छत्तीसगढ़ » रायपुर

Date : 07-Sep-2019

जनभागीदारी से गढ़ेंगे शत-प्रतिशत साक्षर नवा छत्तीसगढ़- मुख्यमंत्री भूपेश 

सीएम ने अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर जनता को दी बधाई
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 7 सितंबर।
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कल 8 सितम्बर को अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर जनता को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्री बघेल ने आज यहां जारी अपने बधाई संदेश में कहा है कि आज का दिन अक्षरों की अलख जगाने, अक्षर ज्ञान की महत्ता बताने का दिन है। अक्षर ज्ञान के प्रकाश से अपने और समाज के जीवन में चेतना, सुख और समृद्धि की रोशनी फैलाने का दिन है। 

मुख्यमंत्री ने आव्हान किया है कि प्रदेश को शत-प्रतिशत साक्षर तथा डिजिटल साक्षर बनाने के लिए हम सब अपना योगदान देने का संकल्प लें। सभी का योगदान प्रदेश के सुनहरे भविष्य का मार्ग प्रशस्त करेगा और ‘गढ़बो नवा छत्तीसगढ़’ का संकल्प पूरा करने में मददगार होगा


मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा है कि वास्तव में अक्षर ज्ञान वह पहला द्वार है, जहां से ज्ञान के अनंत रास्ते खुलते हैं। साक्षरता से शिक्षा और शिक्षा से विकास का सीधा संबंध है। आज का दिन प्रदेश में साक्षरता के वर्तमान सोपान पर गर्व करने का है, तो शेष लक्ष्य प्राप्त करने के लिए संकल्प लेने का भी है। उन्होंने कहा है कि एक अनुमान के अनुसार आज भी प्रदेश की कम से कम 25 प्रतिशत जनसंख्या साक्षरता से वंचित है, इसलिए शत-प्रतिशत साक्षरता की दिशा में आगे बढऩे के लिए व्यक्तिगत रूचि और सामूहिक प्रयासों की बड़ी आवश्यकता है। व्यापक जनभागीदारी से लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी की व्यापकता और जनजीवन में इसके प्रभाव को देखते हुए छत्तीसगढ़ में ’मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मकता साक्षरता कार्यक्रम’ शुरू किया गया है। यह देश में अपनी तरह का पहला प्रयास है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि इस कार्यक्रम का लाभ भी सबको मिलेगा।

 


Date : 07-Sep-2019

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन 

रायपुर, 7 सितम्बर। अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर 8 सितम्बर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मुख्य आतिथ्य में राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन किया जाएगा। श्री बघेल समारोह में मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम अंतर्गत ई-एजुकेटर्स और डिजिटल नवसाक्षरों को आखर सम्मान प्रदान करेंगे। समारोह का आयोजन राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा रायपुर जेल रोड स्थित पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के सभागृह में सुबह 11 बजे से आयोजित किया गया है। 

समारोह की अध्यक्षता स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम करेंगे और रायपुर जिले के प्रभारी और कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, राज्यसभा सासंद श्रीमती छाया वर्मा, लोकसभा सासंद सुनील सोनी, विधायक सर्वश्री सत्यनारायण शर्मा, धनेन्द्र साहू, बृजमोहन अग्रवाल, कुलदीप सिंह जुनेजा, विकास उपाध्याय, श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा, महापौर रायपुर प्रमोद दुबे और जिला पंचायत अध्यक्ष रायपुर श्रीमती शारदा वर्मा विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। 


Date : 07-Sep-2019

सीनियर नेशनल वुमेंस फुटबॉल चैंपियनशिप के लिए घोषित 20 सदस्यीय टीम अरूणाचल प्रदेश रवाना, छग फुटबॉल का पहला मुकाबला तमिलनाडु से 

रायपुर, 7 सितंबर। अरूणाचल प्रदेश में 11 से 17 सितंबर तक आयोजित सीनियर नेशनल वुमेंस फुटबॉल चैंपियनशिप के लिए घोषित 20 सदस्यीय टीम विगत दिवस अरूणाचल प्रदेश रवाना हुई। टीम में रायपुर की 7 खिलाडिय़ों ने जगह बनाई है। छत्तीसगढ़ का पहला मुकाबला 11 सितंबर को तमिलनाडु से दूसरा मुकबला 14 सितंबर को गोवा से तथा 17 सितंबर को उत्तरप्रदेश के साथ होगा। 

छग फुटबॉल संघ के जोनल सचिव मुश्ताक अली प्रधान ने बताया कि प्रदर्शन के आधार पर खिलाडिय़ों का चयन किया गया है। चयनित खिलाडिय़ों के नाम इस प्रकार हैं-नीलम फुटान, गायत्री साहू, नीलिमा जागृति निर्मलकर, एम पुष्पा, दिपशिखा, वंदना धु्रव, कृतिका पोयम, कमला रेड्डी, मंजू कवासी, सोनिया साहू, रूचि साहू, गुंजन ग्वाल, नंदनी निर्मलकर, किरण पिस्दा, लक्ष्मी सिन्हा, सुमन यादव, निशा भोई, सुभांगी और हिना निर्मलकर। 

 


Date : 07-Sep-2019

राज्य में फूड प्रोसेसिंग, लघु वनोपज व हर्बल आधारित उद्योगों की स्थापना के लिए दी जाएगी रियायतें- 2 माह में बनेगी नयी नीति

