छत्तीसगढ़ » बलौदा बाजार

Previous123456789...3536Next
22-Apr-2021 8:22 PM 8

भाटापारा, 22 अप्रैल। लॉक डाउन के बाद अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों के गुपचुप वापसी प्राईवेट गाडिय़ों से होने की जानकारी मिली है अगर ऐसा है तो नुकसान क्षेत्र को भुगतना पड़ सकता है. जिन मजदूरों ने प्रशासन को सूचना दी उनको क्वारेंटाईन किया गया लेकिन अभी भी लोगों को शक है कि कई मजदूर आधी रात को कई गांव मे घुस रहे है और अगर ऐसा है तो उन मजदूरों की लापरवाही कोरोना विस्फोट के रूप मे हो सकती है ऐसी परिस्थितियों मे प्रवासी मजदूरों की जानकारी एकत्रित करना जरूरी है। जनप्रतिनिधियों सहित गांव के वासिंदो को भी इस दौरान काफी सजगता बरतने की जरूरत है ऐसी परिस्थितियो मे प्रशासन को सहयोग करते हुये हर उस मजदूर जो किसी भी गांव मे या किसी भी वार्ड मे प्रवेश कर रहा हो उसे रोककर तत्काल प्रशासन को सूचना देना आवश्यक है ताकि कोरोना जैसे महामारी से निजात पाया जा सके। 

कोरोना कोविड-19 को लेकर कई लोग गंभीर नहीं है जबकि प्रशासन लगातार यह अपील कर रही है कि सामुदायिक दूरी का पालन किया जाये लेकिन कई नागरिक शहर मे इस अपील की धज्जियां उडाते देखे गए हैं।
 


22-Apr-2021 7:47 PM 11

बलौदाबाजार, 22 अप्रैल। जिला मुख्यालय बलौदाबाजार स्थित आनंद अस्पताल को कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए पूर्व में दी गई अनुमति निरस्त कर दी गई है। अस्पताल प्रबंधन अब कोविड के नए मरीज़ों की भर्ती कर इलाज नहीं कर पायेगा। लेकिन पूर्व में भर्ती किये गए मरीजों का डिस्चार्ज होते तक पूरा इलाज किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बलौदाबाजार ने अस्पताल को दी गई अनुमति का निरस्तीकरण आदेश आज जारी किया है। 

गौरतलब है कि अस्पताल प्रबंधन द्वारा इलाज में आईसीएमआर एवं राज्य शासन द्वारा कोविड मरीज़ों के उपचार संबंधी जारी दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया जा रहा था। जिला अधिकारियों की टीम ने अस्पताल का कुछ दिनों पूर्व निरीक्षण कर उन पर जुर्माना भी लगाए थे। बड़ी संख्या में कोरोना मरीज़ों के सामने आने पर आपातकालीन इलाज के लिए आनंद अस्पताल को अनुमति प्रदान की गई थी।
 


22-Apr-2021 7:43 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 22 अप्रैल।
कल जिला प्रशासन ने समझाईश देकर नाबालिग लडक़े की शादी रुकवाई। उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा रामनवमीं एवं अक्षय तृतीया के अवसर पर बड़ी संख्या में होने वाले विवाह को रोकने के लिए कड़े निर्देश दिए गए हैं। इसी कड़ी में  जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा टीम गठित कर बाल विवाह को रोकने के सख्त निर्देश दिये गए। 
21 अप्रैल को कसडोल विकासखण्ड के ग्राम डूमरपाली (बया) में युवती का विवाह पिथौरा (जिला महासमुंद) के ग्राम बरेकेलखुर्द निवासी के साथ होना तय हुआ था। जिसकी सूचना महिला बाल विकास विभाग जिला बलौदा बाजार को प्राप्त हुई। 

जिला कार्यक्रम अधिकारी एल.आर कच्छप ने बताया कि सूचना मिलते ही तत्काल कसडोल के महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी राजेश क्षीरसागर के नेतृत्व में टीम गांव में पहुंची।

टीम ने कन्या तथा लडक़े का दोनों की अंकसूची तथा अन्य दस्तावेजों का मिलान किया। जिसमें वर की उम्र 21 साल से कम पाए जाने पर वधु पक्ष वालों को समझाईश  देकर  उपस्थित पंच लोगों के समक्ष पंचनामा किया गया। समझाईश में बताया गया कि बाल विवाह एक कानूनन अपराध है तथा इनके सामाजिक एवं शारीरिक बुराई के बारे में परिवारजनों एवं समाज को समझाया गया। समझाईश पर परिवार विवाह रोकने के लिए सहमत हो गए। 

प्रशासन की टीम में बाल विकास परियोजना अधिकारी राजेश क्षीरसागर संबंधित पुलिस थाना के आरक्षक ग्राम के सरपंच तथा महिला बाल विकास के अधिकारी कर्मचारी बाल विवाह रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जिला प्रशासन ने अपील की है कि बाल विवाह एक सामाजिक बुराई है। इसे सम्बन्धित पक्षों को समझा-बुझा कर रोका जाए।
 


22-Apr-2021 7:26 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सरसीवां, 22 अप्रैल।
स्थानीय विधायक चंद्रदेव राय की विधायक निधि की राशि व लगन व मेहनत ने आखिर रंग लाई। ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था होने पर बिलाईगढ़  विधान सभा क्षेत्र की जनता  के साथ-साथ बीएमओ डॉ .एस.के खूंटे  एस डी एम महेश्वरी  ने विधायक का आभार माना।

