छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Previous123Next
Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 18 जनवरी। बस्तर संभाग के कमिश्नर धनंजय देवांगन ने मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत कोण्डागांव जिले के बनियागांव (मतदान केन्द्र 155 व 156) और मुख्यालय कोण्डागांव के अस्पताल वार्ड 1 व 2 (मतदान केन्द्र 136 व 137) का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। 
    इस दौरान कमिश्नर द्वारा मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत बनियागांव के मतदान केन्द 155 व 156 में पहुंचकर जायजा लिया गया जहां उन्होंने अविहित अधिकारी हेमशंकर तारम, केआर वड्डे के कार्य के प्रति नाखुशी जाहिर की। लेकिन उन्होंने मुख्यालय कोण्डागांव के अस्पताल वार्ड 1 व 2 (मतदान केन्द्र 136 व 137) का भी निरीक्षण किया जहां उनके द्वारा अविहित अधिकरियों के कार्यो के प्रति संतुष्टि भी जाहिर की। इस दौरान अपर कलेक्टर एसआर कुर्रे, एसडीएम टेकचंद अग्रवाल और अन्य अधिकारी मौजूद थे।  
    शिक्षक को लगाई फटकार
    इसके पूर्व उन्होंने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बनियागांव के स्कूल का भी निरीक्षण किया जहां उन्होंने बच्चों से राजनीति एवं इतिहास विषय से संबंधित प्रश्न स्कूली बच्चों से पूछा, जिस पर बच्चो द्वारा संतोषजनक उत्तर प्राप्त नहीं देने पर, कमिश्नर ने शिक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए, कार्यवाही करने की बात कही। 

     

     

  •  

Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागाव, 18 जनवरी। बस्तर विश्व विद्यालय के पाठ्यक्रम पर संचालित शासकीय गुण्डाधूर महाविद्यालय में नियमित सीटों की कमी बनी हुई है। ऐसे में कोण्डागांव के महाविद्यालयिन विद्यार्थियों को स्वाध्यायी अध्यायन करने के लिए मजबुर है। महाविद्यालय में सीटों की संख्या बढ़ाने के लिए 18 जनवरी को एनएसयूआई के विधानसभा उपाध्यक्ष हेमंत भोयर के नेतृत्व में महाविद्यालय प्राचार्य को ज्ञापन सौपा।
    ज्ञापन सौपते हुए एनएसयूआई के विधानसभा उपाध्यक्ष हेमंत भोयर ने बताया कि, विगत पांच वर्ष से महाविद्यालय में नियमित अध्यन के लिए सीटों की कम बनी हुई है। इसी वजह से कई विद्यार्थियों को मजबूरन स्वध्यायी परीक्षार्थी के रूप मे अध्यन करना होते है। कई विद्यार्थी सीट कम होने की वजह से परीक्षा से वंचित भी हो जाते है। साथ ही मांग की गई है कि, महाविद्यालय के सभी संकाये के संचालन की मांग की गई है।

     

     

  •  

Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 18 जनवरी। खरीदी केन्द्र सलना में धान का आवक बडऩे से खरीदी के लिए जगह का अभाव होता जा रहा है। वर्तमान सरकार ने किसानों का हित के लिए धान के दामों में बढ़ोतरी के कारण किसान अपनी फसल बड़ी संख्या में लेम्पस में पहुंच रहे है। लेकिन लेम्पस में सही समय पर धान का उठाव नहीं होने के कारण हजारों क्विंटल धान जाम हो गया है, जिसके चलते अन्य किसानों को अपना फसल बेचने में परेशानी उठानी पड़ रही है। 
    उपार्जन केन्द्र सलना मे अब तक की कुल खरीदी 33773.20 क्विंटल हुआ है, मिलर्स को परिदान 17760.00 क्यिूंटल हुआ है, और 16013.20 क्विंटल धान शेष है। पिछले वर्ष की अनुसार इस वर्ष धान का उठाव बहुत ही धीमी गती से हो रही है।
    इस संबंध में विपणन अधिकारी से चर्चा करने पर कहां गया कि धान का उठाव तो हो रहा है, जितने मिलर्स है उन सभी का धान परिदान के लिए डीओ जारी किया जा रहा है, लेकिन इस वर्ष कर्ज माफी और पंजीयन में वृध्दि होने के कारण धान का आवक बडऩे से ऐसी स्थिति निर्मत हुआ है। 
    खरीदी प्रभारी टीसी साहू ने बताया कि धान का उठान नहीं होने से सभी जगह धान से भरी हुई है, जिसके कारण खरीदी करने में भारी परेषानि हो रही है। निरीक्षण में जो भी अधिकारी आते उसे भी उठाव के संबंध में अवगत करने बिना कुछ कह देखकर चले जाते है, धान उठाव के संबंध में कोई कुछ नहंी कहता है, समय पर उठाव नहीं होने से धान में सुखती आने की संभावना है। 

     

     

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • 21 से धरना-प्रदर्शन की चेतावनी, एसडीएम को ज्ञापन
    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागाव, 18 जनवरी। रेलवे प्रभावित किसानों ने नगर में बैठक रखा था। इसमें अपनी विभिन्न 14 सूत्री मांगों के संबंध समेत आज पर्यंत तक रेलवे प्रशासन द्वारा किसी प्रकार की कोई पहल नहीं करने पर रोष जताया। जानकारी हो, इस संबंध में कई बार जिला प्रशासन के माध्यम से ज्ञापन प्रस्तुत किया गया। बैठक में किसानों की मांगे पूरी नहीं होने पर 21 से 23 जनवरी तक धरना -प्रदर्शन करने की बात कही गई है। इसी बात को लेकर एसडीएम को ज्ञापन सौपा गया।
    दल्लीराजहरा, रावघाट व जगदलपुर रेल परियोजना अंतर्गत कोण्डागांव जिले में अधिग्रहित भूमि का सर्वे किया गया है। इसमें घोर अनियमितता बरती गई है, जिससे आक्रोशित जन प्रभावित किसान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से मुलाकात कर रेलवे द्वारा अधिग्रहित भूमि का पुन: सर्वेक्षण करने का आवेदन प्रस्तुत किए हैं। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कोण्डागांव में तुरंत पुण: सर्वेक्षण करने का किसानों को आश्वासन दिए हैं। बैठक में संघ सरंक्षक दयाशंकर दिवान, लुभा सिंह नाग, शंभू मरकाम, अध्यक्ष विरेंद्र धु्रव, कोषाध्यक्ष कृष्ण कुमार पटेल, सचिव छेदन दिवान, धुरेंद्र पटेल, केदार पटेल, गोकुल भारती, सरपंच शिवनाथ पोयाम, लखन सिंह ठाकुर, उमेश नेताम, सुनील पोयाम, बृजलाल, हिमांशु ठाकुर, हेमंत सेठिया, पदमसिंह सेठिया, रमेश साहू, नरपति पटेल, जयराम पटेल, जालम पटेल, विधि सलाहकार तिलक पांडे, गोपाल नेताम, लता पटेल, अगरबती मानिकपुरी, शामबती आदि उपस्थित रहे।

