छत्तीसगढ़ » बेमेतरा

Date : 06-Nov-2019

बर्थडे पार्टी में पानी पिलाने को लेकर दोस्तों में विवाद, बोतल तोडक़र किया हमला, मामला दर्ज कर पुलिस विवेचना में जुटी

बेमेतरा, 6 नवंबर। शहर के गौरवपथ स्थित एक दुकान में सोमवार देर रात बर्थडे पार्टी के दौरान पानी पिलाने को लेकर दोस्तों के बीच विवाद हो गया। प्रार्थी दीपेश की रिर्पोट पर  आरोपी मनीष उर्फ चकरी सुंदरनगर के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस विवेचना में जुट गई है।

पुलिस के अनुसार सोमवार देर रात को गौरवपथ स्थित एक दुकान में प्रार्थी व आरोपी समेत उनके कुछ दोस्त बर्थडे पार्टी मना रहे थे। इस दौरान प्रार्थी दीपेश ने आरोपी मनीष को पीने के लिए पानी भरकर लाने को कहा, यहां आरोपी ने पानी लाने से मना करते हुए प्रार्थी से कहा कि मै तुम्हारा नौकर नहीं हूं। इस बात को लेकर दोनों के मध्य विवाद हो गया और आरोपी ने पास में रखी कोल्ड्रिंक की बॉटल को फोडक़र प्रार्थी पर हमला कर दिया। बीच-बचाव करने के दौरान एक अन्य युवक पर भी हमला कर दिया। 

इस घटना में प्रार्थी के चेहरे व उसके साथी के हाथ में गंभीर चोट पहुंची है। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।


Date : 05-Nov-2019

पीडि़त किसान ने कलेक्टर-विधायक से लगाई गुहार,  पीडि़त किसान के अनुसार मिशल निकालने के दौरान तहसील कार्यालय में कार्यरत बाबू यज्ञदत्त देशमुख दुव्र्यवहार करने लगा और तमाचा जड़ दिया।

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बेमेतरा, 5 नवंबर। बेरला तहसील कार्यालय में मिशल निकलवाने के दौरान हुए तमाचा कांड के पीडि़त किसान मूलचंद साहू को न्याय के लिए कार्यालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। लेकिन कहीं से भी संतोशजनक जवाब नहीं मिल रहा है।

उल्लेखनीय है कि 16  अक्टूबर को ग्राम सिलघट (पतोरा) निवासी कृषक मूलचंद साहू मिशल निकलवाने के लिए बेरला तहसील कार्यालय गए थे। पीडि़त किसान के अनुसार मिशल निकालने के दौरान तहसील कार्यालय में कार्यरत् बाबू यज्ञदत्त देशमुख दुव्र्यवहार करने लगा और तमाचा जड़ दिया। जिला प्रशासन बाबू पर कार्रवाई करने की बजाए पीडि़त किसान के खिलाफ बेरला थाने में शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज कराया गया।

वहीं किसान की रिर्पोट पर संबंधित कर्मी के खिलाफ सामान्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया। मामले में बाबू पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है, इसलिए पीडि़त किसान न्याय के लिए कार्यालयों के चक्कर काट रहा है। किसानों ने बाबू पर कार्रवाई के लिए सोमवार को विधायक आषीक्ष छाबड़ा व जनचौपाल में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने के दौरान रामकुमार साहू, मोहन साहू, नागराज कोषले, अमित साहू, तुलाराम साहू, हिरेन्द्र साहू, भगवानी दास, भगवती, भारत साहू, सागर साहू, सुनीत साहू, भागवत साहू, सेवकदास, ललित साहू, हेमकुमार मंडावी आदि मौजूद थे।

 बेरला के किसान सोमवार को विधायक आषीश छाबड़ा के कार्यालय पहुंचकर अपनी व्यथा बताई। इस पर विधायक ने किसानों को बताया कि यह मामला संज्ञान में है। वहीं संबंधित कर्मी पर कार्रवाई के लिए जिला प्रशासन को पत्र लिखा गया है। उन्होंने किसानों को बेरला तहसील के बाबू पर शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया।


