छत्तीसगढ़ » बालोद

Posted Date : 15-Nov-2018
  • 1951 में पहली महिला विधायक डारन बाई मनोनीत थी

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बालोद, 15 नवंबर। जिले का संजारी बालोद विधानसभा, में आजादी के बाद  1951 में मनोनयन से पहली महिला विधायक डारन बाई बनी। जिसके बाद से बालोद विधानसभा  की सियासत पहली बार महिला ने संभाली थी। इसके बाद से 60 साल यानि 2011 तक भाजपा और कांग्रेस ने एक भी बार महिला को प्रत्याशी बनाकर मैदान पर नहीं उतारा। वर्ष 2011 में विधायक मदन साहू के निधन होने के बाद उपचुनाव हुआ जिसमें उनकी पत्नी कुमारी बाई साहू को भाजपा ने मैदान में उतारा था जिसमें उनकी जीत हुई थी। उप चुनाव में  लगभग 11 हजार मतों से जीत हुई थी।
    इसके बाद से किसी महिला पर इस विधानसभा के लिए दांव नहीं लगाया। वहीं इस बार कांग्रेस ने पहली बार महिला को अधिकृत प्रत्याशी बनाया है। वैसे उपचुनाव को छोड़ विधानसभा चुनाव पर गौर करें तो भाजपा ने यहां एक भी महिला को मैदान में नहीं उतारा, वहीं कांग्रेस ने आजादी के बाद पहली बार। वैसे मनोनयन से चुनी गई पहली महिला विधायक कांग्रेस समर्थित थी, लेकिन उस समय आम चुनाव नहीं होता था। कांग्रेस ने संजारी-बालोद विधानसभा से महिला उमीदवार पर दांव खेला है।
    1950 में भारतीय संविधान लागू होने के बाद देश का पहला लोकसभा चुनाव 1951 में हुआ। इस समय केन्द्र सरकार द्वारा राज्यों में मनोनीत सरकार काम करती थी। 1956 में राज्य पुनर्गठन आयोग बनने के बाद विधानसभा चुनाव हुआ।
    1951 से अब तक के इतिहास में सिर्फ दो महिला विधायक-
    1951 में मनोनयन और 2011 में उपचुनाव में संजारी-बालोद विधानसभा सीट में महिला विधायक बनी। यानि अधिकांश चुनाव में यहां पार्टियों ने महिलाओं पर दांव नहीं लगाया।
    हीरा लाल और जालम सिंह तीन-तीन बार विधायक- संजारी बालोद विधानसभा सीट की सियासत तीन-तीन बार हीरालाल सोनबोईर और जालम सिंह पटेल ने संभाला। वहीं केशवलाल गुमास्ता दो बार विधायक रहे।

    कब कौन रहे विधायक
    वर्ष-     विधायक-

    1951-52,56 मनोनीत डारन बाई
    1956-57 केशोलाल गुमास्ता
    1957-62 केशोलाल गुमास्ता
    1962-67 केशोलाल गुमास्ता
    1967-72 हीरालाल सोनबोईर
    1972-77 हीरालाल सोनबोईर
    1977-80 मिश्री लाल खत्री
    1980-85 हीरालाल सोनबोईर
    1985-90 जालम सिंह पटेल
    1990-92 जालम सिंह पटेल
    1993-98 जालम सिंह पटेल
    1998-03 लोकेन्द्र यादव
    2003-08 प्रीतम साहू
    2008-11 मदन साहू
    2011-13 कुमारी साहू
    2013-18 भैय्याराम सिन्हा