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • अब भी 35 से अधिक मजदूर हैं बंधक, श्रम अधिकारी से शिकायत

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 17 जनवरी। जिले के चार युवक दलालों के ज्यादा पैसे कमाने के झांसे में आकर हैदराबाद पहुंच गए। जहां उन्हें पता चला कि, जिसने उन्हें यहां काम पर लगवाया है, उस व्यक्ति ने उसके साथ दगा करते हुए 10 हजार रुपए के दर पर बेच दिया है। चारों युवक कुछ दिन के बाद हैदराबाद से भागकर घर तो लौट आए। यहां पहुंच इन युवकों ने मामले की लिखित शिकायत श्रम अधिकारी को कर दी, साथ ही इन्होंने यह भी बताया कि, उस स्थान पर प्रदेश के कई अन्य युवा-युवती भी बंधुवा मजदूर बनाकर रखे गए हंै। अब युवकों का आरोप है कि विभाग इस ओर अब तक कोई ध्यान नहीं दे रहा है।
    मामले की जानकारी देते हुए विकासखंड फरसगांव के ग्राम पंचायत चुरेगांव निवासी रितेश कुमार मरकाम (22) ने बताया कि, पड़ोसी गांव भानपुरी के सराराटिकरा निवासी रितेश कोर्राम उसे और उसके ही गांव के श्यामसुंदर, जागेश्वर और सुरेंद्र भारद्वाज को काम दिलाने के नाम पर 4 जनवरी को हैदराबाद भेजा। हैदराबाद भेजते समय उसने एक नम्बर दिया और कहा, वहां पहुंच इस नंबर से संपर्क करने पर बस स्टैण्ड में उन्हें कोई लेने पहुंच जाएगा। रितेश के कहे अनुसार हैदराबाद बस स्टैंड पर उन्हें लेने विनोद नामक व्यक्ति पहुंचा भी। तब तक इन चार दोस्तों को सब ठीक ही लग रहा था, इसके बाद उन्हे वेंकट सई कंपनी बरमापल्ली हैदराबाद ले जाया गया। यहां उन्हें सीमेंट र्इंट बनाना का काम दिखाया गया, जिसे करने से इन चारों ने मना करते हुए घर वापसी की बात कही। 
    घर वापसी की बात पर 
    मैनेजर ने की मारपीट
    जब इन चारों ने र्इंट बनाने के काम को मना किया तो, कंपनी के मैनेजर ने उनके साथ मारपीट करते हुए अभद्रता की। मौके पर मैनेजर ने उसने कहा, रितेश मरकाम, श्यामसुंदर, जागेश्वर और सुरेंद्र भारद्वाज के ऐवज में रितेश कोर्राम को दस-दस हजार रुपए दिए है। काम छोड़ कर जाना है तो सभी दस-दस हजार रुपए लौटाकर घर लौट जाए। परिस्थिति को देखते हुए चारों वहीं रुक गए। 
    घर वापसी के लिए मां ने भेजे 
    7 हजार, फिर भी नहीं हुई वापसी
    रितेश ने उनके साथ हुए बदसलूकी के बारे में बताया कि, जब वे हैदराबाद से वापस आना चाहते थे तो मैनेजर उनसे दलाल को दिए गए 10 हजार रुपए वापस मांगने लगा। इस बात को लेकर रितेश ने अपने घर पर मां के पास मोबाइल से कॉल किया। परिजनों से सौदे-बाजी के बाद 6 हजार रुपए रिहाई के लिए और बस किराया के लिए एक हजार रुपए पर डील पक्का हुआ। परिजनों ने तय सौदा अनुसार रकम तो भिजवा दिए, लेकिन उनकी रिहाई नहीं की गई। रिहाई नहीं होने से 2 दिन के बाद 7 जनवरी को वे किसी तरह वहां से भाग निकले। 
    कम्पनी में महिला मजदूर भी बंधक
    भागकर लौट गए चारों युवकों की मानें तो बरमापल्ली हैदराबाद की वेंकट सई कंपनी में 35 से 40 व्यक्ति अब भी बंधूआ मजदूर की तरह काम कर रहे हंै। रितेश कुमार मरकाम की मानें तो, बंधक मजदूर इसलनार, मर्दापाल व चिंगनार क्षेत्र के हैं। इनमें 3 युवतियां भी शामिल हैं, जिसने साथ शारीरीक शोषण का भी अंदेशा व्यक्त किया गया है।
    बाकि बंधक को छुड़ाने सप्ताह भर का समय और लगेगा
    इस मामले में जिला श्रम अधिकारी आरजी सुधाकर ने बताया कि आवेदक ने 10 जनवरी को लिखित शिकायत दिया है, इस मामले में कार्रवाई जारी है। अभी एक सप्ताह की देरी और होगी। आर्थिक व अन्य व्यवस्था करने में समय लग रहा है, जिस कारण दल रवाना नहीं किया गया है। वहीं अधिकारी सुधाकर ने यह भी बताया कि, मजदूरों से अब तक कोई संपर्क नहीं हो पाया है। 
    इधर पांच दिन बाद घर पहुंचा चिन्तुराम का शव
    सिंगनपुर निवासी चिन्तु राम नेताम समेत तीन युवकों को इसी गांव के विजय ने काम का लालच देकर बोरवेल वाहन में काम करने तमिलनाडु ले गया। यहां चिंटू राम का तबीयत खराब हो गई और इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। मृत्यु की सूचना 3 दिन बाद परिवार को लगी। परिवार का आरोप है कि, श्रम विभाग की लेट लतीफी के कारण 11 जनवरी को मृत हुए चिन्तु राम नेताम का शव 16 जनवरी की सुबह पांच दिन बाद तमिलनाडु से सिंगनपुर लाया गया।

