छत्तीसगढ़ » बलौदा बाजार

16-Apr-2021 7:35 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 16 अप्रैल।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने जाँच रिपोर्ट आने तक नमूना देने वाले लोगों को अपने घर पर पृथकवास (आइसोलेशन) में रहने को कहा है। 

उन्होंने खासकर आरटीपीसीआर और ट्रूनॉट तकनीक से जांच हेतु नमूना देने वालों के लिए ये बात कही है। सीएमएचओ ने कहा कि कोरोना बीमारी के होने अथवा न होने की पुष्टि हेतु फिलहाल जांच के तीन विधियां उपलब्ध हैं। 

एंटीजन टेस्ट, आरटीपीसीआर एवं ट्रूनॉट तकनीक हैं। मरीज़ के शरीर में वायरस की मात्रा यदि ज्यादा है, तो एंटीजन टेस्ट तुरन्त पकड़ लेता है। इसका परिणाम भी तुरंत खड़े-खड़े मिल जाता है। और संक्रमित व्यक्ति तत्काल प्रभाव से दवाई एवं सावधानियां लेना शुरू कर देता है। इसमें कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन आरटीपीसीआर और ट्रूनॉट  तकनीक से जांच रिपोर्ट मिलने में फिलहाल 1 से 5 दिन का समय लग रहा है। यदि व्यक्ति का रिपोर्ट पॉजिटिव आया और नमूना देने और रिपोर्ट आने की अवधि में उसकी हरकत आम दिनों की तरह रहा तो इस बीच वह अपने घर-परिवार सहित सैकड़ों लोगों को संक्रमित करने में सक्षम होगा। इसलिए रिपोर्ट आते तक हमें पृथकवास रहकर समय बिताना चाहिए। 

संयुक्त कलेक्टर एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी टेकचन्द अग्रवाल ने कहा कि जिले में नया आरटीपीसीआर लेब खोलने के साथ ही ट्रू नॉट की जांच क्षमता बढ़ाने का काम अंतिम चरण में है। जिससे परिणाम जल्द मिलने लगेगा और यह समस्या दूर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यह तथ्य है कि यदि किसी व्यक्ति का एंटीजन रिपोर्ट पॉजिटिव आया तो निश्चित रूप से वह कोरोना से संक्रमित हो चुका है। लेकिन यदि रिपोर्ट निगेटिव आया तो यह आवश्यक नहीं कि उसे कोरोना का संक्रमण नहीं हुआ है। और उसका आरटीपीसीआर एवं ट्रू नॉट रिपोर्ट भी निगेटिव आये। प्राय: यह देखा जा रहा है कि जांच रिपोर्ट का इंतज़ार किये बिना लोग-बाग खुले आम मेल-मिलाप कर रहे हैं, जिससे संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है। जिला प्रशासन ने लोगों को कोरोना के लक्षण दिखने पर तत्काल जांच कराने का आग्रह किया है। जिले की सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर राज्य सरकार की ओर से नि:शुल्क जांच की सुविधा उपलब्ध है। स्वयं होकर इलाज न करें और न ही झोला छाप डॉक्टरों के चंगुल में फंसे। अब तक का अनुभव रहा है कि लोग जांच कराने में विलम्ब करते हैं, अपने स्तर पर इलाज शुरू कर देते हैं, जिससे यह बीमारी बढ़ जाती है। और लोगों को बचा पाना मुश्किल हो जाता है।
 


16-Apr-2021 6:55 PM 30

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भाटापारा, 16 अप्रैल। रेल्वे स्टेशन में बनाए गए जांच शिविर में  31 कोरोना संक्रमित पाए गए 524 लोगों की जांच की गई जिसमें 493 लोगों का जांच रिपोर्ट निगेटिव आया। 
विभिन्न टे्रनों से 524 लोग भाटापारा स्टेशन पर उतरे जिसमें ज्यादातर संख्या मजदूरों की रहीं। जांच शिविर का एसडीएम इंदिरा देवहारी व नायब तहसीलदार मयंक अग्रवाल ने निरीक्षण किया। कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। 

कोरोना महामारी के चलते हर जगह संकट उपजा हुआ है और नया स्वरूप काफी खतरनाक है और मरीजों को संभलने का मौका नहीं मिल रहा है जिससे मौत की संख्या पहले की तुलना में ज्यादा बढ़ गई है। इसको लेकर प्रशासन भी निपटने हर संभव प्रयास कर रहा है। इसी तारतम्य में रेल्वे स्टेशन में आगंतुक यात्रियों के लिए जांच शिविर बनाया गया है जहां प्रतिदिन आने वाले यात्रियों की जांच की जाती है। आज 524 लोगों की जांच की गई जिसमें 31 लोग संक्रमित पाए गए जो ज्यादा लक्षण वाले मरीज थे। उन्हें कोविड अस्पताल भेजा गया तथा कम संक्रमित वाले मरीज को क्वारेंटाईन सेंटर भेजा गया है इस संबंध मे एसडीएम इंदिरा देवहारी ने बताया कि ज्यादा संक्रमित मरीजों को कोविड हॉस्पिटल शिफ्ट किया गया है। बाकी को क्वारेंटाईन रहने का निर्देश दिया गया है। कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है। 

विदित हो कि जो व्यक्ति संक्रमित होता है अगर उसने शुरूआती समय में ध्यान नहीं दिया तो मरीज की स्थिति गंभीर होने लगती है। ऐसी स्थिति में आम जनता को सजग होने की जरूरत है। अगर अब भी जागरूक नहीं हुए तो इसके गंभीर परिणाम सामने आ सकते है जिसके लिए आम लोगों को जागरूक होना जरूरी है। नागरिकों को निर्देशों का पालन करना चाहिए जैसे सोशल डिस्टेसिंग यानी सामाजिक दूरी का पालन सहित ज्यादा से ज्यादा लोगों को बाहर निकलने के बजाय घर पर ही रहना ज्यादा सुरक्षित है क्योंकि न दवाईयां काम आ रही हैं और न ही संसाधन। बढ़ते मरीजों की संख्या और डराने लगी है। हर नागरिक को इस महामारी की स्थिति में अपनी जिम्मेदारी निभाना आवश्यक है।
 

 


16-Apr-2021 6:26 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 16 अप्रैल।
स्थानीय निजी चिकित्सकों द्वारा संचालित निजी कोविड अस्पताल की आज शुरूआत हो गई है महामारी की स्थिति को देखते हुए कृष्णा लॉज में 30 बिस्तर का कोविड हॉस्पिटल खोला गया है जिसमें प्रत्येक मरीज से प्रतिदिन 3500 रूपये का चार्ज लिया जायेगा।

