छत्तीसगढ़ » महासमुन्द

Previous123456789...5960Next
15-Apr-2021 6:42 PM 7

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
पिथौरा, 15 अपै्रल।
लॉकडाउन का असर इस नवरात्रि में भी दिखाई दे रहा है। नगर के तीन प्रमुख मंदिरों को शानदार तरीके से सजाया तो गया है परन्तु दर्शनार्थी के अभाव में मंदिर सुने दिखायो दे रहे है। मनोकामना ज्योति भी विगत सामान्य नवरात्रियों से कोई 25 फीसदी कम प्रज्जवलित की गई है।

  चैत्र नवरात्रि की धूम इस बार कोरोना संक्रमण के कारण गायब है। शहर के साथ पूरे जिले में लॉक डाउन लगाया गया है। व्यवसायिक संस्थाएं बन्द है। परन्तु मंदिर खुले भी है तो पूरी तरह सुने दिखाई दे रहे है। नगर के सबसे मान्यताप्राप्त मंदिर शीतला माता में इस बार दर्शनार्थी तो इक्का दुक्का ही देखे जा रहे है परन्तु यहाँ मनोकामना  ज्योति  की संख्या 235 है जो कि विगत वर्षों की तुलना में अधिक बताई जा रही है।विगत दो नवरात्रि भी कोरोना संक्रमण के चलते काफी कम संख्या में ज्योति प्रज्वलित की गई थी। परन्तु इस बार इस मंदिर में ज्योति की संख्या 235 है। इसी तरह मंदिर चौक दुर्गा मंदिर में इस वर्ष विगत वर्षों की तुलना में 25 फीसदी कम कोई 217 ज्योति कलश स्थापित किये गए है। वन विभाग दुर्गा मंदिर में भी विगत वर्षों से 25 फीसदी कम 178 ज्योति कलश स्थापित किये गए है।

दर्शनार्थी नहीं, सुने पडें मंदिर
नगर के मंदिरों का भ्रमण करने पर देखा गया कि मंदिर के पुजारियों सहित कोई आधा दर्जन लोग ही मिल कर माता सेवा एवं आरती करते हैं। आरती पूजा के दौरान भी मंदिरों में उपस्थिति शून्य होने के कारण पूरे समय मंदिर सुने दिखाई दे रहे है। ज्ञात हो कि इसके पूर्व वर्षो में मंदिरों में पूजा आरती के समय खासी भीड़ होती थी।

 


15-Apr-2021 5:46 PM 15

आरोपी जेल दाखिल, दोनों के बीच पारिवारिक विवाद था 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 15 अप्रैल।
जिले के सराईपाली क्षेत्र स्थित सिघोड़ा थाने के ग्राम मुरमुरी में बड़े भाई ने अपने ही छोटे भाई की धारदार हथियार से हत्या कर दी। बताया जा रहा है दोनों के बीच कुछ घरेलू विवाद था। हत्या के बाद आरोपी अब पुलिस की गिरफ्त में हैं। 

मिली जानकारी के अनुसार कल 14 अप्रैल को सुबह 8 बजे ग्राम मुरमुरी निवासी सुभाष पिता चित्रसेन बरिहा 22 साल की उसके बड़े भाई बिरेश बरिहा 24 साल ने घरेलू विवाद के चलते बसूला (बढ़ाई औजार) से पीठ पर वार कर दिया। गंभीर रूप से घायल सुभाष को 112 की सहायता से सरायपाली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां उसकी मृत्यु हो गई। बहरहाल सिंघोड़ा पुलिस ने हत्या का अपराध दर्ज कर आरोपी को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस चित्रसेन बरिहा के घर पहुंची और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दी। 

पुलिस का कहना है कि गांव के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों भाईयों के बीच कुछ पारिवारिक विवाद था। जिसके चलते चित्रसेन का बड़ा लडक़ा बिरेश बरिहा अपने ही छोटे भाई सुभाष बरिहा को बसूला से वार कर चोट पहुंचाया था। उसके परिजनों ने घायल सुभाष को 112 वाहन की मदद से इलाज केलिए सरायपाली शासकीय अस्पताल लाया जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में धारा 302 भादवि तैयार कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 
 


15-Apr-2021 5:42 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 15 अप्रैल।
महासमुंद में भी कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले साल कोरोना के शुरुआती 5 महीनों में 4697 पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई थी और 47 मौतें हुई थी। वहीं इस साल अप्रैल महीने के 13 दिनों में ही कोरोना के 5043 मरीजों की पहचान हो चुकी है और 31 मौतें भी इन्हीं 14 दिनों के भीतर हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार महासमुंद जिले में कोरोना का पहला संक्रमित मरीज 29 मई को सामने आया था। मई माह के इन तीन दिनों में 20 संक्रमित की पहचान हुई थी। इसके बाद जून में 68, जुलाई में 48, अगस्त में 457 और सितंबर माह में 2052 पॉजिटिव प्रकरण सामने आए थे। इस प्रकार पिछले साल शुरुआती 5 महीनों में कुल 4697 मरीजों की पहचान जिले में हुई थी। लेकिन इसा बार तो अप्रैल माह के शुरुआती 14 दिनों में ही जिले में कुल 5043 मरीजों की पहचान हो चुकी है।

