छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous1234567Next
01-Jun-2020 11:21 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
जिले के डोंगरगांव इलाके के उमरवाही में एक महिला की कथित खुदकुशी का मामला हत्या के रूप में सामने आया है। 
लोमेश्वरी का शव कल घर पर फांसी के फंदे पर लटकते हुए मिला था। मृतिका के पति प्रकाश हलबा ने पुलिस को घरेलू समस्या बताते हुए पत्नी द्वारा आत्महत्या करने की जानकारी दी। पुलिस ने घटना को संधिगंध मानते हुए छानबीन शुरू की। पुलिस को जांच में पति के बर्ताव पर शक हुआ। पुलिस को गांव से जानकारी मिली कि महिला और पति के बीच शराब पीने को लेकर रोज विवाद होता था। गत 30 मई की शाम को पति नशे की हालत में घर पहुंचा। इसी बात पर मृतका और पति के बीच झगड़ा होने लगा। बढ़ते विवाद के दौरान पति ने महिला की गला घोंटकर हत्या कर दी। बाद में मामले को  आत्महत्या का रूप देने के लिए फांसी पर पति ने लटका दिया। पुलिस की सख्ती के सामने पति की चालकी टिक नहीं पाई।
 आरोपी ने पुलिस को बताया कि पत्नी के रोजाना शराब पीने को लेकर टोकाटाकी से वह तंग हो गया था। घटना के दिन टोकने की वजह से आवेश में उसने नशे की हालत में पत्नी का कत्ल कर दिया। पुलिस ने आरोपी के गुनाह कबूल करने के बाद अदालत में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

 

 


01-Jun-2020 10:06 PM

चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
मोखला पंचायत में गत दिनों मनरेगा मजदूरों द्वारा तकनीकी सहायक और रोजगार सहायिका के साथ कथित मारपीट का मामला तूल पकड़ रहा है। सोमवार को मनरेगा में काम कर रहे कर्मियों ने जिला मुख्यालय में प्रदर्शन कर कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा है। 

ज्ञापन में मारपीट की घटना की निंदा करते प्रदर्शनकारियों ने कर्मियों को समुचित सुरक्षा देने की मांग की है। स्थानीय कलेक्टोरेट के सामने प्रदर्शन करते हुए संघ ने तीन दिन के भीतर प्रशासन से दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग रखी। 

कार्रवाई नहीं होने की सूरत में चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी देते संघ के उपाध्यक्ष बालूराम देवांगन ने कहा कि विरोध में करीब 110 मनरेगा कर्मी शामिल हुए हैं। जिसमें पंचायत सचिव के अलावा मनरेगा के तहत कार्यरत मैदानी कर्मचारी शामिल हैं।

मनरेगा कर्मियों का यह आंदोलन दरअसल मजदूरों द्वारा थाना घेराव करने से जुड़ा हुआ है। तकनीकी सहायक और रोजगार सहायिका को पीटने के मामले में सुरगी पुलिस द्वारा सवाल-जवाब किए जाने से भडक़े मोखला के ग्रामीणों ने कल थाना का घेराव कर दिया था। यहीं से अब यह मामला दो पक्षों के बीच आकर टिक गया है।
 


01-Jun-2020 10:05 PM

सीएम के नाम जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन ने वार्षिक वेतन वृद्धि में लगी रोक हटाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 

फेडरेशन के जिलाध्यक्ष शंकर साहू ने ज्ञापन में बताया कि कोरोना संकट के इस दौर में राज्य सरकार ने कर्मचारियों के वार्षिक वेतन वृद्धि में रोक लगाए जाने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से प्रदेश के हजारों सहायक शिक्षक हताश हुए हैं। वर्तमान में सहायक शिक्षक जो 22 साल से एक पद एक वेतन में काम कर रहे हैं, न तो सहायक शिक्षकों को उच्चतर वेतन मिला है, न ही पदोन्नति का लाभ दिया गया और ऐसे में वार्षिक वेतन वृद्धि में रोक लगाने का निर्णय कर्मचारियों को हताश कर रहा है। प्रदेश में कर्मचारियों को 9 प्रतिशत महंगाई भत्ता कम मिल रहा है और आगामी दिनों में भी भत्ते में बढ़ोत्तरी की कोई संभावना नहीं है। 

उन्होंने वार्षिक वेतन वृद्धि में रोक के निर्णय पर पुन: विचार करते वेतन वृद्धि में रोक हटाकर यथावत रखने की मांग की।


01-Jun-2020 10:03 PM

कलेक्टर ने कहा बारिश पूर्व सेंटरों में होंगे बेहतर बंदोबस्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
कोरोना संक्रमण के चलते क्वॉरंटीन सेंटरों में रह रहे प्रवासी मजदूरों के सामने बारिश के मौसम में कीड़े-मकोड़ों से जूझने की चुनौती भी रहेगी। राजनांदगांव जिले में पिछले कुछ दिनों से क्वॉरंटीन सेंटरों में जहरीले कीड़ों के काटने की शिकायतें प्रशासन तक पहुंची है। जिले के जंगली क्षेत्रों के क्वॉरंटीन सेंटरों में कीड़े-मकोड़ों का खतरा प्रवासी मजदूरों को सताने लगा है। 

