छत्तीसगढ़ » रायपुर

Posted Date : 20-May-2019
  • भाजपा के विश्वास पर एक्जिट पोल की मुहर- रमन

    रायपुर, 20 मई। लोकसभा चुनाव के सभी चरण संपन्न हो जाने के बाद सामने आए एग्जिट पोल में भाजपा को भारी बहुमत मिलने का अनुमान व्यक्त किए जाने पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा है कि यह भाजपा के विश्वास पर एग्जिट पोल की मुहर है। 
    देश की जनता ने मोदी जी के नेतृत्व में देश की सरकार चुनना तय किया है। इसकी उम्मीद और भरोसा हमें पहले से ही रहा है और आज सभी एग्जिट पोल में भाजपा को 300 प्लस सीटें मिलने का अनुमान यह स्पष्ट कर रहा है कि देश की जनता ने तमाम तरह के चुनावी लालच को ठुकरा कर देश के हित में मोदी जी के नेतृत्व में फिर से भाजपा नीत एनडीए सरकार के पक्ष में जनादेश दिया है। 

    डॉ. रमन सिंह ने एग्जिट पोल में मिले शानदार जनसमर्थन का स्वागत करते हुए छत्तीसगढ़ सहित देश की जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस ने झूठ बोलकर जनता को भ्रमित कर दिया था। लेकिन 4 माह में ही सारे देश की तरह ही छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस के प्रति पूरी तरह मोहभंग होने की स्थिति सामने आ चुकी है और जिस तरह एग्जिट पोल में छत्तीसगढ़ में भाजपा को 7 से 8 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया जा रहा है तो हमारा कहना यह है कि छत्तीसगढ़ की जनता ने भाजपा को इससे भी बेहतर समर्थन दिया है और 23 मई को यह सामने आ जाएगा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा ने लोकसभा चुनाव का अब तक का शानदार प्रदर्शन कायम रखते हुए  सारे देश में  जनता का भरोसा बरकरार रखा है और इस भरोसे में मोदी जी के प्रयासों से बढ़ोतरी हुई है। 

    उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल में केंद्रीय सत्ता में भाजपा की वापसी बल्कि शानदार वापसी का यह अनुमान देश विरोधियों की हिमायत करने वालों और जनता को भ्रमित करने वालों के मुंह पर लोकतंत्र का करारा तमाचा है।

     

  •  

Posted Date : 20-May-2019
  • राजधानीवासियों में टेराकोटा कलाकृतियों और बर्तनों का चलन बढ़ा

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

     रायपुर, 20 मई। आधुनिक दौर में स्वास्थ्य और पर्यावरण के प्रति सजग रहनेे वाले शहरवासी इन दिनों पुराने दौर में उपयोग में लाए जाने वाले टेराकोटा के बर्तन, कुल्हड़ का उपयोग कर रहे हैं। वर्तमान में गृहिणियां मिट्टी के तवे में न सिर्फ रोटियां सेंक रही हैं वरन मिट्टी की कढ़ाई में सब्जी भी बना रही हैं।प्लास्टिक के टिफिन बॉक्स और बॉटल की जगह टेराकोटा  की बॉटल पसंद की जा रही है। इसके अलावा टेराकोटा की कलाकृतियों की इंटीरियर में पैठ बनी हुई है। 

    टेराकोटा कला से जुड़े सिलीगुड़ी के बलरामपाल ने बताया कि सिलीगुड़ी में लगभग एक हजार परिवार टेराकोटा की कारीगरी से जुड़े हैं। इसके लिए गंगा की मिट्टी इस्तेमाल की जाती है। गंगा की मिट्टी से कलात्मक मूर्तियों के अलावा रसोई में उपयोग किए जाने वाले बर्तन आसानी से बनाए जाते हैं। 

    फिलहाल हुनरमंदों द्वारा मिट्टी के गमले, मूर्तियां, साज-सज्जा हेतु मिट्टी के डेकोरेटिव आइटम के साथ-साथ ढेरों चीजें बनाई जा रही है। मिट्टी के तवे की कीमत 120 रुपये है। कुल्हड़ 30 रुपये दर्जन, चावल और दाल हंडी 70 से 150 रुपये की है। इसके अलावा 30 रुपये दर्जन के भाव से कुल्हड़ की बिक्री की जा रही है। इंटीरियर के लिए मिट्टी के विंडचिम के अलावा आदिवासी मुखौटे, मिस्त्र की प्रतिमाओं, बुद्ध प्रतिमाओं को पसंद किया जा रहा है। 

    बलराम पाल ने बताया कि सिलीगुड़ी में ज्यादातर लोग रसोई में मिट्टी के जहां बर्तन इस्तेमाल करते हैं वहीं कुल्हड़ में चाय पीते हैं। 
    मिट्टी के बर्तनों की मांग को देखते हुए हुनरमंद मिट्टी के कूकर, बॉटल, लंच बॉक्स तैयार कर रहे हैं। इन बर्तनों की मांग को देखते हुए कई व्यवसायियों ने इसका व्यवसाय भी शुरू कर दिया है। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 20-May-2019
  • सीएम का प्रदेश राइस मिल एसोसिएशन द्वारा अभिनंदन

    रायपुर, 20 मई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ प्रदेश राईस मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाश रुंगटा के नेतृत्व में नव निर्वाचित सदस्यों ने सौजन्य मुलाकात की और उनका अभिनंदन किया।

    श्री बघेल ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष और सदस्यों को बधाई और शुभकामनाए दी। इस अवसर पर एसोसिएशन द्वारा विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई और समस्याओं के बारे में अवगत कराया। मुलाकात के दौरान रामकुमार अग्रवाल और पप्पु बंसल सहित एसोसिएशन के अनेक सदस्य उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 20-May-2019
  • प्रदेश में उद्योग और व्यापार की अपार संभावनाएं, ईओ के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री बघेल ने आन्त्रेप्रोन्योरों को पुरस्कृत कर कहा- ये प्रदेश को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगें

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 20 मई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल आंत्रप्रोंन्योर ऑर्गेनाजेशन रायपुर द्वारा आयोजित कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के उद्यमियों को ई.आ.ेटी.वाय. पुरस्कार से सम्मानित किया। कार्यक्रम को संम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा छत्तीसगढ़ में उद्योग और व्यापार की अपार संभवनाएं हैं। यहां पानी, बिजली, भूमि, खनिज साधनों की कमी नही है। उन्होंने कहा कि नए उद्यमी छत्तीसगढ़ को नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे। 

