छत्तीसगढ़ » गरियाबंद

Previous123456789...2829Next
15-Apr-2021 5:15 PM 14

मैनपुर, 15 अपै्रल।  छेड़छाड़ करने की लिखित शिकायत पर बुधवार को धवलपुर में  आरोपी कुलेश्वर बारले को गिरफ्तार कर 15 दिन के न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। 
घटना 12 अपै्रल के रात 9 बजे की है। पीडि़त अपने घर के बाहर बैठी थी कि उसी समय आरोपी ने छेड़छाड़ की। पीडि़ता द्वारा चिल्लाने पर उसकी दादी घर से बाहर निकली इसके बाद आरोपी भाग गया। इससे पूर्व भी आरोपी द्वारा पीडि़त से छेड़छाड़ करने की घटना कर चुका है, जिसे परिवार वाले समझाईश दिये थे। पीडि़त की रिपोर्ट करने पर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।
 


15-Apr-2021 5:12 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मैनपुर, 15 अपै्रल।
गरियाबदं जिले के भीतर पिछले चार पांच वर्षों से हाथियों का दल लगातार पहुंच रहा है।  कभी उदंती सीतानदी टाईगर रिजर्व के बफर जोन एरिया आमामोरा, ओढ़, पहाडियों से लगे ओडि़शा के जंगलों से होते हुए धमतरी जिला प्रवेश करते है।  सीतानदी अभ्यारण्य क्षेत्र और बस्तर तक चक्कर लगाता था, लेकिन लगातार चार पांच वर्षों से हाथियों के दल इस क्षेत्र के जंगलो में विचरण करने और गरियाबंद जिले के क्षेत्र के जंगल में हाथियों के लिए अनुकूल भोजन व पानी की व्यवस्था होने के कारण लगभग एक माह से इन गर्मी के दिनो में इन जंगलों में अलग अलग दलों में बंटकर विचरण कर रहे है।

पिछले पांच वर्षो का विभाग का रिकार्ड देखे, तो गरियाबंद वमंडल के साथ टाईगर रिजर्व क्षेत्र में हाथियों के नुकसान से लाखों रूपये का मुआवजा ग्रामीणों को वितरण किया गया है, और हाथियों ने लगातार क्षेत्र के गांव के भीतर घुसकर समय समय पर जमकर आंतक भी मचाया है, कई लोग हाथियों के हमले के शिकार भी हुए है और उनकी मौत तक हो चुकी है, तो वही क्षेत्र के जंगल में पिछले तीन वर्षो के भीतर दो हाथियों के शावक के साथ एक व्यस्क मादा हाथी की भी मौत हो चुकी है।

बहरहाल पिछले एक माह से 15 से 17 की संख्या मे हाथियों का दल वनमंडल गरियाबंद अंतर्गत वन परिक्षेत्र धवलपुर, गरियाबंद, नवागढ, के हसौदा, दर्रीपारा, कोसमीद, खरता, चिपरी, रावडिग्गी, आमागांव, सेम्हरढाप, खुरसीपार, खुटगांव, बुटेगा, मोहलाई, आमंदी, जैतपुरी, अंदोरा, हर्राभत्का द, पंडरीपानी, भीरालाट, जोबा, दसपुर, केराबाहरा ग्राम जो धमतरी जिले से लगे सीमा में बसे हुए है, इन ग्रामो में हाथियों ने अपना रहनवास बना लिया है, जिसके कारण इस क्षेत्र के ग्रामीणो में भारी दहशत देखने को मिल रहा है, वनांचल आदिवासी क्षेत्र के ग्रामीण वनोपज संग्रहण तक नहीं कर पा रहे है।

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता हाथी प्रभावित इन ग्रामों में पहुंचकर जायजा लिया तो ग्रामीणों ने बताया कि हाथियों के एक दल पिछले लगभग एक से डेढ़ माह से इस क्षेत्र के दर्जनभर ग्राम पाराटोला जो धमतरी जिला सीमा पर बसा है। इन ग्रामों के नजदीक पहाडी क्षेत्रों में हाथियों के दल ने डेरा डाला हुआ है, हाथियों के इस दल में 15 से 17 हाथी है, दो शावक भी है और इसमें तीन मादा हाथी होने का जानकारी ग्रामीण सूत्रों द्वारा दिया जाता है, वन विभाग द्वारा लगातार हाथी मित्रदल और वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी हाथियों के गतिविधियों पर नजर रखे हुए है, ग्रामीणों को अकेले जंगल की ओर नहीं जाने की अपील किया जा रहा है।

खुरसीपार सरपंच चन्द्रिका बाई धु्रव, रावडिग्गी सरपंच पूर्णिमा धु्रव, सर्व आदिवासी समाज के युवा प्रभार जिला अध्यक्ष नरेन्द्र धु्रव, युवा कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष गोपाल कुमार नेताम ने बताया कि पिछले लगभग एक माह से दो तीन दलों में हाथियों का दल अलग अलग क्षेत्र के जंगलों में विचरण कर रहा है। एक माह के भीतर कई किसानों के धान मक्का व सब्जी के फसलों को जमकर नुकसान पहुंचाया है। रविवार को कोसमी द के आश्रित ग्राम हर्राभत्का के किसान कमल धु्रव प्रेम शर्मा, तानसेन साहू के धान के फसल को नुकसान पहुचाया है, तो वही बीते सोमवार रात को ग्राम हसौदा बीट के कक्ष क्रमांक 631 सूजगीडोंगरी लालमाटी के पास हाथियों का दल पिछले कई दिनों से जो डेरा डाले है ,एक किसान हल्लुराम खुरसीपार निवासी जो अपने खेत मे झोपड़ी बनाकर परिवार के साथ निवास कर रहा था और रात को खाना बना रहा था,हाथियों के दल की आवज सुनकर किसान झोपडी को छोडक़र भागे। हाथियो़ के दल झोपडी को तोड़-फोड़ दिया जिससे घर में खाना बनाने वाले आग से पुरा झोपडी जलकर राख हो गया जिससे किसान के 10 बोरा धान, मोटर पम्प, चांवल, कपड़ा, और दैनिक आवश्यकता के सामग्री सभी जलकर खाक हो गए। 

