छत्तीसगढ़ » रायपुर

24-Oct-2020 5:29 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अभनपुर, 24 अक्टूबर।
ग्राम पंचायत कोलर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार हस्ताक्षर अभियान का आयोजन जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष उधो वर्मा के मुख्य आतिथ्य, संजय ठाकुर मीडिया समन्वयक की अध्यक्षत तथा जनपद उपाध्यक्ष राजू बारले के विशेष आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।

इस दौरान उधो वर्मा ने कहा कि कृषि बिल के विरोध में अभियान चलाकर ग्राम कोलर में किसानों व मजदूरों से हस्ताक्षर करवाने का मुख्य उद्देश्य इन काले कानून को वापस लेना है। इस बिल से किसानों को कोई फायदा नहीं बल्कि नुकसान ही होगा। जिस तरह  केंद्र सरकार नवरत्न कंपनियों को बेच रही है आज किसानों के जमीन को भी बेचने का षड्यंत्र कर रही है। यदि किसान का हित चाहते हैं एक राष्ट्र, एक बाजार कहते हैं तो एक दाम भी होना चाहिए। छ ग की भूपेश बघेल की सरकार नए कृषि कानून बनाकर किसानों की रक्षा के लिए संकल्पित है।हम केंद्र के  काले कानून को वापस लेने की मांग करते हैं।

संजय ठाकुर ने कहा कि केन्द्र की सरकार किसानों की आमदनी दुगुना करने की बात करते थे,परंतु आय दुगुनी की बजाय उनको लूटने की रणनीति बनाई जा रही है। किसानों की आय तो नहीं बढ़ी परन्तु पूंजी पतियों की आय में बढ़ोतरी हो गई। सभा को टिकेन्द्र बघेल(अध्यक्ष) ब्लॉक कांग्रेस कमेटी, राति राम साहू उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी, दानी राम साहू पूर्व जिला पंचायत सदस्य, राजू बारले जनपद उपाध्यक्ष ने भी संबोधित किया।

कार्यक्रम का संचालन मेलाराम डांडे ने और आभार प्रदर्शन सरपंच कोलार अन्नू तारक ने किया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से महामंत्री श्री फतीस साहू,जनपद सदस्य लीलाधर तिवारी व दुर्गा सिन्हा,अनु.जाति प्रकोष्ठ कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष धनेश्वरी डांडे,लोकमणी कोशले,सेवादल मुख्य संगठक हीराचंद रात्रे ,जोन प्रभारी परदेश साहू, सेक्टर प्रभारी कृष्णा निषाद,मनमोहन कुर्रे,राजू तरवानी,गिरधर पटेल,दिलीप बारले,संजय सहित कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
 


24-Oct-2020 5:27 PM 16

क्षतिपूर्ति राशि दिलाने का अनुरोध

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अभनपुर, 24 अक्टूबर।
किसानों के प्रतिनिधि मंडल ने पूर्व सरपंच बिहारीलाल साहू के नेतृत्व में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक बजाज को अपनी समस्या से अवगत कराया तथा क्षतिपूर्ति राशि के लिए उचित पहल करने का अनुरोध किया। प्रतिनिधिमंडल में बिहारीलाल साहू के अलावा राजेश साहू, नरेंद्र साहू एवं संतुलाल साहू शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों की शिकायत पर 8 सितंबर को फसल का निरीक्षण कर शिकायत को प्रमाणित पाया है।  

जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष अशोक बजाज ने आरोप लगाया कि कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शन के नाम पर ग्राम पलौद (अभनपुर) के 108 किसानों को सुप्रिया टीएनआरएच 174 बीज प्रदान किया गया। विभाग ने 140-150 दिनों में पकने वाली धान बताकर किसानों को बीज आबंटित किया। किसानों ने लगभग 100 एकड़ में इस धान का रोपा लगा दिया लेकिन यह धान मात्र 90 दिनों में पक कर तैयार हो गया। उन्होंने कहा कि परंपरागत रूप से माई धान बोये जाने वाले खेतों में हरहुना धान बोने से अब काटने की समस्या उत्पन्न हो गई है। खेतों में पानी भरा है। अत: कटाई हो नहीं सकती। खेतों तक टै्रक्टर, बैलगाड़ी और हार्वेस्टर ले जाने की गुंजाइश ही नहीं है। फसल भी अपेक्षाकृत कमजोर है। 

श्री बजाज ने कहा कि सरकार इसे सज्ञान में लेकर किसानों को तत्काल क्षतिपूर्ति राशि प्रदान करे तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करे। सरकार इस बात की भी चिंता करे कि भविष्य में इस प्रकार की घटना की पुनरावृति ना हो। 
 