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 10 नवंबर। जिले के डौंडी लोहारा में निर्दलीय प्रत्याशी देवलाल ठाकुर के फ़ोटो सहित थैला व कैलेंडर नगर के ही एक फटाका दुकान में मिलने से नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। मिली जानकारी अनुसार डौंडी लोहारा स्थित लालकुंवर सिंह मैदान में नगर के व्यापारियों द्वारा अस्थायी फटाका का दुकान संचालित किया जा रहा है।  इस बीच अचानक निर्वाचन विभाग के फ्लाइंग स्क्वाड की टीम द्वारा मौके पर पहुंच जांच प्रारंभ किया गया जिसके बाद राजेश फटाका दुकान के बगल में रखे कुछ कार्टून से निर्दलीय प्रत्याशी देवलाल ठाकुर के फ़ोटो वाली थैले व कैलेंडर भारी मात्रा में बरामद किया गया, जिसके बाद स्थानीय पुलिस व फ्लाइंग स्क्वाड की टीम द्वारा उक्त दुकान से फटाका व प्रचार सामग्री को जब्त कर अग्रिम कार्यवाही में जुट गया।
    जबकि दूसरी ओर इस कार्यवाही के बाद जिस दुकान पर कार्यवाही हुई उस दुकान के संचालक राजेश कुमार ने हमारी टीम से चर्चा कर बताया कि उनके पास फटाखा दुकान का लाइसेंस नहीं होने के कारण उसने गुलाब चंद से बात किया और गुलाब चंद के पास दो फटाका दुकान का लाइसेंस होने के चलते एक में वह (गुलाब ) स्वयं लगाया था। दूसरा लाइसेंस राजेश को दिया था।
     वहीं राजेश ने आगे चर्चा के दौरान बताया कि गुलाब चंद जो कि निर्दलीय प्रत्याशी देवलाल ठाकुर का समर्थक है और फ्लाइंग स्क्वाड की टीम जैसे ही पहुंच कर दुकानों का जांच प्रारंभ किया तो अपने दुकान में रखे प्रचार सामग्रियों से भरा कार्टूनों को मेरी दुकान की ओर फेंक दिया जिसके बाद टीम ने आकर दुकान के बाहर रखे सामानों को जब्त किया। 
    इस  मामले डौंडी लोहारा के नायब तहसीलदार ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि एक फटाखा दुकान से निर्दलीय प्रत्याशी देवलाल ठाकुर के बैग में फटाखा बांटने की सूचना मिली थी जिसके बाद मौके पर पहुंचकर जांच की गई तो राजेश निषाद के दुकान से 2 कार्टून में देवलाल ठाकुर के फोटो वाला थैला व 1 कार्टून कैलेंडर बरामद किया व बिना फटाखा लाइसेंस के दुकान लगाने की बात सामने आने के बाद जांच किया गया जिसमें दुकानदार के पास लाइसेंस नहीं होने से फटाखा को जब्ती कर डौंडी लोहारा थाने के सुपुर्द कर दिया गया। वहीं आचार संहिता उलंघन मामले में रिपोर्ट बनाकर उच्चाधिकारियों को प्रेषित किया जा रहा है।
    बहरहाल इस पूरे मामले कार्यवाही के बाद अब डौंडी लोहारा में फिर एक बार राजनीतिक गरमाने लगा है। राजेश निषाद द्वारा आरोप लगाया गया है कि देवलाल ठाकुर के समर्थक गुलाब जैन द्वारा इस पूरे मामले में उसको बेवजह फंसाया जा रहा है लेकिन इस घटना के बाद कई विपक्षी दल अब प्रशासन की कार्यवाही को लेकर भी सवाल खड़े कर रहे हैं।

     

