छत्तीसगढ़ » रायपुर

11-Sep-2021 6:22 PM (55)

स्वास्थ्य कर्मियों की मांगों को लेकर भी कमेटी बनाने सीएम ने दिए निर्देश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 11 सितंबर। दिवंगत पंचायत शिक्षकों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति देने पर विचार चल रहा है। इस कड़ी में सीएम भूपेश बघेल ने मुख्य सचिव को कमेटी बनाकर समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। इसी तरह कोरोनाकाल में सेवाएं देने वाले स्वास्थ्य कर्मचारियों की सेवा शर्तों, और मांगों के निराकरण के लिए भी कमेटी बनाई जाएगी।

बताया गया कि दिवंगत पंचायत शिक्षकों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति देने पर लंबे समय से विचार चल रहा है। सीएम ने इस सिलसिले में पंचायत विभाग को निर्देश भी दिए थे, लेकिन पिछले सालभर से फाइल विभाग में ही पड़़ी रही। सीएम ने इस पर नाराजगी जताई है, और अब सीएस को कमेटी गठित कर पंचायत शिक्षकों की मांगों पर विचार करने के लिए कहा है।

सूत्रों के मुताबिक दिवंगत पंचायत शिक्षकों के परिजनों को समकक्ष पंचायत के किसी अन्य पदों पर रखा जा सकता है। इसी तरह कोरोनाकाल में अस्थाई तौर पर स्वास्थ्य कर्मियों की नियुक्ति की गई थी। इनमें से बड़े पैमाने पर कर्मचारी कोरोना पीडि़त भी हुए हैं। कुछ की मृत्यु भी हुई है। ऐसे अस्थाई स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा शर्तों को लेकर कोई उदारतापूर्वक फैसला लिया जा सकता है।

मुख्यमंत्री के निर्देश के मुताबिक कोविड-19 के दौरान सेवा में लिए गए कोविड स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा-निरंतरता और उनकी सेवा शर्ता के लिए भी वरिष्ठ अधिकारियों की एक कमेटी गठित की जा रही है। यह कमेटी भी इन स्वास्थ्य कर्मियों की सेवा निरंतरता और सेवा शर्त के संबंध में अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को देगी। बताया गया कि दिवंगत पंचायत शिक्षक अनुकंपा संघ विगत राजधानी के बूढ़ापारा धरना स्थल में 24 घंटे लगातार 52 दिन से धरना प्रदर्शन कर रहे है। इनका प्रमुख मांग है अनुकंपा नियुक्ति दी जाए। सीएम ने जल्द से जल्द दोनों कमेटी का गठन कर मांगों पर विचार करने निर्देश दिए।


11-Sep-2021 6:21 PM (44)

रायपुर, 11 सितम्बर। वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के क्षमता विकास के लिए भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद, देहरादून के तत्वाधान में 6 से 8 सितंबर तक ’’वन कार्बन स्टॉक मापन’’ का प्रशिक्षण-सह-कार्यशाला का आयोजन किया गया। संभाग स्तरीय यह तीन दिवसीय प्रशिक्षण वनवृत्त मुख्यालय कांकेर में दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान जंगल में सैंपल प्लाट डालना, मिट्टी एवं पौधों के नमूने लेना, मृत काष्ठ नापना एवं पेड़ की गोलाई नापना के बारे में विस्तार से बताया गया तथा छत्तीसगढ़ के जंगलों में मौजूद कार्बन स्टॉक के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई।

कार्यशाला में प्रशिक्षक डॉ. मोहम्म्द शाहिद, परामर्शदाता द्वारा परितंत्र सेवाएं सुधार परियोजना के अंतर्गत जंगल में मौजूद वन कार्बन की जानकारी दी गई, जो कार्बन डाईऑक्साइड को सोंखते हैं और पर्यावरण को हानिकारक गैसों से बचाते हैं। वन कार्बन पांच पूल में रहती है जैसे किशोर पेड़-झाडिय़ां, पौधे, करकट, मृत काष्ठ एवं मृदा।

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण का मूल उद्देश्य वन विभाग के वनरक्षक से लेकर वनमण्डलाधिकारी तक वन कार्बन स्टॉक मापने के लिए मास्टर ट्रेनर बनाया जाना है, जो जंगल-जलवायु परिवर्तन को रोकने कि लिए बहुत उपयोगी है।

इस अवसर पर वनमण्डलाधिकारी कांकेर श्री अरविन्द पी.एम. ने बताया कि कांकेर वनमण्डल में विश्व बैंक द्वारा सहायता प्राप्त परितंत्र सेवाएं सुधार परियोजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। वन कार्बन मापन एक महत्वपूर्ण विषय है, जिससे जंगल में मौजूद वन कार्बन के बारे में जानकारी होती है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (संयुक्त वन प्रबंधन) श्री के. मुरूगन, वन संरक्षक श्री आलोक तिवारी तथा बस्तर संभाग के समस्त वनमण्डलाधिकारी एवं संबंधित विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों ने भाग लिया।


11-Sep-2021 6:21 PM (44)

रायपुर, 11 सितंबर। भाजपा द्वारा फर्जी धर्मांतरण के मुद्दे को लेकर की गई प्रेस कांफ्रेंस और आंदोलन की घोषणा पर प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में जनता का भरोसा खो चुकी भाजपा धर्मांतरण के फर्जी मुद्दे को उठा कर संजीवनी खोज रही है।

