छत्तीसगढ़ » दुर्ग

Previous1234567Next
Date : 19-Oct-2019

अध्यक्ष चुनाव प्रणाली लागू करना कांग्रेस सरकार के लिए अपने अस्तित्व का डर है- मूलचन्द शर्मा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
साजा, 19 अक्टूबर।
राज्य में अब स्थानीय निकाय चुनाव में नगरपालिकाओं, निगमों के प्रमुखों का चुनाव पार्षद द्वारा किये जाने पर दोनों राजनीतिक पार्टियों की ओर से अलग-अलग प्रतिक्रिया आ रही है, जिसमें कांग्रेस पार्टी इस फैसले का स्वागत कर रही तो वहीं भाजपा इसका विरोध कर रहे हैं। 

 प्रदेश किसान मोर्चा कार्य समिति सदस्य मूलचन्द शर्मा ने कहा कि नगरीय निकाय चुनावों को अप्रत्यक्ष रूप से कराने का यह निर्णय कांग्रेस सरकार का अपनी साख बचाने के लिए लिया गया निर्णय है। अपनी गिरती लोकप्रियता और अस्तित्व का डर उसे यह करने के लिए मजबूर कर रही है। कांग्रेस सरकार को अपनी जमीनी हकीकत का अंदाजा हो गया है, कि वह अगर प्रत्यक्ष रूप से मतदान कराती है तो इस नगरीय निकाय चुनाव में उसे बुरी तरह हार का सामना करना पड़ेगा जो कि वह कतई नहीं चाहती है।

 मूलचंद शर्मा का कहना है कि लोकसभा चुनावों में जो करारी शिकस्त कांग्रेस पार्टी को नरेन्द्र मोदी व भाजपा की लोकप्रियता की वजह से मिली है उससे वह डरी सहमी है, उसे अपनी स्थिति का पता लग चुका है कि वह प्रत्यक्ष रूप से मतदान कराकर यह नगरीय निकाय चुनावों में सत्तारूढ़ नहीं हो सकती, वह निश्चित तौर पर प्रशासन का दुरूपयोग करेगी और शाम दण्डभेद का उपयोग करते हुए अपने चिरपरिचित अंदाज में, अलोकतांत्रिक तरीके से डर, भय पैदाकर यह चुनाव में जितने का हर संभव प्रयास करेगी। कार्यसमिति सदस्य ने कहा है कि सरकार के इस निर्णय का विरोध पूरे प्रदेश के भाजपाई कर रहे हैं। आवश्यकता पडऩे पर जनआन्दोलन भी हो सकता है। बैलेट पेपर से चुनाव कराने के निर्णय का भी तीव्र विरोध होगा। 


Date : 19-Oct-2019

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग द्वारा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर स्वच्छता प्रतियोगिता में साइंस कॉलेज प्रथम 

दुर्ग,19 अक्टूबर। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग द्वारा महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर महाविद्यालय परिसर की स्वच्छता एवं साफ-सफाई पर आधारित अंतर्महाविद्यालयीन स्वच्छता प्रतियोगिता में दुर्ग जिले में शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग ने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। दुर्ग जिले में द्वितीय स्थान पर शासकीय कन्या महाविद्यालय, दुर्ग तथा तृतीय स्थान पर शंकराचार्य कॉलेज, जुनवानी भिलाई ने कब्जा जमाया। साइंस कॉलेज, दुर्ग के प्राचार्य डॉ. आरएन सिंह ने बताया कि दुर्ग जिले में कुल 57 शासकीय/निजी एवं अनुदान प्राप्त महाविद्यालयों का स्वच्छता संबंधी मूल्यांकन दुर्ग विश्वविद्यालय द्वारा कराया गया था। 

इस संबंध में विभिन्न महाविद्यालयों की मूल्यांकन की जिम्मेदारी अग्रणी महाविद्यालय साइंस कालेज, दुर्ग को सौंपी गयी थी। साइंस कॉलेज, दुर्ग का मूल्यांकन कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने 2 अक्टूबर को महाविद्यालय का भौतिक रूप से भ्रमण करने के पश्चात किया था। प्राचार्य डॉ. आर.एन. सिंह ने बताया कि दुर्ग विष्वविद्यालय द्वारा उसके अंतर्गत आने वाले 5 जिलों के 3-3 महाविद्यालयों को स्वच्छता रैकिंग के आधार पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्रदान किया गया है। इन जिलों में राजनांदगांव में शासकीय महाविद्यालय, डोंगरगांव प्रथम, बालोद जिले में शासकीय महाविद्यालय अरमरीकला प्रथम, कबीरधाम जिले में शासकीय महाविद्यालय पाण्डातराई प्रथम तथा बेमेतरा जिले में समाधान महाविद्यालय, बेमेतरा को प्रथम स्थान मिला है। प्रत्येक जिले में प्रथम तीन स्थान प्राप्त महाविद्यालय के प्राचार्यों को 19 अक्टूबर को प्रात: 9.30 बजे हेमचंद विश्वविद्यालय, दुर्ग प्रागंण में आयोजित सम्मान समारोह में पुरस्कृत किया जायेगा।

 

 


Date : 19-Oct-2019

5 वर्ष से कम गंभीर कुपोषित बच्चों के पोषण स्तर में सुधार करने शासन द्वारा पोषण पुनर्वास केंद्र में कुपोषित बच्चों में हो रहा सुधार
लेखराम सोनवानी
उतई, 19 अक्टूबर (छत्तीसगढ़)।
गांधी 150 वीं जयंती पर राज्य शासन ने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना की शुरुआत किया है जिसमें 5 वर्ष से कम गंभीर कुपोषित बच्चों के पोषण स्तर में सुधार करने शासन द्वारा पोषण पुनर्वास केंद्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाटन में 2 अक्टूबर से संचालित किया जा रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के ही एक हिस्से को सुधार कर पुनर्वास केंद्र में बनाया गया है जिसमें बच्चों की सुविधा एवं सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है। बच्चों के मनोरंजन के लिए वीडियो गेम और टेलीविजन के माध्यम से बच्चों की माता को स्वास्थ्य सम्बन्धी एवं पोषण की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। वर्तमान में पुनर्वास केंद्र में 4 गंभीर कुपोषित बच्चे स्वास्थ्य एवं पोषण का लाभ ले रहे हैं उनके पोषण स्तर में बेहतर सुधार हो रहा है ।

जीवन दीप समिति मिल रहा सहयोग
केंद्र संचालित करने के लिए जीवन दीप समिति पाटन ने विशेष रूचि लेकर पोषण पुनर्वास केंद्र शुरू कराया है। भोजन बनाने एवं 2 केयर टेकर की व्यवस्था जीवन दीप समिति द्वारा की गई है। शासन द्वारा 2 स्टाफ नर्स नियुक्ति की गई है जो लगातार बच्चों के पोषण की ओर ध्यान देते हैं।

