छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Previous12Next
Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डगांव, 25 अप्रैल।
    अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य और कोण्डागांव विधायक मोहन मरकाम को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए अमेठी लोकसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है। जानकारी हो, लोकसभा अमेठी से कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस के प्रत्याशी है। चुनावी प्रचार के लिए विधायक मोहन मरकाम 26 अप्रैल को कोण्डागांव से अमेठी के लिए रवाना होंगे। 

    विधायक के साथ विधायक प्रतिनिधि शिशिर श्रीवास्तव, रितेश पटेल, प्रदेश अध्यक्ष राजीव ब्रिगेड व युवा कांग्रेस उपाध्यक्ष नरेंद्र देवांगन भी प्रचार के लिए रवाना होंगे। मोहन मरकाम को मिली जिम्मेदारी से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में हर्ष का माहौल है, साथ ही कार्यकर्ताओं को ऊर्जा मिली है।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 25 अप्रैल।
    स्थानीय जिला अस्पताल आरएनटी में पदस्थ सिविल सर्जन की कार आज तड़के ट्रक से टकरा गई। बताया जा रहा है कि, टक्कर धमतरी और कुरूद बीच इरेझर के पास हुई है, जिसमें सिविल सर्जन और शासकीय चालक गंभीर हो गए है। दोनों घायलों का प्राथमिक उपचार अभनपुर के अस्पताल में किया गया। इसके बाद दोनों को रायपुर रिफर कर दिया गया है, जहां एक निजी अस्पताल में दोनों का उपचार जारी है।

    जानकारी अनुसार, कोण्डागांव के जिला अस्पताल आरएनटी में सिविल सर्जन के पद पर पदस्थ डॉ. सिद्धार्थ प्रसाद वारे दो दिनों पूर्व मतदान करने गृहग्राम गए हुए थे। मतदान कर डॉ. वारे कोण्डागांव के शासकीय एम्बुलेंस चालक विजय यादव के साथ निजी कार से लौट रहे थे। कोण्डागांव लौटने के दौरान धमतरी-कुरूद के बीच इरेझर के पास निर्माणाधीन चौड़ी सड़क पर विपरित दिशा से आ रही ट्रक ने अचानक रोड कटिंग कर दिया। इससे डॉ. वारे की कार ट्रक के चपेट में आ गई। हादसा सुबह लगभग 5 बजे के पास-पास की बताई जा रही है, और घटना देख कर ट्रक चालक को झपकी आने का अनुमान है। फिलहाल दोनों का उपचार रायपुर के निजी अस्पताल में जारी है।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 25 अप्रैल।
    मात्र 2 हजार रुपए मांगने पर पत्नी की हत्या करने वाले पति को कोण्डागांव के जिला सत्र न्यायाधीश ओंकार प्रसाद गुप्ता न्यायालय ने आजीवन कारावास और अर्थदण्ड से दण्डित किया है। इतना ही नहीं न्यायालय ने इस हत्या में मृतका के ससुर और सास को भी दोषी पाया है। इसके चलते सास-सासुर को भी आजीवन कारावास व अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है। मामला फरसगांव थाना के पूर्वीबोरगांव बाजारपारा में लगभग 2 वर्ष 6 माह पूर्व घटी थी। 

    प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी करने वाले अपर लोक अभियोजक अशोक चौहान ने बताया कि, पति प्रसन्नजीत विश्वास (23) का भारती विश्वास (20) से विवाह हुआ था। विवाह के बाद इस दम्पति को सात माह की बेटी भी है। 24 अक्टूबर 2016 के दिन भारती अपनी बेटी के गर्म कपड़ा के लिए दो हजार रुपए मांग रही थी, लेकिन प्रसन्नजीत रुपए ना देकर उसके साथ विवाद करने लगा था। देखते ही देखते पति-पत्नी में विवाद इस तरह बढ़ गया कि, रात लगभग 11 बजे भारती का पति प्रसन्नजीत, ससुर सुधीर विश्वास और सास लक्ष्मी विश्वास ने मिलकर उसके हाथ-पैर पकड़कर रस्सी से गला घोट दिया। तीनों ने मिलकर इस हत्या को अंजाम दिया और हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए मृतका के चुनरी से कमरे के अंदर लकड़ी के बल्ली से बांधकर लटका दिया। जब मामला फरसगांव पुलिस के पास पहुंचा तो आरोपियों की झूठ पकड़ी गई। अब न्यायालय में भी सभी का आरोप सिद्ध हो चुका है। ऐसे में न्यायालय ने सभी को आजीवन करावास और अर्थदण्ड से दण्डित किया है। 

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डगांव, 25 अप्रैल।
    प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोण्डागांव में आज विश्व मलेरिया दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सुबह प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से एएनएम स्टॉफ, जीएनएम व नर्सिंग छात्र-छात्राओं, अधिकारी, कर्मचारियों ने रैली निकाली। रैली नगर के मुख्य मार्ग से होकर गुजरी। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विरेन्द्र ठाकुर, मलेरिया नोडल अधिकारी डॉ. एस टोप्पों, बीएमओ कोण्डागांव डॉ. आरके सिंह, डीपीएम सोनल धु्रव व अन्य मुख्य रूप से यहां मौजूद रहे।

    कोण्डागांव में विश्व मलेरिया दिवस कार्यक्रम जीरो मलेरिया स्टॉर्ट विथ मी थीम से मनाया गया। इसके लिए मलेरिया दिवस के अवसर पर जन जागरूकता रैली निकाली गई। जिसकी अध्यक्षता मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विरेन्द्र ठाकुर ने किया। इस अवसर उन्होंने कहा कि, वर्ष 2024 तक मलेरिया से उन्मूलन करना है। इसका उद्देश्य मलेरिया से लोगों में बचाव के लिए उपाय, जागरूकता प्रचार प्रसार, माध्यम से दैनिक जीवन में लाना है। स्वास्थ्य विभाग के निरंतर प्रयास से विगत कुछ वर्षो मे मलेरिया के रोगियों में कमी आई है। समय समय पर विभाग के अभियान, लोगों की सतर्कता व जागरूकता के कारण मलेरिया के मरीजों मे कमी आई है।

