छत्तीसगढ़ » दुर्ग

Date : 10-Aug-2019

एक दिवसीय प्रशिक्षण में कार्यपालन सहायक एवं कनिष्ठ अभियंताओं को ऊर्जा मित्र ऐप के माध्यम से दी गई 
ट्रिपिंग इंटरशन की जानकारी

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 10 अगस्त। 
छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी लिमिटेड दुर्ग क्षेत्र के क्षेत्रीय मुख्यालय में दुर्ग क्षेत्र के कार्यपालन सहायक एवं कनिष्ठ अभियंताओं को एनर्जी ऑडिट, एकीकृत ऊर्जा विकास योजनाए ऊर्जा मित्र ऐप एवं रियल टाइम डाटा एक्वीजीशन सिस्टम पर जागरूकता विषय को लेकर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ। छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर कंपनी लिमिटेड दुर्ग क्षेत्र के कार्यपालक निदेशक अशोक कुमार के मार्गदर्शन में ऊर्जा सूचना प्रौद्यौगिकी केन्द्र रायपुर से आये आईटी विशेषज्ञों ने इस विषय पर महत्वपूर्ण जानकारी दी। विशेषज्ञों ने बताया कि एकीकृत ऊर्जा विकास योजना को प्रदेश में 160 स्थानों में लागू किया गया है। दुर्ग क्षेत्र के अंतर्गत भी इस योजना के तहत कार्य किये जा चुके हैं। 

उन्होंने रिस्ट्रक्चर्ड एक्सलरेटिड पॉवर डिवेलपमेंट एवं रिफॉर्म प्रोग्राम के तहत सब स्टेशन, फीडर और ट्रांसफार्मर वाइज उपभोक्ताओं का डाटा कलेक्शन कर इंडेक्सिंग के ऑनलाइन प्रोग्रामिंग के बारे में जानकारी दी। ऊर्जा मित्र ऐप के माध्यम से ट्रिपिंग इण्टरशन उसके कारण और कितनी देर में बिजली आपूर्ति बहाल होगी इन सब की जानकारी उपभोक्ताओं को उनके मोबाइल नंबर पर मिल जाएगी। इसके लिए संबधित क्षेत्र के उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर अपलोडिंग करने की प्रक्रिया को बताया गया। विशेषज्ञों ने कंपनी के इंटरनेट प्रणाली में ऐप के माध्यम से वितरण केन्द्र स्तर में किये जाने वाले विभागीय कार्यों को विस्तारपूर्वक संपादित करने के उपाय सुझाए। उन्होंने एनर्जी ऑडिट, एकीकृत ऊर्जा विकास योजना के तहत शहरों के मानचित्र निर्माण, आरएपीडीआरपी एवं रियल टाइम डाटा एक्वीजीशन सिस्टम के लिए सबस्टेशन एवं फीडरों की जानकारी प्रदान की। 

 


Date : 10-Aug-2019

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर आंगनबाड़ी और निजी स्कूल के बच्चों को खिलाई कृमिनाशक दवा 

उतई, 10 अगस्त। बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण में सुधार के लिए राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर गुरुवार को स्कूलों में कृमि मुक्ति अभियान चलाया गया। उतई संकुल के स्कूलों में एक से 14 वर्ष तक के बालक-बालिकाओं को कृमिनाशक दवा 'एल्बेंडाजॉल' खिलाया गया। आंगनबाड़ी और निजी स्कूल के बच्चों को भी कृमिनाशक दवा दी गई।

 शिक्षकों द्वारा स्कूलों में 6 से 19 साल के सभी बच्चों को दवाई खिलाई गई। आंगनबाड़ी में पंजीकृत एक से 5 साल के सभी बच्चों के साथ ही एक से 19 वर्ष तक के गैर-पंजीकृत, स्कूल न जाने वाले बच्चों को भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा दवाई खिलाई गई। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर दवाई खाने से छूटे हुए बच्चों को मॉप-अप दिवस 16 अगस्त को दवाई खिलाई जाएगी। 

संकुल समन्वयक सांवत राम साहू ने बताया कि कृमि मनुष्यों के ऊतकों से भोजन लेते हैं, जिससे बच्चों में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। कुपोषण से बौद्धिक और शारीरिक विकास पर खासा असर पड़ता है। खून की कमी से एनीमिया हो सकता है। स्वास्थ्यगत परेशानियों से स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति भी प्रभावित होती है। कृमिनाशक दवा 'एल्बेंडाजॉलÓ बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए एक सुरक्षित दवाई है। 

उन्होंने बताया कि गुरुवार को क्षेत्र के स्कूलों में कुल आठ हजार बच्चों को दवाई खिलाई गई। प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक शाला जोरातराई में 160, डुंडेरा में 1059, उतई में 2705, डुमरडीह में 305, खोपली में 622, घुघसीडीह में 228, मचांदूर में 487, कातरो में 622, बोरीगारका में 175, पुरई 611, उमरपोटी में 485, पाऊवारा में 495, चिरपोटी में 175, रिसामा में 239, नेवई में 300, मरोदा में 385 बच्चों को दवाई दी गई। शेष बच्चों को 16 अगस्त को दवाई खिलाई जाएगी। 


Date : 10-Aug-2019

राष्ट्रीय कृमि दिवस के अवसर पर सरकारी स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को एलबेंडाजाल दवा खिलाई 
दुर्ग, 10 अगस्त।
राष्ट्रीय कृमि दिवस के अवसर पर गुरुवार को सभी सरकारी स्कूल, आंगनबाड़ी केंद्रों, आंगनबाड़ी केंद्रों, निजी स्कूलों, कालेजों में प्रथम वर्ष में पढऩे वाले बच्चों आदि को एलबेंडाजाल गोली का सेवन कराया गया। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों, स्कूल के शिक्षकों, मितानिनों आदि का विशेष सहयोग रहा। गुरुवार को जिले भर में 1 वर्ष से लेकर 19 वर्ष तक की आयु के बच्चों को स्कूलों सहित अन्य केंद्रों में दवाई खिलाई गई। बच्चों के पेट में कीड़े होने के कारण उनके शरीर में खून की कमी और कुपोषित होने की शिकायत होने लगती है। इसे दूर करने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा साल में दो बार बच्चों को एलवेंडाजाल गोली खिलाई जा रही है। जिला मुख्यालय के कसारीडीह प्राथमिक शाला दुर्ग में विधायक शहर दुर्ग अरूण वोरा द्वारा बच्चों को एल्बेंडाजॉल गोली का सेवन कराकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया

। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर, जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. सुदामा चन्द्राकर व डॉ. आर. के. खण्डेलवाल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री पियूली मजूमदार एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। 

 


Date : 09-Aug-2019

हिन्दी फिल्म एक्स प्रेमी की भिलाई में शूटिंग शुरू

भिलाई नगर, 9 अगस्त। शाईन स्टार फिल्म्स के बैनर तले भिलाई में बनने वाली हिन्दी फिल्म एक्स प्रेमी का मुहुर्त स्टेशन मरौदा में स्थित बीएसपी डेम के समीप बैकुण्ठ धाम शिव-पार्वती, राम, हनुमान मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना के साथ सम्पन्न हुआ। इस दौरान फिल्म के निर्देशक प्रदीप चटर्जी, कलाकार विनायक अग्रव, प्रदीप शर्मा ने क्लिप दिखाकर फिल्म की शूटिंग का शुभारंभ किया। 

डेम के पास स्थित जंगल में एक सीन की शूटिंग की गई जिसको फिल्म की नायिका मिनाक्षी पराते, नायक विक्की शर्मा, खलनायक प्रदीप शर्मा, सुब्रत शर्मा, शमशीर सिवानी, अखिलेश वर्मा, तेजराम साहू, चन्द्रभूषण बंजारे, प्रमोद ताम्रकार, शमशेर खान, तनवीर अहमद खान पर फिल्माया गया। शमशीर सिवानी पहली बार इस फिल्म में निगेटिव रोल कर रहे हैं। फिल्म की कथा, पटकथा और संवाद प्रदीप चटर्जी का ही है। प्रोडक्शन कंट्रोलर सीमा साहू हैं। प्रदीप चटर्जी ने बताया कि भिलाईवासी द्वारा पहली बार हिन्दी फिल्म एक्स प्रेमी का निर्माण किया जा रहा है। इस फिल्म में बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता शक्ति कपूर एवं रजा मुराद सहित कोलकाता की अभिनेत्री मौसमी कर, बोरी सेनगुप्ता सहित कई लोग अभिनय कर रहे है। भिलाई दुर्ग के कलाकारों के अलावा यहां के नवोदित कलाकारों को भी बड़ी संख्या में अभिनय के लिए चयन किया गया है। अन्य कलाकारों में सुधा जांगड़ेे, सुमन कोसरे, अनिता उपाध्याय, अनिता साहू, अनिता यादव, लवली, सीमा साहू, आया साहू, सुलेखा शामिल हैं। 


Date : 09-Aug-2019

आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने 77 एमएलडी फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने 77 एमएलडी फिल्टर प्लांट का निरीक्षण किया। उन्होंने जल शुद्धीकरण से लेकर पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त की। पेयजल जैसी आवश्यक सुविधाओं को देखते हुए 77 एमएलडी फिल्टर प्लांट का निरीक्षण निगमायुक्त द्वारा किया गया। अमृत मिशन अंतर्गत 66 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य अंतिम चरण की ओर है जो कि 77 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के समीप स्थापित किया गया है। निगम भिलाई द्वारा पेयजल की व्यवस्था को दुरुस्त करने हेतु 10 उच्चस्तरीय जलागार का निर्माण किया जा रहा है जिसमें 3 टंकियों का निर्माण कार्य पुरैना ,डूंडेरा एवं छावनी शामिल है, का कार्य अंतिम चरण में है। 6 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण मोरीद में किया जा रहा है। स्वच्छ वाहनी पाइप लाइन का कार्य मिशन अमृत योजना अंतर्गत किया जा रहा है जो कि वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से उच्च स्तरीय जलागार/टंकी तक पानी पहुंचाने के लिए तथा वितरण पाइपलाइन जोकि टंकी से घरों तक पानीपहुंचाने का काम करेगी। विद्युत कार्य एवं मोटर पंप आदि के लिए अतिरिक्त एजेंसी को नियुक्त किया गया है जो विद्युत से संबंधित कार्य कर रही है।

10  टंकियों के अलावा दो अतिरिक्त उच्चस्तरीय टंकी का निर्माण किया जाएगा जो कि कुरूद एवं खमरिया के लोगों को जलापूर्ति प्रदान करेगा जिसका कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। वर्तमान में 8 टंकियों के माध्यम से जलापूर्ति की जा रही है। 12 टंकियों का निर्माण और किया जा रहा है निर्माण होने बाद नगर निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत कुल 20 टंकियों से जलापूर्ति की जावेगी। आयुक्त ने समय पर गुणवत्ता पूर्वक कार्य करने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त ने जल शोधन यंत्र के निरीक्षण पश्चात जीइ रोड स्थित जिम उद्यान,राशिउद्यान, खेल उद्यान एवं योग उद्यान का भी निरीक्षण किया साफ सफाई के साथ-साथ चौपाटी के स्वरूप में तब्दील करने के लिए कार्य योजना तैयार करने जोन आयुक्त जोन क्रमांक 1 को निर्देश दिए। आयुक्त रघुवंशी के निरीक्षण के दौरान सहायक अभियंता बृजेश श्रीवास्तव, उप अभियंता अर्पित बंजारे, प्रभारी उप अभियंता बसंत साहू सहित निगम के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

 


Date : 09-Aug-2019

आयुष्मान कार्ड बनाने में लेटलतीफी की शिकायत पर सांसद बघेल की पहल
छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
सांसद विजय बघेल ने दिल्ली से लौटते ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के प्रति अपनी संजीदगी दिखाई है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को केन्द्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के क्रियान्वयन और प्रगति की जानकारी ली। आम लोगों में उभर रही असमंजस की स्थिति पर उन्होंने कहा कि बीमार होने पर चिह्नित अस्पताल में भर्ती के समय भी आयुष्मान भारत का कार्ड बनाया जा सकता है।

