छत्तीसगढ़ » कांकेर

Previous12Next
Date : 28-Feb-2020

स्कूलों के कार्यों की समीक्षा बैठक 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा,  28 फरवरी।
विकासखण्ड के समस्त प्राथमिक,माध्यमिक स्कुलो के प्रधान अध्यापक , प्रधान पाठक , हाईस्कूल प्राचार्य ,सहित संकुल समन्वयकों एवं स्कूलों के कार्यों की समीक्षा बैठक 27 फरवरी को नव पदस्थ जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पाण्डेय के द्वारा बीआरसी सभा कक्ष में ली गई।

 बैठक के पहले नव पदस्थ जिला अधिकारी का बीईओ एस पी कोसरे, बालक हाईस्कूल प्राचार्य आर सी नहाले ,कन्या हाईस्कूल प्राचार्य एच सी नाग एवं सभी प्रधान अध्यापको, संकुल समन्वयकों द्वारा पुष्प गुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया। जिसके बाद जिला अधिकारी द्वारा स्कूलों में संचालित होने वाली इको क्लब, शाला अनुदान, मध्यान्ह भोजन, किचन गार्डन, शाला भवनो एवं परिसर की साफ सफाई, रंग रोगन, अति आवश्यक मरम्मत कार्यों, बिजली, पानी, बालक बालिका शौचालय, पुस्तकालय,पालक बालक सम्मेलन के कार्यों की समीक्षा की एवं सी और डी ग्रेड वाले विद्यालय को गोद लिए प्रभारियों से उनके द्वारा अब तक उन स्कूलो में क्या क्या कार्य किया गया,उनके गोद लेने के बाद उन स्कूलों के शैक्षिक कार्य में क्या परिवर्तन आया, की जानकारी चाही एवं और उन्हें सुधार हेतु क्या कार्य किया जा सकता है का सुझाव भी लिया गया।स्कूलों की परीक्षाओं के लिए आवश्यक दिशा निर्देश सभी को दिये।  चॉवडी संकुल समन्वयक चिंताराम बनपेला के पुत्र पंकज बनपेला के वैज्ञानिक पद पर डीआरडीओ में चयन होने पर चिंताराम बनपेला का सम्मान किया। 


Date : 28-Feb-2020

महानदी के किनारे दिखा जंगली मवेशी गौर, तलाश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा,  28 फरवरी।
वन परिक्षेत्र चारामा अन्र्तगत लखनपुरी उपपरिक्षेत्र के बोदेली और तारसगांव महानदी के किनारे शुक्रवार सुबह ग्रामीणो के द्वारा गौर जंगली मवेशी को देखा गया। इसकी सूचना तत्काल ग्रामीणों के द्वारा वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी को दी गई। 

 डीएफ ओ अरविन्द पीएम जानकारी मिलते ही वे तारसगांव, बोदेली के जंगल में पहुंचे,जहां विभाग ने तलाश किया, लेकिन वह नहीं दिखा। अनुमान लगाया जा रहा है कि वह बोदेली के जंगलों से भैसाकट्टा, पलेवा और डोडकावही के जंगलों से होकर नरहरपुर की ओर निकल गया। 

इस संबंध में वन परिक्षेत्र अधिकारी एस पी सिंह ने बताया कि गौर शांत मवेशी है, यह जंगली भैंसे से भी बड़ा होता है। छग में यह सीतानदी, उदंती एवं बस्तर के वृहद जंगलों में पाया जाता है, यह कहां से भटक कर और ऐसे किधर आया, इसकी जांच की जा रही है। फिल्हाल गौर चारामा वन परिक्षेत्र की सीमाओं से बाहर चला गया है और लगातार तलाश चल रही है। उन्होंने आम जनता से अपील की कि अगर उन्हें गौर मवेशी दिखाई देता है तो वे इससे दूर रहे और इसकी जानकारी तत्काल संबंधित वन विभाग के कर्मचारियो को दें। उसे छेड़े नहीं। 

 


Date : 28-Feb-2020

ग्रामीणों को कम्प्यूटर-सिलाई मशीन का प्रशिक्षण, आईटीआई भानुप्रतापपुर-अंतागढ़ में सिविक एक्शन प्रोग्राम का समापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 28 फरवरी।
सशस्त्र सीमा बल की 33वीं वाहिनी केवटी के कमांडेंट मागदर्शन एवं कार्यकारी कमांडेंट पी वी सामी के आदेश के अनुसार चल रहे सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत एसएसबी केवटी द्वारा 25 फरवरी को शासकीय आई टी आई भानुप्रतापपुर में कम्प्यूटर एवं सिलाई मशीन प्रशिक्षण का समापन किया गया। जिसमें नक्सल प्रभावित क्षेत्र के गांव कन्हारगांव, पण्डारपुरी, चवेला, भीरावाहीं, चावारगांव, घोटिया, अमारपारा एवं आसुलखार जो कि भानुप्रतापपुर प्रखण्ड में आते हैं। वहां के 20 ग्रामीणों को कम्प्यूटर एवं सिलाई मशीन में 15 प्रशिक्षणाथियों को आईटीआई भानुप्रतापपुर के अधीक्षक रोशन ध्रुव, प्रशिक्षक प्रशान्त कुर्रे, शेख सोखिया ने प्रशिक्षण दिया।

 वहीं 25 फरवरी को अंतागढ़ आईटीआई में सिविक एक्शन प्रोग्राम का समापन किया गया। जिनके तहत 10 प्रशिक्षणाथियों को कम्प्यूटर एवं 15 को सिलाई मशीन का प्रशिक्षण दिया गया। जो नक्सल प्रभावित गांव कुरसेल, सुलांगी, पादरगांव के हैं। सुरतु कुमार साहू, एच एम नाग, के के राणा, अजय मोरी, आर एन बघेल एवं ममता खापर्डे के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।
आईटीआई अंतागढ़ एवं भानुप्रतापपुर में सिविक एक्शन के तहत प्रशिक्षण लिए सभी प्रशिक्षणाथियों को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उप कमांडेंट वी भोगराजु कहा कि स्वयं के काम के साथ ही इसे भी व्यवसाय के रूप में शामिल कर सकते हैं। जिससे परिवार की आय बढ़ेगी। एसएसबी के द्वारा प्रत्येक वर्ष ऐसे जनहित कार्य आयोजित कर युवक-युवती एवं महिलाओं को लाभान्वित किया जाता है।