Date : 05-Nov-2019

अवैध शराब पर रोक लगाने एसपी को सौंपा ज्ञापन, पुलिस अधीक्षक को बताया कि शहर व ग्रामीण क्षेत्रो में खुलेआम शराब की अवैध बिक्री हो रही है

बेमेतरा, 5 नवंबर। जिले में शराब की अवैध बिक्री पर रोक लगाने की मांग को लेकर समाजसेवी संस्था अंकुर के प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस अधीक्षक प्रषांत ठाकुर को ज्ञापन सौंपा। संस्था के अध्यक्ष राहुल टिकरिहा ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि शहर व ग्रामीण क्षेत्रो में खुलेआम शराब की अवैध बिक्री हो रही है। संबंधित पुलिस व आबकारी विभाग से कई शिकायतों के बावजूद अपेक्षित कार्रवाई देखने को नहीं मिल रही है। नतीजतन युवा बड़े पैमाने पर नशे के आदी हो रहे हैं। इसलिए संस्था अपनी सामाजिक जिम्मेंदारी का निर्वहन करते हुए कोचिए व शराब माफियाओं पर कार्रवाई के लिए संबंधित आबकारी अधिकारी, थाना प्रभारी व पुलिस अधीक्षक महोदय को फोन पर सूचना देगी। इसके बाद कार्रवाई नहीं होने पर संस्था अपने स्तर पर छापामार कार्रवाई करेगी। इस दौरान कानून व्यवस्था बिगडऩे पर सारी जिम्मेदारी संबंधित विभाग के अधिकारियो की होगी। उल्लेखनीय है कि संस्था ने पूर्व में भी इस तरह का अभियान चलाया था। ज्ञापन सौपने के दौरान चतुर साहू, लालू, नागराज कोषले, अमर साहू आदि मौजूद थे।

 

 

 


Date : 04-Nov-2019

नदी में तैरती हुई अज्ञात लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली, नाबालिग समेत 2 बंदी
 छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 4 नवंबर।
खमरिया सल्धा शिवनाथ नदी में तैरती हुई अज्ञात लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने नाबालिग सहित दो आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 
पुलिस के मुताबिक 13 सितम्बर को ग्राम खमरिया सल्धा शिवनाथ नदी में तैरती हुई अज्ञात लाश की सूचना मिली थी। मौके पर एसडीओपी राजीव शर्मा एवं थाना बेमेतरा पुलिस पहुंचकर अज्ञात लाश के बारे में आस-पास के लोगों से पूछताछ कर पता-साजी की गई, जिसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली।

मुंह में कपडा ठुसा था उम्र लगभग 45 साल से 50 साल, उचाई लगभग 5 फीट 5 इंच, शरीर सफेद पड गया है, आख फुली हुई, पीठ काला पड गया है, भूरे कत्थे रंग का अंडरवियर पहना हुआ है जिसे मौके पर प्रार्थी रमेश चौहान साकिन खम्हरिया थाना बेमेतरा की रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर जांच शुरू की गई। शव निरीक्षण के दौरान मृतक के मुंह मे कपडा ठुंसा हुआ पाया गया था। जिससे एसडीओपी बेमेतरा को प्रथम दृष्टया हत्या होना प्रतीत हो रहा था। पीएम रिपोर्ट में मृतक की हत्या से मृत्यु होना बताया गया। जिसके बाद अज्ञात व्यक्ति द्वारा अज्ञात मृतक के मुंह में कपडा ठूंसकर उसकी हत्या कर नदी के पानी मे फेंकने का अपराध घटित होना पाये जाने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया। 

एसपी प्रशांत सिंह ठाकुर के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस एसडीओपी राजीव शर्मा के नेतृत्व में थाना प्रभारी सिटी कोतवाली निरीक्षक राजेश मिश्रा व थाना स्टाफ एवं रक्षित केन्द्र बेमेतरा से एक टीम गठित कर प्रकरण में आरोपी पता साजी में लगाया गया था। 