     जानकारी हो, स्वास्थ्य विभाग मलेरिया से बचाव के लिए प्रति वर्ष मलेरिया रोधी कीटनाशक दवा घोल का छिड़काव किया जाता है। जो माह अप्रैल से प्रारम्भ कर सितंबर तक जारी रहता है। राज्य राज्य शासन राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत मलेरिया नियंत्रण के लिए जिला कोंडागांव के तीन विकासखंडों मे वर्ष 2017-18 मे 210179 दवालेपित मच्छरदानी का वितरण किया गया है।

    एक नजर मलेरिया पॉजिटिव के वर्षवार आंकड़े पर
    विभाग से मिले जानकारी अनुसार, वर्ष 2015 में 8526, वर्ष 2016 में 5357, वर्ष 2017 में 7743, वर्ष 2018 में 2896 और इस वर्ष 2019 में मात्र 329 मलेरिया के मरिज मिले है। जिनका सफल उपचा हो चुका है।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 24 अप्रैल। विकास खण्ड फरसगांव से रांधना-माकड़ी रोड पर 24 अप्रैल की शाम 6 बजे एक ट्रक खड़ी बाईक पर पलट गया। फिलहाल इस घटना में किसी के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना नहीं है। जानकारी अनुसार, ट्रक क्रमाक सीजी 04 जेयू 0366 ईमली लेकर जा रही थी। ट्रक जैसे ही फरसगांव से 7 किमी दूर बरकई पहुंची अचानक अनियंत्रित होकर पलट गई और सड़क किनारे खड़े ओमप्रकाश पाण्डे  के बाईक को अपने चपेट में ले ली। इस हादसा के बाद ट्रक चालक मौके से फरार है, और किसी के भी घायल होने की सूचना नहीं है।

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 24 अप्रैल।
    जिले के युवाओं को एलईडी बल्ब निर्माण के तकनीक के माध्यम से स्वरोजगार प्राप्त करने के लिए मार्गदर्शन दिया जा रहा है। इस कार्यशाला मे लगभग 200 युवक-युवतियां शामिल हुए। मौके पर युवाओ को प्रोत्साहित करते हुए विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि, स्वरोजगार वर्तमान समय की जरूरत है। 

    आजकल अनेक कार्यक्षेत्रो मे संबंधित विभिन्न व्यवसायो मे प्रशिक्षित कुषल कारीगरो की मांग बढ़ती जा रही है। ऐसे मे आवश्यकता अनुरूप रोजगारोन्मुंखी प्रशिक्षण प्राप्त कर जिले के युवक-युवतियो को तकनीकी रूप से हुनर मंद बनना होगा। प्रत्येक प्रशिक्षण सत्र को पूर्ण समर्पण के साथ समझे ताकि स्वयं के साथ-साथ औरो को भी रोजगार दे सके। 

    वहीं नारायणपुर विधायक चन्दन कश्यप व कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम ने प्रतिभागियो को शुभकामनाये देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। जिला अन्त्यावसायी सहकारी समिति, अन्त्यावसायी उद्यमी प्रषिक्षण केन्द्र, लाईवलीहुड कॉलेज कौषल विकास व जिला रोजगार कार्यालय के संयुक्त तत्वाधान मे आयोजित इस कार्यक्रम मे प्रतिभागियो को स्वरोजगार संबंधी अनेक योजनाओ की भी विस्तारपूर्वक जानकारी भी दी गई। इस मौके पर जिला रोजगार अधिकारी पवन नेताम, सहायक संचालक खादी ग्राम उद्योग नीतिन बैस, कार्यपालन अधिकारी जिला अन्त्यावसायी बाबुभाई श्रीवास, आदिल खान, भुनेश्वर वर्मा, लीड बैंक मेनेजर ऐके दास सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 24 अप्रैल। मक्का प्रसंस्करण ईकाई की स्थापना के संबंध में जिला कार्यालय के सभाकक्ष में 24 अप्रैल को समीक्षा बैठक रखी गई थी। इस बैठक में कोण्डागांव विधायक मोहन मरकाम ने भी अपने सुझाव दिए। वहीं कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम के माध्यम से मक्का प्रसंस्करण ईकाई की प्रगति के विषय मे विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। जानकारी हो कि, ग्राम कोकोडी मे माँ दंतेश्वरी मक्का प्रसंस्करण ईकाई व विपणन सहकारी समिति मर्यादित कोण्डागांव का गठन कर सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाए कोण्डागांव के माध्यम से क्रमांक एआर, केजीएन 19, 12 फरवरी के नाम से पंजीयन किया जा चुका है। जिले में मक्का उत्पादक कुल कृषक 65 हजार में से उत्पादक कुल कृषक 65 हजार में से वर्तमान में 10668 कृषकों का पंजीयन कर कुल राशि 98 अन्ठानबे लाख 8 हजार 300 रुपए समिति के खाते में जमा कर दी गई है।

    इस मौके पर नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष देवचन्द मातलाम, मक्का प्रसंस्करण ईकाई अध्यक्ष बुधराम नेताम, जिला पंचायत उपाध्यक्ष रवि घोष व समिति के सदस्य जीवन लाल नाग, जयंती कश्यप, विजय लाडग़े, शिवलाल, मोतीबाई, सुमित्रा नेताम, मनीष श्रीवास्तव, जिला पंचायत सीईओ नूपूर राशि पन्ना, उपसंचालक कृषि बालसिंह बघेल, उग्रेश देवागंन सहित अन्य अधिकारी कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 24 अप्रैल।
    कोण्डागांव-जगदलपुर मार्ग पर जोबा गांव में स्थित एक टायर पंचर दुकान में आज आग लग गया। आग की चपेट में आकर दुकान पुरी तरत से खाक हो गया। आग की लपटे इतनी तेज थी कि, कई किमी दूर तक दिखाई दे रही थी। आग पर जगदलपुर और कोण्डागांव की दमकल विभाग ने काबू पाया। 