आईटीआई भानुप्रतापपुर कार्यक्रम के समापन अवसर पर एस एस बी केवटी के उप कमांडेंट विनय कुमार सहायक कमांडेंट रमेश याईखोम, सहायक कमांडेंट रतीश कुमार पांडेय, सहायक उप निरीक्षक सुरंजय सिंह उपस्थित थे। वहीं अंतागढ़ आईटीआई में उप कमांडेट विनय कुमार, सहायक उप निरीक्षक सुरंजय सिंह प्राचार्य एवं स्टॉफ उपस्थित रहे।
'


Date : 28-Feb-2020

हीरो बाई सिन्हा का निधन 

चारामा,  28 फरवरी। ग्राम सराधुनवागांव निवासी हीरो बाई सिन्हा का निधन 28 फरवरी को हो गया। उनका अंतिम संस्कार ग्राम सराधुनवागांव में किया गया। वे चन्द्रभान सिन्हा की माता एवं छग सांस्कृतिक संस्था सराधुनवागांव के संचालक गोपाल सिन्हा की दादी थीं। 


Date : 28-Feb-2020

कॉलेज में राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी

चरामा, 27 फरवरी। छग में गांधीवादी आंदोलन एवं उनके विचारों का प्रभाव विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी का आयेाजन शहीद गैंदसिंह महाविद्यालय जैसाकर्रा चारामा में आयोजित हुआ। संगोष्ठी का आयोजन दो अलग अलग सत्र में किया।

पहले तकनीकी सत्र में मुख्य अतिथि डॉ. सुभाष दत झा पूर्व प्राचार्य शा.बिलासा स्नातकेात्तर कन्या महाविद्यालय बिलासपुर छ.ग.,अध्यक्षता डॉ.चेनतराम पटेल प्राचार्य शास.इन्दरू केवट कन्या महा.कांकेर, विशेष अतिथि सनत कुमार मिश्र गोंदिया महाराष्ट्र,शरद ठाकुर सहायक प्रधायपक भानुप्रतापपुर, श्यामानंद डेहरिया सहा.प्रध्यापक भानुप्रतापपुर, संस्था की प्राचार्य डॉ सरिता द्वारा महात्मा गांधी और मां सरस्वती की छायाचित्र की पूजा-अर्चना कर कार्यक्रम का शुभांरभ किया गया। डॉ. सरिता उईके के द्वारा महाविद्यालय का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। जिसके मुख्य अतिथि डॉ. झा ने महात्मा गांधी के आजादी  के समय छ.ग. में आगमन से लेकर उनके आंदोलनों की कहानियों की विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

दूसरे चरण में मुख्य अतिथि रमेन्द्र मिश्र अध्यक्ष छग इतिहास,संस्कृति एंव पुरातत्व रायपुर, आर.पी शर्मा शिक्षाविद् उज्जैन के द्वारा महात्मा गांधी के आंदोलनों से जुड़ी कई बातों को जो पुस्तकों में ढूंढने से भी नहीं मिल पाती है, उनको छात्रों के बीच रखा। अतिथियों ने कहा कि आज के युवाओं को अपने ऐतिहासिक धरोहर एवं महापुरूषों के छग में किये गये योगदान  को पढऩे और जानने व संरक्षित करने की आवश्यकता है।

 संगोष्ठी के दौरान छात्रों एवं प्रोफेसरों द्वारा भी कई सवाल पूछे गये। जिनका जवाब विद्वानों ने दिया। अतिथियों को संस्था की ओर से स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया ,साथ ही अतिथियों की ओर से गांधी जी से जुड़ी कई अच्छी पुस्तकों की जानकारी छात्रों को दी गई।


Date : 26-Feb-2020

चारामा के पंकज बनपेला का डीआरडीओ में वैज्ञानिक पद पर चयन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा, 26 फरवरी।
नगर के पंकज बनपेला का रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन नई दिल्ली (डीआरडीओ)में वैज्ञानिक पद पर चयन हुआ है। पंकज को डीआरडीओ में वैज्ञानिक पद पर चयन होने की जानकारी डीआरडीओ की वेबसाईट पर मिली। हालांकि डीआरडीओ की ओर से चयन की विधिवत घोषणा प्रतिशत और रैंक के अनुसार बाद में की जाएगी। 

डीआरडीओ नई दिल्ली में 55 वैज्ञानिक पदों के लिए वैकेंसी जारी की गई थी। आवेदन भरने के लिए एनआईटी एवं आईआईटी में 80 फीसदी से अधिक अंक के छात्र ही पात्र रखे गये थे। पंकज बनपेला निवासी भाटापारा चारामा ने बताया कि वर्ष 2013 से 2017 तक एनआईटी जयपुर से मेकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की गई और 85 प्रतिशत अंक प्राप्त किया। स्नातक में 85 प्रतिशत अंक प्राप्त करने के आधार पर उन्होंने डीआरडीओ की वैकेंसी का आवेदन उन्होंने भरा। जिसकी मुख्य परीक्षा दिल्ली में 15 दिसम्बर 2019 में हुई, जिसमें चयन होने पर उनका इंटरव्यू 14 फ रवरी 2020 को दिल्ली में हुआ। 

पंकज का डीआरडीओ में वैज्ञानिक पद पर चयन होने की जानकारी डीआरडीओ की वेबसाईट पर मिली। हालांकि डीआरडीओ की ओर से चयन की विधिवत घोषणा प्रतिशत और रैंक के अनुसार बाद में की जाएगी। पंकज ने बताया कि वेबसाईट पर परिणाम घोषित हुए हैं, उनमें छग से सिर्फ  उनके चयन होने की संभावना जताई है। 