कोरोना के बढ़ते मामलों पर विशेषज्ञों का कहना है कि आज स्थिति इसलिए भयावह हुई है, क्योंकि हमने काफी लापरवाही बरती है। कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन नहीं करना आज हम सभी पर भारी पड़ रहा है। जिला अस्पताल में मुस्तैद डॉ अनिरूद्ध कसार और डॉ छत्रपाल चंद्राकर कोरोना संक्रमण बढऩे के कारण बताते हैं कि कोरोना के शुरुआती दौर में एक अलग सा डर सभी में देखने को मिला। लोगों ने प्रिकॉशन भी खूब किया। मास्क पहनना, दूरी बनाए रखना, खान-पान में ध्यान देने जैसी चीजें आदतों में शुमार हो गई थी। लेकिन साल 2021 की शुरुआती दौर से हम थोड़े बेपरवाह हुए हैं।

डॉ. कसार और डॉ. चंद्राकर बताते हैं कि कोरोना के सामान्य लक्षण सर्दी, खांसी, बुखार है। आज भी लोग सर्दी को सामान्य तरीके से लेते हैं। ऐसे लक्षण पर लोग बहाने बनाते हैं कि मैंने ये खा लिया था इसलिए सर्दी हुईए या फिर इसके चलते थोड़ा टेम्प्रेचर बढ़ गया। इस तरह कोरोना की जांच कराने से लोग आज भी बच रहे हैं। कोरोना की यह लहर खतरनाक इसलिए भी है क्योंकि दूसरी लहर में कोरोना संक्रमित व्यक्ति कई लोगों को संक्रमित कर रहा है। पहले एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति से दो या तीन लोग ही पॉजिटिव आ रहे थे। इसी मेडिकल की भाषा में कंटेजियस कहा जाता है।

गौरतलब है कि कि जिले में कल बुधवार को 300 कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई है। वहीं बुधवार को ही तीन पॉजिटिव मरीजों ने दम तोड़ा है। बुधवार को कुल 801 सैंपल लिए गए जिसमें से 300 पॉजिटिव मिले। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार महासमुंद ब्लॉक से 136, बागबाहरा से 20, पिथौरा 55, बसना से 28 और सरायपाली विकासखंड से 61 मरीजों की पहचान हुई है। स्वास्थ्य विभाग की मानें तो कर्मचारियों की कमी के चलते टेस्टिंग प्रभावित हो रही है। बुधवार को भी रैपिड एंटीजेन से 712, ट्रूू नॉट से 62 और आरटीपीसीआर के केवल 27 सैंपल लिए गए। कल बुधवार को मिले 300 मरीजों के साथ ही जिले में कुल मरीजों की संख्या 15 हजार 487 पहुंच चुकी है। बुधवार को ही 158 मरीज स्वस्थ हुए हैं और इसके साथ ही अब तक कुल 10 हजार 620 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 4676 एक्टिव केस हैं। कल बुधवार को जिले में कोरोना के चलते कुल 3 मौतें हुई है। सभी मृतक महासमुंद के निवासी हैं।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार कोविड अस्पताल में बुधवार को तीन महिलाओं ने दम तोड़ा है।
 


15-Apr-2021 5:40 PM 14

जिले भर में कुल 187 ऑक्सीजन बेड की सुविधा 

स्वास्थ्य अमला जिंदगियां बचाने असाधारण कोशिश कर रहा 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 15 अप्रैल।
कल बुधवार को जिला अस्पताल में यह भयावह स्थिति नजर आई। यहां एक कोरोना पॉजिटिव युवक करीब तीन घंटे तक ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ जिला अस्पताल कैंपस के भीतर कुर्सी में बैठा रहा। क्योंकि कोविड अस्पताल के आईसीयू वार्ड में बेड खाली नहीं था। प्राप्त जानकारी के अनुसार महासमुंद निवासी यह युवक कुछ दिन पहले पॉजिटिव आया था। 

ऑक्सीजन लेवल कम होने पर पर बुधवार की सुबह वह जिला अस्पताल पहुंचा, लेकिन बेड खाली नहीं होने के कारण अस्पताल परिसर में ही उसे ऑक्सीजन लगाकर बिठा दिया गया। वह करीब 3 घंटे तक इसी तरह इंतजार करता रहा। इस मामले में सीएमएचओ डॉ एनके मंडपे ने कहा कि युवक के लिए बेड की व्यवस्था कर दी गई है और उसका इलाज शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 30 बेड का नया वार्ड बनाया जा रहा है, जो ऑक्सीजन से लैस होगा। पखवाड़े भर में शुरू भी कर लिया जाएगा। मालूम हो कि कोविड की गंभीर आपदा से जूझते हुए जिले में इससे निपटने के लिए जिला एवं स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा असाधारण प्रयास किए जा रहे हैं। विकासखंड मुख्यालयों पर 100-100 बिस्तर का कोविड केयर सेन्टर बनाने का कार्य भी पूर्णत: की ओर है। कुछ ही दिनों में यहां भी मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने लगेगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के शासकीय अस्पताल, डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल और जी एन एम कोविड केयर, भारती हॉस्पिटल, आदित्य हॉस्पिटल, आर एल सी हॉस्पिटल, जैन नर्सिंग होम, साईं नमन हॉस्पिटल, जय पतई माता हॉस्पिटल एवं सोहम हॉस्पिटल में मरीजों के लिए कुल 187 आक्सीजन बेड की सुविधा उपलब्ध है। 