श्री बघेल को आयुष्मान भारत योजना के तहत बनाए जाने वाले स्मार्ट कार्ड में लेटलतीफी की शिकायत मिली है, उन्होंने दुर्ग जिले में आयुष्मान भारत योजना के क्रियान्वयन के लिए नियुक्त संविदा अधिकारी देवेश त्रिवेदी से दूरभाष पर चर्चा की। चर्चा के आधार पर सांसद बघेल ने बताया कि सभी शासकीय अस्पताल तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आयुष्मान भारत योजना का कार्ड बनाया जा रहा है। हितग्राहियों की भीड़ अधिक होने के कारण इसमें समय लग रहा है, लेकिन बीमारी की स्थिति में चिह्नित अस्पतालों में तैनात अधिकृत बीमा कंपनी के ऑपरेटर परिवार के सदस्य का तत्काल आयुष्मान कार्ड बना देंगे। इस योजना के तहत अधिकतम 5 लाख रुपए तक की उपचार सुविधा नि:शुल्क उपलब्घ हो जाएगी। इस दौरान सभी सदस्यों का आधार कार्ड, राशन कार्ड, स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बना पुराना स्मार्ट कार्ड प्रस्तुत करना होगा। सांसद बघेल ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ उन्हीं परिवारों को दिया जाना है जिनका नाम वर्ष 2011 की बीपीएल सर्वे सूची में शामिल है।

शेष परिवार साल भर में 50 हजार रुपए तक नि:शुल्क चिकित्सा लाभ प्राप्त करने स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत स्मार्ट कार्ड प्राप्त करने के हकदार होंगे। सांसद बघेल ने बताया कि दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में आयुष्मान भारत योजना के लिए चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हास्पिटल, चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज, दीक्षित क्लीनिक एवं नर्सिंग होम दुर्ग, एसआर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, साईं बाबा आई हास्पिटल, शैलेष वर्मा मेमोरियल हास्पिटल, श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज, वर्धमान हॉस्पिटल दुर्ग व बेमेतरा स्थित प्रभा नर्सिंग होम चिन्हित है।

 


Date : 09-Aug-2019

मिलिट्री स्कूल के नाम पर छले जा रहे हैं पैरेन्टस, अपराध दर्ज करने की मांग
छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल द्वारा राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग दिल्ली, सीबीएसई दिल्ली, कलेक्टर दुर्ग, डीईओ दुर्ग, छत्तीसगढ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर से लिखित शिकायत कर यह जानकारी दी है कि कॉफ्लुयन्स एकेडमी नगपुरा-दुर्ग में बच्चों के साथ जान-बुझकर धोखाधड़ी की जा रही है। मिलिट्री स्कूल और सीबीएसई एफिलेशन होने की जानकारी देकर बच्चों को प्रवेश दिया गया। बच्चों को कॉफ्लुयन्स मिलिट्री एकेडमी के नाम से टीसी और रिजल्ट दिया जा रहा है, जबकि शिक्षा विभाग, दुर्ग और छग राज्य माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर के द्वारा उन्हें कॉफ्लुयन्स एकेडमी के नाम से स्कूल संचालित करने और बोर्ड की मान्यता दी गयी है और यह मिलिट्री स्कूल नहीं है और न ही इस स्कूल को सीबीएसई एफिलेशन प्राप्त है, लेकिन स्कूल संस्था के द्वारा गलत नाम से स्कूल संचालति करते हुये बच्चों से करोड़ों रूपये फीस वसूली गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूल के संचालकगणों और प्राचार्य के द्वारा किये गये अपराध गंभीर प्रकृति के है। इसलिये पीडि़त पालकों ने भी कलेक्टर दुर्ग से लिखित शिकायत कर कॉफ्लुयन्स एकेडमी के संचालकगणों और प्राचार्य के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करने की मांग की गई है।

मिलिट्री शब्द का उपयोग कर पालकों और बच्चों को गुमराह कर स्कूल ने अब तक करोड़ों कमाया है। शिक्षा विभाग के द्वारा बीते वर्ष ही स्कूल को मिलिट्री शब्द का उपयोग नहीं करने की हिदायत दी गई थी, लेकिन स्कूल ने ऐसा नहीं किया, जबकि स्कूल को इसी शर्त में कॉफ्लुयन्स एकेडमी के नाम से स्कूल संचालित करने और बोर्ड की मान्यता दी गई है कि स्कूल मिलिट्री शब्द का उपयोग नहीं करेगा। 

अब पैरेंट्स एसोसियेशन के साथ पीडि़त पालकों ने मिलकर मोर्चा खोल दिया है और
सचांलकगणों और प्राचार्य के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करने मांग की गई है।


Date : 09-Aug-2019

विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन प्रांतीय सम्मेलन व चुनाव

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 9 अगस्त।
छग राज्य विद्युत कर्मचारी जनता यूनियन का 13वां वार्षिक सम्मेलन छग विद्युत कालोनी कोरबा स्थित जूनियर क्लब में रविवार को आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्रतिनिधि शामिल हुए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में अखिल भारतीय विद्युत कामगार महासंघ के महासचिव मोहन शर्मा व विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रखर समाजवादी विचारक एवं कृषि वैज्ञानिक आनंद मिश्रा, किसान नेता व विचारक नंद कश्यप उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संगठन के प्रांताध्यक्ष सीके खांडे ने किया। 