अज्ञात शव की पहचान नहीं हो पा रही थी। साजी के दौरान पता चला कि 1.6 .18  को थाना बेरला के ग्राम बारगांव निवासी लालाराम साहू की हत्या ग्राम बारगांव के रहने वाले नारायण निषाद ने की थी। जिसमें आरोपी को जेल भेजा गया था जो 8  माह बाद वापस 2019 में छूट कर आया था। 22 सितम्बर को नारायण निषाद मृतक लाल राम साहू की पत्नि भगवंतीन बाई के साथ मारपीट कर उसके दांत तोडे दिये थे जिसमें थाना बेरला में अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया था। 

उक्त मारपीट की घटना के बाद से आरोपी नारायण निषाद गांव से फरार हो गया था जिसके संबंध में चोरी छुपे बीच-बीच में गांव में आने की जानकारी मिल रही थी। जब दिनांक 13 अक्टूबर को शिवनाथ नदी में एक अज्ञात लाश मिली उसके बाद से नारायण निषाद के बारगांव में आने की जानकारी नहीं मिली। लाश मिलने के बाद भगवंतिन बाई का छोटा लडका दिलीप साहू साकिन बारगांव को थाना लाकर पूछताछ किया गया। 

एसडीओपी राजीव शर्मा द्वारा दिलीप से पूछताछ करने पर उसने नारायण निषाद की हत्या करना कबुल करते हुए घटना के बारे में विस्तार से बताया। दिलीप ने बताया कि 2018  में उसके पिता की हत्या नारायण निषाद द्वारा कर दी गई थी जो लगभग 8  माह बाद जेल से छूट गया था और हम लोगों को फिर से गाली गलौच कर जान से मार दुंगा कहकर परेशान करने लगा था। 22 अगस्त को पुन: उसकी मां से मारपीट किया था इससे परेशान होकर एक बालक के साथ मिलकर नारायण निषाद को मारने की योजना बनाय और नारायण निषाद के बारे में पता किए। तब पताचला की वह मारपीट करने के बाद सिलघट में अपनी बहन के घर रह रहा था और रोज शिवनाथ नदी रेवे घाट में मछली मारने जाता है। 9 सितम्बर को शाम को करीबन  3.30 से 4 बजे नारायण निषाद रेवेघाट में बंसी  गरि  से मछली पकड़ रहा था। तभी दिलीप साहू ने नाबालिग के साथ रेवे घाट जाकर नारायण साहू को पीछे से जाकर पूछा कितना मछली पकड़े हो जैसे ही वह पीछे मुडक़र देखा तो अपने पास रखे जोता रस्सी को नारायण निषाद के गले में फंदा बनाकर फंसा दिया और कसकर जमीन में उसे गिरा दिया व एक बालक के साथ मिलकर दोनों उसका हाथ पैर पकड़ कर गला कस दिये। बालक ने एक चिन्दी कपडा़ को नारायण निषाद के मुंह में ठूस दिया। जिससे दम घुटने से उसकी मृत्यु हो गई। फिर उसके शव को दोनों ने मिलकर नदी में फेंक दिया और अपने घर आ गये। 

मृतक की बहन द्वारा मृतक के शर्ट को जो आरोपी द्वारा मृतक के शरीर से निकालकर रखे थे जिसे मृतक के परिजनो के समक्ष दिखाने पर मृतक की बहन ने देख कर उक्त शर्ट को अपने भाई नारायण साहू का होना बताई। आरोपी से हत्या में प्रयुक्त जोता रस्सी व मृतक के शर्ट को निशादेही पर जब्त किया गया। आरोपी दिलीप साहू को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया। तथा नाबालिग को किशोर न्याय बोर्ड में पेश किया गया।

 


Date : 04-Nov-2019

महिला कमांडो को सहयोग नहीं, सिटी की आवाज और लाठी की ठकठक हुई बंद, शहर में दर्जनभर स्थानो में खुलेआम शराब की अवैध बिक्री, परिवारो की व्यथा से विधायक को अवगत कराया, महिलाओं को कड़ी कार्रवाई का आष्वासन दिया
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 4 नवंबर।
शहर सहित जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में बड़े पैमाने पर शराब की अवैध बिक्री जारी है। बताया जाता है कि त्यौहारी सीजन के एक माह की अवधि में शहर में शराब की अवैध बिक्री का एक भी प्रकरण दर्ज नही हुआ है। जबकि शहर में दर्जनभर स्थानो में खुलेआम शराब की अवैध बिक्री हो रही है। 