आदिवासी ग्रामीणों को जंगल में वनोपज संग्रहण करने में परेशानी हो रही है। ग्रामीण अकेले राशन सामग्री खरीदी करने तथा रात के समय एक गांव से दूसरे गांव शादी विवाह सामाजिक कार्यक्रम में भी ग्रामीणों को आने जाने में हाथियों के दल से भारी दहशत देखने को मिल रही है।

क्या कहते है वन अफसर
गरियाबंद वनमंडलाधिकारी मंयक अग्रवाल ने बताया कि सोनाबेडा जंगल ओडिसा से लगातार हाथियों का दल पिछले कई वर्षों से इस क्षेत्र के जंगल में पहुंच रहे है, किसानों के फसलों और झोपडियों को हाथियों के द्वारा जो नुकसान पहुचया गया है, उनका लगभग 20 लाख रूपये से अधिक की मुआवजा राशि गरियाबंद वनमंडल क्षेत्र में दिया गया है, हाथियों का एक दल जो नवागढ़ वन परिक्षेत्र धमतरी सीमा पर डेरा डाले हुए थे। आज मंगलवार को वह धमतरी जिला के तरफ बढ़ गया है, लेकिन लगातार हाथियों का दल कभी धमतरी जिला तो कभी गरियाबंद जिला के तरफ पहुच रहा है। एक दल जो सिकासार जलाशय क्षेत्र में था। वह सोनाबेडा ओडिशा सीमा क्षेत्र में पहुच चुका है। श्री अग्रवाल ने बताया कि लगातार वन विभाग द्वारा हाथियों के गतिविधियों पर नजर रखे है, ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए गांव में मुनादी करवाई जा रही है, ग्रामीणों को अकेले जंगल की तरफ नहीं जाने की अपील किया जा रहा है। 
 


14-Apr-2021 7:49 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 14 अपै्रल।
मानव कल्याण अधिकार एवं भ्रष्टाचार निर्मूलन संगठन के प्रदेश प्रवक्ता एवं भाजपा मंडल खोरपा महामंत्री नेहरू लाल साहू ने भारत रत्न, संविधान निर्माता, समाज सुधारक बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाया। 

इस अवसर पर श्री साहू ने कहा बाबा साहब अंबेडकर भारतीय संविधान के निर्माता है। स्वतंत्रता के लड़ाई के पश्चात सरकार चलाने के लिए एक संवैधानिक ढांचा भारतीय नागरिकों के लिए निर्माण करना अत्यंत आवश्यक था। बाबा साहब जानते थे, एक श्रेष्ठ संविधान ही शोषित भारत को विकसित भारत के रूप में दुनिया के सामने खड़ा कर सकता है। अत: उनका पूर्णता प्रयास रहा, श्रेष्ठ संविधान का निर्माण भारत वासियों के लिए होना अति आवश्यक है। उन्होंने दुनिया के संविधानों का अध्ययन कर एक विस्तृत, लिखित, स्पष्ट, सरल, व्यावहारिक संविधान भारतीय नागरिकों के लिए तैयार किया। लगभग 3 वर्षों के कड़ी मेहनत और परिश्रम के पश्चात दुनिया के सबसे श्रेष्ठ संविधान बाबा साहब ने तैयार किया। 

आज हम सब जिन मौलिक अधिकारों का उपयोग करके अपना चौमुखी विकास कर देश के प्रगति में भागीदारी ले रहें हैं वह बाबा साहब का देन है। एक समाज सुधारक के रूप में भारत में व्याप्त कुरीतियां, सामाजिक बुराई, छुआछूत, अस्पृश्यता को दूर करने में उन्होंने अपना संपूर्ण जीवन त्याग दिया। 

भारत के सबसे बड़े मानवतावाद के रूप में बाबा साहब को जाना जाता है। इनके पीछे उनका आजीवन संघर्ष रहा है। उन्होंने शोषित एवं समाज में उपेक्षित समुदायों का नेतृत्व कर उन्हें उनका अधिकार दिलाने में सफल रहा। 

नेहरू लाल साहू ने कहा बाबा साहब कई युगों तक भारत वासियों के हृदय में जीवंत रहेंगे, उन्हें शत-शत नमन। हम सब उनके बताए मार्ग पर चलकर भारत निर्माण में अपना योगदान दें एवं समाजसेवी गतिविधियों में संलग्न रह कर उनके आदर्शों का अनुसरण करें। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से लिखन साहू, हुम्मन साहू, गिरधारी लाल साहू, प्रमिला साहू, दिनेश्वरी साहू, लेखनी साहू, टेमेश्वरी साहू, धैर्य कुमार साहू, कु. लवन्या, फनीस साहू, हर्ष कुमार आदि उपस्थित थे।


14-Apr-2021 7:45 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 14 अपै्रल।
स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नवापारा में चल रहे टीकाकरण महाअभियान की जानकारी लेने भाजपा नवपारा मंडल अध्यक्ष उमेश यादव टीकाकरण केंद्र पहुंचे और वहां पहुंचकर टीका लगवाने वाले आम नागरिकों से मुलाकात कर हालचाल जाना। 

श्री यादव ने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को प्रोत्साहित करते हुए कहाकि स्वदेश में निर्मित यह टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित व प्रभावशाली है। सभी लोग स्वयं के टीकाकरण के पश्चात अपने आसपास पड़ोसियों को टीकाकरण हेतु प्रेरित करें। ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग टीकाकरण के लिए यहां पहुंचे। 

इस दौरन उन्होंने शहर में बढ़ते संक्रमण के प्रति अपनी गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए नगरवासियो को कोविड-19 के लिए सतर्क रहने, मास्क सैनिटाइजर आदि का उपयोग करने के साथ ही लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करने की बात कही। ज्ञात हो की 21 जनवरी 2021 से प्रारंभ हुए टीकाकरण अभियान के तहत इस टीकाकरण केंद्र में 12 अप्रैल 2021 तक लगभग 3753 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।
 