उन्होंने अपनी सफलता के बारे में बताया कि 2017 में स्नातक के बाद से 2018 तक एक निजी कंपनी में प्राईवेट जॉब करते रहे, जिसके बाद उन्होंने वैज्ञानिक बनने का लक्ष्य बनाया और 2018 से एक साल तक दिल्ली में रहकर डीआरडीओ और इसरो की चयन परीक्षा की तैयारी कोचिंग के माध्यम से की और परीक्षा दी और पहली बार में ही उन्हें सफलता प्राप्त हो गई। 
पंकज एक सामान्य परिवार से है और बचपन से पढ़ाई में होशियार और होनहार रहे। उनकी प्राथमिक शिक्षा प्राथमिक शाला चॉवड़ी में हुई। पांचवीं में नवोदय स्कूल बारसूर में चयन हुआ। कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में पकंज ने 93 प्रतिशत और गणित विषय लेकर 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 90 प्रतिशत और मेकेनिकल इंजीनियरिंग विषय से स्नातक में 85 प्रतिशत अंक प्राप्त किया। 

पंकज ने बताया कि स्नातक की पढ़ाई की अंतिम वर्ष 2017 में अपने कॉलेज से पूरे भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए चाईना के बीजिंग में आयोजित साइंस प्रतियोगिता में शामिल हुए। उन्होंने 'नी ज्वाइंट एक्जोस्क्ेलेटनÓ  पर अपना प्रोजेक्ट प्रस्तुत किया था और उन्हें वहां भी सफलता मिली थी। अब पंकज को डीआरडीओ की घोषणा, ज्वाइंनिंग लेटर, साथ ही इसरो के परीक्षा परिणाम का इंतजार है। पंकज की इस सफलता से माता-पिता, बहनों एवं परिवार में खुशी छा गई है। पंकज के पिता चिंताराम बनपेला शिक्षक है और वर्तमान मे शिक्षा विभाग अन्र्तगत ग्राम चॉवड़ी संकुल में समन्वयक है। पंकज ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने परिजनों और शिक्षकों को दिया है। 

 


Date : 26-Feb-2020

हेमराज बने कोरर उपसरपंच 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरर, 26 फरवरी।
ग्राम पंचायत कोरर के प्रतिष्ठापूर्ण उपसरपंच चुनाव में हेमराज सिंह राठौर ने अपने प्रतिद्वंद्वी अकरम कुरेशी को 9 वोटों के अंतर से पराजित किया। 

विगत 24 फरवरी को ग्राम पंचायत कार्यालय में सम्पन्न हुए चुनाव में हेमराज राठौर को 15 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंदी अकरम कुरैशी को 6 वोट मिले। चुनाव की प्रक्रिया दोपहर एक बजे से नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने से हुई, जब दो प्रत्याशी द्वारा समय सीमा तक नाम वापस नहीं लिया गया, तब तीन बजे मतदान की प्रक्रिया शुरू की गई एवं कुल सभी  21 मतदाताओं ने इस चुनाव में भाग लिया।

 मतों की गिनती में जैसे ही हेमराज ने विजय हासिल की, उनके समर्थकों का जोश देखते ही बनता था एवं रंग गुलाल एवं आतिशबाजी के साथ शाम को ही उनका विजय जुलूस डीजे की धुन में समर्थक थिरकते हुए नगर भ्रमण किया एवं लोगों का आभार व्यक्त किया, जो देर रात तक चलता रहा। ग्रामीणों ने जोश के साथ उनका स्वागत किया। 

इस आभार रैली में गाँव के गणमान्य  लोग उपस्थित हुवे जिसमें हेमराज को बधाई देने वाले मे सरपंच सौरभ ठाकुर,सर्वेस चौहान,रमेश पाण्डेय,पूरण नायक,जयपाल,लक्खु कोसमा,जयलाल,शंकर यादव,रीतेश पाण्डेय,अनूप राठौर,आदेश आदि उपस्थित रहे ।


Date : 26-Feb-2020

नारायणपुर-कांकेर में मुठभेड़, जवान घायल, नक्सल सामान बरामद

छत्तीसगढ़ संवाददाता

नारायणपुर/कांकेर, 26  फरवरी। आज सुबह बस्तर संभाग के दो जिलों में नक्सल-पुलिस मुठभेड़ हुई। नारायणपुर में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में एसटीएफ का एक जवान घायल हो गया। वहीं कांकेर के कोयलीबेड़ा इलाके में जवानों की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने की खबर है। दोनों घटना स्थल से दो भरमार बंदूक समेत भारी मात्रा में नक्सल सामान बरामद हुआ है।

जानकारी के अनुसार नारायणपुर में नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में एसटीएफ का एक जवान घायल हो गया है। पुलिस के अनुसार डीआरजी और एसटीएफ की टीम कड़ेमेटा के पुष्पाल के जंगल में सर्च ऑपरेशन के लिये निकली थी। इसी दौरान नक्सलियों द्वारा कैम्प लगाये जाने की सूचना पर जवानों ने हमला कर दिया। दोनों ओर से चली गोलीबारी में एसटीएफ के जवान संजय बड़ा के पैर में गोली लगने से घायल हो गए। मुठभेड़ के बाद इलाके की सर्चिंग में नक्सली कैम्प से भारी मात्रा में डंप बरामद किया गया है। समाचार लिखे जाने तक सर्चिंग जारी है।

ऐसे ही कांकेर के कोयलीबेड़ा इलाके में जवानों की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में कई नक्सलियों के घायल होने की खबर है। घटना स्थल से दो भरमार बंदूक समेत भारी मात्रा में नक्सल समाग्री बरामद हुई है।

घटना की पुष्टि करते हुए एसपी भोजराम पटेल ने बताया कि कोयलीबेड़ा विकासखंड के ग्राम मिचबेड़ा में बुधवार तडक़े तीन बजे नक्सलियों और पुलिस की गश्ती टीम के साथ करीब एक घंटे तक आमने-सामने मुठभेड़ हुई। पुलिस की टीम को भारी पड़ता देख नक्सली अंधेरा और जंगल की आड़ में भागने में सफल हो गए। मुठभेड़ के बाद घटना स्थल की सर्चिंग के दौरान दो भरमार बंदूक और अन्य नक्सल साम्रगी मिला है। नक्सलियों के एक कैम्प को भी पुलिस ने ध्वस्त किया है। साथ ही कुछ नक्सलियों के घायल होने की भी खबर है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस टीम सर्चिंग कर रही है।


