छत्तीसगढ़ » दुर्ग

Previous123456789...4243Next
12-Apr-2021 7:48 PM 10

जिला अस्पताल एवं सीएम कचांदुर में सुविधा बढ़े- वोरा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 12 अप्रैल।
प्रदेश में कोरोना नियंत्रण को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विधायकों से चर्चा की। जिसमें सर्वाधिक प्रभावित दुर्ग जिला मुख्यालय से वरिष्ठ विधायक अरुण वोरा ने कोरोना के एग्रेसिव उपचार की मांग रखते हुए कहा कि जिले के सरकारी अस्पताल में बिस्तरों की संख्या के साथ सुविधाएं बढ़ाने की आवश्यकता है। डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत गरीबों को निजी अस्पतालों में भी मुफ्त इलाज की सुविधा मिल सके। वेंटिलेटर, आईसीयू और ऑक्सीजन बेड के साथ ही कोरोना नियंत्रण में कारगर रेमडेसिविर की अधिक से अधिक आपूर्ति अस्पतालों एवं दवा दुकानों में सुनिश्चित की जाए। जिले में रैपिड एंटीजन किट की कमी को तत्काल दूर किया जाए। उन्होंने कहा कि दुर्ग शहरी क्षेत्र में कोरोना संक्रमण का फैलाव अधिक है पॉजिटिविटी दर 50 फीसदी से अधिक जा पहुंची है, इससे लॉकडाउन के बाद भी कोई लाभ अब तक नहीं हुआ है। 

जांच केंद्रों की संख्या सीमित होने के कारण भीड़ अधिक हो रही है, जिसके लिए तीन पालियों में टेस्ट करवाने की जरूरत है। साथ ही एम्बुलेंस एवं शव वाहन की कमी को तत्काल दूर किया जाए। वोरा ने कोरोना आपदा के लिए 50 करोड़ की राशि व 6 जिलों में विद्युत शवदाह गृह हेतु अलग से राशि जारी करने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार जताया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रदेश के प्रभारी पी एल पुनिया, डॉ चंदन यादव समेत सभी जिला अध्यक्ष व विधायक शामिल थे।
 


12-Apr-2021 7:28 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग 12 अप्रैल 2021/
जिले के निगम क्षेत्र में होम आइसोलेशन के दौरान सहायता के लिए इन नंबरों से संपर्क किया जा सकता है।
कोविड-19 मरीजों को दवाई वितरण-  दुर्ग निगम के लिये 7999331245, भिलाई निगम के लिये 9425512559, रिसाली निगम के लिए 9754396851, 9109380115 और चरौदा निगम के लिये 9826429698 से संपर्क किया जा सकता है।

कोविड-19 मरीजों के अंतिम संस्कार के लिए- दुर्ग निगम के लिये 8319766619, 8839311108, भिलाई निगम के लिये 8839211151, रिसाली निगम के लिए 7828216065, 9893526715 और चरौदा निगम के लिये 9977716688, 9907148292, 9300714327 से संपर्क किया जा सकता है। होम आइसोलेशन डॉक्टरी सलाह/संपर्क के लिए- दुर्ग निगम के लिये 07882215152, भिलाई निगम के लिये 0788-2320077,07882328413 रिसाली निगम के लिए 07882328412 और चरोदा निगम के लिये 07882215153 से संपर्क किया जा सकता है।
जिला प्रशासन कंट्रोल रूम के लिए- 0788-2210772/73/74/75/78 से संपर्क कर सकते हैं। 108 इमरजेंसी एंबुलेंस के लिए- पुरे दुर्ग जिले के लिए सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक के लिए 9399833005 और रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक 9425557895 से संपर्क किया जा सकता है।
ई-पास हेतु- 07882322009 से संपर्क किया जा सकता है।
 


12-Apr-2021 7:08 PM 8

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 12 अप्रैल।
वरिष्ठ कांग्रेस विधायक अरुण वोरा ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए किए गए फैसलों के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद दिया है। वोरा ने कहा कि कोरोना पीडि़तों के लिए आवश्यक रेमडेसीवीर इंजेक्शन की पर्याप्त सप्लाई करने की दिशा में अफसरों की टीम हैदराबाद और महाराष्ट्र भेजने और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बढ़ाने के लिए उच्चाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

 इसके अलावा दुर्ग सहित प्रदेश के 6 शहरों में विद्युत शवदाह गृह स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। कोरोना महामारी के कारण उपजे हालात में इन फैसलों से राज्य की जनता को राहत मिलेगी।  

वोरा ने कहा कि आक्सीजन बेड की कमी की समस्या सभी प्रभावित जिलों में है। इसे ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री महोदय ने प्रदेश के सभी आक्सीजन प्लांट में उत्पादित आक्सीजन का 80 फीसदी हिस्सा अस्पतालों में सप्लाई करने कहा है। मुख्यमंत्री का यह आदेश कोरोना के गंभीर मरीजों को काफी राहत देगा। पर्याप्त संख्या में आक्सीजन बेड की व्यवस्था हो सकेगी जिससे मरीजों की जान बचाई जा सकेगी।इसी तरह प्रदेश में जल्दी ही चार और जिलों में आरटीपीसीआर टेस्ट की सुविधा शुरू करने और रोजाना सेम्पल जांच की संख्या बढऩे के साथ ही जांच रिपोर्ट भी जल्दी मिलने से कोरोना नियंत्रण में मदद मिलेगी। वोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना के इलाज को डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से सम्बद्ध करने कहा है। बिलासपुर जिले में इसकी शुरुआत भी हो गई है। 

अन्य जिलों में भी इसकी शुरुआत होगी जिससे मरीजों को इलाज के खर्च से राहत मिलेगी। इसके अलावा रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग में ऑक्सीजन और आईसीयू सुविधा वाले बिस्तरों और वेन्टीलेटर की संख्या बढ़ाने के निर्देश भी दिए गए हैं। आपदा मोचन निधि से 50 करोड़ रुपए की मंजूरी देने से जांच, नए लैब की स्थापना, कोविड अस्पतालों में आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के लिये किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के इन निर्देशों से कोरोना नियंत्रण में राहत मिलेगी। शीघ्र ही प्रदेश को कोरोना मुक्त किया जा सकेगा। 

