छत्तीसगढ़ » कोण्डागांव

Previous12Next
Date : 25-Jun-2019

नावा बेस्ट नार्र अभियान पर हुई मेगा बैठक, नोडल अधिकारियों को निर्देश

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 25 जून।
नावा बेस्ट नार्र अभियान जिले मे कुपोषण मुक्ति व स्वास्थ्य की बेहतरी के लक्ष्य को लेकर चलाया जाने वाला महत्वाकांक्षी अभियान है और इस अभियान की सफलता का पूरा दारोमदार अंदरूनी क्षेत्र में कार्य कर रहे मैदानी कर्मचारियो के कधों पर है। नावा बेस्ट नार्र अर्थात मेरा सबसे अच्छा गांव शब्द मे ही एक खुशहाल गांव की छवि उभरती है एक ऐसा गांव तहां स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा व कृषि रोजगार जैसे सुविधाएं सहज उपलब्ध हो मुझे प्रसन्नता है नावा बेस्ट नार्र की परिकल्पना अब मूर्तरूप ले रही है और इसका पूरा श्रेय मैदानी कर्मचारी को जाता है।

जिला कार्यालय के उपरी तल स्थित सभागृह मे 25 जून को कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम के माध्यम से नावा बेस्ट नार्र अभियान के संदर्भ मे आयोजित बैठक मे उक्त बाते कही गई। इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ नुपूर राशि पन्ना, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. केपी वारे व समस्त जिला स्तर के अधिकारी व मैदानी स्तर के कर्मचारी उपस्थित रहे। इस क्रम मे उन्होने कहा कि, जिले के कई क्षेत्र ऐसे है जहां आपको 100 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए 200 प्रतिशत प्रयास करने होगें। अगर हम जिले के 60 से 70 हजार परिवारो को उपलब्ध कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, कुपोषण, पेयजल सुविधा, संबधी डाटा का एकत्रीकरण करले तो यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि होगी। इसे फोकस करते हुए हम हर परिवार को शासन की विभिन्न योजनाओ का सीधा लाभ उनतक पहुंचा सकेंगे। इस संबध मे जिला स्तरीय सभी अधिकारी इस अभियान के तहत उनको सौंपे गए ग्राम पंचायतो का नियमित रूप से दौरा करके रिपोर्ट प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। इस अभियान के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में स्वच्छता, सुपोषण और स्वास्थ्य निगरानी समितियां गठित की जा रही है। जो कि ग्राम, विकासखण्ड व जिला स्तर पर कार्य करेंगी। 

इन सभी समितियों का दायित्व आंगनबाड़ी व स्वास्थ्य केन्द्रों के सुव्यवस्थित संचालन व निरीक्षण, गांव-मोहल्लो की साफ-सफाई, स्वच्छ पेयजल, शौचालयों का उपयोग, कृषि संबंधी योजनाओं का लाभ आम ग्रामीणो तक पहुंचाने के लक्ष्य का सुनिश्चित करना होगा।

इस बैठक के समानान्तर स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से मौसमी बीमारियो के रोकथाम के सबंध मे आयोजित एक अन्य बैठक मे बताया गया कि, गर्मी व वर्षा के मौसम प्रारंभ होते ही (जल जनित संक्रामक रोग) जैसे डायरिया, मलेरिया, दिमागी बुखार, पीलिया आदि के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। गर्मी व वर्षा ऋतु में इन बीमारियों के महामारी का रूप धारण करने की संभावना रहती है और इनपर प्रभावशाली तरीके से नियंत्रण के उपाय हर स्तर पर किया जाना आवश्यक है। जिले के मुख्यालय के होटलो दुकानो व ग्रामीण क्षेत्रों के हाट बाजारों मे खुले मे बिकने वाले सड़े-गले फल, मानव खाद्य के लिए रोगग्रस्त अशुद्ध अस्वास्थ्यकर, साग सब्जिया, मिष्ठान, मांस मछलिया, खुले पेय पदार्थ जैसे बर्फ, आईस्क्रीम, गन्नारस का सेवन बिल्कुल नही किया जाना चाहिए। इसके अलावा मच्छरो से बचाव के लिए सोने से पहले मच्छरदानी का उपयोग, पूरी बाँह की शर्ट फुल पैन्ट एवं पैरों में मोजे पहनने, मच्छर मारने के लिए घर के भीतर कीट नाशक छिड़काव, घर के आसपास साफ-सफाई रखने, जमे हुए पानी की सफाई, घर के खिड़कियों व दरवाजे पर जाली लगाना, पीने के लिए हैण्डपंप व पाईपलाईन से उपलब्ध पानी का उपयोग करने, खाने-पीने में उबले हुए पानी के उपयोग के बारे मे जानकारी दी गई। 

कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम ने इस मौके पर स्वास्थ्य अमले को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश देते हुए कहा सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में कन्ट्रोल रूम स्थापित किये जायें, इसके अलावा ही मलेरिया के प्रकोप से बचने के लिए ग्रामीणों को मच्छरदानियो के उपयोग के लिए प्रेरित करने के साथ-साथ हाट बाजारो मे आयोजित स्वास्थ्य शिविरों के माध्यम से भी अधिक से अधिक लोगो को जागरूक करना सुनिश्चित किए जाए।  


Date : 25-Jun-2019

हाट-बाजारों में लगेंगे विशेष स्वास्थ्य शिविर
विभागीय योजनाओं की कलेक्टर ने किया गहन समीक्षा
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 25 जून।
जिले के समस्त विकासखण्डों के 51 मुख्य ग्रामों के हॉट बाजारों में विषेश स्वास्थ्य शिविर लगाए जाएंगे। इसके लिए 25 जून को समय-सीमा बैठक में कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने विषेश निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ जनपद सीईओ, तहसीलदार, पटवारी के माध्यम से अनिवार्य रुप से समन्वय किया जाएगा। इस विषेश स्वास्थ्य शिविर के आयोजन में महिला स्व-सहायता समूह की भी भूमिका रहेगी। इनकी मदद से बाजार-हॉट में पहुंचने वाले ग्रामीणों की बीपी, शुगर जांच के अलावा उन्हें मौसमी बुखार जैसे डायरिया, टायफाइड, मलेरिया आदि की औषधियां भी वितरित की जाएगी। नगरीय निकायो के विभागीय कार्यो की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि, जिला मुख्यालय कोण्डागांव और ग्रामीण क्षेत्र में आने वाले सभी सरकारी कार्यालयों, अन्य गैर सरकारी कार्यालयों व नगर पालिका स्वामित्व वाले भवनों में हार्वेस्टिंग का काम पूरा कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि, नगर के दो मुख्य तालाबों के गहरीकरण और साफ-सफाई का काम लगभग पूरा हो गया है। अत: जिले के सभी शहरी इलाकों के नाले और नालियों की सफाई के लिए विशेष अभियान चलाकर सफाई सुनिश्चित की जाए। ताकि बारिश में जल भराव की स्थिति निर्मित न हो सके। इसके साथ ही सार्वजनिक हैण्डपंपों के साथ ही सार्वजनिक शौचालयों व हॉट-बाजारों में भी सफाई को प्राथमिकता दिया जाना चाहिए।

