छत्तीसगढ़ » सरगुजा

31-May-2020 10:34 PM

लखनपुर, 31 मई। गत 30 मई की दरमियानी रात स्थानीय शराब दुकान में चोरी करने घुसे एक नाबालिग युवक को पुलिस ने पकड़ा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक लखनपुर थाना क्षेत्र के एक 16 साल वर्षीय नाबालिग युवक ने बीती रात स्थानीय शराब दुकान के ऊपरी हिस्से से अंदर दाखिल होकर चोरी करने की कोशिश करने लगा तभी शराब दुकान में तैनात गार्ड को इस बात की भनक लगते ही उसने गश्त पुलिस को सूचित किया।  पुलिस ने तत्काल शराब दुकान पहुंच दुकान के अंदर में घुसे युवक को रंगे हाथों पकड़ लिया।

 


31-May-2020 10:33 PM

लखनपुर, 31 मई। थाना क्षेत्र के ग्राम तुंगा निवासी ग्रामीण की मौत बिजली करंट के चपेटमें आने से हो गई। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक संधू राम बरगाह (51 वर्ष) बीते 30 मई को बिजली पोल से अपने टुल्लू पंप में कनेक्शन जोडऩे का प्रयास कर रहा था। इसी दौरान तरंगित तार के चपेट में आ गया और ग्रामीण की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। लखनपुर पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच में जुटी है।

 


31-May-2020 10:30 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

अम्बिकापुर, 31 मई। कोरोना संक्रमण काल के विषम परिस्थितियों में रोजी-रोटी के लिए वनांचल क्षेत्र के ग्रामीणों को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में तेंदूपत्ता संग्रहण लॉकडाउन अवधि में वनवासियों के लिए आय का अच्छा साधन बन गया है। इस वर्ष जिले के 32 हजार 269 वनवासियों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से तेन्दूपत्ता संग्रहण से रोजगार मिला है।

 तेंदूपत्ता तोड़ाई में कोरोना संक्रमण से बचाव का भी ध्यान रखा जा रहा है। संग्राहक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए तेन्दूपत्ता का तोड़ाई कर रहे हैं। हरा सोना कहे जाने वाले तेंदूपत्ता संग्रहण के लिए प्रतिवर्ष जिले वनवासियों में काफी उत्साह रहता है। वर्तमान में तेन्दूपत्ता संग्रहण दर 400 रूपए प्रति सैकड़ा है।

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2020 में सरगुजा जिले के वनमण्डल को 38 हजार मानक बोरा तेंदूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य मिला है। लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 18 हजार 375 मानक बोरा तेन्दूपत्ता का संग्रहण किया गया है। अधिकारियो ने बताया कि जिले में तेंदूपत्ता संग्रहण का कार्य 14 समितियों के द्वारा 212 फड़ के माध्यम से तेन्दूपत्ता संग्रहण का कार्य किया जा रहा है। तेन्दूपत्ता संग्रहण के लिए फड़ों में पर्याप्त कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है जो बारिश एवं आंधी-तूफान आने पर तेन्दूपत्ता की सुरक्षा का इंतजाम करेंगे।

 

 


31-May-2020 10:29 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

उदयपुर, 31 मई। रविवार को अंबिकापुर से रायपुर जा रहे स्थानीय विधायक पंचायत एवं ग्रामीण विकास एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कुछ समय उदयपुर में रुककर स्थानीय कार्यकर्ताओं और आम लोगों से मुलाकात की। विश्राम गृह में मुलाकात के दौरान लोगों ने उन्हें समस्याओं से संबंधित ज्ञापन भी सौंपा। 

पीडीएस भवन की मांग पर उन्होंने मौके से ही खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से मोबाइल से संपर्क कर शीघ्र ही निर्माण कराए जाने को आश्वस्त किया। जर्जर हो चुके पंचायत भवनों के स्थान पर नए भवन की मांग पर उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि फिलहाल उन्हीं भवनों को मरम्मत कर काम चलाना पड़ेगा, क्योंकि कोरोना लाकडाउन के कारण शासन की वित्तीय हालत ठीक नहीं है, हालांकि नए सृजित पंचायतों में पंचायत भवनों की स्वीकृति दी जाएगी। 

स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जीवनदीप समिति के माध्यम से सफाईकर्मी के पद पर कार्यरत मानिक के द्वारा यह शिकायत की गई कि पूर्व से कार्यरत कर्मचारियों के साथ दूसरे जिले के लोगों को काम पर रखा गया है और उन्हें मानदेय भी अधिक दिया जा रहा है। इस शिकायत पर बीएमओ को तलब किया परंतु उनके मौके पर मौजूद नहीं होने पर गहरी नाराजगी जाहिर करते हुए सीएमएचओ को बीएमओ पर अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया।

महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा तैयार किए गए सेनिटाइजर,मसाले, बैग आदि उत्पादों का भी उन्होंने अवलोकन किया । महिलाओं के द्वारा अस्पताल और अन्य शासकीय कार्यालयों में सप्लाई की मांग पर सहयोग का आश्वासन दिया। 

