छत्तीसगढ़ » रायपुर

10-Apr-2021 5:33 PM 74

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 अप्रैल। यह एक ऐसा मामला है जिसमें एफआईआर नहीं करने की शिकायत करने पर थानेदार ने युवक की बेहरमी से पिटाई कर दी। युवक ने एसपी से थानेदार की दोबारा शिकायत की है।

आमानाका के समीप बंगाली कॉलोनी रहवासी विश्वनाथ चक्रवर्ती और उनकी माता ने अपने पड़ोसी के खिलाफ थाने में शिकायत की थी। यह बताया था कि पड़ोसी बुरहान्नुद्दीन हुसैन और अन्य लोग उनके घर के सामने खुले में लघुशंका करते हैं। पहले मना किया, तो विश्वनाथ चक्रवर्ती के साथ मारपीट की। विश्वनाथ की माता विभारानी चक्रवर्ती ने सरस्वती नगर थाने में इसकी शिकायत की। मगर थानेदार गावड़े ने दोनों पक्षों को बुलाकर दबावपूर्वक समझौता करा दिया। विभारानी ने इसकी शिकायत एसपी से की। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट पर कार्रवाई करने के बजाए आरोपियों से समझौता कराया।

एसपी ने इस पूरे मामले में सीएसपी से रिपोर्ट मांगी, और थानेदार को सात दिन के भीतर जवाब मांगा था। इसके बाद विश्वनाथ चक्रवर्ती को थानेदार गावड़े ने बुलाया, और बेहरमी से पिटाई की। पैर के नीचे खून के थक्के जम गए। मेडिकल कॉलेज में उपचार कराया है। विश्वनाथ चक्रवर्ती ने ‘छत्तीसगढ़’  से चर्चा में बताया कि एसपी से इसकी शिकायत की गई है। उनके नहीं होने पर लिखित में जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि थानेदार की वजह से पूरा परिवार भयभीत है। चक्रवर्ती ने इस पूरे मामले पर कार्रवाई की मांग की है।


10-Apr-2021 5:33 PM 19

रायपुर 10 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से मांग की है कि कोरोना वायरस के इलाज में लगने वाले दवा रेमडेसीवीर,फेबिपिरावीर, आइवरमेकटीन को तत्काल डीपीसीओ (ड्रग प्राइस कंट्रोल एक्ट) के तहत विक्रय हेतु आदेश जारी करे और इनकी बिक्री जन औषधि एवं सरकारी दवा विक्रय केंद्रों से करवाने की व्यवस्था करें। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि रेमडेसीविर इंजेक्शन जो कोरोना वायरस से ज्यादा संक्रमित मरीजों को लगाया जाता है।और अभी इसकी मांग पूरे देश में बहुतायत है। यह इंजेक्शन महंगा होने के कारण मध्यमवर्गीय एवं गरीब जनता की खरीदी की पहुंच से दूर है जिसके कारण देश और प्रदेश में बड़ी तादाद में लोगों की  संक्रमण के कारण मौत हो रही है।

तिवारी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा रेमडेसीविर इंजेक्शन के उत्पादन हेतु देश में मात्र पाँच कंपनियों को ही लाइसेंस प्रदान किया गया है जिसके कारण पूरे देश में रेमडेसीवीर इंजेक्शन की किल्लत की मारामारी मच गई है जरूरतमंद लोगों को यह दवा नहीं मिल पा रही है उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को तत्काल रेमडेसीविर इंजेक्शन,फेबिपिरावीर,आइवरमेकटीन टेबलेट के उत्पादन हेतु पच्चास कंपनियों को तत्काल लाइसेंस देने की आवश्यकता है। भारत देश की बड़ी दवा उत्पादन कंपनी है गुजरात राज्य में ही स्थित है जहां पर भाजपा की सरकार है और कोरोना महामारी के इस कठिन समय में तत्काल केंद्र सरकार के द्वारा इस बात का निर्णय लिया जाना चाहिये कि इन सभी दी जीवनरक्षक इंजेक्शन और दवाओं का ज्यादा से ज्यादा उत्पादन हो सके।

और इन्हें डीपीसीओ के मूल्यों के तहत बेचा जा सके ताकि कोरोना संक्रमित लोगों को मदद मिल सके और उन्हें आसानी से यह दवा उपलब्ध हो सके।

