छत्तीसगढ़ » रायपुर

08-Apr-2021 8:30 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर 8 अपे्रल।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रायपुर डॉ एस.भारतीदासन ने जिले में कोरोना वायरस (कोविड-19) पॉजिटिव प्रकरणों की बढ़ती संख्या को दृष्टिगत रखते हुए अस्थाई आईसोलेशन - कोविड-19  केयर सेंटर बनाने के लिए 6 भवनों को अधिग्रहित किया है और यहां का व्यवस्थित एवं निर्बाध संचालन सुनिश्चित करने के लिए नोडल अधिकारियों नियुक्त करते हुए सहित अन्य अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है।

इसके तहत प्रयास बालक छात्रावास, सड्डू रायपुर के आईसोलेशन-कोविड-19 केयर सेंटर हेतु सहायक संचालक, कृषि  आर.के. परगनिहा मो नं-9827104237 को नोडल अधिकारी बनाया है। इसी तरह पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयूष विश्वविद्यालय, नवा रायपुर अटल नगर तथा छत्तीसगढ़ एवं स्टेट इन्स्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, सेक्टर 40 उपरवारा, नवा रायपुर अटल नगर को अस्थाई आईसोलेशन-कोविड-19 केयर सेंटर के लिए डिप्टी कलेक्टर एवं प्रबंधक (प्रशासन) नवा रायपुर विकास का प्राधिकरण श्री विनय अग्रवाल फोन नं- 9424407243 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।

वर्किंग वूमेन हॉस्टल, व्हीआईपी रोड, फुण्डहर में बनाए गए अस्थाई आईसोलेशन/कोविड-19 केयर सेंटर के लिए  ए.एन.बंजारा, जिला शिक्षा अधिकारी, रायपुर मों नं- 9926177856 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। शासकीय विज्ञान महाविद्यालय, नवीन भवन अटारी के अस्थाई आईसोलेशन/कोविड-19 केयर सेंटर के लिए डिप्टी कलेक्टर एवं सहायक संचालक, खेल विभाग हेमन्त मत्स्यपाल, मो नं- 9424220390 तथा प्रयास महिला छात्रावास, गुढिय़ारी के लिए सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास विभाग तारकेश्वर देवांगन मो नं- 9406047400 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। 

कलेक्टर ने अस्थाई आईसोलेशन/कोविड-19 केयर सेंटर में भोजन वितरण, साफ-सफाई, पेयजल, मेडिकल डिस्पोजल स्थल तक भोजन एवं उसकी परिवहन व्यवस्था, किसी मरीज के लक्षण युक्त होने पर वरिष्ठ चिकित्सालय में रेफर करने, सेन्टर में सम्पूर्ण चिकित्सीय व्यवस्था, भवन अधोसंरचना एवं सुधार कार्य, सुरक्षा व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था आदि के लिए भी अधिकारियों की ड्युटी लगाई है।


 


08-Apr-2021 8:28 PM 16

रायपुर, 8 अप्रैल। नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा  कोविड 19 के परिपेक्ष्य में सम्पत्ति कर भुगतान में विशेष छूट प्रदान की गई है। नगरीय निकाय अंतर्गत करदाताओं को सम्पत्ति कर एवं विवरणी जमा करने हेतु अंतिम तिथि 31 मार्च 2021 निर्धारित थी। 

विभाग द्वारा  महामारी (कोविड 19) की स्थिति को ध्यान रखकर अंतिम तिथि में 30 दिवस की विशेष छूट प्रदान करते हुए 30 अप्रैल 2021 निर्धारित की गई है। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया ने संपत्ति कर भुगतान की प्रक्रिया ऑनलाइन करने की अपील की है ताकि कोरोना की संभावना से बचा जा सकें। उन्होंने आमनागरिकों को कार्यालय आकर भुगतान करने के दौरान कार्यालय में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने और निकाय कर्मचारियों को भी सावधानी बरतने की अपील की है।
 


08-Apr-2021 8:27 PM 25

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 8 अपै्रल।
राजधानी रायपुर-आसपास कोरोना का खतरा बढऩे के साथ ही यहां के पुलिस कॉलोनी व पुलिस लाइन से 4, एसआरपी ऑफिस 3 लोग पॉजिटिव मिले हैं। शंकर नगर में 28 व चौबे कॉलोनी 24, सांई हॉस्पिटल में 9 नए पॉजिटिव पाए गए हैं। समता कॉलोनी में 19, चंगोराभाठा, देवेंद्र नगर में 15-15 कोरोना मरीज पाए गए हैं। इसके अलावा शहर की अलग-अलग और कई बस्तियों-कॉलोनियों में दर्जनों नए पॉजिटिव मिले हैं।

जिन जगहों से नए पॉजिटिव सामने आए हैं, उसमें मठपुरैना-4, खमतराई-5, अमलीडीह-20, सीजी नगर, पुलिस लाइन-4, डंगनिया, प्रोफेसर कॉलोनी-7, रामसागरपारा-6, बोरियाखुर्द-5, चंगोराभाठा-14, मोवा 9, खम्हारडीह, गुढिय़ारी 12, सुंदर नगर 2, पेंशनबाड़ा, अवधपुरी 3, बिरगांव, बैरनबाजार, शिवाजी नगर, लक्ष्मी नगर, भनपुरी, लाभांडी 2, मठपारा 4, संजय नगर, दलदल सिवनी, अवंति विहार 7, कुशालपुर 2, शिवानंद नगर 8, न्यू राजेंद्र नगर 5, मौदहापारा, रावतपुरा कॉलोनी, फाफाडीह 2, लालपुर, मंदिरहसौद 4, धनेली 3 नए पॉजिटिव पाए गए हैं। 

इसके अलावा तेलीबांधा-6, नयापारा, छोटापारा, मोहबाबाजार-3, डब्ल्यूआरएस कॉलोनी 3, समता कॉलोनी 19, कचना, डीडी नगर 20, बीरगांव 3, सड्डू, माना, शंकर नगर 28, तेलीबांधा 2, दुबे कॉलोनी, रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल, कबीर नगर 16, वीआईपी रोड, आमानाका कुकुरबेड़ा, डंगनिया, बैरन बाजार, पुलिस कॉलोनी,  टैगोर नगर, बाजाज कॉलोनी 2, एसआरपी ऑफिस 3, सरोरा 2, चौबे कॉलोनी 24, देवेंद्र नगर 15, टाटीबंध 5, प्रियदर्शनी नगर 6, कैपिटल सिटी-सड्डू 3, बैरनबाजार, रामकुंड-5, सदर बाजार, एम्स, सांई हॉस्पिटल-9, माना कैंप 2 लोग संक्रमित पाए गए हैं। 

