छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

10-Apr-2021 4:47 PM 26

राजनांदगांव, 10 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी एवं प्रांतीय महामंत्री सतीश ब्यौहरे ने 10वीं बोर्ड परीक्षा को स्थगित करने के छग माध्यमिक शिक्षा मंडल के आदेश का स्वागत करते कहा कि अंतत: माध्यमिक शिक्षा मंडल ने माना कि बोर्ड परीक्षा से ज्यादा जरूरी है जान की सुरक्षा। 

उन्होंने जारी विज्ञप्ति में बताया कि फेडरेशन ने विद्यार्थी एवं शिक्षक तथा उनके परिवार को कोरोना संक्रमण से बचाने बोर्ड परीक्षा को स्थगित करने की मुहिम चलाई थी। इस मुहिम के तहत फेडरेशन ने शासन के समक्ष पक्ष रखा कि 10वीं बोर्ड परीक्षा में तकरीबन 4 लाख तथा 12वीं में 2.5 लाख विद्यार्थी समूह में परीक्षा केंद्र में बैठकर परीक्षा देंगे, जो कि कोरोना संक्रमण महामारी के वर्तमान दौर में आत्मघाती कदम साबित हो सकता है। फेडरेशन ने विद्यार्थियों, शिक्षकों सहित जनसाधरण के जान की सुरक्षा को सर्वप्रथम प्राथमिकता देने का आग्रह सरकार से किया था। फेडरेशन ने मत व्यक्त किया था कि  विद्यार्थियों का भविष्य नि:संदेह महत्वपूर्ण है, लेकिन वो उनके जीवन से बढक़र नहीं है क्योंकि जान है तो जहान है। सरकार ने भी इस तथ्य को स्वीकारते जनसुरक्षा की भावना को प्रमुखता देकर जनकल्याणकारी निर्णय लिया है।

शिक्षक फेडरेशन के दोनों पदाधिकारियों ने बताया कि उत्तर पुस्तिकाओं का वितरण तो शिक्षा मंडल ने शिक्षकों के जमावड़े के बीच जल्दबाजी में कर दिया है, जो कि सावधानी के दृष्टिगत नहीं किया जाना चाहिए था। कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है और अधिकांश शिक्षक अथवा उनके परिवार के सदस्य कोरोना ग्रसित हो गए हैं। ऐसे स्थिति में प्रश्नपत्रों के वितरण करने की हड़बड़ी में दोबारा उसी गलती की पुनरावृत्ति नहीं करना ही उचित होगा।

शिक्षकों के जान की सुरक्षा को ध्यान में रखते फेडरेशन ने सुझाव दिया है कि प्रश्न पत्रों को जिला के समन्वय केंद्र में स्ट्रांग रूम स्थापित कर 1.4 के पुलिस सुरक्षा में फिलहाल सुरक्षित रखा जाना चाहिए। वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत 10वीं बोर्ड परीक्षा स्थगित किए जाने के इस निर्णय पर हर्ष व्यक्त करते छग प्रदेश शिक्षक फेडरेशन राजनांदगांव के जिला अध्यक्ष मुकुल साव, जिला महामंत्री पीआर झाड़े,  सदस्यगण बृजभान सिन्हा, एफआर वर्मा, वायडी साहू,  जनक तिवारी, संजीव मिश्रा, भूषण लाल साव, संगीता ब्यौहरे, नीलू झाड़े, सीमा तरार, अभिशिक्ता फंदियाल, मालती टंडन,  ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया है।
 


10-Apr-2021 4:44 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अंबागढ़ चौकी, 10 अप्रैल।
ब्लॉक मुख्यालय में पिछले शनिवार से संचालित कोविड केयर सेंटर सप्ताहभर में फुल होने की स्थिति में है। वर्तमान में यहां ब्लॉक के 67 कोरोना पॉजिटिव को रखा गया है। वहीं मोहला विखं के 26 संक्रमितों को भी चौकी के कोविड सेंटर में रखा गया है। जानकारी के अनुसार अंबागढ़ चौकी में संचालित कोविड केयर सेंटर की क्षमता 100 सीट है। 

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की स्थिति में कोविड केयर सेंटर में कुल 70 मरीज भर्ती थे। जिनमें से एक मरीज की मौत एवं दो मरीजों को जिला अस्पताल रिफर किया गया है। वहीं चौकी के अलावा यहां मोहला ब्लॉक के 26 संक्रमितों को रखा गया है। 
 बीएमओ डॉ. आरआर ध्रुर्वे ने बताया कि 100 सीट वाला कोविड केयर सेंटर भरने की स्थिति में है। उन्होंने बताया कि संक्रमण के पहले दौर में भी यहां मोहला ब्लॉक के मरीजों को रखा गया था, लेकिन इस बार जितनी तेजी से संक्रमण फैल रहा है उससे मरीजों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि यदि मोहला ब्लॉक में अलग से कोविड सेंटर बनाया जाता तो चौकी ब्लॉक के संक्रमितों को अधिक सुविधाएं मिल सकती है। 

बांधाबाजार में कोरोना विस्फोट
ग्राम बांधाबाजार की हालत दिनों-दिनों गंभीर होती जा रही है। यहां सप्ताहभर में तीन दर्जन से अधिक कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। हर दिन यहां संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 8 अप्रैल की स्थिति में यहां 35 पॉजिटिव मरीज सामने आ चुका है। बताया गया है कि यहां के अधिकांश संक्रमित मरीजों को होम आईसोलेशन में रखा गया है। बांधाबाजार के अलावा ब्लॉक के ग्राम धानापायली व थुहाडबरी में भी हर दिन संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है।

4 स्वास्थ्यकर्मी भी संक्रमित
अंबागढ़ चौकी ब्लॉक के 4 स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। इससे स्वास्थ्य कर्मचारियों में भी हडक़ंप का माहौल है। बताया जाता है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अंबागढ़ चौकी में पदस्थ 2 स्टाफ नर्स एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चिल्हाटी के एक स्टाप नर्स व सहायक ग्रेड तीन भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। हास्पिटल कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद वे होम आइसोलेट हो गए और उनका परिवार क्वारंटाइन हो गया, लेकिन इन कर्मियों के संपर्क में आए इनके सहयोगियो में हडकंप मचा हुआ है।
 