तिवारी ने कहा कि  कोरोना महामारी के समय देश के करोड़ों लोग बेरोजगार हुए उनके आय का साधन खत्म हो गया उस समय जब वह कोरोना महामारी से संक्रमित हो रहे हैं तो उसके इलाज में काफी पैसा खर्च हो रहा है जिसे उन्हें उनके परिवार वाले वहन नहीं कर पा रहे हैं राजनीति से ऊपर उठकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया है कि वह तत्काल इन सभी दवाओं को के उत्पादन को ज्यादा से ज्यादा करना सुनिश्चित करें अधिक से अधिक कंपनियों को इन दवाओं के उत्पादन हेतु लाइसेंस प्रदान करें एवं ड्रग प्राइस कंट्रोल अधिनियम के तहत इन दवाओं को लाकर कम से कम मूल्य पर कोरोना में संक्रमित मरीजों को उपलब्ध कराएं एवं इन दवाओं की बिक्री जन औषधि केंद्र एवं सरकारी औषधि केंद्रों से तत्काल कराना सुनिश्चित करें जिससे कि देश के लोगों को कोरोना महामारी से लडऩे में मदद मिल सके।

 

 

 


10-Apr-2021 5:32 PM 16

रायपुर, 10 अप्रैल। कलेक्टर डॉ एस. भारतीदासन ने प्रशासनिक दृष्टिकोण से राजस्व अधिकारियों को  नवीन पदस्थापना में अस्थाई रुप से आगामी आदेश पर्यन्त पदस्थ किया  है।

इसमें सरिता मढ़रिया को तहसीलदार तिल्दा, मीना साहू अतिरिक्त तहसीलदार रायपुर, ज्योति सिंह नायब तहसीलदार, मंदिरहसौद, प्रमोद गुप्ता प्रभारी नायब तहसीलदार धरसींवा, प्रमोद शर्मा प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख के पद पर नवीन पदस्थापना की गई है।


10-Apr-2021 5:31 PM 15

मास्क को जीवन के लिए अनिवार्य समझें

रायपुर, 10 अप्रैल। विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने राजधानी रायपुर सहित छत्तीसगढ़वासियों से अपील की है कि जिस प्रकार से कोरोना के प्रकरणों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है ,इसकी रोकथाम और चैन को तोडऩे के लिए सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा 9 अप्रैल की शाम से 19 अप्रैल की सुबह तक के लिए लॉकडाउन किया गया है। हम सबको लॉक डाउन का मिलकर पालन करना है और पालन करवाना भी है।

श्री उपाध्याय ने बताया कि प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा टेस्टिंग से लेकर वैक्सीन लगाने का काम लगातार किया जा रहा है। सभी सामाजिक संगठन ,धार्मिक संगठन , राजनीतिक दल के लोग इस में बढ़- चढक़र हिस्सा ले रहे हैं कि कैसे हम अपने प्रदेश के लोगों को इस महामारी से छुटकारा दिलाएं, इसके लिए जी-तोड़ मेहनत भी कर रहे हैं ।

 श्री उपाध्याय  ने इस कठिन समय में रात- दिन काम करने वाले चिकित्सा कर्मियों, अधिकारी- कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस लॉक डाउन को भी सफल बनाएं । कोरोना के चैन को तोड़े ,इस चैन को तोडऩे में मदद करें।

श्री उपाध्याय ने सभी वर्ग के लोगों से निवेदन किया है कि ज्यादा ज्यादा वैक्सीन लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करें ।  वैक्सीन लगाने से खतरा है जैसे, भ्रम की स्थिति को दूर करें। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लगाने से जान बचाने की स्थिति संभव हो पाती है।

 उन्होंने सभी से निवेदन किया है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तथा मास्क को अपने जीवन का अनिवार्य अंग बनाएं । उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन मास्क लगाकर ही कोई काम करें। सेनीटाइज का उपयोग करते रहें, बार-बार हाथ धोते रहें। जिससे हम अपने एवं अपने परिवार के सदस्यों को सुरक्षित एवं स्वस्थ रख सकते हैं।


09-Apr-2021 8:41 PM 18

ऑक्सीजन सुविधायुक्त 760 बेड सहित 2730 बेड की व्यवस्था होगी

अब तक 46 कंटेनमेंट जोन बनाए गए, 100 एक्टिव सर्विलेंस टीम घर-घर पहुंचकर जागरूकता का कार्य कर रही

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अपै्रल।
कलेक्टर रायपुर डॉ. एस. भारतीदासन ने बताया कि रायपुर जिले में कोरोना के प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण की दृष्टि से जहां मेडिकल कॉलेज, एम्स, आयुर्वेदिक कॉलेज, लालपुर और माना में कोविड केयर सेंटर संचालित है वहीं 12 नए कोविड केयर सेंटर बनाने का कार्य तेजी से संचालित है। इससे जिले में 760 ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड की व्यवस्था बढ़ेगी तथा करीब 2730 बेड की व्यवस्था होगी। 

कलेक्टर ने बताया कि वूमेन वर्किंग हॉस्टल फुंडहर के कोविड केयर सेंटर में 270 बेड की व्यवस्था होगी जिसमें 15 बेड ऑक्सीजन की सुविधा युक्त होंगे। इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट, नया रायपुर और आयुष विश्वविद्यालय के कोविड केयर सेंटर में 4-4 सौ बेड की व्यवस्था होगी। हीरापुर कोविड केयर सेंटर में 300 बेड की व्यवस्था होगी, जिसमें 15 ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड होंगे।

