छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous1234Next
Date : 25-Feb-2020

जिपं की नई टीम को टिप्स देते रमन ने कहा ईमानदारी से काम करें तो सफलता तय

नांदगांव जिपं के नवनिर्वाचित सदस्यों ने समारोह में एक सुर में क्षेत्र के विकास पर दिया जोर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 25 फरवरी। राजनांदगांव जिला पंचायत में नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि दिए वक्तव्य में कहा कि ईमानदारी और निष्ठा के साथ काम करें तो सफलता मिलना तय है। जिला पंचायत का सदन राजनीतिक प्रतिद्वंदता से परे होकर कार्य करने का स्थान है, क्योंकि चुनाव गैरदलीय आधार पर होते हैं, इसलिए बिना किसी वाद-विवाद के पंचायती क्षेत्रों का विकास पर सभी का ध्यान केन्द्रित होना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने टिप्स में कहा कि जिला पंचायत के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों का समग्र विकास किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा की जीत कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत का परिणाम है। इसमें सभी का योगदान शामिल है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने नई टीम को बधाई देते शुभकामनाएं दी। शपथ लेते हुए सभी सदस्यों ने पंचायतीराज अधिनियम का पालन करने का संकल्प लिया। इससे पहले नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष गीता साहू ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। इसके बाद उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह ने शपथ ग्रहण किया। बाद में 22 सदस्यों को तीन समूह में शपथ दिलाई गई। अध्यक्ष गीता साहू ने कहा कि वह क्षेत्र की जनता के प्रति कृतज्ञ रहेंगी और विकास करते हुए लोगों की सेवा करेंगी। अगले 5 साल तक वह सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन करने की दिशा में काम करेंगी।

 उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह ने कहा कि वह  पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के प्रति आभारी हैं, जिन्होंने भरोसा किया। वह विश्वास पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे। कार्यक्रम में पूर्व सांसद अभिषेक सिंह, वरिष्ठ नेता खूबचंद पारख,  लीलाराम भोजवानी, नीलू शर्मा, संतोष अग्रवाल, शोभा सोनी, रजिंदरपाल सिंह भाटिया, सुरेन्द्र दास वैष्णव, पवन मेश्राम, सौरभ कोठारी समेत अन्य नेता उपस्थित थे।

किसानों के लिए सडक़ में लड़ेंगे लड़ाई - कौशिक

छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि किसानों की हितों के लिए भाजपा विधानसभा से लेकर सडक़ तक लड़ाई लडेगी। यह दुर्भाग्य है कि प्रदेश में किसानों की उपज की पूर्ण रूप से खरीदी नहीं हुई है। उनका कहना है कि किसानों के साथ अन्याय नहीं होगा। इसके लिए भाजपा किसानों के साथ खड़ी है। श्री कौशिक जिपं शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेशभर में पूरी फसल नहीं खरीदने  की स्थिति में सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ा जाएगा।


Date : 25-Feb-2020

जीतने से मिलती है आगे बढऩे की प्रेरणा और हार से अधिक परिश्रम करने की भावना- अकबर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 25 फरवरी। वन मंत्री और जिले के प्रभारी मोहम्मद अकबर ने 78 साल से लगातार सफलता पूर्वक महंत राजा सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी प्रतियोगिता आयोजित करने के लिए राजनांदगांव की जनता को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोटर्फ  स्टेडियम को और अधिक सुविधा सम्पन्न बनाने हर संभव सहयोग का वायदा भी किया है। श्री अकबर सोमवार शाम एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम में आयोजित 78वीं महंत राजा सर्वेश्वर दास अखिल भारतीय हॉकी प्रतियोगिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। श्री अकबर सहित सभी अतिथियों ने फाइनल मैच के दोनों टीमों मध्यप्रदेश हॉकी अकेडमी भोपाल और नार्दन रेलवे नई दिल्ली के सदस्यों से परिचय प्राप्त किया।

प्रभारी मंत्री श्री अकबर ने कहा कि राजनीति में व्यस्तता के चलते मैच देखने को नहीं मिलता, लेकिन यहां हॉकी प्रतियोगिता के आयोजकों और राजनांदगांव की जनता के आमंत्रण से मैच देखने का मौका मिला है। श्री अकबर ने कहा कि लगातार 1947 से यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। राजनांदगांव को हॉकी के नाम से भी जाना जाता है। श्री अकबर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने खेलों और खिलाडिय़ों को बढ़ावा देने के उद्देश्य खेल विकास प्राधिकरण का गठन किया है। प्राधिकरण के जरिए खेलों को विकसित करने और खिलाडिय़ों को आगे बढ़ाने सारगर्भित प्रयास किए जाएंगे। श्री अकबर ने प्रतियोगिता में शामिल सभी टीमों के खिलाडिय़ों को शुभकामनाएं दी और कहा कि खेल में जीत और हार दोनों के फायदे हैं। जीतने से जहां आगे बढऩे की प्रेरणा मिलती है। वहीं हार से और अधिक परिश्रम कर विजय लक्ष्य को पाने की भावना बढ़ती है।

महापौर हेमा देशमुख ने कहा कि हॉकी की नर्सरी राजनांदगांव से अनेक खेल प्रतिभाओं ने देश और विदेश में राजनांदगांव का नाम रोशन किया है। राजनांदगांव की शिक्षा, साहित्य और खेल के क्षेत्र में एक अलग पहचान है। दानदाताओं और आम नागरिकों के सहयोग से महंत राजा सर्वेश्वरदास अखिल भारतीय हॉकी प्रतियोगिता का सफलता पूर्वक निरंतर आयोजन संभव हो रहा है।

इस अवसर पर डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू, डोंगरगढ़ विधायक भुनेश्वर बघेल, मोहला-मानपुर विधायक इंद्रशाह मंडावी, भिलाई महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव, छत्तीसगढ़ हॉकी संघ के अध्यक्ष फिरोज अंसारी, छत्तीसगढ़ राज्य अल्प संख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान, राजगामी संपदा के अध्यक्ष विवेक वासनिक, पूर्व अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी मृणाल चौबे, पूर्व मंत्री धनेश पाटिला, नगर निगम अध्यक्ष हरिनारायण धकेता, वरिष्ठ जनप्रतिनिधि नवाज खान सहित अन्य जनप्रतिनिधि, राजनांदगांव नगर निगम के पार्षद, कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक बीएस धु्रव, प्रतियोगिता के नोडल अधिकारी एवं अपर कलेक्टर ओंकार यदु सहित अन्य खेल प्रेमी जनता बड़ी संख्या उपस्थित थे।


