छत्तीसगढ़ » कांकेर

07-Jul-2020 7:25 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 7 जुलाई।
भारतीय जनता पार्टी मंडल भानुप्रतापपुर द्वारा भारतीय जनसंघ के संस्थापक, प्रखर राष्ट्रवादी डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्मदिवस सोमवार को धूमधाम से मनाया गया। तत्पश्चात भाजपा मंडल भानुप्रतापपुर की संगठन बैठक संपन्न हुई। बैठक में मंडल प्रभारी बृजेश सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र की सरकार को दूसरे कार्यकाल के 1 वर्ष की उपलब्धियों एवं राज्य सरकार की असफलताओं को  समस्त शक्ति केंद्र के पोलिंग बूथों में जन जन तक पहुंचाने हेतु बैठक आयोजित करने प्रभारियों एवं सह प्रभारियों की नियुक्ति किया गया। ताकि वे सभी कोरोना संकट में अपनायी जाने वाली सावधानियों को ध्यान में रखकर सभी मतदान केंद्रों में जाकर केंद्र की 6 साल की कल्याणकारी योजनाओं एवं राज्य सरकार की असफलताओं को बता सकें। 

मंडल अध्यक्ष ने कहा कि भारत की एकता और अखंडता के लिए अपने प्राणों का बलिदान देने वाले प्रखर राष्ट्रवादी नेता महान चिंतक और जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी को नमन करता हूं। 

इस अवसर पर एनजीओ प्रकोष्ठ के जिला संयोजक अभय पांडे ने भी महान देशभक्त चिंतक शिक्षाविद एवं राष्ट्रीय एकता और अखंडता के समर्थक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती और उनके द्वारा पार्टी में किए गए अपने जीवन के योगदान के बारे में विस्तार पूर्वक उपस्थित कार्यकर्ताओं को बातें कहीं।

पूर्व मंडल अध्यक्ष रत्नेश सिंह ने भी अपने विचार प्रकट किए। कार्यक्रम में पूर्व मंडल अध्यक्ष नरोत्तम सिंह चौहान,युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष निखिल सिंह राठौर, मंडल महामंत्री ज्वाला प्रसाद जैन डी के कपडे हेम प्रकाश शिवहरे चंद्र कुमार करें अरविंद जैन मनीष मिश्रा शैलेंद्र पुनिया ललित गांधी कमलेश गावडे राजू श्रीवास हेम सोनवानी बसंत यादव जितेंद्र पांडे शकुंतला यादव उर्मिला जसूजा मिलन साहू गेंद रामवीर को योगेश सोनवानी रतन मंडावी गौतम चूर्ण टीकम सोनवानी जाकिर खान आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।


03-Jul-2020 10:56 PM

भानुप्रतापपुर, 3 जुलाई। क्षेत्र में पर्यावरण संरक्षण को लेकर सरकार, जनप्रतिनिधि और लोग लगातार पेड़ नहीं काटने, व अधिक से अधिक पौधारोपण करने जागरूक कर रहे हैं, वहीं भानुप्रतापपुर में वन विभाग के बाबू द्वारा अपने निवास में लगे सागौन के पेड़ को काटने का मामला सामने आया है।

वन परिक्षेत्र कार्यालय भानुप्रतापपुर में कार्यरत बाबू जो कार्यालय के लगभग 100 मीटर दूरी पर सरकारी क्वार्टर में निवासरत हैंं उनके निवास में एक सागौन का पेड़ था, उसे गुरूवार को देर शाम काट दिया गया। बताया जाता है कि, पेड़ इसलिए काटा कि उनके कार को ले जाने में अड़चन हो रही थी। पेड़ शाखाओं को रातोंरात गायब कर दिया, ठूंठ को भी उखाड़कर वहां मिट्टी डाल दी गई ताकि किसी को पता न चले, पर पास में काम करने वाले मजदूरों व अन्य लोगों ने इसे देख लिया था। इसे छुपाने के लिए बाबू ने दूसरे नीम के डंगाल को भी काट दिया। शिकायत पर मीडिया पहुंची तो नीम के पेड़ का डंगाल को काटना बताया। वन विभाग के बाबू ने कहा मैंने सागौन पेड़ नहीं काटा है, नीम पेड़ की डंगाल को काटा हूं।

इस संबंध में वन विभाग के एसडीओ पी सिंह ने कहा कि वन विभाग के बाबू के द्वारा सागौन पेड़ काटने की चर्चा में आई है। इसकी जांच के बाद पता चल पाएगा यदि पेड़ काटा गया है तो कार्रवाई की जाएगी।