जिले में कोरोना के 05 से अधिक धनात्मक प्रकरण मिलने पर 16 स्थलों को कंटेंटमेंट जोन बनाया गया है। जहां वहां के नागरिकों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। इनमें  बागबाहरा विकासखण्ड में 05, पिथौरा 08, एवं सरायपाली में 04 शामिल हैंं। 
 


15-Apr-2021 4:52 PM 16

टीकाकरण कराने आये लोगों और मरीजों से की चर्चा

महासमुंद, 15 अप्रैल। कलेक्टर डोमन सिंह एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आकाश छिकारा ने कल पिथौरा, बसना एवं सरायपाली का दौरा कर विकासखण्ड मुख्यालय में बनाये जा रहे कोविड केयर सेंटरों का आकस्मिक मुआयना किया। यहां कलेक्टर सारी व्यवस्थाएं देखी। उन्होंने जल्द से जल्द कोविड केयर सेन्टर का कार्य पूरा करने के आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती मरीजों से भी बातचीत कर उनके स्वास्थ का हाल जाना। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शासन के दिशा निर्देश के अनुसार मरीजों का बेहतर तरीके से देखभाल और समुचित उपचार की व्यवस्था की जा रही है। अत: मरीजों के उपचार में किसी तरह की ढिलाई ना बरतें। निरीक्षण के अनुविभागीय अधिकारी बीएस मरकाम, राकेश गोलछा, संबंधित तहसीलदार, जनपद पंचायत में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकाय के मुख्य नगर पालिका अधिकारी,  खंड चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 


15-Apr-2021 4:39 PM 17

महासमुंद, 15 अप्रैल। कोमाखान सुवरमाल डोंगरी में चार खाने के इरादे से गये कोमाखान के राकेश लोधी, नानू यादव सहित चार नाबालिक लडक़े कल जंगली भालू का शिकार हो गए। सभी दोपहर 12 से 1 बजे के बीच सुवरमाल के डोगरी में चार खाने के लिए गये थे। ये चार के पेड़ के नीचे चार खाने में व्यस्त थे, तभी जंगली भालू ने इन पर हमला कर दिया। भालू के अचानक हमले से राकेश लोधी, नानू यादव के पैर और सिर में गहरा जख्म है। इनके दो साथी किसी तरह गांव की ओर भागे। भालू भी दोनों को जख्मी कर जंगल की ओर भाग गया। वन अधिकारी कोकिल दिनकर ने इलाज के लिए नानू यादव को 2 हजार एवं राकेश लोधी को 500 सहयोग राशि तत्काल उपलब्ध कराने के बाद दोनों को तत्काल हॉस्पिटल ले जाकर मरहम पट्टी कराया गया।  
 


14-Apr-2021 8:02 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
पिथौरा, 14 अपै्रल।
नगर से मात्र चार किलोमीटर दूर ग्राम टेका पहाड़ी के पास फोर लेन पार कर रहे तेंदुए के जोड़े में से नर तेंदुआ अज्ञात ट्रक की चपेट में आकर मारा गया। बहरहाल वन विभाग को सूचना मिलते ही स्वयम वन एसडीओ घटना स्थल पहुचे और बुधवार की सुबह मृत तेंदुआ का पोस्टमार्टम के बाद उसे काष्ठागार में ही जला दिया गया।

राष्ट्रीय राजमार्ग 53 में नगर के समीप टेका ग्राम के पास से निकले फिरलेंन के दोनों ओर पहाड़ी होने के कारण अक्सर यहां से वन्य प्राणियों को सडक़ पार कर ही एक पहाड़ी से दूसरी पहाड़ी की ओर जाना पड़ता है कल मंगलवार की रात कोई 8 बजे देबपुर वन क्षेत्र से कौडिय़ा की पहाड़ी की ओर जाने के लिए तेन्दुआ का एक नर मादा जोड़ा सडक़ पार कर रहा था, परन्तु तेज रफ्तार एक अज्ञात ट्रक ने उसे ठोकर मार दी। जिससे नर तेंदुआ के जबड़ा टूट गया और पेट की आंत बाहर निकल आयी थी।

इस घटना की सूचना के बाद वन एसडीओयू आर बसन्त एवं रेंजर एस आर निराला दल बल के साथ घटना स्थल पहुच गए। वन अधिकारियों ने मृत तेंदुआ को रात में ही पंचनामा के बाद उसे काष्ठगार ले जाया गया। आज बुधवार की सुबह पशु चिकित्सको की टीम में शामिल डॉ.डी एन पटेल, डॉ. डी के अग्रवाल एवं डॉ. एस पी चौधरी द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। इसके बाद वन विभाग के उच्च अधिकारियों के समक्ष तेंदुआ को जलाया गया। तेंदुआ की उम्र 4 साल बताई गई है।

पूर्व में भी होती रही है दुर्घटनाएं
ज्ञात हो कि टेका ग्राम के समीप का उक्त घटनास्थल दो पहाडिय़ों एवं जंगलों के बीच से जाता है। लिहाजा अक्सर हिंसक एवम अन्य वन्य प्राणीयों को एक जंगल पहाड़ी से दूसरी जंगल पहाड़ी में जाने के लिए उक्त सडक़ को पार करना ही पड़ता है। इस मार्ग पर इसके पूर्व भी एक तेंदुआ और एक भालू भी ट्रक के पहियों से दब कर मारा जा चुका है। 