    उन्होंने कहा कि गांव समृद्ध किये बिना उद्योग व्यापार आगे नही बढ़ सकता। श्री बघेल ने कहा कि दुनिया में पिछले दो सौ साल में जितने भी खोज हुए है ,सवाल पूछने के कारण हुए है। प्रसिद्ध वैज्ञनिक न्यूटन ने भी मन मे सवाल आने पर ही अपने सिद्धांत की खोज की है। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे अपनी रुचि के अनुसार जीवन मे आगे बढऩे के लिए क्षेत्र चुने जिससे उन्हें आशातीत सफलता मिल सके। कार्यक्रम में भीलवाड़ा ग्रुप के प्रमुख रिजु झुनझुनवाला ने उद्यमियों को अपने जीवन से जुड़ी घटनाओं  के जरिये सफलता के मंत्र दिए। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 20-May-2019
  • बृजमोहन पर आक्षेप

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 20 मई। मरवाही के पूर्व विधायक अमित जोगी ने फसल बीमा योजना में घोटाले का आरोप लगाया है। उन्होंने कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे को घोटाले से जुड़े दस्तावेज भी भेजे हैं और कहा कि 62 सौ करोड़ के इस घोटाले में तत्कालीन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की संलिप्तता रही है। अमित ने  इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। 

    अमित जोगी ने शिकायती पत्र में बताया कि पिछली सरकार में इस योजना के जरिए प्रदेश के 14 लाख किसानों से 7 निजी बीमा कंपनियों के द्वारा उनसे बिना सहमति लिए साढ़े चार सौ रूपये प्रति एकड़ के हिसाब से उनके किसान क्रेडिट कार्ड से प्रीमियम राशि ले ली गई थी। इतनी ही राशि का 25 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकार द्वारा तथा शेष 25 प्रतिशत हिस्सा केन्द्र सरकार द्वारा बीमा कंपनियों को स्थानांतरित किया गया। इस तरह छह हजार करोड़ रूपए बीमा कंपनियों को दे दिए गए। 

    जोगी ने अपने पत्र में बताया कि उपरोक्त योजना की शर्तो के अनुसार बीमा कंपनियों को हर 10 किमी की दूरी में मौसम मापक केन्द्र स्थापित करने थे तथा प्रतिदिन मौसम का ब्यौरा कृषि विभाग के जिला उप-निदेशकों को उपलब्ध कराना था। इसके आधार पर कृषकों को मौसम के कारण फसल नुकसानी का समुचित मुआवजा राशि उपलब्ध करानी थी। चार वर्षो में किसी भी बीमा कंपनी के द्वारा इन शर्तो का पालन नहीं करा गया।

    उन्होंने बताया कि किसानों से, राज्य और केन्द्र सरकारों से प्रीमियम की संपूर्ण राशि की वसूली करी गयी। वर्ष 2014-15, 2015-16, 2016-17 में संपूर्ण छत्तीसगढ़ में अल्प वर्षा अथवा असमायिक वर्षा के कारण अकाल की स्थिति निर्मित हुई तथा इस अवधि में कृषि क्षेत्र की जीडीपी दर में 27 प्रतिशत कमी आयी। राज्य के आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार धान, गन्ना एवं दलहन-तिलहन के उत्पादन में भी भारी गिरावट देखी गई। इसके परिणामस्वरूप प्रदेश के लगभग 24 सौ किसान आत्महत्या करने पर विवश हो गए।

    अमित जोगी ने यह भी बताया कि इतनी भयावह स्थिति के बावजूद उपरोक्त 7 बीमा कंपनियों द्वारा किसानों के साथ मुआवजा के नाम पर मजाक किया गया। जहां प्रीमियम के नाम पर कृषकों से 450 रूपये प्रति एकड़ की जबरिया वसूली करी गई, वहीं अकालग्रस्त क्षेत्रों में उन्हें औसतन 15 से 20 रूपये प्रति एकड़ के हिसाब से नाममात्र का मुआवजा देकर बीमा कंपनियों द्वारा खानापूर्ति की गयी। लगातार शिकायत करने के बावजूद तत्कालीन सरकार के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के द्वारा उपरोक्त बीमा कंपनियो के विरूद्ध कोई भी कार्रवाही नहीं करी गई। न ही इतने बड़े भ्रष्टाचार की विभागीय स्तर पर जांच कराई गयी। जोगी ने आरोप लगाया कि ऐसा उन्होंने बीमा कंपनियों के साथ अवैध एवं अनैतिक सांठ-गांठ के कारण किया।

    अमित जोगी ने यह भी आरोप लगाया कि नई सरकार बनने के बाद पिछले सरकार द्वारा करे गये विभिन्न घोटालों की जांच हेतु सरकार द्वारा ताबड़तोड़ विशेष जांच दलों का गठन किया गया है किन्तु मुख्यमंत्री के तत्कालीन कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के साथ घनिष्ठ एवं अंतरंग संबंधों के कारण उनके ऊपर लगाये गये किसी भी आरोप की जांच तक नही कराई जा रही है। राजिम कुंभ, पर्यटन विभाग द्वारा घटिया स्तर के मोटल निर्माण, जलकी (महासमुंद) में उनके द्वारा अवैध जमीन अधिग्रहण, सिंचाई एवं कृषि विभाग में हजारों करोड़ रूपयों की निविदाओं (टेंडर) में घपले जैसे अनेक प्रकरण है, जिस पर मुख्यमंत्रीजी के द्वारा परदा डाला जा रहा है। उन्होंने अपेक्षा की है कि कृषि विभाग के राजनैतिक मुखिया होने के नाते आप मुख्यमंत्री के राजनैतिक दबाव में न आकर विभागीय जांच का आदेश जरूर पारित करेगें तथा विगत 4 वर्षो के दौरान सभी अकाल प्रभावित किसानों को उपरोक्त योजना के अंतर्गत बीमा कंपनियों से कम से कम 15 हजार रूपये प्रति एकड़ सालाना के हिसाब से मुआवजा राशि देने के निर्देश जारी करने की कृपा करेगें। 

     

  •  

Posted Date : 20-May-2019
  • पॉप सिंगर के न आने पर नुकसान-विवाद, गिरफ्तारी नहीं

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 20 मई। पंजाबी पॉप सिंगर बादशाह के न आने से हुए 30 लाख के नुकसान पर दो साल पहले शहर के एक बोरवेल कारोबारी के साथ जमकर मारपीट की गई। परिवार का अपहरण कर उसे जान से मारने की धमकी दी गई। कोरे स्टांप पेपर में हस्ताक्षर करा उससे सोने की चेन, कार व 50 हजार रुपये नगदी लूट ली गई। पीडि़त कारोबारी की शिकायत पर पुलिस ने उसके आरोपी साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। 