 रायपुर के इंडोर स्टेडियम में 260 बेड की व्यवस्था होगी, जिसने 50 बेड ऑक्सीजन सुविधायुक्त होंगे। प्रयास बालक छात्रावास सद्दू एवं प्रयास बालिका छात्रावास गुढिय़ारी में 3-3 सौ बेड की व्यवस्था होगी। ई एस आई हॉस्पिटल, रायपुर में भी कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। यहां 200 बेड की सुविधा होगी जिसमें 100 बेड ऑक्सीजन सुविधायुक्त रहेंगे है। 

कलेक्टर ने बताया कि रायपुर जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में 100 बेड की क्षमता वाले कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था की जा रही है। इन सेंटर में 20-20 ऑक्सीजन युक्त बेड होंगे। इसके अलावा कोविड केयर सेंटर लालपुर में ऑक्सीजन की सुविधायुक्त 100 बेड और आयुर्वेदिक कॉलेज के कोविड केयर सेंटर में 400 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की जा रही है।
कलेक्टर ने बताया कि रायपुर जिले में 46 कंटेनमेंट जोन बनाये गये है। जहां 5 या 5 से अधिक कोरोना प्रभावित नागरिक पाये गये है। उन्होंने बताया कि रायपुर जिले में 100 एक्टिव सर्विलेंस की टीम घर-घर पहुंचकर सर्वेंक्षण करने के साथ कोरोना से बचाव एवं नियंत्रण के लिए कार्य कर रही है।

कलेक्टर ने बताया कि टेस्टिंग के दौरान सेंटरों में 55 वर्ष से अधिक आयु वर्ग का एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव होने पर उन्हें सीधे हॉस्पिटल भेजने और उनके ईलाज की व्यवस्था की जा रही है। इसी तरह होमआइसोलेशन के मरीजों को उनके घर तक पहुंचकर मेडिसिन देने की सुविधा दी जा रही है। होम आइसोलेशन के मरीजों को आपात स्थिति में अस्पताल तक पहुँचआने के लिए 10 इमरजेंसी वाहन की व्यवस्था की गई है। 


09-Apr-2021 8:40 PM 18

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रैल।
छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने कोविड-19 रोगियों के लिए आईसीयू बैड को बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही आक्सीजन वाले बैड की संख्या को भी चरणबद्ध तरीके से बढ़ाकर बढ़ते गंभीर रोगियों को चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की कोशिश की जाएगी। इससे कोरोना की दूसरी लहर से प्रभावित अति गंभीर रोगियों को काफी राहत मिलने की उम्मीद है।

इस संबंध में निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने वरिष्ठ चिकित्सकों और अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की। एम्स में कोविड-19 रोगियों के लिए फिलहाल 500 बैड की व्यवस्था है जिसमें अभी तक लगभग 350 रोगी एडमिट हैं। ऐसे में नए रोगियों के लिए अतिरिक्त बैड की व्यवस्था करने पर जोर दिया गया। चिकित्सकों का कहना था कि दूसरी लहर में कोविड के अति गंभीर रोगी अधिक संख्या में आ रहे हैं ऐसे में अधिक आईसीयू और आक्सीजन बैड की आवश्यकता है। इसे देखते हुए अगले तीन दिनों आईसीयू बैड की संख्या को 40 से बढ़ाकर 60 करने का निर्णय लिया गया जिससे अति गंभीर रोगियों को तुरंत राहत मिल सके। इसके अलावा चरणबद्ध तरीके से आक्सीजन बैड की संख्या को पहले 100 और उसके बाद आवश्यकता अनुसार बढ़ाने के लिए भी सहमति दे दी गई।

डीन प्रो. एस.पी. धनेरिया ने बताया कि एमबीबीएस और बीएससी नर्सिंग के 2017 बैच के छात्रों को परीक्षा और इंटर्नशिप होगी। जबकि शेष सेमेस्टर के छात्रों को ऑन लाइन क्लास लेने के लिए कहा गया है। उप-निदेशक (प्रशासन) अंशुमान गुप्ता ने कोविड वार्ड में रोगियों को अपने परिजनों से वीडियो कॉल पर बात करने की सुविधा देने का प्रस्ताव दिया जिसे स्वीकृति दे दी गई।