 

 


 


08-Apr-2021 8:26 PM 20

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर 8 अपे्रल।
अपर कलेक्टर एवं कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कार्य रायपुर की प्रभारी अधिकारी पदमिनी भोई ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कार्य की ड्यूटी में अनुपस्थित 42 अधिकारियों कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

उन्होंने इन सभी को न्यू सर्किट हाउस स्थित कंट्रोल रूम में अनुपस्थिति के उचित कारण के साथ समक्ष में उपस्थिति होने को कहा है। आदेश की अवेहलना किए जाने पर उनके विरूद्व आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 तथा एपेडमिक डिसीसेस एक्ट 1857 के तहत अनुशासनात्मक एवं दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। 

इसके तहत प्रमिला होड़, श्वेता अमित सिरपुरकर, अमनाअजीत, कुमारी अनुपमा लकड़ा, दीप्ति समीकर, सुलोचना साहू, राम सुन्निसा, कुमारी पूजा जामकुडक़र, नमिता मसीहा , सोसन केरकेट्टा, जान्हवी यदु, प्रभा साहू ,रंजना कुशवाहा, अर्पिता अग्रवाल, मनीषा अग्रवाल,  शैल शर्मा, अफसाना परवीन, अंजना दुबे, विजय लक्ष्मी वर्मा,  गौरी नामदेव, लोकेश कुमार साहू , सरिता स्वर्णकार, गरिमा साकर, इफ्तेखारून्निशा कुरेशी, जीवन लाल शर्मा, कविता शर्मा, मंजू सुतवने, निशा शर्मा, नंदनी वर्मा, निधि महानंद, नम्रता भोसले, कामिनी जांगड़े,  राम दास बैरागी, वंदना तिवारी, जयंती श्रीवास, पार्वती वर्मा, भारती सिन्हा, ज्योति चंद्रवंशी, बसंती सोनापती, आशिमा अंजुम, देवकी सिंह एवं आशीष बंजारे को नोटिस जारी किया गया।
 


08-Apr-2021 8:25 PM 17

सिंहदेव ने उत्कृष्टता हासिल करने वाले सभी अस्पतालों के अफसर-कर्मियों को दी बधाई

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 8 अप्रैल।
उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवा और मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने वाले छत्तीसगढ़ के सात प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक  प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की विशेषज्ञों की टीम द्वारा विगत फरवरी माह में इन अस्पतालों में मरीजों के लिए उपलब्ध सेवाओं की गुणवत्ता के परीक्षण के बाद राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक प्रमाण-पत्र के लिए चयन किया गया है।

श्री सिंहदेव ने समर्पित स्वास्थ्य सेवाओं के लिए उत्कृष्टता प्रमाण-पत्र हासिल करने वाले सभी अस्पतालों के अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने भरोसा जताया है कि ये अस्पताल आगे भी अपनी उत्कृष्टता बरकरार रखते हुए मरीजों की सेवा करेंगे और प्रदेश के दूसरे अस्पतालों के लिए नए प्रतिमान स्थापित करेंगे। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणु जी. पिल्लै, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़ और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला सहित संबंधित जिलों के मैदानी अधिकारियों को भी बधाई दी है।

भारत सरकार के केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा सरगुजा जिले के रघुनाथपुर और लुंड्रा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, रायपुर के मंदिरहसौद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जांजगीर-चांपा के राहोद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महासमुंद के पटेवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कोरिया के खडग़वां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और बेमेतरा के देवरबीजा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया है। राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र प्रदान करने के पूर्व विशेषज्ञों की टीम द्वारा अस्पतालों की ओपीडी, आईपीडी, लेबोरेट्री, प्रसव कक्ष, राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों के क्रियान्वयन और जनरल एडमिन व्यवस्था का मूल्यांकन किया गया। मूल्यांकन में खरा उतरने वाले अस्पतालों को ही केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा गुणवत्ता प्रमाण-पत्र जारी किए जाते हैं।

भारत सरकार के विशेषज्ञों द्वारा मरीजों के लिए अस्पताल में उपलब्ध सेवाओं की गुणवत्ता के परीक्षण में लुंड्रा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और मंदिरहसौद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 94-94 प्रतिशत, रघुनाथपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 91 प्रतिशत, राहोद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 86 प्रतिशत, खडग़वां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 85 प्रतिशत, पटेवा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 82 प्रतिशत और देवरबीजा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 75 प्रतिशत अंक मिले हैं। 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, छत्तीसगढ़ की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाओं को जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है। कोरोना महामारी के संकट काल में भी इन सात सरकारी अस्पतालों द्वारा राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण-पत्र हासिल करने से प्रदेश के दूसरे अस्पताल भी लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने को प्रेरित होंगे।
 


08-Apr-2021 5:30 PM 27

रायपुर, 8 अप्रैल। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए पिछले एक सप्ताह (1 अप्रैल से 7 अप्रैल) में दो लाख 73 हजार 033 सैंपलों की जांच की गई है। स्वास्थ्य मंत्री  टीएस सिंहदेव के निर्देश पर प्रदेश में रोजाना अधिक से अधिक सैंपलों की जांच की जा रही है। बीते सप्ताह के दौरान 1 अप्रैल को 40 हजार 857 सैंपल, 2 अप्रैल को 37 हजार 075 सैंपल, 3 अप्रैल को 40 हजार 875 सैंपल, 4 अप्रैल को 26 हजार 911 सैंपल, 5 अप्रैल को 40 हजार 053 सैंपल, 6 अप्रैल को 47 हजार 973 सैंपल और 7 अप्रैल को 42 हजार 289 सैंपल की जांच की गई है। प्रदेश में एम्स रायपुर और छह अन्य शासकीय मेडिकल कॉलेजों बिलासपुर, जगदलपुर, रायगढ़, राजनांदगांव, अंबिकापुर तथा रायपुर की वायरोलॉजी लैब में सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच की जा रही है। आरटीपीसीआर जांच की संख्या बढ़ाने महासमुंद, कोरबा, कांकेर और कोरिया में वायरोलॉजी लैब की स्थापना का काम प्रगति पर है। शीघ्र ही इन चारों नए लैब में भी आरटीपीसीआर जांच शुरू हो जाएगी। प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा लगभग सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में रैपिड एंटीजन किट से कोविड-19 की जांच की जा रही है।