प्रांतीय महासचिव अजय बाबर ने अपने प्रतिवेदन रखा। श्री शर्मा ने बताया कि पहले बिजली सुधार बिल 2014 को संसद में पारित कराना चाह रही थी, विभिन्न राज्यों के उर्जा मंत्री के साथ तत्कालीन केंद्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल के साथ कोच्चिन में बैठक हुई थी। राज्यों के उर्जा के विरोध के बाद गोयल इस बिल को संसद में नहीं लाए इसी बिल को केंद्र सरकार बिजली सुधार संशोधन बिल 2018 के रुप में संसद में पेश करने की तैयारी में है। यह संशोधन बिल इतना घातक है कि बिजली क्षेत्र का निजीकरण हो जाएगा इससे बिजली महंगी होगी। सम्मेलन के द्वितीय सत्र में प्रदेश के सभी 11 रिजनों के अध्यक्षों द्वारा लाया गया प्रस्ताव पारित किया गया। राज्यों विद्युुत मंडल पुन: बहाल करने, समान पेंशन नीति लागू करने, राज्य सरकार औद्योगिक नीति मेहनतकश वर्ग को ध्यान में रखकर बनाए,  श्रम विरोधी श्रम संशोधन वापस लेने, संविदा कर्मियों को न्यूनतम वेतन 18000 रुपये करने, सुप्रीम कोर्ट निर्णय अनुसार समान काम समान वेतन मिले संविदा व आउटसोर्सिंग कर्मचारियों का नियमितीकरण करने, निजीकरण बंद करने, विद्युत सुधार बिल 2018 रद्द करने 10 रिक्त स्थानों पर नियमित भर्ती करने, इसी क्रम में दुर्ग क्षेत्र के जनता यूनियन के अध्यक्ष धर्मेंद्र श्रीवास्तव द्वारा उत्पाद इकाईयों का निर्माण सार्वजनिक क्षेत्र में करने की मांग का प्रस्ताव रखा। सम्मेलन में सेवानिवृत्त कर्मचारी सगीर ख्वाजा का सम्मान अध्यक्ष सीके खांडे एवं महासचिव अजय बाबर द्वारा शाल व श्रीफल से किया गया।

सम्मेलन के अंत में नई कार्यकारिणी का चुनाव किया गया इससे सीके खांडे को प्रांतीय अध्यक्ष तथा अजय बाबर को महासचिव बनाया गया। नई कार्यकारिणी में दुर्ग के बीएस चंदेल को प्रांतीय उपाध्यक्ष, जयंत हरदार को प्रांतीय सचिव, कृष्णा यादव को प्रांतीय संयुक्त सचिव, सहसचिव दशरथ ठाकुर तथा एमआई बेग को प्रांतीय संयुक्त संगठन सचिव घनाराम वर्मा प्रांतीय संयुक्त प्रचार सचिव बनाया गया। धर्मेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि दुर्ग क्षेत्र से सैकडों कर्मचारी सम्मेलन में अपना प्रतिनिधित्व दिये। दुर्ग के कर्मचारी बीएस चंदेल, भिलाई तीन के कर्मचारी आरके चटर्जी, जामुल के कर्मचारी हिंस राज पटेल, बेमेतरा के कर्मचारी आलोक शर्मा, पावर हाउस के कर्मचारी देवकुमार देशमुख तथा बालोद के कर्मचारी दशरथ ठाकुर के नेतृत्व में कर्मचारियों ने अपनी भागीदारी दी।


Date : 09-Aug-2019

रेल मिल में कैंटीन के ऊपर कर्मचारियों के लिए रेस्ट रूम बनाने की मांग

भिलाई नगर, 9 अगस्त। हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू की रेल मिलविभागीय समिति ने आज महाप्रबंधक रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल श्री सेनगुप्ता से मिलकर रेल मिल के मिल एरिया में निर्माणाधीन कैंटीन के ऊपर रेस्ट रूम बनवाने मांग की है। इस पर महाप्रबंधक श्री सेनगुप्ता ने सकारात्मक पहल का आश्वासन दिया है। ज्ञात हो कि सीटू के मान्यता कार्यकाल में कि लंबे प्रयास के बाद रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल के मिल एरिया में कैंटीन निर्माण का कार्य चल रहा है, इस कैंटीन को दो तल्ले का भार उठाने लायक बुनियाद पर निर्माण किया जा रहा है। रेल एवं स्ट्रक्चरल मिल के मिल एरिया में कर्मियों के आराम करने हेतु सर्व सुविधा युक्त रेस्ट रूम की कमी को लंबे समय से महसूस की जा रही है। सीटू का मानना है कि यदि निर्माणाधीन कैंटीन के ऊपर यदि रेस्ट रूम का निर्माण किया जाए तो निश्चित रूप से कम खर्चे में कर्मियों के आराम करने हेतु सर्व सुविधा युक्त उपयुक्त स्थान बन सकता है।

 


Date : 09-Aug-2019

एक मकान में सांप घुसने से मुल्लेवासियों में हड़कंप्प 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
नगर पालिक निगम, भिलाई-चरौदा क्षेत्रांतर्गत वार्ड-7, विश्व बैंक आवासीय कॉलोनी सेक्टर-1 के एक मकान में सांप घुसने से मुल्लेवासियों में हड़कंप्प मंच गया। वार्ड पार्षद दिलीप पटेल की सूचना पर सहायक स्वास्थ्य अधिकारी अश्वनी चन्द्रकार सहित लिंगेश्वर राव, सुरेश नासरे, श्यामता साहू, भीषम वर्मा पहुंचे और तत्काल सांप पकडऩे वाली टीेम को सूचित किया। 

चरौदा निवासी विजय शर्मा एवं साथियों द्वारा काफी मशक्कत के बाद सांप को बोरे में बंद कर उपयुक्त स्थान पर छोड़ा गया। सहायक स्वास्थ्य अधिकारी अश्वनी चन्द्रकार ने बताया कि निगम, भिलाई-चरौदा क्षेत्र में किन्हीं घरों में सांप इत्यादि दिखाई देने पर निगम के आलावा संजय शर्मा, मोबाईल नंबर-9770833346 पर तत्काल सूचित करने पर तत्काल टीम पहुँचेगी। 


Date : 09-Aug-2019

आयुक्त ने एसएलआरएम सेंटर का किया निरीक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
नगर पालिक निगम भिलाई चरौदा के आयुक्त कीर्तिमान सिंह राठौर ने गुरुवार नगर भम्रण के दौरान ठोस अपशिष्ट के निष्पादन की प्रक्रिया को समझने के लिये एसएलआरएम सेंटर का निरीक्षण किया। उपस्थित स्वच्छता दीदीयों से उन्होंने चर्चा की। सेंटर में एकत्रित सूखे कचरे को अलग-अलग कर उसका कौन कौन सा भाग विक्रय होता है एवं उस विक्रय से होने वाली आय पर स्वच्छता दीदीयों का अधिकार होता है कि जानकारी दीदीयों द्वारा दी गई। गीला कचरा से जैविक खाद बनाने के लिये प्रतिदिन कम्पोस्ड शेड भेजा जाता है। 