Date : 25-Feb-2020

सिंचाई के लिए बने केनाल में बेजाकब्जा, जर्जर, पानी नहीं मिलने से किसानों में रोष

छत्तीसगढ़ संवाददाता

अंबागढ़ चौकी, 25 फरवरी। चार दशक पहले अंबागढ़ चौकी नगर एवं आसपास के ग्रामों के किसानों को सिंचाई सुविधाएं दिलाने अस्तित्व में आई गोंदानाला जलाशय केनाल धीरे-धीरे गायब हो रही है। तीन किमी लंबी केनाल को अतिक्रमणकारियों ने कई स्थानों में गायब कर दिया है। वर्षों से केनाल की मरम्मत व रख-रखाव नहीं होने से केनाल जीर्ण-शीर्ण हो गई है। जिन उद्देश्यों को लेकर जलाशय एवं केनाल का निर्माण किया गया है, उसका लाभ किसानों को ही नहीं मिल पा रहा है। इससे क्षेत्र के किसानों में रोष है।

वर्ष 1970- 80 के मध्य बनी गोंदानाला जलाशय एवं केनाल का लाभ स्थानीय किसानों को नहीं मिल पा रहा है। जल संसाधन विभाग की माने तो चौकी नगर सहित मेरेगांव, सिरमुंदा, केसला गांव के तीन सौ से अधिक किसानों को सिंचाई सुविधाए प्राप्त होती है। स्थानीय किसानों की माने तो उन्हें केनाल से पिछले कई वर्षों से पानी ही नहीं मिला है। नगर के किसान रामनारायण नेताम, सुरेश देशमुख, सहारूराम तारम, नबी मिर्जा, शत्रुहन लाल खरे, रमेश पटेल, बल्लू निषाद, आसिफ खान, अजय रामटेके, हीरालाल देवागंन, लतखारे पटेल, भोलादास साहू, राजेन्द्र निषाद, लखन देवागंन, शरीफ कुरैशी ने बताया कि केनाल के रख-रखाव एवं वर्षों से मरम्मत नहीं होने से केनाल जगह-जगह से टूटफूट व जीर्ण-शीर्ण हो गई है।

 सडक़ निर्माण की मांग

गोंदानाला जलाशय एवं केनाल की मरम्मत व केनाल लाईनिंग की मांग वर्षों से की जा रही है। भाजपा सरकार के समय पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष अनिल मानिकपुरी ने जलाशय एवं केनाल की मरम्मत की मांग को प्रमुखता से उठाया था। साथ ही इस दिशा में पूर्ववर्ती छग शासन के मंत्रियों व आलाधिकारियों को ज्ञापन सौंपा था, लेकिन अब तक यह मांग पूरी नहीं हुई है। कांग्रेस सरकार आते ही यह मांग अब फिर से उठने लगी है। स्थानीय कृषक सिंचाई सुविधा के लिए लाईनिंग तथा आवागमन के लिए मेड़ में सडक़ निर्माण की मांग कर रहे हैं। जिससे वे अपनी फसलों को आसानी से अपने घरों तक पहुंचा सके।

किसानों ने विधायक को बताई समस्या

गुरुवार को नगर के कृषकों ने स्थानीय विधायक छन्नी चंदू साहू से भेंटकर गोंदानाला जलाशय एवं केनाल से जुड़ी समस्याओं को अवगत कराया। किसानों ने विधायक को बताया कि केनाल की मरम्मत नहीं किए जाने से उन्हें सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। किसानों ने नहर लाईनिंग के साथ-साथ मेड में सडक़ निर्माण की मांग रखी। विधायक श्रीमती साहू ने कृषकों को भरोसा दिलाया कि वे उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए हर संभव प्रयास करेगी तथा बजट में जलाशय एवं नहर के मरम्मत के लिए राशि मुहैया कराने में अपना योगदान देगी।

केनाल की दिशा ही बदल दी

गोंदानाला जलाशय केनाल तीन किमी लंबी है। यह मालडोंगरी से प्रारंभ होकर चौकी नगर में तहसील कार्यालय के आगे तक जाती है। केनाल नगर के मध्य से गुजरती है।

नगर के कई स्थानों में आवास निर्माण करने वाले नागरिकों ने बिल्डिंग मटेरियल को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए केनाल को कई स्थानों में तोड़ फोडक़र क्षतिग्रस्त कर दिया है। जबकि कई स्थानों में केनाल की जमीन को अतिक्रमणकारियों ने कब्जा कर रखा है। जिससे केनाल की दिशा ही बदल गई है।  जलसंसाधन विभाग के एसडीओ आरएस राठौर ने कहा कि केनाल की मरम्मत के लिए शासन को स्टीमेट भेजा गया है। शहरी सीमा के कारण मनरेगा से भी काम नहीं हो पा रहा है। शासन को प्रस्ताव भेजा गया है।


Date : 25-Feb-2020

रेत खदान संचालकों को नोटिस, ज्यादा वसूली को लेकर संघ ने की शिकायत

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 25 फरवरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने सोमवार को कलेक्टर जन चौपाल (जनदर्शन) में आम लोगों से आवेदन लेकर उनकी समस्याएं सुनी और निराकरण योग्य आवेदनों को संबंधित विभागों के पास भेजकर समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर लता उर्वशा भी उपस्थित थीं।

कलेक्टर श्री मौर्य को जन चौपाल में लिटिया के किसानों ने बदली और बारिश से नुकसान हुए चने की फसल को दिखाते क्षतिपूर्ति के लिए सर्वे कराने की मांग की। कलेक्टर ने मौके पर ही तहसीलदार राजनांदगांव को बुलाकर लिटिया में फसल क्षति का व्यापक सर्वे करने और नियमानुसार मुआवजा दिलाने के निर्देश दिए। जन चौपाल में राजनांदगांव ट्रक मटेरियल परिवहन संघ के पदाधिकारियों और सदस्यों ने जिले की रेत खदानों में शासन के रेट निर्धारण से ज्यादा रेट वसूली करने की शिकायत की। संघ के सदस्यों ने आवेदन देकर बताया कि निर्धारित रेट के विपरीत मनमानी ढंग से 4 हजार रुपए से 6 हजार रुपए तक रेत लोडिंग का वर्तमान में लिया जा रहा है। इसके कारण जनता को बहुत अधिक रेट पर रेत उपलब्ध हो रही है। कलेक्टर श्री मौर्य ने संघ की शिकायत को गंभीरता से लेते रेत खदान संचालकों को तत्काल नोटिस जारी करने के निर्देश खनिज विभाग के अधिकारियों को दिए। कलेक्टर श्री मौर्य ने जिले के विभिन्न स्थानों से आए लोगों के आवेदनों का निराकरण भी किया।


Date : 25-Feb-2020

नांदगांव में इस साल समर्थन मूल्य पर 41 हजार 300 मीट्रिकटन अधिक धान की हुई खरीदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 25 फरवरी। जिले में इस साल किसानों से समर्थन मूल्य पर लगभग 41 हजार 300 मीट्रिक टन धान अधिक खरीदा गया। पिछले साल 6 लाख 34 हजार 107 मीट्रिक टन धान की खरीदी हुई थी। जबकि इस साल 6 लाख 75 हजार 300 मीट्रिक टन धान समर्थन मूल्य में खरीदा गया है।