इस दौरान विधायक प्रतिनिधि सिद्धार्थ सिंहदेव, जिला पंचायत सदस्य द्वय राजनाथ सिंह,राधा रवि, जनपद अध्यक्ष भोजवंती सिंह, उपाध्यक्ष नीरज मिश्रा,जनपद सदस्य शांति राजवाड़े,पूर्व जनपद उपाध्यक्ष राजीव सिंहदेव वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ता डीपी सिंह, रामबिलास अग्रवाल,बबन रवि,आदिवासी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह, जगदीश जायसवाल ,द्वारिका यादव, अंकित बारी,रोहित सिंह टेकाम, सरपंच मरियम ,विभा सिंह सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

 


31-May-2020 10:28 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अम्बिकापुर, 31 मई। 
शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय संबद्ध चिकित्सालय अम्बिकापुर के मीडिया प्रभारी ने बताया है कि संभागीय कोविड़ अस्पताल अम्बिकापुर में वर्तमान में 49 मरीजों का ईलाज जारी है जिसमें चार महिला एवं 45 पुरूष शामिल हैं। 30 मई को रात्रि में कोरिया जिले से तीन 25 वर्षीय पुरूष, दो 23 वर्षीय पुरूष, 26 वर्षीय पुरूष, 53 वर्षीय पुरूष, 50 वर्षीय पुरूष, 28 वर्षीय पुरूष, 19 वर्षीय पुरूष, 20 वर्षीय पुरूष, 22 वर्षीय पुरूष, दो 24 वर्षीय पुरूष, 58 वर्षीय पुरूष, 27 वर्षीय पुरूष, 51 वर्षीय पुरूष तथा 31 मई को प्रात: 20 वर्षीय महिला को भर्ती कराया गया है। 31 मई को ही बलरामपुर जिले के 21 वर्षीय पुरूष, 25 वर्षीय पुरूष, दो 30 वर्षीय पुरूष, 42 वर्षीय पुरूष, 45 वर्षीय पुरूष को कोविड़ अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कोरिया जिला निवासी 50 वर्षीय पुरूष एवं 53 वर्षीय पुरूष को डायबिटीज एवं हायपरटेंशन तथा एक अन्य 58 वर्षीय पुरूष को हाइपोथयरोडजीम है। कोरिया जिले के 20 वर्षीय महिला एवं बलरामपुर जिले के 25 वर्षीय पुरूष माईल्ड सिम्टम है बाकी सभी एसिम्पटोमेटिक है। आज आठ मरीजों का द्वितीय सैंपल जांच के लिए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। सभी सैंपल जांच रिपोर्ट अपेक्षित है। चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा सतत् निगरानी कर उपचार किया जा रहा है। मरीजों का बी.पी पल्स एवं ऑक्सीजन सेचूरेशन एवं अन्य वाईटल्स सामान्य है।

 

 


31-May-2020 10:13 PM

मेंड्राकला समिति में 1953 क्विंटल खाद एवं 130 क्विंटल धान का उठाव

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अम्बिकापुर, 31 मई।
खरीफ फसल की तैयारी हेतु खाद एवं बीज का उठाव करने जिले के किसान सहकारी समितियों में आने का सिलसिला शुरू हो गया है। किसान खाद एवं बीज का अग्रिम उठाव करने लगे हैं। इसी क्रम में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित मेंड्राकला में आस-पास के किसानों को खाद, बीज एवं ऋण सुगमता से उपलब्ध कराया जा रहा है। मेण्ड्राकला समिति में खरीफ वर्ष 2020 हेतु अब तक 1 हजार 953 क्विंटल खाद एवं 130 क्विंटल धान बीज का विक्रय किया गया है। मेण्ड्राकला सहकारी समिति में कुल 1204 किसान पंजीकृत हैं। सभी किसानों को उनकी आवश्यकता अनुसार ऋण, खाद एवं धान बीज उपलब्ध कराया जाता है। किसानों को केसीसी के माध्यम से शून्य प्रतिशत ब्याज पर अल्पकालीन ऋण प्रदान किया जाता है।

 मुड़ेसा पंचायत के कृष्णापुर गांव में रहने वाले किसान श्री रमेश राम ने बताया कि उन्होंने सहकारी समिति के माध्यम आसानी से खाद-बीज के साथ ही ऋण उपलब्ध हो जाता है। उन्होंने बताया कि खरीफ फसल के लिए उनका 70 हजार रुपये का केसीसी ऋण स्वीकृत हो गया है। इस राशि का उपयोग वे खेती किसानी को बढ़ाने में करेंगे। समिति से खाद और बीज का उठाव कर लिया है। इसी तरह गड़ईपारा मेण्ड्रा निवासी किसान श्री सरोधन ने बताया कि खरीफ फसल की तैयारी के लिए समिति से प्रतिवर्ष खाद और बीज आसानी से मिल जाता है। इस वर्ष 10 बोरी यूरिया, 2 बोरी सुपर फास्फेट तथा 2 बोरी पोटाश खाद का उठाव कर लिया है। उन्होंने बताया कि सहकारी समिति से केसीसी के माध्यम से लोन भी प्राप्त हो जाती है। धान के अतिरिक्त बाड़ी में फल्ली, टमाटर, भिंडी, बरबट्टी, धनिया, मिर्च, भाजी आदि सब्जी लगाते हैं।