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बालोद, 1 नवंबर। बालोद जिले की एकमात्र अजा के लिए आरक्षित सीट ड़ोंड़ीलोहारा जहाँ  भारी सरगर्मी देखी जा रही है। एक ओर भाजपा से लाल महेंद्र सिंह टेकाम तो कांग्रेस से वर्तमान विधायक अनिला भेडिय़ा मैदान में हैं। वही छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष जनक लाल ठाकुर भी मैदान में हंै। इस बार चुनाव काफी रोचक हो सकता है।  
    कांग्रेस से बागी होकर देव लाल ठाकुर चुनाव लडऩे की घोषणा कर सबको चौंका दिए है तो वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुखदेव कोरेटी भी चुनाव लडऩे की बात कह रहे हंै। भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए मुसीबत हो सकती है जिले की इस आरक्षित सीट पर आम आदमी पार्टी ने भी अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है। पेशे से एडवोकेट दिनेश रात्रे भी अपना भाग्य आजमा रहे है देखना है कि कोन होगा भाग्यशाली और किसके खाते में जाएगी ड़ोंड़ीलोहारा की सीट मुकाबला दिलचस्प हो सकता है।
    एक तरफ जहां कांग्रेस में प्रबल दावेदारों को टिकिट नहीं मिलने से नराजगी के चलते पार्टी को नुकसान पहुचाने की बात सामने आ रही हैं । डौण्डीलोहारा सीट में भाजपा में हमेशा से रही गुटबाजी के बाद भी लोहारा में भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार में पहुचे मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की सभा में सभी एकजुट दिखे फिर भी भाजपा को सीट पर कब्जा करने मिल जुलकर कार्य करना होगा । यहां भाजपा प्रत्याशी लालमहेंद्र सिंह टेकाम के निवास राज भवन में चुनावी हलचल काफी तेज हो गई है।
    ज्ञात हो कि चुनाव के माहोल में अब तक की स्थिति में डौण्डीलोहारा की सीट पर आम आदमी,सपा, मुक्ति मोर्चा,सहित पार्टियों का चुनाव अभियान शुरू हो चुका है। कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रमुख मुकाबला दोनों प्रमुख राष्टीय पार्टियों के प्रत्याशियों के बीच हो होगा। वहीँ जिला पंचायत अध्यक्ष व दो बार के जिला पंचायत के सदस्य रहे देवलाल ठाकुर निर्दलीय के रूप में तीसरे प्रमुख दावेदार हो सकते हैं।

  •  

Posted Date : 23-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद/ 23 अक्टूबर। जिले के गुंडरदेही में तेज रफ्तार हाइवा ने दो स्कूली बच्चों को रौंद दिया। हादसे से एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं दूसरे ने अस्पताल ले जाते  दम तोड़ा। 
    पुलिस के अनुसार गुंडरदेही स्थित सुमन स्कूल की छात्रा मनस्वी और जयंत रोजना की तरह स्कूल जा रहे थे।  इस बीच रायपुर से दल्लीराजहरा की ओर जा रही  तेज रफ्तार हाइवा  ने बच्ची को अपनी चपेट में ले लिया, वहीं  कक्षा 9 वीं के छात्र जयंत जो मनस्वी को वैन में बिठाने वैन के किनारे खड़ा था को भी  ठोकर मार दी। बच्ची की मौके पर मौत हो गई जबकि जयंत को स्थानीय अस्पताल में इलाज के बाद भिलाई ले जाया जा रहा था कि रास्ते में मौत हो गई। 
    बताया गया कि ग्रामीणों ने ट्रक चालक को जब गाड़ी से उतारा तो वह नशे  में था जिसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने चालक की पिटाई कर दी। इसी बीच मौके पर पहुंची पुलिस ने चालक को गिरफ्तार कर मेडिकल जांच कराने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई।  
    ज्ञात हो कि जिले में पिछले 3 दिनों में अलग अलग सड़क दुर्घटनाओं में 6 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

     

  •  

Posted Date : 20-Oct-2018
  •  छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 20 अक्टूबर। बीती रात  ग्राम गुजरा में एक युवक की बेरहमी से हत्.ा कर दी गई। पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
    पुलिस के अनुसार कल ग्राम गुजरा के स्कूल के पास रावण दहन का कार्यक्रम चल रहा था। उसी कार्यक्रम के दौरान  सांस्कृतिक कलामंच जाने वाली सड़क पर ही धर्मराज सिवाना नामक युवक की बेरहमी से मारकर हत्या कर दी गई।  ग्रामीणों ने बताया कि मृतक  रोजाना लोकल ट्रेन से भिलाई काम करने जाया करता था। पुलिस  6 संदेहियों को हिरसत में लेकर  पूछताछ  कर रही है।

