छत्तीसगढ़ » बालोद

Date : 20-Aug-2019

कलेक्टर ने जनचौपाल में सुनी समस्याएं, त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 20 अगस्त।
कलेक्टर रानू साहू ने संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में जनचौपाल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में जिले के आमजनों की मांगों एवं समस्याओं को सुना और नियमानुसार त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने दिव्यांगजनों के बीच पहुंचकर उनकी समस्याएं सुनी और नियमानुसार त्वरित निराकरण का भरोसा उन्हें दिलाया। 

जनचौपाल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में ग्राम गणेशखपरी की भागबती ने राष्ट्रीय परिवार सहायता राशि दिलाने, ग्राम रानीतराई रोड की पार्वती साहू ने अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने, बालोद के राजेन्द्र कुमार ने खाता विभाजन कराने, ग्राम अंगारी की मुन्नी सिन्हा ने प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने, ग्राम पंचायत हीरापुर के सरपंच ने शिक्षक नियुक्त करने, ग्राम परसाही की रेखा बाई ने आबादी भूमि दिलाने, ग्राम हथौद के अशोक कुमार ने दिव्यांग पेंशन दिलाने, पाररास की दूजबाई ने नौनिहाल छात्रवृत्ति प्रदान करने, ग्राम जुनवानी के पचकौड़ ने वृद्धापेंशन दिलाने, ग्राम सांगली के वेदप्रकाश ने प्रधानमंत्री आवास आवास योजना का लाभ दिलाने, ग्राम चिंगरी के हृदयलाल ने जमीन का रिकार्ड दुरूस्त कराने, ग्राम मोहलई के गैंदलाल ने राशन कार्ड बनाने, ग्राम बालोदगहन के सुकालूराम ने गरीबी रेखा श्रेणी की सर्वे सूची में नाम जोडऩे और ग्राम देवरी के गैंदलाल ने स्थायी जाति प्रमाण पत्र बनाने संबंधी आवेदन कलेक्टर को सौंपा। इसी प्रकार अन्य आवेदकों ने भी अपनी मॉगों और समस्याओं से संबंधित आवेदन कलेक्टर को सौंपा। 


Date : 19-Aug-2019

स्काउट गाइड तृतीय सोपान का समापन, 567 स्काउट-गाइड और प्रभारी हुए शामिल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 19 अगस्त।
शाउमावि झलमला में गत तीन दिनों से चल रहा जिला स्तरीय स्काउट गाइड तृतीय सोपान शिविर का आज समापन हो गया। शिविर में जिले के पांच विकासखंड से 500 स्काउट-गाइड और 6 7 प्रभारियों सहित कुल 56 7 लोगों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।

तृतीय सोपान शिविर में स्काउट-गाइड, रोवर व रेंजर विंग के कैडेट्स ने हिस्सा लिया जहां पर इन्हें जिले की प्रशिक्षक दल ने अनुशासन, देशभक्ति, सेवा, पायनरिंग, गांठे, प्राथमिक चिकित्सा, नियम व प्रतिज्ञा आदि में दक्षता प्राप्त करते हुए सफलता हासिल की।

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए स्काउट जिला सचिव जितेंद्र शर्मा ने बताया कि-उदघाटन सत्र के मुख्य अतिथि जिलाशिक्षाधिकारी आर एल ठाकुर, अध्यक्षता प्राचार्य शिवानी नंदी, विशेष अतिथि-ट्रांसजेंडर स्टेट रिसोर्स पर्सन विद्या राजपूत, रीना बरिहा रही। वही समापन सत्र की अतिथि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षामिशन संचालक असीमा चटर्जी, अध्यक्षता-प्राचार्य शिवानी नंदी, एवं विशेष अतिथि-जिला सचिव जितेंद्र शर्मा रहे।

इन तीन दिवसों में प्रवेश पाठ्यक्रम की जानकारी, मार्चपास्ट, बीपी सिक्स, खेल, भ्रमण, मानचित्र एवं अन्य आवश्यक प्रशिक्षण दिया गया। यहां सफल हुए स्काउट गाइड अब राज्य पुरस्कार हेतु आवेदन कर सकेंगे।

शिविर के समापन अवसर पर समस्त स्काउट गाइड एवं प्रभारियों ने जल शक्ति अभियान में अपनी पूर्ण भागीदारी प्रदान करने का संकल्प किया और अपने निवास में वाटर हार्वेस्टिंग बनाने का वादा किया।


Date : 19-Aug-2019

साहू सदन में मोनिका ने किया ध्वजारोहण

दल्लीराजहरा, 19 अगस्त। स्थानीय साहू सदन में स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया। मुख्य अतिथि नगर निरीक्षक कुमार गौरव साहू की पत्नी मोनिका साहू थीं। कार्यकम की अध्यक्षता तहसील साहू संघ उपाध्यक्ष राधा साहू ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में महिला प्रकोष्ठ जिला साहू संघ बालोद के संगठन सचिव अंजू साहू, प्रचार सचिव सत्या साहू, महिला प्रकोष्ठ जिला कार्यकारिणी सदस्य चंपा साहू, तहसील साहू संघ राजहरा के संगठन सचिव गोमती साहू, संयुक्त सचिव द्रोपती साहू, प्रचार सचिव वीणा साहू, महिला प्रकोष्ठ संयोजिका रेखा साहू एवं परिक्षेत्रीय साहू समाज गांधी चौक अध्यक्ष अनुसूईया साहू थीं। 