14-Apr-2021 7:38 PM 11

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 14 अपै्रल।
जिला पंचायत सदस्य एवं भाजपा नेता चंद्रशेखर साहू ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने जिला प्रशासन गरियाबंद द्वारा जिले में लगाये गए लॉकडाउन को गंभीरता से पालन करने का निवेदन आमजन से किया है। 

उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण सभी के लिए बहुत ही चिंताजनक है। फिर भी कई जगहों पर लोग इसे हल्के में ले रहे हैं। कोविड संक्रमण को हल्के में लेना बहुत ही घातक साबित हो रहा है। श्री साहू ने लोगों से निवेदन किया है कि सभी लॉकडाउन का गंभीरता से पालन करें। स्वयं व परिजनों का स्वास्थ्य हमारे लिए महत्वपूर्ण है। इन परिस्थितियों में आप अपने धैर्य का परिचय दें और यथासंभव घर पर रहकर ही इस बीमारी की चौन को तोड़ें। 

अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर मास्क लगाकर ही निकलें व बार बार साबुन से हाथ धोते रहें। इसके साथ ही 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोविड-19 का टीका लगाने व अन्य पात्र लोगों को इसके लिए प्रेरित करने का आग्रह किया। 

उन्होंने ग्राम पंचायत श्यामनगर में 45 वर्ष से अधिक उम्र के शत प्रतिशत लोगों को कोविड का टीका लगाए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कोरोना के इस युद्ध में सभी को यथासंभव सहयोग करने की अपील की।
 


14-Apr-2021 7:35 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 14 अपै्रल।
सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने पिछले दिनों स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव रेणु पीले को पत्र प्रेषित कर निजी अस्पतालों में अधिक पैसा वसूलने की शिकायत करते हुए सभी अस्पतालों में राशि को निर्धारित करने सहित अन्य मांग की थी। इस मांग को लेकर विचार करते हुए शासन-प्रशासन से निजी अस्पतालों में हो रहे उपचार की दर एवं सभी प्राइवेट अस्पतालों को निर्धारित दर व रेट तय किया है। 

सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने बताया कि मामले में संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार हेतु पैकेज दर का निर्धारण किया गया है। जिसमें पार्थिव शरीर के रखरखाव परिवहन के लिए ढाई हजार शुल्क गंभीरी स्थिति वाले मरीजों के लिए रोजाना 12000 की दर से तय किए गए हैं। इसमें बगैर वेंटीलेटर के आईसीयू सुविधा शामिल है। अति गंभीर मरीजों के लिए 17000 प्रतिदिन की दर से निर्धारित की गई है इसमें वेंटिलेटर के साथ आईसीयू सुविधा शामिल है एवं गरीबों के लिए 20 फीसदी आरक्षित किया गया है। राज्य शासन के 2 बड़े फैसले जरूरतमंद कोरोना मरीजों को देंगे। 

श्री साहू ने बताया कि खूबचंद बघेल स्वास्थ सहायता योजना और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के हितग्राहियों के लिए 20 फीसदी बिस्तर आरक्षित रहेंगे। यह आरक्षण निजी अस्पतालों के कोविड उपचार यूनिट के जनरल वार्ड हाई डीपेडेसी यूनिट एचडीए ऑक्सीजन सहित संघन चिकित्सा इकाई आईसीयू वेंटिलेटर और बिना वेंटीलेटर के आईसीयू में लागू होगा। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी किए है। 

एनएबीएच गैर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों के लिए मॉडरेट 65 सौ रुपए, गंभीर 10000, अति गंभीर 14000 तय किया गया है। इस गंभीर समस्याओं को श्री साहू द्वारा राज्य सरकार के मंत्री एवं अपर मुख्य सचिव शासन प्रशासन तक पहुंचाने के लिए रूपसिंग साहू को क्षेत्र व जिलेवासियों ने आभार जताते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया है। 
 


14-Apr-2021 7:35 PM 12

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 14 अपै्रल।
सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने पिछले दिनों स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव रेणु पीले को पत्र प्रेषित कर निजी अस्पतालों में अधिक पैसा वसूलने की शिकायत करते हुए सभी अस्पतालों में राशि को निर्धारित करने सहित अन्य मांग की थी। इस मांग को लेकर विचार करते हुए शासन-प्रशासन से निजी अस्पतालों में हो रहे उपचार की दर एवं सभी प्राइवेट अस्पतालों को निर्धारित दर व रेट तय किया है। 

सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने बताया कि मामले में संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार हेतु पैकेज दर का निर्धारण किया गया है। जिसमें पार्थिव शरीर के रखरखाव परिवहन के लिए ढाई हजार शुल्क गंभीरी स्थिति वाले मरीजों के लिए रोजाना 12000 की दर से तय किए गए हैं। इसमें बगैर वेंटीलेटर के आईसीयू सुविधा शामिल है। अति गंभीर मरीजों के लिए 17000 प्रतिदिन की दर से निर्धारित की गई है इसमें वेंटिलेटर के साथ आईसीयू सुविधा शामिल है एवं गरीबों के लिए 20 फीसदी आरक्षित किया गया है। राज्य शासन के 2 बड़े फैसले जरूरतमंद कोरोना मरीजों को देंगे। 

श्री साहू ने बताया कि खूबचंद बघेल स्वास्थ सहायता योजना और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के हितग्राहियों के लिए 20 फीसदी बिस्तर आरक्षित रहेंगे। यह आरक्षण निजी अस्पतालों के कोविड उपचार यूनिट के जनरल वार्ड हाई डीपेडेसी यूनिट एचडीए ऑक्सीजन सहित संघन चिकित्सा इकाई आईसीयू वेंटिलेटर और बिना वेंटीलेटर के आईसीयू में लागू होगा। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी किए है। 