बिलाईगढ़ विधायक कोरोना बचाव के लिए लगातार संसाधन मुहैया जुटाने में लगे हुए हैं। अपनी 1 माह का वेतन और अपनी विधायक निधि की 25 लाख राशि कोरोना बचाव के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में भी दी है । गौरतलब हो कि लगातार बिलाईगढ़ विधायक मुख्यमंत्री के निर्देशों पर कोरोना बचाव अभियान में जी तोड़ मेहनत कर, सेवा कर रहे हैं। कोविड 19 सेंटरों का निरीक्षण कर मरीजों का  हाल-चाल जाने हैं।साथ दवाई, भोजन पानी की व्यवस्था कर रहे है।

बिलाईगढ़ विधायक के प्रयास से गोविंदवन में 55 बिस्तर एवं सरसींवा में 65 बिस्तर ,जिसमें दोनों जगह 10-10 ऑक्सीजन बेड की शुभारंभ विधायक ने अपने हाथों की है। 
माली हालात में कोविड 19 सेंटर खुल जाना बड़ी उपलब्धि है । जिला मुख्यालय से 100 किलोमीटर दूर सरसींवा अंतिम छोर में स्वास्थ्य मुहैया कराना वरदान से कम नहीं है। 
क्षेत्रवासी ने विधायक एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया है।  इस दौरान बिलाईगढ़ बी.एम.ओ डॉ. एस.के. खूंटे, के साथ-साथ कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं  उपस्थित थे।
 


22-Apr-2021 6:56 PM 15

पॉजिटिव की संख्या बढऩे के साथ अब मौतों का ग्राफ भी तेजी से बढ़ रहा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 22 अप्रैल। 
जिले में कोरोना मरीजों की संख्या बढऩे के साथ अब मौतों का ग्राफ भी तेजी से बढ़ रहा है। अब एक दिन में औसतन दो से भी अधिक मौतें हो रही है। पहली लहर के 12 महीने में 10440 कोरोना संक्रमित मिले थे, वहीं दूसरी लहर के 21 दिनों में ही कोरोना के 11406 मरीज मिले हैं। कोरोना की पहली लहर में सालभर में 168 कोरोना पॉजिटिव की मौत हुई थी, कोरोना पीक सिंतबर में आया था, तब माहभर में सर्वाधिक 42 मौतें हुई थीं, जबकि दूसरी लहर में अप्रैल के बीते 21 दिनों में ही 60 मरीजों की मौत हो चुकी है।

डरने की वजह यह भी है कि इन 60 मौतों में 46 मौतें सिर्फ पिछले 7 दिनों में ही हुई है, जबकि कई मरीजों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। जिले में पहले कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत 20 जुलाई को हुई थी। कोरोना संक्रमण के सालभर में 31 मार्च 2021 तक कुल 168 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हुई थी। इस साल अप्रैल के प्रथम सप्ताह से फिर से मरीजों की संख्या बढऩे लगी। 31 मार्च तक जहां कुल संक्रमितों की संख्या 10,440 थी और जिले में मात्र 411 ही सक्रिय मरीज बचे थे। वही अब 21 दिनों में ही 11406 मरीज मिले हैं। अब तक कुल संक्रमित 21846 मिल चुके हैं। अभी सक्रिय मरीजों की संख्या 8673 है। जिले में लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए 11 अप्रैल से एक बार फिर जिले में लॉकडाउन लगा दिया गया है। इसके बाद भी मरीजों की संख्या व मौत के आंकड़े थम नहीं रहे हैं।

बुधवार को 604 नए मरीज मिले, 11 मौतें
जिले में बुधवार को कोरोना के 604 नए मरीजों की पहचान की गई है, वहीं 11 मरीजों की मौत भी दर्ज की गई है,  345 लोगों को छुट्टी भी दे दी गई। बुधवार को हुई 11 मौत को मिलाकर जिले में कोरोना से मौत की संख्या 228 पहुंच गई है। वहीं सक्रिय मरीजों की संख्या 8673 हो गई है, जिनका होम आइसोलेशन और कोविड केयर सेंटरों में इलाज चल रहा है। जिले में अब कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढक़र 21846 तक पहुंच गई है। कुल 12945 मरीज अब तक स्वस्थ चुके हैं।

फेफड़ों में छुप रहा वायरस इसलिए नाक, गले से लिए सैंपल निगेटिव, सीटी स्कैन में पॉजिटिव
जिले में हर दिन कोरोना लहर की चपेट में 700 से 800 लोग आ रहे हैं। कसडोल के जनक दीवाकर का कहना है कि आरटीपीसीआर टेस्टिंग के बाद भी उसके चाचा की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी, मगर सीने में दर्द की शिकायत को लेकर जब सिटी स्कैन कराया तो फेफड़ों में 10 प्रतिशत संक्रमण था। रिपोर्ट भी कोरोनो पॉजिटिव आई थी।

 जिला कोविड नोडल अधिकारी डॉ. राकेश प्रेमी का कहना है कि कोई भी वायरस जब अपने आप को बदलता है तो उस बदलने की प्रक्रिया को म्यूटेशन कहते हैं। नये वायरस में नया-नया बदलाव आ रहा है, जो समझ से परे है। नया वायरस चोर की तरह आता है और नाक व गले से होकर फेफड़ों में छुप जाता है, जबकि सैंपल नाक और गले के लिए जाते हैं। ऐसे में कुछ मामलों में एंटीजन और आरटीपीसीआर सैंपलों में यह संक्रमण पकड़ में नहीं आ पाता। बाद में सीटी स्कैन कराने पर फेफड़ों में संक्रमण का पता चलता है। कुछ मामलों में न्यूनतम वायरस वाले जिन मरीजों का सैंपल निगेटिव आ रहा है सिटी स्कैन में वे पॉजिटिव आ रहे हैं।

