छत्तीसगढ़ » सरगुजा

Date : 12-Aug-2019

आखिरी सोमवार,शिवालयों में गूंजा हर-हर महादेव
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अंबिकापुर, 12 अगस्त।
 सूबे में सावन माह के अंतिम सोमवार को शिवालयों में भक्तों की खासी भीड़ उमड़ी।हर-हर महादेव के उद्घोष के बीच श्रद्धालुओं ने शिवलिंग में जलाभिषेक कर सुख-समृद्धि की कामना की।मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही।श्रद्धालुओं ने शिवालयों में गंगाजल, दूध,दही से जलाभिषेक कर बेलपत्र, चावल व पुष्प से भगवान शिव की पूजा की। शहर के अस्पताल रोड बाबा विश्वनाथ मंदिर,शंकर घाट स्थित शिव मंदिर,राम मंदिर, सतीपारा शंकर मंदिर सहित विभिन्न शिवालयों में जलाभिषेक को लेकर सुबह से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी।श्रावण के आखरी सोमवार को नगर के शिवालयों में शिव भक्तों श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी।मंदिरों में शिव जलाभिषेक किया गया।भोर होते श्रद्धालु मंदिरों में पहुंचने लगे थे।पूरे विधि विधान से शिवालयों में भगवान शिव की पूजा अर्चना की गई।पूरे दिन शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं का ताता लगा रहा।

 


Date : 12-Aug-2019

शांति और सद्भाव के साथ मनाई बकरीद, कैबिनेट मंत्री सिंहदेव ने दी बधाई
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अंबिकापुर, 12 अगस्त।
 जिले के मुस्लिम बाहुल इलाकों में बकरीद सौहार्दपूर्ण एवं शांति सद्भाव के साथ मनाया गया। लोग सुबह से ही नहा धोकर, इत्र, सुरमा, टोपी एवं पगड़ी लगाकर विभिन्न ईदगाहों में ईद उल अजहा की नमाज अदा करने निकले।इसमें बच्चे एवं नौजवानों में काफी उत्साह देखा गया।ईदगाहों में नमाज अदा करने के बाद सभी लोग एक दूसरे से गले मिलकर बकरीद की मुबारकबाद दी। साथ ही प्रदेश और देश के अमन-चैन, आपसी भाईचारा, सांप्रदायिक सद्भाव बना रहे और देश की तरक्की के लिए दुआ की। 

सुबह के समय बारिश की वजह से इस बार ईदगाह में भीड़ कम थी।बारिश की वजह से मुस्लिम समुदाय के कई लोग मस्जिद में जाकर नमाज अता किए।

दोपहर में निगम सभापति सफी अहमद द्वारा आयोजित बकरीद मिलन समारोह मे प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने पहुंचकर उपस्थित लोगों को बधाई दी। इस दौरान महापौर डॉक्टर अजय तिर्की, एसडीएम अजय त्रिपाठी, पूर्व महापौर प्रबोध मिंज, पूर्व निगम सभापति त्रिलोक कपूर कुशवाहा, विजय सोनी, एडिशनल एसपी ओपी चंदेल, सीएसपी आरएन यादव, कोतवाली टीआई दिलबाग सिंह सहित भारी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे।

 


Date : 12-Aug-2019

सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में भी बैंकिंग सुविधा बीसी सखी पहुचाएंगी- सिंहदेव
सरगुजा जिले के सभी 399 ग्राम पंचायतों में घर पहुंच पेंशन सुविधा शुरू 
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 12 अगस्त।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने रविवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बैंक सखी मॉड्ल के अंतर्गत गांव के लोगों को गांव में ही बैंकिंग सुविधाएं प्रदाय करने हेतु बीसी सखी ,बैंक करस्पोडेंस सखी का जिले के सभी 399 ग्राम पंचायतों में शुरूआत किया।  सरगुजा जिले के 399 ग्राम पंचायतों के लिये 109 बीसी सखी की नियुक्ति किया गया है। जिले में माह जुलाई 2019 तक 69 बीसी सखी के माध्यम से कुल 9 हजार 236 हितग्राहियों को 86 लाख 56 हजार 652 रूपये का पेंशन वितरित किया गया है।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुये श्री सिंहदेव ने कहा कि सरगुजा के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधा पहुंचाने के लिये सभी 399 ग्राम पंचायतों हेतु बीसी सखी की नियुक्ति की गई है। बीसी सखी पेंशन के साथ ही मनरेगा ,तेंदू पत्ता बोनस तथा बचत खातों से धन निकासी में सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि बैंक सखी ग्रामीण क्षेत्रों के बुजुर्गो,बेसहारों तथा दिव्यागों के लिये बड़ी राहत पहुंचाने का काम करेंगे। बैंक सखी पूरे आत्मविश्वास और बिना डर भय के यह पुनीत काम करें और लोगों के चेहरे पर खुशियां लाये। श्री सिंहदेव ने कहा कि आज आईटी और मोबाईल का युग है जिससे इस बैंकिंग सुविधा की परिकल्पना साकार हुयी है। इस योजना को पूरे छत्तीसगढ़ में लागू करना है ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग कार्यो को लेकर हो रही असुविधा एवं बैंकों के चक्कर काटने से लोगों को राहत मिल सकेगी। 

 श्री सिंहदेव कहा कि इस कार्य के लिये कोई भी बेटी तथा बहु अपना सकती है। यह सेवा और सद्भावना भरा कार्य है, इससे लोगों को राहत पहुंचाने के साथ ही अपनी आर्थिक स्थिति भी सुधार पायेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार से जुडकर काम करने का यह एक अवसर ह, जिसमें मेहनत और लगन से काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस काम को करते हुये किसी प्रकार के भी समस्या आती है तो उसे अधिकारियों के माध्यम से हम तक पहुंचाएं ताकि उस पर आवश्यक पहल की जा सके। लुण्ड्रा विधायक डॉ प्रीतम राम ने कहा कि वृद्ध,अशक्त एवं दिव्यांगों को बैंक का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। बैंक सखी द्वारा उन लोगों को राहत पहुंचाने का काम किया जा रहा है जो बड़ी बात है। जिला पंचायत श्रीमती फुलेश्वरी सिंह ने कहा कि बैंक सखी के माध्यम से लोगों को बैंकिंग की सुविधा गांव में उपलब्ध हो जाने से उन्हें बैंकों की चक्कर काटने से राहत मिलेगी। 

 जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा ने कहा कि बीसी सखी आपके द्वार का मुख्य उद्देश्य बैंक से प्राप्त होने वाले समस्त सुविधाएं गांव के प्रत्येक व्यक्ति को उनके घर पर ही उपलब्ध कराये जाना है। उन्होंने बताया कि इस योजना से बीसी सखी आत्मनिर्भर हुई है तथा अपने गांव में उन्हें रोजगार प्राप्त हो सकता है। बीसी सखी के माध्यम से घर.घर जाकर बैंक भुगतान सुनिश्चित किया जा रहा है जिससे ग्रामीणों को बैंक तक आने जाने में लगने वाले अनावश्यक समय एवं धन की बचत हो रही है। 

हितग्राही के खाते से न कटे राशि
 श्री सिंहदेव ने कहा कि बीसी सखी के माध्यम से हितग्राहियों को उनके खाते से पैसे निकालने पर बैंक द्वारा किसी प्रकार की राशि की कटौती न की जाए। उन्होंने बैंक सखी को कमीशन की भुगतान के लिये बैंक अपने तरफ  से व्यवस्था सुनिश्चित करें। 

उत्कृष्ट कार्य करने वाले सम्मानित 
  इस दौरान उत्कृष्ट कार्य करने तथा अधिक राशि अंतरित करने वाले बीसी सखियों को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वाले बीसी सखियों में श्रीमती सीमा गुप्ता, श्रीमती संतोषी विश्वकर्मा,श्रीमती अशिता कुजूर शामिल है। इस अवसर पर सुश्री सरिता व सुश्री निधि ताम्रकार को लेपटॉप वितरत किया गया। 

पंचायत मंत्री को पेंशनर सुखमनिया ने पहनाई राखी-
 पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री सिंहदेव के द्वारा बीसी सखी लागू करने से  गांव-गांव में बैंकिग सुविधा का विस्तार तथा निर्बाध रूप से पेंशन भुगतान की सुविधा मिल रही है।  ग्राम पंचायत सरगवां की पेंशनर श्रीमती सुखमनिया को इस योजना से निरंतर पेंशन भुगतान हो रहा है। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान पंचायत मंत्री को राखी पहनाकर चना एव गुड़ खिलाई।

 


Date : 12-Aug-2019

रेणुका ने किया डीजल व पेट्रोल के कीमत बढ़ोत्तरी का विरोध

अम्बिकापुर, 12 अगस्त । केन्द्रीय जनजाति कल्याण राज्यमंत्री श्रीमती रेणुका सिंह ने पिछले दिनों छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा अचानक डीजल व पेट्रंोल के कीमतों में वैट लगाकर बढ़ोत्तरी किये जाने का विरोध किया है। प्रेस को जारी अपने बयान में उन्होने कहा है कि रजिस्ट्रंी की दर में पांच गुना वृद्धि के बाद डीजल पेटंोल के दामों में वृद्धि करना छत्तीसगढ़ की कांग्रेस का जन विरोधी फैसला है जिसे तुरंत वापस लेकर सरकार को जनता को राहत प्रदान करना चाहिए। उन्होने कहा है कि डॉ. रमन सिंह के कार्यकाल में भाजपा की तत्कालीन सरकार ने छत्तीसगढ़ की जनता को राहत देने के लिए पेट्रंोल व डीजल से वैट कम किया था। अचानक की गई वृद्धि से जनता पर अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा तथा आवश्यक वस्तुएं महंगी होंगी अत: छत्तीसगढ की कांग्रेस सरकार को जनहित में यह फैसला वापस लेना चाहिए।


Date : 11-Aug-2019

2 किलोमीटर झलगी में लादकर गर्भवती महिला को लेकर पहुंचे एंबुलेंस तक पगडंडी में फंसी एंबुलेंस, वाहन में ही महिला का कराया डिलीवरी