बैठक में कलेक्टर ने कृषि व सहकारिता विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि, किसानों को खरीफ फसल वर्ष 2019 के लिए खाद-बीज वितरण के संबंध में किसी भी प्रकार गतिरोध नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने किसानों को अल्पकालीन कृषि ऋण माफी योजना के लाभान्वित कृषकों को ऋण माफी के बाद पुन: नवीन ऋण प्रदान करने के संबंध में नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा। पौधारोपण कार्यक्रम के संबंध में कलेक्टर ने जिले की सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों के साथ स्कूल, आश्रम-छात्रावासों और चिन्हांकित जमीनों पर फलदार-छायादार पेड़ लगाने का निर्देश देते हुए कहा कि, इसके लिए वन और उद्यानिकी विभाग विभिन्न प्रजातियों के पौधे अभी से ही तैयार कर लेवे। अंत में बैठक के समापन पर उन्होंने कहा कि, जिले के दूरस्थ अंचलों में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क और सार्वजनिक वितरण प्रणाली जैसे बुनियादी और जरूरी सुविधाएं बारिश के मौसम में बाधित नहीं होनी चाहिए। 


Date : 25-Jun-2019

राजीव गांधी फाउंडेशन के प्रमुख विजय महाजन पहुंचे कोण्डागांव

कोण्डागांव, 25 जून। राजीव गांधी फाउंडेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, विजय महाजन, तथा उनके साथ सात सदस्यीय दल 23 जून को दिल्ली से सीधे कोण्डागांव के चिखलपुटी गांव में स्थित मां दंतेश्वरी हर्बल फार्म पर पहुंचे। विजय महाजन राजीव गांधी फाऊंडेशन के प्रमुख है। उन्होने भारत के महासंगठन बेसिक्स समूह बेसिक्स समूह की स्थापना की और भारत में माइक्रो फाईनेनश का आरंभ भी किया।

डॉ. राजाराम त्रिपाठी ने आने वाली सदी की फसल के नाम से जाने वाली स्टीविया यानी की मीठी तुलसी की बस्तर में हो रही खेती के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि, आने वाले दिनों में बस्तर पूरे देश में इसकी खेती के लिए जाना जाएगा। बस्तर में स्थानीय प्रगतिशील किसानों को इसकी खेती से जोड़ते हुए स्टीविया को बड़े पैमाने पर लगाने की कोशिश कीजा रही है। तथा इन पत्तियों से बिना कैलोरी वाली शक्कर यही बस्तर कोण्डागांव में ही तैयार की जाएगी।  अपूर्वा त्रिपाठी ने बताया कि, हमारे समूह के द्वारा उत्पादित जड़ी बूटियां, हर्बल चाय, सफेद मूसली, काली मिर्च आदि पूरी तरह से जैविक पद्धति से तैयार की जाती है।


Date : 25-Jun-2019

पुलिस-आईटीबीपी 41 वाहिनी के अस्पताल में जवानों के साथ-साथ स्थानीय ग्रामीणों का भी बेहतर इलाज
छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 25 जून।
आईटीबीपी 41 वाहिनी के माध्यम से बनाए गए हड़ेली कैंप में मौजूदा एमआई रूम के अलावा, पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार ने हड़ेली कैंप में जवानों के साथ-साथ स्थानीय ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधा को मजबूत करने के लिए कुछ अस्पताल उपकरण जारी किए हैं। इसी के चलते इस अस्पताल में ग्रामीणों का इलाज किया जा रहा है।

जानकारी अनुसार, 23 जून को ग्रामीण कमला की 18 वर्षीय बेटी को बिच्छू के काटने का मामला हुआ। इसके चलते कमला ने अपने परिवार के साथ इलाज के लिए हड़ेली कैप को सूचना दी। जहां आसानी से उपलब्ध चिकित्सा सुविधा के साथ, डॉ. हरीश 41 आईटीबीपी के एसीएमओ जो हडेली कैंप में मौजूद थे। उन्होने इस मामले में भाग लिया और उपचार प्रदान किया। कई अन्य ग्रामीणों को भी दैनिक आधार पर लाभान्वित किया जा रहा है और चिकित्सा सुविधा के साथ चैबीसों घंटे चिकित्सा स्टाफ द्वारा चैबीस घंटे का समय दिया जा रहा है। जानकारी हो, कुछ दिनो पहले कोण्डागांव के अति नक्सल प्रभावित और सुदूर ग्राम ईरागांव, हड़ली और दादरगढ़ में पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार के मार्गदर्शन में नवीन अस्पताल का शुभारंभ किया गया है। इस अस्पताल में जरूरतमंदों की सहायता के लिए बाकायदा आईटीबीपी 29वीं बटालियन के माध्यम से एमबीबीएस डॉक्टर को भी नियुक्त किया गया है, इतना ही नहीं यहां आईटीबीपी का पैरामेडिकल स्टाफ दल भी है जो डॉक्टर को उपचार के लिए अपनी सहायता दे रहे है। इस अस्पताल की खाशियत है कि, ईरागांव थाना अस्पताल 24 घंटे सेवा के लिए तत्पर रहता है। थाना से अस्पताल बने भवन से आस-पास के हजारों ग्रामीणों को लाभ मिलेगा।

 


Date : 25-Jun-2019

शासकीय प्राथमिक शाला गुडरीपारा में शाला प्रवेशोत्सव का आयोजन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
फरसगांव, 25 जून।
शासकीय प्राथमिक शाला गुडरीपारा पांडेआठगांव में मुख्य अतिथि श्री गानडो राम मरकाम कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री वासु पांडे , विशिष्ट अतिथि श्रीमती सूरजबत्ति मरकाम, संस्था प्रभारी श्री झाड़ू राम नाईक ,एवं पालको, छात्र-छात्राओं की उपस्थिति में शाला प्रवेश उत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इस दौरान च्च्स्कूल आ पढ़े बर जिंदगी ल गढ़े बरज्ज् के नारे लगाते हुए सभी छात्र छात्राओं को नियमित स्कूल आने के लिए प्रेरित किया गया। 

इस अवसर पर मंचासीन अतिथियों द्वारा नव प्रवेशी छात्र-छात्राओं को तिलक लगाकर कर स्वागत किया गया। तत्पश्चात नव प्रवेशीय छात्र-छात्राओं को अतिथियों द्वारा पुस्तक एवं गणवेश का वितरण किया गया। इस अवसर पर संस्था प्रभारी श्री झाडूराम नाईक ने सभी छात्र-छात्राओं एवं पालकों ने निवेदन किया कि बच्चों को प्रतिदिन अनिवार्य रूप से स्कूल भेजें , उन्होंने कहा कि शिक्षा में गुणवत्ता लाने हेतु शिक्षकों, छात्र छात्राओं के साथ साथ पालको की भी सहभागिता आवश्यक है तभी शिक्षा में गुणवत्ता आएगी। 


Date : 24-Jun-2019

सड़क पर गिरे पेड़, वाहनों की कतार, कोतवाली पुलिस ने सुचारू करवाया यातायात

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 24 जून।
अलग-अलग जगह पर सड़क पर 2 पेड़ गिर गए। जिससे मार्ग बाधित होने के चलते दोनों ओर वाहनों की कतार लगनी शुरू हो गई। फरसगांव और कोतवाली पुलिस ने यातायात सुचारू करवाया।