पॉजिटिव के साथ ही घंटों खड़े टेस्ट कराने आए लोगों के संक्रमित होने की आशंका
जिस गति से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है उससे हालात लगातार विस्फोटक हो रहे हैं। वायरस घर-घर फैल चुका है। संभवत: इसी वजह से जिला अस्पताल में कोरोना टेस्ट कराने वालों की भीड़ बढ़ती जा रही है। शहर के जिला अस्पताल व नगर भवन में जांच केंद्र बनाए गए हैं। सिर्फ दो जांच केंद्र होने की वजह से जांच केंद्रों में लंबी कतारें लग रही है। जांच सुबह 10.30 बजे से शुरू होती है मगर लोग सुबह 8 बजे से ही लाइन लगाना शुरू कर देते हैं। इसके चलते लोगों को जांच के लिए काफी इंतजार भी करना पड़ रहा। कोविड टेस्ट को लेकर लंबी लाइन लग रही है। 

लोगों का कहना है कि जांच सेंटर बढ़ाया जाए, क्योंकि तपती धूप में पॉजिटिव मरीजों के साथ ही घंटों खड़े टेस्ट कराने आए निगेटिव लोगों के भी संक्रमित होने की आशंका बढ़ रही है।
 


21-Apr-2021 7:21 PM 9

भाटापारा, 21 अप्रैल। केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार के द्वारा 1 मई से 18 वर्ष के व्यक्तियों के टीकाकरण तथा खुले बाजार में उपलब्ध कराने की घोषणा का स्वागत करते हुए जिला महामंत्री राकेश तिवारी, मंडल अध्यक्ष मनेंद्र सिंह गुम्बर, भाजयुमो के जिला अध्यक्ष सुनील यदु एवं युवा मोर्चा के शहर अध्यक्ष आशीष टोडर ने स्वागत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की इस घोषणा से 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के युवकों युवतियों को लाभ मिलेगा। 

भाजपा नेताओं ने कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना महामारी की चपेट में है परंतु हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के वैज्ञानिकों ने जिस तरह से कम समय में को वैक्सीन का टीका इजाद किया उससे ना केवल भारत में अपितु पूरे विश्व में भारत का मान बढ़ा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वप्रथम टीका लगवाने की प्राथमिकता उन लोगों को दी जो हमारे देश की सेवा में लगे सिपाही तथा हमारे स्वास्थ्य के लिए जो स्वास्थ्य कर्मी एवं सफाई कामगार लगे हुए।
 


21-Apr-2021 6:40 PM 23

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 21 अप्रैल।
बलौदाबाजार जिले में कोरोना पॉजिटिव 45 वर्षीय संतोष साहू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। संतोष दो दिन पहले ही संक्रमित मिला था। जिसके बाद अपने लवन के वार्ड 4 स्थित घर में होम आइसोलेशन पर था। मंगलवार को सुबह उसकी लाश घर में फांसी पर लटकती मिली। घटना की सूचना लवन पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंचकर घटना स्थल की जांच कर रही है। 

संतोष साहू कोरोना पॉजिटिव था। इसलिए एसडीएम और चिकित्सा विभाग को सूचना दी गई। नगर पंचायत की टीम उसके घर और आसपास के क्षेत्र को सैनिटाइज किया।  फिलहाल उसने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया, इसका पता नहीं चल सका है।

लवन पुलिस चौकी प्रभारी वाय के सिंग ने बताया कि संतोष साहू अपने घर में अकेले रहता था, उसके माता-पिता का देहांत हो चुका है। दो दिन पहले उसकी तबीयत खराब होने पर कोरोना टेस्ट कराया था। जिसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। 

आज जब पड़ोसी उसे खाना देने गया, तो दरवाजा बंद था। धक्का देकर दरवाजा खोला गया, तो वो फांसी पर लटका मिला।
ज्ञात हो कि इससे पहले भी कई जिलों में कोरोना संक्रमित लोग सुसाइड कर चुके हैं। 19 अप्रैल को बेमेतरा जिले के थान खमरिया में अस्पताल से भागकर 32 वर्षीय तखत वर्मा ने पेड़ पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। बताया जा रहा है कि पीडि़त के पिता का इलाज भी कोरोना अस्पताल में चल रहा है।
 


21-Apr-2021 5:33 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 21 अप्रैल। अ
प्रैल में 21 से 30 तारीख तक शादियों के 6 मुहूर्त हैं। पिछले साल शादियों के सीजन में लगे लॉकडाउन की मार से उबरने की कोशिश में लगे व्यापारियों को उम्मीद थी कि 21 अप्रैल से बाजार खुलेगा और शादी सीजन के लिए मंगाया गया उनका स्टॉक पिछली साल की तरह जाम नहीं होगा। कारोबार में लाभ की उम्मीद लगाए व्यापारियों की उम्मीदों को इस साल कोरोना की वजह से 11 से 29 अप्रैल तक लगे लॉकडाउन ने तोड़ दिया है। 

चेंबर ऑफ कॉमर्स की माने तो 11 अप्रैल से लगे इस लॉकडाउन की वजह से जिले में रोजाना लगभग 7 करोड़ से ज्यादा का व्यापार प्रभावित हुआ है। 21 से लगने वाले शादियों के मुहूर्त के कारण बाजार रोज 10 करोड़ का होता, मगर 29 अप्रैल तक लॉकडाउन अवधि के इन 17 दिनों में जिले में होने वाले लगभग 140 करोड़ रुपए के व्यापार पर ग्रहण लग गया। जिले में लॉकडाउन के कारण टेंट हाऊस व डीजे वालों की एक हजार से अधिक बुकिंग कैसिंल हो गई है।