02-Jul-2020 9:45 PM

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 2 जुलाई।
भारतीय जनता पार्टी मंडल भानुप्रतापपुर द्वारा आज गुरुवार को शासकीय नजूल आबादी मद भूमि के व्यवस्थापन भू-भाटक राशि के रूप में वसूली का आरोप लगाते हुए थाना के सामने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया एवं राज्यपाल के नाम से एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया।

धरना प्रदर्शन के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के रवैया से नाराजगी जाहिर करते हुए अपने विचार व्यक्त किये। उनके द्वारा कहा गया कि नगर पंचायत भानुप्रतापपुर के अंतर्गत शासकीय नजूल आबादी भूमि पर वर्षों से काबिज है जिन्हें तहसीलदार के द्वारा भूमि व्यवस्थापन निर्धारित कर वसूली जा रही है। जबकि भाजपा सरकार नि:शुल्क पट्टा वितरण करने का निर्णय लिया गया था।

राज्य सरकार के पंजीयन विभाग द्वारा निर्धारित वर्तमान बाजार मूल्य का 152 प्रतिशत किया गया है, तथा पृथक से उपकर व अधोसंरचना शुल्क जोड़ा जा रहा है, जो कि काबिज लोगों की आर्थिक क्षमता से बहुत ज्यादा है। विगत 03 माह के लॉकडाउन के पश्चात वर्षों से शासकीय नजूल आबादी भूमि पर काबिज लोगो से भू भाटक के रूप में जबरिया वसूली का प्रयास किया जा रहा है। नजूल भूमि आबादी मद की भूमि के व्यवस्थापन के लिये राशि लेने के निर्णय को वापस लिया जाए। 

धरना प्रदर्शन के दौरान प्रमुख रूप से निखिल सिह राठौर, बुधनु पटेल,हेम प्रकाश शिवहरे, अभय पांडे, ब्रिजेश चौहान, कस्तूरचंद जैन, नरोत्तम सिह चौहान, बाबूलाल विश्वास, रणवीर सिंह,ललित साहू,आकाश सोलंकी,मनीष साहू,राजिंदर रंधावा, संध्या साहू,सतीश यादव, ललित गांधी, नंदलाल वट्टी,पावल मसीह,डीकेश साहू,तिब्बत साहू  रंजीत ठाकुर, मनोज तिवारी, अनूप कुमार,रमेश तिवारी, मंजू मोटवानी सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

कांग्रेस ने किया पलटवार
बीजेपी के द्वारा धरना प्रदर्शन को लेकर नगर पंचायत अध्यक्ष सुनील बबला पाढ़ी ने कहा कि भाजपा के द्वारा पट्टे को लेकर भ्रामक जानकारी फैलाया जा रहा है जबकि शासन का स्पष्ट निर्देश है कि किसी भी स्थिति परिस्थितियों में न तो जमीन से बेदखल किया जाएगा और न ही उनके मकान को तोड़ा जाएगा। बीजेपी के द्वारा राजनीति रोटी सेकने के उद्देश्य से लोगो को बरगलाया जा रहा है, जबकि देखा जाए तो बीजेपी के अधिकांश ब?े नेताओं द्वारा जो धरना में बैठे हुए है उन्हीं के द्वारा भूमि पट्टे के लिये आवेदन किया जा रहा है।

 


30-Jun-2020 9:58 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 30 जून।
भानुप्रतापपुर के मेन चौक में आज भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के तत्वावधान में भूपेश सरकार का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया एवं छत्तीसगढ़ के राज्यपाल एवं उत्तर बस्तर कांकेर के जिलाधीश महोदय के नाम अनुविभागीय अधिकारी राजस्व भानुप्रतापपुर को एक ज्ञापन प्रतिवेदन सौंपा गया।

ज्ञात हो कि सीएम निवास के सामने एक युवक ने आत्मदाह की कोशिश की थी। जिसको लेकर आज युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष निखिल सिंह राठौर के निर्देशानुसार संपूर्ण जिले में हर मंडल में युवा मोर्चा द्वारा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन कर विरोध प्रदर्शन किया गया।  इस अवसर पर युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष निखिल सिंह राठौर भाजपा मंडल अध्यक्ष बुधनू राम पटेल युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष सचिन दुबे भारतीय जनता पार्टी मंडल महामंत्री ज्वाला प्रसाद जैन डिगेश खापर्डे  युवा मोर्चा महामंत्री वरुण खापर्डे वरिष्ठ कार्यकर्ता अभय पांडे कस्तूरचंद जैन नरोत्तम सिंह चौहान शैलेंद्र सिंह पुनिया गजानंद डड़सेना राजकुमार नशीनें कुंदन साहू अशोक सोलंकी नरेंद्र शर्मा गेंद कुमार हिडको अभिषेक सिंह आकाश सोलंकी सुरेंद्र शर्मा एसपी शुक्ला डीके शर्मा जेके तिवारी रजिंद्ररंधावा चंद्र कुमार कतझरेउर्मिला जसूजा सीता चंद्राकर कमलेश गावड़े अक्कू सक्सेना सुरेश टाडिया शंकरलाल गांधी अक्कू सक्सेना सुरेश साहनी शंकरलाल गांधी लक्की यदु गुलशन  अजय साहू  सहित बड़ी संख्या में युवा मोर्चा महिला मोर्चा एवं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता गण उपस्थित थे।