प्रदेश की जनता भाजपा की कुचाल को समझ रही है। लोग जान रहे है जब-जब भाजपा विपक्ष में रहती मुद्दों के दिवालियेपन से जूझती है अपने अस्तित्व को बचाने वह धर्म की राजनीति शुरू कर देती है। भाजपा प्रदेश के 99 फीसदी आबादी वाले बहुसंख्यक हिन्दू समाज में यह भय पैदा करने कोशिश में लगी है कि 1 फीसदी से भी कम आबादी वाले उनके धर्म को खतरे में डाल रहे हैं।

 प्रदेश में धर्मांतरण विरोधी कानून लागू है लेकिन कोई भी भाजपा नेता जबरिया धर्मांतरण को लेकर पीडि़त के साथ थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने नहीं गए। भाजपा नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस में फर्जी आंकड़े बताते है कि 200 शिकायतें की गई लेकिन हकीकत में कोई भाजपा नेता रिपोर्ट लिखाने नहीं गया, न कोई पीडि़त सामने आया। रायपुर में भाजपाई थाने में जानबूझकर मारपीट की घटना किए ताकि उनके फर्जी मुद्दे को प्रचार मिल सके।

त्रिवेदी ने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि सत्ता के बिना भाजपा जल बिन मछली की तरह तड़प रही है और ऐसे समय धर्मांतरण के मुद्दे पर भाजपा द्वारा भावनाएं भडक़ाने और धर्म से धर्म को लड़ाने की कोशिशें जारी हैं। यही भाजपा का एजेंडा है। 15 साल जब प्रदेश में भाजपा की सरकार थी और रमन सिंह मुख्यमंत्री थे तब हजारों धर्मांतरण होने और अनेक शिकायतों के बावजूद धर्मांतरण के एक भी प्रकरण पर कार्यवाही क्यों नहीं की गई यह भाजपा को बताना चाहिए!

भाजपा को हम चुनौती देते हैं कि कांग्रेस के 3 साल भी पूरे नहीं हुए हैं और भाजपा जिस तरह से झूठ और फर्जीवाड़ा फैलाने में लगी है उसे देखते हुए रमन सिंह के 15 साल के शासनकाल में धर्मांतरण के प्रकरणों पर की गई कार्यवाही का विवरण सार्वजनिक करें या प्रदेश की जनता से झूठ फैलाने के लिए क्षमा याचना करें।

कांग्रेस संचार प्रमुख ने कहा है कि भाजपा की प्रदेश प्रभारी पुरंदेश्वरी द्वारा जिस तरह से छत्तीसगढ़ के स्वाभिमान पहचान और मजदूर किसान पर थूकने की बात की गई, उस से ध्यान हटाने के लिए भाजपा द्वारा इस फर्जी मुद्दे को उछाला जा रहा है। भाजपा में नैतिक साहस हो तो चुनौती स्वीकार करके धर्मांतरण के 15 साल के विवरण और की गई कार्यवाही को सार्वजनिक करें।

 त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपाई मुगालते में है कि वे फर्जी धर्मांतरण के मुद्दे को उठा कर अपना खोया आधार फिर पा लेंगे। काठ की हांडी बार-बार नही चढ़ती भाजपा अब धर्म के आधार पर जनता में न फुट डाल सकती न देश की गंगा जमुनी तहजीब को बिगाड़ सकती।


11-Sep-2021 6:20 PM (38)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 11 सितंबर। महापौर एजाज ढेबर ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ मेयर्स की कार्यकारिणी बैठक में काउंसिल के राष्ट्रीय सचिव के रूप में सम्मिलित होने उत्तरप्रदेश के अयोध्या के लिए रवाना हो गए।

महापौर श्री ढेबर ने कहा कि वे ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ मेयर्स के राष्ट्रीय सचिव के उन्हें सौंपे गए कार्य दायित्व को जिम्मेदारी के साथ पूर्ण करने पूरी ईमानदारी के साथ कार्य करेंगे। वे राजधानी रायपुर शहर में किए गए विकास कार्यों से राजधानी के महापौर के रूप में ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ मेयर्स की कार्यकारिणी बैठक में विभिन्न शहरों से अयोध्या आने वाले महापौरों को अवगत कराएंगे।

महापौर ने रायपुर में मच्छरजनित रोग डेंगू के प्रभावी तरीके से कारगर नियंत्रण हेतु नगर निगम रायपुर की टीम के के साथ मिलकर स्वास्थ्य विभाग की टीम को कार्य करना चाहिए। महापौर  एजाज ढेबर ने आज महादेवघाट खारून नदी जाकर निगम जोन क्रमांक 5 के जोन अध्यक्ष मन्नू विजेता यादव, माधव राव सप्रे वार्ड के पार्षद  वीरेन्द्र देवांगन, जोन 8 के जोन कमिश्नर अरुण धु्रव, जोन कार्यपालन अभियन्ता संजय शर्मा की उपस्थिति में नगर निगम जोन क्रमांक 8 द्वारा महादेवघाट में गणेश की प्रतिमाओं के ससम्मान विसर्जन के लिए की जा रही अस्थाई विसर्जन कुंड की प्रशासनिक तैयारियों का प्रत्यक्ष अवलोकन किया।