Date : 25-Feb-2020

चारामा अध्यक्ष-उपाध्यक्ष समेत जनपद सदस्यों ने ली शपथ

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा, 25 फरवरी।
चारामा जनपद में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष सहित नव निर्वाचित जनपद सदस्यों का शपथ ग्रहण एवं प्रथम सम्मेलन 25 फरवरी को जनपद पंचायत सभाकक्ष में आयोजित हुआ। जनपद सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ सीईओ जी एस बढ़ई ने दिलाई। 

जनपद सदस्यों ने अपना परिचय देते हुए जनता को संबोधित किया। जनपद अध्यक्ष अरूण मरकाम ने कहा कि अध्यक्ष उपाध्यक्ष निर्वाचन के पूर्व भले ही हम अलग अलग दल एवं विचारों से चुनकर आये, लेकिन जनता ने हमें अच्छे कार्य करने के लिए हमें जीत दिलाई है। हम सभी सदस्य एक साथ मिलकर क्षेत्र एवं जनता का विकास करेंगे। 

ईश्वर छांटा पहले ऐसे जनपद सदस्य है जो कि दिव्यांग हैं उन्होंने कहा कि दिव्यांग होने से कितनी परेशानी होती है उन्हें ज्ञात है, इसलिए वे आम जनता के साथ साथ विकासखण्ड के दिव्यांगों के लिए विशेष कार्य करेंगे एवं शासन की योजनाओं का पूर्ण लाभ उन्हें दिलवाने का उनका पूरा प्रयास रहेगा। 

विजय मंडावी ने भी सभी जनपद सदस्यों से मिलकर कार्य करने की बात कही। प्रथम सम्मेलन के बाद अध्यक्ष एंव उपाध्यक्ष ने अपने कक्ष में प्रवेश पूर्व कक्ष को प्रणाम करते हुए महात्मा गांधी, मां सरस्वती की पूजा अर्चना की एवं एक दूसरे को बधाई प्रेषित की।

इस दौरान मुख्य रूप से बीईओ एस पी कोसरे, वन परिक्षेत्र अधिकारी एस आर सिंग, बीआरसीआर के सुकदेवे,एसडीईओ श्री साहू सहित पूर्व जनपद सदस्य नीलू सत्तार खान, पद्मा निर्मलकर ,रामकुमार पटेल, विधायक प्रतिनिधि नरेन्द्र यादव एवं अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

 


Date : 24-Feb-2020

मध्यप्रदेश की 5 लाख की शराब समेत 2 बंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा, 24 फरवरी।
ग्राम कोरतरा में मध्यप्रदेश की 5 लाख की शराब सहित 2 आरोपियों को चारामा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों से 117 पेटी शराब व स्कूटी जब्त किया है।

मिली जानकारी के अनुसार 23 फरवरी को पुलिस को ग्राम कोरतरा में अवैध शराब बिक्री किये जाने एवं अवैध शराब डम्प किये जाने की सूचना मिली थी। पुलिस अधीक्षक कांकेर भोजराम पटेल के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किर्तन राठौर तथा पुलिस अनु.अधिकारी कंाकेर तस्लीम आरीफ, आकाश मरकाम के निर्देशन में थाना चारामा प्रभारी एम डी देशमुख के नेतृत्व में थाना चारामा पुलिस की एक टीम गठित की गई। जिसमें उप निरीक्षक पवन ठाकुर, सउनि मनोज जैन, राजकुमार नेताम, सत्यप्रकाश सिंह प्रधान आरक्षक, शशिकला साहु, रविन्द्र भुआर्य, दीपक उसेण्डी, चन्द्रप्रभा तारम सभी 23 फरवरी की दरम्यानी रात ग्राम कोरतरा पहुंचे और मुखबीर के बताये स्थान पर घेराबंदी की और छापामारी करते हुए आरोपी कन्हैया लाल पिस्दा (27) और सतीश पिस्दा (26) निवासी खालेपारा कोरतरा को गिरफतार कर उनके पास से उनके खेत में अवैध रूप से डम्प किये गये 117 पेटी गोवा शराब कीमत लगभग 5 लाख रूपये सहित एक स्कूटी जब्त किया। पुलिस द्वारा दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।  

 इस सफलता के लिए 24 फरवरी को एसपी भोजराम पटेल चारामा थाने पहुंचकर थाना प्रभारी एवं पुलिस की टीम को बधाई दी। उन्होंने पत्रकारों को बताया कि पुलिस महानिरीक्षक बस्तर पी. सुन्दरराज, पुलिस उप महानिरीक्षक कांकेर, डॉ. संजीव शुक्ला के दिशानिर्देश पर मेरे और पुलिस की टीम द्वारा अवैध शराब, जुआ तथा सट्टा ,गांजा के अवैध कारोबार में लगाम कसने हेतु कई कार्रवाई की जा रही है। बहुत जल्द इस कार्य में लगे गिरोह के लोगो की गिरफ्तारी की जाएगी। ज्ञात हो कि पूर्व में भी नवम्बर में पुलिस ने ग्राम केारतरा में अवैध शराब की बड़ी तादात जब्त की थी। 


Date : 24-Feb-2020

बच्चों को दी गई कृमि नाशक दवा

चारामा, 24 फरवरी। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के अवसर पर विकासखण्ड में 01 से 19 वर्ष तक के बच्चों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा एल्बेंडाजोल की गोली खिलाई गई। चारामा नगर के अध्यक्ष प्यारे देवांगन  द्वारा बीएमओ ओ पी शंक्वार ,पार्षदों एवं शिक्षकों की उपस्थिति में स्कूली बच्चों को गोली खिलाकर कार्यक्रम का शुभांरभ किया गया। 