 


12-Apr-2021 7:05 PM 7

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 12 अप्रैल।
कलेक्टर के निर्देशानुसार पूरे दुर्ग शहर में संपूर्ण लॉकडाउन लागू है कोरोना संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए शासन जिला प्रशासन नगर निगम जिला चिकित्सालय सभी वर्ग के लोग प्रयासरत हैं परंतु आम नागरिक और व्यापारी वर्ग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।

इसके चलते जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन और निगम प्रशासन के अधिकारी और कर्मचारी लगातार लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्यवाही कर रहे हैं इस दिशा में नगर पालिक निगम दुर्ग का अमला पुलिस बल के साथ तकिया पारा और उरला वार्ड में व्यवसाय करने वाले दो व्यापारियों पर  500--500 रु. का जुर्माना कर कार्यवाही किए तथा चेतावनी दिए कि दोबारा पकड़े जाने पर लाइसेंस निरस्त कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

मटन व्यापारी और किराना दुकानदार ने किया लॉक डाउन का उल्लंघन
रुशष्द्मस्रश2ठ्ठ के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वाले तकिया पारा के मोहम्मद कुरेशी द्वारा मटन विक्रय किया जा रहा था । उसी प्रकार उरला वार्ड में रौनक किराना दुकान द्वारा  सामान बेचा जा रहा था आयुक्त हरेश मंडावी के निर्देशानुसार नगर निगम का अमला पुलिस बल के साथ पहुंचकर दोनों व्यापारियों के खिलाफ कार्यवाही कर ?500-500 का जुर्माना कर चेतावनी दिया गया ।  दोबारा नियमों का उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।  कार्यवाही के दौरान सहायक राजस्व अधिकारी प्रकाश धर दीवान निशांत यादव शशिकांत यादव ईश्वर वर्मा  विनीत वर्मा शोएब  अहमद  एवं अन्य कर्मचारी उपस्थित थे ।
 


12-Apr-2021 7:01 PM 10

कोरोना से युवाओं को भी हो रहा गंभीर संक्रमण

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 12 अप्रैल 2021/
कोरोना से जिले में हो रहे संक्रमण की समीक्षा करने पर पाया गया है कि जिले में कोविड से युवा भी गंभीर रूप से संक्रमित हो रहे हैं और कुछ की मृत्यु भी इससे हो रही है। 

कम उम्र के युवाओं को भी इससे संक्रमण हो रहा है। इससे यह स्पष्ट है कि कोरोना को लेकर हर आयु वर्ग के नागरिक को बेहद एहतियात रखने की जरूरत है। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने युवाओं से अपील की है कि कोविड के खतरे की गंभीरता को देखते हुए बेवजह बाहर निकलने का किसी तरह से जोखिम ना लें। इसके संक्रमण से उन्हें गंभीर संक्रमण का खतरा तो हो ही सकता है। इसके साथ ही वे संक्रमण अपने घर के बुजुर्गों और कम प्रतिरोधक क्षमता वाले परिजनों को तक पहुंचा सकते हैं। 

कलेक्टर ने कहा है कि लक्षण उभरते ही अथवा पॉजिटिव मरीज के निकट संपर्क में रहने पर तुरंत ही टेस्ट कराएं। चिकित्सक के परामर्श पर होम आइसोलेशन अथवा अस्पताल में भर्ती किए जाने से संबंधित कार्रवाई की जाएगी। टेस्ट के नतीजे आने तक अपने आइसोलेशन का पूरा ध्यान रखें, इस संबंध में किसी भी तरह की लापरवाही आपके परिजनों को संकट में डाल देगी। उन्होंने अपील की है कि कोविड के खतरे के संबंध में किसी भी तरह से लापरवाही न बरतें, मास्क का उपयोग करें सैनिटाइजर का उपयोग करें। समय समय पर हाथ धोते रहें, बेवजह घर से बिल्कुल भी बाहर ना निकले, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। 

होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के माध्यम से मरीजों तक दवा पहुंचाई जा रही है और मरीजों की कॉउंसिलिंग की जा रही है। किसी भी तरह की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। इस कठिन घड़ी में संयम और संकल्प बरतने से कोरोना संक्रमण को थामने में मदद मिलेगी।
 


12-Apr-2021 6:56 PM 7

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 12 अप्रैल।
छतीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रदेश महामंत्री अजय भसीन. प्रदेश उपाध्यक्ष भिलाई महेश बंसल, प्रदेश उपाध्यक्ष दुर्ग प्रकाश सांखला, प्रदेश मंत्री मनोज बक्तयानी ने जिला कलेक्टर डाक्टर सर्वेश्वर भूरे को पत्र लिखकर बताया की  एक तरफ जहाँ दुर्ग-भिलाई सम्पूर्ण व्यापार को लॉकडाउन किया गया है, वहीं भिलाई स्टील प्लांट को कोरोना महामारी के प्रसार को कम करने के लिए व्यापक राष्ट्रीय हित को ध्यान में रखते हुए,  डीएम दुर्ग को बीएसपी प्रबंधन को बीएसपी के सभी उपकरणों को बंद करने का आदेश देना चाहिए या सभी 4 शिफ्टों में अधिकतम 10 से 15 फीसदी श्रमशक्ति के साथ काम करना चाहिए। 

तत्काल प्रभाव से कम से कम 30 दिन इससे बीएसपी कर्मचारी द्वारा किए जाने वाले संक्रमण की श्रृंखला को तुरंत तोड़ा जा सकेगा। भसीन  ने  इस्पात सचिव के पत्र और एस्मा  अधिनियम के ष्द्य नंबर 2 (1) के संबंध में, हालांकि इस्पात उद्योग एस्मा  के तहत आ रहा है, फिर भी बड़े राष्ट्रीय हित के लाभ के लिए समान कोयला, इस्पात, बिजली और उर्वरक एस्मा  के तहत नहीं आएंगे। शुरुआत में अधिनियम की परिभाषा में इसका उल्लेख ‘असेंबली द कॉन्टेक्ट ओरेविज आवश्यकताएँ’ के रूप में किया गया है। 