    जानकारी अनुसार, बिहार निवासी मो. मोबिन नेशलन हाइवे 30 पर ग्राम जोबा के सेठिया ढाबा के पास टायर पंचर दुकान संचालित करता था, और यहीं रहता भी था। 24 अप्रैल की दोपहर वह अपने लिए खाना बनाने के लिए मिट्टी तेल पंप वाली स्टोव जला रहा था। लेकिन जलाते समय वह अचानक फट गया, और देखते ही देखते आग पूरी दूकान में फैल गई। आग इतनी तेजी से फैली कि, मो. मोबिन को संभलने का भी मौका नहीं मिला और दुकान में रखा सारा सामान जलकर खाक हो गया। मो. मोबिन के अनुसार आग के लगने से 1 इलेक्ट्रॉनिक पंप सैट, 1 डीजल पंप सैट, कुछ टायर, दैनिक उपयोक के सामान, मोबाईल आदि जल कर खाक हुए है, जो लगभग 2 लाख रुपए से अधिक कीमत का था। फिलहाल सिटी कोतवाली पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 24 अप्रैल। सिटी कोतवाली अंतर्गत 24 अप्रैल को अलग-अलग घटनाओं में तीन की मौत हुई है। तीनों मामलों में एक बात सामान्य नजर आया, तीनों मृतक मानष्कि रूप से परेशान थे। तो वहीं दो मृतक शराब पीने के आदि भी बताए जा रहे है, और शराब छोडऩे की बात पर आत्महत्या किए है। मिली जानकारी अनुसार, विश्रामपुरी के हल्दी निवासी राम यादव  हदेव को 23 अप्रैल की दोपहर जिला अस्पताल आरएनटी में दाखिल किया गया था। 

    बताया गया कि, वह शराब का आदि था और इसी बात पर आपसी विवाद के बाद जहर सेवन कर आत्महत्या कर लिया। इसी तरह कोण्डागांव के मुलमुला निवासी राजेश यादव ने शराब पीने की बात पर 23-24 की मध्य रात पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। बताया गया कि, दोनों कई दिनों से मानष्कि रूप से बीमार भी थे। 

    इधर मानष्कि रूप से विक्षृप्त हो चुके बनियागांव फरसागुड़ा निवासी दुलार राम साहू   की सड़क हादसा में मौत हो गई। 
    बताया गया कि, दुलार राम साहू 23 अप्रैल की रात घर से बिना बताए निकला था और किसी अज्ञात मोटरसाइकिल से टकरा गया। इस टक्कर से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस मामले की विवेचना कर ही है।

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • पहली कार्रवाई में तोड़े गए दो दर्जन दुकान
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 24 अप्रैल।
    विधानसभा और फिर लोकसभा चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने के बाद कोण्डागांव का टोड़ू दस्ता एक बार फिर पूरी तरह से सक्रिय नजर आ रहा है। इस दस्ता ने पहली कार्रवाहीं करते हुए नगर के जगलदपुर नाका तिराह पर स्थित मर्दापाल मार्ग की ओर सभी दुकानों पर आज सुबह जेसीबी चला दिए। कार्रवाहीं के चलते लगभग 25 दुकाने यहां से हटाई गई। वहीं दल में शामिल कोण्डागांव तहसीलदार ऋतु हेमनानी ने बताया कि, आज शुरू की गई कार्रवाहीं लगातार जारी रहेगी। 

    जानकारी अनुसार, कोण्डागांव का राजस्व अमला, नगर पालिका, वन विभाग, नेशनल हाईवे, लोकनिर्माण विभाग और पुलिस विभाग ने संयुक्त कार्रवाहीं करते हुए 24 अप्रैल को शासकीय भूमि से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाहीं किया। अधिकारियों ने चर्चा के दौरान बताया कि, मर्दापाल तिराह में दिन ब दिन अवैध अतिक्रमण बढ़ते जा रहा था। इस स्थान पर कई गंभीर सड़क हादसे हो चुके है जिसमें कई की मौत तक हो चुके है। मौतों को संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के निर्देशन पर चैक का चैड़ीकरण और सौंदर्यकरण का निर्देश दिया है। निर्देशों के पालन में मर्दापाल मार्ग की ओर संचालित सभी दुकानों को तोड़कर हटाया गया। इस तोडफ़ोड़ में लगभग 2 दर्जन दुकान प्रभावित हुए है। 

    समान हटाने का भी नहीं दिया समय

    इस अतिक्रमण हटाने व तोडफ़ोड़ की कार्रवाहीं से प्रभावित हुए व्यापारियों का आरोप था कि, उन्हे तोडफ़ोड़ की जानकारी नहीं दी गई थी। विजय साहू ने तहसील कार्यालय से जारी राजस्व नोटिस को दिखाते हुए बताया कि, सभी व्यापारियों को 22 अप्रैल के दिन कार्यालय बुलाया गया था। लेकिन कार्यालय में तोडफ़ोड़ की कोई जानकारी नहीं दी गई थी। अब आज सुबह संयुक्त दल अचानक मौके पर पहुंचा और तोडफ़ोड़ की बात कहते हुए जेसीबी चलाना शुरू कर दिया है। इस अचानक की कार्रवाहीं में उन्हे अपने सामान हटाने के लिए नाम मात्र का ही समय मिला है। इसी तरह एक अन्य प्रभावित देवेन्द्र कुमार देवांगन का कहना था कि, इस स्थान पर वे लगभग 28 साल से दुकान संचालन कर रहे है। उनके परिवार पालन का यहीं एक मात्र माध्यम था, अब इसके हटाए जाने से वे बेरोजगार तो हो ही गए है, साथ ही परिवार के पालन की भी समस्या खड़ी हो चुकी है। इधर तहसीलदार ऋतु हेमनानी के अनुसार यह कार्रवाहीं मर्दापाल तिराह से शुरू हुई है। इसी कड़ी में बंधापारा, बड़ेकनेरा रोड, बाजारपारा, तहसीलपारा, जामकोटपारा, आड़काछेपड़ा, डोंगरी पहाड़ आदि में भी यह कार्रवाई होगी। 