तेंदुआ,भालू जंगली सुअर आदि अक्सर इस मार्ग दिखाई दे जाते है। वही अब लगातार हाथियों को भी इसी स्थान पर एनएच53 पार करते देखा जाता है। जानकारों के अनुसार वन्य प्राणी अक्सर गर्मी के दिनों में जब जंगल मे पानी के स्त्रोत सुख जाते है एवं पेड़-पौधे भी सुख जाते है। तब भोजन पानी की तलाश में एक जंगल से दूसरे जंगल की ओर पलायन करते है। इसमें कभी कभी इन्हें हादसों का शिकार भी होना पड़ता है।
 


14-Apr-2021 5:46 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
कल देर शाम कलेक्टर कार्यालय कक्ष में भारत सरकार नई दिल्ली द्वारा गठित केन्द्रीय टीम ने कलेक्टर डोमन सिंह से मुलाकात कर जिले में कोविड.19 वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों तथा जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा किए जा रहें कार्यों की सराहना की। 

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आकाश छिकारा उपस्थित थे। मालूम हो कि देश सहित महासमुन्द जिले में कोरोना के संक्रमण के द्वितीय चरण में तेजी से बढ़ते मामलें को देखते हुए कोविड.19 प्रबंधन में सहयोग एवं समीक्षा के लिए भारत सरकार द्वारा केन्द्रीय टीम का गठन किया गया है। 

इस गठित टीम में भारत सरकार के संयुक्त सचिव डॉ. जिगमेत तक्पा, डॉ सागर बोरकर, डा. विजय हड्डा एवं राज्य के स्वास्थ्य विभाग से डा.् जावेद कुरैशी, डॉ. कामले ने जिले के सभी विकासखण्ड का निरीक्षण 09 अप्रैल से 13 अप्रैल तक किया। 

इस दौरान उन्होंने विभिन्न अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, कोविड.19 के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जिले में बनाए गए कंटेनमेंट जोन, क्वारेंटाईन सेंटर, कोविड के संबंध में उचित व्यवहार, अस्पताल में ऑक्सीजन एवं बिना ऑक्सीजन वाले बेड की उपलब्धता, कोविड टीकाकरण, कोरोना की सैम्पलिंग जैसे आरटीपीसीआरए रेपिड टेस्ट, ट्रू नाट टेस्ट सहित अन्य गतिविधियों का अवलोकन किया। 

इस दौरान केन्द्रीय टीम के सदस्यों ने कहा कि कोरोना के सैम्पल जांच के लिए टेस्ट किट की उपलब्धता सभी जगह पर्याप्त मात्रा मेें उपलब्ध कराएं। कंटेनमेंट जोन एवं बफर जोन में संक्रमित मरीजों के सम्पर्क में आने वालों का प्रायमरी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग एवं कोविड जॉच अनिवार्य रूप से कराएं। 

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनके मंडपे, महामारी विज्ञान के चिकित्सक डॉ. मीनाक्षी राय, डीपीएम रोहित वर्मा सहित अन्य चिकित्सकीय स्टॉफ  उपस्थित थे।


14-Apr-2021 5:44 PM 16

महासमुंद, 14 अप्रैल। जिले में कोविड संक्रमण और मरीजों के बढ़ते संख्या को देखते हुए और लोगों को स्वास्थ्य सुविधा में ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता के विस्तार के लिए जिला मुख्यालय के वरिष्ठ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी के साथ महासमुंद, बागबाहरा, पिथौरा, बसना और सरायपाली के एडीएम, तहसीलदार व नायब तहसीलदारो द्वारा जिला चिकित्सा विभाग के कोविड केयर सेंटरों को कुल 20 वऑक्सीजन सिलेंडर दान के रूप में  उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है। यह सिलेंडर 200 पाउंड क्षमता वाला होगा जो मरीज के पूरे दिनभर के ऑक्सीजन पूर्ति के लिए पर्याप्त होगा।  कोविड केयर सेंटरों में ऑक्सीजन व आवश्यक दवाइयों की उपलब्धता बनाये रखने के लिए जनप्रतिनिधियों, व्यापारियों के साथ साथ अब अधिकारी कर्मचारी वर्ग इस हेतु अपना सहयोग बढ़ा रहे हैं ताकि संक्रमित व जरूरतमंद लोगों का जीवनरक्षक इलाज हो सके।
पशु भटक रहे हैं पानी व चारे के लिए

 


14-Apr-2021 5:43 PM 16

कलेक्टर कोविड केयर सेंटर का किया निरीक्षण

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
कल देर शाम कलेक्टर कार्यालय कक्ष में भारत सरकार नई दिल्ली द्वारा गठित केन्द्रीय टीम ने कलेक्टर डोमन सिंह से मुलाकात कर जिले में कोविड.19 वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों तथा जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा किए जा रहें कार्यों की सराहना की। 

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आकाश छिकारा उपस्थित थे। मालूम हो कि देश सहित महासमुन्द जिले में कोरोना के संक्रमण के द्वितीय चरण में तेजी से बढ़ते मामलें को देखते हुए कोविड.19 प्रबंधन में सहयोग एवं समीक्षा के लिए भारत सरकार द्वारा केन्द्रीय टीम का गठन किया गया है। 

इस गठित टीम में भारत सरकार के संयुक्त सचिव डॉ. जिगमेत तक्पा, डॉ सागर बोरकर, डा. विजय हड्डा एवं राज्य के स्वास्थ्य विभाग से डा.् जावेद कुरैशी, डॉ. कामले ने जिले के सभी विकासखण्ड का निरीक्षण 09 अप्रैल से 13 अप्रैल तक किया। 