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में औद्योगिक विकास के लिए कई ऐतिहासिक घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने औद्योगिक क्षेत्रों में भूमि आबंटन की दरों में 30 प्रतिशत की कमी के साथ ही राज्य में फूड प्रोसेसिंग, लघु वनोपज और हर्बल आधारित उद्योगों की स्थापना के लिए उन्हें सस्ती दरों पर भूमि, पंूजी, ब्याज अनुदान और करों में छूट आदि देने के लिए आगामी 2 माह के भीतर नयी नीति तैयार करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री रायपुर के छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज के कार्यक्रम में उद्योगिक और वाणिज्यिक प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे।

 श्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार कृषि के साथ व्यवसाय और उद्योगों की उन्नति के लिए संकल्पित है। प्रदेश में कोर सेक्टर स्टील और सीमेंट से संबंधित उद्योंगों की स्थापना को प्रोत्साहित किया जाएगा। वर्तमान में इन उद्योंगों को प्रतिबंधित सूची में रखा गया है, इन उद्योगों को प्रतिबंधित सूची से हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों में भूमि आबंटन के लिए निर्धारित दरों में 30 प्रतिशत की कमी की जाएगी तथा वर्तमान में औद्योगिक क्षेत्रों में आबंटित भूमि पर लीज रेंट की दर 3 प्रतिशत से घटाकर 2 प्रतिशत की जाएगी।

प्रदेश में उद्योगों की स्थापना के लिए सभी प्रकार की अनुमतियां समय-सीमा में मिल सके इसके लिए सिंगल विंडो प्रणाली को प्रभावी बनाया जाएगा। वर्तमान में उद्योगों की स्थापना के लिए भूमि उपलब्ध नही होने के कारण आवेदन नही लिए जा रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिला उद्योग केन्द्रों में नये आवेदन लिए जाएंगे और भूमि का आबंटन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर उद्योग विभाग द्वारा किया जाएगा।

प्रदेश में 10 वर्षों से अधिक अवधि से संचालित 2 हेक्टेयर क्षेत्र तक के उद्योगों की भूमि फ्री होल्ड की जाएगी। औद्योगिक क्षेत्रों में संचालित गोदामों का नियमितीकरण किया जाएगा। औद्योगिक भूमि के हस्तांतरण शुल्क में कमी की जाएगी साथ ही इसकी प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आबंटित भूमि के आंशिक हस्तांतरण (सब-लीज) के प्रावधान किए जाएंगे। उद्योगों के पास उपलब्ध रिक्त भूमि या भूमि आबंटन के पश्चात् उद्योग की स्थापना न होने की दशा में उद्योग स्थापना हेतु अधिकतम एक वर्ष का अन्तिम अवसर दिया जाएगा। इसके बाद भूमि आबंटन दरों पर वापस लेकर अन्य पात्र उद्यमियों को दी जाएगी।

राज्य में वर्तमान में एक श्रमिक होने पर भी छोटे व्यापारियों को गुमाश्ता लायसेन्स लेने की अनिवार्यता है जिसे बढ़ाकर न्यूनतम मजदूरों की संख्या 10 की जाएगी। फैक्ट्री एक्ट में विद्युत से संचालित उद्योगों में 10 या अधिक श्रमिक नियाजित करने वाले तथा बिना पावर के उपयोग से संचालित उद्योगों में मजदूरों की न्यूनतम संख्या 20 से बढ़ाकर 40 करने का प्रस्ताव भारत सरकार को सहमति के लिए भेजा जाएगा। राज्य में स्टील उद्योगों को आयरन अयस्क की सुगम उपलब्धता के लिए विशेष पहल की जाएगी। मुख्यमंत्री ने चेम्बर के पदाधिकारियों द्वारा प्रस्तुत अन्य मांगों पर भी सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया। 

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के किसानों का धान 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदने पर 6 हजार करोड़ रूपए का बोनस दिया गया तथा किसानों के 10 हजार करोड़ से अधिक के कर्जे माफ किए गए। पूरा देश मंदी की चपेट में रहा लेकिन छत्तीसगढ़ राज्य मंदी से अछूता रहा। उन्होंने कहा कि छोटे प्लाटों की रजिस्ट्री से हजारो लोग लाभान्वित हुए है। डायवर्सन की प्रक्रिया को सरलीकृत करते हुए सभी अधिकार एस.डी.एम. को दिए गए है। भूमि की गाइड लाइन दरों में 30 प्रतिशत की ऐतिहासिक  कमी की गई है।

नजूल पट्टे पर प्राप्त भूमि और आबादी पट््टे को फ्री होल्ड करने का प्रावधान किए गए। पुराने कब्जे के आधार पर प्राप्त पट्टे की भूमि और अतिक्रामकों के कब्जों को वैध करने के प्रावधान किए गए। शहरी क्षेत्रों में 7500 वर्गफुट तक शासकीय भूमि के आबंटन  का अधिकार कलेक्टर को दिया गया है। प्रदेश में 400 यूनिट खपत तक बिजली बिल हॉफ किया गया। मिनी स्टील प्लांट क्षेत्र में विद्युत दर में कमी की गयी। गुमाश्ता लायसेंस के नवीनीकरण की अनिवार्यता समाप्त की गई।