अभिनय साहू
अम्बिकापुर, 11 अगस्त (छत्तीसगढ़)।
छत्तीसगढ़ का शिमला कहे जाने वाला मैनपाट किसी ना किसी कारण से आए दिन सुर्खियों में रहता है।मैनपाट के लोगों का कभी तेज रफ्तार पानी रास्ता लो रोक लेती है तो कहीं खराब सड़क उनकी जान पर बनाती है।एक ऐसा ही मामला रविवार को देखने को मिला जहां प्रसव पीड़ा से पीडि़त एक महिला तक एंबुलेंस लगभग डेढ़ घंटे लेट पहुँची।एंबुलेंस पहुंचने के बाद भी गर्भवती महिला को राहत नहीं मिल सका। परिजनों द्वारा पगडंडी रास्ते में दो-तीन किलोमीटर तक धक्का मारकर एंबुलेंस को घाटी के ऊपर चढ़ाया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। महिला का प्रसव पीड़ा इतना बढ़ चुका था कि उसका डिलीवरी एंबुलेंस में ही कराना पड़ा।अगर महिला को कोई क्रिटिकल प्रॉब्लम हो जाती तो उसकी जान पर बन आती।शासन-प्रशासन के मैनपाट क्षेत्र में विकास के लाख दावे के बाद भी यहाँ के लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित है।क्षेत्र में कई जगह ऐसे हैं जहां आज तक सड़क वह पुल पुलिया का निर्माण नहीं हो सका है।आपातकाल के समय में यहां के लोगों को अपनी जान जोखिम में डालना पड़ता है।बरहाल गर्भवती महिला की स्थिति ठीक है एवं उसके बच्चे का स्वास्थ्य भी ठीक है,लेकिन आखिर कब तक मैनपाट के लोगों को अपना जान जोखिम में डालना पड़ेगा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार परपटिया पनही पकना निवासी धनेश्वरी कोरवा उम्र 22 वर्ष प्रसव पीड़ा से तड़प रही थी।परपटिया मितानी निर्मला यादव 102 में रविवार की सुबह 8:45 में फोन किया।एंबुलेंस वाहन फोन करने के लगभग 1 घंटा 40 मिनट में महिला के घर से 2 किलोमीटर पहले पहुंचकर रुक गई।बताया गया कि रास्ता काफी खराब होने के कारण एंबुलेंस गर्भवती महिला के घर तक नहीं पहुंच सकती थी।इस कारण गर्भवती महिला के परिजन वाहन तक पहुंचने के लिए गर्भवती महिला को झलगी में लादकर 2 किलोमीटर पैदल चलने के बाद एंबुलेंस वाहन तक पहुंचे। एंबुलेंस के माध्यम से महिला को अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन रास्ते में ही एंबुलेंस वाहन पगडंडी मार्ग में फस गई।लगभग 2-3 किलोमीटर तक एंबुलेंस के कर्मचारी व परिजनों द्वारा धक्का मारकर वाहन को ऊपर चढ़ाया। वाहन को ऊपर चढ़ाने के बाद ही महिला का प्रसव पीड़ा इतना बढ़ गया की एंबुलेंस में ही उसका डिलीवरी कराया।महिला के डिलीवरी कराने के बाद उसे कई घंटों बाद दोपहर 1 बजे कमलेश्वरपुर अस्पताल में दाखिल कराया गया है।वहां के चिकित्सकों द्वारा बताया गया कि जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

गौरतलब है कि गत 9 अगस्त को मैनपाट के सुपलगा ग्राम पंचायत में गुड्डी नामक महिला का सर्प डांस से मृत्यु हो गई थी।मृतिका के परिजन उसका पोस्टमार्टम कराने कमलेश्वरपुर अस्पताल आने को निकले थे लेकिन रास्ते में मछली नदी जो पूरे उफान पर थी उनका रास्ता रोक लिया।परिजन अपनी जान को जोखिम में डालकर महिला का शव लकड़ी में बांधकर उफनती नदी को पारकर कमलेश्वरपुर अस्पताल पहुंचे व उसका पीएम कराया था।मैनपाट में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां लोग लोगों को बरसात के दिनों में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।बरसात के समय में मौसमी बीमारियों के लिए भी यह क्षेत्र अतिसंवेदनशील है।क्षेत्र के सुपलगा,पैगा, असगंवा,करम्हा सहित कई गांव मौसमी बीमारियों के लिए अति संवेदनशील है।प्रशासन को यहां पहुंचने में व लोगों को दवाइयां उपलब्ध कराने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।इसके बावजूद वहां सड़क,पुलिया नहीं बनने के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।


Date : 11-Aug-2019

बारिश के बाद आवागमन में परेशानी, मरम्मत की मांग

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
लखनपुर, 11 अगस्त।
लखनपुर क्षेत्र में इन दिनों हो रहे बारिश के बाद अब लखनपुर -बिलासपुर मुख्य मार्ग पर लोगो का चलना दूभर हो गया है।बारिश के बाद इस मार्ग पर चलने वाले लोगों के लिए यह मार्ग किसी मुसीबत से कम नजर नही आता।इस मार्ग पर लखनपुर नगर से ग्राम केंवरा तक का मार्ग सहित निर्माण के दौरान छोड़े गए बीच बीच के रास्ते तथा ग्राम अंधला से होकर जाने वाले मुख्यमार्ग पर अब लोग रास्ता खराब होने से वाहनों में सफर करने से डरते हुए नजर आ रहे है। 

अम्बिकापुर-बिलासपुर मुख्यमार्ग होने के कारण इस मार्ग पर लगातार भारी वाहनों की आवजाही लगी रहती है जिसके बाद अब इन रास्तों में बड़े बड़े गढ़े हो गए है जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। कुछ दूर तक पुन: डामरीकरण का कार्य होने के बावजूद बरसात के पूर्व ही डामरीकृत यह रास्ता उखड़ कर साफ हो चुका है जिसके कारण अब इस रास्ते पर केवल गढ़े ही गढ़े नजर आते हैं।इन रास्तों पर बने इन गढों से आये दिन किसी अप्रिय घटना के घटित होने का डर बना रहता है जिस कारण अब लोग इन रास्तो पर चलने मात्र से कतराते नजर आते हैं।स्थानीय लोगो का कहना है कि बरसात के दिनों में इन गढो में पानी भर जाता है जिससे रात्रि में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।इस रास्ते के मरम्मत जल्द से जल्द कराया जाकर इसे आवागमन योग्य बनाया जाना चहिये। मुख्यमार्ग के नगरीय भाग का जल्द से जल्द सुधार होना चहिये या पूर्ण निर्माण किया जाना चहिये।नगर सहित आसपास के छेत्रवासियों ने जल्द से जल्द व्यवस्था सुदृढ़ करने प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराया है ताकि किसी अप्रिय घटना की संभावना को कम किया जा सके।


Date : 11-Aug-2019

श्री साई बाबा कॉलेज में मना श्रावणोत्सव, मेंहदी प्रतियोगिता आयोजित

अम्बिकापुर, 11 अगस्त। श्री साई बाबा आदर्श महाविद्यालय में  शनिवार को धूमधाम से श्रावण उत्सव मनाया गया एवं रक्षाबंधन के परिप्रेक्ष्य में मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। महाविद्यालय के सभी विभागों के छात्र-छात्राओं ने मेहंदी प्रतियोगिता में बढ़चढ़कर भाग लिया एवं आकर्षक मेंहदी सज्जा कर अपनी सृजन शक्ति तथा कल्पनाशीलता से प्रभावित किया।