08-Apr-2021 5:29 PM 38

स्थानीय लोगों ने नाराजगी जताई

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। टाटीबंध बिजली ऑफिस के ज्यादातर स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। सरकार के आदेश के बाद भी दफ्तर को  कंटेनमेंट जोन घोषित करने की दिशा में अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

बताया गया कि टाटीबंध स्थित बिजली आफिस में एक जूनियर इंजीनियर, एक महिला कर्मचारी और 2 लाईनमेन कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। बावजूद इसके दफ्तर संचालित हो रहा है, और लोगों की बेधडक़ आवाजाही चल रही है। जिम्मेदार अफसर द्वारा दफ्तर को बंद करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

शासन के आदेश के परिपालन में कार्यालय को कन्टेनमेन्ट जोन घोषित करने के दिशा में कोई कार्यवाही नहीं किया है। वहां आम लोगो का आना जाना जारी है। जिसमे वहां कार्यरत कर्मचारियों और आम लोगो को संकमण का खतरा बना हुआ है। स्वास्थ्य चेतना विकास समिति के सचिव नागेन्द्र बहादुर सिंह ने आम लोगों को संकमण से बचाने कन्टेनमेन्ट एरिया बनाने और पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करने की मांग की है।

 

 

 

 


08-Apr-2021 5:28 PM 57

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। लॉकडाउन से पहले सामान खरीदने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। सब्जियों के भाव आसमान छूने लगे। आलू, टमाटर की कीमत तो कई गुणा बढ़ गई।

भाठागांव सब्जी बाजार में सुबह से ही सब्जी लेने वालों की भीड़ जमा हो गई। इस बार लॉकडाउन में सब्जी और फल दूकानों को भी खोलने की अनुमति नहीं रहेगी। यही वजह है कि लोग सुबह से ही बाजार पहुंच गए थे।

सब्जियों के भाव भी आसमान छूने लगे। 15 रूपए किलो आलू और प्याज की कीमत 40 रूपए तक पहुंच गई। टमाटर के भाव बुधवार तक 10 से 15 रूपए प्रतिकिलो थे, जो कि 40 रूपए किलो बिकने लगे। करेला की कीमत 80 रूपए तक पहुंच गई।

आम दिनों में 30-35 रूपए में मिलने वाली बरबट्टी की कीमत 100 रूपए प्रतिकिलों तक पहुंच गई। इसी तरह गोभी की कीमत भी 50 से 60 रूपए तक पहुंच गई। बाजारों में रेलमपेल मच गया। सामाजिक दूरी पालन करने की सारी व्यवस्था धरी की धरी रह गई। सब्जी और फल को लॉकडाउन के मुक्त रखने की मांग हो रही है। चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पूर्व चेयरमैन योगेश अग्रवाल, और ललित जैसिंघ ने सब्जी और फल बाजार बिक्री की अनुमति देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पिछले लॉकडाउन में इसकी छूट दी गई थी। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने भी जरूरी वस्तुओं फल-सब्जी को लॉकडाउन से मुक्त रखने के लिए कलेक्टर से बात की है।


08-Apr-2021 5:28 PM 46

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। कोरोना के उपचार के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन की भारी किल्लत है। दवा विक्रेताओं का कहना है कि कंपनी से सप्लाई नहीं हो रही है। ऐसे में इंजेक्शन के लिए सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए।

कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन उपयोग में लाया जा रहा है। यह काफी असरकारी साबित हुआ है, और इससे मौतों के आंकड़े में कमी आई है। पिछले कुछ दिनों से रायपुर के विभिन्न अस्पतालों में रेमडेसिविर इंजेक्शन की भारी कमी हो गई है। ये इंजेक्शन अधिकतम 54 सौ रूपए में बाजार में उपलब्ध होता है, लेकिन अभी 10 हजार से अधिक में बाहर से मंगाया जा रहा है।

दवा विक्रेता अश्वनी विग ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि काला बाजारी जैसी कोई बात नहीं है। दरअसल, मुंबई, हैदराबाद और मद्रास से इसकी सप्लाई होती है। मगर पिछले कुछ दिनों से अन्य जगहों पर संक्रमण बढऩे के कारण सप्लाई व्यवस्था बाधित हुई है। उन्होंने सुझाव दिया कि सरकार को सीधे कंपनियों से बात करनी चाहिए, ताकि इंजेक्शन की सप्लाई व्यवस्था बाधित न हो।

 


08-Apr-2021 5:27 PM 28

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। रायपुर जिले में  कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम हेतु दण्ड प्रक्रिया सहिता 1973 की धारा 144 लागू कर सम्पूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ऐसे समय आम नागरिकों को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) के भीतर सुनिश्चित करने हेतु कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रायपुर डॉ एस.भारतीदासन ने 9 दल गठित किया है। इसमें से 4 दल नगर निगम रायपुर, 1 दल नगर निगम बीरगांव और 1-1 दल सभी तहसीलों में बनाए गए है। इस सूची में सहायक खाद्य अधिकारी शाहनवाज खान की भी ड्यूटी लगाई गई। जिनका नगर निगम रायपुर के जोन क्रमांक 1 और 2 के लिए बनाए गए टीम में सिद्धार्थ पाण्डेय, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, मनीष यादव, खाद्य निरीक्षक, मोर ध्वज वर्मा, निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान, पियुश बघेल, सहायक राजस्व निरीक्षक विन्टन जार्ज, सहायक राजस्व निरीक्षक , मोहिब उल्ला खान सहायक राजस्व निरीक्षक और अमर सागर, सहायक राजस्व निरीक्षक शामिल है।

नगर निगम रायपुर के जोन क्रमांक 3, 5 और 9 के लिए बनाए गए टीम में सिद्धार्थ पाण्डेय, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, वीणा किरण साहू, खाद्य निरीक्षक, कु. सोनत चंद्राकर, खाद्य निरीक्षक, युवराज साहू निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान, अरविंद छेडय़ा, सहायक राजस्व निरीक्षक,  आशीष भारती, सहायक राजस्व निरीक्षक , अमन बघेल, सहायक राजस्व निरीक्षक  और चंदन रगडे, सहायक राजस्व निरीक्षक शामिल है।

