छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Date : 12-Jan-2020

नवजात को फेंका, आरोपी की पत्नी व एक अन्य महिला बंदी, खुले छत में कराया था प्रसव, लोगो ने ठोस कार्रवाई करने की मांग 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
स्टेशनपारा में एक नवजात को प्रसूति के बाद जीवित हालत में नाली में फेंकने के मामले में पुलिस ने आरोपी की पत्नी समेत एक अन्य महिला को गिरफ्तार किया है। स्टेशनपारा के वार्ड नं. 12 में एक माह पूर्व  नाली में नवजात लावारिस हालत में मिला। शिशु को तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन संक्रमण की वजह से उसे बचाया नहीं जा सका। पुलिस ने मामले की छानबीन करने के बाद संजय कश्यप को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने आगे कार्रवाई करते कल आरोपी कश्यप की पत्नी लक्ष्मी कश्यप और प्रसूति करने वाली दाई प्रमिला अग्रवाल को गिरफ्तार किया। पुलिस ने कल दोनों महिलाओं को घटनास्थल में ले जाकर जांच की, वहीं जिस घर में नाबालिग युवती का प्रसव हुआ, वहां भी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तथ्य जुटाए।

 बताया जाता है कि आरोपी की पत्नी ने प्रसूति के फौरन बाद बच्चे को नाले में फेंक दिया। 51 वर्षीय संजय कश्यप पर नाबालिग युवती ने कई बार दुष्कर्म करने का आरोप लगाया। इसी के चलते नाबालिग गर्भवती हो गई। बताया जाता है कि लोकलाज के भय के चलते प्रसव कराने के बाद नवजात को फेंक दिया गया। घटनाक्रम के कारण स्टेशनपारा के लोगों में काफी नाराजगी है। कल पुलिस ने लक्ष्मी कश्यप और प्रमिला अग्रवाल को लेकर घटनास्थल  से कई जानकारी हासिल की है। दोनों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस पर ठोस कार्रवाई करने का दबाव भी बढ़ा है।

 


Date : 12-Jan-2020

मलेरिया उन्मूलन के लिए एक महीने का मास स्क्रीनिंग कार्यक्रम 14 से

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
जिले में मलेरिया उन्मूलन के लिए गांव स्तर पर महीने भर का  मास स्क्रीनिंग कार्यक्रम का आयोजन 15 जनवरी से 14 फरवरी 2020 तक किया जा रहा है। 
इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं मितानिनों द्वारा 0.5 मलेरिया वार्षिक परजीवी सूचकांक (एपीआई) से अधिक के 320 संवेदनशील गांवों तथा महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के सीमा क्षेत्र के सभी गांवों, प्रवासी ग्रुप कुपोषित बच्चे, एनीमिक मरीजों, स्कूली बच्चों, छात्रावासी, पोटाकेबिन, सीआरपीएफ आईटीबीपी कैम्प, पुलिस चौकी एवं अन्य कैम्प मास स्क्रीनिंग कर जनसमुदाय का शत-प्रतिशत रक्त जांच कर मलेरिया सकारात्मक प्रकरण पाए जाने पर उन्हे संपूर्ण उपचार प्रदान किया जाएगा एवं जनसमुदाय को मलेरिया से रोकथाम की संपूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी।

जिला स्तर पर जिला समन्वयक तथा विकासखंड समन्वयक-मितानिन कार्यक्रम की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। मितानिनों को मितानिन यात्रा तथा दीवार लेखन एवं विभिन्न प्रचार प्रसार की गतिविधियां किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। मितानिनों द्वारा 14 जनवरी  को  मितानिन यात्रा का आयोजन किया जाएगा। जिसमें महिला समूह, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं ग्रामवासी सम्मिलित रहेंगे। यात्रा में जनसमुदाय को मलेरिया से बचने के उपाय बताए जाएंगे। 