23-Oct-2020 7:34 PM 36

स्थायी पूंजी निवेश अनुदान अब लघु और मध्यम श्रेणी के लिए भी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ राज्य के औद्योगिक विकास को गति देने समावेशी विकास के लक्ष्य को हासिल करने और परिपक्व अर्थव्यवस्था का निर्माण करने के लिए नवीन औद्योगिक नीति में 2019-24 में कुल 21 बिन्दुओं पर संशोधन अधिसूचित किए गए हैं। इसमें प्रमुख रूप से लघु उद्योगों को कैपिटल सबसिडी में नगद या जी.एस.टी की पूर्ति का विकल्प होगा। अभी तक यह नगद अनुदान की सूक्ष्म उद्योगों के लिए पात्रता थी। शासन ने विभिन्न औद्योगिक संगठनों की मांगों को स्वीकार करते हुए लघु एवं मध्यम श्रेणी के उद्योगों को नगद या जीएसटी में अनुदान देने का निर्णय लिया है। अनूसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति श्रेणी के उद्यमियों के लिए विशेष औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की गयी है। इसके तहत पिछली औद्योगिक नीतियों से अधिक लाभ दिया जाएगा। पुराने उद्योगों के विस्तार पर भी नए उद्योगों की तरह सरकार प्रोत्साहन देगी। उद्योगों को अब राज्य से अन्य देशों से निर्यात करने के लिए परिवहन में पैसा लगता था। उसमें सरकार परिवहन लागत में अनुदान देगी। इसके तहत प्रतिवर्ष 20 लाख रूपए का अनुदान सरकार देगी।

 नई औद्योगिक नीति में राज्य शासन द्वारा एमएसएमई को पृथक रूप से परिभाषित किया गया है तथा वृहद सेवा उद्यम की परिभाषा भी जारी की गई। निवेशकों की मांग अनुसार स्थायी पूंजी निवेश अनुदान को सूक्ष्म उद्योगों तक सीमित न कर लघु व मध्यम श्रेणी के उद्योगों के लिए भी प्रावधानित किया गया। विद्यमान उद्योगों के विस्तार करने पर स्थायी पूंजी निवेश की गणना अवधि को भी बढ़ा दिया गया है। राज्य के उद्योगों की रीढ़ इस्पात क्षेत्र को बढ़ावा देने मेगा, अल्ट्रामेगा उद्योगों के लिए ठम ैचवाम च्वसपबल के तहत विशेष प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की गई है। ये वो इकाईयां होगी जो राज्य शासन के साथ एम.ओ.यू. निष्पादित करेंगे।

उद्योगों में नवीन विचारधारा को समहित करने तथा नव रोजगार सृजित करने छत्तीसगढ़ राज्य स्टार्ट-अप पैकेज को नीति में स्थान दिया गया है। इन स्टार्ट-अप्स को अन्य उद्योगों से अधिक सुविधाएं कम औपचारिकता के साथ प्रदान की जाएगी।    समावेशी विकास को बढ़ावा देने के लिए अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के उद्यमियों के लिए विशेष औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन पैकेज जारी किया गया है। इसके तहत अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के उद्यमियों को पूर्व की सुविधाओं से अधिक लाभ प्राप्त होगा।

कोर सेक्टर के माध्यम, वृहद, मेगा, अल्ट्रामेगा उद्योगों को अब किसी भी श्रेणी के स्थान में उद्योग स्थापित करने पर विद्युत शुल्क में पूर्ण छूट प्रदान की जाएगी। अब परिवहन अनुदान हेतु इकाई का शत्-प्रतिशत निर्यातक होना आवश्यक नहीं रह गया है।   

सामान्य वर्ग के उद्यमियों द्वारा स्थापित किए जाने वाले पात्र सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को उद्योग विभाग/सीएसआईडीसी के औद्योगिक क्षेत्रों में भू-आबंटन पर भू-प्रीमियन प्रदान किया जाएगा। उद्यमियों द्वारा बहुप्रतीक्षित भूमि हस्तांतरण शुल्क में कमी कर दी गयी है। साथ ही उत्पादन प्रारंभ करने की अधिकतम सीमा में भी वृद्धि की गई है।


23-Oct-2020 7:33 PM 24

रायपुर, 23 अक्टूबर। कोरोना की गाइड लाइन के कारण शहर में इस बार बंगाली कालीबाड़ी समिति द्वारा दुर्गापूजा के अवसर पर दुर्गा मां की प्रतिमा स्थापित न करके मात्र घट स्थापना की गई है लेकिन माना में श्रदलु महिलाओं के विशेष आग्रह को देखते हुए माना बाजार दुर्गा समिति द्वारा आनन फानन में दुर्गा प्रतिमा बनवाकर दुर्गा मां को विराजित कर सादगीपूर्ण ढंग से दुर्गा पूजा मनाया जा रहा है। पूजा के दौरान समिति द्वारा कोरोना को लेकर सभी निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

माना बाजार दुर्गा पूजा समिति के सचिव अमित घोष ने बताया कि कोरोना के शासकीय निर्देश के कारण समिति दुर्गा पूजा के दौरान दुर्गा प्रतिमा की स्थापना को लेकर दुविधा में थी लेकिन माना की महिलाओं के विशेष आग्रह के कारण समिति ने दुर्गा प्रतिमा की स्थापना का निर्णय लिया और आनन फानन में दुर्गा प्रतिमा बनवाई गई। षष्ठी के दिन मां दुर्गा संग लक्ष्मी, सरस्वती, कार्तिकेय संग गणेश की प्रतिमा स्थापित की गई। दुर्गा पूजा के दौरान कोरोना से संबंधित सभी एहतियात का पालन किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोले बनाए गए हैं। प्रवेश और निकास की  अलग  अलग व्यवस्था की गई है। मां दुर्गा के दर्शन के लिए आने वाले सभी श्रद्धालुओं को सैनेटाइज करने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। दुर्गा पूजा के सारे पूजा विधान नियम पूर्वक किये जा रहे हैं लेकिन भोग भंडारा नहीं किया  जा रहा है। दुर्गा विसर्जन के दिन सिंदूर खेला को लेकर अब तक समिति द्वारा निर्णय नहीं लिया गया है।         