 मुख्य अतिथि मोनिका साहू ने ध्वजारोहण पश्चात भक्त माता कर्मा की आरती की। स्वागत तहसील साहू संघ राजहरा अध्यक्ष तोरणलाल साहू ने सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी तथा समाज में हो रही गतिविधियों पर जानकारी दी। मोनिका साहू ने स्वतंत्रता दिवस के महत्व पर प्रकाश डालते हुए लोगों को अपने-अपने घरों में स्वच्छता रखने, पानी व बिजली की बचत करने के लिए प्रेरित किया। नगर निरीक्षक कुमार गौरव साहू ने लोगों को संबोधित करते हुए समाज में सामाजिक बुराईयों को दूर करने, नशापान से दूर रहने के साथ ही किसी भी अपराध से बचने की सलाह दी।   इस अवसर पर विमला साहू के नेतृत्व में  महिला कमाण्डो सदस्य भी उपस्थित थे। जिन्होंने रक्षाबंधन के अवसर पर नगर निरीक्षक कुमार गौरव साहू को रक्षासूत्र बांधा। तत्पश्चात समाज के द्वारा वार्ड क्रमांक 24 के महिला कमाण्डो के सभी सदस्य को श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया गया तथा मोनिका साहू एवं नगर निरीक्षक कुमार गौरव साहू को शॉल व श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया गया। 

 


Date : 17-Aug-2019

 मारूति इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग दानीटोला मेें स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया

दल्लीराजहरा, 17 अगस्त। मारूति इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग दानीटोला मेें स्वतंत्रता दिवस हर्षोल्लास से मनाया गया। महाविद्यालय परिसर में प्राचार्य सिजी कोशी के द्वारा ध्वजारोहण किया गया, वहीं नर्सिंग के छात्रों द्वारा राष्ट्रगान किया गया। अपने उद्बोधन में प्राचार्य ने स्वतंत्रता दिवस के संबंध मेंं प्रकाश डालकर देश को आजादी दिलाने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया तथा वैश्विक उद्योग में वर्तमान मेें कुशल कार्य शक्ति की आवश्यकता एवं मांग पर विस्तृत जानकारी दी। साथ ही कहा कि भारत देश युवा कार्यबल के कौशल विकास के लिए काम कर रहा है। मारूति इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग दानीटोला के द्वारा नर्सिंग के क्षेत्र में योगदान दिया जा रहा है जो राष्ट्र निर्माण में मदद भी कर रहा है। इस अवसर पर महाविद्यालय के नर्सिंग छात्र-छात्राओं द्वारा संास्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। ध्वजारोहण कार्यक्रम में उप प्राचार्य, समस्त शिक्षक, नर्सिंग छात्र-छात्राएं एवं महाविद्यालय कर्मचारियों की उपस्थिति रही।


Date : 17-Aug-2019

विधायक संगीता ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 17 अगस्त।
जिला मुख्यालय बालोद में स्वतंत्रता दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ गरिमामय वातावरण में मनाया गया। समारोह की मुख्य अतिथि विधायक  संगीता सिन्हा ने प्रात: 9 बजे स्व.सरयू प्रसाद अग्रवाल स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराकर परेड की सलामी ली। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्वतंत्रता दिवस संदेश का वाचन किया। 

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष देवलाल ठाकुर, जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय चन्द्राकर, नगर पालिका परिषद बालोद के अध्यक्ष  विकास चोपड़ा, पूर्व विधायक भैय्याराम सिन्हा, प्रीतम साहू, जनपद पंचायत बालोद के अध्यक्ष दयानंद साहू, गणमान्य नागरिक कृष्णा दुबे, पुरूषोत्तम पटेल,  लेखराम साहू, कलेक्टर रानू साहू, पुलिस अधीक्षक एम.एल.कोटवानी, वनमंडल अधिकारी सतोविशा समाजदार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, स्कूली छात्र-छात्राएॅ, शिक्षक और बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

समारोह में मार्चपास्ट, हर्षफायर, राष्ट्रपति की जय का उद्घोष सहित स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सामूहिक व्यायाम प्रदर्शन और देशभक्ति गीतों से ओत-प्रोत सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। विधायक श्रीमती सिन्हा ने जिले के शहीद जवानों के परिजनों को शॅाल और श्रीफल प्रदान कर सम्मानित किया। जिला स्तर पर कर्तव्यों का श्रेष्ठ निर्वहन करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि श्रीमती सिन्हा ने मार्चपास्ट में प्रथम, द्वितीय व तृतीय तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरण किया।


Date : 14-Aug-2019

एक शातिर चोरी की कोशिश हुई नाकाम 2 मिनट में 3 मजबूत ताला तोड़ा

बालोद, 14 अगस्त। पुलिस पेट्रोलिंग टीम के कारण बैंक में चोरी होते होते बच गई। शातिर चोर दो मिनट में ताला तोड़कर बैंक के अंदर घुस गया और जैसे ही पैसा लूटने वाला था वैसे ही पुलिस पेट्रोलिंग की टीम पहुंच गई और वह फरार हो गया। जानकारी के बाद घंटों तक पुलिस अधिकारी गस्त करते रहे।

बालोद जिला मुख्यालय के दल्लीचैंक व फौव्वारा चैंक के बीच हाई स्कूल मैदान के पास बैंक ऑफ बड़ौदा है। जहां मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात लगभग डेढ़ बजे एक शातिर व्यक्ति बैंक में चोरी करने की फिराक से पहुंचा। सबसे पहले तो उस व्यक्ति ने आसपास देखा कि कोई नजर तो नहीं रख रहा है। वह व्यक्ति इतना शातिर था कि वह ताला तोडऩे के लिए छड़ मोडऩे के रॉड अपने साथ लेकर आया था। जैसे ही उसे लगा कि उसके आसपास कोई नहीं है वह छड़ मोडऩे के रॉड का सहारा लेकर दो मिनट के भीतर तीन मजबूत ताले को तोड़ दिया।