जहां से फूल मंगाते हैं, वहां दे चुके हैं एडवांस
फ्लावर के संचालक  ने कहा कि बुकिंग में जो पैसा एडवांस में मिलता है। उस पैसे को हम जहां से फूल मंगाते हैं, वहां दे देते हैं। अप्रैल में 12 और मई में 15 बुकिंग हुई थी, इसे लोग कैंसिल करा रहे हैं।

एडवांस बुकिंग के पैसे वापस कर रहे संचालक
इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए बुकिंग कैंसिल होने पर भवन संचालक एडवांस पैसे वापस कर रहे हैं। नगर पालिका अध्यक्ष चितावर जायसवाल ने बताया नगर भवन के लिए जिन्होंने भी एडवांस दिया था। उनकी बुकिंग कैंसिल होने पर एडवांस पैसे वापस कर रहे। 

सर्व ब्राम्हण समाज के अध्यक्ष अरविंद शुक्ला ने बताया शादियों के लिए विप्र भवन के लिए मई तक आई लगभग सभी बुकिंग कैंसिल हो चुकी है, जिन्होंने भी एडवांस दिया था उनके पैसे वापस कर रहे हैं।

10 लोगों की अनुमति इसलिए शादियां कैंसिल कर दी
शहर के ही शीतल पटेल के लडक़े की शादी 27 अप्रैल को थी। वही संदीप साहू के भाई प्रदीप साहू की शादी 18 अप्रैल को तय थी मगर शादियों में 10 लोगों के ही शामिल होने की बाध्यता के चलते दोनों परिवार ने शादी कैंसिल की। परिवारों का कहना है। परिवार में ही 20-25 सदस्य हैं। ऐसे में परिवार के सदस्यों को शामिल किए बिना शादी कैसे करते।

जानिए, इस साल के विवाह मुहूर्त अप्रैल-21, 22, 26, 2, 28, 30
मई-2, 4, 7, 8, 9, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 26, 29, 30, 31
जून- 5, 6, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 24, 26, 28, 30
जुलाई-1, 2, 3, 7, 18

टेंट हाउस व डीजे वालों की एक हजार से अधिक बुकिंग कैंसिल
जिनके घरों में विवाह होना है, उन परिवारों में उमंग और उत्साह होता है। इसके अलावा शादी घर, बैंड-बाजा, लाइटिंग-डेकोरेशन, डीजे-साउंड सिस्टम, फूल-माला, कैटरिंग, टेंट, बग्घी का व्यवसाय करने वाले लोग भी खुश रहते हैं। साथ ही इन व्यवसायों में सैकड़ों लोगों को रोजगार भी मिलता है। 21 अप्रैल से शादियों का मुहूर्त शुरू हो रहा है। अप्रैल में 6 और मई में 15 दिन शादियों का मुहूर्त है। ऐसे में एक बार फिर संक्रमण बढऩे के चलते पूरे जिले में आठ दिनों के लिए लॉकडाउन और बढ़ा दिया गया है। इस स्थिति को देखते हुए लोग जिले के छोटे-बड़े टेंट हाऊस की बुकिंग को कैंसिल कराने लगे हैं।

टेंट हाऊस व डीजे एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष धीरज बाजपेयी ने बताया कि शहर में लॉकडाउन के चलते अप्रैल की सारी बुकिंग तो कैसिंल हो चुकी है। शादियों में 10 लोगों की संख्या निर्धारित करने की वजह से अब मई के मुहूर्तों में भी मिले ऑर्डर कैंसिल होने लगे हैं। दिसंबर से खाली बैठे जिले के 300 टेंट हाऊस व 500 डीजे संचालकों को अप्रैल और मई की शादियों से उम्मीद थी, मगर सारी उम्मीदों पर कोरोना ने पानी फेर दिया है।

शहर के ही टेंट हाऊस संचालक अशोक सोनी का कहना है कि इस बार सभी टेंट हाऊस वालों को 1000 से ज्यादा शादियों की बुकिंग मिली थी, मगर शादियों पर तामझाम पर लगी रोक की वजह से सारे ऑर्डर कैंसिल हो गए है। टेंट हाऊस संचालकों को इस बार शादियों की सीजन में 3 से साढ़े तीन करोड़ रुपए के व्यवसाय का नुकसान होगा। वहीं डीजे संचालक लाल ठाकुर का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से डीजे संचालकों को 1 करोड़ से अधिक का नुकसान होगा।

 


20-Apr-2021 8:06 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 20 अप्रैल।
जिला कलेक्टर एवं दंडाधिकारी के आदेश 19 अपै्रल  द्वारा बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के सम्पूर्ण क्षेत्र को 29 अप्रैल को  सुबह 6 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। 

आदेश में आंशिक संशोधन करते हुये आदेश की कंडिका 13 में वाक्यांश को विलोपित करते हुए नवीन कंडिका 13-ए अंत:स्थापित की गईं है। नई कंडिका 13-ए के तहत इस अवधि के दौरान को-मॉर्बिड/गर्भवती अधिकारियों/कर्मचारियों को एक्टिव ड्यूटी से छूट देते हुए बैंकों को हब-बैंकिंग सिद्धांत अनुसार न्यूनतम स्टाफ के साथ कार्य करने की अनुमति प्रदान की गईं है, किन्तु सभी बैंक/शाखाएं प्रात: 10 बजे से  दोपहर 1 बजे तक ही संचालित हो सकेंगे। इस अवधि के दौरान केवल ए.टी.एम कैश रि-फिलिंग, मेडिकल इक्विपमेंट, मेडिसिन, पेट्रोल/डीजल पंप, एलपीजी पीडीएस/केरोसीन वितरक शासकीय उचित