लोगों को घरों के आसपास सफाई रखने मलेरिया के मच्छरों की उत्पत्ति के कारकों जैसे कूलर, छत पर खुली पानी की टंकिया, फटे-पुराने टायर ट्यूब, टूटे फूटे मटके, बाल्टी, टीन एवं प्लास्टिक के डिब्बे, घर के सजावटी गमलों पानी में, मनी प्लांट के पॉट  के पानी, मंदिर  कलश  बहुत दिनों से रखे पानी, फ्रीज के नीचे ट्रे जहां पानी जमा होता हैं उस ट्रे में, नारियल के टूटे हुए टुकड़े में जिसमें पानी जमा हो, कच्चे नारियल का पानी पीने के बाद फेक दिया जाता हैं उसके अंदर बारिश का पानी जमा होने पर उसमें मच्छर की उत्पत्ति होती है। उपरोक्त मच्छर उत्पत्ति क्षेत्रों को नष्ट कर मलेरिया से बचा जा सकता है। 

कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने अनुविभागीय अधिकारियों, मुख्य कार्यपालन अधिकारियों जनपद पंचायत,  जिला शिक्षा अधिकारी, महिला एवं बाल विकास अधिकारी को खण्ड चिकित्सा अधिकारी के साथ आवश्यक समन्वय स्थापित कर उक्त कार्यक्रम को शत-प्रतिशत सफलतापूर्वक संचालन के निर्देश दिए हैं।

 


Date : 12-Jan-2020

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा जेएनयू में हुए हिंसा के खिलाफ वामपंथी एवं लेफ्टिस्टों का पुतला दहन किया 

राजनांदगांव, 12 जनवरी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद खैरागढ़ ईकाई द्वारा इंदिरा कला संगीत विवि के सामने जेएनयू में हुए हिंसा के खिलाफ वामपंथी एवं लेफ्टिस्टों का पुतला दहन किया गया।  इस आंदोलन में श्रीराम यादव, चिन्टु सोनकर, शुभम चंद्राकर, कमलेज प्रजापति, मयंक शर्मा, शुभम देवांगन, उत्तम कुमार, आशिष रावत, अनिमेश महोबिया, कार्तिक सिन्हा, मोन्टी कुं भकार, शशि साहू, राजकुमार सिंह सार्वा, अनिकेत साहू, मुकु ल सोनकर, अमित गेड़ेवाल, युगल चंद्रवशी, हर्ष शर्मा, चंद्रमणी पोर्ते, श्रेयांश सिंह आदि कार्यकर्ता शामिल थे।

 

 

 


Date : 12-Jan-2020

नव निर्वाचित महापौर हेमा देशमुख को समाजिक कार्यकर्ता प्रहलाद ने दी बधाई 

राजनांदगांव, 12 जनवरी। नव निर्वाचित महापौर हेमा सुदेश देशमुख को समाजिक कार्यकर्ता प्रहलाद (बल्ली) रूचंदानी के साथ अजय आर्या (ददू) एवं सुधीर कोचर द्वारा उनके निवास में मोमेन्टो देकर शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर पूर्व महापौर सुदेश देशमुख एवं हेमा देशमुख ने कार्यकर्ताओं को आशीर्वाद दिया।

 

 


Date : 12-Jan-2020

बुनियादी सुविधाओं की समस्याओं का करना है त्वरित निराकरण, नवनिर्वाचित मेयर देशमुख ने ग्रहण किया कार्यभार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
नव निर्वाचित महापौर हेमा देशमुख ने गत् दिनों निगम कार्यालय पहुंचकर पार्षदों व वरिष्ठजनों की उपस्थिति में पूजा-अर्चना कर कार्यभार ग्रहण किया। तत्पश्चात अधिकारियों व कर्मचारियों से सौजन्य भेंट की। महापौर श्रीमती देशमुख का पार्षदों, अधिकारियों व कर्मचारियों ने उनका पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया। 

इस अवसर पर महापौर श्रीमती देशमुख ने कहा कि आप सबके सहयोग से मैं महापौर निर्वाचित हुई हूं और आप लोगों के सहयोग से ही संस्कारधानी राजनांदगांव में विकास करना है। उन्होंने कहा कि पार्षदों एवं अधिकारियों व कर्मचारियों को सामंजस्य के साथ कार्य करना है और नागरिकों की मूलभूत सुविधा जैसे बिजली, पानी, सफाई की समस्या का त्वरित निराकरण करना है।