नगर निगम रायपुर के जोन क्रमांक 4, 6 और 10 के लिए बनाए गए टीम में ब्रिजेन्द्र भारती, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, कु. राखी ठाकुर, खाद्य सुरक्षा अधिकारी , कु.रीना, साहू खाद्य निरीक्षक, अनिल जैन, खाद्य निरीक्षक , युवराज साहू, निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान,  जीतेन्द्र निहाल, सहायक राजस्व निरीक्षक, जुनैद, सहायक राजस्व निरीक्षक, राम कुगार यादव, सहायक राजस्व अधिकारी और विनोद महोबिया, सहायक राजस्व अधिकारी शामिल है।

नगर निगम रायपुर के जोन क्रमांक 7 और 8 के लिए बनाए गए टीम में बिजेन्द्र भारती, खाद्य सुरक्षा अधिकारी , कु. राखी ठाकुर, खाद्य सुरक्षा अधिकारी , श्रीमती भारती हर्ष, खाद्य निरीक्षक,  युवराज साहू, निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान,  देवेन्द्र नेताम, सहायक राजस्व निरीक्षक, अमर मतेलकर, सहायक राजस्व निरीक्षक , रणदीप सहायक राजस्व निरीक्षक, राम कुमार यादव राजस्व निरीक्षक शामिल है।

नगर निगम बीरगांव के लिए बनाए गए टीम में आशिष यादव खाद्य सुरक्षा अधिकारी, भारती हर्ष, खाद्य निरीक्षक, सिद्धार्थ दुबे, विधिक माप विज्ञान , दीपक दीवान, सहायक राजस्व अधिकारी और अब्दुल हकीम, राजस्व निरीक्षक शामिल है।

तहसील धरसीवां के लिए बनायी गई टीम में आशिष यादव खाद्य सुरक्षा अधिकारी , मनीष यादव, खाद्य निरीक्षक , सिद्धार्थ दुबे, विधिक माप विज्ञान के साथ साथ अतिरिक्त तहसीलदार धरसीवां द्वारा संलग्न अधिकारी एवं कर्मचारी शामिल है।

तहसील आरंग के लिए बनायी गई टीम में साधना चन्द्राकर खाद्य सुरक्षा अधिकारी  संजय कौशिक, खाद्य निरीक्षक कु. श्वेता दीवान, खाद्य निरीक्षक, श्रीमती नेहा साहु, निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान, अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) आरंग द्वारा संलग्न अधिकारी-कर्मचारीगण शामिल है।

तहसील अभनपुर के लिए बनायी गई टीम में केसी, थारवानी, सहायक खाद्य अधिकारी, सर्वेस यादव, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, कु सुत्रिता कश्यप, खाद्य निरीक्षक,  श्रीमती नेहा साहु निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान तथा अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) अभनपुर द्वारा संलग्न अधिकारी-कर्मचारीगण शामिल है।

तहसील तिल्दा के लिए बनायी गई टीम में श्रीमती पूनम माझी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी , संदीप शर्मा, खाद्य निरीक्षक , मोर ध्वज वर्मा, निरीक्षक, विधिक माप विज्ञान तथा तहसीलदार, तिल्दा द्वारा संलग्न अधिकारी-कर्मचारीगण शामिल है।

 ये टीम आम जनता तक खुदरा मूल्य के भीतर सामाग्रियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का कार्य करेगें। यह टीम आवश्यकतानुसार क्षेत्र भ्रमण करेगी। यदि कोई व्यक्ति उपरोक्त आदेशों का उल्लंघन करते हुये अधिकतम खुदरा मूल्य से अधिक कीमत पर खाद्य सामग्री इत्यादि का विक्रय करेगा, तो उसके विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता, 1860 सहित अन्य सुसंगत विधियों के तहत कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

ये अधिकारी किसी भी माध्यम से प्राप्त शिकायत, फीडबैक इत्यादि पर त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। ये दल सहायक खाद्य अधिकारी संजय दुबे, अरविन्द दुबे, शाहनवाज खान और मदन मोहन साहू के मार्गदर्शन में कार्य करेंगें।


08-Apr-2021 5:27 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। गत वर्ष इसी दिन छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महत्वाकांक्षी योजना पढ़ई तुंहर दुआर का शुभारंभ किया गया। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम के सफल निर्देशन में कार्यक्रम संचालित किया गया। एक वो दिन था और एक आज का दिन। इस एक साल में भले ही दुनिया के चारों ओर कोरोना पर हाहाकार मचा है, पर दूसरी ओर छत्तीसगढ़ प्रदेश ने शिक्षा के क्षेत्र में कई परचम लहराये जो, शिक्षण क्षेत्र से जुड़े सभी कर्मठ अधिकारीगण तथा शिक्षकों की मेहनत से ही संभव हो पाया है। छत्तीसगढ़ ही नहीं भारत के अन्य राज्यों में भी इसकी तारीफ की जा रही है। हाल ही में इस योजना को ई-गवर्नेंस अवार्ड कम्प्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा प्रदान किया गया है। 

ज्ञातव्य है कि 25 मार्च 2020 से कोविड महामारी की वजह से स्कूलों को बंद किया गया था जिससे बच्चों के सीखने की सतत प्रक्रिया बहुत अधिक प्रभावित हुई। कोविड-19 के चलते प्रदेश में लॉकडाउन में सबसे बड़ी चुनौती थी की बच्चों को सीखने की सतत प्रक्रिया के अवसर बराबर जारी रहें, एवं सुनिश्चित करना की विद्यालय बंद होने के कारण बच्चों के सीखने के स्तर में गिरावट नही आएं तथा ड्रापऑउट अनुपात न बढ़ें।