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 24 अप्रैल।
    लगभग ढेड़ माह पहले नेशनल हाईवे 30 के पास एक युवती बेहोशी की हालत में मिली थी। इस पूरे मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिसियां जांच अनुसार युवती के साथ जबरदस्ती कर जान से मारने की कोशिश की गई थी। इसके बाद युवक ने उसे मृत समझ कर वहां से फरार हो गया। अब पुलिस ने पीडि़ता को न्याय दिलाते हुए गिरफ्तार कर लिया है। 

    भानपुरी थाना के सरगीगुड़ापारा राजपुर प्रकाश दिवान उर्फ बड़े का युवती से पुरानी दोस्ती थी। प्रकाश की महिला मित्र सिटी कोतवाली कोण्डागांव के एक गांव में कुछ साल से अपने नाना-नानी के साथ रह रही थी। इसी बीच 15 मार्च की रात प्रकाश ने युवती को मोबाइल पर कॉल कर कहा कि, उसके रिश्तेदार के घर छोड़ देगा। यह सुनकर वह युवती कोण्डागांव के बस स्टैण्ड पहुंची और प्रकाश के साथ बाईक में बैठ कर निकल गई। लेकिन रास्ते में प्रकाश ने अंधेरे और अकेलेपन का फायदा उठाते हुए लंजोड़ा यात्री प्रतीक्षालय में उसके साथ जबरदस्ती अनाचार किया। अनाचार करने के बाद भी प्रकाश पर हैवानियत हावी रही। उसने अस्मत लुटा चुकी युवती को जान से मारने के लिए उसका गला दबा दिया। दम घुटने के बाद युवती बेहोश हो गई, और प्रकाश ने बेहोश युवती को मृत समझ लिया। 

    इसके बाद वह अपनी बाईक को लेकर वहां से फरार हो गया। अपने उपचार के बाद पीडि़त युवती ने सिटी कोतवाली पहुंच कर 24 मार्च को मामले का शिकायत दर्ज करवाया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अनाचार करने की धारा भादंवि 376 और जान से मारने की कोशिश  का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना किया। विवेचना के बाद प्रकाश दिवान उर्फ बड़े को 22 अप्रैल को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 23 अप्रैल।
    लगभग ढेड़ माह पहले नेशनल हाईवे 30 के पास एक युवती बेहोशी की हालत में मिली थी। इस पूरे मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिसियां जांच अनुसार युवती के साथ जबरदस्ती कर जान से मारने की कोशिश की गई थी। इसके बाद युवक ने उसे मृत समझ कर वहां से फरार हो गया। अब पुलिस ने पीडि़ता को न्याय दिलाते हुए गिरफ्तार कर लिया है। 

    जानकारी अनुसार, भानपुरी थाना के सरगीगुड़ापारा राजपुर प्रकाश दिवान उर्फ बड़े  का   युवती से पुरानी दोस्ती थी। प्रकाश की महिला मित्र सिटी कोतवाली कोण्डागांव के एक गांव में कुछ साल से अपने नाना-नानी के साथ रह रही थी। इसी बीच 15 मार्च की रात प्रकाश ने युवती को मोबाइल पर कॉल कर कहा कि, उसके रिश्तेदार के घर छोड़ देगा। यह सुनकर वह युवती कोण्डागांव के बस स्टैण्ड पहुंची और प्रकाश के साथ बाईक में बैठ कर निकल गई। लेकिन रास्ते में प्रकाश ने अंधेरे और अकेलेपन का फायदा उठाते हुए लंजोड़ा यात्री प्रतीक्षालय में उसके साथ जबरदस्ती अनाचार किया। अनाचार करने के बाद भी प्रकाश पर हैवानियत हावी रही। उसने अस्मत लुटा चुकी युवती को जान से मारने के लिए उसका गला दबा दिया। दम घुटने के बाद युवती बेहोश हो गई, और प्रकाश ने बेहोश युवती को मृत समझ लिया। इसके बाद वह अपनी बाईक को लेकर वहां से फरार हो गया। अपने उपचार के बाद पीडि़त युवती ने सिटी कोतवाली पहुंच कर 24 मार्च को मामले का शिकायत दर्ज करवाया। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अनाचार करने की धारा भादंवि 376 और जान से मारने की कोशिश  का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना किया। विवेचना के बाद प्रकाश दिवान उर्फ बड़े को 22 अप्रैल को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 23 अप्रैल।
    नेशनल हाईवे 30 पर जैतपुरी गांव के पास कोण्डागांव आ रहे दो युवक की बाईक सड़क किनारे दिशा सूचक खंबे से टकरा गई। इस टक्कर में बाईक चालक गंभीर रूप से घायल हो गया, वहीं सवार युवक को भी चोटे आई है। घायलों को 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल आरएनटी में उपचार के लिए भर्ती किया गया है। घटना की जानकारी देते हुए घायल पवन पिता रामेश्वर निवासी बिरनपुर कांकेर ने बताया, वह और उसका साढ़ूभाई अशोक पिता घनाजी इन दिनों कंबोंगा मेला के लिए ससूुाल आए हुए है। यहां से वे किसी कार्य से कोण्डागांव जा रहे थे। इसी दौरान रास्ते में जैतपूरी के पास सामने से आ रही वाहन को साईड देते हुए वे अनियंत्रित होकर सड़क किनारे सूचक बोर्ड से टकरा गए। इस टक्कर में अशोक गंभीर हो गया। फिलहाल दोनों का उपचार जारी है।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 22 अप्रैल। जिला अपस्ताल के बैठक कक्ष मे 22 अप्रैल को कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम के माध्यम से मेडिकल वेस्ट मेनेजमेंट के सबंध मे आवश्यक बैठक ली गई। बैठक मे उनके माध्यम से जिले मे संचालित शासकीय व निजी स्वास्थ्य ंसंस्थाओं मे  जैव अपषिष्ट नियमो के पालन सुनिश्चित करने के संबंध मे विशेष जोर दिया गया। उन्होने कहा कि चिकित्सा अपशिष्टो का निपटान जनस्वास्थ्य से जुड़ा हुआ होने के कारण एक गंभीर मसला है और इसके लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाए जाने की जरूरत है। इसके लिए जिला अस्पताल समेत सभी सामदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो मे बायो मेडिकल वेस्ट मेनेजमेंट के लिए नोडल अधिकारी नामित होगे। इसके अलावा चिकित्सा अपशिष्टो के नियमित निपटान की स्थिति तथा रिपोर्ट की नियमित समीक्षा प्रत्येक त्रैमासिक बैठक मे की जाएगी। 