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 17 जनवरी। कोण्डागांव जिला के ओडिशा सीमावर्ती क्षेत्र से लगातार अवैध रूप से धान का परिवहन कर प्रवेश करते वाहनों पर कार्रवाई की जा रही है। माकड़ी थाना पुलिस ने एक बार फिर सीमा में एक ट्रैक्टर जब्त किया है। साथ ही ट्रैक्टर में लदे धान व वाहन मालिक के विरूद्ध भी मामला बनाया गया है।
    जानकारी अनुसार, 14 जनवरी की रात माकड़ी पुलिस को गश्त के दौरान ओडिशा से एक पुराना लाल रंग का ट्रैक्टर बिना नंबर का बेलोंडी चौक मेनरोड पर नजर आया। पूछताछ करने पर पता चला कि, चालक व धान मालिक कन्हैयालाल नेताम (30)  निवासी तोरंडी, ओडिशा के अधिकारीगुड़ा से धान लेकर अवैध रूप से बेचने छत्तीसगढ़ पहुंचा था। लेकिन उसेमाकड़ी पुलिस ने गश्त चेकिंग के दौरान बेलोंडी चौक मेन रोड के पास पकड़ लिया। जांच में ट्रैक्टर के ट्राली से 100 बोरी धान भी जब्त किया गया। जानकारी हो, इसके पूर्व 11 जनवरी की रात भी माकड़ी थाना पुलिस ने वाहन चेकिंग करते हुए ओडिशा से आते 407 से 90 बोरी धान जब्त किया था। 

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 17 जनवरी। कोण्डागांव के विशेष सत्र न्यायाधीश (एनडीपीएस एक्ट) एआर ढिडही न्यायालय ने मिर्जापुर (उप्र) निवासी रघुराज सिंह (36) और इलाहाबाद (उप्र) निवासी भारत सिंह (35) को गांजा तस्करी के आरोप में दस-दस वर्ष के सश्रम करावास से दण्डित किया है। साथ ही उन्हे एक-एक लाख रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया।
    प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी किए विशेष लोक अभियोजक नरेश नाईक ने बताया कि, 28 अगस्त 2016 को विश्रामपुरी थाना पुलिस ने रघुराज सिंह और उसके साथी भारत सिंह को सफेद रंग के कार क्रमांक यूपी 63 जेड 1263 से गांजा तस्कर करते गिरफ्तार किया था। मौके पर इनके कार से 56.015 किलो गांजा बरामद किया गया था, जिसकी कीमत 2 लाख 80 हजार रुपए बताई गई थी। इसके चलते विवेचक संतोष भुआर्य ने आरोपियों को धारा 20 (ख) (दो-स) स्वापक औषधि और मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम 1985 का अभियोग पत्र तैयार कर माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया। न्यायालय ने दोनों को दोषी पाते हुए सजा सुनाया है।
    23 से संभाग स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा 
    जगदलपुर,17 जनवरी। बस्तर जिला बैडमिंटन संघ द्वारा आयोजित संभाग स्तरीय बैडमिंटन प्रतियोगिता 23 जनवरी से प्रारंभ किया जाएगा। इस प्रतियोगिता में बस्तर संभाग के विभिन्न जिलों के खिलाड़ी भाग ले सकेंगे। प्रतियोगिता में महिला एकलए अंडर.14 सिंगल्सए अंडर.17 सिंगल्सए ओपन सिंगल्स और डबल्स सहित वेटरेन्स और सुपर वेटरेन्स वर्ग में बैडमिंटन खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। वेटरेन्स वर्ग के तहत 45 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके खिलाड़ी और सुपर वेटरेन्स वर्ग के तहत 50 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके खिलाड़ी भाग ले सकेंगे। प्रतियोगिता में भाग लेने के इच्छुक प्रतिभागी 22 जनवरी को दोपहर 3रू00 बजे तक प्रवेश ले सकेंगे। ओपन वर्ग के तहत युगल वर्ग के विजेताओं को 7 हजार और उपविजेता को 4 हजार का नगद पुरस्कार दिया जाएगा जबकि ओपन एकल वर्ग के विजेता को 5 हजार और उपविजेता को 3 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा।
    शेष सभी वर्गों के विजेताओं को 3 हजार और उप विजेताओं को 2 हजार रुपए सहित ट्रॉफी पुरस्कार स्वरूप दिया जाएगा। बस्तर जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष संजय विश्वकर्मा ने जानकारी देते बताया कि दिगर जिलों से आने वाले खिलाडिय़ों के ठहरने और भोजन की व्यवस्था भी संघ की ओर से की जाएगी। बैडमिंटन संघ के सचिव राजेश त्रिपाठी ने प्रतियोगिता के नियमों की जानकारी देते बताया कि निर्धारित तिथि से पहले प्रवेश पाने वाले खिलाडिय़ों को ही प्रतियोगिता में खेलने का अवसर प्राप्त होगा। इसी प्रकार कोई भी एक खिलाड़ी दो से अधिक वर्गों में प्रवेश नहीं ले सकेंगे।

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • कोण्डागांव, 16 जनवरी। इन दिनों अंचल के सभी हाट-बाजारों में मुर्गा लड़ाई का चलन है। इस खेल के शौकिन काफी अधिक शौक से इसे देखते भी है। लेकिन यहीं शौक कई बार घातक साबित होती है। कुछ ऐसा ही हाल चुरावंद निवासी व्यक्ति के साथ हुआ। जानकारी अनुसार, चुरावंद निवासी कामे कोण्डागांव बाजार पहुंचे हुए थे और यहां वे मुर्गा लड़ाई देख रहे थे। इसी दौरान मर्गाकाती कामे को लग गया औरवह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल अवस्था में उसे जिला अस्पताल आरएनटी ले जाया गया है, जहां उपचा जारी है। बता दे, जब बाजार में दो मुर्गों को आपस में लड़ाया जाता है तो उनके पैरों में चाकू नुमा ब्लेड बांधी जाती है। 

    यह इतनी घातक होती है कि, इसके चोट से कई मुर्गा लड़ाई देखने के शौकिन की मौत तक हो चुकी है।