उस कचरे को पीट में डालकर गोबर का तरल डालकर खाद बनाया जाता है, खाद बनने के पश्चात् इसे निगम के उद्यानों में एवं आम नागरिको को विक्रय हेतु 2 किग्रा, 5 किग्रा, 10 किग्रा, 50 किग्रा के पैकेट में प्रति किग्रा 5 रूपये की दर से निगम कार्यालय में उपलब्ध कराया गया है।


Date : 09-Aug-2019

शकुंतला विद्यालय में अंतर शालेय प्रतिभा प्रतियोगिता, पंद्रह स्कूल के विद्यार्थियों ने लिया भाग

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
शकुंतला विद्यालय के आडोटोरियम में द्वि-दिवसीय अन्तर शालेय प्रतिभा प्रतियोगिता संपन्न हुई। जिसमें दुर्ग-भिलाई के लगभग 15 विद्यालयों के छात्र- छात्राओं ने भाग लिया। पहले दिन 7 अगस्त को आयोजित विषय एकाकी परिवार संयुक्त परिवार की अपेक्षा अधिक विकासशील होता है था। सदन में उपस्थित सदस्यों के बीच पूरी पारदर्शिता, सतर्कता से यह प्रतियोगिता गतिशील रहे इसके लिऐ बाह्य निर्णायकों शासकीय कॉलेज दुर्ग के प्राध्यापक डॉ. तापस मुखर्जी एवं सहायक प्राध्यापक पाटन कॉलेज शैलेश मिश्रा उपस्थित रहे।

पक्ष-विपक्ष के प्रतिभागियों ने अपनी सदस्यता-कोड के अनुसार निज-मत को दृढ-आत्मविश्वास के साथ प्रस्तुत किया और सटीक तर्क दिए। स्पर्धा की प्रक्रिया पूर्ण होने पर निर्णायक डॉ. तापस मुखर्जी एवं शैलेष मिश्रा ने परिणाम घोषित किया। विषय के पक्ष में डीपीएस रिसाली प्रथम स्थान राघव मिश्रा, रूंगटा पब्लिक स्कूल द्वितीय स्थान जैनिफर प्रसथ एवं तृतीय स्थान केपीएस सुंदर नगर सॉनवी भगतकर ने प्राप्त किया वहीं विपक्ष की शकुंतला विद्यालय रामनगर चंचल शर्मा ने प्रथम, बीएनएस सेक्टर-8 अंशिला एस नायर द्वितीय एवं शारदा विद्यालय रिसाली सेक्टर अलिशा कुरैशी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। 8 अगस्त को प्रतियोगिता के दूसरे दिन अन्तर शालेय देशभक्ति समूह गान प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें दुर्ग-भिलाई की 8 शालाओं के विद्यार्थियों ने मातृभूमि के यश-शौर्य, त्याग-बलिदान, ज्ञान-विज्ञान, विविधता में एकरसता की संस्कृति, वसुधैव कुटुम्बकम, तिरंगी शान और माटी के महक के भाव भरे गीतों की प्रस्तुति दी। युवामंच की ओजस्वी स्वर लहरियों ने जन-मन को आनंद विभोर कर दिया। प्रतिभागी दलों ने शकुन्तला विद्यालय की टेशू वर्मा एंड ग्रुप के विद्यार्थियों ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। इंदुआईटी के बीएच दिव्य एंड ग्रुप ने द्वितीय स्थान बनाया। शंकराचार्य विद्यालय की भावना साहू एंड ग्रुप ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। मंचासीन निर्णायकणय दीपेन्द्र हलधर, पीटी उल्लास और ब्रज दीपन दास गुप्ता ने निखरती प्रतिभाओं के कला-कौशल का सूक्ष्म निरीक्षण करते हुये उपरोक्त निर्णय दिये। शकुन्तला ग्रुप ऑफ स्कूल्स के डायरेक्टर संजय ओझा ने श्रेणी प्राप्त विजेताओं को नगद राशि पुरस्कार के साथ प्रतीक चिन्ह प्रदान किया। अन्य प्रतिभागियों का सकारात्मक अभिव्यक्ति से उत्साहवर्धन किया। संचालन श्रीमती रमिन्दर कौर ने किया। रविधर दीवान एवं श्रीमती सुनीता सक्सेना ने क्रमश: अतिथियों का आभार प्रदर्शन किया। प्राचार्य विपिन ओझा, एसएस गौतम(प्रा), प्राचार्या आरती मेहरा, मैनेजर ममता ओझा, व्ही दुबे, अभय दुबे, विभोर ओझा, उपप्राचार्या जी रंजना कुमार, अनिता नायर, हेड मिस्ट्रेस अर्चना मेश्राम, सीनियर मिस्ट्रेस बलजीत कौर, प्रभारी राजेश वर्मा एवं समस्त शिक्षक-शिक्षिकाओं ने प्रतिभागियों के प्रदर्शन को सराहा और शुभकामना देते हुए हर्ष व्यक्त किया।


Date : 09-Aug-2019

आयुक्त ने विकास कार्यों की ली समीक्षा बैठक
छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 9 अगस्त।
नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न विकास कार्यों, महत्वपूर्ण विषयों एवं प्रमुख मुद्दों के संबंध में विभाग वार समीक्षा बैठक आयुक्त ने ली। बैठक में सर्वप्रथम जोन आयुक्त के कार्यों की समीक्षा की गई जिसमें अप्रारंभ कार्य, प्रगतिरत कार्य,लोक सेवा गारंटी, पीएमओ, जनदर्शन, माननीय मुख्यमंत्री का जन चौपाल, पीजीएन के कार्यों को समय सीमा के भीतर करने तथा कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। राजस्व विभाग एवं स्थापना विभाग की समीक्षा की गई। 

