छत्तीसगढ़ » बेमेतरा

Date : 16-Sep-2019

अर्ली वेराइटी धान लेना पड़ा महंगा, समय से पहले पकने लगी फसल

बेमेतरा, 16 सितंबर। जिले के कई गांवों के किसानों को अर्ली वेराइटी धान का उत्पादन लेना भारी पड़ रहा है। किसान नए किस्म के महंगे बीज खरीदने के बाद फसल के जल्दी आने से हलाकान है। पूर्व में ग्राम जेवरी व भटगांव में ऐसी शिकायत आई थी। अब ग्राम बंधी व परसवारा में भी फसल पकने की बात सामने आई है। शिकायत के बाद अब कृषि विभाग की टीम जेवरी में प्रभावित किसानों के फसल का जायजा लेंगे व रिपोर्ट तैयार करेंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के कई गांवो में अर्ली वेराइटी धान लेने के बाद फसल के जल्दी पकने को लेकर सामने आने के बाद कृषि विभाग की टीम किसान के आवेदन का इंतजार किया जा रहा है। अब जब प्रभावितों ने विभाग को आवेदन प्रस्तुत किया है , तब विभाग ने टीम गठित कर जांच कराने की तैयारी में है। वरिष्ठ कृषि अधिकारी समय लाल साहू ने बताया कि उनका अमला सोमवार को ग्राम जेवरी में फसल देखने पहुचेगा। परसवारा व बंधी क्षेत्र में भी निरीक्षण किया गया है। उच्च अधिकारियों को रिपोर्ट सौपी जाएगी।

दूसरे किस्म में भी शिकायत

ग्राम लोलेसरा ले किसान भगवती वर्मा के खेत मे 1010 किस्म के धान में समय से पूर्व बालियां आ चुकी है। इसे लेकर किसान अनिर्णय की स्थिति में है। किसानों ने बताया कि वह इस तरह की स्थिति का पहली बार सामना कर रहे है। फसल को लेकर जानकर भी कुछ नहीं बता पा रहे है।

किसानों को हो रही उत्पादन

कम आने की चिंता

जिले के ग्राम जेवरी के किसान दिलेश्वर साहू , रूपराम साहू , रामसिंह ने कम समय मे ज्यादा उत्पादन देने वाली अर्ली वेराइटी के धान के बीज बेमेतरा के एक निजी दुकान से खरीदा था। किसानों ने सवा 134 प्रो नामक अर्ली वेराइटी धान लिया था , जिसकी फसल तैयार होने की अवधि लगभग 120 दिन बताई गई थी। धान का रोपा लगाने किसानों ने नर्सरी तैयार की थी , जिसके लगभग 15 दिनों के बाद पौधों के तैयार होने पर किसानों ने रोपाई की थी। धान में लगभग 55 से 60 दिनों में बालियां दिखने लगी है। धान बेचने वाले कंपनी के एजेंट ने धान की फसल 120 दिनों की बताई थी। जिसमे 15 दिनों में नर्सरी तैयार होने के बाद 15 से 25 दिनों के भीतर रोपाई करने की बात कही गई थी। साथ ही 45 दिनों में एक पौधे में से 60 से 75 कनसे लगने की बात कही गई थी। लेकिन धान के पौधे में आधे कनसे  भी नही आये है। खेत मे धान ने एक सामान ग्रोथ नही किया है। पौधे छोटे-बड़े दिख रहे हैं। बावजूद समय से पहले बालियां आने से उत्पादन कम आने की चिंता अब किसानों को सता रही है।


Date : 16-Sep-2019

महिला ने खुद को जलाया, करंट से युवक की मौत

बेमेतरा, 16 सितंबर। आग से जलने व करंट की चपेट में आने के मामले में दो लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनका उपचार करने के बाद मेकाहारा रायपुर के लिए रेफर कर दिया गया है।ग्राम मुलमुला निवासी भागाबाई पति उमेंद्र दास (61) ने अपने ऊपर मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। परिजन दोपहर 1 बजे जिला अस्पताल लेकर पहुँचे। यहाँ प्राथमिक उपचार के बाद मेकाहारा रायपुर रेफर कर दिया गया है। महिला का अभी बयान दर्ज नहीं किया गया है।