प्रदेश के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के कुशल नेतृत्व में इस महत्वपूर्ण कार्य की नींव रखी गई। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम के निर्देशन पर इस कार्यक्रम को स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान कार्यालयों के बंद होने की स्थिति में अपने निवास पर एन.आई.सी. और विभाग की टीम के साथ बहुत ही कम लागत में बिना किसी बाहरी एजेंसी की सहायता लिए पूरी तरह विभागीय संसाधनों से सीजीस्कूलडॉटइन पोर्टल का निर्माण किया। वालेंटियर शिक्षक द्वारा नई व्यवस्था में छात्रों को जागरूक एवं साथ लेते हुए इस पोर्टल में एक माह के भीतर 2.2 मिलियन छात्र पंजीकृत किये गए एवं मिशन मोड पर कैम्पन चलाया गया। पोर्टल में शिक्षकों द्वारा पाठ्यक्रम व विषयवस्तु से संबंधित छात्रों के लिए उच्च कोटि शिक्षण सामग्री निर्माण कर पोर्टल में अपलोड किया गया, जो न ही प्रासंगिक था अपितु जिसमें रोचकता का भी समावेश था।

इस परिपेक्ष्य में जुगाड़ स्टूडियों द्वारा 30 हजार विडियों, आडियों, वर्कशीट एवं डिजीटल रिसोर्ससेस का निर्माण कर जीरों बजट में घर से ही शिक्षकों द्वारा स्मार्ट फोन का इस्तमाल कर पॉवर पाइंट प्रस्तुतीकरण के माध्यम से अतुलनीय सीखने की प्रक्रिया को सतत जारी रखा गया है। इसी कड़ी में शिक्षकों द्वारा सहायक शिक्षण सामग्री निर्माण, बच्चों तक अपनी बात पाठ्यक्रम अनुसार पहुंचाना, कक्षागत प्रबंधन कर वर्चुअल मोड में भी निरंतर सीखने की प्रक्रिया को जारी रखा गया।

ज्ञातव्य है कि एससीईआरटी एवं सीजीबीएसई द्वारा कक्षा पहली से कक्षा 12वीं तक शिक्षार्थियों की सुविधा के लिए 46,639 वर्चुअल स्कूल का सृजन कर इंटरक्टीव ऑनलाइन क्लासेस ली गई। होमवर्क, आंकलन व उपचारात्मक शिक्षण सामग्री भी वर्चुअल स्कूल के माध्यम से बच्चों को वन-टु-वन शिक्षकों द्वारा प्रदान की गई। बच्चें शिक्षकों से विषयवस्तु संबंधी शंका का समाधान करना तथा शिक्षार्थियों को होमवर्क अपलोड कर शिक्षकों द्वारा आंकलन किया गया। शिक्षकों ने सीखने की प्रतिफल के आधार पर 50 हजार प्रश्नों को तैयार कर क्वीज भी अपलोड किया गया।

विदित हो कि हमारा प्रदेश वनांचल दुरस्त व दुर्गम पहाडीयों से घीरा हुआ है। इन स्थानों पर इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध न होने पर भी प्रदेश द्वारा डिजीटल कंटेंट का निर्माण किया गया। जिससे बच्चे ऑफलाइन एनरॉइड एप के माध्यम से देख सकते हैं, सुन सकते है व सीख सकते हैं। इस ऑफलाइन एनरॉइड एप में ई-बुक्स, वीडियोज, आडियोज, क्वीजेज एवं शैक्षिक विषयवस्तु ब्लूटूथ के माध्यम से शिक्षकों द्वारा ई-पाठ्य सामग्रीयों का साझा बच्चों के साथ किया गया।

प्रमुखता इस बात है कि गुगल प्ले स्टोर में सीजीस्कूल एप आसानी से डॉउनलोड कर शिक्षण सामग्री प्राप्त की जा सकती है। गुगल प्ले स्टोर में बुल्टू के बोल एप में हर विषय के ऑडियों कंटेंट भी है जिसे किसी भी समय सुना जा सकता है। जिन बच्चों के पास इंटरनेट व मोबाईल की सुविधा नहीं है उनका भी भरपूर ध्यान पढ़ई तुंहर दुआर में रखा गया है।

यह पोर्टल अपने आप में खास व लाभदायक तो है कि साथ ही इस कार्यक्रम को और अधिक प्रभावशाली हमारे छत्तीसगढ़ के शिक्षकों के नवाचारों ने बनाया है। कोरोना अब अपने दूसरे वर्ष में भी जारी है और पढ़ई तुंहर दुआर योजना की भी दूसरी पारी की शुरूआत हो रही है। इस दूसरी पारी में छत्तीसगढ़ शिक्षा विभाग पुरी तरह से तैयार है और प्रदेश में बच्चों की पढ़ाई बिना रूके पढ़ई तुंहर दुआर के माध्यम से जारी रहेगी।


08-Apr-2021 5:26 PM 17

15 अप्रैल तक आपदा मित्रों का चयन करने के निर्देश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। छत्तीसगढ़ शासन की राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की सचिव एवं राहत आयुक्त सुश्री रीता शांडिल्य ने गुरूवार को मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रायगढ़, राजनांदगांव, रायपुर एवं सुकमा के आपदा प्रबंधन के नोडल अधिकारियों से आपदा मित्र योजना, जिला आपदा प्रबंधन योजना, जिला अग्नि सुरक्षा योजना और लू से बचाव एवं प्रबंधन की विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने जिला स्तर पर राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत एनडीएमआईएस पोर्टल में पंजी सहित अन्य आपदा प्रबंधन की गतिविधियों की जानकारी ली।

सचिव द्वारा संबंधित जिलों के अधिकारियों से आपदा मित्र योजना के क्रियान्वयन हेतु आपदा मित्र स्वयं सेवकों का शीघ्र चयन कर 15 अप्रैल 2021 तक जानकारी राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग को प्रेषित करने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने आपदा मित्र योजना के अंतर्गत स्काउट एवं गाईड, एनसीसी, एनएसएस तथा नेहरू युवा केन्द्र के स्वयं सेवकों को जोडऩे एवं ज्यादा से ज्यादा महिलाओं की भागीदारी के निर्देश दिए हैं।


08-Apr-2021 5:25 PM 27

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 8 अप्रैल। गृह और  लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू की अनुशंसा पर दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में लगातार विकास कार्य हो रहे हैं। इसी क्रम में आज 18 कार्यों के लिए एक करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है।