इस अवसर पर नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक, निगम अध्यक्ष हरिनारायण पप्पू धकेता, छग अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान, वरिष्ठ नेता श्रीकिशन खंडेलवाल, प्रेमचंद बाफना, शरद चितलांग्या, शशिकांत अवस्थी, कुलबीर सिंह छाबड़ा, जितेन्द्र मुदलियार, राकेश जोशी, आसिफ अली, रूबी गरचा, पार्षदगण मधुकर बंजारी, सतीश मसीह, संतोष पिल्ले, सिद्धार्थ डोंगरे, विनय झा, दुलारी साहू, भागचंद साहू, राजा तिवारी, बैनाबाई, अरविन्द्र वर्मा, पूर्णिमा नागदेवे, समद खान, शकीला बेगम, पिंकी साहू, गामेन्द्र नेताम, सुनीता फडनवीस, गणेश पवार, अमिन हुड्डा, मनीष साहू, महेश साहू, शरद पटेल, राजेेश गुप्ता चंपू, ऋषि शस्त्री, सरिता प्रजापति, संजय रजक, केवल साहू सहित निगम के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

 

 


Date : 12-Jan-2020

34 बाल वैज्ञानिकों के मॉडल स्पर्धा के लिए चयनित, जिला इन्सपायर अवार्ड का समापन
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय इन्सपायर अवार्ड 2020 का समापन 11 दिसम्बर को श्री गुरूनानक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राजनांदगांव  में किया गया। इस अवसर पर बाल वैज्ञानिक के रूप में सम्मिलित कुमकुम देवंागन, देविका साहू, प्रीति सिन्हा, हिमांशु पटेल के आतिथ्य में एवं जूरी मेंबर अविनाश सामल, कार्तिक पटेल, राहुल प्रकाश नेशनल इनोवेशन फाउडेंशन तथा जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त उपाध्याय की उपस्थिति थे। जिला इन्सपायर अवार्ड 2020 में 34 बाल वैज्ञानिकों के मॉडल राज्य स्तरीय स्पर्धा हेतु चयनित किए गया है।

दो दिवसीय इन्सपायर अवार्ड 2020 के समापन अवसर पर प्रतिभागी बाल वैज्ञानिक कुमकुम देवंागन बताया कि उन्होंने अपना मॉडल गुजरात के कोचिंग सेन्टर पर हुई घटना को लेकर बनाया था। उन्होंने मॉडल के माध्यम से बताया था कि इस प्रकार की घटना होने पर कैसे सुरक्षित निकाला जा सकता है। देविका साहू ने कहा कि पालकों के साथ ही शिक्षकों के मागदर्शन में हमेशा कार्य एवं मेहनत करने पर सफलता जरूर मिलती है। 

शासकीय हाईस्कूल अंजोरा की प्रीति सिन्हा ने अपने मॉडल के माध्यम से जानकारी दी कि मल्टीस्टोरी भवनों पर पार्किंग सुव्यवस्थित ढंग से कैसे की जा सकती है। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला धामनसरा के बाल वैज्ञानिक हिमांशु पटेल ने ट्रैफिक पुलिस को परेशानियों से बचाने के लिए ट्रैफिक चिन्हों को डिजिटल चिन्हों पर अंकित करने के मॉडल पर अपना वक्तव्य दिया। नेशनल इनोवेशन फाउडेंशन के राहुल प्रकाश ने अपने अनुभव बाल वैज्ञानिकों के साथ भी साझा भी किया। 

इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी हेमन्त उपाध्याय ने कहा कि कभी हताशा का भाव नहीं होना चाहिए। हमेशा आशावान रहना चाहिए। उन्होंने बाल वैज्ञानिकों से कहा कि आज जो पीछे रह गए, वे प्रतिज्ञा करें कि कल वे उच्च शिखर पर पहुंचेंगे। मां भी एक वैज्ञानिक होती है, वे भी चिन्तन करती है और समस्याओं का विकल्प खोजकर समाधान करती है। श्री उपाध्याय ने कालीदास जी के महान कवि कालिदास बनने की कहानी सुनाकर बच्चों को सफलता के लिए हमेशा प्रयास करने पर बल दिया। समारोह का संचालन शोभा श्रीवास्तव व आभार नोडल अधिकारी एव सहायक संचालक आदित्य खरे ने किया।

 