एनएबीएच गैर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों के लिए मॉडरेट 65 सौ रुपए, गंभीर 10000, अति गंभीर 14000 तय किया गया है। इस गंभीर समस्याओं को श्री साहू द्वारा राज्य सरकार के मंत्री एवं अपर मुख्य सचिव शासन प्रशासन तक पहुंचाने के लिए रूपसिंग साहू को क्षेत्र व जिलेवासियों ने आभार जताते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया है। 
 


14-Apr-2021 5:58 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

गरियाबंद, 14 अप्रैलराजिम नगर वासियों को कोरोना गाइडलाइन के पालन करवाने नगरवासियों को जागरूक करने पुलिस जवानों के द्वारा फ्लैग मार्च  निकालकर लोगों को जागरूक किया।

वर्तमान समय में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ के आदेशानुसार कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये हैं। जिसके परिपालन में जिला गरियाबंद के पुलिस कप्तान भोजराम पटेल के दिशा निर्देश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर एवं संतोष महतो के मार्गदर्शन, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस गरियाबंद रूपेश डांडे के पर्यवेक्षण तथा थाना प्रभारी विकास बधेल फ्लैग मार्च निकालकर लोगों को जागरूक किया।

फ्लैग मार्च के दौरान अनुविभागीय दंडाधिकारी महोदय राजस्व  गंगाधर वाहिले तहसीलदार आरके साहू नगर पंचायत सेनेटरी उपनिरीक्षक ठाकुर थाना प्रभारी विकास बघेल एवं थाना स्टाफ द्वारा फ्लैग मार्च निकालकर स्थानीय लोगों को हिदायत समझाइश दिया गया तथा घर पर रहने अनावश्यक घर से बाहर ना निकलने फेस मास्क का उपयोग करने समय-समय पर हाथ को सेनीटाइज करते रहने के लिए जागरूक किया गया।


14-Apr-2021 5:28 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मैनपुर, 14 अपै्रल।
मैनपुर कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ के आदेश अनुसार कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु आवश्यक दिशा निर्देश किए हैं। जिस के परिपालन में जिला गरियाबंद के पुलिस कप्तान भोजराम पटेल की दिशा-निर्देश में थाना प्रभारी मैनपुर सत्येंद्र सिंह श्याम के नेतृत्व में पुलिस जवानों ने मैनपुर नगर में फ्लैग मार्च निकाला साथ ही लोगों से लॉकडाउन के दौरान बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने मास्क लगाने की अपील की गई। थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह श्याम ने बताया 13 से 23 अप्रैल तक गरियाबंद जिले में संपूर्ण लॉकडाउन घोषित किया गया है। 

लॉकडाउन का पालन करना सभी व्यक्तियों की जिम्मेदारी है कोरोना संक्रमण बढ़ते जा रहा है जिसके कारण आवश्यक चीजों के को छोडक़र सभी दुकानें बंद की गई हैं। इस बार लॉकडाउन में शक्ति बरती जाएगी हर हाल में लॉकडाउन को सफल करना है। क्षेत्रवासियों से अपील की है के अपने परिवार का ख्याल रखते हुए कोरोना के चयन को तोडऩे के लिए घरों से बाहर ना निकले। 

इस मौके पर थाना प्रभारी सत्येंद्र सिंह श्याम जनपद पंचायत मैनपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नर्सिंग धु्रव, एसआई सुरेश निषाद एएसआई हिमांचल धु्रव  दिलीप सिन्हा हेमंत तिर्की  पुलिस विभाग के जवान बड़ी संख्या में उपस्थित हुए।
 


14-Apr-2021 5:27 PM 13

देखभाल केंद्र की तैयारी का भी लिया जायजा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद/राजिम, 14 अपै्रल।
कलेक्टर  निलेश क्षीरसागर एवं जिला पंचायत के सीईओ  चंद्रकांत वर्मा ने स्थानीय दर्रापारा स्थित शासकीय पॉलिटेक्निक में संचालित कोविड-केयर सेंटर का आकस्मिक मुआयना कर भर्ती मरीजों से चर्चा कर जाना हाल चाल व्यवस्थाओं ंंजायजा ले आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

स्थानीय दर्रापारा में स्तिथ शासकीय पॉलिटेक्निक में संचालित कोविड-केयर सेंटर का मंगलवार शाम को आकस्मिक मुआयना किया इस दौरान कलेक्टर निलेश क्षीरसागर भर्ती मरीजों से भी बातचीत कर हाल जाना। उन्होंने कहा कि शासन के दिशा निर्देश के अनुसार मरीजों का  बेहतर तरीके से देखभाल के लिए जिला किया जा रहा है व उनके इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है।

 ज्ञात है कि 280 बिस्तर वाले इस कोविड-केयर सेंटर  में फिलहाल 240  कोविड पेशेंट भर्ती हैं जिनका उपचार जारी है। इसके अलावा कलेक्टर ने दर्रापारा स्थित  पॉलिटेक्निक सेंटर के पीछे कोविड-देखभाल केंद्र के लिए चिन्हित एकलव्य विद्यालय और पोस्ट मैट्रिक छात्रावास का भी अवलोकन किया। उन्होंने यहां अतिशीघ्र कोविड- देखभाल केंद्र खोलने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए। 

निरीक्षण के दौरान बताया गया कि यहां 50-50 बिस्तर के दो देखभाल केंद्र तैयार किया जा रहे हैं, जो एक दो दिन में प्रारंभ हो जाएगा। यहां बिना लक्षण वाले मरीज जो होम आइसोलेशन में नहीं रहेंगे उन्हें  यहां रखा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर और स्टाफ भर्ती मरीजों की देखभाल करेंगे। इसके अलावा कलेक्टर द्वारा सेंटर की साफ-सफाई और मूलभूत की आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए हैं। 

निरीक्षण के दौरान स्वास्थ विभाग के सीएमएचओ, डीपीएम , अनुविभागीय अधिकारी, तहसील दार एवं आदिवासी विभाग के सहायक आयुक्त और अन्य अधिकारी मौजूद थे।
 