गृहमंत्री की अनुसंशा पर छत्तीसगढ़ राज्य अन्य पिछड़ा वर्ग प्राधिकरण मद से ग्राम बोरीगारका में सामुदायिक भवन और दमोदा में समरसता भवन के लिए दस-दस लाख रुपए की स्वीकृति दी गई है। इसी तरह ग्राम तिरगा में सामुदायिक भवन (जय बजरंग मानस मंडली), डूमरडीह कुमारपारा में सामुदायिक भवन, ग्राम अछोटी में कुर्मी सामुदायिक भवन, चिंगरी में वार्ड 1व 2 में मंगल भवन, कोलिहापुरी साहू पारा में सामुदायिक भवन, महमरा में महिला मंडल भवन,जजगिरी धीवर पारा में सामुदायिक भवन, रिसामा साहू  पारा में सामुदायिक भवन, थनोद साहू पारा में सामुदायिक भवन, भरदा में सामुदायिक भवन, कुथरेल में सामुदायिक भवन, मचांदुर आदिवासी पारा में सामुदायिक भवन, पीसेगांव में सामुदायिक भवन और ग्राम नगपुरा में आदिवासी ध्रुव पारा, निषाद पारा एवं कुर्मी पारा में सामुदायिक भवन के लिए पांच-पांच लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की गई है।


07-Apr-2021 5:36 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 7 अप्रैल को भक्त माता कर्मा जयंती पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री ने अपने  संदेश में कहा है कि छत्तीसगढ़ में साहू समाज सहित विभिन्न समाजों द्वारा भक्त माता कर्मा जयंती का पर्व बड़े उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। माता कर्मा हम सभी पर अपना आशीर्वाद बनाए रखें। कोरोना संकट की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रदेशवासियों से यह आग्रह है कि कर्मा जयंती का पर्व कोरोना काल की सावधानियों को ध्यान में रखते हुए मनाएं। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर भक्त माता कर्मा से सभी के लिए अच्छे स्वास्थ्य की कामना की है।


07-Apr-2021 5:35 PM 51

80 हजार एक्टिव केस हो सकते हैं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल। प्रदेश में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो गया है। सरकारी और निजी अस्पताल लबालब हो चुके हैं। इलाज के अभाव में लोगों की तेजी से जान जा रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में कोरोना के 44 हजार एक्टिव केस हैं, लेकिन संख्या कहीं अधिक है। कोरोना जांच सेंटरों में जांच के लिए संदिग्ध मरीजों की भीड़ उमड़ पड़ी है। हाल यह है कि हर चौथी रिपोर्ट पॉजिटिव निकल रही है। रायपुर, दुर्ग-भिलाई और राजनांदगांव की हालत बेहद खराब है।

कोरोना संक्रमण भयावह हो गया है। बड़े पैमाने पर लोगों की जान जा रही है। पिछले एक महीने में जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ा है, उस अनुपात में इलाज की सुविधाएं नहीं बढ़ी है। सरकारी प्रयासों में कोरोना के रोकथाम की कमी के चलते संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। प्रदेश में दो मार्च को कुल मिलाकर कोरोना के 2 हजार एक्टिव प्रकरण थे, जो कि 5 अप्रैल तक 44 हजार पहुंच गए हैं।

जानकारों का मानना है कि कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या कहीं अधिक है। कुछ विशेषज्ञों का अंदाजा है कि यह दोगुना हो सकता है। यानी 80 हजार के आसपास एक्टिव प्रकरण हो सकते हैं। सामान्य लक्षण वाले संदिग्ध लोग चिकित्सकों से परामर्श कर इलाज करा रहे हैं। कोविड सेंटरों का हाल बुरा है। कालीबाड़ी, आयुर्वेदिक कॉलेज और अन्य टेस्ट सेंटरों में जांच के लिए लोग उमड़ पड़े हैं।

रायपुर, दुर्ग-भिलाई, राजनांदगांव के सरकारी और निजी अस्पताल लबालब हो चुके हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा वाले बेड नहीं रह गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने हालात से निपटने के लिए कुछ बंद पड़े सेंटरों को फिर से शुरू किया है। लेकिन संख्या पर्याप्त नहीं है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि आने वाले दिनों में कोविड मरीजों की संख्या और बढ़ सकती है। राज्य नोडल अधिकारी डॉ. सुभाष पाण्डेय का मानना है कि कोरोना के मामलों में कमी आना कब से शुरू होगा, यह आंकलन करना मुश्किल है। मगर आने वाले दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ सकती है।

प्रदेश के दूसरे जिलों से आने वाले मरीजों के कारण अस्पतालों की व्यवस्था बिगड़ी है। खासकर के महाराष्ट्र जैसे सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य के नागपुर और आसपास के इलाकों से कोरोना पॉजिटिव लोग छत्तीसगढ़ आ रहे हैं, जिसकी वजह से भी यहां संक्रमण एकाएक बढ़ा है। इसको रोकने के लिए सीमावर्ती इलाकों में चौकसी बढ़ा दी गई है। आने वाले दिनों में बेड की समस्या और बढ़ सकती है। जिससे निपटने के लिए सरकारी स्तर पर प्रयास हो किए जा रहे हैं।


07-Apr-2021 5:34 PM 32

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे कोरोना संक्रमण की गंभीरता के हिसाब से मरीजों को अस्पताल में बिस्तर उपलब्ध कराने की प्रक्रिया निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी सिफारिश या दबाव के आधार पर बिस्तर न उपलब्ध कराएं जाए। इससे केवल जरूरतमंद मरीजों को ही बिस्तर उपलब्ध हो सकेंगे और अनावश्यक रूप से कोई बिस्तर नहीं ले सकेगा।

श्री बघेल ने कहा कि ऑक्सीजन वाले बिस्तर और वेंटिलेटर तक इसकी वास्तविक जरूरत वाले मरीजों की पहुंच सुनिश्चित करें। ऐसे मरीज जिन्हें ऑक्सीजन सुविधा की आवश्यकता नहीं है उन्हें कोविड केयर सेंटर्स या सामान्य बिस्तरों पर भर्ती कर इलाज उपलब्ध कराएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन काफी तेजी से हो रहा है।

कोरोना जांच की संख्या भी लगातार बढ़ाई जा रही है। प्रदेश की पॉजिटिविटी दर और रोज हो रही मौतें चिंताजनक है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक घरों से न निकलें। खरीदारी के लिए परिवार के सदस्यों को साथ न लेते हुए अकेले जाएं। आसपास कोरोना संक्रमित मिलने पर उनका सही मार्गदर्शन करें और आवश्यक सावधानियों के बारे में जागरूक करें।

 

 