मूल्य दुकानदारों संबंधी लेन-देन, उद्योगों के व्यापारिक लेन-देन/श्रमिकों के भुगतान,मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति/लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक, शासकीय लेन-देन, निविदा, अस्पताल एवं मेडिकल प्रयोजन को छोडक़र आम जनता हेतु किसी प्रकार के सामान्य लेन-देन की अनुमति नहीं होगी। इस हेतु शाखा प्रबंधक संबंधित व्यक्तियों से विधिवत आवेदन प्राप्त कर अभिलेख संधारित करेंगे।
 


20-Apr-2021 8:04 PM 15

कोरोना संकट से निपटने 10 लाख देने की घोषणा 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 20 अप्रैल।
राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने आज जिला मुख्यालय बलौदाबाजार के नई मण्डी परिसर में तैयार हो रहे कोविड केअर अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने इस अवसर पर कोविड संकट से निपटने में जिला प्रशासन को अपनी सांसद निधि से 10 लाख रुपये देने की घोषणा की। 

 इस आशय का अनुशंसा पत्र भी मौके पर ही मौजूद अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता को सौंपा। इस राशि से एक एम्बुलैंस खरीदा जायेगा, जिसका इस्तेमाल सुहेला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अन्तर्गत शामिल गांवों के मरीजों के लिए किया जायेगा। उन्होंने प्रस्तावित अस्पताल के विभिन्न कमरों में पहुंचकर तैयारियों का अवलोकन किया और अफसरों से चर्चा कर पूरी कार्य-योजना की जानकारी ली। अस्पताल तैयार करने का काम युद्धगति से चल रहा है। अगले तीन-चार दिनों में प्रथम चरण के लगभग सवा सौ बेड के तैयार हो जाने की संभावना है। 

उन्होंने परिसर में मरीज़ों के साथ आये परिजनों के लिए भी सुविधाएं विकसित करने के निर्देश दिए। श्रीमती वर्मा ने अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता से जिले में कोविड के ताज़ा हालात की जानकारी भी ली और आपसी तालमेल के साथ जिला प्रशासन के नेतृत्व में समस्या से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। अपर कलेक्टर गुप्ता ने बताया कि नए कोविड अस्पताल निर्माण में सभी जनप्रतिनिधियों एवं ओद्योगिक प्रतिष्ठानों और समाजसेवियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष  राकेश वर्मा, जिला पंचायत सदस्य परमेश्वर यदु, जिला अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर, पार्षद रूपेश ठाकुर, गोपी साहू, सुभाष राव सहित सीएमएचओ डॉ खेमराज सोनवानी, पीएचई ईई मरकाम,  गौतम सिंह, मण्डी सचिव योगेश अग्रवाल भी उपस्थित थे।
 


19-Apr-2021 7:11 PM 17

बलौदाबाजार,19 अप्रैल। कोरोना संक्रमित मरीज़ों की इलाज में उपयोगी ऑक्सीजन के वितरण एवं परिवहन सुनिश्चित करने के लिए यहां संयुक्त जिला कार्यालय में मेडिकल ऑक्सीजन नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। डिप्टी कलेक्टर खम्मन लाल सोरी (99938 62279) नियंत्रण कक्ष के नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। नियन्त्रण कक्ष के संचालन के लिए गठित समिति में उद्योग विभाग के जीएम सत्येंद्र सिंह बघेल (94242 74028) आरटीओ एस. एल.लकड़ा (94252 56114) औषधि निरीक्षक किशोर ठाकुर (87700 52117)और सीएमएचओ डॉ खेमराज सोनवानी को सदस्य नियुक्त किये गए हैं। 
समिति जिले में मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता एवं अस्पतालों में इनका वितरण की निगरानी करेंगे।

 


19-Apr-2021 6:48 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 19 अप्रैल।
  अप्रैल की शुरुआत से ही जिले में कोरोना का घातक वार जारी है। रविवार को भी 516 मरीज मिले हैं और 8 मौते हुई हैं। एक्टिव केस अब 7865 तक पहुंच गया है। संक्रमण के मामले में बलौदाबाजार प्रदेश के पांच सबसे संक्रमित जिलो में आ गया है।

दूसरी लहर में नए लक्षणों ने न केवल मरीजों को बल्कि डॉक्टरों को भी डरा दिया है। कोरोना के मरीजों को आमतौर पर सर्दी-जुकाम, बुखार और सांस लेने में तकलीफ होती है, लेकिन जिला होम आइसोलेशन नोडल अधिकारी डॉ. राजकुमार बंजारे का कहना है कि फोन कॉल में अधिकतर मरीज आंखों व जोड़ों में दर्द, सिर दर्द, पेट दर्द, गले में दर्द, जी मिचलाना, थकान और सुस्ती की शिकायत कर रहे हैं। जब ये जांच कराने आ रहे हैं तो पॉजिटिव निकल रहे हैं।

कम समय में लंग्स को डैमेज कर रहा वायरस
ग्राम चरौदा निवासी एक परिवार के पांच सदस्य किसी समारोह में गए थे, लेकिन पेट गड़बड़ होने पर जांच कराने पर मां-बाप, बेटा-बहू और पोता संक्रमित मिले, ऐसे में अब डॉक्टर भी बिना लक्षणों वाले मरीजों को कोरोना का आरटीपीसीआर टेस्ट कराने की सलाह दे रहे हैं। जिला कोविड अस्पताल प्रभारी डॉ. शैलेन्द्र साहू का कहना है कि पहले की तुलना में वायरस भी ताकतवर हो गया है और लंग्स भी कम समय में ही डैमेज हो रहे हैं। वही ग्राम ढनढनी की एक महिला में खांसी, जुकाम के लक्षण नहीं थे, सिर्फ कमजोरी बढ़ रही थी। जांच में कोरोना पॉजिटिव मिलने के साथ ही जांच में लंग्स डैमेज के कगार पर थे।
 