प्रकाश व्यवस्था, सफाई, मंच, गोताखोर क्रेन, नाव सहित सभी आवश्यक व्यवस्थायें तत्काल प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करवाना सुनिश्चित करने जोन कमिश्नर एवं जोन कार्यपालन अभियन्ता को निर्देशित किया। महापौर एजाज ढेबर ने सभी श्रद्धालु नागरिकों से रायपुर नगर पालिक निगम रायपुर की ओर से तालाबों में श्रीगणेश की मूर्तियों का विसर्जन नहीं करके इस हेतु नगर निगम के अस्थाई विसर्जन कुंड का सदुपयोग पर्यावरण संरक्षण के लिए नगर हित में करने का आव्हान किया।

 महापौर ने कहा कि विगत वर्ष यहां के श्रद्धालुओं ने निगम के अस्थाई विसर्जन कुंड का उपयोग श्रीगणेश की मूर्तियों के लिये करके तालाबों को प्रदूषण से मुक्त रखने में अपनी सक्रिय भागीदारी दर्ज की थी। महापौर ने विश्वास व्यक्त किया कि इसी प्रकार इस वर्ष भी यहां के श्रद्धालुजन श्रीगणेश की मूर्तियों का विसर्जन तालाबों में नहीं करके एक बार फिर अस्थाई विसर्जन कुंड में करके पर्यावरण संरक्षण के कार्य में आगे आकर अवश्य अपनी सक्रिय भागीदारी दर्ज करवाएंगे।

 

 


11-Sep-2021 6:20 PM (48)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 11 सितंबर। धर्मांतरण के खिलाफ प्रदेश भाजपा के नेताओं ने भींगते पैदल मार्च निकाला। शनिवार को दोपहर बाद पैदल मार्च आजाद चौक से निकली, और राजभवन में खत्म हुई। इस मौके पर भाजपा नेताओं ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर धर्मांतरण रोकने के लिए सरकार को दिशा निर्देश देने का आग्रह किया।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय की अगुवाई में सभी विधायक आजाद चौक में इकट्ठे हुए, और इसके बाद पैदल राजभवन के लिए रवाना हुए। इस दौरान तेज बारिश भी हुई। बारिश की वजह से पार्टी नेता भींग गए। कुछ नेताओं के लिए कार्यकर्ताओं ने छाते की व्यवस्था की थी, लेकिन बारिश इतनी तेज थी कि सभी भींग गए।

इसके बाद राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें धर्मांतरण पर रोक लगाने के लिए सरकार को निर्देश देने का आग्रह किया गया। इस मौके पर पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, रामविचार नेताम, सरोज पाण्डेय, चंद्रशेखर साहू, सुनील सोनी सहित अन्य नेता मौजूद थे।


11-Sep-2021 6:19 PM (26)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 11 सितंबर। श्याम नगर स्थित आश्रम-लायन्स वृद्धाश्रम में झारखण्ड प्रदेश के राज्यपाल रमेश बैस के आगमन पर शॉल, श्रीफल, पुष्प गुच्छ, और प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मान किया गया। इस अवसर पर राज्यपाल ने इस वृद्धाश्रम में निवासरत बुजुर्ग पुरूषों को शॉल, और महिलाओं को साडिय़ां उपहार स्वरूप भेंट की।

मुख्य अतिथि की आसंदी से राज्यपाल रमेश बैस ने कहा कि पाश्चात्य संस्कृति की तुलना में भारतीय परिवेश में बुजुर्गों को संयुक्त परिवारों में उचित सम्मान व आदर मिलता है। फिर भी कुछ बेसहारा बेघर वरिष्ठ नागरिकों के लिए वृद्धाश्रमों की आवश्यकता होती है। उन्होंने लायन्स क्लब रायपुर द्वारा संचालित वृद्धाश्रम-आश्रय की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे यहां अक्सर आते रहते हैं।

लायन्स क्लब के अध्यक्ष, और वृद्धाश्रम के संस्थापक चेयरमैन लायन डॉ. अरविन्द नेरल ने अपने स्वागत उद्बोधन में आश्रम की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि और वर्तमान विकास का जिक्र करते हुए कहा कि विगत 21 वर्षों से संचालित इस वृद्धाश्रम का फलसफा है शहर भर के बुजुर्गों से मोहब्बत करना, हमने सीखा है यूं ही इबादत करना।


11-Sep-2021 6:18 PM (37)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 11 सितंबर। प्रदेश में मानसून सक्रिय है। शनिवार को दोपहर बाद रायपुर, और आसपास के जिलों में अच्छी बारिश हुई। रायपुर शहर में तेज बारिश से व्यवस्था चौपट नजर आई। निचली बस्तियों में पानी भर गया।

मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो-तीन दिनों में रायपुर, और आसपास के जिलों में रूककर बारिश होती रहेगी। राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक 1 जून 2021 से अब तक राज्य में 897.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 11 सितम्बर तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सुकमा जिले में सर्वाधिक 1282.8 मिमी और बालोद जिले में सबसे कम 668.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।

राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 782.9 मिमी, सूरजपुर में 1073.3 मिमी, बलरामपुर में 877.7 मिमी, जशपुर में 901.8 मिमी, कोरिया में 873.6 मिमी, रायपुर में 742.8 मिमी, बलौदाबाजार में 824.4 मिमी, गरियाबंद में 801.5 मिमी, धमतरी में 786.4 मिमी, बिलासपुर में 878.9 मिमी, मुंगेली में 854.8 मिमी, रायगढ़ में 766.2 मिमी, जांजगीर चांपा में 897.0 मिमी, कोरबा में 1245.7 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 1104.8 दुर्ग में 848.1 मिमी, कबीरधाम में 712.7 मिमी, राजनांदगांव में 725.7 मिमी, बालोद में 683.6 मिमी, बेमेतरा में 983.5 मिमी, बस्तर में 968.1 मिमी, कोण्डागांव में 902.6 मिमी, कांकेर में 839.7 मिमी, नारायणपुर में 1044.5 मिमी, दंतेवाड़ा में 1019.2 मिमी और बीजापुर में 1038.9 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।


10-Sep-2021 5:42 PM (44)

रायपुर, 10 सितंबर। गजाननाय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्। भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष चतुर्थी को गणेश चतुर्थी पर्व पर छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने प्रदेशवासियों को सुख-शांति और समृद्धि के लिये बधाई शुभकामनाएं दी है ।

डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि, प्रथम पूज्यनीय श्रीगणेश चतुर्थी का पर्व भगवान गणेश जी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। भगवान गणेश जी को बुद्धि, विवेक, धन-धान्य, रिद्धि-सिद्धि के कारक है, सच्चे मन और विधि पूर्वक भगवान श्री गणेश की पूजा करने से जीवन में सुख शांति और समृद्धि आती है।

कोई भी शुभ कार्य बिना गणेश जी के पूरा नहीं हो सकता। इसीलिए सर्वप्रथम भगवान गणेश की पूजा और स्तुति की जाती है।

डॉ महंत ने कहा कि, गणेश चतुर्थी राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक संकल्प को स्मरण करने का पुण्य दिवस है। गणेशोत्सव के दौरान कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इससे बचाव एवं सावधानी रखने एवं शासन की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करने की प्रदेशवासियों से अपील की है।


10-Sep-2021 5:41 PM (36)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। कांकेर जिले में मिलेट प्रोसेसिंग उद्योग स्थापित करने के लिए अवनि आयुर्वेदा प्राइवेट लिमिटेड तथा महुआ प्रसंस्करण के लिए मेसर्स ब्रज कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड और उद्योग विभाग के मध्य एमओयू किया गया। इस मौके पर सीएम भूपेश बघेल भी मौजूद थे।

कांकेर जिले में कोदो-कुटकी और रागी वेल्यू एडिशन और प्रोसेसिंग के लिए अवनि आयुर्वेदा द्वारा 5.34 करोड़ रूपए की लागत से प्रोसेसिंग प्लांट की स्थापना की जाएगी। इस प्रोसेसिंग प्लांट की क्षमता लगभग 5 हजार टन प्रतिवर्ष होगी। इसमें लगभग 100 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसी प्रकार महुआ प्रसंस्करण के लिए मेसर्स ब्रज कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड द्वारा 25 करोड़ रूपए की लागत से प्लांट लगाया जाएगा, जिसमें प्रत्यक्ष रूप से 75 लोगों को रोजगार मिलेगा।

इस अवसर पर वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री मोहम्मद अकबर, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम गीता, छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ के प्रबंध संचालक संजय शुक्ला, उद्योग विभाग के सचिव आशीष भट्ट, संचालक उद्योग अनिल टुटेजा मुख्यमंत्री निवास में उपस्थित थे। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मिलेट रिसर्च के डायरेक्टर डॉ. विलास ए.तोनापी और मुख्य वैज्ञानिक डॉ. दयाकर राव तथा 14 जिलों के कलेक्टर कार्यक्रम से ऑनलाइन जुड़े।

 


10-Sep-2021 5:40 PM (37)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। प्रदेश में नेशनल लोक अदालत कल लगेगा। इस कड़ी में करीब 74 खण्डपीठ का गठन किया गया है। इसमें राजीनामा योग्य प्रकरणों का निराकरण किया जाएगा।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायपुर के अध्यक्ष-जिला न्यायाधीश अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के निर्देशानुसार 11 सितम्बर शनिवार को संपूर्ण राज्य में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण के कारण न्यायालयों में बड़ी संख्या में लंबित प्रकरणों में कमी लाने के उद्देश्य से तथा प्रभावित पक्षकारों को त्वरित, और सुलभ न्याय प्रदत्त करने की दिशा में नेशनल लोक अदालत एक प्रभावशाली कदम है। इस दिशा में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला न्यायालय, राजस्व न्यायालय रायपुर, गरियाबंद, तिल्दा, राजिम तथा देवभोग में एक साथ नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें लगभग 74 खण्डपीठ का गठन किया गया है।

उक्त खण्डपीठों के द्वारा विभिन्न राजीनामा योग्य प्रकरणों तथा प्रीलिटिगेशन का निराकरण किया जा रहा है। खण्डपीठों द्वारा लोक अदालत के माध्यम से न्यायालयों में राजीनामा योग्य प्रकरण में धारा 138, चेक बाउंस के मामले, परिवार के विवाद संबंधी, श्रम संबंधी, यातायात संबंधी, धारा 138 एनआईए, मोटर दुर्घटना, सिविल के निष्पादन प्रकरण, यातायात संबंधी, मामलों का निराकरण किया जाना है।

