छत्तीसगढ़ » महासमुन्द

11-Apr-2021 7:59 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल। 
शनिवार को पिथौरा, सरायपाली व बसना ब्लॉक के शिक्षकों को बोर्ड परीक्षा के गोपनीय सामग्रियों का वितरण माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारियों द्वारा किया गया। इस साल 247 केंद्र बनाए गए है। जिसमें 112 मुख्य केंद्र है, जहां गोपनीय सामग्री का वितरण किया जा रहा है। शनिवार को तीनों ब्लॉक के करीब 66 मुख्य केंद्र को गोपनीय सामग्री का वितरण किया गया है। ये केंद्र अपने उप केंद्रों को परीक्षा आयोजित होने के पूर्व सामग्री का वितरण करेंगे। इसी प्रकार रविवार को महासमुंद व बागबाहरा ब्लॉक के 46 केंद्र को गोपनीय सामग्री का वितरण किया जा रहा है। सामग्री लेने के लिए शिक्षक समन्वय केंद्र पहुंचे हुए हैं।  

मालूम हो कि बोर्ड परीक्षा रद्द होने के बाद जिला मुख्यालय के समन्वयक केंद्र में गोपनीय सामग्री का वितरण किया गया है। कल शनिवार को सुबह से शिक्षक गोपनीय सामग्री लेने के लिए जिला मुख्यालय के समन्वयक केंद्र आदर्श हायर सेकेंडरी स्कूल पहुंचे थे, यहां शिक्षकों की भीड़ लगी थी, सोशल डिस्टेंसिंग का खुले आम उल्लंघन हो रहा था। गोपनीय सामग्री का वितरण शाम तक पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ। सामग्रियों का वितरण करने के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारी व कर्मचारी पहुंचे थे। पहले दिन तीन ब्लॉक के स्कूलों से आए शिक्षकों को सामग्री का वितरण किया गया है। आज रविवार को दो ब्लॉक का वितरण जारी है। बता दें कि इस बार समन्वयक केंद्रों में प्रश्न.पत्र जमा नहीं रहेंगे। कोविड को देखते हुए प्रश्न-पत्रों को क्षेत्र के थाना व चौकियों में जमा किया जाएगा। जिला समन्वयक केंद्र प्रभारी एस चंद्रसेन ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मंडल से आदेश जारी किया गया है कि रद्द कर दिया गया है, लेकिन सामग्री का वितरण नियत तिथि को ही किया जाएगा।

 


11-Apr-2021 6:29 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल।
कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम बेलसोंडा में शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात एक मकान में अज्ञात चोरों ने प्रवेश कर आलमारी में रखे 10 हजार रुपए नगद व 10 हजार रुपए के कीमती जेवरातों की चोरी कर लिया है। पुलिस अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर पतासाजी में जुट गई है।

थाने से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम बेलसोंडा निवासी प्रीतम देवांगन व उनका परिवार रात 9 बजे खाना खाकर सो गया। उसका बड़ा लडक़ा घर में तथा प्रीतम, उसकी पत्नी व छोटा बेटा घर से लगे बड़े भाई के यहां सोने चला गया। अलसुबह चार बजे बड़ा लडक़ा उठा तो देखा कि मेन गेट का दरवाजा खुला था। चोरी होने की शंका हुई तो, अन्य कमरों में जाकर देखा। सभी ओर का दरवाजा खुला था। उसने आवाज लगाकर अपने पिता को घटना की जानकारी दी। अज्ञात चोरों ने रात में प्रवेश कर आलमारी में रखे 10 हजार रुपए नगद एवं मंगलसूत्र, चांदी की पायल, मोबाइल व मोटर साइकिल की आरसी बुक को चुरा लिया है। चोरी गई जेवरात की कीमत 10 हजार रुपए आंकी गई है।


11-Apr-2021 6:27 PM 19

निजी अस्पतालों की संख्या बढक़र चार हुई 

महासमुंद, 11 अप्रैल। महासमुंद जिले में कोविड.19 के बढ़ते मामलों और कोविड मरीज़ों को त्वरित और बेहतर उपचार के लिए अब सरकारी अस्पताल के साथ महासमुंद जिले के निजी अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है। कल जिला प्रशासन द्वारा महासमुंद के आदित्य हॉस्पिटल को कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए अनुमति दी गई। 

अब जिले में कोविड का इलाज करने वाले निजी अस्पतालों की संख्या 4 हो गई है। इससे पहले परसों शुक्रवार को महासमुंद जिले के तीन निजी अस्पतालों आरएलसी हॉस्पिटल महासमुंद और जैन हॉस्पिटल महासमुंद के साथ ही भारती हॉस्पिटल सरायपाली में कोविड मरीज़ों के इलाज की अनुमति दी गई थी। इन चारों निजी अस्पतालों में आक्सीजन बेड की सुविधा के साथ अन्य ज़रूरी सुविधाएं हंै। कलेक्टर डोमन सिंह ने बताया कि जिले के अन्य निजी अस्पतालों से भी सहमति ली जा रही है ताकि कोविड के मरीज़ों को तुरंत इलाज की सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि फिलहाल सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों में कोरोना का इलाज जारी है। सरकारी अस्पतालों में इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है। वहीं निजी अस्पतालों में सरकार की तय गाइडलाइन के मुताबिक कोविड ट्रीटमेंट फीस ली जाएगी। 

 


11-Apr-2021 6:24 PM 11

महासमुंद, 11 अप्रैल। संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने ग्राम अमावश में 16 लाख की लागत से विकास कार्यो का भूमिपूजन किया।   शनिवार को एक सादे कार्यक्रम में संसदीय सचिव श्री चंद्राकर के मुख्य आतिथ्य में आदर्श ग्राम योजना के तहत 9.30 लाख की लागत से नाली निर्माण कार्य, 3.70 लाख की लागत से प्राथमिक शाला में अतिरिक्त कक्ष निर्माण व 3 लाख की लागत से बस्ती व अम्बेडकर तालाब में पचरी निर्माण का भूमिपूजन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत सदस्य अमर अरुण चंद्राकर ने की। विशेष अतिथि के रूप में सरपंच सोनसाय निर्मलकर, माणिक साहू उपस्थित थे। अपने संबोधन में संसदीय सचिव श्री ने कहा कि ग्राम में विभिन्न कार्यों के निर्माण होने से ग्रामवासी व आसपास क्षेत्र के लोगों को सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि शहर के साथ ही विधानसभा क्षेत्र के गांवों में विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