Date : 12-Jan-2020

राज्य स्तरीय अधिकारियों ने किया धान उपार्जन केन्द्र अतरिया रोड का निरीक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
खाद्य सचिव कमलप्रीत सिंह, पर्यटन सचिव अंबलगन पी. और मार्कफेड एमडी शम्मी आबिदी ने संयुक्त रूप से शनिवार को राजनांदगांव जिले के छुईखदान विकासखंड के धान उपार्जन केन्द्र अतरिया रोड का आकस्मिक निरीक्षण किया। अधिकारियों की टीम शाम 4.15 बजे हेलीकॉप्टर से छुईखदान पहुंचीं। छुईखदान के हेलीपैड में कमिश्नर दुर्ग दिलीप वासनीकर, पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग विवेकानन्द सिन्हा, पुलिस उप महानिरीक्षक रतनलाल डांगी भी उपस्थित थे।

अधिकारियों की टीम ने धान उपार्जन केन्द्र अतरिया रोड में संधारित रजिस्टर एवं बारदाने पंजी की जांच की। अधिकारियों ने उपार्जन केन्द्र प्रभारी से अभी तक खरीदे गए धान, निर्धारित लक्ष्य एवं बारदाने की उपलब्धता के संबंध में पूछताछ की। उन्होंने भरे हुए बारदाने का भी प्रत्यक्ष अवलोकन किया। 

अधिकारियों की टीम ने धान उपार्जन केन्द्र अतरिया रोड में बारदाने पंजी का अवलोकन किया। पंजी के रिकार्ड को देखकर बारदाने का मिलान कर भौतिक सत्यापन किया। अधिकारियों ने धान की स्टेकिंग और ड्रेनेज व्यवस्था पर नाराजगी जाहिर की। धान की स्टेकिंग स्टैंडर्ड  मानक के अनुसार नहीं थी और ड्रेनेज में केवल एक-एक लेयर लगा हुआ था। खाद्य सचिव कमलप्रीत सिंह ने नोडल अधिकारी को सख्त निर्देश दिए कि धान की स्टेकिंग व्यवस्था उचित ढंग से करें। जिससे उसे आसानी से गिना जा सके। साथ ही ड्रेनेज में दो लेयर लगाने के निर्देश भी दिए, ताकि धान को बारिश से बचाया जा सके। 
मार्कफेड एमडी शम्मी आबिदी ने नोडल अधिकारी को सख्त निर्देश देते कहा कि वे प्रतिदिन उपलब्ध धान का सत्यापन पंजी में लिखे रिकार्ड से करें। प्रतिदिन खरीदे जाने वाले धान और मिलर्स द्वारा उठाए धान का भौतिक सत्यापन कर रिकार्ड रखें। अधिकारियों ने कहा कि धान खरीदी में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। धान उपार्जन केन्द्र में सभी व्यवस्था मानक के अनुसार होना चाहिए, जिन केन्द्रों में धान खरीदी में अव्यवस्था पाई जाएगी, वहां के समिति प्रबंधकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
समिति प्रबंधक ने बताया कि धान उपार्जन केन्द्र अतरिया के अंतर्गत पांच गांव शामिल है। जिसमें  अतरिया रोड, कुकुरमुड़ा, घुमानपुर, खैरबना और घिरघोली आते है। इन गांवों के 770 किसानों ने धान बेचने के लिए पंजीयन कराया है। अब तक इस  उपार्जन केन्द्र में 375 किसानों ने अपना धान बेच दिया है। धान उपार्जन केन्द्र के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य, पुलिस अधीक्षक बीएस धु्रव, जिला खाद्य अधिकारी किशोर कुमार सोमावार, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के सीईओ सुनील वर्मा, जिला विपणन अधिकारी सौरभ भारद्वाज, एसडीएम छुईखदान डॉ. दीप्ति वर्मा उपस्थित थे।

 


Date : 12-Jan-2020

यातायात विभाग ने ट्रैफिक नियमों का पालन करने वाहन चालकों को समझाईश दी

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन यातायात विभाग ने ट्रैफिक नियमों का पालन करने वाहन चालकों को समझाईश दी। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों को गुलाब का फूल देकर जागरूकता लाने का प्रयास किया।