दूसरी घटना में रायपुर रोड पर स्थित मोटरसाइकिल सो रूम में काम करने वाला युवक ग्राम फरी निवासी दुर्गेश विश्वकर्मा वाहन धोने के लिए बोर पंप शुरू करने गया था। उसके सिर के ऊपर से गुजरे तार से करंट लगा गया , जिससे वह झुलस गया। उसे साथियों ने जिला अस्पताल पहुँचाया गया। जहा से प्राथमिक उपचार के बाद मेकाहारा रायपुर रेफर किया गया है।


Date : 16-Sep-2019

चिटफंड कंपनी के विरूद्ध अपराध का निकाल करने दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बेमेतरा, 16 सितंबर। थाना प्रभारियों की बैठक लेकर जिले के थाना चौकी में पंजीबद्ध चिटफंड कंपनी के विरूद्ध अपराध में अभियुक्त की कंपनी के संबंध में जानकारी प्राप्त करने हेतु आरओसी रजिस्ट्रार ऑफ कंपनी, सेबी और आरबीआई से कंपनी के संबंध में जानकारी कंपनी के डायरेक्टर और उनसे संबंधित जानकारी प्राप्त करने तथा कंपनी एवं कंपनी के डायरेक्टरों के चल - अचल सम्पत्ति का पता साजी कर उनकी सम्पति का कुर्की करने के संबंध में कलेक्टर को प्रतिवेदन भेजने एवं चिटफंड कंपनी के विरूद्ध पंजीबद्ध अपराध का जल्द से जल्द निकाल करने निर्देशित किया गया।  बैठक में थाना प्रभारी निरीक्षक राजेश मिश्रा, निरीक्षक विपिन रंगारी, निरीक्षक के. के. वासनिक, उप निरीक्षक आनंद कोमरा, आरक्षक विक्रम सिंह, दुर्गेश तिवारी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Date : 15-Sep-2019

साइबर अपराध एवं रोकथाम हेतु एक दिवसीय कार्यशाला 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 15 सितंबर।
पुलिस अधीक्षक कार्यालय बेमेतरा के मीटिंग हाल में एक दिवसीय जिला स्तरीय साइबर अपराध एवं उनके रोकथाम हेतु कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें जिले के समस्त थाना चौकी के आरक्षक से लेकर विवेचना अधिकारियों को दिल्ली से आए तथ्य फाउंडेशन के साइबर एक्सपर्ट संजय मिश्रा के द्वारा साइबर विवेचना में विवेचकों को नवीन एवं अत्याधुनिक विवेचना तकनीक प्रक्रिया एवं साइबर क्राइम के विभिन्न पहलुओं पर जानकारी एवं प्रशिक्षण दिया गया। 

कार्यशाला प्रशिक्षक साइबर एक्सपर्ट  संजय मिश्रा तथा डॉ.  निरज शर्मा हेंडराईटीग एक्सपर्ट को स्मृति चिन्ह भेट कर सम्मानित किया गया। कार्यशाला में जिला एवं सत्र न्यायधीश आनंद कुमार सिंघल, पुलिस अधीक्षक  प्रशांत सिंह ठाकुर, विमल कुमार बैस एवं उप पुलिस अधीक्षक सुनिल डेविड, राजीव शर्मा, सुबेदार संजय सुर्यवंशी, निरीक्षक के. के. वासनिक, सउनि संतोष ध्रुवे, सुखनंदन ठाकुर, जगमोहन कुंजाम, सुभाष सिंह, पवन सिंह, प्र. आर. मोहित चेलक, सुरेश भारतेन्दु, सुखेलाल बंजारे, अरविंद शर्मा, विजेन्द्र सिंह भानुप्रताप सिंह, दिलीप टिकरीहा एवं समस्त थाना चौकी के अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

 


Date : 15-Sep-2019

संदिग्धों पर नजर रखने शहर के आउटर में चेक पोस्ट

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बेमेतरा, 15 सितंबर
शहर के आउटर पर चेक पोस्ट बनाया गया है, जहां पर देर रात तक पुलिस के जवान तैनात रहते है। वही शहर में गश्त भी बढ़ाई गई है। थाना क्षेत्र में भी चेकपोस्ट बनाकर संदिग्धों पर नजर रखी जा रही है।