  •  

Posted Date : 08-Oct-2018
  • बालोद के औराभाठा निवासियों ने किया चुनाव बहिष्कार
    विजय जायसवाल
    बालोद, 8 अक्टूबर (छत्तीसगढ़)। आचार संहिता लगते ही जहां एक ओर सरकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार से संबंधित बैनर, पोस्टर, होर्डिंग्स निकाले जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर बालोद जिले के ग्राम औराभाठा निवासी  पोस्टर को अपना हथियार बनाया है। आवेदनों, ज्ञापन और जनप्रतिनिधियों से कई दफे गुहार के बाद मांग पूरी नहीं होने पर चुनाव बहिष्कार की घोषणा की है।
    स्थायी पट्टे की मांग पूरी न होने पर अब ग्राम औराभाठा के ग्रामीण चुनाव बहिष्कार को लेकर लामबंद हो गए हैं।  ग्रामीणों ने गांव के द्वार पर  पोस्टर लगाकर चुनाव बहिष्कार की घोषणा कर दी है। इसे हटाने न ही एसडीएम साहब का आश्वासन काम आया और न ही प्रशासन की दलीलें।  
    ंगांव आने के चारों तरफ बड़े फ्लैक्स लगाकर प्रशासन को चुनौती  दी गई है कि बहुत हो चुका आश्वासन, अब तो मांग पूरी करो प्रशासन। स्थायी पट्टा नहीं, तो मतदान नहीं- के नारों के साथ गांव की गलियों में  पोस्टर लगा दिए गए हैं। 
     दरअसल, बालोद विकासखंड के ग्राम पंचायत सिवनी के आश्रित ग्राम औराभाठा के ग्रामीणों द्वारा विगत 100 सालों से भी ज्यादा से सिंचाई ग्राम को राजस्व गांव किए जाने की मांग की जा रही है। यहां की कुल जनसंख्या 553 एवं मतदाता 222 हैं। प्रशासन से लेकर शासन व जनप्रतिनिधि से लेकर मंत्री तक राजस्व ग्राम बनाए जाने की गुहार यहां के ग्रामीणों द्वारा लगाई जा चुकी है। बावजूद आज तक उक्त मांग पूरी नहीं हुई है। जिसके चलते ग्रामीणों में इस बार शासन-प्रशासन के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा है। 
    कुछ दिनों पहले गांव औराभाठा के सैकड़ों ग्रामीणों ने स्थायी पट्टे की मांग को लेकर कलेक्टोरेट  पहुंच जिला प्रशासन को 15 दिनों की महोलत दी थी। जिसके बाद एसडीएम हरेश मंडावी ने गांव में आकर ग्रामीणों से मिल राजस्व ग्राम बनाए जाने का आश्वासन दिया था।  
    ज्ञात हो कि 1910 में तांदुला डेम का निर्माण हुआ था। ग्राम औराभाठा के ग्रामीण जब उस समय डुबान में आए थे तब सिंचाईं विभाग की जमीन में लाकर यहां के ग्रामीणों के बसाया गया था। तब से लेकर ग्राम औराभाठा के ग्रामीण सिंचाई विभाग की जमीन पर काबिज हैं। पर इन्हें कई योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा हैं। 

  •  

Posted Date : 08-Sep-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बालोद, 8 सितंबर। जगदलपुर नेशनल हाईवे में एक तेज रफ्तार हाइवा ने तीन बाइक सवारों को अपनी चपेट में ले लिया. घटना में एक की मौत हो गई तो वहीं अन्य दो घायलों का इलाज जारी है. पुलिस ने हाइवा को अपनी कस्टडी में लेकर जांच शुरू कर दी हैं।
    जानकारी के मुताबिक गुरुर थाना क्षेत्र में जगदलपुर नेशनल हाईवे पर मरकाटोला के पास एक तेज रफ्तार हाइवा ने सामने से आ रहे बाइक सवारों को अपनी चपेट में ले लिया। बाइक सवारों में एक मुकेश कुमार सलाम की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं अन्य दो घायल दिनेश कुमार और अंकित कुमार का इलाज अभी जारी है। घटना के बाद से ही चालक मौके से फरार है।
    रेत खदानों से परेशान ग्रामीण 
    घटना के बाद से ही ग्रामीणों में काफी आक्रोश है. बताया जा रहा है कि आस-पास में चल रहे रेत खदानों के हाइवा रोजाना तेज रफ्तार से नेशनल हाइवे से निकलते हैं और आए दिन राहगीरों को अपना निशाना बनाते हैं। पुलिस ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया है कि जल्द ही रेत खदानों से चलने वाले वाहनों पर नियंत्रण किया जाएगा।  