 


11-Apr-2021 6:21 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल।
पोल्ट्री फार्म के अंदर जुआ खेल रहे 6 व्यक्तियों को साइबर सेल व चौकी की संयुक्त टीम ने दबिश देकर पकड़ा है। इनके पास से 92 हजार 370 रुपएए 1 कार व 3 बाइक व 6 मोबाइल जब्त किया गया है। सभी आरोपी बसना क्षेत्र के रहने वाले हैं। इनके खिलाफ  पुलिस ने 13 जुआ एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। मामला भवंरपुर चौकी क्षेत्र का है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार साइबर सेल व भंवरपुर पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम रामभांठा के खाली मुर्गी फार्म में कुछ लोग रुपए का दांव लगाकर जुआ खेल रहे हैं। सूचना पर संयुक्त टीम ने कल शनिवार को दबिश देकर 6 लोगों को पकड़ा है। 

पकड़े गए आरोपी में ग्राम चनाट निवासी सुनिधर पटेल 44 साल, नेहरू पटेल 38 साल, कुंजन पटेल 35 साल, बसना निवासी सुनील अग्रवाल 58 साल, मोहम्मद समीम 48 साल एवं अजगरखार निवासी गोपाल नायक 45 साल शामिल हैं। आरोपियों को पकडऩे के लिए पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाई थी। टीम कार व बाइक के माध्यम से घटना स्थल तक पहुंच जुआरियों को पकड़ा। 

पुलिस कहती है कि जुआरियों ने वाचर भी रखा था, जो वहां आने जाने वालों पर नजर बनाए हुए थे। टीम ने वाचर को चकमा देकर पोल्ट्री फार्म में दबिश दी। इस कार्रवाई में सायबर सेल महासमुंद प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत व चौकी प्रभारी उमाकान्त तिवारी, प्रआर जनक उराव, आरक्षक रवि यादव, संदीप भोई, हेमन्त नायक, युगल पटेल, योगेन्द्र दुबे, ललित यादव, त्रिनाथ प्रधान, देव कोसरिया, शैलेन्द्र ठाकुर, गोविंद प्रधान, मनोज मानिकपुरी, डिग्री नंद शामिल हैं। 
 


11-Apr-2021 6:20 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

महासमुंद, 11 अप्रैल। कल महासमुंद जिले के पदमपुर उपखंड के जगदलपुर थाना स्थित बादीकटा स्कूल के पास एक  तेज रफ्तार बाइक पेड़ से टकरा गई। जिसमें सवार दो की मौके पर ही मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार बाइक धुमाभटा चौक की ओर से आ रही थी, जिसमें लंहगर गांव के विक्रम प्रधान व ईश्वर सेठ सवार थे। बाइक तेज रफ्तार और संतुलन खोने की वजह से पेड़ से टकरा गई। दुर्घटना के बाद स्थानीय लोगों ने दोनों को पदमपुर चिकित्सालय भेजा, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 
 


11-Apr-2021 6:17 PM 22

14 से 22 तक सख्त पाबंदी की घोषणा  

भाजपा का कहना है कि ये राजनीतिक दबाव है कांग्रेस कहती है चुनाव अपनी जगह, लॉकडाउन जरूरी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल।
महासमुन्द जिले में कल शनिवार की देर रात आगामी 14 तारीख से 22 तारीख तक लॉकडाउन की घोषणा जिले के कलेक्टर ने कर दी है। बता दें कि पिछले साल 1 अक्टूबर 2020 को जिले में लॉकडाउन खत्म हुआ था। इस तरह अब 194 दिनों बाद लॉकडाउन लौट रहा है। 

हालांकि अभी 14 अप्रैल को होनेवाले लाकडाउन से पहले जनपद अध्यक्ष का चुनाव होना है। बता दें कि जनवरी 2021 में जनपद अध्यक्ष भागीरथी चंद्राकर के निधन के बाद से जनपद अध्यक्ष की कुर्सी खाली है। इसी के लिए 12 अप्रैल को चुनाव होना है। अब इसी दौरान लॉकडाउन को लेकर भाजपा ने प्रशासन पर आरोप लगाया है कि यह राजनीतिक दबाव में आकर लिया गया निर्णय है। वहीं कांग्रेस का कहना है कि चुनाव अपनी जगह पर है लेकिन लॉकडाउन जरूरी है। 

शनिवार की शाम को भी कलेक्टर ने व्यवसायिक गतिविधियों की समय सीमा में 3 घंटे की कटौती करते हुए सुबह 6 से अपरान्ह 3 बजे तक दुकानें खोलने का आदेश जारी किया था। वहीं कल देर रात 14 तारीख से लॉकडाउन की भी घोषणा कलेक्टर ने की है।

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डोमन सिंह ने आदेश में कहा है कि नियम तोडऩे वालों पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। लॉकडाउन के दौरान तय समयावधि में घरों में जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता प्रात: 6 से प्रात: 8 बजे तक व शाम 5 बजे से सायं 7 बजे तक लॉक डाउन से मुक्त रहेंगे। न्यूज पेपर हॉकर भी इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। 

लॉकडाउन के दौरान जिले में शराब, सब्जी, फल और किराना दुकानें बंद रहेंगी। इसके अलावा जिले की सीमाएं सील रहेंगी और धार्मिक स्थान भी बंद रहेंगे। केवल मेडिकल सेवाएं, कोविड वैक्सीनेशन सेंटर, रेलवे स्टेशन और दूध की दुकानें खुली रहेंगी। आवश्यक स्थिति में ऑफिस आने पर लोगों के लिए आईडी कार्ड दिखाना अनिवार्य होगा। पेट्रोल पंप पर भी चिन्हित सेवाओं से जुड़े लोगों को ही पेट्रोल मिलेगा। इमरजेंसी में चार पहिया वाहन और ऑटो में ड्राइवर सहित अधिकतम 3 लोगों को बैठने की अनुमति मिलेगी।