जिला विपणन अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस खरीफ मौसम में एक लाख 65 हजार 266 किसानों ने जिले के 117 धान उपार्जन केन्द्रों में धान बेचा। इन किसानों से कुल 1 हजार 232 करोड़ के धान की खरीदी हुई। जिले में इस साल 75 हजार 742 मीट्रिक टन मोटा धान, 85 हजार 138 मीट्रिक टन महामाया, 3 लाख 57 हजार 789 मीट्रिक टन पतला, 272 मीट्रिक टन एचएमटी, 21 मीट्रिक टन आईआर 36 तथा एक लाख 56 हजार 335 मीट्रिक टन सरना धान खरीदा गया।

जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि जिले में 117 धान उपार्जन केन्द्र हैं। इन सभी उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी की समुचित व्यवस्था की गई। एक दिसम्बर से 20 फरवरी तक धान की खरीदी की गई।

इस साल धान बेचने के लिए एक लाख 76 हजार 399 किसानों ने पंजीयन कराया था। एक लाख 82 हजार 513 हेक्टेयर रकबे का धान उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर खरीदा गया। सभी धान उपार्जन केन्द्रों में किसानों की सुविधा के लिए धान खरीदी की पूरी व्यवस्था की गई थी।

दूसरे राज्यों से अवैध धान को रोकने के लिए जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों में 6 चेक पोस्ट बनाए गए थे। इन चेक पोस्ट में 24 घंटे विभिन्न अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई थी। जिले में धान का अवैध भंडारण करने वाले कोचियों के खिलाफ भी लगातार छापेमारी कर धान की जब्ती की गई। कोचियों से 275 प्रकरणों में 48 हजार 617 क्विंटल धान जब्त किया गया।  अवैध धान परिवहन करते 20 वाहन भी जब्त किए गए। कोचियों के खिलाफ मंडी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। एक प्रकरण में एफआईआर भी दर्ज कराया गया।

धान खरीदी शुरू होने के बाद से राज्य स्तर और जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा धान खरीदी केन्द्रों का नियमित निरीक्षण किया गया। मुख्य सचिव आरपी मंडल, खाद्य सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, एमडी मार्कफेड शमी आबिदी, जिले की प्रभारी सचिव रीना बाबा साहेब कंगाले, तत्कालीन कमिश्रर ड्डिलेक्टर  जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक बीएस धु्रव सहित सभी अधिकारियों ने धान उपार्जन केन्द्रों का लगातार निरीक्षण किया गया।


Date : 24-Feb-2020

आयुक्त ने ली बैठक, सहायक राजस्व निरीक्षक निलंबित

राजनांदगांव, 24 फरवरी। नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने रविवार को राजस्व कार्यालय में राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में वसूली के संंबंध में वार्डवार जानकारी लेते वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही कम डिमांड देने पर स्पष्टीकरण जारी करने एवं कम वसूली पर निलंबन की कार्रवाई करने राजस्व अधिकारी को निर्देशित किए।

श्री कौशिक ने कहा कि प्रतिदिन की गई वसूली को संग्रहण पंजी में तिथिवार पृथक-पृथक इंद्राज करने के साथ- साथ भागीरथी नल-जल योजना के हितग्राहियों के नाम भी डिमांड पंजी में संधारण करने तथा जल कर वसूली करने सहायक राजस्व निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कर का भुगतान नहीं करने की स्थिति में संबंधित का नल विच्छेद करने की कार्रवाई करने निर्देशित किए। इसके अलावा अपने मूल कार्य वसूली नहीं करने पर सहायक राजस्व निरीक्षक यतेन्द्र सिंह ठाकुर को निलंबित करने एवं कम डिमांड नोटिस देने पर सहायक राजस्व निरीक्षक मनोज शर्मा को स्पष्टीकरण जारी कर कार्रवाई करने के निर्देश राजस्व अधिकारी को दिए। आयुक्त श्री कौशिक ने बैठक के दौरान समस्त राजस्व उप निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारी को अपने प्रभारित वार्ड की वित्तीय वर्ष 2019-20 की कुल मांग एवं वसूली (चालू एवं बकाया सहित पृथक-पृथक) सहित प्रवृष्टि कर वार्डवार पंजी, जिसमें उस वार्ड के संपत्तिकर दाताओं, गैर संपत्तिकर दाताओं एवं जलकर दाताओं के संख्या पृथक-पृथक प्रविष्टि की जानकारी ली। आयुक्त श्री कौशिक ने निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत निवासरत भवन एवं भूमि स्वामियों तथा निगम स्वामित्व के दुकानों के किराएदारों से अपने स्वामित्व की भवन व भूमियों के संपत्ति कर, समेकित कर एवं जल कर की संपूर्ण बकाया राशि तथा निगम स्वामित्व की दुकानों का सम्पूर्ण बकाया किराया का भुगतान निगम कार्यालय में अनिवार्यत: जमा कर रसीद प्राप्त करने की अपील की है।

 

 


Date : 24-Feb-2020

एसबीआई के पास ग्राहक सेवा केंद्र का मूल रिकॉर्ड नहीं, ताबड़तोड़ खुले कियोस्क सेंटर की मॉनिटरिंग नहीं होने से रहे घोटाले
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
बखत रेंगाकठेरा गांव में एसबीआई की अधिकृत ग्राहक सेवा केंद्र में हुए करोड़ों रुपए के हेराफेरी की एक घटना ने एसबीआई की कुवित्तीय प्रबंधन की पोल खुल गई है। इस मामले में एसबीआई की जहां साख जाहिर तौर पर धूमिल हुई है। वहीं कियोस्क सेंटरों की तय समय पर मॉनिटरिंग नहीं किया जाना भी घोटाले की एक असली वजह बनी है। दिलचस्प बात यह है कि राजनांदगांव स्थित एसबीआई के मुख्य ब्रांच के पास जिले में चल रहे ग्राहक सेवा केंद्रों का कोई रिकार्ड नहीं है।