फरसगांव-बोरगांव के मध्य नेशनल हाइवे 30 पर स्थापित जटायु शिला के समीप वर्षों पुराना बरगद का पेड़ 22 जून की तूफान से जड़ से उखड़ गया। इतना ही नहीं पेड़ की शाखाएं नेशनल हाइवे 30 पर गिर गई। इसके चलते नेशनल हाइवे 30 मार्ग बाधित हो गया। मार्ग बाधित होने के चलते दोनों ओर वाहनों की कतार लगनी शुरू हो गई थी। फरसगांव पुलिस ने सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच पेड़ की शाखाओं को हटा कर नेशनल हाइवे सड़क के एक किनारे से तत्काल यातायात शुरू करवाया। एक ओर फंसी हुई वाहनों को धीरे-धीरे व्यवस्थित तरिके से रवाना किया जा रहा था, तो दूसरी ओर जेसीबी की मदद से हाइवे पर पड़े बरगद पेड़ और उसकी शाखाओं को हटाने का कार्य जारी रहा।

कुछ ऐसा ही हाल कोण्डागांव-मर्दापाल पहुंच मार्ग पर देखने के लिए मिला। दरअसल सिटी कोतवाली कोण्डागांव अंतर्गत गोलावंड गांव से कुछ दूरी पर बारिश के कारण एक पेड़ पूरी तरह सड़क पर गिर गया। इस मामले की जानकारी जैसे ही सिटी कोतवाली पुलिस को लगी तो मौके पर पहुंच कर स्थानियों ग्रामीणों की मदद से पेड़ को हटाया गया। जानकारी हो, पेड़ इतना विशालकाय था कि, जब तक पेड़ सड़क पर रहा, दोनों ओर से मार्ग पूरी तरह बाधित हो गए। पेड़ को हटाए जाने के बाद ही यातायात बहाल हो सका।


Date : 23-Jun-2019

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप, डेढ़ माह बाद कब्र से निकाला शव

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जून।
ग्राम बड़ेराजपुर गाटेपारा में 7 मई को गांव के पास के जंगल में फाँसी पर लटकी युवती की लाश मिली थी। गांव वालों के सूचना पर स्थानीय पुलिस ने पंचनामा कर पोस्टमार्टम को दफनाया दिया था। लेकिन परिवार वालों ने हत्या का आशंका जताते हुए फिर से लाश को खुदवाने एसपी को पत्र लिखा, जिसके बाद 22 जून को शव को कब्र से खोदकर निकाला गया।

ये हैं पूरा मामला विश्रामपुरी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बडेराजपुर के आश्रित ग्राम गाटेपारा का है। दरअसल 21 वर्षीय लोकेश्वरी मरकाम पिता सुरातु राम मरकाम का शव पेड़ पर लटकता मिला था। उस समय गांव वालों की सूचना पर विश्रामपुरी पुलिस ने शव का पंचनामा करवाया और डॉक्टरों द्वारा पोस्टमार्टम किया गया। अंत में परिवार वालों ने शव को दफना दिया था। लेकिन परिवार वालों में घटना को हत्या कर फांसी पर लटकाए जाने का संदेह है। परिवारजन संदेह के चलते 13 मई को एसपी सुजीत कुमार को आवेदन देकर दोबार जांच की मांग की। इसी मांग अनुसार, अनुविभागिय दण्डाधिकारी केशकाल धनंजय नेताम के आदेशानुसार, तहसीलदार बडेराजपुर मनोज कोसरिया व विश्रामपुरी थाना प्रभारी हरीनन्द सिंह के उपस्थिति में डेढ़ माह से दफनाए शव को निकाला गया। अब फॉरेंसिक जाँच के लिए शव के अवशेषों को जगदलपुर मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। पुलिस जांच उपरांत ही आगे की कार्रवाई करने की बात कही गई।


Date : 23-Jun-2019

कोण्डागांव के डोंगरीगुड़ा में हो रहा था बाल विवाह, सात फेरे से पहले चाइल्डलाइन और पुलिस विभाग के संयुक्त दल ने रुकवाया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जून।
बीती रात कोण्डागांव के डोंगरीगुड़ा में एक शादी हो रही थी, इससे पहले की वर-वधु सात फेरे लेकर परिणय सूत्र में बंध जाते, यहां चाइल्डलाइन और पुलिस विभाग के संयुक्त दल ने पहुंचकर इस शादी को रुकवा दिया। बाल विवाह की सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुए शादी को रुकवाया गया।

जानकारी अनुसार,  22 जून की शाम कोण्डागांव के पास डोंगरीगुड़ा में भी बाल विवाह हो रहा था, जिसकी सूचना किसी ने चाइल्डलाइन 1098 को दे दी। सूचना के बाद बिना देर किए चाइल्डलाइन, सिटी कोतवाली पुलिस और आईसीपीएस की संयुक्त दल मौके पर पहुंची। संयुक्त दल जब मौके पर पहुंची तो विवाह कार्यक्रम चल ही रहा था। दल ने यहां पहुंचकर न केवल बाल विवाह रुकवाया बल्कि इस दल ने बाल विवाह से होने वाली बुराई और परेशानियों के बारे में भी लोगों को समझाया। इस कार्रवाई में डीसीपीओ नरेंद्र सोनी, एलपीओ सौरभ तिवारी, एएसआई दिनेश पटेल, एसआईआई ओमकार बघेल, हरेंद्र नेताम आदि शामिल रहे।


Date : 23-Jun-2019

अब कोण्डागांव पुलिस को भी मिलेगा रियाती दर में रोजमर्रा का सामान

कोण्डागांव, 23 जून। जिला मुख्यालय कोण्डागांव स्थित नए पुलिस लाइन चिखलपुटी में रविवार को आईजी बस्तर विवेकानंद सिन्हा ने फीता काटकर कोण्डागांव पुलिस रियायती कैंटीन का शुभारंभ किया। 

आईजी ने कैंटीन का निरीक्षण करने के बाद बताया कि, कैंटीन का शुभारंभ पुलिस और उनके परिजनों के दैनिक जीवन की जरूरतों के लिए किया गया है। यहां जरूरी सामान बाजार से 20 से 25 प्रतिशत तक कम दर में उपलब्ध रहेगा। पुलिस कैंटीन के उद्घाटन अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक कांकेर टीआर पैकरा, प्रभारी कलेक्टर व सीईओ जिला पंचायत नूपुर राशि पन्ना, पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव सुजीत कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आनंद साहू, सीआरपीएफ व आईटीबीपी के अधिकारी, पुलिस के अधिकारी, जवान आदि मौजूद रहे।

 जिला मुख्यालय कोण्डागांव में पुलिस विभाग के पास पहले ही अफसर मेस, जिम उपलब्ध है। अब कैंटीन प्रारंभ होने से पुलिस अधिकारी-जवानों और उनके परिजनों को रियायती दर पर दैनिक उपयोग की सामग्रियां मिल सकेगी। जानकारी हो, नए पुलिस लाईन के कुछ ही महिनों में चार मंजीला पुलिस कॉलोनी का भी शुभारंभ हो जाएगा। ऐसे में इस कॉलोनी के पास ही कैंटीन काफी फायदे मंद होने वाली है। इसका संचालन पुलिस लाईन कोण्डागांव के माध्यम से किया जाएगा, इसके लिए सीआरपीएफ 188वीं बटालियन के जवान कैंटीन संचालक को स्टॉक मेंटेनेस का प्रशिक्षण दे रहे  है।