  •  

Posted Date : 30-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 30 अगस्त। जिले में 108 एंबुलेंस व  102 महतारी एक्सप्रेस की सुविधा जरूरतमंदों को सही समय पर नहीं  मिल पा रही है।  एक दंपत्ति अपने ढाई साल के बीमार बच्चे  के लिए  फोन करते रहे। घंटों बाद काल सेंटर से उन्हें  कहा गया कि एंबुलेंस की सुविधा नहीं मिल पाएगी निजी वाहन कर ले आएं। दंपत्ेित बच्चे को लेकर पैदल निकल पड़े। तीन किमी चलने के बाद लिफ्ट लेकर जिला अस्पताल पहुंचे।
    इस संबंध में जब छत्तीसगढ़ ने जिला चिकित्सा अधिकारी से संपर्क किया तो उन्होंने जिला संयोजक एंबुलेंस 108-102 गिरीश राजपूत का मोबाइल नंबर देते संपर्क करने कहा।
    ईएमई गिरीश राजपूत ने कहा कि हमारी ओर से सही समय पर सुविधा देने के लिए लगातार प्रयास किया जाता है, हो सकता है गाड़ी कहीं व्यस्त रही हो जिसके कारण मरीज को एंबुलेंस सुविधा नहीं मिल पाई।
    प्रदेश के 108 व 102 कर्मचारी  अपने कार्य पर वापस नहीं लौटे हैं जिसका खामियाजा आज आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है।  जिले के गुण्डरदेही विकासखंड के ग्राम खपरी (लाटाबोड़) निवासी हिरसिंग डहरे ने बताया कि बुधवार दोपहर उसके ढाई वर्षीय पुत्र निखिल डहरे की तबियत अचानक खराब हो गई।  उसने  पड़ोसी चन्द्रमणी जांगड़े से मदद मांगी। 
    चंद्रमणि ने  बताया कि पहली बार 108 एंबुलेंस के लिए फोन किया तो जानकारी मिली कि ठीक है आप लाईन पर बने रहिये हम बालोद में संपर्क करते हैं।  दूसरी बार जवाब आया कि आप लाईन में बने रहें संपर्क करता हूं, दूसरी बार फिर बालोद से संपर्क नहीं हो पाया। तीसरी बार फोन करने पर बालोद से संपर्क हुआ, अभी बालोद में किसी केस में है, काम होने पर आयेंगे।  उसने इस  पर कहा कि तबियत बहुत ज्यादा गंभीर है आप समय बता दिजिये उसके हिसाब से फोन करेंगे तो उनकी उनकी ओर से जवाब आया कि हम समय नहीं बता सकते। कुछ समय बाद फिर फोन किया  जवाब आया कि गाड़ी खराब है।
    फिर नजदीकी शासकीय चिकित्सालय की जानकारी मांगी जहां 108 एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध हो।  गुण्डरदेही से  जवाब आया कि गाड़ी खराब है, इसी तरह अर्जुन्दा की गाड़ी खराब होने की भी जानकारी उन्हें दी। अंत में कॉल सेंटर से जवाब आया कि आप निजी वाहन के सहारे मरीज को अस्पताल ले जाएं। 

  •  

Posted Date : 12-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बालोद, 12 अगस्त। जिला मुख्यालय से लगभग 10 किमी की दुरी पर स्थित जोगीभाठ डौण्डी लोहारा मार्ग में रविवार  दोपहर तेज  रफ्तार कार अनियंत्रित होकर पलट गई जिसमे वाहन चालक को गभीर चोटे आई हैं। वही वाहन में सवार 5 लोगो को मामूली चोटे आई हैं । कार का  ऐयर बेस दुर्धटना के बाद खुल गया जिससे लोगो की जान बच गई।और बड़ी हादसा होते होते टल गई।  
    जानकारी के अनुसार  फार्चूनर कार सीजी 24 8800  बालोद के एक ठेकेदार राजेश मंत्री की बताई जा रही हैं । वाहन चालक सुरेन्द्र देशमुख मालिधोरी के निवासी हैं । वे मालिधोरी से अपने 5 लोगो के साथ डौण्डी लोहारा से मालिधोरी के लिए वापस आ रहे थे । इस दौरान  जोगी भात के पास पुल में गाड़ी पूरी तरह से उछल गया सड़क के किनारे में लगाए गए 20 पत्थरों को तोड़ते हुए खेत में जा घुसा जिससे वाहन की परखच्चे उड़ गए हैं । जिसमे वाहन चालक को गभीर चोटे आई हैं जिसे जिला अस्पताल राज नाँदगाँव में भर्ती कराया गया हैं  और उसमे सवार 5 लोगों को मामूली चोटे आई हैं । लोगों ने बताया कि   रोड पूरी तरह से ख़ाली थी यदि  आवाजाही होती तो बड़ी दुर्धटना हो सकती थी।