    पुलिस के मुताबिक विधानसभा क्षेत्र के कुथरेल(मनोहरा)गांव निवासी डॉ. रोशन मिश्रा(33)का यहां टिकरापारा में नूतन नर्सिंग कॉलेज के पास बोरवेल का कारोबार है। वहीं उसके साथी अर्पित जैन, प्रणय जैन का बोरवेल कारोबार राजेंद्र नगर में है। वहां उन दोनों का बाहुबली बोरवेल के नाम से कारोबार है। दोनों कारोबारी ने मिलकर 30 नवंबर 2017 को यहां रायपुर साइंस कॉलेज मैदान में एक इवेंट रखा, जिसमें पंजाबी पॉप गायक बादशाह आने वाले थे। उन्हें उसके एकाउंट के माध्यम से साढ़े 17 लाख का भुगतान भी कर दिया गया था, लेकिन वे नहीं आए। ऐसे में दोनों कारोबारियों को 50 लाख का नुकसान हुआ। 

    पीडि़त डॉ. रोशन मिश्रा ने पुलिस को बताया कि इस कार्यक्रम के आयोजन में उसका 20 लाख फंसा था, जिसे व्यावसायिक नुकसान मानकर वह चुप बैठ गया था। वहीं उसका साथी कारोबारी अर्पित जैन, प्रणय जैन कार्यक्रम के आयोजन में 30 लाख का नुकसान बताकर यह राशि डॉ. मिश्रा से मांग रहे थे। यह राशि नहीं मिलने पर दोनों ने डॉ. मिश्रा को उसके एक दोस्त के माध्यम से करीब सालभर बाद एक नवंबर 2018 को राजेंद्र नगर स्थित अपनी बाहुबली बोरवेल कंपनी में बुलाया। 

    पीडि़त ने यह भी बताया कि वहां दोनों जैन बंधुओं ने अपने कुछ और साथियों के साथ मिलकर उसके साथ जमकर मारपीट की। कोरे स्टांप पेपर में हस्ताक्षर करा उसके सोने की चेन, कार व 50 हजार रुपये लूट ली। इतना ही नहीं, परिवार का अपहरण कर उसे जान से मारने की धमकी  भी दी। पीडि़त की कुल 7 लाख 70 हजार रुपये नुकसान, मारपीट, धमकी, लूट की शिकायत पर पुलिस ने अब मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि दोनों पक्ष एक ही कारोबार से जुड़े हैं। दोनों मिलकर कार्यक्रम करा रहे थे। सिंगर के नहीं आने पर मैदान किराया, टेंट, विज्ञापन, सिंगर को भुगतान आदि पर खर्च हुआ था। मामले की जांच चल रही है। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • अभिनय अभ्यास के साथ शुरू हुई नाट्य कार्यशाला 
     छत्तीसगढ़ संवाददाता
     रायपुर, 19 मई।
    छत्तीसगढ फिल्म एंड विजुअल आर्ट सोसाइटी और अजीम प्रेमजी फााउंडेशन द्वारा आयोजित 21 दिवसीय संयुक्त नाट्य कार्यशाला का रविवार को शुभारंभ हुआ। कार्यशाला में 24 बच्चों की सहभागिता रही। 

    सुप्रसिद्ध व्यंग्यकार, बाल साहित्य रचयिता गिरीश पंकज, अजीम प्रेमजी फाउंडेशन टोंक राजस्थान से जुड़े संस्कृतिकर्मी राजकुमार और एनिमेशन फिल्म से जुड़ी आस्था कपिल चौबे की सहभागिता में शुरू हुई इस कार्यशाला में  रचना मिश्रा ने अनेक गतिविधियों के माध्यम से प्रतिभागी बच्चों को अभिनय का अभ्यास कराया।

    कार्यशाला मे आये बच्चों को गिरीश पंकज ने स्वरचित बाल कविताएं सुनाई तथा राजकुमार ने प्रशिक्षण से जुड़ी जानकारी दी। उन्होंने प्रतिभागियों को प्रतिदिन के कार्यव्यवहार से जुड़े अनुभवों को डायरी में लिखने की सलाह दी। इस अवसर पर आस्था चौबे ने बच्चों को एनीमेशंन के बारे में जानकारी दी। छत्तीसगढ फिल्म एंड विजुअल आर्ट सोसाइटी के अध्यक्ष सुभाष मिश्र ने कार्यशाला के आयोजन और भविष्य की गतिविधियों की जानकारी दी।  

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • बुद्ध जयंती पर पूजा-वंदना
    रायपुर, 19 मई
    । बुुद्धिस्ट इंटरनेशनल मल्टीपरपज फाउंडेशन एवं भारतीय बौद्ध महासभा के संयुक्त तत्वाधान में शनिवार को यहां गांधी उद्यान स्थित बुद्ध प्रतिमा के सामने शनिवार को बुद्ध जयंती मनाई गई। इस दौरान वहां सामूहिक रूप से बुद्ध पूजा-वंदना की गई। 

    परित्राण पाठ के साथ महाराष्ट्र कामठी से पधारे भंते बुद्धरत्न संबोधि ने बुद्धिस्ट उपासकों को संबोधित करते हुए धम्मदेशना दी। उन्होंने भगवान बुद्ध के बताए मार्गों पर चलने का संदेश दिया। वहीं उन्होंने ध्यान, साधना के महत्व को बताया। अंत में सभी को साधुवाद देते हुए मंगलकामना की। 

    कार्यक्रम में संगठन के सूर्या इंडियन, नेहा वासनिकर, प्रज्ञा मेश्राम, पूजा जांभुलकर, एलपी बैनर्जी, संजय बोरकर, बेनीराम गायकवाड़, सुनीता सुखदेवे आदि का सराहनीय योगदान रहा। कार्यक्रम में मिथुन बंजारे, सुनील गनवीर, लक्ष्मी साहू और  सभी बौद्ध उपासक व महिला मंडल बौद्ध समुदाय के पदाधिकारी-सदस्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • साई, उत्तरप्रदेश और ओडिशा की जीत

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में चल रहे 9वीं राष्ट्रीय हॉकी इंडिया सब जूनियर बालक हॉकी चैंपियनशिप के तहत रविवार को स्पोटर्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया विरूद्ध चंडीगढ़, ओडिशा विरूद्ध मध्यप्रदेश तथा उत्तरप्रदेश विरूद्ध पंजाब के बीच संघर्षमय क्वार्टर फाइनल मुकाबले हुए। स्पर्धा में साई ने 3-0 से, ओडिशा ने 3-2 से और उत्तरप्रदेश 3-0 से विजेता रही। स्पर्धा के सेमी फाइनल मुकाबले मंगलवार को खेले जाएंगे। 