किसानों की आय में वृद्धि करने की दिशा में छत्तीसगढ़ शासन ने सहकारी समितियों की स्थिति को मजबूत किया है। समिति के माध्यम से पंजीकृत किसानों को केसीसी के माध्यम से शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराई जाती है ताकि किसान अपनी खेती-किसानी में वृध्दि कर अपने जीवन स्तर को ऊंचा उठा सकें।

 

 

 


30-May-2020 10:43 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अंबिकापुर, 30 मई।
मैनपाट कमलेशवरपुर थाना क्षेत्र के बिहीपारा में एक युवक ने झाड़-फूंक से मना करने पर एक बुजुर्ग बैगा की हत्या कर दी। घटना शुक्रवार की दोपहर की है। पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है एवं उसे न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है

जानकारी के मुताबिक मैनपाट नर्मदापुर बिहिपारा निवासी आरोपी पनेवा मांझी (30) पड़ोसी है। मृतक दलसाय मवेशी लेने जा रहा था, तभी पनेवा व दलसाय के बीच झाड़-फूंक को लेकर कहा सुनी हुई। दोपहर 3.30 बजे झाड़-फंूक हेतु दलसाय को बुलाए जाने पर भी नहीं जाने पर गुस्से में पनेवा मांझी ने उसी की टांगिया छीनकर ताबड़तोड़ सिर पर वार कर दिया जिससे गंभीर रूप से घायल हो गया और बेहोश होकर गिर गया। परिजन गंभीर हालत में उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नर्मदापुर ले गए, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने पर कमलेशरपुर पुलिस ने हत्या का अपराध दर्ज करते हुए आरोपी पनेवा को गिरफ्तार कर लिया व उसे रिमांड पर लेकर जेल दाखिल कर दिया गया। 
कार्रवाई में थाना प्रभारी सुधीर मिंज, एएसआई सहदेव राम वर्मन, प्रधान आरक्षक सुजीत पाल व आरक्षक पंकज शामिल रहे।

 


30-May-2020 10:41 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अम्बिकापुर, 30 मई।
छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन होने पर खाद्य एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने गहरा शोक प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि अजीत जोगी से प्रेरित होकर मैंने राजनीति के द्वारा जनसेवा का मार्ग चुना। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को याद करते हुए खाद्यमंत्री भावुक हो गए। 

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी का शुक्रवार को रायपुर के श्री नारायणा अस्पताल में निधन हो गया। यह खबर मिलते ही तुरंत मंत्री अमरजीत भगत अस्पताल उनके अंतिम दर्शन को पहुंचे। आज उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से अपनी भावनाएं व्यक्त की। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को याद करते हुए बताया कि जोगी जी कहा करते थे कि गरीबों को कभी सताना नहीं चाहिये, हमेशा उनका साथ देना चाहिये। हम सदैव उनकी बातों का अनुसरण करने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद हमने साथ-साथ अपने राजनीतिक जीवन में उतार-चढ़ाव देखा। 

विपरीत परिस्थितियों में भी हिम्मत नहीं हारते थे, बल्कि दुगुनी ताकत से आगे बढ़ते थे। साथ ही खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि श्री जोगी की प्रेरणा से ही राज्य बनने के बाद 2003 में हुए पहले विधानसभा चुनाव के बाद उन्हें विधानसभा जाने का अवसर मिला। खाद्यमंत्री भगत ने अपने संदेश में कहा कि श्री जोगी जब पार्टी से अलग हो रहे थे तब गुरू-शिष्य जैसा संबंध होने के बावजूद उन्होंने अपना पक्ष स्पष्ट रखा और कांग्रेस के ही साथ रहे। इसके बावजूद उन दोनों के संबंधों में कोई फर्क नहीं पड़ा। 

खाद्य मंत्री भगत ने अजीत जोगी जी के योगदानों को याद करते हुए बताया कि वर्तमान तेंदूपत्ता संग्रहण नीति उनकी मेहनत और कर्मठता का परिणाम है। जिसकी वजह से तेंदूपत्ता संग्राहकों के लिये आय के स्रोत का सृजन हुआ, इन संग्राहकों को बोनस देने की शुरुआत भी उन्हीं के कोशिशों से आरंभ हुआ। अपने संदेश में उन्होंने स्व. अजीत जोगी के परिजनों के प्रति संवदेनाएं प्रकट की व श्री जोगी की आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना की।

 