23-Oct-2020 7:32 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। दशहरा और दीपावली में स्व-सहायता समूह (बिहान) की महिलाओं द्वारा गोबर से निर्मित रंग-बिरंगे आकर्षक दियों से इस दीवाली घर-घर रोशन होगा। दशहरा और दीपावली का त्यौहार बस कुछ ही दिन बाकी हैं। इन त्यौहारों की रोशनी को दुगुना करने प्रदेश की अनेक स्व-सहायता समूह की महिलाओं और गौठान समिति के माध्यम से गोबर से रंग-बिरंगे और लुभावने दिये व अन्य उत्पाद बनाए जा रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार राष्ट्रीय अजीविका मिशन (एनआरएलएम) के माध्यम से महिलाओं को जोडक़र उन्हें आत्मनिर्भर बनाने तथा महिला सशक्तिकरण की दिशा में बेहतर प्रयास कर रही हैं। इसी कड़ी में कोरिया जिले में बिहान की महिलाओं द्वारा गोबर से रंग-बिरंगे आकर्षक दीये बनाये गए हैं। इसके साथ ही मिट्टी के कलश भी बनाये जा रहे हैं। इन उत्पादों का बाजार में काफी मांग हैं। महिला समूह द्वारा निर्मित ये दिये प्राकृतिक के अनुरूप होने के साथ-साथ लुभावने और मनमोहक है। आगामी दशहरा और दीपावली त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए बनाये गये रंग-बिरंगे ये दिये सुंदर एवं किफायती हैं। राज्य सरकार बिहान की महिलाओं द्वारा वैकल्पिक और नवीन तकनीक के माध्यम से गोबर के आकर्षक दिये एवं अन्य उत्पाद बनाने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं। साथ ही बाजार की उपलब्धता पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

 गोबर एवं मिट्टी से बने इन उत्पादों में दीपक, ओम, श्री, स्वास्तिक, शुभलाभ, मिट्टी फूल आरती दीया एवं मिट्टी के कलश शामिल हैं। गोबर एवं मिट्टी से बने इन उत्पादों को समूह की महिलाओं द्वारा ऑर्डर के हिसाब से होलसेल कीमत पर भी विक्रय कर मुनाफा कमा रहे हैं।

 


23-Oct-2020 7:32 PM 33

प्रदेश में कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1680 हो गए

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। प्रदेश में कोरोना से कल 6 मरीजों की मौत हुई। इसमें रायपुर के 1 मरीज शामिल हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज चल रहा था। इनके संपर्क में आने वालों की जांच-पहचान जारी है। दूसरी तरफ, इन मौतों को मिलाकर प्रदेश में कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1680 हो गए हैं।

बुलेटिन के मुताबिक राजधानी और आसपास जिन मरीजों की मौत दर्ज की गई है, इसमें गनौद रायपुर का 46 वर्षीय पुरूष, अभनपुर का 42 वर्षीय पुरूष, गुढिय़ारी रायपुर का 61 वर्षीय पुरूष, भाठागांव बलौदाबाजार का 72 वर्षीय पुरूष, हरिनगर दुर्ग का 43 वर्षीय पुरूष, बोड़ला कबीरधाम का 40 वर्षीय पुरूष शामिल हैं।

इन सभी मरीजों का इलाज एम्स समेत प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा था। इसमें से 1 की मौत कोरोना से हुई है। बाकी मौतें गंभीर बीमारियों के साथ कोरोना से दर्ज की गई है।


23-Oct-2020 7:31 PM 31

मौतें-533, एक्टिव-7638, डिस्चार्ज-31743

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। राजधानी रायपुर समेत जिले में कोरोना मरीज 40 हजार के आसपास पहुंच गए हैं। बीती रात मिले 240 नए पॉजिटिव के साथ इनकी संख्या बढक़र 39 हजार 914 हो गई है। दूसरी तरफ, इन सभी मरीजों में से 533 की मौत हो चुकी है। 7 हजार 638 एक्टिव हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज जारी है। 31 हजार 734 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट गए हैं।

राजधानी रायपुर समेत जिले में कोरोना संक्रमण जारी है और पॉजिटिव लगातार सामने आ रहे हैं। हालांकि इनकी संख्या पहले से काफी कम हैं। सितंबर में ये पॉजिटिव हजार पार कर चुके थे। डॉक्टरों का मानना है कि सतर्कता के साथ मास्क लगाने और सामाजिक दूरी बनाकर चलने से संक्रमण में कमी आएगी और धीरे से कोरोना संक्रमण में कमी आएगी।

 स्वास्थ्य अफसरों का कहना है कि शहर और गांव-देहात में कोरोना जांच जारी है। सरकारी-निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों की भी कोरोना जांच की जा रही है। और  कहीं-कहीं पर नए पॉजिटिव सामने आ रहे हैं। वैसे, अधिकांश पॉजिटिव होम आइसोलेशन में रहकर अपना इलाज करा रहे हैं। उनका मानना है कि आने वाले दिनों में संक्रमण में धीरे से और कमी आएगी।