    पहला क्वार्टर फाइनल ओडिशा और मध्यप्रदेश के बीच खेला गया। संघर्षपूर्ण रोमांचक मुकाबले में ओडिशा ने 3-2 से जीत हासिल की। ओडिशा की ओर से पॉल्स लकड़ा ने दूसरे और 38वें मिनट पर गोल दागा। इसके जवाब में 19वें मिनट और 29वें मिनट पर मध्यप्रदेश के श्रेयस धुपे ने गोल दागकर टीम को प्रतिद्वंदी टीम के बरारब ला खड़ा किया। लेकिन 60वें मिनट पर ओडिशा के राजमॉन ने निर्णायक गोल दागकर टीम को जीत दिलाई। 

     फाइनल साई और चंडीगढ़ के बीच खेला गया दूसरा क्वार्टर फाइनल मुकाबला रोमांचक रहा। 35वें मिनट में साई की ओर से आकाश ने पहला गोल दागा। साई ने बढ़त बनाए रखते हुए 42वें मिनट पर मोहम्मद जैद ने दूसरा गोल किया। साई के आक्रामक खेल के आगे प्रतिद्वंदी चंडीगढ़ टीम जवाबी गोल नहीं कर पाई और 49वें मिनट पर अभिषेक ने मैदानी गोल दागकर 3-0 से टीम को जीत दिलाई। 

    तीसरा क्वार्टर फाइनल उप्र और पंजाब के बीच खेला गया, जिसमें उप्र 3-0 से विजेता रहा। उप्र की ओर से 10वें और 39वें मिनट पर अंकित प्रजापति ने तथा 17वें मिनट में सिद्धांत सिंह ने गोल किया। 

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • माहेश्वरी युवा मंडल ने रेल यात्रियों को दी पेयजल सेवा
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    माहेश्वरी युवा संगठन द्वारा इन दिनों रेल्वे स्टेशन में यात्रियों की सुविधा हेतु पेयजल सेवा प्रदान की जा रही है। माहेश्वरी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्याम भाई सोनी जो कि एक पारिवारिक कार्यक्रम में सम्मिलित होने रायपुर पहुंचे थे, अपने व्यस्ततम कार्यक्रम से समय निकाल कर उत्साह वर्धन हेतु अपने साथियों सहित रेल्वे स्टेशन पहुंचे। उन्होंने कहा कि जलसेवा के माध्यम से किसी प्यासे को तृप्त करना सच्ची मानव सेवा है। महेश्वरी सभा के अध्यक्ष सम्पत काबरा ने  सेवा कार्य की सराहना की। 

    माहेश्वरी सभा के प्रचार प्रसार प्रभारी सूरज प्रकाश राठी ने बताया कि आज लगभग 15 हजार यात्रियों को जल, शर्बत व मठ्ठा का वितरण किया गया। सेवा कार्य में अजय काबरा, विजय दम्मानी, कमल राठी, प्रदेश युवा संगठन अध्यक्ष राजेश, अजय सारडा, डॉ मोहनलाल राठी, डॉ रवि राठी, डॉ सतीश राठी सहित माहेश्वरी युवा संगठन के सदस्य शामिल रहे।

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • सेवा भारती द्वारा किशोरियों को दी गई स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की जानकारी
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    सेवा भारती द्वारा रविवार को रोहिणीपुरम स्थित सरस्वती संस्थान में किशोरी विकास कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में 5 बस्तियों की 50 से अधिक किशोरियां शामिल रहीं। इस अवसर पर डॉ. जया वाजपेयी द्वारा जहां किशोरियों को स्वास्थ्यगत जानकारी दी गई वहीं पुलिस अधिकारी निशा ठाकुर द्वारा किशोरियों को आचरणगत सावधानियों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। इस अवसर कराते कोच हर्षा साहू द्वारा आत्मरक्षा के गुर सिखाए गए।

    किशोरी विकास कार्यशाला के अवसर पर डॉ. जया वाजपेयी ने किशोरियों को माहवारी आने पर तुरंत बाल धोने से मना किया। उन्होंने बताया कि ऐसा करने से सिर की नसों में, फेफड़ों में खून के धक्के जमने की संभावना रहती है। उन्होंने किशोरियों को माहवारी के समय स्वच्छता को लेकर एहतियात बरतने की सलाह दी। इस मौके पर पुलिस अधिकारी निशा ठाकुर ने किशोरियों को वर्तमान अपराध के दौर में मोबाइल के उपयोग को लेकर सतर्कता बरतने के लिए कहा। 

    यौन उत्पीडऩ का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि घटित घटना को छुपाने की जगह उसके बारे में मां या अपनों को जानकारी देनी चाहिए। बर्थ डे या अन्य मौकों पर बाहर दोस्तों के साथ निकलने पर मर्यादित आचरण करना चाहिए। इस अवसर पर सेवा भारती की संगीता चौबे, श्यामल जोशी, पूर्णिमा तिवारी सहित अन्य सदस्याएं मौजूद रहीं। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • ब्यूटीपार्लर संचालिका से छेड़छाड़

    भाजपा नेता प्रकाश बजाज गिरफ्तार 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    भाजपा नेता प्रकाश बजाज रविवार को यहां छेड़छाड़ के पुराने प्रकरण में गिरफ्तार कर लिया गया है। खबर है कि तेलीबांधा की एक ब्यूटी पार्लर संचालक ने बजाज के खिलाफ सिविल लाइन पुलिस में शिकायत की थी। सालभर पुराने इस प्रकरण पर बजाज के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। यह मामला एक मकान की खरीदी-बिक्री से जुड़ा बताया जा रहा है। 

    अश्लील सीडी मामले के मुख्य शिकायतकर्ता रहे भाजपा नेता प्रकाश बजाज करीब सालभर पहले तेलीबांधा के एक ब्यूटी पार्लर में पहुंचा। वहां उन्होंने ब्यूटी पार्लर संचालक एक महिला से छेड़छाड़ करते हुए गाली-गलौज, धमकी दी थी। पार्लर संचालक ने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन भाजपा सरकार के दबाव में पुलिस इस मामले में कार्रवाई नहीं कर रही थी। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आते ही इस पुराने मामले की फाइल खुल गई है। सिविल लाइन पुलिस ने पूछताछ के लिए प्रकाश बजाज को गिरफ्तार कर लिया है। 

    महिला का आरोप है कि भाजपा नेता प्रकाश बजाज लगातार उसके साथ छेडख़ानी करता था। मना करने पर उसे धमकी देता था। कहा जा रहा है कि ब्यूटी पार्लर संचालक महिला ने प्रकाश बजाज से एक मकान खरीदा था। पैसा देने के बाद भी प्रकाश बजाज उस मकान की रजिस्ट्री नहीं करा रहा था।  महिला का आरोप है कि उसने प्रकाश बजाज से इस संबंध में संपर्क किया तो उसके साथ छेड़छाड़ करते हुए गाली-गलौज, धमकी दी गई। 