बताया जा रहा है कि जिले में 17 सौ से अधिक क्वॉरंटीन सेंटर प्रशासन की देखरेख में संचालित हो रही है। इन सेंटरों में 15 हजार से अधिक प्रवासी मजदूरों को ठहराया गया है। पिछले कुछ दिनों से क्वॉरंटीन सेंटरों में विषैले कीड़ों के काटने और उनसे हो रही परेशानी को लेकर प्रशासन को जानकारी मिल रही है। क्वॉरंटीन सेंटरों में मौजूदा प्रवासी मजदूर भीषण गर्मी में रहते हुए किसी तरह क्वॉरंटीन अवधि को काट रहे हैं। मानसून से पहले बे-मौसम हुई बारिश से क्वॉरंटीन सेंटरों में कीड़े-मकोड़ों का दखल बढ़ा है। इस वजह से सेंटरों में रात का वक्त प्रवासी मजदूरों पर भारी पड़ रहा है। 

इस संबंध में कलेक्टर टीके वर्मा ने 'छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि बारिश से पहले सेंटरों में बेहतर इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं। कीड़े-मकोड़ों की समस्या से निपटने पुख्ता बंदोबस्त की जाएगी।

बताया गया है कि वनांचलों में चल रही क्वॉरंटीन सेंटरों में खासतौर पर जहरीले कीड़ों के अलावा सांप और बिच्छुओं का भी खतरा रहेगा। बताया जा रहा है कि क्वॉरंटीन सेंटरों में बारिश के दौरान स्थिति बेहद ही चुनौतीपूर्ण रहेगी। कोरोना संक्रमण के कारण मजदूरों का जिले में पहुंचने का सिलसिला थमा नहीं है। 

अब तक जिले में 70 से 80 हजार मजदूर गैर प्रांतों से पहुंचे हैं। क्वॉरंटीन सेंटरों में प्रशासन की ओर से मजदूरों को रखा जा रहा है। इस दौरान मजदूरों को भोजन, पानी के अलावा अन्य बुनियादी सुविधाएं दी जा रही है। जिले के मानपुर इलाके में कुछ दिन पहले एक शिक्षक और एक मजदूर एक जहरीले कीड़े के हमले से बुरी तरह संक्रमित हो गए थे। दोनों के चेहरों में पूरी तरह सूजन आ गया था। 

माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में जून के दूसरे पखवाड़े तक मानसून दस्तक दे सकता है। ऐसे में पहली बारिश के साथ कीड़े-मकोड़े जमीन से बाहर निकलते हैं। फिलहाल प्रशासन ने क्वॉरंटीन सेंटरों को कीट-मकोड़ों को बचाने के लिए तैयारी शुरू कर दी है।


01-Jun-2020 10:02 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने रविवार को खैरागढ़ विकासखंड में ग्राम मुढ़ीपार स्थित क्वॉरंटीन सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने मजदूरों से बातचीत कर वहां की सुविधाओं के संबंध में जानकारी ली। मजदूरों ने बताया कि भोजन, पेयजल की अच्छी सुविधा मिल रही है।

कलेक्टर श्री वर्मा ने उनसे सर्दी, खांसी, बुखार के संबंध में जानकारी ली। मजदूरों ने बताया कि स्वास्थ्य ठीक है। कलेक्टर ने कहा कि यहां मनरेगा के तहत काम करें। परेशान न हो और स्वस्थ रहे। मजदूरों ने उन्हें जानकारी दी कि वे गुजरात से आए हैं। वहां रोजी-मजदूरी करने गए थे और लॉकडाउन में फंस गए थे। 

नागपुर से आए लोकेश एवं इमते ने बताया कि वे कमाने खाने के लिए नागपुर चले गए थे। अब यहां आए है, तो अच्छा लग रहा है। कलेक्टर ने उनके स्वास्थ्य परीक्षण के संबंध में जानकारी ली। मंदसौर (मध्यप्रदेश) एवं गुजरात से आए मजदूरों से भी उन्होंने मुलाकात की और सभी को स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों का पालन करने कहा। उन्होंने कहा कि कोई तकलीफ हो तो डॉक्टर को बताएं और सावधानी एवं सजगता के साथ रहें। 

परेशान होने की जरूरत नहीं है। ग्राम मुढ़ीपार में 51 श्रमिक क्वॉरंटीन में है। इस अवसर पर एसडीएम निष्ठा पांडे उपस्थित थीं।


01-Jun-2020 10:01 PM

जनशताब्दी पहुंची नांदगांव

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
तीन माह बाद यात्री ट्रेनों का परिचालन कुछ पाबंदियों के साथ  शुरू हो गया। सोमवार को राजनांदगांव रेल्वे स्टेशन में करीब 90 दिन के बाद यात्री ट्रेन डाउन दिशा की जनशताब्दी एक्सप्रेस पहुंची। 