गाड़ी की आवाज सुनते ही निकला बाहर
बैंक मुख्य मार्ग पर होने के कारण उस मार्ग पर लगातार गाडिय़ों की आवाजाही लगी रहती है। वह व्यक्ति ताला तोड़कर जैसे ही बंैक के अंदर पहुंचा तो बाहर सड़क पर गाड़ी की आवाज आई। जिसे सुनकर वह तत्काल बैंक से बाहर निकाल और बैंक के सामने रखे गमले के पास आकर छुप गया और जैसे ही उस स्थान से गाड़ी निकली तो फिर वह तुरंत बैंक के अंदर पहुंचा।

तीन मिनट तक किया प्रयास
बालोद थाना प्रभारी व प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार ने बताया कि वह व्यक्ति दूसरी बार बैंक के अंदर गया और लाईट का बटन चालू किया। उसके बाद वह कैशियर के पास पहुंचा और जैसे ही पैसे निकालने की कोशिश करने वाला था तब अंदर पुलिस पेट्रोलिंग गाड़ी के सायरन की आवाज उसे सुनाई दी तो वह तुरंत बैंक से निकलकर भागा। जिसे पेट्रोलिंग कर रहे पुलिस के जवानों ने देख और उसे पकडऩे के लिए दौड़। लेकिन रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए वह पोस्ट आफिस की दीवार से कूदकर कहीं छूप गया और मौका पाकर फरार हो गया। बैंक में ताला तोडऩे, अंदर जाने सहित सभी काम को करने का काम चोर ने केवल तीन मिनट में किया।

सीसीटीवी फूटेज से की जा रही जांच
श्री सिदार ने बताया कि घटना के बाद पुलिस टीम बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से उस शातिर व्यक्ति का पता लगाने में जुटी हुई है। टीआई ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज देखने से अनुमान लगाया जा रहा है कि उस व्यक्ति को बैंक के अंदर की सारी जानकारी थी। वह रेनकोर्ट पहना हुआ था और सिर को ढका हुआ था। साथ ही हाथ में ग्लब्स भी लगाया हुआ था। जिसके कारण चेहरा नजर नहीं आ रहा है। 

पुलिस अधिकारियों ने की दो घंटे  गश्त
घटना की जानकारी जैसे ही बालोद जिला पुलिस अधीक्षक एम.एल.कोटवानी, अतिरिक्ति पुलिस अधीक्षक डी.आर.पोर्ते और थाना प्रभारी व प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार को हुई वह तत्काल मौके पर पहुंचे और पेट्रोलिंग टीम के साथ उस व्यक्ति की खोजबीन करते रहे। लगभग दो घंटे तक गस्त करने के बाद सुबह 4 बजे पुलिस अधिकारी वहां से वापस लौटे।

 रात्रि डेढ़ बजे अज्ञात व्यक्ति ने बैंक में चोरी करने का प्रयास किया था। जिसकी कोशिश को पेट्रोलिंग कर रहे पुलिस के जवानों ने नाकाम कर दी। चोर को पकडऩे हमारी ओर से पूरा प्रयास किया जा रहा है, सीसीटीवी फूटेज की भी जांच की जा रही है। जल्द ही चोर का पता लगा लिया जायेगा। 
एम.एल.कोटवानी, पुलिस अधीक्षक बालोद


Date : 13-Aug-2019

एक साल पहले एनसीसी प्रभारी का हो चुका ट्रांसफर

कॉलेज में आया नोटिस, लिखा 15 अगस्त तक नहीं मिला प्रभारी तो कॉलेज में एनसीसी बंद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 13 अगस्त।
शासकीय घनश्याम सिंह गुप्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय में संचालित एनसीसी कोर्स अब बंद होने की कगार पर है। एक साल पहले एनसीसी प्रभारी के ट्रांसफर होने के बाद एनसीसी के छात्र कई बार कॉलेज प्रशासन से प्रभारी की मांग कर चुके हैं। लेकिन अब तक एनसीसी के छात्रों को प्रभारी नहीं मिल पाया है। 

बालोद के शासकीय घनश्याम सिंह गुप्त स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 2016  से एनसीसी कोर्स संचालित है। जहां प्रथम वर्ष में भर्ती लेने वाले छात्र एनसीसी में भी भर्ती ले रहे थे और प्रथम वर्ष में एनसीसी के बी-सर्टिफिकेट के लिए परीक्षा देते थे। उसके बाद दूसरे व तीसरे वर्ष में अपने विषय की पढ़ाई के साथ ही एनसीसी संबंधित अभ्यास कर अंतिम वर्ष में एनसीसी के सी सर्टिफिकेट की परीक्षा देते हैं। लेकिन एनसीसी संचालित होने के महज तीन वर्ष के भीतर कॉलेज में एनसीसी कोर्स समाप्त होने की कगार पर पहुंच चुकी है। पांच दिनों के भीतर अगर एनसीसी के प्रभारी कॉलेज में नहीं पहुंचते हैं तो कॉलेज में एनसीसी कोर्स खत्म हो जाएगी।

2016  से बालोद महाविद्यालय में संचालित एनसीसी कोर्स के लिए शुरूआत में एनसीसी प्रभारी नियुक्त थे। लेकिन 2018  में उनका ट्रांसफर हो गया। जिसके बाद से अब तक कॉलेज के एक प्रोफेसर एनसीसी के केयर टेकर के रूप में प्रभार में है। लेकिन एनसीसी प्रभारी के लिए जो मापदंड निर्धारित है उसकी पूर्ति केयर टेकर नहीं कर पा रहे हैं। जिसके चलते कॉलेज प्रबंधन को नोटिस मिला है कि 15 अगस्त तक एनसीसी प्रभारी की नियुक्ति नहीं होती है तो कॉलेज में एनसीसी बंद हो जाएगा। नोटिस की जानकारी मिलते ही एनसीसी के छात्र प्रभारी प्राचार्य श्री खलखो से मिले। जिस पर प्रभारी प्राचार्य ने कहा कि प्राचार्य द्वारा एनसीसी प्रभारी के लिए उपर जानकारी भेज दी गई है।