फिलहाल ओपीडी में ऑन लाइन अपाइंटमेंट की सुविधा रहेगी। फॉलोअप रोगी टेलीमेडिसिन की सेवाएं ले सकेंगे। इमरजेंसी और ट्रामा की सेवाएं पूर्ववत जारी रहेंगी। विभिन्न विभागों में जीवन रक्षक ऑपरेशन जारी रहेंगे। इन विभागों के अतिरिक्त चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ को कोविड के नए वार्डों में तैनात किया जाएगा जिससे बढ़ते रोगियों की देखभाल को सुनिश्चित किया जा सके। 19 अप्रैल को पुन: बैठक कर स्थिति की समीक्षा की जाएगी। बैठक में नोडल ऑफिसर डॉ. अजॉय बेहरा, डॉ. अतुल जिंदल, डॉ. अनुदिता भार्गव, इंजी. मनोज रस्तोगी, डॉ. नितिन बोरकर, डॉ. रमेश चंद्राकर और उपासना सिंह भी उपस्थित थी।
 


09-Apr-2021 8:38 PM 17

रायपुर, 9 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने कहा, 03 अप्रैल को छत्तीसगढ़ बीजापुर तर्रेम की नक्सली घटना में अगवा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास के अपहरण के पांच दिनों बाद नि:शर्त रिहायी पर छत्तीसगढ़ सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की रणनीतिक सूझबूझ का ही नतीजा है।

तिवारी ने कहा कि 3 अप्रैल बीजापुर की घटना में नक्सलियों की कायराना करतूतों से हमारे जवानों की शहादत को देश भुला नहीं सकता। भारत के संविधान को बंदूक की नोक से क्षेत्र पर राज करने की मंशा लिए नक्सली पिछले कई वर्षों से अपने नापाक इरादों से घटना को अंजाम देते आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ और देश का नक्सलवाद राज्यों की नहीं राष्ट्रीय समस्या है इस घटना से सबक लेते हुए केंद्र सरकार से ऐसी उम्मीद है कि जल्द ही राष्ट्रीय स्तर पर इस नक्सलवाद माओवाद को समाप्ति के लिए निर्णय लिए जाएंगे छत्तीसगढ़ सरकार नक्सलवाद के खात्मे के लिए केंद्र सरकार के हर निर्णय के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है।

तिवारी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार जताते हुये, कोबरा बटालियन के अगवा जवान राकेश्वर मन्हास और उनके परिजनों को सकुशल वापसी के लिए बधाई उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी है।

 


09-Apr-2021 8:36 PM 26

रायपुर, 9 अपे्रल। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियोवार्ता ‘लोकवाणी’ की 17 वीं कड़ी का प्रसारण 11 अप्रैल रविवार को होगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोकवाणी में इस बार नया बजट, नए लक्ष्य विषय पर प्रदेशवासियों से बातचीत करेंगे। लोकवाणी का प्रसारण छत्तीसगढ़ स्थित आकाशवाणी के सभी केन्द्रों, एफएम रेडियों और क्षेत्रीय समाचार चैनलों से सुबह 10.30 से 11 बजे तक होगा।
 


09-Apr-2021 8:35 PM 21

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रैल।
वन मंडलाधिकारी बिलासपुर के कुशल मार्ग दर्शन में टीम द्वारा लगभग 3 लाख रूपए मूल्य के सागौन ल_ा सहित एक महिन्द्रा पिकअप वाहन की जप्ती की गई है। यह कार्रवाई बेलगहना परिक्षेत्र में गत दिवस रात्रि लगभग 3.30 बजे टीम द्वारा रात्रि गश्त के दौरान की गई। 

इस कार्रवाई में वाहन पिकअप क्रमांक सीजी 10-सी-1453 के साथ 17 नग सागौन ल_ा को जप्त की गई। आरोपी अंधेरे का फायदा उठाते हुए वाहन की चाबी के साथ फरार हो गए। आरोपियों के खिलाफ वन अपराध अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई जारी है। इस कार्रवाई में परिक्षेत्र अधिकारी बेलगहना विजय साहू, परिक्षेत्र सहायक मोहम्मद शमीम तथा पंकज साहू, मूलेश जोशी आदि विभागीय अमले का सराहनीय योगदान रहा।
 


09-Apr-2021 8:31 PM 25

रायपुर, 9 अप्रैल। राज्यपाल अनुसुईया उइके ने कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के मद्देनजर इस बार 10 अप्रैल को अपने जन्मदिन के अवसर पर राजभवन में कोई भी आयोजन नहीं करने का निर्णय लिया है। राज्यपाल को जन्मदिन पर शुभकामना संदेश सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदान कर सकते हैं।

राज्यपाल ने आमजनों से अपील की है कि वर्तमान समय में कोरोना से जंग जारी है। पिछले कुछ दिनों में संक्रमण की दर बढ़ी है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शासन के दिशा-निर्देशों का पालन करें और विशेष सावधानी बरतें। साथ ही भीड़ वाले जगहों में जाने से बचें, सामाजिक दूरी का पालन करें, मास्क अवश्य लगाएं तथा हाथों को बार-बार धोते रहें। साथ ही प्रशासन द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के नियमों का अवश्य पालन करें।
 


