छत्तीसगढ़ » बालोद

Date : 25-Jun-2019

सड़क निर्माण में तय मापदंड का पालन नहीं

गुणवत्ताहीन सामग्री का उपयोग शिकायत पर वन अफसर दिया जांच का आश्वासन
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 25 जून।
बालोद वन परिक्षेत्र अंतर्गत  दैहान भैंसबोड़ को मुख्यमार्ग से जोडऩे वाले वनमार्ग  में बालोद वन मंडल द्वारा सड़क निर्माण में तय मापदंडों का पालन न करने और गुणवत्तापूर्ण सामग्रियों का उपयोग नहीं करने की शिकायत सामने आई है। सामग्री वन विभाग से अनुबंधित ठेकेदार के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है।  निर्माणाधीन कच्चे सड़क मार्ग को लेकर स्थानीय वन परिक्षेत्रीय अधिकारी(रेंजर)रियाज खान  ने बताया गया कि इस निर्माण में मटेरियल सप्लाई  अन्य ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है तथा सड़क निर्माण का काम खुद विभाग द्वारा  किया जा रहा है।

 शिकायत के अनुसार इस निर्माणकार्य में विभागीय प्रांकलन के अनुसार मुरुमीकरण के पूर्व 40 मिली मीटर पत्थरों का प्रयोग किया जाना जिसके बाद मुरुम की परत बिछाकर रोलर चलाया जाना है। पत्रकारों ने जब   मौके पर पहुंच निर्माणाधीन सड़क पर बिछाई जा रही पत्थरो का जायजा लिया गया तो 40 एम एम की जगह करीब 70-80 एमएम के स्थानीय खदानों के बोल्डर पत्थरो का उपयोग किया जा रहा थाछ। पत्थर के साइज के सवाल पर अधिकारी द्वारा सारा काम नियम के मुताबिक हो रहा है आपको गलत लगता है तो आप जांच करवा लें। 

इसके बाद बालोद वन परिक्षेत्र अधिकारी (रेंजर)  ने कहा कि हमारे विभाग में  हैंड ब्रोकन उपयोग करने की अनुमति है। गिट्टी के माप पर जांच करने की बात कहते हुए पल्ला झाड़ लिया। 

इस मामले में बालोद वन मंडलाधिकारी सतोविशा समाजदार  के समक्ष जब पूरे मामले की जानकारी दी गई  तो वनमंडलाधिकारी ने भी माना कि यदि इस तरह के गिट्टी का उपयोग हुआ होगा तो आने वाले समय में स्थानीय लोगो को भी इससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है । वनमंडलाधिकारी इस मामले की जांच करवाने की बात कही। गौरतलब है कि  पहले भी विभाग द्वारा कराये जा रहे कामो को लेकर कई बार शिकायत मिल चुकी है।  

 

 

 

 


Date : 25-Jun-2019

स्वास्थ्य विभाग द्वारा आंगनबाड़ी में शिशु संरक्षण माह का आयोजन 

दल्लीराजहरा, 25 जून।  स्वास्थ्य विभाग द्वारा वार्ड क्रमांक 9 के आंगनबाड़ी केन्द्र में शिशु संरक्षण माह का आयोजन किया गया। जिसमें वार्डवासियों को विटामिन ए सिरप से होने वाले फायदे एवं बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाने के उद्देश्य के बारे में जानकारी दी गई तथा कुल 8 बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलायी गई।

इस कार्यक्रम मेें स्वास्थ्य संयोजक रेखूराम साहू के द्वारा कुल 8 बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलायी गई। वहीं गर्भवती माताओं में खून की कमी से बचाव के लिए आयरन की गोलियां वितरित की गई।  आयोजन मेें आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मनीषा पटेल,सहायिका रेखा सोनटेके ,वार्ड की महिला कौशिल्या, नेहा, रानी, उत्तरा, पूनम, बिसन, पूर्णिमा, शिवबती, संतोषी,लक्ष्मी सहित अन्य महिलाएं एवं आंगनबाड़ी के बच्चे उपस्थित थे।  स्वास्थ्य संयोजक ने बताया कि 21 जून से शुरू किया गया यह कार्यक्रम 23 जुलाई तक जारी रहेगा जिसमें हर सप्ताह के मंगलवार एवं शुक्रवार को नगर के प्रत्येक वार्ड में शिशु संरक्षण माह कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।


Date : 25-Jun-2019

मांगों को ले छमुमो ने निकाली रैली, एसडीएम कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंंत्री के नाम 14 सूत्रीय मांगपत्र सौंपा
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 25 जून।
छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष एवं क्षेत्र के पूर्व विधायक जनकलाल ठाकुर के नेतृत्व मेंं मोर्चा के पदाधिकारियों,कार्यकर्ताओं,क्षेत्र के किसान एवं बेरोजगार युवकों ने रैली निकालकर नगर के मुख्य मार्गों का भ्रमण करते हुए आदिवासी विकासखण्ड डौण्डी में व्याप्त समस्याओं के प्रति शासन-प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराया। तत्पश्चात एसडीएम कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंंत्री के नाम 14 सूत्रीय मांगपत्र सौंपा गया। जिसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से समस्याओं के निराकरण के लिए शीघ्र आवश्यक व सकारात्मक पहल करने का आग्रह किया गया है।