 बताया जाता है कि एसबीआई ने देशभर में एनआईसीटी (नेटवर्क फॉर इन्फॉरमेशन एंड कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी) नामक संस्था को कियोस्क सेंटर खोलने के लिए अधिकृत किया है। बताया जा रहा है कि एसबीआई के दूर-दराज के खातेदारों को लेनदेन के लिए बैंक के बजाय सेंटरों में सुविधाएं दी गई है। लंबे समय से बखत रेंगाकठेरा स्थित कियोस्क सेंटर के संचालक ईश्वर डोंगरे द्वारा ग्राहकों से रुपए जमा करने के नाम पर रकम लिए गए। जबकि ग्रामीणों को उसके एवज में रसीद भी नहीं दी गई। लंबे समय से ग्रामीणों को  लेनदेन की रसीद नहीं दी जा रही थी। बताया गया है कि कुछ ग्रामीणों ने रसीद की मांग की तो उनके पासबुक में फर्जी एंट्री कर दी गई। बताया जाता है कि खाताधारकों द्वारा जमा किए गए करीब एक करोड़ की रकम को संचालक ने हजम कर दिया। इस गड़बड़ी की शिकायत आने के बाद हडक़ंप मच गई। बताया जा रहा है कि करीब 100 से अधिक खाताधारकों ने पुलिस के समक्ष बयान दिया है। उधर ग्रामीणों ने बैंक प्रबंधन से अपनी राशि वापस देने की मांग रखी है। इस बीच भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य ब्रांच के पास जिले में चल रहे कियोस्क सेंटरों को लेकर पुख्ता जानकारी नहीं है। 
‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा करते एसबीआई के मुख्य प्रबंधक राजीव सिंह ने कहा कि एनआईसीटी द्वारा इसकी मॉनिटरिंग की जाती है। उन्होंने कहा कि इस घटना से बैंक की छवि धूमिल हुई है। 
लालबाग थाना प्रभारी आशीर्वाद रहटगांवकर ने बताया कि बैंक प्रबंधन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। बताया जा रहा है कि बखत रेंगाकठेरा का सेंटर 2012 से संचालित है। इस मामले के खुलासे से यह भी साफ हो गया कि एसबीआई के नाम से खुले ग्राहक सेंटरों में प्रबंधन ने कोई खबर नहीं ली। बैंक मैनेजर सिंह ने जिले में कियोस्क सेंटरों के संचालन और उनकी तादाद को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की है। लालबाग पुलिस ने इस बड़े घोटाले की जांच करते हुए ग्रामीणों से बयान भी दर्ज किया है। गांव में एक विशेष कैम्प लगाकर खाताधारकों से जानकारी जुटाई जा रही है। पूरा मामला निजी हितों से जुड़ा हुआ है। बताया जा रहा है कि अन्य सेंटरों की भी स्थिति को लेकर लोगों में शंका है। यह मामला एसबीआई की खराब वित्तीय प्रबंधन को भी उजागर कर रहा है।

 


Date : 24-Feb-2020

आयुक्त ने ली बैठक, सहायक राजस्व निरीक्षक निलंबित

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने रविवार को राजस्व कार्यालय में राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में वसूली के संंबंध में वार्डवार जानकारी लेते वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिए। साथ ही कम डिमांड देने पर स्पष्टीकरण जारी करने एवं कम वसूली पर निलंबन की कार्रवाई करने राजस्व अधिकारी को निर्देशित किए।

श्री कौशिक ने कहा कि प्रतिदिन की गई वसूली को संग्रहण पंजी में तिथिवार पृथक-पृथक इंद्राज करने के साथ- साथ भागीरथी नल-जल योजना के हितग्राहियों के नाम भी डिमांड पंजी में संधारण करने तथा जल कर वसूली करने सहायक राजस्व निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कर का भुगतान नहीं करने की स्थिति में संबंधित का नल विच्छेद करने की कार्रवाई करने निर्देशित किए। इसके अलावा अपने मूल कार्य वसूली नहीं करने पर सहायक राजस्व निरीक्षक यतेन्द्र सिंह ठाकुर को निलंबित करने एवं कम डिमांड नोटिस देने पर सहायक राजस्व निरीक्षक मनोज शर्मा को स्पष्टीकरण जारी कर कार्रवाई करने के निर्देश राजस्व अधिकारी को दिए।

आयुक्त श्री कौशिक ने बैठक के दौरान समस्त राजस्व उप निरीक्षक एवं वार्ड प्रभारी को अपने प्रभारित वार्ड की वित्तीय वर्ष 2019-20 की कुल मांग एवं वसूली (चालू एवं बकाया सहित पृथक-पृथक) सहित प्रवृष्टि कर वार्डवार पंजी, जिसमें उस वार्ड के संपत्तिकर दाताओं, गैर संपत्तिकर दाताओं एवं जलकर दाताओं के संख्या पृथक-पृथक प्रविष्टि की जानकारी ली।
आयुक्त श्री कौशिक ने निगम सीमा क्षेत्रांतर्गत निवासरत भवन एवं भूमि स्वामियों तथा निगम स्वामित्व के दुकानों के किराएदारों से अपने स्वामित्व की भवन व भूमियों के संपत्ति कर, समेकित कर एवं जल कर की संपूर्ण बकाया राशि तथा निगम स्वामित्व की दुकानों का सम्पूर्ण बकाया किराया का भुगतान निगम कार्यालय में अनिवार्यत: जमा कर रसीद प्राप्त करने की अपील की है। 

 

 


Date : 24-Feb-2020

शिक्षा के साथ खेल पर दें ध्यान- संतोष

राजनांदगांव, 24 फरवरी। सरस्वती शिशु मंदिर हाई स्कूल पटेवा तथा स्व. रश्मिदेवी उ.मा. शाला सलोनी का वार्षिकोत्सव गत् दिनों आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद संतोष पांडेय शामिल हुए। इस अवसर पर सांसद श्री पांडेय ने राष्ट्र निर्माण और मजबूती के लिए संस्कारवान, शिक्षित और स्वास्थ्य पर बल देते विद्यार्थियों से शिक्षा के साथ खेल पर भी ध्यान केन्द्रित करने की बातें कही। कार्यक्रमों में  पूर्व विधायक कोमल जंघेल, सरोजनी बंजारे, बिसेसर साहू, तिलक साहू, डोमार साहू, मिथलेश साहू, विरेन्द्र साहू, जेआर साहू, प्रमोद दुबे, युवराज जैन, बहुरसिंह साहू, परदेशी साहू, नोमेश वर्मा, अक्षय पटेल, रोहित निर्मलकर, तुलसीबाई साहू एवं पालकगण उपस्थित थे।


Date : 24-Feb-2020

राजपूत क्षत्रिय समाज का आम जलसा 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
राजपूूत क्षत्रिय महासभा रहटादाह छत्तीसगढ़ के अंतर्गत उपसमिति राजनांदगांव का सलाना आम जलसा गत् दिनों ग्राम डिलापाहरी में संपन्न हुआ।
डिलापाहरी के ठा. दिलीप सिंह ने बताया कि उपसमिति के सहयोग से ग्राम डिलापाहरी के राजपूतों के संयोजन में आयोजित सलाना आमजलसा का शुभारंभ राजपूत क्षत्रिय महासभा रहदादाह उपसमिति राजनांदगांव के अध्यक्ष ठा. भागवत सिंह बघेल, पूर्व अध्यक्ष ठा. महावीर सिंह गहरवार, उपाध्यक्ष भागवत सिंह ठाकुर, केन्द्रीय कार्यकारणी सदस्य ठा. नरोत्तम सिंह पवार, मोहन सिंह, कार्यकारणी सदस्य टारजन सिंह, युुवा मंडल अध्यक्ष विक्रम सिंह, महिला मंडल अध्यक्ष शशी बघेल, कार्यकारणी सदस्य नर्मदा ठाकुर द्वारा राजपूत क्षत्रिय समाज के वीर शिरोमणी महाराणा प्रताप के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया।