07-Apr-2021 5:34 PM 28

रायपुर, 7 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है कि उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिये कि छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक नागरिकों को मुफ्त में टीका लग सके और प्रदेश के नागरिकों को कोरोना महामारी से निजात मिल सके। छत्तीसगढ़ राज्य जो कि अपने प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न राज्य है जिससे कि हर वर्ष अरबों-खरबों रुपयों की राजस्व की प्राप्ति केंद्र की मोदी सरकार को होती है। छत्तीसगढ़ राज्य लोहा, कोयला और बिजली उत्पादन राज्यों के प्रथम पंक्ति में शुमार है जिससे कि केंद्र की मोदी सरकार को हर वर्ष बड़े राजस्व की प्राप्ति होती है। अब जब कोरोना महामारी से प्रदेश की जनता परेशान है लगातार लोगों की मौते भी हो रही है। इस कठिन समय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तत्काल पहल कर छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक नागरिकों को मुफ्त में कोरोना टीका लगवाने की व्यवस्था करनी चाहिये।

मरकाम ने कहा कि कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के स्थापना दिवस पर कहा था कि भाजपा देशवासियों के दिल जीतने का अविरल और अनवरत अभियान है अगर यह बात सही और सत्य है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश के और छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक नागरिको का दिल जीतने का अविरल और अनवरत प्रयास करना चाहिये और नि:शुल्क कोरोना टीकाकरण का बड़ा अभियान देश और छत्तीसगढ़ के प्रत्येक नागरिकों के लिये सुनिश्चित करना चाहिये। तब उनकी कही गई बात दिल जीतने वाली होगी या नहीं की कोरोना महामारी के कठिन समय में प्रधानमंत्री मोदी देशवासियों से विमुख होकर विदेशियों का दिल जीतने के लिये मुफ्त में लाखों-करोड़ों कोरोना टीका के भेज रहे हैं और विदेशियों का दिल जीतने का प्रयास कर रहे हैं। जबकि उन्हें भारत देश के नागरिकों ने चुनकर प्रधानमंत्री बनाया है उन्हें भारत देश के लोगों का अविरल अनवरत दिल जीतने के लिए मुफ्त में कोरोना टीकाकरण का एक बड़ा अभियान शुरू करना चाहिये।

मरकाम ने छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी, जिला कांग्रेस कमेटी एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों एवं समस्त कार्यकर्ताओं से आह्वान किया है कि उन्हें कोरोना महामारी से पीडि़त नागरिकों की सेवा में जुट जाना चाहिये।

जिस प्रकार पिछले वर्ष कांग्रेस के निष्ठावान कार्यकर्ताओं ने शहरों, गांवो और हर ब्लॉकों में कोरोना महामारी से पीडि़त लोगों की नि:स्वार्थ भाव से सेवा किया है उसी प्रकार आज से ही प्रदेश की जनता की सेवा में जुट जाना चाहिये। प्रदेश कांग्रेस मोहन मरकाम ने कहा कि नर सेवा ही नारायण की सेवा है और अभी कोरोना महामारी के इस कठिन समय में कांग्रेस परिवार के प्रत्येक सदस्यों को अपने प्रियजनों और अपने को सुरक्षित करते हुये प्रदेश की जनता के मदद हेतु तत्पर रहना चाहिये और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा चलाये जा रहे कोरोना महामारी अभियान में शामिल होकर शहरों, गांवो और कस्बों में  कोरोना टीकाकरण को सुनिश्चित करने में मदद करें। प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे नि:शुल्क दवा को भी कोरोना पीडि़त मरीजों तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओ को सहयोग करना चाहिये।


07-Apr-2021 5:33 PM 33

गाइडलाइन का छत्तीसगढ़ में हो रहा सख्ती से पालन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल।  राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने राज्य में कोरोना संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण के लिए भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का सख्ती से पालन किए जाने के साथ ही कोरोना टेस्टिंग की संख्या में बढ़ोतरी के साथ ही वृहद पैमाने पर कोरोना वैक्सीनेशन किया जा रहा है। राज्य में रोजाना 3 से 4 लाख लोगों को कोरोना से बचाव के टीके लगाए जा रहे हैं तथा 36 से 40 हजार लोगों की कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने यह जानकारी केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन द्वारा कोरोना संक्रमण के रोकथाम के उपायों एवं वैैक्सीनेशन के संबंध में आयोजित राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में दी गई। इस वर्चुअल बैठक में देश के 11 राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री एवं वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने इस वर्चुअल बैठक में जानकारी दी कि छत्तीसगढ़ में बीते दो माह में कोरोना संक्रमण तेज हुआ है। इसको ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमितों की टेस्टिंग की संख्या में वृद्धि किए जाने के साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भी युद्ध स्तर पर कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना टेस्ट की संख्या में बढ़ोतरी होने से संक्रमितों के पहचान की संख्या में भी वृद्धि हुई है। चिन्हित संक्रमितों का चिकित्सालयों एवं होम आइसोलेशन के माध्यम से प्रभावी इलाज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य में गाइडलाइन का कड़ाई से पालन, कोरोना टेस्टिंग एवं वैक्सीनेशन की वजह से यह उम्मीद है कि जल्द ही कोरोना संक्रमण कम हो जाएगा। 

श्री सिंहदेव ने बताया कि फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन के साथ ही मास्क, सेनेटाइजर के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा सामूहिक कार्यक्रमों और शादी-विवाह एवं अन्य प्रयोजनों के दौरान लोगों की संख्या सीमित रखने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से अध्यधिक कोरोना संक्रमण वाले स्थानों में लॉकडाउन संबंधी ऑब्जेटिव क्रायटेरिया निर्धारित करने का भी अनुरोध किया।

उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री को प्रदेश में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति, यहां मरीजों के उपचार और आवश्यक स्वास्थ्य व्यवस्थाओं आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना वैक्सीन के संबंध में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग द्वारा वृहद पैमाने पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। प्रदेश में पांच संभाग है। जिसमें दो ट्रायबल और तीन सामान्य एवं मैदानी इलाके वाले हैं। उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना जांच के लिए वर्तमान में 7 आरटी-पीसीआर लैबोरेटरी है। इसके अलावा 4 लैबोरेटरी की स्थापना का कार्य अंतिम चरण में है। राज्य में 5 अन्य लैब को भी कोरोना जांच के लिए चिन्हांकित किया गया है।