10-Apr-2021 3:12 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 10 अप्रैल।
बोर्ड परीक्षा की गोपनीय सामग्रियों का वितरण शनिवार को बसंतपुर स्कूल में किया गया। जिलेभर के परीक्षा केंद्रों के प्रभारियों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर गोपनीय सामग्रियां प्राप्त की। बताया गया कि अगले आदेश तक गोपनीय सामग्रियां संबंधित केंद्रों के थानों में सुरक्षित रखा जाएगा।

ज्ञात हो कि वैश्विक महामारी कोरोना की बढ़ती रफ्तार के चलते राज्य सरकार ने 10वीं बोर्ड की परीक्षा को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है। 
बताया जा रहा है कि 15 अप्रैल से 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शुरू होने वाली थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर आगामी आदेश तक 10वीं बोर्ड की परीक्षा को स्थगित कर दिया है। राजनांदगांव जिले में कुल 30 हजार 655 विद्यार्थी 10वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने की तैयारी कर रहे थे। हालांकि परीक्षा की तिथि रद्द होने के बावजूद आज बोर्ड परीक्षा की गोपनीय सामग्रियों वितरण किया गया।


10-Apr-2021 3:12 PM 28

8 दिन तक बंद रहेंगे कारोबार, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 10 अप्रैल।
वैश्विक महामारी कोरोना से बेकाबू होते हालात पर काबू पाने के लिए शनिवार दोपहर से राजनांदगांव शहर समेत समूचे जिले को प्रशासन ने लॉक कर दिया है। लॉकडाउन के दौरान किसी भी तरह की ढील देने की संभावना नजर नहीं आ रही है। अप्रैल के पहले और दूसरे सप्ताह में कोरोना के बढ़ते रफ्तार से दहशत का माहौल है। प्रशासन ने संक्रमण चेन को तोडऩे के लिए शहर समेत पूरे जिले में लॉकडाउन लागू कर दिया है। लॉकडाउन के दौरान धारा 144 भी रहेगी। यानी सामुहिक रूप से होने वाले किसी भी आयोजन और कार्यक्रम पर भी प्रशासन ने रोक लगा दी है। शादी, बर्थडे जैसे दूसरे सार्वजनिक और पारिवारिक आयोजन नहीं होंगे। इधर शनिवार दोपहर 12 बजते ही लोगों ने कारोबार समेट लिया। पिछले दो दिनों से लॉकडाउन के ऐलान से बाजार खचाखच भरा हुआ था। लोगों ने जरूरत के सामानों की खरीददारी के लिए बाजार का रूख किया। बाजार में लोगों की भीड़ देखकर कोरोना की वीभत्स का आंकलन लगाया जा सकता है।

इस बीच कलेक्टर टीके वर्मा, एसपी डी. श्रवण, सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी समेत पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने शहर में मार्चपास्ट कर लोगों से लॉकडाउन में सहयोग करने की अपील की। वहीं कोविड-19 की शर्तों का पालन नहीं करने पर प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी। वहीं दोपहर बाद सडक़ों में सन्नाटा भी पसर गया। इधर लॉकडाउन के चलते दोपहर बाद लोग घरों में रूख करने लगे। जिससे सडक़ें सूनी नजर आई।
 


10-Apr-2021 1:23 PM 25

चरणदास चोर नाटक से मिली थी सुर्खियां
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 10 अप्रैल।
छत्तीसगढ़ के मशहूर लोक कलाकार और रंगकर्मी दीपक विराट का शुक्रवार देर शाम को निधन हो गया। लोक कला नाचा के मंझे हुए कलाकार विराट ने थियेटर के जरिये अपनी विशिष्ट  कला से 80-90 के दशक में काफी सुर्खियां बंटोरी।  

थियेटर के चर्चित शख्सियत हबीब तनवीर के निर्देशन में चरणदास चोर में स्व. दीपक विराट ने चोर की भूमिका अदा की। इस भूमिका को लोगों से काफी वाहवाही मिली। इसके बाद उन्होंने सफलता के नए आयाम तय किए। बिलासपुर में पैदा हुए स्व. दीपक विराट ने राजनांदगांव को कर्मक्षेत्र बनाया और यहीं से उन्होंने थियेटर में नियमित तौर पर काम करना जारी रखा। 

स्थानीय ममता नगर में रहते हुए स्व. विराट लकवाग्रस्त हो गए थे। वह करीब 10 सालों से बिस्तर में थे। हाल ही के महीनों में उनके सुपुत्र सूरज विराट की असामायिक मृत्यु हो गई। बेटे के गुजर जाने से वह काफी टूट गए थे। साल 2019 में कला के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए भारत सरकार ने संगीत नाटक अकादमी अवार्ड से उन्हें सम्मानित किया। मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें सम्मानित किया। स्व. विराट ने चरणदास चोर के अलावा लाला शोहरत राय, लौहार नहीं देखा, आगरा बाजार और हिरमा की अमर कहानी जैसे नाटक में सशक्त भूमिका अदा की।


10-Apr-2021 1:22 PM 29

मौत के बढ़ते आंकड़े से दहशत में लोग
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 10 अप्रैल।
राजनांदगांव कोरोना मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार को दो अलग-अलग क्षेत्र के चर्चित हस्तियों की कोरोना से जान चली गई। शुक्रवार को एकमुश्त आधा दर्जन मौते हुई। इस कोरोना मौत में डोंगरगढ़ ब्लॉक के मुसरा में पदस्थ सहायक चिकित्सा अधिकारी एकता उपाध्याय  की भी जान चली गई। वहीं दूसरे चर्चित चेहरे में घुमका क्षेत्र के भाजपा नेता रेशमलाल गायकवाड़ भी कोरोना से जंग नहीं लड़ पाए और उसकी भी मौत हो गई।
 
महिला चिकित्सक डॉ. एकता उपाध्याय राजनांदगांव शहर के लेबर कालोनी की रहने वाली है। उनका करीब दो साल पहले विवाह हुआ था। मुसरा में कार्यरत डॉ. एकता उपाध्याय कोरोना वारियर्स के रूप में लगातार लोगों का उपचार कर रही थी। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले उनकी सेहत में गिरावट आने लगी। गंभीर हालत में उन्हें शहर के जीवनरेखा अस्पताल में उपचारार्थ भर्ती किया गया। लगातार आक्सीजन लेबल के गिरने से उनकी स्थिति सुधर नहीं पाई। शुक्रवार देर शाम को उनका निधन हो गया। 