इस संबंध मे वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.विकास आडिल ने बताया कि विधायक शिवरतन शर्मा के संयोजन पर शहर के निजी अस्पतालों के वरिष्ठ चिकित्सक एचएन सहेता, डॉ.एसके जीवनमल, डॉ.एसके निहलानी, डॉ.गजेन्द्र महिलांग, डॉ.विक्रम आडिल, डॉ.पूजा भृगु, डॉ.बीबी गुप्ता, डॉ.प्रवेश दत्ता, डॉ.भास्कर देवांगन, डॉ.वाधवानी एवं अन्य चिकित्सकों के मार्गदर्शन मे उक्त कोविड अस्पताल संचालित किया जायेगा जहां पर डॉ.बीबी गुप्ता उक्त अस्पताल का कार्यभार देखेंगे साथ ही प्रतिदिन बेड की संख्या सहित जानकारी उपलब्ध हो पायेगी। डॉ. आडिल ने बताया कि उक्त अस्पताल के लिए जो आवश्यक साधन है उसे जुटा लिया गया है और जो कुछ कमियां है उसे जल्द हीं दूर कर ली जाएगी। अस्पताल में ऑक्सीजन सहित कर्मचारियों को तैनात कर दिया गया है। डॉ.विकास आडिल व डॉ.बीबी गुप्ता ने बताया कि 35 सौ रूपये में ऑक्सीजन, दवाईयां, खाना, नर्सिंग चार्ज, सफाई चार्ज आदि जोडक़र यह दर निर्धारित किया गया है. जिसमे डॉक्टर नि:शुल्क सेवायें देंगे जहां कोविड मरीजों को उपचार हेतु भर्ती किया जाएगा। 

यह एक निजी चिकित्सकों की महामारी की स्थिति में संयुक्त प्रयास है जिसमें प्रारंभिक आवश्यक खर्च विधायक शिवरतन शर्मा एवं निजी चिकित्सकों ने मिलकर किया है प्रयास किया जा रहा है कि कोविड में बेहतर सेवा लोगों को मिल सके।
 


16-Apr-2021 6:25 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 16 अप्रैल।
राजस्व मंडल बिलासपुर द्वारा स्व.दाऊ कल्याण सिंह के मृत्यु उपरांत उनकी पत्नियां स्व. जनक नंदनी व स्व. सरजावती के नाम से धारित भूमि को नि:संतान मौत होने के कारण उनके नाम पर दर्ज समस्त भूमि को राजसात कर शासकीय मद में दर्ज करने के आदेश को उच्च न्यायालय ने खारिज करते हुए दाऊ राममूर्ति एवं उसके परिवार को वारिस मानते हुए किए गए हस्तांतरण को सही माना है।

प्राप्त जानकारी अनुसार 13 अप्रैल को उच्च न्यायालय द्वारा अनूप वगैरह के द्वारा उच्च न्यायालय में राजस्व मंडल के खिलाफ  दायर किए याचिका में फैसला देते हुए राजस्व मंडल के फैसले को उचित न ठहराते हुए उसके राजसात करने के आदेश को खारिज करते हुए अनूप कुमार वगैरह को दाउ कल्याण सिंह का वारिस मानते हुए हस्तांतरण को सही ठहराया है। 

विदित हो कि भाटापारा क्षेत्र के ग्राम हथनी, औरेठी व पटपर तथा भाटापारा में स्व. दाऊ कल्याण सिंह की काफी जमीने स्थित थी उनके मृत्यु उपरांत ग्राम औरेठी, हथनी, भाटापारा एवं पटपर की जमीनें जनक नंदनी व सरजावती दोनों के नाम पर दर्ज हुआ। स्व.जनक नंदनी बाई व स्व. सरजावती के निधन के बाद दोनो की मौत नि: संतान होने के कारण दर्ज समस्त भूमि कोई वारिस न होने के कारण वर्ष 1983 में राजसात की कार्यवाही करते हुए माल जमादार द्वारा मौके पर जाकर कब्जा ले लिया गया था। राजसात की कार्यवाही के विरूद्ध आपत्ति दर्ज कराते हुए अशोक कुमार अग्रवाल द्वारा अपने पिता स्व. राममूर्ति अग्रवाल के पक्ष में एक वसीयतनामा पेश कर स्व. सरजावती का वारिसान बताते हुए समस्त जमीन को राममूर्ति अग्रवाल के नाम दर्ज करने का दावा पेश किया जिसे तत्कालीन तहसीलदार ने खारिज करते हुए वसीयतनामा को मान्यता न देते हुए राजसात की कार्यवाही को उचित बताया। इस दरम्यिान में उक्त प्रकरण एसडीएम से लेकर विभिन्न न्यायालयों में चलाया गया जहां वसीयतनामा को किसी भी न्यायालय ने वैध न मानते हुए टिप्प्णी दी। 1985 में तत्कालीन राजस्व निरीक्षक द्वारा वसीयतनामा के आधार पर नामांतरण पंजी में 1 जनवरी 1985 को सभी राजसात की गई जमीनों को सरजावती के स्थान पर राममूर्ति अग्रवाल के नाम पर नामांतरण किया गया। नामांतरण पंजी में राममूर्ति के आम मुख्तियार के रूप में अनूप कुमार अग्रवाल का नाम दर्ज है जिसको जनहित याचिका के तहत उच्च न्यायालय में वर्ष 2017 में नितिन आहपजा वगैरह ने चुनौती दी। जिस पर उच्च न्यायालय द्वारा निराकरण हेतु राजस्व मंडल को निर्देशित किया। राजस्व मंडल ने प्रकरण की सुनवाई करते हुए आदेश पारित किया है कि व्यवहार न्यायालय के उक्त निर्णयों के परिपेक्ष्य में राममूर्ति अग्रवाल एवं उनके वारिसानों को वर्णित भूमियों पर कोई स्वत्व प्राप्त नहीं हुआ है। वर्ष 1969 में प्रकरण के द्वारा सरजावती के नाम की भूमियां भारत सरकार में निहीत कर दी गई थी। जनक नंदनी एवं सरजावती के द्वारा एक ट्रस्ट का निर्माण वर्ष 1959 में किया जाना एवं ट्रस्टी के रूप में राममूर्ति को दर्शाया गया है और राममूर्ति के मृत्यु के बाद महज एक शपथ पत्र के बाद ट्रस्ट की समस्त भूमियां अनूप कुमार वगैरह के नाम पर हस्तांतरित कर दी गई जो विधि विपरीत है। प्रकरण में ऐसा कोई अभिलेख नहीं है जो यह प्रमाणित हो सके कि जनक नंदनी ट्रस्ट का निर्माण विधि अनुसार हुआ हो। 

अत: तहसीलदार भाटापारा को आदेशित किया जाता है कि दाऊ कल्याण सिंह की पत्नी सरजावती एवं जनक नंदनी के नि: संतान मौत होने के कारण उनके नाम पर दर्ज समस्त भूमि को राजसात कर शासकीय मद में दर्ज करने का आदेश दिया जिसके विरूद्ध अनूप कुमार वगैरह ने उच्च न्यायालय में वाद प्रस्तुत किया था जिसमें उच्च न्यायालय द्वारा अपना फैसला सुनाते हुए राजस्व मंडल के फैसले को खारिज करते हुए अनूप कुमार वगैरह को वारिस मानते हुए हस्तांतरण को सही ठहराया है।
 