    भाजपा आईटी सेल से जुड़े प्रकाश बजाज पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत के खिलाफ सामने आए अश्लील सीडी के मामले में सुर्खियों में रहे। यह मामला दो-तीन महीने तक काफी गरमाया रहा। बाद में यह ठंडे बस्ते में चला गया। सिविल लाइन पुलिस का कहना है कि छेड़छाड़, धमकी के मामले में भाजपा नेता बजाज के खिलाफ आगे की कार्रवाई हो सकती है। फिलहाल उन्हें गिरफ्तार कर सिविल लाइन थाना लाया गया है, जहां उनसे घंटेभर से पूछताछ चल रही है। पूछताछ के बाद उन्हें अदालत में पेश करते हुए रिमांड पर लेने का प्रयास किया जाएगा, ताकि पूछताछ में घटना से जुड़ी सभी बातें सामने आ सके। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • ई टेंडरिंग में गड़बड़ी का खुलासा, बीज सप्लाई करने वाली 4 कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई, सुरक्षानिधि राजसात
    सभी ने मिलकर टेंडर भरे थे
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    राज्य बीज निगम में ऑन लाइन टेंडरिंग में महालेखाकार की आपत्तियों के बाद बड़ी गड़बड़ी पकड़ी गई है। यह तथ्य प्रकाश में आया है कि चार कंपनियों ने मिलकर टेंडर भरे थे। बीज सप्लाई के टेंडर में अनियमितता पर चारों कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इन सभी कंपनियों की न सिर्फ सुरक्षा निधि राजसात की गई है बल्कि अगले पांच साल के लिए निगम के किसी भी टेंडर में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

    बताया गया कि महालेखाकार ने बीज निगम के वर्ष-2012-13 से वर्ष-2016-17 तक ऑडिट ऑब्जवेर्शन किया था। यह बात सामने आई कि कई बोलीदारों ने अलग-अलग कंपनी दिखाकर टेंडर हासिल कर लिया। मसलन, मेसर्स बीजो शीतल सीड्स प्राइवेट लिमिटेड और मेसर्स कलश सीड्स प्राइवेट लिमिटेड के ऑफिस का पता और फोन नंबर एक समान पाए गए। 
    बताया गया कि ऑडिट ऑब्जवेर्शन में की गई आपत्ति के बाद दोनों संस्थाओं के आरसीओ में ऑनलाइन अपलोड किए गए दस्तावेजों का पुन: परीक्षण कराया गया। दस्तावेजों ने दोनों संस्थाओं को पता एक ही पाया गया। इस सिलसिले में दोनों संस्थाओं को नोटिस जारी किया गया। यह भी बताया गया कि दोनों ही संस्थाओं की तरफ से एक ही तरह का जवाब पेश किया गया। संस्था के संचालकों ने बताया कि  दोनों कंपनियों का कार्यालय एक ही बिल्डिंग में है। परंतु फोन नंबर और फैक्स के एक समान होने के संबंध में कोई समाधान कारक उत्तर प्रस्तुत नहीं किया गया, जिससे यह साफ हो सके कि दोनों संस्थाएं पृथक-पृथक है। 

    उल्लेखनीय है कि दोनों कंपनियों का कार्यालय एक ही जगह पाया गया। कंपनी के संचालक मंडल में समीर सुरेश अग्रवाल का नाम संचालक के रूप में अंकित पाया गया, जिससे यह साफ होता है कि दोनों ही संस्थाओं द्वारा मिलकर निविदा भरा गया है। दोनों संस्थाएं जालना महाराष्ट्र की बताई गई है। दोनों कंपनियों की सुरक्षानिधि तत्काल प्रभाव से निरस्त कर उन्हें 5 साल के लिए किसी भी टेंडर में भाग लेने से प्रतिबंधित किया गया है।

    इसी तरह वर्ष-2015-16 में डीलक्स रिसाइकिलिंग प्राइवेट लिमिटेड और आशापुरा रिसाइकिलिंग सिस्टम मुंबई द्वारा भी ऑनलाइन अपलोड किए गए दस्तावेजों की पड़ताल के बाद गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। खास बात यह है कि दोनों कंपनियों के संचालक लक्ष्मी शाह, मणीलाल शाह और जिगनेश शाह बताए जाते हैं। 

    ऑडिट आपत्ति के बाद की गई आपत्ति के परिपालन में दोनों संस्थाओं के दस्तावेजों की पड़ताल की गई। यह बात सामने आई कि दोनों कंपनियों के फोन नंबर, फैक्स नंबर और ईमेल एड्रेस एक ही थे और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में तीनों ही है। इस सिलसिले में दोनों संस्थाओं को बीज निगम द्वारा नोटिस जारी किया गया। दो बार नोटिस का संस्था की तरफ से कोई जवाब नहीं आया। तीसरी बार जारी नोटिस के जवाब में कंपनी की तरफ से अधिवक्ता ने बताया कि दोनों ही संस्थाओं के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर एक ही है। साथ ही जवाब में यह भी माना है कि दोनों ही संस्थाओं के फोन नंबर, फैक्स नंबर और ईमेल एड्रेस एक समान होना स्वीकार किया गया। यह साफ हो गया है कि दोनों संस्थाओं द्वारा मिलकर टेंडर भरा गया है। बीज निगम के एमडी जनमेजय मोहबे ने मेसर्स आशापुरा रिसाइकि लिंग सिस्टम और मेसर्स डीलक्स रिसाइकिलिंग प्राइवेट लिमिटेड द्वारा जमा की गई सुरक्षा निधि को तत्काल प्रभाव से राजसात कर दिया है। साथ ही 5 वर्ष के लिए किसी भी टेंडर में भाग लेने के लिए प्रतिबंधित करने के आदेश दिए हंै। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • संभागायुक्त ने संभाग के सभी कलेक्टरों को प्रमाण पत्र बनाने के लिए विशेष शिविरों का आयोजन करने के दिए निर्देश

     रायपुर, 19 मई। स्कूली बच्चों और उनके अभिभावकों को आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कार्यालयों का चक्कर न लगाना पड़े इसके लिए राज्य शासन की मंशानुरूप प्रमाण पत्र बनाने के लिए विशेष अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। रायपुर संभाग के आयुक्त जी.आर. चुरेन्द्र ने संभाग के सभी जिला कलेक्टरों को स्कूली बच्चों के आय, जाति व निवास प्रमाण पत्र बनाने के लिए विशेष शिविरों का आयोजन करने के निर्देश जारी किए है। 