सोशल डिस्टेंसिंग और सेनिटाइजिंग की शर्तों के साथ रायगढ़ से गोंदिया तक चलने वाली यह ट्रेन अपने तय समय पर सुबह 11.50 बजे स्थानीय स्टेशन में पहुंची। इस ट्रेन से 8 यात्री राजनांदगांव में उतरे, वहीं 4 पैसेंजर गोंदिया जाने के लिए ट्रेन में सवार हुए। 

स्टेशन मास्टर एमपी अख्तर के मुताबिक ऑनलाइन बुकिंग से टिकट लेकर यात्री स्टेशन में पहुंचे। निर्धारित शर्त के तहत 90 मिनट पहले यात्री स्टेशन में स्क्रीनिंग के बाद प्लेटफार्म में दाखिल हुए। बताया गया है कि यात्रियों को सफर के दौरान भी केंद्र और रेल्वे की शर्तों का पालन करने का निर्देश दिया गया है।


01-Jun-2020 10:00 PM

गुजारा भत्ता के लिए प्रदर्शन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 1 जून।
लॉकडाउन के दौरान करीब 3 माह से घर में बैठे जिलेभर के बस चालकों का सब्र अब टूटने लगा है। पिछले कुछ दिनों से प्रशासन पर सुध नहीं लिए जाने का आरोप लगाते बस चालक विरोध के लिए एकजुट हुए। सोमवार को स्थानीय पुराने बस स्टैंड में बस चालकों ने राज्य सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गुजारा भत्ता दिए जाने की मांग की। 

राजनांदगांव जिले में करीब 250 से अधिक बसें लॉकडाउन के चलते खड़ी हुई है। बस कारोबार बंद होने से 5 से 6 सौ कर्मचारी आर्थिक रूप से कमजोर हो गए हैं। परिवार का भरण-पोषण करने में चालक असमर्थ हो गए हैं।  ड्राइवरों में सरकार और प्रशासन के खिलाफ आक्रोश है। 

बस चालकों का आरोप है कि मजदूरों पर ही सरकार का ध्यान केन्द्रित है, जबकि अन्य पेशे से जुड़े लोगों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। यूनियन के अध्यक्ष मो. आरिफ का कहना है कि प्रवासी मजदूरों को पहुंचाने ड्राइवर अपनी जान जोखिम में डालकर जा रहे हैं और दो ड्राइवर इसी बीच खतम हो गए। प्रशासन ने उनके लिए क्या किया, उनकी आर्थिक खराब हो गई है। ऐसे में ड्राइवर कहां जाएंगे, क्या खाएंगे-क्या पीयेंगे। चावल देने से हमारा काम नहीं चलता और हमारे घर में और परिस्थिति है। 

इस दौरान चालक-परिचालक और हेल्परों ने पुराने बस स्टैंड नारेबाजी की। गुजारा भत्ता नहीं मिलने पर धरना प्रदर्शन की भी चेतावनी दी है।


01-Jun-2020 8:28 PM

विधायक ने सीएम से कराई भेंट

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबागढ़ चौकी, 1 जून। समर्थन मूल्य पर मक्का बेचने चक्कर काट रहे किसानों को जल्द ही राहत मिलेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों को भरोसा दिलाया कि वे प्रयास कर रहे हैं। किसानों को किसी तरह की आर्थिक क्षति न पहुंचे और उन्हें उनके उपज का सही दाम मिले।

पंजीयन से चुके वनांचल चौकी, छुरिया एवं मोहला-मानपुर के सैकड़ों किसान माहभर से सोसायटी में समर्थन मूल्य में मक्का बेचने दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। रबी सीजन में मक्का का उत्पादन करने वाले किसान इन दिनों समर्थन मूल्य में मक्का बेचने अधिकारी व जनप्रतिनिधियों का चक्कर काट रहे हैं और मक्का खरीदी की मांग को लेकर राज्यपाल, मुख्यमंत्री व कृषि मंत्री के नाम पर प्रशासन को ज्ञापन सौंप रहे हैं। मक्का उत्पादक किसानों का कहना है कि यदि समर्थन मूल्य में मक्का की खरीदी नहीं हुई तो उन्हें फसल का लागत भी नहीं मिल पाएगा और आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ेगा।

खुज्जी विधायक छन्नी साहू ने शुक्रवार को राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री निवास में छुरिया एवं चौकी ब्लॉक के मक्का उत्पादक किसानों को मुख्यमंत्री से भेंट कराई। विधायक छन्नी साहू की अगुवाई में वनांचल के किसानों ने अपनी समस्याएं बताई और मुख्यमंत्री श्री बघेल से समर्थन मूल्य में मक्का खरीदी करने की मांग की।


01-Jun-2020 8:27 PM

क्वॉरंटीन सेंटर में तैनात अधिकारी-कर्मचारियों को भी दिया जा रहा काढ़ा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबागढ़ चौकी, 1 जून। लॉकडाउन में दीगर राज्यों से लौटे प्रवासी मजदूरों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने आयुर्वेद विभाग के अधिकारी-कर्मचारी क्वॉरंटीन में रह रहे मजदूरों को काढ़ा पिला रहे हैं।