16-Apr-2021 5:34 PM 22

सोनी ने की कोरोना से उत्पन्न ताज़ा हालात की समीक्षा, सांसद निधि से दी 20 लाख की मंजूरी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 16 अप्रैल। 
लोकसभा सांसद सुनील सोनी ने कल जिला कार्यालय में अधिकारियों की बैठक लेकर जिले में कोविड महामारी से उत्पन्न ताज़ा हालात की समीक्षा की। 
उन्होंने कहा कि यह मानवता की कठिन परीक्षा का वक्त है। हमें आपसी सहयोग एवं समन्वय के साथ पूरा ध्यान कोरोना पीडि़त लोगों की सेवा में लगाना है। उन्होंने जिला प्रशासन से हालात की जानकारी लेकर संकट से निपटने में हरसंभव सहयोग एवं सहायता का भरोसा दिलाया।

सांसद श्री सोनी ने बैठक में एम्बुलेंस की मांग आने पर तत्काल इसकी स्वीकृति प्रदान की और बैठक में ही सांसद निधि से 20 लाख रुपये की स्वीकृति पत्र जिला प्रशासन को सौंप दिया। बैठक के बाद सांसद श्री सोनी नयी मण्डी परिसर में तैयार हो रहे कोविड केयर अस्पताल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों और तकनीकी अफसरों के मार्गदर्शन में ही अस्पताल का काम कराने को कहा है। इस अवसर पर विधायक प्रमोद कुमार शर्मा, नगरपालिका अध्यक्ष चित्तावर जायसवाल, पूर्व विधायक सनम जांगड़े, जिला पंचायत सदस्य नवीन मिश्रा एवं नगरपालिका परिषद के सभापति संकेत शुक्ला भी उपस्थित थे।

श्री सोनी ने बैठक में कहा कि कोविड मरीज़ों की इलाज के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने में स्थानीय समाजसेवी एवं औद्योगिक संस्थाओं का अच्छा सहयोग मिल रहा है। उन्होंने ऐसे सभी दानदाताओं के प्रति उदार सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। इससे जरूरत के अनुरूप वेंटीलेटर, ऑक्सीजन बेड आदि सुविधा सुनिश्चित हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में फिलहाल जिला अस्पताल में ही केवल 8 वेंटिलेटर सुविधा है। बहुत जल्द 22 और वेंटिलेटर मिलने की संभावना है। वेंटिलेटर संचालन के लिए तकनीकी कर्मचारियों की जरूरत होने पर सांसद ने तत्काल विज्ञापन  निकालकर भर्ती करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर विकराल रूप ले चुकी है। पूरी ताकत झोंकने का समय आ चुका है। अकेले स्वास्थ्य विभाग के जिम्मे की बात नहीं है। अन्य सरकारी विभागों, समाजसेवी और औद्योगिक संस्थाओं को भी  सहयोग के लिए और हाथ बटाना होगा। 

सांसद श्री सोनी ने कोविड जांच की वर्तमान गति को और बढ़ाये जाने के निर्देश दिए। यह प्रयास हो कि संक्रमित लोग एक बार में छंट जाएं तो इसका संक्रमण दर कम हो जाएगा। उन्होंने ऐसी हालात में पूरी संवेदनशीलता के साथ पुलिस विभाग को भी अपनी भूमिका निभाने के निर्देश दिए। उन्होंने पॉजिटिव पाए गए मरीज़ों को शहरी क्षेत्रों में नगरीय निकायों के जरिये दवाई बंटवाने के निर्देश दिए। ग्रामीण इलाकों में ग्राम पंचायतों का सहयोग लिया जाए। विधायक श्री प्रमोद शर्मा ने कोरोना के वर्तमान फैलाव पर चिंता जाहिर करते हुए जिला प्रशासन को हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया।

सांसद श्री सोनी ने बैठक के बाद नयी मण्डी परिसर पहुंचकर प्रस्तावित कोविड केयर हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां विकसित की जा रही व्यवस्थाओं और सुविधाओं का जायज़ा लिया। सांसद ने कहा कि वेंटिलेटर और ऑक्सीजन पाइप का मरीज़ के बिस्तर तक पहुंचाने में स्वास्थ्य विभाग के तकनीकी अफसरों का सहयोग लिया जाना चाहिए। उन्होंने केयर सेन्टरों में मरीजों को गुणवत्तापूर्ण भोजन परोसने के निर्देश भी दिए।

सीएमएचओ डॉ. सोनवानी ने बैठक में बताया कि 14 अप्रैल तक जिले में 3 लाख 43 हज़ार कोविड के नमूने लिए जा चुके हैं। जिनमे 16625 लोग कोरोना पॉजिटिव आये हैं। जिले में 187 लोगों की मौत कोरोना से हुई है। तथा 10696 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता ने बैठक में कोविड से निपटने में जिला प्रशासन की अब तक कि रणनीति से अवगत कराया।

 इस अवसर पर एडिशनल एसपी निवेदिता पाल, जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान, संयुक्त कलेक्टर एवं खाद्य प्रभारी लवीना पांडेय, संयुक्त कलेक्टर एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी टेकचन्द अग्रवाल, ईई लोक निर्माण विभाग टीसी वर्मा, ईई पीएचई श्री मरकाम, ईई सीएसईबी श्री राठिया, डीपीएम सृष्टि मिश्रा, एसडीओ विद्युत यांत्रिकी श्री सूर्यवंशी, तहसीलदार गौतम सिंह, मण्डी सचिव योगेश अग्रवाल आदि अधिकारी उपस्थित थे।


16-Apr-2021 5:27 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 16 अप्रैल।
श्री सीमेंट कंपनी के रेलवे साईडिंग में कार्य के दौरान हाईटेंशन की चपेट में आने से 2 मजदूर झुलस गए, जिसमें एक मजदूर गंभीर रूप से झुलस गया, जिसे गंभीर स्थिति में पहले तिल्दा ले जाया गया, उसके बाद बिलासपुर भेज दिया गया है। बताया जाता है कि 14 अप्रैल को श्री सीमेंट कंपनी का हथबंद के ग्राम रिंगनी में रेलवे साईडिंग का काम चल रहा था. जहां का काम महको कान्ट्रेक्टर द्वारा कराया जा रहा था। बाउंड्रीवाल में ढलाई के दौरान ही मजदूर उपर से जा रहे हाईटेंशन की चपेट में आ गया, जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। घायल मजदूर को तत्काल तिल्दा इलाज के लिए ले जाया गया, जहां से बिलासपुर रेफर किया गया है। झुलसे मजदूर का नाम पोषण साहू पिता श्याम रतन ग्राम सरफोंगा है और एक मजदूर मामूली झुलसा है, वह बाहरी प्रदेश का है।वहीं इस संबंध में सिमगा थाना प्रभारी नरेश चौहान से घटना के संबंध मे पूछा गया तो उन्होंने जानकारी होने से इंकार किया, वहीं घटना को लेकर शिवसेना के जिलाध्यक्ष संतोष यदु ने रोष जाहिर किया है और कंपनी और कान्ट्रेक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ जिले में लॉकडाउन है, धारा 144 लगा है, उसके बावजूद कंपनी नियमों को ताक में रखकर मजदूरों से काम करवा रही है, इससे संक्रमण फैलने का खतरा भी है। 
 