इधर घुमका क्षेत्र के रेशमलाल गायकवाड़ भी कोरोना से लड़ते हुए हार गए। उनका भी शुक्रवार शाम को निधन हो गया। गायकवाड़ भाजपा के सक्रिय और चर्चित चेहरे रहे हैं। वह जिला पंचायत के सदस्य भी रहे। साथ ही घुमका मंडल के अध्यक्ष भी रहे हैं। इन दोनों के निधन से दहशत की स्थिति बन गई है।  

इधर अप्रैल के दूसरे सप्ताह में लगातार तीसरे दिन एक हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि समूचे जिले में हालात बद से बदतर होनी लगी है। कोविड-19 अस्पतालों में मरीजों के लिए बिस्तर का संकट खड़ा हो गया है। वहीं आक्सीजन सिलेंडर की भी किल्लत ने मरीजों पर आफत टूट पड़ा है।

मिली जानकारी के मुताबिक अप्रैल माह में अब तक 6 हजार 654 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें शहर से 2334 और ग्रामीण क्षेत्र से 4320 लोग संक्रमित हुए हैं। वहीं कोरोना संक्रमण की चपेट में आने से बीते 9 दिनों में लगभग तीन दर्जन लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।


09-Apr-2021 7:56 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अंबागढ़ चौकी, 9 अप्रैल।
बीजापुर में नक्सली हमले में शहीद जवानों को ब्लॉक युवक कांग्रेस ने श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर वीर शहीदों को नमन करते कहा गया कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा। देश की खातिर अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को देशवासी कभी भूल नहीं पाएंगे। हर व्यक्ति को देश की एकता, अखंडता व सुरक्षा के लिए अपने प्राणों के बलिदान के लिए तैयार रहना चाहिए।

ब्लॉक युवक कांग्रेस कमेटी द्वारा मंगलवार शाम नगर के भारत माता चौक में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल मानिकपुरी ने कहा कि वीर जवानों ने नक्सलियों की मांद में घुसकर उन्हें युद्ध के लिए ललकारा है। युद्ध में जरूर हमारे वीर जवानों की शहादत हुई है, लेकिन उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे वीर जवान एवं हमारी सरकार नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देगी। श्रद्धाजंलि सभा में वीर जवानों की शहादत को नमन करते उन्हें दीप जलाकर व श्रद्धासुमन अर्पित किया गया।

इस दौरान ब्लॉक युकांध्यक्ष पार्षद मनीष बंसोड, पार्षद मुकेश सिन्हा, पार्षद अविनाश कोमरे, पार्षद शंकर निषाद, एल्डरमेन प्रमोद ठलाल, लोकदीप बोरकर, विनोद डेहरिया, संदीप दुबे, सतीश शर्मा, वैभव रंगारे, आकाश कसार, ओमेश दुबे, सौरभ मिलींद के अलावा युकां के कार्यकर्ता उपस्थित थे।


09-Apr-2021 7:55 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 9 अप्रैल।
छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, शिक्षामंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम एवं प्रमुख सचिव शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला को ईमेल भेजकर 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा को स्थगित करने का सुझाव कोरोना महामारी के भयावह स्थिति के दृष्टिगत दिया है।

फेडरेशन के प्रांतीय महामंत्री सतीश ब्यौहरे ने बताया कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में संक्रमितों के साथ मृत्यु का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना संक्रमण अब महामारी के रूप में तीव्रता के साथ पिछले बार की तुलना में और ज्यादा गति से फैल रहा है। कोरोना महामारी की चेन को तोडऩे के लिए, व्यक्तियों का समूह में एकत्रित नहीं होना ही प्रारंभिक उपाय है। फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष ने लिखा है कि कोरोना महामारी के हालात में 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा आयोजित करना आत्मघाती होगा। वर्तमान में परीक्षा की तैयारी की प्रारंभिक प्रक्रिया को स्थगित रखा जाना उचित होगा, ताकि कम्युनिटी संक्रमण की संभावना उत्पन्न न हो।

उन्होंने बताया कि कार्यालयों एवं विद्यालयों में स्टाफ  कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। अनेक लोगों की मौत भी हुई है। ऐसे परिस्थितियों में परीक्षा के आयोजन का निर्णय भविष्य में समय काल परिस्थिति के आधार पर लिया जाना उचित होगा। फिलहाल संपूर्ण लॉकडाउन की स्थिति है, जो कि वर्तमान परिस्थिति में आवश्यक है। फेडरेशन का कहना है कि जान है तो जहान है, व्यक्ति है तो परिवार है। उन्होंने बताया कि विगत 26 मार्च को माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव प्रोफेसर व्हीके गोयल को इन तथ्यों से अवगत कराया गया था,  लेकिन उन्होंने फेडरेशन के सुझाव को आंशिक मानते 6 अप्रैल को जारी अपने आदेश में कोरोना पीडि़त छात्र को किसी भी परिस्थिति में परीक्षा में नहीं बैठने देने का उल्लेख किया है।

फेडरेशन का कहना है कि परीक्षा केंद्र में यदि कोई संक्रमित विद्यार्थी बैठ जाता है, तो क्या सभी विद्यार्थियों एवं उनके परिवार तक कोरोना संक्रमण नहीं पहुंचेगा? क्या गली-मोहल्ले तक संक्रमण नहीं फैलेगा ? फेडरेशन का कहना है कि विगत वर्ष कोरोना संक्रमण की संभावना से बोर्ड परीक्षा स्थगित कर दी गई थी, लेकिन आज जब कोरोना संक्रमण महामारी अपने भयानक रूप में फैल रहा है, तो माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड परीक्षा लेने की तैयारी कर रहा है। फेडरेशन ने बोर्ड परीक्षा को स्थगित करने की मांग करते जनप्रतिनिधियों से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है।
 


09-Apr-2021 7:46 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 9 अप्रैल।
कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए नगर निगम की टीम द्वारा लापरवाही पर कार्रवाई जारी रखी जा रही है। वहीं प्रतिदिन शहर में सेनिटाइजेशन और मास्क नहीं लगाने, कंटेनमेंट जोन में दुकानें खोलने व रात्रिकालीन कफ्र्यू के उल्लंघन पर अर्थदंड की कार्रवाई कर रही है। 