 आयुर्वेद विभाग के डॉक्टर एवं कर्मचारियों ने बताया कि प्राचीन व प्राकृतिक उपचार पद्धति से असाध्य बीमारियों के अलावा खतरनाक वायरस को भी खत्म किया जा सकता है, इसलिए वे छत्तीसगढ़ शासन व आयुर्वेद विभाग के निर्देशानुसार अपने क्वॉरंटीन में रह रहे प्रवासी मजदूरों एवं क्वॉरंटीन में तैनात अधिकारी-कर्मचारियों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने काढ़ा पिला रहे हैं।

विकासखंड के आयुर्वेद ग्राम माहुद मचांदूर, बांधाबाजार व आमाटोला के शासकीय आयुर्वेद औषधालय में पदस्थ डॉ. नरोत्तम नेताम, डॉ. इकबाल हुसैन, डॉ. यामिनी शर्मा ने बताया कि संचानालय आयुष एवं जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. अरविंद मराबी के मार्गदर्शन में लॉकडाउन में दीगर राज्यों से लौटे व क्वॉरंटीन में रह रहे मजदूरों एवं क्वॉरंटीन में तैनात अधिकारी-कर्मचारियो को काढ़ा पिला रहे हैं।

डॉ. नरोत्तम नेताम ने बताया कि आयुर्वेद प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। इस पद्धति के माध्यम से हम असाध्य से असाध्य बीमारियों को जड़ से समाप्त कर सकते हैं,  इसलिए हम कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने क्वॉरंटीन में रह रहे मजदूरों और यहां तैनात कर्मचारियों को प्रतिदिन काढ़ा पिला रहे हैं।

काढ़ा से बढ़ता है रोग प्रतिरोधक क्षमता

डॉ. नरोत्तम नेताम, डॉ. इकाबाल हुसैन व डॉ. यामिनी शर्मा ने बताया कि क्वारेंटाईन में रह रहे प्रवासी मजदूरों को जो काढा दिया जा रहा है उससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ता है। इस काढ़ा के उपयोग से आसानी से हम किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। चिकित्सकों ने बताया कि काढ़ा का कोई साईड इफेक्ट नहीं है। इसका उपयोग कोई भी व्यक्ति कर सकता है। इससे शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। चिकित्सकों ने बताया कि यह काढ़ा त्रिकटु चूर्ण, तुससी पत्ता व मुलेठी को मिलाकर बनाया जाता है।

 कम्युनिटी संक्रमण रोकने काढ़ा बेहतर उपाय

आयुर्वेद चिकित्सकों का मानना है कि कोविड 19 कोरोना संक्रमण के कम्युनिटी फैलाव को रोकने यदि हर स्थान में लोगों को काढा पिलाया जाता है तो यह आमजनों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने बेहतर व कारगार उपाय है। माहुद मंचादुर, बांधाबाजार व आमाटोला के आयुर्वेद अधिकारियों ने बताया कि वे अभी अपने आयुर्वेद ग्रामों के अलावा आसपास के ग्रामों में ही काढ़ा पिलाकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। यदि क्षेत्र के जनप्रतिनिधि एवं समाजसेवी संस्था चाहे तो वे जागरूकता एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने इस पद्धति के माध्यम से हर स्थान में काढ़ा पिला सकते हैं।


01-Jun-2020 8:24 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 1 जून। मुर्गा खाने के नाम पर दो भाईयों में आपस में विवाद हो गया और बड़े भाई ने छोटे भाई की पिटाई कर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को कल गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार बकरकट्टा थाना क्षेत्र के ग्राम सरोधी गांव में 29 मई को दोपहर को मुर्गा खाने को लेकर दो भाई अजीत और मजीत मरकाम के बीच विवाद इतना बढ़ा कि दोनों आपस में मारपीट पर उतारू हो गए। मारपीट में मजीत बेहोश होकर गिर पड़ा। मामले को देख अजीत मौके से फरार हो गया। घटना के बाद परिजन बेहोशी की हालत में मजीत को अस्पताल ले जा रहे थे कि रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने उक्त मामले में आरोपी अजीत के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

 


01-Jun-2020 8:24 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 1 जून। पूर्व महापौर व नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष शोभा सोनी के नेतृत्व में वार्ड के लोगों ने सोमवार को नगर निगम परिसर में अमृत मिशन योजना के तहत पेयजल उपलब्ध कराने को लेकर सिर पर मटका लेकर प्रदर्शन किया।

श्रीमती सोनी ने प्रदर्शन के दौरान नगर निगम आयुक्त को ज्ञापन सौंपते कहा कि अमृत मिशन के तहत नवागांव, कंचनबाग और हास्पिटल में निर्मित पानी टंकियों के प्रारंभ नहीं होने से वार्डवासियों को भीषण गर्मी में पेयजल संकट का सामना करना पड़ रहा है। अमृत मिशन योजना केंद्र सरकार की एक अहम और क्रांतिकारी योजना है।

निगम प्रशासन द्वारा अब तक उक्त पानी टंकियों को प्रारंभ नहीं किया गया। ग्रीष्मकाल और हर घर पेयजल की सुविधा के लिए ही करोड़ों रुपए मिशन के जरिए स्वीकृत हुए हैं। ऐसे में नवनिर्मित पानी टंकियों के संचालन नहीं होने से लोगों को इस योजना का लाभ अब तक नहीं मिल पाया है।