 इस संबंध में जानकारी देते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि महाविद्यालय में श्रावण उत्सव के अंतर्गत श्रावण मास एवं रक्षाबंधन के परिप्रेक्ष्य में मेंहदी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस अवसर पर छात्र छात्राओं द्वारा श्रावण एवं रक्षाबंधन पर आधारित गीत संगीत प्रस्तुत किया गया। सहायक प्राध्यापक डॉ. किरण श्रीवास्तव एवं उनकी टीम के नेतृत्व में महाविद्यालय में मेंहदी प्रतियोगिता आयोजित करायी गई। महाविद्यालय की महिला शिक्षकों ने हरित परिधान धारण किया तथा मेंहदी सज्जा प्रतियोगिता के पश्चात सभी महिला शिक्षकों,प्रबंधन की महिला सदस्यों तथा आमंत्रित अतिथियों एवं अभिभावक प्रतिनिधियो ंने सहभोज किया। महाविद्यालय की सांस्कृतिक समिति के तत्वावधान में आयोजित इस प्रतियोगिता निर्णायक प्रबंधन समिति की सदस्य श्रीमती अल्का इंगोले, अभिभावक प्रतिनिधि श्रीमती मंजू गुप्ता, श्रीमती आरती त्रिपाठी, श्रीमती निधि प्रजापति, स्नेहलता श्रीवास्तव थी। 

आयोजन में सांस्कृतिक समिति प्रभारी डॉ. अल्का पाण्डेय, सहायक प्राध्यापक श्रीमती विनिता मेहता, श्रीमती  खत्री, श्रीमती नेहा अग्निहोत्री, सुश्री अंकिता गुप्ता का सक्रिय योगदान रहा। 


Date : 11-Aug-2019

जीवित बचे पौधों के लिए भी आयोजित करें कार्यक्रम-सिंहदेव

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 11अगस्त ।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी एस सिंहदेव ने पहाड़ों को हराभरा करने के उद्देश्य से शनिवार को अम्बिकापुर के आक्सीजन पार्क के समीप गर्दनपाट पहाड़ में पौधरोपण किया। इस दौरान जनप्रतिनिधियों, अधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा करीब 300 पौधों का रोपण किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री  सिंहदेव ने कहा कि पहाड़ों और जंगलों को हराभरा करने के लिये प्रतिवर्ष पौधरोपण कार्यक्रम करें तथा रोपे गये पौधों की सुरक्षा करे लिए पर्याप्त व्यवस्था भी करें। उन्होंने कहा कि पेड़ लगाने के लिए वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है,वृक्षारोपण के बाद जीवित बचे पेडों के लिए भी कार्यक्रम आयोजित करें। 

श्री सिंहदेव ने कहा कि जिन स्थानों पर भी वृक्षारोपण किया जा रहा है,वहां अगले वर्ष कितने पौधे जीवित बचे उस पर चिंतन करें तथा अधिक से अधिक पौधों को बचाने के लिये सार्थक प्रयास करें। उन्होंनेे कहा कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पूरे प्रदेश में इस वर्ष करीब 8 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इन पौधों को रोपने के बाद पानी की व्यवस्था से लेकर मवेशियों से बचाने के उपाय करना जरूरी है। डिप्टी मेयर अजय अग्रवाल ने कहा कि पुराने समय में सरगुजा हरियाली से युक्त था तथा यहां का जलवायु सुखद था लेकिन समय के साथ पेड़ों की कटाई होने के कारण हरियाली कम होने लगी और गर्मी भी बढऩे लगा। सरगुजा की हरियाली को पुर्नस्थापित करने के लिए आसपास के पहाड़ों पर प्रतिवर्ष वृक्षारोपण करना होगा। इस अवसर पर विधायक प्रतिनिधि बालकृष्ण पाठक, नगर निगम के सभापति शफी अहमद,जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विशेष शाखा विकास सिंह, उपसंचालक पशु चिकित्सा डॉ एस पी सिंह, त्रिभुवन सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि,अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

 


Date : 10-Aug-2019

अदानी एंटरप्राइजेज द्वारा आदिवासी समुदाय के योगदानकर्ताओं का सम्मान 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 10 अगस्त। 
 सरगुजा जिले के पांच गांवों के वरिष्ठ आदिवासी लोगों को सामुदायिक सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण और विकास के उद्देश्य से शुरू की गई पहल में उनके योगदान के लिए अदानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड द्वारा सम्मानित किया गया। विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर सल्ही गांव में आयोजित एक समारोह में दीर्घकालिक सुसंगत नजरिये के साथ सामाजिक-आर्थिक पहल के लिए सल्ही, बसेन, घाटपारा, जनार्दनपुर और परसा के 17 से अधिक आदिवासियों को शॉल और कपड़े के आकर्षक बैग से सम्मानित किया गया,साथ ही सामुदायिक विकास सुनिश्चित करने की दिशा में उनके प्रयासों की सराहना करना भी है। 

इस दौरान धर्म साईं नेति,अमरेश मरकाम,पटेर साईं,संपतिया देवी,मीना पोर्ते और रनिया देवी सहित विभिन्न गांवों के सरपंचों को विकास के लिए अनुकूल वातावरण बनाने में उनके निरंतर सहयोग के लिए सम्मानित किया गया। 

 इस अवसर पर साल्ही गांव के सरपंचधर्म साईं नेति ने बताया गया कि अदाणी एंटरप्राइजेज के सहयोग से आसपास के गांवों को स्वास्थ्य सेवाएं, शिक्षा और आजीविका के अवसर जैसे कई लाभ हासिल हुए हैं। अतिरिक्त आय पैदा करने वाले आजीविका के नए अवसरों के कारण महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ा है।  ेदमती उइके और अमिता सिंह टेकाम जैसे महिला उद्यमी बहुद्देशीय सहकारी समिति लिमिटेड एमयूबीएसएस के वरिष्ठ प्रतिनिधि कई पहलों के माध्यम से बड़े पैमाने पर महिलाओं को सशक्त बनाने में लगे हुए हैं, जिसमें सेनेटरी पैड बनाना, फिनाइल बनाना आदि शामिल है। समारोह के दौरान अदाणी समूह से क्लस्टर हेड संजय कुमार सिंह एवं हेड एचआर के के दुबे व अदानी फाउंडेशन के प्रतिनिधि राजेश रंजन भी उपस्थित रहे।