अब देश के लिए आवश्यक समय यानी मानव जाति की जान को बचाना है, जो सबसे बड़ा नियंत्रण है जो अन्य लोगों के लिए उपयुक्त है। इसलिए स्टील उद्योग को अन्य प्रकार से बंद करने या काम करने के लिए सोचा जा सकता है, यानी 10 से 15त्न मैन पावर संयंत्र के अंदर 85 से 90त्न तक लॉकडाउन को सच्ची भावना के साथ लागू करना।

इससे डीएम, दुर्ग द्वारा मौजूदा घोषित लॉक डाउन हो सकती है। क्योंकि, अब भिलाई स्टील प्लांट में न तो कोई लॉकडाउन या सोशल डिस्टेंस लागू किया जा रहा है, न ही शब्द और न ही आत्मा में। यह लॉकडाउन केवल प्लांट परिसर के बाहर सडक़ और बाजारों पर लागू किया जाता है एवं भिलाई स्टील प्लांट अपने अधिकतम कर्मचारियों के साथ चलाया जा रहा है इस कारण से बीएसपी कोरोना महामारी की वर्तमान गंभीरता का मुख्य केंद्र बन गया है। अजय भसीन ने बताया की  यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कई मामले प्लांट कर्मचारी या उसके पति या पत्नी से आ रहे हैं, जहां कोरोना वायरस संक्रमण का वाहक स्वयं कर्मचारी है,  जो व्यक्ति अधिकतम बाहर जाता है, वह संक्रमण का वाहक होता है, जो अपने परिवार के सभी लोगों को प्रभावित उसके प्रतिरक्षा शक्ति के अनुसार संक्रमित करता है।

इसी कड़ी में चेंबर के प्रदेश उपाध्यक्ष महेश बंसल एवं प्रकाश सांखला ने बताया की  आप इसे कुछ कर्मचारी मामलों में देखेंगे जहां बीएसपी के 9 अस्पताल के सेकेंडरी अस्पताल में कोई इलाज या इनडोर प्रवेश या विशेष कोरोना अस्पताल नहीं है। 

भिलाई में बहुत से कर्मचारियों के फ्लैट्एड मकान बहुत सटे हुए है, जिसके कारण से संक्रमित अपने घर में रहने के बावजूद  पड़ोसी को संक्रमित होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता, बाद के चरण में अस्पताल जाते हैं ! आगे उन्होंने कहा की भिलाई स्टील प्लांट को तत्काल अलग-अलग जगहों पर कोरोना सेंटर बनाया जाना चाहिए जहाँ कर्मचारियों  के साथ साथ व्यापारियों एवं आम जन मानस को रखा जा सके! एवं अभी जब तक स्थिति नहीं संभलती तब तक भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारियों को रोस्टर प्रणाली के तहत काम करने हेतु बुलाया जान समय की मांग है नहीं तो वर्तमान स्थिति से भी भयंकर स्थिति का सामना हम सभी को करना पड़ सकता है एवं लॉकडाउन खुलने की स्थिति में पुन: संक्रमण फैलने नहीं रोका जा सकता! भिलाई स्टील प्लांट को करोना के बचाव हेतु प्लांट के अंदर जन जाग्रति पोस्टर, पंपलेट, लाउड स्पीकर के माध्यम से लानी होगी इस हेतु भिलाई इस्पात संयंत्र चाहे तो व्यापारियों एवं व्यापारिक संगठनों का सहयोग भी प्राप्त कर सकता है !
 


11-Apr-2021 10:04 PM 16

50 पहुंचे कोविड टेस्ट कराने तो 23 ने लगवाए टीके

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 10 अप्रैल।
कोविड हेल्प डेस्क प्रारंभ होने के पहले ही दिन 71 लोगों का कॉल आया। कॉल कर लोगों ने एम्बुलेंस की सुविधाएं और अस्पताल में भर्ती होने को लेकर जानकारियों के बारे में पूछताछ की। वहीं पुलिस कंट्रोल रुम में शुरु की गई हेल्प डेस्क में स्वास्थ्य विभाग व निगम कर्मियों के सहयोग से 50 लोगों का कोरोना टेस्ट और 23 हितग्राहियों को टीका लगाया गया। इसके अलावा दो पुलिस कर्मियों के परिवारजनों को ऑक्सीजन की कमी होने पर अस्पताल में बेड की सुविधा उपलब्ध कराई गई।

ज्ञात हो कि पुलिस कण्ट्रोल रूम, भिलाई सेक्टर-6 में शुक्रवार की शाम पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर द्वारा कोविड गाईड लाईन के निर्देशों का पालन करते हुए कोविड हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया गया।

कोविड हेल्प डेस्क प्रारंभ होते ही दो पुलिस कर्मियों के परिवारजनों को ऑक्सीजन की कमी होने पर अस्पताल में बेड की सुविधा उपलब्ध कराई गई। कोविड हेल्प डेस्क का कार्य कोविड टेस्ट कराए जाने हेतु सूचना आने पर संबंधित पुलिस अधिकारी व कर्मचारी या इनके परिवार के सदस्य का कोविड टेस्ट कराना, रिपोर्ट प्राप्त करना, रिपोर्ट के आधार पर संबंधित को मेडीसिन उपलब्ध कराना, होम आईसोलेशन या संबंधित मरीज को अस्पताल में भर्ती कराये जाने हेतु सहायता प्रदान करना, होम आईशोलेशन या अस्पताल में भर्ती मरीजों की वस्तुस्थिति से अवगत होना, इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को देकर निर्देशानुसार सहायता पहुंचाई जाएगी।

इसी प्रकार जिन पुलिस अधिकारी व कर्मचारी एवं इनके परिवार के सदस्य जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक हो चुकी है, जो वैक्सीन नहीं लगाये हैं, उन्हें वैक्सीन लगाया जाएगा । जिले के किसी भी पुलिस अधिकारी व कर्मचारी को कोविड संबंधी सहायता प्रदान किये जाने के लिए गौरव पांडेय को हेल्प डेस्क इंचार्ज बनाया गया है। वहीं लोगों को आपात चिकित्सा सेवा के लिए 24 घंटे सहायता को हेल्प लाईन नम्बर 94792-42420 एवं वाट्सअप नं . 94792-42152 जारी किया गया है, जिसमें कॉल कर आवश्यक सुविधा प्राप्त की जा सकेगी।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर संजय कुमार धु्रव, डीएसपी निशांत पाठक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण प्रज्ञा मेश्राम एवं जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारी, थाना, चौकी प्रभारी उपस्थित थे।
 