 इन्ट्रा-स्टेट ई-वे बिल की अनिवार्यता समाप्त करने के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव प्रेषित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में जब ऑटोमोबाईल क्षेत्र मंदी की चपेट में है पर मुझे यह बताते हुए खुशी है कि छत्तीसगढ़ में अगस्त 2018 में 37 हजार 518 वाहनों का रजिस्ट्रेशन तथा अगस्त 2019 में 41 हजार 393 वाहनों का रजिस्ट्रेशन हुआ है जो कि पिछले साल की तुलना में 10.32 प्रतिशत अधिक है। छत्तीसगढ़ एकमात्र राज्य है जिसका ऑटोमोबाईल क्षेत्र बढ़ रहा है।

 


Date : 07-Sep-2019

नेत्रदान पर दी गई जानकारी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। श्री रावतपुरा सरकार यूनिवर्सिटी में विगत दिवस नेत्रदान पखवाड़ा के अंतर्गत सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार के मुख्य वक्ता डॉक्टर मनीष शरण श्रीवास्तव, वरिष्ठ नेत्र शल्य चिकित्सक एवं एसोसिएशन ऑफ कम्युनिटी ऑप्थमॉलजिस्ट ऑफ इंडिया एकॉयन के सचिव ने नेत्रदान के महत्व को विद्यार्थियों के साथ साझा किया।

इस अवसर पर डॉ. श्रीवास्तव ने कलर ब्लाइंडनेस के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी। नेत्रदान पखवाड़ा के तहत आयोजित सेमिनार में नेत्रविशेषज्ञों ने नेत्रदान से जुड़े कई तरह की जिज्ञासायों का समाधान किया। यूनिवर्सिटी के सभी प्रोफेसर और विद्यार्थियों को नेत्रदान के संबंध में अवगत कराया गया। नेत्रदान  को महादान बताते हुए दूसरों के जीवन मे उजाला लाने का नेक काम करने की बात की गई। कुलाधिपति प्रोफेसर डॉक्टर अंकुर अरुण कुलकर्णी ने विज्ञान विभाग को इस आयोजन के लिए सराहना की एवं इस जागरूकता कार्यक्रम के लिए बधाई दी।


Date : 07-Sep-2019

नि:शुल्क शिक्षा के लिए जनकराम तांडी सम्मानित

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। नुआखाई के अवसर पर आयोजित 8 दिवसीय नुआखाई उत्सव के तहत अर्जुन नगर उत्कल बस्ती में विगत दिवस  शिक्षक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सावित्री जगत द्वारा राजधानी की झुग्गी बस्तियों में लगभग 20 वर्षों से गरीब बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने वाले जनकराम तांडी का सम्मान किया गया। विदित हो कि जनकराम तांडी के द्वारा पेंशनबाड़ा, गुढिय़ारी, वीरभद्र नगर, कटोरातालाब आदि झुग्गी बस्तियों में गरीब मजदूरों के बच्चों को नि:शुल्क अंग्रेजी, गणित, सामाजिक विज्ञान, पर्सनालिटी डेव्हलपमेंट सहित अनेक विषयों का प्रशिक्षण देते हैं। इस अवसर पर जनकराम तांडी ने कहा मानव जीवन में शिक्षा जीवन का सबसे महत्वपूर्ण भाग है जो कि समाज के लिए घातक है यदि गरीबों को सुलभ तरीके से गुणवत्तायुक्त शिक्षा प्रदान नहीं किया जाता है तो वे समाज के मुख्यधारा में नहीं जुड़ सकेंगे। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सावित्री जगत ने कहा समाज के महापर्व नुआखाई के पावन पर हमे अपने समाज के ही एक ऐसे व्यक्तित्व का सम्मान करने का अवसर मिला है, जो अपने सामाजिक एवं नैतिक जिम्मेदारी को बखूबी निभा रहे है हमारे बच्चों के भविष्य का निर्माण कर रहे है।

इस अवसर पर कार्यक्रम का संचालन कर रहे पालक संघ के जिलाध्यक्ष व समाज के युवा नेता आशीष तांडी ने कहा आने वाले समय में सुपर थर्टी के तर्ज पर समाज में काम करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से मीरा बाघ, पिंकी निहाल, बिंदिया नाग, कौशल्या सागर, गीता मांझी, हेमा सागर, अनिता बघेल, गीता दुर्गा, अनिता जगत, पार्वती सोना, अहिल्या दीप, जयंती विभार, अंजना नायक सहित बड़ी संख्या में महिलाएं एवं बच्चे उपस्थित थे।


Date : 07-Sep-2019

पर्यावरण जागरूकता की खातिर किया वृक्षारोपण 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। जेसी आई रायपुर वामा कैपिटल की ओर से विगत दिवस बच्चों की सहभागिता में पुरानी बस्ती स्थित खोखो तालाब के पास वृक्षारोपण किया गया। जेसी रंजना अग्रवाल और जेसी संगीता के निर्देशन में पर्यावरण जागरूकता के उद्देश्य से इस कार्यक्रम में नन्हें बच्चों ने पौधा रोपण कर नाटक का मंचन किया। वृक्ष रोपण के इस कार्यक्रम में संस्था द्वारा पर्यावरण के लिए प्रयासरत महिलाओं का सम्मान किया गया। जन संपर्क अधिकारी आरती रूपरेला ने बताया कि इस कार्यक्रम में मिसरी, कुमकुम, दिपशिखा सदाफ, सिमरन कोमल शीतल सहित अन्य सदस्यों की उत्साहजनक भागीदारी रही।