गौरतलब हो कि शहर के गली-मोहल्लो में शराब पीकर माहौल खराब कर रहे लोगो पर अंकुश लगाने महिला कमांडो रात में गश्त करती थी। महिला कमांडो की गश्त से शराबियो के हुड़दंग करने पर अंकुश लगा था, लेकिन वर्तमान में पुलिस व आबकारी विभाग से अपेक्षित सहयोग नही मिलने के कारण महिला कमांडो ने रात में गश्त बंद कर दी है। महिला कमांडो मुनिया बाई, कमला बाई, दुखिया ने बताया कि षहर में आधा दर्जन से अधिक महिला कमांडो दल सक्रिय थे। लेकिन अब महिला कमांडो की सिटी की आवाज व लाठी की ठकठक बंद हो गई है। 

बीते सालो में शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रो में शराब की अवैध बिक्री पर अंकुश लगाने गांव-गांव में महिलाएं अपने स्तर पर महिला कमांडो दल का गठन कर प्रशासन के सहयोग से कार्रवाई कर रही थी। इसके अच्छे परिणाम मिलने के बाद हर गांव में दो-तीन महिला कमांडो का गठन होने लगा। लेकिन अब संबंधित विभाग से अपेक्षित सहयोग नहीं मिलने के कारण ज्यादातर दल की महिलाओं ने रात में गश्त बंद कर दिया है। पीडि़त परिवार की महिलाओं को महिला कमांडो के प्रयासो से उम्मीद जगी थी, कि उनके परिवार में खुशहाली आएगी। 

विधायक को बताई व्यथा 
सप्ताह भर पहले दर्जन भर गांव की मितानिन शराब की अवैध बिक्री पर रोक लगाने की मांग पर बेमेतरा विधायक आषीश छाबड़ा को ज्ञापन सौपकर गुहार लगाई। मितानिन चमेली बाई, कमला वर्मा ने बताया कि गांव-गांव में अमरबेल की तरह षराब कोचिए सक्रिय हो गए है। आसानी से उपलब्धता के कारण गांव के बच्चे किताब पकडऩे की उम्र में नषे के आदी हो रहे है। युवाओं का भविश्य बर्बाद हो रहा है। इन परिवारो की व्यथा से विधायक को अवगत कराया गया है। विधायक छाबड़ा ने महिलाओं को कड़ी कार्रवाई का आष्वासन दिया।

शहर व इन गांवों में खुलेआम बिक रही शराब 
शहर में नया बस स्टैण्ड में खाद्य विभाग की पुरानी बिल्डिंग के पास, पुराना बस स्टैण्ड में हनुमान मंदिर के पास, बाजारपारा में मंदिर व मस्जिद के पास, मोहभ_ा वार्ड में इंदिरा आवास कालोनी, सिंघौरी में देवार डेरा के पास समेत दर्जन भर स्थानो पर शराब की अवैध बिक्री हो रही है। इसी प्रकार ग्राम पिपरभ_ा, कुसमी, जोगीपुर, राउरपुर, खैरी, पौसरी, बीजाभाठ, बसनी, सरदा, सिरसा, सिंघौरी, देवरबीजा, चंदनू, लालपुर, बंधी, चारभाठा, ढोलिया, केषतरा, मउ, मुटपुरी, सरदा, जमघट, बारगांव, बोंरसी, बुधेली, घटियाखुर्द, मोहरेंगा, सोरला, सिंगदेही, बुचीडीह, घिवरी में कोचिए खुलेआम शराब बेच रहे है। 