11-Apr-2021 7:58 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
उतई, 11 अप्रैल। 
गृहमंत्री व  दुर्ग ग्रामीण  क्षेत्र के विधायक  ताम्रध्वज साहू के प्रयास से दुर्ग ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार सेनिटेजर का छिडक़ाव किया जा रहा है। इसी क्रम में आज  ग्राम पंचायत रिसामा में कोरोना से बचाव के लिए रिसामा  के पंचायत भवन, सार्वजनिक स्थानों, शासकीय भवनों, गांवों के विभन्न स्थानों पर कोरोना से बचाव के लिए सेनिटाइज का छिडक़ाव किया गया है। 

इस अवसर पर जिला पँचायत कृषि सभापति  योगिता चन्द्राकर ने ग्राम रिसामा में सार्वजनिक भवनों में  सेनेटराइज का छिडक़ाव करते हुए । चन्द्राकर ने गृह मन्त्री  ताम्रध्वज साहू का आभार ब्यक्त किया और  कहा कि उनके जिला पंचायत क्षेत्र के गाँवो में प्राथमिकता से पहले सेनेटराइज किया जा रहा है।जो की क्षेत्र के निवासियों को कोरोना जैसी घातक बीमारी से बचाने का एक प्रयास है।तथा लोंगो से अपील करते हुए  अनुरोध किया  कि आप मास्क लगाये।एक दूसरे से दूरी बनाकर रखे। साथ ही बहुत जरूरी न् हो तो भीड़ भाड़ वाले स्थान् में न् जाये।आपका व आपके परिवार का जीवन अनमोल है। 
 


11-Apr-2021 7:56 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
उतई, 11 अप्रैल।
लॉकडाउन में बेजुबान और बेसहारा जानवरों पर आफत टूट पड़ी है। उतई के सुनसान सडक़ों में घूमने वाले इन बेजुबान जानवरों की कोई सुध लेने वाला नहीं है।ऐसे में लॉकडॉउन में बेजुबानों का सहारा बन नई मिसाल पेश कर रहे है , बैंक ऑफ इंडिया, उतई शाखा के कर्मचारी अंकित खोब्रागड़े ।

शंकर नगर दुर्ग के रहने वाले अंकित रोजाना अपने बैंक की छुट्टी होने के बाद लॉकडाउन में जानवरों को खाना खिलाने निकल जाते हैं। जानवरों को खाना खिलाना और उनकी देखभाल करना अब उनकी दिनचर्या में शामिल हो गया है।

पिछले साल के लाकडाउन से वो रोजाना बेजुबानों जानवरो को खाना खिला रहे हैं। वो कुत्तों के बीमार पडऩे पर उनको दवा भी देते है। अंकित के मुताबिक इन बेजुबानों की मदद करने में काफी सुकून मिलता है।  लॉकडाउन में लोगों के घरों में कैद होने से इनकी मदद करने वाला कोई नहीं है। ऐसे में उनकी तरह लोगों को आगे आने की जरूरत है।  

अंकित ने संकट कि इस घड़ी में गरीब लोगों के साथ इन बेजुबान जानवरों की मदद करने की लोगों से अपील की है।
 


11-Apr-2021 6:26 PM 16

पाटन में कोविड नियंत्रण पर कलेक्टर ने की समीक्षा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 11 अप्रैल ।
कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज पाटन ब्लाक में कोविड नियंत्रण के चल रहे कार्यों की समीक्षा की। 
कलेक्टर ने कहा कि जिन मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने में असुविधा है, उनके लिए 25 बेड का कोविड केअर सेंटर पाटन के ट्राइबल होस्टल में आरम्भ करें।
 उन्होंने कहा कि जिन गांव में कोविड के अधिक मरीज आ रहे हैं वहां कंटेंटमेंट बनाकर व्यापक सर्वे का कार्य कर लक्षण वाले मरीजों का चिन्हांकन करें। कलेक्टर ने वैक्सीनेशन कार्य की भी समीक्षा की। 

अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल 45 वर्ष से अधिक के 70 प्रतिशत से अधिक लोगों का टीका हो चुका है। लगभग 40 हजार लोगों को टीका लग चुका है और अभी 15000 लोगों को टीका लगाया जाना शेष है। कलेक्टर ने व्यापक मुहिम चलाकर टीकाकरण कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं स्थानीय अमला मिलकर सघन अभियान छेड़े तथा टीकाकरण कार्य को पूरा करें। उन्होंने कहा कि हर पंचायत में एक पल्स ऑक्सीमीटर तथा साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के पास के पल्स ऑक्सीमीटर से लक्षण वाले मरीजों की पहचान कर इनका प्रिजप्टिव ट्रीटमेंट आरंभ कर दिया जाए।  जिन ग्राम पंचायतों में कोविड के अधिक मामले आ रहे हैं उन्हें कंटेनमेंट जोन बनाने पर भी बैठक में चर्चा हुई। इसके अलावा शिक्षा विभाग का अमला भी लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करेगा, साथ ही कोविड अनुकूल व्यवहार के संबंध में भी लोगों को मार्गदर्शन प्रदान करेगा। इसके साथ ही काढ़े का भी वितरण किया जाएगा ताकि लोगों की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत हो सके। 

बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री सच्चिदानंद आलोक, एसडीएम श्री विपुल गुप्ता, बीएमओ डॉ. आशीष शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
 


11-Apr-2021 6:20 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 11 अप्रैल।
घर से सामान बेचना दुकानदारों को महंगा पड़ा। निगम की टीम ने दुकानों पर जुर्माना लगाया। 
कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे के आदेश एवं निगमायुक्त हरेश मंडावी के निर्देश पर शहर में लॉक डाउन का नियमों का पालन नहीं करने वालो पर लगतार कार्रवाई की जा रही है । इस दिशा में बैगापारा और शक्ति नगर के जागरूक नागरिकों की शिकायत पर निगम का अमला मौके पर पहुंच कर तत्काल कार्यवाही किये । 