ज्ञात हो कि मुख्यालय के आउटर में स्थित पेट्रोल पंप में लूट में नाकाम आरोपियों ने कर्मचारियों पर गोली चला दी थी। वहीं नांदघाट थाने क्षेत्र में एक शिक्षक से मोटरसाइकिल लूटकर आरोपी भाग गए थे। जिन्हें पकड़ लिया गया है। दूसरे ही दिन बेमेतरा से कवर्धा मार्ग पर ग्राम बहेरा व गर्रा के बीच एक युवक से मोटरसाइकिल छीनकर लुटेरे फरार हो गए थे। जिले में बेख़ौफ़ हो रहे अपराधियों पर नकेल कसनव पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विमल बैस के निर्देश पर थाना क्षेत्र के आउटर में चौक-चौराहे पर चेक पोस्ट बनाया गया है , जहां पर पुलिस के जवान देर रात तक संदिग्धों पर नजर रख रहे है। पुलिस के आउटर में बैठने से संदिग्धों व अपराधियों में डर का का माहौल बना हुआ है। शहर में नवागढ़ तिराहा , बेरला तिराहा एवं दुर्ग रोड पर पेट्रोल पंप के पास चेक पोस्ट बनाया गया है। वही विभिन्न थाना क्षेत्र में भी प्रमुख मार्गों में पुलिस नजर रख रही है।

 

 


Date : 15-Sep-2019

एलॅन्स स्कूल में हिन्दी दिवस पर अनेक कार्यक्रम

बेमेतरा, 15 सितंबर। एलॅन्स पब्लिक स्कूल बेमेतरा में हिन्दी दिवस के अवसर पर साहित्यिक क्रियाकलाप ,काव्य पाठ, भाषण एवं शिक्षाप्रद् लघु नाटिका का मंचन किया गया। 
 स्कूल डायरेक्टर  पुष्कल अरोरा ने कहा कि संसार में मानव ही सबसे अधिक सौभाग्यशाली हैं, कि उसे अपनी बात कहने के लिए भाषा का वरदान मिला है। प्रत्येक मनुष्य अपने भावों की अभिव्यक्ति किसी न किसी भाषा के माध्यम से ही करता है। प्राचार्य डॉ सत्यजीत होता ने कहा कि किसी भी देश में सबसे अधिक बोली एवं समझी जाने वाली भाषा ही वहाँ की राष्ट्रभाषा होती है। प्रत्येक राष्ट्र का अपना स्वतंत्र अस्तित्व होता है, उसमें अनेक जातियों, धर्मों एवं भाषाओं के लोग रहते हैं।   साहित्यिक क्रियाकलाप के अन्तर्गत आयोजित काव्य पाठ प्रतियोगिता में बच्चों ने भाग लिया। समारोह में स्कूल प्रशासक  सुनील शर्मा,  भूपत महाराज एवं शिक्षक-शिक्षिकाएँ तथा विद्यार्थी उपस्थित थे।


Date : 15-Sep-2019

विधायक ने 13 सेवानिवृत शिक्षकों का सम्मान किया 

बेमेतरा, 15 सितंबर।  बेमेतरा के नगर बेरला के मंडी प्रांगण में समस्त शिक्षक बेरला द्वारा आयोजित विकासखण्ड स्तरीय  शिक्षक सम्मान समारोह में शामिल हुए। मुख्य अतिथि विधायक आशीष छाबड़ा थे। विशेष अतिथि  कविता साहू अध्यक्ष जिला पंचायत बेमेतरा, सविता हिरवानी अध्यक्ष नगर पंचायत बेरला,रामेश्वर देवांगन अध्यक्ष ब्लाक कांग्रेस कमेटी बेरला सहित अतिथिगण उपस्थित रहे। बेरला नगर में 17 वर्षों से शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजित किया जा रहा है, इस वर्ष मुख्य अतिथि आशीष छाबड़ा द्वारा 13 सेवानिवृत शिक्षकों का सम्मान किया गया। साथ में भारत भूषण साहू, सूर्यकांत साहू, सूर्यकांत शर्मा, दशरथ यादव,पुसउ राम सिन्हा,राजेश दुबे,नवाज खान,बसंत साहू, नरायन डंगरे,गोपाल साहू,चेतन बंजारे,अनिल वर्मा,फत्ते जैन,रासबिहारी कुर्रे,हर्षद सुराना, रिजवान खान,सत्यनरायन साहू, रासबिहारी कुर्रे,धर्मेन्द्र सेन,गुड्डू से न,गोविंदा राजपूत,द्रविण मिश्रा,गजेंद्र,टेकलाल,रघु सहित अतिथिगण शिक्षकगण उपस्थित रहे।