Date : 07-Sep-2019

स्पंज आयरन उद्योगों ने लिया 6 सौ बच्चों को गोद, सुपोषण के लिए अभियान

रायपुर, 7 सितम्बर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा एवं दिशा निर्देशों के अनुरूप रायपुर जिले को कुपोषण मुक्त करने का बीड़ा उठाया गया है। इसके लिए जिले पहले चरण में 850 अति गंभीर कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाते की कार्ययोजना बनाई गयी है।

कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. गौरव कुमार सिंह ने करीब दस दिन पूर्व रायपुर के संतोषी नगर के आंगनबाड़ी केन्द्र से ‘लक्ष्य सुपोषण’ अभियान के पायलेट परियोजना का शुभारंभ किया था।

कलेक्टर ने अभियान में सहयोग के लिए अधिकारी-कर्मचारी, चैरीटेबल संस्थाओं, जनप्रतिनिधियों, एनजीओ, समर्थ वर्ग और नागरिकों से आग्रह किया था। अधिकारियों और कर्मचारियों ने कुपोषण के खिलाफ जंग लडऩे के लिए पांच लाख की राशि स्वेच्छा से दान की है। कलेक्टर ने कल जब इस बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाने औद्योगिक संस्थाओं की बैठक ली तो उन्होंने भी इस अभियान से जुडऩे में अपना उत्साह और सहयोग दिखाते हुए बड़ी पहल की। स्पंज आयरन उद्योग द्वारा 586 बच्चों को गोद लिया गया और इसके लिए सहयोग राशि देने का निर्णय लिया। कलेक्टर ने उनके प्रति आभार व्यक्त किया है और प्रशंसा की है। उन्होंने राज्य के सभी नागरिकों से इस अभियान में जुडऩे की अपील की है।

इसके तहत महिन्द्र स्पंज, एस.के.एस इस्पात, हाईटेक एवं नंदन गु्रप, रियल गु्रप, द्वारा 50-50 बच्चों, देवी गु्रप, संभव स्पंज, वंदना ग्लोबल द्वारा 31-31 बच्चों, गोपाल गु्रप, नकोड़ा गु्रप, आरती गु्रप, धनकुंन गु्रप द्वारा 25-25 बच्चों, श्री हरे कृष्णा गु्रप, रामा गु्रप द्वारा 21-21 बच्चों, रश्मि गु्रप, भगवती पावर, जी.आर गु्रप, वासवानी इंडस्ट्रीज द्वारा 20-20 बच्चों, त्रिमुला स्पंज, सुनील स्पंज, ड्रोलिया इलेक्ट्रो, सीता स्पंज द्वारा 15-15 बच्चों और पी.डी. इंडस्ट्रीज द्वारा 11 बच्चों को गोद लिया गया है।  शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. अशोक भट्टर भी संतोषी नगर के आंगनबाड़ी केन्द्र के सभी 9 कुपोषित बच्चों को गोद लेकर जिले के प्रथम ‘पोषण वारियर’ बने हैं। स्पंज आयरन उद्योग के सहयोगियों को भी ‘पोषण वारियर’ बनाया गया है।

कुपोषित बच्चों पर आगंनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिका को सौ रूपए की अतिरिक्त मानदेय की राशि दी जाएगी। जिले में इस अभियान के लिए एक कोष का भी निर्माण भी किया गया है। सहयोग राशि का उपयोग बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्र की तरह दुध, फल, अण्डा आदि सुपोषित भोजन देने जैसे कार्यो में किया जाएगा। उलेखन्नीय है कि एक बच्चे को एक माह तक सुपोषित भोजन देने में करीब दो हजार रूपये की राशि अनुमानित है। इन बच्चों को करीब छ माह तक सुपोषित भोजन दिया जाएगा। जिले में गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों को सुपोषित बनाने के प्रयास के साथ-साथ 5500 कुपोषित बच्चों को भी सुपोषित बनाने का प्रयास है।


Date : 07-Sep-2019

नगरीय निकायों में ऑनलाइन सेवा शुरू करने में बाधक बन रहे अफसर-कर्मी, सीईओ खफा, कार्रवाई की चेतावनी भी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। सरकार ने प्रदेश के नगरीय निकायों में ऑनलाइन सेवाएं शुरू करने की घोषणा तो कर दी है, लेकिन उक्त मॉडयूल के लिए ऑनलाइन डाटा एंट्री और सत्यापन का काम पूरा नहीं किया जा सका है। कई निकायों द्वारा इसको लेकर रूचि भी नहीं ली जा रही है। इस पर सूडा के सीईओ ने सभी निकायों को कड़ा पत्र लिखा है और इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है।

बताया गया कि प्रदेश के सभी 168 निकायों में ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करने के लिए वेब पोर्टल, संपत्ति कर, समेकित कर, नल कनेक्शन,  लेखा प्रबंधन और म्यूनिसिपल प्रॉपर्टी बुकिंग मॉडयूल विभागीय पोर्टल के जरिए सीएम भूपेश बघेल द्वारा 27 जुलाई 2019 को लाइव किया गया। उक्त मॉडयूल के लिए ऑनलाइन डाटा एंट्री और डाटा सत्यापन का काम पूरा करते हुए, मॉडयूल के संबंधित सत्यापित दस्तावेज उपलब्ध कराया जाना था।

