छत्तीसगढ़ » बालोद

Date : 18-Jan-2020

निर्दलीय प्रत्याशी के पांपलेट में भाजपा नेताओं की फोटो, शिकायत
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 18  जनवरी।
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर सुबह से शाम तक प्रत्याशी गांवों का भ्रमण कर मतदाताओं से अपने पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं। वहीं कुछ प्रत्याशी पर आदर्श आचार सहिंता का उल्लंघन करने का मामला सामने आया है। जिला पंचायत सदस्य के लिए क्षेत्र क्रमांक-5 की निर्दलीय प्रत्याशी संध्या शर्मा ने चुनावी प्रचार के फ्लैक्स व पम्पलेट में भाजपा के नेताओं के अलावा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की भी तस्वीर प्रकाशित की हैं। चुनावी प्रचार के बैनर व पाम्पलेट में महात्मा गांधी की फोटो के अलावा स्व. अटल बिहारी वाजपेयी, पीएम नरेंद्र मोदी व पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह की भी फोटो लगाई हैं। जिसे लेकर जिले में राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया है।

आखिर निर्दलीय प्रत्यासी को बेनर पोस्टर व फ्लेक्स में भाजपा के नेताओं की तस्वीर क्यों लगानी पड़ रही है। जिसको लेकर जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 5 में राजनीतिक माहौल गर्म है। वहीं भाजपा नेताओं ने निर्वाचन अधिकारी से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की गई है।

मामले में लिखित शिकायत जिला पंचायत सदस्य के लिए क्षेत्र क्रमांक-5 से भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी संध्या भारद्वाज ने जिला निर्वाचन से की है। जिसे संज्ञान में लेते हुए जिला निर्वाचन ने संध्या शर्मा को नोटिस भी जारी कर दिया हैं। 

उल्लेखनीय हो कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भाजपा व कांग्रेस दोनो ही पार्टियों ने जनपद व जिला पंचायत सदस्य के लिए अधिकृत प्रत्याशी घोषित किये हैं। जिला पंचायत सदस्य के लिए क्षेत्र क्रमांक-5 से भाजपा से अधिकृत संध्या सिंह भारद्वाज, कांग्रेस से अधिकृत आशा देवी देशमुख तथा निर्दलीय प्रत्याशी संध्या शर्मा मैदान में हैं। 

दिलचस्प बात यह हैं कि भाजपा से अधिकृत प्रत्याशी संध्या भारद्वाज और निर्दलीय प्रत्याशी संध्या शर्मा के सरनेम में ही असमानता है, जबकि नाम एक ही हैं। जिसे लोगों में भी असमंजस की स्तिथि बन रही हैं। इतना ही नही निर्दलीय प्रत्याशी संध्या शर्मा ने चुनावी प्रचार-प्रसार के फ्लैक्स, बैनर व पाम्पलेट में महात्मा गांधी की फोटो के अलावा स्व. अटल बिहारी वाजपेयी, पीएम नरेंद्र मोदी व पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह की भी फोटो लगाई हैं।

 


Date : 18-Jan-2020

अधिकांश एटीएम में नहीं हैं सुरक्षा गार्ड, एटीएम की सुरक्षा भगवान भरोसे, एटीएम का जायजा लिया तो सुरक्षा में खामियां नजर आयीं

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 18  जनवरी।
बंैक कपनियोंं ने खाता धारकों को पैसा निकालने की सुविधा देने के लिए सभी जगह एटीएम लगाए हैं। जिला मुख्यालय में लगे एटीएम की सुरक्षा के लिए कोई इंतजाम नहीं हैं, जिसके चलते एटीएम की सुरक्षा भगवान भरोसे हैं। जब शहर में संचालित विभिन्न बैंकों के एटीएम का जायजा लिया तो सुरक्षा में खामियां नजर आयीं। 

जिला मुख्यालय बालोद के कई एटीएम में सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं हंै ना ही बैंक प्रबंधन सुरक्षा को लेकर कोई खास सावधानी बरत रहे हैं। यहां के एटीएम में सेंसर तक भी नहीं लगे हैं। सेंसर सिस्टम का डिब्बा गुल है कई एटीएम में तो गार्ड भी नहीं रहते। 

पिछले तीन महीने शहर के यूको बैंक के एटीएम के कांच में अज्ञात व्यक्ति ने तोडफ़ोड़ कर दी थी। एक तरफ पुलिस ने शहर की निगरानी के लिए चौक-चौराहों पर कैमरे लगायी है। दूसरी ओर बैंक प्रबंधन एटीएम को बिना गार्ड के असुरक्षित ढंग से संचालन कर रहे हैं। बैंक अफसरों का कहना है कि गार्ड की जरूरत नहीं, सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। 