  मुख्यमंत्री के नाम सौंपे गए मांगपत्र में छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष जनकलाल ठाकुर ने बताया है कि डौण्डी विकासखण्ड के दूरस्थ अंचलों में व्याप्त समस्याएं रामायण केे पात्र अंगद के पांव की तरह जकड़ी हुई है। जिसके लिए समय समय पर क्षेत्र की जनता व जनप्रतिनिधि शासन से मांग करते रहे हैं किन्तु आज पर्यन्त उन समस्याओं का निकराकरण नहीं हो पाया है। जिससे इस क्षेत्र की आम जनता में छत्तीसगढ़ सरकार के प्रति आक्रोश बना हुआ है। चाहे स्कूलों में शिक्षकों की कमी हो,बेरोजगारों के लिए रोजगार,किसानों के खेतों में सिंचाई सुविधा,सड़क,पुल-पुलिया का मामला हो या जाति प्रमाण पत्र,वन अधिकार एवं ऋण पुस्तिका ऑन लाईन,फौती,सीमांकन,नामांतरण,फसल बीमा,पूर्ण कर्ज माफी आदि हो इनमें छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा घोषित किये गए कई महत्वपूर्ण कार्य आज भी अधूरा है। जिस पर छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा वर्तमान में मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षित करते हुए डौण्डी विकासखण्ड में व्याप्त समस्याओं के समाधान के लिए अतिशीघ्र सकारात्मक पहल का आग्रह करता है।

मांगपत्र मेंं छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा ने पूर्णत: आदिवासी बाहुल एवं पांचवीं अनुसूची क्षेत्र डौण्डी ब्लाक में तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों की नियुक्ति में स्थानीय बेरोजगारों को भर्ती किये जाने,डौण्डी ब्लाक के किसानों से प्रत्येक कार्यों के लिए बार बार नक्शा,खसरा बी 1 मंगाये जाने पर पुर्नविचार करते हुए प्रतिलिपि का सरकारी दर स्पष्ट किये जाने,थानों के कार्यों से लोग संतुष्ट नहीं हैं जिस पर सुधार लाया जाए।  डौण्डी ब्लाक में सभी आधा अधूरा बांध जैसे आमाडुला,बोहारडीह, परसबिरही,पल्लेकसा,कुसुमटोला,मडिय़ाकट्टा आदि बांध निर्माण कार्य की स्वीकृति प्रदान किया जाए। स्कूल खुलने से पहले स्कूलों में पदस्थापना अनुसार शिक्षकों की कमी को पूर्ण रूप से दूर किया जाए।,किसानों की सभी बैंकों की पूर्ण रूप से कर्ज माफी ,डौण्डी ब्लाक के विद्यार्थियों के रूके हुए जाति प्रमाण पत्र अतिशीघ्र बनाये जाने,ब्लाक के सभी छूटे हुए किसान जिसमें वनाधिकार पट्टा,ऋण पुस्तिका के ऑनलाईन व्यवस्था को ठीक किये जाने,कृषकों की सीमांकन,फौती,नामांतरण कार्य से संबंधित आवेदन का निराकरण शीघ्र किये जाने, आदि की मांग की गई है। 

इस  दौरान छमुमो के प्रदेश अध्यक्ष जनकलाल ठाकुर, देवेन्द्र कुमार एवं उपाध्यक्ष बिहारीलाल, डौण्डी ब्लाक अध्यक्ष शिवप्रसाद बारला, उपाध्यक्ष सागर गावड़े,सोमन मरकाम, अहिल्या तारम,सचिव रामसाय रावटे आदि उपस्थित थे।

गौतम नेताम,गंगाराम दर्रो,देवेन्द्र सिंद्रामे,रामेश्वर रावटे,घनाराम,हृदय क्वाची,हिरामन,पवाना बाई,गिरिजा मण्डावी,पुसऊ गावड़े,अहिल्या गावड़े, पे्रम साहू,बलीराम,रमन मण्डावी, विरेन्द्र,भारत विश्वकर्मा,सालिक सेन, चुतर सिंह तारम सहित काफी संख्या में अन्य लोग उपस्थित थे। 


Date : 25-Jun-2019

समाज कल्याण विभाग द्वारा तृतीय लिंग समुदाय सम्मेलन सह कार्यशाला आयोजित
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 25 जून।
तृतीय लिंग समुदाय सम्मेलन सह कार्यशाला का आयोजन टाउन हॉल बालोद में समाज कल्याण विभाग द्वारा किया गया। दो दिवसीय कार्यक्रम के समापन के अवसर पर अपर कलेक्टर श्री ए.के.वाजपेयी ने तृतीय लिंग समुदाय के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि वे अपने अधिकारों को जाने और जागरूक बनें। शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें तथा समाज की मुख्यधारा से जुड़कर अपना जीवन यापन करने उन्हें प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम को समाज कल्याण विभाग की उप संचालक श्रीमती बरखा कासू ने भी संबोधित कर शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी और उनका लाभ उठाने प्रेरित किया। 

कार्यक्रम में सात हितग्राहियों को श्रमिक कार्ड प्रदान किया गया। दो दिवसीय कार्यक्रम में श्रम विभाग, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन द्वारा स्टॉल लगाकर विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया। समापन कार्यक्रम के अवसर पर विभिन्न सदस्यों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रात्रे, जिला बाल संरक्षण अधिकारी  गजानंद साहू सहित तृतीय लिंग समुदाय के सदस्य मौजूद थे।  

