छत्तीसगढ़ » कोरबा

Date : 17-Jan-2020

रेणु अग्रवाल ने नगर के विकास के कीर्तिमान कायम किए हैं, मूलभूत सुविधाओं पर व्यापक पैमाने पर कार्य किए गए हैं, हमें उनके इन्हीें कार्यों को आगे बढ़ाकर नगर निगम क्षेत्र को एक विकसित क्षेत्र बनाना हैं-  महापौर 

महापौर ने ली अधिकारियों की पहली बैठक

कोरबा, 17 जनवरी। नगर पालिक निगम के मुख्य प्रशासनिक भवन साकेत स्थित सभाकक्ष में महापौर  राजकिशोर प्रसाद ने निगम की अधिकारियों की पहली बैठक ली तथा निगम के विभिन्न कार्यो की विस्तार से जानकारी लेते हुए कार्यों की कार्यप्रगति की समीक्षा की। 

उन्होंने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि विगत 05 वर्षों के दौरान राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के मार्गदर्शन में पूर्व महापौर रेणु अग्रवाल ने नगर के विकास के कीर्तिमान कायम किए हैं, मूलभूत सुविधाओं पर व्यापक पैमाने पर कार्य किए गए हैं, हमें उनके इन्हीें कार्यों को आगे बढ़ाकर तथा आवश्यकतानुसार नई कार्ययोजनाएं तैयार कर कोरबा व सम्पूर्ण नगर निगम क्षेत्र को एक विकसित क्षेत्र बनाना हैं तथा जनआकांक्षाओं पर खरा उतरना हैं। 

श्री प्रसाद ने सडक़, नाली, पेयजल व्यवस्था, सडक़ रोशनी, साफ-सफाई से संबंधित कार्यो की विस्तार से जानकारी संबंधित कार्यपालन अभियंताओं एवं  अधिकारियों से लेते हुए मूलभूत सुविधाओं एवं नागरिक सेवाओं से जुड़े इन कार्यो की बेहतरी के संबंध में अधिकारियों से आवश्यक चर्चा की। बैठक के दौरान उन्होंने नए टी.पी.नगर के निर्माण, सीएसईबी चौक से मेजर ध्यानचंद चौक तक फोरलेन निर्माण सहित निगम द्वारा किए जा रहे प्रमुख विकास व निर्माण कार्यों के साथ-साथ वार्डों व बस्तियों में प्रगतिरत व प्रस्तावित विकास कार्यो की जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

 बाईपास सडक़ों के निर्माण प्राथमिकता के साथ
बैठक के दौरान महापौर ने अधिकारियों से कहा कि शहर के बीच से हो रहे कोयला परिवहन एवं शहर में बढ़ते यातायात के दबाव से निपटने के लिए शहर के चारों ओर बाईपास सडक़ों का निर्माण हमारी प्राथमिकताओं में है। उन्होने कहा कि कोयला परिवहन बंद करना उद्देश्य नहीं हैं, बल्कि कोयले का परिवहन शहर के अंदर से न होकर शहर से बाहर से हों, ताकि शहर में बढ़ते प्रदूषण को रोका जा सके, उन्होंने कहा कि बाईपास सडक़ों के निर्माण की दिशा में सुनियोजित रूप से कार्य हों, इस दिशा में हमें आवश्यक कार्ययोजनाएं तैयार करनी।

साफ-सफाई कार्यो पर रहे विशेष फोकस - बैठक के दौरान महापौर श्री प्रसाद ने निगम के स्वास्थ्य अधिकारी  व्हीके सारस्वत से निगम द्वारा किए जा रहे साफ-सफाई कार्यो, उपलब्ध संसाधनों, कितने वार्डो में सफाई कार्य ठेके पर हो रहे हैं तथा  कितने वार्डो में निगम द्वारा स्वयं के अमले से सफाई कार्य कराए जा रहे हैं, आदि की विस्तार से जानकारी ली गई। महापौर श्री प्रसाद ने कहा कि साफ-सफाई कार्यो पर विशेष फोकस रखें, क्योंकि शहर की स्वच्छता से ही शहर की छबि बनती है, हमें कोरबा को एक सुंदर व स्वच्छ शहर बनाना हैं।

