छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Posted Date : 09-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोण्डागांव, 9 जुलाई। स्थानीय रक्षित केंद्र में सहायक उपनिरीक्षक के पद पर पदस्थ खम्मन लाल साहू (43) की बीती रात सड़क हादसे में मौत हो गई। वह ड्यूटी से घर लौट रहे थे उसी दौरान नगर के मर्दापाल तिराहा के पास नेशनल हाइवे 30 पर पीछे से आ रही अज्ञात वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी। 
    बताया गया कि एएसआई खम्मन साहू बीती रात ड्यूटी खत्म होने के बाद अपनी मोटरसाइकिल से चिखलपुटी स्थित घर लौट रहे थे। अज्ञात वाहन की चपेट में आने से वह सड़क पर पड़े पत्थर से टकराकर गिर गए और उनके सिर पर गंभीर चोट लग गई। तत्काल उसे जिला अस्पताल आरएनटी लाया गया जहां उनकी मौत हो गई। 
    सोमवार की सुबह स्थानीय रक्षित केन्द्र में उनके पार्थिव शरीर को पुलिस जवान एवं अधिकारियों ने सलामी देकर गृहग्राम चूल्हा पथरा गुरुर जिला बालोद भेज दिया है।
    एएसआई खम्मन साहू के साथियों ने बताया कि वह हमेशा मोटरसाइकिल चलाने के दौरान हेलमेट पहना करते थे। घटना वाले दिन सुबह ड्यूटी हेलमेट पहन कर पहुंचे थे। वापसी के दौरान तेज बारिश हो रही थी जिसके चलते हेलमेट पहनना भूल गए थे।

  •  

Posted Date : 18-Jun-2018
  • पोती से रेप के बाद मार डाला डबरी में फेंक दी थी लाश
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोंडागांव, 18 जून। जिले के फरसगांव के प्लाटपारा गट्टीपलना में 4 साल की बच्ची की हत्या  का आरोपी उसका दादा निकला। हत्या से पहले उसने पोती से बलात्कार किया था। समाचार लिखे जाने तक उससे पूछताछ जारी थी।
    मिली जानकारी के अनुसार फरसगांव थाना के प्लाटपारा गट्टीपलना में 11 जून को चार साल की बच्ची के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। 14 जून को इस बच्ची की लाश एक डबरी से बरामद की गई थी।   प्रारंभिक जांच में पुलिस ने बच्ची के साथ रेप के बाद हत्या कर उसे  फेंकने की आशंका जताई थी। पोस्टमार्टम -फोरेंसिक विशेषज्ञों की रिपोर्ट के बाद आज बच्ची के दादा रमसूराम पटेल को गिरफ्तार किया।

  •  

Posted Date : 27-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बचेली, 27 मई। एनएमडीसी बचेली काम्पलेक्स के द्वारा स्थानीय मंगल भवन में 26 मई शनिवार को समर कैम्प किया। 5 जून तक चलने वाले इस कैंप में बच्चों को चित्रकला, नृत्य, मूर्तिकला, संगीत मान्यता प्राप्त कलाकारों के द्वारा सिखाया जायेगा। आयोजन समिति ने बताया कि दस दिवसीय शिविर में कक्षा पहली से नवमीं तक के लगभग 500 बच्चों ने अपना पंजीयन कराया है। दो पालियो में सुबह 9.30 से दोपहर 12.30 बजे तक एवं शाम 4 बे से 6 बजे तक कैंप चलेगा। विभिन्न कलाओं के क्लास में संबंधित विषयों के लिए सामाग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी और अंत में सभी बच्चों को प्रोत्साहन पुरस्कार और प्रमाण पत्र प्रदान की जाएगी। 
    मुख्य व विशिष्ट अतिथियों ने इस समर कैंप का आगाज करते हुए कहा कि स्कूली में गर्मी की छुट्टियां चल रही है, पढ़ाई के साथ-साथ अन्य गतिविधियों का ज्ञान भी लेना चाहिए। यह समर कैंप बच्चों को अन्य कलाओं का ज्ञान देगा, बच्चे नई चीजे सीखेंगे। नृत्य में 200, चित्रकला और फाइन आर्ट में 100, क्राफट में 50, मूर्तिकला में 50, सॉफट टॉयज में 50 और संगीत में 50 बच्चों से पंजीयन करवाया है। इस दौरान परियोजना के महाप्रबंधक एच एन सिंह, उत्पादन विभाग के संयुक्त महाप्रबंधक संजीव साही, कार्मिक विभाग के संयुक्त महाप्रबंधक के मोहन, यांत्रिकी संयुक्त महाप्रबंधक जगदीश्वर राव, प्रशिक्षण संस्थान के एजीएम मृदुल दीक्षित, सहायक महाप्रबंधक एमएस पूजापांडा, सिविल डीजीएम एमएम अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी कर्मचारी तथा स्कूली बच्चे उपस्थित रहे। 

  •  

Posted Date : 08-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 8 मई। जिला पुलिस बल और सीएएफ  ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए बयानार के जंगल से एक नक्सली को मंगलवार को गिरफ्तार किया है। गिफ्तार नक्सली एलओएस का सदस्य है और उस पर 3 लाख का इनाम घोषित है। 
    बयानार थाना से जिला पुलिस बल और सीएएफ 10वीं वाहिनी सी कम्पनी की संयुक्त दल आज सुबह ग्राम मुंगवाल, केजंग, मड़ानार की ओर गश्त पर रवाना हुई थी। इसी दौरान ग्राम मड़ानार व पेरमापाल के मध्य डोकरी ढोडगी पहाड़ी के पास से प्रतिबंधित पीपुल्सवार माओवादी संगठन आमदई एलओएस सदस्य मोहन कश्यप उर्फ  सनत कश्यप को गिरफ्तार किया गया। मोहन पर शासन की ओर से 3 लाख रुपए का इनाम घोषित है।
    बड़ी घटना को अंजाम देने वाला था
    गिरफ्तार नक्सली मोहन कश्यप के पास से 7 किलो का टिफिन बम बरामद किया गया है। बताया गया कि मोहन सड़क कार्य में लगे वाहनों को बम विस्फोट कर उड़ाने के फिराक में था। टिफिन बम के अलावा, 20 मीटर लम्बे वायर के साथ 3 नक्सली साहित्य जब्त किया गया है।