 


Date : 25-Jun-2019

अटल आवास में साफ-सफाई और गंगासागर वार्ड में जर्जर नाली की मरम्मत करने की माग को लेकर वार्डवासियों ने नगर पालिका अध्यक्ष को ज्ञापन, आंदोलन की चेतावनी

बालोद, 25 जून।  जिला मुख्यालय के वार्ड 15 अटल आवास में साफ-सफाई और गंगासागर वार्ड में जर्जर नाली की मरम्मत करने की माग को लेकर वार्डवासियों ने 15 दिन पहले नगर पालिका अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपकर  की गई थी। मांगे पूरी नहीं होने से लोगों में नाराजगी है। अटल आवास के निवासियों ने  उग्रआंदोलन  की चेतावनी पालिका प्रशासन को दी है। 
 वार्डवासी पुष्पा बाई ने बताया कि  गंगासागर तलाबपार के पीछे मेरे मकान से लगा हुआ बहुत पुरानी नाली हैं जो काफी जर्जर हो गई हैं। उक्त नाली मेरे दीवाल से लगा हुआ हैं, नाली इतनी जर्जर हो गई हैं की कभी भी धसक सकती हैं जिससे दीवाल भी गिर सकती हैं जिससे आर्थिक रूप से क्षति के साथ जान का भी खतरा बना हुआ हैं। वार्डवासी ने तत्काल जर्जर नाली को बनाने की मांग अध्यक्ष से की हैं।  

 अटल आवास के निवासियो ने बताया कि अटल आवास में बिजली पानी देने व् साफ सफाई करने की मांग को लेकर 14 जून को नगर पालिका अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपा गया था लेकिन 11 दिन बीत जाने के बाद पालिका की उदासीनता के चलते अब तक समस्या का समाधान नही हो पाया है।  यहां लगभग तीन सौ परिवार निवासरत हैं।   

 वार्ड वासी मालती यादव ने बताया कि अटल आवास में पालिका के कर्मचारी साफ सफाई करने वार्ड में कभी भी नही आते हैं जिसके कारण वार्ड में  गंदगी का आलम है। कूड़ा कचरा का ढेर लगा हुआ है।   वहीं लाईट नही होने से गर्मी की दोहरी मार झेलनी पड़ रही हैं। इस दौरान धरो का खिड़की खोलना भी बीमारी निमंत्रण देने जैसा हैं । सपना सोनी ने बताया कि  थाई रूप से विधुत कनेक्शन नही होने से परेशानी का सामना करना पड रहा हैं। रोजी मजदूरी कर अपने परिवार का जीवनयापन कर रहे हैं हम भारी भरकम बिल की राशि को पटाने में सक्षम नही हैं।  


Date : 25-Jun-2019

मानसून सक्रिय होने के बाद किसानो द्वारा धान की बोनी का कार्य युद्ध स्तर पर 

बालोद , 25 जून। जिले में मानसून सक्रिय होने के बाद किसानो द्वारा धान की बोनी का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा हैं।कृषि कार्य करने कृषक पुरे परिवार सहित खेतो में नजर आने लगे हैं। सुबह से ही किसान खेतो की ओर रुख करने के कारण गावो के अंदर सन्नाटा पसरा हुआ हैं । पिछले तीन चार दिनों से जिलो में कृषि कार्य के लिए बारिश होने से किसानो ने अपने खेतो में बोनी का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू कर दिया हैं।ज्यादातर ग्रामीण अपने खेतो में कृषि कार्य में लगने के कारण मजदूर नही मिल रहे हैं। जिन किसानो के साथ कृषि कार्य हेतु कृत्रिम साधन उपलब्ध नही हैं ,ऐसे किसान परम्परागत खेती पर ध्यान दे रहे हैं । जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण अंचलो में तेजी खेतो में जोताई कार्य हो रहा हैं।  

63 हजार 700 मीट्रिक टन खाद भंडारण 
बता दें कि एक लाख 76 हजार 230 हेक्टेयर में खरीफ की फसल के लिए खाद 24 हजार 443 मीट्रिक टन भंडारण किया जा चुका है। इसमें से 8 हजार 537 मीट्रिक टन खाद का वितरण भी हो चुका है। विभाग ने 63 हजार 700 मीट्रिक टन खाद भंडारण का लक्ष्य रखा है।

24443 टन खाद और 19,121.50 क्विंटल बीज का भंडारण 
मानसून पूर्वबारिश से अंचल में जहां दो-फसली खेती होती है, वहां पर मौसम में नरमाहट आते ही किसान नर्सरी डालने की तैयारी में जुट गए है। वहीं एक फसली क्षेत्र के किसान अकरस जुताई में जुट गए हैं। किसानों को बस झमाझम बारिश का इंतजार है। किसानों के साथ कृषि विभाग भी तैयारी में जुट गया है। जिले में 1 लाख 76 हजार 230 हेक्टेयर में खरीफ फसल का लक्षय रखा गया हैं।बक