नेशनल लोक अदालत में आम जनता को राहत देने के लिए लॉकडाउन के दौरान धारा 188 भादसं, महामारी अधिनियम तथा अन्य लघु अपराधों का भी निराकरण किया जाएगा। इस लोक अदालत में कोई भी पक्षकार जो लोक अदालत से संबंधित किसी भी प्रकरण का निराकरण कराना चाहता है तो वह 11 सितम्बर को उपस्थित होकर भी अपने प्रकरण का निराकरण करा सकता है।


10-Sep-2021 5:40 PM (47)

रायपुर, 10 सितंबर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि नगरीय निकायों में 50 प्रतिशत महिला आरक्षण को स्वीकार कर एक क्रांतिकारी कदम प्रदेश सरकार ने उठाया है जो स्वागतेय तो है ही साथ ही अन्य प्रदेशों एवं केन्द्र सरकार के लिए भी अनुकरणीय पहल है। महिला सशक्तीकरण की दिशा में प्रदेश सरकार का यह 50 प्रतिशत महिलाओं वाला निर्णय अनुकरणीय है।

 रिजवी ने आगे कहा है कि प्रदेश सरकार द्वारा लगभग चार हजार पदों पर नियुक्ति का निर्णय लेकर बेरोजगारों के हित में कदम उठाया है जिसकी सर्वत्र वाहवाही हो रही है। सरकार से अनुरोध है कि निकाय की तर्ज पर चार हजार घोषित पदों में भी 50 प्रतिशत महिलाओं के लिए आरक्षित किए जाए। इससे बेरोजगार महिलाओं में उत्साह बढ़ेगा और महिला सशक्तिकरण की राह और भी ज्यादा सशक्त होगी।


10-Sep-2021 5:39 PM (46)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। धर्मांतरण के खिलाफ भाजपा ने मोर्चा खोल दिया है। इस कड़ी में शनिवार को भाजपा विधायक, और नेता आजाद चौक से राजभवन तक पैदल मार्च करेंगे, और राज्यपाल को ज्ञापन सौपेंगे।

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मीडिया से पुरानी बस्ती थाने में मारपीट की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि एक तरफा कार्रवाई की गई। उन्होंने कहा कि टिकरापारा थाने में भी धर्मांतरण को लेकर दर्ज कराई थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उन्होंने आरोप लगाया कि जिले से लेकर ब्लॉक स्तर तक धर्मांतरण के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा। पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि सरकारी संरक्षण में धर्मांतरण हो रहा है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए, और कहा कि कोंडागांव में शिक्षक द्वारा छात्रों को प्रताडि़त किया गया है। इसी तरह सूरजपुर, और कोंडागांव में भी इसको लेकर शिकायत की।


10-Sep-2021 5:39 PM (30)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। छत्तीसगढ़ संघर्ष समिति ने धुमाल बजाने की अनुमति देने का विरोध किया है। समिति ने कहा है कि बिलासपुर हाईकोर्ट ने भी इस पर रोक लगाई है। बावजूद इसके अनुमति दिया जाना उचित नहीं है।

बिलासपुर में डीजे की तेज आवाज के चलते ढाई साल के मासूम अमान को ब्रेन हेमरेज पड़ गया, और देर रात उसका निधन हो गया। मासूम की मौत के बाद एक बार फिर धुमाल पर रोक लगाने की मांग जोर पकडऩे लगी है।

छत्तीसगढ़ नागरिक संघर्ष समिति ने इस मामले को गंभीरता से लेकर मुख्य सचिव को पत्र लिखकर बताया कि वर्ष 2019 में गणेश विसर्जन दौरान  भी इसी प्रकार की घटना घटी थी। तब रात में तेज बज रहे कई डीजे की आवाजों के कारण हार्ट अटैक से 2 बुजुर्गों की मृत्यु रायपुर में हो गई थी। विसर्जन के दौरान रात को लगे जाम के कारण उन्हें इलाज के लिए भी नहीं ले जाया जा सका।

रायपुर कलेक्टर ने 6 सितंबर को जारी आदेश में किसी नियत स्थान पर धुमाल बजाने की अनुमति दी है। समिति के अध्यक्ष विश्वजीत मित्रा ने मुख्य सचिव को पत्र लिख करके बताया कि छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने गाडिय़ों पर साउंड बॉक्स लगाकर बजने वाले धुमाल पर प्रतिबंध लगा रखा है। उसके बावजूद भी और कोरोना काल में लगे प्रतिबंध के बावजूद भी धुमाल बजते रहे हैं।

समिति ने पत्र की प्रति कलेक्टर रायपुर और पुलिस अधीक्षक रायपुर को भेजकर अवगत कराया है कि पूर्व में दिए गए छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेशों पर अमल नहीं किए जाने के कारण उनके विरुद्ध अवमानना याचिका दायर की गई है जो कि लंबित है।

समिति ने मांग की है कि नियत स्थान पर धुमाल बजाने की अनुमति निरस्त की जावे ताकि बिलासपुर के समान घटना ना घटित हो तथा छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार गणेश स्थापना और विसर्जन के दौरान किसी प्रकार का भी धुमाल नहीं बजाया जावे।