30-May-2020 10:40 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

अम्बिकापुर, 30 मई। कलेक्टर संजीव कुमार झा के मर्गदर्शन में महिला एवं बाल विकास अम्बिकापुर शहरी द्वारा कॉविड-19 संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से ईसीसीई के क्रियान्वयन हेतु आंगनबाडी के बच्चों के अभिभावकों को व्हाट्सएप्प के माध्यम से संदेश दिया जा रहा है। डिजिटल प्लेटफार्म में 6 कड़ी के रूप में बच्चों एवं अभिभावकों के लिए क्लिप तैयार किया गया है। सभी क्लिप बच्चों के विकास एवं उनके माता-पिता का बच्चे के प्रति जिम्मेदारी की भूमिका का एहसास कराएगा।

पहली कड़ी में बचपन की सुखद घटनाओं के याद कर बच्चों के साथ अपने शब्दों में कहानी सुनाना। दूसरी कड़ी ''बच्चों में बैचेनीÓÓ में कोरोना के इस कठिन समय से विजय पाने के लिए अपना व नन्हे मुन्नों का ध्यान रखने हेतु परिस्थिति अनुसार अभिभावकों के चिंतित होने से बच्चों की तरफ से ध्यान हटने से बचाने के तरीके बताए गए हैं। तीसरी कड़ी ''अनचाहा व्यवहारÓÓ में बच्चों का चिड़चिड़ा होना एवं किसी चीज की प्राप्ति हेतु अनचाहा माध्यम अपने के तरीके के प्रति सजग करता है। इस कड़ी में बच्चों के घरेलू काम में मदद, बच्चों को स्नेह देना प्रशंसा करना शामिल है।

 चौथी कड़ी ''गुडिया का समयÓÓ के माध्यम से अभिभावकों को बच्चों के अकेलेपन को दूर करने हेतु समय बिताने के लिए स्थानीय चीजों के माध्यम से गिनती, अभिनय कराया जाता है। पंचवी कड़ी ''पुनर्विचारÓÓ क्लिप के माध्यम से जीवन के अच्छे अनुभव सुनाकर बच्चों में विश्वास जगाने, अनचाहे व्यवहार में परिर्वतन लाना, माता-पिता दोनों को मिलकर बच्चे की सम्पूर्ण जिम्मेदारी उठाना जैसी महत्वपूर्ण बातों का समावेश किया गया है। 

छठवीं कड़ी ''पौधा, पानी और धूपÓÓ में जिस प्रकार पौधों को बड़ा होने में पानी और धूप की पर्याप्त मात्रा की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार माता-पिता दोनों जिम्मेदारी निभाते हुए बच्चों को प्रेम एवं विश्वास की मजबूती देते हुए कल्पना शक्ति के माध्यम से बच्चों की उत्सुकता एवं बच्चों के विकास के संतुलन हेतु क्लिप दिखाया गया।

 

 


30-May-2020 10:39 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अम्बिकापुर, 30 मई।
कलेक्टर संजीव कुमार झा के निर्देश पर जिले के नागरीय निकाय क्षेत्रों में बिना मास्क पहने घर से बाहर निकलने एवं फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माना वसूलना आज से शुरू हो गया। नगर निगम क्षेत्र अम्बिकापुर में पहले ही दिन 7 हजार 370 रूपए जुर्माना उडऩदस्ता टीम के द्वारा वसूला गया। इसमें बिना मास्क पहने बाहर निकलने वाले 64 लोगों से 6 हजार 270 रूपए तथा फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं करने वाले 11 लोगों से 1 हजार 100 रुपये जुर्माना वसूला गया।

निगम आयुक्त हरेश मण्डावी ने बताया कि अम्बिकपुर निगम क्षेत्र में 4 उडऩदस्ता टीम गठित की गई है जो प्रतिदिन अपने-अपने जोन में भ्रमण कर बिना मास्क पहने बाहर निकलने तथा फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माना वसूली कर रही है। इसी प्रकार उडऩदस्ता टीम अवैध तरीके से दुकान खोलने वालो पर भी जुर्माना वसूल करने की कार्यवाही कर रही है। उन्होंने बताया कि नगर पंचायत लखनपुर एवं 2 सीतापुर में भी बिना मास्क पहने बाहर निकलने तथा फिजिकल डिस्टेंस का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माना वसूली के निर्देश दिए गए हैं। 

श्री मण्डावी ने बताया कि लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क पहन कर या गमछे से मुंह ढक कर ही बाहर निकलें तथा फिजिकल डिस्टेंस बनाए रखें, अन्यथा जुर्माना वसूला जाएगा, इसकी जानकारी लाउडस्पीकर के माध्यम से वार्डों में दी जा रही है।

लखनपुर नगर पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रभाकर शुक्ला ने बताया कि आज बिना मास्क पहने बाहर निकलने वाले 13 लोगों से 550 रूपए की जुर्माना वसूली उडऩदस्ता टीम द्वारा किया गया है। उन्होंने बताया कि लखनपुर नगर पंचायत क्षेत्र में एक उडऩदस्ता टीम का गठन किया गया है।