 

 


Date : 15-Sep-2019

ट्रक ने कार को मारी टक्कर, दो मौतें, दोनों युवकों के शव को बाहर निकालने के लिए पुलिस को करनी पड़ी काफी मशक्कत 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 15 सितंबर।
जिले में सडक़ दुर्घटना थमने का नाम नही ले रही है। बीती रात सिमगा - बेमेतरा राष्ट्रीय राजमार्ग फिर खून से लाल हो गया। ग्राम टेमरी के पास ट्रक ने विपरीत दिशा से आ रही कार को अपने चपेट में ले लिया और सडक़ किनारे पलट गया।कार में सवार दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया। पुलिस ने दोनों युवकों के शव को मशक्कत के बाद कार से बाहर निकाला गया।

पुलिस के अनुसार घटना बीती रात करीब 8 बजे की है। ग्राम टेमरी के पास सिमगा की ओर से आ रहे ट्रक एमपी 20 एचबी 6079 ने बेमेतरा की ओर जा रही कार सीजी 04 एलए 5661 को सीधे टक्कर मार दी। कार समेत सडक़ के किनारे पलट गया। कार सवार देवानंद सिंह पिता विजय सिंह उईके  (24) निवासी दीया पीपर थाना गोपारु जिला शहडोल व आश मोहम्मद पिता जमील कुरैशी (32) निवासी वार्ड 33 राजा तालाब रायपुर की मौके पर ही मौत हो गई।ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुँची। ग्रामीणों के सहयोग से दोनों युवकों के शव को कार से निकाला गया। शवों को जिला अस्पताल पहुँचाया गया , जहा रात में मरच्यूरी में रखा गया। शनिवार को परिजन के आने के बाद मर्ग कायम किया गया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौपा दिया गया। रायपुर निवासी युवक का सुबह और शहडोल निवासी युवक के शव का पोस्टमार्टम शाम को किया गया। 

बहन से मिलकर घर लौट रहा था युवक
कार सवार युवक आश मोहम्मद 11 सितंबर को अपनी बहन से मिलने अपने दोस्त देवानन्द के साथ बिछिया गया था। कार भी एक अन्य दोस्त का लेकर गए थे। जहा से दोनों रायपुर लौट रहे थे , तभी ग्राम टेमरी के पास दुर्घटना हो गई। परिजन ने बताया कि उन्होंने वापस आने की सूचना दी थी। ट्रक रायपुर से छड़ भरकर जबलपुर जा रही थी।

पिता को अनहोनी का हो गया था आभास
जिला शहडोल निवासी मृतक देवानंद सिंह के पिता विजय सिंह ने बताया कि रात में ही उन्हें किसी अनहोली होने के चलते बेचैनी महसूस हो रही थी। सुबह किसी ने आकर उन्हें हादसे के बारे में जानकारी दी। वे तुरंत बेमेतरा के लिए रवाना हुए। उन्होंने बताया कि 7 वर्ष से उनका लडक़ा रायपुर में रहकर एक धर्मकांटा में काम कर रहा था। पिता विजय के 4 बजे बेमेतरा आने के बाद शव का पोस्टमार्टम हुआ।

ग्रामीणों ने किया पुलिस का सहयोग
दुर्घटना के बाद कार पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई थी , जिसमें दोनों ही युवक फंसे हुए थे। पुलिस पेट्रोलिंग वाहन के पहुँचने के बाद आसपास के ग्रामीणों ने दोनों युवकों का शव निकालने में पुलिस का सहयोग किया।

 

 


Date : 14-Sep-2019

कृषि मंत्री ने उद्योग स्थापना के लिए जमीन आबंटन की ली जानकारी, मध्यान्ह भोजन गुणवत्ता की मानिटरिंग के लिए दौरा करें अधिकारी-चौबे
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बेमेतरा, 14 सितंबर। 
कृषि मंत्री रविन्द्र चैबे ने बेमेतरा प्रवास के दौरान कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा की। उन्होंने बैठक के दौरान जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे मध्यान्ह भोजन योजना की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए मैदानी क्षेत्र का दौरा कर इसकी मॉनिटरिंग करते रहे। कही-कहीं स्व-सहायता समूह द्वारा अनियमितता की शिकायतें भ्रमण के दौरान उन्हें मिलती रहती है। 