14-Apr-2021 5:24 PM 16

बिना कारण घर से निकलने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 14 अपै्रल।
गरियाबंद जिले में पहले से दिन दिखा लॉकडाउन का असर साफ देखने को मिल रहा है।  लॉकडाउन पर प्रशासन की कड़ी नजर है,  पुलिस प्रशासन लगातार पेट्रोलिंग कर रही है।

गौरतलब है कि जिला गरियाबंद में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चैन को तोडऩे के लिए 13 अप्रैल की सुबह 6 बजे से 23 अप्रैल सुबह 6 बजे तक संपूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है और धारा 144 लगाई गई है। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी निलेश क्षीरसागर ने जारी आदेश में कहा है कि केवल अति आवश्यक सेवा के लिए ही अनुमति लेकर बाहर निकला जा सकता  है। 

वहीं पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने अपने मातहतों को निर्देशित करते हुए कहा है कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए। जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है।  नवापारा राजिम पुल से लेकर देवभोग के खुटगांव तक चेक पोस्ट से निगरानी की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी लॉकडाउन का असर साफ दिख रहा है। वही पुलिस पेट्रोलिंग के माध्यम से भी लगातार निगरानी की जा रही है।

ज्ञात है कि जिले में लॉकडाउन को गंभीरता से पालन करने के निर्देश आम लोगों को दिया गया है। गरियाबंद तिरंगा चौक, छुरा, मैनपुर, देवभोग राजिम और फिंगेश्वर में लॉकडाउन का असर आज सुबह से ही देखने को मिल रहा है। जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात है। कलेक्टर ने राजस्व और पुलिस विभाग को समन्वय कर लॉकडाउन पालन कराने के लिए निर्देशित किया है। वहीं आम नागरिकों से भी अपील की गई है कि लॉक डाउन का अनिवार्य रूप से पालन करें और कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चैन को तोडऩे में अपनी सहभागिता निभाएं।
 


14-Apr-2021 5:23 PM 15

बकली में एक साथ 27 कोरोना पॉजिटिव मिलने से मचा हडक़ंप

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद/राजिम, 14 अपै्रल।
राजिम से लगे ग्राम बकली में 27 कोरोना पजि़टिव मिलने से गाँव में सनसनी फैल गई है। 
गांव वालों ने सुरक्षा के लिहाज से गली को बॉस बल्ली लगाकर अनावश्यक रूप से आने जाने पर रोक लगा दिया है।  कंटेनमेंट जोन प्रतिबंधित क्षेत्र, बिना मास्क लगाए घर से ना निकले जैसे नारे लिख कर चस्पा कर  दिया गया है। 

सभी कोरोना पजिटिव मरीज आइसोलेट किए गए हैं। उनके लिए आवश्यक सामानों की पूर्ति के लिए पंचायत अपने खर्चे से उपलब्ध करा रहे हैं।
करके निवेदन किया और भरोसा दिलाया पंचायत हर सम्भव प्रयास कर रहा है। रेडियो के माध्यम से पूरे गांव में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने एवं पूरे समय मास्क लगाने के लिए निवेदन किया जा रहा है।

सरपंच प्रतिनिधि मुन्ना कुर्रे ने बताया कि 45 उम्र से आ गए को वैक्सिंग लगाने का काम लगातार जारी है पंचायत अपने खर्चे से ऐसे लोगों को समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जा रहे हैं और अभी तक 100 से ज्यादा लोगों को टिका लगवाया गया है। उन्होंने आगे बताया कि सावधानी ही सुरक्षा है ऐसे कठिन समय में बार-बार हाथ साबुन से धोएं तथा ईमानदारी के साथ कोरोना गाइडलाइन का पालन अवश्य करें।
 


13-Apr-2021 9:46 PM 12

नवापारा-राजिम, 13 अपै्रल। नगर में आवारा पशुओं का जमावड़ा कोरोना काल में नगर की सडक़ों पर देखा जा सकता है। जिससे ऐसा लगने लगा है कि लॉकडाउन के अंदर इन्हें नगर में घूमने की पूरी आजादी मिल गई है। एक तरफ  राज्य शासन व्दारा आवारा पशुओं को सुरक्षित रखने के लिए गोठान की व्यवस्था की गई है, लेकिन इसे नगर का दुर्भाग्य ही कहिए कि यहां आज तक गोठान के लिए जमीन स्वीकृत नहीं हो पाई है। 

इन आवारा पशुओं को भूखा-प्यासा देखते हुए नगर के सालासर सुंदरकांड एवं जनकल्याण समिति के संरक्षक राजू काबरा कमेंटी के सदस्यों के साथ बस स्टैण्ड में मवेशियों के लिए पैराकुट्टी एवं चोकर बस स्टैण्ड के अहाते में खिलाया गया। वहीं वायएसएस ग्रुप व्दारा नगर के चौक-चौराहों पर मवेशियों के लिए पानी पीने हेतु कोटना की व्यवस्था की गई है। 
 


13-Apr-2021 9:44 PM 11

नगर में लाकडाऊन की स्थिति शिथिल, लोगों को न कोरोना का भय और न ही पुलिस का डर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 13 अपै्रल।
नगर के शासकीय अस्पताल में सोमवार को हुए कोरोना जांच में नवापाारा नगर के 58 एवं ग्रामीण क्षेत्र से 18 पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुईं है। नगर में पॉजिटिव मरीजों के अलग अलग वार्डो से मिली संख्या की जानकारी के अनुसार वार्ड 1 में 2, वार्ड 3 में 6, 4 में 2, 5 में 5,  6, 8 एवं 10 में 1- 1, वार्ड 11 में 8, वार्ड 12, 13, 17 में 3-3, वार्ड 14 में 7 ,वार्ड 18 में 6, वार्ड 20 में 4 व वार्ड  21 में 6 लोगों की रिपोर्ट पाजिटीव मिलने की पुष्टि हुई है। नवापारा शहर में सबसे ज्यादा पॉजिटिव मरीज सोमवार को नगर के वार्ड 11 और हॉटस्पॉट बना वार्ड 14 से मिला। इन दोनों वार्डों से 8 और 7 पॉजिटिव मरीज मिले है। नगर में अब तक पॉजिटिव मरीज मिलने का रिकॉर्ड पहली बार टूटा है, जो नगर वासियों के लिए चिंताजनक है।