यूरिया की बोरी अब 50 नहीं 45 किलो की
यूरिया खाद की कीमत में वृद्धि नहीं की है। इस वजह से पैकिंग में पांच किलो की कटौती कर दी गई है। कटौती के बाद 45 किलोग्राम वजन की बोरियों में यूरिया की सप्लाई की गई है। कीमत 266.50 रुपए रखा गया है। पहले 50 किलोग्राम की बोरी आती थी। 5.96 रुपए के हिसाब से 50 किलो की बोरी 298 रुपए पड़ता था। वजन में कटौती क बाद यूरिया प्रतिकिलो 5.91 रुपए पड़ रहा है।

डाई अमोनियम फॉस्फेट ( डीएपी) की कीमत में 150 रुपए की वृद्धि की गई है। जुलाई 2018 में 50 किलो की बोरी 1250 रुपए का पड़ता था। अब 1400 रुपए का पड़ रहा है। मई-जून 2018 में ही डीएपी की कीमत 1100 रुपए थी। तब 114 एकमुश्त बढ़ोत्तरी की गई थी। पिछले साल पोटाश की बोरी 900 रुपए पड़ता था। 45 रुपए वृद्धि के बाद अब 945 रुपए का पड़ रहा है।


Date : 23-Jun-2019

ऐतिहासिक गंगासागर तालाब में रौनकता लाने डेढ़ लाख का रंगीन फव्वारा बना शोपीस, हमेशा रहता है बंद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 23 जून।
शहर के ऐतिहासिक गंगासागर तालाब में रौनकता लाने बनाया गया फव्वारा खस्ताहाल होते नजर आ रहा है। निर्माण के बाद गत वर्ष अप्रैल-मई माह में जिस दिन से इस फव्वारे को शुरू किया गया है। तब से लेकर आज तक ने शहर की जनता ने चलते हुए नहीं देखा होगा। ज्यादातर समय यह फव्वारा बंद ही रहता है। इसकी सुध लेना वाला कोई नहीं है। 
जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने गंगासागर तालाब में सौंदर्यीकरण के नाम पर बेजा राशि खर्च कर अनदेखी का आरोप लगाते हुए बताया कि, महज एक साल पहले गंगासागर उद्यान में फाउंटेन, नोजल, लाइट और पाईप फिटिंग के नाम पर 1.50 लाख रुपए की राशि खर्च कर दस मीटर लंबा और डेढ़ मीटर चौड़ा फाउंटेन तैयार कराया गया था। निर्माण के दौरान दावा किया गया था कि, गंगासागर तालाब उद्यान में प्रतिदिन शाम 5 से रात 8 बजे तक 10 मीटर लंबे और डेढ़ मीटर चौड़े फाउंटेन से रंगीन फव्वारा निकलेगा। 
उन्होंने आरोप लगाया कि निर्माण के दौरान फाउंटेन में शेर की आकृति बनाई गई थी और जिम्मेदार शहर की जनता को बताते रहे कि शेर के मुंह से पानी निकलेगा, लेकिन ट्रायल के कुछ दिनों बाद ही फाउंटेन के ऊपर बना शेर गायब हो गया। अब फाउंटेन पर लगे टाइल्स उखडऩे लगे हंै। नगरपालिका के अधिकारियों की उदासीनता के चलते उद्यान में लगे फव्वारे का संचालन नहीं हो पा रहा है।
नितेश वर्मा ने बताया कि, गंगासागर तालाब की सुंदरता व रौनकता बढ़ाने बनाया गया फव्वारा देखरेख के अभाव में खस्ताहाल होता जा रहा है। शहर की जनता फव्वारे का लुत्फ नहीं उठा पा रही है। यह फव्वारा केवल शोपीस बनकर रह गया है। 
पार्षद वर्मा ने ऐसे निर्माणों पर आपत्ति जताते हुए कहा कि, अगर फव्वारे को चला नहीं सकते थे तो निर्माण कर सरकारी राशि का दुरुपयोग क्यों करवाया गया। 


Date : 23-Jun-2019

सार्वजनिक स्थल पर खेल रहे 4 जुआरी पकड़ाए

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दल्लीराजहरा, 23 जून। राजहरा पुलिस ने बीती रात वार्ड-22 अंतर्गत मछली मार्केट के सार्वजनिक स्थल पर चल रहे जुआ फड़ में दबिश देकर चार जुआरियों को 15 हजार 610 रूपए नगद एवं 52 पत्ती के साथ पकड़ा है। 

राजहरा थाना से मिली जानकारी के अनुसार थाना प्रभारी कुमार गौरव साहू के नेतृत्व मेें वार्ड क्रमांक 22 स्थित मछली मार्केट के सार्वजनिक स्थल मेंं रात्रि 11 बजे जुआ खेल रहे युवकों को घेरने की कोशिश की गई, तब अंधेरे का फायदा उठाकर कुछ जुआरी मौके से भाग निकले। इसी बीच जुआ खेल स्थल पर चार जुआरियों को पुलिस के जवानों ने धर दबोचा। जिसमें वार्ड क्रमांक 22 निवासी विक्की उर्फ विनय देवांगन तथा दीपक कुमार अलेन्द्र, वार्ड क्रमांक 24 निवासी दीपक विश्वकर्मा व वार्ड क्रमांक 3 निवासी हिराज खान को पुलिस के जवानों ने पकड़कर उनके पास से 15610 रूपए नगद एवं 52 पत्ती जब्त किया गया। इन चारों जुआरियों के खिलाफ धारा 4 क जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।