23-Oct-2020 7:29 PM 31

अक्टूबर के बीते पखवाड़े में टूटा पिछले साल का कीर्तिमान

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ स्टेट पॉवर जनरेशन कंपनी की जल विद्युत गृहों ने अपने पिछले वर्ष के रिकार्ड को तोड़ते हुए अधिकतम विद्युत उत्पादन का कीर्तिमान दर्ज किया। चालू सत्र के माह अक्टूबर के प्रथम पखवाड़े में जनरेशन कंपनी की कुल चार जल विद्युत परियेाजनाओं द्वारा अब तक 345.42 मिलीयन यूनिट से अधिक बिजली का उत्पादन किया गया। जबकि पिछले साल इसी अवधि में 180.04 मिलीयन यूनिट बिजली का ही उत्पादन हुआ था।

जनरेशन कंपनी के प्रबंध निदेशक एनके बिजौरा ने बताया कि कोरबा जिला में संचालित हसदेव बांगो प्रदेश की सबसे बड़ी जल विद्युत गृह है, जिसमें 40-40  मेगावाट क्षमता की 3 विद्युत इकाईंयों ने पानी की भरपूर उपलब्धता के कारण अपनी उत्पादन क्षमता का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। इनके द्वारा 318.2 मिलीयन यूनिट बिजली का उत्पादन किया गया, जोकि बीते 12 वर्षो की तुलना में सर्वाधिक विद्युत उत्पादन की मिसाल है। प्रदेश में इस वर्ष लगातार हुई अच्छी बारिश के फलस्वरूप जनरेशन कंपनी के जल विद्युत गृहों को अधिकतम विद्युत उत्पादन करने के साथ-साथ सत्त रूप से संचालित होने का अवसर प्रदान किया। 

चालू माह के बीते पखवाड़े में जनरेशन कंपनी के 4 जल विद्युत गृहों में शामिल हसदेव बांगो जल विद्युत गृह, माचाडोली बांगों के अलावा  जल विद्युत गृह, गंगरेल जिला धमतरी में 16 यूनिट, जल विद्युत गृह, सिकासार, जिला गरियाबंद में 8 मिलीयन यूनिट और हसदेव लघु/लघुत्तम जल विद्युत गृह कोरबा पश्चिम जिला कोरबा 3.1 मिलीयन यूनिट विद्युत उत्पादन किया गया। जनरेशन कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री बिजौरा ने उम्मीद जताई है कि पानी की पर्याप्त उपलब्धता के कारण कंपनी के जल विद्युत गृह अपनी कार्य निष्पत्ति का बेहतर प्रदर्शन करेंगे।


23-Oct-2020 7:24 PM 26

रायपुर, 23 अक्टूबर। प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष में संकलित जानकारी के अनुसार प्रदेश में एक जून से अब तक कुल 1291.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में सर्वाधिक बीजापुर जिले में 2462.7 मिमी और सबसे कम सरगुजा में 922.6 मि.मी. औसत वर्षा अब तक रिकार्ड की गई है।

 राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 1401.8 मिमी, बलरामपुर में 1183.2 मिमी, जशपुर में 1435.0 मिमी,  कोरिया में 1126.7 मिमी,  रायपुर में 1081.7 मिमी,  बलौदाबाजार में 1106.6 मिमी, गरियाबंद में 1281.4 मिमी, महासमुन्द में 1321.2 मिमी,  धमतरी में 1172.6 मिमी, बिलासपुर में 1302.1 मिमी,  मुंगेली में 945.4 मिमी,  रायगढ़ में 1253.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1394.1 मिमी, तथा कोरबा में 1414.1 मिमी,  औसत वर्षा दर्ज की गई है।

 इसी प्रकार गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही में 1093.3 मिमी, दुर्ग में 1039.4 मिमी,  कबीरधाम में 1010.9 मिमी, राजनांदगांव में 962.4 मिमी,  बालोद में 1074.8 मिमी, बेमेतरा में 1103.3मिमी,  बस्तर में 1523.7 मिमी,  कोण्डागांव में 1568.4 मिमी,  कांकेर में 1072.3 मिमी, नारायणपुर में 1533.3 मिमी,  दंतेवाड़ा में 1706.6 मिमी तथा सुकमा में 1673.0 मिमी औसत दर्ज की गई है।


23-Oct-2020 6:52 PM 23

रायपुर, 23 अक्टूबर। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित शासकीय एवं निजी कृषि, उद्यानिकी तथा कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के बीएससी कृषि  तथा बीएससी उद्यानिकी (आनर्स) तथा बीटेक कृषि अभियांत्रिकी पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में प्रवेश हेतु आनलाइन काउन्सलिंग प्रक्रिया के अंतर्गत कृषि एवं उद्यानिकी महाविद्यालय में रिक्त 697 तथा कृषि अभियांत्रिकी मवि में रिक्त 139 सीटों के लिए मॉप-अप एवं कन्वर्शन काउन्सलिंग का आयोजन किया जा रहा है। 

इन रिक्त सीटों पर प्रवेश के इच्छुक अभ्यर्थियों को 22 से 25 अक्टूबर, 2020 तक इस प्रक्रिया में शामिल होने के विकल्प का चयन करना होगा और आवेदित अभ्यर्थी ही इस काउन्सलिंग के सभी राउंड में भाग ले सकेंगे। इस काउन्सलिंग में प्रवेशित अभ्यर्थियों की प्रथम सूची 27 अक्टूबर को प्रकाशित की जायेगी। प्रवेशित अभ्यर्थियों को 27 अक्टूबर को रात्रि 11:59 बजे तक अनिवार्य रूप से फीस ऑनलाइन जमा करनी होगी। इस काउन्सलिंग के अगले चरण की सीटों का आबंटन 28 अक्टूबर, को किया जायेगा। यह काउन्सलिंग कई चरणों में समस्त सीटों के भरने तक या मॉप-अप राउंड के अभ्यर्थियों की सूची समाप्त होने तक जारी रहेगी। मॉप-अप राउंड में आरक्षित वर्ग में अभ्यर्थी उपलब्ध ना होने पर नियमानुसार सीटों का कन्वर्शन किया जायेगा।