कोण्डागांव में अब तक इस तरह का कैंटीन मात्र सीआरपीएफ 188वीं बटालियन ही संचालित कर रही है। इसी कड़ी में आइजी बस्तर विवेकानंद सिन्हा ने पुलिस जिम का भी भ्रमण किया। इस दौरान आइजी बस्तर विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि पुलिस की ड्यूटी 24 घंटे रहती है, पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी को किसी भी वक्त कहीं भी ड्यूटी पर जाना पड़ता है। ऐसे में उनके परिजन को आवश्यकता की सामग्री पुलिस कैंटीन में रियायती दर पर मिल सकेगा। पुलिस विभाग में बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। इसी परिपेक्ष्य में आज यहां पुलिस कैंटीन का शुभारंभ हुआ है। 


Date : 23-Jun-2019

कम नहीं हो रहा बड़ेकनेरा में डायरिया का प्रकोप, तीसरे दिन भी होती रही ग्रामीणों की जांच, प्रभारी कलेक्टर ने लिया जायजा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 23 जून।
जिले की प्रभारी कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ नुपूर राशि पन्ना 23 जून की सुबह बड़ेकनेरा गांव के लिमउगुड़ा पहुंची। यहां उन्होंने डायरिया पीडि़त परिवारों से मिलकर पूरी स्थिति की जानकारी ली। 

मौके पर उन्होंने पीडि़त परिवारो के परिजनों को खाने-पीने में सावधानी बरतने की समझाईश देते हुए कहा कि डायरिया के प्रारंभिक लक्षण होते ही पीडि़त को तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाये और इस संबंध में किसी भी प्रकार की कोताही न बरते। ऐसे मौसम में विशेष तौर पर छोटे बच्चो एवं बुजुर्ग सदस्यों का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए क्योंकि दूषित पानी का सेवन ही डायरिया का प्रमुख कारण होता है। घर का हर सदस्य उबला हुआ पानी पीये। 

जानकारी अनुसार, विकास खण्ड कोण्डागांव के बड़ेकनेरा गांव की सुखीबाई (55) डायरिया से बीमार हो गई थी और उपचार के दौरान उसकी 20 जून को मौत हो गई। इसके बाद यहां लगातार स्वास्थ्य शिविर लगातार डायरिया पीडि़तों का जांच और जांच के बाद उपचार किया जा रहा है। यह जांच शिविर 20 जून से बड़ेकनेरा में लगातार लगाया जा रहा है। जांच शिविर के बीच 23 जून की सुबह सीईओ जिला पंचायत व प्रभारी कलेक्टर नुपूर राशि पन्ना बड़ेकनेरा पहुंचीं। उन्होंने गांव के लोगों को उपचार से अधिक साफ-सफाई के बारे में बताया। इसके साथ ही उन्होंने उपस्थित कर्मचारियों को पूरी क्षेत्र में सोपकिट वितरित करने के निर्देश भी दिए। 

बता दें, लिमउगुड़ा में डायरिया से केवल सुखीबाई की ही नहीं बल्कि दो लोगों की मौत हो चुकी है और दर्जनों लोगों में इस बीमारी से अब भी ग्रसित हैं। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम यहां जिला प्रशासन के निर्देश पर तैनात की गई है।
गांव की एएनएम शिवकारी मंहत ने बताया, विगत दो दिनों में यहां क्रमश: 17 और 32 व्यक्तियों में डायरिया के लक्षण मिले थे। सभी का गांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में उपचार किया गया। एक मरीज को जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया है। कुल मिलाकर वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है। इसके अलावा स्वास्थ्य कार्यकर्ता, एएनएम द्वारा प्रत्येक घर में जाकर उबले हुए पानी के सेवन, हाथ की सफाई, शौचालय के उपयोग की समझाईश दी जा रही है। साथ ही ग्रामीणों को यह भी बताया जा रहा है कि वे बरसात के मौसम उगने वाले जंगली मशरुम का सेवन न करें। 

मौके पर प्रभारी कलेक्टर ने ग्रामीणों से पूछताछ करने के दौरान गांव की एक अन्य महिला जुमेबाई में डायरिया के लक्षण की सूचना मिली इस पर कलेक्टर ने तुरंत अपने वाहन से उक्त महिला को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भिजवाया। 


Date : 23-Jun-2019

भटके हिरण पर आवारा कुत्तों का हमला, मौत

कोण्डागांव, 23 जून। भटका हुआ युवा हिरण आवारा कुत्तों से घायल होकर अनंतपुर गांव तक आ पहुंचा, इसके बाद उसने कुछ समय बाद दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी मिलने के बाद वन अमला मौके पर पहुंचा और शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम करवा कर अंतिम संस्कार करवाया। 

घटना की जानकारी देते हुए वन परिक्षेत्र अमरावती के परिक्षेत्र अधिकारी सीएल निर्वाण ने बताया कि, 22 जून की शाम एक हिरण गांव में पहुंचा था। इसकी सूचना मिलने के बाद वे दल बल के साथ मौका स्थल पर पहुंचे। मौके पर ग्रामीणों ने बताया कि वर्तमान में बोड़ा व अन्य कंदमुल के लिए गांव के लोग जंगल जाते हैं। उनके साथ उनके पालतू जानवर जैसे कुत्ते भी जंगल चले जाते हैं। इन्हीं पालतू और आवारा कुत्तों के झुंड ने शनिवार की शाम 3 युवा हिरणों को जंगल में घेर लिया। 2 हिरण तो किसी तरह जान बचाकर जंगल की ओर वापस भाग गए, लेकिन 1 हिरण वापस जंगल नहीं लौट पाया और गांव तक पहुंच गया। अनंतपुर गांव तक पहुंच हिरण कुछ देर जीवित रहने के बाद उसकी मृत्यु हो गई। अधिकारी के अनुसार मृत हिरण का उम्र लगभग 3 वर्ष होगी। वन परिक्षेत्र अधिकारी सीएल निर्वाण ने मीडिया के माध्यम से ग्रामीणों से अपील किया है कि, वन्य प्राणियों की संख्या काफी तेजी से कम हो रही है। वर्तमान में इन्हें संरक्षण की आवश्यकता है। ऐसे में यदि किसी वन्य प्राणी की मृत्यु आवारा व पालतू जानवरों के कारण होती है तो यह काफी सोचनीय घटना है। ऐसी घटना की पूर्णावृत्ति ना हो इसके लिए ग्रामीणों की सहायता की अत्यंत आवश्यकता है।

पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार
 घटना स्थल पहुंच कर वन अमला ने मृत हिरण के शव को अपने पास सुरक्षित रख लिया था। इस मृत हिरण के शव का 23 जून की दोपहर पशु चिकित्सा विभाग के माध्यम से पोस्टमार्टम करवाने के बाद विधिवत अंतिम संस्कार किया गया।

 