मंत्री ने डीईओ से कहा कि उनके संकुल समन्वयकों द्वारा कब-कब किन-किन शालाओं का निरीक्षण किया गया, इसकी रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपे। सीआरसी द्वारा एम.डी.एम योजना की मॉनिटरिंग नहीं करने की भी शिकायतें मिल रही है, इस पर त्वरित कार्रवाई कर सीआरसी को निरीक्षण करने के निर्देश दिए। 

कृषि मंत्री ने उद्योग विभाग के महाप्रबंधक से जिले में कृषि आधारित उद्योग की स्थापना के लिए जिले में शासकीय भूमि की चिन्हांकन के संबंध में जानकारी ली। महाप्रबंधक ने बताया कि जिले के ग्राम चंदनू में लगभग 215 एकड़ जमीन चिन्हांकित की गई है। जैसे ही उद्योग विभाग को हस्तांरित होगी सीएसआईडीसी द्वारा विकसित किया जाएगा। विधायक नवागढ़ गुरूदयाल बंजारे ने कहा कि नवागढ़ के प्रीमैट्रिक छात्रावास को डिसमेंटल करने की कार्यवाही करें तथा बच्चों को अन्यत्र शिप्ट करें। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान उपभोक्ताओं द्वारा कहीं-कहीं अधिक बिलिंग की शिकायत भ्रमण के दौरान मिलती रहती है। 

बैठक के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष कविता साहू ने जानकारी दी की बेरला ब्लाक के प्रभार में सहकारिता विभाग के सहकारिता निरीक्षक विजय कुमार सिन्हा को धान उपार्जन के पंजीयन के संबंध में मेरे निज सहायक द्वारा उनके मोबाइल फोन पर कॉल किया गया तो निरीक्षक श्री सिन्हा द्वारा एक चुने हुए जनप्रतिनिधि से बात करना उचित नहीं समझा। कैबिनेट मंत्री ने इस शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए सहकारिता निरीक्षक श्री सिन्हा के विरूद्ध शो-कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। 

बैठक में विधायक बेमेतरा आशीष छाबड़ा, विधायक नवागढ़ गुरूदयाल सिंह बंजारे, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कविता साहू, कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी, पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओ प्रकाश कुमार सर्वे सहित जिला स्तर के अधिकारी उपस्थित थे।

 


Date : 14-Sep-2019

बटार के सरपंच द्वारा जिले के कुछ सरपंचों से निर्माण कार्य स्वीकृत कराए जाने के नाम पर राशि उगाही करने की शिकायत को कृषि मंत्री ने गंभीरता से लिया, एसपी को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए

बेमेतरा, 14 सितंबर। जिले के बेमेतरा विकासखण्ड के दाढ़ी अंचल के ग्राम पंचायत बटार के सरपंच राजेश दत्त दुबे द्वारा जिले के कुछ सरपंचों से निर्माण कार्य स्वीकृत कराए जाने के नाम पर राशि उगाही करने की शिकायत को कृषि मंत्री रविन्द्र चैबे ने गंभीरता से लिया है।

उन्होंने एसपी को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए हैंं। शुक्रवार को कलेक्टोरेट सभा कक्ष में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान कैबिनेट मंत्री श्री चैबे ने बैठक में उपस्थित एसपी बेमेतरा को इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए।  

जिले के भ्रमण के दौरान कुछ सरपंचों द्वारा कृषि मंत्री से शिकायत की गई थी कि जिले के ग्राम पंचायत बटार के सरपंच द्वारा राजधानी रायपुर से पंचायत क्षेत्र में विभिन्न निर्माण कार्य स्वीकृत कराने का जिम्मा लेकर अवैध वसूली की जा रही है, इस पर रोक लगाई जाए। बैठक में विधायक बेमेतरा आशीष छाबड़ा, विधायक नवागढ़ गुरूदयाल सिंह बंजारे, जिला पंचायत अध्यक्ष  कविता साहू, कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी, पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत के सीईओ प्रकाश कुमार सर्वे सहित जिला स्तर के अधिकारी उपस्थित थे।

 


Date : 14-Sep-2019

कायाकल्प योजना के अंतर्गत बेमेतरा जिले के तीन अस्पतालों को राज्य सरकार द्वारा पुरस्कृत