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागाव, 16 जनवरी। विकास खण्ड कोण्डागांव के ग्राम कोकोड़ी में 12 वर्षिय मासूम को सर्प ने डस लिया, जिससे उसकी मौत हो गई है। जानकारी अनुसार, सुनील (12) पिता पिलसाय अपने दोस्तों के साथ घर से कुछ दूर खेतों में चुहा मारने गया था। खेत में चुहा तलासने के दौरान उसने एक बिल में हाथ डाल दिया। जहां पहले से मौजूद सर्प ने उसे डस दिया। इस डंस से उसकी मौत हो गई।

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • कोण्डागांव, 16 जनवरी। सिटी कोतवाली अंतर्गत जोंदरापदर मार्ग के पास दुध से भरी टैंकर रेत ले जा रही ट्रैक्टर से टकराई। इस टक्कर से ट्रैक्टर में सवार 4 लोग घायल हो गए। घायलों में दो महिला भी शामिल है। जानकारी अनुसार, 15 जनवरी की शाम लगभग 4 बजे छत्तीसगढ़ राज्य दुग्ध मर्यादित संघ की टैंकर सीजी 07 सीबी 0480 पखांजुर से दुध लेकर जगदलपुर की ओर जा रही थी। इसी दौरान जोंदरापदर नाला से रेत लेकर जा रही ट्रैक्टर और टैंकर आपस में टकरा गए। टक्कर से दोनों वाहन पलट गए और ट्रैक्टर सवार सरस्वती कोर्राम (21) पिता मानसिंह निवासी कुम्हारपारा, पतिराम मरकाम (20) पिता रामधार डढिय़ापारा, रूपेश्वरी चक्रधारी (25) पति धनेश्वर कुम्हारपारा और चालक धनेश्वर चक्रधारी (30) पिता सामूराम घायल हो गए। सभी घायलों को तत्काल 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल आरएनटी में दाखिल किया गया, जहां उपचार जारी है।

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागाव, 16 जनवरी। बीते 24 घंटे में सिटी कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत दो अलग-अलग बाईक एक्सिडेंट में तीन युवकों की मौत हो गई है। पहला सड़क हादसा 15 जनवरी के देर शाम कोण्डागांव बड़ेकनेरा मार्ग पर बल्लारी नाला के पास हुआ, तो दूसरा सड़क हादसा 16 जनवरी की शाम लगभग 4 बजे नगर के ही पास नेशनल हाईवे 30 पर दुधगांव के पास हुआ। फिलहाल सिटी कोतवाली पुलिस मर्ग कायम कर विवेचना कर रही है।
    पहली घटना की जानकारी देते हुए परिजनों ने बताया कि, 15 जनवरी की शाम लगभग 7 बजे दीपक उर्फ दीनबंधु सेन (33) पिता स्व घनश्याम, बड़ेकनेरा बाजार गया हुआ था। वहां से अपने घर प्रेमनगर लौटने के दौरान रास्ते के बल्लारी नाला के पास सुभाष मौर्य ने अपनी मोटर साइकिल से टक्कर मार दिया। इस टक्कर से दीपक व सुभाष दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को उपचार के लिए जिला अस्पताल आरएनटी ले जाया गया। यहां दीपक को मृत घोषित कर दिया गया, वहीं सुभाष को गंभीर हालत में रायपुर रिफर किया गया है। बता दे, सुभाष मौर्य कोण्डागांव जिला पुलिस के डीआरजी बल में तैनात है।
    दूसरी घटना नेशनल हाईवे 30 पर आज शाम 4 बजे की बताई जा रही है। कोतवाली पुलिस के अनुसार, सूचना मिली थी कि, दुधगांव के पास एक मोटर साइकिल सड़क से नीचे पेड़ से टकरा गई है। सूचना पर पुलिस पार्टी मौके पर पहुची, जहां दो युवक गंभीर रूप से घायल मिले। दोनों को तत्काल जिला अस्पताल आरएनटी ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हे मृत घोषित कर दिया। अभी तक पता चल पाया है कि, जीस ब्लैक बजाज पल्सर 200 एनएस सीजी 17 केएच 3678 जगदलपुर गांधी नगर वार्ड निवासी विक्की शर्मा पिता रातश कुमार शर्मा के नाम से पंजीकृत है और मरने वाले दोनों युवक का नाम आदि और हन्नी यादव है। फिलहाल पुलिस परिजनों से संपर्क कर अधिक जानकारी जुटा रही है।