Date : 22-Jun-2019

भाजपा ने भूपेश सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 22 जून।
प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर जिला भाजपा द्वारा प्रदेश की कांग्रेस  सरकार के विभिन्न गलत नीतियों व् जनता से लगातार की जा रही वादाखिलाफी एव बिजली लगातार बंद करने,सहित  अन्य मुददे को लेकर शनिवार को जिला मुख्यालय के नया बस स्टेण्ड स्थित भारत माता प्रतिमा के सामने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर भाजपइयों ने कलेक्टोरेट पहुचकर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को  ज्ञापन सौंपा। इस दौरान नेताओं ने भूपेश सरकार   के खिलाफ जमकर नारेबाजी की । 

इस अवसर पर सांसद मोहन मंडावी ने कहा की छग की जनता से बड़े बड़े वादे कर प्रचंड जनादेश के साथ सत्ता में आई कांग्रेस सरकार द्वारा शासन सम्हालने के बाद से ही प्रदेश में अव्यवस्था और अराजकता का माहौल है। कांग्रेस की यह सरकार जनता से धोखाधड़ी और छल के रोज नए रिकार्ड बना रही हैं। मडावी ने कहा कि प्रदेश में किसानो को वादे के अनुरूप कर्जमाफी का लाभ नही मिल पाया हैं। बड़ी सख्या में किसान डिफाल्टर हो रहे हैं उन्हें नई फसल के लिए ऋण नही मिल पा रही हैं । यहा तक किसानो को जेल तक भेजा जा रहा हैं।  भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष नीलू शर्मा ने कहा की  बिजली बिल आधा करने बाते धोषणा पत्र में शामिल किया गया था लेकिन चुनाव के बाद और सरकार बनते ही बिजली बिल आधा नही हुए ही बल्कि बिजली ही आधी हो गई हैं।  उन्होंने कहा की प्रदेश की काग्रेस की सरकार ने जनता से की गई वादाखिलाफी सहित अन्य मदुदो को लेकर प्रदेस भाजपा ने छग के सभी जिलो में धरना प्रदर्शन किया जा रहा हैं। काग्रेस का विरोध प्रदर्शन कर सरकार को जगाने की कोशिश की जा रही हैं। 

भाजपा जिला अध्यक्ष लेखराम साहू ने कहा कि प्रदेश में जब से काग्रेस की सरकार आई हैं तब से प्रदेश की हालत बद से बदतर हो गई हैं, जिले में हो रही बिजली कटोती से लोग परेशान हो गए हैं।क्षेत्र की खनिज संपदा सरकार की सरक्षण में  लूटा जा रहा ।लधु वनोपज के जिला अध्यक्ष यज्ञदत्त शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की सरकार हर मामले में विफल साबित हो रही हैं ,विरोध दर्ज कराने वाली जनता और देश के चौथे स्तभ कहे जाने वाले पत्रकारों   के खिलाफ भी राजद्रोह मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं । 

 पूर्व विधायक प्रीतम साहू ने कहा की प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति आज जितनी बदतर हैं वो कभी नही रही ,प्रदेश भर में लूट ,हत्या,अपहरण,बलात्कार,चोरी,सहित अन्य धटनाए रोज हो रही हैं ,प्रदेश में मीडियाकर्मियों पर हमले हो रहे हैं । प्रदेश में आज भय और आतंक की पहचान बन गई हैं। 

पूर्व विधायक वीरेंद्र साहू ने कहा की शराब बंदी की बात कर सत्ता में आई काग्रेस सरकार ने शराब को धोटाले और भरष्टाचार का उपकरण बना लिया हैं ।पुरे प्रदेश में गर्मी के दिनों में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ हैं। युवाओ को वादे के अनुरूप न तो रोजगार मिल पा रही हैं और न ही भत्ते डाए जा रहे हैं। प्रदेश आज दिवालिया होने की कगार पर पहुच गई है। 
धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से महामंत्री देवेन्द्र जायसवाल, पवन साहू, सुरेन्द्र देशमुख,कमलेश सोनी, अमित चोपड़ा,नितेश वर्मा,राकेश यादव,प्रमोद जैन,बलराम गुप्ता,होरी लाल रावटे, प्रतिभा चौधरी,भुनेश्वरी ठाकुर आदि कार्यकर्ता शामिल थे। 


Date : 21-Jun-2019

अचानक मौसम हुए बदलाव के  बाद अंचल में कई जगहों पर जमकर बारिश, धान स्टेक में गिरी गाज, दर्जनों बोरा राख
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 21 जून।
 बीती रात अचानक मौसम हुए बदलाव के  बाद अंचल में कई जगहों पर जमकर बारिश हुई। इस दौरान तेज गर्जना के साथ ही जिला मुख्यालय से 7 किमी दुरी पर स्थित धान सग्रहण केंद्र जगतरा फड़ में रखी धान के स्टेक में गाज गिरने के कारणधान के  सैकड़ों बोरे जल गए हैं। 