सडक़ सुरक्षा सप्ताह के पहले दिन 11 जनवरी को एसपी बीएस ध्रुव के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यूबीएस चौहान के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक श्यामसुंदर शर्मा, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र गुप्ता, थाना प्रभारी लालबाग, थाना प्रभारी घुमका, यातायात उनि सुखेराम धुर्वे एवं यातायात स्टॉफ द्वारा शहर के महावीर चौक, जयस्तंभ चौक, मानव मंदिर चौक, भारतमाता चौक में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले को गुलाब फूल देकर यातायात नियमों का पालन करने एवं यातायात नियम के प्रति जागरूकता लाने के लिए पाम्प्लेट देकर एवं फ्लैक्स-बैनर के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया गया।  साथ ही ट्रक चालक, आटो चालक, मोटर साइकिल चालक, स्कूटी, साइकिल चालक व पैदल यात्री कुल 2 हजार लोगों को बेहतर यातायात व्यवस्था के लिए सडक़ दुर्घटना रोकथाम करने एवं न्यूनतम जनहानि के लिए अभियान चलाया गया।

सुगम एवं सुरक्षित यातायात व्यवस्था के लिए केन्द्र सरकार पुलिस मुख्यालय के निर्देशानुसार जिले में सडक़ सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है। जिसमें पुलिस व प्रशासन का आपसी सहयोग के साथ-साथ सामाजिक संस्थाएं भी सम्मिलित है। इसी क्रम में एनसीसी के बच्चों द्वारा यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को पुलिस के साथ सहयोग कर गुलाब फूल, पाम्प्लेट, स्टीकर देकर यातायात नियमों का पालन करने हेतु आग्रह किया गया। वाहन चालकों के अलावा साइकिल चालकों के साइकिल में रेडियम स्टीकर लगाकर सुरक्षा हेतु समझाईश दिया गया। प्रचार-प्रसार को सफल बनाने के लिए इलेक्ट्रानिक, प्रिंट मिडिया के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। जिले में यातायात शाखा राजनांदगांव के अतिरिक्त विभिन्न थाना/चौकियों में यातायात नियमों के प्रचार हेतु विभिन्न कार्यक्रम किए जा रहे हैं।


Date : 12-Jan-2020

शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय की यूथ रेडक्रास इकाई के विद्यार्थियों ने आवासहीन निर्धन लोगों बच्चे, बूढ़े व महिलाओं को कंबल व अन्य वस्त्रों का वितरण किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 12 जनवरी।
शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय की यूथ रेडक्रास इकाई के विद्यार्थियों ने अद्र्धरात्रि शहर भ्रमण कर आवासहीन निर्धन लोगों बच्चे, बूढ़े व महिलाओं को कंबल व अन्य वस्त्रों का वितरण किया।

यूथ रेडक्रॉस के विद्यार्थियों ने जिला चिकित्सालय,  फ्लाई ओवर के नीचे, नया बस स्टैंड, पोस्ट ऑफिस चौक, शनि मंदिर, स्टेशन रोड काम्प्लेक्स, रेल्वे स्टेशन आदि स्थानों में रह रहे ऐसे आवासहीन लोगों को उनकी आवश्यकतानुसार कंबल व कपड़े बांटे। 

यूथ रेडक्रॉस अधिकारी डॉ. एचएस भाटिया ने बताया कि यूथ रेडक्रास द्वारा विगत कई वर्षों से ठंड के मौसम में कंबल व वस्त्र वितरण का कार्य किया जा रहा है। यूथ रेडक्रॉस के नियमित विद्यार्थियों के साथ ही वे छात्र जो कॉलेज से पढक़र निकल चुके है वे भी इस कार्य से जुडे हुए हैं।

 प्राचार्य डॉ. बीएन मेश्राम ने यूथ रेडक्रॉस के विद्यार्थियों की इस सेवा कार्य की प्रशंसा करते उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।


Date : 11-Jan-2020

नांदगांव सांसद को लेकर भाजयुमो जिला महामंत्री की टिप्पणी से बवाल, पार्षद को मोहला के कार्यकर्ताओं की झिडक़ी
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 11 जनवरी।
राजनंादगांव सांसद संतोष पांडे के खिलाफ सोशल मीडिया में टिप्पणी किए जाने से भाजपा में बवाल खड़ा हो गया है। भाजयुमो के जिला महामंत्री और पार्षद किशुन यदु ने अपने नेटवर्किंग साईट फेसबुक में ‘राजनांदगांव का सांसद कौन है कोई पता बताएगा क्या?’ लिखकर पोस्ट किया। 