लॉकडाउन में  पूरा शहर बंद है, परन्तु बैगापारा का दीपिका किराना एवं शक्ति नगर का दुर्गा किराना स्टोर्स और एक ही होने के कारण आसपास के लोगों को घर से ही बेच रहे  थे । इसकी सूचना आयुक्त को मिलते ही  सूचना पर निगम की टीम तत्काल मौके पर पहुंची और किराना दुकानदारों पर 1000-1000 रु. जुर्माना लगाया। सामान बेचना व्यवसायियों  को महंगा पड़ गया। इस दौरान शिव शर्मा, प्रकाशधर दीवान, ईश्वर वर्मा, भुवन लाल साहू, निशांत यादव, शशिकांत यादव, शौयब अहमद, विनीत वर्मा के अलावा साकेत समेत निगम टीम मौजूद थे ।  
 


11-Apr-2021 6:19 PM 19

लॉकडाउन का उल्लंघन करते मिले ट्रैवल्स बुकिंग ऑफिस 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 11 अप्रैल।
लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले नया बस स्टैण्ड के चार बस बुकिंग ट्रौवल्स कार्यालय को निगम अमले ने सील कर दिया। 
पूरे जिला में लॉकडाउन का शनिवार को पांचवां दिन था।  नया बस स्टैण्ड में बस ट्रैवल्स वाले ऑफिस खोलकर बस बुक कर रहे थे। इसकी शिकायत मिल रही थी। 
आयुक्त के निर्देश पर अतिक्रमण प्रभारी शिव शर्मा, सहा. राजस्व निरीक्षक निशांत यादव, शशिकांत यादव, भुवन दास साहू, ईश्वर वर्मा, शोएब अहमद, विनीत वर्मा, लवकुश शर्मा महेन्द्र सोनटके की टीम ने चारों ट्रवल्स में सील करने की कार्यवाही किये ।   

सभी ट्रैवल्स पर होगी कानूनी कार्रवाई
नगर पालिक निगम दुर्ग के नया बस स्टैण्ड दुर्ग के मनीष ट्रवल्स दुकान क्रं0 5 व 6, नवीन ट्रवल्स क्रं0 13 व 14, मनोज टै्रवल्स क्रं0 19, तथा पायल ट्रवल्स क्रं0 12 व 13 के द्वारा बुकिंग आफिस को खोलकर बस बुक किया जा रहा था। जो लॉकडाउन के नियम का उल्लंघन था। सूचना मिलने पर आयुक्त श्री मंडावी के निर्देशानुसार सील बंद की कार्यवाही कर पंचनामा बनाया गया। आयुक्त ने कहा लॉकडाउन में सभी प्रकार की सेवाएॅ बंद की गई है परन्तु बस ट्रवल्स वाले लॉकडउान का उल्लंघन किया है इनका पंचनामा बनाया गया है जिन पर लॉकडाउन की घारा के अनुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी । सभी बस ट्रवल्स वालों से अपील है कि नियमानुसार उन्हें केवल ऑनलाईन बुकिंग करने अधिकृत किया गया है वह भी कोरोना जांच रिर्पोट के आधार पर । अत: कोई भी ट्रवल्स नियमों का उल्लंघन न करें । कोरोना संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण में जिला प्रशासन एवं निगम प्रशासन को सहयोग प्रदान करें ।  
 


11-Apr-2021 2:03 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 11 अप्रैल।
कोरोना का कहर इस्पात नगरी के लिए अनियंत्रित हो चुका है। कल देर रात भारतीय पॉवर लिफ्टिंग के राष्ट्रीय प्रशिक्षक एवं वीर हनुमान अवॉर्डी  के एस अनिलजीत का कोरोना के कारण निधन हो गया। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी कौमी एकता प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मंगा सिंह, भिलाई के उद्योगपति सुमन कथूरिया एवं हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की वित्तीय अधिकारी ज्योत्सना शर्मा का कोरोना से निधन हो गया। 

भारतीय पॉवर लिफ्टिंग एवं बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन के संयुक्त सचिव एवं अंतरराष्ट्रीय निर्णायक कृष्णा साहू ने बताया कि भारतीय पॉवर लिफ्टिंग टीम के कोच, वीर हनुमान सिंह अवॉर्डी तथा छतीसगढ़ बॉडी बिल्डिंग के महासचिव के एस अनिल जीत का श्री नारायण अस्पताल में इलाज के दौरान कल रात्रि निधन हो गया। वे कोरोना से ग्रसित थे, 6 अप्रैल को उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। छत्तीसगढ़ और भारत देश के लिए पॉवर लिफ्टिंग और बॉडी बिल्डिंग में अनिल जीत का निधन अपूरणीय क्षति है। इस्पात नगरी के सभी खेल समितियों एवं संगठनों के द्वारा अनिल जीत के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की गई है।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी कौमी एकता प्रकोष्ठ के अध्यक्ष एवं बीएसपी ट्रक टेलर एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रियदर्शनी नगर पश्चिम नेहरू नगर भिलाई नगर निवासी मंगा सिंह का आज सुबह इलाज के दौरान हाईटेक अस्पताल स्मृतिनगर में निधन हो गया। बीएसपी ट्रक ट्रेलर एसोसिएशन के संरक्षक इंद्रजीत सिंह ने बताया कि 23 मार्च से उनका इलाज चल रहा था। वे भी कोरोना से ग्रसित थे। एसोसिएशन के द्वारा उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की गई है।                 
    
उद्योगपति व वरिष्ठ भाजपा नेता नेहरू नगर पूर्व निवासी सुमन कथूरिया का कल शाम लगभग 4 बजे रायपुर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे कुछ समय से अस्वस्थ थे। वे कुलदीप कथूरिया के छोटे भाई थे। 

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग की वित्तीय अधिकारी ज्योत्सना शर्मा का आज सुबह 5 बजे इलाज के दौरान बीएम शाह अस्पताल सुपेला में निधन हो गया। विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक वह भी कोरोना बीमारी से ग्रसित थीं।

