छत्तीसगढ़ » जान्जगीर-चाम्पा

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    शिवरीनारायण, 10 नवंबर। शुक्रवार शाम को हाइवा ने बाइक को ठोकर मार दी, जिससे एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं पीछे बैठा साथी दूर जा गिरा। उसे मामूली चोटें आई है। हादसे के बाद घटनास्थल पर परिजन व ग्रामीणों ने सड़क पर शव रखकर मुआवजे को लेकर 3 घंटे तक प्रदर्शन किया। अस्पताल में भी हंगामा किया। समझाइश के बाद शव का पीएम करने दिया, फिर शव को गांव ले गए। उक्त हाइवा वाहन का मालिक नगर पंचायत शिवरीनारायण उपाध्यक्ष राहुल थवाईत है। 
    मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बाइक चालक रामकृष्ण यादव (20) निवासी गंगाजल थाना नवागढ़ अपने साथी नितेश के साथ अपने गांव से गिधौरी की ओर जाने के लिए निकला था। बाइक शाम तकरीबन 6 बजे शिवरीनारायण के पुल चौक के पास पहुँचा था कि रेत खाली कर आ रही हाइवा क्रमांक सीजी 11 एम 9300 के चालक ने लापरवाही पूर्वक वाहन को चलाते हुए बाइक को ठोकर मार दी। हाइवा की ठोकर इतनी जबरदस्त थी कि रामकृष्ण की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, वहीं बाइक पर पीछे बैठा नितेश दूर जा गिरा। उसे मामूली चोटें आई है। 
    दुर्घटना के बाद से लोगों का हुजूम लग गया। आक्रोशित परिजन व ग्रामीणों ने सड़क पर शव रखकर मुआवजे को लेकर 3 घंटे तक प्रदर्शन किया। रात करीब 9 बजे शव को शिवरीनारायण अस्पताल में ले जाने दिया। यहां भी हंगामा करने लगे।  शव को शिवरीनारायण अस्पताल से परिजन ले जाने नहीं देने की जिद पर अड़े रहे। परिजनों कहना है कि वाहन मालिक द्वारा जब तक उचित मुआवजा नहीं दिया जाएगा, तब तक शव को पोस्टमार्टम के लिए नहीं भेजेंगे। समझाइश के बाद शव का पीएम करने दिया, फिर रात को परिजन शव को ले गए। नगर के लोगों का कहना है कि रेत से भरी वाहन परिवहन पर तत्काल रोक लगनी चाहिए।