बताया जाता है कि रात करीब 11 बजे यदु ने अपने साईट से यह टिप्पणी की। इसके बाद मौजूदा सांसद पांडे और पूर्व सांसद मधुसूदन यादव के समर्थक फेसबुक में भिड़ गए। इस टिप्पणी के चलते नीरज शर्मा नामक युवक ने किशुन यदु को झिडक़ी देते हुए इस बात के लिए चेताया कि सांसद पांडे का सार्वजनिक रूप से अनादर न करें और पार्टी की साख को बरकरार रखने की भी हिदायत दी। वहीं प्रबोध गुप्ता नामक युवक ने मधुसूदन के समर्थन में ‘मधु भाई हमारा सांसद है’ लिखकर विवाद को और बढ़ा दिया। वनांचल मोहला के भाजपा नेता रमेश हिड़ामे ने यदु को जवाब देते लिखा कि भाजयुमो के महामंत्री रहते ऐसा सवाल पूछना गलत है। हिड़ामे ने उन्हें धिक्कारा भी। बताया जाता है कि भाजपा के भीतर चल रही आंतरिक लड़ाई के चलते ही यह विवाद छिड़ा है।

इस संबंध में जिलाध्यक्ष मधुसूदन यादव ने ‘छत्तीसगढ़’ से कहा कि यदु द्वारा पोस्ट को हटा दिया गया है। हालांकि दोपहर तक फेसबुक में उक्त टिप्पणी वायरल होती रही। 
इस संबंध में राजनांदगांव सांसद संतोष पांडे ने ‘छत्तीसगढ़’ से कहा कि दिन में जिन्हें नजर नहीं आता वह रात का नजारा क्या देखेंगे?

 सांसद पांडे के खिलाफ टिप्पणी किए जाने के बाद भाजपा में घमासान मच गया है। किशुन यदु को फेसबुक में ही कुछ युवकों ने नसीहत भी दी। बहरहाल सोशल मीडिया में आज पूरे दिन उक्त टिप्पणी को लेकर पांडे और मधुसूदन समर्थक आपस में भिड़ते नजर आए।

 


Date : 11-Jan-2020

नवजात को नाली में फेंका, आरोपी बंदी, अवैध संबंध को छिपाने के लिए आरोपी ने शिशु को नाली में फेंक दिया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 11 जनवरी। करीब एक माह पूर्व शहर के स्टेशनपारा वार्ड नं. 12 स्थित एक नाले में नवजात शिशु को फेंकने के मामले में चिखली पुलिस ने एक तथाकथित पत्रकार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। संजय कश्यप नामक आरोपी के साथ-साथ पुलिस ने इस मामले में उसकी पत्नी और एक अन्य महिला को भी आरोपी बनाया है। हालांकि दोनों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बताया जाता है कि कश्यप ने एक नाबालिग युवती के साथ लगातार अनाचार किया। जिसके चलते वह गर्भवती हो गई। बताया जाता है कि आरोपी ने करीब एक साल पूर्व सुकुलदैहान मेला दिखाने के बहाने नाबालिग से सूने रास्ते में पहली बार दुष्कर्म किया। इसके बाद वह लगातार नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बनाता रहा। गर्भ ठहरने के बाद नाबालिग की मां को अपने पक्ष में कर घर पर ही प्रसूति कराया। बताया जाता है कि गत् 7 दिसंबर को प्रसूति के पश्चात नाबालिग ने एक जीवित नवजात को जन्म दिया। अवैध संबंध को छिपाने के लिए आरोपी ने इस मामले में अपनी पत्नी और नाबालिग युवती के मां के साथ मिलकर शिशु को नाली में फेंक दिया। नाली में मिले जीवित शिशु को पुलिस ने जब अस्पताल पहुंचाया, तब संक्रमण के चलते उसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर वार्ड के लोग काफी गुस्से में थे। जैसे ही इस घटना के पीछे संजय कश्यप का हाथ होने की जानकारी सामने आई, मोहल्ले के लोग गुस्से में आ गए। हालांकि पुलिस ने आरोपी को अपनी सुरक्षा में रखा। 51 वर्षीय आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। बताया जाता है कि आरोपी पर जीवित बच्चे को फेंकने, नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने तथा  षडयंत्र पूर्वक मामले को दबाने के मामले में अपराध दर्ज किया गया है। वहीं आरोपी की पत्नी और नाबालिग युवती की मां को भी पुलिस ने आरोपी बनाया है। फिलहाल दोनों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।