तत्पश्चात उपसमिति के डोमन सिंह, दिलीप सिंह, नरेन्द्र सिंह, करण सिंह, व्यासनारायण, संतोषी राजपूत, शीतल राजपूत, सरस्वती राजपूत, सुनीता राजपूत, बिमला राजपूत, कंचन राजपूत, रामकुंवर, रनिया आदि ने पुष्पगुच्छ एवं माला से स्वागत किया। 

आम जलसा की शुरूआत में समाज द्वारा शोभायात्रा निकाली गई, जो ग्राम के माता देवालय, शीतला मंदिर होते हुए ग्राम के प्रमुख मार्ग से होते सभा में परिवर्तित हुई। उपसमिति के सचिव ठा. केदार सिंह राजपूत ने अपने सचिव प्रतिवेदन में उपसमिति के वर्षभर आयोजित कार्यक्रमों एवं बैठकों में लिए गए निर्णयों के बारे में जानकारी दी। साथ ही उपसमिति के कोषाध्यक्ष बांके सिंह द्वारा उपसमिति में आय एवं किए गए खर्च के बारे में जानकारी दी। ततपश्चात राजपूत महिला मंडल द्वारा रंगोली, मेंहदी प्रतियोगिता तथा बच्चों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुत किया गया।

कार्यक्रम के अंत में प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र तथा बोर्ड परीक्षाओं तथा विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वाले समाज की प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। 

 


Date : 24-Feb-2020

शासकीय शिवनाथ विज्ञान महाविद्यालय राजनांदगांव में प्रतिभा सम्मान व सांस्कृतिक समारोह आयोजित
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 फरवरी।
शासकीय शिवनाथ विज्ञान महाविद्यालय राजनांदगांव में प्राचार्य डॉ. गंधेश्वरी सिंह के मार्गदर्शन में गत् दिनों पद्मश्री निर्मलकर आडिटोरियम में वार्षिक प्रतिभा सम्मान एवं सांस्कृतिक समारोह आयोजित किया गया। 

प्रथम चरण के मुख्य अतिथि अल्प संख्यक आयोग सदस्य हफीज खान व अध्यक्षता समाजसेवी किशन खंडेलवाल ने की। अतिविशिष्ट अतिथि विवेक वासनिक, हरिनारायण धकेता, रईस अहमद शकील, राकेश जोशी, विशिष्ट अतिथि विप्लव शर्मा, ऋषि शास्त्री, मामराज अग्रवाल, मुन्ना भाई, अतिथि के रूप में  विजय अग्निहोत्री, विशु अजमानी, प्रीति वैष्णव, सुभानी वर्मा, राजा यादव, ज्ञानी शंकर प्यासी, द्वितीय सत्र में मुख्य अतिथि नवाज खान व अध्यक्षता प्रज्ञा पंकज गुप्ता, विशिष्ट अतिथि कादिर अंसारी, मोहसीन कुरैशी, राजा गुप्ता, मंयक सोनी, राजू भाई जमीर कुरैशी, तौसीफ गौरी उपस्थित थे।  

प्राचार्य डॉ. सिंह ने महाविद्यालय का प्रतिवेदन वाचन किया। साथ ही 2019-20 की उपलब्धियों से अवगत कराया गया। महाविद्यालय की समस्याओं की ओर भी अतिथियों का ध्यान आकर्षित किया। छात्रसंघ अध्यक्ष झालेश्वर वर्मा ने महाविद्यालय की समस्याओं को लेकर अतिथियों के समक्ष मांग पत्र प्रस्तुत किया। मुख्य अतिथि हफीज खान ने छात्र-छात्राओं को पदक प्राप्ति की शुभकामनाएं दी और समस्त समस्याओं का समाधान करने आश्वासन दिया। 

मुख्य अतिथि के करमलों से 2017-18  तथा 2018 -19 - पत्रिका अभ्युदय का विमोचन किया गया। डॉ. नागरत्ना गनवीर के सह-सम्पादन में प्रकाशित इनोवेशन एवं एन्थॉलाजी पत्रिका का विमोचन हुआ।  अंत में छात्रसंघ की प्रभारी डॉ. निर्मला उमरे द्वारा अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए प्राचार्य तथा अधिकारी-कर्मचारी एवं छात्र-छात्राओं का योगदान सराहनीय रहा।

 


Date : 23-Feb-2020

बालाघाट पुलिस ने कान्हा से नक्सल साहित्य, भारी रसद, दवाईयों की खेप बरामद की

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
कान्हा नेशनल पार्क से नक्सलियों के एक बड़े डंप को बालाघाट पुलिस ने तलाशी के दौरान बरामद किया है। सप्ताहभर के भीतर पुलिस ने दूसरी बार नक्सलियों के गड़ाए सामानों को जमीन से निकाला है। 

बताया गया है कि नक्सलियों द्वारा छुपाए गए सामानों को कल गढ़ी क्षेत्र के जंगल से पुलिस ने बरामद किया है। बैहर एएसपी श्याम मरावी के नेतृत्व में जवानों की एक टीम जंगल में घुसी और बम्हनी-दादर के जंगल में गड़ाए गए सामानों को बाहर निकाला गया। 

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को डंप समान में 150 किलो चावल, दाल, दवाईयां एवं नक्सल साहित्यों की कई पुस्तकें मिली है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कान्हा नेशनल पार्क में नक्सली अपनी पैठ बनाने के लिए लगातार जोर लगा रहे हैं। लिहाजा मलाजखंड दलम और विस्तार दलम द्वारा जंगल में सामान छुपाकर रखा गया था। पुलिस ने अपने सूचनातंत्र के बूते नक्सलियों के सामान को ढूंढ निकाला। 

बताया गया है कि पुलिस ने भारी रसद के अलावा दैनिक उपयोग की कई वस्तुएं भी जब्त की है। नक्सली गढ़ी इलाके में लंबे समय से सक्रिय हैं। सूत्रों का कहना है कि नक्सलियों के कई बड़े लीडर कान्हा नेशनल पार्क में अपनी दखल बढ़ाने के लिए रणनीतिक तौर पर काम कर रहे हैं। नक्सलियों के खिलाफ पुलिस की यह कार्रवाई सफलता भी मानी जा रही है, क्योंकि सामान जब्त करने से नक्सलियों के अभियान पर भी असर पड़ेगा।  

‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा करते एएसपी श्री मरावी ने कहा कि पुलिस को लंबे समय से नक्सलियों की आमदरफ्त की सूचना मिल रही है। हॉकफोर्स और जिला पुलिस बल के जवानों की संयुक्त टुकड़ी ने डंप निकाला है। अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया गया है।