Date : 22-Jun-2019

कांग्रेस पर वादाखिलाफी का आरोप, भाजपा ने दिया एक दिवसीय धरना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जून।
भारतीय जनता पार्टी ने 22 जून को कोण्डागांव के चैपाटी मैदान में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन के दौरान भाईजायों का आरोप था कि, छत्तीसगढ़ की जनता से बड़े-बड़े वादे कर प्रचंड जनादेश के साथ सत्ता में आई। लेकिन कांग्रेस ने जब से शासन संभाला है उसके बाद से ही प्रदेश के अवस्था और अराजकता का माहौल है। कांग्रेस की यह सरकार जनता से धोखाधड़ी और छल के रोज नए रिकॉर्ड बना रही है। जहां प्रदेश में किसानों को वादे के अनुरूप का कर्ज माफी का लाभ नहीं मिल पाया है। बड़ी संख्या में किसान डिफाल्टर हो रहे हैं, उन्हें नई फसल के लिए ऋण मिलना दूभर हो गया है। धरना देने के बाद भाजपाईयों ने जिला पंचायत कार्यालय पहुंच कर प्रभारी कलेक्टर को राजपाल के नाम ज्ञापन सौपा।

कोण्डागांव के चैपाटी मैदान से भाजपाईयों ने धरना देते हुए कहा कि, किसानों के दीर्घकालीन ऋण समेत अन्य तमाम ऋण अभी तक माफ नहीं हो पाए हैं। ऐसा ही छलावा बिजली के मामले में शासन कर रही है। सरप्लस बिजली वाले राज्य की पहचान रखने वाले छत्तीसगढ़ में भीषण गर्मी में भी बिजली बिल आधा नहीं किए गए हैं। उपभोक्ताओं को बील अनाप-शनाप आ रहे हैं। केवल जनता को धोखा देते हुए घरेलू उपभोक्ताओं के लिए मात्र 400 यूनिट तक बिजली बिल आधा करने की घोषणा की गई है लेकिन इस कथित कटौती के बावजूद बील कई कई गुना ज्यादा आ रहा है। सरकार इस विषय पर भी कुछ कर सकने में विफल साबित हो रही है और विरोध दर्ज कराने वाली जनता और पत्रकारों में बौखलहट के राजद्रोह तक के मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। हालत यह है कि शासन के 2-2 मंत्रियों तक ने बिजली कटौती से परेशान होने की बात कही डाली है। लेकिन इन सब से अप्रभावित होकर केवल प्रतिशोध की राजनीति में लगे हुए हैं। आज धरना स्थल पर पूर्व मंत्री लता उसेण्डी, भरत मटियारा, भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज जैन, पालिका अध्यक्ष तरसेम सिंह गिल, प्रवीर बदेशा, प्रेमसिंह नाम, गोपाल दिक्षीत, दिपेश अरोरा, जितेन्द्र सुराना, कुष्णा पोयाम, अश्वनी पाण्डे, संजय मोदी, उत्तम मंडल, बालसिंह बघेल, दिलीप दिवान, चंदन साहु, जसकेतु उसेण्डी, झाड़ीराम सलाम, खेमचंद आदि नजर आए।


Date : 22-Jun-2019

खनिज विभाग ने बिना दस्तावेज ईंट परिवहन में संलिप्त दो ट्रैक्टर जब्त किये

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जून।
जिला के खनिज विभाग ने कार्रवाई  करते हुए अवैध परिवहन में संलिप्त दो ट्रैक्टर के विरूद्ध कार्रवाहीं करते हुए उन्हे जब्त किया है। बता दे, कोण्डागांव कलेक्टर के निर्देश पर खनिज विभाग के माध्यम से कार्रवाई जारी है। दोनों ट्रैक्टर के विरूद्ध छत्तीसगढ़ गौण खनिज नियम के तहत कार्रवाहीं की जा रही है।

जानकारी अनुसार, सहायक खनिज अधिकारी जीके नेताम के मार्गदर्शन में खनिज विभाग के कर्मचारियों ने 2 ट्रैक्टर को अवैध तरीके से ईट परिवहन करते पाया। इसके चलते विभाग ने सीजी 06 जीएच 1468 और सीजी 17 केजे 0706 क्रमांक के ड्राइवर जीवन लाल मांडवी निवासी डोंगरीपारा पलारी और दिनेश मांडवी निवासी डोंगरीपारा पलारी से ईट समेत वाहन जब्त किया। विभाग के अनुसार दोनों ट्रैक्टर मगरपारा निवासी तुला देवांगन के नाम से होना बताया जा रहा है।

 


Date : 22-Jun-2019

बड़ेडोंगर थाने में लगा शिविर, 144 लोगों ने करवाया उपचार

कोण्डागांव, 22 जून। जिले की पुलिस सामुदायिक पुलिसिंग कार्यक्रम के तहत सुदूर-दूरस्थ क्षेत्रों में पहुंचकर विशेष स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन कर रही है। इसी कड़ी में विकास खण्ड फरसगांव के बड़ेडोंगर थाना परिसर में पुलिस ने दुरस्थ क्षेत्रों के लोगों के लिए थाना परिसर में ही स्वास्थ्य व सुविधा शिविर का आयोजन किया।

कोण्डागांव जिला पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार के निर्देशन में नक्सल प्रभावित गांव के ग्रामीणों के दिल से पुलिस अवधारना को समाप्त करने, पुलिस भय दूर करने और पुलिस के साथ मित्रता के लिए सामुदायिक पुलिसिंग कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। इसी कार्यक्रम के तहत बड़ेडोंगर थाना लोग के लिए विशेष शिविर का आयोजन करवाया। इस शिविर में स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों व अन्य कर्मियों के माध्यम से ग्रामीणों का निशुल्क उपचार किया गया। इस शिविर के दौरान राशन कार्ड के 310 बैंक पासबुक के लिए 80 और 144 मरीजो का उपचार किया गया। 

 


Date : 22-Jun-2019

पहली बार कोण्डागांव का यातायात शाखा महिला टीआई के हाथों में

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 22 जून।
कोण्डागांव पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार ने प्रशासनिक कसावट के चलते जिला स्तर पर निरीक्षक, उप निरीक्षक, सहायक उपनिरीक्षक, प्रधान आरक्षक और आरक्षक की ट्रांसफर लिस्ट जारी किया हैं। जारी लिस्ट में 4 निरीक्षक, 2 उप निरीक्षक, 1 सहायक उपनिरीक्षक, 1 प्रधानआरक्षक और 2 आरक्षक का नाम शामिल है। इसके अनुसार, अब सिटी कोतवाली के टीआई राजेन्द्र मंडावी होंगे। बता दे, ऐसा पहली बार होगा कि, कोण्डागांव जिला में यातायात पुलिस की कमान महिला अधिकारी निरीक्षक अर्चना धुरंधर को सौपी जा रही है। जारी किए गए लिस्ट अनुसार, राजेन्द्र मंडावी को रक्षित केंद्र से टीआई सिटी कोतवाली, मनोज नेताम को टीआई सिटी कोतवाली से अजाक थाना प्रभारी, हंसराज गौतम को प्रभारी यातायात शाखा से रक्षित केंद्र के शिकायत शाखा प्रभारी, अर्चना धुरंधर अजाक थाना प्रभारी से यातायात शाखा प्रभारी बनाई गई है। इसी तरह एसआई संजय कुमार सिंदे थाना मर्दापाल से थाना केशकाल, शशिभूषण पटेल रक्षित केंद्र कोण्डागांव से थाना मर्दापाल, एएसआई जयशंकर त्रिपाठी यातायात शाखा से थाना मर्दापाल, प्रधान आरक्षक सोमनाथ नेताम यातायात शाखा से थाना मर्दापाल, आरक्षक बृजलाल सोरी यातायात शाखा से थाना मर्दापाल, आरक्षक बद्रीनारायण नाग यातायात शाखा से मर्दापाल स्थानांतरित किए गए है।