ज्ञातव्य है कि अम्बिकपुर नगर निगम क्षेत्र में मोमिनपुरा एवं बिशुनपुर में 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं और दोनो क्षेत्र कंटेन्मेंट जोन घोषित किया गया है। इसके साथ ही अम्बिकपुर विकासखंड रेड जोन में शामिल हो गया है जिसके कारण सावधानी बरतना नितांत आवश्यक हो गया है।

 

 

 


30-May-2020 10:38 PM

अम्बिकापुर, 30 मई। शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय संबद्ध चिकित्सालय अम्बिकापुर के मीडिया प्रभारी ने बताया है कि संभागीय कोविड़ अस्पताल अम्बिकापुर में वर्तमान में 24 मरीजों का इलाज जारी है, जिसमें तीन महिला एवं 21 पुरूष शामिल हैं। 30 मई को पूर्वान्ह में बलरामपुर जिले के रघुनाथनगर निवासी 30 वर्षीय पुरूष को भर्ती कराया गया जो एसिम्पटोमेटिक है। भर्ती मरीजों में से आज 6 मरीजों का द्वितीय सैंपल जांच के लिए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। सभी सैंपल जांच रिपोर्ट अपेक्षित है। पूर्व के दो सिम्टोमेटिक मरीज स्वस्थ है बाकी सभी मरीज एसिम्पटोमेटिक हैं। चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा सतत् निगरानी कर उपचार किया जा रहा है। मरीजों का बी.पी पल्स एवं ऑक्सीजन सेचूरेशन एवं अन्य वाईटल्स सामान्य है।

 

 

 


30-May-2020 10:36 PM

कलेक्टर ने रामगढ़ और महेशपुर का भ्रमण कर अफसरों को दिए निर्देश

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

अम्बिकापुर, 30 मई। कलेक्टर संजीव कुमार झा ने जिले के अधिकारियों के साथ आज सरगुजा जिले के ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक स्थल उदयपुर विकासखण्ड स्थित रामगढ़ एवं महेशपुर का भ्रमण कर निरीक्षण किया। उन्होंने रामगढ़ स्थित सीताबेंगरा तथा इन्टरप्रिटेशन सेन्टर का आवलोकन किया। इसके साथ ही महेशपुर के पुरातात्विक स्थल का भी आवलोकन किया। कलेक्टर ने राज्य शासन के मंशानुरूप राम वनगमन पथ को साकार करने के लिए वहां पर्यटन सुविधाएं बढ़ाने के निर्देश दिए। रामगढ़ एवं महेशपुर में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कौन-कौन सी सुविधाएं विकसित किए जाएं इसके लिए स्थानीय ग्रामीणों से चर्चा किया एवं अधिकारियों को एक योजनाबद्ध प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर श्री झा ने रामगढ़ की खूबसूरत वादियों को पर्यटकों के लिए आकर्षक बनाने के लिए वहां सायकल ट्रेकिंग, लाइट एण्ड साण्उड, कैफेटेरिया,पगोड़ा निर्माण, रामगढ़ की पहाड़ी पर जाने के लिए रोप-वे के लिए भी आवश्यक प्रस्ताव तैयार करने अधिकारियों को निर्देश किया। इसके साथ ही रामगढ़ के पहाड़ी पर स्थित मंदिर तक जाने के लिए सड़क तथा वहां पर पेयजल की आपूर्ति, बिजली की पुख्ता व्यवस्था के लिए सोलर प्लांट के अतिरिक्त विद्युत विभाग से बिजली की व्यवस्था हेतु आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा राम वनगमन पथ के तहत प्रथमचरण में सरगुजा जिले को भी शामिल किया गया है। रामगढ़ भगवान राम एवं महाकवि कालिदास से सम्बधित होने के कारण शोध का केन्द्र बना हुआ है। प्राचीन मान्यता के अनुसार भगवान राम पत्नी सीता तथा भाई लक्ष्मण के साथ वनवास काल में कुछ समय रामगढ़ की पहाडी में बिताए थे। यहीं पर राम के तापस वेश के कारण जोगीमारा, सीता के नाम पर सीता बेंगरा एवं लक्ष्मण के नाम पर लक्ष्मण गुफा स्थित है। रामगढ़ से करीब 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित महेशपुर की मान्यता है कि यह वनस्थली महर्षि जमदग्नि की तपोभूमि थी। वनवास के दौरान भगवान राम महर्षि जमदग्नि के आश्रम आए थे। इसी प्रकार मान्यता है कि महाकवि कालिदास ने मेघदूतम की रचना रामगढ़ की पहाड़ी पर की थी। 

इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा, वनमण्डलाधिकारी पंकज कमल, एसडीएम उदयपुर प्रदीप कुमार साहू, जनपद सीईओ पारस पैंकरा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