श्रीमती सोनी ने निगम आयुक्त से पेयजल आपूर्ति किए जाने के लिए नवागांव, कंचनबाग और हास्पिटल में नवनिर्मित पानी टंकी को तत्काल शुरू कराने की मांग की। प्रदर्शन के दौरान विजय राय, मणी भास्कर गुप्ता, अजय छेदैया, मोंटू यादव समेत अन्य लोग शामिल थे।


31-May-2020 9:42 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। महात्मा गांधी रोजगार गांरटी योजना में मोखला पंचायत के मजूदरों के पारिश्रामिक में कटौती किए जाने से नाराज मजदूरों और मनरेगा कर्मियों के बीच हुए झड़प का मामला थाने तक पहुंच गया है।

शनिवार को कम मेहनताना मिलने से नाराज मजदूरों ने कथित रूप से तकनीकी सहायक और रोजगार सहायक की पिटाई कर दी। मजदूरों ने मारपीट करने के आरोप को झूठा बताते यह स्वीकार किया है कि रोजगार सहायक आरती मंडावी के साथ धक्कामुक्की हुई है। तकनीकी सहायक संजय हेडाऊ और रोजगार सहायक आरती मंडावी ने सुरगी पुलिस चौकी में करीब आधा दर्जन महिला मजदूरों के विरूद्ध मारपीट करने की शिकायत दर्ज की है।

 इधर रविवार को मामले की जांच करते हुए आरोपी महिलाओं को पुलिस ने कथन के लिए पुलिस चौकी तलब किया। इस बात से नाराज मनरेगा की मजदूर महिलाओं ने पुलिस चौकी में धावा बोल दिया। इसकी जानकारी मिलने के बाद सीएसपी एमएस चंद्रा चौकी पहुंचकर ग्रामीण महिलाओं से चर्चा की।

सीएसपी ने समझाईश देते साफ कहा कि हिंसा करने वालो के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंनें कहा कि महिलाओं को इस तरह का व्यवहार करना शोभा नहीं देता। मारपीट के आरोप से इंकार करते मनरेगा मजदूर किरण साहू ने बताया कि रोजगार सहायिका के साथ मामूली धक्कामुक्की हुई है। इसी तरह ज्योति साहू ने भी मारपीट के आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

बताया जाता है कि मजदूरों इस बात से नाराज है कि बिना ठोस कारण के आधा दर्जन मजूदरों के मेहनताने में 3 सौ रूपए की कटौती कर दी गई है। मजदूरों का कहना है कि पहले भी ऐसा किया गया है। जॉब कार्ड में 1140 रूपए भरे गए थे। भुगतान के वक्त कटौती किए जाने की खबर के बाद मजदूर भडक़ उठे। बताया जाता है कि कटौती किए जाने की वजह से मजदूरों ने मनरेगाकर्मियों के साथ विवाद हुआ।

 सुरगी पुलिस चौकी प्रभारी शक्ति सिंह ने बताया कि महिला मजदूरों का कथन लिया जा रहा है। उसके बाद आवदेक पक्ष के बयान के आधार पर आगे कार्रवाई होगी।


31-May-2020 9:39 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। लॉकडाउन से ढाई माह से स्टेशनों में खड़ी यात्री ट्रेनें सोमवार से पटरी में फिर से दौडऩे लगेंगी। राजनांदगांव रेल्वे स्टेशन में कलेक्टर टीके वर्मा ने सोमवार से शुरू हो रहे यात्री ट्रेनों के ठहराव और स्टेशन परिसर की व्यवस्था को लेकर निरीक्षण किया। स्टेशन प्रबंधक एमपी अख्तर के साथ कलेक्टर ने स्टेशन के अंदर और बाहर निरीक्षण करते हुए स्थानीय स्टेशन प्रबंधन को सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाईजिंग के साथ यात्रियों को प्रवेश और बाहर निकलने का निर्देश दिया।

बताया गया है कि सोमवार को गोंदिया-रायगढ़ जनशताब्दी एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय शाम 4 बजे पहुंचेगी। वहीं 2 जून से अप और डाउन दिशा की 3-3 ट्रेनें स्थानीय स्टेशन से गुजरेंगी।  इस संबंध में स्टेशन मास्टर एमपी अख्तर ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे के अंतर्गत आने वाले स्टेशनों से तीन एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। जिसमें प्रमुख रूप से गोंदिया-रायगढ़-गोंदिया जनशताब्दी एक्सप्रेस (ठहराव डोंगरगढ़ और राजनांदगांव), मुम्बई-हावड़ा मेल एक्सप्रेस (ठहराव राजनांदगांव, डोंगरगढ़, आमगांव, गोंदिया, तिरोड़ा, तुमसर रोड़, भंडारा रोड व कामठी) में किया जाएगा।