इस दौरान उन्होंने विभिन्न अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, कोविड.19 के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जिले में बनाए गए कंटेनमेंट जोन, क्वारेंटाईन सेंटर, कोविड के संबंध में उचित व्यवहार, अस्पताल में ऑक्सीजन एवं बिना ऑक्सीजन वाले बेड की उपलब्धता, कोविड टीकाकरण, कोरोना की सैम्पलिंग जैसे आरटीपीसीआरए रेपिड टेस्ट, ट्रू नाट टेस्ट सहित अन्य गतिविधियों का अवलोकन किया। 

इस दौरान केन्द्रीय टीम के सदस्यों ने कहा कि कोरोना के सैम्पल जांच के लिए टेस्ट किट की उपलब्धता सभी जगह पर्याप्त मात्रा मेें उपलब्ध कराएं। कंटेनमेंट जोन एवं बफर जोन में संक्रमित मरीजों के सम्पर्क में आने वालों का प्रायमरी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग एवं कोविड जॉच अनिवार्य रूप से कराएं। 

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एनके मंडपे, महामारी विज्ञान के चिकित्सक डॉ. मीनाक्षी राय, डीपीएम रोहित वर्मा सहित अन्य चिकित्सकीय स्टॉफ  उपस्थित थे।
 


14-Apr-2021 5:41 PM 17

महासमुंद, 14 अप्रैल। नगर पालिका एवं खाद्य विभाग द्वारा मंगलवार को शहर के विभिन्न किराना दुकान, आलू, प्याज के थोक व्यापारियों के ठिकानों पर दबिश दी गई। विभिन्न खाद्यान्नों के निर्धारित बाजार मूल्य से अधिक बेचने की शिकायत की जांच की गई। एक किराना व्यापारी द्वारा अधिक कीमत पर प्याज बेचते पाया गया। जिसके विरुद्ध चालान की कार्यवाही की गई। जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त टीम द्वारा कल नगर के थोक व चिल्हर किराना व्यवसायियों के ठिकानों पर दबिश दी गई। निर्धारित बाजार मूल्यों से अधिक दर पर सामान बिक्री करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की गई। थोक व चिल्हर किराना व्यवसायियों के प्रतिष्ठानों पर दर सूची के साथ विक्रयदर की जानकारी ली गई तथा निर्धारित दर पर ही सामग्री बेचने की हिदायत दी गई। इस दौरान गुलशन चौक वार्ड नं 04 में स्थित सिमरण किराना स्टोर्स के मालिक द्वारा 30 रुपए प्रति किलो प्याज बेचते पाया गया। टीम ने उक्त दुकान संचालक के विरूद्ध 1000 रुपये का चालान किया साथ ही पुन: अधिक दर पर सामग्री बिक्रेय करते पाये जाने पर दूकान सील करने की कार्यवाही की चेतावनी दी गई।
 


14-Apr-2021 5:41 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
आज प्रात: 6 बजे से महासमुंद जिले में लॉकडाउन शुरू हुआ है। आगामी 22 अप्रैल की आधी रात तक पू्र्र तालाबंदी जारी रहेगा।  सुबह से शहर में लोगों की आवाजाही बंद है।

 जिले के सभी विकासखंडों के गांवों में इस लाकडाउन का पालन हो रहा है। दुकानों में ताले पड़े हैं। कलेक्टर एसपी सहित जिला प्रशासन की पूरी टीम जिले में नजर रखी हुई है। कोराना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए बुधवार 14 अप्रैल 2021 प्रात: 6 बजे से महासमुंद जि़ला अंतर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र में  कंटेनमेंट जोन घोषित किया है । जिले के कलेक्टर ने 25 बिंदुओं के दिशा.निर्देश के साथ आदेश जारी कर दिए हंै । 

महासमुन्द जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमण  की  चेन तोडऩे और रोकथाम हेतु जिले में लॉकडाउन की घोषणा की है। कलेक्टर ने कहा कि लोग लॉकडाउन व निर्देशों का पालन गंभीरता से पालन करें। लॉकडाउन का पालन कराने के लिए थानाध्यक्षों और प्रभारियों को गश्त करने के निर्देश भी दिए गए हैं। अधिकारी स्वयं दिन में सडक़ों पर उतरकर लॉकडाउन की हकीकत देख रहे हैं।  

लॉकडाउन के दौरान जिले में कहीं भी  शराब, सब्जी-फल और किराना दुकानें नहीं खुलेंगी। इसके अलावा जिले की सीमाएं सील रहेंगी और धार्मिक स्थान भी बंद रहेंगे। केवल मेडिकल सेवाएं, कोविड वैक्सीनेशन सेंटर, रेलवे स्टेशन, और दूध की दुकानें खुली रहेंगी।

आवश्यक स्थिति में ऑफिस आने पर लोगों के लिए आईडी कार्ड दिखाना अनिवार्य है। पेट्रोल पंप पर भी चिन्हित सेवाओं से जुड़े लोगों को ही पेट्रोल दिया जा रहा है। इमरजेंसी में चार पहिया वाहन और ऑटो में ड्राइवर सहित अधिकतम 3 लोगों को बैठने की अनुमति मिलेगी। 