16-Apr-2021 4:52 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 16 अप्रैल।
कल दोपहर कटगी के पास ट्रक ने बाइक सवार को टक्कर मार दी, जिससे एक महिला की मौत हो गई। ट्रक चालक अपनी गाड़ी को हसुवा में छोडक़र फरार हो गया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

जिले में लगातार सडक़ दुर्घटनाओं में वृद्धि हो रही है। लॉकडाउन के अवसर पर दुर्घटनाओं में कमी जरूर दिखाई देती है, लेकिन फिर एक बार बलौदाबाजार जिले के सडक़ दुर्घटना में एक महिला की मौत हो गई है। यह सडक़ दुर्घटना कटगी के पास अमोदी बस स्टैंड पर गुरुवार दोपहर को हुई। जहां बाइक में सवार महिला को कैप्सूल (ट्रक) ने ठोकर मार दी, जिससे महिला की मौके पर मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक ट्रक चालक अपनी गाड़ी को हसुवा में छोडक़र फरार हो गया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। मृतक महिला कसडोल थाना के ग्राम असनिंद की बताई जा रही है।
 


15-Apr-2021 6:41 PM 20

सरसींवा, 15 अपै्रल। बुधवार को 130वीं अंबेडकर जयंती के उपलक्ष में सरसीवा  चिकित्सालय परिसर में स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के विशाल मूर्ति पर बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं संसदीय सचिव चंद्र देव राय के द्वारा पूजा अर्चना कर, श्रीफल तोडक़र फूल माला पहनाकर बाबा साहब की जयंती को याद किया गया।  संविधान के रचयिता बाबा साहब डॉ.भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर विधायक एवं संसदीय सचिव श्रीचंद्र देव राय के साथ बाबा भीमराव अंबेडकर के अनुयायियों एवं कांग्रेसी कार्यकर्ता ने भी फूल माला पहनाकर संविधान के रचियता को याद किया। उक्त कार्यक्रम में कोरोना का ध्यान में रखते हुए माक्र्स लगाकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए यह जयंती मनाई गयी। वही लगभग 2.30 बजे जनपद पंचायत बिलाईगढ़ में अष्ट धातु से निर्मित बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का स्थापना एवं अनावरण संसदीय सचिव चंद्र देव राय  के द्वारा किया गया ।

 उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से जनपद पंचायत बिलाईगढ़ के अध्यक्ष भूमिका कथाकार उपाध्यक्ष राजा अग्रवाल नगर पंचायत उपाध्यक्ष प्रवेश दुबे भोजराज अजगल्ले, मुद्रिका राय, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पंकज चंद्रा, जावेद खान उपस्थित थे।
 


15-Apr-2021 6:35 PM 20

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सरसींवा, 15 अपै्रल।
अनुविभाग मुख्यालय बिलाईगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद के कारण स्थिति गंभीर होते जा रही है। मंगलवार को ब्लॉक बिलाईगढ़ में 64 संक्रमित मरीजों की पहचान किया गया। प्राप्त समाचार के अनुसार वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है विकासखंड बिलाईगढ़ में आज 14 अप्रेल तक कुल 64 पॉजीटिव केस पाया गया। 

कोरोना के दूसरे लहर में 9 अप्रैल से लेकर अब तक लगभग कुल 316 पॉजीटिव केस की पहचान हो चुकी है। अधिकांश मरीजों का इलाज होम आइसो लेशन में रहकर किया जा रहा है। वही बिलाईगढ़ स्थित अस्थाई कोवीड हास्पिटल क्षमता 60 बिस्तर का मरीजों से पूरी तरह से भर गया है तथा स्थिति ब्लॉक में खराब होते जा रही है। विकास खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ.सुरेश खूंटे ने बताया कि ब्लॉक में स्थिति दिनों दिन बिगड़ती जा रही है तथा कोविड अस्पताल भी पूरी तरह से भर गया है। 

कार्यालयीन सूत्रों के मुताबिक मंगलवार 14 अप्रैल को कुल 83 मरीजों की पहचान हुई है तथा 9 तारीख से लेकर अब तक कोरोना के दूसरे लहर के संक्रमण में कुल 402 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। जिनमें से होम आइसोलेशन 241 मरीजों का इलाज चल रहा है वही अस्थाई कोविड-अस्पताल कन्या छात्रावास गोविंदवन 60 बिस्तर में मरीज फुल हैं। जहां मरीजों का इलाज किया जा रहा है। बाकी 15 से 17 मरीज बाहर अन्य जिले में रेफर किया गया है और अब तक कुल आंकड़ा है जिनमें से अन्य जिले में दो की मौत हुई है, जो कि बिलाईगढ़ ब्लॉक के है तथा 3 दिन पहले भी दो की मौत हो चुकी है। संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु शासन प्रशासन स्तर पर लगातार प्रयास किया जा रहा है।

इस समय कोरोना (महामारी)  बिलाईगढ़ ब्लॉक के हर गांव में अपना पैर पसार रहा है। अधिकांश गांव में जांच के बाद कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। सरसीवा अंचल की बात करें तो  इस समय स्वास्थ्य विभाग के जांच उपरांत सरसींवा, मुड़पार, बिलासपुर, संकरापाली, पेंड्रावन, गाताडीह, रायकोना, सेन्दूरस सहित दर्जनों गांवों में कोरोना मरीज मिल रहे हैं। ब्लॉक में पिछले एक सप्ताह का रिकार्ड देखा जाय तो हर रोज आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। 8 अप्रैल को 10, 9 अप्रैल को 27, 10 अप्रैल को 55,11 अप्रैल को 24,12 अप्रैल को 47, 13  अप्रैल को 64 और 14 अप्रैल को 83 कोरोना संक्रमित मिले। वेक्सिन की बात करें तो ब्लॉक के स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। 

