छत्तीसगढ़ » कोरबा

Previous12Next
03-Jul-2020 11:52 AM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 3 जुलाई।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने करतला जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों के प्रभार बदल दिए हैं। कलेक्टर कार्यालय से इस संबंध में गुरुवार की  देर शाम को आदेश जारी किया। 

जारी आदेश के अनुसार वर्तमान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद करतला डिप्टी कलेक्टर  देवेन्द्र कुमार प्रधान को कोरबा जनपद पंचायत का सीईओ का प्रभार सौंपा गया है।  सी.एल. धृतलहरे को जनपद पंचायत करतला का नया सीईओ बनाया गया है। कोरबा जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एस.एस.रात्रे को जिला पंचायत कार्यालय कोरबा में सहायक परियोजना अधिकारी के रूप में संलग्न किया गया है।


03-Jul-2020 11:52 AM

विधानसभा में गलत जानकारी, शासकीय राशि दुरुपयोग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 3 जुलाई।
कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने  करतला जनपद पंचायत के तत्कालीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी जीके मिश्रा को निलंबित कर दिया है। श्रीमती कौशल ने गुरुवार को  निलंबन आदेश जारी कर दिया और निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय परियोजना प्रशासक कार्यालय एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना होगा।

कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल से श्री मिश्रा के विरूद्ध तत्कालीन समय विधानसभा में गलत उत्तर प्रस्तुत करने और आदर्श आचार संहिता के दौरान शासकीय राशि का दुरूपयोग करने की शिकायतें की गई थी। श्रीमती कौशल ने इन शिकायतों की जांच के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया था। जिला पंचायत सीईओ द्वारा चार सदस्यीय जांच दल गठित कर पूरे प्रकरण की गहन जांच की थी और इस पर प्रतिवेदन कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत किया। प्राप्त जांच प्रतिवेदन के आधार पर श्री मिश्रा के विरूद्ध लगाये गये आरोपों की पुष्टि होने के बाद उन्हे आज देर शाम निलंबित कर दिया गया है।

जांच के दौरान अधिकारियों ने पाया है कि जनपद पंचायत करतला के एक्सिस बैंक से 24 ग्राम पंचायतों द्वारा पंचायत आम चुनाव आचार संहिता के दौरान 86 लाख रूपये से अधिक की राशि आहरित की गई। जिसकी पुष्टि बैंक के स्टेटमेंट से भी होती है। इसी प्रकार जांच में करतला जनपद के तत्कालीन सीईओ जी.के.मिश्रा द्वारा छत्तीसगढ़ विधानसभा में दो प्रश्नों के उत्तर में दो अलग-अलग आधी-अधूरी और गलत जानकारी वाले जवाब देने की भी पुष्टि जांच दल द्वारा की गई है। 

एक प्रश्न के उत्तर में तत्कालीन सीईओ ने करतला जनपद की 26 ग्राम पंचायतों में 47 विकास कार्यों के लिए लगभग एक करोड़ 19 लाख रूपये का आहरण ग्राम पंचायत सचिवों के एकल हस्ताक्षर से किया जाना बताया था तथा उसी प्रश्न के एक अन्य उत्तर में 26 ग्राम पंचायतों के 47 कार्यों के लिए 98 लाख रूपये का आहरण बताया गया। इस प्रकार श्री मिश्रा ने आहरित राशि की सही जानकारी विधानसभा के समक्ष प्रस्तुत नहीं करते हुए गलत और आधी अधूरी जानकारी दी थी।