  •  

Posted Date : 09-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
     जांजगीर-चांपा, 9 नवंबर। जांजगीर-चांपा जिले के सभी 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से 5 नवंबर को 10 अभ्यर्थियों द्वारा नाम निर्देशन पत्र वापस लेने के बाद अब निर्वाचन में 88 प्रत्याशियों द्वारा अपना भाग्य आजमाएंगे। भाग्य आजमाने वाले प्रत्याशियो को जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा चुनाव चिन्ह आबंटित कर दिया गया है। 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से 10 अभ्यर्थियों ने अपना नाम निर्देशन पत्र वापस लिया। इनमें विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 33 अकलतरा से अरविन्द कुमार पंकज, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 34 जांजगीर-चांपा से दिगम्बर प्रसाद साहू, शिवानंद तिवारी, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 35 सक्ती से सरवन कुमार सिदार,  यशवंत कुमार साहू, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 36 चन्द्रपुर से गोविन्दराम अग्रवाल, हितेन्द्र टण्डन, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 37 जैजैपुर से फूलेश्वर चन्द्रा, विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 38 पामगढ़ से लखनलाल सहीस और लीलाराम मिरी शामिल हंै। 
     जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 33 अकलतरा से बहुजन समाज पार्टी से  ऋ चा जोगी (चुनाव चिन्ह हाथी छाप), इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी से चुन्नीलाल साहू (चुनाव चिन्ह हाथ छाप), नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी से पुष्पेन्द्र कुमार (बाबा) जायसवाल (चुनाव चिन्ह घड़ी छाप) और भारतीय जनता पार्टी से सौरभ सिंह (चुनाव चिन्ह कमल छाप), आम आदमी पार्टी से चन्द्रहास देवांगन (चुनाव चिन्ह झाडू. छाप), समाजवादी पार्टी से जीवनलाल यादव (चुनाव चिन्ह साईकिल छाप), शिवसेना से दिलेश्वर विश्वकर्मा (चुनाव चिन्ह तीर कमान ), नेशनल डेमोक्रेटिक प्यूपिल्स फ्रंट से दिलेश्वर साहू (चुनाव चिन्ह प्रेशर कूकर), अम्बेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया से राजेश कुमार बंजारे (चुनाव चिन्ह कोट) और भारतीय किसान पार्टी से संयज प्रकाश साहू (चुनाव चिन्ह ट्रेक्टर चलाता किसान), निर्दलीय अमीर सिंह (चुनाव चिन्ह कैमरा), जगमोहन पाटले (चुनाव चिन्ह नारियल पेड़), बद्री प्रसाद ओग्रे(चुनाव चिन्ह गिलास़),   रामकुमार श्रीवास (चुनाव चिन्ह ऑटो़ रिक्शा), और शिवकुमार विश्वकर्मा (चुनाव चिन्ह चाबी़) हैं।
     विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 34 जांजगीर-चांपा नेशनलस्ट कांग्रेस पार्टी से अशोक चौधरी (चुनाव चिन्ह घड़ी़), भारतीय जनता पार्टी से  नारायण प्रसाद चंदेल (चुनाव चिन्ह कमल छाप), बहुजन समाज पार्टी से ब्यास नारायण कश्यप (चुनाव चिन्ह हाथी छाप), इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी से मोतीलाल देवांगन (चुनाव चिन्ह हाथ छाप), कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया से सुधीर यादव (चुनाव चिन्ह बाल और हंसिया़), निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल से इन्नल बिंद (चुनाव चिन्ह नाव़), जनता दल (यूनाईटेड) से शिवभानु सिंह क्षत्री (चुनाव चिन्ह तीर),  आम आदमी पार्टी से संजय कुमार शर्मा (चुनाव चिन्ह झाडू. छाप), भारतीय किसान पार्टी से संजय प्रकाश साव (चुनाव चिन्ह ट्रेक्टर चलाता किसाऩ), नेशनल डेमोक्रेटिक प्यूपुल्स फ्रंट से  संतोष कुमार कश्यप (चुनाव चिन्ह प्रेशर कूकऱ),  निर्दलीय अजय कुमार देवांगन (चुनाव चिन्ह सिलाई मशीऩ),  भोलाराम सतनामी (चुनाव चिन्ह बाल्टी़),  निर्दलीय मयाराम नट (चुनाव चिन्ह गैस सिलेण्डऱ),  महेन्द्र देवांगन (चुनाव चिन्ह हाकी स्टीक बॉल़)  एवं रामलल्ला सतनामी (चुनाव चिन्ह ऑटो रिक्शा़)  निर्वाचन में अपना भाग्य आजमायेंगे।  