ग्रामीण क्षेत्रों से मिले 18 पॉजिटिव मरीज, पटेवा से एक साथ 9 पॉजिटिव मरीज मिले।
नगर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी रिकॉर्ड तोड़ पॉजिटिव मरीज मिले है। जिनमें समीपस्थ ग्राम तर्री से 2, पटेवा से 9, कुर्रा, पारागांव, पिपरौद, परसदा सोंठ, चंपारण, धूमा एवं कोमा से एक-एक पॉजिटिव मरीज मिले है। बढ़ते कोरोना का भय नगरवासियों को नहीं है, इसलिए तो लोग नगर में वेखौफ  घूम रहे हैं न तो उन्हें कोरोना का भय है और न ही पुलिस का। ऐसा लगता है जैसे नगर में या तो लाकडाऊन नहीं है या फिर इसे शिथिल कर दिया गया है।
 


12-Apr-2021 7:29 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद, 12 अप्रैल।
बालोद जिला में पटवारी के पद पर पदस्थ भगवान सिंह ठाकुर के द्वारा  प्रधानमंत्री कार्यालय लोक शिकायत निवारण विभाग से सम्बद्ध होने का फर्जी लेटर पेड बना कर एवं आरटीआई कार्यकर्ता बन कर सरकारी विभाग व लोगों से धोखाधड़ी करने वाला पटवारी को गिराफ्तार किया गया। 

मामला सिटी कोतवाली गरियाबंद का है जहां के तत्कालीन सहायक भू-अभिलेख अधिकारी हेमनारायण धुर्वा ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय गरियाबंद में लिखित शिकायत पेश किया था कि भगवान सिंह ठाकुर जो जिला बालोद में पटवारी के पद पर पदस्थ होते हुए स्वयं को प्रधानमंत्री कार्यालय लोक शिकायत निवारण विभाग से संबद्धता होना एवं आरटीआई कार्यकर्ता होना लेख कर फर्जी लेटर पेड के माध्यम से सरकारी विभागों व आम जनता को परेशान करने की शिकायत किया गया था। शिकायत जांच क्रम में प्रधानमंत्री कार्यालय लोक शिकायत निवारण विभाग नई दिल्ली से पत्राचार कर जानकरी प्राप्त करने पर उक्त पटवारी भगवान सिंह ठाकुर के द्वारा स्वयं को फर्जी आरटीआई कार्यकर्ता होना तथा प्रधानमंत्री कार्यालय लोक शिकायत निवारण विभाग से सम्बद्ध नहीं होना पाया गया जिसके बाद थाना सिटी कोतवाली गरियाबंद में आरोपी भगवान सिंह ठाकुर के खिलाफ  मामला दर्ज किया गया।

 


12-Apr-2021 7:27 PM 16

सभी विकास खंडों में खोले जाएंगे  कोविड देखभाल केंद्र 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबंद 12 अप्रैल ।
गरियाबंद जिले में करोना मरीज के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए तथा कोविड-19 की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करते हुए आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि जिले में विकासखंड स्तर पर कोविड  देखभाल केंद्र की स्थापना की  जाए।  यहां ऐसे मरीज रहेंगे जिन्हें कोई लक्षण नहीं है लेकिन वह धनात्मक है । कलेक्टर निलेश क्षीरसागर ने बताया कि जिले में 13 अप्रैल से लेकर 23 अप्रैल तक लॉक डाउन की घोषणा की गई है । इस दौरान सख्ती से लॉक डाउन का पालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में बिना मास्क के घूमने वाले लोगों पर कार्रवाई की जा रही है साथ ही उन्हें समझाइश भी दिया जा रहा है ।

प्रभारी मंत्री ने टीकाकरण तेज करने के निर्देश दिए हैं साथ ही कहा कि टेस्टिंग भी व्यापक पैमाने पर किया जाए  ।उन्होंने कहा कि लोग सावधानी बरते और कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, इसके लिए जिला प्रशासन कारवाई करे  वीडियो कांफ्रेंसिंग में प्रभारी मंत्री ने कहा कि जल्दी कोविड देखभाल केंद्र खोले। 

उन्होंने ज्यादा से ज्यादा कोरोना जांच करने एवं पॉजिटिव लोगों का शासन के दिशा निर्देशानुसार उपचार करने, होम आईशोलेशन, क्वारेंटाइन में रखने के निर्देश दिए। आक्सीजन, बेड, आईसीयू, एवं वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाने, चिकित्सक एवं दक्ष स्टॉफ की संख्या बढ़ाने के निर्देश भी दिए। पात्रतानुसार शत प्रतिशत टीकाकरण करने कांटेक्ट ट्रेसिंग को बताने, पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने पर जानकारी देने के लिए कहा गया वीडियो कांफ्रेंसिंग में जिले के प्रभारी सचिव ,कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर, पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल, सीईओ जिला पंचायत चन्द्रकांत वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर, सीएमएचओ डॉ. एन.आर. नवरत्न, डीपीएम डॉ. रीना लक्ष्मी उपस्थित थे।

बेबीनार के माध्यम से जनप्रतिनिधि भी जुड़े
वीडियो कांफ्रेंसिंग में वेबीनार के माध्यम से नगर पालिका गरियाबंद के अध्यक्ष गफ्फार मेमन ,जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम एवं जन भागीदारी अध्यक्ष व एल्डरमेन हरमेश चावड़ा भी जुड़े रहे । कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान जनप्रतिनिधियों द्वारा जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन मशीन उपलब्ध कराने का आग्रह किया गया ।प्रभारी मंत्री ने इस संबंध में आवश्यक सुविधा उपलब्ध उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है।
 