श्री सिंहदेव ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव लोगों के सम्पर्क में आए लोगों की भी ट्रेसिंग की जा रही है। कोरोना नियंत्रण के लिए लोगों से बचाव के उपायों का पालन करने और सावधानी बरतने की लगातार अपील भी की जा रही है। लोगों से कोरोना का लक्षण दिखते ही त्वरित टेस्टिंग कराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।


07-Apr-2021 5:32 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल। भाजपा स्थापना दिवस के अवसर पर एकात्म परिसर, भाजपा कार्यालय में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह  ने पार्टी के वरिष्ठ नेता गण पवन साय, गौरीशंकर अग्रवाल, बृजमोहन अग्रवाल, सुनील सोनी, श्रीचंद सुंदरानी, सुभाष राव, छगन मूंदड़ा, संजय श्रीवास्तव, मोतीलाल साहू, अमित साहू की उपस्थिति में ध्वजारोहण किया।

 इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सेवा का संकल्प ही भाजपा का उद्देश्य  है। विपक्ष की कोख से जन्मी पार्टी आज दो सांसदों से तीन सौ तीन सांसदों के साथ देश में जनता की सेवा कर रही है। बीजेपी ने दुनिया को अटल व मोदी जैसा सर्वश्रेष्ठ नेतृत्व दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा के चरित्र में सदैव राष्ट्र प्रथम रहा और राष्ट्र में रहने वाले अंतिम व्यक्ति तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाना और उनका जीवन स्तर ऊपर उठाना हमारा उद्देश्य रहा।

उन्होंने छत्तीसगढ़ की जनता को संदेश देते हुए कहा कि वर्तमान समय में कोरोना महामारी का मुकाबला हमे धैर्य के साथ करना है । इसके समूल निराकरण होते तक प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी का एक भी कार्यकर्ता  शांति के साथ नहीं बैठेगा और जनता की सेवा में रत रहेगा।

इस मौके पर भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि मैंने आज से 41 वर्ष पहले 1980 में मुंबई में भाजपा का स्थापना होते देखा है स्थापना के समय नेताओं का जो सपना था वह सपना आज साकार होते भी देख रहे हैं। आज दिन है इस सफलता के लिए जिन्होंने अपना जीवन और सर्वस्व निछावर कर दिया उन्हें याद कर, उनके दिखाए रास्ते पर चलने का।

ध्वजारोहण के पश्चात कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए भाजपा के कार्यकर्ता व पदाधिकारी गणों ने  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उद्बोधन सुना। भाजपा रायपुर जिला मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल ने बताया कि भाजपा कार्यालय के अलावा शहर के सभी मंडलों  व वार्डो में स्थापना दिवस मनाया गया।

फाफाडीह मंडल में अध्यक्ष गोरेलाल नायक के नेतृत्व में, पुरानी बस्ती मंडल में अध्यक्ष सालिक सिंह के नेतृत्व में ,सिविल लाइन मंडल में अध्यक्ष मुकेश पंजवानी के नेतृत्व में, शंकर नगर मंडल में अध्यक्ष अनूप खेलकर  के नेतृत्व में  कार्यकर्ताओं ने अपने अपने घरों में भाजपा के झंडे लगाएं।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष राजेश पांडे व महामंत्री अमित मैसेरी के मार्गदर्शन में डीडी नगर मंडल में भाजपा मंडल अध्यक्ष अनिल सोनकर  के नेतृत्व में व तत्यापारा मंडल में हर्षवर्धन शुक्ला व अशोक भल्ला के नेतृत्व में चीनी सेना को पीछे हटने के लिए बाध्य करने के लिए सैनिकों के सम्मान स्वरूप सैनिकों  व पूर्व सैनिकों का साल , श्रीफल देकर सम्मान किया गया।

  भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में स्थापना दिवस समारोह में पूर्व जिला अध्यक्ष राजीव अग्रवाल, भाजपा जिला महामंत्री ओंकार बैस, दीपक महसके, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे, प्रफुल्ल विश्वकर्मा ,केदार गुप्ता, सत्यम दुबा, अकबर अली,बजरंग खंडेलवाल, अमरजीत छाबड़ा, मनीषा चंद्राकर, श्यामा चक्रवर्ती, खेम सेन, सावित्री जगत, सुनील पिल्लई ,आदित्य कुरील, तोषण साहू, राहुल राव व भाजपा जिला मीडिया प्रभारी अनुराग अग्रवाल उपस्थित थे।


07-Apr-2021 5:32 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 7 अप्रैल। रायपुर जिले में एक्टिव सर्विलेंस दलों के माध्यम से घर -घर पहुंच कर कोरोना के संबंध में लोगों को जागरूक किया जा रहा है । 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों से कोरोना वैक्सीनेशन करवाने और कोरोना के लक्षण लगने पर तत्काल करोना टेस्ट कराने की अपील की जा रही है ।

टीम द्वारा कोरोना का सर्वेक्षण किया जा रहा है साथ ही साथ कोरोना से बचाव और नियंत्रण के लिए सामाजिक व्यवहार करने जैसे मास्क पहने ,सामाजिक दूरी बनाए रखें ,सैनिटाइजर का उपयोग करने का प्रचार- प्रसार किया जा रहा है।

 रायपुर जिले के बिरगांव नगर निगम के आयुक्त श्रीकांत वर्मा ने आज एक्टिव सर्विलेंस दल के साथ स्वयं घर - घर पहुंच कर सर्वेक्षण एवं जागरूकता कार्य में शामिल हुए।

उन्होंने बताया कि सभी कंटेनमेंट जोन के अलावा पूरे क्षेत्र में एक्टिव सर्विलेंस दलों के माध्यम से घर-घर पहुंचकर कोरोना के संबंध में समझाइश दी जा रही है । सभी कंटेनमेंट जोन के बाहर कैम्प लगाकर उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों के कोरोना टेस्ट किया जा रहा है।

इसी तरह एक्टिव सर्विस के माध्यम से 45 वर्ष के अधिक आयु के ऐसे नागरिकों ,जो कोरोना का वैक्सीन लगवाना चाहते हैं ,उनके आवेदन भरने जैसे कार्य और टीकाकरण का समय दिलाने का कार्य भी इन दलों के माध्यम से किया जा रहा है।