राजेन्द्र मंडावी ने लिया कोतवाली का चार्ज
पुलिस अधीक्षक के द्वारा ट्रांस्फर लिस्ट जारी करने के बाद निरीक्षक राजेन्द्र मंडावी ने 21 जून की शाम सिटी कोतवाली कोण्डागांव का चार्ज ले लिया है। सिटी कोतवाली का प्रभार लेने के बाद राजेंद्र मंडावी ने चर्चा करते हुए बताया कि, वे कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वह हर संभव कोशिश करेंगे। 

कानून व्यवस्था के साथ-साथ सिटी कोतवाली अंतर्गत आने वाले नेशनल हाईवे 30 पर सुरक्षित यातायात व्यवस्था की ओर वे विशेष ध्यान देंगे। 

टीआई मंडावी ने यह भी बताया कहा कि, किसी के जान से बढ़कर रोजी-रोटी नहीं होता। यह बात सड़क किनारे बैठकर फुटकर व्यापारा या अन्य दुकान संचालन करने वालों को वे समझाएंगे। क्योकि नगर के अंदर इन्हीं कारण से यातायात अव्यवस्थित हो चुकी है। 

वे स्थानीय व्यापारी संघ के साथ बैठक कर यातायात सुधारने के लिए उनकी मदद लेंगे, ताकि नगर का अव्यवस्थित यातायात सुधर सके। इधर अनुभवी टीआई को प्रभार मिलने से कोतवाली के अन्य अधिकारी व जवानों में भी उर्जा का संचार होने की संभावना है। कोतवाली के एक एसआई ने कहा कि, टीआई राजेन्द्र मंडावी को पुलिस विभाग में 20 साल का अनुभव है, जिसका सभी को लाभ मिलेगा।

 


Date : 21-Jun-2019

गाज से चार मवेशियों की मौत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 21 जून।
सिटी कोतवाली कोण्डागांव अंतर्गत ग्राम पंचायत सोनाबाल में बीती शाम गाज की चपेट में आने से किसान के चार मवेशियों की मौत हो गई है। जानकारी अनुसार ग्राम पंचायत सोनाबल निवासी मेहतर पोयाम (50) पिता गंधारूराम की मवेशी 20 जून की शाम घर के कोठार में बांधे हुए थे। इसी दौरान हुई तेज आंधी बारिश के चलते हुए अकाशी बिजली के चपेट में 2 बैल और 1 गाय व 1 बछड़ा चपेट में आ गए। सभी मवेशियों की मौके पर ही मौत हो गई। फिलहाल सिटी कोतवाली की पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

 


Date : 21-Jun-2019

अंतराष्ट्रीय पंचम विश्व योग दिवस के अवसर पर योगाभ्यास करके सभी ने योग का महत्व और नियमित योग करने का लिया संकल्प

कोण्डागांव, 21 जून। अंतराष्ट्रीय पंचम विश्व योग दिवस के अवसर पर कोण्डागांव मुख्यालय स्थित सामुदायिक भवन में सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, नागरिको, छात्र-छात्राओं आदि की सहभागिता से योग दिवस सम्पन्न हुआ। इस क्रम में उपस्थितजनो के समक्ष अध्यक्ष जिला पंचायत देवचंद मातलाम ने सुबह 7 बजे दीप प्रज्जवलन कर योग प्रदर्शन कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि निरोग एवं ऊर्जावान बने रहने के लिए हर किसी को योगमय जीवनषैली अपनाना चाहिए। नियमित योगाभ्यास मनुष्य के जीवनषैली में बदलाव लाता है, एक संपूर्ण स्वास्थ्य अर्थात् तन-मन एवं आत्मा का स्वास्थ्य योग से ही पाया जा सकता है। इस प्रकार योग के विभिन्न आसन हमें कई प्रकार के मानसिक एवं शारीरिक रोग से बचाते है। मौके पर पूर्व मंत्री लता उसेण्डी ने अपने उद्बोधन में कहा कि योग प्राचीन भारतीय परम्परा व संस्कृति की अमूल्य धरोहर होने के साथ-साथ दीर्घायु और स्वस्थ जीवन जीने का सशक्त माध्यम है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा योग को अंतराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता व सम्मान दिलाने के फलस्वरुप ही 21 जून को अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। 

प्राथमिक शाला धाकड़पारा में मनायायोग दिवस
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विकास खण्ड कोण्डागांव के शासकीय प्राथमिक शाला धाकड़पारा में भी समारोह पूर्वक योग दिवस का आयोजन किया गया। शाला में पदस्थ शिक्षिका मधु तिवारी के मार्गदर्शन में सभी बच्चों ने योगाभ्यास किया।

बड़ेबंदरी में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन
जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा के निर्देशानुसार शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल मैदान बड़े बेंदरी में पांचवी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि (योग गुरु) बंधु राम भारद्वाज ने उपस्थित जन समूह को मुख्य रूप से बैठकर खड़े होकर और लेट कर किए जाने वाले आसनों का प्रदर्शन करवाया। तत्पश्चात प्राचार्य शिवकुमार तिवारी ने योग से होने वाले फायदे की जानकारी देते हुए सभी को स्वास्थ्य लाभ के लिए योग को आवश्यक बताया।

स्वास्थ्य विभाग में हुआ योगाभ्यास
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में योग शिविर का आयोजन किया गया था। योग शिविर में कुल 65 प्रतिभागी जो कि स्थानीय कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कार्यालय और जीएनएम कॉलज ऑफ नर्सिंग के अधिकारी, कर्मचारी और छात्राएं उपस्तिथ हुए। 

जिला अस्पतला में बताया गया योग से निरोग रहने के गुण 
जिला अस्पताल आरएनटी कोण्डागांव में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सुबह 7 बजे सभी डॉक्टस, स्टाफ नर्स और अन्य स्टाफ ने योग दिवस मनाया। यहां योग कर जीवन में निरोग रहने के गुण भी बताए गए। 

यूपीएस मड़ानार में मनाया गया विश्व योग दिवस
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मर्दापाल क्षेत्र के ग्राम पंचायत मड़ानार में संचालित उच्च प्राथमिक शाला में सुबह 7 बजे योग शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में स्कूली बच्चों और शिक्षकों सभी ने मिल कर योगाभ्यास किया

भाजपा कार्यलय में मना योग दिवस
जिला मुख्यालय कोण्डागांव में स्थित भाजपा जिला कार्यालय अटल सदन में 21 जून की सुबह अंतराष्ट्रीय पंचम विश्व योग दिवस मनाया गया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष मनोज जैन समेत भाजपा पदाधिकारी, कार्याकर्ताओं ने योगाभ्यास किया

थाना बड़ेडोंगर विश्व योग दिवस
विकास खण्ड फरसगांव अंतर्गत आने वाले नक्सल प्रभावित थाना बड़ेडोंगर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में योग शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर के दौरान यहां तैनात सभी अधिकारी-और जवानों ने एक साथ योगाभ्यास किया।