कलेक्टर एवं दंडाधिकारी डोमन सिंह ने जारी आदेश में कहा है कि नियम तोडऩे वालों पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। लाकडाउन के दौरान तय समयावधि मैं घरों में जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक एवं सायं 5 बजे से सायं 7 बजे तक लॉक डाउन से मुक्त रहेंगे। न्यूज  पेपर हॉकर भी इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोडक़र किसी के भी आने-जाने पर बंदिश है। 

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डोमन सिंह एवं पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने सीजी स्वान कक्ष में वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए संयुक्त रूप से राजस्व एवं पुलिस अधिकारियों की बैठक ली है।  लॉकडाउन का पालन कराने के लिए राजस्व अधिकारी, थानाध्यक्ष और प्रभारियों को गश्त करने के निर्देश दिए गए हैं। जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं। 
 


14-Apr-2021 5:40 PM 15

महासमुंद, 14 अप्रैल। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डोमन सिंह ने भारत सरकार एवं छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी गाईडलाईन के अनुसार कोरोना वायरस कोविड.19 नियंत्रण के लिए जिले में 14 अप्रैल 2021 प्रात: 6 बजे से 22 अप्रैल 2021 मध्यरात्रि 12 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित करने का आदेश जारी कर दिया है। आदेश के कंडिका 09 में शर्त कंडिका को जोड़ते हुए शासकीय उचित मूल्य की दुकानों को प्रात: 7 बजे से  11 बजे तक खोले जाने के लिए छूट प्रदान की गई है। शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर कर्मचारियों, ग्राहकों को मॉस्क पहनना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। आदेश की शेष शर्तें यथावत् रहेगी।
 यह आदेश 14 अप्रैल 2021 प्रात: 7 बजे से लागू है। 
 


14-Apr-2021 5:39 PM 11

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डोमन सिंह ने कोरोना वायरस कोविड.19 के प्रसार के रोकथाम उपरोक्त आदेशों का पालन सुनिश्चित करते हुए धारा 144 के अधीन प्रतिबंधों से मुक्त सभी आवश्यक सामग्री की उपलब्धता अधिकतम खुदरा मूल्य के भीतर आम जनता तक सुनिश्चित करने के लिए दंड प्रक्रिया संहिता 1973 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिले में 05 दल का गठन किया गया है।

इनमें नगर पालिका क्षेत्र महासमुंद एवं नगर पंचायत क्षेत्र तुमगांव अंतर्गत खाद्य निरीक्षक कमल नारायण साहू, चंद्रशेखर वर्मा, नापतौल निरीक्षक महेंद्र कुमार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी ज्योति भानु एवं राजस्व निरीक्षक डीके निर्मलकर शामिल है। नगर पालिका क्षेत्र बागबाहरा के अंतर्गत खाद्य निरीक्षक आरती यादव एवं नगर पालिका के उप अभियंता शशि प्रताप सिंह शामिल है। इसी प्रकार नगर पंचायत क्षेत्र पिथौरा के अंतर्गत खाद्य निरीक्षक सुशीला गवेल एवं प्रभारी राजस्व निरीक्षक चंद्रशेखर शुक्ला शामिल है। नगर पंचायत क्षेत्र बसना के लिए खाद्य निरीक्षक चंद्रकांत बघेल एवं सहायक राजस्व निरीक्षक अमित कुमार सनद तथा नगरपालिका क्षेत्र सरायपाली के अंतर्गत खाद्य निरीक्षक गौर सिंह जात्रे एवं नगर पालिका के कैशियर दुर्गेश रथ आवश्यक सामग्री की उपलब्धता अधिकतम खुदरा मूल्य के भीतर आम जनता तक सुनिश्चित करने के लिए कार्य करेंगे।

गठित दल के संबंधित अधिकारी अपने कार्य क्षेत्र के अंतर्गत कोरोना वायरस कोविड.19 के प्रसार के रोकथाम तथा उसके संबंध में जारी आदेशों का पालन सुनिश्चित कराते हुए धारा 144 के अधीन प्रतिबंधों से मुक्त सभी आवश्यक सामग्री की अधिकतम खुदरा मूल्य के भीतर आम जनता तक उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कार्य करेंगे। 

दल के सदस्य आवश्यकतानुसार क्षेत्र का भ्रमण करेंगे। ये सभी अधिकारी. कर्मचारी सहायक खाद्य अधिकारी संजय शर्मा के मार्गदर्शन में कार्य करेंगे। यदि कोई व्यक्ति आदेशों का उल्लंघन करते हुए अधिकतम खुदरा मूल्य से अधिक कीमत पर खाद्य सामग्री इत्यादि का विक्रय करें तो उसके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे। 
गठित दल किसी भी माध्यम से प्राप्त शिकायत, फीडबैक इत्यादि पर त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे तथा व्हाट्सएप के माध्यम से नियमित रिपोर्टिंग करेंगे।

 


14-Apr-2021 5:38 PM 10

महासमुंद, 14 अप्रैल। लॉकडाउन से पहले कल मंगलवार को जरूरी वस्तुओं की खरीदी के साथ-साथ नवरात्रि पर्व व शादियों को लेकर महासमुंद में जमकर खरीदी हुई। लॉकडाउन के एक दिन पहले खरीदी करने के लिए लोग सुबह 6 बजे से ही बाजार पहुंचे और शासन द्वारा निर्धारित समयावधि दोपहर 3 बजे तक बाजार ग्राहकी से गुलजार रहा। बता दें कि इन दिनों जिले में सुबह 6 से दोपहर 3 बजे तक दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान की थी। इसी के कारण मंगलवार को बाजार में एक ही समय पर बड़ी तादाद में लोग खऱीदी करने के लिए पहुंचे। शहर के अधिकतर किराना दुकानों में लोगों की भीड़ सुबह से ही दिखाई दी। यह भीड़ दुकानें बंद होने के अंतिम समय तक बनी रही। बता दें कि सीधे 23 अप्रैल को महासमुंद की सब्जी मंडी खुलेगी। 
 