19-Apr-2021 5:35 PM 49

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बलौदाबाजार, 19 अप्रैल। जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार इतनी तेज है कि अस्पतालों में गंभीर मरीजों के लिए बेड नहीं हैं। 7 वेंटिलेटर और 150 ऑक्सीजन बेड हैं मगर एक भी खाली नहीं है। अस्पतालों में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है ।

जिले में कोरोना संक्रमण से हालात विकट हो गए हैं।  जिला स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 30 अप्रैल तक जिले में एक्टिव केस की संख्या 15 हजार के आसपास हो सकती है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 30 अप्रैल तक 15 हजार तक हो सकते हैं।

4500 ऑक्सीजन सिलेंडर रोज लगेंगे

एक मरीज को रोज 3 ऑक्सीजन सिलेंडर लगते हैं। अगर 15 हजार एक्टिव केस होंगे तो इनमें से सिर्फ 10 प्रतिशत मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत पड़ी तो 1500 मरीजों के लिए 4500 ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था रखनी होगी। मौजूदा हालात में जिले को 400 सिलेंडर ही मिल पा रहे हैं। ऐसे में इतने ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था जुटाना भी असंभव है।

1500 बिस्तरों की और आवश्यकता पड़ेगी

वहीं बिस्तरों की बात की जाए तो अगले 12 दिनों में 1500 बिस्तरों की आवश्यकता होगी मगर वर्तमान में जिले के 6 कोविड सेंटरों में बिस्तरों की संख्या 806 है। यही हाल रहा तो सिर्फ आधे मरीजों को ही बिस्तर मिल पाएगा।

30 वेंटिलेटरों की आवश्यकता है

जिले में सिर्फ 7 वेंटिलेटर हैं मगर मौजूदा हालात में ही 30 वेंटिलेटरों की आवश्यकता है। हालात बिगडऩे पर और वेंटिलेटर लगेंगे।


19-Apr-2021 5:34 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भाटापारा, 19 अप्रैल। नगर में लॉक डाउन किये 6 दिन हो गये है लेकिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अभी भी सैंकड़ा के पार है अब लोगों को डरना जरूरी है और इसी डर के साथ सुरक्षा के तमाम इंतजाम भी करना जरूरी है जैसे घर मे रहकर हीं इस कोरोना को हराया जा सकता है क्योंकि लॉक डाउन के बावजूद भी कुछ लोग सडक़ों पर घूमते नजर आते है।

 हालांकि प्रशासन द्वारा लॉक डाउन मे हर संभव प्रयास किया जा रहा है कि लोग अपने घरों मे रहे लेकिन लोग अभी भी कोरोना को हल्के मे ले रहे है जबकि रायपुर दुर्ग राजनांदगांव जैसे शहरों मे संक्रमितों को न बेड मिल पा रहा है ऑक्सीजन की व्यवस्था में पसीने छूट रहे है ऐसी स्थिति मे संक्रमित न हो इसकी व्यवस्था जरूरी है. कोरोना संक्रमण इतनी तेजी सेअपना पैर पसार रहा है जिसे रोकने हेतु प्रशासन हर तरह के कवायद शुरू कर दी है तथा जनता से सहयोग की अपील भी लगातार की जा रही है कि जरूरत हो तो ही अपने घरो से मास्क पहनकर, सैनिटाईजर के साथ ही निकले. ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा जरूर अपनायें।


19-Apr-2021 5:30 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 19 अप्रैल।
सुरखी स्थित 70 बिस्तर के कोविड हॉस्पिटल को टेंहका स्थित छात्रावास मे स्थानांतरित किया गया है। टेंहका मे तीन पोस्ट मैट्रिक छात्रावास है जहां 70-70 की संख्या मे कुल 200 बेड बढाते हुये मरीजों की संख्या के अनुसार व्यवस्था की गई है लगातार संक्रमण से अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ रही है इसलिए सुरखी कोविड अस्पताल को ज्यादा बेड संख्या के साथ टेंहका स्थानांतरित कर दिया गया है वहां पर आक्सीजन सहित दवाईयों की व्यवस्था बढाई गई है जिसमे स्थानीय दान दाताओं से भी सहयोग लिया गया है. पोहा मिल एसोसिएशन द्वारा तीन ऑक्सीजन सिलेण्डर दान किया गया है वहीं समाजसेवी सुभाष भटटर द्वारा भी 10 सिलेण्डर की व्यवस्था की गई है ऐसे हीं विभिन्न दानदाताओं द्वारा व्यवस्था की गई है. एसडीएम इंदिरा देवहारी ने आम नागरिकों से अपील की है कि घर पर रहे सुरक्षित रहे और मास्क नहीं लगाने वाले, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों को जागृत करे. कोरोना मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के कारण टेंहका पर स्थित कोविड केयर सेंटर को 200 बेड के साथ शुरू किया गया है जहां कोरोना पॉजिटिव आने वालें मरीजों की देखभाल एवं इलाज सेंटर पर किया जायेगा साथ हीं सफाई व्यवस्था, मरीजों के खाने की व्यवस्थाओं पर विशेष जोर दिया जा रहा है।
 