बेमेतरा, 14 सितंबर। कायाकल्प योजना के अंतर्गत बेमेतरा जिले के तीन अस्पतालों को राज्य सरकार द्वारा पुरस्कृत किया गया है। इनमें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र देवरबीजा को दो लाख रूपए, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेरला को एक लाख रूपए एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र परपोड़ी को 50-50 हजार रूपए शामिल है। अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव द्वारा राजधानी रायपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य विभाग के इन संस्थाओं को चेक भेंटकर अपनी शुभकामनाएं दी थी। 

 


Date : 14-Sep-2019

कलेक्टर ने गौठान प्रबंधन समितियों को दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 14 सितंबर।
कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी ने राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजना- नरवा, गरूवा, घुरूवा अउ बाड़ी के बेहतर क्रियान्यवन के संबंध में कृषि, पशुपालन, मछली पालन, उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। योजना शासकीय कृषि महाविद्यालय ढोलिया बेमेतरा के डीन डॉ. के.पी.वर्मा एवं उनकी टीम द्वारा आज कलेक्टोरेट सभा कक्ष में सुराजी गांव योजना के अंतर्गत  अपनी सहभागिता प्रदर्शित करने के लिए कम्प्युटर आधारित प्रस्तुतिकरण दिया। जिसमें कम्पोस्ट खाद-जैविक खेती के जरिए किसान अपने उत्पादन को बढ़ा सकते है। 

कृषि कॉलेज द्वारा किसानों से फसल के अवशेष खेत में नहीं जलाने की अपील की गई बल्कि इसके पैरे को खेत में फैलाकर खाद तैयार करने के बारे में जानकारी दी गई। डीन डॉ.वर्मा ने बताया कि ट्राइकोडर्मा फफूंद का उपयोग कर खेत में मिलाकर पानी सिंचे इससे फसल अवशेष खाद के रूप में परिवर्तित होगा। कलेक्टोरेट सभा कक्ष में आयोजित बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रकाश कुमार सर्वे, महात्मा गांधी नरेगा के कार्यक्रम अधिकारी जनपद पंचायत के सीईओ, सहित कृषि, पशुपालन, मछलीपालन, एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। 

कलेक्टर ने गौठान प्रबंधन समितियों को सक्रिय करने के निर्देश जनपद पंचायत के सीईओ को दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए की लवारिश पशुओं को गौठानों में रखकर उनकी उचित देखभाल करें। उन्होंने कृषि महाविद्यालय सहित मैदानी अधिकारियों को विकासखण्डों के गौठान को गोद लेने के निर्देश दिए। कृषि महाविद्यालय बेमेतरा द्वारा ग्राम झालम एवं बिलई का गौठान गोद लेने पर सहमति प्रकट की। इसी तरह नवागढ़ विकासखण्ड के ग्राम नारायणपुर स्थित गौठान को पशुधन विकास विभाग द्वारा ग्राम तेंदुभाठा एवं मौहाभाठा के गौठान को शासकीय कृषि महाविद्यालय मोहगांव, ग्राम ठेलका एवं बरबसपुर के गौठान के कृषि विभाग बेमेतरा, नवागढ़ ब्लाक के ग्राम झिलगा के गौठान के जनपद पंचायत नवागढ़ द्वारा गोद लेने पर सहमति प्रकट की गई। 

कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि ग्रामीण स्व-सहायता समूहों को गौठान से जोडक़र रोजगार मूलक गतिविधियों का संचालन करें। इस कार्य में महिला समूहों को भी जोड़ा जा सकता है। ताकि इसके माध्यम से वे अपनी अजीविका चला सके और आर्थिक रूप से स्वावलंबी बन सके। गौठान के गोबर गोमूत्र से खाद तैयार कर वे (स्व-सहायता समूह) उसे आय का जरिया बना सकते है। इसके अलावा दूग्ध उत्पाद से भी उनकी आमदनी बढ़ेगी। यह भी उनके रोजगार का साधन बन सकता है।  

 

 

 


Date : 14-Sep-2019

कृषि विज्ञान केन्द्र बेमेतरा एवं पशुधन विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में खिलोरा में पशु आरोग्य शिविर 