कोण्डागांव का सबसे मनोरम दृष्य पर्यावरण वाटिका डोंगरी पाहड़ से नजर आता है। यहां पहुंच कर आईटीबीपी 41वीं बटालियन के जवानों ने प्रकृति मय माहौल में योगाभ्यास किया। इस दौरान बटालियन के अधिकारी और जवानों ने एक साथ योगाभ्यास किया।

सीआरपीएफ 188वीं बटालियन ने मुनगापदर कैम्प में बच्चों के साथ किया योगाभ्यास
आने वाली पीढि़ को योगाभ्यास के माध्यम से सुदृण और स्वास्थ्य रखने के उद्देश्य से सीआरपीएफ 188वीं बटालियन के मुनगापदर कैम्प परिसर में विश्व योग दिवस का आयोजन किया गया। इस आयोजन में आसपास के बच्चों के साथ जवानों और कैम्प के अधिकारियों ने योगाभ्यास किया।

आईबीटीबीपी 29वी वाहिनी ने किया योगाभ्यास
भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल 29वीं वाहिनी के सामरिक मुख्यालय कोण्डागांव प्रांगण में 21 जून को 5वें अन्तरराष्ट्रीय योगा दिवस के अवसर पर सामूहिक योगाभ्यास का आयोजन किया गया। इस अवसर पर भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल 29वी वाहिनी के कमान अधिकारी देविन्द्र कुमार, उप-सेनानी कुलदीप गोसांई, सहायक सेनानी चिकित्सा अधिकारी डॉ बी महेष कुमार के साथ -साथ वाहिनी के सभी पदाधिकारियों ने स्थानीय जनता के साथ योगाभ्यास किया। 

इस अवसर पर वाहिनी के योगा प्रशिक्षक ने विभिन्न प्रकार के योगासनों और प्रणायाम के बारे में बताया गया। योग को जीवन का महत्वपूर्ण अंग मानकर, दिनचर्या में षामिल करने के लिए प्रेरित किया।

सीआरपीएफ 188 बटालियन योग दिवस कार्यक्रम संपंन
कोण्डागाव के चिखलपुटी मे सीआरपीएफ 188 बटालियन मुख्यालय में अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सीआरपीएफ 188 बटालियन के कमाण्डेटं सुनील कुमार, द्वितीय कमान अधिकारी संजीव कुमार रत्तु, द्वितीय कमान अधिकारी सुरेष सिहं, उप कमाण्डेंट जसविन्दर सिहं, उप कमाण्डेंट कैलाष चन्द्र उप कमाण्डेंट अतेन्द्र सिह और सभी जवान उपस्थित थे। इस कार्यक्रम का शुभारम्भ पतंजलि योगपीठ कोण्डागाव से आए कांतीलाल पटेल द्वारा कैम्प परिसर मे उपस्थित सभी अधिकारी और जवानो को योगा करवाया। साथ ही योगा करने से क्या लाभ है इसके बारे मे विस्तार से जानकारी दिया। इस कार्यक्रम मे कमाण्डेंट 188वीं बटालियन सुनील कुमार ने सभी जवानो को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के बारे में और योगा करने से क्या फायदे है इसके बारे अवगत कराया। इसी तरह सीआरपीएफ 188वीं बटालियन के सभी समवायों केशकाल, विश्रामपुरी, जुगानीकलार, जोबा और पुसपाल कैम्प परिसर सभी अधिकारियो तथा जवानो के द्वारा अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।

नक्सल क्षेत्र में आईटीबीपी ने किया योगाभ्यास
भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल 41वीं वाहिनी द्वारा 21 जून को पांचवे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सेनानी राणा युद्धवीर सिंह, द्वितीय अधिकारी राधेश्याम व अन्य अधिकारियों जवानों के द्वारा डोंगरी पाहाड़ पर स्थित पर्यापरण वाटिका पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग अभ्यास किया गया। इसी तरह वाहिनी के तैनात समन्वय कैम्प कोकोड़ी, राणापाल हड़ेली, में भी स्थानीय ग्रामीणों के साथ योग शिविर का आयोजन किया गया। इस योग शिविर में खास बात रही कि दुरुस्त एवं नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी योग शिविर किया गया। वहीं राणापाल और हड़ेली में आइटीबीपी कैंप के जवानों द्वारा भंवरडीही नदी में जल योग अभ्यास किया गया। इस योगाभ्यास में जवान व अन्य योगाभ्यास करने वाले नदी में कमर तक पानी में डूबे रहे।

 


Date : 21-Jun-2019

अंतरराष्ट्र्रीय योग दिवस पर सामुदायिक भवन में बच्चों, छात्रों, बड़े-बूढ़ों ने किया योग

फरसगांव, 21 जून। फरसगांव नगर पंचायत के हृदय स्थल सामुदायिक भवन में पर आज पंचम अंतरराष्ट्र्रीय योग दिवस पर गांव के गणमान्य नागरिक अधिकारी कर्मचारी सहित स्कूली बच्चों ने योग का अभ्यास किया। फरसगांव विकास खंड के सभी पंचायतों में सरपंचो एवं सचिवो ने योग दिवस मनाने की तैयारी पहले ही कर ली थी। आज सुबह से ही नागरिको ने योग स्थल पर पहुँच कर  योग  सीखा।  हर जगह जगह स्कूलों में बच्चों ने योग किया। शिविर में उपस्थित ग्रामीणों एवं शालेय छात्र-छात्राओं को योगासन संबंधी सावधानियों और रोगानुसार लाभ की जानकारी देते हुए योगासन एवं प्राणायाम का अभ्यास कराया गया। फरसगांव के आदर्श विद्यालय में प्राचार्य बीके अठभैया के उपस्थिति में समस्त स्टाफ एवं छात्रों ने योगासन में भाग लिया। विकासखंड के ग्राम पंचायत बानगांव में योग स्थल उच्च प्राथमिक शाला बानगांव में योग प्रशिक्षित शिक्षक सीमंत जैन के द्वारा उपस्थित सरपंच, वार्डपंच युवा वर्ग को योगासन वृक्षासन, ताड़ासन , मकरासन सहित प्राणायाम का अभ्यास करवाया गया फरसगांव के सामुदायिक भवन में फरसगांव के पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष गणेश दुग्गा , तहसीलदार एके पाणिग्रही, खंड शिक्षाधिकारी केजूराम सिन्हा , मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत फरसगांव रमेश वट्टी एवं सहायक खंडशिक्षा अधिकारी सुखराम देवांगन , खंडचिकित्सा अधिकारी एल के जुर्री, संतोष देवांगन, मुख्य नगरपालिका अधिकारी शांति बाजपाई उपस्थित रहे यहां योग प्रशिक्षक मानसाय मरकाम के द्वारा उन्हें योग का अभ्यास कराया गया, योग सत्र का समापन योगाभ्यासियों को योग द्वारा समूचे विश्व में शांति,स्वास्थ्य और सौहार्द्र के प्रसार का संकल्प दिलाकर किया गया। 