सरसीवा अंचल में स्वास्थ्य विभाग इस समय सरसीवा, गाताडीह, रायकोना, अमोदी, बालपुर, मधाईभाठा, उडकाकन, गोपालपुर स्वास्थ्य केंद्रों में 45 साल के ऊपर के लोगों को टीका लगाया जा रहा हैं। 25 जनवरी से लेकर अब तक कुल 29563 लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है, जिनमें से 13 अप्रैल को 2701 लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। बिलाईगढ़ स्वास्थ्य अधिकारी एस के खुटे ने क्षेत्र के समस्त लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है यदि बहुत जरूरी काम पडऩे पर निकले तो मास्क का उपयोग करते हुए शोषण डिस्टेंस का विशेष पालन करने की सलाह दी है
 


15-Apr-2021 6:08 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदाबाजार, 15 अपै्रल।
जिला कोविड अस्पताल के डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, वार्डब्वॉय से लेकर यहां कार्यरत सफाई कर्मियों को कैसी-कैसी दिक्कतें आती हैं और वे उस दौरान कैसा महसूस करते हैं। ‘छत्तीसगढ़’ ने इन हेल्थ वर्करों से समझने का प्रयास किया। सिस्टम की लाचारी से लोगों का भरोसा टूट रहा है पर ये हेल्थ वर्कर लगातार इलाज कर अपने पेशे के प्रति लोगों का भरोसा लगातार बना रहे हैं।

मरीजों और मौतों की बढ़ते आंकड़ों कीे बीच कई बार वे लोगों के गुस्से के शिकार भी हो जाते हैं पर फिर भी बुरा नहीं मानते, ताकि लोगों का भरोसा न टूटे। यहां तक कि 8 से 12 घंटे तक काम कर रहे हैं और बगैर कुछ खाए पीए पीपीई किट के अंदर डायपर में ही उन्हें पेशाब भी करना पड़ रहा है। घर जाकर भी आइसोलेशन में रहते है, यानी परिवार से दूर। कोरोना संकटकाल में लॉकडाउन के बीच लोग जहां घरों में सुरक्षित हैं। वहीं जिले में 600 से अधिक डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मचारी अस्पतालों में ड्यूटी पर मोर्चा संभाले हैं। वह भी तब जब उन्हें भी कोरोना संक्रमण का उतना ही खतरा है, जितना कि किसी और को।

760 बुधवार को मरीज मिले, 05 मौत16625 कुल संक्रमित, 5742 एक्टिव केस 400 हेल्थ वर्कर भी संक्रमित हो चुके हैं
बलौदाबाजार जिला भयावह कोरोना संकट का सामना कर रहा है। प्रतिदिन मिलने वाले मरीजों का आंकड़ा हजार के आसपास पहुंच रहा है। जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 5 हजार से उपर चली गई है। इन कठिन परिस्थितियों से जूझते हुए कसडोल स्वास्थ्य केंद्र के एक डॉक्टर ने अपनी जान भी गंवा दी। 

कोरोना मरीजों को बचाने का प्रयास करने वाले 400 से अधिक डॉक्टर, स्टॉफ, स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो चुके हैं। सिर्फ अप्रैल में ही स्वास्थ्य विभाग के 110 लोग संक्रमित हुए हैं। अपनी जान पर खेलकर संक्रमितों का इलाज करने वाले जिले के ऐसे ही कई डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ जिले के अलग-अलग अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज में लगे हैं। ये हेल्थ वर्कर बिल्कुल फौजी की भांति घर-परिवार को नजरअंदाज कर ड्यूटी कर रहे हैं।

साफ हवा-पानी तक नसीब नहीं-डॉ. साहू
कोविड अस्पताल में कार्यरत डॉ. शैलेन्द्र साहू ने बताया कि पानी तक नहीं पी पाते, एक बार आईसीयू में जाने के बाद कई घंटों तक कुछ और नहीं कर पाते। प्रेशर का आलम ये है कि साफ हवा और पानी तक नसीब नहीं। काम और कॉस्ट्यूम ऐसा है जिसे बार-बार उतारना और पहनना मुश्किल है, ऐसे में हमें एडल्ट डायपर में ही पेशाब करनी पड़ती है।
मास्क से घुटन होती है 

टॉयलेट तक नहीं जा पाते
दिक्कतों के बारे में डॉ. नवदीप बांधे ने बताया सबसे अहम चीज है कि जब आप एक बार पीपीई किट पहन लेते हैं, तब काम करना बेहद मुश्किल हो जाता है। अंदर बहुत ही घुटन महसूस होती है। मास्क भी बेहद कसा होता है। लगातार 8 घंटे की शिफ्ट के बाद हम बुरी तरह थक चुके होते हैं। हम टॉयलेट नहीं जा पाते। पानी तक नहीं पी पाते।

8 माह से पर्व नहीं मनाया, जन्मदिन का तो पता ही नहीं चला
ड्यूटी पर तैनात जिला नोडल अधिकारी डॉक्टर राकेश प्रेमी ने बताया कि पिछले 8 महीने से हमने एक भी त्योहार नहीं मनाया है। होम आइसोलेशन प्रभारी डॉ. अविनाश केशरवानी ने कहा कि बर्थ-डे पर भी बधाई के लिए आए फोन कॉल से ही पता चलता है कि आज हमारा जन्मदिन है। यहां तक कि घर में किसी की तबीयत भी खराब है, तो हम ड्यूटी छोडक़र घर नहीं जा पा रहे हैं। जिलेभर में पॉजिटिव आए मरीजों की ट्रैवल हिस्ट्री, कांटेक्ट हिस्ट्री के संकलन प्रभारी एपेडेमियोलॉजिस्ट श्वेता शर्मा ने बताया कि लोगों को बचाने के मिशन में उन्हें अपनों का भी ख्याल रखने का वक्त नहीं मिल रहा है।

फोनकॉल से इलाज में बाधा पहुंच रही- सीएमएचओ
सीएमएचओ डॉ. खेमराज सोनवानी ने कहा कि कोरोना संकटकाल में लॉकडाउन के बीच लोग जहां घरों में सुरक्षित हैं, वहीं डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मचारी अस्पतालों में ड्यूटी पर मोर्चा संभाले हैं। वे दिन-रात एक कर मरीजों की देखभाल और सेवा में जुटे हैं। वह भी तब, जब उन्हें भी कोरोना संक्रमण का उतना खतरा है, जितना कि किसी और को। उन परिवारों से मेरा विनम्र निवेदन है कि जिनके सदस्य अस्पताल में भर्ती हैं, उनकी तबीयत के लिए आने वाले फोन काल से सतत इलाज में लगे स्वास्थ्यकर्मियों की कड़ी टूट रही है, उन्हें इलाज छोडक़र फोन अटेंड करना पड़ रहा है। हमारा अधिकतर समय लोगों के फोन कॉल अटेंड करने में चला जाएगा तो हम इलाज कब करेंगे। जेल में बंद कैदियों जैसा कष्ट उठाकर भी हम अपना 100 प्रतिशत दे रहे हैं, कृपया परिजन हम पर भरोसा करें। किट उतार नहीं सकते इसलिए लगाते हैं डायपर, कई घंटों तक कुछ खा-पी भी नहीं सकते। 8 माह से यही क्रम घर जाकर भी आइसोलेशन में।
 