  •  

Posted Date : 03-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    कोण्डागांव, 3 अप्रैल। कार में दो क्विंटल गांजा भरकर ले जाते कोण्डागांव सिटी कोतवाली पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी ने 2 लोगों को आज गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी अपनी कार के डिक्की में 89 पैकेट में गांजा भरकर ओडिशा से अकोला महाराष्ट्र की ओर ले जा रहे थे। बताया जा रहा है कि जब्त गांजा का अनुमानित कीमत 10 लाख रुपए है। 
    पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लवा के निर्देशन में असामाजिक तत्वों के विरूद्ध लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी के चलते सिटी कोतवाली कोण्डागांव पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी ने 3 अप्रैल को एक संदिग्ध कार को संदेह के आधार पर पीछा कर तलाशी ली। तलाशी के दौरान कार के डिक्की में 89 पैकेट में 197.32 किलो गांजा बरामद हुआ। इसके चलते वाहन में सवार दिनकर त्रयंबक इंगोले निवासी प्रांजल नगर मोठी उमरी अकोला महाराष्ट्र और अशोक आधार निवासी ग्राम सायगव्हान थाना कन्नड़ जिला औरंगाबाद महाराष्ट्र को गिरफ्तार किया है। बरामद गांजा की अनुमानित किमत 10 लाख रुपए है। 

  •  

Posted Date : 30-Jan-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोंडागांव, 30 जनवरी। नियमित गश्त के दौरान आमदई मर्दापाल थाना क्षेत्र के छितपानी जंगल से एक महिला नक्सल आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार  एलओएस सदस्य इस महिला पर तीन लाख रुपये का इनाम था। उसके इस इलाके में सक्रिय होने की खबर पर रणनीति बनाकर गिरफ्तार किया गया। 

  •  

Posted Date : 19-Jan-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 19 जनवरी। जिले के विश्रामपुरी थाना क्षेत्र के ग्राम कोसमी में पिता ने ही अपने दो सगे बेटों की हत्या कर दी। आरोपी ने लकड़ी काटने के बसूला से हमला कर घटना को अंजाम दिया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
    पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने कहा कि आरोपी पत्नी पर शक करता था। जिसके चलते उसने ऐसा किया है।
    घटना की जानकारी देते हुए मृत दोनों मासूम की मॉ सनता बाई ने बताया कि वह अपने पति फुलचंद सलाम व दोनों बच्चे भूपेन्द्र सलाम (12) और भूनेश सलाम (10) के साथ ग्राम कोसमी में एक साथ रहते थे। 18 जनवरी की रात फुलचंद सलाम शराब पीकर सनत बाई को जान से मारने के लिए दौड़ाया। वह जान बचाकर पड़ोसी के घर आसरा लेकर वहीं सो गई। सुबह घर पहुंची तो उसके दोनों बच्चों को मृत हालत पर घर में देखा। वहीं पति मौके से फरार था। 
    घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फुलचंद पड़ोसी गांव खल्लारी भाग गया था। खल्लारी में ग्रामीणों ने खून से सना कपड़ा और संदिग्ध अवस्था में उसे दिखते ही सरपंच ने थाना विश्रामपुरी पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घेराबंदी कर फुलचंद को गिरफ्तार कर लिया।
    पकड़े जाने के बाद फुलचंद ने पूछताछ में बताया कि कल रात शराब के नशे में पति-पत्नी के मध्य विवाद हुआ था। मौके से उसकी पत्नी डर कर भाग गई लेकिन उसका आवेश कम नहीं हुआ था। इसके चलते उसने घर में रखा हुआ बसूला से अपने दोनों बच्चे भूपेन्द्र और भूनेश के सिर व चेहरे पर  प्रहार कर दिया। दोनों बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई। 

     

  •  

Posted Date : 20-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 20 दिसंबर। ओडिशा जयपुर से रायपुर जा रही कांकेर रोडवेज की बस कोण्डागांव के पास जुगानी पुल पर पलट गई। घटना के दौरान बस में महिला बच्चों समेत 22 यात्री सवार थे। घायल हुए यात्रियों को  जिला अस्पताल आरएनटी लाया गया, तो कुछ यात्री फरसगांव की ओर बढ़ गए। बताया जा रहा है कि चालक को झपकी आ जाने से यह हादसा हुआ।  
    जानकारी अनुसार, कांकेर रोडवेज की बस सीजी 19 एफ 7200 जयपुर ओडिशा से 19 दिसंबर की रात जगदलपुर होते हुए रायपुर के लिए निकली थी। रात लगभग 3 बजे बस जैसे ही नेशनल हाइवे 30 पर स्थित जुगानी पुल पर पहुंची ड्राइवर को झपकी आ गई। इससेे बस  बेकाबू होकर पुल रेलिंग को तोड़ते हुए पलट गई। यात्रियों के अनुसार, बस लगातार 3 बार पलटते हुए सीधी खड़ी हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर कोण्डागांव पुलिस और 108 के कर्मी पहुंचे और घायलों को अस्पताल लाया।
    हादसे के दौरान में बस में 22 यात्री सवार थे, इनमे से दर्जनभर यात्रियों को मामूली चोट आई है। वहीं  ज्यादा घायलो में विनोद कुमार जैन  जगदलपुर, ज्योति मिश्रा  जगदलपुर, विजय कुमार पाणिग्रही  जयपुर, हेमंत साहू  बालोद, जयंती लाल रावल रायपुर का कोण्डागांव जिला अस्पताल मेंं उपचार जारी है। 