एटीएम की सुरक्षा आम लोगों से जुड़ी है, क्योंकि इसमें पैसे रहते हैं। साथ ही एटीएम में बैंक की ओर से कोई गार्ड नहीं होने के कारण जिन्हें एटीएम का सही ढंग से इस्तेमाल करना नहीं आता है, वे अपने पीछे खड़े लोगों से मदद मांगते हैं व खासकर उम्रदराज लोगों के साथ यह होता ही है। इसका फायदा ठगी करने वाले उठा रहे हैं। मदद के बहाने वे सामने वाले व्यक्ति के एटीएम का पासवर्ड जान जाते हैं। गार्ड रहता तो इस पर रोक लगती। पिछले साल दल्ली चौक में भी मदद के बहाने स्टेट बैंक के एटीएम से तीन लोगों से एटीएम बदली कर पैसा निकालने की घटना सामने आ चुकी है, अगर इन एटीएम सेंटर में गार्ड रहता तो लोग दूसरे से मदद न लेकर उन्हीं से मदद लेते और वह सुरक्षित रहते।

जिला मुख्यालय में 10 से अधिक एटीएम संचालित हो रहे हैं जिसकी सुरक्षा भगवान भरोसे है। इस दौरान कुछ एटीएम में सुरक्षा का जायजा लिया तो सदर रोड, गंजपारा, मधु चौक, रामदेव चौक, संतोष पेट्रोल पंप, सहित अन्य जगहों में गार्ड ही नहीं दिखे। बैंक प्रबंधकों का कहना है सुरक्षा की जिम्मेदारी दूसरे पंजीकृत संस्था को दी गई है।

 

 


Date : 18-Jan-2020

नपा कर्मचारी संघ ने अध्यक्ष का गुलदस्ता भेंटकर उनका स्वागत किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 18  जनवरी।
नवनिर्वाचित नगरपालिका अध्यक्ष शीबू नायर एवं उपाध्यक्ष संतोष देवांगन द्वारा पदभार ग्रहण करने के पश्चात नगरपालिका परिषद कर्मचारी संघ दल्लीराजहरा द्वारा गुलदस्ता भेंटकर उनका स्वागत किया गया।

नगरपालिका अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का स्वागत करने वालों मेंं नगरपालिका कर्मचारी संघ अध्यक्ष विपिन बेहरा, कर्मचारी संघ जिला अध्यक्ष गोविंदराम साहू,जितेन्द्र जांगड़े,शिवाजी प्रसाद,राजेन्द्र साहू,इंद्र कुमार यादव,कुंदन निषाद,संतोष रामटेके,घनश्याम शर्मा,एलन चंद्राकर, लक्ष्मी कोठारी,मनोज साहू,बुद्धिमान सिंग,संतोष देवांगन,उमेश्वरी नेताम,शिव शर्मा, देवनारायण,धरमू बक्शी,अब्दुल कलीम,सुशील टण्डन,अनंत साहू,मोहन सिंग, निर्भयराम, धनसाय ठाकुर एवं पार्षद रूखसाना बेगम व श्रुति यादव शामिल थे।

 


Date : 18-Jan-2020

बैंक कर्मचारियों पर ऋण वसूली के दबाव का आरोप, मंत्री से शिकायत, महिलाओं ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दल्लीराजहरा, 18 जनवरी। विभिन्न निजी बैंक द्वारा समूह लोन के रूप में महिलाओं को दिये गए ऋण की वसूली के लिए संबंधित बैंक कर्मचारियों के द्वारा नगर के विभिन्न वार्डों की महिलाओंंं से ऋण वसूलने हेतु जबरन दबाव बनाया जा रहा है। जिससे महिलाएं डरी व सहमी हुई हैं। वहीं महिलाओं ने कहा कि यदि ऐसी ही स्थिति बनी रहेगी तो उन्हें आत्महत्या करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। इसी बात की लिखित शिकायत कुल 73 महिलाओं ने अपने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन में कलेक्टर रानू साहू से की है। साथ ही महिलाओं ने इस बात की शिकायत प्रदेश की महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री अनिला भेडिय़ा से भी की है।

कलेक्टर रानू साहू को सौंपे गए अपने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन में पीडि़त महिलाओं ने बताया है कि विभिन्न निजी बैंक के माध्यम से नगर के विभिन्न वार्ड में निवासरत अनेकों महिलाओं ने कुछ माह पूर्व समूह लोन लिया था। लोन के रूप में ली गई ऋण की राशि को हमें किश्तों मेंं बैंक को पटाना था लेकिन किन्हीं कारणों से हम महिलाएं समय पर लोन के ऋण राशि को नहीं पटा पाये हैं। इस पर बैंक के कर्मचारी द्वारा जबरन घर मेंं घुसकर लोन की राशि को पटाने के लिए दबाव डाला जाता है और घर के सामानों को बेचकर किश्त पटाने के लिए मजबूर किया जा रहा है। आये दिन उनके इस रवैये के चलते मोहल्ले की कई महिलाएं अपने गहने जेवर,रसोई गैस तथा घर के अन्य सामान बेचकर किश्त अदा करती हैं।