 

 

 


30-May-2020 10:31 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
उदयपुर, 30 मई।
कोरोना महामारी और लॉक डाउन के बीच बच्चों की पढ़ाई में निरंतरता बनाए रखने के लिए, शासन की महत्वाकांक्षी योजना पढ़ाई तुंहर द्वार अंतर्गत विकासखंड उदयपुर में भी छात्र ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। 

उदयपुर विकास खंड के छात्रों का पंजीयन स्कूल के शिक्षकों के माध्यम से सी जी स्कूल डॉट इन में कराया गया है। वेबेक्स मीटिंग तथा व्हाटसप के माध्यम से विभिन्न शैक्षिक गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। विकास खंड शिक्षा अधिकारी डी एन मिश्रा, बीआरसी बलबीर गिरी जिला स्तर पर डीएमसी संजय सिंह तथा एपीसी रवि तिवारी शिक्षकों का मार्गदर्शन कर रहे हैं। इसी कार्यक्रम के तहत शा. पूर्व माध्यमिक शाला उदयपुर के छात्रों को भी ऑनलाइन अध्ययन कराने में विद्यालय के शिक्षक पूरा सहयोग कर रहे हैं। गांव के शाला संगवारी समूह भी अपने स्मार्ट फोन के जरिये बच्चों को पढ़ाई करने में पूरा सहयोग कर रहे हैं। मा. शा उदयपुर के कु. बबली, आंचल, काजल, माही, अंजलि, सत्य प्रकाश गायत्री, प्रीति, चांदनी अपने छोटे भाई बहनों के साथ मिल कर पढ़ाई के साथ साथ विभिन्न रचनात्मक गतिविधि जैसे चित्रकारी, मिट्टी के खिलौने, गोदना कला इत्यादि में बच्चे उत्साह से भाग ले रहे हैं। लॉकडाउन अवधि में बच्चों को व्यस्त देख कर अभिभावक भी संतुष्ट हैं।

 

 


30-May-2020 10:30 PM

अम्बिकापुर, 30 मई। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी संजीव कुमार झा के द्वारा राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में मदिरा दुकानों के संचालन हेतु जारी पूर्व के आदेशों में आंशिक संशोधन करते हुए अब शनिवार एवं रविवार को भी जिले में छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा संचालित समस्त देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानों के खुलने एवं बंद होने का समय प्रात: 8 बजे से सायं 7 बजे तक निर्धारित कर दिया गया है।  ज्ञातव्य है कि राज्य शासन द्वारा पूर्व में शनिवार एवं रविवार को सम्पूर्ण लॉकडाउन लागू किए जाने के निर्देश दिए गए थे।


30-May-2020 10:29 PM

अम्बिकापुर, 30 मई। अनुविभागीय दण्डाधिकारी अम्बिकापुर अजय त्रिपाठी के द्वारा अम्बिकापुर तहसील के ग्रामीण क्षेत्र एवं लुण्ड्रा तहसील के लिए विशेष रूप से प्रतिबंधित प्रतिष्ठानों एवं गतिविधियों को छोड़कर शेष प्रतिष्ठानों एवं गतिविधियों को सप्ताह में 6 दिन संचालन की अनुमति प्रदान की है। रेड जोन या कन्टेनमेंट जोन घोषित होने की दशा में उस क्षेत्र के लिए यह छूट लागू नहीं होगा। 

 


30-May-2020 10:26 PM

अम्बिकापुर, 30 मई। समाज कल्याण विभाग के उप संचालक एवं डिप्टी कलेक्टर नीलम टोप्पो ने बताया है कि 31 मई  को अन्तरराष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस पर तम्बाकू या तम्बाकूयुक्त निर्मित विभिन्न उत्पादों के सेवन की प्रवृत्ति के विरूद्ध व्यापक जन चेतना विकसित करने हेतु जिले के शासकीय कार्यालयों एवं समाजिक संस्थानों द्वारा विविध कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।उन्होंने सभी विभाग प्रमुखों एवं समाजिक संस्थाओं को इस संबंध में कार्यक्रम आयोजित का आग्रह किया है। कार्यक्रमों के अंतर्गत तम्बाकू व उसके दुष्प्रभाव पर चर्चा, समुदाय के सहयोग से नशामुक्ति रैली, नुक्कड़ सभाएं तथा विभिन्न प्रतियोगिताएं, सांस्कृतिक कार्यक्रम, नशामुक्ति साहित्य का वितरण, नशामुक्ति प्रदर्शनी का आयोजन, आकाशवाणी एवं दूरदर्शन से विषयांतर्गत प्रेरक नाटक, गीत, परिचर्चा आदि का जनहित में नि:शुल्क प्रसारण, योगाचार्यों के मार्गदर्शन में योगाभ्यास का प्रदर्शन तथा इससे होने वाले लाभ पर व्याख्यान शामिल है। 