 

 


Date : 23-Feb-2020

संतों के दार्शनिक दृष्टिकोण में जीवन निर्माण के सूत्र - रत्नम
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में दर्शन एवं योग विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का गत दिनों समापन हुआ। समापन समारोह की अध्यक्षता भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद् नई दिल्ली के सचिव डॉ. कुमार रत्नम ने की। सम्मानित अतिथि के रूप में जनभागीदारी समिति अध्यक्ष रईस अहमद शकील, प्रो. एसएस नेगी, प्रो. छाया राय, डॉ. जेपी शाक्य, प्राचार्य डॉ. बीएन मेश्राम मंचस्थ थे।

मीडिया प्रभारी डॉ. चंद्रकुमार जैन व डॉ.बीएन जागृत ने उक्त जानकारी देते बताया कि कार्यक्रम में डॉ. रत्नम ने कहा कि भारत में संत परंपरा सनातनी है, संत उस पराकाष्ठा का नाम है, जो अपने लिए नहीं अपितु दूसरों के लिए जीता है। संतों के दार्शनिक दृष्टिकोण में जीवन निर्माण का सूत्र निहित है। जनभागीदारी समिति अध्यक्ष रईस अहमद शकील ने कहा कि संतों ने हमें इंसानियत की सौगातें दी है, जिन्हें संभालकर मानवता के हित में बांटना हम सबकी जिम्मेदारी है।

प्राचार्य डॉ. बीएन मेश्राम ने कहा कि संतों की वाणी से समाज को नई दिशा मिलती है। उसे स्कूली स्तर पर ही बच्चों तक व्यापक रूप से पहुंचाना चाहिए, ताकि समाज को नई दिशा मिल सके।

 इस अवसर पर युवा दार्शनिक पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रथम मंजू तिवारी, द्वितीय विनय कुमार तिवारी तथा तृतीय पुष्पलता को प्रदान किया गया। समापन दिवस पर तीन अकादमिक सत्र हुआ। जिसमें 20 प्रतिभागियों ने शोध पत्र वाचन किया।
 कार्यक्रम का संचालन डॉ. शैलेन्द्र सिंह व आभार ज्ञापन डॉ. शंकरमुनि राय ने किया।

 


Date : 23-Feb-2020

गांधी सभागृह में मनाया चिंतन दिवस

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
भारत स्काउट्स एवं गाईड्स छग जिला संघ राजनांदगांव द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी हेतराम सोम के मार्गदर्शन में सर बेडेन पावेल का जन्मदिन चिंतन दिवस के रूप में महापौर हेमा सुदेश देशमुख के मुख्य आतिथ्य में गांधी सभागृह में मनाया गया। अध्यक्षता राजगामी संपदा न्यास के अध्यक्ष विवेक वासनिक ने की। विशेष अतिथि के रूप में महापौर परिषद के प्रभारी सदस्य सतीश मसीह, राजा तिवारी व गणेश पवार सहित स्काउट्स के जिला मुख्य आयुक्त अशोक चौधरी, जिला अध्यक्ष राजेन्द्र गोलछा, जिला संगठन आयुक्त विनोद हथेल, संघ के सदस्य अब्दुल्ला युसुफ, संतोष खंडेलवाल, महेश खंडेलवाल, उत्तम गीडिया, घनश्याम दास साहू, मीना खंडेलवाल उपस्थित थे। 

इस अवसर पर महापौर श्रीमती देशमुख ने कहा कि पावेल जयंती आज चिंतन दिवस के रूप में मनाया जा रहा है, हमें उनके द्वारा किए गए कार्यों का चिंतन कर देश की सेवा करना है। स्काउट गाईड का मूल उद्देश ही सेवा करना है। इससे हमें अनुशासन सीखने  को मिलता है। राजगामी संपदा अध्यक्ष विवेक वासनिक ने भी जयंती की बधाई देते बेडेन पावेल के सिद्धांतो को अपने जीवन में उतारकर सेवा करने की अपील की। जिला मुख्य आयुक्त अशोक चौधरी ने भी शुभकामनाएं देते सभी स्काउड गाईड के विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा दी।

कार्यक्रम में सर्व धर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। तत्पश्चत राजस्थान में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर राजनांदगांव जिले के विद्यार्थियों एवं स्काउट शिक्षकों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मान किया गया। साथ ही अतिथियों को भी स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में स्वागत भाषण जिला संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र गोलछा व आभार प्रदर्शन स्काउट शिक्षक राकेश भवते एवं संचालन जिला सचिव देवेन्द्र अंबादे ने किया। इस अवसर पर जिले के लगभग 400 स्काउट-गाईड्स के विद्यार्थी उपस्थित थे।

 


Date : 23-Feb-2020

कुपोषण को दूर करने मानसिकता बदलने की जरूरत- मौर्य

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कहा कि कुपोषण को दूर करने के लिए लोगों की मानसिकता बदलने की जरूरत है। यह सबसे बड़ी चुनौती है। इसके लिए अभियान चलाकर प्रयास किया जाना चाहिए। जिसमें पारिवारिक सम्मेलन, पालक बैठक, सामुदायिक रूप से सरपंच-सचिव चौपाल लगाकर लोगों को इसके बारे में बताएं, ताकि कुपोषण की गंभीरता के बारे में लोग जागरूक हो और इसे दूर करने के लिए प्रेरित हो। कलेक्टर मौर्य ने शनिवार को महिला एवं बाल विकास विभाग के परियोजना अधिकारियों और पर्यवेक्षकों की बैठक लेकर बच्चों और महिलाओं के हित में आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन निर्धारित समयानुसार और बेहतरीन ढंग से करने के निर्देश दिए है। 

श्री मौर्य ने कहा कि कुपोषण का सबसे बड़ा कारण समुदाय की सोच और उनकी अंधविश्वासी और रूढि़वादी मानसिकता है। इसको बदल कर ही कुपोषण को दूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों के मानसिक बदलाव के लिए परिवार सम्मेलन, पालक बैठक तथा गांवों में सरपंच-सचिव के साथ चौपाल लगाया जाए। इस चौपाल में कुपोषण से संबंधित वीडियो, सफलता की कहानी और ऐसे ही दृश्य दिखाया जाए। जिससे गांव के लोग जागरूक हो सकें।   कलेक्टर ने कहा कि गर्भवती माताओं की एएनसी चेकअप, टीकाकरण, संस्थागत प्रसव के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एएनएम, मितानिन आपसी समन्वय के साथ काम करें। इसके लिए विभाग के अधिकारियों को सही दिशा में कार्य करने की जरूरत है। श्री मौर्य ने कहा कि सिर्फ आकड़ों में ही कुपोषित बच्चों की संख्या कम नहीं होनी चाहिए, बल्कि इसमें सही तरीके से काम भी होना चाहिए। सभी को एक टीम के रूप में कार्य करना चाहिए। बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी रेणु प्रकाश सहित परियोजना अधिकारी और सेक्टर सुपरवाईजर उपस्थित थे। 