लिखित शिकायत में बैंकों के नाम:महिलाओं ने कलेक्टर को आगे बताया कि बंधन बैंक,एलएनटी बैंक,इस्पंदना बैंक, अविरल बैंक,एक्सीस बैंक,ग्रामीण कोटा बैंक,हिसाब बैंक,शेयर बैंक,अवरोहण बैंक,अन्नपूर्णा बैंक,सम्सता बैंक,आशीर्वाद बैंक,द्वारा बैंक,एचडीएफसी बैंक,संबंध बैंंक आदि निजी बैंक के संचालक अथवा कर्मचारियों द्वारा लोन देते समय कम ब्याज लेने की बात कही गई थी परंतु अब वे अत्यधिक ब्याज की दर से ऋण की वसूली कर रहे हैं और किश्त नहीं पटाने पर घर,जमीन एवं अन्य संपत्ति के कुर्की कर देने की धमकी दी जा रही है। बैंक कर्मचारियों के इस रवैये से सभी महिलाएं आर्थिक व मानसिक रूप से परेशान हो चुकी हैं। अनेक महिलाएं अपने परिवार सहित अपना घर द्वार छोडऩे पर विवश हो रही हैं। यदि यही हाल रहा तो महिलाएं आत्महत्या के लिए विवश हो सकती हैं। अत: कलेक्टर से यह निवेदन है कि बैंक कर्मचारियों पर उचित कार्यवाही कर पीडि़त महिलाओंं को न्याय दिलाया जाये।

शासकीय सुविधाओं को छीनने की धमकी

उक्त संबंध में परेशान महिलाओं ने बताया है कि निजी बैंक संचालक अथवा कर्मचारियों के द्वारा लोन देते समय बहुत ही कम ब्याज से किश्त पटाने की बात कही गई थी और अंग्रेजी मेें लिखे हुए पत्र में हस्ताक्षर लिए गए थे और अब अधिक ब्याज लगाकर किश्त वसूली कर रहे हैं। किश्त नहीं देने पर घर,जमीन व अन्य संपत्ति की कुर्की कराकर वसूली कर लेने की धमकी दी जा रही है। इसके अलावा शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं को छीनने जैसे कि आधार कार्ड,पैन कार्ड,राशन कार्ड आदि को निरस्त करा देने तथा बच्चों को स्कूल से निकलवा देने की भी धमकी दी जा रही है और यह भी कहा जा रहा है कि बैंक द्वारा दीवालिया घोषित कर देंगे तो तुम्हारे बच्चों को भविष्य में सरकारी अथवा प्राइवेट कहीं भी नौकरी नहीं मिलेगी और कोई भी बैंक लोन नहीं देगा।

समूह की महिलाओंं का किश्त एक साथ जमा करने दबाव

महिलाओं ने बताया कि एक समूह में 5 अथावा 11 महिलाएं शामिल रहती है,जिन्हें बैंक द्वारा समूह लोन दिया जाता है। यदि 11 सदस्यीय समूह मेंं किसी कारणवश समूह की 3 महिलाओं द्वारा अपना किश्त जमा करने मेंं असमर्थ रहती है तो बैंक द्वारा समूह की अन्य महिलाओं के पास उपलब्ध किश्त को जमा करने से साफ इंकार कर दिया जाता है और कहा जाता है कि उन 3 महिलाओं से भी किश्त लेकर आओ या फिर तुम सब आपस मेेंं उन 3 महिलाओंं की किश्त की राशि एकत्रित करके लाओ तभी समूह की सभी महिलाओं का किश्त जमा किया जायेगा अन्यथा नहीं।

इस संबंध में महिलाओं द्वारा थाना प्रभारी से भी शिकायत की गई है। राजहरा थाना प्रभारी टीएस पटावी ने बताया है कि निजी बैंकों से लोन लेने वाली महिलाएं शिकायत लेकर आई थी जिस पर जांच चल रही है। इस संबंध में बंधन बैंक के अलावा एक्सीस बैंक,एचडीएफसी बैंक के आला अधिकारियोंं से चर्चा हुई है जिसमें अधिकारियों ने कहा है कि समूह की महिलाओं को लोन अवश्य दिया जाता है लेकिन हितग्राहियों को लोन की किश्त नियमानुसार व निर्धारित समय पर अदा करना चाहिए। यह लोन समूह लोन होता है जिसमें एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति की गारंटी लेता है परंतु लोन लेने वाले अधिकांश हितग्राही एनपीए हो चुके हैं।


Date : 18-Jan-2020

जन मुक्ति मोर्चा ने निकाली रैली, राज्यपाल के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दल्लीराजहरा, 18  जनवरी। लौह अयस्क खदान समूह अंतर्गत महामाया माइंस से निकलने वाले लाल पानी से प्रभावित किसानों ने कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन कर प्रभावित किसानों को खदान में रोजगार नहीं देने और जिला प्रशासन द्वारा बीएसपी अधिकारियों से इस दिशा में आदेश का पालन नहीं कराने पर नाराजगी जताते हुए जिलाधीश के आदेश को अमल में लाने सहित अन्य मांगों को लेकर जन मुक्ति मोर्चा के तत्वावधान में नगर में रैली निकाककर मुख्य मार्गों का भ्रमण करते हुए बीएसपी प्रबंधन एवं शासन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। तत्पश्चात एसडीएम को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया तथा आमसभा का आयोजन किया गया।