15-Apr-2021 5:49 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 15 अप्रैल।
कोरोना के प्रकरणों मे लगातार इजाफा हो रहा है कोरोना का नया स्टेकृन कई तरह की परेशानियां दे रहा है वर्तमान मे जो नई जानकारी आ रहीं है उसमे कोरोना टेस्ट किट भी नये वायरस को पहचान नहीं पा रहा है कई लोगों के कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आये है लेकिन उसके लक्षण पूरी तरह से कोरोना के ही है और तो और जिला के कलेक्टर की पहली जांच रिपोर्ट एन्टीजन मे निगेटिव प्राप्त हुआ था टूकृ नॉट पद्धति से जांच मे पॉजिटिव पाया गया जिसकों लेकर भी लोग भ्रमित है।

कोरोना संक्रमण के लगातार बदलाव से लोग भ्रमित और परेशान है कोरोना वायरस के अपने नित नये स्वरूप के चलते अब एंन्टीजन जांच रिपोर्ट भी प्रमाणित नहीं माना जा रहा है क्योंकि शहर मे कई ऐसे मरीज है जिनके लक्षण पूरी तरह से कोरोना वायरस संक्रमण का है लेकिन एन्टीजन जांच रिपोर्ट मे उसे निगेटिव पाया गया है उसके बावजूद भी उक्त मरीजों का बुखार सात दिनों से नहीं उतर रहा है सांस लेने मे तकलीफ, व हाथ पैर दर्द सहित सभी लक्षण कोरोना के है इससे दो परेशानियां मरीजों को आ रहीं है पहला जांच रिपोर्ट निगेटिव आने से उन्हे कोविड हास्पिटल मे भर्ती नहीं लिया जा रहा है ना हीं उन्हे जो उचित आक्सीजन सहित अन्य सुविधायें है मिल पा रहीं है ऐसे मे जो निजी हास्पिटल है वह लक्षण देखकर भर्ती नहीं कर रहे है इससे सामान्य ओपीडी मे भी वह भर्ती नहीं हो पा रहा है और कोविड हास्पिटल मे भी भर्ती नहीं हो पा रहा है कई मरीजों के लक्षण के अनुसार आक्सीजन लेवल कम हो जा रहा है दूसरी परेशानी चंूकि जांच रिपोर्ट निगेटिव आने से उन्हे कोविड की दवाई नहीं मिल पा रहीं है और न खाने की सलाह चिकित्सक दे रहे है सामान्य दवाईयों से उन मरीजों का स्वास्थ्य भी ठीक नहीं हो रहा है जिसको लेकर कई मरीज काफी परेशान है जांच कराने वालों की संख्या इतनी है की जांच के लिये दुबारा जाने पर जांच व रिपोर्ट आने तक कम से कम सात दिन का समय लग रहा है और मरीज तब तक गंभीर हालात मे पहुंच जाता है इस परेशानी को भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा दूर करने की आवश्यकता है.
 

इस संबंध में नगर के वरिष्ठ चिकित्सक व सर्जन डॉ.विकास आडिल ने बताया कि कोरोना लक्षण वाले मरीज जिनका एन्टीजन रिपोर्ट निगेटिव आया है अपने आप को निगेटिव ना माने रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद हीं अगर लक्षण कोरोना का है तो यह मानकर चले की कोरोना पाजीटिव है घर मे ऐसे मरीज अपने आप को आईसोलेट करते हुये डॉक्टर की सलाह पर दवाईयां लेते रहे क्याकि कोरोना वायरस के लिये एन्टीजन की जांच स्क्रीनिंग की जांच होती है जिसमे ज्यादा वायरल लोड वाले मरीज की हीं पहचान हो पाती है इसलिये लक्षण होने पर आईसोलेट होते हुये डाक्टर से परामर्श लेकर दवाई लेना सहीं है।


15-Apr-2021 5:47 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 15 अप्रैल।
नगर में आज लॉकडाउन के तीसरे दिवस भी पूरी तरह से पुलिस प्रशासन व नगर प्रशासन के द्वारा चारों दिशाओं में गई चौक चौबंद व्यवस्था के तहत सन्नाटा पसरा रहा तथा नगर के सीमाओं को प्रशासन के द्वारा पूरी तरह से सील कर दिया है जिसके कारण बाहर से आने जाने वाले लोगों पर निरंतर नजर बनाए हुए हैं तथा उनसे पूछताछ के उपरांत ही समझाईश के बाद आने-जाने दिया जा रहा है। 

विदित हो कि इस कोरोना संक्रमण चेन को तोडऩे के लिये जिला प्रशासन के द्वारा 10 दिनो का लॉक डाउन किया गया है जिसमें मात्र मेडिकल, दूधवालो के अलावा आवश्यक सेवा के तहत आने वाले को ही कुछ घंटों के लिए ही छूट दिया गया। 

वर्तमान में कोरोना संक्रमण इतनी तेजी सेअपना पैर पसार रहा है जिसे रोकने हेतु प्रशासन हर तरह के कवायद शुरू कर दी है तथा जनता से सहयोग की अपील भी लगातार की जा रही है कि जरूरत हो तो ही अपने घरो से मास्क पहनकर, सैनिटाईजर होकर ही निकले क्योंकि पिछले दिन एक दिन मे 260 संक्रमित मरीज पाए गए थे।

 दूसरे दिन 103 मरीज पाए गए. इस संबंध मे एसडीएम इंदिरा देवहारी ने बताया कि टेंहका मे स्थित पोस्ट मैट्रिक छात्रावास को मरीजों की संख्या देखते हुए तैयार कराया जा रहा है जिसमें लगभग 70 मरीजों को रखने की व्यवस्था बनाया जा रहा है जिसकी तैयारी की जा रहीं है। इसके पूर्व सुरखी मे कोविड हास्पिटल प्रारंभ किया गया है जिसमे संक्रमित मरीजों को भर्ती किया जा रहा है प्रशासन की ओर से जो भी तैयारी है वह की जा रहीं है।
 


15-Apr-2021 5:43 PM 16

भाटापारा, 15 अप्रैल। नगर में कोरोना मरीजों के लिए विधायक शिवरतन शर्मा एवं नगर के सभी डॉक्टरों के सहयोग से 30 बिस्तर के शुरू हुये अस्पताल की सराहना करते हुए महिला मोर्चा की अध्यक्ष नीरा देवी साहू, महामंत्री चंद्रकला साय, शालिनी चौरसिया, उपाध्यक्ष आयशा खान, राजकुमारी जांगड़े, मंत्री मधु सोनी, ज्योति वर्मा एवं योगेश्वरी साहू ने कहा कि आज पूरा देश कोविड महामारी की चपेट में आ गया है जिस पर हमारा नगर भी अछूता नहीं रह गया है. मरीजों की बढ़ती तादाद को लेकर विधायक शिवरतन शर्मा की पहल पर नगर के डॉक्टरों  के सहयोग से शुरू हुए 30 बिस्तरों के अस्पताल से कोराना मरीजों को बहुत ही राहत मिलेगी।
 