आंगनबाड़ी केंद्रों में प्रत्येक माह बच्चों की स्वास्थ्य जांच की जाती है, जिसमें गंभीर कुपोषित बच्चों की पहचान की जाती है, जिन्हें महिला बाल विकास विभाग के माध्यम से पुनर्वास केंद्र लाया जाता है, जहां अधिकतम 14 दिनों में बच्चे के स्वास्थ्य में सुधार हो जाता ह।

 बीएमओ आशीष शर्मा ने बताया कि शासन द्वारा कुपोषित बच्चे एवं उनकी माताओं को पूर्णत: नि:शुल्क सेवाएं दी जा रही हैं। भर्ती के समय की क्षतिपूर्ति राशि भी दी जाती है, इसके अलावा डिस्चार्ज के बाद 15 दिन में पहुचने पर भी राशि प्रदान की जाती है। श्री शर्मा ने बताया कि पोषण पुनर्वास केंद्र में पहला बच्चा गगन जब आया था तो बहुत सुस्त था एक जगह बैठे रहता था लेकिन अब दौडऩे लगा है जिसे अब डिस्चार्ज कर दिया जपएगा। डिस्चार्ज करने के बाद 15 दिन में फालोअप के लिये बुलाया जाता है ।

बढ़ रही है जागरूकता
पालकों में अपने बच्चे के स्वास्थ्य एवं पोषण के प्रति जागरूकता देखने को मिल रही है। रोजाना 5 से 6  पालक बच्चे के साथ आ कर बच्चे के सुपोषण के बारे में जानकारी चाहते है जिन्हें प्रशिक्षित स्टाफ द्वरा उन्हें उचित परामर्श एवं सलाह दी जा रही है। कुछ पालकों के द्वारा बच्चों के खिलौने दान में दिए गए हैं, जिससे बच्चे अपना मनोरंजन करते है। पोषण पुनर्वास केंद्र के अलावा महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी भी बच्चों के  स्वास्थ्य की जानकारी लेने पहुच कर उचित मार्गदर्शन देते हैं।

बेहतरी के लिये हो रहे प्रयास
गंभीर कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार के लिये प्रयास: किये जा रहे हैं इसके लिये स्वयं सेवी संस्थाओं से भी मदद ली जा सकती है। इसके अलावा ताजी साफ एवं पौष्टिक आहार के लिये सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के खाली हिस्से में सब्जी पैदा करने की भी योजना बनी है, जिससे बच्चो एवं उनकी माता को पौष्टिक सब्जी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अस्पताल में सब्जी पैदा की जाएगी।

 


Date : 19-Oct-2019

ट्रेन में सफर के दौरान निमित की मौत पर परिजनों ने टीटीई पर लापरवाही का लगाया आरोप

दुर्ग, 19 अक्टूबर। ट्रेन में सफर के दौरान निमित शर्मा की मौत पर उनके परिजनों ने ट्रेन में ड्यूटी कर रहे टीटीई द्वारा लापरवाही व असंवेदना का आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि यदि डोंगरगढ़ में ही चिकित्सा सुविधा मिल जाती तो शायद बच्चे की जान बच जाती।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना की जानकारी मिलते ही उनके परिजन बुधवार रात को ही दुर्ग पहुंच गए। उनकी मौजूदगी में गुरुवार को जिला अस्पताल की मरच्युरी में रखे डेड बाडी का पोस्ट मार्टम किया और शव के साथ परिजन रायगढ़ रवाना हुए। इस दौरान मृतक निमित के चाचा व अन्य रिश्तेदारों ने इस घटना के लिए ट्रेन में ड्यूटी कर रहे टीटीई द्वारा लापरवाही व असंवेदना बरतने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यदि डोंगरगढ़ में ही चिकित्सा सुविधा मिल जाती तो शायद बच्चे की जान बच जाती।

ज्ञात हो कि बुधवार को गोंडवाना एक्सप्रेस में सफर कर रहे निमित की मौत हो गई थी। इस दौरान निमित के साथ उनकी मां सविता शर्मा थी। निमित की बिगड़ी तबियत को देखते हुए उन्हें दोपहर 1.30 बजे दुर्ग स्टेशन पर उतार दिया गया। घटना की जानकारी मिलने पर मृतक के चाचा मनीष शर्मा, बच्चे के पापा के दोस्त गोविंद घोष बुधवार रात को ही मृतक निमित की दोनों छोटी बहन को लेकर दुर्ग पहुंचे थे। इसके बाद मनीष शर्मा एवं गोविंद ने रात को ही मृतक निमित की मां सविता शर्मा व दोनों बहनों को वापस रायगढ़ भेज दिया था। 


Date : 19-Oct-2019

सीएम के खिलाफ जमीन आबंटन प्रकरण का खात्मा- न्यायाधीश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दुर्ग, 19 अक्टूबर।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में दर्ज प्रकरण का खात्मा हो गया है। न्यायाधीश अजीत कुमार राजभानु की कोर्ट ने प्रकरण का खात्मा कर दिया है। प्रार्थी विजय बघेल की ओर से जबलपुर के वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेंद्र सिंह तथा शासन की ओर से लोक अभियोजक सुदर्शन महलवार ने पैरवी की थी। गुरुवार को कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि अपराध के तत्व प्रकट नहीं होते हैं कि आरोपी भूपेश बघेल द्वारा पदीय हैसियत का इस्तेमाल करते हुए स्वयं अथवा अन्य के अभिलाभ के लिए विधि विरुद्ध साधन के माध्यम से मूल्यवान चीज या धन संबंधी फायदा अभिप्राप्त किया गया है अथवा लोकसेवक के रूप में पद धारण करते हुए किसी व्यक्ति के लिए कोई मूल्यवान चीज या धन संबंधी फायदा किसी लोकहित में प्राप्त किया गया है। कोर्ट ने कहा कि मामले में विहित 3 हजार वर्गफीट से अधिक भूमि के आवंटन के संबंध में किसी नियम का उल्लंघन मान लिया जाए तो भी यह उस आवंटन कार्रवाई में अपास करने का एक विधिक आधार हो सकता है न कि किसी अपराधिक कार्रवाई पर लाभ प्राप्त कर सकता है।

उल्लेखनीय है कि साडा के अस्तित्व को रहने के दौरान मानसरोवर कालोनी में भूपेश बघेल की माता व पत्नी के नाम 6 -6  प्लाट अलाट किए गए थे. इसकी शिकायत 2016  में विजय बघेल, विरेंद्र पांडे तथा अशोक शर्मा में आईओडब्ल्यू से की थी। जांच में आईओडब्ल्यू ने इस शिकायत को आधार होना पाया। इस पर आईओडब्ल्यू ने केस का खात्मा करने कोर्ट में आवेदन लगाया था। सुनवाई के बाद कोर्ट ने इस प्रकरण का खात्मा करने का आदेश दे दिया है। इस प्रकरण के एक प्रार्थी एवं अधिवक्ता अशोक शर्मा ने कहा कि संपूर्ण दस्तावेज होने के बावजूद आईओडब्ल्यू द्वारा निष्पक्ष जांच नहीं गई है। इस आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट में आवेदन देकर सीबीआई द्वारा जांच की मांग की जाएगी।

 

 

 