10-Sep-2021 5:38 PM (26)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। संत जोसेफ महा गिरजाघर बैरन बाजार रायपुर में वेल्लाकनी माता  मरियम जी के पवित्र जन्म पर्व का पवित्र मिस्सा, बलिदान के मुख्य याजक आर्च बिषप विक्टर हैगरी ठकुर की अगुवाई में विनती प्रार्थना मे वैलकनी माता मरियम की मध्यक्षता में विश्व शांति एवं मानव सेवा एंव  कलीसिया परिवार जो कलेसिया से  दूर हो गए हैं।

वह परिवार जो प्रभु येशे की बिनती प्रार्थना से दूर हो गए हैं। प्रभु यीशु के मार्ग से दूर हो गए हैं उनके लिए हम पवित्र आशीष के लिए प्रभु येशु से  पवित्र ईश्वरी आशीष के लिए विशेष प्रार्थना अखिल भारतीय ईसाई समुदाय अधिकार संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुरविन्दर चडडा  के निवेदन पर पवित्र नोविना मिस्सा बलिदान में पल्ली पुरोहित फादर जोस फिलिप, फादर सजीव टोप्पो, बिसवासी गढ गुरविन्दर चडडा, निकोलस सिंह, सिलवेक्टर एक्का जो फर्नांडिस, कमल टांडी, पीटर साइमन, बसंत तिर्कीं, जांनपौल, कोरिना मारिया चड्ढा, मेरी फ्रांसिस, सिपाली पलव, सुशीला तिग्गा सहित ईसाई समुदाय के बिसवासीयों ने पवित्र नविनो, और मिस्सा बलिदान पुजन विधी में हिस्सा लिया।


10-Sep-2021 5:38 PM (45)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 10 सितंबर। स्काउट्स एवं गाइड्स संस्था बच्चों में अनुशासन और राष्ट्रीयता की भावना जागृत करती है। संस्था से जुड़े विद्यार्थियों में मानव सेवा की भावना भी उत्पन्न होती है, जो जीवन भर उनके काम आती है।

स्काउट और गाइड को यह सिखाया जाता है कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता। इसने विविधता में एकता की भावना’ तथा ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उक्त बातें राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने राजभवन के दरबार हाल में आयोजित भारत स्काउट्स एवं गाइड्स छत्तीसगढ़ के राज्य अलंकरण समारोह में कही।

इस अवसर पर उत्कृष्ट स्काउट, गाइड, रोवर, रेंजर, स्काउटर और गाइडर को सम्मानित भी किया। इस अवसर भारत स्काउट एवं गाइड छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष एवं स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, उपाध्यक्ष एवं विधायक शकुंतला साहू, आयुक्त एवं विधायक विनोद चन्द्राकर, कार्यकारी अध्यक्ष  राजेश अग्रवाल भी उपस्थित थे।

राज्यपाल ने कहा कि इस संगठन ने भारत स्काउट्स एवं गाइड्स एक ऐसी संस्था है, जो विद्यार्थियों को संस्कारित करने का कार्य करती है। स्काउट एवं गाईड को कम सुविधाओं में तथा कठिन परिस्थितियों में स्वयं को ढाल कर जीवन जीने की कला सिखाई जाती है। कहा जाता है कि ‘‘वन्स ए स्काउट ऑलवेज स्काउट’’। यदि बच्चे में एक बार स्काउटिंग का बीज रोपित कर दिया जाए तो वह जीवन भर स्काउट बना रहता है। स्काउटिंग सभी धर्मों के प्रति श्रद्धा रखना सिखाती है। युवाओं में नेतृत्व क्षमता का गुण विकसित करने का कार्य भी यह संस्था करती है। यहां मुझे स्वामी विवेकानंद का वह कथन याद आ रहा है कि ‘‘अगर मुझे तेजस्वी, श्रद्धासंपन्न और दृढ़विश्वासी और नि:स्वार्थ सेवा करने वाले कुछ युवा मिल जाएं तो मैं पूरी दुनिया को बदल कर रख सकता हूं।’’

राज्यपाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य की स्काउटिंग का हमारे देश में अहम योगदान है। कोरोना काल में भी हमारे रोवर्स-रेंजर्स, स्काउटर एवं गाइडर ने अनेक सेवा कार्य जैसे भोजन वितरण, सूखा राशन वितरण, घर-घर दवा पहुंचाना एवं आम लोगों में जनजागरूकता फैलाने जैसे कार्य नि:स्वार्थ भाव से किए, जिसके फलस्वरूप पूरे भारत में कोरोनाकाल में सेवा कार्य हेतु भारत को तीसरा पुरस्कार प्राप्त हुआ है। इसके लिए आप सभी बधाई के प्राप्त हैं। राष्ट्रीय स्तर पर प्रशिक्षण देने के लिए यहां के ट्रेनर्स को अनेकों बार राष्ट्रीय प्रशिक्षण संस्थान पचमढ़ी में आमंत्रित किया जाता है। राज्य में प्रतिवर्ष विभिन्न कार्यक्रम तो होते ही है, राष्ट्रीय स्तर में भी हमारा राज्य सभी कार्यक्रमों में सहभागिता करता है। राज्य से प्रतिवर्ष शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग से 1000 बच्चे पचमढ़ी जाकर नि:शुल्क डिजास्टर मैनेजमेंट एवं एडवेंचर कोर्स कर रहे हैं। देश के लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में हमारे स्काउट्स-गाइड्स ने दिव्यांग जनों की सहायता कर एक मिसाल प्रस्तुत की है। मुझे आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि हमारे राज्य के स्काउट्स गाइड इसी प्रकार सेवा के कार्य करते रहेंगे और अपने प्रदेश एवं देश का नाम रोशन करेंगे।