एक माह में शहर में आबकारी एक्ट में एक भी प्रकरण दर्ज नहीं 
आबकारी उपनिरीक्षक जैलेष सिंह के अनुसार बेमेतरा शहर में एक माह के भीतर आबकारी एक्ट के तहत एक भी प्रकरण दर्ज नही किया गया है। उन्होने बताया कि जिले में माह भर में आबकारी एक्ट के 21 प्रकरण दर्ज हुए, जिसमें अवैध शराब बिक्री के मात्र 5 प्रकरण है। सिटी कोतवाली से मिली जानकारी के अनुसार सितम्बर माह में षराब की अवैध बिक्री के सिर्फ 2 व अक्टूबर में 3 प्रकरण दर्ज हुए। इन दर्ज प्रकरणो में षहर के भीतर एक भी कार्रवाई नही की गई है। जबकि षहर में दर्जन भर स्थानो पर खुलेआम षराब की अवैध बिक्री हो रही है। 
प्रशांत ठाकुर, एसपी-बेमेतरा ने बताया कि शिकायत पर तुरंत कार्रवाई की जा रही है, फिर भी इस संबंध में थाना प्रभारी से जानकारी लूंगा। स्थिति नियंत्रण में है, पुलिस विभाग पूरी मुस्तैदी से कार्रवाई कर रही है। 

आशीष छाबड़ा, विधायक, बेमेतरा ने बताया कि अनैतिक कार्यो में लिप्त लोगो पर कड़ी कार्रवाई के संबंध में चर्चा की जाएगी। शहर का माहौल भयमुक्त व शांतिपूर्ण हो, जनप्रतिनिधि के साथ प्रत्येक नागरिक का भी यह दायित्व है। शहर का माहौल बिगाडऩे वाले लोगो को बख्शा नहीं जाएगा।
 


Date : 04-Nov-2019

सडक़ पर बैठे मवेशियों को भारी वाहन ने अपने चपेट में ले लिया, 5 मवेशियों की मौत, 2 घायल 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 4 नवंबर।
बेमेतरा-दुर्ग मार्ग पर ग्राम देवरबीजा के पास सडक़ पर बैठे मवेशियों को भारी वाहन ने अपने चपेट में ले लिया। जिसमे 5 मवेशियों की मौके पर ही मौत हो गई और दो मवेशी घायल हो गए। 

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद भी सडक़ो पर मवेशियों के जमवाड़ा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। हाईकोर्ट ने कहा था कि सडक़ों पर बैठे मवेशियों के मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी। बावजूद मवेशियों के मालिकों पर कार्रवाई नहीं हो रही है। मवेशियों के सडक़ पर बैठने के कारण दुर्घटनाएं हो रही है। बड़ी-बड़ी गाडिय़ों की चपेट में आकर मवेशियों की भी मौत हो रही है। 

बेमेतरा जिले की साजा नगर पंचायत, बेरला, नवागढ़, बेमेतरा के मुख्य मार्गों में मवेशियों के बैठे रहने से आये दिन दुर्घटना हो रही है। कभी बाइक सवार घायल हो रहे हैं तो कभी मवेशी। 

 


Date : 04-Nov-2019

पिता की अर्थी को इकलौती बेटी ने कंधा, श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के रिवाज को पूरा करते हुए मुखाग्नि भी दी, शामिल लोगों की आंखे नम
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बेमेतरा, 4 नवंबर।
पिता की अर्थी को इकलौती बेटी ने कंधा दिया और श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के हर रिवाज को पूरा करते हुए मुखाग्नि भी दी। सामान्यत: पुत्रों की ओर से किये जाने वाले संस्कार को बेटी ने पूर्ण किया तो अन्तेयष्ठी में शामिल सभी लोगों की आंखे नम हो गई। यह मामला ग्राम मरका का है। सरपंच रोहित साहू की मृत्यु के बाद उसकी बेटी ने पूरी रस्म निभाई। 

ग्राम पंचायत मरका के सरपंच रोहित साहू लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। बीती रात उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मृत्यु हो गई। अन्तिम संस्कार गांव के ही मुक्तिधाम में किया गया। उनकी इकलौती संतान सुरूति साहू ने मुखाग्नि दी। वहीं पिता की अंतिम इच्छा को पूरी करते हुए सुरूति के आंसू बहते रहे। 

सामान्यत: मृतक के पुत्र नहीं होने पर भाई के पुत्र या चचेरे भाई के पुत्र या रिश्ते में पुत्रवत हो, वही पूरे कार्य करता है। लेकिन इन सभी पुरानी बंदिशों को तोड़ते हुए मरका के सुरूति सह ने अंतिम क्रिया पूरी की।