     

  •  

Posted Date : 02-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 2 जून।  दुर्ग मुख्य सड़क पर हुए एक हादसे में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गई, जबकि इस  एक दर्जन को चोटें आई हैं। 3 गंभीर को  अन्य अस्पताल भेजा गया है जबकि 9 लोगों का इलाज बालोद जिला अस्पताल में जारी है। 
    मिली जानकारी के अनुसार बालोद जिले के परसोदा गाँव का यह परिवार रायपुर सिलतरा  अपने रिश्तेदार के घर बच्चे के नामकरण संस्कार में गए थे। जहां से देर रात लौट रहे थे।  बालोद से करीब 12 किमी दूर लाटाबोर   पेट्रोल पंप के पास आज सुबह गाड़ी बेकाबू होकर सड़क किनारे पेड़ से जा टकराई। इस गाड़ी में परिवार के 15 लोग सवार थे। 
    पुलिस  व 108 एम्बुलेंस की टीम मौके पर पहुंची और  फंसे लोगों को बाहर निकाला। दो की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि  चालक को झपकी आने से यह हादसा हुआ। 

  •  

Posted Date : 27-May-2018
  • चक्काजाम, धरना-प्रदर्शन
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 27 मई। खरखरा जलाशय से राजनांदगांव पानी ले जाने, फसल बीमा की राशि देने एवं किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी, बालोद के अध्यक्ष अभिषेक शुक्ला के नेतृत्व में जेवरतला रोड पर जबरदस्त प्रदर्शन किया। गुंडरदेही विधानसभा क्षेत्र एवं डौंडीलोहारा क्षेत्र के सैकड़ों किसानों ने भाजपा की रमन सरकार की किसान विरोधी नीतियों से व्यतिथ होकर सड़क पर उतरकर अपना आक्रोश प्रदर्शित करते हुए धरना प्रदर्शन कर चक्काजाम किया। 
    धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए जिला कांग्रेस कमेटी बालोद अध्यक्ष अभिषेक शुक्ला ने मुख्यमंत्री रमन सिंह को आड़े हाथ लेते कहा प्रदेश के कैसे मुखिया है जो अपने निर्वाचन क्षेत्र राजनांदगांव के मतदाताओं को खुश करने के लिए डौंडी लोहारा व गुण्डरदेही विधानसभा क्षेत्र के किसानों, मतदाताओं एवं आमजनता के हितों के साथ कुठाराघात कर वहां उद्योगों को लाभ देने की नीयत से खरखरा जलाशय का पानी राजनांदगांव ले जाया जा रहा है। जिसका हम जोरदार विरोध करेंगे। 
    डौंडी लोहारा विधानसभा की विधायक अनिला भेडिय़ा ने कहा रमन सिंह के राज में युवा, महिला, किसान, व्यापारी सब परेशान है। ये सरकार सिर्फ और सिर्फ उद्योगपतियों और पूंजीपतियों की सरकार है। रमन सिंह के राज में भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी चरम सीमा में है। किसानों कर्ज ले लद गए हंै और आत्महत्या कर रहे है। सरकार के पास अनेकों प्रकार के त्योहार मनाने के लिए करोड़ों रुपये है पर बोनस देने के लिए पैसा नहीं है। 
    धरना प्रदर्शन को प्रदेश किसान कांग्रेस उपाध्यक्ष कृष्णा दुबे, जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष कृष्णा साहू, इंदरचंद बाफना, रजनीकांत शर्मा, ज्ञानेस्वर साहू, नारायण साहू,  हरिशपुरी गोस्वामी, चंद्रप्रभा सुधाकर, सुनील गोलछा, हिमलेश्वरी देवांगन, फिरंता उइके, सुरेश साहू ने भी रमन सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।
    धरना प्रदर्शन के बाद अभिषेक शुक्ला नेतृत्व में किसान जेवरतला रोड राजनांदगांव अंतागढ़ मुख्य मार्ग पर बैठकर  रमन सिंह के खिलाफ  जोरदार नारे लगाते हुए चक्काजाम किया। पुलिस और किसानों के बीच खींचातानी चलती रही। जिला कांग्रेस अध्यक्ष अभिषेक शुक्ला एवं  किसानों, कांग्रेसजनों को पुलिस वालों ने बलपूर्वक उठा कर वाहनों में बिठाकर देवरी थाना लाए जहाँ पर 162 किसानों ने गिरफ्तारी दी। धरना प्रदर्शन एवं चक्काजाम में हजारों की संख्या में किसान एवं कांग्रेसजन उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 24-May-2018
  • बालोद, 24 मई। सीडी कांड पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल की टिप्पणी पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कड़ी पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि जिसने सीडी दिखाई है, उससे सीबीआई नहीं पूछेगी, तो किससे पूछेगी। 
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि भूपेश ने सीडी दिखाया और यह प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दिखाया, तो सीबीआई किससे पूछेगी। उन्होंने कहा कि उन्हें जो भी कहना है, उसे सीबीआई को कहना चाहिए। जो भी सच्चाई है, सीबीआई जांच कर रही है।  डॉ. सिंह ने कहा कि कांग्रेस खुद सीबीआई जांच की मांग करती है और ऐसे में सीबीआई जांच कर रही है तो गलत क्या है। भूपेश ने इस मामले पर खुद से पूछताछ पर सीबीआई पर निशाना साधा था।