    इसके साथ ही बैठक मे जानकारी दी गई की जिले मे जिला अस्पताल सहित 6 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों मे व 22 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र है। जिनमे अपशिष्ट प्रबंधन व निपटान की प्रकिया की जा रही है। अपशिष्ट पदार्थो को एकत्रित करने नॉन क्लोरीनेटेड बैग का इस्तमाल किया जा रहा है। साथ ही स्वास्थ्य केन्द्र मे बायोमेडिकल से संबधित स्टॉफ को रोग निरोधक टीके हेप्पेटाइटीस बी तथा टीटनेस टॉक्साइड लगाने के भी निर्देश दिए। बैठक मे यह भी बताया गया कि, बायोमेडिकल टीऊटमेंट फेसिलिटी के प्लांट के लिए ग्राम कोकोड़ी मे भूमि आंबटित की गई थी। वर्तमान मे उक्त भूमि पर मक्का प्रोसेसिंग युनिट लगाए जाने के कारण उसी ग्राम मे कलेक्टर ने नवीन भूमि आंबटित किया गया है। बैठक मे पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार, मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. विरेन्द्र ठाकुर, एसडीएम टेकचन्द अग्रवाल, जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सोनल ध्रुव, प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. वायके ध्रुंव, सीईओ जनपद पंचायत डीगेश पटेेल सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 22 अप्रैल। कलेक्ट्रेड के सभा कक्ष में 22 अप्रैल को वन अधिकार पट्टे व निर्माणाधीन छात्रावास भवनों के संबंध में समीक्षा बैठक रखी गई थी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने जिला कोण्डागांव अंतर्गत स्वीकृत व निरस्त वन अधिकार पट्टों की जानकारी को ऑनलाईन इन्द्राज के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होनें कहा कि इस कार्य को सभी जनपद पंचायत के सीईओ प्राथमिकता देंवें। इसके अलावा सभी डाटा एण्ट्री आपरेटर सावधानीपूर्वक जानकारियों को प्रपत्रों में इन्द्राज करें, क्योंकि इसमें जरा सी भी चूक होने पर होने पर पूरी जानकारी ही त्रुटि पूर्ण हो जाएगी। साथ ही आंकडा़े की शुद्धता पर भी विषेष ध्यान देने की आवश्यकता है। 

    बैठक में बताया गया कि, विकासखण्ड कोण्डागांव अंतर्गत कुल स्वीकृत वनाधिकार पत्रों की संख्या 13382 जबकि 9726 वनाधिकार पत्रों को निरस्त किया गया है। इसी प्रकार फरसगांव में स्वीकृत वनाधिकार पत्र 12123 निरस्त प्रपत्र 2597, माकड़ी में 10438 निरस्त 8905, केशकाल 8717 निरस्त 111 व बड़ेराजपुर में 8823 पत्र व निरस्त वनाधिकार पत्रो की संख्या 2069 है। इसके बाद बैठक मे कलेक्टर के माध्यम से जिले मे निर्माणाधीन छात्रावास आश्रम भवनों की जानकारी लेते हुए इसे तत्काल समय-सीमा में करने को कहा गया। बैठक में आदिवासी विकास आयुक्त जीआर सोरी ने बताया कि, कोण्डागांव विकासखण्ड अंतर्गत 250 सीटर बालिका छात्रावास व 250 सीटर बालक छात्रावास अक्टुबर माह में पूर्ण हो जाएगा। इसके साथ ही उनके द्वारा बयानार, कांगा, गोलावण्ड, मड़ानार, केशकाल, बहीगांव, खचगांव, मयूरडोंगर, दहिकोंगा, हसलनार, किबईबालेंगा, माकड़ी, अनतपुर, मर्दापाल, खड़पड़ी, केजंग में निर्माणाधीन छात्रावास भवनो की अद्यतन स्थिति के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जीआर सोरी, एसडीएम टेकचंद अग्रवाल, जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्राा सहित जिले भर के छात्रावास अधीक्षक व संबंधित विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 22 अप्रैल।
    देर रात नेशनल हाइवे 30 के ग्राम घोड़ागांव में एक के बाद एक कर तीन वाहन आपस में टकरा गए। इस टक्कर में दो लोगों की मौत हो गई। वहीं हादसे में घायल 9 लोगों के घायल होने की भी जानकारी है। फिलहाल सिटी कोतवाली कोण्डागांव पुलिस मामला पंजीबद्ध कर जांच कर रहा है।