     श्री चुरेन्द्र ने कहा है कि नए शिक्षा सत्र प्रारंभ होने के साथ ही स्कूली बच्चों और उनके अभिभावकों को आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र बनवाने के लिए काफी परेशान होना पड़ता है। कई बच्चे साल भर इन प्रमाण पत्रों के लिए भटकते रहते है। यदि आय, जाति और निवास प्रमाण पत्रों को विशेष शिविरों का आयोजन कर बनाया दिया जाए तो इससे न केवल बच्चों और उनके अभिभावकों को राहत मिलेगी बल्कि विभागीय अधिकारियों को भी इस काम में काफी सहुलियत के साथ ही शासन में पारदर्शिता और सुशासन की दिशा में यह कदम कारगर कदम साबित होगा। 

    शिविरों के लिए समय-सीमा तय
    संभागायुक्त ने कहा है कि एक मई से 15 जून तक स्कूलों में अवकाश रहता है। इस दौरान विशेष अभियान आयोजित कर सेक्टर मुख्यालयों और केन्द्रीय लोकेशनों के हायर  सेकेण्डरी या हाई स्कूलों में विशेष शिविरों का आयोजन किया जाए। सबसे पहले 25 मई से 29 मई के बीच जिला कलेक्टरों द्वारा राजस्व, शिक्षा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा नगरीय प्रशासन के जिला और मैदानी अधिकारियों की समन्वय बैठक आयोजित कर कार्ययोजना तैयार कर ली जाए। जिन विद्यार्थियों के पास आय, जाति व निवास प्रमाण पत्र नही है उनका आकंलन कर लिया जाए। कक्षावार आकलित विद्यार्थियों की संख्या के अनुरूप आय, जाति व निवास प्रमाण पत्र के लिए लगने वाले आवेदन व अन्य प्रपत्र प्रिंट कराकर विद्यालय को उपलब्ध करा दिए जाए। 

    विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों को गांवों में मुनादी कर सूचना दी जाए कि आय, जाति और निवास प्रमाण बनाने हेतु आवेदन भरने और अन्य औपचारिकताएं पूर्ण कराने विद्यालयों में कार्यवाही की जा रही है। श्री चुरेन्द्र ने कहा कि यह कार्यवाही स्कूलों में 2 से 3 दिनों में कर ली जाए। इस दौरान सभी शिक्षकों के साथ ही ग्राम के सरपंच, ग्राम पंचायत सचिव, पटवारी और संबंधित नगरीय क्षेत्र में निकाय के कर्मचारी अभिलेखों सहित अनिवार्य रूप से उपस्थित रहकर औपचारिकताएं पूर्ण करने में अपने दायित्व का निर्वहन करेंगे। 

    शिविर का पहला चरण 4 से 25 जून तक
    सभी औपचारिकताएं पूर्ण होने के बाद 4 जून से 15 जून के बीच तहसील व जनपद क्षेत्र के सेक्टर मुख्यालय या केन्द्रीय लोकेशन के हायर सेकण्डरी या हाई स्कूलों में विशेष शिविर आयोजित कर प्रमाण पत्र जारी करने की कार्यवाही की जाए। शिविरों में छूटे बच्चों का विवरण तैयार कर कामन सर्विस सेंटरों के माध्यम से उनका आय, जाति व निवास प्रमाण बनवाया जाए। इसी तरह इस अभियान का अगला चरण 25 जून से 7 जुलाई के मध्य आयोजित कर छूटे बच्चों का प्रमाण पत्र बनाने की कार्यवाही की जाए।

    संभागायुक्त ने कहा कि शिविरों में राजस्व, शिक्षा, पंचायत और ग्रामीण विकास तथा नगरीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारी अपने सभी संबंधित अभिलेखों के साथ अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे। शिविरों की तिथियों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि कोई छूटने न पाए। श्री चुरेन्द्र ने इन शिविरों के सफल आयोजन के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को जिम्मेवारी दी है वहीं प्रमाण पत्र जारी करने के मामले में जिला शिक्षा अधिकारी समन्वयक की भूमिका निभाएंगे।  

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • 48 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसल की तैयारी
    दलहन-तिलहन का रकबा 2 हजार बढ़ाया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    प्रदेश में इस बार धान व अन्य खरीफ फसल की बुवाई  48 लाख 10 हजार हेक्टेयर में की जाएगी। इसमें मक्का व दलहन-तिलहन का रकबा 2 हजार हेक्टेयर बढ़ाया गया है, ताकि प्रदेश में उसकी कमी दूर की जा सके। कृषि अफसरों का कहना है कि प्रदेश में कहीं-कहीं धान की खुर्रा बोनी शुरू हो गई है। बारिश के साथ ही सभी क्षेत्रों रोपा व अन्य धान की बुवाई शुरू हो जाएगी। 

    प्रदेश में पिछले साल 48 लाख 20 हजार हेक्टेयर में खरीफ फसल की बुवाई की गई थी। इसमें धान का रकबा साढ़े 36 लाख हेक्टेयर रखा गया था और वहां उसकी बंपर आवक भी हुई। कृषि विभाग की ओर से बारिश के पहले फिर से खरीफ फसल की बुवाई शुरू कर दी गई है। पिछले दिनों विभागीय स्तर की समीक्षा बैठक में खरीफ फसल का लक्ष्य 48 लाख 10 हजार हेक्टेयर रखा गया। इसमें धान का रकबा करीब 5 लाख हेक्टेयर बढ़ाकर करीब 37 लाख हेक्टेयर तय किया गया है। माना जा रहा है कि रकबा बढ़ाने से धान की आवक और ज्यादा होगी। 

    कृषि संचालक एमएस केरकेट्टा का 'छत्तीसगढ़ से चर्चा में कहना है कि प्रदेश में रबी फसल का काम लगभग अंतिम चरण में है। इसकी बुवाई यहां करीब 18 लाख हेक्टेयर में की गई थी। इसमें धान का रकबा करीब साढ़े 16 लाख था। बाकी खेतों में गेहूं के साथ दलहन-तिलहन व अन्य फसल की बुवाई की गई थी। अब बारिश की सीजन आने के पहले विभाग की ओर से खरीफ फसल की तैयारी शुरू कर दी गई है। सभी जिलों में खाद-बीज का भंडारण किया जा रहा है। दूसरी ओर किसान सोसायटियों में अपना पंजीयन भी करा रहे हैं। 

    उनका कहना है कि इस बार धान का रकबा साढ़े 36 लाख हेक्टेयर तय किया जा रहा है। बाकी खेतों में मक्का, दलहन-तिलहन की बुवाई की जाएगी। इसमें दलहन-तिलहन का रकबा पिछले साल से 2 हजार हेक्टेयर बढ़ाया जा रहा है, ताकि प्रदेश में उसकी कमी न हो। इसके अलाव सब्जी-भाजी की फसल पर भी जोर दिया जाएगा। 