श्री रघुवंशी ने राजस्व बढ़ाने को लेकर चर्चा की एवं स्पैरो कंपनी को वसूली के संबंध में 100 प्रतिशत लक्ष्य की प्राप्ति करने कहा साथ ही वसूली बढ़ाने के लिए राजस्व विभाग की पृथक से बैठक करने के निर्देश दिए। जोन आयुक्तों को निर्देशित करते हुए कहा कि बारिश मे समस्त नालों की सफाई का ध्यान रखें एवं जल जमाव की स्थिति न बने डेंगू नियंत्रण को लेकर सतर्कता एवं समन्वय बनाकर कार्य करें साथ ही डिस्ट्रीब्यूशन पाइपलाइन का कार्य जल्द ही पूर्ण हो जाना चाहिए कोई भी क्षेत्र वंचित न हो इसका ध्यान रखें। भवन अनुज्ञा विभाग के कार्यों की समीक्षा लेते हुए अनाधिकृत कॉलोनी के नियमितीकरण की प्रक्रिया के विषय में जानकारी लेते हुए कहा कि इसकी पूरी रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत करें ताकि कार्य में तेजी लाई जा सके। आयुक्त ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण की रैंकिंग में भिलाई को प्रथम पायदान पर लाना है इसके लिए पुरजोर मेहनत करें, समय पर स्वच्छ सर्वेक्षण से संबंधित सभी कार्य पूर्ण करें। बैठक में उपायुक्त  अशोक द्विवेदी एवं टीपी लहरें, अधीक्षण अभियंता आरके साहू एवं सत्येंद्र सिंह, समस्त जोन आयुक्त एवं विभाग प्रमुख सहित अन्य अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

 


Date : 09-Aug-2019

आत्महत्या में छग देश में चौथे नम्बर पर
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दुर्ग, 9 अगस्त।
राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) 2015 के आंकड़ों के अनुसार 27.7 प्रति 1 लाख व्यक्ति की दर से साथ छत्तीसगढ़ देश में सर्वाधिक आत्महत्या की दरों वाले राज्यों में से एक है। दो करोड़ साठ लाख की जनसंख्या वाले इस राज्य के जिले दुर्ग-भिलाईनगर में आत्महत्या की दर सर्वाधिक 34.9 प्रति 1 लाख व्यक्ति है, जो कि 10.6 के राष्ट्रीय औसत से भी अधिक है। भारत में इस समस्या की गंभीरता को इसी तथ्य से आंका जा सकता है। अधिकांश आत्महत्याएं या आत्महत्याओं के प्रयास 14-29 वर्ष के आयु वर्ग में दर्ज किए गए। आत्महत्या या आत्महत्या के प्रयास विभिन्न कारणों से किए जाते हैं। जैसे घरेलू समस्याएं, परीक्षाओं में असफलता या नशे की आदत, लेकिन शोधों में यह पाया गया है कि मीडिया में आत्महत्याओं पर आने वाली खबरें बाकी लोगों को उन तरीकों की नकल कर वैसा ही कदम उठाने के लिए प्रेरित करती हैं। इसे कापी कैट इफेक्ट कहा जाता है। उक्त जानकारी आत्महत्या की रिपोर्टिंग हेतु संवेदीकरण कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ सुश्री आरती धर ने दी।

आरती धर ने बताया कि एक ही समय में कई अलग-अलग चीजों के अचानक बिगड़ जाने से उत्पन्न हुई स्थिति परिणामस्वरूप आत्महत्या की घटनाओं को पैदा करती है। इसका कोई एक कारण नहीं होता है और न ही ये प्रवृत्ति किसी एक विशेष प्रकार के व्यक्ति में पाई जाती है। इसके जैविक कारण भी हो सकते हैं, जैसे आनुवांशिकी (जेनेटिक), पूर्वानुमानित कारण जैसे न्यूरोलॉजिकल विकार या नशे की आदत या अचानक उद्वेलित कर देने वाले अन्य कोई कारण जैसे निराशा, लोगों के बीच किसी कारणवश शर्मिंदगी या उसका भय होना, आत्महत्या के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले संसाधन तक पहुंच होना, कोई बड़ी असफलता या नुकसान होना।

अधिकांश रिपोर्टों के लिए ये न्यायोचित हो भी सकता है, लेकिन आत्महत्या पर रिपोर्ट लिखते समय ऐसे बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि ये पाठक पर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं। इसलिए इस बात का ध्यान देना भी जरूरी है कि शीर्षक सनसनीखेज न बनाए जाएं। शीर्षक में आत्महत्या शब्द को इस्तेमाल करने से बचा भी जा सकता है। जहां तक संभव हो रिपोर्ट में मृत व्यक्ति की फोटो का इस्तेमाल करने से बचें, रिपोर्ट को 

इस तरीके से लिखा जा सकता है कि उसमें इस्तेमाल किए गए तरीके के बारे में न बताया जाए और इसका खबर पर कोई प्रभाव भी न पड़े। आत्महत्या करने वाले व्यक्ति के परिवारजनों के प्रति संवेदनशीलता दिखायें और ये जानकारी दें कि आत्महत्या की प्रवृत्ति देखने पर कहां से मदद लें. आत्महत्या की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों में एक जरूरी पक्ष ये समझना भी है कि मीडियाकर्मी स्वयं भी आत्महत्या की ऐसी रिपोर्टों से प्रभावित हो सकते हैं। इस कार्यक्रम में प्रोग्राम अधिकारी रंजना द्विवेदी, मनोरोग चिकित्सक डॉ. आकांक्षा गुप्ता दानी, सीएमएचओ दुर्ग डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर, नोडल अधिकारी डॉ. आर.के. खंडेलवाल सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी कर्मी शामिल थे।


Date : 09-Aug-2019

साहित्यकार परगनिहा की पुण्यतिथि पर काव्य गोष्ठी

कुम्हारी, 9 अगस्त। प्रत्येक वर्ष की भंति इस वर्ष भी प्रसिद्ध साहित्यकार स्व. तिलक परगनिहा की 22 वीं पुण्यतिथि पर शिक्षक नगर स्थित उनके निवास में मनाई गई। आयोजन में प्रदेश भर से  साहित्यकार उपस्थित रहे।