बेमेतरा, 14 सितंबर। कृषि विज्ञान केन्द्र, बेमेतरा एवं पशुधन विकास विभाग, बेमेतरा के संयुक्त तत्वावधान में पशु आरोग्य शिविर का आयोजन ग्राम खिलोरा में आयोजित किया गया। जिसमें कृषि महाविद्यालय, एवं अनुसंधान केन्द्र, बेमेतरा के प्रभारी डॉ.अशीत कुमार पाण्डेय, के निर्देश में छात्रों द्वारा सराहनीय सहयोग रहा जिसके अंतर्गत मंच सज्जा, भोजन व्यवस्था, किसानों एवं पशुओं की व्यवस्था तथा कृत्रिम गर्भाधान के प्रदर्शन आदि कार्यां में सराहनीय सहयोग के कारण आयोजन सफल रहा। 

कार्यक्रम के दौरान छात्रों ने विशेषज्ञों द्वारा पशुपालन में होने वाले रोगों की जानकारी लीं। जिससे की जानकारी लेकर भविष्य में किसानों की सेवा की जा सके। इस कार्यक्रम का प्रारंभ छात्राओं ने अतिथियों के स्वागत फूलमाला से किया एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम की संचालन मं सहयोग प्रदान किये।  

कार्यक्रम के दोरान प्रधानमंत्री जी के जीवंत भाषण का सीधा प्रसारण मथुरा से किया गया जिसे उपस्थित किसानों, महिलाओं एवं स्कूली छात्र-छात्राओं ने सीधा प्रसारण देखा। कार्यक्रम के दौरान बारिश होने के बावजूद छात्रों ने हिम्मत नहीं हारी और पूरी व्यवस्था को बनाये रखा।  इस कार्यक्रम का मुख्य उदेश्य पशुओ में पाये जाने वाले खुरपका एवं मुंहपका रोग को टीकाकरण कर रोकथाम करना तथा कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से उन्नत किस्म के पशुओं का विकास करना जिससे की किसानों की आमदनी दुगनी हो।


Date : 14-Sep-2019

महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में कुपोषण एवं एनीमिया मुक्त कार्यशाला का आयोजन 

बेमेतरा, 14 सितंबर। महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आओ बनाए कुपोषण एवं एनीमिया मुक्त बेमेतरा विषय पर कलेक्टोरेट सभागृह में कार्यशाला का आयोजन किया गया। 

वर्कशॉप में कलेक्टर शिखा राजपूत तिवारी एवं रायपुर से आए डॉ. कमलेश जैन एवं कन्सलटेंट अविनाश लुम्बा ने कुपोषण दूर करने के संबंध में जानकारी दी। इस मौके पर जिला पंचायत के सीईओ प्रकाश कुमार सर्वे, जिला कार्यक्रम अधिकारी म.बा.वि.राजकुमार जाम्बुलकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सतीश शर्मा, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी रमाकांत चन्द्राकर, विभाग के परियोजना अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के बीएमओ, एवं आंगनबाड़ी के पर्यवेक्षक उपस्थित थे।

 


Date : 14-Sep-2019

पितृपक्ष आज से, पितरों को कुशा से जल, तिल, जौ और उड़द दाल अर्पित करते हुए पिंडदान कर आराधना 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 14 सितंबर।
पितरों यानी मृत पूर्वजों के तर्पण के लिए पितृपक्ष आज से शुरू हुआ। पितरों को कुशा से जल, तिल, जौ और उड़द दाल अर्पित करते हुए पिंडदान कर आराधना करेंगे। पूर्वजों की आत्मा की शांति एवं मुक्ति के लिए हर साल अश्विन माह के कृष्ण पक्ष को पितृ पक्ष के रूप में मनाया जाता है, जो पखवाड़े भर जारी रहता है। अमावस्या के दिन पितृ पक्ष का विसर्जन होता है। अपने पुर्वजों के मृत्यु तिथि के अनुसार पितृपक्ष में तर्पण करते है। महिला पूर्वजों की नवमीं तिथि है।

गाय के गोबर से बनेगा चौक
पितृपक्ष में घर के आंगन को गाय के गोबर से लीप कर चांवल आटे से चौक पूरा जाता है। जिसे ओरिया लीपना भी कहते है। उसमें रंग-बिरंगे फूल भी डाला जाता है। तालाब में हांथो के कुश लेकर जल, जौ, तिल अर्पित कर घर में होम दिया जाता है।