नगरीय निकायों को स्मरण पत्र प्रेषित किए जाने के बाद भी उक्त मॉडयूल की डाटा एंट्री और डाटा सत्यापन का काम पूरा नहीं किया गया है। यह स्थिति अत्यंत खेद जनक है। इस कार्य के लिए निकाय के संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों का वेतन भुगतान रोके जाने की कार्रवाई की जाएगी। गोपनीय प्रतिवेदन चरित्रावली में भी अंकित किया जा सकता है। ऑनलाइन कार्य करने के लिए निकाय में उपलब्ध डाटा की एंट्री संबंधित माडयूल में प्राथमिकता जरूरी है। मिशन मोड पर यह कार्य 25 तारीख तक निर्धारित की जाती है। उपरोक्त माडयूल पर कार्रवाई करने के लिए सूचित किया गया था। इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की हिदायत दी गई है।


Date : 07-Sep-2019

छग प्रदेश साहू संघ का शपथ ग्रहण समारोह 8 को

रायपुर, 7 सितंबर। छग प्रदेश साहू संघ के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण समारोह 8 को भामाशाह छात्रावास टिकरापारा में रखा गया है। समारोह के आयोजक अध्यक्ष विपिन साहू है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विशेष अतिथि ताम्रध्वज साहू होंगे। साथ ही विधायक धनेंद्र साहू, कृपाराम साहू, अरूण साव, चंदूलाल साहू, राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष डॉ. ममता साहू, मोती लाल साहू , रमशीला साहू सहित अन्य साहू समाज के कार्यकारी सदस्य उपस्थित होंगे।


Date : 07-Sep-2019

खारून में नहाते बालक डूबा, गोताखोर ढूंढने में जुटे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 7 सितंबर। चंदनीडीह में शनिवार को खारून नदी में दोस्तों के साथ नहा रहे एक बालक बह गया। बालक की खोज में गोताखोर जुटे हैं। फिलहाल उसका पता नहीं चल पाया है। पिछले दो दिनों की बारिश से खारून नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। बताया गया कि चंदनीडीह इलाके का रहने वाला 13 वर्षीय छात्र कृष्णा विश्वकर्मा अपने साथियों के साथ नहाने के लिए खारून नदी गया था। नहाते समय वह तेज बहाव में फंस गया और आगे निकल गया। आस-पास के लोगों ने ढूंढने की कोशिश की। तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी गई। गोताखोर भी पहुंचे और समाचार लिखे जाने तक छात्र को ढूंढने का काम चल रहा था। लेकिन अब तक उसका कुछ पता नहीं चल पाया है।

 

 


Date : 07-Sep-2019

शिक्षक सम्मान, रक्तदान और कविगोष्ठी

तिल्दा नेवरा, 7 सितंबर। शिक्षक दिवस पर सहायक शिक्षक फेडरेशन तिल्दा द्वारा रक्त दान, शिक्षक सम्मान और कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया। 21वर्षो के कार्यकाल में ये पहला अवसर है जब सहायक शिक्षक ने सेवानिवृत्त शिक्षक, वरिष्ठ शिक्षक और सहायक शिक्षक का सम्मान किया। साथ ही रक्तदान और कवि गोष्ठी भी हुई।

मुख्य अतिथि अनिता योगेंद्र शर्मा (विधायक धरसींवा) टंक राम वर्मा समाज सेवी, मिनेश नायक विधायक प्रतिनिधि, बी. एल देवांगन विखशि अधिकारी, जाहिरे सविशि अधिकारी ने फेडरेशन को बधाई दी। 
अनिता योगेन्द्र शर्मा ने कहा कि हम आज जो कुछ हैं वह हमारे शिक्षक के कारण हैं। डाक्टर, इंजीनियर, आइएएस या आइपीएस सभी शिक्षकों द्वारा बनाए गए हैं। समाज सेवी टंक राम वर्मा ने कहा कि शिक्षक में अदभुत शक्ति है उनके हाथ में सृजन और प्रलय दोनों ताक़त है। कवि गोष्ठी में मीर अली मीर, कृष्णा भारती, चोवा राम वर्मा और ऋषि वर्मा ने कविता से समा बांधा। फेडरेशन के अध्यक्ष ओम प्रकाश वर्मा ने सभी को बधाई दी।


Date : 07-Sep-2019

खरोरा में नवीनीकृत राशनकार्ड वितरण के लिए छात्रावास में शिविर का आयोजन 

खरोरा, 7 सितंबर। नगर पंचायत खरोरा में नवीनीकृत राशनकार्ड वितरण के लिए वार्ड-8  पंडित दीनदयाल उपाध्याय वार्ड के अनुसूचित जाति मैट्रिक छात्रावास में शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें वार्ड पार्षद भरत पंसारी द्वारा 136  हितग्राहियों को नवीन राशन कार्ड का वितरण किया गया। 

इस अवसर पर पार्षद भरत पसारी ने कहा कि गांव में देश के अंतिम व्यक्ति तक राशन की सुविधा मिलनी चाहिए। इसके लिए छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जिन हितग्राहियों का नाम राशन कार्ड में छूट गया था उन्हें फिर से जोड़ा गया है जिससे कि सभी व्यक्तियों को राशन उपलब्ध हो सके। इस अवसर पर निलेश गोयल (अध्यक्ष छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार संघ खरोरा) भी उपस्थित थे। 