Date : 24-Feb-2020

महिलाओं को सोच बदलकर सजग एवं सतर्कतापूर्वक काम करने की जरूरत-खिलेश्वरी 

महिला सशक्तिकरण विधिक जागरूकता कार्यशाला

कांकेर, 24 फरवरी। महिला सशक्तिकरण विधिक जागरूकता कार्यशाला का आयोजन न्यू कम्यूनिटी हॉल कांकेर में छत्तीसगढ़ महिला आयोग के सदस्य खिलेश्वरी किरण की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। 

उन्होंने कहा कि महिलाओं को समाज सेवा के कार्य में सजग रहकर सतर्कतापूर्वक कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बेटी बचाव-बेटी पढ़ाओं कार्यक्रम के माध्यम से महिलाओं के संरक्षण के लिए कार्यकम संचालित किया जा रहा है, इसका प्रचार-प्रसार जिले के अंदरूनी क्षेत्रों तक करने एवं महिलाओं को जागरूकता लाने में आप लोगों को सहभागिता होगी। उन्होंने कहा कि हमें सोच बदलने की आवश्यकता है, जिससे अच्छे वातावरण का निर्माण हो और बेटियों में अच्छे संस्कार निर्मित हो सके। 

खिलेश्वरी किरण ने कहा कि महिलाओं के संरक्षण के लिए घरेलू हिंसा, महिला प्रताडऩा आदि की रोकथाम के लिए कानून बनाई गई है, जिसकी हमें जानकारी होनी चाहिए। सबसे पहले अपनी सुरक्षा की देखभाल के साथ महिलाओं के कानूनी एवं वैधानिक अधिकारों के संरक्षण के लिए कार्यशाला आयोजित कर महिलाओं में जागरूकता लायें। आगे कहा कि अपने आप को कभी कमजोर महसूस न करें, इसके लिए सरकार ने कानून बनाई है, इसकी जानकारी रखें और अपने आसपास के महिलाओं को भी इसकी जानकारी दें।  

कुटुंब न्यायालय के न्यायाधीश जितेन्द्र जैन ने महिलाओं को कानूनी एवं वैधानिक अधिकारों के संरक्षण के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि महिलाओं को अपने अधिकार के बारे में जानने की आवश्यकता है, जिससे कई प्रकार के अपराधों से बचा जा सकता है। किसी प्रकार की उत्पीडऩ या घरेलू हिंसा जैसे कोई घटना होने पर, सखी वन-स्टाप सेंटर या महिला बाल विकास विभाग में इसकी जानकारी तत्काल देना चाहिए। 

कलेक्टर के.एल. चौहान ने कहा कि महिलाएं कभी कमजोर नहीं होती, केवल सोच बदलने की आवश्यकता है। महिलाएं आज हर क्षेत्र में पुरूषों से अग्रणी हैं, महिलाओं के संरक्षण के लिए कानून बनाई गई है, जिसकी जानकारी होना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के आर्थिक उत्थान के लिए जिला स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। 

कार्यशाला में महिला आयोग के सदस्य खिलेश्वरी किरण ने महिला समूह के द्वारा बनाये गये विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का स्वाद भी चखा।

कार्यक्रम को नगर पालिका अध्यक्ष सरोज ठाकुर, एडवोकेट उषा सिन्हा, हिमेश साहू ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर जनपद पंचायत कांकेर के अध्यक्ष रामचरण कोर्राम, पार्षद आरती श्रीवास्तव, विजयलक्ष्मी कौशिक, जागेश्वरी साहू, उगेश्वरी उके, सुशीला यादव, शैलेन्द्र शोरी, बालक कल्याण समिति के सदस्य बसंत ठाकुर, महिला आयोग के सचिव अभय कुमार देवांगन, कार्यक्रम अधिकारी सी.एस. मिश्रा, जिला संरक्षण अधिकारी रीना लारिया, संरक्षण अधिकारी तुलसी मानिकपुरी, विधिक अधिकारी अशोक कौशिक सहित स्व-सहायता समूह एवं स्वयं सेवी संगठनों के सदस्य, परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षक और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित थे।


Date : 24-Feb-2020

लाइवलीहुड कॉलेज में प्रशिक्षण प्राप्त कर गजेन्द्र बना आत्मनिर्भर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
 कांकेर, 24 फरवरी।
ग्राम भिरावाही निवासी कक्षा 12 वीं तक  शिक्षित गजेन्द्र कुमार नाविक अब आत्मनिर्भर बन चुका है। पढ़ाई के बाद वे रोजगार की तलाश में था, इसी दरम्यान उसे पता चला कि लाईवलीहुड कॉलेज गोविंदपुर में विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षण दिया जाता है। जानकारी मिलते हुए उन्होंने तत्काल लाईवलीहुड कॉलेज में संपर्क कर प्रशिक्षण कोर्स की जानकारी ली और इलेक्ट्रिशियन कोर्स में एडमिशन लेकर नियमित रूप से प्रशिक्षण लिया। उन्होंने घरेलु उपकरण, मोटर वाइंडिग, घरेलु विद्युत व्यवस्था इत्यादि का प्रशिक्षण लिया, साथ ही वाटर प्यूरीफायर का कार्य भी सीखा। परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद गजेन्द्र ने स्व-रोजगार का रास्ता चुना तथा वह अपने ही गांव में एक छोटी सी दुकान खोलकर घरेलु उपकरणों के साथ ही घरों में होने वाले विद्युत समस्याओं को भी सुधारने लगा, इससे उन्हें लगभग 6000 रूपये प्रति माह की आमदनी हो जाती है।

स्व-रोजगार मिलने के बाद गजेन्द्र को किसी पर आश्रित होना नहीं पड़ रहा है। रोजगार मिलने के बाद गजेन्द्र अपने आय के कुछ हिस्सा से परिवार को भी मदद करता है, जिससे उसके परिवार की आर्थिक स्थिति में काफी सुधार आया है। भविष्य में वह अपने कार्य को और विस्तृत रूप देने की योजना बनाई है।