ज्ञापन मेें जन मुुक्ति मोर्चा सचिव बसंत रावटे ने बताया है कि महामाया खदान से निकलने वाले लाल फाइंस मिट्टी एवं लाल पानी से प्रभावित अदिवासी वनवासी कृषक बीएसपी प्रबंधन की मार एवं प्रशासन की उदासीनता से व्यथित होकर जिलाधीश के आदेश को अमल में लाने,पांचवीं अनुसूची के तहत प्राप्त अधिकारोंं की रक्षा,संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत जीवन की स्वतंत्रता व आजीविका के अधिकार की रक्षा,अनुच्छेद 14 विधि समक्ष सभी समान के अधिकार के रक्षा की मांग को लेकर विगत 8  जनवरी से एसडीएम कार्यालय के समक्ष आमरण अनशन कर रहे हैं,पर कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

मोर्चा सचिव द्वारा मांगों के संबंध में बताया गया कि बालोद जिला कलेक्टर कार्यालय में पिछले वर्ष 8  जनवरी 2019 को त्रिपक्षीय बैठक रखी गई थी। जिसमें लाल पानी से प्रभावित किसानोंं की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने बैठक में उपस्थित भिलाई इस्पात संयंत्र के ईडी माइंस,सीजीएम पर्सनल अधिकारी को स्पष्ट आदेश दिया था कि 30 सिंतबर 2019 तक 10 अति प्रभावित किसानों को और माह दिसंबर 2019 तक पूरे प्रभावितों को स्थायी प्रवृत्ति के रोजगार प्रदान किया जाये। किन्तु सहमति प्रदान करने के बावजूद बीएसपी प्रबंधन के उन अधिकारियों द्वारा कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं किया गया और कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं करने वाले बीएसपी अधिकारियोंं पर अब तक किसी भी तरह की कानूनी कार्यवाही नहीं की जा रही है।

उन्होंने राज्यपाल से मांग करते हुए कहा कि पांचवीं अनुसूची क्षेत्र मेें भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा आदिवासियों की घोर उपेक्षा ही नहीं बल्कि शोषण भी किया जा रहा है अत: भिलाई इस्पात संयंत्र के खदान लीज को शीघ्र निरस्त कर आदिवासी समूह व सहकारिता गठन कर दिया जाये। छ.ग.राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग द्वारा जारी निर्देशानुसार लाल पानी से प्रभावित किसानों व आदिवासियों के शोषण में भिलाई इस्पात संयंत्र के जिम्मेदार अधिकारी,तहसीलदार डौण्डी एवं संबंधित हल्का पटवारी के विरूद्ध छ.ग. सिविल सेवा आचरण नियम 196 6  के नियमोंं का उल्लंघन करने के कारण उक्त दोनों शासकीय सेवकों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किया जाये और आयोग अध्यक्ष द्वारा संबंधितों पर अपराधिक धारा कायम करने की अनुशंसा का पालन किया जाये।

आमसभा को जन मुक्ति मोर्चा केन्द्रीय कमेटी सदस्य कुलदीप नोन्हारे, छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा अध्यक्ष भीमराव बागड़े,जनवादी लोक मंच से जीएम सिंग,छमुमो से बंशीलाल साहू,शहीद अस्पताल के चिकित्सक डॉ. शैबाल जाना,पूर्व पार्षद बबला खापर्डे तथा जन मुक्ति मोर्चा महासिचव बसंत रावटे ने संबोधित किया।


Date : 17-Jan-2020

पार्टी के खिलाफ वोट करने वालों के निष्कासन की मांग, मंडल अध्यक्ष ने जिला अध्यक्ष को लिखा पत्र, सामूहिक इस्तीफे की चेतावनी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 17 जनवरी।
भारतीय जनता पार्टी दल्लीराजहरा मंडल अध्यक्ष महेश पाण्डेय ने भाजपा जिला अध्यक्ष केसी पवार को पत्र लिखकर नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष पद के चुनाव में पार्टी के विरूद्ध मतदान करने वालों को पार्टी से निष्कासित किये जाने की मांग की है। निष्कासित नहीं किये जाने की स्थिति मेंं भाजपा मण्डल दल्लीराजहरा के सभी पदाधिकारी एवं वरिष्ठ नेताओं द्वारा सामूहिक रूप से इस्तीफा देने की बात कही गई है।

पत्र में भाजपा जिलाध्यक्ष को बताया गया है कि नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष पद के चुनाव में पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी भूपिन्दर सिंह छतवाल द्वारा पार्टी विरोधी गतिविधियोंं में वोट देने का आरोप लगाया गया है जिसमें संतोष देवांगन, टी ज्योति एवं मोईनुद्दीन खान के नाम सहित शिकायत की गई है। इसलिए इन तीनों को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित किये जाने की अनुशंसा की जाती है। यदि संतोष देवांगन, टी ज्योति एवं मोईनुद्दीन खान को भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित नहीं किया जाता है तो भाजपा मण्डल दल्लीराजहरा के सभी पदाधिकारी एवं वरिष्ठ नेताओं द्वारा सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया जायेगा।