Date : 06-Sep-2019

सभी जिला अस्पतालों में खुलेंगे लोक सेवा केन्द्र, आईटी प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने की भारत नेट परियोजना फेस-2 की समीक्षा
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर
। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने शुक्रवार यहां सिविल लाइन स्थित चिप्स कार्यालय में भारत नेट परियोजना फेस-2 के तहत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों में लोक सेवा गांरटी केन्द्र शुरू करने का निर्णय लिया गया जिससे लोगों को निर्धारित समय-सीमा में नागरिक सेवाएं उपलब्ध हो सके। उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे स्वास्थ्य संकेतकों में भी सुधार होगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य की 85 तहसीलों और 5 हजार 987 ग्राम पंचायतों में भारत नेट परियोजना फेस-2 के अंतर्गत इंटरनेट कनेक्टीविटी पहुंचाने का काम किया जा रहा है। श्री द्विवेदी ने लक्षित ग्राम पंचायतों तक इंटरनेट की सुविधा पहुंचाने सभी कलेक्टरों, वन विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग अभिकरण के अधिकारियों को समन्वय से काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसमें आने वाली समस्याओं का निराकरण समय-सीमा में कर कार्यों में तेजी लाएं। उन्होंने वन विभाग एवं राष्ट्रीय राजमार्ग से संबंधित राईट-ऑफवे की अनुमति प्राथमिकता के साथ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।

श्री द्विवेदी ने बैठक में कहा कि लक्षित गांवों तक इंटरनेट पहुंचने से ई-सेवाएं ग्राम पंचायत स्तर तक प्रदान की जा सकेंगी। लोगों तक सूचना, शिक्षा, बाजार और  बैंकिंग सेवाओं की पहुंच आसान होगी। भारत नेट परियोजना फेस-2 के नेटवर्क से ग्रामीण अर्थव्यवस्था में डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहन मिलेगा और लोगों को शासन की कई नागरिक सेवाएं प्रदान की जा सकेगी। परियोजना से राज्य के युवाओं को राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा के लिए बेहतर मौके मिलेंगे।

समीक्षा बैठक में चिप्स द्वारा संचालित ई-गवर्नेंस सेवाओं से आम नागरिकों को विभिन्न विभागों से मिल रही सुविधाओं का लाभ तेजी से दिलाने के लिए ई-गवर्नेंस सेवाओं के विस्तार का भी निर्णय लिया गया। उन्होंने इस काम में तेजी लाने के लिए सभी कलेक्टरों को अपर कलेक्टर या डिप्टी कलेक्टर स्तर के अधिकारी को नोडल अधिकारी तैनात करने कहा।  बैठक में चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के.सी. देवसेनापति, प्रभारी अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक सुनील मिश्रा तथा चिप्स के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी रवि सिंह भी उपस्थित थे।

 


Date : 06-Sep-2019

व्यापारी एवं उद्योगपतियों ने विभिन्न व्यापारिक औद्योगिक समस्याओं के संबंध में मुख्यमंत्री को सौंपा ज्ञापन 

रायपुर, 5 सितंबर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के पदाधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को चेम्बर कार्यालय चौ.देवीलाल व्यापार उद्योग भवन, बाम्बे मार्केट में व्यापारी एवं उद्योगपतियों के बीच में चर्चा हेतु  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हुए शामिल।

 चेम्बर पदाधिकारियों ने बताया कि विभिन्न व्यापारिक औद्योगिक समस्याओं के संबंध में संघ-एसोसिएशन यथा-छत्तीसगढ़ इंडस्ट्रीज एंड टेड्र एसोसिएशन, उरला इंडस्ट्रीज एसोसियेशन उरला, छत्तीसगढ़ मापतौल निर्माता एवं विक्रेता संघ भनपुरी, छत्तीसगढ़ मेडिसिनल हब्र्स, छत्तीसगढ़ प्रदेश राईस मिलर्स एसोसियेशन, छत्तीसगढ़ प्रिंटर्स एसोसियेशन, तिफरा इंडस्ट्रीयल एरिया, बिलासपुर, छत्तीसगढ़ प्रदेश पोहा मुरमुरा उत्पादक संघ, अनाज किराना व्यापारी संघ दल्लीराजहरा, चेम्बर इकाई तिल्दा नेवरा, छत्तीसगढ़ लघु एवं सहायक उद्योग संघ, तिफरा औद्योगिक प्रक्षेत्र बिलासपुर, दत्ता इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग वक्र्स भिलाई,थोक अनाज व्यवसायी कल्याण संघ रायपुर, छत्तीसगढ़ प्लास्टिक निर्माता एवं विक्रेता संघ द्वारा मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा।

 


Date : 06-Sep-2019

 राधाकृष्ण मंदिरों में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई राधा अष्टमी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर।
इस्कॉन मंदिर, जैतूसाव मठ और जवाहर नगर स्थित राधाकृष्ण मंदिर सहित राजधानी के राधाकृष्ण मंदिरों में शुक्रवार को राधाअष्टमी मनाई गई। इस अवसर पर राधाकृष्ण के युगल जोड़ी का विशेष श्रृंगार और पूजन किया गया। 