बैठक के दौरान मुख्य लेखाधिकारी पीआर मिश्रा, अधीक्षण अभियंता ग्यास अहमद, कार्यपालन अभियंता एके शर्मा, आरके माहेश्वरी, एमएन सरकार, आरके भोजासिया, आरके चौबे, भूषण उरांव, उपायुक्त बीपी त्रिवेदी, निगम सचिव पवन वर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी व्हीके सारस्वत, सहायक अभियंता डीसी सोनकर, विनोद शांडिल्य, अखिलेश शुक्ला, एचआर बघेल, विवेक रिछारिया, एनकेनाथ, राजेश पाण्डेय, राकेश मसीह, तपन तिवारी, प्रकाश चन्द्रा, संजीव बोपापुरकर, लीलाधर पटेल, आनंद राठौर आदि सहित निगम के अन्य अभियंतागण व अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।


Date : 17-Jan-2020

कोरबा-कटघोरा में हाथियों का उत्पात, फसल व मकानों को पहुंचा रहे नुकसान, दहशत में रतजगा कर रहे ग्रामीण 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 17 जनवरी।
हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। कटघोरा एवं कोरबा वनमंडल में डेरा जमाए हुए हाथियों ने कई किसानों के मकान व फसल को नुकसान पहुंचाया है। ग्रामीणों के मुताबिक हाथियों को खदेडऩे में वन अमला नाकाम साबित हो रहा है। ग्रामीणों ने जानमाल की सुरक्षा को लेकर खुद ही हाथियों को खदेडऩे का जिम्मा उठाया है। शाम ढलते ही मशाल लेकर चौकसी शुरू कर दी जा रही है। हाथियों के दहशत के कारण ग्रामीणों को रतजगा कर रात गुजारनी पड़ रही है।

कोरबा वन मंडल के करतला रेंज में एक वृद्ध दंतैल पिछले 4 दिनों से विचरण कर रहा है। यह दंतैल कभी जोगीपाली पहुंच जाता है तो कभी नोनदरहा क्षेत्र में पहुंचकर सब्जी के फसलों को रौंद देता है, जिससे वनांचलवासी काफी हलाकान है। दंतैल द्वारा बीती रात नोनदरहा में उत्पात मचाया गया। इस हाथी ने रात में गांव में प्रवेश किया और चार किसानों की बाड़ी उजाड़ते हुए वहां लगे हरे-भरे सब्जी के पौधों को तहस नहस कर दिया, जिससे ग्रामीणों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। हाथी के द्वारा गांव में बाड़ी उजाड़े जाने की सूचना पर वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचकर नुकसानी का आंकलन शुरू कर दिया है। 

उधर कटघोरा वनमंडल के केंदईरेंज में उत्पात मचाने वाले हाथियों का 43 सदस्यी झुंड एतमा नगर परिक्षेत्र पहुंच गया है। हाथियों का यह दल परिक्षेत्र के सलिहाभाठा, कोदवारी, बालपचरा, खुरूभाठा में उत्पात मचाने के साथ ही अब तक 20 मकानों को क्षतिग्रस्त किया है। इतना ही नहीं झुंड ने ग्रामीणों के खेत में लगे अरहर, धान व हिरवा की फसल को भी नुकसान पहुंचाया है। हाथियों के उत्पात से वनांचल वासी हलाकान है और रतजगा करने को मजबूर है। ग्रामीणों के मुताबिक वन विभाग द्वारा उनको किसी तरह का सहयोग प्राप्त नहीं हो रहा है। विभाग हाथियों को खदेडऩे में नाकाम साबित हुआ है।

ग्रामीण व महिला हुए घायल
बांगो क्षेत्र में हाथियों के झुंड ने गांव में भारी उत्पात मचाया। हाथियों ने मकान को क्षतिग्रस्त कर दिया जिसकी चपेट में आ जाने से एक महिला घायल हो गई। वहीं हाथियों को देखकर भाग रहा ग्रामीण गिरकर घायल हो गया। दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।