15-Apr-2021 4:47 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 15 अप्रैल।
शहर के सभी वार्डो मे सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने की जरूरत है. शहर के विभिन्न वार्डो मे जगह जगह गंदगी का आलम देखने को मिल रहा है। जगह-जगह कचरा पड़ा हुआ है। पालिका मे सफाई कर्मचारियों की पर्याप्त संख्या होने के बाद भी कचरा का सहीं उठाव नहीं हो पा रहा है जिसके चलते वार्डों में कचरे का अंबार लगा हुआ है। कोरोना महामारी के कारण वैसे ही संक्रमण का खतरा बना हुआ है। कचरे के फैलाव से और परेशानी बढ़ सकती है। भारत सरकार द्वारा स्वच्छता मिशन क्लीन सिटी योजना के तहत वार्डों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए गाड़ी चल रहीं है लेकिन मुख्य मार्गो पर कचरा पड़ा रहता है इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि पशु उक्त कचरे को बिखराने लगते है जिसके लिये पालिका प्रशासन को ध्यान दिए जाने की जरूरत है।


15-Apr-2021 4:40 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भाटापारा, 15 अप्रैल।
आचार्य झम्मन प्रसाद शास्त्री ने एक जानकारी देते हुये बताया कि 13 अप्रैल से नव संवत्सर का शुभारंभ हो गया भारतीय नववर्ष समस्त सनातन धर्मावलंबियों के लिए गर्व का विषय है आज के दिन से ही श्री ब्रह्मा जी द्वारा सृष्टि का शुभारंभ हुआ है भारत के महान क्रांतिकारी राजा विक्रमादित्य ने विक्रम संवत का शुभारंभ किया था। उस परंपरा में 2078 वा वर्ष संवत्सर का प्रारंभ हो रहा है समग्र हिंदू समाज इस नववर्ष का उत्साह पूर्वक स्वागत करते हुए मां भगवती महामाया की आराधना करना चाहिये. श्रीमद जगदगुरू शंकराचार्य जी द्वारा प्रेरणा मिलती है।
 


14-Apr-2021 8:13 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदा बाजार, 14 अपै्रल।
कोरोना संक्रमण की वजह से नगर समेत पूरे क्षेत्र में लगातार दूसरे वर्ष चैत्र नवरात्रि पर्व को बेहद सादगीभरे तरीके से मनाया जाएगा। लॉकडाउन तथा कोरोना संक्रमण की वजह से जिले के सभी तीर्थस्थल बंद है, जिसकी वजह से नगरवासी अपने-अपने घरों में ही देवी की स्तुति तथा स्थापना करेंगे तथा हिन्दू नववर्ष का स्वागत करेंगे।

मंगलवार 13 तारीख से प्रारंभ होने वाले हिंदू नववर्ष चैत्र नवरात्रि के लिए एक ओर जहां देवी मंदिरों में जमकर तैयारियां की जा रही हैं, वहीं इस वर्ष चैत्र नवरात्रि में भी कोरोना वायरस संक्रमण का असर पूरी तरह से नजर आ रहा है। मंदिर ट्रस्ट भी प्रशासन के निर्देशों का पूरी तरह से पालन कर रहा है, जिसके चलते नगर समेत आसपास के देवी मंदिरों में सेवा गीत से लेकर भंडारा तक के आयोजन इस वर्ष रद्द कर दिए गए हैं। मंदिर समिति से लेकर आमजन पूरी तरह सात्विक तरीके से चैत्र नवरात्रि हिंदू नववर्ष का स्वागत करने की तैयारी कर रहा है। 
विदित हो कि प्रदेश समेत पूरे जिले में बीते दिनों से फिर से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायसर के संक्रमण के चलते सात्विक तरीके से मंदिरों में नवरात्रि का आयोजन किया जा रहा है। इस वर्ष हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार चैत्र नवरात्रि पर भी कोरोना वायसर संक्रमण का असर पूरी तरह से नजर आ रहा है। 

मावली देवी मंदिर समिति के उपाध्यक्ष भुवन जायसवाल ने बताया कि मावली देवी मंदिर में चैत्र नवरात्रि में ज्योति कलश प्रज्वलित की जा रही है। मंगलवार सुबह 11.24 बजे से 12.36 बजे के बीच मंदिर की मुख्य ज्योति कलश को प्रज्वलित किया जाएगा। ज्योति कलश के साथ ही साथ नवरात्रि के पूरे नौ दिनों में भंडारा, सेवा गीत जैसे कार्यक्रम भी नहीं होंगे। 
केवल मंदिर के मुख्य पुजारी द्वारा सुबह-शाम को माता की पूजा की जाएगी। इस दौरान मंदिर समिति के सदस्य, नगरवासी समेत सभी लोग प्रतिबंधित रहेंगे । 

घर पर ही सात्विक तरीके से नवरात्रि की तैयारी
चैत्र नवरात्रि के लिए बीते कई दिनों से नगर में देवी मंदिरों की साफ. -सफाई का कार्य प्रारंभ हो गया है, परंतु कोरोना संक्रमण तथा लॉकडाउन की वजह से जिले के सभी धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया गया है। चैत्र नवरात्रि के ही दिन से हिन्दू नववर्ष का प्रारंभ भी माना जाता है। हिन्दू नववर्ष को लेकर लोगों में उत्साह है तथा नगरवासियों द्वारा भी हिन्दू नववर्ष के स्वागत को लेकर अपने-अपने घरों जोरशोर से तैयारी की जा रही है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोग अपने-अपने घरों में ही रंगोली, अल्पना, तोरण द्वार, दीप जलाकर हिन्दू नववर्ष के साथ-साथ माता के आगमन तथा सात्विक तरीके से माता की पूजा करने को तैयार नजर आ रहे हैं।
 


14-Apr-2021 8:07 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बलौदा बाजार, 14 अपै्रल।
जिले की सडक़ों पर एक बार फिर सन्नाटा पसर गया है। सन्नााटा बता रहा है कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति कहां पहुंच गई है। जिला प्रशासन ने बलौदाबाजार को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। इसका असर लॉकडाउन के पहले दिन देखने को मिला। चौक-चौराहों पर पुलिस मुस्तैद है। वाहनों की चेकिंग की जा रही है। बेवजह आवाजाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।

11 अप्रैल की शाम 6 बजे से 21 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लगातार लाकडाउन का पालन किया जाएगा। जिले में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों संख्या में लगातार वृद्घि होने के कारण उत्पन्ना परिस्थितियों के अनुक्रम में जिला में सार्वजनिक आवागमन एवं अन्य गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। 