जानकारी के अनुसार बीती रात लगभग 2 बजे जिले के जगतरा धान संग्रहण केंद्र में रखे धान के स्टेक में भी आकाशीय बिजली गिर गई । हालाँकि घटना देर को रात को होने के वजह से किसी तरह की जनहानि नही हुई लेकिन इस आकाशीय बिजली से संग्रहण केंद्र ने रखे धान के स्टेक में आग लग गई । आग लगने के कुछ देर बाद जब इसकी जानकारी स्थानीय लोगो को मिली तो इसी संग्रहण केंद्र में काम करने वाले स्थानीय मजदूरो की मदद से और फायर ब्रिगेड के मदद से आग पर काबू पाया गया ।  आगजनी से 100 से अधिक धान के बोरो में आग लगने की  आशंका जताई गई। वहीँ  दूसरी तरफ इस संग्रहण केंद्र के प्रभारी द्वारा इस मामले पर नुक्सान का आंकलन जारी होने की बात कही गई । स्थानीय काम करने वाले मजदूरो की सुज बुझ के कारण ही सग्रहण केंद्र में बड़ा नुकसान होने से बचाया हैं।मजदूरो ने तत्काल धान के स्टेक में   जले हुए बोरे को अलग किया जिसके बाद आग पर काबू पाया गया।

 


Date : 21-Jun-2019

तलाबों व नदियो में मछली पकडऩा प्रतिबंध के बाद भी मछली मारी जा रही

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 21 जून।
जिला प्रशासन ने बालोद जिले के तलाबों व् नदियो में मछली पकडऩा  प्रतिबंध लगाया गया है। इसके बाद  भी  ग्राम पंचायत ओरमा के आश्रित ग्राम मेंढकी के बड़ा तलाब में जाल डालकर मछली निकली जा रही हैं। 

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत ओरमा के आश्रित ग्राम मेंढकी के बड़ा व् छोटा तलाब को मछुवा समिति को ग्राम पंचायत द्वारा 5 साल की लीज में दी गई हैं जिसके तहत  शुक्रवार की सुबह बड़ा तलाब में मछुवारों ने बड़ा तलाब में जाल डालकर मछली निकाली।  

 ग्राम मेंढकी के दोनों तलाबो को पिछले लंबे समय से एक ही मछुवारे समिति बधमरा को ग्राम पंचायत द्वारा लीज में दी गई हैं। ग्रामीणों ने बताया की मछुवा समिति के सदस्य के द्वारा ग्रामीणों को जरूरत के हिसाब से मछली नहीं दी जाती हैं इसके आलावा ग्रामीणों को छोटी छोटी मछली को ही दी जाती हैं और बड़ी मछलियो को ठेकेदार को दिया जाता हैं जिसके चलते ग्रामीण नाराज हैं और उक्त मछुवा समिति को बदलकर दूसरे समिति को देने की माग ग्राम पंचायत से की हैं।   

ज्ञात हो कि जिला प्रशासन ने  बारिश के दौरान मछलियों की वंशवृद्धि (प्रजनन) को दृष्टिगत रखते हुए उन्हें संरक्षण देने के लिए जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक बंद ऋतु (क्लोज सीजन) के रूप में घोषित किया गया है।


Date : 20-Jun-2019

बेजा कब्जा कर निर्माण, पीडि़त सपरिवार कार्रवाई की मांग को लेकर नपा दफ्तर के गेट के सामने धरने पर
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद, 20 जून।
जिला मुख्यालय के वार्ड 13 आमापारा  निवासी कुंदन लाल ने अपने स्वामित्व की भूमि पर हो रहे अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लकेर परिवार समेत नपा दफ्तर के गेट के मने धरने पर है।

आवेदक कुंदन लाल ने कहा कि जब तक पालिका प्रशासन द्वारा अवैध निर्माण पर रोक नही लगाती हैं तब तक नगर पालिका के मुख्य गेट के सामने धरने पर लगातार बैठते रहेगा।

उसका कहना है कि न्यायालय तहसीलदार द्वारा नगर पालिका को तत्काल अवैध निर्माण पर रोक लगाने के साथ ही निर्माण सामग्री को जब्त करने के लिए निर्देशित किया गया था जिसके बाद भी नगर पालिका प्रशासन न्यायालय के आदेश  पर अब तक  कोई कार्यवाही नहीं की  है। कुंदन लाल ने बताया की मेरे हक ,अधिकार कब्जे की भूमि आमापारा बालोद पटवारी हल्का नम्बर 06 स्थित भूमि खसरा नम्बर 1046,33 रकबा 0,012 हेक्टेयर भूमिस्वामी ने दर्ज हैं। जिससे लगी हुई भूमि श्रीमती खेमा बाई की हैं। खेमा बाई द्वारा मेरे हक की भूमि पर गड्डा खोदकर निर्माण कर दी थी जिसके खिलाफ मेरे द्वारा पूर्व में न्यायालय तहसीलदार बालोद के समक्ष आवेदन प्रस्तुत कर अवैध निर्माण कार्य को तत्काल प्रभाव से रोके जाने की अपील की थी जिस पर न्यायालय तहसीलदार ने तत्काल सज्ञान लेते हुए अनावेदिका खेमा बाई को मेरे भूमिस्वामी हक की भूमि पर निर्माण नही किए जाने हेतु 22 अप्रैल 2019 को स्थगन आदेश जारी किया गया था। जिसके बावजूद खेमा बाई द्वारा निर्माण कार्य पर रोक नही लगाया हैं तथा न्यायालय तहसीलदार द्वारा पारित स्थगन आदेश का उल्लधन किया जा रहा है। 