Date : 19-Oct-2019

दीपावली, भिलाई-3 और चरोदा में होगी वैकल्पिक पार्किंग- नगर निगम अधिकारियों 

भिलाई नगर, 19 अक्टूबर। कल थाना पुरानी भिलाई में पुलिस एवं नगर निगम के अधिकारियों के साथ भिलाई-3 तथा चरोदा के प्रमुख व्यापारियों की आगामी दीपावली त्यौहार के परिप्रेक्ष्य में बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें सुरक्षित यातायात तथा दुर्घटना रहित त्यौहार के उद््देश्य से अनेक निर्णय लिये गये। 

बैठक में तय किया गया कि भिलाई-3 के सभी व्यापारी एवं उनके कर्मचारी अपने वाहनों की वैकल्पिक पार्किंग स्थल मिनी स्टेडियम में खड़ी करेगें जिससे दुकानों के सामने ग्राहकों के लिए अतिरिक्त स्थान उपलब्ध हो सके। मिनी स्टेडियम में व्यापारीगण अपने वाहनों की सुरक्षा हेतु गार्ड तैनात करेंगे तथा नगर पालिका निगम भिलाई-3 के द्वारा वहां प्रकाश व्यवस्था की जायेगी। 

पुलिस द्वारा त्यौहारी सीजन में भीड़ बढऩे पर बाजार के अंदर चार पहिया वाहन के प्रवेश को रोक दिया जायेगा। यदि कोई वाहन सर्विस रोड पर दुकानों के आसपास खड़ा करेगा तो उसे क्रेन से उठाकर हटाने के आलावा चालानी कार्यवाही की जायेगी। चरोदा के सभी व्यापारी एवं उनके कर्मचारी अपने वाहनों को वैकल्पिक पार्किंग स्थल काली मंदिर के सामने तथा हनुमान मंदिर के बाजू के मैदान में खड़ा करेंगें, जिससे दुकान के सामने ग्राहकों के लिए अतिरिक्त स्थल उपलब्ध हो। निर्धारित वैकल्पिक पार्किंग स्थल काली मंदिर के सामने मैदान एवं हनुमान मंदिर के बाजू मैदान हेतु व्यापारीगण अपने वाहनों की सुरक्षा हेतु गार्ड तैनात करेंगें तथा नगर पालिका निगम भिलाई-3 के द्वारा प्रकाश व्यवस्था की जायेगी। सर्विस रोड पर किसी भी प्रकार के वाहनों एवं ठेला इत्यादि को खड़ा नहीं होने दिया जायेगा और ऐसा करने पर पुलिस द्वारा वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। बैठक में सीएसपी छावनी विश्वास चंद्राकर, डीएसपी यातायात गुरजीत सिंह, थाना प्रभारी पुरानी भिलाई संजीव मिश्रा व व्यापारीगण ललित सोनी, लक्ष्मीचंद बोरा, नरेन्द्र माखिजा, धर्मचंद जैन, मनीष जैन, पंकज जैन, प्रकाश, लोहाना,विनोद जैन, संदीप जैन, आशीष जैन, पारख ब्रदर्स, शांति ज्वेलर्स, विजय ज्वेलर्स सति अन्य प्रतिष्ठानों के संचालकगण उपस्थित रहे।

 


Date : 19-Oct-2019

सामान्य सभा द्वारा मंगल भवन किराया निर्धारण कमेटी ने जनहित में लिया फैसला

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
भिलाई नगर, 19 अक्टूबर।
नगर पालिक निगम भिलाई-चरोदा भिलाई-तीन और चरोदा के दोनों मंगल भवन का किराया निर्धारण के लिए बनी कमेटी ने कल अपना निर्णय दे दिया है। सामान्य सभा द्वारा गठित इस कमेटी ने चार माह पहले महापौर परिषद द्वारा बढ़ाए गए किराया को जनहित में कम कर दिया। उल्लेखनीय है कि नगर पालिक निगम भिलाई चरौदा में 14 अक्टूबर को सम्पन्न परिषद् की सामान्य सभा में मंगल भवन भिलाई 3 एवं चरौदा के आरक्षण पर किराया राशि एवं अन्य राशि के साथ ही नियम शर्तो के निर्धारण के लिये श्रीमती चंद्रकान्ता मांडले महापौर की अध्यक्षता में सभापति विजय जैन सभापति, लोककर्म विभाग प्रभारी किशोर साहू, नेता प्रतिपक्ष संतोष तिवारी, सचेतक पार्षद दल दिलीप पटेल, वार्ड पार्षद राजेश दांडेकर, श्रीमती अपर्णा दास गुप्ता, आयुक्त कीर्तिमान सिंह राठौर, कार्यपालन अभियंता आरके चंद्राकर, सचिव अश्वनी चंद्राकर को शामिल करते हुये समिति गठित की गई। 

समिति द्वारा 18 अक्टूबर को बैठक आहुत कर मंगल भवन भिलाई 3, चरौदा के आरक्षण के लिये शुल्क एवं नियम शर्तों का निर्धारण किया गया। जिसके अनुसार प्रात: 6 से प्रात: 6 बजे तक 24 घंटे का किराया 13 हजार 200, धरोहर राशि 5 हजार रुपए, सफाई शुल्क 2 हजार, विद्युत शुल्क 1 हजार, जीएसटी 18 फीसदी होगी। पूर्व में एमआईसी ने किराया 20 हजार तय कर दिया था। चरोदा मंगल भवन किराया 20 हजार रुपए, धरोहर राशि 10 हजार रुपए, सफाई शुल्क 2500 रुपए, विद्युत शुल्क 15 सौ रुपए देना निश्चित किया गया था।

 समिति ने भिलाई-3 व चरोदा मंगल भवन के लिए आरक्षण पर किराये का निर्धारण किया है। इसमें सार्वजनिक/धार्मिक/सामाजिक आयोजनों के लिए किराया में रियायत दी गई है। हीं मांगलिक कार्यों के लिए किराया भिलाई-3 मंगल भवन का 13 हजार 200 एवं चरोदा के लिए 20 हजार रखा गया है। सामाजिक, धार्मिक और सार्वजनिक आयोजन के लिए भिलाई-3 मंगल भवन का किराया राशि 6 हजार रुपए तय की गई है। वहीं अन्य सुविधाओं के एवज् में दी जानी वाली राशि यथावत रखी गई है। चरोदा मंगल भवन के लिए किराया 8 हजार देना होगा। मांगलिक भवन का किराया प्रति 24 घंटे के आधार पर सुबह 6 से अगली सुबह 6 बजे तक के लिए तय होगा वहीं सामाजिक, धार्मिक और सार्वजनिक आयोजनों के लिए यह समय सुबह 6 बजे रात 10 बजे तक के लिए ही होगा। 


Date : 19-Oct-2019

क्रिश्चियन कॉलेज आफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी में एमजीएम फेस्ट के दूसरे दिन विभिन्न सांस्कृतिक और खेल आयोजन