नहीं हुआ कैंप, न परेड में मिली भर्ती
एनसीसी के सीनियर छात्र योमन सिन्हा ने बताया कि सत्र 2018  में एनसीसी के प्रभारी का ट्रांसफर होने के बाद एक वर्ष बीत गये लेकिन किसी तरह के एनसीसी कैंप में बालोद कॉलेज के एनसीसी के छात्र शामिल नहीं हुए।  ज्ञात हो कि एनसीसी से जुड़े छात्रों के लिए प्रत्येक वर्ष राज्य स्तरीय कैंप आयोजित किया जाता है जिसमें राज्य के सभी स्कूल कॉलेज के छात्र-छात्राएं हिस्सा लेती है। कैंप में एनसीसी से जुड़े कई तरह के अभ्यास कराये जाते हैं। योमन ने बताया कि जब से बालोद कॉलेज में एनसीसी खुला है तब से लगातार बालोद जिला मुख्यालय में आयोजित होने वाले जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस परेड में बालोद कॉलेज के एनसीसी के छात्र हिस्सा लेते थे। लेकिन इस वर्ष प्रभारी नहीं होने के कारण स्वतंत्रता दिवस 2019 के परेड में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

नहीं मिले प्रभारी तो करेंगे आंदोलन
कॉलेज के सीनियर छात्र वैभव शर्मा ने कहा कि बालोद कॉलेज में एनसीसी प्रभारी की नियुक्ति न होना कॉलेज प्रशासन की लापरवाही का नतीजा है। जिसके कारण आज कॉलेज में पढऩे वाले एनसीसी से जुडऩे के इच्छुक छात्रों को एनसीसी से वंचित होना पड़ेगा। वैभव ने कहा कि अगर कोई छात्र एनसीसी से जुड़ता है तो उसमें मिलने वाले सर्टिफिकेट भविष्य के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। इसीलिए बालोद कॉलेज में एनसीसी बंद नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एनसीसी के प्रभारी बालोद कॉलेज के लिए नियुक्त नहीं किये जाते हैं तो कॉलेज के छात्रों द्वारा कॉलेज प्रशासन के खिलाफ कॉलेज परिसर में आंदोलन कर प्रदर्शन किया जाएगा। जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी कॉलेज प्रबंधन की होगी।

 

 


Date : 12-Aug-2019

 कुर्बानी का पर्व ईद-उल-अजहा पर मांगी अमन चैन की दुआ

बालोद, 12 अगस्त। कुर्बानी का पर्व ईद-उल-अजहा सोमवार को जिला मुख्यालय में हर्षोल्लास से मनाया गया। शहर के सदर रोड स्थित जामा मस्जिद तथा नया बस स्टैण्ड स्थित ईदगाह में बकरीद की विशेष नमाज अदा की और देश व प्रदेश में अमन चैन व सुख समृद्धि की दुआ मांगी गई। इसके बाद लोगों ने एक दूसरे से गले लगकर बकरीद की मुबारक़ दी। ईद उल जुआ को क़ुरबानी के दिन के तौर पर मनाया जाता हैं।  नमाज के बाद इमाम साहब ने दुनिया में अमन चैन और भाईचारे की दुआ मांगी।

 ईदुल अजहा पर ईदगाह सहित शहर के जामा मस्जिद में भी विशेष नमाज अदा की गई। इस दौरान जामा मस्जिद के सदर हाजी सलीम तिगाला, हाजी निजमा, हाजी जाहिद अहमद खान, नवाब तिगाला, कसीमुदिन कुरैशी, खलील अहमद, दाऊद खान, अरमान अश्क, असलम तिगाला, फिरोज तिगाला, मुन्सीर खान, आदिल सिद्दीकी, आदिल अशरफी, सहित समाज के सैकड़ो  लोगों ने एक-दूसरे को बकरीद की मुबारकबाद दी।


Date : 12-Aug-2019

सावन का आखिरी सोमवार, 25 किलो चावल से जलेश्वर महादेव का श्रृंगार, भक्तों का तांता

बालोद, 12 अगस्त। सावन के अंतिम  सोमवार को जिला मुख्यालय के दशौंदी तालाब स्थित जलेश्वर महादेव में सुबह से लेकर शाम तक भक्तों की भारी भीड़ रही। इस अवसर पर परिसर को भगवा तोरण पताका से आकर्षक रूप से सजाया गया है। छत्तीसगढ़ के अलग-अलग क्षेत्रों से बोल बम के जयकारों के साथ कांवारियों ने सैकड़ों किमी पैदल चलकर भगवान भोले शंकर का जलाभिषेक किया। रविवार की शाम को राजिम, फिंगेश्वर, गरियाबंद व अन्य स्थानों से कवारियों का जत्था जलेश्वर महादेव मंदिर में पहुंच गए थे। इस दौरान मंदिर समिति द्वारा इन कवारियों के लिए रुकने व खाने-पीने की व्यवस्था की गई थी।                                          