  •  

Posted Date : 24-May-2018
  • बालोद में 75 करोड़  के 74 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 24 मई। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह गुरूवार को प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बालोद जिले के ग्राम अर्जुंदा में विशाल आम सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि अर्जुंदा गांव की अपनी विशिष्ट पहचान है। इस गांव ने छत्तीसगढ़ की लोक संस्कृति को पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इस क्षेत्र के कण-कण में छत्तीसगढ़ की लोक कला का वास है। बालोद जिले के गठन से इस क्षेत्र के विकास को नयी ऊंचाईयां मिली हैं। आम जनता की सुविधा के लिए यहां नया कलेक्टोरेट भवन बना और विभिन्न विभागों के कार्यालय प्रारंभ हुए। क्षेत्र की जनता को नया जिला अस्पताल मिला। नया जिला बनने के बाद यहां विकास के कई बड़े काम पूरे हुए हैं। 
     मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही गांव-गांव में इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी और मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों, खेतों में काम करने वाली महिलाओं, कॉलेज के विद्यार्थियों, किसानों और ग्रामीणों के हाथ में जल्द ही स्मार्ट फोन होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सूचना क्रांति योजना के अंतर्गत पूरे प्रदेश में 55 लाख स्मार्ट फोन नि:शुल्क बांटे जाएंगे। इसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया गया है। इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए भारत नेट परियोजना के अंतर्गत लगभग 3000 करोड़ रूपए की लागत से 3600 किलोमीटर ऑप्टिकल केबल बिछाने का काम प्रारंभ कर दिया गया है। मोबाईल कनेक्टिविटी के लिए गांव-गांव में टॉवर लगाए जाएंगे। 
    बालोद जिले में अब तक 60 हजार रसोई गैस कनेक्शन बांटे गए हैं। यह जिला प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन में भी अग्रणी है। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से शासन की योजना से अधिक से अधिक संख्या में जुड़कर योजना का लाभ उठाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षों में उन्हें जनता का भरपूर सहयोग, समर्थन और आशीर्वाद मिला है। आने वाले 5 वर्षों में प्रदेश की विकास की गति और भी अधिक तेज होगी। 
    कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भीषण गर्मी में आम जनता से मिलने और जनता को विकास की योजनाओं से जोडऩे के लिए निकले हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबों को भूख से मुक्ति दिलाई है। गांव-गांव में सड़क, बिजली, पानी और शिक्षा की व्यवस्था की गई है। किसानों के लिए अनेक योजनाएं प्रारंभ की गई है। सांसद विक्रम उसेण्डी ने भी आम सभा को संबोधित किया।
    मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिले की जनता को 74.94 करोड़ रूपए लागत के 74 विभिन्न निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इनमें से 25.57 करोड़ रूपए की लागत के 40 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 49.37 करोड़ रूपए  के 34 निर्माण कार्यों का शिलान्यास  किया।
    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर एक लाख 70 हजार 875 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। उन्होंने कम्प्यूटर में क्लिक कर जिले के लगभग 92 हजार 414 किसानों को उनके खाते में 115 करोड़ 27 लाख रूपए के धान बोनस की राशि का भुगतान किया। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में 70 हजार 389 गरीब परिवारों को आबादी पट्टा, श्रम विभाग की योजना में 2600 श्रमिकों को साइकिल, सिलाई मशीन, 3000 श्रमिक औजार, और सुरक्षा उपकरण, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में दो हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन वितरित किए। 