  •  

Posted Date : 06-Dec-2017

  • हेलीकाप्टर से रायपुर भेजा गया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 6 दिसंबर। मर्दापाल थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम हड़ेली में पुलिस कैंप स्थापित किया जा रहा है। इस कैंप में 6 दिसंबर की सुबह नक्सलियों ने गोलीबारी कर हमला कर दिया। हमला में प्रधान आरक्षक कोमल खलको को पैर में गोली लगी और वह घायल हो गया। घायल जवान को तत्काल जिला अस्पताल आरएनटी लाया गया। इसके बाद यहां से हेलीकॉप्टर से रायपुर रेफर कर दिया गया है। घटना के बाद डीआईजी रतन लाल डांगी, एसपी आसुतोष सिंह हड़ेली कैंप पहुंच कर घटना स्थाल का मुआयना किया।
    क्सल गतिविधियों में अंकुश लगाने और मर्दापाल के अंदरुनी क्षेत्र में विकास कार्य को तेजी देने के लिए ठीक दो दिन पहले जिला पुलिस बल ग्राम हड़ले में कैंप स्थापित करना शुरू किया है। फिलहाल यहां जंगलों के बीच अस्थाई तंबू लगाकर जवान तैनात हैं और कैंप निर्माण कार्य में लगे हुए हैं। यहां नक्सलियों ने 6 दिसंबर की सुबह हमला कर दिया।
    हड़ेली अत्यंत नक्सल प्रभावित क्षेत्र है। घने जंगल का फायदा उठाकर नक्सलियों ने ठीक सुबह 7 बजे कैंप पर फायरिंग की। इस फायरिंग में प्रधान आरक्षक कोमल खलको के पैर पर तीन गोली गली है। 
    ऑटोमेटिक बंदूक से किया फायर
    घटना के तरीके से अंदाजा लगाया जा रहा है कि घटना को नक्सलियों के छोटी टुकडी ने अंजाम दिया है। नक्सलियों के छोटी टुकडी को स्माल एक्शन टीम भी कहा जाता है, ये टीम छुप कर इस तरह की घटनाओं को अंजाम देकर भाग निकलती है।
     बताया जा रहा है कि प्रधान आरक्षक कोमल खलको के पैर में तीन गोलियां लगी है। एक ही बार में तीन गोलियों के लगने से अंदेशा लगाया जा रहा है कि नक्सली ऑटोमेटिक गन लेकर घात लगाए थे और अचानक से ब्रस्ट फायर करके मौके से भाग गए। इसी के चपेट में आकर जवान घायल हो गया।
    पुलिस की चूक पहले भी हो चुका है कैंपों में फायर
    नक्सल गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस एक के बाद एक कर अंदरुनी क्षेत्रों में कैंप, चौकी और थाना स्थापित कर रही है। सुरक्षा जवान जब भी इस तरह के कार्य योजना को अमल में लाते हुए कैंप स्थापित करती है, तो नक्सली उसे रोकने की हर संभव कोशिश भी करते हंै, ऐसे में हमला करना भी लाजिमी है। इसके पूर्व भी जिला में जब भी कैंप, चौकी या थाना स्थापित करने की कार्रवाई शुरू की गई है, नक्सलियों ने हमला किया है। इस बार भी हुए हमला और हमला में जवान के घायल होने से सुरक्षा की कमी उजागर हो रही है।
    चुक नहीं नक्सलियों ने बौखलाहट में किया हमला
    डीआइजी रतन लाल डांगी का कहना है कि पुलिस की चुक नहीं, नक्सलियों ने बौखलाहट में हमला किया है। घटना के तुरंत बाद पुलिस अधिकारी डीआईजी रतन लाल डांगी घटना स्थाल हड़ेली पहुंचे। यहां चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि कभी भवरदही नदी के पार का क्षेत्र नक्सल कोर एरिया कहलाता था, आज इस क्षेत्र में सुरक्षा जवान ना केवल पहुंच रहे हैं बल्कि हड़ेली जैसे नक्सल कोर एरिया में कैंप स्थापित कर रहे हैं। इस कैंप के स्थापित हो जाने से यहां विकास की गति तेज हो जाएगी और लोगों को इसका फायदा होगा। ऐसे में नक्सलियों का अस्तित्व खतरे में है। अब नक्सली अपने अस्तित्व को बचाने के लिए इस तरह के हरकत कर रहे हैं।

     

  •  

Posted Date : 01-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव/बीजापुर, 1 दिसंबर। तेन्दूपत्ता बोनस तिहार कार्यक्रम का शुभारंभ 2 दिसंबर को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बीजापुर जिले से करेंगे। मुख्यमंत्री कल सुबह हेलीकॉप्टर से रायपुर से बीजापुर पहुंचेंगे और कार्यक्रम को संबोधिक करेंगे। उसके बाद तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस वितरण करेंगे। मुख्यमंत्री यहां बीजापुर एवं दंतेवाड़ा जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 16 करोड़ 40 लाख रूपये का बोनस वितरण करेंगे। साथ ही 212 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भू्मिपूजन करेंगे।
    बीजापुर से मुख्यमंत्री कोण्डागांव जिले के लिए प्रस्थान करेंगे। दोपहर में कोण्डागांव जिले के केशकाल ब्लॉक के ग्राम धनोरा में आयोजित तेंदूपत्ता बोनस तिहार कार्यक्रम में शामिल होंगे। यहां कोण्डागांव जिले के 29 व नारायणपुर जिले के 8 प्राथमिक वनोपज समिति के 74 हजार तेन्दूपत्ता संग्राहकों में 6 करोड़ से अधिक की राशि का बोनस वितरण करेंगे।

  •  

Posted Date : 24-Oct-2017
  • शंभू यादव  
    कोण्डागांव, 24 अक्टूबर (छत्तीसगढ़)।  छट पर्व कोण्डागांव जिला में भी उत्तर भारतीयों का समुदाय की भारी तैयारी है। निस्तारी हेतु नगर में मात्र दो ही तालाब जीवित है। जिला मुख्यालय के अन्दर ही वर्षो से शहर में पानी से तालाब जहां भीषण गर्मी में भी पानी नहीं सूखता था और इन तालाबों में  मरनी, छठठी, मुडन सस्कार, गणेश -विसर्जन व अन्य सामाजिक, धार्मिक कार्यो का निर्वहन होता है। वही मरारपारा, रोजगारीपारा, भेलवापदर, फारेस्ट कॉलोनी, डीएन के वार्ड, डीपी कॉलोनी, तहसीलपारा, के 5000 लोगों की निस्तारी होती है।
     पिछले 2 वर्षो से पूरे शहर की गंदी नालिया का पानी शहर की गंदगी  नाले के रूप में इस तालाब में जोड़ दी है। बदबूु के कारण तालाब का पानी का उपयोग तो दुर अब राहगीर मुंह में कपड़ा रखकर गुजरते हंै। इस तालाब के सामने से कभी इसे पालिका ने चारों ओर लाईट लगा सुदर बनाने की योजना बनाई जो कागज तक ही सीमित कर रह गयी। समय-समय पर छत्तीसगढ़ अखबार ने शासन का ध्यान आकर्षित कराया। 
    बंधा तालाब इस तलाब की चर्चा तो पुरे प्रदेश में हुयी थी तात्कालीन कलेक्टर शिखा राजपुत तिवारी, छत्तीसगढ़ राज्य नागरिक आपूर्ति निगम की प्रदेश अध्यक्ष लता उसेण्डी, स्थानीय विधायक मोहन मरकाम सेे लेकर स्वयं के साथ  े जनप्रतिनिधि, समाज सेवियों और ग्रामीणों ने तालाब की जलकुंभी की सफाई की।सफाई  में उतरे कई अधिकारी कर्मचारियों  को खुजली की शिकायत शुरू हो गई। मामला  विधान सभा में भी जोर शोर से उठा था। अब तालाब पुरी तरह जलकुंभी से यथावत पट गई है। 
    इस संबंध में पूर्व कलेक्टर समीर विश्नोई से नगर पालिका कोण्डागांव के र्पाषदों के समूह ने नाली व गटर की गंदा पानी जोडऩे का विरोध करते हुए नाली के गंदा पानी तालाब से हटाने की मांग की थी। वहीं समाज सेवी संस्था व नागरिकों  ने गंदा पानी तालाब में जाने को रोकने के लिए नान अध्यक्ष लता उसेण्डी से मांग की।  उसेण्डी ने तात्कालीन कलेक्टर समीर विश्नोई से गंटर के गंदा पानी तालाब से हटा कर दूसरी जगह जोडऩे कहा  परंतु  इसकी अनदेखी की गई और समस्या यथावत है।
    छत्तीसगढ़ अखबार ने तालाब की सफाई के संबंध में कलेक्टर नीलकंठ टेकाम से चर्चा करनी चाही परंतु प्रदेश के बैठक में वयस्त होने के कारण उनका पक्ष नहीं मिल सका।  मुख्य नगर पालिका अधिकारी गणेश रणसिंह ने बताया छठ महापर्व के लिए तालाब की सफाई जलकुंभी निकालकर आस्थाई रूप से घेरा लगाया है। शासन द्वारा नियुक्त  वास्तुविद ने सर्वे कर तालाब की सफाई करवाने प्रस्ताव शासन को भेजा  है। इसी तरह राममंदिर में सौन्दर्यीकरण हेतु योजना बनाई गई है। शासन द्वारा तालाब सौन्दर्यीकरण करने वर्ष 2015 में राशि स्वीकृत हो चुकी है तथा यह कार्य तत्काल प्रारंभ की जाएगी।