मिली जानकारी के अनुसार नगर निगम आयुक्त डॉ. आशुतोष चतुर्वेदी द्वारा गठित टीम द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। प्रतिदिन शहर में सेनिटाईजेशन, मास्क नहीं लगाने पर अर्थदंड, कंटेनमेंट जोन में दुकानें खुली पाए जाने तथा रात्रिकालीन कफ्र्यू के दौरान घूमने व प्रतिष्ठानें चालू रखने पर अर्थदंड के अलावा दुकानें सील करने की कार्रवाई की जा रही है। 

आयुक्त चतुर्वेदी ने बताया कि टीम द्वारा प्रतिदिन मास्क नहीं लगाने पर शहर के अलग-अलग क्षेत्रों जैसे चिखली, मोहारा, फरहद चौक, नया बस स्टैंड, लखोली, मानव मंदिर चौक, जयस्तंभ चौक, गोल बाजार सहित शहर में बिना मास्क घूमते पाए जाने व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में बिना मास्क पाए जाने पर प्रति व्यक्ति 500 रुपए वसूलने की कार्रवाई की जा रही है। साथ ही कंटेनमेंट जोन जैसे गुड़ाखू लाइन, ममता नगर, तुलसीपुर आदि क्षेत्र में दुकानें खुली पाए जाने, कोविड नियमों का पालन नहीं करने पर 2000 व 5000 रुपए वसूलने तथा दुकानें सील करने की कार्रवाई की जा रही है। वहीं रात्रिकालीन कफ्र्यू का उल्लंघन रात्रि 9 बजे के पश्चात घूमने पर एवं प्रतिष्ठानें खुल रखने पर 5000 रुपए अर्थदंड वसूलने की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि 10 अपै्रल से लागू होने वाले लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर भी संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
 


09-Apr-2021 7:42 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अंबागढ़ चौकी, 9 अप्रैल।
बुधवार की रात कोविड केयर सेंटर में इलाज के अभाव में खोर्राटोला निवासी एक 60 वर्षीय बुजुर्ग की मौत का आरोप परिजनों ने लगाया है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि अंबागढ़ चौकी के कोविड केयर सेंटर में बीमार लोगों का उपचार नहीं किया जा रहा है, बल्कि गरीब वर्ग के असहाय मरीजों को जान से मारा जा रहा है। 

इलाज के नाम पर यहां केवल भर्ती किए जाने के बाद दवाई दे दी जाती है, उसके बाद यहां मरीज की पूछपरख तो दूर उसे जरूरत की दवाईयां एवं चिकित्सकीय सुविधाएं नहीं दी जाती है। जिससे मरीज इलाज के अभाव में दम तोड़ देता है। परिजनों ने बुजुर्ग की मौत के लिए बीएमओ व बीपीएम को जिम्मेदार ठहराते इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

मृतक के पुत्रों ने बताया कि बुधवार दोपहर को पिता को पीठ, सीने एवं रीढ़ की हड्डी में दर्द की शिकायत हुई तो 108 को काल कर उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। यहां उनके पिता की एंटीजन टेस्ट किया गया और उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। तत्पश्चात ड्यूटी में मौजूद चिकित्सा स्टॉफ व बीएमओ डॉ. आरआर ध्रुर्वे ने बताया कि बुजुर्ग को श्वांस लेने में तकलीफ आ रही है। इसके बाद उनको जिला अस्पताल भेज दिया गया, लेकिन मरीज को डोंगरगांव पहुुंचने से पहले ही बीच रास्ते में वापस चौकी के वार्ड 1 मेरेगांव स्थित कोविड केयर सेंटर में डाल दिया गया। 

मृतक के पुत्रों ने आरोप लगाया कि उसके पिता की स्थिति गंभीर थी, इसलिए उसे राजनांदगांव रिफर किया गया, लेकिन उन्हें बीच रास्ते से वापस क्यों लौटाया गया और अंबागढ़ चौकी के कोविड केयर सेंटर में जहां किसी तरह की कोई आक्सीजन बेड या अन्य चिकित्सकीय सुविधा नहीं है, वहां भर्ती कर दिया गया, जहां इलाज के अभाव में उसके पिता की मौत हो गई। मृतक के पुत्र व भाई  तथा अन्य परिजनों का आरोप है कि बुजुर्ग की मौत कोरोना से नहीं हुई, उसे बीएमओ व बीपीएम की लापरवाही तथा स्वास्थ्य विभाग की बीमार व्यवस्था ने मार डाला। परिजनों ने बीएमओ व बीपीएम के खिलाफ  कड़ी कार्रवाई की मांग की है, ताकि अन्य मरीजों के साथ फिर इस तरह की कोई घटना की पुनरावृत्ति हो।

शनिवार से पुन: शुरू हुए कोविड केयर सेंटर को लेकर गंभीर शिकायतें हैं। मरीजों ने बताया कि उनकी शिकायत खाने व नाश्ते से कहीं अधिक इस बात को लेकर है कि यहां पर भर्ती किए गए मरीजों के हालचाल लेने डॉक्टर तो दूर स्वास्थ्य विभाग का कोई कर्मचारी भी नहीं आता। पिछले 96 घंटे से कोई डॉक्टर यहां पहुंचा नहीं है। 

तहसीलदार एचएन खुंटे ने बताया कि खोर्राटोला निवासी बुजुर्ग की मौत पर मृतक के परिजनों ने घटना के तुरंत बाद तहसीलदार व विधायक को मामले की शिकायत कर बीएमओ व बीपीएम पर कार्रवाई की मांग की। तहसीदार एचएन खुंटे ने परिजनों को ढांढस बंधाया कि मामले की जांच कराई जाएगी। दोषियों पर कार्रवाई होगी। 

इधर बीएमओ डॉ. आरआर धुर्वे ने कहा कि जिला अस्पताल में बेड नहीं होने के कारण मरीज को रास्ते से ही लौटाकर चौकी लाया गया था और कोविड केयर सेंटर में रखा गया था, जहां उसकी अचानक तबियत बिगड़ी और मृत्यु हो गई।
 