पितरों को मनाते हंै
मान्यता है कि पितृपक्ष में पितरों को श्राद्ध नहीं करने पर पितर रूठ जाते है। पितरों के रुष्ठ होने पर मनुष्य के जीवन पर कई विपदाएं आ सकती है। श्राद्ध में इनका विशेष महत्व है। श्राद्ध में पितरों को अर्पित करने वाले पदार्थ को पिंडी रूप में अर्पित करना चाहिए। पुराणों में भी इसका जिक्र है कि श्राद्ध का अधिकार केवल योग्य ब्राह्मणों को है। श्राद्ध का अधिकार पुत्र, पौत्र, प्रपौत्र, भाई एवं महिलाओं को भी होता है। 

पं. रूपेंद्र प्रसाद पुरोहित ने बताया कि पूर्वजों की आराधना का पक्ष है। पितरों के रूठ जाने पर धन वैभव से लेकर संतान पक्ष पर समस्याएं आ सकती है। ज्योतिष के अनुसार पितृदोष को सबसे जटिल कुंडली दोष माना जाता है। पितरों की शांति के लिए पितृपक्ष में श्राद्ध अवश्य करना चाहिए। पं. विष्णु प्रसाद पांडेय ने बताया कि ब्रह्मा वैवर्त पुराण के अनुसार देवताओं को प्रसन्न करने से पहले मनुष्य को अपने पितरों को करना चाहिए।

मान्यता है कि कौओं के रूप में आते है पितर 
पितृपक्ष में तालाबों में तर्पण कर आने के बाद घर मे उड़द दाल बड़ा एवं चावल आटे से बनी गुरहा चीला घर में अर्पण करते हंै। मान्यता है कि कौआं पितर का रूप होता है। पितर श्राद्ध ग्रहण करने कौए के रूप में नियत तिथि को हमारे घर पहुंचते हैं। अगर उन्हें श्राद्ध नहीं मिलता तो वह रुष्ठ हो जाते हंै। इस कारण श्राद्ध का प्रथम अंश कौओं को दिया जाता है।


Date : 14-Sep-2019

नाबालिग ने भाई के साथ की चोरी, बंदी, नगदी-जेवर बरामद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 14 सितंबर।
थाना नवागढ़ जिला बेमेतरा क्षेत्राअंतर्गत 30 अगस्त को नवागढ़ सुकुलपारा में नाबालिग से छेडख़ानी के आरोप में चन्द्रेश सोनकर निवासी सुकुलपारा को 31 अगस्त को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। 

31अगस्त को ही प्रार्थी चन्द्रकांत सोनकर निवासी सुकुलपारा ने दिनांक 30 अगस्त की रात्रि में नगद 1 लाख 6 2 हजार रूपये और सोना चांदी के जेवरात चोरी होने कि रिपोर्ट पर थाना नवागढ़ में अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। 

पुलिस द्वारा आरोपी की पतासाजी के दौरान सुकुलपारा निवासी अपचारी बालक को गिरफ्तार किया गया। जिसके पास से सोने का लाकेट का पत्ती 14 नग, मंगलसूत्र सोने का लाकेट का पत्ती 7 नग, सोने का झुमका 1 जोड़ी, सोने का नथ 1 नग, चांदी का 1 जोड़ी लच्छा, चांदी का जोड़ी एैठी, चांदी का 1 नग चूड़ा, चांदी का 1 नग करधन, चांदी का 1 नग हाफ करधन, चांदी का 2 जोड़ी पैर पट्टी, चांदी का 1 जोड़ी बिछिया, 1 नग कंप्यूटर का सीपीयू कुल जुमला रकम 1 लाख 20 हजार जब्त किया गया था।

पूछताछ के दौरान आरोपी ने चोरी की घटना करने में अपने चचेरे भाई चन्द्रेश सोनकर के साथ चोरी करना बताया था। जो कि न्यायिक रिमांड में उप जेल बेमेतरा में निरूद्ध है। जिसके पश्चात आरोपी चन्द्रेश सोनकर का न्यायालय से प्रोडक्शन वारंट जारी करवाकर पुलिस रिमांड लिया गया और चन्द्रेश सोनकर से पूछताछ करने पर उसने अपने मेमोरेडंम कथन में किये चोरी का पैसा सुकुलपारा शमशान घाट के पास रेत के ढेर में छुपाना बताया। चन्द्रेश की निशानदेही में गवाहों के समक्ष रेत के ढेर से प्लास्टिक की बोरी में लिपटा हुआ नगद रकम 1 लाख 6 2 हजार एवं 1 जोड़ी सोने का झुमका बरामद किया गया है।