन 13 वर्षीय बालक रणवीर व चिरिमिरी नगर पालिक निगम के पूर्व नेता प्रतिपक्ष के साथ कुल 5 लोग अनशन पर बैठे। 

इस दौरान चर्चा करते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष अयाजुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि चिरमिरी अविभाजित कोरिया जिले का सबसे बड़ी आबादी वाला एकमात्र नगर निगम क्षेत्र है। इसके बावजूद बार बार चिरिमिरी से उसका हक छीना गया है। कोरिया जिले के गठन के समय चिरिमिरी जिला मुख्यालय का स्वाभाविक हकदार था, लेकिन राजनैतिक कारणों उसका हक छीनकर बैकुंठपुर को दे दिया गया। इसके बाद जब मनेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र का गठन हुआ, तब भी विधानसभा का सबसे बड़ी आबादी वाला क्षेत्र होने के बावजूद विधानसभा के नाम से चिरिमिरी को वंचित किया गया। लेकिन अब चिरिमिरी के नागरिक अपने हितों के प्रति जागरूक हो गए है और वो इस बार अपना हक लेकर ही रहेंगे। चाहे इसके लिए कितना भी लम्बा आंदोलन करना पड़े।

वही रविवार की शाम को चिरिमिरी जिला मुख्यालय बनाओ मंच ने लोगों को जागरूक करने के लिए मशाल जुलूस निकाला, जिसमें सैकड़ों की संख्या में स्थानीय नागरिक शामिल हुए। यह मशाल जुलूस हल्दीबाड़ी के काली मंदिर से प्रारंभ हुआ तथा पूरे हल्दीबाड़ी का भ्रमण करने के बाद भैसा दफाई के राधा कृष्ण मंदिर में आकर समाप्त हुआ।
 


20-Sep-2021 6:42 PM (39)

टीचर्स एसो. की जिलास्तरीय बैठक 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 20 सितंबर।
शा. उ. मा. विद्यालय केल्हारी वि.खं.-मनेंद्रगढ़ में छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन जिला कोरिया की जिला स्तरीय बैठक 19 सितंबर को सम्पन्न हुई। बैठक में प्रथम नियुक्ति तिथि से सेवा काल की गणना की मांग, जन घोषणा पत्र में उल्लेखित क्रमोन्नति, पदोन्नति, वेतन विसंगति दूर करने, पुरानी पेंशन बहाली, लंबित महंगाई भत्ता, प्रांतीय संगठन के आह्वान पर 2 अक्टूबर 2021 को जिला मुख्यालय में सत्याग्रह आंदोलन की तैयारी तथा सदस्यता अभियान 15 अक्टूबर तक पूर्ण करने का निर्णय लिया गया।

 प्रांतीय आह्वान पर 2 अक्टूबर को सत्याग्रह आंदोलन महात्मा गांधी की प्रतिमा के आस-पास स्वच्छता कार्यक्रम किया जाएगा। इसकी तैयारी के लिए  जिले के सभी ब्लाकों  में 25-26 सितंबर को तैयारी बैठक आयोजित किया जाएगा। 

बैठक में प्रथम नियुक्ति तिथि से सेवा की गणना, जन घोषणा पत्र में उल्लेखित क्रमोन्नति, पदोन्नति एवं वेतन विसंगति दूर करने,शिक्षक पंचायत संवर्ग के समय मृत हुए साथियों के आश्रितों को अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने, अप्राप्य  सीपीएस राशि समाधान के लिए एक महिने का जिला प्रशासन को अल्टीमेटम, मातृ संगठन के अतिरिक्त दुसरे समानांतर संगठन पर संलिप्त पदाधिकारियों पर कार्यवाही, लंबित महंगाई भत्ता, पुरानी पेंशन बहाली की मांग की गई। 

बैठक में छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन कोरिया के प्रदेश महासचिव प्रहलाद सिंह, प्रदेश संगठन सह-सचिव अशोक लाल कुर्रे, महिला प्रकोष्ठ प्रदेश महासचिव चंपा जायसवाल, महिला प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष अंजना सिंह ,जिला संयोजक रविंद्र सिंह, सुरेंद्र सिंह, सतीश सिंह, जिला सचिव महेश शिवहरे, जिला कोषाध्यक्ष गंगाधर पांडेय, रूपेश सिंह ,प्रमोद पांडे आदि शामिल थे।
 


Previous123456789...3738Next