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 16 जनवरी। फरसगांव के मंडी प्रांगण में साहू समाज का जिला स्तरीय आमसभा का आयोजन किया गया था। यहां सामाजिक मुद्दों पर चर्चा कर सामाजिक गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए जिला नगर अध्यक्ष और सभी तहसील अध्यक्ष की उपस्थिति में जिला कार्यकारिणी का गठन किया गया। 
    इसके अनुसार संरक्षक कृष्ण कुमार साहू, संतोष साहू, जिलाध्यक्ष बिरस प्रसाद साहू, उपाध्यक्ष यशवंत साहू, हितेश साहू, दुर्गेश्वर साहू, कमल साहू, महासचिव बसंत कुमार साहू, सचिव राजेंद्र साहू, कोषाध्यक्ष बुधराम साहू, उप कोषाध्यक्ष कृष्ण कुमार साहू, युवा प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष लखेश्वर साहू, उपाध्यक्ष महेश कुमार साहू, महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष रूकमणी साहू, उपाध्यक्ष उषा बाई साहू, न्याय समिति के सदस्य दीनदयाल साहू, मनीराम साहू, प्रभु राम साहू, दुर्गाबाई साहू, हीराबाई साहू, कार्यकारिणी सदस्य प्रहलाद साहू, आत्माराम साहू, धनीराम साहू, तुलसी राम साहू, दुकालू राम साहू, अधिकारी कर्मचारी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कमलेश साहू, व्यापारी प्रकोष्ठ प्रदीप साहू, मीडिया प्रभारी विजय साहू, ऑडिटर मंशाराम साहू, सुधीर साहू, पत्र वाहक माखनलाल साहू को चुना गया। 
    कार्यक्रम के दौरान सभापति बंसी लाल साहू ने शपथ ग्रहण दिलाया। इस अवसर पर अध्यक्ष बीरस साहू और महासचिव बसंत साहू ने समाज हित में कार्य करने व समाज को आगे बढ़ाने के बात कही। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 16 जनवरी। मुख्यालय स्थित सुपोषण केंद्र में महिला बाल विकास परियोजना कोण्डागांव 3 और 3 के मर्दापाल, सोनाबाल, बुनागांव व बयानार सेक्टर अंतर्गत ग्राम चलका, बड़को, मडगांव, तोड़म, बड़ेकुरुसनार, करनपुर और अन्य अंदरूनी क्षेत्रों से 60 गंभीर कुपोषित बच्चों और माताओं को 10 दिन रखने के बाद विदाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूपुर राशि पन्ना, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एसके कनवर, जिला कार्यक्रम अधिकारी वरुण नागेश उपस्थित रहे। 
    इस अवसर पर समस्त हितग्रहियों को पोषण, स्वास्थ्य और स्वच्छता संबंधित जानकारी दी गई। साक्षरता व अन्य जागरूकता संबंधी विषयों पर गंभीरता से अपने विचार प्रकट किए गए। विभिन्न प्रकार के पोषण स्वास्थ्य व स्वच्छता संबंधित गतिविधियों के लिए पुरस्कृत किया गया। सभी बच्चों को जिला प्रशासन की तरफ से स्वेटर और महिलाओं को शॉल का वितरण किया गया। साथ ही सभी बच्चों के लिए आगामी 2 माह के लिए अतिरिक्त दवाइयों का वितरण भी किया गया ताकि वे पूर्णता सुपोषित हो सके। कार्यक्रम में कोण्डागांव तहसीलदार ऋतु, परियोजना अधिकारी मोहम्मद इमरान अख्तर, मयंक देवांगन, हरेश साहू, स्वास्थ्य व महिला बाल विकास के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 16-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 15 जनवरी। कार्यालय मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी कोण्डागांव द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार राज्य स्तर से युएनडीपी द्वारा एवीन आर्डर मेनेजमेन्ट का प्रशिक्षण 10 जनवरी को आयोजित किया गया था। जिसके अन्तर्गत जिला एंव विकास खंड के कोल्ड चैन हेडलरर्स एवं वीसीसीएम को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में रायपुर से आये अशुंमन मोईत्रा ने बताया कि इस ÓÓऐपÓÓ के माध्यम से  रोधक टीके को सुरक्षित रखा जा सकता है। साथ इसकी यह भी विशेषता है कि यदि वेक्सीन की कमी होती तो यह तुरंत दर्शाकर सभी कोल्ड चैन पॉइन्ट में इसे पूरा कर सकते है। कोल्ड चैन हेण्डलर में निर्धारित तापमान पर वैक्सीन को रखा जा सकता है और तापमान के ज्यादा होने की जानकारी भी इससे तुरंत मिल जाती है। इस प्रकार इस ÓÓएपÓÓ के माध्यम से वैक्सीन सुरक्षित रखने के कार्य को अधिक सहजता से किया जा सकता है। उक्त प्रशिक्षण में जिले के टीकाकरण अधिकारी डॉ. वायके ध्रुव, जिला कोल्ड चैन तकनीशियन विक्रान्त पीटर तथा टीकाकरण डाटा ऑपरेटर कु0जयकुमारी देवागंन एंव अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।
    स्थानीय अवकाश घोषित
    कोण्डागांव, 15 जनवरी। कलेक्टर नीलकण्ठ टेकाम द्वारा कैलेण्डर वर्ष 2019 के लिए स्थानीय अवकाश घोषित किया गया हैं। इसके अनुसार 12 मार्च को कोण्डागांव मेला, विश्व आदिवासी दिवस 9 सितम्बर एवं 7 अक्टूबर को नवाखानी के अवसर पर संपूर्ण जिले में स्थानीय अवकाश रहेगा। उपरोक्त स्थानीय अवकाश के दिनों में भी कोषालय एवं उप-कोषालय यथावत् खुले रहेंगें। 

     

  •  

Posted Date : 16-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 15 जनवरी। विस चुनाव में अनियमितता करने वाले लापरवाह पीठासीन अधिकारियों की वेतन वृद्धि रोकी गई।
    कार्यालय उप जिला निर्वाचन अधिकारी जिला कोंडागांव द्वारा जारी विज्ञप्ति अनुसार विधानसभा निर्वाचन 2018 के दौरान बिना सी.आर.सी के मतदान प्रारंभ किए जाने तथा मतदान समाप्ति उपरांत क्लोज बटन नहीं दबाया जाने वाले पीठासीन अधिकारियों को निर्वाचन कार्य संपादन में अनियमितता बरते जाने के फलस्वरूप शो-काज नोटिस जारी की गयी थी। इसके जवाब में सभी पीठासीन अधिकारियों द्वारा मानवीय भूल होना स्वीकार करते हुए क्षमा प्रदान करने हेतु निवेदन किया गया था। परन्तु विधान सभा 2018 के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारियों को ईवीएम एवं व्हीव्हीपेट के संचालन के संबध में समय समय पर निरन्तर प्रशिक्षणों का आयोजन किया गया था। इतने प्रशिक्षणों के उपरांत व लगातार आवश्यक दिशा निर्देशों के बाद भी निर्वाचन जैसे राष्ट्रीय कार्य के प्रति अनियमितता बरता जाना घोर लापरवाही की श्रेणी में आता है और इसे मानवीय भूल नहीं कहा जा सकता। अत: इन पीठासीन अधिकारियों के विरूद्ध एक वेतन वृद्धि रोकने के लिए आदेश जारी किये गये हैं। 
    इन पीठासीन अधिकारियों में राजेश बाघ (कृषि विकास अधिकारी, सहायक भू संरक्षण कार्यालय कोण्डागांव ), सूरज मातलाम (उच्च श्रेणी शिक्षक, उच्च प्राथमिक शाला डोगरीपारा कोंडागांव ), सुखराम सोरी (प्रधान पाठक, उच्च प्राथमिक शाला से सिलाटी ), मनोज कुमार कुर्रे (प्रधान पाठक, उच्च प्राथमिक शाला जामकोटपारा मसोरा ), कमलकांत पटेल (व्याख्याता, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरकई), सुरिज पोयम (प्रधान पाठक, कमेला), सुरेश कुमार कुमेटी (प्रधान पाठक, माध्यमिक शाला बफना), बलराम पाण्डे (व्याख्याता, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बालोण्ड, प्राचार्य शासकीय), उमेश कुमार सोनपिपरे, (प्रधान पाठक, पूर्व माध्यमिक शाला मालाकोट) हरीनाथ पटेल (व्याख्याता, हाई स्कूल कचोरा), बसमन कोर्राम, (प्रधान पाठक, प्राचार्य शासकीय कोहकापाल), सोनाधर नेताम, (प्राचार्य), मेघनाथ नेताम (प्रधानपाठक, माध्यमिक शाला गोड़मा), गयाप्रसाद नेताम, (प्रधान पाठक, बालक आश्रम छोटेराजपुर,) तुलसीराम नेताम, (प्रधान पाठक, प्राचार्य शासकीय कुम्हारपारा, केशकाल), राजकुमार नेताम, (व्याख्याता, शास. उच्च. माध्य. विद्यालय मोहलई,) उदयशंकर राना, (प्रधान पाठक, माध्यमिक शाला टांटींरास नौकाबेड़ा), वासुुदेव नाग (प्रधान पाठक, माध्यमिक शाला खंडसरा), बुधराम, (व्याख्याता शास. उच्च. माध्यमिक विद्यालय कोरगांव), बलराम साहू (व्याख्याता, हाई स्कूल मांडोकीखरगांव), गोकुल करंगा (प्रधान पाठक, उच्च प्राथमिक शाला पावारास), राजेंद्र धनेश्कर (प्रधान पाठक, पूर्व माध्यमिक शाला टेमरूपारा बंगोली) शामिल हंै।