ऋतंभरा साहित्य समिति के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम के प्रारंभ में स्व. तिलक की पत्नी सुनीता परगनिहा, बहन मीना वर्मा, डॉ. बीना सिंह, एवं कवयित्री शुचि भवि ने स्व. परगनिहा के चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध रंगकर्मी एवं दूरदर्शन प्रस्तोता महेश वर्मा थे। अध्यक्षता नारायण वर्मा ने की। कवि गोष्ठी के प्रारंभ हुई में डॉ. बीना सिंह द्वारा सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गई।

अंत में महेश वर्मा एवं सुनीता परगनिहा को उनकी साहित्यिक उपलब्धियों के लिए मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम समाप्ति के पूर्व उपस्थित सभी कवि साहित्यकारों ने दो मिनट का मौन रखकर स्व. परगनिहा को श्रद्धांजलि दी।  


Date : 09-Aug-2019

नगरपालिका परिषद में आयोजित शिविर में हितग्राहियों को नपाध्यक्ष ने किया पट्टा वितरण
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कुम्हारी, 9 अगस्त।
बुधवार को नगरपालिका परिषद में आयोजित शिविर में हितग्राहियों को नगरपालिकाध्यक्ष स्वप्निल उपाध्याय द्वारा पट्टा वितरित किया गया। नगरपालिका परिषद कुम्हारी क्षेत्र के 58  हितग्राही इस हेतु पात्र पाए गए। पट्टा लेने वालों में 48  हितग्राही ही शिविर में उपस्थित रहे। शेष 10 हितग्राही शिविर में उपस्थित नहीं रहे।  इस मौके पर नगरपालिकाध्यक्ष ने कहा की मुझे इस बात की खुशी है की गरीब भूमिहीनों को उनका अधिकार मिला। निकट भविष्य में शासन की अन्य योजनाओं का लाभ भी आप लोगों को मिलेगा। 

शिविर में अनुविभागीय अधिकारी (रा.) धमधा के पंचभोई, मुख्यनगरपालिका अधिकारी के.डी. चन्द्राकर, पार्षद शान्ति टण्डन, उमा शुक्ला, थनेश पटेल, राजेश्वर सोनकर, जोगी साहू एवं योगेश्वर पटेल सहित नगरपालिका के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।


Date : 09-Aug-2019

शंकर नाला निर्माण का आयुक्त ने लिया जायजा

दुर्ग, 9 अगस्त। निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने निगम अधिकारियों के साथ शंकर नाला निर्माण कार्य का जायजा लिया गया। उन्होंने विभिन्न स्थान और मौके पर जाकर शंकर नाला की स्थिति का निरीक्षण किया। मौकों का निरीक्षण कर उन्होंने अधिकारियों से निर्माण में समस्या की जानकारी ली। भ्रमण के दौरान कार्यपालन अभियंता मोहनपुरी गोस्वामी, सहा. अभियंता जगदीश केशरवानी, जितेन्द्र समैया, उपअभियंता एआर रहंगडाले व अन्य उपस्थित थे।  शंकर नाला का निर्माण न्यू पुलिस लाईन से शंकर नगर होते हुये उरला टेल तक निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। इस संबंध में आयुक्त श्री बर्मन ने निगम अधिकारियों से इसकी जानकारी ली। उन्होंने शंकर नाला में न्यू पुलिस लाईन से लेकर मालवीय चौक, दादाबाड़ी, पाटणकर कालोनी, संतराबाड़ी, दुर्गा चौक शंकर नगर और उरला रेल्वे फाटक तक जाकर नाला की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्माण संबंधी समस्या की जानकारी ली। अधिकारियों ने आयुक्त को बताये कि शंकर नाला में बीच भाग में अतिक्रमण अधिक है, जिसका सीमांकन आधे लोगों का किया गया है कुछ जगह का सीमांकन बचा हुआ है।

 ऐसे भाग में नाला का निर्माण नहीं हो पाया है शेष जगहों पर नाला का निर्माण किया गया है। बारिश के कारण कार्य को अभी रोक दिया गया है बारिश के बाद बचे कार्यो को पूरा किया जाएगा। आयुक्त ने शंकर नाला निर्माण से संबंध फाईल और दस्तावेजों से अवगत कराने अधिकारियों को निर्देश दिये।
                                     


Date : 09-Aug-2019

वोरा ने लोनिवि अधिकारियों को बजट में शामिल कराए गए कार्यों को लेकर विजन बताया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 9 अगस्त।
शहर के प्रमुख विकास कार्यों के लिए  मुख्यमंत्री से राशि की मांग करने के अगले दिन विधायक अरुण वोरा ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ शहर के विकास का खाका तैयार करने के लिए बैठक ली और बजट में शामिल कराए गए कार्यों को लेकर अपना विजन समझाया। गौरतलब है कि विधायक वोरा ने बजट सत्र के पूर्व शहर के प्रमुख मार्गों के चौड़ी करण एवं सौंदर्यीकरण के लिए 300 करोड़ से अधिक की राशि की मांग की थी, जिसमें से 216 करोड़ के मांगों को वर्ष 2019-20 के बजट में शामिल किया गया है। इसमें नेहरू नगर चौक से मिनी माता चौक तक मार्ग का चौड़ीकरण एवं सौन्दर्यीकरण हेतु 88 करोड़, दुर्ग शहर की आंतरिक सड़कों के लिए 14 करोड़, मालवीय नगर चौक से चिखली तक सड़क के लिए 47 करोड़, जेल रोड से मिनीमाता चौक तक 45 करोड़, गौरवपथ मजबूतीकरण एवं सौंदर्यीकरण के लिए 10 करोड़ एवं इंदिरा मार्केट से ग्रीन चौक व सर्किट हॉउस तक के सड़क के लिए 16 करोड़ रु. की राशि शामिल हैं। 