     इसी तरह विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 35 सक्ती से कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया से कामरेड अनील शर्मा (चुनाव चिन्ह बाल और हंसिया),  बहुजन समाज पार्टी से गौतम राठौर (चुनाव चिन्ह हाथी छाप), इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी से चरणदास महंत (हाथ छाप), नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी से मेघाराम साहू (चुनाव चिन्ह घड़ी़), और भारतीय जनता पार्टी से मेघाराम साहू (चुनाव चिन्ह कमल छाप), गोंड़वाना गणतंत्र पार्टी से कलेश्वर सिंह सिदार उर्फ कलेश्वर सिंह मरावी (चुनाव चिन्ह आरी़), किसान मजदूर संघर्ष पार्टी से रामनारायण राठौर (चुनाव चिन्ह ईटें़),  आम आदमी पार्टी से  विजय कुमार मौर्य (चुनाव चिन्ह झाडू.), शिवसेना से सूर्यकांत राठौर (चुनाव चिन्ह तीर कमान) और निर्दलीय प्रत्याशी  खोमराम जांगड़े (चुनाव चिन्ह एयर कंडिशनर),  नटवर लाल गोड़ (चुनाव चिन्ह हारमोनियम़),  प्रकाशकुमार उरांव (चुनाव चिन्ह ऑटो रिक्शा़), सत्यनारायण पटेल (चुनाव चिन्ह स्लेट़),  और सूरज कुमार यादव (चुनाव चिन्ह चाबी़) हैं।
     विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 36 चन्द्रपुर से बहुजन समाज पार्टी से गीतांजलि पटेल (चुनाव चिन्ह हाथी छाप), इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी से रामकुमार यादव (चुनाव चिन्ह हाथ छाप), नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी से सुमन नोवल वर्मा (चुनाव चिन्ह घड़ी़), और भारतीय जनता पार्टी से बहुरानी संयोगिता सिंह जूदेव (चुनाव चिन्ह कमल छाप), शिवसेना से अभिनव शुक्ला (चुनाव चिन्ह तीर कमान), भारतीय शक्ति चेतना पार्टी से उमाकांत साहू (चुनाव चिन्ह बांसूरी़),  गोड़वाना गणतंत्र पार्टी से बलवंत सिंह (चुनाव चिन्ह आरी़),  आम आदमी पार्टी से भानुप्रकाश चन्द्रा (चुनाव चिन्ह झाडू. छाप), अम्बेडकाराईट पार्टी ऑफ इंडिया से सत्यानंद सिदार (चुनाव चिन्ह कोट़), भारत भूमि पार्टी से सीता सारथी (चुनाव चिन्ह हीरा़) और निर्दलीय गीतांजलि पटेल (चुनाव चिन्ह नारियल पेड़), दादूलाल टण्डन (चुनाव चिन्ह कप प्लेट़),  नवेल कुमार पंकज (चुनाव चिन्ह एयर कंडिशनऱ),  पैतराम खूंटे (चुनाव चिन्ह आलमारी़), मनहरण लाल कमलेश (चुनाव चिन्ह चाबी़), राजकुमार यादव (चुनाव चिन्ह ऑटो रिक्शा़),  रामकुमार यादव (चुनाव चिन्ह चिमनी़)  और सुन्दरलाल चौहान (चुनाव चिन्ह फलों की टोकरी़), निर्वाचन में अपना भाग्य आजमायेंगे। 
      विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक 37 जैजैपुर से इंडियन नेशनल कांग्रेस पार्टी से अनिल कुमार चन्द्रा (चुनाव चिन्ह हाथ छाप), बहुजन समाज पार्टी से केशव प्रसाद चन्द्रा (चुनाव चिन्ह हाथी छाप), भारतीय जनता पार्टी से कैलाश साहू (चुनाव चिन्ह कमल छाप), शिवसेना से पीताम्बर धीवर (चुनाव चिन्ह तीर कमान), आम आदमी पार्टी से मार्तन्ड सिंह बनाफर (चुनाव चिन्ह झाडू. छाप), गोड़वाना गणतंत्र पार्टी से शांतिकुमार रात्रे (वकील) (चुनाव चिन्ह आरी़),  अम्बेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया से संतोष जाटवर (चुनाव चिन्ह कोट),  निर्दलीय नरसिंह सिंन्हा (चुनाव चिन्ह अंगूऱ),  राजकुमार चन्द्रा (चुनाव चिन्ह हीरा़),  रामसाय कश्यप (चुनाव चिन्ह सीटी़), रेशमलाल खूंटे (चुनाव चिन्ह वर्ग में हल जोतता किसाऩ), साहेबलाल चन्द्रा (चुनाव चिन्ह हारमोनियम़) प्रत्याशी हैं।