कोरोना संक्रमणकाल के दौरान इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित शासकीय एवं निजी कृषि, उद्यानिकी एवं कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के बीएससी कृषि  तथा बीएससी उद्यानिकी (आनर्स) तथा बीटेक कृषि अभियांत्रिकी पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में कक्षा 12वीं के अर्हकारी अंकों (मेरिट) के आधार पर ऑनलाइन काउंसलिंग प्रक्रिया द्वारा प्रवेश दिया जा रहा है। 

तीन चरणों में ऑनलाइन काउन्सलिंग के पश्चात विभिन्न महाविद्यालयों में रिक्त सीटों के लिए मॉप-अप एवं कन्वर्शन काउन्सलिंग का आयोजन किया जा रहा है। अभ्यर्थी मॉप-अप राउंड में उपलब्ध महाविद्यालय एवं सीटों में प्रवेश के इच्छुक होने पर आवेदन कर सकेंगे। कन्र्वशन काउन्सलिंग में वे सभी विद्यार्थी भाग ले सकेंगे जिन्होंने इस काउन्सलिंग हेतु पंजीयन कराया है एवं जिन्हें पूर्व में आयोजित काउन्सलिंग में कोई भी महाविद्यालय आबंटित नहीं हुआ है। वे अभ्यर्थी भी इस काउन्सलिंग में भाग ले सकते हैं जिन्हें महाविद्यालय आबंटित हो चुका है और उन्होंने आगामी काउन्सलिंग हेतु फ्लोट आप्शन का चयन कर रखा है।

इस काउन्सलिंग में सीटों का आबंटन प्रतिदिन किया जायेगा एवं प्रवेशित अभ्यर्थी को उसी दिवस रात्रि 11:59 बजे तक ऑनलाइन फीस जमा कर अपना प्रवेश सुनिश्चित करना होगा। जो अभ्यर्थी निर्धारित समय तक फीस जमा नहीं करेंगे उनकी सीट स्वत: ही निरस्त हो जाएगी एवं ऐसे अभ्यर्थी सम्पूर्ण काउन्सलिंग से बाहर हो जायेंगे। जो अभ्यर्थी निर्धारित समय तक फीस जमा नहीं करेंगे उनकी सीटें स्वत: ही निरस्त हो जाएगी। 

काउन्सलिंग हेतु संशोधित दिशा निर्देशों के अनुसार अभ्यर्थियों को डिमांट ड्राफ्ट  तैयार कर लाने की आवश्यकता नहीं है एवं उन्हें किसी केन्द्र में उपस्थिति देने की भी आवश्यकता नहीं है। 

अभ्यर्थी अपना शुल्क आनलाइन भर सकेंगे। आनलाईन काउंसलिंग के माध्यम से जिन विद्यार्थियों को कृषि, उद्यानिकी महाविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेश मिल चुका है उनके दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन संबंधित महाविद्यालय द्वारा किया जाएगा और दस्तावेज असत्य अथवा अमान्य पाए जाने पर उनका प्रवेश निरस्त कर दिया जाएगा।


23-Oct-2020 6:51 PM 32

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक ने दूसरे दिन महिला आयोग को प्राप्त प्रकरणों की सुनवाई की। उन्होंने बताया कि महिला आयोग में महिला उत्पीडऩ, कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीडऩ, घरेलू हिंसा, दहेज प्रताडऩा, शारिरिक उत्पीडऩ, टोनही प्रताडऩा, जैसे अनेक मामलों की सुनवाई करती है। 

उन्होंने बताया कि महिलाओं से संबंधित मामले में अगर कहीं न्याय की गुंजाइश नहीं होती हैं, वहां महिला आयोग महिलाओं को न्याय दिलाने की दिशा में गंभीरता से कार्य करती है। दुर्ग जिले केे महिलाओं से संबंधित 55 मामले की सुनवाई की गई है। समझौते योग्य मामले को नस्तीबद्ध किया गया है। पक्षकारों की बयान के आधार पर आगे की कार्यवाही के लिए प्रकरण तैयार किया गया है।

महिला आयोग के समक्ष एक ग्राम पंचायत की महिला सरपंच पर सोशल मीडिया में आपत्ति जनक टिप्पणी करने का मामला आया था। मामले में अनावेदक पंच को सुनवाई के लिए तलब किया गया था। सुनवाई के दौरान पंच को बताया गया कि इस तरह से किसी महिला पर आपत्तिजनक टिप्पणी करना अवैधानिक है।  उन्होंने सुनवाई के दौरान अपनी गलती स्वीकार किया। 

महिला सरपंच ने कहा कि अगर वह सार्वजनिक तौर पर क्षमा मांगे तो अपराधिक प्रकरण दर्ज नहीं कराएगी और उसे क्षमा कर देगी। कथित पंच ने आयोग के समक्ष वीडियो रिकाडिंग के साथ महिला सरपंच से अपनी गलती के लिए सार्वजनिक माफी मांगी। इस प्रकार इस मामले का निराकरण किया गया। 