जिले में लगातार तीसरे दिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आकड़ा 533 के पार पहुंच गया है। शनिवार को 3 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार महासमुंद ब्लॉक में 170, बागबाहरा में 97, पिथौरा में 129, बसना में 67 और सरायपाली में 70 मरीज मिले हैं। कल शनिवार को स्वस्थ्य 10 मरीज हुए हैं। वहीं तीन की मौत हो हुई है। जिले में अब तक 181 लोग कोरोना से जान गवां चुके हैं। 

कल ही 60 आरटीपीसीआर टेस्ट किए गए हैं, जिसमें 15 पॉजिटिव आए। इसी तरह टू.नॉट से 134 व रैपिड एंटीजेन से 1060 लोगों का टेस्ट किया गया है। इसमें क्रमश: 15 एवं 503 लोग पॉजिटिव आए हैं। यानी कुल 1254 ने शनिवार को टेस्ट कराया है। शुक्रवार को भी 500 के पार पॉजिटिव मरीज आए थे। वहीं दो लोगों की मौत हुई थी।

लाकडाउन के संबंध में कांग्रेस जिला अध्यक्ष डा. रश्मि चंद्राकर कहती हैं कि लॉकडाउन के मैं पक्ष में रही हूं। इस संबंध में मैंने पहले भी कलेक्टर से चर्चा की थी साथ ही इसको लेकर व्यापारिक वर्ग ने भी समर्थन किया था चुनाव अपनी जगह है। इस बात की लोगों को जानकारी है। 

भाजपा जिलाध्यक्ष रूप कुमारी चौधरी का कहना है कि लाकडाउन पूरी तरह से राजनीतिक दबाव में लिया गया है। हम पहले भी इस संबंध में आरोप लगा रहे थे। जनपद चुनाव के लिए भी सदस्यों को गायब कर दिया गया है। जिसके बाद चुनाव की अधिसूचना जारी की गई और अधिसूचना के तहत 12 तारीख को जनपद अध्यक्ष का चुनाव होना है। चुनाव के बाद लॉकडाउन की तारीख घोषित की गई है। यह पूरी तरह से राजनीतिक दबाव का हिस्सा है।
 


11-Apr-2021 2:38 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल।
महासमुंद जिले में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है और विशेषकर जिले के सीमावर्ती इलाकों में जांच की ढिलाई को देखते हुए लोग काफी चिंतित हैं। छत्तीसगढ़-ओडिशा सीमा के 7 में से सिर्फ  3 रास्तों पर ही कोरोना जांच हो रही है, वहीं 4 रास्तों से बेधडक़ आना-जाना हो रहा है।

छत्तीसगढ़ से सटे ओडिशा के बरगढ़ जिले में बरगढ़-संबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्र. 53 स्थित अंबाभोना ब्लॉक के कंडपला व गंठियापाली, सोहेला ब्लॉक के ग्रींजल, पाईकमाल ब्लॉक के चरदापाली पंचायत के गुंचाडिही, झारबंध ब्लॉक के लउडदिरहा और पदमपुर ब्लॉक के जगदलपुर सीमावर्ती इलाकों के अलावा कुल 7 रास्ते हैं, जो ओडिशा की सीमा में प्रवेश करते हैं। प्रशासन की ओर से केवल लुहुराचट्टी, जगदलपुर, रुचिदा में कोरोना जांच की जा रही है, जबकि बाकी के 4 स्थानों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ऐसी स्थिति में कोरोना के मामले बढऩे की आशंका है। 

ज्ञात हो कि अंबाभोना ब्लॉक के रुचिदा सीमा पर जांच शुरू की गई है, लेकिन इसी ब्लॉक की दो सीमाएं कंडपला व गंठियापाली में खुलेआम यातायात जारी है। 
महासमुन्द जिले से लगे होने के कारण इन सीमावर्ती गांवों से लोगों का आना-जाना चौबीसों घंटे लगा रहता है। ओडिशा-छत्तीसगढ़ सीमा के नजदीकी दर्जनों गांवों के लोगों का एक-दूसरे के प्रांत में आना-जाना दिनचर्या में शामिल है। इन्हीं इलाकों में कोरोना का संक्रमण अब बढऩे लगा है और सीमा पार कर आने जाने वालों के कोरोना जांच की मांग उठने लगी है। इस बीच महज तीन रास्तों से आवाजाही करने वालों की जांच तो हो रही है, लेकिन बाकी 4 रास्तों में लोग बेधडक़ बिना जांच आवाजाही कर रहे हैं।  


11-Apr-2021 2:32 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 11 अप्रैल।
यह महासमुन्द का बिन्नीबाई सब्जी बाजार है। आज सुबह साढ़े 9 बजे की यह तस्वीर है। यही हाल किराना दुकानों की भी है। कपड़ा दुकान तक में मनमानी भीड़ एकत्र है। 

ज्ञात हो कि जिले में रविवार से 13 अप्रैल तक दुकानें अब सुबह 6 से दोपहर 3 बजे तक खुलेंगी। इसके लिए कलेक्टर ने आदेश जारी कर दिया है। क्योंकि गत तीन दिनों में डेढ़  हजार से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इस विकट परिस्थिति को नियंत्रित करने के लिए कलेक्टर ने 2 दिन बाद ही दुकानों के खुलने व बंद होने की समय.सीमा को कम करने का आदेश जारी किया था। 