09-Apr-2021 8:31 PM 23

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रैल।
प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए पिछले एक सप्ताह (1 अप्रैल से 7 अप्रैल) में दो लाख 73 हजार 033 सैंपलों की जांच की गई है। स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के निर्देश पर प्रदेश में रोजाना अधिक से अधिक सैंपलों की जांच की जा रही है। बीते सप्ताह के दौरान 1 अप्रैल को 40 हजार 857 सैंपल, 2 अप्रैल को 37 हजार 075 सैंपल, 3 अप्रैल को 40 हजार 875 सैंपल, 4 अप्रैल को 26 हजार 911 सैंपल, 5 अप्रैल को 40 हजार 053 सैंपल, 6 अप्रैल को 47 हजार 973 सैंपल और 7 अप्रैल को 42 हजार 289 सैंपल की जांच की गई है।

प्रदेश में एम्स रायपुर और छह अन्य शासकीय मेडिकल कॉलेजों बिलासपुर, जगदलपुर, रायगढ़, राजनांदगांव, अंबिकापुर तथा रायपुर की वायरोलॉजी लैब में सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच की जा रही है। आरटीपीसीआर जांच की संख्या बढ़ाने महासमुंद, कोरबा, कांकेर और कोरिया में वायरोलॉजी लैब की स्थापना का काम प्रगति पर है। शीघ्र ही इन चारों नए लैब में भी आरटीपीसीआर जांच शुरू हो जाएगी। विभिन्न जिलों में स्थापित 31 ट्रू-नाट लैबों में भी कोरोना वायरस की जांच की जा रही है। प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा लगभग सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में रैपिड एंटीजन किट से कोविड-19 की जांच की जा रही है।

 


09-Apr-2021 8:30 PM 19

अस्थायी आइसोलेशन, कोरोना केयर सेंटर अधिग्रहित

रायपुर, 9 अप्रैल। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रायपुर डां एस.भारतीदासन नेे अस्थायी आइसोलेशन, कोविड-19 केयर सेंटर यथाशीघ्र बनाने की दृष्टि से रायपुर के रावॉभाठा स्थित ईएसआईसी हॉस्पीटल को अधिग्रहण करने का आदेश दिया है।

कलेक्टर ने इस परिसर को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर द्वारा वांछित मानक अनुसार अस्थायी आइसोलेशन/कोविड-19 केयर सेंटर यथाशीघ्र बनाने हेतु आयुक्त, नगर पालिक निगम, रायपुर को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। यह आदेश कोरोना वायरस विषयक अतिआवश्यक कार्य हेतु आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 द्वारा प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए दिया गया है।
 


09-Apr-2021 8:29 PM 33

राणा ने अपनी पुस्तक रामराज्य की प्रति भेंट की

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रैल।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से उनके निवास कार्यालय में अभिनेता आशुतोष राणा ने सौजन्य मुलाकात की। श्री राणा ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री को अपनी पुस्तक ‘रामराज्य’ की प्रति भेंट की। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री बघेल को बताया कि इस किताब में भगवान श्री राम के जीवन के विविध प्रसंगों से प्रेरणा लेकर उन्हें अपने आचरण में लाने पर बल दिया गया है।  मुख्यमंत्री ने श्री राणा को ‘रामराज्य’ पुस्तक के लेखन पर बधाई दी। 

श्री राणा ने छत्तीसगढ़ में राम वन गमन पथ के द्वारा भगवान श्री राम से जुड़े विभिन्न स्थलों को धार्मिक पर्यटन के मानचित्र पर स्थापित करने की पहल पर प्रसन्नता जताई। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि छत्तीसगढ़ का भगवान राम से गहरा नाता है। छत्तीसगढ़ न सिर्फ श्री राम का ननिहाल है बल्कि अपने वनवास काल के दौरान श्री राम ने काफी समय राज्य में बिताया है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कोरिया जिले के सीतामढ़ी हरचौका से लेकर सुकमा जिले के रामाराम तक विभिन्न स्थलों को जोड़ते हुए राम वन गमन पथ के रूप में विकसित किया जा रहा है। श्री आशुतोष राणा ने कहा कि छत्तीसगढ़ में श्री राम से जुड़े गौरव को जागृत किया रहा है, जो बहुत प्रशंसनीय है, इससे छत्तीसगढ़ देश के धार्मिक पर्यटन केंद्र के रूप में प्रमुखता से उभरेगा। 

मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि छत्तीसगढ़ धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से बहुत समृद्ध है, यहां पुष्टिमार्ग के प्रवर्तक श्री वल्लभाचार्य की जन्मस्थली चम्पारण और माता शबरी से जुड़े शिवरीनारायण सहित अनेक स्थल ऐसे हैं जिन्हें विकसित करने की दिशा में ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। श्री राणा ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्हें यह जानकर बहुत खुशी हुई कि छत्तीसगढ़ के रामगढ़ में विश्व की प्राचीनतम नाट्यशाला भी है। इस अवसर पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा, संचालक संस्कृति विभाग विवेक आचार्य और राज्य योजना आयोग के सलाहकार गौरव द्विवेदी उपस्थित थे।

 


09-Apr-2021 8:27 PM 16

रायपुर, 9 अप्रैल। राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव ने वर्तमान में कोविड-19 कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश के रायपुर, दुर्ग, बेमेतरा और राजनांदगांव जिला में लॉकडाउन की स्थिति निर्मित और अन्य जिलों में भी कोविड-19 कोरोना संक्रमण के कारण निर्वाचक नामावली तैयार-पुनरीक्षित किये जाने में कठिनाईयां को देखते हुए आयोग द्वारा जारी निर्वाचक नामावली कार्यक्रम आगामी आदेश तक के लिए स्थगित किया है।

उल्लेखनीय है कि आयोग द्वारा आदेश क्रमांक/ एफ-35-14/तीन(एक)-1/ प.नि.ध्म.सू./2021/6 के द्वारा निर्वाचक नामावली कार्यक्रम जारी किया गया था। उन्होंने यह भी बताया है कि त्रिस्तरीय पंचायतों के आम-उप निर्वाचन हेतु निर्वाचक नामावली तैयार/ पुनरीक्षित किये जाने का कार्यक्रम भी पृथक से जारी किया जाएगा।
 


09-Apr-2021 8:26 PM 13

पूर्व में प्रदाय की गई समस्त अनुमति निरस्त 

रेलवे स्टेशन, बस  स्टैंड व एयरपोर्ट की यात्रा टिकट ई-पास माना जावेगा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रैल।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रायपुर ने रायपुर जिले  के अन्तर्गत सम्पूर्ण क्षेत्र को 9 अप्रेल की शाम 6 बजे से 19 अप्रेल की सुबह 6 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। इस आदेश की कुछ कंडिका में आंशिक संशोधन किया गया हैें।

उल्लेखनीय है कि विवाह इत्यादि प्रयोजन हेतु पूर्व में अधिकतम 50 व्यक्तियों के शामिल होने हेतु अनुमति प्रदान की गई थी। कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के दृष्टिगत विवाह इत्यादि प्रयोजन हेतु पूर्व में प्रदाय की गई समस्त अनुमतियों को निरस्त किया गया है। विवाह कार्यक्रम वर अथवा वधू के निवास-गृह में ही आयोजित करने की शर्त के साथ आयोजन में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 10 निर्धारित की गयी है। इसी प्रकार अंत्येष्टि, दशगात्र, इत्यादि मृत्यु संबंधी कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अधिकतम संख्या 10 निर्धारित की गयी है।

आदेश के तहत यह भी स्पष्ट किया गया है कि इस अवधि में रेल, बस व हवाई यात्रा हेतु रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व एयरपोर्ट पर आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास की आवश्यकता नहीं होगी। यात्रियों को निवास/स्टेशन तक आने-जाने हेतु उनके पास उपलब्ध यात्रा टिकट ही उनका ई-पास माना जावेगा।
 


09-Apr-2021 8:07 PM 10

कमिश्नर ने की सहयोग की अपील

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 9 अप्रेल।
रायपुर संभाग के आयुक्त ए कुलभूषण टोप्पो ने रायपुर जिले और रायपुर संभाग के सभी नागरिकों से कोरोना के नियंत्रण और रोकथाम के लिए सहयोग की अपील की है।

कमिश्नर ने कहा है कि बड़ी संख्या में नागरिक कोरोना से प्रभावित हुए है और हमने अपने कई परिजनों, साथियों, परिचितों को खोया है। यह स्थिति अभूतपूर्व है और ऐसे में हर व्यक्ति के लिए जरूरी हो गया है कि वे इस बीमारी के प्रति अपनी समझ बढ़ाए, कोरोना की रोकथाम के अनुरूप अपना व्यवहार अपनाएं जैसे मास्क लगाना, कम से कम 6 फीट की दूरी बना कर रखें और सेनेटाइजर का उपयोग करें। 

कोरोना महामारी के नियंत्रण एवं रोकथाम की दृष्टि से 9 अपे्रल की शाम से 19 अप्रेल की सुबह तक 10 दिवस के लिए रायपुर जिले के संपूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। उन्होंने रायपुर जिले की शहरी एवं ग्रामीण सभी नागरिकों से आग्रह है कि वे कोरोना गाइडलाइन और लॉकडाउन के निर्देशों का पूरी तरह पालन करें। सभी नागरिक घर में रहें और अपने साथ अपने परिवार को सुरक्षित रखें। ऐसे प्रयासों से कोरोना के चेन को तोडऩे में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा है कि लक्षण आने पर कोरोना का टेस्ट अवश्य कराएं तथा 45 वर्ष की आयु से नागरिक कोरोना का टीका भी लगवाएं। लाकडाउन के दौरान भी शासकीय चिकित्सालयों में कोरोना टेस्ंिटग और वैक्सिनेशन की कार्य नि:शुल्क होता रहेगा। 