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    जांजगीर-चांपा, 30 अक्टूबर। जांजगीर-चांपा विधानसभा सीट में भाजपा के बागी बसपा प्रत्याशी की दमदार मौजूदगी से मुकाबला रोचक हो गया है। जबकि मौजूदा कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशी को फिलहाल पार्टी के अंतर विरोध से जुझना पड़ रहा है। 
    जांजगीर-चांपा में अनुसूचित जाति मतदाताओं की संख्या अच्छी खासी है। ये मतदाता यहां निर्णायक भूमिका में हैं। इसके अलावा कुर्मी साहू और अन्य समाज के लोग भी अच्छी तादाद में है। बसपा से भी कई नेता टिकट के लिए प्रयास कर रहे थे, लेकिन भाजपा के बागी ब्यास कश्यप को टिकट दे दी गई। इससे पार्टी के कई पुराने कार्यकर्ता नाराज बताए जा रहे हैं। विधायक मोतीलाल देवांगन एक बड़े कोसा कारोबारी हैं। इस विधानसभा क्षेत्र में बुनकरों की संख्या अच्छी खासी होने के कारण पकड़ भी है। पिछले कुछ सालों में उनके खिलाफ निष्क्रियता को लेकर भी शिकायत होते रही है। कांग्रेस से टिकट के कई दावेदार भी थे, लेकिन पार्टी ने उन पर भरोसा किया। खास बात यह है कि कांग्रेस व भाजपा ने लगातार पांचवी बार मोतीलाल देवांगन व नारायण चंदेल पर भरोसा जताया है। दोनों ही प्रत्याशी पिछले दो दशकों से एक दूसरे के खिलाफ खड़े हो रहे है जहां दोनों को दो बार जीत तो दो बार हार मिली है। इस बार दोनों ही पार्टियों में उम्मीदवारों की लंबी फेहरिस्त थी जिनमें से किसी एक को मौका दिए जाने की चर्चा चल रही थी जिसको लेकर नए उम्मीदवारों में खुशी की लहर थी लेकिन आलाकमान ने अपने पुराने प्रत्याशियों पर ही भरोसा जताया और पांचवी बार दोनों नेताओं को पार्टी से टिकट दिया।
    इस बार दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ताओं को बदलाव की पूरी उम्मीद थी और इस बात को लेकर वो पूरी तरह से आश्वस्त थे। लेकिन आलाकमान के फैसलों ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर कर रख दिया। जिससे दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ता पार्टी से बगावत पर उतारू हो गए है जिसमें पहला नाम ब्यास कश्यप के रूप में सामने आया है, वे जिला भाजपा के बड़े नेता हैं और जिला पंचायत के पदाधिकारी रह चुके हैं। उनकी पत्नी भी जिला पंचायत की अध्यक्ष रही हैं। टिकट न मिलने से उन्होंने पार्टी छोड़ दी और बसपा की टिकट से चुनाव मैदान में कूद गए हैं।
    ब्यास कश्यप के चुनाव मैदान में कूदने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। यहां जोगी पार्टी-बसपा गठबंधन के चलते तीसरी ताकत के रूप में उभर गई है। पिछले चुनाव में बसपा को यहां 28 हजार मत हासिल हुए थे। विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष नारायण चंदेल के खिलाफ पार्टी में काफी विरोध है। इसी तरह कांग्रेस प्रत्याशी मोतीलाल देवांगन को भी पार्टी में अंतर विरोध का सामना करना पड़ रहा है। यहां आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में हैं। 
    नारायण व ब्यास के आमने सामने होने से भाजपा के ही कई चेहरों में खुशी की लहर है क्योंकि इन दोनों के रहते पार्टी से उनका नंबर लगना मुश्किल था। लेकिन अब उनका रास्ता आसान हो गया है। क्योंकि ब्यास के बसपा सदस्यता व प्रत्याशी बनने से नारायण का रास्ता मुश्किल होने वाला है क्योंकि ब्यास भाजपा में नारायण के बाद दूसरे बड़े चेहरे हैं।
    बसपा प्रत्याशी ने यहां चुनाव प्रचार तेज कर दिया है। उन्हें कई असंतुष्ट भाजपा नेताओं का भी साथ मिल रहा है। इससे परे नारायण चंदेल और मोतीलाल देवांगन भी पुराने कार्यकर्ताओं को साधकर प्रचार में जुटे हैं। ब्यास की मौजूदगी से कुर्मी वोट बंटने के आसार दिख रहे है। यहां प्रचार धीरे-धीरे तेज हो रहा है। ऐसे में ऊंट किस करवट पर बैठेगा, फिलहाल अनुमान लगाना मुश्किल है। इन सबके बावजूद हार-जीत का अंतर कम मतों से होने का अनुमान लगाया जा रहा है।  