बीते 7 अप्रैल को कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में जिले के नगरीय निकायों की दुकानों, होटल, ढाबे व रेस्टोरेंट्स को सुबह 6 से शाम को 6 बजे तक खोलने की अनुमति दी थी और नियमों का उल्लघंन करने पर 15 दिन के लिए दुकान सील करने नए आदेश जारी हुए थे। जिले में कोरोना की लगातार वृद्धि को देखते हुए जिले के नगरीय सीमाक्षेत्र के भीतर सभी प्रकार की स्थायी या अस्थायी दुकानें अब सुबह 6 से खोलने और दोपहर 3 बजे तक बंद करना होगा। हालांकि पेट्रोल पंप व दवाई दुकान इस नियंत्रण से मुक्त होंगे। दुकानदारों को अपने दुकान के बाहर बंद और खुलने का समय चिपकाना होगा। सभी दुकानों में मास्क रखना होगा। बिना मास्क के किसी भी ग्राहक को सामान नहीं दिया जाएगा।


10-Apr-2021 6:17 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
कलेक्टर डोमन सिंह ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में कल दोपहर 1 बजे कोविड.19 के नियंत्रण के सम्बंध में जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार,जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारी, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी सहित परियोजना अधिकारी, संबंधित विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकरी आकाश छिकारा, अपर कलेक्टर जोगेन्द्र कुमार नायक, एसडीएम महासमुन्द सुनील कुमार चंद्रवंशी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.एनके मंडपे सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि अन्य जिलों की तरह महासमुन्द जिले में भी कोविड के धनात्मक प्रकरणों में वृद्धि हो रही है। इससे निपटने के लिए हम सभी लोगों को समन्वय के साथ चरणबद्ध तरीके  से युद्धस्तर पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा है कि बड़ी संख्या में नागरिक कोरोना से प्रभावित हुए हैं। ऐसे में हर व्यक्ति के लिए जरूरी हो गया है कि वे इस बीमारी के प्रति अपनी समझ बढ़ाए, कोरोना के रोकथाम के अनुरूप अपना व्यवहार अपनाए। जैसे मास्क लगाना, सामाजिक दूरी बना कर रखना और सेनेटाईजर का उपयोग करना न भूलें। 

कलेक्टर ने जिले के सभी नागरिकों से कोरोना के नियंत्रण और रोकथाम के लिए सहयोग की अपील की है। किसी भी व्यक्ति को कोविड.19 के लक्षण की संभावना दिखने पर कोरोना का टेस्ट अवश्य कराएं तथा 45 वर्ष की आयु से नागरिक कोरोना का टीका भी अनिवार्य रूप से लगवाएं। कोरोना से बचाव के लिए यह जरूरी है कि शासन.प्रशासन और चिकित्सा स्टाफ को सही.सही जानकारी दें। सही जानकारी नहीं मिलने पर ना केवल ऐसे नागरिक अपने जीवन के प्रति संकट पैदा करेंगे बल्कि अपने घर-परिवार,मित्रों और परिचितों के लिए खतरा बनेंगे। इसलिए कांटेक्ट ट्रेसिंग टीम और घर-घर सर्वेक्षण करने आए सर्विलांस टीम को पूरी और सही जानकारी दें।

कलेक्टर ने कहा कि जिले में पात्र हितग्राहियों के प्रथम चरण के टीकाकरण का कार्य दो-तीन दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। पहले चरण के टीकाकरण का कार्य जिन ग्राम पंचायतों या नगरीय निकायों के वार्डों में पहले हो चुका है। ऐसे क्षेत्रों में द्वितीय चरण के वैक्सीनेशन डोज लगाने की कार्यवाही प्रारम्भ करें। इसके लिए अधिक से अधिक स्थानीय स्तर पर भी प्रचार.प्रसार करें। अधिकारियों ने बताया कि प्रथम चरण के टीकाकरण का कार्य बसना विकासखण्ड में शतप्रतिशत् पात्र हितग्राहियों का किया जा चुका है। कलेक्टर ने कहा कि महासमुन्द जिले के नागरिकों के जागरूकता के कारण बढ़चढ़ कर कोविड.19 का टेस्ट करा रहें हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में 14 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। वहां के निवासियों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो इसके लिए अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध कराएं। कंटेनमेंट जोन में निवास करने वाले सभी लोगों का टेस्टिंग, होम आइसोलेशन पर रखे गए लोगों का फीडबैक प्राप्त करें। होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों के लिए वालंटियर इत्यादि के माध्यम से घरों में दवाई, राशन, सब्जी इत्यादि पहुंचाए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। 

कलेक्टर ने क्वारंटाइन सेंटर,कोविड केयर सेंटर,होम आइसोलेशन इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए संबंधित जगहों पर पोस्टर बैनर इत्यादि भी लगाने को कहा है। उन्होंने कोविड केयर सेंटर में ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था, जंबो सिलेंडर, टेस्टिंग कीट एवं दवाईयों की पर्याप्त उपलब्धता, मानव संसाधन, निजी अस्पतालों में डेडिकेटेड हॉस्पिटल की स्वीकृति इत्यादि की जानकारी लेते हुए जल्द से जल्द आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन बेड तैयार किए जाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए होम आइसोलेशन में रह रहें लोगों को कंट्रोल रूम से जानकारी प्राप्त करते रहने के निर्देश दिए है। उन्होंने कोविड.19 पॉजिटिव मरीजए होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों सहित अन्य संबंधित कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बरते जाने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने कहा है कि कंटेनमेंट जोन में नियमों का पालन कड़ाई से होना चाहिए ताकि कोरोना पर नियंत्रण पा सकें। विकासखंड स्तर पर कोविड केयर सेंटर बढ़ाया जाएगा। आगामी दिनों में चैत्र नवरात्र का पर्व आने वाला है। कोविड.19 एवं जिले में धारा 144 लागू होने के कारण कोई भी धार्मिक आयोजन नहीं किया जाएगा। मंदिर में केवल पुजारी ही पूजा.पाठ करेंगे। किसी भी मंदिर में भीड़ एकत्रित न हो इसके लिए समितियों से चर्चा कर लें। उन्होंने कहा है कि जिले में प्रात: 6 बजे से शाम 6 बजे तक व्यापारिक गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। इसका कड़ाई से पालन कराएं। इसके उपरांत अधिक भीड़भाड़ वाले ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में ब्लीचिंग पाउडर एवं सेनेटाईजेशन कराएं।
 