09-Apr-2021 3:14 PM 32

पेपर बंडल वितरण कल से, थानों में होगा जमा
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 9 अप्रैल।
कोरोना के बढ़ते रफ्तार से हलाकान राज्य सरकार ने आखिरकार 10वीं बोर्ड की परीक्षा को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है। शिक्षक फेडरेशन की ओर से 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं को स्थगित किए जाने के लिए दबाव भी बनाया जा रहा था। बताया जा रहा है कि 15 अप्रैल से 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में शुरू होने वाली थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हालात के मद्देनजर फिलहाल आगामी आदेश तक 10वीं बोर्ड की परीक्षा को स्थगित कर दिया है। 

राजनांदगांव जिले में कुल 30 हजार 655 विद्यार्थी 10वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने की तैयारी कर रहे थे। जिसमें स्वाध्याय छात्र भी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि पूर्व तिथि के अनुसार परीक्षा  के लिए केंद्रों में तैयारी चल रही थी। शनिवार से बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्रों के बंडल का वितरण भी प्रस्तावित था। हालांकि परीक्षा की तिथि रद्द होने के बावजूद प्रश्न पत्र बंडल का वितरण पूर्व तिथि के अनुसार होगा। 

जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि परीक्षा रद्द होने के उपरांत भी प्रश्नपत्र बंडल केंद्राध्यक्षों को वितरित किया जाएगा। अगले आदेश तक बंडल संबंधित केंद्रों के थानों में सुरक्षित रहेंगे। बताया जा रहा है कि 12वीं बोर्ड की परीक्षा भी रद्द होने के आसार हैं। फिलहाल राज्य शिक्षा बोर्ड द्वारा 10वीं बोर्ड की परीक्षा को ही अनिश्चितकाल के लिए रद्द किए जाने का आदेश जारी किया गया है। 


09-Apr-2021 3:12 PM 31

अस्पताल में तोडफ़ोड़ में प्रदेश मीडिया चेयरमेन निखिल समेत कांग्रेसी विवादों में

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 9 अप्रैल।
राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज सह जिला अस्पताल में बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात को प्रदेश कांग्रेस के मीडिया चेयरमेन निखिल द्विवेदी और आधा दर्जन कांग्रेसी पार्षदों द्वारा तोडफ़ोड किए जाने का मामला तूल पकड़ रहा है। एक प्रसव पीडि़त महिला को तय समय पर चिकित्सा  मुहैया नहीं कराए जाने से नाराज होकर द्विवेदी और कांग्रेस पार्षद ऋषि शास्त्री व शरद पटेल समेत अन्य कांग्रेसी नेताओं ने अस्पताल अधीक्षक डॉ. प्रदीप बेक के कक्ष दरवाजे को उखाड़ दिया। वहीं हंगामा करते हुए चिकित्सकों के रवैये को लेकर शोरगुल किया। बताया जा रहा है कि तोडफ़ोड करते हुए द्विवेदी समेत कांग्रेसी पार्षदों का वीडियो वायरल हुआ है। बताया जा रहा है कि हंगामा की खबर के बाद बसंतपुर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन तोडफ़ोड़ करने वालों पर कार्रवाई करने के बजाय समझाईश देकर वापस लौट गई। अधीक्षक कक्ष में तोडफ़ोड़ मामले को लेकर अब अस्पताल में पदस्थ चिकित्सकों के संघ ने कलेक्टर से मुलाकात कर दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

संघ के सचिव डॉ. पवन जेठानी ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि कलेक्टर से एफआईआर दर्ज कराने की संघ ने मांग की है। एसोसिएशन का आरोप है कि लगातार चिकित्सकों के साथ आए दिन ड्यूटी के दौरान मारपीट की घटनाएं हो रही है। करीब एक माह पहले एक चिकित्सक के साथ हाथापाई हुई थी। उस मामले में पुलिस भी पुलिस से शिकायत की गई है। उक्त मामले में कार्रवाई के संबंध में कोई जानकारी संघ को नहीं दी गई है। 

बताया जा रहा है कि संघ ने इस बात पर भी आपत्ति दर्ज की है कि कोरोनाकाल में धारा 144 लागू होने के बावजूद सार्वजनिक रूप से भीड़ में कांग्रेसी पहुंचे। स्वमेव इस मामले में अपराध दर्ज किया जाने का प्रावधान है। बताया जा रहा है कि बसंतपुर पुलिस के रूख को लेकर भी चिकित्सकों में कड़ी नाराजगी है। संघ के अध्यक्ष डॉ. राजेश डुलानी की अगुवाई में चिकित्सकों ने कलेक्टर से सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। बताया जा रहा है कि उपद्रव के दौरान निखिल द्विवेदी, पार्षद ऋषि शास्त्री और दूसरे कार्यकर्ता काफी हंगामा कर रहे थे। अस्पताल प्रबंधन  के खिलाफ एक तरह से जनमानस को भडक़ाने का भी प्रयास किया गया है, ऐसा चिकित्सकों ने कलेक्टर से शिकायत की है। बहरहाल इस मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। ऐसे में अस्पताल की अंदरूनी सुरक्षा की धज्जियां उडऩा तय है। 

एसोसिएशन पहुंचा बसंतपुर थाना
एसोसिएशन ने शुक्रवार को इस मामले में कार्रवाई की मांग करते बसंतपुर थाना पहुंचकर लिखित में शिकायत की है। हालांकि बसंतपुर पुलिस का दावा है कि चिकित्सकों की ओर से कोई शिकायत नहीं हुई है। पुलिस शिकायत आने के बाद कार्रवाई करेगी। जबकि संघ के सचिव डॉ. जेठानी ने एसोसिएशन द्वारा थाना में पहुंचकर शिकायत किए जाने की बात कही है। वहीं विभागीय स्तर पर अस्पताल अधीक्षक डॉ. बेक द्वारा भी कार्रवाई के लिए पुलिस को पत्र लिखा गया है। बताया जा रहा है कि इस पूरे मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर चिकित्सक नाराज हैं। यही कारण है कि एसोएिशन से सीधे थाना प्रभारी लोमेश सोनवानी से मिलकर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। 