स्कूल शिक्षा मंत्री श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि स्काउट्स एवं गाइड्स ने कोरोना काल में कोरोना के प्रति जागरूकता लाने, मास्क वितरण, दवाईयां और भोजन पहुंचाने में उल्लेखनीय कार्य किया। उन्होंने कहा कि स्काउट्स एवं गाइड्स के प्रशिक्षण केन्द्रों और जिलों में कार्यालय को विकसित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने उत्कृष्ट स्काउट्स गाइड्स को पुरस्कृत करने की जो शुरूआत की है वह पूरे देश के लिए अनुकरणीय हैं।

समारोह को स्काउट्स एवं गाइड्स छत्तीसगढ़ के आयुक्त एवं विधायक श्री विनोद चन्द्राकर एवं कार्यकारी अध्यक्ष श्री राजेश अग्रवाल ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर उत्कृष्ट रोवर-रेंजर्स, स्काउट्स एवं गाइड्स और स्काउटर एवं गाइडर को राज्यपाल की ओर से नगद राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। साथ ही थैंक्स अवार्ड भी प्रदान किया गया।

कार्यक्रम में रायपुर जिले से सुश्री अवन्या शुक्ला तथा उत्कृष्ट स्काउट्स गाइड्स एवं रोवर रेंजर श्री नमन साहू, श्री जीवेश साहू, श्री अनीश पटेल, कुमारी डागेश्वरी, कुमारी मुस्कान मैत्री, कुमाी नंदनी सिन्हा, श्री महेन्द्र बाबू टंडन, श्री राहुल सिंह नेताम, कुमारी मेघा मिश्रा, कुमारी करूणा, श्री संतोष कुमार साहू, श्री दीपक ध्रुवंशी, गाइडर सुश्री सुधा तिवारी एवं श्रीमती सरस्वती गिरिया को पुरस्कृत किया गया।


10-Sep-2021 5:36 PM (28)

रायपुर, 10 सितंबर। राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक 1 जून 2021 से अब तक राज्य में 886.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 10 सितम्बर तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार सुकमा जिले में सर्वाधिक 1264.9 मिमी और महासमुंद जिले में सबसे कम 659 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।

 राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 775.4 मिमी, सूरजपुर में 1071.3 मिमी, बलरामपुर में 866 मिमी, जशपुर में 892.5 मिमी, कोरिया में 868.9 मिमी, रायपुर में 740.5 मिमी, बलौदाबाजार में 821 मिमी, गरियाबंद में 793.7 मिमी, धमतरी में 783.5 मिमी, बिलासपुर में 874 मिमी, मुंगेली में 848.3 मिमी, रायगढ़ में 755.5 मिमी, जांजगीर चांपा में 887.2 मिमी, कोरबा में 1240.1 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 1077.6 दुर्ग में 848.1 मिमी, कबीरधाम में 703.4 मिमी, राजनांदगांव में 711.6 मिमी, बालोद में 681.6 मिमी, बेमेतरा में 967.5 मिमी, बस्तर में 934.9 मिमी, कोण्डागांव में 891.6 मिमी, कांकेर में 808.8 मिमी, नारायणपुर में 1030.5 मिमी, दंतेवाड़ा में 1001.9 मिमी और बीजापुर में 1012.3 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।


10-Sep-2021 1:23 PM (56)

रायपुर, 10 सितंबर। डॉ. प्रभात कोठारी (73 वर्ष) (पूर्व संचालक कोठारी हॉस्पिटल सत्ती बाजार) का असाध्य व्याधि (कोविड नहीं) से निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार मारवाड़ी मुक्तिधाम में किया गया। वे निखिल-मौसमी कोठारी, नैनी-मनोज बगडिय़ा के पिता, राजनांदगांव के जीवनचंद, प्रकाशचंद कोठारी के अनुज एवं सदर बाजार के स्व. मंगलचंद तथा महेंद्र कुमार, सुरेंद्र कुमार लूंकड के कनिष्ठ दामाद थे।


09-Sep-2021 5:51 PM (57)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कांकेर, 9 सितंबर। जिले के सभी विकासखण्डों में अब स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय प्रारंभ किया जाएगा। सभी शासकीय विद्यालयों में कक्षा 1ली से 12वीं तक की कक्षाएं प्रारंभ हो गई है।

 कलेक्टर ने सभी शिक्षकों का कोविड-19 टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त द्वारा बताया गया कि कक्षा 6वीं से 12वीं तक अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के लिए आश्रम-छात्रावास खोलने के निर्देश शासन से प्राप्त हुए हैं। मंगलवार को आयोजित समय-सीमा की बैठक में निर्णय लिया गया । कलेक्टर ने अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों का सर्वेक्षण के लिए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में मुनादी कराने, राजीव गंाधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना अंतर्गत भूमिहीन परिवारों का पंजीयन कराने, मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजनांतर्गत हाट-बाजारों में मरीजों का उपचार, गोधन न्याय योजनांतर्गत गोबर की खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण एवं उसका विक्रय, गिरदावरी कार्य इत्यादि की विस्तृत समीक्षा किया।