पात्र नागरिक अपना आई कार्ड और आधार कार्ड दिखाकर चिकित्सालय आ सकते है। रायपुर जिले में जहां होम आईसोलेशन की व्यवस्था की गई है वहीं 12 नए कोरोना केयर सेंटर बनाकर करीब दो हजार सात सौ बेड की व्यवस्था भी बढ़ायी जा रही है। जिले के सभी विकासखंडों में भी 100-100 बेड की व्यवस्था की जा रही है।

कमिश्नर ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए यह जरूरी है कि हम शासन प्रशासन, और चिकित्सा स्टाफ को सही-सही जानकारी दें। सही जानकारी नही मिलने पर ना केवल ऐसे नागरिक अपने जीवन के प्रति संकट पैदा करेंगे बल्कि अपने घर-परिवार, मित्रों और परिचितों के लिए खतरा बनेंगे। इस लिए कोटेक्ट टे्रसिंग टीम और घर घर सर्वेक्षण करने आए सर्विलांस टीम को पूरी और सही जानकारी दें। 
 


09-Apr-2021 5:38 PM 54

रायपुर, 9 अप्रैल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की श्रृंखला को तोडऩे के लिए यूनिसेफ युवा स्वयंसेवकों के साथ आज सीएम भूपेश बघेल ने रोको अउ टोको (रोके और शिक्षित करें) अभियान को हरी झंडी दिखा इसकी शुरूआत की।

राजधानी रायपुर के 70 वार्डों में 6 सौ से अधिक युवा स्वयं सेवक वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के सरकार के प्रयासों का समर्थन करेंगे। वे बस्तियों, बाजारों, होटलों, बस स्टैंडों, रेलवे स्टेशनों और चौराहों पर लोगों से मास्क पहनना, सामाजिक दूरी, साबुन से हाथ धोना और भीड़-भाड़ वाली जगह से बचना ये सभी नियमों का पालन करने अपील की जाएगी।

इस अभियान में जिला प्रशासन, समर्थ ट्रस्ट और खालसा एड जैसे संगठनों के साथ-साथ सामुदायिक और धार्मिक संगठनों का भी समर्थन  मिला है।

यूनिसेफ के प्रमुख जॉब जकरियाह ने बताया कि प्रदेश में कोरोना को नियंत्रित किया जाना इसके लिए सभी लोगों के समर्थन की जरूरत है।   इसी तरह समर्थ ट्रस्ट के मंजीत बाल ने कहा कि स्वयं सेवक घोषणाओं, पोस्टर,पत्रक, बैनर के माध्यम से समर्थन किया। उन्होंने बातया कि इस अभियान के दूसरे चरण में 6 शहर दुर्ग, राजनांदगांव, कोरबा, बिलासपुर, अंबिकापुर, जशपुर और जगदलपुर बढ़ाया जाएगा। इसमें एनएसएस, स्काउट्स एंड गाडड्स, नेहरू युवा केंद्र और युवोदय के युवा स्वयंसेवको का सहयोग रहेगा।


09-Apr-2021 5:29 PM 25

रायपुर, 9 अप्रैल। छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी द्वारा लॉकडाउन के दौरान उपभोक्ताओं की सेवा-सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा गया है।  उपभोक्तागण लॉकडाउन के दौरान घर बैठे भी मोर बिजली ऐप के माध्यम से बिजली बिल का भुगतान सहजता से कर सकेंगे। एद्घपि पॉवर डिस्टीब्यूशन कंपनी का सैप सिस्टम  अपगे्रडेशन  के लिए  शुक्रवार 9 अप्रैल की रात्रि 12 बजे के बाद से 16 अपै्रल शुक्रवार की सुबह 10 बजे शट डाउन रहेगा।। इससे उपभोक्ताओं को होने वाली असुविधा को ध्यान में रखते पावर कंपनी के ई आई टी सी (एनर्जी इन्फोटेक सेंटर) विभाग ने ऐसी व्यवस्था कर ली है कि उपभोक्तागण मोर बिजली एप के द्वारा बिजली बिल का भुगतान   कर सकेंगे विदित हो कि पूर्व में सैफ सिस्टम बंद होने के कारण यह सुविधा भी स्थगित करना पड़ रहा था किंतु इ आई टी सी की एक्सपर्ट टीम ने उपभोक्ताओं की परेशानियों को दूर करने के लिए आनलाइन, मोर बिजली ऐप के माध्यम से बिल पटाने की सुविधा को बनाए रखने का निर्णय लिया है ।