10-Apr-2021 5:33 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
जिले में अब तक 2 लाख 23 हजार से अधिक कोरोना वैक्सीन की खपत हो चुकी है। इसमें सभी चरण के पहली व दूसरी डोज भी शामिल हैं। इतने वैक्सीन के खपत के बाद जिले में अब तक सिर्फ 4. 3 प्रतिशत वैक्सीन डोज की वेस्टेज हंै। वहीं वर्तमान में जिले में कुल 56 हजार वैक्सीन स्टॉक में है, जिससे आगामी दिनों में लोगों को टीका लगाया जाएगा।

जिला उप टीकाकरण अधिकारी डा. मुकुंद राव घोड़ेसवार ने बताया कि वेस्टेज के कई कारण हैं। वैसे तो तकनीकी तौर पर एक वायल से 1 डोज खराब होने की बात सेंटर से कहा जाता है। इसका कारण है कि जब भी हर बार इंजेक्शन में वैक्सीन डोज की थोड़ी मात्रा उसमें रह ही जाती है। वहीं कई बार गर्मी के कारण या फिर वायल के खराब होने के कारण या किसी गलती से वायल के गिरने के कारण वेस्टेज होता है। वहीं एक वायल के खुलने पर सिर्फ 4 घंटे तक उसका उपयोग किया जा सकता है। डॉण् मुकुंद राव घोड़्ेसवार बताते हैं कि टीकाकरण के लिए पहली डोज लगवाने के बाद 4 से 6 सप्ताह में दूसरी डोज लगाने की बात कही गई थी। इस संबंध में केंद्र से एक लेटर आया है, जिसमें 4 से 6 के बजाए 6 से 8 सप्ताह में दूसरी डोज लगवाने से इम्युनिटी ज्यादा स्ट्रांग व बूस्ट होती है, कहा गया है। हालांकि 4-6 सप्ताह के अंतराल में भी वैक्सीन लगाया जा रहा है, लेकिन 2 सप्ताह का अंतर और बढ़ जाएगा तो अन्य लोगों को इन दिनों में वैक्सीन लगवाई जा सकती है।

प्रत्येक शुक्रवार को जिले में बच्चों व गर्भवती महिलाओं के लिए रूटीन टीकाकरण दिवस होता है। इसलिए शुक्रवार को जिले में सिर्फ  80 केंद्रों में कोरोना का टीका लगाया गया। इसके तहत शुक्रवार को 7 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है। आज शनिवार को 101 केंद्रों में टीकाकरण किया जा रहा है। )
 


10-Apr-2021 5:32 PM 20

महासमुंद, 10 अप्रैल। भारतीय जनता पार्टी चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक एवं पूर्व विधायक डॉ. विमल चोपड़ा ने प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने में प्रदेश सरकार की असफलता पर आक्रोश व्यक्त करते हुये इसे प्रदेश की जनता के साथ धोखा बताया है। इनका कहना है कि जिस सरकार को छत्तीसगढ़ की जनता ने अपनी भलाई के लिए चुना था उसका मुखिया पीठ दिखाकर असम की जनता को झूठे सपने दिखाने चले गये। डॉ चोपड़ा ने प्रभारी मंत्री द्वारा विगत दिनों जिले के प्रशासनिक अधिकारियों एवं राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों के साथ की गई वर्चुवल मींटिग को खाना पूर्ति एवं नाटक बताया है। डॉ चोपड़ा ने प्रशासन से मांग की है कि सेंटर छोडकर जो लोग होम आइसोलेशन में रहना चाहते हैं,उन्हें शासकीय वाहन से घर तक छोड़ कर राहत दी जाये। प्रशासनिक व्यवस्था के तहत कंटेनमेंट जोन बनाकर महामारी को नियंत्रित करने का प्रयास भी उचित रूप से नहीं हो पा रहा है। कंटेनमेंट  जोन में रहने वाले गरीब लोगों के भोजन पानी की कोई व्यवस्था न करना एवं किसी बड़े अधिकारी या सत्ताधारी जन प्रतिनिधि का जिम्मेदारी से व्यवस्था को मैनेज  न करना लोगों को नरकीय जिंदगी जीने के लिए मजबूर कर रहा है।
 


10-Apr-2021 5:32 PM 17

महासमुंद, 10 अप्रैल। 51 वें स्थापना दिवस 9 अप्रैल के उपलक्ष्य में प्रदेश अध्य्क्ष एनएसयूआई आकाश शर्मा के निर्देशानुसार प्रदेश महासचिव निखिलकांत साहू ने स्थानीय कांग्रेस भवन में कल ध्वजारोहण  किया। तत्पश्चात उन्होंने वृद्धा आश्रम में फल वितरित किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में एनएसयूआई संगठन भारत का ही नहीं बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा छात्र संगठन है जो कि समय- समय पर छात्रों के अधिकारों की मांग की उनकी आवाज बुलंद करता आया है। एनइसयूआईं महासमुंद के सदस्यों ने राष्ट्र्रसेवा का संकल्प लेकर स्थापना दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाया। इसमें लोकेश चन्दन साहू, जिलाध्यक्ष शाहबाज राजवानी, शहर अध्यक्ष शुभम चंद्रकार, तेजा साहू, वैभव मिश्रा, अब्दुल सुफियान,तन्मय सोनी, फलेश साहू, युवराज कनोजे, होरी साहू, निखिल चंद्राकर,  हिमांशु सिंह, रजत यादव, मनवीर पाल, शम्मी, अविरज तिवारी,  अनुराग चंद्राकर, राहुल पटेल, पुष्कर साहू, मोहित यादव, पवन कन्नौजे, मुक्कू निषाद,कमलेश साहू शामिल हैं। 
 


10-Apr-2021 5:31 PM 17

संसदीय सचिव ने पीएचई के अफसरों से की चर्चा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
लगभग दस करोड़ की लागत वाली बहुप्रतिक्षित तुमगांव जल आवर्धन योजना का काम अंतिम चरण में है। इसका 90 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। टेस्टिंग का काम ही शेष है। जल्द ही यहां से क्षेत्रवासियों को इसका लाभ मिल सकेगा। कल शुक्रवार को संसदीय सचिव विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने पीएचई के अधिकारियों से पेयजल आपूर्ति को चर्चा की।