Date : 10-Aug-2019

आदिवासी दिवस पर डूमरडीह में निकली रैली 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
उदयपुर, 10 अगस्त।
विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर सरगुजा जिले के उदयपुर विकासखंड में ग्राम डूमरडीह में भव्य कार्यक्रम का आयोजन कर आदिवासी दिवस मनाया गया।इस अवसर पर लोगों ने अपने धर्म और संस्कृति की रक्षा का संकल्प लिया।हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों ने रैली निकाली तथा सभा का आयोजन किया।सभा को संबोधित करते हुए विभिन्न वक्ताओं ने अपने अपने विचार रखें।लोगों ने कहा विश्व आदिवासी दिवस न केवल मानव समाज के एक हिस्से की सभ्यता एवं संस्कृति की विशिष्टता का द्योतक है, बल्कि उसे संरक्षित करने और सम्मान देने के आग्रह का भी सूचक है।
आदिवासी समुदायों की भाषा, जीवन-शैली, पर्यावरण से निकटता और कलाओं को संरक्षित और संवर्धित करने के प्रण के साथ आज यह भी संकल्प लिया जाए कि अपनी आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करने में उनके साथ कदम-से-कदम मिला कर चला जाए।

आज जब हम धूमधाम से विश्व आदिवासी दिवस मना रहे हैं, तब हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि हम आदिवासी-मूलवासी लोगों की दशा और दिशा की ईमानदारी से समीक्षा करें।हम यह देखें कि जो संवैधानिक अधिकार भारतीय संविधान ने हमें दिया है, इसे अपने समाज-राज्य और देश-हित में उपयोग कर पा रहे हैं या नहीं।चाहे जल-जंगल-जमीन पर परंपरागत अधिकार हो, पांचवीं अनुसूची में वर्णित प्रावधान हो। ग्रामसभा का अधिकार हो हमें इसका कितना अधिकार मिला है और हम इसका कितना उपयोग कर रहे है इस पर चिंतन करने की आवश्यकता है। विश्व आदिवासी दिवस मनाने के लिए रंगमंच में विभिन्न लोकगीत, संगीत और नृत्य से लोगों के दिलों में अपनी पहचान और इतिहास को उभारने की कोशिश कर रहे हैं। हमें बिरसा मुंडा का संघर्ष प्रेरणा देता है। समाज के अंदर हो रही घटनाओं पर हमें चिंतन करने की जरूरत है। जल संकट गहरा होता जा रहा है, पर्यावरण प्रदूषण को खत्म करता जा रहा है।

कार्यक्रम के आयोजन में सरपंच सोनतराई नवल सिंह वरकड़े , रामनगर सरपंच रोहित सिंह टेकाम, संजय कमरों ,आशा पोया जयनाथ केराम, जनपद सदस्य बाल साय कोर्राम और गोंडवाना महासभा ,अजाक्स संघ, भारत पंडो आदिवासी समाज ,एवं सर्व आदिवासी समाज कर्मचारी संघ के लोग इस अवसर पर हजारों की संख्या में उपस्थित होकर अपनी एकजुटता दर्शायी।


Date : 10-Aug-2019

डीजल-पेट्रोल के मूल्य वृद्धि के विरोध में भाजयुमो का प्रदर्शन 

अंबिकापुर, 10 अगस्त। भारतीय जनता युवा मोर्चा छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा के आह्वान पर आज भारतीय जनता युवा मोर्चा नगर मंडल द्वारा भूपेश सरकार के द्वारा छत्तीसगढ़ प्रदेश में डीजल व पेट्रोल की मूल्यवृद्धि के विरोध में नगर में मोटरसाइकिल धकेल कर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया व भूपेश सरकार के इस निर्णय के विरोध में नारेबाजी कर युवा मोर्चा ने इस निर्णय को जनता की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला बताया।

इस अवसर पर नगर अध्यक्ष विकास वर्मा ने बताया कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में मूल्यवृद्धि से जहां एक और यातायात के साधनों में किराए में वृद्धि होगी, वही सभी प्रकार की बुनियादी सामग्रियों की मूल्यवृद्धि ट्रांसपोर्टिंग के दर बढऩे के कारण हो जाएगी। इस निर्णय से जनता की कमर टूट जाएगी और प्रदेश में जिस प्रकार आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है उसी प्रकार महंगाई रूपी राक्षस भी जनता के सामने मुंह उठाकर खड़ी रहेगी। जिला महामंत्री मनोज कंसारी ने कहा कि वर्ष 2018 में केंद्र और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से 5 रुपए की कीमतों का छूट आम जनता को मिला था, जिससे निश्चित रूप से महंगाई पर नियंत्रण रहा। वर्तमान परिदृश्य में जो मूल्य वृद्धि हो रही है उससे निश्चित रूप से मध्यम वर्गीय परिवार व गरीब परिवार दुखी है।

जिला महामंत्री संजय सोनी ने कहा की युवा मोर्चा इस प्रकार की तुगलकी नीतियों के विरुद्ध जमीन पर संघर्ष करने के लिए तत्पर है और जब जब ऐसे निर्णय प्रदेश सरकार द्वारा जनता के ऊपर जाएंगे तब तब जनता के हितों के लिए भारतीय जनता युवा मोर्चा पहली पंक्ति में खड़ा मिलेगा।इस अवसर पर भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष दीपक सिंह तोमर, जिला मंत्री गौतम विश्वकर्मा, अभिषेक प्रताप सिंह देव, विकास गुप्ता, सानू कश्यप, विपिन पांडे, वेदांत तिवारी, गोलू यादव, वीर सोनी, रोहित सिंह राजपूत नवजोत सिंह पदम लालू केसरी विवेक सिंह दिव्यांशु केसरी सहित अन्य कार्यकर्ता पदाधिकारी उपस्थित रहे।