     

  •  

Posted Date : 12-Oct-2017
  • केशकाल के बहीगांव पहुंची कांग्रेस की जन आक्रोश रैली
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 12 अक्टूबर। जन आक्रोस रैली के तहत 11 अक्टूबर की देर शाम कांग्रेस महासचिव व छत्तीसगढ़ प्रभारी पुन्नूलाल पुनिया कोण्डागांव के बहीगांव में आयोजित सभा में शामिल हुए। इस सभा के पहले युवा कांग्रेस और एनयूएसआई के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों ने श्री पुलिया का बेड़मा चौक से सभा स्थल तक मोटरसाइकिल रैली से स्वागत किया। मोटर साइकिल रैली के साथ ही उनके स्वागत की अगवानी बस्तर के पारम्परिक नृत्य के साथ किया गया। 
    सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव व छत्तीसगढ़ प्रभारी पुन्नूलाल पुनिया ने कहा कि बीजेपी कहता है मिशन 65 अगर मिशन 65 है तो वे भाजपा से पूछना चाहते हैं कि छत्तीसगढ़ में कौन सा 25 सीट है जिसमें वे हार रहे हंै। उन्होंने आगे कहा उनका लक्ष्य 65 नहीं बल्की पूरे छत्तीसगढ़ के 90 सीट है। भाजपा आज बोनस तिहार मना रही है, यदि किसान सच में उत्सव मना रहा होता तो किसान कलेक्टर के सामने आत्महत्या नहीं करता। 
    कोण्डागांव जिला अंतर्गत केशकाल विधानसभा के ग्राम बहीगांव में 11 अक्टूबर की शाम जन आक्रोश रैली पहुंची। शाम लगभग 5 बजे शुरू हुई जन आक्रोश रैली देर शाम 7:10 बजे तहसीलदार को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंप कर समाप्त हुई। 
    सभा के दौरान मंचाचिन कोण्डागांव विधायक मोहन मरकाम ने स्थानीय गोंडी भाषा में सभा को संबोधित करते हुए बेरोजगारी और किसानों के समस्या पर जोर दिया। इसी कड़ी में पूर्व मंत्री रह चुके शंकर सोढ़ी ने चुनाव से पहले, चुनावी तैयारी के लिए धान बोनस को किसानों के हाथ में भाजपा सरकार का लॉलीपॉप कहा। उन्होंने कहा कि पिछले बार चाउरवाले बाबा बनकर आए थे और अब मात्र 7 केजी चावल ही मिल रहा है। 
    प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फुलोदेवी नेताम ने कहा कि पंचायती राज के तहत कांग्रेस ने महिलाओं को आगे आने का मौका देते हुए सरपंच बनाने का मौका दिया, वहीं भाजपा के राज में बस्तर के आरक्षित सीट को समाप्त करने जा रहे हैं। यहां बालिकाओं महिलाओं के साथ अत्यचार, उनके अधिकारों का शोषण हो रहा। इसी कड़ी में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा- देश की सबसे पुरानी पार्टी बापू के कांग्रेस पार्टी ने कई अधिकार लोगों को दिया। कांग्रेस ने सदैव लोगों के उम्मीदों को कैसे पूरा किया जाए इस विषय पर कार्य किया। उन्होंने आगे कानून में उल्लेखित अधिकारों के संरक्षण पर जोर देते हुए जल-जंगल-जमीन की बात कही। 
    इसी तरह राष्ट्रीय सचिव अरुण उरांव ने कहा, भाजपा ने चुनाव से पहले अच्छे दिनों के सपने और सीधे बैंक खाता में रुपए देने की बात कही थी, लेकिन हकीकत आज जीएसटी के बाद व्यपारी तक दुकान बंद करने को मजबूर हैं। मुझे बस्तर के लोगों के दुख दर्द का एहसास है, क्योंकि मैंने भी पंजाब-झारखंड में नौकरी के दौरान लोगों को दुख दर्द दिया है, इसी दुखदर्द से परेशान होकर मैंने कांग्रेस का हाथ थामा। 
    प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि रमन सिंह ने गाय के नाम से आदिवासियों को, बेरोजगारों को भत्ता के नाम से और ना जाने किन-किन बातों से लोगों को ठगा है। बस्तर की जनता जानती थी रमन सिंह ठग्गू है, इस लिए बस्तर के 11 में से 9 सीट कांग्रेस को मिली। उन्होंने कहा कि रमन सिंह से बड़े ठग नरेंद्र मोदी है। चुनाव से पहले उन्होंने वादा किया था कि सभी के खाते में रुपए डाल देंगे। उनकी बातों में आकर सभी ने बैंक में खाता भी खोला लिया, लेकिन किसी के खाते में रुपए नहीं आए। उन्होंने नोटबंदी करवाया, इस नोटबंदी से काला धन सफेद हो गया। अपने उद्बोधन में उन्होंने बफोर्स मामले का जीक्र कर मुख्यमंत्री की खिंचाई की। सभा को आदिवासी प्रकोष्ठ अध्यक्ष व पूर्व कलेक्टर शिशुपाल सोढ़ी, प्रदेश कांग्रेस महासचिव राजेश तिवारी ने भी संबोधित किया।
    छत्तीसगढ़ प्रभारी पुन्नूलाल पुनिया के साथ बहीगांव पहुंची जन आक्रोश रैली में छत्तीसगढ़ के दिग्गज कांग्रेसियों में नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फुलोदेवी नेताम, कोण्डागांव विधायक मोहन मरकाम, केशकाल विधायक संतराम नेताम, पूर्व विधायक व मंत्री शंकर सोढ़ी, राष्ट्रीय कांग्रेस सचिव कमलेश्वर पटेल, राष्ट्रीय सचिव अरुण उरांव, प्रदेश कांग्रेस महासचिव राजेश तिवारी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष शांतिलाल सुराना समेत स्थानीय, प्रदेश स्तर के व प्रदेश के बहार से  आए कांग्रेसी मंचासिन थे।
    13 बिंदूओं का सौंपा ज्ञापन
    मंच से उद्बोधन के बाद सभा स्थल से ही स्थानीय तहसीलदार को राज्यपाल के नाम 13 बिंदुओं का ज्ञापन सौंपा गया। इस ज्ञापन में 2013 के अनुसार किसानों को प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य 2100 व 5 वर्ष का बोनस राशि भुगतान, जिले के शिक्षित बेरोजगार को रोजगार दिलाने, राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) का कार्य तत्काल प्रारंभ कर लंबित भुगतान करवाने, किसानों का कर्ज माफ करने, बहीगांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र 30 बिस्तर की सुविधा देने, बहीगांव में मिनी स्टेडियम का निर्माण करवाने, जिले के विद्युत विद्युत विहिन गांव को तत्काल विद्युत देने, विश्रामपुरी में बड़बत्तर मार्ग, कोरगांव से बड़ेराजपुर मार्ग का उन्नतीकरण, जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया को सरल करने, कोण्डागांव जिला का बंदोबस्त तैयार करने, एनएच 30 से चेरबेड़ा ढोंगईपारा मार्ग मरम्मत, एनएच 30 बहीगांव से फरसाडिही, देवतरा, पलोरा, खेतरपाल, नयानार, नवागढ़ तक सड़क उन्नयन और एनएच 30 बहीगांव से पीपरा, कोपरा, बड़बत्तर, गम्हरी तक सड़क उन्नयन करने की मांग प्रमुख हैं।
    कांग्रेस में किया प्रवेश
    बहीगांव में आयोजित जन आक्रोश रैली व सभा कार्यक्रम के दौरान भारी संख्या में स्थानियों ने कांग्रेस में प्रवेश किया। नव प्रवेशी कांग्रेसियों का मंचासिन सभी पदाधिकारियों ने फूल माला पहनाकर कांग्रेस में स्वागत किया।
    जमीनी लोगों का प्रतिनिधि हूं, उनके साथ जमीन में ही बैठूंगा
    पूरे कार्यक्रम के दौरान स्थानीय विधायक संतराम नेताम का प्रभाव स्थानीय जनों में दिखाई दिया। कार्यक्रम के दौरान देरी होने के चलते एकाएक सभा से लोगों का हुजूम गायब होने लगा। लेकिन जैसे ही स्थानीय विधायक संतराम नेताम माईक में उद्बोधन के लिए पहुंचे सभा स्थल वापस खचाखच भर गया। वहीं कार्यक्रम के दौरान सभी अतिथि, पदाधिकारी और प्रमुख जनप्रतिनिधि मंच पर बैठे थे, तो विधायक संतराम नेताम यह कहते हुए जमीन में बैठ गए कि जमीनी लोगों का प्रतिनिधि हंू, उनके बीच उनके साथ जमीन में ही बैठूंगा।
    आपसी विवाद पर चुप रहे पुनिया
    कांग्रेस महासचिव व छत्तीसगढ़ प्रभारी पुन्नूलाल पुनिया को जब सभा के बाद पूछा गया कि कोण्डागांव जिला में कांग्रेस की आपसी मदभेद खुलकर नजर आ रही है, ये मदभेद कब खत्म होगा। इस सवाल पर पुनिया चुप हो गए। हालाकि सवाल का जवाब देते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा नगर पालिका और जिला पंचयात में कांग्रेस का ही बहुमत है। पहले भी कांग्रेस के अध्यक्ष थे और अविश्वास पास होने के बाद भी कांग्रेस के ही अध्यक्ष बनेंगे। 
    आज पुनिया कोण्डागांव में
    कोण्डागांव, 12 अक्टूबर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव व प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया मिशन 2018 को लेकर कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करने 13 अक्टूबर को कोण्डागांव पहुंचेंगे। स्थानीय टाउन हाल से वे शाम 4 बजे कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। इस दौरान उनके साथ सचिव द्वय अरुण उरांव, कमलेश्वर पटेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव भी मुख्य रूप से मौजूद रहेंगे। श्री पुनिया के स्वागत में चिखलपुटी से मोटर साइकिल रैली निकाली जाएगी।