इसी तरह भाजपा की ओर से नगरपालिका के अध्यक्ष प्रत्याशी रहे भूपिन्दर सिंह छतवाल ने भी भाजपा जिलाध्यक्ष को पत्र लिखकर बताया है कि मैं भूपिन्दर सिंह छतवाल नगरपालिका चुनाव मेें अध्यक्ष पद का प्रत्याशी था लेकिन भाजपा के पार्षद संतोष देवांगन, टी ज्योति एवं मोईनुद्दीन खान द्वारा मेरे खिलाफ में वोट किया गया तथा वे नगरपालिका के अधिवेशन में पार्टी विरोधी गतिविधियों मेंं संलग्न रहे हैं इसलिए इन्हेें पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण भारतीय जनता पार्टी से निष्कासित किया जाना चाहिए।

इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी के बालोद जिला अध्यक्ष केसी पवार से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि दल्लीराजहरा भाजपा मण्डल अध्यक्ष सहित वहां भाजपा के विभिन्न पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा अपने हस्ताक्षरयुक्त लिखित शिकायत मुझे दी गई है जिसमें नगरपालिका अध्यक्ष चुनाव में भाजपा के कुछ पार्षदों द्वारा पार्टी विरूद्ध कार्य किया जाना बताया गया है और उन पार्षदों पर कार्यवाही करते हुए पार्टी से निष्कासन करने की मांग की गई है। उन्होने कहा कि वे जल्द ही इस शिकायत को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सहित संगठन के पदाधिकारियों के पास भेज देंगे।

 

 


Date : 17-Jan-2020

हितग्राहियों दो माह का चावल मिलेगा एक साथ, किसी कारणवश अगर हितग्राही एक माह का चावल ही मांग रहा है तो उनके हिसाब से कार्रवाई करें

बालोद, 17 जनवरी। जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के एक लाख 8 9 हजार 58 3 राशन कार्डधारी उपभोक्ताओं को फरवरी एवं मार्च का चावल एक साथ मिलेगा। जिसमें एक लाख 58  हजार 6 20 बीपीएल व 30 हजार 96 3 एपीएल कार्डधारी शामिल हैं। इस बार दोनों वर्ग के लिए चावल आबंटन हुआ है। जिसकी पुष्टि जिला खाद्य अधिकारी विजय किरण ने की है।

उन्होंने कहा कि एक फरवरी से ही चावल मिलना शुरू हो जाएगा। राशन दुकान संचालकों को इस संबंध में सूचना दे रहे हैं कि बीपीएल हो या एपीएल कोई भी हितग्राही कार्ड लेकर पहुंचे तो उन्हें एक फरवरी से ही दो माह का चावल उपलब्ध कराएं। किसी कारणवश अगर हितग्राही एक माह का चावल ही मांग रहा है तो उनके हिसाब से कार्रवाई करें।

दरअसल खाद्य विभाग ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य दुकानों से वितरण के लिए फरवरी एवं मार्च के लिए चावल का आबंटन एकमुश्त जारी कर दिया है। फरवरी एवं मार्च माह का चावल वितरण करने का प्रमुख कारण फरवरी में चावल उत्सव का आयोजन होना माना जा रहा है।

दो माह का चावल एक साथ लेने की बाध्यता नहीं

राशन कार्ड धारी उपभोक्ता अपनी सुविधानुसार एक ही माह का या दोनों माह का चावल एक साथ उठा सकता है। उपभोक्ता को दो माह का चावल एक साथ लेने की बाध्यता नहीं है। उपभोक्ता अपनी सुविधानुसार फरवरी माह का चावल फरवरी में एवं मार्च माह का चावल मार्च माह में उचित मूल्य की दुकानों से उठा सकता है। पिछले साल के अंतिम माह में दो माह का चावल आवंटन हुआ था तब अफसरों ने कहा था कि नवंबर में राशन दुकानों में पहुंचने वालों को दो माह का चावल मिलेगा।

कितने परिवार को मिलेगा दो माह का चावल

जनपद क्षेत्र      बीपीएल    एपीएल

गुंडरदेही    38 423,     6782

बालोद 206 6 0, 318 9

गुरूर 25233,       5072

डौंडी 1956 0,     3011

डौंडीलोहारा 36 8 05,   5854

शहरी क्षेत्र बीपीएल    एपीएल

दल्लीराजहरा     746 3,        2696

बालोद     6 55,          1932

गुंडरदेही    1913,          416

डौंडी 1507,          335

डौंडीलोहारा 974, 478

गुरूर 577, 417

अर्जुन्दा    917, 208

चिखलाकसा 933,          573


Date : 15-Jan-2020

बालोद के 13 पंचायतों में निर्विरोध सरपंच, सिर्फ जिला व जनपद सदस्य के लिए ही मतदान होगा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 15 जनवरी।
जिले में कुल 13 ग्राम पंचायतों में निर्विरोध सरपंच बनाए गए हैं। इन 13 में से 7 निर्विरोध सरपंच डौंडीलोहारा विकासखंड में चुने गए हैं, जिसमें ग्राम पंचायत रानीतराई रोड, ग्राम पंचायत हरदी, ग्राम पंचायत राधे नवागांव, ग्राम पंचायत खैरा, ग्राम पंचायत भेंडी, ग्राम पंचायत बटेरा, ग्राम पंचायत खड़बत्तर शामिल है।