 कोरोना का भयावह रूप जिले में देखने को मिल रहा है। शहर के प्रतिष्ठित नागरिकों का इस बीमारी के कारण लगातार निधन हो रहा है। इस परिस्थिति को देखते हुए जिले के सभी नागरिकों को अनिवार्य रूप से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। तभी स्वयं एवं समाज को इस महामारी से बचा पाएंगे।


10-Apr-2021 8:52 PM 19

 भिलाईनगर,  10 अप्रैल। भिलाई विद्यालय सेक्टर 2 के सेवानिवृत्त प्राचार्य रामनगर निवासी सुरेंद्र पाण्डेय का आज सुबह 2 बजे के करीब सेक्टर 9 अस्पताल में निधन हो गया। वे भिलाई इस्पात सयंत्र कर्मी दिनेश पाण्डेय के पिता थे।


10-Apr-2021 8:49 PM 18

भिलाईनगर,  10 अप्रैल। शहर के जाने माने उद्योगपति व वरिष्ठ भाजपा नेता नेहरू नगर पूर्व निवासी सुमन कथूरिया का आज शाम लगभग 4 बजे रायपुर के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे कुछ समय से अस्वस्थ थे। उनका  उपचार जारी था। उनका अंतिम संस्कार कल 11 अप्रैल को किया जाएगा। वे कुलदीप कथूरिया के छोटे भाई थे।


10-Apr-2021 6:16 PM 18

चेम्बर-कैट ने किया कार्यशाला का आयोजन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 10 अप्रैल।
करोना रूपी महामारी के इस संकट के दौर में हम सभी का मन विचलित एवं नकारात्मकता आना स्वाभाविक है, इस कठिन दौर में हम सभी अपने मन को कैसे सकारात्मक एवं ऊर्जावान रखे,एवं बच्चों के मन में आ रहे नकारत्मक प्रभाव को कैसे दूर करे। 
छतीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रिज दुर्ग एवं कैट के संयुक्त तत्वाधान में जूम मीटिंग के माध्यम से व्यापारियों एवं उधमियों के हितार्थ एक कार्यशाला का आयोजन जूम मीटिंग के माध्यम से किया गया  जिसमें मुख्य वक्ता ब्रह्मकुमारी चैतन्यप्रभा दीदी एवं व्यापारियों एवं व्यापारिक संगठनों ने अपनी भागीदारी दर्ज की।  

इसी तारतम्य में छतीसगढ़ चेम्बर आफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रिज  के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश सांखला, प्रदेश मंत्री अशोक राठी, कैट के प्रदेश उपाध्यक्ष पवन बडज़ात्या, एम्एसएम्ई प्रभारी मोहम्मद अली हिरानी, कैट प्रदेश मिडिया प्रभारी संजय चौबे ने बताया की दीदी ने बहुत ही अच्छे तरीके से इस संकट काल  जीवन जीने की कला बताई हम सभी प्रार्थना में रोज एक गीत गाते हैं सर्वे भवंतु सुखिन: सर्वे संतु निरामया पर शायद वो सिर्फ रटते हैं लेकिन आज हम सभी मिलकर यह वाइब्रेशन पूरे विश्व के लिए क्रिएट करते हैं कि परमात्मा की शक्ति की किरणें सारे विश्व में फैल गई है और यह शक्ति सबके मन को शांत कर रही  है। 

सबका शरीर निरोगी बन रहा है सभी का जीवन सुख में बन रहा है सबके कष्ट दूर हो रहे हैं हमारे यह वाइब्रेशन अनेक आत्माओं का कल्याण करेंगे  इतिहास में यह पहली बार एसी महामारी आई है जिसने पूरे विश्व को प्रभावित किया है और इसका परिणाम यह निकला कि शायद पूरी दुनिया इक_े डर क्रिएट कर रही है और चारों तरफ दर्द चिंता का माहौल होने के कारण  नेगेटिव कहीं न कहीं  हमें भी प्रभावित कर रही है।

यदि हमारा मन कमजोर होगा तो हम भी उस डर और चिंता के माहौल में पूरी तरह नेगेटिव बन जाएंगे। इसीलिए आज जैसे की हम अपने शरीर की इम्युनिटी  बढ़ाने का ध्यान रख रहे हैं।  ठीक वैसे ही मन की इम्युनिटी को बढ़ाना है अर्थात मन की स्थिति को ऊंचा करना है  यदि हम अपने मन को शक्तिशाली बनाएं तो मानो घर में चार लोग हैं पर यदि एक   का भी मन शक्तिशाली है पॉजिटिव है।

 इसी कड़ी में ब्रह्मकुमारी चैतन्यप्रभा ने कहा की एक बात और हम याद रखें संकल्प से सृष्टि बनती है हमारी सोच से हमारी दुनिया बनती है हम जैसा सोचेंगे वैसी परिस्थिति हमारे चारों तरफ क्रिएट होगी तो आज से आप वही बोले वही सोचे जो आप अपने जीवन में चाहते हैं, और इसे सिर्फ इस कोरोनावायरस में ही नहीं यूज करना है परंतु उसे अपने जीवन के हर क्षेत्र में यूज करना है।  

इस महामारी में अभी तक हमने धन की शक्ति और साइंस की शक्ति को देखा जो कि अभी ऊपर नीचे हो रही है अब हम परमात्मा शक्ति और मन की शक्ति को यूज करके देखें स्वयं के ऊपर प्रयोग करें घर से बाहर निकलने से पहले या जब रोज प्रार्थना  करें या मेडिटेशन करें तो संकल्प करें ऊपर से परमात्मा की किरणें मेरे ऊपर आ रही है और वह मेरे चारों तरफ सर्कल के रूप में और इस सर्कल के बीच में मैं सेफ  हूं और यह आप अपने लिए अपने बच्चों के लिए अपने परिवार के लिए रोज कर सकते हैं तो आप जब घर से बाहर निकलेंगे तो कभी भी आपको डर नहीं होगा चिंता नहीं होगी क्या होगा जो होगा अच्छा होगा क्योंकि परमात्मा की  शक्ति साथ है! 