 सावन सोमवार पर दशोदी तालाब परिसर को भगवा तोरण पताका से सजाया गया है। जलेश्वर महादेव प्रमुख यज्ञदत्त शर्मा ने सुबह ही विशाल शिवलिंग को दुग्धाभिषेक, जलाभिषेक के साथ ही बेल पत्र, सामी, गंगाजल अर्पित कर पूजा-अर्चना की। अंतिम सावन सोमवार होने पर 25 किलो अक्षत चावल को अलग-अलग रंगों से रंग कर विशाल शिवलिंग का विशेष रूप श्रंृगार किया गया है। इस मनोरम दृश्य को लोग द्वारा अपने कैमरे व मोबाइल में कैद कर रहे थे। इसके अलावा मंदिर समिति द्वारा हवन पूजन किया गया, वहीं भक्तों के लिए जो पूजन सामग्री नहीं ला पाए हैं उनके लिए माँ जी फाउंडेशन के द्वारा बेल पत्र, फूल दूबी सहित अन्य पूजा समान दिया गया। मंदिर समिति ने भक्तों को प्रसाद वितरित किया।


Date : 12-Aug-2019

सावन के अंतिम सोमवार को शिवालयों में भक्तों की भीड़ 

दल्लीराजहरा, 12 अगस्त। सावन के अंतिम सोमवार को नगर के शिवालयों में भक्तों की भीड़ रही। शिवभक्तों ने जलाभिषेक-दुग्धाभिषेक किया तथा शिव की विशेष पूजा कर मनोवांछित वरदान मांगा। नगर के विभिन्न मंदिरों में शिव चालीसा पाठ एवं रामायण पाठ की गूंज रही। 

नगरदेव राजहरा बाबा मंदिर, झरन मैया मंदिर, चंडी मंदिर, नारायणी मंदिर टाउनशिप के श्री राम मंदिर, शिव संस्कार धाम, रेलवे कॉलोनी स्थित दुर्गा मंदिर सहित विभिन्न मंदिरों एवं 256 कॉलोनी के तालाब में स्थापित शिव प्रतिमा स्थल पर भक्तों की भीड़ रही। भक्तों ने शिवलिंग को दूध, गंगाजल एवं जल से स्नान कराया एवं बेलपत्र अर्पित किया। हॉस्पिटल सेक्टर पहाड़ी पर स्थित नगर के सबसे बड़े व पुराने शिव मंदिर में पुजारी द्वारा सुबह 5 बजे से शिव भक्तों की उपस्थिति में शंखनांद कर षोडषोपचार मंत्र उच्चारण करते हुए गंगाजल, दूध, दही, घी, मधु, बेलपत्र, शमीपत्र, पान पत्ता, सुपाड़ी श्रीफल, पंचामृत, चंदन, गुलाल, पुष्प, धुप, अगरबत्ती, कपुर, नवैद्य इत्यादि सामाग्री के माध्यम से रूद्राभिषेक किया। इसके बाद सुबह से आगंतुक श्रद्धालुओं के द्वारा अपने साथ लाये हुए दूध व जल से भगवान शिव का जलाभिषेक करते हुए पूजा-अर्चना का सिलसिला देर तक चलता रहा। शिव मंदिर में सावन माह के प्रति सोमवार की तरह गौरीशंकर मानस महिला मंडली द्वारा दीमक के भोड़ू से प्राप्त मिट्टी से पार्थिव शिवलिंग बनाकर पूजा अर्चना की गई। वहीं मंडली के सदस्यों द्वारा 108 शिव चालीसा पाठ किया गया।


Date : 12-Aug-2019

वाहन की ठोकर से तेंदुए की मौत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 12 अगस्त।
  बीती रात ग्राम पुरूर के पास तेज रफ्तार वाहन की ठोकर से तेंदुए की मौत हो गई। घटना के बाद पुरूर से चारामा मार्ग पर जाम लग गया। लोग तेंदुए के पास जाने से डर रहे थे। पुलिस के पहुंचने के बाद आवाजाही शुरू हुई। 
पुलिस के अनुसार  दुर्घटना रात साढ़े आठ के आसपास की बताई गई है।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम की सुरक्षा में लगी फॉलो वाहन  पुरूर से कांकेर की तरफ आ रही थी, तभी रास्ते में भीड़ लगी हुई थी। फॉलो वाहन के जवानों  ने भीड़ को हटाकर आवागमन को व्यवस्थित करवाया और मृत तेंदुए को कब्जे में लिया। गुंडरदेही के डिप्टी रेंजर केके मिश्रा को जानकारी दी। मिश्रा ने फॅारेस्ट अधिकारी को इससे दुर्घटना के बारे में अवगत कराया। चालक पुष्पेंद्र मिश्रा ने मृत तेंदुआ को बीच सडक़ से हटाकर किनारे  सुरक्षित रखा। 

राजहरा माइंस में दिखा था तेंदुआ
बता दें कि शनिवार को भिलाई इस्पात संयंत्र के दल्लीराजहरा माइंस क्षेत्र में सुबह तेंदुआ की आमद से लोगों में डर था। वन  अमला पहुंचते तक तेंदुआ किसी को बिना नुकसान पहुंचाए जंगल की तरफ चला गया था।

 


Date : 11-Aug-2019

रक्षाबंधन का त्यौहार मनाए और तौहफा दें हेलमेट-बालोद जिला पुलिस

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 11 अगस्त।
दोपहिया वाहन से हुए अधिकांश सड़क हादसे में सिर की चोट के कारण लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ती है। आज प्रतिस्पर्धा की होड़ में वाहन चालक इतनी जल्दबाजी में रहते हैं कि दोपहिया वाहन को दरकिनार कर आगे बढऩे की कोशिश करते हैं। जिसका खामियाजा दोपहिया वाहन चालकों को भुगतना पड़ता है। जब कभी बड़े वाहन और दोपहिया वाहन के बीच आपस में सड़क दुर्घटना होती है तो दोपहिया वाहन चालक ही जख्मी होते हैं या फिर मौत भी हो जाती है। 