पंचायत चुनावों के लिए लागू आदर्श आचार संहिता के दौरान करतला जनपद के तत्कालीन सीईओ जी.के.मिश्रा ने कार्यालय से शासकीय पत्र लिखकर सभी बैंकों को ग्राम पंचायत सचिवों के एकल हस्ताक्षर से राशि आहरित करने के निर्देश दिए थे, जोकि छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम की धारा 66 की विपरीत है। श्री मिश्रा के इस कृत्य के लिए कलेक्टर श्रीमती कौशल ने उनके विरूद्ध विभागीय जांच करने की अनुशंसा शासन से की है और उन्हें तत्काल जनपद पंचायत करतला के प्रभार से हटाकर सहायक आयुक्त कार्यालय आदिवासी विकास विभाग कोरबा में संलग्न कर दिया था। एकल हस्ताक्षर से पंचायत चुनाव आचार संहिता के दौरान राशि आहरित किये जाने के कारण करतला जनपद के 9 पंचायत सचिवों को निलंबित कर दिया गया है और 14 ग्राम पंचायत सचिवों की दो-दो वेतनवृद्धियां असंचयी प्रभाव से रोकी गई है। इसके साथ ही ऐसे सभी पंचायत सचिवों को स्थांनांतरित कर अन्यत्र पंचायतों में पदस्थ कर दिया गया है।


29-Jun-2020 9:15 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
कटघोरा उप जेल में निरूद्ध विचाराधीन बंदी रामकुमार चौहान  की मौत की दण्डाधिकारी जांच होगी। जिला दण्डाधिकारी श्रीमती किरण कौशल ने इसके आदेश जारी कर दिये हैं। दण्डाधिकारी जांच के लिए कटघोरा की एसडीएम श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। जांच के उपरांत प्रतिवेदन प्रस्तुत करने 30 दिन की समय सीमा निर्धारित की गई है।
 
उल्लेखनीय है कि उप जेल कटघोरा में निरूद्ध विचाराधीन बंदी रामकुमार चौहान की तबियत खराब होने के कारण उसे जेल प्रहरियों द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कटघोरा भेजा गया था। 21 जून को विचाराधीन बंदी की सुबह सवा चार बजे उपचार के दौरान मृत्यु हो गई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने इसके दण्डाधिकारी जांच के निर्देश जारी किये हैं। जांच के दौरान विचाराधीन बंदी को पहले से किसी बीमारी से पीडि़त होने, इलाज कराने संबंधी पड़ताल भी की जायेगी। इसके साथ ही विचाराधीन बंदी किस धारा में कब से जेल में निरूद्ध था, हवालात में उसे किसी प्रकार की शारीरिक यातना तो नहीं दी गई, बंदी के इलाज के दौरान ड्यूटी पर उपस्थित प्रहरियों की भी जानकारी जांच के दौरान ली जायेगी। प्रकरण की दण्डाधिकारी जांच के दौरान विचाराधीन बंदी के ईलाज के संबंध में की गई कार्यवाही, मृत्यु का कारण, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आदि सभी पहलुओं को शामिल कर सूक्ष्म जांच होगी।


29-Jun-2020 9:14 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
केन्द्र सरकार द्वारा पिछले तीन माह के दौरान पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले केन्द्रीय उत्पाद शुल्क और कीमतों में बार-बार की जा रही अनुचित बढ़ोतरी के विरोध में प्रदेश कांग्रेस के निर्देश पर कोरबा जिला कांग्रेस ने सुभाष चौक पर सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया।
  
जिला कांग्रेस अध्यक्ष सपना चौहान एवं मोहित केरकेट्टा ने बताया कहा कि जहां एक तरफ देश कोरोना महामारी और आर्थिक समस्या से लड़ रहा है वहीं दुसरी ओर मोदी सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों और लगने वाले उत्पाद शुल्क को बार-बार बढ़ाकर इस मुश्किल वक्त में भी मुनाफाखोरी का काम रही है। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों से जनता की जेब खाली हो रही है और सरकार अपना खजान भरने में लगी है। 
प्रदेश सचिव सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने कहा कि कच्चे तेल का अंतरराष्ट्रीय भाव कुछ महिनों में कम हुए हैं फिर भी मोदी सरकार देश के नागरिकों से छल करके उनकी गाढ़ी कमाई को जबरन वसूलने में लगा हैं।