निखिल भी पहुंचे थाना
जिला अस्पताल में तोडफ़ोड करने के आरोप में घिरे निखिल द्विवेदी ने भी बसंतपुर पुलिस के समक्ष अपना पक्ष रखा। उनके साथ हंगामा खड़ा करने वाले पार्षद ऋषि शास्त्री भी मौजूद थे। बताया जा रहा है कि  चिकित्सक संघ के कड़े रूख को देखते हुए द्विवेदी भी अपनी स्थिति को साफ करने के लिए सामने आए। हालांकि चर्चा है कि इस मामले में दोनों पक्ष के बीच सुलह भी होने के आसार हैं। बहरहाल यह मामला विवाद का रूप ले चुका है।


09-Apr-2021 12:51 PM 38

  खैरागढ़ में कई वार्ड कंटेनमेंट जोन घोषित  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 9 अप्रैल।
जिले के खैरागढ़ नगर पालिका चुनाव पर कोरोना का ग्रहण लग गया है। कोरोना महामारी के चलते मई के पहले सप्ताह में प्रस्तावित नगर पालिका चुनाव का टलना लगभग तय है। 

बताया जा रहा है कि जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर टीके वर्मा ने कोरोनाकाल में निकाय चुनाव कराने को लेकर चुनाव आयोग को कई व्यवहारिक दिक्कतों से अवगत कराया है। मौजूदा दौर में कोरोना से खैरागढ़ नगर पालिका के कई वार्ड प्रभावित हैं, जिसमें कुछ वार्ड कंटेनमेंट जोन में तब्दील हो गया है। 
खैरागढ़ नगर पालिका राजनांदगांव जिले का दूसरा बड़ा निकाय है। करीब 6 माह से निकाय में नए जनप्रतिनिधियों को लेकर चुनाव नहीं हुआ है। फिलहाल निकाय को प्रशासनिक अधिकारी ही सम्हाल रहे हैं। बताया जा रहा है कि राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से प्रदेश के आधा दर्जन नगर निगम और निकायों में चुनाव कराने को लेकर संबंधित जिलों के कलेक्टरों से सुझाव मांगे गए। 

बताया जा रहा है कि राजनांदगांव कलेक्टर ने स्पष्ट तौर पर कोरोना को एक प्रमुख वजह बताते हुए चुनाव को टालने का सुझाव दिया है। खैरागढ़ में करीब 18 से 19 हजार मतदाता हैं। वहीं निकाय में  20 वार्ड हैं। बताया जा रहा है कि मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन भी हो गया है। ऐसे में मई के पहले सप्ताह में चुनाव होने के संकेत मिल रहे थे। अब कोरोना के वीभत्स रूप में आने के बाद चुनाव कराना प्रशासन के लिए कठिन हो गया है। इस बीच चुनाव टलने की सुगबुगाहट से राजनीतिक दलों की तैयारी को जोरदार झटका लगा है। कांग्रेस और भाजपा निकाय में सत्तासीन होने के लिए वार्डों में कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें कर रही थी। 

बताया जा रहा है कि जिस तरह से खैरागढ़ ब्लॉक में भी कोरोना ने पैर पसारे हैं, उस हालात में प्रशासन चुनाव कराने की जहमत उठाने कतई तैयार नहीं है। 

0 नांदगांव के तुलसीपुर वार्ड का उपचुनाव तारीख बढ़ेगा आगे
राजनंादगांव नगर निगम के वार्ड नं. 17 में उपचुनाव होना भी कोरोना के विपरीत माहौल में संभव नहीं दिख रहा है। बताया जा रहा है कि खैरागढ़ निकाय के साथ नांदगांव के तुलसीपुर वार्ड के उपचुनाव को भी लेकर प्रशासन ने हाथ खड़े कर दिए हैं। पूर्व महापौर शोभा सोनी के असामायिक निधन के चलते यह वार्ड खाली हो गया है। यह वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस की महिला नेत्रियों में चुनाव लडऩे की ख्वाहिश भी बढ़ी है। खासतौर पर कांग्रेस के नगर निगम में सत्तारूढ़ होने के कारण पार्टी में महिलाओं की टिकट को लेकर दावेदारी सामने आने लगी थी। फिलहाल कोरोना के प्रतिकूल असर से इस वार्ड में उपचुनाव होने के आसार नहीं है। 


08-Apr-2021 10:28 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 8 अप्रैल।
कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण बुधवार को सिंधी समाज की एक बैठक सिंधु भवन में आयोजित की गई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि झूलेलाल जयंती आगामी 13 अप्रैल को धूमधाम से मनाई जानी थी, अब सादगीपूर्वक मनाई जाएगी। पूर्व में निकलने वाली मोटर साइकिल रैली एवं भव्य शोभयात्रा को स्थगित किया गया है।

समाज के वरिष्ठ सलाहकार आवतराम तेजवानी, अर्जुनदास पंजवानी, ब्रहानंद बजाज, लोकचंद लहरवानी, भीमन धनवानी ने बताया कि जयंती में समाज के सभी प्रतिष्ठान, उद्योग आदि सभी व्यवसाय इस दिन बंद रखे जाएंगे। 

बैठक में सिंधी समाज ने निर्णय लिया कि अपने -अपने आराध्य देव झूलेलाल से करोना महामारी से मानवता की रक्षा हेतु प्रार्थना की जाएगी। पूरा समाज अपने घर पर ही झूलेलाल की आरती करेगा और शाम 7 बजे अपने घरों को रोशन करते पांच दीप जलाने का निर्णय घर-घर में किया गया है।

उन्होंने बताया कि झूलेलाल जयंती के दिन सुबह 11 बजे दोनों कॉलोनी के मंदिरों में झूलेलाल की आरती होगी एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते प्रसाद वितरण किया जाएगा एवं शाम को अखंड ज्योत का विसर्जन सादगीपूर्वक झूलेलाल घाट पर किया जाएगा। इस तरह से करोना संक्रमण काल के कारण झूलेलाल जयंती को सादगी से मनाने का निर्णय सर्वसम्मति से बैठक में लिया गया। बैठक में इंदरलाल आहूजा, अर्जुन गंगवानी, राजा माखीजा, हरीश मोटलानी, अमर ललवानी सहित सभी सदस्य उपस्थित थे।