चर्चा के दौरान संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने तुमगांव जल आवर्धन योजना की प्रगति की समीक्षा की। जिस पर पीएचई के कार्यपालन अभियंता आरके शुक्ला ने बताया कि तुमगांव जल आवर्धन योजना का काम 90 फीसदी पूरा हो गया है। टेस्टिंग का काम ही शेष है। संभवत: तीन माह के भीतर यहां से पेयजल आपूर्ति कराए जाने तैयारी की जा रही है। संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने कहा कि नगर पंचायत तुमगांव की बढ़ती आबादी के लिए पेयजल की व्यवस्था में यह जल प्रदाय योजना महत्वपूर्ण है। पानी की समस्या को दूर करने इस योजना की स्वीकृति मिली थी। लेकिन काम में तेजी नहीं आ रही थी। जिसे गंभीरता से लेते हुए योजना का मूर्त रूप देने शासन प्रशासन का ध्यान आकर्षित कराया गया। अब इसका काम 90 प्रतिशत पूरा हो गया है। उन्होंने जल्द से जल्द से पेयजल आपूर्ति को लेकर आवश्यक पहल करने दिशा.निर्देश दिए हैं।

संसदीय सचिव श्री चंद्राकर ने जल जीवन मिशन योजना की प्रगति की भी जानकारी ली। जिस पर बताया गया कि इस योजना के तहत यहां 131 गांवों के लिए टेंडर निकाला गया है। जिसमें ठेकेदार के साथ ही विभाग के कार्यपालन अभियंता व संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच के साथ एग्रीमेंट होगा। गौरतलब है कि जल जीवन मिशन योजना के तहत 65 लीटर पानी प्रति व्यक्ति प्रति दिन के हिसाब से घरों तक पानी उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना में जहां दस प्रतिशत की राशि ग्राम पंचायत देगी जबकि 90 प्रतिशत की राशि केंद्र सरकार और राज्य सरकार आधा आधा देगी।
 


10-Apr-2021 5:29 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
सरायपाली नगर व क्षेत्र में गरीबों के लिए स्व. मानिकचंद छाजेड़ की स्मृति में एंबुलेंस सेवा की सुविधा प्रतिभा पब्लिक स्कूल प्रगति सेवा समिति द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है। कल इस नए एंबुलेंस का डॉक्टर नारायण साहू और स्वास्थ्य विभाग के टीआर धृतलहरे की उपस्थिति में लोकार्पण किया गया। 

इस अवसर पर तेरापंथ सभा सरायपाली के मोहन जैन, रतन जैन, विनोद जैन, सुशील जैन, महेंद्र पारेख के साथ प्रगति सेवा समिति के अध्यक्ष नरेश चंद्र अग्रवाल, सचिव महेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष अवधेश अग्रवाल, सदस्य श्याम सुंदर अग्रवाल, मुस्ताक खान के साथ कैट नगर के अध्यक्ष मदन लाल अग्रवाल, छग चेम्बर के प्रदेश मंत्री संजय अग्रवाल, बड़ी संख्या में पत्रकार व सामाजिक कार्यकर्ता पार्षद हरदीप सिंह रैना उपस्थित थे। 

कोविड  के गाईड लाईन का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाकर पूजा करके एंबुलेंस को लोकार्पित किया गया। अवधेश अग्रवाल ने बताया कि यह एंबुलेंस बाजार भाव से 40 प्रतिशत कम तक बीपीएल कार्ड धारियों को उपलब्ध कराई जाएगी। 
डॉ. नारायण साहू ने कहा कि यह आम आदमियों के लिए एक बेहतर सुविधा सिद्ध होगी और अगर किसी पेसेंट को अस्पताल से शिफ्ट किया जाता है उस वक्त जरूरत पड़ी तो हम ऑक्सीजन भी उपलब्ध कराएंगे। 

प्रगति सेवा समिति ने एंबुलेंस दानदाता स्व  मानिकचंद छाजेड़ के परिवार को साधुवाद दिया और कहा इसे संचालन का दायित्व हमें देकर जो विश्वास जताया है उसे हम निष्ठा के साथ पूरा करेंगे।
 


10-Apr-2021 5:29 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा 10 वीं की परीक्षा 15 अप्रैल से आयोजित किया जा रहा था, जिसके स्थगन का आदेश कल शुक्रवार को दोपहर जारी किया गया। परीक्षा के लिए माशिम ने महासमुंद जिले के प्रश्न पत्र भी गुरूवार को देर रात्रि भेज दिया था। जिसे समन्यवय स्कूल में पहुंचाया गया। परीक्षा स्थगित होने के बाद आगामी आदेश तक उक्त परीक्षा प्रश्न पत्र जिले के केंद्रों के संबंधित थानों में जमा किया जाएगा। ताकि प्रश्न पत्र लीक न हों और सुरक्षित रहे। आगामी सप्ताह से होने वाली परीक्षा के लिए जिला शिक्षा विभाग ने अपनी ओर से केंद्रों व केंद्राध्यक्षों की सूची तैयार कर ली थी। 

मालूम हो कि दसवीं परीक्षा को लेकर जिले में कुल 253 केंद्र बनाए गए थे। इसमें से 217 सरकारी स्कूल हैं और 36 निजी स्कूल हैं। निजी स्कूलों की बात करें तो महासमुंद ब्लॉक के 17 स्कूल, बागबाहरा ब्लॉक के 12 स्कूल, पिथौरा ब्लॉक के 9 स्कूल, बसना ब्लॉक के 7 स्कूल व 11 स्कूल सरायपाली ब्लॉक के हैं। सभी केंद्रों का चिन्हांकन किया जा चुका था। ताकि कोरोना काल में गाइड लाइन के अनुसार सुरक्षित रहते हुए स्टूडेंट्स अपने स्कूल में ही परीक्षा दे सकें।

माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर के मुताबिक वर्तमान में प्रतिदिन कोरोना के अध्यधिक मामले सामने आ रहे हैं, जिसके कारण कई जिलों में लॉकडाउन है। इसे ध्यान में रखते हुए 15 अप्रैल से होने वाली 10वीं की परीक्षा स्थगित की जाती है। परीक्षा के संबंध में आगामी समयानुसार निर्णय लिया जाएगा।

फरवरी व मार्च माह में कोरोना के दूसरे फेज से उत्पन्न हुए विकट परिस्थिति को लेकर सभी चिंतित हैं। ऐसे में माशिम द्वारा ऑफलाइन बोर्ड परीक्षा लिए जाने को लेकर सभी अभिभावक बहुत ही चिंतित थे। वहीं अधिकतर जिले में मार्च माह से कंटेनमेंट जोन क्षेत्र में लगातार वृद्धी और विभिन्न जिलों में घोषित किए गए लॉकडाउन के बीच परीक्षा के आयोजन को लेकर भी अभिभावक वर्ग में चर्चा होते रही है। 

महासमुंद में इस बार 19 हजार छात्र 10वीं परीक्षा में शामिल होंगे। इसमें11 हजार छात्र सरकारी स्कूल के हैं और 9 हजार छात्र निजी स्कूल के हैं। वहीं 12वीं कक्षा की परीक्षा में 14 हजार छात्र शामिल होंगे, जिसमें 9 हजार सरकारी व 5 हजार निजी स्कूल के छात्र-छात्राएं हैं। जिला शिक्षा अधिकारी रॉबर्ट मिंज ने बताया कि माशिम द्वारा 10वीं की परीक्षा को स्थगित करने का आदेश प्राप्त हुआ है। परीक्षा के लिए हमारे पास गुरूवार की रात्रि परीक्षा प्रश्न पत्र माशिम से मिल गए थे, जिसे अब केंद्र के संबंधित थानों में शनिवार को जमा किया जाएगा। 
 


10-Apr-2021 5:28 PM 15

पटेवा में शुक्रवार शाम 6 बजे से 17 अप्रैल सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
जिले में लगातार दूसरे दिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 500 के पार पहुंचा है। शुक्रवार को जिले में एक बार फिर 548 मरीज मिलेए वहीं दो की मौत भी हुई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार महासमुंद ब्लॉक में 249, बागबाहरा में 17, पिथौरा 94, बसना में 44 और सरायपाली में 84 मरीज मिले। कल शुक्रवार को 86 स्वस्थ भी हुए हैं और दो लोगों की मौत हुई है। कल शुक्रवार को जो दो मौतें हुई हैं उनमें दोनों महिलाएं हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कल शुक्रवार को जिले के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में बसना ब्लॉक के बडग़ांव निवासी 35 वर्षीय महिला ने दम तोड़ा। उसे कोविड इन्फेक्शन के अलावा अन्य बीमारियां थी। इसी तरह सरायपाली ब्लॉक के नवरंगपुर निवासी एक 69 वर्षीय महिला की भी शुक्रवार को मृत्यु को गई। महासमुंद जिले में अब तक कोरोना के कुल 13591 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से कुल 10008 स्वस्थ हुए हैं। वहीं 178 लोगों की मौत हो चुकी है। 

(इधर जिला परिवहन कार्यालय में कोविड की एंट्री हो गई है। इसके चलते अगले एक सप्ताह तक यहां ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम नहीं होगा। वहीं शेष काम सुचारू रूप से संपन्न होंगे। जिला परिवहन अधिकारी एमएल साहू ने बताया कि कार्यालय में अधिकारी सहित 5 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इसके चलते सोमवार 12 अप्रैल से 18 अप्रैल तक यहां ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम नहीं होगा।)

कल शुक्रवार से जिले के तीन निजी अस्पतालों में टीकाकरण की सुविधा शुरू कर ली गई है। इनमें महासमुंद शहर के आरएलसी हॉस्पिटल, जैन नर्सिंग होम और सरायपाली के भारती हॉस्पिटल शामिल हैं। अब इन निजी अस्पतालों में भी कोविड पॉजिटिव मरीजों का इलाज होगा। इन तीनों निजी अस्पताल में ऑक्सीजन के 34, जनरल 24 बेड हैं। इस तरह तीनों निजी अस्पताल में कुल 58 बेड पर कोविड मरीजों का इलाज होगा। इनमें से आरएलसी अस्पताल में 19, जैन हॉस्पिटल में 6 और भारती हॉस्पिटल सरायपाली में 7 ऑक्सीजन के बेड हैं।

(इसी क्रम में जानकारी मिली है कि पटेवा के व्यापारियों ने टोटल लॉकडाउन का फैसला लिया है। यहां शुक्रवार शाम 6 बजे से लेकर 17 अप्रैल सुबह 6 बजे तक टोटल लॉक डाउन रहेगा। पटेवा में 180 दुकानें हैं। पटेवा में 26 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं। इसे बाद ही उक्त निर्णय लिया गया। व्यापारियों ने लॉकडाउन संबंधी सूचना प्रशासन को दे दी है। इस दौरान मेडिकल सुविधाएं सुचारू रूप से पहले की तरह संचालित होगी। वहीं महासमुंद के इलेक्ट्रॉनिक एसोसिएशन ने भी महासमुंद नगर को टोटल लॉकडाउन करने की मांग की है।)
 


10-Apr-2021 4:46 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 10 अप्रैल।
जिले के बागबाहरा विकासखंड के ग्राम परसूली में एक 17 वर्षीय नाबालिग का विवाह होने की सूचना मिलने पर वर-वधु के परिजनों को समझाइश देकर रुकवाया गया।

गांव की 17 वर्षीय नाबालिग का विवाह बिंद्रावन निवासी युवक के साथ 7 अप्रैल से तय हुआ था और 9 अप्रैल को बारात आने के बाद फेरे होने थे। इसकी जानकारी मोबाइल से महिला बाल विकास पर्यवेक्षक भावना गुप्ता को शुक्रवार सुबह मिली। उन्होंने तत्काल परियोजना अधिकारी चन्द्रहास नाग के मार्गदर्शन में अपनी टीम के साथ कोमाखान पुलिस को टीम में शामिल कर आरक्षक रीना यादव और तोषलाल को लेकर बारात आने से पूर्व विवाह को रुकवाया। 