     

     

     

  •  

Posted Date : 15-Jan-2019
  • जिला प्रशासन के पहल पर मुख्यालय में खोला आपूर्ति बैंक

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 15 जनवरी। शिल्प नगरी कोण्डागांव के शिल्पियो को अब शिल्प कारीगरी के लिए कच्चा माल किफायती दर पर उपलब्ध हो सकेगा। शिल्प के लिए रॉ मटेरियल की उपलब्धता और बाजार मूल्य पर उसे क्रय करना शिल्प कारो के लिए एक प्रमुख समस्या थी। इसके लिए समय समय पर स्थानीय शिल्पकारो ने शासन प्रशासन के समक्ष इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था। इस संबध मे कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने इसके निदान के लिए आवश्यक पहल की भी बात कही गई थी।
    हमेशा से ही स्थानीय शिल्पकार शिल्प की बुनियादी सामग्री जैसे मोम, पीतल इत्यादि स्थानीय बाजार से क्रय करते आ रहे थे जो समय के साथ साथ और भी मंहगी होती जा रही थी। ऐसी विकट परिस्थिति मे जिला प्रशासन ने शिल्पकारी के लिए कच्चा माल आपूर्ति बंैक का खोला जाना शिल्पियो के लिए एक बड़ी राहत के साथ साथ उनकी कला को एक नया आयाम देने मे सहायक होगा। 15 जनवरी को तहसील कार्यालय के सामने नगर के मध्य स्थल मे स्थापित उक्त कच्चा माल आपूर्ति केन्द्र के शुभारंभ के अवसर पर उपस्थित मुख्य अतिथि क्षेत्र के विधायक मोहन मरकाम ने अपने संबोधन मे कहा कि सही मायने मे जिले के शिल्पकार जिले के गौरव है उन्ही की बदौलत आज कोण्डागांव को शिल्प नगर कहलाने का गौरव प्राप्त है। वर्तमान मे कोण्डागांव जिले की जो राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय ख्याति है इन्ही शिल्पकारो ने निर्मित श्रम साध्य कलाकतियो का बेजोड़ निर्माण है। शिल्पियो ने विपरीत परिस्थितियो से जूझ कर अपनी सांस्कृतिक विरासत को संजोया है। इसके लिए सभी शिल्पकार बधाई के पात्र है। उन्होने कहा कि शिल्पकारो के सभी मांगो और समस्याओ से शासन को अवगत कराने के साथ उसके प्रभावी निराकरण की पहल की जायेगी। इसके साथ ही वर्तमान समय की चुनौतियो को देखते हुए निर्माण और विपणन के लिए एक रणनीति बनाने की आवश्यकता है इसके लिए शिल्प से जुड़ी सभी समितियो से सुझाव लिया जायेगा।
    समय की मांग को देखते हुए शिल्पकला को एक संगठित व्यवसाय का रूप देवें शिल्पकार-कलेक्टर
    इस मौके पर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने कहा कि जिले के शिल्पियो ने पीढ़ी दर पीढ़ी यंहा के परम्परागत शिल्प के संरक्षण और संवर्धन का कार्य किया है। इन्ही की योगदान के फलस्वरूप जिला कोण्डागांव को क्रॉप्ट सिटी कहा जाता है। अपनी पदस्थापना के बाद ही उन्होने शिल्पकारो से उनकी समस्याओ के संबंध मे गहन चर्चा किया था। शिल्पियो की आजीविका को सुनिश्चित करने के लिए उनकी कला के समक्ष आ रही अडचनो को दूर करना उनकी प्राथमिकता मे था। कच्चे माल की उपलब्धता सभी शिल्प विधाओ के लिए एक बड़ी समस्या के रूप मे सामने आई थी अभी तक कारीगर स्थानीय स्तर पर ही रॉ मटेरियल को खरीदी कर रहे है। परन्तु इस केन्द्र के खुल जाने से उन्हे एक निश्चित दर पर सभी सामाग्रिया उपलब्ध होंगी। विगत माह राज्य पाल महोदया के प्रवास की चर्चा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि राज्यपाल ने बड़े धैर्य और उत्सुकता से शिल्प निर्माण प्रक्रिया को देखा और उसकी भूिर भूिर प्रशंसा की। इस प्रकार अब समय आ गया है कि जिले के इस अनुठी कला को एक व्यवसाय का रूप दिया जाय। इसके लिए शिल्पकारो को योजनाओ से लाभान्वित करने के अलावा इसके मार्केंिटंग को ऑनलाईन करने की भी योजना है। जिले के इस कलात्मक पहचान को कायम रखने के लिए प्रशासन ने पूरा सहयोग दिया जायेगा। 

     

  •  

Posted Date : 15-Jan-2019
  • स्वस्थ हो रहे मरीजों को दी शुभकामनाएं, बीमारों को दी समझाईश