बालोद जिले के डौंडीलोहारा विकासखंड के ग्राम खड़बत्तर को पिपरखार ग्राम पंचायत से अलग कर पहली बार नवीन ग्राम पंचायत बनाने निर्विरोध सरपंच चुना गया है। 
ग्राम खड़बत्तर के ग्रामीणों ने पंचायत गठन के बाद गांव में बैठक लेकर सरपंच व सभी 10 वार्डों में पंच भी निर्विरोध चुन लिया है। ग्रामीणों ने गांव की सुषमा लोहिया को सर्वसम्मति से सरपंच बनाया है। ग्राम पंचायत व ग्रामीणों की इस पहल की पूरे जिले में चर्चा है। अब अन्य ग्राम पंचायतों के लिए यह आदर्श बन गया है। पंचायत चुनाव के बाद अब इस गांव का सम्मान राज्य सरकार भी करेगी।

ग्राम खड़बत्तर पहले ग्राम पंचायत पिपरखार का आश्रित ग्राम था। परिसीमन के बाद इस गांव को नवीन ग्राम पंचायत बनाया गया। इस गांव की जनसंख्या 1012 है और लगभग 8 00 मतदाता भी हैं। सरपंच व पंच निर्विरोध चुने जाने के बाद अब यहां सरपंच व पंच के लिए मतदान नहीं होगा। सिर्फ जिला व जनपद सदस्य के लिए ही मतदान होगा।
जिस ग्राम पंचायत पिपरखार से अलग होकर खड़बत्तर ग्राम पंचायत बनी है। वहां पहले पिपरखार पंचायत में खड़बत्तर में निर्विरोध सरपंच बनी सुषमा लोहिया के पति सरपंच रहे हैं। अब पंचायत अलग होने से खड़बत्तर ग्राम पंचायत की सरकार सुषमा चलाएंगी।


Date : 15-Jan-2020

गांवों में शुरू त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव महौल, बैनर-पोस्टर लगा कर रहे प्रचार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 15 जनवरी।
जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के कारण अब ग्रामीण अंचलों में धीरे धीरे चुनावी सरगर्मी बढऩे लगी हैं। गांवों में बैनर पोस्टर दिखने लगे हैं। चौक-चौराहे में चुनावी माहौल देखने को मिल रहा है। हर कोई अपने प्रत्याशियो की जीत के दावे कर रहे हैं। वहीं प्रत्याशी अपने-अपने समर्थकों के साथ घर-घर जाकर जनसपंर्क कर अपने पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं। मतदाता भी प्रत्याशियों को समर्थन देने की बात कर रहे हैं।

जिले के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पंच, सरपंच, जिला व जनपद पंचायत सदस्य बनने के लिए 13 हजार 58 6  उम्मीदवार मैदान में है। नाम वापसी के बाद जिला पंचायत के 14 क्षेत्रों के लिए स्थिति स्पष्ट हो चुकी है। कुल 55 उम्मीदवार मैदान में है। जिसमें क्षेत्र 1 और 9 के लिए कांग्रेस के 2-2 उम्मीदवार शामिल है यानी एक क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी के 2 समर्थित सदस्य जीत के लिए जोर आजमाइश करते नजर आएंगे।

दरअसल क्षेत्र 1 में जिला व ब्लॉक कांग्रेस कमेटी की सहमति से 2 अलग-अलग उम्मीदवार सोनादेवी और ज्ञानेश्वरी मैदान में है। वहीं क्षेत्र 9 में वर्तमान जिला पंचायत सदस्य सविता कल्याणी भी मैदान में है। जो पिछले चुनाव में कांग्रेस की टिकट से चुनाव लडक़र जीत हासिल की थी। वहीं इस बार कांग्रेस ने इस क्षेत्र के लिए पूर्णिमा सोनकर को टिकट दी है।

जानिए, 5 जनपद में कहां कितने उम्मीदवार
जनपद पंचायत बालोद- यहां पंच के 900 में से 8 98  पदों के लिए 16 10 उम्मीदवार मैदान में है। इसी तरह 6 0 ग्राम पंचायत में सरपंच बनने 26 7, जनपद के 16  सदस्य के लिए 55 उम्मीदवार मैदान में है।

जनपद पंचायत गुरूर- यहां पंच के 1199 पदों के लिए 2324 उम्मीदवार मैदान में है। इसी तरह 78  ग्राम पंचायत में सरपंच के लिए 334 ,जनपद के 21 सदस्य के लिए 71 उम्मीदवार मैदान में है।

जनपद पंचायत गुंडरदेही- यहां पंच के 16 8 4 में से 16 8 2पदों के लिए 3114 उम्मीदवार मैदान में है। 117 ग्राम पंचायत में सरपंच के लिए 56 5, जनपद के 24 सदस्य के लिए 106  उम्मीदवार मैदान में है।

जनपद पंचायत डौंडीलोहारा- यहां पंच के 16 35 में से 16 30 पदों के लिए 28 8 4 उम्मीदवार मैदान में है। 120 ग्राम पंचायत में सरपंच के लिए 516  ,जनपद के 25 सदस्य के लिए 93 उम्मीदवार मैदान में है।