 


Date : 23-Feb-2020

भाजपा का धरना-प्रदर्शन, धान खरीदी की समय सीमा बढ़ाने की मांग, राज्यपाल-सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
धान खरीदी में अनियमितता व किसानों पर लाठीचार्ज के विरोध तथा धान खरीदी की समय-सीमा बढ़ाने की मांग को लेकर जिला भाजपा ने शनिवार को जिला कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन कर राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

 जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव, वरिष्ठ भाजपा नेता लीलाराम भोजवानी, संतोष अग्रवाल, सचिन बघेल, दिनेश गांधी, किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष मूलचंद लोधी, रविंद्र वैष्णव आदि ने एक स्वर में प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के साथ किए जा रहे अब अमानवीय रवैये पर भूपेश सरकार की कड़ी आलोचना करते कहा कि चुनाव में गंगाजल की कसम खाकर बड़े-बड़े वायदे कर सत्ता प्राप्त करते हुए आज कांग्रेस के राज में सबसे ज्यादा परेशानी किसानों को ही हो रही है। धान का रकबा काटकर मेड़ के नाम पर आश्चर्यजनक ढंग से धान की खरीदी सीमा को कम करना, किस्तों में टोकन जारी करना, बारदाने की कमी बताना, जगह नहीं है यह कहकर किसानों को जानबूझकर प्रताडि़त करना, यहां तक कि कुछ किसान जब मंडी या बाजार में धान बेचने के लिए निकले तो उनके वाहन जब्त कर एफआईआर कराई गई।

जिला भाजपा अध्यक्ष श्री यादव ने कहा कि डॉ. रमन सिंह के 15 वर्षों के कार्यकाल में कभी भी किसान इतना परेशान नहीं हुआ। आज 3 माह पूर्व जिन किसानों की गाडिय़ां जब्त की गई थी, वह आज तक नहीं छुटी है। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार की तानाशाही नीतियों के कारण ही आज जनपद एवं जिला पंचायत चुनाव में कांग्रेस की करारी हार हुई है। श्री यादव ने कहा कि आज जिले के 12000 से अधिक किसान धान बेचने से वंचित हो गए हैं और उनके साथ भाजपा खड़ी हुई है। सरकार ने धान खरीदी की सीमा नहीं बढ़ाई तो भाजपा उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। साथ ही यादव ने असमय वर्षा से हुए फसल के नुकसान का मुआवजा देने की मांग भी की।

भाजपा नेताओं ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष गीता घासी साहू, खेदूराम साहू, सरोजनी बंजारे, रमेश पटेल, कोमलसिंह राजपूत, सौरभ कोठारी, राजेश श्यामकर, रोहित चंद्राकर, तरुण लहरवानी, शिव वर्मा, अतुल रायजादा, जिला पंचायत सदस्य इंदुमती साहू, जागृति यादव, खम्मन साहू, ललिता कवर, मधु बैद, त्रिगुण टांक, अरुण शुक्ला, गगन आईच सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

 


Date : 23-Feb-2020

माना में सीएम बघेल का भव्य स्वागत

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
राजनांदगांव, 23 फरवरी।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का दस दिवसीय अमेरिका प्रवास से वापसी पर शनिवार को माना स्थित विमानतल में राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान के नेतृत्व में शहर के कांग्रेस नेताओं ने श्री बघेल को गुलदस्ता भेंटकर भव्य स्वागत किया। इस अवसर पर भूपेश बघेल जिंदाबाद, मो. अकबर जिंदाबाद के जोरदार नारे लगाए गए। 

इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री मो. अकबर, पूर्व सांसद करूणा शुक्ला, नगर निगम के चेयरमेन मधुकर बंजारी, चेयरमेन विनय झा, अरविंद वर्मा, वरिष्ठ सभापति समद खान, नामांकित पार्षद नारायण यादव, पूर्व पार्षदद्वय डॉ. पोषण साहू व अवधेश प्रजापति, मनीष गौतम, नरेन्द्र सुलाखे, अभिमन्यु मिश्रा, जाकिर खान, मनोज मिश्रा, कादिर अंसारी, पुष्पेन्द्र सोनकर, अनिल यदु आदि उपस्थित थे।

 

 


Date : 22-Feb-2020

पुरानी पेंशन की मांग को लेकर कल रायपुर में प्रदर्शन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 22 फरवरी।
छत्तीसगढ़ अंशदायी पेंशन कल्याण संघ एनएमओपीएस/ एफएएनपीएसआर रेल्वे के संयुक्त तत्वावधान में छत्तीसगढ़ राज्यभर के कर्मचारी कल 23 फरवरी को राजधानी रायपुर में पुरानी पेंशन की मांग को लेकर पेंशन अधिकार महासम्मेलन एवं रैली करेंगे। 

संघ के जिलाध्यक्ष छन्नूलाल साहू एवं प्रांतीय संयुक्त सचिव अजय कड़व ने बताया कि कल 23 फरवरी को  आयोजित महासम्मेलन एवं विशाल पेंशन अधिकार रैली में राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु एवं अमरिक सिंह  के संयुक्त नेतृत्व एवं प्रांतीय अध्यक्ष राकेश सिंह की अगुवाई में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल छत्तीसगढ़ एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा।

छग अंशदायी पेंशन कर्मचारी कल्याण संघ जिला इकाई राजनांदगांव के पदाधिकारियों ने सभी विभागों के पुरानी पेंशन विहिन कर्मचारियों को पुरानी पेंशन की मांग को लेकर 23 फरवरी को रायपुर के बुढ़ा तालाब में शामिल होने अपील की। अपील करने वालों में अजय कड़व,  पुरषोत्तम पडौटी, प्रेमलता शर्मा, छन्नूलाल साहू, कृष्णा दास, अजय गढ़पायले, खिलावन सिंह ठाकुर, संतोष कुमार नेताम, लोकेश साहू, प्रफुल्ल झा, दीपक तिवारी, पंकज सिंह, रजनीश चतुर्वेदी, छनेन्द्र साहू, भूपेश साहू, सरिता खान, फुलबाई आर्य, लक्ष्मी गेड़ाम, सुषमा चौरे, मंजू देवांगन, माला गौतम, सुशील देवांगन, जयप्रकाश साहू, हरनाम सिंह यादव, पुनाराम यादव, हेमंत निर्मलकर समेत अन्य शामिल हैं। उक्त जानकारी जिलाध्यक्ष छन्नूलाल साहू ने दी।

 

 