 


23-Jun-2020 6:22 PM

प्रशासन ने दी है शर्तों के साथ बाजार खोलने की अनुमति

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
विश्रामपुरी, 23 जून।
जिला प्रशासन के द्वारा हाट बाजार शुरू करने की सशर्त अनुमति के पश्चात व्यापारी एवं ग्रामीण आमने-सामने दिखाई दे रहे हैं।

सप्ताह भर पूर्व व्यापारियों की मांग को ध्यान में रखते हुए हाट बाजारों को सशर्त खोलने की अनुमति जिला प्रशासन के द्वारा दी गई है। कई व्यापारी केवल हाट बाजारों के भरोसे ही व्यापार करते हैं। हॉट बाजारों में विशेषकर गल्ला, कपड़ा, किराना एवं सोने चांदी आदि का व्यापार प्रमुख रूप से होता है। जिले के प्रमुख बाजारों में धनोरा, विश्रामपुरी, माकड़ी, गमरी,फरसगांव आदि ऐसे साप्ताहिक बाजार हैं जहां छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों एवं ओडिशा के व्यापारी भी अलग-अलग व्यवसाय के लिए यहां पहुंचते हैं।

ग्रामीणों को डर कि बाहर के व्यापारी कहीं कोरोना वायरस लेकर न पहुंचे
प्रशासन की अनुमति के बाद भी ग्रामीणों के द्वारा बाजार नहीं लगाने के फैसले के पीछे यही कारण है कि दूरदराज से आए हुए व्यापारी कहीं गांव में कोरोनावायरस लेकर ना पहुंच जाएं। इस समय ग्रामीण क्षेत्र में कोरोनावायरस का संक्रमण नहीं है। इसी डर से बड़ेराजपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत, विश्रामपुरी तथा गमरी एवं केशकाल ब्लॉक के धनोरा के पंचायत प्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों ने बैठक कर यह फैसला लिया कि जिला प्रशासन की अनुमति के बावजूद वे यहां साप्ताहिक बाजार नहीं लगने देंगे तथा बकायदा सोशल मीडिया पर फैसले की कापी जारी कर दिया गया। 

विश्रामपुरी में जनप्रतिनिधियों ने तहसीलदार से मिलकर कहा कि इस समय जहां लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है जिससे यह बाजार खोलने का उचित समय नहीं है। केशकाल ब्लॉक के ग्राम धनोरा के जनप्रतिनिधियों एवं केशकाल के व्यापारियों के बीच मतभेद खुलकर सामने आया है। सरपंच एवं अन्य जनप्रतिनिधि साप्ताहिक बाजार लगने देने के खिलाफ हैं, वहीं व्यापारी बाजार शुरू करना चाह रहे हैं। यहां पूर्व में क्वारंटीन सेंटर में रखे गए मजदूरों को कोरोनावायरस वायरस संक्रमित मानकर गांव में भय का माहौल है।
ग्राम पंचायत विश्रामपुरी अ के सरपंच सोमनाथ मरकाम एवं विश्रामपुरी ब की सरपंच निर्मला शोरी ने बताया कि प्रदेश में बढ़ रहे कोविड-19 के संक्रमण के चलते बाजार शुरू नहीं करना चाह रहे हैं। इसके संबंध में तहसीलदार को लिखित में ज्ञापन सौंपा गया है।

तीन माह से लॉकडाउन से परेशान व्यापारी किसी तरह जहां साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति चाह रहे हैं वहीं ग्रामीणों का मानना है कि साप्ताहिक बाजार लगने से दूरदराज के व्यापारियों के आने से बाजार में भीड़भाड़ होगी। दूसरी मुसीबत यह है कि गांव में ज्यादातर लोग मास्क एवं सामाजिक दूरी का पालन नहीं करते  जिससे कोरोनावायरस बाजार के जरिए गांव में पैर पसार सकता है। ग्रामीणों ने  प्रशासन को हाटबाजार खोलने की अनुमति के बारे में पुनर्विचार करने की मांग की है। 