    कोंडागांव व आसपास के खेतों में मक्का की खेती को ज्यादा बढ़ावा दिया जा रहा है। कृषि संचालक श्री केरकेट्टा का कहना है कि राज्य सरकार प्रदेश में नरवा, गरुवा, घुरुवा, बाड़ी को बढ़ावा देने एक योजना लेकर आई है। इससे गांवों में खाद की कमी दूर होगी और उत्पादन भी बढ़ेगा। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई। कांग्रेस के आधा दर्जन विधायकों ने विधानसभा चुनाव में 50 हजार से भी अधिक वोटों से जीत हासिल की थी। ऐसे में मोदी फैक्टर के बीच लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों को इन विधायकों के क्षेत्र से बढ़त मिल पाती है या नहीं, इस पर नजरें रहेंगी। 
    विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जोरदार सफलता हासिल की थी। पार्टी को 68 सीटें मिली है। कांग्रेस प्रत्याशियों को रिकॉर्ड वोटों से जीत मिली थी। आधा दर्जन विधायक ऐसे हैं जो कि 50 हजार से अधिक वोटों से जीतकर आए हैं। सीएम रहे डॉ. रमन सिंह के गृह जिले की सीट कवर्धा से मोहम्मद अकबर ने करीब 60 हजार वोटों से जीत हासिल की। यह छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद किसी प्रत्याशी का सबसे ज्यादा वोटों से जीत का रिकॉर्ड है। अकबर ने न सिर्फ छत्तीसगढ़ बल्कि साथ हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा वोट से जीतने वाले प्रत्याशी हुए। अकबर के बाद राजिम सीट से पूर्व मंत्री अमितेश शुक्ल ने 57 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की। 
    पूर्व मंत्री अमितेश के बाद खल्लारी सीट से द्वारिकाधीश यादव ने 56 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की। इसी तरह सराईपाली सीट से किस्मतलाल नंद 54 हजार वोटों से अधिक जीत हासिल किए। जबकि कसडोल सीट से शकुंतला साहू ने तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल को करीब 52 हजार से अधिक वोटों से हराया था। अब इन सभी सीटों पर बढ़त की स्थिति को लेकर निगाहें रहेंगी। 
    जानकारों का मानना है कि विधानसभा चुनाव से अलग हटकर लोकसभा चुनाव के नतीजे आएंगे। वजह यह है कि शहर-कस्बों में मोदी फैक्टर हावी रहा है। ये अलग बात है कि कांग्रेस के पक्ष में कर्जमाफी, धान का समर्थन मूल्य 25 सौ रूपए जैसे कई मुद्दे थे जिससे लहर बनी है। कांग्रेस ने चुनावी वादे को पूरा भी किया, लेकिन लोकसभा चुनाव के मुद्दे अलग थे। कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए न्याय योजना लाने का वादा किया है। जिसमें हर गरीब किसान को 6 हजार रूपए प्रतिमाह मिलने की बात कही गई है, लेकिन यह चुनाव में उतना प्रभावी नहीं दिखा। ऐसे में इन विधायकों के क्षेत्र से उतनी बढ़त मिल पाना मुश्किल दिख रहा है, जितना विधानसभा चुनाव में मिला था। 
    महासमुंद लोकसभा की दो सीट खल्लारी और सराईपाली से ही विधानसभा चुनाव में एक लाख से अधिक वोटों की बढ़त कांग्रेस को मिली थी, लेकिन लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी धनेन्द्र साहू को इतनी बड़ी बढ़त मिल पाना नामुकिन है। चर्चा तो यह भी है कि धनेन्द्र खल्लारी सीट से थोड़ा पीछे भी हो सकते हैं। वजह यह है कि  भाजपा प्रत्याशी चुन्नीलाल साहू खल्लारी के रहने वाले हैं और वहां से विधायक भी रहे हैं। साथ ही साथ यहां मोदी फैक्टर हावी नजर आया। इसी तरह राजिम सीट भी महासमुंद लोकसभा का हिस्सा है और यहां विधानसभा चुनाव के बराबर बढ़त मिल पाना मुश्किल दिख रहा है। दावा किया जा रहा है कि धनेन्द्र को यहां से मामूली बढ़त मिल सकती है। 
    कवर्धा से अकबर 60 हजार से अधिक वोटों से भले जीत गए थे, लेकिन लोकसभा चुनाव में यह बढ़त आधी रह सकती है। एक कारण यह है कि यहां भी मोदी फैक्टर का प्रभाव रहा है और भाजपा प्रत्याशी संतोष पाण्डेय भी यहीं के रहने वाले हैं। इसी तरह गुंडरदेही सीट से कुंवर सिंह निषाद को 55 हजार से अधिक वोटों से जीत मिली थी, लेकिन लोकसभा चुनाव में यहां कांटे की टक्कर रही है।
    यहां भी कहीं न कहीं मोदी फैक्टर हावी रहा। इसी तरह कसडोल से शकुंतला साहू को भले ही 52 हजार से अधिक वोटों से जीत मिली थी, लेकिन लोकसभा चुनाव में यह अंतर काफी कम हो सकता है। वजह यह है कि यहां बसपा प्रत्याशी ने भी काफी प्रभाव डाला है। साथ ही भाजपा ने भी काफी मेहनत की है। इन सबके बावजूद कसडोल से कांग्रेस को बढ़त का अंदाजा लगाया जा रहा है, लेकिन उतनी बढ़त मिलने की उम्मीद कम है। 

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • देर रात तक चली वोटों की गिनती, नतीजों की घोषणा भी
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 19 मई।
    जिला अधिवक्ता संघ रायपुर के आशीष सोनी अध्यक्ष व कमलेश पांडे सचिव चुने गए। श्री सोनी ने 508 व श्री पांडे ने 41 वोटों से अपनी जीत दर्ज की है। वोटों की गिनती शनिवार सुबह 10 बजे से शुरू हुई थी, जो देर रात तक चली। इसके बाद चुनाव परिणामों की घोषणा की गई। 

    जिला अधिवक्ता संघ का चुनाव 17 मई को यहां जिला न्यायालय परिसर में कराया गया। इस दौरान करीब 80 फीसदी मतदाताओं ने अपने वोट डाले। चुनाव अधिकारी आनंद मोहन ठाकुर रहे। वोटों की गिनती पहले कार्यकारिणी सदस्यों से की गई। इसके बाद बाकी पदाधिकारियों के लिए डाले गए वोटों की गिनती हुई। जीत के बाद वहां सभी विजयी प्रत्याशियों का जोरदार स्वागत किया गया। 