इस टीम ने कन्या पक्ष को भी समझाया कि इस तरह विवाह होने पर दोनों पक्ष और विवाह में सम्मिलित लोगों को सज़ा  हो सकती है। दोनों गांवों के सरपंच-सचिव को सम्मिलित कर पंचनामा तैयार कर बालिग होने तक विवाह न करने की सहमति ली गई, साथ ही वर पक्ष को भी घर जाकर बाल विवाह पर जुर्म की सज़ा को बताया गया।

बाल विवाह रुकवाने में महिला बाल विकास विभाग के अफसर चन्द्रहास नाग, पर्यवेक्षक भावना गुप्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सेवती, खगेश्वरी, ईश्वरी, जानकी, राधा और जशोदा का सहयोग रहा।
 


09-Apr-2021 7:28 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 9 अप्रैल।
करदाताओं को अधिभार से बचने के लिए पालिका ने राहत दी है, लेकिन ये राहत केवल संपत्तिकर व समेकित कर के लिए ही होगा। शेष कर का भुगतान करने के लिए करदाताओं को 10: प्रतिशत अधिभार देकर भुगतान करना होगा। संपत्ति व समेकितकर के लिए पालिका ने 30 अप्रैल तक भुगतान करने की छूट दी है। बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण के कारण नगरीय निकाय प्रशासन ने जनता को यह छूट दी है।

बता दें कि पिछले साल भी चार महीने की छूट टैक्स पटाने के लिए नगरीय प्रशासन ने दी थी। इस बार केवल संपत्ति व समेकितकर पटाने के लिए ही छूट दी है। पालिका ने पिछले वित्तीय वर्ष में 228.60 लाख रुपए की वसूली की है। दस महीने में कर्मचारियों ने घर-घर जाकर टैक्स वसूले है । इस साल 71 प्रतिशत वसूली पालिका ने की है। 

पालिका के राजस्व अधिकारी देवकुमार निर्मलकर के मुताबिक नगरीय प्रशासन की ओर से 6 अप्रैल को आदेश जारी हुआ है कि कोरोना वायरस को देखते हुए संपत्ति व समेकित कर तिथि बढ़ा दी है, जो अभी तक टैक्स का भुगतान नहीं किए हैं वे पालिका में आकर 30 अप्रैल तक कर सकते हैं। समय सीमा के अंदर यदि भुगतान नहीं होगा तो 10 प्रतिशत अधिभार के साथ भुगतान करना होगा। हर साल यह राशि बढ़ जाती है। वसूली नहीं होने के कारण इसका खामियाजा शहर की जनता को भुगतना पड़ता है। वहीं कर्मचारियों को भी समय पर वेतन नहीं मिलता है। इस साल 193.40 लाख रुपए बकाया राशि की वसूली कर्मचारियों को करनी थी, लेकिन 65ण्37 लाख रुपए ही वसूली कर पाए।

बकाया राशि की वसूली करने में पालिका के कर्मचारी रुचि नहीं दिखा रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2020-21 में पालिका ने 228.60 लाख रुपए की वसूली कर ली है। जबकि 320.55 लाख रुपए की वसूली का लक्ष्य था। शत प्रतिशत वसूली करने में पालिका हर साल पीछे रह जाती है। 

पिछले साल भी 72 प्रतिशत ही वसूली पालिका ने की थी। इस साल भी पालिका 71 प्रतिशत की वसूली की है। आगामी 31 अप्रैल तक पालिका को नगरीय प्रशासन से समय और मिल गया है, ताकि टैक्स की वसूली शत प्रतिशत कर ले।
 


09-Apr-2021 6:54 PM 16

लोगों के इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने में करेगा मदद -लखमा 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुंद, 9 अप्रैल।
कल गुरूवार को मंत्री लखमा ने कोरोना के संबंध में जिले के अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक ली और कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि महासमुंद जिले में अब तक 1 लाख 77 हजार403 पात्र लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। टीकाकरण को लेकर महासमुंद शुरुआत से ही प्रदेश में आगे रहा है। बढ़़ते कोरोना के प्रभाव के बीच तेज गति से हो रहा टीकाकरण लोगों के इम्यून पावर बढ़ाने में मदद करेगा। जिसका नतीजा भविष्य में दिखेगा। जिले में कोरोना के बचाव के लिए किए जा रहे विभिन्न कार्यों के साथ टीकाकरण की तारीफ जिले के प्रभारी आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने की है। 

मंत्री लखमा ने कोविड.19 के कारण निर्मित हुई स्थिति और इसे फैलने से रोकने के किए जा रहे उपायों की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने महामारी के प्रकोप से निपटने के लिए समाज के प्रमुखों, जनप्रतिनिधियों और आम जनता से पूरा सहयोग करने की अपील की। उन्होंने कहा कि लापरवाही के चलते ही कोरोना के मामले बढऩे लगे हैं। समीक्षा बैठक में उन्होंने जिला और गांव स्तर पर जागरूकता कार्यक्रमों को प्राथमिकता में शामिल करने के लिए कहा। इसमें सार्वजनिक स्थानों की सफाई, बेसहारा व्यक्तियों, आश्रय और क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों को बीमारी के बारे में जागरूक करने के लिए कहा। उनका कहना है कि इस बीमारी का जन मानस पर व्यापक दुष्प्रभाव पड़ा है। कलेक्टर डोमन सिंह ने मंत्री लखमा को बताया कि जिले में सुबह 6 से शाम 6 बजे तक ही दुकानें खोली जा रही है। वहीं किसी क्षेत्र में कोविड.19 के अधिक सक्रिय प्रकरण मिलने पर व्यवस्थित तरीके से कंटेनमेंट बनाए जा रहें हैं। वर्तमान में जिले में 8 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।