  •  

Posted Date : 04-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 4 अक्टूबर। नगर के प्रवेश नारंगी नदी पुल पर 4 अक्टूबर की दोपहर मोटरसाइकिल सवार दो लोगों को एक सूमो वाहन ने सामने से ठोकर मार दी। हादसे में एक युवक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। वहीं एक गंभीर रूप से घायल हो गया। 
    प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सवारियों से भरी वाहन ने जैसे ही मोटरसाइकिल को टक्कर मारी मोटरसाइकिल में पीछे बैठा युवक सवारी वाहन के छत पर जा गिरा। इसके बाद सवारी वाहन छट पर युवक को लिए हुए लगभग 800 मीटर दूर नारंगी नदी पुल के दूसरी तरफ  पहुंच गया जहां ब्रेकर के कारण वाहन उछला तब छट पर गिरा युवक जीमन पर आ गिरा।    
    घटना की जानकारी देते हुए घायल युवक चैनूराम पोयाम  निवासी बोलबाला ने बताया वह अपनी मोटरसाइकिल से तुलाराम नेताम निवासी गांधीवार्ड के मोटरसाइकिल गैरेज आया था। यहां से वे दोनों मोटरसाइकिल का ट्रायल लेने नारंगी नदी की ओर गए थे। वापसी के दौरान पुल के पास सामने से सवारी लेकर आ रही सूमो वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर से तुलाराम नेताम की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं चैनूराम पोयाम गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे 108 से जिला अस्पताल लाया गया। वहां गंभीर हालत को देखते हुए हायर सेंटर रेफर किया गया।
    घंटे भर के बाद पहुंची पुलिस
    घटना लगभग 3 बजे नगर के प्रवेश कहे जाने वाले नारंगी नदी पुल के पास घटी। यहां पुल के एक ओर मृतक का शव था तो दूसरी तरफ घायल युवक। घायल की जानकारी मिलते ही 108 की एम्बुलेंस मौके पर पहुंच गई। लेकिन घटना स्थल तक पहुंचने में सिटी कोतवाली पुलिस को एक घंटे का समय लग गया। इस बीच मृतक तुलाराम नेताम की पत्नी मौके पर पहुंची और पति का शव गोद में लिए मदद के इंतजार में रोती रही। इसके लगभग घंटे भर बाद मौके पर पुलिस पहुंची और शव को उठावा कर अस्पताल पहुंचवाया।