आज की इस कार्यशाला में अनिल बल्लेवार, नरेश सांखला, मनोज टावरी, सुशील बाकलीवाल,पूरण जैन, विनय राठी, ऋषभ देशलहरा, शांति लाल जैन, शरद बाफना, श्रीमति विनीता मूंदड़ा, श्रीमति सरिता श्रीश्रीमाल, श्रीमती भाग्यश्री राठी, रेणुका बेहरा सहित बड़ी संख्या में व्यपारी एवं महिलाएं भी जुडी रही ! प्रकाश सांखला ने कहा की हमें इससे डरने की जगह मिलकर मुकाबला करने की जरुरत है, हम यह करोना रूपी जंग को मिलकर जीतेंगे ! अंत में आभार प्रदर्शन अशोक राठी ने किया !  
 


10-Apr-2021 6:14 PM 18

दुर्ग में पांच दिवसीय ऑनलाईन कार्यशाला उद्घाटित

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 10 अप्रैल।
महाविद्यालयों में होने वाली नैक मूल्यांकन प्रक्रिया गुणवत्तापूर्ण प्रतिस्पर्धा का परिचायकहै। महाविद्यालयों को रूचि लेते हुए नैक मूल्यांकन हेतु आवेदन करना चाहिये। ये उद्गार नैक बंगलुरू के डायरेक्टर डॉ.एस.सी. शर्मा ने आज व्यक्त किए। डॉ. शर्मा आज हेमचंद यादव विश्वविद्यालय, दुर्ग द्वारा 138 महाविद्यालयों के प्राचार्यों, आईक्यूएली समन्वय को तथानैक समन्वयकों एवं प्राध्यापकों हेतु आयोजित एवं ‘नैक की नई मूल्यांकनप्रणाली’ विषय पर केंद्रित 5 दिवसीय ऑनलाईन कार्यशाला में मुख्य अतिथि के रूप में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

डॉ. शर्मा ने कहा कि नैक द्वारा 6 हजार विशेषज्ञों को महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों के नैक मूल्यांकन हेतु चयनित किया गया है। नैक डायरेक्टर ने छत्तीसगढ़ के महाविद्यालयों से आग्रह किया कि वे शीघ्र नैक द्वारा मूल्यांकित होकर अच्छा ग्रेड प्राप्त करें। इस संबंध में डॉ. शर्मा ने उच्च शिक्षा विभाग तथा हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की।

5 दिवसीय कार्यशाला में उद्घाटन सत्र में उपस्थित उच्च शिक्षा विभाग के सचिव, श्री धनंजय देवांगन ने अपने संबोधन में नैक मूल्यांकन को चुनौतीपूर्ण निर्धारित करते हुए कहा कि उच्च शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन का लक्ष्य है कि सत्र 2022 तक प्रत्येक महाविद्यालय नैक द्वारा मूल्यांकित हो। श्री देवांगन ने कहा कि आगामी सेमेस्टर/वार्षिक परीक्षाओं के आयोजन ऑनलाईन अथवा ऑफ  लाईन होने संबंधी शासन का निर्णय शीघ्र घोषित किया जाएगा। 

श्री देवांगन ने कार्यशाला में उपस्थित समस्त प्राध्यापकों  से आग्रह किया कि वे ऑनलाईन कक्षाएं नियमित रूप से जारी रखे। हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. अरूणा पल्टा ने अपने स्वागत भाषण कार्यशाला में नैक डायरेक्टर डॉ. एस.सी. शर्मा तथा उच्च शिक्षा सचिव धनंजय देवांगन की एक साथ उपस्थित को विश्वविद्यालय के इतिहास में मील का पत्थर निरूपित किया। डॉ. पल्टा ने प्रतिभागी प्राध्यापकों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर भी दिए।

कार्यशाला के उद्घाटन सत्र के आंरभ में संयोजक दुर्ग विश्वविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. प्रशान्त श्रीवास्तव ने नैक मूल्यांकन एवं प्रत्यायन से जुडें महत्वपूर्ण बिन्द्रओं पर पॉवर पांईट प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी। डॉ. श्रीवास्तव ने बताया कि वर्तमान में दुर्ग संभाग के 17 शासकीय एवं 27 अशासकीय महाविद्यालय नैक द्वारा मूल्यांकित है। 5 दिवसीय इस ऑनलाईन कार्यशाला के दूसरे दिन नैक के प्रथमव द्वितीय बिन्दु पर डॉ. प्रज्ञा कुलकर्णी एवं डॉ. जी.ए. घनश्याम चर्चा करेंगे। तृतीय दिवसमें 11 अप्रैल को प्रात: 11:00 बजे से 1:00 बजे के मध्य डॉ. अंजली अवधिया तथा डॉ. जगजीत कौर सलूजा का व्याख्यान होगा। चौथे दिन 12 अप्रैल को पंचम व षष्ठम् बिन्दु पर डॉ. सोमाली गुप्ता तथा डॉ उषा किरण अग्रवाल का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। अंतिम दिन बिन्दु सप्तम पर डॉ. विकास पंचाक्षरी व्याख्यान देंगे तथा प्रतिभागियों के फीडबैक के साथ समापन सत्र का समापन होगा।
 


10-Apr-2021 5:35 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 10 अप्रैल।
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता किस तरह से लोगों के दिलों को जीत रही हैं। इसकी बानगी बीते दिनों दुर्ग निगम आयुक्त के साथ व्यापारिक संघ के प्रतिनिधियों की बैठक में मिला। एक व्यापारिक संघ के प्रतिनिधि ने बताया कि वे गया नगर में रहते हैं। उनकी माँ 80 वर्ष की हैं। उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित करने 60 वर्षीय दिव्यांग उषा कौशल आईं। अगले दिन वे टोकन लेकर आ गईं। जब मेरी माँ ने टोकन देखा तो माँ के आँखों में आँसू आ गए। माँ ने कहा कि ये खुद बुजुर्ग हैं और मेरी चिंता कर रही हैं। 

केस 2- मोतीझरी चौहान वार्ड नंबर-4 की कार्यकर्ता हैं। यहाँ कंटेनमेंट जोन बना हुआ है। इसके सभी घरों का सर्वे इन्होंने किया। कार्य की प्रशंसा पार्षद ने भी की। अपने कर्तव्य के दौरान किसी तरह का भय मोतीझरी के मन में नहीं दिखा। बस यही संकल्प की एक अच्छा काम दिया गया है इसे पूरा करना है। 