    जानकारी के मुताबिक अध्यक्ष पद के लिए कुल 4 प्रत्याशी मैदान पर थे। आशीष सोनी(भांजा)को  सबसे अधिक 971 वोट मिले। हितेंद्र तिवारी-467, प्रदीप गिरी-157 व लोकेश गर्ग-13 वोट पर रहे। सचिव के लिए 6 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे थे। इसमें कमलेश पांडे को सबसे अधिक 407 वोट मिले। भुवन साहू-366, नारायण महोबिया-349, श्रीकांत मिश्रा-205, जय शिवदर्शन गिरी- 148 व शरदप्रकाश यादव-122 वोटों पर रहे। 

    इसी तरह वरिष्ठ उपाध्यक्ष(महिला)पद पर श्रीमती रितु बुंदेल ने 89 वोटों से अपनी जीत दर्ज की है। उन्हें कुल 427 वोट मिले हैं। इस पद के बाकी प्रत्याशियों में रीति सोनपिपरे-338, सुचित्रा बर्धन-307, रुपाली शर्मा-270, कु. शशि शर्मा-179 वोट पर रहीं। कनिष्ठ उपाध्यक्ष पद के लिए दिनेश देवांगन ने 287 वोटों से अपनी जीत पाई। चुनाव में उन्हें कुल 888 वोट मिले। उनके प्रतिद्वंदी दिनेश तिवारी 601 वोट पर रहे। 

    सहसचिव पुरुष पद पर राजेश्वर सैनिक ने 561वोट पाकर अपनी जीत हासिल की। सहसचिव महिला पद पर पूजा मोहिते ने 667वोट, कोषाध्यक्ष पद पर राकेश पुरी ने 772 वोट, सांस्कृतिक-क्रीड़ा सचिव पद पर नीरज गुप्ता ने 486 वोट व ग्रंथालय सचिव पद पर सूर्यकांत कश्यप ने 796 वोट पाकर अपनी जीत दर्ज की। कार्यकारिणी में अंकित मिश्रा, जगदीश मूर्ति, राजकिशोर सोनकर, शेख गुलाम, सौरभ मिश्रा, युगेश्वर साहू व अर्चना त्रिपाठी जीतकर आए। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  • बेकाबू  कार पलटी, एक की मौत
    राजिम, 19 मई।
    महासमुंद से शादी कार्यक्रम से लौट रहे इको वाहन ग्राम देवरी के पास अनियंत्रित होकर पटल गई। जानकारी के मुताबिक पाण्डुका थाना क्षेत्र के ग्राम कुरुद के साहू परिवार अपने रिश्तेदार के यहां शादी कार्यक्रम में शामिल होने महासमुंद गए थे। वहां से लौटते वक्त राजिम क्षेत्र के ग्राम देवरी के पास रात्रि 2.30 इको ओमनी वाहन  चालक की लापरवाही के चलते गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गया। वाहन में एक ही परिवार के 6, 7 लोग सवार थे, जिसमें 14 साल का लड़का मोहित राम पिता खिलावन साहू की मौत हो गई। वाहन में सवार अन्य लोगों को सामान्य चोट आई है। पुलिस ने चालक के विरुद्ध  अपराध पंजीबद्ध कर जांच कर रही है। 

     

  •  

Posted Date : 19-May-2019
  •  धमनी में रक्षा समिति का गठन
    राजिम, 19 मई।
    गरियाबंद पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन सिंह राठौर के मार्गदर्शन में राजिम थाना प्रभारी विकास बघेल द्वारा समीपस्थ ग्राम धमनी में ग्राम रक्षा समिति का गठन कर बैठक आयोजित किया गया। बैठक में थाना प्रभारी श्री बघेल ने समितियो के गठन का उद्देश्य तथा उससे होने वाले फायदे के संबंध मे ग्रामीणो को अवगत कराया गया। बताया कि आज 21वीं सदी के दौर में अपराध करने वाले आरोपी हाईटेक तरीको जैसे इंन्टरनेट फ्रॉड, एटीएम या किसी अन्य प्रकार से धन का लालच देकर या ईनाम जितने का प्रलोभन देकर धोखाधड़ी करने, बाहर राज्य से आने वाले अपराधिक किस्म हार्वेटर चालको एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा किये जाने वाले अपराध से विशेष सावधानियॉ बरतने के संबंध में ग्राम सुरक्षा समितियों को अवगत कराया गया। साथ ही महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यानाकार्षित करते हुए महिलाओ/नाबालिकों पर होने वाले विभिन्न अपराधों के संबंध में विस्तार पूर्वक चर्चा की गई। 

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • विधिक शिविर में बच्चों की सुरक्षा पर किया गया मंथन 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    महिला अध्ययन केंद्र पं. रवि शंकर विश्वविद्यालय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं बचपन बचाओ आंदोलन के संयुक्त तत्वावधान में रविवि मेें विगत दिवस बच्चों की सुरक्षा एवं संरक्षण पर एक दिवसीय विधिक शिविर का आयोजन किया गया। 

    कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में जिला सेवा प्राधिकरण सचिव उमेश उपाध्याय, योगेंद्र प्रताप सिंह अध्यक्ष वोलेंटरी एक्सन, प्रो. रीता वेणु गोपाल संचालक महिला अध्ययन केंद्र शामिल रहे। 

    कार्यक्रम में डॉ. सोमा नायर राज्य समन्वयक बाल सरंक्षण (बचपन बचाओ आंदोलन) ने नोबल शांति पुरस्कार कैलाश सत्यार्थी के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर बी संदीप राव राज्य समन्वयक बचपन बचाओ आंदोलन में साइबर क्राइम के बारे में जानकारी दी। इनके अलावा प्रो. केशरी लाल वर्मा एवं योगेंद्र प्रताप सिंह बच्चों की सुरक्षा एवं सरंक्षण पर विचार व्यक्त किए। उमेश उपाध्याय ने इस अवसर पर कानून की जानकारी देते हुए दायित्व निर्वहन की बात कही। उन्होंने कहा कि स्कूल न जाकर अगर कोई बच्चा काम करता दिखे तो उससे प्रश्न जरूर करें कि क्या वह स्कूल जाता है। 

    इस अवसर पर डॉ. प्रियम्वदा श्रीवास्तव, अध्यक्ष मनोविज्ञान अध्ययन शाला, डॉ. शैल शर्मा, प्रो. भाषा एवं साहित्य विज्ञान, प्रो. राजीव चौधरी, शारीरिक शिक्षा सहित विभिन्न अध्ययन शाला के विद्यार्थी उपस्थित रहे। 

     

  •