31-May-2020 9:38 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। नेशनल हाईवे चिचोला में डोंगरगढ़ जाने वाले रास्ते पर नाकाबंदी के दौरान चलती ट्रक से फेंकने से जख्मी हुए सीएएफ के जवान की स्थिति में उपचार के बाद सुधार आया है। राजधानी रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में उपचारार्थ दाखिल पप्पू सिंह नामक सीएएफ का सिपाही कल चिचोला चौकी क्षेत्र के डोंगरगढ़ चौराहे पर एक ट्रक को रोकने के बाद उस पर सवार हुआ। थोड़ी दूर जाने के बाद ट्रक चालक और क्लीनर ने मिलकर जवान को सडक़ में धक्का देकर गिरा दिया। जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया। बताया गया है कि महाराष्ट्र के देवरी पेट्रोल पंप में मारपीट करने के बाद ट्रक चालक फूलन महुआर और क्लीनर अंकित महुआर भाग खड़े हुए।

महाराष्ट्र पुलिस से सूचना मिलने के बाद ट्रक को रोकने के लिए नाकाबंदी की गई। नाकाबंदी के लिए तैनात सीएएफ का आरक्षक पप्पू सिंह ने ट्रक को रोका और वह थाना ले जाने के लिए ट्रक में सवार हो गया। थाना ले जाने के दौरान मौका पाकर चालक और सहचालक ने जवान को धकेल दिया। बताया जाता है कि इस घटना से आरक्षक को काफी चोंटे आई। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में उपचार के बाद उसे रायपुर रिफर किया गया। चिचोला पुलिस चौकी प्रभारी सूर्यकांत तिवारी ने च्छत्तीसगढ़’ को बताया कि घायल जवान की स्थिति सुधरी है। वहीं आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।


31-May-2020 8:40 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबागढ़ चौकी, 31 मई। शुक्र-शनिवार की दरम्यानी रात नगर ही नहीं क्षेत्र के सौ से अधिक ग्राम की आधी आबादी सडक़ में आ गई। भीषण गर्मी एवं उमस से व्याकुल लोग अपने-अपने मकानों को छोड़ सडक़ में चहल-कदमी करते व घूमते नजर आए। वहीं पूरी रात लोगों ने अपने घर के आंगन, बालकनियों एवं सडक़ों में आंखों ही आंखों में काटकर बिता दी। यह सब हुआ आधी रात एक बजे बिजली गुल होने के बाद।

नगर में विद्युत व्यवस्था नौ घंटे के बाद सुबह 9 बजे आई तो कुछ ग्राम में दोपहर बाद विद्युत व्यवस्था बहाल हुई। इस तरह का वाक्या यहां आए दिन होता है, पर निरंतर 9 घंटे बिजली गुल होने की यह पहली घटना है। बिजली कंपनी का कहना है कि 11 केवी  लाइन में गाज गिरने से तार टूट गया और इंन्सुलेटर जल गया, इसलिए व्यवस्था बहाल होने में इतना समय लगा।

बिजली की आंख मिचौली एवं हर घंटे, दो घंटे में बिजली चला जाना ग्रामीण क्षेत्र ही नहीं नगर की भी बड़ी समस्या बन गई है। सबसे अधिक परेशानी आधी रात एवं सुबह व शाम पेयजल आपूर्ति के समय सप्लाई बाधित होने पर हो रही है, क्योंकि पेयजल आपूर्ति के समय बिजली गुल होने से लोगों को गर्मी में जरूरत के हिसाब से पानी नहीं मिल पा रहा है। बिजली की आंख मिचौली को लेकर स्थानीय नागरिकों एवं क्षेत्र के ग्रामीणों में बिजली कंपनी के खिलाफ आक्रोश है।

बिजली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी की कार्यशैली से क्षुब्ध नागरिकगण एवं विपक्षी पार्टियां धारा 144 हटते ही कांग्रेस सरकार एवं कंपनी के खिलाफ सडक़ में आने की तैयारियां कर रही है।

स्थानीय निवासी कांग्रेसी नेता पार्षद मनीष बंसोड़, शंकर निषाद, गोलू खान, मुकेश सिन्हा का आरोप है कि कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी कांग्रेस सरकार की छवि को धूमिल करने में लगे हुए हैं। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि हम कंपनी की कार्यशैली को लेकर आला नेताओं से शिकायत करेंगे।

 शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि कंपनी के एई मुख्यालय में नहीं रहते हैं और उनकी अनुपस्थिति में यहां की स्थिति बेलगाम हो गई है। शिकायत करने पर समस्या का समाधान करने के स्थान पर आगे से बिजली आपूर्ति बाधित होने का रटा-रटाया जवाब एवं बहानेबाजी होती है।

 ग्रामीण क्षेत्र का बुरा हाल

ब्लॉक के चिल्हाटी, आमाटोला एवं बांधाबाजार सेक्टर के अंतर्गत आने वाले सैकड़ों ग्राम के ग्रामीणों की शिकायत है कि यहां पर किसी भी समय बिजली जाना आम बात हो गई है। न आंधी-न तूफान यहां पर घंटो लाईट गुल हो जाती है। सबसे अधिक परेशानी लोगों को शाम एवं रात में बिजली गुल कर दिए जाने को लेकर हो रही है। चिल्हाटी के विनोद त्रिपुरे, चिखली के मोहन मलगामे, हांडीटोला के केजन लाल, भड़सेना के दुलार विश्वकर्मा, आमाटोला के लक्ष्मण सिन्हा, चौकी के कलीमुद्यीन खान ने बताया कि बिजली की आंख मिचौली और आए दिन बारिश से पहले मरम्मत के नाम पर घंटों बिजली गुल की जा रही है। इससे व्यापार व्यवसाय प्रभावित हो रहा है और सबसे अधिक परेशानी लोगों को गर्मी के चलते हो रही है।