लगातार सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे दोपहिया वाहन को देखते हुए बालोद थाना प्रभारी व प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार ने एक अभिनव पहल की शुरूआत की। जिसे च्च्त्यौहार रक्षाबंधन का, संस्कार हेलमेट बंधन काज्ज् नाम दिया गया है। रविवार को बालोद थाने में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया गया। जहां बहन भाई को राखी बांधने के साथ ही बहन भाई को हेलमेट पहनाया और भाई ने भी बहन को हेलमेट पहनाया और लोगों को भी इस रक्षाबंधन में राखी के साथ हेलमेल तौहफे देने की अपील की।

117 मौंते जिसमें 85 सिर के चोट से  
बालोद जिला पुलिस अधीक्षक एम.एल.कोटवानी ने बताया कि बालोद जिले में अब तक सड़क हादसों से 117 लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें से 85 लोगों की मौत केवल सिर के चोंट के कारण हुई है। जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि सड़क हादसों में 70 प्रतिशत से अधिक लोगों की मौत केवल सिर में चोट लगने की वजह से होती है। अगर इन्हीं सिर की चोट से हुई मौत वाले व्यक्ति अगर हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाते तो निश्चित ही उन्हें सड़क दुर्घटना से केवल चोंट आती और उनकी जान बच जाती।

असावधानी के कारण ही जाती है जान - एएसपी पोर्ते
जिले के एएसपी डी.आर. पोर्ते ने कहा कि हेलमेट चालान से बचने के लिए नहीं है। यह सफर के दौरान हमारी सुरक्षा भी करता है। उन्होंने कहा कि काफी ऐसे लोग हैं। जो अपनी बाइक पर हेलमेट टांग कर चलते हैं। केवल पुलिस को देखकर ही इसे पहनते हैं और बाद में उतार देते हैं लेकिन असावधानी के कारण जब वे हादसे का शिकार होते हैं तो सिर पर हेलमेट न होना ही उनकी जान जाने का कारण बनता है।

यातायात नियमों का पालन करें तो कम होगा हादसा
बालोद थाना प्रभारी व प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार ने भी लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि देश में प्रति वर्ष 1.50 लाख लोगों की दुर्घटनाओं में मौत हो रही है। हम सब यातायात नियमों का पालन करें तो हादसों का यह ग्राफ कम हो सकता है।


Date : 11-Aug-2019

पेट्रोल दाम बढ़ाने के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भानुप्रतापपुर, 11 अगस्त।
राज्य सरकार द्वारा पेट्रोल एवं डीजल में वेट टैक्स 4 प्रतिशत वृद्धि करने का निर्णय किये जिससे प्रदेश में डीजल,पेट्रोल की कीमत 2 रुपये की वृद्धि हो गई।जिसके विरोध में आज भानुप्रतापपुर के मेन चौक में भारतीय जनता युवा मोर्चा के द्वारा एवं भाजयुमो जिला अध्यक्ष निखिल सिंह राठौर के नेतृत्व में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन गया। इस दौरान कार्यकर्ताओ ने भूपेश बघेल मुर्दाबाद के नारे लगाये। 

 इस अवसर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष नरोत्तम चौहान, भाजयुमो मण्डल अध्यक्ष सचिन दुबे,वरिष्ठ कार्यकर्त्ता हेम प्रकाश शिवहरे,आर्थिक प्रकोष्ठ जिला संयोजक,रत्नेश सिंह,मण्डल महामंत्री भीखम आरदे मण्डल मंत्री बुधनु पटेल राज कुमार नशीने, न पं उपाध्यक्ष गजानन्द डड़सेना पार्षद अशोक सोलंकी, दिलीप चंद्राकर भाजयुमो महामंत्री वरुण खापर्डे,,झु झो जिला सह संयोजक जुगल शर्मा नरेंद्र शर्मा सुशील शर्मा,राम मिलान साहू राजा पाण्डे घसिया साहू टिका राम यदु पिंदर यादव उपेंद्र यादव नितेश मेहता,खिलेश मंडावी,शुभम यदु,यश यदु,प्रवीण यदु,रितेश साहू सन्नी,आकाश विश्वास रोहन चौरसिया आदि उपस्थित थे।

 


Date : 11-Aug-2019

प्रधानमंत्री किसान मान-धन पेंशन योजना के लिए पंजीयन शुरु 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 11 अगस्त।
देश में दो हेक्टेयर तक जमीन रखने वाले छोटे किसानों को साठ साल के बाद पेंशन की सुविधा देने के लिए प्रधानमंत्री किसान मान-धन पेंशन योजना के लिए पंजीयन का कार्य शुरु हो गया है। जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने बताया कि, साझा सेवा केंद्र (सीएससी) पर पेंशन योजना के लिए पंजीयन कराया जा सकता है। इस योजना के तहत किसानों को साठ साल की आयु के बाद प्रति माह 3000 रुपए का पेंशन मिलेगा। यदि किसी किसान की मौत हो जाती है तो उसकी पत्नी को 1500 रुपए प्रति माह पेंशन मिलेगा।

सदस्य और पार्षद ने बताया कि, 18 साल से 40 साल तक की आयु में किसान इस योजना में शामिल हो सकते है। 18 साल की आयु वाले किसानों को प्रति माह 55 रुपए और 40 साल की आयु वाले किसानों को प्रति माह 200 रुपए प्रीमियम देना होगा।

पीएम किसान मान-धन योजना का लाभ दो हेक्टेयर तक कृषि भूमि वाले किसानों को मिलेगा। ऐसे किसान जिनके पास दो हेक्टेयर तक कृषि भूमि होगी वे इस योजना के पात्र होंगे। किसानों के लिए यह एक स्वैच्छिक और योगदान आधारित पेंशन योजना है।