प्रदर्शन उपरांत राष्ट्रपति के नाम ध्यानार्थ पत्र एसडीएम कोरबा को सौंपा गया। इस मौके पर उपस्थित सभापति श्याम सुंदर सोनी, जिला कांग्रेस महिला अध्यक्ष कुसुम द्विवेदी, राजीव कांग्रेस अध्यक्ष राहुल यादव, सेवादल अध्यक्ष प्रदीप पुरायणे, अल्पसंख्यक प्रकोष्ट जिला अध्यक्ष मो. शाहिद, कोरबा ब्लॉक अध्यक्ष संतोष राठौर, संगीता सक्सेना, अर्चना उपाध्याय, गीता गभेल, महेन्द्र प्रताप चौहान, राजेश यादव सहित अन्य उपस्थित थे।


29-Jun-2020 9:12 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
करतला विकासखंड के पटियापाली हाईस्कूल के क्वारंटीन सेंटर में किसी भूत-प्रेत का साया नहीं है। इस सेंटर में भूत-प्रेत के साये से प्रभावित होने पर प्रवासी मजदूर को मूत्र पिलाने की घटना भी अफवाह मात्र निकली।
 
घटना के समाचार पत्रों में प्रकाशन के बाद कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने इसके त्वरित जांच के निर्देश दिये थे। डिप्टी कलेक्टर  देवेन्द्र प्रधान की नेतृत्व में नायब तहसीलदार बरपाली, करतला के खंड शिक्षाधिकारी और उरगा थाना प्रभारी ने सोमवार को पटियापाली हाईस्कूल पहुंचकर पूरे मामले की जांच की। जांच से स्पष्ट हुआ है कि सेंटर में रूके प्रवासी मजदूरों ने ही जल्दी घर जाने की चाह में भूत-प्रेत का साया होने की अफवाह अन्य मजदूरों के बीच फैलाई थी। जांच दल ने क्वारंटीन सेंटर में रह रहे प्रवासी श्रमिकों के शपथपूर्ण बयान भी लिये और डाक्टर की मौजूदगी में मजदूरों की मानसिक कांउंसिलिंग भी की गई। क्वारंटीन सेंटर में रूके मजदूरों ने जांच दल को दिये अपने बयान में स्पष्ट किया है कि खेती-किसानी का समय होने के कारण सभी लोग जल्दी अपने-अपने घर जाना चाहते हैं। क्वारंटीन सेंटर से उन्हें निर्धारित समयावधि पूरा करने के पहले घर जाने नहीं दिया जा रहा था। मजदूरों ने भूत-प्रेत के नाम पर भय फैलाकर जल्दी घर जाने की सोंच के साथ यह अफवाह फैलाई थी। प्रवासी श्रमिकों ने यह भी स्पष्ट किया कि भूत-प्रेत की साये के नाम पर किसी भी प्रवासी मजदूर को मूत्र पिलाने जैसी घटना क्वारंटीन सेंटर में नहीं हुई है।

क्वारंटीन सेंटर के प्रभारी  घनश्याम प्रसाद शर्मा में बताया कि पिछले दिनों प्रवासी श्रमिक लक्ष्मीन बाई की तबियत खराब होने पर जांच के लिए डॉ. पवन मिश्रा को बुलाया गया था। डॉ. पवन मिश्रा ने बताया कि मरीज का मानसिक स्वास्थ्य ठीक नहीं है। जिसके कारण वे कभी भी किसी को भी कुछ भी बोल देती हैं। इस कारण से अन्य प्रवासी श्रमिकों ने लक्ष्मीन बाई पर भूत-प्रेत का  साया होने की अफवाह फैलाई थी। डॉ. पवन मिश्रा ने यह भी बताया कि क्वारंटीन सेंटर के एक अन्य श्रमिक चंद्रशेखर के सीने में दर्द होने और उस पर भी भूत-प्रेत का साया होने की आशंका को लेकर इलाज के लिए सेंटर में बुलाया गया था। परंतु भूत-प्रेत जैसी कोई बात श्रमिक के साथ नहीं थी।