गजेन्द्र नाविक ने बताया कि पिता रिक्शा चालक, माता गृहणी और एक बहन के छोटे से परिवार में एकलौता बेटा है। पिता के रिक्शा चालन काम से होने वाली आमदनी से ही परिवार का गुजारा चलता था। पढ़ाई करने के बाद वह स्वयं भी स्थाई रोजगार की तलाश में था। लाइवलीहुड कॉलेज  में प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद रोजगार का साधन मिल गया है। उन्होंने अन्य बेरोजगार युवाओं को भी लाईवलीहुड कॉलेज में प्रशिक्षण प्राप्त कर आत्मनिर्भर बनने की सलाह दी है।

 


Date : 23-Feb-2020

दीक्षांत समारोह में कोरर के शिवेन्द्र को स्वर्ण 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कांकेर /कोरर, 23 फरवरी।
बस्तर विश्वविद्यालय द्वारा 20 फरवरी को विश्वविद्यालय का द्वितीय दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया। समारोह में ग्राम कोरर निवासी शिवेन्द्र बहादुर को वर्ष 2014 के लिए स्नातकोत्तर भूगोल विषय में उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु स्वर्ण पदक एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।

शिवेन्द्र बहादुर ग्राम कोरर निवासी प्रतिष्ठित व्यावसायी हिरेन्द्र सिंह परिहार एवं गायत्री परिहार के पुत्र हैं उनकी इस उपलब्धि से क्षेत्र में हर्ष व्याप्त है। शिवेन्द्र की प्रारंभिक शिक्षा हायर सेकंड्री स्कूल कोरर एवं स्नातकोत्तर एम.ए. भूगोल की शिक्षा इन्होंने भानुप्रतापदेव पी.जी. कॉलेज कांकेर से डॉ. डीएल पटेल के सानिध्य में प्राप्त की है, उनके द्वारा विभिन्न विषयों पर अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय सेमीनार में 10 शोध पत्रों का प्रस्तुतिकरण किया गया है तथा अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय शोध पत्रिकाओं में 3 शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं। 

यूजीसी द्वारा सहायक प्राध्यापक के लिए आवश्यक राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) एवं उच्च शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ द्वारा आयोजित राज्य पात्रता परीक्षा (सेट) भी उन्होंने उत्तीर्ण की है। 

2018 और 2019 में लगातार 2 बार राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित युवा भूगोलविद सम्मान प्राप्तकर्ता शिवेन्द्र ने सतत उच्च शिक्षा को प्राथमिकता देते हुए पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर से एम.फिल. की उपाधि प्राप्त की है एवं वर्तमान में पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के भूगोल अध्ययनशाला में पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. सरला शर्मा के निर्देशन में पी.एच.डी. की उपाधि हेतु शोधरत हैं।

शिवेन्द्र ने कहा कि वे शोध तथा अध्ययन-अध्यापन के क्षेत्र में बस्तर संभाग में कार्य करने की इच्छा रखते है यहां भौगोलिक, पर्यावरणीय एवं परिस्थितिक क्षेत्र में शोध तथा नवाचार की पर्याप्त संभावनाएं विद्यमान है। शिवेन्द्र ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, गुरुजनों तथा मित्रों को दिया है तथा उनकी इस उपलब्धि के लिए ग्रामीणों एवं प्रियजनों ने उन्हें बधाई दी है।


Date : 23-Feb-2020

शिक्षाकर्मियों ने जताई इस बजट सत्र में संविलियन की उम्मीद 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा, 23 फरवरी।
संविलियन अधिकार मंच की जिला संयोजिका दीपमाला साहू ने बताया कि विगत 6 महीनों से संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों ने संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे के नेतृत्व में प्रदेश के सभी मंत्रियों और विधायकों से दो-दो बार मुलाकात की है और मुख्यमंत्री से भी उनकी चर्चा हो चुकी है। सभी ने उन्हें बजट सत्र का इंतजार करने और उसमें उनकी मांग पूरी होने का भरोसा दिलाया है, ऐसे में शिक्षाकर्मियों को भी विश्वास है कि इस बार का बजट उनके भविष्य को बदलने वाला बजट होगा। 

प्रदेश में अब केवल 16049 शिक्षाकर्मी ही संविलियन से वंचित बचे हुए हैं जिनके संविलियन के लिए सरकार को लगभग 366 करोड़ रुपए की राशि ही खर्च करनी होगी, यदि प्रदेश के कुल बजट को देखें तो एक लाख करोड़ के संभावित बजट में से 366 करोड़ रुपये बहुत ही छोटी रकम है, ऐसे में शिक्षाकर्मियों के संविलियन की उम्मीद बढ़ गई है और सभी को यह विश्वास है कि मुख्यमंत्री उन्हें निराश नहीं करेंगे। 


Date : 23-Feb-2020

मेले में पहले दिन हजारों की भीड़

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 23 फरवरी।
नगर के मेले में रविवार को पहले दिन व अवकाश के दिन होने के कारण हजारों लोगों की भीड़ जुटी रही। लोग झूले का भरपूर आनन्द लेते रहे।

वन विभाग के काष्ठागार में चार दिनों तक चलने वाले मेले का शुभारंभ 23 फरवरी से हो गया है। झूले के संचालक श्री सिन्हा ने बताया कि  झूला के बिना मेला का अस्तित्व नहीं है, झूला ही मेला की शान है, इसलिए भानुप्रतापपुर के मेले में इस वर्ष विभिन्न प्रकार के झूले लगाए गए हैं, जिससे नगर सहित क्षेत्रवासियों को भरपूर मनोरंजन हो सके। 

लोगों के मनोरंजन, व्यवस्था व लोगों की सुरक्षा ही प्रमुख दायित्व है। इसी के चलते वर्षों से ही सिन्हा झूले का नाम बस्तर ही नहीं समुचित राज्य में एक अलग नाम बना हुआ है।