  •  

Posted Date : 03-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जाजगीर-चांपा, 3 अक्टूबर। बीती रात जांजगीर के बैंक ऑफ महाराष्ट्र के एटीएम में  चोरी का प्रयास किया गया। चोरों ने एटीएम में तोडफ़ोड़  की है। रुपये निकालने पहुंचे एक ग्राहक ने इसकी सूचना  मैनेजर को दी। मैनेजर की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।
    पुलिस के अनुसार जांजगीर से चांपा जाने वाली मार्ग पर स्थित बैंक ऑफ महाराष्ट्र द्वारा एटीएम लगाया गया है। बीती रात को  चोर एटीएम में पैसा चुराने के मकसद से गए थे। काफी कोशिश करने के बाद उनके हाथ कुछ नहीं लगा। एटीएम में तोडफ़ोड़ की गई है बहरहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। 

  •  

Posted Date : 26-Sep-2018
  • सक्ती को कॉलेज, दुग्ध केंद्र की सौगात जिला का आश्वासन
    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    सक्ती, 26 सितंबर। राजनीति अब मुश्किल हो गई है। कोई मंत्री का सीडी बनाता है, और किसी पार्टी का प्रदेशाध्यक्ष इसे सार्वजनिक रुप से जनता को दिखाता है। राजनीतिक हत्या का प्रयास करता है। ऐसे प्रदेशाध्यक्ष को जब सीबीआई पकड़ती है तो उसके चट्टे-बट्टे उधम मचाते हैं। काले झंडे दिखाए जाते हैं। ऐसे प्रदेशाध्यक्ष के दिमाग पर मुझे तरस आता है। अश्लील सीडी पर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष भूपेश बघेल पर निशाना साधते मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सक्ती में विकास यात्रा के दौरान जनसभा को संबोधित करते कहीं। 
    मुख्यमंत्री ने कहा कि यह छत्तीसगढ़ की परंपरा नहीं है। यहां संस्कार है विचारवान लोग रहते हैं। जीत हार के लिए इतनी गिरावट तक नहीं जाना चाहिए। जिसे 2003 में 2008 में और 2013 में जनता ने घर बिठा दिया। वही विकास का विरोध करती है।  
    उन्होंने इस मौके पर सक्ती को 529 करोड़ की सौगात देते  भूमिपूजन और लोकार्पण किया। सक्ती में अगले साल से शासकीय कालेज और दूध शीतलीकरण केंद्र स्थापित करने की घोषणा की। सक्ती को जिला बनाए जाने की चिरप्रतिक्षित मांग पर कहा कि आने वाले समय में जब भी नए जिला निर्माण की चर्चा होगी सक्ती सबसे पहले होगा।
     साथ ही मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने शक्तिनगर के रेलवे स्टेशन से रोड जाने वाली मार्ग की जर्जर स्थिति को देखते हुए सीसी रोड निर्माण के लिए 100000 की घोषणा की एवं शक्ति नगर में दुग्ध केंद्र की भी घोषणा की साथ ही मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में विकास के अनेकों कार्य हो रहे हैं तथा शक्ति विधानसभा क्षेत्र में विगत 14 वर्षों में अंतिम छोर के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की सभी योजनाओं का लाभ पहुंचा है। 
    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जांजगीर चांपा लोक सभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले एवं शक्ति विधायक खिलावन साहू ने कहा कि प्रदेश के मुखिया डॉ रमन सिंह ने क्षेत्र के लिए हमेशा मुक्त हस्त से सहयोग किया है एवं आज शक्ति विधानसभा क्षेत्र विकास के कार्य में अग्रणी स्थान पर है साथ ही आने वाले दिनों में प्रदेश के मुखिया डॉ रमन सिंह ने शक्ति को जब भी नया जिला की प्रक्रिया प्रारंभ होगी उसमें प्राथमिकता के आधार पर शक्ति को रखे जाने की बात कही है जो कि क्षेत्र की जनता के लिए काफी गौरव की बात है।
     कार्यक्रम में जांजगीर चांपा जिला कलेक्टर नीरज कुमार बंसल ने भी स्वागत उद्बोधन देते हुए मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया स्वागत किया। 
     मुख्यमंत्री  के आगमन पर अतिथियों में नारायण चंदेल अंबेश जांगड़े गोपाल व्यास मेदाराम साहू राम अवतार अग्रवाल कन्या गोयल मनमोहन देवांगन लेख राम जयसवाल प्रकाश साहू नरेश देवासी अमर सुल्तानिया लीलाधर सुल्तानिया श्रीमती विद्या सुथार ग्यारसी मोदी श्रीमती कमलेश जांगड़े सुश्री अन्नपूर्णा राठौर अभिषेक शर्मा गोलू रंजन सिंहा राम नरेश यादव सुरेश कृपलानी भवानी तिवारी सिर गोयल चिराग अग्रवाल ऋषि कुमार गोयल सहित काफी संख्या में भाजपा शक्ति विधानसभा क्षेत्र के शक्ति नगर सत्ती ग्रामीण बाराद्वार एवं सारागांव मंडल के कार्यकर्ता तथा जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। वहीं शक्ति विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ नेता धर्मपाल राठौर ने भी   मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया एवं मुलाकात की।

  •