भिलाई नगर, 19 अक्टूबर। क्रिश्चियन कॉलेज आफ इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी में एमजीएम फेस्ट के दूसरे दिन सोलो डांस प्रतियोगिता में 14 स्कूल के प्रतिभागियों ने परफार्मेंस दिया। उसके बाद रेसिटेशन तथा निबंध राइटिंग प्रतियोगिता हुई। नुक्कड़ नाटक के द्वारा लोगों को सामाजिक जागरूकता को दर्शाया गया फिर स्पीच काम्पिटिशन विभिन्न स्कूलों के बीच में हुआ। 

दूसरे दिन ही वॉलीबॉल, गोला फंेक, 100 मीटर, 400 मीटर दौड़, खो-खो, बास्केटबॉल आदि खेलों में एमजीएम स्कूल के विभिन्न राज्यों से आए हुए बच्चों ने भाग लिया। एमजीएम फेस्ट में सांस्कृतिक और खेलकूद दोनों चीजों का बहुत अच्छी तरह से बच्चों ने मजा उठाया तथा यहां के पकवानों का भी आनंद उठाया। दूसरे दिन का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद सभी खेलों तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों के विजेताओं के नाम की घोषणा की गई। उन्हें पुरस्कार भी दिया गया। गोला फंेक लड़कियों में मनदीप कौर एमजीएम सेक्टर 6 को प्रथम पुरस्कार, 100 मीटर दौड़ में सृष्टि शर्मा एमजीएम सेक्टर 6 को प्रथम पुरस्कार, लंबी कूद में प्रशांत मूर्ति एमजीएम कोरबा, 100 मीटर दौड़ संदीप कुलदीप एमजीएम सेक्टर 6, 400 मीटर दौड़ अदिति सिंह एमजीएम सेक्टर 6, तवा फेक आदित्य राज एमजीएम बोकारो को पुरस्कृत किया गया। 

 

 

 


Date : 19-Oct-2019

फेसबुक पर समाज विशेष के धर्म गुरुओं के खिलाफ टिप्पणी, आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तारी किया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 19 अक्टूबर।
गुरुवार की सुबह फेसबुक पर समाज विशेष के धर्म गुरुओं के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर माहौल गरमा गया। इस मामले की शिकायत पुलिस में किए जाने पर आरोपी के खिलाफ धारा 295 क तथा 153 क के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। आरोपी की गिरफ्तारी पुलिस द्वारा कर ली गई है। 

मामले की जानकारी के अनुसार इंदिरा मार्केट स्थित अग्रवाल मिष्ठान भंडार के संचालक ज्ञान अग्रवाल (43 वर्ष) द्वारा अपने फेसबुक पर समाज विशेष के गुरुओं पर टिप्पणी की गई थी। जिस पर आपत्ति जाहिर करते हुए लुचकी पारा निवासी आसिफ  खोखर ने सिटी कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। 

पुलिस के मुताबिक शिकायत में कहा गया है कि ज्ञान अग्रवाल द्वारा की गई टिप्पणी से समाज के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। शुक्रवार को समाज विशेष के कुछ लोग थाना पहुंचकर थाना प्रभारी से इस पर गंभीरता से कार्रवाई कर आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग की है, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

 माफी मांगी
 टिप्पणी पर विवाद होने की स्थिति को देखते हुए आरोपी ज्ञान अग्रवाल ने माफी मांगी। उन्होंने संबंधित पोस्ट को डिलिट करते हुए उसकी जगह समाज विशेष की भावनाओं को ठेस पहुंचने पर खेद जाहिर करते हुए माफी मांगी है।


Date : 19-Oct-2019

विधायक द्वारा लगातार शासन स्तर पर प्रयास से शहर के आवासहीनों को आशियाना देने कार्य शुरू किया 

दुर्ग, 19 अक्टूबर। नगर निगम क्षेत्र में 5 वें स्थल कंडरापारा वार्ड 34 में दलदल से भरी हुई सरकारी भूमि पर अब 637 गरीब परिवारों का आशियाना बनेगा। स्लम बस्तीवासियों के आग्रह पर विधायक द्वारा लगातार शासन स्तर पर प्रयास किया गया था। फलस्वरूप अब 30 करोड़ 57 लाख रुपए की राशि से प्रधानमंत्री आवास बनाने का कार्य ठेका एजेंसी ओम एसोसिएट्स द्वारा प्रारंभ कर दिया गया है। इसका भूमिपूजन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किया गया है। विधायक वोरा ने आवास की प्रगति की जानकारी ली, जिस पर अधिकारियों ने बताया कि दलदली जमीन के बगल में तालाब होने के कारण कार्य करने में असुविधा हो रही है आज से ही तालाब को खाली करने का कार्य एवं रिक्त भूमि के समतलीकरण का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है, जिससे आवास बनाने में रुकावट न हो एवं डेढ़ साल की तय सीमा में आवासहीनों को मकान उपलब्ध कराया जा सके। कार्यस्थल पर राजकुमार नारायणी, कन्या ढीमर, राजेश शर्मा, भोला महोबिया, प्रकाश गीते, विभा नायक, अंशुल पांडेय भी मौजूद थे।

 


Date : 19-Oct-2019

शिवसैनिकों ने निगम में भ्रष्टाचार, अनियमितताओं व साफ-सफाई में लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन कर पुतला दहन, जिलाधीश के नाम पर डिप्टी कलेक्टर सरोज महिलांगे को ज्ञापन सौंपा

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
दुर्ग, 19 अक्टूबर।
शिवसैनिकों द्वारा नगर निगम कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया गया। उन्होंने निगम में भ्रष्टाचार, अनियमितताओं व साफ -सफाई में हो रही लापरवाही का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इसके पश्चात सांकेतिक रूप से पुतला दहन कर जिलाधीश के नाम पर डिप्टी कलेक्टर सरोज महिलांगे को ज्ञापन सौंपा गया। यह प्रदर्शन छत्तीसगढ़ शिवसेना के प्रदेश महासचिव डॉ. आनंद मल्होत्रा, प्रदेश संगठन सचिव राजेश ठावरे, प्रदेश उपाध्यक्ष शिवराम केशरवानी के मार्गदर्शन में हुआ।

शिव सेना के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रमेश गोस्वामी ने बताया कि नगर   निगम क्षेत्र में गरीबों को व्यवसाय हेतु आबंटित किए गए मुख्यमंत्री स्वालम्बन योजना के तहत दुकानों की जांच किया जाए और जो भी किराएदार बतौर दुकान का कब्जा किए बैठे हैं उन्हें तत्काल बाहर कर जरूरत मंद बेरोजगारों को उपलब्ध कराया जावे। नगर निगम द्वारा मुख्यमंत्री स्वालंबन योजना के अंतर्गत जितने भी दुकानें बनी हुई है, सभी दुकानों के आबंटन को रद्द किया जाए। शिवसैनिकों ने तालाबों के गहरीकरण व सौंदर्यीकरण की जांच की भी मांग की है। इसके अलावा सडक़ों के मरम्मत, पुष्पवाटिका का जीर्णोद्धार, संपत्ति कर एवं जलकर में की गई वृद्धि को कम करने संबंधी अन्य मांग की है। धरना प्रदर्शन में सौरभ लक्की शर्मा, पप्पू मानिकपुरी, प्रदीप ठाकुर, भानु साहू, खिलेश निर्मलकर, अरूण गंधर्व, सोनू सिन्हा, कुष पटेल, प्रफुल्ल दुबे, चंदू देवांगन, अजय सागरवंशी, अंकित साहू, शिवा राजपूत सहित बड़ी संख्या में शिवसैनिक मौजूद थे। 