19-Apr-2021 4:57 PM 21

9 दवाखाना सील, प्रशासन ने लगाया 1 लाख 17 हजार जुर्माना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार/कसडोल,19 अप्रैल।
पलारी तहसीलदार हरिशंकर पैकरा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त टीम द्वारा विकासखण्ड में स्थित विभिन्न अपंजीकृत एवं झोला छाप डॉक्टरों के दवाखानों में औचक निरीक्षण किया गया। जिस दौरान बड़े संख्या में ग्रामीणों का बिना कोरोना जांच के सर्दी खांसी का इलाज करतें हुए ऐसे डॉक्टर पकड़े गये। जिसके चलते इन झोलाछाप एवं अपंजीकृत डॉक्टरों के खिलाफ  बड़ी कार्रवाई करतें हुए  प्रशासन की टीम द्वारा 1 लाख 17 हजार रुपये राशि का जुर्माना लगाया गया हैं। साथ ही  इनके अवैध 9 दवाखानों को सील किया गया हैं। 

उक्त जुर्माना प्रशासन ने जीवन दीप समिति के माध्यम से लगाया हैं। कार्रवाई करतें हुए तहसीलदार श्री पैकरा ने बताया कि  ऐसे 9 डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। जिसमें पलारी के आरआर जाल से 7 हजार, ग्राम रोहांसी से आर के वर्मा से 20 हजार, आसिम दास बंगाली से 10 हजार, ओएन मनहरे से 10 हजार, ग्राम ओड़ान एचसी साहू से 20 हजार रुपये, ग्राम संडी से महेन्द वर्मा 20 हजार,गुरुचरण साहू से 10 हजार रुपये, विशंभर साहू एवं चतुर्वेदी से 10 हजार 10 हजार रूपये का जुर्माना वसूल किया गया है। 

श्री पैकरा ने बताया कि उक्त झोलाछाप डॉक्टर बड़ी संख्या मे ग्रामीणों को कोरोना के लक्षण होने पर भी सर्दी खांसी समझकर इलाज कर रहें थे। जिसके चलते ग्रामीण इनके बातों में आकर कोरोना के जांच नही करा रहे थे। इससे लगातार ब्लॉक में संक्रमण बढ़ रहा था। साथ ही ग्रामीणों की तबियत में सुधार के बजाय इनके स्वास्थ्य और बिगड़ रहें थे। जिसके चलते कुछ लोगों को अपनी जान भी गवानी पड़ी। उक्त दवाखानों को सील करतें हुए भविष्य में ऐसी गलती ना करनें की समझाइश दी गयी है। उक्त कार्रवाई अपर कलेक्टर राजेंद्र गुप्ता के निर्देश एवं बलौदाबाजार एसडीएम महेश राजपूत के मार्गदर्शन पर की गयी है। 

एडीएम राजेन्द्र गुप्ता ने की अपील- अपर कलेक्टर ने सभी ग्रामीणों से झोलाछाप डॉक्टरों से बचने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह लक्षण होने पर एवं संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर अनिवार्य रूप से कोविड का नि:शुल्क टेस्ट कराये। आपकी सतर्कता ही बचाव हैं। उन्होंने साथ ही आने वाले दिनों में ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी हैं।
 


18-Apr-2021 7:10 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 18 अप्रैल।
कोरोना महामारी के दूसरे फेज के साथ हीं पलायन कर गये बाहर राज्यों के मजदूर अब वापस आने लगे है केन्द्र सरकार ने आज फिर घोषणा की है कि श्रमिकों को लाने विशेष श्रमिक ट्रेन चलाई जाएगी।

 रेल्वे स्टेशन पर लगभग 40 मजदूर विभिन्न टेऊनों से भाटापारा स्टेशन पर उतरे है रेल्वे स्टेशन पर अन्य प्रांतों से आने वाले मजदूरों की जांच की जा रहीं है। जिन मजदूरों को संक्रमित पाया जा रहा है उनकी स्थिति के अनुसार उन्हे कोविड हास्पिटल या होम आईसोलेशन तथा क्वारेंटाईन सेंटर जैसे स्थानों पर भेजा जा रहा है पहले फेज के बाद जो मजदूर पुन: वापस लौट गये थे अब वे पुन: लौटने लगे है. सभी श्रमिक बलौदाबाजार-भाटापारा जिला के विभिन्न विकासखंण्डो के निवासी हैं। 

आये सभी श्रमिक के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु एक टीम स्टेशन पर अपनी सेवायें दे रहे है जिसमे एक जानकारी के अनुसार शिक्षकों की भी डयूटी लगाई गई है. जांच टीम 100 डिग्री फारेनहाइट अथवा लक्षण जैसे खाँसी, बुखार, सांस में तकलीफ होने उन्हें 10 मिनट अलग से बैठाने के उपरांत लक्षण वालो का विशेष रूप से जांच की जा रहीं है।
 


18-Apr-2021 7:07 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 18 अप्रैल।
60 हजार की आबादी वाले शहर में जल संकट को दूर करने एक विशेष कार्ययोजना की जरूरत है क्योंकि हर वर्ष गर्मी में कई वार्डों में वृहद रूप से जल संकट होता है। नलकूप में वॉटर लेवल नीचे चला जाता है और आधे से ज्यादा नलकूप बंद हो जाता है।

पूरा भार पालिका के द्वारा आपूर्ति किए गए पाईप लाईन पर रहता है चूंकि टंकी के माध्यम से पानी की आपूर्ति सभी वार्डों में पूर्ण रूप से संभव नहीं है क्योंकि टोहड़ी घाट से पानी को फिल्टर प्लांट तक लाया जाता है लेकिन फिल्टर प्लांट में पानी को शुद्ध करने कोई तकनीकी संसाधन नहीं है सिर्फ  क्लोरिन की कुछ मात्रा पानी में जरूर मिलाई जाती है और नाली के माध्यम से पानी को शुद्ध करने का एक सामान्य प्रयास किया जाता है। वहां से जल घरों तक पहुंचता है जल आवर्धन योजना के तहत शहर के कई हिस्सों में नई पाईप लाईन जरूर बिछाई गई है लेकिन कई वार्डों में यह पाईप लाईन अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। 