 


Date : 10-Aug-2019

गुमनाम कलाकारों को मंच देगा नागपुरी एसोसिएशन का टैलेंट हंट- पीयूष 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अंबिकापुर, 10 अगस्त।
नागपुरी एसोसिएशन छत्तीसगढ़ सहित सरगुजा जिले के गुमनाम कलाकारों को टैलेंट हंट के माध्यम से मंच देगा।स्थानीय भाषा संस्कृति और कला के विकास के लिए छत्तीसगढ़ नागपुरी कल्चरल एसोसिएशन का गठन किया गया। संगठन का मुख्य उद्देश नागपुरी भाषा एवं संस्कृति से मिलते जुलते भाषाई कलाकारों लेखकों के साथ साथ वीडियो निर्माण के तकनीकी क्षेत्र में मौका एवं मंच उपलब्ध कराना है। उक्त बातें एसोसिएशन के पियूष कुजूर ने अंबिकापुर नगर के सरगुजा प्रेस क्लब में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।

श्री कुजूर ने आगे बताया कि छत्तीसगढ़ में कई कलाकार गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं उन्हें मंच देने की कोशिश की जा रही है।टैलेंट हंट कार्यक्रम में सरगुजा,छत्तीसगढ़ प्रदेश के अलावा असम,बंगाल, नेपाल व झारखंड के कलाकारों ने भी पंजीयन कराया है।आने वाले समय में मनोरंजन जगह कि नहीं समाज सेवा में भी हमारा एसोसिएशन काम करेगा।कला को निखारने एवं मौका देने के लिए 11 अगस्त को अंबिकापुर नगर के होटल मयूरा में एक ऑडिशन नागपुरी टैलेंट हंट के नाम से आयोजित किया जा रहा है।कार्यक्रम का उद्घाटन प्रात: 9 बजे छत्तीसगढ़ शासन में कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत की उपस्थिति में किया जाएगा।

टैलेंट हंट प्रतियोगिता में गायन,वादन,अभिनय व तकनीकी क्षेत्र में काम करने वाले एडिटर को अवसर प्रदान किया जाएगा।टॉप थ्री कलाकारों को पुरस्कृत करेंगे।नगद राशि का इसमें प्रावधान नहीं है लेकिन 40-48 चैनल के मालिक बैठे रहेंगे उन्हें किसी ना किसी प्रोजेक्ट में जगह मिलेगा।श्री कुजूर ने आगे बताया कि छालीवुड के दो बड़े डायरेक्टर व प्रोडूसर दीपक गुप्ता व भास्कर भी इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।यह दोनों जिसे पसंद कर लेंगे उन्हें बड़ा मौका मिलेगा।एसोसिएशन की टीम में इनूस कुजूर अध्यक्ष, श्रीमती जोया एक्का उपाध्यक्ष, आलोक खलखो सचिव, संजय सुरीला,जीवन सिंह,राजेश,प्रशांत टोप्पो , सलाहकार संरक्षक राजेश बाबू व चंदन दास शामिल हैं।


Date : 10-Aug-2019

सैनिक स्कूल के उपप्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल अरविंद का स्थानांतरण

अम्बिकापुर, 10 अगस्त। सैनिक स्कूल के उप-प्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल अरविन्द नौटियाल का स्थानांतरण हो गया है। उन्होंने सैनिक स्कूल अम्बिकापुर के उप-प्राचार्य के पद पर तीन वर्ष से अधिक का समय सफलतापूर्वक बिताया है। लेफ्टिनेंट कर्नल अरविन्द नौटियाल को सैनिक स्कूल अम्बिकापुर परिवार ने सैन्य परम्पराओं के अनुरूप शानदार समारोह के साथ विदाई दी।  उप-प्राचार्य के सम्मान में विशेष रात्रि भोज का आयोजन किया गया। इसके पूर्व सैनिक स्कूल के परिवारों और कर्मचारियों द्वारा स्टाफ क्लब के एक समारोह में उन्हें विदाई दी गई। उनके कार्यकाल और उपलब्धियों का लेखा-जोखा प्रस्तुत करते हुए उनके योगदान को याद किया। 

नवपदस्थ प्रशासनिक अधिकारी मेजर एस रोलेन्ड सिंह तथा अगले उप-प्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसून कांति गोस्वामी की उपस्थिति में सैनिक स्कूल के प्राचार्य कर्नल जितेन्द्र डोगरा ने लेफ्टिनेंट कर्नल नौटियाल को एक सक्षम और अनुशासित अधिकारी बताया और उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएँ दीं। 

इस दौरान स्कूल के प्राचार्य कर्नल जितेन्द्र डोगरा ,नवपदस्थ प्रशासनिक अधिकारी मेजर एस रोलेन्ड सिंह तथा अगले उप-ंप्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसून कांति गोस्वामी, सभी शिक्षकगण तथा प्रशासनिक कर्मचारीगण उपस्थित रहे।


Date : 10-Aug-2019

स्वास्थ्य मंत्री के बयान से मची हाय तौबा पर, कांग्रेस मीडिया सेल अध्यक्ष ने किया कटाक्ष