14-Apr-2021 5:37 PM 11

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
चैत्र नवरात्रि पर जिले सहित गांवों में भी देवी मंदिरों में शुभ मुहूर्त में मनोकामना ज्योति प्रज्जवलित हुई। शहर के महामाया मंदिर, शीतला मंदिर, शारदा मंदिर, बरोंडा चौक दुर्गा मंदिर में शुभ मुहूर्त में ज्योत प्रज्जवलित की गई। इसी तरह बिरकोनी चंडी, बागबाहरा चंडी और खल्लारी मंदिर में भी ज्योति प्रज्जवलित की गई।

मालूम हो कि कोरोना के मद्देनजर प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों का पालन मंदिर समितियों द्वारा किया जा रहा है, जो कल मंगलवार को देखने को मिला। नवरात्र के पहले दिन समिति के पदाधिकारियों व पुजारी को छोड़ मंदिरों में किसी को भी प्रवेश नहीं दिया गया। सुबह जो भक्त पहुंच रहे थे, उन्हें बाहर से ही दर्शन कर वापस भेज दिया गया। सुबह शहर के विभिन्न मंदिरों में भक्त दर्शन के लिए पहुंचे थे। लेकिन उन्हें भीतर प्रवेश नहीं दिया गया। देवी मंदिरों में सुबह 12 बजे शुभ मुहूर्त पर एक ज्योति प्रज्जवलित की गई। उसके बाद देर रात तक शेष ज्योति प्रज्जवलित की गई। बता दें कि कल मंगलवार से चैत्र नवरात्र प्रारंभ हुआ है जो पूरे 9 दिन रहेगा। आगामी 21 अप्रैल को रामनवमी का पर्व मनाया जाएगा।

प्रख्यात खल्लारी मंदिर समिति के कोषाध्यक्ष सुरेश चंद्राकर ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए समिति के सदस्यों ने पूर्व में ही दर्शन पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय ले लिया था और मंदिर के बाहर बैरिकेड्स लगा दिए थे, ताकि कोई भी श्रद्धालु पहाड़ी पर दर्शन के लिए प्रवेश न कर सके। उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना का संक्रमण रहेगा, पहाड़ी पर प्रवेश प्रतिबंध रहेगा। इसी प्रकार घुंचापाली चंडी मंदिर में भी प्रवेश पर रोक है। हालांकि मंदिर में माता की आरती के लाइव दर्शन सोशल मीडिया के जरिए की जा सकती है। मंदिर समिति ने इसके लिए लिंक जारी किया है। रोजाना शाम 7.30 बजे माता की आरती के साथ लाइव दर्शन किया जा सकता है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने जहां दर्शन के लिए रोक लगाई है। वहीं समितियों के द्वारा सुरक्षा की दृष्टि से परिसर के अंदर लगे घंटे में कपड़ा बांध दिया गया है। इसके अलावा बाहर में सैनिटाइजर व हाथ धोने की व्यवस्था भी की गई है। पहले दिन कुछ श्रद्धालु सुबह से ही दर्शन करने मंदिर पहुंचे थे। लेकिन आज से जिले में लॉकडाउन लग गया है। ऐसे में लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाएंगे। 
 


14-Apr-2021 4:59 PM 17

महासमुंद, 14 अप्रैल। बागबाहरा शहर के अंदर बिना संकेतक के सडक़ पर खड़े ट्रक से बाइक टकरा गया। इसमें सवार दो की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। थाने के अनुसार ग्राम बिहाझर निवासी पुरुषोत्तम साहू पिता धनेश्वर साहू 40 एवं भूषण साहू पिता हरीशचंद्र साहू 60 की सडक़ हादसे में मौत हो गई। दोनों बाइक क्रमांक सीजी 06 के 8625 में सवार थे।
 


14-Apr-2021 4:58 PM 12

महासमुंद, 14 अप्रैल। महासमुंद जिले में कल मंगलवार को कोरोना से 4 लोगों की मौत हुई है। एक 46 वर्षीय व्यक्ति मंगलवार को ही सीएचसी सरायपाली पहुंचा। यहां टेस्ट के बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई और उसे इलाज के लिए भर्ती कर जिला कोविड हॉस्पिटल भेजने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। इसी तरह कोविड अस्पताल में 62 वर्षीय पुरुष ने दम तोड़ा। साथ ही दो अन्य की मौत भी मंगलवार को जिले में हुई है। 

 


14-Apr-2021 4:51 PM 14

हमारे पास किट की कोई कमी नहीं है बल्कि 9 कर्मी ट्रेनिंग में गए हैं-सीएमएचओ 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
महासमुंद में कई लोग लगातार दो दिनों से जिला अस्पताल परिसर व टाउन हॉल का चक्कर काट रहे हैं। यहां उन्हें किट नहीं होने के कारण वापस भेज दिया जा रहा है। 