 


Date : 20-Jun-2019

एसडीएम के प्रतिबंध के बाद भी बोर खनन
छत्तीसगढ़ संवाददाता
गुंडरदेही, 20 जून।
गुण्डरदेही मुख्यालय में  किस तरह बोर खुदाई जारी है। इसका एक नमूना देखने को मिला जब  बोर खनन व जमीन मालिक ने एसडीएम का अनुमति पत्र दिखाया। एसडीएम के पत्र में कहीं भी कृषि योग्य वाली जमीन पर बोर खनन की अनुमति अंकित नहीं किया गया है।

इस संबंध में डीआर कापसे एसडीओ पीएचई  ने कहा कि मेरे कार्यालय में और दर्जनभर किसान अनुमति लेने के लिए आए थे। लेकिन मैं किसी को अनुमति नहीं दिया हूं।  यह एसडीएम ने दिए हैं उनकी जिम्मेदारी है।

एसडीएम गुंडरदेही राम सिंह ठाकुर ने कहा कि कृषि कार्य के लिए बोर खनन की अनुमति दिया है लेकिन पत्र में कृषि लिखना भूल गया।

 छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा जिले की सभी कलेक्टर को 30 जून तक बोर खनन की प्रतिबंध लगा दी गई है, पर गुंडरदेही अनुविभागीय अधिकारी किस आदेश की पालन करते हुए उन्होंने कृषि योग्य जमीन पर बोर खनन की अनुमति दी है।  इसकी जानकारी  कलेक्टर रानू साहू को भी दी गई । कलेक्टर  को सुबह  मोबाइल नंबर पर फोन करने पर उन्होंने  रिसीव नहीं किया। उसके बाद संवाददाता ने इस बोर खनन की वीडियो और फोटो भी व्हाट्सएप से मैसेज किया फिर भी मैसेज का जवाब नहीं आया। 

 आज गुंडरदेही में बोर मशीन देखकर होटल, चौक चौराहों पर राजस्व विभाग की जमकर चर्चा हो रही है। पूर्व में इसी बात पर एक अधिकारी पर गाज गिरी थी। तब से राजस्व विभाग हरकत में आ गया था। ज्ञात हो कि  गुंडरदेही क्षेत्र में 480 फीट पानी नीचे चला गया है।  

 


Date : 19-Jun-2019

बीएसपी सीईओ ने ली कार्मिक अधिकारी और खदानों की यूनियनों के साथ बैठक 
सीटू ने उत्पादन की समस्याओं व कर्मियों की मांगों को प्रमुखता से रखा
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दल्लीराजहरा, 19 जून।
भिलाई इस्पात संयंत्र के नवनियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी अनिर्बन दासगुप्ता के प्रथम बार आईओसी राजहरा आगमन पर हिन्दुस्तान स्टील एम्पलाईज यूनियन (सीटू) ने स्थानीय बीएसपी सिटीजन क्लब में पुष्पगुच्छ भेंट कर उनका अभिनंदन किया तथा खदान में उत्पादन की समस्याओं एवं कर्मचारियों की मांगों को प्रमुखता से रखा गया।

 आईओसी राजहरा आगमन पर संयंत्र के नवनियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी अनिर्बन दास गुप्ता ने कार्यपालक निदेशक खदान मानस विश्वास एवं कार्यपालक निदेशक कार्मिक व प्रशासन केके सिंह तथा महाप्रबंधक खदान व रावघाट, आईओसी महाप्रबंधक, विभिन्न खदानों के इंचार्ज उप महाप्रबंधक व अन्य अधिकारी, कार्मिक अधिकारी एवं खदानों की समस्त यूनियनों के साथ बैठक ली। जिसमेें हिन्दुस्तान स्टील एम्पलाईज यूनियन की ओर से अध्यक्ष पुरूषोत्तम सिमैया, सचिव प्रकाश क्षत्रिय, संगठन सचिव ज्ञानेन्द्र सिंह, उपाध्यक्ष विनोद कुमार मिश्रा एवं सुजीत कुमार मुखर्जी ने बैठक में हिस्सा लिया। 