जैतूसाव मठ में श्री राधाजी का दूध, शहद, शक्कर, घी एवं इत्र से अभिषेक कर नए वस्त्राभूषण से उन्हें अलंकृत किया गया। इस्कॉन मंदिर में शुक्रवार को श्री राधाष्टमी महामहोत्सव मनाया गया। इस अवसर पर श्री राधाकृष्ण का मनमोहक श्रृंगार किया गया। सुबह 4.30 को मंगल आरती की गई तथा विशेष पूजन अनुष्ठान किया गया। श्रद्धालुओं द्वारा इस अवसर पर श्री राधा चरण दर्शन किए। 

जवाहर नगर, स्थित श्री राधाकृष्ण मंदिर में शुक्रवार को राधारानी का जन्मोत्सव धूम-धाम से मनाया गया। राधा नाम संकीर्तन के साथ महाप्रभु श्री जुगल-जोड़ी का भव्य श्रृंगार किया गया।  छप्पन भोग अर्पण कर महाआरती की गई। 


Date : 06-Sep-2019

नई तकनीक से दी जा रही शिक्षा से आदिवासी अंचलों में मिल रहे सुखद नतीजे-प्रेमसाय सिंह 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर।
राज्य शिक्षण एवं प्रशिक्षण परिषद कार्यालय में शुक्रवार को आयोजित समारोह के अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने  दीक्षा एप के जरिए शिक्षण की नई तकनीक को शिक्षा के लिए कारगर बताया। 

उन्होंने कहा कि राज्य के दूरस्थ आदिवासी अंचलों में नई तकनीक के जरिए दी जा रही शिक्षा के बेहतर परिणाम मिलना शुरू हो गए हैं। इन अंचलों में विद्यार्थियों की समझ और जानकारी बढ़ी है, यह प्रदेश के लिए सुखद तथा गर्व का विषय है। दीक्षा एप के जरिए शिक्षण की नई तकनीक राज्य में शुरू हुई है, इसके तहत कक्षा 1 से 10 तक की पाठ्यपुस्तकों में अतिरिक्त शिक्षण सामग्री के क्यूआर कोड लगाए गए हैं। यह कार्य पूरे राज्य में स्थानीय बोलियों में भी करना है, ताकि वहां के बच्चे स्थानीय भाषा, बोली में रूचि के अनरूप शिक्षा ग्रहण कर सकें। शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य स्तरीय आंकलन से तैयार डाटा के विश्लेषण से आगे की कमियों को दूर करने में कामयाब होंगे। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सोच है कि शिक्षा से ही राज्य और देश आगे बढ़ेगा। शिक्षा में नई तकनीक लोगों की समझ में आए इसका हमें और प्रसार करने की आवश्यकता है।

इस अवसर पर राज्य स्तरीय आंकलन के डाटा विश्लेषण और दीक्षा एप के जरिए बच्चों के शिक्षण कार्य में बेहतर कार्य करने वाले जिला शिक्षा अधिकारियों, संकुल समन्वयकों, प्रधान पाठकों और शिक्षकों को  प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। 

कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, संचालक लोक शिक्षण एस. प्रकाश, संचालक राज्य शिक्षण एवं प्रशिक्षण परिषद पी.दयानंद विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम में जेसी कोरियन द्वारा तैयार कक्षा 6वीं से 8वीं तक की हिन्दी और अंग्रेजी विषय की सरल भाषा में सचित्र डिक्शनरी का विमोचन भी किया गया। 

 


Date : 06-Sep-2019

शैक्षणिक संस्थानों में मनाया गया शिक्षक दिवस 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर।
राजधानी में गुरुवार को हर्षोल्लास के साथ शिक्षक दिवस मनाया गया। शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षा संस्थानों तथा अन्य संस्थानों में शिक्षकों का सम्मान किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति भी दी गई। 

 शासकीय शिक्षक शिक्षा महा विद्यालय, शंकर नगर में शिक्षक दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।  कार्यक्रम की शुरुआत  संस्था के प्राचार्या जे. एक्का एवं स्टाफ सदस्य द्वारा सरस्वती माता के समक्ष दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर किया गया। इसके पूर्व सभी शिक्षकों को सम्मान पूर्वक फूलों की वर्षा करते हुए मंच तक लाया गया। इस अवसर पर शिक्षकों के सम्मान में एमएड व बीएड के छात्राध्यापकों द्वारा विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किए ग

पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय में विगत दिवस शिक्षक दिवस का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, नया रायपुर के कुलपति, तथा निदेशक डॉ. प्रदीप कुमार सिन्हा शामिल रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए पं. रविशंकर शुक्ल विवि के कुलपति प्रो केशरी लाल वर्मा ने बताया कि किसी भी समाज और राष्ट्र के निर्माण के लिए शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है साथ ही उन्होंने शिक्षकों के कर्तव्य पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन डॉ. स्मिता शर्मा तथा डॉ. भानुश्री गुप्ता ने किया। धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव डॉ. गिरीश कांत पांडे ने दिया।

गॉस मेमोरियल सेंटर द्वारा विगत दिवस शिक्षक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सेंटर के संचालक सी तवारिस द्वारा कम्प्यूटर प्रशिक्षक मोहम्मद जहीर एवं सिलाई प्रशिक्षक भविषा लखवानी को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन विलियम थियोफिलिस द्वारा किया गया। 