  •  

Posted Date : 01-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 1 अक्टूबर। बालोद जिला के निपानी से नवरात्र में रामलीला करने आए मंडली की वापसी के दौरान वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई। वाहन पलटने से इसमें सवार मंडली के सदस्य घायल हो गए है। घायलों को 108 की एम्बुलेंस से जिला अस्पताल में शिफ्ट करवाया गया है।
    घटना की जानकारी देते हुए श्री बजरंग मानस व रामलीला सामाजिक सेवा संस्कृतिक मंडली निपानी बालोद के संचालक हलालखोर साहू  ने बताया, वे अपनी मंडली के साथ कोण्डागांव के मुनगापदर में रामलीला मंचन के लिए आये थे। दशमी में रामलीला का समापन कर मंडली के सभी 24 सदस्य 1 अक्टूबर की सुबह मेटाडोर सीजी 07 जेडए 1142 से निपानी लौट रहे थे। लौटने के दौरान सोनाबाल के खुटपारा के पास अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे वाहन सवार 11 लोगों को अधिक चोट आई। सभी को जिला अस्पताल आरएनटी में लाया गया है। 
    हादसा के दौरान मेटाडोर में मंडली के 24 सदस्य और ड्राइवर सवार थे। इनमे से अधिक घायल हलालखोर साहू  , जितेंद्र कुमार साहू  , वशुदेव साहू  , खोराबार साहू  , चुम्मन साहू  , बलराम साहू , कीसुनराम साहू  , दिलेश्वर साहू  , सेवकसाहू  , खिलेश कुमार साहू  और पुष्कर निषाद को जिला अस्पताल में  लाया गया है, यहां उपचार जारी है।
    2 एम्बुलेंस से लाया गया अस्पताल
    घटना की जानकारी जैसे ही 108 के कॉल सेंटर में पहुंची कोण्डागांव लोकेशन के एम्बुलेंस और कर्मी ईएमटी पोषण पटेल व पायलेट नरेश नेताम मौके पर रवाना हुए। मौके पर पहुंच कर घायलों की संख्या का पता चला। दोनों 108 स्टाफ अधिक घायलों को लेकर अस्पताल रवाना हुए, और अधिक घायलों की जानकारी मुख्यालय को दिया। ऐसे में 108 के माकड़ी लोकेशन के एम्बुलेंस को भी घटना स्थल बुलाया गया। इसके बाद माकड़ी लोकेशन के ईएमटी तुलसी पाण्डे ईएमटी शिवलाल सिन्हा भी तत्काल सोनाबाल पहुंचे। दोनों एम्बुलेंस ने घायलों की जरूरत को देखते हुए छमता से अधिक 11 घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

  •  

Posted Date : 25-Sep-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 25 सितंबर। एनएच 30 मस्सुकोकोडा के पास नंदू ढाबा के समीप रोड किनारे सो रहे दो युवको की ट्रक के रौंदने से मौके पर ही  मौत हो गई। दोनों का शव ट्रक के नीचे फंसा हुआ था। दोनों का शव पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है।
     जानकारी के मुताबिक मुर्गी वाहन सीजी 17 एच 0522 में करीबन 10 बजे धमतरी से कोण्डागांव के लिए मुर्गी भरकर आ रहे थे। नेशनल हाइवे मस्सुकोकोडा के पास करीबन 3 बजे पहुंच कर मुर्गी वाहन के चालक और दो हेल्पर सोने के लिए रुके। मुर्गी वाहन का चालक प्रशांत विशवास (45) पिता प्रमोथ विशवास निवासी तहसीलपारा कोण्डागांव निवासी अपनी ही मुर्गी वाहन में सो गया और अन्य दो हेल्पर रिंकू बघेल (18) पिता हरिनाथ बघेल कोपाबेड़ा कोण्डागांव निवासी और राकेश धुव्र (19) पिता केशव धुव्र भेलवापदर कोण्डागांव निवासी मुर्गी वाहन के बगल में नाली के ऊपर सो गए थे। इसी बीच करीबन सुबह 4 बजे जगदलपुर से रायपुर की ओर जा रही ट्रक ने सो रहे दोनों युवकों को रौंदा जिससे तत्काल मौके पर ही मौत हो गई।  दोनों का शव ट्रक में फसा हुआ था। ग्रामीणों ने ट्रक चालक को पकड़ कर पुलिस को सुचना दी पुलिस घटना स्थल पर पहुच कर ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया है। ट्रक में फसे होने से दोनों के शवो की निकालने के लिए क्रेन बुलाया गया है।  ट्रक क्रमाक सीजी 04 जे 1335 दोनों आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक ट्रक को ट्रक का हेल्पर चला रहा था।  

     

  •  

Posted Date : 27-Aug-2017
  • आईटीबीपी के जवानों ने दिया प्रशिक्षण
    शंभू यादव
    कोण्डागांव, 27 अगस्त (छत्तीसगढ़)। बस्तर के सभ्याता के साथ तीर-धनुष का पुराना रिश्ता है। चाहे दैविक पूजा-अनुष्ठान हो या अपनी सुरक्षा के लिए जंगली जानवरों का शिकार आदि समय से बस्तर के रहवासी तीर-धनुष कर तीरंदाजी करते आए है। रिश्ता भले ही पुराना हो, लेकिन आधुनिक युग में कुछ दशक से कोण्डागांव क्षेत्र के युवा तीर-धनुष की कला तीरंदाजी से दूर हो चुके हैं। इसी के चलते कभी तीर-धनुष में महारत रखने वाले क्षेत्र के ग्रामीण युवा अब इससे कोसो दूर हंै। दशकों से तीरंदाजी से दूरी बना चुके कोण्डागांव क्षेत्र के युवा इस बार स्टेट और राष्ट्रीय स्तर पर  अपना जौहर दिखाने के लिए जी-तोड़ कोशिश कर रहे हैं। 
     28 अगस्त को कोण्डागांव के खेल मैदान में शालेय जोन स्तरीय आर्चरी खेल प्रतियोगता का आयोजन किया जाना है। इस प्रतियोगिता में नारायणपुर और कोण्डागांव से आर्चरी क्षेत्र के बच्चें अपना हुनर दिखाएंगे। प्रतियोगिता में शामिल होकर बढ़त बनाए रखने के लिए कोण्डागांव के लगभग 20 बच्चे भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल 41 बीएन से प्रशिक्षण ले रहे है। सोमवार को कोण्डागांव में चयन प्रतियोगिता में चयनित छात्र 6 से 9 सितंबर तक बिलासपुर में आयोजित शालेय राज्य आर्चरी  में भाग लेकर नेशनल गेम के लिए अपना दावा प्रस्तुत करेंगे। 
    गत वर्ष से आईटीबीपी दे रहा प्रशिक्षण
     गत वर्ष 2016 से आईटीबीपी ने क्षेत्र के बच्चों को खेल के लिए प्रशिक्षण देना शुरू किया है। प्रशिक्षण के शुरूवात के साथ ही पहली बार आर्चरी प्रतियोगिता में क्षेत्र के बच्चों ने भाग लिया था। स्पोर्ट्स अथॉरटी ऑफ इंडिया के तत्वावधान में आयोजित प्रतियोगिता में आईटीबीपी से प्रशिक्षण लेकर 1 छात्र ने जयपुर में आयोजित नेशलन गेम में अपना जौहर दिखाया है।
    कन्या अश्राम की छात्राओं को अलग से प्रशिक्षण
     इन दिनों कोण्डागांव के बालक छात्रावास मैदान में अंदर 14 वर्ग से 4 लड़की व 2 लड़के, अंडर 17 वर्ग से 4 लड़की व 7 लड़के, अंडर 19 वर्ग से 2 लड़की और 2 लड़के और सीनियर वर्ग से एक महिला पीटीआई समेत 2 लड़की व 3 लड़के प्रशिक्षण ले रहे है। इन सब के अलावा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल 41 बीएन के प्रशिक्षक नगर के कस्तूरबा बालिका कन्या छात्रावास के छोटे बच्चों को विशेष सुविधा देते हुए छात्रावास परिसर में आर्चरी सिखा रहे है।
    सुविधाओं का अभाव
     एक ओर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल 41 बीएन क्षेत्र के युवा प्रतिभावान बच्चों को आर्चरी का प्रशिक्षण देकर तीरंदाजी के कला में पारंगत दिला रहा है। तो वहीं प्रशिक्षण ले रहे खिलाडिय़ों को खेल संसाधन व सुविधाओं का अभाव खलता रहता है। एक जानकारी अनुसार, आर्चरी के खेल संसाधन काफी महंगे आते है। खिलाडिय़ों ने अपने अभ्यास के लिए किसी तरह से आर्चरी तो ले लिया है, लेकिन उनके पास अब भी अन्य सुविधा, खेल किट आदि नहीं है। 