एनर्जी इंफोटेक सेन्टर के कार्यपालक निदेशक द्वारा इस संबध में आदेश जारी कर दिया गया है।


09-Apr-2021 5:28 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 9 अप्रैल। कोरोना से बचाव का टीका लगवाने पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय में टीकाकरण व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने टीकाकरण के लिए पहुंचे लोगों से चर्चा भी की। रायपुर के फाफाडीह से टीका लगवाने पहुंची 86 वर्षीया श्रीमती शारदा बेन ने मुख्यमंत्री को बताया कि वे आज कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने आईं हैं।

श्री बघेल ने उनके साथ ही कोरोना से बचाव के टीके का दूसरा डोज लगवाने आईं श्रीमती कुसुम बाई नडंगे, श्रीमती भारती राठौर और श्रीमती उषा चावड़ा से चर्चा कर टीकाकरण का अनुभव जाना। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने उन्हें और वहां टीकाकरण के लिए पहुंचे अन्य लोगों को टीकाकरण के बाद भी कोविड एप्रोप्रिएट बिहैविअर अपनाते हुए मास्क के उपयोग, शारीरिक दूरी और हैंड-हाइजिन का विशेष ध्यान रखने कहा। इस दौरान छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष कुलदीप जुनेजा, महापौर एजाज ढेबर, रायपुर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. विष्णु दत्त, डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विनीत जैन और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मीरा बघेल भी उपस्थित थीं।


09-Apr-2021 5:28 PM 48

तीन पूर्व पदाधिकारियों को अनियमितता पर पक्ष रखने नोटिस

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 9 अप्रैल। मार्डन मेडिकल इंस्टीट्यूट संस्थान में ट्रस्टियों के बीच विवाद सुलझने का नाम नहीं ले रहा है। इसी कड़ी में तीन पूर्व पदाधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है। उन्हें 20 तारीख को अपना पक्ष संस्था के सचिव के समक्ष रखने के लिए कहा गया है। ऐसा नहीं होने पर पुलिस कार्रवाई के साथ-साथ संस्था से निष्कासन की चेतावनी दी गई है।

एमएमआई अस्पताल प्रबंध संस्थान के अध्यक्ष सुरेश गोयल की पहल पर लूनकरण श्रीश्रीमाल, महेन्द्र धाड़ीवाल और प्रदीप गुप्ता को विधिक नोटिस जारी किया गया है। श्रीश्रीमाल धड़ा पहले अस्पताल का संचालन कर रहा था, और फिर हाईकोर्ट के आदेश के बाद सुरेश गोयल द्वारा अपनी प्रबंध कार्यकारिणी के साथ समिति का संचालन किया जा रहा है। मौजूदा समिति द्वारा पूर्व में काबिज तीनों पदाधिकारियों पर अनियमितता के आरोप लगाए गए थे, और इसको लेकर नोटिस भी जारी किया गया। इसका जवाब नहीं देने पर समिति ने वकील के जरिए फिर से नोटिस जारी किया है।

यह भी बताया गया कि मौजूदा पदाधिकारियों ने जांच के लिए कमेटी बनाई थी। कमेटी ने अपने अंतरिम जांच प्रतिवेदन में कहा था कि तीनों पदाधिकारियों द्वारा 29 जुलाई 2020 से 4 जनवरी 2021 तक की अवधि में मार्डन मेडिकल इंस्टीट्यूट संस्था का कार्यभार संभालने के दौरान अनेक स्तर पर और अनेक प्रकार की गड़बडिय़ां, गबन की गई हैं, जिसे कमेटी द्वारा भी प्रमाणित पाया गया है।

इस पर जवाब देने के लिए 20 अप्रैल को पक्षकार संस्था के सचिव रामअवतार अग्रवाल के समक्ष कार्यालयीन समय 12 बजे से 4 बजे के मध्य तीनों पूर्व पदाधिकारियों को जांच कमेटी की अंतरिम रिपोर्ट दिए गए बिन्दुओं पर अपना स्पष्टीकरण मय दस्तावेज जरूरत रूप से प्रस्तुत करें साथ ही रिपोर्ट में उल्लेखित संस्था की नगद जमा राशि, हेराफेरी की गई राशि, लॉकर की चाबी, पासवर्ड, संस्था के रिकार्ड जैसे अन्य संसाधन सचिव राम अवतार अग्रवाल को प्रदान कर उसकी पावती प्राप्त कर लें, अन्यथा समिति द्वारा संस्था के हित को ध्यान में रखते हुए समुचित और कठोर कार्यवाही की जाएगी, जिसमें पुलिस शिकायत और संस्था से निष्कासन भी हो सकता है।