सदस्य और पार्षद ने बताया कि, किसानों के नामांकन का काम निशुल्क है। सीएससी प्रत्येक नामांकन के लिए 30 रुपये का शुल्क लेगा जिसका बोझ सरकार वहन करेगी।

19  साल की उम्र पर 58 रुपये, 20 साल पर  61, 21 पर 64, 22 साल पर 68, 23 पर 72, 24 पर 76, 25 पर 80, 26 पर 85, 27 पर 90, 28 पर 95, 29 पर 100, 30 साल उम्र पर 105 रुपये प्रतिमाह प्रीमियम देना होगा। इसी तरह 31 साल के किसान को मासिक 110 रुपये प्रीमियम देना होगा। इसके बाद 40 साल तक हर साल पर 10 रुपये प्रीमियम बढ़ते-बढ़ते 40 साल पर 200 रुपये हो जाएगा।

कड़ी मेहनत करने के बावजूद किसान को पर्याप्त कमाई नहीं होती है। इसलिए सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बेहतर आय सुनिश्चित करने के लिए कई उपाय किए हैं और मान-धन पेंशन योजना इस दिशा में एक और प्रयास है।  

 


Date : 10-Aug-2019

बरसों से लड़ रहे थे किसान, अब मिली कामयाबी, महामाया माइंस के 38 लाल पानी प्रभावित किसानों को बीएसपी में स्थायी रोजगार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 10 अगस्त।
पंद्रह बरस के संघर्ष के बाद आखिरकार लाल पानी प्रभावित किसानों को उनका हक मिल गया और उन्हें स्थायी ठेका श्रमिक के रूप में बीएसपी ने रोजगार दे दिया।

जिले के लौह नगरी दल्लीराजहरा माइंस से प्रत्येक दिन शासन को करोड़ों रूपये का राजस्व मिलता है। इसके बावजूद माइंस से प्रभावित किसानों को पिछले 15 सालों से अपने हक के लिए भटकना पड़ रहा था। कई दफा आंदोलन किया, हवन किया, चक्काजाम किया। जिसके बाद अधिकारियों को किसानों की मांग का एहसास हुआ और जिला प्रशासन, बीएसपी प्रबंधन व किसानों की बैठक में निर्णय लेकर किसानों को बीएसपी में स्थायी रोजगार मिल गया।

मंत्री अनिला भेंडिय़ा के प्रयास से मिली कामयाबी
ज्ञात हो कि महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिय़ा बालोद जिले के डौण्डी लोहारा विकासखंड की विधायक हंै। डौण्डी लोहारा विकासखंड के दायरे में दल्लीराजहरा भी आता है। मंत्री श्रीमती भेंडिय़ा इस क्षेत्र में लगातार दो बार विधायक रह चुकी हंै, जो लगातार लाल पानी प्रभावित किसानों की समस्याओं के समाधान लिए प्रयास में जुटी हुई थी। मंत्री ने दो दिन पूर्व बीएसपी प्रबंधन के अधिकारी व प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक ली थी। जहां उन्होंने किसानों को रोजगार देने संबंधित निर्देश दिए थे।

चक्काजाम हुआ तब, झुके अधिकारी
किसान लगातार अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन उन्हें आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला। 2016 से जन मुक्ति मोर्चा के साथ मिलकर फिर से किसानों ने आंदोलन की शुरूआत की। जिसके बाद 29 जुलाई 2019 को पहली बार जन मुक्ति मोर्चा के साथ किसानों ने चक्काजाम किया। लेकिन उस दिन अवकाश होने के कारण उन्हें पुलिस विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर उस दिन आंदोलन स्थगित करना पड़ा। जिसके बाद 6 अगस्त को एक बार फिर जन मुक्ति मोर्चा संघ के साथ झरन दल्ली, महामाया व दल्ली माइंस रोड पर सुबह 5 बजे से और माइंस ऑफिस के पास सुबह 9 बजे चक्काजाम किया। जिसके बाद क्षेत्र के तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उन्होंने 8 अगस्त को संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में इस विषय पर होने वाले बैठक के बारे में बताया तब किसानों ने आंदोलन को स्थगित किया।

ज्ञात हो कि किसान विगत 15 सालों से लाल पानी से प्रभावित थे। जिसके लिए वह लगातार आंदोलन कर रहे थे। किसानों के आंदोलन को देखते हुए राजस्व के अधिकारियों ने 2013 में किसानों की जमीन का सर्वे किया था। सर्वे के बाद जो किसान लाल पानी से प्रभावित थे उन किसानों की सूची तैयार कर एसडीएम ने सूची तैयार कर बीएसपी प्रबंधन को सौंप दी थी। लेकिन उन्हें अब तक रोजगार नहीं मिल पाया था। एसडीएम ने लाल पानी प्रभावित किसानों की सूची तैयार की थी, जिसमें 42 किसानों का चयन किया गया था। चयनित 42 किसानों में से 4 किसानों का किसी कारणवश नाम सूची से हट गया। 2019 में किसानों की हक की लड़ाई सफल हुई और 38 किसानों में से 10 किसानों को डेढ़ माह के भीतर व 28 किसानों को 2019 के अंत तक बीएसपी में स्थायी रोजगार मिल जाएगा। किसानों की जमीन पहले खेती करने लायक थी। जहां किसान खेती कर अपना गुजारा करते थे। लेकिन बीएसपी ने अपने माइंस के पानी को किसानों की जमीन में छोड़ दिया जिसके बाद किसानों की जमीन खेती करने के लायक नहीं रही।