29-Jun-2020 9:11 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 29 जून।
मजदूरों को लेकर गढ़वा से हैदराबाद जा रही बस की कार से भिंड़त हो गई, घटना में चार महिलाएं व एक बच्ची घायल हो गई। सोमवार को कोरबा की कुछ महिलाएं  कार से  रतनपुर देवी दर्शन के लिए आई थी। गढ़वा से करीब 46 मजदूरों को लेकर आनंद टूरिस्ट ट्रैवल्स की बस हैदराबाद जा रही थी। सोमवार शाम रतनपुर के कर्रा गांव के पास कार और बस में जबरदस्त भिड़ंत हुई, जिससे कार खाई में जा गिरी। इस दुर्घटना में कार चालक को मामूली चोटें आई। वहीं कार में सवार बाकीमोंगरा निवासी कविता महंत, कुसमुंडा की सुप्रीता कुर्रे, गेवरा बस्ती की लक्ष्मी श्रीवास, कलावती श्रीवास को भी चोटें आई है। वहीं 9 साल की त्रिशा श्रीवास को भी मामूली चोट लगी है, जिनका इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जा रहा है।  


29-Jun-2020 7:03 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा,  29 जून।
जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला के साथ वार्ड बॉय ने छेड़छाड़ करते हुए दुष्कर्म करने का प्रयास किया। शोर मचाने के बाद वार्ड बॉय भाग गया। मंगलवार को महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कराया है।

इस संबंध में  मिली जानकारी के अनुसार ,ओडिशा से कोरबा लौटी महिला अपने 2 बच्चो के साथ कटघोरा विकासखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रही थी। क्वॉरेंटाइन सेंटर से  उसे इलाज के लिए उसे जिला अस्पताल लाया गया था।  महिला  ने बताया कि उसने वार्ड बॉय से गर्म पानी मांगा तब, वह महिला को रूम में आने की बात कहने लगा। महिला के नही जाने पर  आरोपी ने महिला से बच्चों को जल्दी सुला देने को कहा। इसके बाद रात करीब 11 बजे वार्ड बॉय शुभम गोस्वामी  महिला के वार्ड में प्रवेश किया।  महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद उससे छेड़छाड़ करने लगा और दुष्कर्म करने का प्रयास किया।महिला ने बाहर बैठे सुरक्षा कर्मियों को चिल्लाते हुए आवाज लगाई।  तब तक वार्ड बॉय मौके से फरार हो गया। महिला ने इसकी शिकायत रामपुर चौकी में की है। घटना को गंभीरता से लेते हुए रामपुर चौकी प्रभारी और उनकी टीम ने आरोपी को रात में ही खोज निकाला और गिरफ्तार कर लिया है। 
 


28-Jun-2020 7:13 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरबा, 28 जून। प्रदेश के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आगामी हरेली त्यौहार से शुरू की जा रही गोधन न्याय योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को तेज गति देने वाला प्रयास साबित हो सकती है। सरकार के गोबर खरीदने के निर्णय से अभी से ही ग्रामीणों में खुशी का माहौल है।

गांव-गांव में चर्चा है कि गोबर से गांव की अर्थ व्यवस्था को आगे बढ़ाने और मजबूत करने का काम एक किसान मुख्यमंत्री ही कर सकता है। कोरबा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस योजना को लेकर भारी उत्साह है। पढ़े-लिखे पशुपालक और पशुधन विकास विभाग से जुड़े अधिकारी तथा विशेषज्ञ अभी से ही इस योजना के फायदों को लेकर अपने-अपने तर्क और सुझाव लोगों के बीच साझा कर रहें हैं। कोरबा जिले के केवल 197 गोठान गांवों में पशुधन से मिलने वाले गोबर से ग्रामीणों को सालाना 17 करोड़ रूपये से अधिक की अतिरिक्त आय मिल सकती है। केवल गोठान गांव से मिले गोबर से यदि कम्पोस्ट खाद बना दी जाये तो यह आय लगभग दस गुना तक बढक़र 171 करोड़ रूपये तक पहुंच सकती है। इस पूरे कैलकुलेशन के पीछे पशुधन विशेषज्ञों का पूरा गणित है।