  •  

Posted Date : 11-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दल्लीराजहरा, 11 मई। नगर के गुप्ता चौक पर शुक्रवार सुबह एक तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार दो लोगों को अपनी चपेट में ले लिया। घटना स्थल पर ही एक  की मौत हो गई। वहीं दूसरा गंभीर रूप से घायल है उसे अस्पताल में भर्ती किया गया है। हादसे से गुस्साए लोगों ने ड्राइवर की जमकर पिटाई करने के बाद सड़क पर चक्काजाम कर दिया। 
    बताया गया कि दल्लीराजहरा से 10 किमी दूर कामता निवासी कामता प्रसाद अपने मित्र संतराम निवासी गुर्री के साथ बाईक में सवार होकर दल्लीराजहरा आ रहे थे। 
    दोनों गुप्ता चौक के पास पहुंचे थे उसी दौरान विपरीत दिशा से आ रही तेज रफ्तार ट्रक ने दोनों को अपनी चपेट में ले लिया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि घटना स्थल पर ही कामता प्रसाद की मौत हो गई। वहीं संतराम को गंभीर चोटें आई है। घटना की सूचना मिलते ही दल्ली पुलिस मौके पर पहुंच आक्रोशित लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक चक्काजाम जारी है। 

  •  

Posted Date : 06-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बालोद, 6 मई। जिले के गुंडरदेही ब्लॉक के ग्राम खर्रा में रविवार निर्माणाधीन पानी टंकी गिरने से 2 बच्चों की मौत हो गई, वहीं एक घायल है। उसे गुंडरदेही के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। घटना को लेकर लोगों में आक्रोश है। एसडीएम पीएल यादव सहित आला अधिकारी घटना स्थल पहुंच कर मामले की जांच कर रहे हैं।
    घटना के बाद परिजनों सहित काफी संख्या में ग्रामीण थाना पहुंच गए और सरपंच ममता तिवारी व पंच प्रभा सेन व नंदू देशमुख पर एफआईआर करने की मांग करते हुए आवेदन सौंपा। घटना के बाद से सरपंच और पंच ग्रामीणों के डर से थाने में ही बैठे हुए हैं।
    बताया गया कि खर्रा में नवनिर्मित पानी टंकी में रविवार की सुबह पानी भर कर कुछ लोग चेक कर रहे थे। टंकी से लगभग 40 मीटर दूर बोर है। सभी लोग बोर के पास थे। वहीं टंकी के नीचे नल से पानी लेकर तीन बच्चे नहा रहे थे। उसी दौरान अचानक टंकी भरभरा कर गिर गई। टंकी के मलबे में दबने से दो बच्चे दुर्गा निषाद और प्रमोद यादव की घटना स्थल पर ही मौत हो गई, वहीं एक बच्चा घायल हो गया। घटना के बाद पूरे गांव में मातम का माहौल व्यापत है। 

  •