Date : 11-Jan-2020

मेयर रहीं शोभा होंगी नांदगांव नेता प्रतिपक्ष, दूसरी बार महिला को यह मौका

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 11 जनवरी। पूर्व महापौर शोभा सोनी नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष होंगी। उन्हें यह जिम्मेदारी भाजपा पार्षद दल की नेता होने की वजह से मिली है।  नगर निगम के इतिहास में यह दूसरा मौका है जब नेता प्रतिपक्ष के पद पर महिला सदन में आवाज उठाएंगी। वर्ष 2000 से 2004 के बीच डॉ. रेखा मेश्राम नेता प्रतिपक्ष रही हैं।

पूर्व महापौर शोभा सोनी भाजपा पार्षद दल का नेतृत्व करेंगी। श्रीमती सोनी को शहरी राजनीति में अनुभवी होने की वजह से संगठन ने उन्हें यह जिम्मेदारी दी है। अप्रत्यक्ष प्रणाली से महापौर चुनाव लडऩे के लिए पार्टी ने उन्हें अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया था। चूंकि वह भाजपा पार्षद दल की नेता थी। लिहाजा पराजय के बाद नियमानुसार वह विपक्षी दल की नेतृत्व करेंगी।

जिलाध्यक्ष मधुसूदन यादव ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि नियमत: सत्तारूढ़ दल से परास्त होने के बाद विपक्षी दल का नेता ही निगम में नेता प्रतिपक्ष कहलाता है, इसलिए श्रीमती सोनी ही नेता प्रतिपक्ष होंगी।

इधर नेता प्रतिपक्ष को लेकर जानकारियों का भी अभाव रहा। भाजपा पार्षदों को भी इस बात की जानकारी नहीं है कि श्रीमती सोनी ही पार्षद दल की नेता होने की वजह से इस पद को सम्हालेंगी।

श्रीमती सोनी ने पार्षद चुनाव लडक़र महापौर पद के लिए मुकाबला किया था। उन्हें 11 मतों से महापौर हेमा देशमुख से शिकस्त मिली। बताया जा रहा है कि राजनांदगांव नगर निगम के इतिहास में यह दूसरा अवसर है, जब नेता प्रतिपक्ष के पद पर महिला को कमान दी गई है। कुल मिलाकर मेयर और नेता प्रतिपक्ष जैसे प्रमुख पदों पर रहते हेमा देशमुख और शोभा सोनी के बीच सदन में आरोप-प्रत्यारोप लगेंगे।

 


Date : 11-Jan-2020

महापौर हेमा देशमुख की मेयर-इन-काउंसिल में निर्दलीय पार्षदों का दबदबा, नेता हफीज खान के समर्थक समद खान को एमआईसी में जगह नहीं मिली

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 11 जनवरी।
महापौर हेमा देशमुख की मेयर-इन-काउंसिल (एमआईसी) में निर्दलीय पार्षदों का दबदबा कायम रहा। सियासी दांव-पेंच के बीच कुछ नामों को उम्मीद से परे एमआईसी में जगह मिली। निर्दलीय पार्षदों को खास तवज्जों दिए जाने के बाद इस बात को बल मिला कि महापौर श्रीमती देशमुख ने निर्दलियों को किए गए वायदों के तहत अपनी टीम में जगह दी है। दिलचस्प बात यह है कि निगम के कद्दावर नेता हफीज खान के समर्थक समद खान को एमआईसी में जगह नहीं मिली। इसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। एमआईसी के 10 सदस्यों में से 4 निर्दलीय पार्षदों को मौका दिया गया है। वरिष्ठ पार्षद संतोष पिल्ले को भी राजनीतिक रूप से कमजोर विभाग देकर संतुष्ट किए जाने का प्रयास किया गया है।

निर्दलीय पार्षदों में गणेश पवार, राजा तिवारी, बैनाबाई तुरहाटे और राजेश गुप्ता चंपू को एमआईसी में सदस्य बनाया गया है। इसी तरह महापौर की प्रबल दावेदार रही सुनिता फडनवीस को भी मौका मिला है। साथ ही संतोष पिल्ले, मधुकर बंजारी, भागचंद साहू, सतीश मसीह और विनय झा को भी सदस्य बनाया गया है। गणेश पवार को स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग का चेयरमेन बनाया गया है। मधुकर बंजारी को आवास, पर्यावरण एवं लोक निर्माण जैसा मलाईदार विभाग दिया गया है। संतोष पिल्ले को खाद एवं नागरिक आपूर्ति निगम का चेयरमेन बनाया गया है। 