 मुख्यालय में नहीं

मिलते अफसर

ब्लॉक मुख्यालय में बिजली कंपनी के जेई एवं एई का कार्यालय है, पर यहां कार्यालय दिवस में भी मौके पर अधिकारी नहीं मिलते हैं। बिजली कंपनी से जुड़ी समस्या एवं शिकायतों को लेकर कार्यालय पहुंचने वाले नागरिकों को अधिकारियों से बिना मिले ही बैरंग व निराश लौटना पड़ता है। शिकायतों की मानें तो एई दुर्ग में निवास करते हैं और सप्ताह में एक या दो दिन ही चौकी आते हैं। 

मुख्यालय में अधिकारी की अनुपस्थिति के चलते कंपनी कार्यालय में भर्राशाही का आलम है और कर्मचारी किसी की समस्या एवं शिकायतों का समाधान नहीं करते हैं। जिससे आमजनों में कंपनी की कार्यशैली को लेकर आक्रोश व्याप्त है।

 धारा 144 हटते ही होगा आंदोलन

बिजली कंपनी के अधिकारी-कर्मचारी की कार्यशैली से क्षुब्ध नागरिकगण एवं विपक्षी पार्टियां धारा 144 हटते ही कांग्रेस सरकार एवं कंपनी के खिलाफ सडक़ में आने की तैयारियां कर रही है। भाजपा के जिला पंचायत सदस्य अरूण यादव एवं भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष डालसिंह कौशिक ने कहा कि कांग्रेस सरकार में बिजली कंपनी बिल के नाम पर लूट खसोट कर रही है। इधर सरकार बिजली बिल हाफ  की बात करती है और इधर लोगों को मनमाना बिल का करंट लग रहा है।

भाजपा नेताओ ने आरोप लगाया कि सरप्लस बिजली होने के बावजूद बिजली की घंटों कटौती की जा रही है। जिससे व्यापार-व्यवसाय एवं जनजीवन प्रभावित हो गया है।

एई एके सिंह का कहना है कि बीती रात गाज गिरने से विद्युत सप्लाई प्रभावित हुई थी। निरंतर 7 घंटे की कड़ी मेहनत के बाद व्यवस्था बहाल किया गया। कंपनी कार्यालय में भर्राशाही व मुख्यालय में नहीं मिलने की शिकायत गलत है।


31-May-2020 8:37 PM

राजनांदगांव, 31 मई। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कोरोना (कोविड-19) संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले के भीतर ऑटो रिक्शा, टैक्सी, कैब आदि का परिचालन के लिए दिशा-निर्देश जारी किया है। जिले के भीतर टैक्सी, ऑटो का परिचालन नियमानुसार हो सकेगा। अंतर जिला टैक्सी, ऑटो के परिचालन एवं आवागमन के लिए ऑनलाइन ई-पास प्राप्त किया जाना अनिवार्य होगा। सीजी कोविड-19 ई-पास एप्लीकेशन के माध्यम से यात्रीगण नियमानुसार ई-पास के लिए आवेदन कर सकते हैं। वेबलिंग द्धह्लह्लश्चह्य:/ /द्गश्चड्डह्यह्य.ष्द्दष्श1द्बस्र19.द्बठ्ठ के माध्यम से भी मोबाइल नंबर से रजिस्टर कर अंतर जिला आवागमन के लिए ई-पास के लिए आवेदन किया जा सकता है। ऑनलाइन ई-पास के बिना अंतर जिला टैक्सी, ऑटो परिचालन की अनुमति नहीं होगी। बिना अनुमति परिचालन की दशा में कार्रवाई की जा सकती है। टैक्सी, ऑटो में यात्रा के दौरान अनिवार्य रूप से चेहरे पर मास्क धारण करना, स्वच्छता एवं सोशल डिस्टेसिंग तथा कोरोना नियंत्रण के लिए जारी अन्य एडवाईजरी का कड़ाई से पालन किया जाना अनिवार्य होगा। अंतर्राज्यीय व्यवसायिक बसों और अंतर्राज्यीय व्यवसायिक टैक्सियों का परिचालन आगामी आदेश तक प्रतिबंधित रहेगा।


31-May-2020 8:35 PM

राजनांदगांव, 31 मई। जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव ने शनिवार को राजनांदगांव विधानसभा के शेष पांच और क्वॉरंटीन सेंटर भर्रेगांव, पारीखुर्द,  कुसमी, मोखला एवं रवेली में रह रहे प्रवासी मजदूरों के एकांत का भागीदार बनते सूखा राशन पहुंचाया।