11-Apr-2021 10:19 PM 22

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 11 अपै्रल।
कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने शुक्रवार को दसवीं बोर्ड की परीक्षाएं आगामी समय तक के लिए स्थगित कर दी है। जिससे विद्यार्थियों, छात्र संगठन सहित पालकों ने खुशी जताई है। पालकों को अब थोड़ी राहत मिली है कि उनके बच्चों को कोरोना काल के साथ रायपुर जिले में लगे लॉकडाउन में परीक्षा के लिए दौड़भाग नहीं करनी पड़ेगी। 

वहीं परीक्षाएं स्थगित हो जाने के बाद भी शनिवार को प्रश्न पत्र लेने परीक्षा केन्द्रों के केन्द्र प्रभारियों को रायपुर मुख्यालय बुलाया गया है। जिले में लॉकडाउन होने के कारण केन्द्रप्रभारी पशोपेश की स्थिति में हैं। शिक्षक संघ के प्रफुल्ल दुबे ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मंडल व्दारा प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों में प्रश्नपत्र पहुंचा दिए हैं। जहां से परीक्षा केन्द्रों को प्रश्न पत्र वितरित किया जाना है। ऐसे में प्रदेश के अनेक जिलों में लाकडाउन की स्थिति बनी हुई है।

केन्द्र प्रभारियों द्वारा संबंधित थाना में प्रश्न पत्रों को सुरक्षित रखने के दृष्टिकोण से शासन ने उन्हें वितरित करने का आदेश प्रसारित किया है। ताकि जब भी माध्यमिक शिक्षा मण्डल व्दारा दसवीं कक्षा की समय सारण घोषित की जाये। सुविधानुसार परीक्षाएं संपादित की जा सके।  
 


11-Apr-2021 10:11 PM 16

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
राजिम, 11 अपै्रल।
जिला गरियाबंद सहित पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में अनियंत्रित होते कोरोना पर नियंत्रण को लेकर क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता रूपसिंग साहू ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव एवं अपर मुख्य सचिव रेणु पिल्ले से मुलाकात कर आवेदन प्रस्तुत किया है। 

श्री साहू ने उक्त आवेदन के माध्यम से कहा कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले चिंताजनक है। आवश्यक पहल एवं कार्यवाही के लिए सुझाव पत्र के माध्यम से कहा कि पूरे प्रदेश में कोरोना पर अंकुश लगाने को लेकर जो तैयारी पूर्व में होनी थी वह कहीं नहीं दिख रहा है जिसके कारण स्थिति भयानक चिंताजनक बनी हुई है।  श्री साहू ने मांग की है कि अस्पतालों में बिस्तर की समस्या वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी की पूर्ति तत्काल की जाना चाहिए। श्री साहू ने कहा कि सरकारी और निजी भवनों में आवश्यकता अनुसार अस्थाई अस्पताल बनाया जाए एवं हर जिले व विकासखंड स्तर पर अस्पताल बनाया जाए। प्रदेश में कोरोना उपचार के नाम पर निजी अस्पतालों में अतिरिक्त राशि ली जा रही है इसकी एक निर्धारित दर व रेट तय किए जाने की निवेदन किया। स्वास्थ्य मंत्री एवं अपर मुख्य सचिव ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए जल्द ही ठोस कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया।

श्री साहू ने कहा कि प्रदेश की सरकार एवं शासन-प्रशासन आयुष्मान भारत योजना में अड़ंगा नहीं डालती तो आज प्रदेश का हर गरीब परिवार कोरोना के निशुल्क इलाज से लाभान्वित होता। केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार और प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकार ने देश प्रदेश के लोगों को निशुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई थी, जिस पर बिना सोचे समझे प्रदेश में सत्ता हासिल होते ही वर्तमान सरकार ने बंद कर दिया और उन्हें अधर में लटका दिया। जिसके कारण प्रदेश के जरूरतमंद लोगों इस सुविधा से वंचित होकर ईलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं एवं परेशान हो रहे हैं। वर्तमान में पूर्व सरकार की योजना को बंद कर वर्तमान सरकार ने यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम और डॉक्टर खूबचंद बघेल योजना का चला रहे हैं, लेकिन आज भी लोगों को उस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। श्री साहू ने बताया कि कई ऐसे बीमारियों का नाम है, जो सूची से हटा दिया गया है। 

उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है कि पूर्व सरकार की महती योजना को जल्द ही चालू कर देना चाहिए। सरकार की सभी सरकारी अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन, वेंटीलेटर, स्टॉफ  कमी को देखते हुए मरीजों को भर्ती लेने से साफ-साफ  इंकार कर रहे हैं। अधिकांश मरीज निजी अस्पताल की ओर बढ़ रहे हैं। आज प्रदेश में ऐसे बहुत ही चिंता व चिंतन का विषय बना हुआ है। इलाज की पर्याप्त सुविधा नहीं मिल पाने के कारण प्रतिदिन मौत के आंकड़े बढ़ रही हैं। प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल बना हुआ है। प्रदेश की राजधानी रायपुर के सभी निजी एवं सरकारी अस्पताल हाउसफुल है। अस्पतालों में गंभीर रूप से बीमार व्यक्ति के इलाज के लिए कोई भी बेड उपलब्ध नहीं है, जिसके कारण बीमार व्यक्ति के साथ उनके परिजनों को अनेकों समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। 

 


11-Apr-2021 8:51 PM 21

लोगों को उचित पैकेज दर पर मिल सकेगा इलाज- जीतसिंग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 11 अपै्रल।
निजी चिकित्सालयों व्दारा कोविड 19 मरीजों से मनमाने पैसा वसूलने की शिकायत पर छग शासन द्वारा निजी अस्पतालों के लिए उपचार हेतु पैकेज दर निर्धारित कर दिया गया है। उक्ताशय की जानकारी मिलने पर पूर्व पालिका उपाध्यक्ष जीतसिंह ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इससे अब निजी अस्पतालों की मनमानी नहीं चल पायेगी और लोगों को तय मानक के आधार पर उपचार उपलब्ध हो पाएगा। इस संबंध में संचालक स्वास्थ्य सेवाएं छत्तीसगढ़ द्वारा समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियो को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए हैं। 