कोरोना फ्रंट पर अग्रणी भूमिका आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कोरोना वारियर के रूप में निभा रही हैं। संकट का सामना करते हुए भी, कभी-कभी लोगों से सहयोग नहीं मिलने पर भी वे अपने कार्य में बखूबी लगी हुई हैं। नई पीढ़ी के पोषण की जिम्मेदारी निभाने वाली आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कोविड संक्रमण को रोकने की दिशा में भी प्रभावी काम कर रही हैं। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री विपिन जैन ने बताया कि कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे के निर्देश पर यह कार्य हो रहा है और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इस संबंध में प्रशंसनीय कार्य कर रही हैं। चाहे कंटेंनमेंट जो हो या हाटस्पाट, हर इलाके में ये कार्यकर्ता घूम घूम कर लोगों को कोरोना संकट के प्रति जागरूक कर रही हैं। इनके हाथों में आक्सीमीटर हैं। ये आक्सीमीटर के माध्यम से आक्सीजन की स्थिति जाँच करती हैं साथ ही कोरोना के लक्षणों के बारे में पूछताछ करती हैं। यदि ऐसा कुछ होता है तो तुरंत इसकी रिपोर्ट दे दी जाती है ताकि स्वास्थ्य विभाग का अमला इस संबंध में आगे कार्रवाई कर सके। जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए भी ये कार्यकर्ता अपने कर्तव्य से पीछे नहीं हटी। कई परिवारों ने सर्वे कार्यक्रम में उनकी मदद की, कई ने जानकारियाँ छिपाने की कोशिश भी की लेकिन इन्होंने अपने आग्रह से जानकारियाँ जुटाईं जो स्वास्थ्य विभाग के लिए काफी उपयोगी रहीं। जिले में बड़ी संख्या में जो सैंपलिंग हो सकी, उसके पीछे इन महिलाओं का बड़ा योगदान है।

चार लाख लोगों तक पहुँची- आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जिले में चार लाख लोगों तक पहुँच चुकी हैं। इनका सबसे प्रमुख कार्य हाटस्पाट एवं कंटेनमेंट जोन में सर्वे करने का रहा है। यहाँ हर घर वे पहुँची, लोगों के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली और इस आँकड़े से स्वास्थ्य विभाग को अवगत कराया। इससे कोरोना मरीजों के चिन्हांकन में काफी आसानी हुई। सर्वे के हिसाब से जिन इलाकों में काफी संख्या में कोरोना पाजिटिव मिलने की आशंका थी वहाँ मोबाइल टीम पहुँची और टेस्टिंग की। इसका प्रभावी नतीजा निकला, टेस्ट कर पाजिटिव मरीजों को आइसोलेट किया गया तथा डाक्टरों की सलाह पर अस्पताल अथवा होम आइसोलेशन के संबंध में निर्णय लिया

कलेक्टर एवं जजों के बंगले में भी पहुँची- आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सभी एरिया कवर कर रही हैं। आज वे कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे एवं जिले में कार्यरत न्यायाधीशों के बंगलों में भी पहुँची। उन्होंने बताया कि हमें पूरा एरिया कवर करने की जिम्मेदारी मिली है। हम हर घर जाएंगे और कोविड संक्रमितों की पहचान करेंगे। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती कामिनी चंद्राकर ने बताया कि आज उन्होंने कलेक्टर महोदय के बंगले में भी सर्वे किया।

 


10-Apr-2021 5:31 PM 18

मुख्यमंत्री को दिया धन्यवाद

दुर्ग, 10 अप्रैल। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगामी आदेश तक 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने के आदेश जारी करने निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि दुर्ग से वरिष्ठ कांग्रेस विधायक अरुण वोरा ने सर्वप्रथम पत्र लिख कर मुख्यमंत्री से इस आशय की मांग की थी। 

आदेश जारी किए जाने के बाद वोरा ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में जल्द ही कोरोना के बढ़ते संक्रमण को काबू कर लिया जाएगा। श्री वोरा ने बच्चों के स्वास्थ्य एवं पालकों की भावना के अनुरूप जनकल्याणकारी फैसला लेने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति अपना आभार भी व्यक्त किया है।
 


10-Apr-2021 4:45 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 10 अप्रैल।
जिला भाजपा उपाध्यक्ष संतोष सोनी ने कोरोना के इलाज हेतु गरीबों और मध्यमवर्गीय जनता के हक में सरगुजा कलेक्टर संजीव झा की सराहनीय पहल का स्वागत करते हुए दुर्ग जैसे अत्यंत प्रभावित जिला के जिलाधीश डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे से भी दुर्ग-भिलाई के समस्त निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्ड से कोविड का इलाज मुफ्त में किये जाने की मांग की है।

संतोष सोनी ने जारी विज्ञप्ति में कहा कि यदि दुर्ग जिलाधीश भी ऐसी व्यवस्था यहां करवा दें तो बहुत बड़ी मुसीबत झेल रही दुर्ग जिला की गरीब व मध्यमवर्गीय जनता को बड़ी राहत मिलेगी और दुर्ग की जनता इस पुनीत कार्य हेतु सदैव उनकी आभारी रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि अभी ये भी देखना है कि यह घोषणा मात्र औपचारिकता बन कर न रह जाय, और इस योजना का व्यावहारिक फायदा भी जनता को मिले।

उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव की भूमिका पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि सरगुजा उनका गृह जिला है एवं यदि उन्होंने सरगुजा में यह पुनीत कार्य करवाया है तो उन्हें याद रखना चाहिए कि अन्य जिलों की जनता के लिए भी उनकी बराबर की जिम्मेदारी है क्योंकि वे सिर्फ सरगुजा के नहीं सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री हैं।

ज्ञात हो कि जिला भाजपा ने मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, गृह मंत्री व दुर्ग विधायक से दुर्ग में कोविड महामारी को आपदा मानते हुए आपदा राशि जारी कर गरीब व मध्यमवर्गीय जनता के मुफ्त इलाज की सुविधा की मांग की थी।
 


Previous123456789...4243Next