इस संबंध में कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा ने बताया कि हाट बाजार के मामले में पंचायत फैसले के लिए स्वयं सक्षम हैं। ग्रामीणों के विरोध के बाद उन्होंने केशकाल एसडीएम एवं तहसीलदार को निर्देश दिया है कि वे ग्रामीणों एवं व्यापारियों की बैठक लेकर मामले को सुलझाएं। उन्होंने यह भी कहा कि स्थानीय व्यापारी भी नहीं चाहते कि बाजार खुले, जिससे यह स्थिति निर्मित हो रही है।
 


22-Jun-2020 8:42 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
विश्रामपुरी, 22 जून।
मानसूनी बारिश के शुरू होते ही क्षेत्र में अनेक गांव में ब्लैकआउट की स्थिति निर्मित हो गई थी लोग रात भर अंधेरे में रहे। करीब 18 घंटे लाइट बंद रही। सुबह लाइन चालू होने के बाद भी दिन भर आंख मिचौली चलती रही।

जैसे ही बारिश शुरू होती है विद्युत की आंख-मिचौली भी शुरू हो जाती है।  कल शाम को जैसे ही बारिश शुरू हुई, 18 घंटे तक केशकाल एवं विश्रामपुरी का पूरा इलाका अंधेरे में डूबा रहा। केशकाल को फरसगांव क्षेत्र से रिटर्न विद्युत लाइन दिया गया था किंतु पूरा ग्रामीण क्षेत्र अंधेरे में डूबा रहा। 

केशकाल ,कोरगांव, विश्रामपुरी, बड़ेराजपुर, बांसकोट, सलना, गमरी आदि गांवों में विद्युत व्यवस्था ठप रही। सुबह 9 बजे के बाद विद्युत लाइन चालू हो सका। इस समय आंधी तूफान जैसी स्थिति भी नहीं थी मामूली बारिश में विद्युत ठप होने से लोगों में आक्रोश दिखाई दिया। 

इस संबंध में जेई विश्रामपुरी प्रवीण कौशिक ने बताया कि कांकेर से मेन लाइन खराब था जिसके चलते क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था ठप थी। 


22-Jun-2020 8:38 PM

जुआरी भागे, 8 बाइक जब्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
विश्रामपुरी/ केशकाल, 22 जून।
रविवार को जुएं के अड्डे में दबिश देने कोंडागांव पुलिस धनोरा के जंगल में पहुंची।

पुलिस के आने की खबर लगते ही जुआरी मोटरसाइकिल और चप्पल छोडक़र भाग गए। मौके पर कुल 8 मोटरसाइकिल, तिरपाल, दरी , ताश के पत्तों के 3 पैकेट्स , पानी बोतल मिले। 
पुलिस थाना धनोरा क्षेत्र में नक्सल प्रभावित क्षेत्र ग्राम करमरी और हिचका के बीच जंगल में पहाड़ी की आड़ में रविवार को एक बड़ा जुएं का अड्डा चलने की सूचना मुखबिर के ज़रिए पता चलने पर पुलिस अधीक्षक कोंडागांव  बालाजी राव के निर्देश पर जिला मुख्यालय और अनुविभाग केशकाल की एक संयुक्त टीम गठित कर धनोरा क्षेत्र में रवाना किया गया। टीम जब करमरी और हिचका के जंगल में इस जुएं के अड्डे पर पहुंची तो वहां का सेटअप देख दंग रह गई। जुआरियों ने जंगल के बीच में तिरपाल खींच कर दरी इत्यादि लगाकर एक कैम्प जैसा माहौल बना रखा था, हालांकि टीम के आने की सूचना जुआरियों को गांव में घुसते ही पहले से लग गई इसलिए मौके पर कोई जुआरी खेलते पकड़ में नहीं आ पाया पर इस क्षेत्र में अचानक पुलिस की इस कार्रवाई से आनन फानन में कई जुआरी अपनी मोटरसाइकिल और चप्पल छोडक़र भाग गए  और मौके पर कुल 8 मोटरसाइकिल, तिरपाल, दरी , ताश के पत्तों के 3 पैकेट्स , पानी बोतल इत्यादि मिले। जब्त वाहनों और सेटअप से ऐसा प्रतीत होता है कि यहां भारी मात्रा में जुवारियों का जमावड़ा रहा होगा। 

धनोरा थाना पुलिस ने सभी वाहनों को धारा 102 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत जब्त कर लिया है और मामले में संलिप्त लोगों की तलाश की जा रही है ।