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 10 अगस्त।
केन्द्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से धारा 35ए एवं 370 हटाने को लेकर प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा स्वास्थ्य मंत्री के आये बयान पर सोशल मिडिया में मची हाय-तौबा पर कटाक्ष करते हुए मिडिया सेल अध्यक्ष द्वितेन्द्र मिश्रा ने कहा है कि सोशल मिडिया पर तरह-तरह के कमेंट्स, बजरंग दल द्वारा विरोध प्रदर्शित करना दिमागी दिवालियापन से ज्यादा कुछ नहीं है। मिडिया सेल अध्यक्ष द्वितेन्द्र मिश्रा ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि पंचायत मंत्री सिंह देव ने धारा 370 एवं 35ए हटाने का विरोध नहीं किया बल्कि उस की आड़ में जिस तरह से जम्मू-कश्मीर का विभाजन किया गया उससे असहमति व्यक्त किया है तथा उसे असंवैधानिक करार देते हुए इसे लोकतंत्र की हत्या निरूपित किया है। 

श्री मिश्रा ने बताया कि पंचायत मंत्री ने अपने बयान में कहा है कि इससे पूर्व उत्तरप्रदेश-उत्तराखण्ड,म.प्र.-छत्तीसढ़,बिहार-झारखण्ड,आंध्रप्रदेश-तेलांगाना का विभाजन हुआ, वहां जो मान्य संवैधानिक प्रक्रिया है उसका पालन करके राज्यों का विखण्डन किया गया,किन्तु जिस तरह से जम्मू कश्मीर का विभाजन किया। वहां पहले राष्ट्रपति शासन लगाना फिर भंग विधानसभा के दौरान संसद में सारी शक्तियां निहित मानते हुए राज्य के विखण्डन का बिल पास कराना और स्वयंभू की तरह घोषित करना कि एक क्षेत्र विधानसभा विहीन केन्द्र शसित प्रदेश रहेगा,दूसरा असेम्बली के साथ केन्द्र प्रशासित रहेगा। यह सब लोकतंत्र की हत्या नहीं है तो और क्या है? पुन: इस बात पर बल देते हुए पंचायत मंत्री ने अपने बयान में कहा था कि भाजपा और उससे जुड़े लोग आमजनों का ध्यान भटकाना बखूबी जानते हैं।भाजपा की जम्मू-कश्मीर की राजनैतिक स्थिति क्या है? हमेशा से जम्मू क्षेत्र से भाजपा का प्रतिनिधित्व रहा है, किन्तु घाटी तथा लेह लद्दाख के क्षेत्र में गैर भाजपा का प्रतिनिधित्व रहा है,उसे धारा 370 एवं 35ए हटाने के नाम पर अलग कर दिया। 

   जम्मू-कश्मीर के भारत में विलय के साथ तत्कालीन राजा ने कुछ शर्ते रखी थी और उसे पं. नेहरू, वी.के. मेनन, सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसी विभूतियों ने मान्य किया था। 

आज जम्मूकश्मीर विधानसभा की सहमति के बिना अर्थात् वहां के लोगों की राय लिये बगैर राज्य को दो टुकड़ों में बांटना किस आधार पर उचित है, इसे ही बजरंग दल और भाजपा के लोग समझा दें। राष्ट्रवाद के नाम पर राष्ट्र के संघीय ढांचें की बुनियाद हिला देना कैसा राष्ट्रवाद है। 

इस तरीके से तो देश लोकतंत्र से हटकर तानाशाही की ओर बढ़ेगा और सत्ता में बैठे लोग अपनी मनमानी करने के लिये कोई भी तर्क देकर किसी भी राज्य को खण्डित कर देंगे और राष्ट्रवाद के नाम पर माफी मांगने को कहेंगे,विरोध करेंगे। वास्तव में भारत किस दिशा में बढ़ रहा है, यह चिंता का विषय है।

 


Date : 10-Aug-2019

मेडिकल कॉलेज अस्पताल के वाहनों की होगी डेलीबेसिस पर मॉनिटरिंग

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
अम्बिकापुर, 10 अगस्त।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री टीएस सिंहदेव ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज अस्पताल सभाकक्ष में बैठक लेकर व्यवस्थाओं के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने मेडिकल कॉलेज अस्पताल के वाहनों के परिचालन के लिए डेलीवेसिस पर मॉनिटरिंग करने हेतु वाहन प्रभारी को आवश्यक तैयारी कर पूरी निगरानी करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर नगर निगम के सभापति शफी अहमद,डिप्टी मेयर अजय अग्रवाल, विधायक प्रतिनिधि बालकृष्ण पाठक,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ् पीएस  सिसोदिया,अस्पताल अधीक्षक डॉ आरके दास सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। 

 स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मरीजों एवं उनके परिजनों को समय पर एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध नहीं होती है,जिससे उन्हें ज्यादा राशि खर्च कर निजी वाहनों के उपयोग की मजबूरी होती है। उन्होंने कहा अस्पताल में उपलब्ध एम्बुलेंस एवं शव वाहनों के प्रतिदिन परिचालन तथा रिफरल की जानकारी के साथ ही वाहन खराब होने पर कितने दिन गैरेज में रही, इन सब की जानकारी हेतु रजिस्टर संधारित करें। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों द्वारा मरीजों को उपचार के लिए जिस अस्पताल के लिए रिफर किया जाता है,एम्बुलेंस चालक उसे सीधे उन्हीं अस्पतालों में लें जाएं। श्री सिंहदेव ने वाहन चालकों द्वारा वाहन के संबंध में भ्रामक जानकारी देने को गंभीरता से लेते हुए कहा कि वाहन चालक वाहन की सही स्थिति एवं न्याय संगत तर्कां के साथ जानकारी दें।

 श्री सिंहदेव ने कहा कि लैबटेक्निशियन विभिन्न प्रकार के जांच हेतु सैंपल कलेक्शन के लिए सीधे सैंपल कलेक्ट करने वाले कर्मचारी को ही जिम्मेदारी सौंपे,ताकि सैंपल कलेक्शन के बाद जांच के लिए अनावश्यक समय न लगे। उन्होंने कहा कि तकनीकी कर्मचारी एवं नर्सिंग स्टॉफ आपस में समन्वय कर लोगों को बेहतर सुविधा देने का लक्ष्य रखें। किसी भी प्रकार की दबाव अथवा डर का माहौल निर्मित न होने दें। अपने काम को बेहतर ढंग से निष्पादन करने पर विश्वास रखें। 