ज्ञात हो कि डॉ. रमन सिंह ने अपने विधानसभा के प्रत्येक क्वॉरंटीन सेंटर के प्रत्येक रहवासी के लिए सूखा राशन की चिंता करते उनके लिए व्यवस्था की है। जिसके तहत ही जिला भाजपा के निर्देशन में प्रत्येक प्रवासी श्रमिकों को सूखा राशन का वितरण किया जा रहा है।


31-May-2020 8:30 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। पूर्व मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता लीलाराम भोजवानी ने छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर शोक व्यक्त करते कहा कि जोगी ने अपने जीवनकाल में मजबूत राजनीतिक और प्रशासनिक इच्छा शक्ति की बदौलत प्रभावी व्यक्तित्व बरकरार रखा।

श्री भोजवानी ने कहा कि कठिन चुनौतियों से पार पाने की जोगी की विशेष खासियत रही। छत्तीसगढ़ जैसे सूबे को ऐसे राजनीतिक हस्तियों की दरकार है। एक ही जीवन में जोगी ने अपने ओजस्वी व्यक्तित्व से कई शीर्ष पदों को हासिल किया। श्री भोजवानी ने कहा कि जोगी एक दमदार राजनेता होने के अलावा विषम परिस्थितियों को अनुकूल बनाने में भी दक्ष थे। 

प्रदेश की राजनीति में जोगी का नाम हमेशा आगे रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री जोगी ने छत्तीसगढ़ राज्य के तीव्र विकास की नींव रखी। आज पूरा प्रदेश विकास की ओर बढ़ रहा है तो उसके पीछे जोगी की दूरदर्शिता एक वजह रही। उनके निधन पर श्री भोजवानी ने श्रद्धासुमन अर्पित करते कहा कि शोक संतप्त परिवार को ईश्वर से दुखद घड़ी को सहने की शक्ति देने की प्रार्थना की।

 

 

 


31-May-2020 8:27 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयप्रकाश नड्डा ने शनिवार को देशभर के करोड़ों कार्यकर्ताओं को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते मोदी सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल पूरा होने पर उनकी उपलब्धियों को बताया। उक्त आयोजन का लाईव प्रसारण भाजपा कार्यालय में भी आयोजित किया गया।

इस दौरान वरिष्ठ भाजपा नेता खूबचंद पारख, शोभा सोनी, तरुण लहरवाणी, अतुल रायजादा, भरत वर्मा, शरद सिन्हा, पारस वर्मा, आकाश चोपड़ा सहित  अन्य कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय अध्यक्ष को सीधे सुना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते दूर-दूर बैठकर मोदी सरकार की एक वर्ष की ऐतिहासिक उपलब्धियों से भरे कार्यकाल के बारे में विस्तार से जाना। भाजपा कार्यालय के अतिरिक्त सभी प्रमुख नेताओं ने करोना संक्रमण के चलते घर पर ही टीवी के माध्यम से राष्ट्रीय अध्यक्ष से मार्गदर्शन प्राप्त किया। जिनमें जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव, वरिष्ठ भाजपा नेता अशोक शर्मा, लीलाराम भोजवानी, संतोष अग्रवाल, सचिन बघेल, विक्रांत सिंह, सौरभ कोठारी, सुरेश भीमनानी, सुरेंद्र सिंह बनोआना, कोमल जंघेल, गीता घासी साहू, रजिंदर पाल भाटिया, रामजी भारती, अशोक चौधरी, रविन्द्र सिंह सहित अन्य नेताओं ने घर पर ही अपने अध्यक्ष का उद्बोधन सुनकर आनंद लिया।


31-May-2020 7:43 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

राजनांदगांव, 31 मई। प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी छग की सचिव अधिवक्ता कुसुम दुबे ने बयान जारी कर छग सरकार के प्रति आभार जताते कहा कि मध्यान्ह भोजन रसोईया संघ के स्वैच्छिक वेतन कटौती के आग्रह पर लोक शिक्षण संचनालय के आदेश के अनुसार स्कूलों में कार्यरत मध्यान्ह भोजन रसोईयों के वेतन से स्वैच्छिक 200 की कटौती का आदेश पारित हुआ था। यह कटौती कोरोना संक्रमण से लडऩे के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए की जानी थी। 

कुसुम के अनुसार आदेश जारी होने के बाद से मध्यान्ह भोजन रसोइयों का एक वर्ग इससे सहमत और दूसरा वर्ग असहमत था। असहमत वर्ग के लोगों ने अपनी पीड़ा कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह के समक्ष रखा। श्री सिंह ने तत्काल संज्ञान लेते मुख्यमंत्री सचिवालय के जिम्मेदार अधिकारियों से इस संबंध में चर्चा की एवं उचित निराकरण करने का आग्रह किया। 
मुख्यमंत्री सचिवालय ने तत्परता दिखाते इस मामले का परीक्षण किया तथा तत्काल इस वेतन कटौती को बंद करने के निर्देश दिए। संचालक लोक शिक्षण जितेंद्र शुक्ला ने 29 मई 2020 को ही आदेश जारी कर 200 रुपए के कटौती पर रोक लगा दी है। 

सरकार के इस संवेदनशील निर्णय के लिए प्रदेश एवं जिला महिला कांग्रेस ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आरपी सिंह के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है।

 

 


Previous1234567Next