जनपद पंचायत डौंडी- यहां पंच के 8 73 पदों के लिए 1351 उम्मीदवार मैदान में है। 6 0 ग्राम पंचायत में सरपंच के लिए 250 ,जनपद के 15 सदस्य के लिए 51 उम्मीदवार मैदान में है।


Date : 14-Jan-2020

धान खरीदी केंद्र में धान का उठाव नहीं, खरीदी बंद, किसान परेशान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 14 जनवरी।
बालोद जिले के आदिवासी विकास खंड डौंडी अंतर्गत कुआंगोंदी धान खरीदी केंद्र में 2 जनवरी से धान खरीदी का कार्य बंद होने से किसान परेशान हैं। केंद्र में लिमिट से अधिक धान होने व धान का उठाव नहीं होने के चलते धान खरीदी बंद होने की बात कही गई है। वहीं किसान अपना धान बेचने लगातार 10 दिनों से खरीदी केंद्र का चक्कर लगा रहे हैं।
किसानों ने बताया कि वे पर्चा लेकर रोजाना यहां पूछने आते हैं कि आखिर उनका धान कब खरीदा जाएगा। एक किसान ने बताया कि 1 जनवरी को वह धान बेचने आया था। उसने अपना धान खरीदी केंद्र परिसर में ही रख दिया था। जिसके बाद धान रखे-रखे अंकुरित हो गया। किसानों का कहना है को एक तो सरकार देरी से धान खरीदी शुरू की ऊपर से यह समस्या, अब किसान करे तो करे क्या।

दरअसल बालोद जिले के वनांचल क्षेत्र कुंआगोदी धान खरीदी केंद्र के अंतर्गत 17 गांव आते हैं, जिसमें 08  ग्राम पंचायत है। वहीं इस खरीदी केंद्र की क्षमता 7000 क्विंटल है, परंतु यहां वर्तमान में 14 हजार धान स्टॉक है। इस खरीदी केंद्र में 21 हजार क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है। ऐसे में धान का उठाव नहीं होना ही खरीदी बंद होने की मुख्य वजह बताई गई।

 


Date : 13-Jan-2020

पत्रकार पर हमला करने वाले 6 बंदी, 5 जेल में, 1 को जमानत, इन लोगों के खिलाफ अगर और शिकायत आई तो कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बालोद, 13 जनवरी। जिले के पत्रकार पोषण साहू पर 8  दिसंबर की रात हमला करने के उद्देश्य से पहुंचे छह आरोपियों को गुंडरदेही पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार किया है। छह में से पांच आरोपियों को जेल भेज दिया है जबकि एक आरोपी को थाने से ही जमानत मिल गई।

थाना प्रभारी श्री मालेकर ने बताया कि झलमला के एक फार्म हाउस में पत्रकार पोषण साहू के खिलाफ प्लानिंग की थी। प्रार्थी की शिकायत पर साइबर सेल की टीम द्वारा टावर डंप और मोबाइल ट्रेस कर आरोपियों की पतासाजी की गई। आरोपियों के खिलाफ धारा 151, 294, 506 , 34क के तहत मामला दर्ज किया गया है।

ओमू साहू पता चूल्हापथरा गुरुर बालोद, बीरबल कुमार यादव पता झलमला बालोद, दुनेश्वर साहू पता पाररास बालोद, रोशन कुमार साहू पता सनेय डोंगरी गुरुर, रंजीत सिंह पता देवारभाठ बालोद, उकेश साहू पता मोखा गुरुर बालोद को रविवार को हिरासत में लिया गया जिसमें से ओमू साहू को थाने से ही जमानत पर रिहा कर दिया गया।

इस संबंध में तहसीलदार एके पुसाम ने कहा कि धारा 151 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई है। इसलिये जमानत लेने आने वाले के आधार पर जमानत दी गई।

रोहित मालेकर, टीआई गुंडरदेही ने बताया कि हमने अपनी ओर से आरोपियों के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। साइबर सेल की मदद से आरोपियों को पकड़ा गया। इन लोगों के खिलाफ अगर और शिकायत आई तो कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 


Date : 12-Jan-2020

यातायात पुलिस द्वारा 31वां राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा जीवन रक्षा अभियान प्रारंभ, पुलिस अधीक्षक ने सडक़ सप्ताह अभियान में लगे गाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रैली निकाली

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 12 जनवरी।
जिले में शनिवार को यातायात पुलिस द्वारा 31वां राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा जीवन रक्षा अभियान प्रारंभ किया गया। इस अवसर पर अभियान के पहले दिन  शनिवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीआर पोर्ते ने सडक़ सप्ताह अभियान में लगे प्रचार प्रसार गाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, प्रचार प्रसार में लगे वाहन की रैली निकाली गई जो शहर के मुख्य मार्ग होते हुए वापस कार्यक्रम स्थल पहुंची। 