08-Apr-2021 10:25 PM 20

राजनांदगांव, 8 अप्रैल। नगर निगम द्वारा वित्तीय वर्ष की समाप्ति अर्थात 31 मार्च तक करो का भुगतान करने पर किसी प्रकार का अधिभार नहीं लिया जाता है। चूंकि कोरोना वायरस संक्रमण पुन: बढ़ रहा है, जिसे ध्यान में रखते नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा 6 अपै्रल को आदेश जारी कर इस माह की विशेष छूट के तहत 30 अपै्रल तक संपत्तिकर का भुगतान करने पर अधिभार नहीं लगने छूट प्रदान की गई है।

नगर निगम आयुक्त डॉ. आशुतोष चतुर्वेदी ने बताया कि पुन: कोरोना वायरस संक्रमण बढ़ रहा है, जिसे ध्यान में रखते इस विषम परिस्थति में नागरिकों को रियायत देने नगरीय प्रशासन विकास विभाग द्वारा 30 अपै्रल तक संपत्तिकर का भुगतान करने पर किसी प्रकार का अधिभार नहीं लेने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। निर्देश के अनुक्रम में नगर निगम राजस्व कार्यालय में फिजिकल डिस्टेंिसंग का पालन करते करों का भुगतान कराया जा रहा है। इसके अलावा राजस्व अमला द्वारा घर-घर जाकर भी संपत्तिकर की वसूली की जाएगी।
आयुक्त डॉ. चतुर्वेदी ने सभी करदाताओं से अपने संपत्तिकर का भुगतान कर छूट का लाभ लेते नगर विकास में सहयोग करने की अपील की है।
 


08-Apr-2021 10:24 PM 26

राजनांदगांव, 8 अप्रैल। कलेक्टर टीके वर्मा के मार्गदर्शन में कोरोना से सुरक्षा के लिए कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य प्रगति पर है। जिले में 6 अप्रैल की स्थिति में शाम तक नागरिकों को एक लाख 52 हजार 676 टीके लगाए जा चुके हैं। अंबागढ़ चौकी में 13 हजार 844, छुईखदान 17 हजार 109, छुरिया 18 हजार 472, डोंगरगांव 16 हजार 350, डोंगरगढ़ 17 हजार 80, खैरागढ़ 16 हजार 157, मानपुर में 9 हजार 403, मोहला में 11 हजार 446, घुमका में 16 हजार 94 एवं राजनांदगांव  (शहरी) 16 हजार 721 वैक्सीन लगाए गए हंै। 45 वर्ष से अधिक आयु के 18 हजार 108 नागरिकों को पहला डोज तथा 43 नागरिकों को दूसरा डोज लगाया जा चुका है।
 


08-Apr-2021 10:19 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 8 अप्रैल।
कोरोना संक्रमण के कारण मरीजों की संख्या में लगातार हो रही वृद्धि को ध्यान में रखते राजनांदगांव प्रेस क्लब द्वारा कोविड केयर सेंटर प्रारंभ करने का निर्णय लिया। प्रेस क्लब द्वारा प्रारंभ किए जा रहे कोविड केयर सेंटर का महापौर हेमा सुदेश देशमुख ने अवलोकन कर प्रसन्नता जाहिर कर कोविड सेंटर के संबंध में जानकारी ली। 

प्रेस क्लब के सदस्यों ने बताया कि 30 बिस्तर का कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किया जा रहा है। इस 30 बिस्तर वाले कोविड केयर सेंटर मेें सिम्प्टोमेटिक मरीजों को जिन्हें देखरेख की जरूरत होगी, उन्हें रखा जाएगा। क्लब की ओर से उन्हें सुबह चाय, नाश्ता दोपहर का भोजन शाम की चाय-बिस्किट व रात्रि का भोजन नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा भाप मशीन, ऑक्सी मीटर भी उपलब्ध रहेगा। 24 घंटे 2 नर्स व 1 डॉक्टर भी देखभाल के लिए उपलब्ध रहेंगे। 

अवलोकन के दौरान महापौर श्रीमती देशमुख ने कोविड सेंटर में प्रतिदिन साफ -सफाई, विद्युत व्यवस्था, सेनेटाईजेशन के अलावा अन्य आवश्यक व्यवस्था मुहैया कराने का आश्वासन दिया और प्रेस क्लब के हैंडपंप में तत्काल सबमर्सिबल पंप लगाने जल विभाग के प्रभारी अधिकारी को निर्देशित किया।

 उन्होंने इस विषम परिस्थिति में प्रेस क्लब द्वारा कोविड केयर सेंटर खोलकर सहयोग करने पर प्रेस क्लब को साधुवाद देते कहा कि यह एक अच्छी पहल है और पूरे छत्तीसगढ़ में प्रेस क्लब राजनांदगांव ने एक मिसाल कायम की है। 

इस दौरान नेता प्रतिपक्ष किशुन यदु, जल विभाग के प्रभारी सदस्य सतीश मसीह सहित प्रेस क्लब के उदय मिश्रा, बसंत शर्मा, अजय सोनी, विक्रम बाजपेयी सहित अन्य उपस्थित थे।
 


08-Apr-2021 10:18 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 8 अप्रैल।
वीरांगना अवंतीबाई शासकीय महाविद्यालय छुईखदान स्नातकोत्तर भूगोल विभाग के अकादमिक परिषद के तत्वावधान में डॉ. शकुंतला त्रिपाठी विभागाध्यक्ष एवं प्रभारी प्राचार्य के प्रमुख संयोजन में विषय विशेष अतिथि ऑनलाइन व्याख्यान माला आयोजित की गई।

इस कड़ी में विषय विशेषज्ञ प्रो. कृष्णकुमार द्विवेदी विभागाध्यक्ष भूगोल शा.कमलादेवी राठी महिला महाविद्यालय राजनांदगांव ने पाठ्यक्रमानुसार विषय जेट प्रवाह पर विषयक छात्राओं को बताया कि जेट प्रवाह उष्ण वायुमंडलीय प्रचंड गति वाला पवन प्रवाह है। वस्तुत: जेट धाराएं क्षोभ मंडल की उपरी परतों में पश्चिम से पूर्व की ओर दृत वेग से चलने वाली परिधु्रवीय विस्तृत चौड़ी पवन धारा है। जिसकी गति उपरी वायुमंडल में  10 से 480 किमी प्रति घंटे की होती है। 