 


Date : 18-Oct-2019

अनियंत्रित बस पिल्लर से टकराई, चालक यात्री समेत 10 घायल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।
दुर्ग से रायपुर की ओर जा रही एक बस कोसानाला टोलप्लाजा के पास कल शाम हादसे का शिकार हो गई। एक कार को बचाने के चक्कर में बस का चालक नियंत्रण खो बैठा और टोल गेट के पिल्लर से टकरा गया। हादसे में बस चालक समेत 10 लोग घायल हो गए हैं। चालक के दोनों पैर की हड्डी टूट गई है वहीं बाकी यात्रियों को भी गंभीर चोट लगी है। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

जानकारी के मुताबिक दुर्ग से रायपुर जा रही गरीब नवाज ट्रेवल्स की बस सीजी-07 एफई 1655 हादसे का शिकार हुई। बस का चालक हरिशचंद्र पाटिल टोल गेट नंबर-1 से जा रहा था। इसी दौरान एक कार चालक बस को ओवरटेक कर उसी गेट के सामने आ गया। कार को बचाने के चक्कर में चालक ने गेट नंबर-2 की तरफ बस को किया, बस टोल गेट के पिल्लर से टकरा गई। हादसे में बस चालक हरीशचंद्र पाटिल बुरी तरह से घायल हो गया। सुपेला पुलिस ने उसे किसी तरह से बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया। घायल यात्रियों में खुुर्सीपार निवासी पुष्पा 43 वर्ष, अंकलाहिन 65 वर्ष, कोलकाता निवासी सव्या साक्षी 28 वर्ष, भनपुरी निवासी अनिल कुमार 35 वर्ष, कवर्धा निवासी ओमकार शर्मा 27 वर्ष, ओडिशा निवासी शैलेंद्री 55 वर्ष, चरोदा निवासी उग्रसेन सोना 40 वर्ष, दमयंती सोना 37 वर्ष और उत्तर प्रदेश बलिया के रवि सिंह घायल हुए हंै। सभी को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला में भर्ती कराया गया है। सुबह हास्पिटल के चिकित्सकों ने जानकारी दी कि घायलों की हालत खतरे से बाहर है।

 


Date : 18-Oct-2019

शिव शक्ति महिला मंडल के तत्वावधान में नौ दिवसीय पंचकुण्डीय शिवशक्ति रुद्र महायज्ञ कोसानगर शिव मन्दिर में किया 

भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।  शिव शक्ति महिला मंडल के तत्वावधान में नौ दिवसीय पंचकुण्डीय शिवशक्ति रुद्र महायज्ञ का शुभारम्भ कोसानगर शिव मन्दिर में किया गया। कथा व्यास आचार्य कृष्णजी ने बताया कि 14 अक्टूबर से कथा प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से सायं 6 बजे तक चल रही है। समापन 22 अक्टूबर को होगा। प्रथम दिवस पंचांग पूजन के साथ ही दस विधि स्नान एवं मण्डप-प्रवेश के साथ ही शिव महापुराण की कथा प्रारम्भ हुई। 

 


Date : 18-Oct-2019

बीएसपी के दूरसंचार विभाग द्वारा संयंत्र कर्मियों एवं क्षेत्रवासियों के लिए महत्वपूर्ण इंक्वायरी सेवा गुपचुप तरीके से बंद 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।
बीएसपी के दूरसंचार विभाग द्वारा संयंत्र कर्मियों एवं क्षेत्रवासियों के लिए महत्वपूर्ण इंक्वायरी सेवा बिना किसी पूर्व सूचना के बंद करने का निर्णय लिया है। विगत कई वर्षों से बीएसपी द्वारा यह प्रदत्त सेवा विपरीत समय में संयंत्र, संयंत्र कर्मियों एवं क्षेत्रवासियों के लिए वरदान साबित होते रही है। समय-समय पर संयंत्र के भीतर होने वाली दुर्घटना हो या आसपास के रहवासी क्षेत्र में उपरोक्त सेवा ने प्राण रक्षक की भूमिका निभाई है यह सेवा सातों दिन 24 घंटे प्रदान की जाती रही हैं। केवल 00 डायल के माध्यम से किसी भी इमरजेंसी सेवा, यह संयंत्र के भीतर उत्पादन से जुड़ी हुई सुविधाएं आसानी से उपलब्ध होती रही हैं, जो कि व्यावहारिक दृष्टिकोण से ही भी बहुतायत में आसानी से उपयोग की जाती रही है। 

उपरोक्त सुविधाओं को अब एक वेबसाइटलिंक के माध्यम से उपलब्ध करवाकर केवल बीएसपी के पर्सनल नंबर एवं पासवर्डधारकों तक ही सीमित कर दिया गया है और यह प्रक्रिया भी अधिकांश कर्मियों की समझ में भी काफी कठिन है। किसी भी जीवन रक्षक सेवाओं के लिए इस तरह की सेवाओं को बंद करना न्यायोचित कदापि नहीं ह, जहां सदैव बीएसपी ने सामाजिक उत्तरदायित्व के अपने कर्तव्यों को बढ़-चढक़र निभाया है वहीं इस तरह के तुगलकी फरमान को जारी कर संयंत्र की ख्याति को नुकसान पहुंचाने की मंशा को स्वीकार नहीं किया जा सकता। हिंदुस्तान स्टील एंप्लाइज यूनियन सीटू ने मांग की है कि इस तरह के महत्वपूर्ण नागरिक सेवाओं पर अड़ंगा लगाकर संयंत्र की ख्याति को धूमिल ना किया जाए अपितु पूर्व की सुविधाओं को जारी रखते हुए इनमें अतिरिक्त सुधार करते हुए इस महत्वपूर्ण सुविधा की महत्ता को सुनिश्चित किया जाए। इस संदर्भ में हिंदुस्तान स्टील एंप्लाइज यूनियन सीटू ने एक पत्र कार्यपालक निदेशक (संकार्य) को भी प्रेषित किया है।


Date : 18-Oct-2019

जिला और शिक्षा प्रबंधन के प्रयास से शंकरा विद्यालय में हड़ताल खत्म, निलंबन वापस

भिलाई नगर, 18 अक्टूबर। श्री शंकरा विद्यालय सेक्टर 10 में स्कूल प्रबंधन, जिला और शिक्षा प्रबंधन व पालक संघ की मध्यस्थता में कल मध्यान्ह संपन्न बैठक में दो दिन से चल रहा स्कूल स्टॉफ का आंदोलन खत्म हो गया। नतीजतन आज से स्कूल में नियमत: क्लासेस लगीं और पढ़ाई भी हुई। 