 ज्ञातव्य है कि धूम्रपान से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति समाज में जनचेतना विकसित करने हेतु प्रतिवर्ष 31 मई को अन्तरराष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस का आयोजन किया जाता है।

 


30-May-2020 6:28 PM

मनरेगा की समीक्षा बैठक सम्पन्न  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अम्बिकापुर, 30 मई।
कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कहा है कि मनरेगा अंतर्गत गांव में चल रहे मिट्टी मुरूम के कार्य को बारिश में पहले पूरा कराएं ताकि ग्रामीणों को इसका फायदा मिल सके। उन्होंने कहा कि मनरेगा केवल रोजगार उपलब्ध कराने का जरिया ही नहीं है बल्कि इससे ग्रामीण विकास के सूत्र भी जुड़े हुए हैं। कलेक्टर ने यह निर्देश आज यहां जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित मनरेगा अंतर्गत चल रहे कामों की समीक्षा बैठक में दिए।

कलेक्टर ने कहा कि वर्तमान दौर में कोरोना संक्रमण से बचाव सबसे चुनौतीपूर्ण कार्य है लेकिन लोगों को रोजगार उपलब्ध कराना भी जरूरी है। जिले में मनरेगा के तहत बड़े पैमाने पर काम प्रारंभ किया गया है जिसमें ग्रामीण क्षेत्र के लाखों श्रमिकों को काम मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मनरेगा के कर्मचारियों की ड्यूटी किसी अन्य कार्य में न लगाएं यहां तक कि प्रवासी श्रमिकों के लिए बनाए गए क्वॉरंटीन सेन्टर की निगरानी के लिए भी उनकी ड्यूटी न लगाई जाए। उन्हें केवल मनरेगा के कार्यो में ही कर्तव्यस्थ रहने दें। कलेक्टर ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों के कौशल दक्षता की पहचान कर उनका मनरेगा जॉब कार्ड बनाकर रोजगार देना सुनिश्चित करें।

कलेक्टर श्री झा ने कहा कि बाहर से आ रहे प्रवासी श्रमिकों के कौशल दक्षता का चिन्हांकन करने के लिए श्रम विभाग के अधिकारी क्वॉरंटीन सेन्टरों में सर्वे कराएं। सर्वे से कुशल, अकुशल, हेल्पर, श्रमिकों की जानकारी प्राप्त होगी जिससे कुशल और अकुशल श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने में सहुलियत होगी। गोठानों को मल्टी एक्टिविटी सेन्टर के रूम में विकसित करने के लिए कृषि के साथ ही रोजगारमूलक कार्यों को बढ़ावा दें। 

इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा, वनमण्डलाधिकारी पंकज कमल सहित कृषि, उद्यान, पशुपालन, रेशम विभाग तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।


29-May-2020 10:50 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
अम्बिकापुर, 29 मई।
अम्बिकापुर नगर में गुरुवार की रात 7 बजे अचानक मौसम ने करवट बदल ली। तेज हवा के साथ लगभग आधे घंटे तक मूसलाधार बारिश हुई। इस बारिश से मौसम तो खुशनुमा हो गया, लेकिन तेज हवा के कारण शहर में कई स्थानों पर विद्युत खंभे व वायर को काफी नुकसान पहुंचा है। कई मकानों की सीट भी उड़ गई। मेघ गर्जना के साथ आंधी व मूसलाधार बारिश से लोग सहमे हुए थे। आंधी पानी के कारण विद्युत व्यवस्था लगभग- लगभग पूरे अम्बिकापुर में चौपट हो गई। 

नगर के कई वार्डों में 14 घंटे से अधिक का ब्लैकआउट होने से लोग काफी परेशान रहे। कई जगह देर रात तक विद्युत व्यवस्था बहाल हो गई थी, लेकिन नगर के बौरीपारा, संजय पार्क मोहल्ला, तकिया रोड आदि क्षेत्रों में दूसरे दिन शुक्रवार की दोपहर तक विद्युत व्यवस्था बहाल हो पाई। नगर में जगह-जगह विद्युत वायर व खंभों पर पेड़ धराशाही हो गए थे जिसके कारण विद्युत कर्मियों को काफी परेशानी उठाना पड़ा।

सरगुजा जिला के लखनपुर, उदयपुर, सीतापुर, बतौली, लुंड्रा, विश्रामपुर सहित अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में भी मौसम बदला बदला रहा। हालांकि अंबिकापुर जैसा असर इन क्षेत्रों में नहीं रहा। आंधी के कारण अम्बिकापुर में तो विद्युत व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई। शुक्रवार को विद्युत विभाग के कर्मचारी क्षतिग्रस्त हुए विद्युत खंभों, तारों को बनाने में जुटे हुए थे। बारिश होने से तापमान में भी गिरावट आई है, नौतपा में पड़ रही भीषण गर्मी से लोगों को थोड़ा निजात मिला है। शहर में आंधी तूफान के कारण तकिया पानी फिल्टर प्लांट के पास बड़े-बड़े पेड़ विद्युत खम्भे व वायर कर गिर जाने के कारण पेयजल आपूर्ति नगर में लगभग-लगभग पूरी तरह से बाधित रही। शुक्रवार को नगर के कई वार्डों में पानी नहीं आने के कारण वार्ड वासी परेशान रहे। नगर निगम द्वारा सुबह से ही वार्डों में टैंकर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की जा रही थी। बताया जा रहा है कि निगम में सीमित टैंकर होने के कारण कई वार्डों में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