गर्मी के दिनों में जल स्तर नीचे चला जाता है और जो सामान्य साधन है वह भी हांफने लगता है ऐसे मे नगर पालिका परिषद को कोई ऐसी कार्ययोजना बनानी चाहिये जिससे गर्मी के दिनों मे जल संकट न हो और वर्तमान परिषद के इस कार्य को लोग वर्षों तक याद रखें।
 


18-Apr-2021 6:30 PM 14

जिले के 6 जनपदों में 844 क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 18 अपै्रल।
बलौदाबाजार जिले में महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों से प्रवासी मजदूरों के वापस आने का सिलसिला एक बार फिर से शुरू हो गया है। जिला प्रशासन घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए पुन: एक बार फिर क्वारेंटाइन सेंटर तैयार कर रहा है। जिले के 6 जनपदों में 844 क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए हैं। इसमें जनपद पंचायत बलौदाबाजार में 106, भाटापारा में 108, बिलाईगढ़ 220, कसडोल 180, पलारी 125 एवं सिमगा में 105 सेंटर बनाए गए हैं। इसमें से 19 मजदूर संक्रमित पाए गए हैं।

इसके लिए गांवों में स्थित शासकीय स्कूलों का भवन, सामाजिक भवनों का चयन कर सरपंच सचिवों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। इन सेंटरों में अन्य राज्यों से आए प्रवासी मजदूरों को 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन किया जाएगा। अभी तक जिले में कुल 272 मजदूर अन्य राज्यों से आए हैं जिनका विधिवत पंजीयन किया गया है। इसमें जनपद पंचायत बलौदाबाजार में 35, भाटापारा में 46, बिलाईगढ़ 29, कसडोल 46, पलारी 28 एवं सिमगा में 88 मजदूर शामिल हैं। संक्रमित मजदूरों को लक्षण के आधार पर कुछ को कोविड केयर सेंटर एवं कुछ को क्वारेंटाइन सेंटर भेजा गया है। इसमें से अधिकांश मजदूर उत्तरप्रदेश, दिल्ली एवं जम्मू कश्मीर सहित अन्य राज्यों से आए है। जिले में प्रवासी मजदूरों के लिए जिले के बॉर्डर एवं रेलवे स्टेशन भाटापारा में कोविड टेस्ट सेंटर बनाया गया है।
 


18-Apr-2021 5:57 PM 23

प्रभारी जिला पंचायत सीईओ ने क्वॉराइंटीन सेंटरों का लिया जायजा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 18 अपै्रल।
जिलें में बढ़ते हुए संक्रमण को देखतें हुए राज्य शासन के निर्देश पर जिला स्तर में कोरोना ने निपटने हेतु युद्ध स्तर में तैयारी की जा रही है। एक और जहां स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। वहीं दूसरी और अन्य राज्यों से घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के लिए पुन: एक बार फिर क्वॉराइंटीन सेंटर तैयार किए जा रहें है। इस सिलसिले में आज प्रभारी जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान ने विभिन्न क्वॉराइंटीन सेंटरों का जायजा लिया। सीईओ हरिशंकर चौहान ने बताया की जिले के 6 जनपदों में 844 क्वॉराइंटीन सेंटर बनाए गए है। जिसमें जनपद पंचायत बालौदाबाजार में 106, भाटापारा में 108, बिलाईगढ़ 220, कसडोल 180, पलारी 125 एवं सिमगा में 105 क्वॉराइंटीन सेंटर बनाए गए है। जिसकी प्रारंभिक तैयारी पूरी कर ली गई है। इसके लिए गांवों में स्थित शासकीय स्कूलों का भवन, समाजिक भवनों का चयन कर सरपंच सचिवों को निर्देश जारी कर दिया गया है। इन सेंटरो में अन्य राज्यों से आए हुए प्रवासी मजदूरों को 14 दिनों के लिए क्वॉराइटिन करनें की तैयारी कर ली गई है। ताकि संक्रमण की स्थिती में गावों में संक्रमण ना फैल सकें। 

श्री चौहान ने आगें बताया कि अभी तक जिले में कुल 272 लोग अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों के रूप में आए है। जिनका विधवत पंजीयन किया गया हैं। जिसमें जनपद पंचायत बालौदाबाजार में 35,भाटापारा में 46, बिलाईगढ़ 29, कसडोल 46, पलारी 28 एवं सिमगा में 88 मजदूर शामिल हैं। जिसमें से 19 मजदूर संक्रमित पाये गये है। संक्रमित मजदूरों को  लक्षण के आधार पर कुछ को कोविड केयर सेंटर एवं कुछ को क्वॉराइंटीन सेंटर भेजा गया हैं। इसमें से अधिकांश मजदूर उत्तरप्रदेश, दिल्ली,एवं जम्मू कश्मीर सहित अन्य राज्यों से आये है। जिले में वापस लौटकर आये प्रवासी मजदूरों के लिए जिले के बॉर्डर एवं रेल्वे स्टैंड भाटापारा में कोविड का टेस्ट सेंटर बनाया गया है। जहां पर आने वाले सभी यात्रियों का नियमित एवं अनिवार्य रूप से टेस्टिंग की जा रहीं है।
 


Previous123456789...3536Next