बैठक में स्कूल के स्टाफ ने प्रबंधन के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। दो घंटे तक चली बैठक में स्कूल स्टाफ ने पूरी वस्तुस्थिति के लिए स्कूल के अध्यक्ष स्वामीनाथन को जिम्मेदार बताया। स्वामीनाथन के तानाशाहीपूर्ण रवैये की वजह से स्कूल स्टाफ को आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा। इसके पहले स्कूल के स्टाफ ने विधायक देवेन्द्र यादव से सेक्टर 5 स्थित उनके निवास पर अपनी समस्याओं को लेकर चर्चा की। विधायक ने जिला शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन को निर्देशित किया कि शिक्षकों की समस्याओं का शीघ्र ही समाधान करें। 

बैठक के बाद स्कूल प्रबंधन ने 16 स्कूल स्टाफ को दिया गया निलंबन नोटिस जिला और शिक्षा प्रबंधन की समझाईश पर वापस ले लिया। स्कूल में व्याप्त विभिन्न अनियमितताओं को लेकर स्कूल का स्टाफ पिछले दो दिनों से आंदोलन के तहत धरने पर बैठा था। आंदोलन के पश्चात स्कूल प्रबंधन ने 16 स्टाफ को निलंबित करने के संबंध में नोटिस जारी कर दिया था। स्कूल परिसर में कल संध्या 4 बैठक प्रारंभ हुई जो लगभग दो घंटे तक चली जिसमें निर्णय लिया गया कि, टीचर्स का सस्पेंशन कैंसल, शुक्रवार से टीचर्स स्कूल आएंगे, स्कूल सुचारु रूप से संचालित होगा, पे रिवीजन के लिए कमेटी गठित हुई, 5 नवम्बर को जिला प्रशासन टीचर्स और प्रबंधन के बीच फिर बैठक होगी।

 स्कूल स्टाफ ने कहा कि समस्या की जड़ कमेटी प्रेसीडेंट स्वामीनाथन हैं उनका तानाशाही पूर्ण रवैया, टीचर्स को धमकाना, बार बार नोटिस देना, एक मिनट लेट हो तो पेमेंट काटना, प्रिसिपल को शिकायत करने पर प्रिंसीपल को स्वामीनाथन द्वारा अधिकार न देना, छोटी-छोटी बात को लेकर टीचर्स के साथ दुर्व्यवहार करने की वजह से टीचर्स में रोष पनपा। सीबीएसई नॉम्स से सैलरी न मिलना, छुट्टी न मिलना इन सब मुद्दों के सम्मानजनक निराकरण के लिए बैठक में एक कमेटी गठित करने का निर्णय लिया गया। 

बैठक में चर्चा में यह बात भी सामने आई कि 10 अक्टूबर को बिना किसी को बताये स्वामीनाथन ने नये पीटीए का गठन कर दिया गया, इसकी शिकायत जिला शिक्षा अधिकारी, कलेक्टर, आयुक्त को लिखित में की गई। इसके पीछे भी अध्यक्ष स्वामीनाथन के ताना शाही रवैये को जिम्मेदार बताया गया। बैठक में प्रदर्शनकारी स्टाफ ने एसडीएम और जिला शिक्षा अधिकारी से निवेदन किया गया कि स्वामीनाथन की उपस्थिति में बैठक कर शिक्षकों की समस्याओं को सुनें। बैठक में प्रिसिपल कल्पना, अध्यक्ष स्वामीनाथन, जिला शिक्षा अधिकारी श्री बघेल, पालक संघ से मेहरबान सिंह, अतिरिक्त कलेक्टर श्री शांडिल्य, स्कूल सचिव टी रामचन्द्रन, टीचर्स गुरमीत, सुनील सिंह, तालुकदार मैडम, सीएसपी अजीत कुमार यादव, टीआई राजेश बागड़े भी उपस्थित थे।

 


Date : 18-Oct-2019

पुलिस महकमे द्वारा नशा मुक्ति अभियान के तहत रिसाली में नशीली दवा के साथ आरोपी गिरफ्तार, नशीली औषधि दवाइयां जब्त 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।
पुलिस महकमे द्वारा नशा मुक्ति अभियान जिओ खुलकर के तहत लगातार अवैध कारोबार के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। रिसाली में नशीली दवा के साथ आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। ो

कल थाना प्रभारी नेवई के निर्देशन में उप निरीक्षक केएल गौर द्वारा शमीम सुपर मार्केट रिसाली के पास आरोपी अनिल सिंह निवासी आजाद मार्केट रिसाली थाना नेवई के कब्जे से ओएनआरईएक्स सिरप 100 एमएल 15 नग, डब्ल्यूएलएन सीओआरईएक्स सिरप 100 एमएल 20 नग एवं एएलपीआरएसीएएन 0.5 एमजी टीएबीईटी एएलपीआरओजेडओएलए एएम-750 टीएबीएलईटी, एएलपीआरओडब्ल्यूआईएन 0.5 एमजी एएल पीआरओजेडओएलएएम 320 टीएबीएलईटी नशीली औषधि दवाइयां जब्त की गईं। प्रतिबंधित इन दवाओं की कुल कीमत लगभग साढ़े सात हजार रुपये है। थाना नेवई पुलिस स्टाफ एवं औषधि निरीक्षक दुर्ग द्वारा संयुक्त कार्यवाही कर थाना नेवई में एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध कायम कर विवेचना में लिया है। इसके अलावा पुलिस प्रशासन द्वारा नशे के खिलाफ  प्रचार-प्रसार करने एवं जनता को जागरुक करने व नशे के आदी लोगों को पुर्नवास कराने का कार्य किया जा रहा है एवं नशे व्यापारी एवं अवैध व्यापार करने वालों के खिलाफ भविष्य में भी कार्यवाही जारी रहेगी। यह अभियान अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दुर्ग हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक प्रखर पाण्डेय के मार्गदशन में एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर रोहित झा, नगर पुलिस अधीक्षक भिलाई नगर अजीत यादव एवं नगर पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला नोडल अधिकारी नशा मुुक्ति अभियान के नेतृत्व में संचालित है।

 

 


Date : 18-Oct-2019

भिलाई इस्पात संयंत्र के डिप्लोमा इंजीनियर्स ने अपनी मांगों को लेकर बीएसपी प्रबन्धन के खिलाफ काली पट्टी बांध जताया विरोध