सुनवाई के दौरान आज एक और मामला सामने आया। बीएसपी से सेवानिवृत एक बुजुर्ग ने अपने अर्जित धन राशि से वृंदावन नगर भिलाई में 25 लाख रूपए में मकान खरीदा था। दंपत्ती के बड़े बेटे ने 4 लाख रूपए की राशि मकान को खरीदने में लगाया था। दंपत्ति के बड़े बेटे और बहु जो कि खुद शासकीय सेवा में है। उन्होंने इस मकान पर कब्जा कर रखा है। दंपत्ति के अलावा उसका अविवाहित छोटा बेटा है। बुजुर्ग दंपत्ति द्वारा उसके बेटा बहु के द्वारा मकान पर कब्जा करने को लेकर आपत्ति करने पर उनके विरूद्ध टोनही प्रताडऩा का झूठा आरोप लगाया गया था। सुनवाई के दौरान इस बात का खुलासा हुआ कि बहु के द्वारा बुजुर्ग दंपत्ति पर लगाया गया आरोप निराधार है और आरोप झूठा है। 

 मामले की सुनवाई के दौरान यह समझौता हुआ कि बहू-बेटा द्वारा लगाए गए 4 लाख रूपए को अगर उनके माता-पिता लौटा देते हैं, तो वे मकान खाली कर देंगे। बुजुर्ग दंपत्ति ने उनका 4 लाख रूपया लौटाने का अभिमत्त दिया। इस प्रकार इस मामले में समझौता किया गया। मामले की सुनवाई के दौरान आयोग की अध्यक्ष ने बहु-बेटा को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि माता-पिता ने पूरी जिंदगी समर्पित भाव से पढ़ाया लिखाया और बड़ा किया। आज उसे यह दिन देखना पड़ रहा है, कि उन्हें अपने ही घर से बेदखल होना पड़ रहा है। यह समाज के लिए अशोभनीय विषय है। उन्होंने यह भी कहा कि दोनों अच्छे जगह में नौकरी में होने के बाद भी बुजुर्ग माता-पिता से ऐसा व्यवहार करना निंदनीय है। साथ ही जो झूठा आरोप लगाया गया है, वह भी भत्र्सना योग्य है।  
 


23-Oct-2020 6:50 PM 26

आवेदन 24 से 31 अक्टूबर तक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की हाई स्कूल, हायर सेकेण्डरी और हायर सेकेण्डरी व्यवसायिक पूरक परीक्षा 28 नवम्बर से प्रारंभ होंगी। डीएलएड मुख्य परीक्षा प्रथम वर्ष 2020 भी पूरक परीक्षा के साथ आयोजित की जाएंगी। 

शिक्षा मंडल के सचिव प्रो. व्ही.के. गोयल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि हाई स्कूल, हायर सेकेण्डरी और हायर सेकेण्डरी व्यवसायिक पूरक परीक्षा के लिए आवेदन पत्र 24 से 31 अक्टूबर तक भरे जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस वर्ष हाई स्कूल पूरक, अवसर परीक्षा में एक लाख 8 हजार 632 विद्यार्थी और बारहवीं की पूरक, अवसर परीक्षा में 60 हजार 731 विद्यार्थी शामिल होंगे। नियमित विद्यार्थी जिन संस्था में नियमित अध्ययनरत थे उसी संस्था को परीक्षा केन्द्र बनाया जाएगा। स्वाध्यायी छात्रों के लिए जिस संस्था से उन्होंने आवेदन पत्र जमा किया था उसी संस्था को परीक्षा केन्द्र बनाया जाएगा। 

आवेदन फार्म भरने के संबंध में विस्तृत निर्देश एवं विस्तृत समय-सारिणी 23 अक्टूबर को शाम 5.30 बजे के बाद मंडल की वेबसाईट www.cgbse.nic.in  पर प्रदर्शित कर दिए जाएंगे।
 


23-Oct-2020 6:48 PM 113

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
राजधानी रायपुर के एमजी रोड स्थित मंजू ममता रेस्टारेंट के मालिक समेत सभी 15 कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ऐसे में बीती शाम-रात से यह रेस्टारेंट 14 दिन के लिए बंद कर दिया गया है। 

रेस्टारेंट प्रबंधन की ओर से यह जानकारी यहां एक सूचना बोर्ड लगाकर दी गई है, ताकि यहां आने वाले ग्राहकों को कोई दिक्कत न हो। कहा गया है कि संस्थान की पूर्णत: जांच और सेनिटाइज के बाद कारोबार फिर से शुरू किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसी तरह शहर के और भी होटल-रेस्टारेंट कर्मियों की कोरोना जांच की जा रही है। उनका मानना है कि जांच में और कुछ जगहों से पॉजिटिव निकल कर सामने आ सकते हैं। 
 