    मामले की जानकारी देते हुए टीआई हंसराज गौतम ने बताया, 21 अप्रैल की देर रात घोड़ागांव के पास नेशनल हाइवे 30 में ट्रक क्रमांक सीजी 17 एडी 3411 खड़ी थी। इस दौरान पीछे से आ रही महेन्द्रा की टीयूव्हीं 300 वाहन सीजी 18 एम 6594 इस ट्रक के पीछे जा भीड़ी। टक्कर के बाद चालक सत्यनारायण इसी वाहन में फंसा रह गया, तो वहीं इसमें सवार अमित कुमार, वेंकट लक्ष्मी , अंकित कुमार , गौरी शंकर, शकुंतला , सालु बाई , पिका  और निशा भी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल सत्यनारायण की मदद के लिए वहां से गुजर रहीं एक ट्रक एपी 16 सीएच 2759 से टीयूव्ही को बांधकर खीचा जा रहा था। कि तभी एक अन्य ट्रक सीजी 17 जीए 0710 का घायलों को निकाल रहे ट्रक को टक्कर मार दी। इससे अंतिम टक्कर करने वाले ट्रक सीजी 17 जीए 0710 का चालक संदीप साकेत निवासी जिला रीवा मध्यप्रदेश की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं इस घटना में टीयूव्हीं चालक सत्यनारायण की भी उपचार के दौरान मौत हो गई है। अन्य का उपचार जारी है। 

    शादी के लिए लड़का देखने गए थे परिजन
    घायलों के परिजनों ने बताया कि, सत्यनारायण के वाहन में सवार घायलों ने जानकारी देते हुए बताया कि, वे दंतेवाड़ा से दो वाहनों में अपनी बेटी के लिए रिश्ता पक्का करने जा रहे थे। रात में अंधेरा होने की वजह से घोड़ागांव के पास खड़ी ट्रक दिखाई नहीं दी, जिसके चलते यह हादसा हुआ।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 22 अप्रैल।
    चैत्र माह में बस्तर संभाग के कांकेर क्षेत्र के कुछेक गांवों को छोड़ लगभग सभी गांव में माटी तिहार मनाया जाता है। माटी तिहार का मतलब मिट्टी की पूजा कर अच्छी फसल के लिए धन्यवाद अदा करना है। यह पर्व चैत्र माह में मनाया जाने वाला एक दिवसीय पर्व है। परन्तु अलग-अलग गांवों में अपने मर्जी से अलग-अलग दिन में मनाया जाता है जिसे गांव के गाँयता, पुजारी व समुदाय के सभी लोग मिल कर तय करते हैं।

    मूलत: आदिवासियों का त्योहार होने के बावजूद सभी स्थानीय जातियां इस रिवाज से जुडे हैं। इस पर्व मे गांव के लोग इस दिन माटी से संबंधित किसी प्रकार से कोई भी कार्य नही किए जाते जैसे मिट्टी खोदना, खेतों मे हल चलाना, यदि कोई इस तरह से कार्य करते पाया गया तो समुदाय के माध्यम से उस व्यक्ति को दण्डित किया जाता है। इस त्योहार में समुदाय डोल तोडी बजा कर गांव के प्रत्येक घरों से चंदा लिया जाता है। जो कि लाऊड समुदाय मे जमा होता है। किसी पर किसी प्रकार की कोई दबाव नहीं होता कुछ पूजा स्थल में ही चंदा लेकर आते हैं। लोग रुपए पैसे के अलावा चाँवल, दाल, सब्जी, फल, काँदा, पशु, पक्षी की भेंट देते हैं। आज कल लोग सड़कों पर भी आने जाने वाले राहगीरों के रास्ते पर आड़ा लगा कर रास्ता रोक कर चंदा मांगा करते हैं। यह पूजा देव कोट लाऊड पर जमा किया जाता है।

    कोण्डागांव जिला के मर्दापाल थाने से लगे पांच किमी दूर ग्राम पंचायत कुरुसनार में सुबह देव कोट मे लोग साफ सफाई मे लेगें थे, तो कुछ रास्ता पर चंदा माँग रहे, तो कुछ समुदाय के साथ ढोल तोडी बजा कर गांव मे घुम रहे थे। गांव के गंायता, पुजारी, पटेल, कोटवार त्योहार की तैयारी कर रहे थे। ग्रामीण त्योहार मनाने देवकोट लाऊड में आस्था के अनुसार दाल, चावल व पूजा सामग्री, सल्फी, लंदा दाडगो अल्कोहल पेय साथ लिए थे। सुबह से ही मोहरी नगाड़ा व तुड़बुड़ी की आवाज दूर तक आसानी से सुनी जा सकती थी। तकरीबन ग्यारह बजे तक युवा भी अपने ढ़ोल के साथ पहुंच गए। ढ़ोल बजते हुए त्योहार मनाने ग्रामीण एक-एक कर देवकोट लाऊड में आतेचले गए।