Date : 22-Feb-2020

छह ब्लॉक में भेजे गए बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्र बंडल, नांदगांव समेत तीन ब्लॉक में रविवार को होगा वितरण
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 22 फरवरी। 
छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 2 और 3 फरवरी से शुरू हो रहे 12वीं और 10वीं की बोर्ड परीक्षाओं के प्रश्न पत्र के बंडलों का वितरण शुरू हो गया है। शनिवार को ठा. प्यारेलाल स्कूल प्रांगण में छह ब्लॉक में बोर्ड परीक्षाओं के पर्चों का बंडल कड़ी निगरानी में भेजा गया। 

बताया गया है कि दोनों बोर्ड परीक्षा के लिए जिलेभर के स्कूली प्राचार्यों और शिक्षा कर्मचारियों को बंडल लेने के लिए बुलाया गया था। परीक्षा की तारीख से पहले तक संबंधित ब्लॉकों के थानों में कड़ी सुरक्षा में प्रश्न पत्र के बंडलों को रखा जाएगा। 

मिली जानकारी के अनुसार जिले में इस बार 166 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन 130 केंद्रों के लिए प्रश्न पत्र बंडल भेज दिए गए। 12वीं बोर्ड में जहां 19211 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल होंगे। वहीं कक्षा 10वीं में 24 हजार 704 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। इसके अलावा व्यवसायिक परीक्षा में 120 विद्यार्थी शामिल होंगे। जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम ने बताया कि आज पहले दिन गैंदाटोला, छुरिया, चिचोला, चौकी, चिल्हाटी, मोहला, खडग़ांव, मानपुर, औंधी, खैरागढ़, गातापार जंगल, छुईखदान, गंडई, साल्हेवारा, बकरकट्टा, सोमनी, घुमका, जालबांधा, मु.मोहारा के लिए परीक्षा बंडल वितरण किया गया। वहीं कल 23 फरवरी को राजनांदगांव, डोंगरगांव, डोंगरगढ़, बोरतलाव तथा बसंतपुर थाना क्षेत्र के लिए बंडल वितरित किए जाएंगे।

परीक्षा की तैयारी में जुटे छात्र
सप्ताहभर बाद होने वाले बोर्ड परीक्षा की तैयारियों के लिए 10वीं-12वीं के विद्यार्थी जुटे हुए हैं। इधर स्कूलों में कोर्स पूरा नहीं होने की स्थिति में विद्यार्थी और उनके परिजनों में चिंता की स्थिति बनी हुई है। ज्ञात हो कि बोर्ड परीक्षा के लिए टाईम टेबल जारी होने के बाद से बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए छात्र-छात्राएं प्रश्नों को हल करने की तैयारी में जुट गए हैं। इसके अलावा कुछ बच्चे कोचिंग कर कड़ी मेहनत भी कर रहे हैं। इसके अलावा कुछ बच्चे सुबह और रात में पढ़ाई कर बोर्ड परीक्षा में अव्वल नंबर लाने मशक्कत करने लगे हैं। विद्यार्थियों के परिजन भी अपने बच्चों को कड़ी मेहनत के साथ अच्छे अंक लाने प्रोत्साहित कर रहे हैं। इधर परीक्षा की तारीख तय होने और प्रश्न पत्रों का बंडल वितरण के साथ ही प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। 

 

 

 

 

 


Date : 22-Feb-2020

दिग्विजय महाविद्यालय में राष्ट्रीय संगोष्ठी, नैतिक शिक्षा पर जोर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 22 फरवरी। शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में दर्शन एवं योग विभाग की राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन वाग्देवी पूजन तथा शिव आराधना के साथ गत दिनों हुआ। मुख्य अतिथि हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा व अध्यक्षता दार्शनिक अनुसंधान परिषद् अध्यक्ष प्रो. एसएस नेगी ने की। विशिष्ट अतिथि प्रो. छाया राय थीं।

संगोष्ठी के संयोजक डॉ. हरनाम सिंह अलरेजा ने संचालन करते संगोष्ठी के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। डॉ. शंकरमुनि राय ने श्लोक पठन किया। दो दिवसीय संगोष्ठी भारत की संत परंपरा का दार्शनिक दृष्टिकोण विषय पर भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद् नई दिल्ली तथा दर्शन परिषद् मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के संरक्षण में आयोजित की गई है। मंच पर परिषद् के सचिव प्रो. जेपी सारवे तथा स्वरूपानंद महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला उपस्थित थी। प्रारंभ में पौधा भेंटकर अतिथियों का स्वागत किया गया। प्राचार्य डॉ. बीएन मेश्राम ने कहा कि महान आत्माओं और संतों ने भारत को विश्व विभूति बनाया है। उन संतों ने जो ज्ञान दिया है उसका प्रसार करना सबकी जिम्मेदारी है।

मुख्य अतिथि कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपने कर्तव्य का शत-प्रतिशत समाज को देना चाहिए। यही सबसे बड़ा जीवन दर्शन है। उन्होंने कहा कि भाषा के माध्यम से संतों के जीवन चरित्र एवं योगदान को पाठ्यक्रम का अनिवार्य अंग बनाने का प्रयास किया जाना और नैतिक शिक्षा पर जोर दिया जाना चाहिए।

 डॉ. छाया राय ने कहा कि संतों ने सरल शब्दों को मानवता तक पहुंचाया। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं की चार-दीवारी के बाहर दर्शनशास्त्र के ज्ञान को पहुंचाना जरूरी है। दर्शन परिषद के अध्यक्ष डॉ. एसएस नेगी ने परिषद की गतिविधियों की जानकारी देते सभी विषयों एवं अन्य क्षेत्रों के लोगों से परिषद से जुडऩे की अपील की। उक्त अवसर पर दर्शन परिषद की पत्रिका, पारमिता के दसवें अंक का विमोचन किया गया। जबलपुर की डॉ. गायत्री सिन्हा पूर्व प्रो. दर्शन विभागाध्यक्ष रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर को परिषद् द्वारा दर्शन श्री सम्मान 2020 से विभूषित किया गया। सम्मान के प्रति उत्तर में डॉ. सिन्हा ने कहा कि कबीर की दृष्टि से जीवन में कागज की लेखी पर नहीं आंखों देखी पर विश्वास किया जाना चाहिए।

समारोह में विद्यार्थियों को दार्शनिक प्रतिभा सम्मान प्रदान किया गया। इनमें संतराम वर्मा, अगेश्वर वर्मा एवं गरिमा साहू शामिल थे। निबंध प्रतियोगिता के लिए नाजनीन बेग, विनय तिवारी और वर्षा चौरसिया को पुरस्कृत किया गया। समारोह के अंत में अतिथियों को प्रतीक चिन्ह भेंटकर सम्मानिक किया गया।

डॉ. शैलेन्द्र सिंह ने आभार ज्ञापन किया। उद्घाटन सत्र के बाद दो तकनीकी सत्रों ने दर्जनभर प्रतिभागियों ने शोध पत्र वाचन किया। विद्वानों ने वक्तव्य देते मार्गदर्शन किया।


Previous1234Next