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।
भिलाई इस्पात संयंत्र के डिप्लोमा इंजीनियर्स ने गुरुवार को एक बार फिर अपनी मांगों को लेकर बीएसपी प्रबन्धन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीएसपी के मेन गेट में सभा के माध्यम से सभी ने कल काली पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया। वहीं बाइक रैली निकालकर अब प्रबंधन को आर पार की लड़ाई की चेतावनी भी दी है। गौरतलब हो कि भिलाई इस्पात सयंत्र में कार्यरत लगभग 2 हजार डिप्लोमा इंजीनयर्स तीन साल से अपने पदनाम की मांग कर रहे हैं। वर्तमान में कार्यरत डिप्लोमा इंजीनयर्स को ऑपरेटर कम टेक्नीशियन और टेक्नीशियन के नाम से जाना जाता है। इन कर्मचारियों की मांग है कि उन्हें जूनियर इंजीनियर, असिस्टेंट इंजीनियर और सीनियर इंजिनियर के नाम से जाना जाए। डिप्लोमा इंजीनियर्स के अनुसार इस्पात मंत्रालय में वर्ष 2017 सितंबर में एक आदेश पत्र बीएसपी प्रबन्धन को जारी किया था जिसमें इंजीनियर्स के पदनाम परिवर्तित करने का निर्देश दिया गया था लेकिन बीएसपी प्रबन्धन ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की नतीजतन डिप्लोमा इंजीनियर्स अब भी टेक्नीशियन-ऑपरेटर पदनाम से कागजातों में भी जाने जा रहे हैं। समय समय पर इन्हें आश्वासन भी मिला लेकिन पदनाम नहीं बदले जाने से इनमें रोष व्याप्त है जिसके चलते इन्हें प्रदर्शन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा।


Date : 18-Oct-2019

बड़े नेताओं के बंगले में उमड़ रही दावेदारों की भीड़, भाजपाई विरोध के बीच उमडऩे लगे कांग्रेसी दावेदार
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दुर्ग, 18 अक्टूबर।
महापौर टिकट के दावेदार भले ही ठंडे पड़ गए हों, लेकिन पार्षद टिकट चाहने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। क्योंकि अब पार्षदों के बीच से ही महापौर चुना जाना है, इसलिए कई ऐसे नेता भी उत्साहित है, जिन्हें सीधे महापौर निर्वाचन के लायक नहीं गया। 

दिग्गज नेताओं के बंगलों में दावेदारों का हुजूम उमड़ रहा है। बाकायदा बायोडेटा लेकर पहुंच रहे ये दावेदार पार्षद कम, महापौर चुने जाने के ख्वाब ज्यादा देख रहे हैं। कांग्रेस में जहां गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और विधायक अरूण वोरा के यहां दावेदारों की बंगला परिक्रमा शुरू हो गई है वहीं, भाजपा फिलहाल चुनावी प्रक्रिया में बदलाव के विरोध पर ज्यादा ध्यान दे रही है। 

अब तक कांग्रेस की टिकट का फैसला वोरा निवास से होता आया था, किन्तु इस बार हालात बदले हुए नजर आ रहे हैं। वोरा निवास को साहू निवास से खुली चुनौती मिल रही है। जगजाहिर है कि कांग्रेस के भीतर कई गुट है। अरूण वोरा के लगातार विधायक निर्वाचित होने के बाद बाकी के गुट शांत पड़ गए थे, किन्तु प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने, ताम्रध्वज साहू के गृहमंत्री बनने से राजनीतिक स्थितियां बदली है। वर्तमान हालात यह है कि जितने दावेदार वोरा निवास पर पहुंच रहे हैं, उससे कहीं ज्यादा लोग गृहमंत्री के निवास में पहुंच रहे हैं। इसके चलते कांग्रेस के ही भीतर यह सवाल उठ रहे हैं कि कांग्रेस की टिकटों का फैसला कौन करेगा? 

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि भले ही दुर्ग शहर के विधायक अरूण वोरा है, किन्तु गृहमंत्री होने के कारण ताम्रध्वज साहू भी अपने समर्थकों को टिकट दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे। शायद यही वजह है कि वोरा गुट से दीगर लोग ताम्रध्वज साहू के यहां पहुंच रहे हैं। जानकारों के मुताबिक, वोरा निवास को लेकर लोगों में कई तरह की बातें प्रचलित है, इसलिए अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति के लिए कई लोग गृहमंत्री को साधने में लगे हैं। पार्टी द्वारा आयोजित गांधी विचार यात्रा का समापन हाल ही में हुआ है और पार्टी से जुड़े लोगों की मानें तो इस यात्रा को जनता ने बहुत ज्यादा तवज्जो नहीं दी। शहर कांग्रेस के तमाम बड़े नेता ब्लाक स्तर पर इस यात्रा के माध्यम से गली-गली घूमे। 

इधर, भाजपा में चुनाव को लेकर कहीं कोई तैयारी नजर नहीं आ रही है। प्रदेश सरकार ने महापौर के प्रत्यक्ष निर्वाचन को रद्द कर दिया।

 भाजपा को लगता है कि सरकार के इस कदम से उसे नुकसान उठाना पड़ेगा, क्योंकि निर्वाचन की सबसे छोटी इकाई पार्षदों का झुकाव ज्यादातर सत्तारूढ़ दल के प्रति रहता है। वहीं भाजपा को शहरों की पार्टी कहा जाता रहा है। शहरों में उसका खासा जनाधार है। 

खासकर दुर्ग शहर की बात करें तो पिछले 4 बार से यहां भाजपा के महापौर ही निर्वाचित होते आए हैं। यही वजह है कि भाजपा चुनाव प्रक्रिया के विरोध में उतर आई है। पार्टी कार्यालय में वैसे तो सरकार बदलने के बाद से ही सन्नाटा है, किन्तु चुनावी आहट के बीच भी यहां रौनक नहीं जम पा रही है। हालांकि पार्टी के नेता चुनावों को अभी दूर बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि त्यौहारों के बाद कार्यालय में रौनक लौटेगी। दूसरी ओर विधानसभा का चुनाव पूरी दमदारी से लडऩे वाली जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ शहर से करीब-करीब साफ हो चुकी है। उसके कई बड़े नेता पार्टी छोड़ चुके हैं, जो कुछ बचे हैं, उनकी कहीं कोई गतिविधि नजर नहीं आती। इन हालातों में निकाय चुनाव में ये पार्टी कुछ ज्यादा कर पाएगी, ऐसी संभावना नजर नहीं आती।
०००

 


Date : 18-Oct-2019

प्रेम विवाह बाद दो उद्योग घरानों में उपजा विवाद रास्ता रोक अमानवीय कृत्य, जुर्म दर्ज

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 18 अक्टूबर।
शहर के एक उद्योगपति ने दूसरे के साथ मारपीट कर मुंह पर कालिख पोता और उसे जबरिया मल-मूत्र खिलाया, ऐसी लिखित शिकायत के मामले में काफी मशक्कत के बाद खुर्सीपार पुलिस ने उद्योगपति व भिलाई अग्रवाल समाज के अध्यक्ष नेहरू नगर पूर्व निवासी बंशी अग्रवाल, होटल संचालक आशीष गुप्ता सहित लगभग आधा दर्जन लोगों के खिलाफ धारा 323, 341, 342, 355, 506 व 34 के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया है। 

गौरतलब हो कि यह मामला दो औद्योगिक घरानों है। पता लगा है कि आरोपी की एमबीबीएस कर रही पुत्री ने पीडि़त के पायलट पुत्र के साथ ग्वालियर मध्यप्रदेश में विगत दिनों शादी कर ली। प्रेमविवाह की खबर लगते ही विवाद बढ़ा और आरोप प्रत्यारोप लगने लगे। 