विधायक वोरा ने अधीक्षण अभियंता एके चक्रवर्ती, ईई विजय कोर्राम सहित अन्य अधिकारियों के साथ प्रस्तावित विकास कार्यों का एनिमेशन देखने के साथ-साथ आवश्यक सुझाव एवं दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि बजट में शामिल कार्यों की वित्तीय स्वीकृति भी अतिशीघ्र दिलवाई जाएगी। इसके लिए आवश्यक एस्टीमेट बना कर मंत्रालय में प्रेषित करें राजधानी रायपुर की तर्ज पर दुर्ग का चहुंमुखी विकास करवाया जाएगा। 

 


Date : 09-Aug-2019

कचरा बाहर फेंकने पर दुकानदारों पर जुर्माना-स्वास्थ्य अधिकारी 

दुर्ग, 9 अगस्त। शहर के प्रमुख चौक चौराहों, सड़क और नालियों किनारे दुकान चलाने वालों द्वारा कचरा बाहर फेंकने और गंदगी करने पर उन्हें जुर्माना देना होगा। कचरा सड़क और नाली या कही भी बाहर फेंकने वालों पर अब स्वास्थ्य अधिकारी, स्वच्छता निरीक्षक, सफाई सुपरवाईजर और सफाई कामगार नजर रखेगें. आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों कर्मचारियों को स्वच्छता के कार्य को जिम्मेदारी से करने निर्देशित किया गया है। उन्होंने कहा है कि सभी सुपरवाईजर अपने-अपने वार्डों में नजर रखें जिस व्यक्ति के द्वारा भी कचरा बाहर फेका जाता है उसका नाम नोट कर स्वास्थ्य विभाग को देवें और उनसे जुर्माना वसूल करें।

नगर निगम दुर्ग द्वारा बाजार क्षेत्रों सहित छोटे फुटकर दुकान लगाने वालों को भी डस्टबीन उपलब्ध कराय गया है ताकि वे कचरा बाहर न फेके, वे अपने दुकानों के आस-पास कचरा न फैलने देंए दुकान आने वाले लोगों ग्राहकों को डस्टबीन में कचरा डालने अपील करेंए और कचरा एकत्र कर निगम की कचरा रिक्शा गाड़ी को देवें। परन्तु देखने में आ रहा है कि सड़क और नाली किनारे दुकान संचालित करने वाले दुकानदार दुकानों से निकलने वाले कचरों को सड़क किनारे फेक दे रहे हैं वहीं बहुत से लोग कचरा नाली में डाल दे रहे हैं। इससे छोटी नालियों से होकर गुजरने वाला कचरा बड़ी नाली और नाला में जाकर जाम हो जा रहा हैं। स्थिति को ठीक करने आज निगम स्वास्थ्य विभाग अमले ने आयुक्त इंद्रजीत बर्मन के निर्देशानुसार शहर की स्वच्छता के लिए सड़क और नाली किनारे दुकान चलाने वाले हाउसिंग बोर्ड कालोनी नया बस स्टैण्ड के सामने पं. दीनदयाल काम्पलेक्स में महेश यादव चाय दुकान, रवि साहू, छबिलालए प्रमोद यादव, नया बस स्टैण्ड के सामने बाहर रोड किनारे बबला खान और रोशन साहू चाय नाश्ता होटल, कसारीडीह में संतोष कुमार यादव चाय नाश्ता दुकान तथा शिवलाल सिन्हा पान ठेला ऐसे 8 दुकानदारों द्वारा गंदगी कर कचरा फैलाने के लिए 1750 रुपये जुर्माना वसूल किया गया तथा उन्हें चेतावनी दी गई कि वे डस्टबीन का उपयोग करें. कचरा सड़क, नाली किनारे न फेकें । कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य अधिकारी उमेश कुमार मिश्रा, स्वच्छता निरीक्षक जसवीर सिंह भुपाल, मेनसिंग मंडावी, दरोगा राजू सिंहए सफाई सुपरवाईजर उपस्थित थे।


Date : 09-Aug-2019

नगर निगम दुर्ग द्वारा पोटिया में जेसीबी से तोड़े नाली के ऊपर अतिक्रमण
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 9 अगस्त।
 नगर निगम दुर्ग द्वारा निस्तारी पानी निकासी के लिए पोटिया के आबादीपारा क्षेत्र में 17 लोगों द्वारा नाली के ऊपर अतिक्रमण कर निस्तारी की जा रही थी जिससे पानी निकासी अवरुद्ध होने से प्रदूषण फैल रहा था। आसपास क्षेत्र के निवासियों की शिकायत पर कार्यवाही कर सभी अतिक्रमण को जेसीबी से तोड़ा गया. कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य अधिकारी उमेश कुमार मिश्रा, जसवीर सिंह भुपाल मुख्य स्वच्छता निरीक्षक, नीलसिंह परिहार, संतोष गांड़ा, व सफाई सुपरवाईजरगण उपस्थित थे। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार लम्बे समय से निस्तारी पानी निकासी के लिए अतिक्रमण तोड़े जाने की शिकायत पर महापौर चंद्रिका चंद्राकर एवं आयुक्त के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्यवाही की गई। पोटिया आबादी पारा में कमलेश पुराणिक, बलीराम जोशी, हेमराज साहू, मंथीर भारती, तीरथ पटेल, दिनेश वर्मा, भूषण यादव, मुन्ना ढीमर, गिरवर यादव,मानदास निर्मलकर, नोहर साहू, खुलास साहू, लिखन साहू, दुर्वासा साहू, हेमराज साहू, लच्छन मानिकपुरी, नेतराम साहू द्वारा अपने-अपने घरों के सामने नाली के ऊपर अतिक्रमण कर लिये थे जिससे सफाई नहीं हो पा रही थी। निकासी रुक गया था और क्षेत्र में प्रदूषण फैल रहा था, जिसे देखते हुये सभी के अतिक्रमण को जेसीबी से तोड़ा गया। 

निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने समस्त शहर वासियों से अपील व अनुरोध कहा है कि बारिश का समय है। अत: निस्तारी पानी के साथ ही बारिश का पानी निकासी के लिए नालियों को खुला रखें, ताकि उसकी ठीक से सफाई किया जा सके। पानी रुकने एवं अन्य समस्याएॅ पैदा न हो इसके लिए नगर निगम दुर्ग को सहयोग प्रदान करें।