कल मंगलवार को जिला अस्पताल परिसर के टेस्टिंग सेंटर में दोपहर 12 बजे से ही टेस्ट किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर सेंटर को बंद कर दिया गया। यहां से निकलकर लोग टाउन हाल में भी टेस्ट कराने के लिए लंबे समय तक इंतजार करते रहे, लेकिन यहां टाउन हॉल में कोई भी स्वास््थ्यकर्मी नहीं पहुंचा। कई लोग दो दिनों तक लगातार टेस्टिंग के लिए महासमुंद में घूम रहे हैं लेकिन उनका टेस्ट नहीं हो रहा है। 

अब जाकर जानकारी मिली है कि जिला अस्पताल के कर्मचारी ट्रेनिंग के लिए राजधानी के मेकाहारा गए हैं। इनकी ट्रेनिंग शनिवार तक चलेगा। ट्रेनिंग खत्म होने के 2-3 दिन के अंदर लैब शुरू हो जाएगा।  यही कारण है कि टेस्ट कराने पहुंच रहे लोगों को वापस भेजा जा रहा है। कल मंगलवार को कोविड अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्था, टेस्टिंग कम करने और टेस्टिंग सेंटर्स में सुविधाएं नहीं होने के विरोध में पूर्व विधायक डॉ विमल चोपड़ा ने जिला अस्पताल में प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा नेताओं ने जमकर नारेबाजी की और अस्पताल के सामने ही धरने पर बैठ गए। 

जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुासर महासमु्ंद में बायोलॉजी लैब को जल्द शुरू किया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के 9 अधिकारी राजधानी के मेकाहारा स्थित लैब में ट्रेनिंग ले रहे हैं। यह ट्रेनिंग एक सप्ताह की है, जिसके 2 से 3 दिन बाद महासमुंद का पुराना जिला चिकित्सालय स्थित वायरोलॉजी लैब शुरू हो जाएगी। यह ट्रेनिंग बीते शनिवार से शुरू हुई है जो आगामी शुक्रवार तक चलेगी। इसी कारण वर्तमान समय में जिले में टेस्टिंग का कार्य प्रभावित हुआ है। मंगलवार को जिला मुख्यालय के खरोरा और टाउन हॉल में इसके चलते टेस्ट नहीं हो पाया। इसी के चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।

हालात यह है कि मंगलवार को जिला अस्पताल परिसर के टेस्टिंग सेंटर में दोपहर 12 बजे से ही टेस्ट किट नहीं होने का बोर्ड लगाकर सेंटर को बंद कर दिया गया। यहां से निकलकर लोग टाउन हाल में भी टेस्ट कराने के लिए लंबे समय तक इंतजार करते रहे, लेकिन कोई भी स्वास्थ्य कर्मी टाउन हॉल नहीं पहुंचा।

इस संबंध में सीएमएचओ डॉ.एनके मंडपे कहते हैं कि हमारे पास किट की कोई कमी नहीं है बल्कि 9 कर्मी ट्रेनिंग में गए हैं। जिसके कारण व्यवस्था प्रभावित हो रही है। जिले में जल्द वायरोलॉजी लैब शुरू होने वाली है। कर्मचारियों की ट्रेनिंग शनिवार तक चलेगा। इसके 2 से 3 दिन के अंदर लैब शुरू हो जाएगा और लोगों को जल्द रिपोर्ट मिलेगी। 
 


14-Apr-2021 4:50 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 14 अप्रैल।
जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए संसाधन जुटाने जिले के चारों विधायकों ने अपनी निधि से 25.25 लाख रुपए की राशि देने का फैसला किया है। 
विधायक निधि से फंड देने की फैसले से मंगलवार को कलेक्टर डोमन सिंह को भी अवगत कराया गया। बाद इसके संसाधन जुटाने कई पहलुओं पर चर्चा की गई। जिले के वरिष्ठ विधायक देवेंद्र बहादुर सिंह, विनोद सेवनलाल चंद्राकर, द्वारिकाधीश यादव व किस्मतलाल नंद ने जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर चिंता जताते हुए अपनी विधायक निधि से 25-25 लाख रुपए की राशि देने का फैसला किया है।

कल मंगलवार को कलेक्टोरेट कक्ष में संसदीय सचिव विनोद चंद्राकर की मौजूदगी में कलेक्टर डोमन सिंह व जिला पंचायत सीईओ आकाश छिकारा सहित महासमुंद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ पीके निगम व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की हुई बैठक में कोरोना संक्रमण से निपटने आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने सहित विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई। बैठक के दौरान संसदीय सचिव ने विधायक निधि से 25-25 लाख रुपए की राशि दिए जाने के फैसले की जानकारी दी।

संसदीय सचिव विनोद चंद्राकर ने कल मंगलवार को जिला हॉस्पिटल में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया। जल्द ही इससे मरीजों को सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी। निरीक्षण के दौरान मौजूद प्रोफेसर डॉ.वर्मा ने संसदीय सचिव को बताया कि ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना होने से कई समस्याओं से निजात मिलेगी। प्लांट में ऑक्सीजन जनरेट होने के बाद सीधे पाइप के माध्यम से मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचेगा। इससे चिकित्सा सुविधा का विस्तार हो सकेगा। उन्होंने बताया कि प्लांट से 24 घंटे में करीब 175 सिलेंडर के बराबर ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगा।
 


Previous123456789...5960Next