    एक-दूसरे को लगाते 
    हैं मिट्टी का लेप

    अब गायता पुजारी के माध्यम से अपने माटी देवकोट लाऊड मे बुढ़ादेव को फूल, नारियल सुपारी चढ़ा कर माटी की स्तुति की गई ताकि पूरे गांव में साल भर सुख शांति बना रहे, किसी प्रकार कोई विपत्ति मुसीबत का सामना करना न पड़े। लोग एक दूसरे पर मिट्टी का लेप लगाते हैं। शाम को सभी साथ भोजन कर ढ़ोल, माँदर रेला गाकर खुशी मनाते है। कुरुसनार के सिरहा फूलसिंह, घासीराम, मंगुराम, रत्तुराम ने बताया कि, माटी देव या बुढ़ादेव को ग्राम का प्रमुख देवता माना जाता है। तथा इसके पुजारी को भी प्रमुख पुजारी की मान्यता मिली हुई है। आदिवासी प्रकृति के उपासक हैं। उनका कफन-दफन भी मिट्टी में होता है। माटी त्योहार से साल भर के त्योहार की शुरूआत होती है और मेला-मड़ई के साथ समाप्ति होती है। माटी देव की पूजा के साथ हीं अँचल में खेती किसानी का काम शुरू हो जाता है। मिट्टी आदिवासियों को प्राणों से भी प्रिय है। इस पर उनकी आस्था ही है जो लोगों के सच या झूठ की पहचान होती है और मान्यता है कि मिट्टी की कसम (माटी किरीया) खाकर आदिवासी झूठ नहीं बोलते हैं।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • राज शार्दूल
    विश्रामपुरी, 22 अपै्रल (छत्तीसगढ़)।
    कोण्डागांव जिले के किसान सूखी नदी का सीना चीरकर पानी निकालने में सफ लता हासिल कर लेते हैं किंतु बिजली पर उनका बस नहीं चलता ऐसा ही कुछ इन दिनों क्षेत्र के किसान झेल रहे हैं। जिला मुख्यालय के आस-पास के गांव में भी ऐसे ही कुछ स्थिति है इसके अलावा फ रसगांव बड़े राजपुर एवं केशकाल क्षेत्र में विद्युत सप्लाई की लगातार कटौती के चलते फसल खराब हो चुकी है। जिले के ग्रामीण क्षेत्र में लगभग डेढ़ माह से विद्युत की आंख मिचौली चल रही है, जिसका खामियाजा सबसे ज्यादा किसानों को झेलना पड़ रहा है। 

    ग्रामीणों का मानना है कि बिजली की ऐसी परेशानी बरसों बाद देखने मिली है। कई लोग इसे सत्ता परिवर्तन से जोड़कर देख रहे हैं। गर्मी की शुरुआत मार्च-अप्रैल से ही विद्युत की परेशानी शुरू हो चुकी थी जो कि लगातार बढ़ रही है। कभी घंटों बिजली बंद रहती है तो कभी दिन और रात भर। विद्युत की परेशानी से आम उपभोक्ता तो हलाकान परेशान हैं ही, किसानों में इसे लेकर गहरी चिंता दिखाई दे रही है। कई किसानों के खून पसीने की कमाई विद्युत की आंख मिचौली की भेंट चढ़ गई है। बरसों बाद कर्ज माफ ी से किसानों के चेहरे पर खुशी दिखाई दे रही थी किंतु उस पर भी विद्युत ने पानी फेर दिया।

    नहीं दिख रहा कोई रास्ता
    जिले के किसान रबी के सीजन में नदी नालों एवं चेकडैम स्टॉप डेम से लेकर ट्यूबवेल जैसे श्रोतों से पानी लेकर धान, गेहूं, मक्का, सूरजमुखी आदि की फ सल लेते हैं। सर्वाधिक इन दिनों मक्के की फ सल ली जाती है क्योंकि इसमें पानी कम लगता है क्योंकि मक्के की पैदावार अच्छी होती है तथा इसे बेचने में भी दिक्कत नहीं होती। जिन किसानों के पास पानी का स्रोत अधिक होता है वह धान की फ सल भी लेते हैं। खरीफ  की फ सल की कटाई के पश्चात ही किसान रबी फ सलों की तैयारी में जुट जाते हैं। यह क्रम प्रतिवर्ष चलता है। 

    किसानों को यह अंदाजा रहता है कि नदी नालों से कितनी मात्रा में पानी की आपूर्ति की जा सकती है। वे इसी अंदाज से फ सल लगाते हैं किंतु इस बार किसानों ने पानी का इंतजाम तो कर लिया किंतु उन्हें यह अंदाजा नहीं था कि ऐन वक्त पर बिजली धोखा दे देगी। वह भी इस कदर की पूरी फ सल ही चौपट होने के कगार पर खड़ी हो जाए। किसानों का कहना है कि यदि उन्हें पहले से हम मालूम होता कि इस वर्ष बिजली की ऐसी दुर्गति होगी तो या तो वे फ सल लेते ही नहीं या कम मात्रा में फ सल लगाते। 

    विद्युत सब स्टेशन से लगे 
    खेतों का बुरा हाल

    विद्युत विभाग की लापरवाही विश्रामपुरी में सबसे ज्यादा देखने को मिली। जहां सब स्टेशन से 300 मीटर की दूरी पर खेतों को विद्युत की आपूर्ति अनियमित होने से किसानों की गाढ़ी कमाई बर्बाद होते दिख रही है। यहां ऐसे अनेक खेत देखे जा सकते हैं जहां फ सल बर्बादी के कगार पर है या पैदावार प्रभावित हो रही है।

     विश्रामपुरी के विद्युत सब स्टेशन से सटे किसान सहलाल मरकाम एवं आसमन नेताम ने बताया कि उन्होंने लगभग 3 से 4 एकड़ में मक्के एवं धान की फ सल लगाया है। 40 से 45 दिनों से वह विद्युत की मार झेल रहे हैं जिसके चलते उनका मक्के का फ सल खराब हो चुका है। जहां अब दाने लगने की संभावना नहीं दिख रही है। जो पौधे जिंदा है वे इस कदर कमजोर हो चुके हैं कि उनमें भुट्टे नहीं लग पाएंगे। सहलाल ने बताया कि वह आठ पैकेट मक्के का फ सल लगाया था जिसमें जोताई से लेकर खाद बीज एवं लेबर का खर्च मिलाकर 50 हजार से ऊपर हो चुका है। अब उसका फ सल बर्बाद होने से वह काफ ी चिंतित है। आसमन नेताम ने भी ऐसा ही कुछ बताया। 