इसी तरह राजा तिवारी को शिक्षा विभाग, बैनाबाई तुरहाटे को  महिला एवं बाल कल्याण विभाग, सतीश मसीह को जल कार्य, भागचंद साहू को पुनर्वास एवं नियोजन विभाग, विनय झा को राजस्व विभाग तथा राजेश गुप्ता चंपू को सामान्य प्रशासन विभाग का चेयरमेन बनाया गया है।
बताया जाता है कि कुछ सदस्य एमआईसी में मिले विभाग से नाखुश हैं। चर्चा है कि संतोष पिल्ले पीडब्ल्यूडी जैसा बड़ा विभाग का चेयरमेन बनना चाहते थे, लेकिन उन्हें मौका नहीं दिया गया। बहरहाल एमआईसी के गठन के साथ ही महापौर की टीम नई टीम अस्तित्व में आ गई।

0 कुलबीर फिर नजर अंदाज
लगातार पांचवीं बार कांग्रेस से पार्षद निर्वाचित होकर आए कुलबीर छाबड़ा को एक बार फिर सियासी दांव-पेंच के कारण नजर अंदाज किया गया है। राजनीतिक रूप से कुलबीर के प्रति लोगों में सहानुभूति है। वे करीब दो दशक से निगम की राजनीति में जमे हुए हैं। शहरी सत्ता की जंग में उनकी लड़ाई भाजपा सरकार से प्रत्यक्ष तौर पर चली। कई बार उन्हें राजनीतिक दबाव का भी सामना करना पड़ा। इसके बावजूद उन्होंने अपनी निष्ठा और समर्पण के बूते भाजपा की दाल नहीं गलने दी। सदन में वह काफी मुखर रहकर भाजपा शासित निगम की कारगुजारियों को लेकर आवाज उठाते रहे। निगम में उन्हें अध्यक्ष पद से नवाजे जाने की उम्मीद की गई थी, लेकिन वे संगठन के अंदरूनी खींचतान का शिकार हो गए। एमआईसी में भी उन्हें एक तरह से सदस्य बनाए जाने की जरूरत नहीं समझी गई। बताया जाता है कि एक के बाद एक महत्वपूर्ण मौकों पर उन्हें हाशिये पर धकेला जा रहा है। बताया जा रहा है कि कुलबीर को लेकर शहर में चर्चाएं हंै। कांग्रेस की गुटीय लड़ाई के कारण कुलबीर को राजनीतिक उपेक्षा का दंश झेलना पड़ रहा है।


Date : 10-Jan-2020

बुजुर्गों से आशीर्वाद ले हेमा ने संभाली मेयर की कुर्सी, पदभार ग्रहण करने से पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुलाकात की

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 10 जनवरी।
नवनिर्वाचित महापौर हेमा देशमुख ने शुक्रवार को विधिवत रूप से मेयर की कुर्सी सम्हाल ली। इससे पहले उन्होंने बुजुर्गों का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। कांग्रेस के अलावा गैर कांग्रेसी बुजुर्गों का श्रीमती देशमुख ने चरणस्पर्श किया। पदभार ग्रहण करने से पहले उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। श्रीमती देशमुख बतौर दूसरी महिला महापौर है। उन्होंने भाजपा की शोभा सोनी को पार्षदों के मतों के जरिए शिकस्त देकर कुर्सी पर कब्जा किया। 

कल गुरुवार को श्रीमती देशमुख और पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत प्रदेश सरकार के मंत्री शामिल थे। विशेष मुहूर्त में आज श्रीमती देशमुख ने पदभार ग्रहण किया। कांग्रेस के ज्यादातर पार्षद उनके पदभार ग्रहण के दौरान मौजूद थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें अपनी ओर से शुभकामनाएं दी। महापौर कक्ष में पूजा-अर्चना करने के बाद वह कुर्सी पर आसीन हुई। इस बीच उनके कक्ष में राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान, वरिष्ठ पार्षद कुलबीर सिंह छाबड़ा, संतोष पिल्ले, दुलारी साहू, समद खान, प्रवीण मेश्राम, मोहन साहू समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने गुलदस्ता भेेंटकर उन्हें बधाई दी।  श्रीमती देशमुख ने कार्यभार सम्हालते ही सभी का आभार व्यक्त किया।