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागाव, 15 जनवरी। जीवन अनमोल है परन्तु कई दुव्र्यसन के कारण हम अपने शरीर का अहित करते है, इसी का परिणाम क्षय जैसे रोगो का होना है परन्तु आधुनिक चिकित्सा उपचार और औषधियो के समयबद्ध सेवन से पूर्णत: पुन: स्वस्थ हुआ जा सकता है अत:यह जरूरी है कि हम एक परहेजी जीवन जिये ताकि फिर से इस रोग की चपेट मे ना आ सके। इस प्रकार जिन मरीजो को उपचार चल रहा है वे दवाईयो का नियम पूर्वक सम्पूर्ण उपचार अवधि तक उसका सेवन करेÓÓ।
    कलेक्टर नीलकंठ टीकाम जिला अस्पताल के प्रागंण मे स्थित जिला क्षय नियंत्रण कक्ष पहुंच कर मरीजो से चर्चा करते हुए 15 जनवरी को उक्ताशय प्रकट किया। इस मौके पर उन्होने बताया कि जिले मे क्षय रोगियो को चिन्हान्कन करते हुए उनकी काउसिंलिग की जा रही है ताकि समुचित उपचार से उन्हे शीघ्र स्वस्थ किया जा सके इसके साथ ही स्वस्थ हो चुके मरीजो से भी उनका फीड बैक लिया जा रहा है। मौके पर उन्होने स्वस्थ हो चुके मरीजो को नसीहत देते हुए कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति के बलबुते पर नशा आदि दुव्र्यसन से दूर रहा जा सकता है। सभी स्वस्थ मरीज किसी भी प्रकार के नशे से अब अवश्य दूरी बना ले। 
    693 क्षय मरिजों में 295 हो चुके है क्षय मुक्त
    कोण्डागांव जिले मे 2018 जनवरी से दिसबंर तक 693 क्षय मरीजो को चिन्हाकिंत किया गया। इनमें विकासखण्ड कोण्डागांव के अन्तर्गत 277, केशकाल मे 116, फरसगांव मे 133 माकड़ी मे 87, विश्रामपुरी मे 80 मरीज चिन्हाकिंत है इनमे से सम्पूर्ण जिले मे 295 मरीजो का उपचार पूर्ण हो चुका है और 398 मरीज उपचार अवधि मे है। मौके पर स्वस्थ मरीजो ने अपने अनुभवो को भी कलेक्टर के समक्ष साझा किया। इनमे से ग्राम बम्हनी की 23 वर्षीय अमिता ठाकुर ने बताया कि शुरूवाती दौर मे उसे गले गांठ की शिकायत थी तत्पश्चात स्वास्थ्य परीक्षण कराने पर उसे क्षय रोग उपचार का सम्पूर्ण कोर्स करने की सलाह दी गई परिणाम स्वरूप आज वह स्वस्थ हो गई है। इसी प्रकार डोंगरी पारा के सेमसन बघेल ने बताया कि लगातार बुखार आने पर डॉक्टरो ने टीवी रोग की आंशका व्यक्त करने के साथ साथ नशा पान आदि ना करने की सलाह दी। डॉक्टरो ने दिए गए सलाह का पालन करने से आज वह पूर्णत स्वस्थ हो चुका है। 
    सद्दाम से किया खास बात-चीत, बेहतर शिक्षा के लिए एसडीएम को दिए निर्देश
    जानकारी हो, जिला अस्पताल आरएनटी में ही क्षय रोग से पीडि़त दस वर्षिय मासूम सद्दाम का उपचार चल रहा है। सद्दाम को उसके ही पिता ने घर से भीख मांगने के लिए निकाल दिया था। इसके बाद रोजगार की तलाश में वह चमड़े की फैक्ट्री में जा पहुंचा था। यहीं से उसे क्षय रोग हो गया। अब उसके मौसा उसका कोण्डागांव के जिला अस्पताल आरएनटी में उपचा करवा रहे है। चर्चा के दौरान कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने सद्दाम की आर्थिक और शैक्षणिक स्थिति जानी। इसके बाद स्थानीय एसडीएम को उसके शिक्षा के लिए बेहतर व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

  •  

Posted Date : 15-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागाव, 15 जनवरी। कोण्डागांव जिला के भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता लक्की अरोरा को सिटी कोतवाली पुलिस ने बीती रात उसके ही घर से गिरफ्तार कर लिया है। लक्की पर आईटीबीपी 29वीं बटालियन में तैनात सुरक्षा जवान से विवाद करने का आरोप है। गिरफ्तारी के बाद उसे अपर सत्र न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उसका बेल खारीज कर दिया गया। 
    जानकारी अनुसार, आईटीबीपी 29वीं बटालियन के सेनानी ने कोण्डागांव मरारपारा निवासी लक्की अरोरा (23) पिता पवन अरोरा के विरूद्ध सिटी कोतवाली पुलिस में शासकीय कर्मचारी (लोकसेवक) से मारपीट, शासकीय कार्य में बाधा और आपराधिक बल का प्रयोग का शिकायत दर्ज किया था। इस शिकायत के चलते पुलिस ने लक्की के विरूद्ध भारतीय दण्ड विधान की धारा 332, 186, और 353 पंजीबद्ध किया था। पुलिस के अनुसार, मामला पंजीबद्ध किए जाने के बाद से वह फरार चल रहा था। 13 जनवरी की रात मुखबिर से सूचना मिली कि, वह अपने घर पर है। इस सूचना पर पुलिस ने घर से उसे गिरफ्तार किया। इसके अलावा इसी मामले में इस्तेमाल की गई लक्की की वाहन को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है। फिलहाल लक्की को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया, जहां से उसकी जमानत अर्जी खारिज हो गई है।
    पूर्व में भी कई मामले पंजीबद्ध
    पुलिस अधिकारी की माने तो, भाजपा कार्यकर्ता लक्की अरोरा के विरूद्ध सिटी कोतवाली में वर्ष 2016 में अपराध क्रमाक 108 में आईपीसी की धारा 323, 294, 451 व 34 पंजीबद्ध है। इसी तरह इसी वर्ष अपराध क्रमांक 137 में आईपीसी की धारा 279 व 337 पंजीबद्ध है। वहीं 2016 से 2018 तक उसके विरूद्ध 107, 116 के 3 अलग-अलग मामले पंजीबद्ध किए गए है।
    लाज बचाने गए युवतियों 
    के मदद का मिला सिला
    लक्की के बेल खारीज हो जाने के बाद उसके परिजनों ने चर्चा करते हुए बताया कि, घटना वाले दिन हकिकम में युवतियों से आईटीबीपी के जवान ने छेड़छाड़ किया था। इसी बात को बाद में विवाद का रूप दिया गया था, जो नगर का हर व्यक्ति जानता है। आज सहयोग करने का फल लक्की को जेल जाकर चुकाना पड़ा है।
    जल्द होगी चक्काजाम करने 
    वालों पर भी कार्रवाई
    घटना वाले दिन नगर के कुछ लोगों ने नेशनल हाईवे 30 पर एसपी कार्यालय चैक में चक्का जाम किया था। पुलिस की माने तो गिरफ्तारियों के दौर में जल्द चक्का जाम करने वालों को भी गिरफ्तार किया जाएगा।
    पूरे दिन रहीं न्यायालय में पार्टी कर्मीयों 
    की भीड़, पुलिस की सुरक्षा
    मामला दोनों प्रमुख राजनैतिक पार्टियों के लिए खास था। ऐसे में न्यायालय परिसर में सुबह से कांग्रेस और भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता नजर आए। पार्टीकर्मियों की उपस्थिती को देखते हुए कोतवाली पुलिस भी यहां डटी हुई दिखी।