    मुंडापारा विश्रामपुरी निवासी  चैतई राऊत लतेल राउत ने बताया कि यहां कई किसान धान एवं मक्का की फ सल लगाये हैं, उन्हें मालूम नहीं था कि इस वर्ष इस कदर लाइट की कटौती होगी और उन्होंने प्रति वर्ष की भांति फ सल लगाया था जो अब बर्बाद हो रहा है। उक्त किसानों ने उंगली के इशारे से सब स्टेशन की ओर दिखाते हुए कहा कि यहां से वह सब स्टेशन दिखाई दे रहा है, जहां से लाइट की सप्लाई होती है किंतु जब बगल के खेतों का यह हाल है तो बाकी का अंदाजा लगाया जा सकता है।  ग्राम सलना, मारंगपुरी, कोपरा, बड़ेराजपुर,  गमरी, बागबेड़ा आदि के किसानों की भी लगभग यही स्थिति है। ग्राम पलना के सरपंच देवी राम कोराम ने बताया कि लगातार वोल्टेज की समस्या के चलते यहां कई मोटर पंप जल चुके हैं जिससे फ सल खराब हो रही है। वहीं जिला मुख्यालय से  7 से 8 किलोमीटर की दूरी के गांव में भी ऐसी ही स्थिति है। ग्राम सादगांव गिरोला के आसपास भी बड़ी तादाद में किसान रबी की सीजन में मक्के की फ सल लेते हैं। पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य गिरोला निवासी किसान दिलीप दीवान ने बताया कि गांव में कई किसानों की फसल बर्बाद हो रही है।  लगातार लाइट गुल रहने से खेतों में पानी नहीं पहुंच पा रहा है जिसे लेकर किसानों में भारी चिंता देखी जा रही है।

     

     

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 21 अप्रैल।
    कोतवाली पुलिस ने नकली सोना-चांदी के आभूषण बेचने के आरोप में 19 अप्रैल को गिरफ्तार हरियाणा के दो युवकों से दस्तावेजों को भी जब्त कर लिया है, जिसमें एक डायरी भी है। बताया जा रहा है कि, इन डायरी में स्थानीय व्यापारियों के नाम लिखे हुए हंै। अब पुलिस स्थानीय नकली सोना-चांदी के व्यापार में संलिप्त लोगों की तलाश करते हुए डायरी में लिखे गए व्यापारियों से भी पूछताछ कर रही है। संभावना है कि, जल्द ही इस व्यापार में शामिल कुछ और लोगों के नाम सामने आएंगे।

     पुलिस की मानें तो दोनों युवक स्थानीय सोना-चांदी के व्यापारियों को नकली सोना-चांदी के आभूषण बेचा करते थे। इनके पास से नकली सोने के 170 ग्राम आभूषण और 1 लाख 50 हजार 945 रुपए बरामद किए गए हंै। 
    जानकारी अनुसार, बस्तर के ग्रामीणों को नकली आभूषण बेचकर ठगी का मामला तब सामने आया, जब हरियाणा से कोण्डागांव पहुंचे दो युवकों राकेश सोनी और संदीप शर्मा को 19 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया। इन दोनों ने प्रारंभिक पुलिस पूछताछ में यह कबूल कर लिया है कि, वे नकली सोना-चांदी कोण्डागांव लाकर लोकल बाजार के व्यापारियों को बेचा करते थे, जो इन्हें असली के दाम में बेचा भी करते है। 

    विश्वसनीय सूत्रों ने नाम ना बनाने के शर्त पर बताया कि, यहां के ही बाजारों में कई वर्षों से नकली सोना-चांदी व मिलावट का खेल चलता आ रहा है। सूत्र ने यह भी बताया कि, महज 275 से 300 रुपए में मिलने वाले केडीएम को शुद्ध चांदी में कम से कम 45 फीसदी मिलाया जाता है। 

    मिली जानकारी अनुसार, स्थानीय सराफा बाजार के कई व्यापारियों के नाम आरोपियों की डायरी में लिखे गए हंै। बताया जा रहा है कि शुरूवाती पूछताछ के लिए आभूषण व्यापारी सांगी लाल, मनोज सोनी (बद्रीनारायन सोनी), रावल चंद सोनी, योगेश सोनी, अजय दुग्गड़ व अन्य को बुलाया जा चुका है। 

    पूछताछ जारी, दोषियों पर 
    होगी कार्रवाई- टीआई

    इस पूरे मामले पर कोण्डागांव थाना प्रभारी टीआई हंसराज गौमत ने बताया कि, जब्त डायरी में व्यापारियों के नाम लिखे हुए हैं। अब बारी-बारी से सभी को बुलाकर पूछताछ किया जा रहा है। यदि कोई दोषी पाया गया तो, उसके विरूद्ध नियमत: कार्रवाई की जाएगी।

     

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 21 अप्रैल।
    कल दोपहर कोण्डागांव और इसके पास के गांव में हुई तेज हवाओं के साथ बारिश ने कई गांवों में तबाही मचा दीा। कई जगह पेड़ गिर व उखड़ गए है, तो कईओं के मकानों की छत उड़ गई है। ऐसी तबाही के बाद प्रभावित अपने मकानों को झिल्ली से ढंककर उसमें रहने के लिए मजबूर है।

    जानकारी अनुसार, कोण्डागांव व इसके आस-पास 20 अप्रैल की दोपहर में लगभग 3 घंटे तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। इस बारिश से ना केवल नगर का बल्कि ग्रामीण क्षेत्र का भी जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बारिश के चलते क्षेत्र में बिजली गुल रही, तो वहीं बे-मौसम बारिश से खेती कार्य भी प्रभावित होने की सूचना है। बारिश थमने के बाद 21 अप्रैल को बे-मौसम बारिश से हुए नुकसान की खबरें मिल रही है। 
    कोण्डागांव के सीमापस्थ गांव गिरोला से मिली सूचना अनुसार, यहां के खड़पड़ीपारा निवासी तिलेश्वर नेताम और रामबरन दिवान के मकान की छत तेज हवा में उड़ गई और मकान क्षतिग्रस्त हो गया है। इसके चलते उनके मकान में रखा सारा सामान खराब हो गया, तो वहीं बारिश के बाद उन्हें मकान को झिल्ली से ढंककर काम चलाना पड़ रहा है।

     

  •  



Previous12Next