निर्धारित पैकेज दर अनुसार डॉ.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अन्तर्गत आक्सीजन के साथ हाई डिपेंडेंसी यूनिट के निजी अस्पताल में ईलाज हेतु 5 हजार 500 रुपये प्रतिदिन, वेंटिलेटर के साथ आईसीयू हेतु 9 हजार प्रतिदिन तथा बिना वेंटीलेटर के साथ आईसीयू हेतु 7 हजार रुपये प्रतिदिन निर्धारित किया गया है। 

इसी प्रकार बिना योजना वाले निजी चिकित्सालयो के लिए एनएबीएच संबद्ध अस्पताल बिना आईसीयू हेतु 4 हजार रूपये प्रतिदिन, वेंटिलेटर के साथ आईसीयू हेतु 11 हजार प्रतिदिन तथा बिना वेंटीलेटर के साथ आईसीयू हेतु 8 हजार 500 रुपये प्रतिदिन तथा एनएबीएच असंबद्ध अस्पतालों में ईलाज हेतु बिना आईसीयू के 4 हजार रूपये प्रतिदिन, वेंटिलेटर के साथ आईसीयू हेतु 11 रूपये हजार प्रतिदिन तथा बिना वेंटीलेटर के साथ आईसीयू हेतु 7 हजार 500 रुपये प्रतिदिन दर निर्धारित की गई है। इसमें कोविड-19 टेस्टिंग, महंगे दवाई और सीटी स्कैन एवं एमआरआई शुल्क शामिल नहीं है। पत्र में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ राज्य के निजी चिकित्सालयों में नॉन स्कीम अन्तर्गत कोरोना संक्रमितों के ईलाज में होने वाले व्यय का वहन मरीज के द्वारा स्वयं ही किया जाएगा। डेड बॉडी स्टोरेज एवं कैरिज हेतु अधिकतम 2 हजार 500 रुपये ही लिए जा सकेंगे। योजना से पंजीकृत निजी अस्पतालों के द्वारा अन्य सभी प्रकार की शुल्क योजना अन्तर्गत निर्धारित दरों पर ही लिए जाएंगे।

रने पर हमें 5 हजार रुपये का अतिरिक्त आय भी मिला है। महिलाओं ने मछली पालन शुरू करने की इच्छा भी जताई। 


11-Apr-2021 8:34 PM 17

ग्रामीण वैक्सीन लगाने उत्साहित- गिरवर रात्रे

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 11 अपै्रल।
गांव के सभी लोगों को टीका लगे, इसके लिए हम सभी दृढ़ संकल्पित है, हमारा लक्ष्य है कि टीकाकरण में कोई छूट ना जाये। इसके लिए मितानिन दीदीयों की भी मदद लेकर गांव में टीकाकरण का व्यापक प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है। उक्त बातें सरपंच गिरवर रात्रे ने कही। उन्होंने अपनी पूरी टीम के मार्गदर्शन में इस वैक्सीनेशन शिविर के लिए वे सभी सुविधाएं मुहैया कराई गई जो जरुरी होता है। यह वैक्सीनेशन कार्य आगामी 3-4 दिनों तक चलेगा। जिसमें ग्रामवासी वैक्सिन शिविर का लाभ उठाएं। 

विदित हो कि समीपस्थ ग्राम पारागांव में शुक्रवार से 45 वर्ष पूरा कर चुके ग्रामीणों का वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ हुआ। ग्राम सरपंच गिरवर रात्रे, उपसरपंच रामेश्वर अप्पू सोनकर व सचिव अखिल कुमार के मार्गदर्शन में प्रारंभ हुए इस वैक्सीनेशन शिविर में बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित होकर टीका लगवा रहे हैं। 

उपसरपंच पारागांव रामेश्वर सोनकर ने बताया कि इससे पहले गांव के लोगों को 8 से 10 किलोमीटर दूर ग्राम पोड़ और चंपारण जाना पड़ता था। जिससे आने जाने में काफी दिक्कते ग्रामीणों को होती थी। ऐसे में पंचायत प्रतिनिधियों ने इसे गांव में ही लगाने को लेकर शिविर लगाने हेतु संकल्पित हुए जिसके फलस्वरूप शुक्रवार से गाँव के पंचायत भवन में ही टीकाकरण का कार्य चल रहा है। 

सरपंच गिरवर रात्रे ने कहा कि उद्धघाटन अवसर पर सबसे पहले टीका गांव के संतुराम देवांगन व मनोज देवांगन को लगा। जिन्हें इस शिविर की वेक्सीनेटर कविता ने वैक्सीन लगाया। शिविर के पहले ही दिन इस गांव में लगभग 100 लोगों को टीका लगाया और उन्हें कोरोना के बचाव हेतु वैक्सीन का पहला डोज दिया गया। 

गांव में आयोजित इस शिविर में वैक्सीन लगाने आने वाले व्यक्ति को आधार कार्ड सहित 45 साल से ऊपर का होना जरुरी है। वहीं वैक्सीन लगाने के पूर्व सभी मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा रहा है और सभी परीक्षण में सही पाए जाने पर ही उन्हें वैक्सीन लगाया जा रहा है। वहीं गांव में ही वैक्सीनेशन सेंटर खुलने से ग्रामीण भी खुश है। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को इसके लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। 

ग्रामीणों ने टीका लगाने के पश्चात कहा कि अब हम भी सुरक्षित है, और कोरोना से जरुर जंग जीतेंगे. वहीं पंचायत के सरपंच, उपसरपंच पंच विजय देवंागन, देवसिंग ध्रुव सहित अन्य दूसरे जनप्रतिनिधियों ने स्वदेश में निर्मित इस वैक्सीन को असरदार व सुरक्षित बताया साथ ही ग्रामीणजनों से अपील किया कि सभी जल्द से जल्द वैक्सीन लगाये और स्वयं सहित अपने परिवार की भी सुरक्षा सुनिश्चित करें।
 


Previous123456789...2829Next