 बैठक में आईओसी राजहरा में उत्पादन की समस्याओं एवं कर्मचारियों की मांगों को रखते हुए सीटू सचिव प्रकाश सिंह क्षत्रिय ने कहा कि भिलाई इस्पात संयंत्र के विस्तारीकरण में बड़ी राशि खर्च की गई, लेकिन आईओसी राजहरा में उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रबंधन उचित खर्च नहीं कर रहा है, जबकि राजहरा व दल्ली माइंस का प्लांट काफी पुराना हो गया है। अत: यहां प्लांट मेन्टेनेंस को और मजबूत किया जाये तथा ओवरबर्डन हटाने के काम में और तेजी लाई जाए। वहीं मेन पावर की कमी को विशेष भर्ती द्वारा दूर किया जाए और कर्मचारियों के मनोबल में वृद्धि करने हेतु उत्पादन आधारित डेली रिवार्ड स्कीम एवं इंसेन्टिव रिवाइज किया जाए। इसके अलावा वेतन समझौता जल्द से जल्द हो सके, यह सुनिश्चित किया जाए। 
   यूनियन अध्यक्ष पुरूषोत्तम सिमैया ने कहा कि श्रमिकों की मूलभूत सुविधाओं में चिकित्सा एवं शिक्षा के स्तर में सुधार किया जाए, जिसके तहत राजहरा माइंस अस्पताल मेें डॉक्टरों की संख्या बढ़ाई जाए व अस्पताल के लिए एक और अतिरिक्त एंबुलेंस बढ़ायी जाए। इसके अलावा अध्यक्ष ने डीएवी स्कूल के भवन का कैपिटल रिपेयरिंग किये जाने, डीएवी शिक्षकों व स्टॉफ को सातवें वेतनमान एरियर सहित जल्द से जल्द दिये जाने के साथ ही बच्चों के लिए आईआईटी, जेईई, नीट कोचिंग चल सके, इसके लिए प्रबंधन से विशेष सहयोग प्रदान करने तथा फीस हेतु कुछ सब्सिडी प्रदान किये जाने का आग्रह किया। वहीं उन्होंने टाउनशिप के आवासों की मरंमत के लिए बजट बढ़ाने, स्वीकृत 96 नये आवासों का निर्माण जल्द कराने, स्वच्छ पेयजल हेतु फिल्टर प्लांट का आधुनिकीकरण कराने एवं मच्छरों के प्रकोप से बचाने के लिए प्रबंधन के पास स्वयं की फागिंग मशीन उपलब्ध कराने की मांंग रखी। 

सीटू उपाध्यक्ष विनोद कुमार मिश्रा ने ठेका मजदूरों की विभिन्न समस्याओं को रेखांकित करते हुए कहा कि अधिकांश ठेका मजदूर स्थायी व नियमित प्रकृति के काम कर रहे हैं अत: ठेका मजदूरों को भी मेडिकल सुविधा देना सुनिश्चित किया जाए। सभी ठेका में मिलने वाली सुविधाओं एवं वेतन भत्तों मेंं समानता लायी जाए तथा विभिन्न भत्तोंं मेंं वृद्धि की जाये। 

वहीं यूनियन उपाध्यक्ष ने ठेका श्रमिकों की समस्या निवारण हेतु ठेका श्रमिक समस्या निवारण प्रकोष्ठ का गठन करने, ओवरबर्डन हटाने या अन्य ठेका लंबे समय के लिए बंद न हो, यह सुनिश्चित करने तथा नियमित कर्मचारियों की तरह ठेका श्रमिकों की सेवानिवृत्ति उम्र 60 वर्ष करने की मांग की। 

 हिन्दुस्तान स्टील एम्पलाईज यूनियन पदाधिकारियों की उक्त समस्त मांगों पर मुख्य कार्यपालक निदेशक अनिर्बन दास गुप्ता ने प्रबंधन की ओर से सहमति व्यक्त कर यथा शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया तथा प्रतिमाह खदान का दौरा करने का आश्वासन दिया है। उनके इस आश्वासन का स्वागत करते हुए यूनियन पदाधिकारियों ने प्रबंधन को धन्यवाद प्रेषित किया। उपरोक्त जानकारी सीटू सचिव प्रकाश सिंह क्षत्रिय ने दी है।  


Date : 19-Jun-2019

सात सूत्रीय मांगों​ को लेकर मजदूर संध द्वारा जिला स्तरीय एक दिवसीय धरना प्रदर्शन, श्रम अधिकारी को ज्ञापन सौपा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बालोद,  19 जून।
छग भवन एव अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल की मजदूर हितेषी योजनाये प्रारभ करने व् 7 सूत्रीय मागो  को लेकर बुधवार को मजदूर संध द्वारा जिला स्तरीय एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर रैली निकाली। कलेक्टोरेट पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम जिला श्रम अधिकारी को ज्ञापन सौपा। 

इस अवसर पर मजदूरो ने राज्य सरकार के वादाखिलाफी करने पर नराजगी जाहिर करते हुए भूपेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व् सहायिका ने मजदूरों द्वारा की जा रही धरना प्रदर्शन स्थल पर पहुचकर समर्थन  किया हैं। बालोद जिला प्रभारी गुरमीत कौर ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व आचार संहिता का बहाना बनाकर श्रमिक हित सभी योजनाओ को बंद कर दिया हैं । 

विधानसभा के बाद लोकसभा चुनाव भी सम्पन हो चुके हैं किन्तु आज तक श्रमिक हित की योजनाए बंद हैं। वर्तमान स्थिति में कर्मकार मंडल में ना तो योजनाएं का क्रियान्यवन हो रहा हैं और न ही निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों का का पंजीकरण हो पा रहा है।               

धरना-प्रदर्शन में सयोजक भानुमति यादव, मजदूर सध के जिला अध्यक्ष रविशंकर साहू,महामंत्री यशोदा देशमुख,बालोद ब्लाक अध्यक्ष चित्रसेन साहू,भीमसेन निर्मलकर,ब्रजेश गुप्ता,जिला उपाध्यक्ष बरातूराम साहू,लोहारा अध्यक्ष बेदराम साहू,सकर राम,पीलू राम तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आशा,तुकेश्वरी,दुलेश्वरी साहू सहित बड़ी सख्या में महिला व् पुरुष मजदूर शामिल थे।