पुलिस ने बताया कि मकान क्रमांक 7/11 नेहरु नगर पश्चिम निवासी पीडि़त योगराज अग्रवाल का उद्योग खुर्सीपार में है। पीडि़त के पुत्र अंकित ने उद्योगपति बंशी अग्रवाल की बेटी से आपसी रजामंदी से ग्वालियर में विवाह कर लिया है। पीडि़त के मुताबिक इस विवाह की जानकारी नेहरु नगर निवासी बंशी अग्रवाल को हुई तो वह लगातार दबाव बनाता रहा। 

योगराज अग्रवाल के मुताबिक गुरुवार को दोपहर करीब पौने एक बजे वह भिलाई तीन से अपने आफिस के लिए निकले थे। डबरापारा से ट्रांसपोर्ट नगर रोड की तरफ कार से जाने के दौरान इसी मार्ग पर बंशी अग्रवाल की एक फैक्ट्री भी है। उसके सामने बंशी ने अपनी कार को लगाकर पीडि़त के कार को रोक दी। उसके बाद बंशी के साथ विनोद, आशीष गुप्ता समेत अन्य पांच कर्मचारियों ने योगराज को कार से बाहर निकाला और उनकी टी शर्ट उतारकर पीटते रहे। इस दौरान मलमूत्र भी खाने मजबूर किया और चेहरे पर पेशाब किया।
 पीडि़त के मुताबिक मारपीट करने वाला उद्योगपति बंशी अग्रवाल भिलाई अग्रवाल समाज का अध्यक्ष भी है। पैसे से काफी मजबूत होने के कारण उसने पुलिस में शिकायत करने पर परिवार को जान से मारने की धमकी दी है। 

योगराज अग्रवाल के अनुसार उसे आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने को लेकर खुर्सीपार व भिलाई तीन थाने का चक्कर लगवाया गया। काफी मशक्कत के बाद खुर्सीपार पुलिस ने लिखित शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया। योगराज के अनुसार वारदात को 24 घन्टे होने जा रहा है लेकिन पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की है। इस संबंध मे बंशी अग्रवाल व आशीष अग्रवाल से उनका पक्ष लेने का प्रयास किया गया लेकिन मोबाइल लगातार बंद मिला।


Date : 18-Oct-2019

दुकान के बाहर फैलाकर व्यवसाय करने वालों पर होगी कार्रवाई- पुलिस यातायात विभाग
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दुर्ग, 18 अक्टूबर।
नगर निगम दुर्ग सीमा क्षेत्र के शनिचरी बाजार क्षेत्र, जवाहर चौक, गांधी चौक,  इंदिरा मार्केट, कुॅआ चौक, मोती काम्पलेक्स, फूल बाजार,एरिया, होटल मान क्षेत्र, इंदिरा मार्केट पार्किंग क्षेत्र, फरिश्ता काम्पलेक्स स्टेशन रोड में पुलिस यातायात विभाग, पुलिस बल, और नगर निगम प्रशासन के अधिकारी और कर्मचारी शनिवार से दीपावली त्योहार तक सुबह से शाम तक अभियान चलाया जाएगा। 

बाजार के अंदर, बाहर किसी भी दुकानदार द्वारा पसरा, ठेला, दुकान के बाहर तक सामान रख कर व्यवसाय करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी. वहीं केवल त्योहार के समय दिया। फूल माला, फोटो बेचने वाले लोग बाजार क्षेत्र में एक लाईन से दुकान लगाकर व्यवसाय करेंगें। अव्यवस्थित पसरा, ठेला व दुकान लगाने पर सामान जप्ती की कार्यवाही की जाएगी। बैठक में नगर अधीक्षक विवके शुक्ला, सीएसपी गुरुमीत सिंह, एसपी रोहित झा, निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन, श्रीमती कुर्रे तथा निगम के अतिक्रमण प्रभारी शिव शर्मा, राजू बख्शी व अन्य उपस्थित थे।

दीपावली त्योहार को देखते हुये पुलिस प्रशासन व निगम प्रशासन सक्रिय होकर कार्य की योजना बनाये हैं। इसके लिए नगर पालिक निगम दुर्ग के समस्त बाजार क्षेत्रों में त्योहार के दौरान यातायात व्यवस्थित रखने तथा बाजार के अंदर व्यवस्था सुचारु रखने एडिशनल एसपी के निर्देशन में पुलिस प्रशासन एवं निगम प्रशासन के अधिकारियों की बैठक ली गई। बैठक में एडिशनल एसपी ने कहा कि त्योहार सीजन में शहर के बाजारों में यातायात का अधिक दबाव रहता है वहीं सडक़ों किनारे व बाजार के अंदर बीच-बीच में लोग ठेला, पसरा लगा लेते हैं वहीं स्थायी दुकानदार अपना सामान विक्रय करने दुकान के बाहर तक सामान फैलाकर रख देता है इससे आवाजाही बाधित होता है इसके अलावा दो पहिया वाहन, चार पहिया वाहन बाजार के अंदर तक ले जाते हैं। इससे यातायात जाम हो जाता है वहीं बाजार आने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। शहर की जनता का राहत पहुंचाने शनिवार से अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। वहीं बाजार आने वाले ग्राहकों, लोगों के लिए पार्किंग की समुचित व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने बताया बाजार क्षेत्र में व्यवस्था सुचारु बनाये जाने के लिए अस्थायी पुलिस सहायता केन्द्र कुॅआ चौक इंदिरा मार्केट, पांच कंडिल और शनिचरी बाजार क्षेत्र में बनाया जाएगा। यहॉ पर पुलिस बल के साथ ही निगम के अधिकारी अपनी ड्यूटी देगें। साथ ही अव्यवस्था फैलाने वालों के सामान जप्त की कार्यवाही करेगें। शनिवार से अभियान प्रारंभ हो रहा है। पुलिस प्रशासन व निगम प्रशासन के अधिकारी आज से ही भ्रमण कर सभी दुकानदारों, पसरा ठेला वालों को ताकीद करेगें, ताकि वे व्यवस्थित रहकर अपना व्यवसाय कर सके।

 सबसे पहले दोपहिया और चारपहिया वाहनों को बाजार के अंदर जाने से रोकने के लिए टीबी हास्पीटल मैदान और पशु चिकित्सालय के रिक्त जगह को पार्किंग के लिए चिन्हित किया गया है। इंदिरा मार्केट बाजार आने वाले लोग अपनी वाहनें यहॉ खड़ी कर सकेगें। इसी प्रकार सराफा बाजार आने वाले लोगों के लिए शनीचरी बाजार स्थित निगम की रिक्त भूमि में पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है सराफा बाजार आने वाले लोग अपनी गाड़ी यहॉ खड़ी कर सकते हैं। इन जगहों पर समतलीकरण कर लाईट प्रकाश व्यवस्था करने निर्देश दिये गये। पुलिस बल और निगम अधिकारी भ्रमण कर व्यवस्था पर नजर रखेगें। किसी भी प्रकार की स्थिति को बिगाडऩे पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी जिसके वे लोग ही जिम्मेदार होंगे।

 


Previous1234567Next