  •  

Posted Date : 26-Aug-2017
  • विभाग को जानकारी होने के बाद भी कार्रवाई नहीं

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 26 अगस्त। एक ओर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में स्वाइन फ्लू फैलने की सूचना मिल रही है, वहीं स्वाइन फ्लू प्रभावित जिला से कोण्डागांव में सुअर लाकर पाला जा रहा है। विभाग के अधिकारियों को इसकी मौखिक जानकारी होने के बाद भी सुकरों के स्वास्थ्य का अभी तक जांच नहीं किया गया है। दंतेवाड़ा से लाए सुअरों को जहां रखा गया है, उस मोहल्ले में लगभग सभी परिवार में मामूली सर्दी-बुखार की शिकायत है।
    बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा जिला के किरंदुल निवासी कैलाश सक्सेना की मौत स्वाइन फ्लू से होने के बाद यह साफ हो गया कि क्षेत्र में स्वाइनफ्लू ने अपनी दस्तख दे दी है। कैलाश सक्सेना की मौत के बाद दंतेवाड़ा के जिला प्रशासन ने एतिहात बरतते हुए लगभग 250 से अधिक सुअरों को मार दिया। इसी दौरान वहां के कुछ सुअर पालकों ने कम कीमत में अपने सुअर कोण्डागांव में बेच दिए। कम कीमत के 15 सुअर को कोण्डागांव के डोंगरीपारा पहाड़ नीचे रहने वाले सोहेल पॉल ने खरीद कर यहां ले आए और कुछ लोगों को पालने के लिए दे दिए। 
    इसके साथ ही सोहेल पाल ने इन सुअरों की मौखिक जानकारी पशु विभाग के डॉ. रावटे को दिया। स्वाइन फ्लू प्रभावित जिला से लाए गए सुअर की जानकारी पशु विभाग को मिलने के बाद भी विभाग से कोई अधिकारी-कर्मचारी सुअरों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए यहां नहीं पहुंचा, जबकि दंतेवाड़ा से लाए गए सुअर का पालन किसी दूरस्थ क्षेत्र में नहीं बल्कि जिला मुख्यालय में ही हो रहा है। 
    परिवार के सदस्यों को सर्दी-जुकाम
    सोहेल पॉल ने चार्चा के दौरान बताया कि उन्होंने सुअर लाए जाने की जानकारी विभाग को मौखिक तौर पर दे दिया। जानकारी दिए जाने के साथ ही उन्होंने सुअर पालन के लिए घर के ही पास डोंगरीगुड़ा में रहने वाले पड़ोसी को उसके पालन का जिम्मदारी दे दी। अब जो परिवार यहां सुअर पाल रहा है उनके सदस्यों और आस-पास के पड़ोसियों को मामूली सर्दी-जूकाम की शिकायत है। लेकिन अज्ञानता से पूरे मोहल्ले से कोई भी अपने स्वास्थ्य का जांच शासकीय अस्पताल में नहीं करवाया है। 
    क्या होता है स्वाइनफ्लू का लक्षण
    स्वाइन फ्लू के लक्ष्ण के बारे में जिला अस्पताल आरएनटी के प्रभारी डॉ. एसपी वारे ने बताया, स्वाइनफ्लू होने से सर्दी-खासी, बुखार, नाक का लगातार बहना होता रहता है। आम तौर पर लोग सर्दी खासी को मौसमी बीमारी समझ कर अनदेखा कर देते हंै, जिसके परिणाम ही घातक सबीत होता है।
    अब तक नहीं मिले स्वाइन फ्लू के मरीज
    जिला अस्पताल आरएनटी के डॉ. एसपी वारे ने बताया कि अब तक यहां स्वाईन फ्लू के मरीज नहीं मिले हैं। उन्होंने जिला अस्पताल के सभी कर्मियों को नाक में मास्क और हाथों में ग्लब्स पहनकर मरीजों के पास जाने निर्देश दिया है। इसके अलावा केवल जिला अस्पताल में ही 500 से अधिक टेमीफ्लू टेबलेट का भंडार रखा गया है। 500 टेमीफ्लू टेबलेट लगभग 50 लोगों के 5 दिनों के लिए पर्याप्त है। साथ ही अस्पताल में अन्य सुविधा जैसे आक्सीजन, आपातकालीन कक्ष की व्यवस्था भी स्वाइनफ्लू के अंदेशा के चलते सुरक्षित रखा गया है।
    मीट बाजार में बिना स्वास्थ्य परीक्षण के कट करे मांस
    नियम के अनुसार मांस का ब्रिकी केवल नगर पालिका से पंजीकृत मांस विक्रेता ही कर सकता है। इसके साथ ही मांस के कटाई से पूर्व पशु विभाग पशु स्वास्थ्य परीक्षण ओके रिपोर्ट देते हंै, तब जा कर ही मांस काटा व बेचा जाता है। अब यदि कोण्डागांव में इस ओके रिपोर्ट की बात करे तो यहां आज तक पशु स्वास्थ्य विभाग ने किसी पशु का स्वास्थ्य परीक्षण कटने से पहले नहीं किया है।
     खुले में कट रहे सुकर
    एक ओर जिला अस्पताल ने स्वाइनफ्लू से बचाव के लिए सारे उपाय कर रखे हैं, तो दूसरी ओर कोण्डागांव का पशु विभाग पशु स्वास्थ्य परीक्षण के लिए नियमों का हवाला देकर बैठा है। पशु कटाई और पशु स्वास्थ्य निरीक्षण के संबंध में विभाग के उप संचालक डॉ. देवेन्द्र नेताम ने बताया कि नगर पालिका अब उनके विभाग को अधिकृत ही नहीं किया है, इसके चलते कभी किसी पशु का स्वास्थ्य परीक्षण नहीं हुआ है।
    किया जाएगा स्वास्थ्य परीक्षण
    इस पूरे मामले में कलेक्टर समीर विश्नोई का कहना है कि मामले की जांच के लिए संबंधित विभागों को निर्देशित किया जाएगा। 
    इस संबंध में पशु विभाग के डॉ. दीपेश रावटे का कहना है कि सोहेल पॉल ने उनसे सुकर पालन के संबंध में योजना की जानकारी ली थी। सुकर लाने या पालन की बात नहीं बताई है।