23-Oct-2020 6:46 PM 25

महामाया में सुबह 6 बजे तथा काली मंदिर में शाम को होगा हवन 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर 23 अक्टूबर।
आश्विन  शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को शनिवार को मंदिरों में देवी मां का विशेष श्रृंगार किया जाएगा। देवी मंदिरों में सुबह से अष्टमी हवन का सिलसिला शुरु हो जाएगा जो शाम तक जारी रहेगा। कोरोना के शासकीय निर्देश के कारण हवन में इस बार मंदिर के पुजारियों की सहभागिता में हवन किया जाएगा और श्रद्धालु इसमें शामिल नहीं रहेंगे। 
पुरानी बस्ती स्थित मां महामाया मंदिर में नवरात्रि की कड़ी में शनिवार को सुबह 6 बजे हवन आरंभ होगा जिसकी पूर्णाहूति सुबह 9 बजे होगी। पं.मनोज शुक्ला,पंं.चंंद्रभूषण शुक्ला ने बताया कि ज्योति विसर्जन रात्रि में मंदिर में ही स्थित प्राचीन बावली में किया जाएगा। रविवार को सुबह देवी का शस्त्र श्रृंगार होगा। इसके पश्चात कन्या पूजन होगा। दोपहर को आरती पश्चात मां को राजभोग लगाया जाएगा।

काली मंदिर ट्रस्ट के सचिव डी के दुबे ने बताया कि आकाशवाणी तिराहा स्थित काली माता मंदिर में शनिवार को शाम 4 बजे हवन किया जाएगा। रविशंकर विश्वविद्यालय परिसर स्थित बंजारी मंदिर में शनिवार दोपहर को अष्टमी हवन शुरु होगा जिसकी पूर्णाहूति शाम 6 बजे होगी। नवमीं के मौके पर कन्या भोज कराया जाएगा। 
पुरानी बस्ती शीतला मंदिर के पुजारी नीरज सैनी ने बताया कि अष्टमी तिथि में हवन सुबह 6 बजे से शुरु हो जाएगा। पूर्णाहूति 9 बजे होगी। कंकाली मंदिर के पं. आकाश शर्मा ने बताया कि मंदिर में शनिवार को अष्टमी के मौके पर सुबह 8 बजे हवन होगा।
 


23-Oct-2020 6:44 PM 37

रायपुर, 23 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नई दिल्ली प्रवास के दौरान सांसद राहुल गांधी से सौजन्य मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उन्हें छत्तीसगढ़ राज्योत्सव-में शामिल होने का न्यौता दिया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर उन्हें जानकारी दी कि कोविड-19 के कारण राज्योत्सव का कार्यक्रम संक्षिप्त रूप से आयोजित किया जा रहा है। 

राज्योत्सव के अंतर्गत ‘राज्य अलंकरण समारोह’ के आयोजन के साथ ही ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना’ के तहत राज्य के 19 लाख किसानों को तीसरी किश्त की राशि प्रदाय की जाएगी।
 


23-Oct-2020 6:43 PM 22

रायपुर, 23 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दुर्गाष्टमी और महानवमी की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। इस अवसर पर श्री बघेल ने मां दुर्गा से प्रदेशवासियों की सुख,समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना की है। अपने शुभकामना संदेश में उन्होंने कहा है कि शक्ति की उपासना का महापर्व नवरात्रि पूरे देश में नौ दिनों तक भक्तिभाव से मनाया जाता है। देवी के नौ स्वरूपों की पूजा अर्चना की जाती है और घरों, मंदिरों में कन्या भोज कराया जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शक्ति का यह पर्व हमें हमें सिखाता है कि नारी का सम्मान हमारी परम्परा और संस्कृति का हिस्सा होने के साथ ही हमारे मूल्यों का हिस्सा है, इन मूल्यों को अक्षुण्ण बनाए रखना हम सबकी महती जिम्मेदारी है।     
 


23-Oct-2020 6:42 PM 28

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
युवा जोगी पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने आज यहां बूढ़ापारा धरना स्थल पर प्रदर्शन कर काले गुब्बारे उड़ाए। यहां से वे सभी पैदल मार्च करते हुए पीएचई मंत्री निवास घेरने जा रहे थे, कि पुलिस ने उन्हें सप्रे स्कूल मैदान के पास बेरीकेड्स लगाकर रोक लिया। इसके बाद वे सभी यहां पीएचई में बाहरी की जगह प्रदेश के योग्य ठेकेदारों को प्राथमिकता से काम देने की मांग करते हुए धरना-प्रदर्शन करते रहे। 

युवा जोगी पार्टी के प्रदीप साहू के नेतृत्व में आज दोपहर करीब चार दर्जन कार्यकर्ता बूढ़ापारा धरना स्थल पर एकजुट हुए। इसके बाद वे सभी नारेबाजी करते हुए पैदल पीएचई मंत्री बंगला घेराव के लिए निकले, लेकिन पुलिस ने उन्हें सडक़ पर रोक लिया। उनका कहना है कि पीएचई विभाग द्वारा आउटसोर्सिंग कर बाहर की 10 कंपनियों को 7 करोड़ का ठेका दे दिया गया है, जबकि स्थानीय स्तर पर कई ठेकेदार, इंजीनियर काम के लिए भटक रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि बाहरी की जगह प्रदेश के योग्य ठेकेदारों को ठेका दिया जाए। उन्होंने चेतावनी दी है कि मांग पूरी न होने पर वे सभी उग्र आंदोलन के लिए मजबूर होंगे। 
 


23-Oct-2020 6:41 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर। 
निगम की 10 जोन की टीमों ने पुलिस के साथ बाजारों में सुबह से घूमकर मास्क नहीं पहनने, सामाजिक दूरी नियम न मानने वाले 335 लोगों पर 20420 रूपये का जुर्माना की।