छत्तीसगढ़ प्रादेशिक मारवाड़ी सम्मेलन द्वारा शारदा विद्या मंदिर में विगत दिवस आयोजित शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में 16 शिक्षक शिक्षिकाओं का पुष्प, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर अभिनन्दन किया गया। इस अवसर पर शाला के खेल, नृत्य, संस्कृति आदि के क्षेत्र में विशेष योग्यता रखने वाले विद्यार्थियों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन गिरधर गोपाल अग्रवाल एवं आभार प्रदर्शन सूरज प्रकाश राठी ने किया।

 


Date : 06-Sep-2019

 प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के ग्राम विकास प्रभाग द्वारा किसान सशक्तिकरण अभियान 8 से, जैविक खेती की दी जाएगी जानकारी 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर।
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के ग्राम विकास प्रभाग द्वारा शाश्वत यौगिक खेती को बढ़ावा देने के लिए पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में किसान सशक्तिकरण अभियान चलाया जाएगा। इसका शुभारंभ 8 सितम्बर को सुबह 10 बजे विधानसभा रोड स्थित शान्ति सरोवर रायपुर में कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे करेंगे। 

राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी सविता दीदी ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि उद्घाटन समारोह में भाग लेने के लिए ग्राम विकास प्रभाग की राष्ट्रीय अध्यक्ष ब्रह्माकुमारी सरला दीदी मेहसाना (गुजरात) से और मुख्यालय संयोजक ब्रह्माकुमार सुमन्त भाई माउण्ट आबू से आ रहे हैं। इसके अलावा कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में इन्दिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एसके पाटिल और क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी भी उपस्थित रहेंगी। 

सविता दीदी ने बताया कि ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा किसान सशक्तिकरण अभियान के लिए सात दिव्य किसान रथ तैयार किए गए हैं। जो कि पूरे प्रदेश में लगभग चार हजार किलोमीटर का दौरा करेंगे। इस दौरान गांवों में जाकर किसानों को रसायनिक खाद को छोडक़र शाश्वत यौगिक खेती को अपनाने की शिक्षा दी जाएगी। इसके लिए सात अभियान दल बनाए गए हैं। 

उन्होंने बताया कि जैविक खेती के साथ योग को शामिल कर शाश्वत यौगिक खेती की पद्घति विकसित की गई है। इसमें पौधों को योग के पवित्र और सकारात्मक उर्जा के प्रकम्पन देने के साथ ही मधुर आध्यात्मिक गीत सुनाए जाते हैं। यौगिक खेती के अन्तर्गत भूमिउपचार, बीजोपचार, सहफसली तथा सूक्ष्म पर्यावरण, परमात्म ध्वजारोहण आदि प्रक्रिया शामिल है। इसके अलावा जीवामृत, घनजीवामृत, बीजामृत  और जैविक कीटनाशक तैयार करने का तरीका भी किसानों को बताया जाएगा।

 


Date : 06-Sep-2019

अधोसंरचना विकास-पर्यावरण उपकर अधिनियम में संशोधन राजपत्र में प्रकाशित
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 सितंबर।
 राज्य शासन द्वारा छत्तीसगढ़ अधोसंरचना विकास एवं पर्यावरण उपकर अधिनियम में आवश्यक संशोधन किया गया हैं। छत्तीसगढ़ राजपत्र में 04 सितम्बर 2019 को अधिसूचना का प्रकाशन कर दिया गया है।

छत्तीसगढ़ राजपत्र में प्रकाशित अधिसूचना के अनुसार छत्तीसगढ़ अधोसंरचना विकास एवं पर्यावरण उपकर अधिनियम 2005 की धारा 3 तथा 4 की अनुसूची एक एवं दो में संशोधन किया गया है। इसके तहत कोयले, लौह अयस्क, लाईम स्टोन, बाक्साईड तथा डोलोमाइट खनि पट्टों के अंतर्गत आच्छादित भूमि पर अब विकास उपकर की दर खनिज प्रेषण पर 11 रूपए 25 पैसे प्रति टन निर्धारित किया गया है। उक्त के अलावा खनि पट्टों के अंतर्गत आच्छादित भूमि पर विकास उपकर की दर वार्षिक देय रायल्टी की 11.25 प्रतिशत राशि निर्धारित किया गया है। उक्त दोनों के अंतर्गत आच्छादित भूमि के अलावा भूमि पर विकास उपकर की दर वार्षिक देय भू-राजस्व या भू-भाटक, यथास्थिति की राशि का 11.25 प्रतिशत निर्धारित किया गया है।

इसी तरह कोयले, लौह अयस्क, लाईम स्टोन, बाक्साईड तथा डोलोमाइट खनि पट्टों के अंतर्गत आच्छादित भूमि पर अब पर्यावरण उपकर की दर खनिज प्रेषण पर 11 रूपए 25 पैसे प्रति टन निर्धारित किया गया है। उक्त के अलावा खनि पट्टों के अंतर्गत आच्छादित भूमि पर पर्यावरण उपकर की दर वार्षिक देय रायल्टी की 11.25 प्रतिशत राशि निर्धारित किया गया है। उक्त दोनों के अंतर्गत आच्छादित भूमि के अलावा भूमि पर पर्यावरण उपकर की दर वार्षिक देय भू-राजस्व या भू-भाटक, यथास्थिति की राशि का 11.25 प्रतिशत निर्धारित किया गया है।