  •  

Posted Date : 24-Aug-2017
  • पीछे-पीछे कांग्रेसियों ने भी उतारे कपड़े
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डागांव, 24 अगस्त। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर दुर्ग जिला सहित प्रदेश के विभिन्न गौशालाओं में हो रही गौ माता की मौत और प्रदेश भर में संचालित गौशालाओं को दिए गए अनुदान की सीबीआई जांच की मांग को लेकर 24 अगस्त को कांग्रेसियों ने ग्वाल बन विरोध किया। विरोध रैली में विधायक मोहन मरकाम समेत कांग्रेसी पदाधिकारी और कार्यकर्ता नंगे बदन धेती पहन बाजार पारा मां शीतला मंदिर के सामने से मुख्य मार्ग होते हुए अनुविभागीय कार्यालय से रैली निकाली। इस अनोखे विरोध के बाद ज्ञापन भी सौंपा गया।
    इस संबंध में विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि दुर्ग जिले के धमधा में शगुन गौशाला में 250 से ज्यादा गौमाताओं की हत्या कर दी गई। उसके बाद भी प्रदेश भर में संचालित विभिन्न गौशालाओं में हुई गौ माताओं की मौत का सिलसिला जारी है। लेकिन राज्य की भाजपा सरकार के कानों में जु तक नही रेंग रही है। दुर्ग के शगुन गौशाला में जिस प्रकार भाजपा के पदाधिकारियों की संलिप्तता सामने आई है। शायद यही वजह है कि राज्य की भाजपा सरकार किसी प्रकार की कार्रवाई से बच रही है। इसी प्रकार कोण्डागांव जिले के ग्राम बड़ेकनेरा में संचालित कामधेनु गौसेवा संस्थान को लाखों रुपए का अनुदान प्राप्त हो रहा है। 
    विगत दिनों ये मामला प्रकाश में आया कि यहां 18 से ज्यादा गायों की मौत हो गई, लेकिन संस्था के संचालक ने मृत गायों के बारे में ना तो प्रशासन को कोई सूचना दिया और ना ही मृत गायों का पंचनामा करवाया। इससे कही ना कही भारी भ्रष्टाचार के संदेह हो रही है। इसके चलते यहां भी जांच करवाया जाए।
    विधायक मोहन मरकाम ने आगे कहा कि ठीक उसी प्रकार यदि पूरे प्रदेश में अनुदान प्राप्त गौशालाओं की जांच की जाए, तो गौशालाओं में हुए भारी भ्रष्टाचार घोटाले उजागर होंगे। 24 अगस्त को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर, जिला कांग्रेस कमेटी के बैनर तले कोण्डागांव के ग्राम बड़ेकनेरा कामधेनु गौ संस्थान सहित पूरे प्रदेश में सरकारी अनुदान से संचालित समस्त गौशालाओं की सीबीआई जांच की मांग को लेकर निकाली गई रैली और राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन में जिलाध्यक्ष शांन्तिलाल सुराना, विधायक मोहन मरकाम, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र नेताम, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य कैलाश पोयाम, नगरपालिका उपाध्यक्ष मनीष श्रीवास्तव, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष बुधराम नेताम, वरिष्ठ कांग्रेसी दलसाय मरकाम, डमरूधर कश्यप, महिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष रश्मीराज, कपिल चोपड़ा, पार्षद उमेश साहू, सुरेश पाटले, राजेंद्र देवांगन, तुलराम पोयाम, गुनमति नायक, ललिता नेताम, आरती नेताम, गुणमति नायक, भंवर कौशल, भरत देवांगन, छेदन बघेल, रणजीत गोटा, सुमित श्रीवास्तव, नरेंद्र देवांगन, सितम मलिक, विकास कुंवर, बलदेव कोर्राम, गणेश मंडल, अमरू देवांगन, दुकारु मरकाम, बंगाराम सोढ़ी, सकर खान, श्यामसिंह, कमलेश दुबे सहित जिला कांग्रेस, महिला कांग्रेस सेवादल, युवा कांग्रेस, विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष पदाधिकारी व विभिन्न ग्रामों के ग्रामीण, किसान भारी संख्या में उपस्थित रहे।

  •  

Posted Date : 24-Aug-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोण्डगांव, 24 अगस्त। जिले के मर्दापाल थाना क्षेत्र के ग्राम हंगवा में 23 अगस्त को गाज की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई,वहीं 7 लोग घायल हो गए। इनमें से 5 अधिक घायलों को 108 से जिला अस्पताल आएनटी में भर्ती करवाया गया है। इसी तरह मर्दापाल के ग्राम परोदा में एक घर में गाज गिरने से भाई-बहन की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए।
    ग्राम हंगवा के कोटवाल व घायल रामू कोर्राम ने बताया कि गांव के पटेल पारा स्थित देवगुड़ी में उनके साथ-साथ गांव के सिरह गुनिया गोन्डे कोर्राम, लखमन कोर्राम, श्रीनाथ कोर्राम, आसमान कोर्राम, सुदुराम यादव, दासु कोर्राम पूजा कर रहे थे। इस दौरान अचानक आकाशिय बिजली गिरा और वे सभी उसके चपेट में आ गए। चपेट में आने से गोन्डे कोर्राम की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दासु को सामान्य चोट आई है, बाकि सभी का उपचार जिला अस्पताल आरएनटी में जारी है।
    इसके अलावा मर्दापाल के ग्राम परोदा में एक घर में गाज गिरने से एक युवक और उसकी बहन की मौत हो गई, वहीं दो अन्य घायल हो गए। इन सभी को लोहंडीगुढ़ा के अस्पताल में भर्ती किया गया है।

     

  •