किलेपाल। जनपद पंचायत बास्तानार के सामुदायिक भवन में आज अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें योग मास्टर टे्रर्नस डॉ सुरेन्द्र निषाद और सुरेन्द्र ठाकुर ने योग करवाया। योग में उपस्थित नायब तहसीलदार तहसीलदार राजकुमार नाग, पंचायत निरीक्षक एवं वरिष्ठ करारोपण अधिकारी एसपीएस ठाकुर, हाई स्कूल एवं अन्य शाला के शिक्षक एवं शिक्षिका योग में उत्साह पूर्वक शामिल हुए। योग कार्यक्रम के पश्चात सभी को नाश्ता एवं चाय प्रदाय किया गया। सम्पूर्ण व्यवस्था में जनपद पंचायत के लिपिक आरके दुबे  और जीआर धु्रव के द्वारा बहुत अच्छी तरह से की गई। योग सुबह 7 से साढ़े 9 बजे तक किया गया। इस दौरान 3000 लोगों ने योग किया।


Date : 21-Jun-2019

पीएमजीएसवाई बीजापुर के ईई सड़क हादसे में घायल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोण्डागांव, 21 जून।
बीजापुर के प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर प्रकाशमणि साहू का आज तड़के सुबह 4 बजे कोण्डागांव के पास सड़क हादसा हो गया। हादसा एनएच 30 पर लंजोड़ा में होना बताया जा रहा है। हादसे के समय एग्जीक्यूटिव इंजीनियर प्रकाशमणि साहू शासकीय कार्य से रायपुर जा रहे थे, और तभी ये हादसा हुआ। बरहाल उन्हें गंभीर हालत के चलते 108 की सहायता से जिला अस्पताल आरएनटी में दाखिल करवाया गया है।

जानकारी अनुसार, बीजापुर जिला के पीएमजीएसवाई विभाग के अधिकारी ईई प्रकाशमणि साहू  व उनका ड्राइवर रितेश वर्मा  21 जून की तड़के सुबह 4 बजे सड़क हादसा का शिकार हो गए। सड़क हादसा में श्री साहू को गंभीर चोटें आई हैं, जिसके चलते उनका प्राथमिक उपचार जिला अस्पताल आरएनटी में करने के बाद उन्हें हायर सेंटर के लिए रिफर कर दिया गया है। 
उपचार के दौरान श्री साहू व उनके चालक ने बताया कि, वे आज शासकीय कार्य से रायपुर के लिए रवाना हुए थे। रास्ते में कोण्डागांव से कुछ दूरी पर एनएच 30 पर लजोड़ा के पास चालक को अचानक झपकी आ जाने से उनकी स्कार्पियो वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकराई। टक्कर में प्रकाशमणि साहू को गंभीर रूप से अंदरूनी चोटें आई हैं। वहीं चालक रितेश वर्मा को सामान्य चोटे लगी है। गंभीर होने के चलते घायल का प्राथमिक उपचार जिला अस्पताल आरएनटी में कर हायर सेंटर के लिए रिफर किया गया।  


Date : 20-Jun-2019

उल्टी-दस्त-डायरिया से बड़ेकनेरा में फिर एक मौत

कोण्डागांव, 20 जून। जिला के विकास खंड कोण्डागांव अंतर्गत ग्राम पंचायत बड़ेकनेरा में कल उल्टी-दस्त-डायरिया से एक महिला की मौत हो गई है। मृत महिला के परिवार में शामिल तीन अन्य सदस्यों का भी उल्टी दस्त के शिकायत के चलते उपचार किया जा रहा है। विधानसभा क्षेत्र कोण्डागांव अंतर्गत उल्टी-दस्त की शिकायत और उससे ग्रामीणों की होने वाली मौतों को गंभीरता से लेते हुए स्थानीय विधायक मोहन मरकाम व उनके प्रतिनिधि शिशिर श्रीवास्तव आज सुबह से ही बड़े कनेरा पहुंचकर उपचार करा रहे ग्रामीणों, पीडि़तों का हालचाल जाना। जानकारी हो, लगभग 2 सप्ताह पूर्व 4 जून को भी इसी गांव के हेमंत कश्यप पिता जगदीश की मौत उल्टी-दस्त के चलते मौत हो गई थी। और अब फिर से इस गांव में उल्टी दस्त का प्रकोप नजर आ रहा है।

जानकारी अनुसार, ग्राम पंचायत बड़े कनेरा निवासी सुखीबाइ पति रत्तीराम को 18 जून की शाम से उल्टी-दस्त की शिकायत होने लगी थी। 19 जून की सुबह तक हालत में जब सुधार नहीं आया तो, उसे बड़े कनेरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। यहां से गंभीर हालत होने के चलते उसे कोण्डागांव के जिला अस्पताल आरएनटी भेज दिया गया। जिला अस्पताल आरएनटी में उपचार के दौरान सुखीबाई की 20 जून की रात मौत हो गई। इधर गांव में उल्टी दस्त के चलते उसके परिवार के अन्य सदस्य पति रत्तीराम  , बेटा फिरतु  और बहु बेमबति  भी बीमार होने लगे। इतना ही नहीं गांव के अन्य लोगों को भी उल्टी दस्त की शिकायत होने लगी। आज 20 जून को बड़े कनेरा में दोबारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य विभाग के शिविर में शामिल डॉक्टरों के अनुसार सुबह से लगभग 100 ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। जिसमें से सुखीबाई के परिजनों समेत गांव के रामबति नाग   पति बुझबल, सियाबति   पति मोहन, नाडग़ु कश्यप  पिता सोनाधर, लखमू नाग  पिता बोदो, अमरीका मरकाम  पिता अंतु, बेमबति पति पिरतु, सुनीता कश्यप   पिता मनचित और बुधयारिन   बुधार कश्यप कुल 8 लोगों को उल्टी-दस्त के शिकायत पर बड़े कनेरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया। विधायक मोहन मरकाम ने अपने प्रतिनिधि शिशिर श्रीवास्तव के साथ 20 जून की सुबह ग्राम पंचायत बड़े कनेरा पहुंच सभी उल्टी दस्त से पीडि़तों से मुलाकात किया और उनका हालचाल जाना। उन्होंने ग्रामीणों की स्थिति को देखते हुए गंभीरता जाहिर की है। मौके से ही पेयजल के जांच के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग और स्वास्थ्य विभाग को जांच के लिए निर्देश दिए हैं। जिसके बाद गांव में पेयजल और स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित किया गया। 

2 दिन में दस्त से जिला अस्पताल में हुई 4 की मौत
उल्टी-दस्त का मामला केवल बड़े कनेरा का ही नहीं है। सरकारी आकड़ों के अनुसार, जिला अस्पताल आरएनटी में उल्टी-दस्त और कमजोरी जैसे बिमारी से 2 दिन में 4 की मौत हुई है। जिला अस्पताल में 19 की रात बड़ेकनेरा की सुखीबाई पति रत्तीराम, 19-20 जून की मध्य रात सत्यवती  पति विनोद कुमार निवासी चिखलपुटी, 20 जून को सुकईबाई  पति हलालराम निवासी मंदाकि की मौत उल्टी-दस्त व कमजोरी से हुई है। 

वहीं डोमाय कश्यप (35) पति बुदरु राम निवासी चारगांव ब्लॉक बकावंड का रात 12 बजे अज्ञात कारण से मौत दर्ज किया गया है।

 

 

 

 


Previous12Next