बीते रविवार की कोरोना के राहत भरे अकड़े आने के बाद आज फिर एक दिन में मिलने वाले आकड़ों में सबसे ज्यादा 1006 संक्रमित मरीज मिले हैं। जबकि 2 लोगों की मृत्यु भी हुई है। वही जिले में आज 81 मरीज स्वास्थ्य होने के बाद जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 4370 पहुंच गयी है। कोरोना के भयवाहक आंकड़े से जिलेवासी भी थर्रा गए हैं। लॉकडाउन के पहले दिन सडक़ों पर सन्नााटा पसरा दिखा वहीं कुछ लापरवाह लोग सडक़ों पर बेवजह घूमते भी दिखे। जिले में लगातार बढ़ते आकड़ों से जिलेवासियों को सिख लेना चाहिए व लाकडाउन का पालन करना चाहिए।

 जिले की सभी सीमाएं पूर्णत: सील है। उपरोक्त अवधि में केवल मेडिकल दुकानों व डेयरी को अपने निर्धारित समय में खोलने की अनुमति दी गई। पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा केवल शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, एटीएम कैश वैन, अस्पताल/मेडिकल इमरजेन्सी से संबंधित निजी वाहन,एम्बुलेंस, एलपीजी परिवहन कार्य में प्रयुक्त वाहन, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड से संचालित आटो, टैक्सी, विधिमान्य ई-पास धारित करने वाले वाहन, एडमिट कार्ड, कॉल लेटर दिखाने पर परीक्षार्थी एवं उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध-वाहन को छूट दी गई है।
 


14-Apr-2021 7:47 PM 20

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सरसींवा, 14 अपै्रल।
अम्बेडकर जयंती के उपलक्ष्य में सरसीवा  चिकित्सालय परिसर में स्थित डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के मूर्ति पर बिलाईगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विधायक एवं संसदीय सचिव चंद्र देव राय के द्वारा पूजा अर्चना कर, श्रीफल तोडक़र फूल माला पहनाकर बाबा साहब की जयंती को याद किया गया।  

संविधान के रचयिता बाबा साहब डॉ.भीमराव अंबेडकर की जयंती के अवसर पर विधायक एवं संसदीय सचिव श्रीचंद्र देव राय के साथ बाबा भीमराव अंबेडकर के अनुयायियों एवं कांग्रेसी कार्यकर्ता ने भी फूल माला पहनाकर संविधान के रचियता को याद किया। 

कोरोना का ध्यान में रखते हुए माक्र्स लगाकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए यह जयंती मनाई गयी। वही लगभग 2.30 बजे जनपद पंचायत बिलाईगढ़ में अष्ट धातु से निर्मित बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का स्थापना एवं अनावरण संसदीय सचिव चंद्र देव राय  के द्वारा किया गया । उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से जनपद पंचायत बिलाईगढ़ के अध्यक्ष भूमिका कथाकार उपाध्यक्ष राजा अग्रवाल नगर पंचायत उपाध्यक्ष प्रवेश दुबे भोजराज अजगल्ले, मुद्रिका राय, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पंकज चंद्रा, जावेद खान उपस्थित थे।
 


14-Apr-2021 6:03 PM 23

बलौदाबाजार, 14 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला बलौदाबाजार कांग्रेस कमेटी के द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार में सहयोग प्रदान करने हेतु 8 सदस्यीय जिला स्तरीय कंट्रोल रुम की स्थापना की गई है।

राकेश वर्मा (अध्यक्ष जिला पंचायत बबा) मो.98260 19018

सुनील माहेश्वरी-93006 21107

रुपेश ठाकुर (अध्यक्ष शहर कांग्रेस कमेटी बबा) मो 98266 48566

विक्रम गिरी (अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ग्रा.बबा)मो 81202 30832, ऋत्विक मिश्रा (उपाध्यक्ष नपं कसडोल) 89821 71000, लखेश साहू 99261 56757, अविनाश मिश्रा(विशु) बबा 98267 20193, भागवत साहू (अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस बिलाईगढ़) 97544 42299 उपरोक्त गठित कंट्रोल रुम के सदस्य स्थानीय जिला प्रशासन के साथ मिलकर कोविड से पीडि़तों/चिकित्सा/स्वास्थ्य,अस्पताल, टेस्टिंग, टीका, बैड, आक्सीजन व्यवस्था तथा जरुरतमंदो को भोजन से संबंधित सहयोग प्रदान करेंगे। हितेन्द्र ठाकुर अध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी बलौदाबाजार ने कहा कि किसी भी तरह की कोरोना की समस्याओं के लिए इन सदस्यों से इनके मोबाईल पर संपर्क करें।


14-Apr-2021 5:45 PM 11

भाटापारा, 14 अप्रैल।  गर्मी के साथ सबसे बड़ी समस्या पशुओं के लिए होती है। सारे चरागन भूमि उजाड़ है, कहीं चारा की उपलब्धता नहीं है। चरागन भूमि या तो अवैध कब्जे में है या पंचायत स्तर पर पशुओं को चारा उपलब्ध कराने गर्मी पूर्व तैयारी भी नहीं है जिससे पशुधन चारा और पानी के लिए मारे-मारे फिर रहे है। उनकी हालत यह है कि पशुओं को गर्मी में बैठना तो दूर खड़े होने के लिए भी जगह तलाशनी पड़ती है। 

पशु की सेवा और संरक्षण की बात तो सब करते है लेकिन उनकी सुरक्षा व व्यवस्था पर ध्यान किसी का नहीं जाता आज गांव-गांव में पशुओं के लिए न चरागन बची है और न ही गौठान। गौठान में पीने का पानी, खड़े होने की जगह कहीं नजर नहीं आता। ज्यादातर गौठान उजाड़ हो चुके हैं इससे तमाम प्रकार के बीमारियों का संक्रमण पशुओं के माध्यम से घरों तक पहुंचता है। वहीं पशुधन भी बीमारियों से ग्रसित रहते है। चारा का अभाव और व्यवस्था के अभाव में आज पशु को संरक्षित रखना काफी कठिन है। सरकार तमाम तरह की योजनाएं पंचायत स्तर पर बना रही है। समाज का दर्पण पशु की व्यवस्था पर कार्ययोजना सिर्फ  कागजों तक ही सिमित है। मुख्यमंत्री ने नरवा, गरवा, घुरवा बारी का नारा दिया था। कुछ स्थानों पर गौठान बनाया गया है वह भी उजाड़ हालात में पड़ा हुआ है। पशुधन की सुधि लेने वाला कोई नहीं है। लॉकडाउन की स्थिति में जो थोड़ा-बहुत चारा उपलब्ध हो पाता था वह भी नहीं हो रहा है जिस पर संज्ञान लिए जाने की जरूरत है।