 गिरदावरी कार्य में पंचनामा तैयार करने एवं कार्य स्थल का फोटो लेने के निर्देश राजस्व अधिकारी को दिये। उनके द्वारा राजस्व मामलों-नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, डायवर्सन इत्यादि के निराकरण की समीक्षा भी की गई। देवगुड़ी एवं घोटुल निर्माण, नवीन स्वीकृत आंगनबाड़ी भवनों के निर्माण में प्रगति की समीक्षा किया गया तथा सभी कार्यों को समय-सीमा के भीतर गुणवत्ता के साथ पूरा करने के लिए निर्देशित किया गया।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे, डीएफओ पश्चिम भानुप्रतापपुर आर.सी. मेश्राम, अपर कलेक्टर एस.पी. वैद्य, एसडीएम भानुप्रतापपुर जितेन्द्र यादव, एसडीएम चारामा निशा नेताम मड़ावी, एसडीएम पखांजूर धनंजय नेताम, एसडीएम कांकेर डॉ. कल्पना धु्रव सहित सभी जिला अधिकारी, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नगरीय निकायों के अधिकारी मौजूद थे।

 


09-Sep-2021 5:34 PM (51)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 9 सितंबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गणेश चतुर्थी के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना की है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में भगवान गणेश की आराधना का यह पर्व पूरी श्रद्धा और धूमधाम से मनाया जाता है। इस दौरान बच्चे से लेकर बुजुर्गों तक सभी में आस्था और उत्साह का एक अनुपम संगम दिखाई देता है।

लोगों में इसी एकता के भाव को जागृत करने के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. बाल गंगाधर तिलक ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान सार्वजनिक गणेश उत्सव की शुरूआत की थी। यह उत्सव अब सामाजिक समरसता का अनूठा उदाहरण बन गया है।


09-Sep-2021 5:33 PM (59)

सिंहदेव ने निर्माण कार्यों को देखा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 9 सितंबर। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव गुरूवार को डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय पहुंचे। उन्होंने नवनिर्मित विकास कार्यों का गहन अवलोकन किया। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि अस्पताल में बेड की संख्या बढ़ाकर दो हजार की जाएगी, और सात सौ बेड में ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था होगी।

सिंहदेव ने अस्पताल में नए निर्मित हुए सोनोग्राफी कक्ष, कॉन्सल्टेंशन कक्ष, गायनॉलॉजिस्ट कक्ष, डॉक्टर्स चेंजिंग रूम, आपरेशन कक्ष, डेमोंस्ट्रेशन कक्ष, रिकवरी-ऑब्जरवेशन रूम और भंडारण कक्ष समेत ऑक्सीजन व्यवस्था का गहन अवलोकन किया। वर्तमान में अभी 7 सौ बेड हैं। जिसे बढ़ाकर दो हजार करने की योजना है।

मंत्री श्री सिंहदेव ने मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा करते हुए चिकित्सालय प्रबंधन से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में अलग-अलग विंग है तो हर विंग में अलग-अलग प्रकार की व्यवस्था रहेगी, मेटरनिटी विंग महिलाओं के उपचार के लिए, प्रसव के पहले और बाद में उसकी जांच के लिए वार्ड की व्यवस्था, इसके साथ तीन ऑपरेशन थिएटर भी निर्मित किए गए हैं।

 ऑपरेशन थिएटर के करीब डॉक्टरों की बैठने की व्यवस्था, कंसल्टेशन चेंबर, स्टोर रूम, डॉक्टरों के लिए चेंजिंग रूम बनाए गए हैं। जहां डॉक्टर चेंज और सेनेटाइज करने के उपरांत फिर काम करने में जाएं प्रयास किया गया है कि बेहतर से बेहतर सुविधाएं दे पाए और उन्होंने जिम्मेदारी ली है कि एक छत के नीचे सभी सुविधाएं उपलब्ध हो पाए, उन्होंने कहा कि संस्थागत डिलीवरी के लिए वर्तमान समय मे उपलब्ध सुविधाओं की तुलना में और भी सुविधा बढ़ाने की आवश्यकता है।

आईसीयू बिस्तरों को बढ़ाने पर विचार

ऑक्सीजन प्लांट के निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि चिकित्सालय में 30 बिस्तर प्रति वार्ड की सुविधा उपलब्ध है, जिसमें हर वार्ड-बिस्तर पाइप लाइन ऑक्सीजन की सुविधा से युक्त है। स्वास्थ्य विभाग सुविधाओं के विस्तार के साथ ही गुणवत्ता पर भी खास ध्यान दे रहा है, जब अस्पताल बना था तो परिकल्पना यह नहीं थी कि इतने ज्यादा लोग आएंगे हालांकि कालीबाड़ी में अलग विंग चलेगा यहां पर अलग चलेगा तो व्यवस्था और बढ़ानी पड़ेगी।

इसके साथ ही कंसल्टेशन से लेकर और भी व्यवस्था बढ़ानी पड़ेगी, ऊपर के मंजिल में भी आईसीयू के बिस्तरों की संख्या बढ़ाने एवं नई बिल्डिंग भी बढ़ाने का प्लान है। जिसपर आगे विभाग के द्वारा और भी कार्य किए जायेंगे, और जन-जन को शासन के द्वारा आसानी से गुणवत्तापूर्ण सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।