 स्वास्थ्य मंत्री ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल में नर्सिंग स्टॉफ, एएनएम के पदों के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए पूर्व में स्वीकृत 166 पदों पर शीघ्र भर्ती करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगले 25 दिन में भर्ती की कार्यवाही प्रारंभ करते हुए संबंधित कर्मचारियों को शीघ्रता से पदस्थ करें।

ब्लड डोनेशन के समय ब्लड डोनेट कराने वालों से प्रोसेस शुल्क लिए जाने के संबंध में स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि ब्लड डोनेशन के लिए भविष्य में किसी भी प्रकार की प्रोसेस शुल्क न लिया जाए। उन्होंने कहा कि ब्लड डोनेशन एक स्वैच्छिक एवं पुनित कार्य है।  

इस अवसर पर नगर निगम के सभापति शफी अहमदए डिप्टी मेयर श्री अजय अग्रवालए विधायक प्रतिनिधि श्री बालकृष्ण पाठकए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पी.एस. सिसोदिया अस्पताल अधीक्षक डॉ. आर. के. दास सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।  


Date : 10-Aug-2019

कुसमी : विश्व आदिवासी दिवस पर विविध आयोजन
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
कुसमी,10 अगस्त।
विश्व आदिवासी दिवस पर विशाल आदिवासी सम्मेलन हाईस्कूल खेल मैदान में सम्पन्न हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक चिंतामणी महाराज रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ महापुरुषों के छायाचित्र में दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर किया गया। इस अवसर पर समाज प्रमुखों को सम्मानित किया गया। 

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधायक चिंतामणी महाराज ने क्षेत्रीय भाषा में संबोधित करते हुए कहा कि अपन जिम्मेदारी के ईमानदारी से निभाना हिक समाज के आगे बढ़ाना हिक। कार्यक्रम प्रभारी राजेन्द्र भगत ने शिक्षा के प्रति सभी को जागरूक और संगठित होने को कहा जिससे आने वाली पीढ़ी में सुधार हो सके। नगर पंचायत अध्यक्ष विनोद राम, खसरू राम बुनकर ने  आदिवासियों के संवैधानिक अधिकारों के संबंध में अपने विचार रखे।

देवधन भगत ने कहा कि आदिवासी यहां के मूल निवासी हैं फिर भी अपने अधिकारें के लिए वर्षों से लड़ते आ रहे हैं, जबकि संविधान में आदिवासियों के हितों के रक्षा के लिए सबसे ज्यादा अनुच्छेद है।  

 कार्यक्रम में स्कूली बच्चों व झारखंड से आए कलाकारों द्वारा रंगारंग नृत्य-संगीत की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम का संचालन क्रीड़ा अधिकारी राजेश्वर भगत द्वारा किया गया।  कार्यक्रम के उपरांत हाईस्कूल मैदान से रैली निकलकर मुख्य मार्ग होते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचकर नायब तहसीलदार रामराज सिंह को राज्यपाल ने नाम मांगो को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। कार्यक्रम में जनपद अध्यक्षा हीरामुनी निकुंज, नगर पंचायत अध्यक्ष विनोद राम, बहादुर राम, राजेश्वर भगत, पार्षद धिरजन राम, रामचंद्र राम, फ़ादर सुधीर, बिहारी कुजुर, जितेंद्र एक्का, सौरभ कुमार, उत्पल भगत, संदीप कुमार, मुनेश्वर राम, दीपक बुनकर सहित ग्रामीण उपस्थित रहे। 

नाराज होकर चले गए विधायक
कार्यक्रम के बीच में सामरी विधायक चिंतामणी महाराज ने कम शब्दों में आदिवासी दिवस की सभी को शुभकामनाएं दी। जिसके बाद ज्ञापन सौंपने से पहले ही किसी बात से नाराज होकर विधायक मंच से उठ कर अपने वाहन से बैठकर जाने लगे। मीडिया से दो टूक बातों में विधायक ने कहा कि इस तरह के आयोजन में समाज हित की बातों की चर्चा नहीं हो तो कार्यक्रम का उद्देश्य अधूरा रह जाता हैं। समाज के कुछ लोगों से इस संदर्भ में बात किए जाने पर उन्होंने बताया कि ऐसी कोई बात नहीं है। नजरिये का फर्क है। किसी भी कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए कई संघर्षों से गुजरना पड़ता है।


Date : 10-Aug-2019

बोल बम के नारे के साथ निकले कांवरिए, कैलाश गुफा में चढ़ाएंगे जल

कुुसमी, 10 अगस्त। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी जशपुर जिला में स्थित  कैलाश गुफा धाम में कुसमी सहित आस-पास क्षेत्र के हजारों कंावरियों का जत्था कुसमी विकास खंड के ग्राम डूमरपाठ बेनगंगा नदी का जल लेकर शुक्रवार को निकला।

सैंकड़ों की संख्या में बोल-बेम के नारों के साथ कांवरिए कुसमी में कांवर लेकर पहुँचे। शिव चौक कुसमी पहुंचते ही सैकड़ों कांवरियों को हिंदू युवा मंच के कार्यकर्ताओं ने पुष्प वर्षा के साथ स्वागत किया। यहां से कावरियों का जत्था सीधा सरस्वती शिशु मंदिर कुसमी पहुँचा। जहां पर भोजन व्यवस्था थी। कांवरियों को भोजन व फल वितरण किया गया। 

काँवरिया कुसमी से 20 किमी दुर रात को ग्राम डीपाडीह में भोजन के बाद विश्राम कर आज सुबह भगवतपुर पहुंचें। जहंा से नाश्ता कर पंडऱापाठ में भोजन के बाद कैलाश गुफा में रात्रि विश्राम कर सुबह रविवार को जल चढ़ा कर सुख समृद्धि की कामना करेंगे।