     

     

  •  

Posted Date : 14-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    कोण्डागांव, 13 जनवरी। अक्सर मवेशी मालिक अपने पालतु मवेशियों को सड़कों पर आवारा छोड़ देते है, जिससे रात के समय गंभीर सड़क हादसा होने की संभावना होती है। कई मामले तो ऐसे भी देखे गए है जिसमें एक साथ कई मवेशियों को अज्ञात वाहन के द्वारा गंभीर चोट पहुंचाया गया हो। इन्हीं संभावनाओं को टालने के उद्देश्य से कोण्डागांव की केयरिंग हैंड्स संस्था के सदस्य नगर के सड़कों पर भटकने वाले मवेशियों को रेडियम बेल्ट बांध रहे है।
    संस्था के सदस्य नविन संचेती ने इस बारे में विस्तर से बताया कि, विगत कुछ दिनों से केयरिंग हैंड्स कोण्डागांव के माध्यम से नगर के सड़कों पर भटकते लगभग 200 मवेशियों को रेडियम बेल्ट बांधा गया। इस कार्य का मुख्या उद्देश्य रात्रिकालीन दुर्घटना से बचाना है। केयरिंग हैंड्स कोण्डागांव ग्रुप के उद्देश्य के बारे में बताते हुए नविन संचेती ने बताया कि, भटके हुए जानवरो की सुरक्षा, चिकित्सा सुविधा, जानवरो के साथ हो रही अप्रिय घटनाओ के रोकथाम, जानवरो के प्रति लगाओ को प्रोत्साहन देना और साथ ही गरीब व अनाथ बच्चो की मदद कर हर संभव सहायता करना उनके समिति का कोशिस है। इन दिनों चल रहे बेल्ट पहनाने के कार्य में केयरिंग हैंड्स ग्रुप के सदस्य अनीता श्रीवास्तव, बिंदु शर्मा, रश्मि राज, नविन संचेती, सौरभ मडामे, प्रियंका जांगड़े, सौम्य उपाध्याय, भावना ठाकुर, अर्चना, शैलेष टावरी, पुष्पराज, गगन, खुशबू, हर्ष, विकास दुआ का योगदान मिल रहा है।

     

     

     

  •  

Posted Date : 14-Jan-2019
  • बुजुर्ग राघो बाई ने फीता काटकर बच्चों को कराया प्रवेश

    सेहत मंद बच्चे हर परिवार का गौरव-कलेक्टर
    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव,13 जनवरी। दिनांक 12 जनवरी को विकासखण्ड फरसगंाव के सुदूर ग्राम आलमेर के पत्थरी पारा के नन्हे बच्चो की खुशी का ठिकाना नही था। जब उन्हे नये आंगनबाड़ी की सौगात मिली। ज्ञात हो कि एक नये आंगनबाड़ी भवन की मांग स्थानीय ग्राम वासी कर रहे थे जिसके लिए कलेक्टर ने उन्हे नये भवन के निर्माण का आश्वासन दिया था। इस क्रम मे जिला कलेक्टर ने ग्राम की 75 वर्षीय एक वृद्धा राघोबाई के हाथो नये भवन का फीता कटवाकर भवन का लोर्कापण करवाया। इस मौके पर जिला कलेक्टर ने उपस्थित ग्रामीणो से आग्रह किया वे अपने नौनिहालो को आंगनबाड़ी केन्द्र अवश्य भेजें।  उक्त आंगनबाड़ी केन्द्र मे 22 बच्चे है और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा कलेक्टर को अवगत कराया गया था कि कुछ पालक अपने बच्चो को आंगनबाड़ी केन्द्र नियमित रूप से नही भेजते।
    इस दौरान नन्हे बच्चो ने कलेक्टर के समक्ष राष्ट्रगीत, बालगीत, पहाड़ा इत्यादि सुनाकर उनकी शाबासी पाई। इसके साथ ही ग्राम भोंगापाल मे भी  लगभग 14 लाख रू लागत के नये पंचायत भवन का लोर्कापर्ण भी किया गया। पूर्व वर्षो मे गांव के पुराने पंचायत भवन को अतिवादियो ने धवस्त कर दिया गया था। अत: ग्रामवासियो द्वारा कलेक्टर के समक्ष नये पंचायत भवन की मांग की गई थी। 
    मौके पर ग्रामीणों ने विगत दिवस सम्पन्न हुए राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर के भव्य आयोजन करवाने के लिए कलेक्टर का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अब वे भोंगापाल के विकास के लिए जिला प्रशासन के साथ कन्धे से कन्धे मिलाकर कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस मौके पर सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जीआर सोरी, राशिमि समन्वयक परमजीत संघे, राष्ट्रीय सेवा योजना के नोडल आर केजैन, ग्राम सरपंच रामसाय नाग, रामलाल कोर्राम एंव ग्रामवासी उपस्थित थे।

     

     

     

  •  



Previous123Next