स्वास्थ्य अधिकारी विजय पाण्डेय ने बताया कि आज सभी 10 जोनों  की टीमों ने पुलिस प्रशासन की टीम के साथ विभिन्न बाजारों  में दिन भर विशेष अभियान के अंतर्गत घूमकर नियम तोडऩे वालों पर जुर्माना कार्यवाही जारी रखी। ऑटो चालकों, ठेले वालों पर भी मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना की कार्यवाही उन्हें भविष्य के लिए चेतावनी देते हुए आज के अभियान में  की गयी।  दिनभर अभियान चलाकर  नगर निगम की 10 जोनों  की विभिन्न  टीमों ने  विभिन्न बाजारों में  335  नियम तोडऩे वाले लोगों, जिनमें मास्क नहीं पहनने, सामाजिक दूरी नियम नहीं मानने वाले मुख्य रूप से सम्मिलित हैं, पर कुल 20420 रूपये का जुर्माना उन्हें चेतावनी देकर वसूला।  

बाजारों  में हैण्ड लाउडस्पीकर की सहायता से घूम-घूमकर लोगों से रायपुर जिला प्रशासन के नियमों का पालन करने, मास्क अनिवार्य रूप से पहनने, सामाजिक दूरी नियम का पालन करने आव्हान दिन भर किया गया। नागरिकों  से निरंतर नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को जनजीवन एवं जनस्वास्थ्य सुरक्षा हेतु कारगर तरीके से रोकने सभी स्वास्थ्य नियमों का पूर्ण व्यवहारिक तरीके से बाजार में पालन करने एवं आवश्यक कार्य होने पर ही बाजार में आने का आव्हान रायपुर जिला प्रशासन  द्वारा जारी दिशा -निर्देशों  के परिपालन हेतु किया जा रहा है।
 


23-Oct-2020 5:39 PM 36

30 लाख फिरौती मांग, कल 3 गिरफ्तार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
कारोबारी आमिर सोहेल का अपहरण करने वाला चौथा आरोपी भी बीती देर रात पकड़ लिया गया। उसे अपने तीन साथियों की गिरफ्तारी के बाद खुद के जल्द पकड़े जाने का डर बना हुआ था। ऐसे में वह खुद चलकर सिविल लाइन थाना पहुंच गया। 

उल्लेखनीय है कि कारोबारी आमिर का बुधवार की रात 10 बजे शहर के चार युवकों ने शंकर नगर से अपहरण कर लिया था। बाद में उसके परिवारवालों को फोन कर उनसे 30 लाख की फिरौती मांगी जा रही थी। राजधानी पुलिस ने इस बीच 24 घंटे में कार्रवाई करते हुए तीन अपहरणकर्ताओं को दबोच लिया। इसमें अमीन अली (28) मौदहापारा, पीयूष रायचुरा (32) मौदहापारा और फ्रांसिस मांझी (32)खमतराई शामिल रहे।

बताया गया कि अपहरण करने वाले बदमाशों का एक साथी संदीप धुर्वे (28)डब्ल्यूआरएस कॉलोनी खमतराई चलती कार से कूदकर भाग निकला था, जिसे बीती देर रात पकड़ लिया गया। सिविल लाइन पुलिस का कहना है कि इस आरोपी से भी पूछताछ की जा रही है और यह पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि इन बदमाशों में इसके अलावा और कहां-कहां अपहरण की योजना बनाई थी। 

 


23-Oct-2020 5:32 PM 35

सिंहदेव ने ट्वीट कर आभार माना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 23 अक्टूबर।
 कोरोना संक्रमण काल के दौर में समाजसेवा में जुटी संस्थाओं में से एक अभिनेता शाहरुख खान की मीर फाउंडेशन ने प्रदेश सरकार को 2 हजार पीपीई प्रदान किया है। इस पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ट्वीट कर उनका आभार व्यक्त किया जिस पर शुक्रवार फिल्म अभिनेता शाहरुख खान ने प्रतिक्रिया करते हुए प्रदेश सरकार को शुभकामनाएं दीं।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने छत्तीसगढ़ के कोरोना योद्धाओं के लिए पीपीई किट प्रदान करने के लिए प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता शाहरूख खान और उनकी संस्था मीर फाउंडेशन के प्रति आभार व्यक्त किया है। स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीटर पर श्री खान को धन्यवाद देते हुए कहा कि मैं हमारे फ्रंटलाइन योद्धाओं की सुरक्षा के लिए पीपीई किट प्रदान करने के लिए आपके और आपकी संस्था के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं। 

उन्होंने मीर फाउंडेशन से जोडऩे और इस मदद के लिए पहल करने के लिए अभिनेत्री एवं सामाजिक कार्यकर्ता सुश्री राजश्री देशपाण्डेय को भी धन्यवाद दिया है। श्री सिंहदेव ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है कि आप लोगों की उदारता ने अनेक लोगों को हमारे स्वास्थ्य की रक्षा करने वाले नायकों को सुरक्षित रखने में सहायता के लिए प्रेरित किया है।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए और इसका जवाब देते हुए शाहरूख खान ने कहा है कि हम सभी अपने भाइयों और बहनों को इस कठिन समय से उबारने के लिए जो भी संभव हो, करने की कोशिश कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए आप लोगों के प्रयासों के लिए भी मैं अपनी शुभकामनाएं देता हूं।