प्रारंभ हो गई है पेयजल आपूर्ति-द्वितेंद्र मिश्रा
नगर निगम के एमआईसी सदस्य एवं जल प्रभारी द्वितेंद्र मिश्रा ने बताया कि आंधी तूफान के कारण तकिया फिल्टर प्लांट में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई थी, जिसके कारण पेयजल आपूर्ति में बाधा उत्पन्न हुई। जनरेटर थोड़ी देर के लिए ही काम कर सकता है। टैंकर के माध्यम से सभी वार्डों में जल उपलब्ध कराई गई है। शुक्रवार की शाम से नगर में सुचारू रूप से पेयजल आपूर्ति प्रारंभ हो जाएगी।

 

 


29-May-2020 10:47 PM

अम्बिकापुर, 29 मई। पंचायत व ग्रामीण विकास एवं स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री टी.एस. सिंह देव ने कहा कि एक बड़ा व्यक्तित्व था जोगी जी का, छत्तीसगढ़ के अगुआ और बड़े नेता को हमने खोया है। उनसे जब भी मुलाकात हुई आत्मीयता के साथ मिलते थे, पारिवारिक संबंध भी अच्छे रहे, कई बार उतार-चढ़ाव भी आये, लेकिन इन सब के बीच में यह मुझे हमेशा याद है जब भी मिलते थे आत्मीयता के साथ मिलते थे और कैसे हो टी.एस. कह कर हाथ मिलाने अपना हाथ आगे बढ़ाते थे। आज वो हम सब के बीच नहीं रहे, इस दु:खद घड़ी में ईश्वर उनके परिवार को सम्बल प्रदान करें। एक गोल्ड मैडलिस्ट इंजीनियर, प्रोफेसर आईपीएस, आईएएस, विधायक, सांसद, प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री जो हमेशा सर्वहारा वर्ग की चिंता करते थे। छत्तीसगढ़ में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

 


29-May-2020 10:44 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

अम्बिकापुर, 29 मई। नवपदस्थ कलेक्टर संजीव कुमार झा ने पदभार ग्रहण करने के उपरांत सरगुजा गंगापुर स्थित क्वॉरंटीन सेंटर तथा कन्टेनमेन्ट एरिया मोमिनपुरा का निरीक्षण किया। उन्होंने क्वॉरंटीन सेंटर में रहने वाले जिले के प्रवासी लोगों से बातचीत कर जानकारी प्राप्त की और अधिकारियों से क्वॉरंटीन सेंटर में रूकने वाले लोगों के लिए गुणवता पूर्ण भोजन समय पर उपलब्ध कराने सहित अन्य सुविधाओं पर आवश्यक निर्देश दिए।

निरीक्षण के दौरान क्वॉरंटीन सेंटर में रह रहे रायपुर में राजमिस्त्री का काम कर वापस लौटने वाले 2 लोगों ने बताया कि यहां पर हमारे रहने खाने-पीने इत्यादि की अच्छी व्यवस्था है। हम शासन के द्वारा किए गए प्रबंध और व्यवस्था से खुश हैं। कलेक्टर ने क्वॉरंटीन में रहने वाले लोगों को 14 दिन के क्वॉरंटीन में रहने और इसके उपरांत घर जाकर फिर 14 दिन होम आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिये।

 कलेक्टर ने नगर निगम क्षेत्र में बनाए गए क्वॉरंटीन सेंटर के बारे नगर निगम आयुक्त हरेश मण्डावी से ली एवं सभी सेंटरों के नोडल ऑफिसर और अन्य कर्मचारियों के बारे में जानकारी प्राप्त किया। उन्होंने क्वॉरंटीन में रहने वाले लोगों की स्किल मैपिंग करने के भी निर्देश दिए।

 कलेक्टर डॉ संजीव झा ने कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण किया। उन्होंने निगम के आयुक्त हरेश मंडावी से मोमिनपुरा क्षेत्र की पूरी जानकारी प्राप्त की।  हरेश मंडावी ने बताया कि कंटेनमेंट जोन के अंदर डेली नीड्स के सामान जैसे दूध सब्जी आदि की व्यवस्था के लिए कुछ लोगों को चिन्हांकित किया है। मोमिनपुरा में 200 मीटर का एरिया कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। इसके अतिरिक्त और 500 मीटर के क्षेत्र को बफर जोन में रखा गया है  श्री झा ने स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पी एस सिसोदिया से स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना कंट्रोल के बारे में जानकारी प्राप्त की।