इस वर्ष मेले में चांद सितारे झूला लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। मारुति-बुलेट सर्कस में बुलेट व मारुति कार का रोमांच लोगों को आकर्षित कर रहा है। इसके अलावा झूलों में आकाश झूला, सुपर ड्रेगन झूला, ब्रेकडान्स झूला, टोरा-टोरा,नाव झूला, हाइड्रोलिक झूला,मून स्टार झूला मिक्की माउस, छोटे बच्चों के लिए पानी नाव,जंपिंग झूला, फिसलपट्टी सहित कई प्रकार के मनोरंजन के साधन मेले में है। वहीं इस बार विभिन्न राज्यों से खरीदी-बिक्री के कई दुकानें भी लगाए जा रहे हैं।

 


Date : 23-Feb-2020

कांकेर में 27 लाख 80 हजार क्विंटल धान की खरीदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कांकेर,  23 फरवरी।
 जिले में इस वर्ष 27 लाख 80 हजार 829 क्विंटल धान की खरीदी की गई है, जो गत वर्ष की तुलना में 02 लाख क्विंटल ज्यादा है। पिछले वर्ष कांकेर जिले में 25 लाख 13 हजार 806 क्विंटल धान की खरीदी की गई थी।

छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार जिले में 01 दिसम्बर 2019 से 20 फरवरी 2020 तक समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की गई, जिसके तहत जिले के 35 सहकारी समितियों के 113 खरीदी केन्द्रों में 05 लाख 86 हजार 120.8 क्विंटल मोटा धान, 16 हजार 849.6 क्विंटल महामाया धान, 20 लाख 89 हजार 449 क्विंटल पतला धान, 592.4 क्विंटल एचएमटी,  83.6 क्विंटल आईआर-36 और 87 हजार 733.2 क्विंटल सरना धान की खरीदी की गई। जिले के अंतागढ़ सोसायटी में 56 हजार 738.4 क्विंटल, अमोड़ा सोसायटी में 61 हजार 400.4 क्विंटल, आमाबेड़ा में 34 हजार 456.4 क्विंटल, आसुलखार में 39 हजार 33 क्विंटल, उमरादाह में 55 हजार 245.7 क्विंटल, कांकेर में 68 हजार 988.6 क्विंटल, कापसी में 01 लाख 65 हजार 618.6 क्विंटल, कोटतरा में 68 हजार 181.2 क्विंटल, कोडेकुर्से में 85 हजार 595.6 क्विंटल, कोयलीबेड़ा में 30 हजार 852.2 क्विंटल, कोरर में 01 लाख 44 हजार 622 क्विंटल, गोंडाहूर में 61 हजार 726.8 क्विंटल, चारामा में 81 हजार 973.6 क्विंटल, डोकला में 51 हजार 271.6 क्विंटल, ताडोकी में 40 हजार 346.4 क्विंटल, दुधावा में 76 हजार 663.4 क्विंटल, दबेना में 63 हजार 165.4 क्विंटल, दुर्गूकांदल में 54 हजार 61.2 क्विंटल, नरहरपुर में 64 हजार 151.6 क्विंटल, नाथियानवागांव में 67 हजार 245.4 क्विंटल, पखांजूर में 02 लाख 13 हजार 234.2 क्विंटल, पटौद में 35 हजार 41.2 क्विंटल, पुरी में 01 लाख 01 हजार 471.4 क्विंटल, पीढ़ापाल में 84 हजार 931.6 क्विंटल, बुदेली में 39 हजार 75.8 क्विंटल, बांदे में 02 लाख 44 हजार 253.6 क्विंटल, बारदेवरी में 01 लाख 10 हजार 943.6 क्विंटल, बारदा में 94 हजार 204.4 क्विंटल, बासनवाही में 43 हजार 151 क्विंटल, भानुप्रतापपुर में 66 हजार 649.8 क्विंटल, लखनपुरी में 72 हजार 744.2 क्विंटल, संबलपुर में 87 हजार 844.8 क्विंटल, सरोना में 66 हजार 566.4 क्विंटल, हल्बा में 66 हजार 827.2 क्विंटल और हाराडूला सोसायटी में 81 हजार 952.2 क्विंटल धान की खरीदी की गई।


Date : 23-Feb-2020

अंजनी में शिव शक्ति मानस प्रतिष्ठान एवं महाशिवरात्रि महोत्सव 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कांकेर, 23 फरवरी।
महाशिवरात्रि के अवसर पर ग्राम अंजनी में शिव शक्ति मानस प्रतिष्ठान एवं महाशिवरात्रि महोत्सव आयोजन समिति के द्वारा लगातार पंचम वर्ष एक दिवसीय मानसगान एवं आध्यात्मिक चिंतन महोत्सव का आयोजन किया गया जिसमें छत्तीसगढ़ के नामचीन मानस मंडलियों ने अपनी प्रस्तुति दी। 

महोत्सव का शुभारंभ में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी के सम्मिलित हुए विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत उपाध्यक्ष हेमनारायण गजबल्ला, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हरनेक सिंह ओजला, जिला पंचायत सदस्य नरोत्तम पडोटी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तरेंद्र भंडारी, जनपद अध्यक्ष रामचरण कोर्राम, जनपद सदस्य कुमार मरकाम , एनएसयूआई प्रदेश महासचिव चमन साहू, ब्लॉक युवा कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश नाग, जिला महासचिव एनएसयूआई किसन साहू, सरपंच लखन मण्डावी आदि रहे। 

 संसदीय सलाहकार राजेश तिवारी ने कहा कि रामचरित मानस मानव समाज को प्रेम सौहार्दपूर्ण जीवन जीने की कला सिखाती है। जिस प्रकार आईना देखने से चित्र को संवार सकते है उसी प्रकार रामचरित मानस से चरित्र को संवार सकते है। विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत अध्यक्ष हेमनारायण गजबल्ला ने कहा कि राम चरित मानस से मैने कई व्यक्ति को सफल होते हुए देखा हूँ जिसका उदाहरण मैं स्वयं हूँ। लगातार सतत परिश्रम एवं धैर्य से ही सफलता प्राप्त की जा सकती है। हिन्दू धर्म एवं सनातन संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए इस प्रकार के धार्मिक आयोजन का होना नितांत जरूरी है। 