सोमवार को पुलिस अधीक्षक एमएल कोटवानी 31वंा राष्ट्रीय सडक़ सप्ताह सुरक्षा जीवन रक्षा अभियान का उद्धाटन करेगे। लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने 11 से 17 जनवरी तक 31वां राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा सप्ताह मनाया जाएगा। विभाग और पुलिस एक हफ्ते जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को यातायात के नियम बताती है। पर यह एक हफ्ते में मुमकिन नहीं है। लोगों को रोज जागरूकता दिखानी होगी तभी जिले में सडक़ हादसे थम पाएंगे। 

सडक़ सुरक्षा सप्ताह में 17 जनवरी तक अलग-अलग गतिविधियों के माध्यम से विभाग लोगों को जागरुक करने का प्रयास करेगी। पहले दिन 11 जनवरी को यातायात कार्यालय परिसर में यातायात नियमों की जानकारी देने के लिए कैंप लगाया लगाया गया। सरदार पटेल मैदान में सडक़ सुरक्षा को बढ़ावा देने स्कूली बच्चों, नागरिकों के माध्यम से मैराथन दौड़ का आयोजन किया जाएगा। जो मैदान से लेकर स्टेडियम तक होगा। 13 जनवरी को सडक़ सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन व प्रेस वार्ता होगी। 14 जनवरी को शिक्षक व नेशनल हाईवे के अफसर सडक़ सुरक्षा के संबंध में जानकारी देंगे। इसके अलावा नए उपकरणों और संसाधनों की जानकारी भी देंगी।

 

 


Date : 12-Jan-2020

नपाध्यक्ष ने किया बाल मंदिर स्कूल का निरीक्षण, निर्माणाधीन संपवेल व वाटर ट्रीटमेन्ट प्लांट का लिया जायजा
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बालोद, 12 जनवरी।
निर्वाचित अध्यक्ष विकास चोपड़ा शनिवार सुबह नगर पालिका द्वारा संचालित बाल मंदिर स्कूल के औचक निरीक्षण में पहुंचे और शिक्षकों को समय पर स्कूल आने की हिदायत दी। वहीं नगर पालिका कार्यलय में कार्यरत कर्मचारियों के पभार में परिवर्तन किया है। विजय ठाकुर की जगह अब अब्दुल लतीफ होंगे राजस्व निरक्षक और विजय ठाकुर को राजस्व शाखा लिपिक और टैक्स वसूली का कार्य सौंपा गया है। 

नगर पालिका के नवनिर्वाचित अध्यक्ष विकास चोपड़ा ने बाल मंदिर के निरीक्षण के बाद  शिक्षक-शिक्षिकाओं की उपस्थिति पंजी देखी। इस दौरान उन्होंने छात्र-छात्राओं से बात करते हुए शिक्षक-शिक्षिकाओं को निर्देशित किया कि अब एक मिनट की देरी भी बच्चों की पढ़ाई में कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

शहर की बहु प्रतीक्षित योजना जल आवर्धन योजना का लाभ बहुत जल्द ही शहरवासियों को मिलेगा। वर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा ने अपने पिछले कार्यकाल के वादा को इस कार्यकाल में निभाने की तैयारी कर ली है, जिसके फलस्वरूप शहर वासियों को बहुत जल्द गंदे पानी की समस्या से मुक्ति मिलेगी। जल आवर्धन योजना का काम अब अंतिम चरण में है। 

गत दिनों नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा व उनकी टीम ने तांदुला डैम के पास निर्माणाधीन संपवेल और गंजपारा में बन चुके वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही यानी डेढ़-दो माह के भीतर ही इसका लाभ मिलने की उम्मीद है।

अध्यक्ष विकास चोपड़ा ने कहा कि योजना भाजपा अध्यक्ष के कार्यकाल के समय की थी छह वर्ष से योजना में अनदेखी की जा रही थी। पीएचई भी मनमानी कर रही थी। कोई काम ठीक से नहीं हो रहा था, जिसको लेकर उन्होंने पिछले कार्यकाल के दौरान आवाज उठाई। आंदोलन की नौबत तक आई, उनकी शिकायत के कारण ही जिम्मेदार पीएचई अफसर का तबादला भी हो गया। कांग्रेस की सत्ता आने के बाद फिर काम में तेजी आई। एक साल के भीतर ही इस जल आवर्धन योजना कई महत्वपूर्ण के तहत जो लटके हुए काम थे। वह भी जल्द से जल्द एक साल के भीतर हुए अब योजना पूर्णता की ओर है। जो पहले 6  वर्ष में भी नहीं हो पाया था। वह हमने एक वर्ष के भीतर कर दिखाया।

नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा ने बताया कि इस साल आने वाली गर्मी के पहले लोगों को साफ और पर्याप्त पानी मिलना लग जाएगा। जल आवर्धन योजना का काम अंतिम चरण पर आ चुका है। वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का काम हो चुका है। वहां मशीनें लगाई जा रही है। संपवेल का काम अंतिम चरण पर है। पाइप लाइन का विस्तार भी चल रहा है। ऐसे में उम्मीद है इस साल गर्मी शुरू होने के पहले ही जल आवर्धन योजना का उद्घाटन हो जाएगा और लोगों को इसका लाभ मिलने लगेगा।
---------