प्राध्यापक द्विवेदी ने जेट धाराओं की मुख्य विशेषताएं प्रकृति, स्थिति, क्षेत्र, विस्तार, परिवर्तन आदि तथ्यों पर विस्तृत प्रकाश डालते विशेष रूप से बताया कि जेट धाराओं द्वारा ही मानसून प्रक्रिया भी प्रभावित होती है। वैज्ञानिक तथ्यों से प्रमाणित हुआ है कि जेट प्रवाह का अचानक परिवर्तन ही मानसून उत्पत्ति का कारण बनता है। 
भारतीय ग्रीष्मकालीन मानसून के अभ्युदय में जेट धारा की मुख्य भूमिका रहती है। 


08-Apr-2021 10:13 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 8 अप्रैल।
जय मां बम्लेश्वरी स्वसहायता समूह की अध्यक्ष पद्मश्री फूलबासन यादव ने सभी नागरिकों से कोरोना वैक्सीन लगवाने आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि गांव एवं शहर में कोरोना संक्रमण की बीमारी फैल रही है। जिससे बच्चे, बुजुर्ग एवं परिवार कोई भी सुरक्षित नहीं है।

 कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोरोना वैक्सीन लगवाना आवश्यक है। इसमें डरने की कोई बात नहीं है। कोविड वैक्सीन लगेगा तो हम सुरक्षित रहेंगे तथा परिवार, गांव, समाज एवं देश सुरक्षित रहेगा। कोरोना से बचाव के लिए दो गज की दूरी और मास्क लगाना जरूरी है। वैक्सीन लगाने के साथ ही मास्क जरूर लगाएं, तभी हम कोरोना से सुरक्षित रह सकते हैं।

97 वर्षीय बुजुर्ग ने लगवाया वैक्सीन
जिले के वैक्सीनेशन केन्द्र सुकुलदैहान में ग्राम लिटिया के 97 वर्षीय बुजुर्ग आत्माराम वर्मा ने कोरोना वैक्सीन लगवाया। कोरोना से बचाव के लिए बड़ी संख्या में ग्रामवासी कोरोना वैक्सीनेशन करवा रहे हैं। बुजुर्गों का आगे आकर वैक्सीन लगवाना उनकी जागरूकता का प्रमाण है। ग्रामीण क्षेत्रों मेंं कोविड-19 के केस बढ़े हंै। जिसको ध्यान में रखते 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी नागरिक कोरोना वैक्सीनेशन करवा रहे हंै। 

टीकाकारण को लेकर उत्साह
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम रामाटोला में ग्राम हीरपुर निवासी दिव्यांग श्रीरामजी वर्मा अपने व्हील चेयर में वैक्सीन लगवाने आए थे। सभी लोगों में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर उत्साह है। कोरोना से बचाव के लिए नागरिकों में जागरूकता आई है और वे स्वस्फूर्त होकर कोविड-19 टीकाकरण केन्द्रों में जा रहे हंै।
 


08-Apr-2021 2:19 PM 51

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजनांदगांव, 8 अप्रैल।
वैश्विक महामारी कोरोना के जिले में बढ़ते तादाद से निपटने प्रशासन ने सख्ती दिखाते खरीदी-बिक्री पर रोक लगाने का फरमान जारी कर दिया है। कल शुक्रवार को शाम के बाद सप्ताहभर के लिए शहर में आवश्यक दुकानों को छोडक़र शेष दुकानों के संचालन पर रोक लगाने का निर्देश दिया गया है। ऐसे में लॉकडाउन से एक दिन पूर्व गुरुवार को शहर के अंदरूनी समेत बाहरी क्षेत्रों में लोग खरीददारी करने उमड़ पड़े। ऐसे में लोग कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाते भी दिखे।

शहर के गुडाखू लाइन, जूनीहटरी क्षेत्र, मानव मंदिर चौक, सब्जी मार्केट, सिनेमा लाइन, हलवाई लाइन समेत अन्य क्षेत्रों में गुरुवार को लोगों की भीड़ नजर आई और लोगों ने जमकर खरीदी भी की। वहीं  सडक़ों में लोग जाम में फंसते हुए भी दिखाई दिए। इधर बाजार क्षेत्र के दुकानों में खरीदी के दौरान लोगों की लंबी कतारें भी दिखाई दी। वहीं शुक्रवार शाम से शहर में पूर्ण लॉकडाउन लगने के बाद शहर की दुकानें चमाचम बंद होने से लोगों के बीच सामानों की खरीदी करने होड़ मच गई है। वहीं गरीब तबका भी रोजी-रोजगार के लिए आज दिनभर जी-तोड़ मेहनत करते नजर आए। बताया जा रहा है कि पूर्ण लॉकडाउन में मेडिकल स्टोर्स, पेट्रोल पंप, हास्पिटल समेत अति आवश्यक दुकानों को छूट मिलेगी। वहीं पूर्ण लॉकडाउन के चलते लोगों को सब्जी खरीदी-बिक्री में पाबंदी लगने से आज सब्जी बाजार में भी लोग बड़ी संख्या में खरीदी करते नजर आए।

कुछ लोगों के चेहरे से गायब रहे मास्क
लॉकडाउन की घोषणा से पूर्व लोगों को खरीदी के लिए गुरुवार और शुक्रवार का समय मिलने के बावजूद लोगों में खरीदी करने होड़ मची रही। वहीं बाजार क्षेत्र में खरीदी-बिक्री के दौरान कुछ लोगों द्वारा कोरोना प्रोटोकाल का उल्लंघन करते देखा गया। कुछ लोगों ने मास्क भी नहीं लगाया था। इधर जांच टीम के बाजार क्षेत्र से नदारद रहने से प्रोटोकाल का उल्लंघन करने वालों को बल मिलता दिखा। ऐसे में जांच की टीम की उदासीनता भी साफ झलकती नजर आई।

अव्यवस्था का रहा आलम
शहर के बाजार क्षेत्र में वाहन चालकों द्वारा सडक़ों में बेतरतीब वाहन खड़ी करने से जाम के हालात भी नजर आए। ऐसे में लोगों के बीच तू-तू-मैं-मैं की स्थिति भी बनती रही। शहर के गुडाखू लाइन, जूनीहटरी समेत अन्य क्षेत्रों में दुकानों के सामने बेतरतीब और सडक़ों में वाहनों के खड़े होने से आवाजाही बाधित नजर आई। वहीं लोगों में आक्रोश भी दिखाई दिया।