Date : 10-Aug-2019

लूट-डकैती के 6 आरोपी बंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 10 अगस्त।
 डौण्डीलोहारा पुलिस ने लूट एवं डकैती के 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस ने बताया कि कि 6 जून 19 को प्रार्थी यशवंत हिरवानी मेढ़ा थाना डांगरगांव जिला राजनांदगांव अपने मो.सा. से खरखरा डेम घुमने आया था कि 16.30 बजे डेम किनारे बैठा था कि अज्ञात आरोपियों द्वारा प्रार्थी को मारपीट किया एवं एक मोबाईल विवो कंपनी का कीमती 10,000 रूपये एवं पॉकेट में रखें नगदी रकम 15,000 रूपये लूट कर ले गये, जिसकी रिपोर्ट पर थाना डौण्डीलोहारा में अपराध कायम कर अज्ञात आरोपियो का पता तलाश किया जाता रहा। 

आज मुखबीर से पता चला कि ग्राम संजारी के 5-6 लड़के उक्त दिनांक को मो.सा. से घुमने आये थे। प्रार्थी के बताये अनुसार हुलिया के आधार पर संदेही आरोपी  दुर्गेश सोनकर संजारी से पूछताछ किया गया जिसने बताया कि उक्त दिनांक को अपने साथी मयंक उर्फ चिन्टु सोनकर, ओमप्रकाश सेन, यशवंत मरकाम, भुमेन्द्र उर्फ भुपेन्द्र यदु, सेवाराम भुआर्य के साथ मिलकर यशवंत कुमार हिरवानी से एक विवो मोबाईल एवं नगदी रकम 15,000 रूपये करीब लुट लिये। विवो मोबाईल को अपने पास रखना बताया , पेश करने पर जब्ती किया। लूटी हुई रकम को अपने साथियों के साथ आपस में बंटवारा करना बताया। लूटी हुई रकम में करीब 4,400/- रूपये जब्त किया गया, अन्य रकम को खर्च करना बताया गया। 

आरोपियान द्वारा प्रयुक्त किया गया मो.सा. में से आरोपी दुर्गेश सोनकर से मो.सा. पैशन प्रो क्रमांक सीजी 08 - 3699, मयंक सोनकर से मो.सा. सीडी डिलक्स क्रमांक सीजी 24 एम 1023 एवं भुपेन्द्र का मो.सा. पैशन प्रो क्रमांक सीजी 07 एई 3765 को जब्त किया गया है। आरोपियों को आज गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। 

 


Date : 10-Aug-2019

दल्लीराजहरा में आयोजित एक शाम रफी के नाम, एएसपी पोर्ते ने भी गीत गाये 

बालोद, 10 अगस्त।  बालोद जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डी.आर. पोर्ते की कलाकारी को देख लोग काफी सराहना कर रहे हैं। विगत दिनों जिले के दल्लीराजहरा में आयोजित एक शाम रफी के नाम कार्यक्रम में श्री पोर्ते मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। आयोजन में एएसपी श्री पोर्ते ने गीत भी गाये। एएसपी का गायन सुन लोगों ने खूब तालियां बजाई थी। जिसके बाद 9 अगस्त को आदिवासी दिवस के अवसर पर उन्होंने झलमला नर्सरी के सामने स्थित गार्ड क्वॉर्टस के परिसर में रेत के ढेर में आकर्षक कला का प्रदर्शन करते हुए विश्व आदिवासी दिवस का बधाई संदेश दिया और लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूकता का संदेश दिया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक की कलाकारी को देख लोगों ने काफी सराहना की। इस दौरान उप पुलिस अधीक्षक दिनेश सिन्हा भी मौजूद रहे।


Date : 10-Aug-2019

राजहरा माइंस  रास्ते पर तेंदुआ, दहशत

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बालोद, 10 अगस्त। 
दल्लीराजहरा माइंस जाने वाले रास्ते पर तेंदुआ दिखने के बाद से माइंस जाने वाले कर्मचारियों के बीच दहशत का माहौल बना हुआ है। रास्ते में तेंदुआ दिखने के बाद इसकी जानकारी वन विभाग को दी गई। बताया जा रहा है माइंस के ऊपरी पहाड़ी इलाकों अक्सर दिखाई देता है।

 बता दें दल्लीराजहरा माइंस जाने वाले पहाड़ी रास्ते क्वारी क्षेत्र में शनिवार सुबह तेंदुआ दिखाई देने से माइंस में जाने वाले कर्मचारियों में दहशत का माहौल है। जहां माइंस जाते समय एक कर्मचारी ने अपने मोबाइल से तेंदुए की कुछ फोटो भी खींच ली।
चारों तरफ से जंगल और पहाड़ से घिरा हुआ ये दल्लीराजहरा का माइंस है। माइंस जाने वाले रास्ते में अक्सर तेंदुआ जंगली सूअर और भालू नजर आते हैं जहा माइंस होने वाले ब्लास्टिंग की वजह से यहां से भाग जाते हैं जिस वजह से वन विभाग इन्हें पकडऩे में नाकाम रहती हैं फिलहाल तेंदुआ की सूचना वन विभाग को दे दी गई है।


Date : 09-Aug-2019

मंत्री अनिला शामिल हुईं आदिवासी दिवस समारोह में
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद,
9 अगस्त। महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिय़ा आज सरयू प्रसाद अग्रवाल स्टेडियम में आयोजित विश्व आदिवासी दिवस समारोह में शामिल हुईं। उन्होंने विश्व आदिवासी दिवस की अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी।  मंत्री श्रीमती भेंडिय़ा ने समारोह को सम्बोधित करते हुए राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और उसका लाभ उठाने प्रेरित किया। इस अवसर पर आदिवासी समाज के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में आदिवासी समाज के लोग उपस्थित थे