सम्मेलन को हरनेक सिंह ओजला, तरेंद्र भंडारी, नरोत्तम पडोटी, रामचरण कोर्राम ने भी सम्बोधित किया। सभी अतिथिजन ने ग्राम अंजनी के स्वामी विवेकानंद नवयुवक मंडल के द्वारा गाजे बाजे एवं पुराने रीति रिवाज के द्वारा की गई स्वागत परम्परा की प्रशंसा की। इस अवसर पर आयोजक समिति के संयोजक लोमेन्द्र यादव, अध्यक्ष उमेश मण्डावी, सचिव नरेंद यादव, कोषाध्यक्ष जयसिंह वट्टी, सरंक्षक अरुण यादव, मिथलेश बघेल सलाहकार सुखराम नेताम, पिलसाय वट्टी, अरुण वट्टी, चंद्रशेखर ठाकुर, राजेश रजक,ओमप्रकाश जैन,रामेश्वरी शोरी, ईश्वरी वट्टी, आरती वट्टी, तेजना बघेल, बिनेश्वरी नेताम, करिश्मा भास्कर एवं समस्त पदाधिकारियों का सहयोग रहा।


Date : 23-Feb-2020

तुलसी मानस प्रतिष्ठान का प्रांतीय अधिवेशन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
चारामा, 23 फरवरी।  
तुलसी मानस प्रतिष्ठान का प्रांतीय अधिवेशन 23 फरवरी को नगर के किरी भवन परिसर में आयेाजित हुआ। इस अधिवेशन में  छग से तुलसी मानस प्रतिष्ठान से जुड़े रामायनी, विभिन्न पत्र पत्रिकाओं के संपादक शामिल हुए।

 मुख्य अतिथि आत्माराम कुंभज प्रदेश सरंक्षक तु.मा..छग ,अध्यक्षता मोहन मंडावी क्षेत्रीय सांसद एंव प्रदेश अध्यक्ष तुलसी मान प्रतिष्ठान छग, विशिष्ट अतिथि मेाहन लाल यदु बालोद, गोपाल वर्मा अंबागढ चौकी कार्यकारिणी अध्यक्ष,छग यादव कोषाध्यक्ष, दीप्ति पांडे जगदलपुर, रामदत्त तिवारी, जगदीश देशमुख प्रधान संपादक मानस मंजुसा, सीताराम श्याम ,श्री गजबल्ला जिला अध्यक्ष कांकेर, कांशीराम जैन, हृदयराम शोरी, हरिहरणो जी के द्वारा भगवान श्री राम एवं स्वामी तुलसीदास की पूजा अर्चना कर कार्यक्रम का शुभांरभ किया गया। 

 अतिथियों ने तुलसी मानस प्रतिष्ठान के अब तक के सफ र, उसके कार्य पर विस्तार से जानकारी दी। सांसद मोहन मंडावी ने कहा कि छग राज्य बनने के पहले तुलसी मानस प्रतिष्ठान को कोई नहीं जानता था, आप सभी के सहयोग से आज छग में तुलसी मानस प्रतिष्ठान का कार्य कर रहा है। आज छग में सैकड़ों से अधिक मानस मंडलियां है जो प्रतिष्ठान से भी जुड़ी हुई हैं। जो राम नाम के साथ हिन्दू धर्म का प्रचार कर रही है। रामायण किसी जाति धर्म , पार्टी का नहीं है यह आस्था और सनातन धर्म का मार्ग है।

उन्होंने छग की सभी मानस मंडलियों को तुसली मानस प्रतिष्ठान से जुडने का आग्रह किया। वहीं अधिवेशन के दूसरे चरण में चुनाव सम्बधित चर्चाएं हुई। आयोजन को सफल बनाने में जनक राम सिन्हा उपाध्यक्ष कंाकेर जिला, पदम शेखर नायक सदस्य, रूद्रकुमार सेन महासचिव सहित सभी सदस्यों का सहयोग रहा। 

 


Date : 23-Feb-2020

प्रदेश सरकार किसान विरोधी - हलधर 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कांकेर, 22 फरवरी।
प्रदेश सरकार के खिलाफ आज भारतीय जनता पार्टी जिला कांकेर द्वारा शहर के पुराने बस स्टैंड में हल्ला बोल प्रदर्शन करते हुए एक दिवसीय धरना दिया गया। 
भाजपा जिलाध्यक्ष हलधर साहू ने सभा को संबोधित करते हुए भूपेश बघेल सरकार की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की किसान विरोधी नीति पूर्ववर्ती अजीत जोगी सरकार की थी, उसी रास्ते पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार चल रही है। किसानों से एक एक दाना धान खरीदने का वादा कर सत्ता में आई कांग्रेस आज किसानों से ही वादाखिलाफी कर प्रदेश के कई किसानों का धान खरीदने से इंकार कर दी है । किसान अपनी जायज मांगों को लेकर जगह जगह धरना, आंदोलन कर रहे है और कांग्रेसी नेता मस्त है । श्री साहू ने धान बेचने से रह गए दो लाख किसानों का धान खरीदने हेतु धान खरीदी पुन: चालू करने की मांग की। 

मछुआ कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भरत मटियारा ने कहा कि अपना धान बेचने आंदोलन कर रहे किसानों पर प्रदेश की कांग्रेस सरकार लाठीचार्ज कर रही है उन्हें दौड़ा दौड़ा कर मार रही है । चुनाव से पहले इन्होंने बड़े बड़े वादे करते हुए हाथ मे गंगा जल लेकर किसान हितैषी होने की कसम खाई थी पर सत्ता मिलते ही किसानों पर जुल्म ढाना चालू कर दिए । 
जिला महामंत्री आलोक ठाकुर ने प्रदेश सरकार को कोसते हुए कहा कि भूपेश बघेल एक साल में ही शासन चलाने में नाकाम हो चुके है । एक एक दाना धान खरीदने की कसम खाने वालों ने धान खरीदी से बचने किसानों का रकबा ही कम कर दिया । आज प्रदेश के किसान इस सरकार से निराश हो चुके है और जगह जगह आंदोलन, चक्का जाम कर रहे है मगर कांग्रेसी नेताओं के कान में जू तक नही रेंग रही। 

 

 


Previous12Next