पशुधन विकास विभाग के उप संचालक डॉ. एस.पी.सिंह के मुताबिक पूरे कोरबा जिले में सात सौ से अधिक गांव हैं। जिनमें से अभी तक केवल 197 गांवों में ही नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत सुव्यवस्थित गोठानों का निर्माण पूरा हो गया है। इन गोठान गांवों में पशु संगणना के अनुसार एक लाख 56 हजार 279 पशु हैं। औसतन छह किलोग्राम गोबर प्रतिदिन प्रति पशु के हिसाब से एक दिन में ही इन गांवों में नौ लाख 37 हजार 674 किलोग्राम गोबर का उत्पादन संभावित है। इस हिसाब से कोरबा जिले के 197 गोठान गांवों में ही प्रति वर्ष लगभग 34 करोड़ 22 लाख 51 हजार किलोग्राम गोबर का उत्पादन हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो यदि राज्य सरकार पचास पैसे प्रति किलो की दर से भी ग्रामीणों से गोबर खरीदती है तो कोरबा के केवल गोठान गांवों से ही प्रतिदिन ग्रामीणों को चार लाख 68 हजार 837 रूपये और प्रतिवर्ष 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार 505 रूपये की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। इसी गोबर से यदि वर्मी कम्पोस्ट खाद बना लिया जाये तो उसका रेट लगभग दस गुना बढ़ सकता है।

दो किलो गोबर से एक किलो खाद उत्पादन के मान से भी केवल गोठान गांवों से ही लगभग 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार किलो से अधिक खाद का उत्पादन हो सकता है। जिले में वर्तमान में गोठानों में उत्पादित होने वाले वर्मी कम्पोस्ट को महिला स्व सहायता समूहों द्वारा दस रूपये प्रतिकिलो की दर से बेचा जा रहा है। पशुधनों के गोबर से बनी खाद को भी यदि इसी दर पर बेचा जाता है तो ग्रामीणों को 171 करोड़ 12 लाख 55 हजार रूपये की सालाना अतिरिक्त आमदनी मिल सकती है। 


28-Jun-2020 7:12 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोरबा, 28 जून। कटघोरा उप जेल के रिश्वत कांड में निलंबित पूर्व जेल प्रहरी पर एक युवती ने बलात्कार का आरोप लगाया है। मंगलवार को  युवती की रिपोर्ट पर कटघोरा पुलिस ने पूर्व जेल प्रहरी के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध कायम कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है।

कटघोरा उप जेल के  निलंबित जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार से जुड़ा हुआ है। यह निलंबित जेल प्रहरी पूर्व में रिश्वत कांड के चलते चर्चा में आया था। पिछले साल ही दिसंबर में आरोपी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की घूस मांगी थी, तब उसे एसीबी की टीम द्वारा दस हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था । फिलहाल आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार जमानत पर बाहर हैं। युवती ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपी ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दे दिया। आरोपी ने युवती को घटना की जानकारी किसी अन्य को देने पर जान से मारने की भी धमकी दी। युवती ने इस घटना की जानकारी कटघोरा थाने पहुंच कर दी और फिर कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376 और 450 के तहत अपराध कायम कर लिया है।  कटघोरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने छापा मार रही है।


28-Jun-2020 2:30 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। कटघोरा उप जेल के रिश्वत कांड में निलंबित पूर्व जेल प्रहरी पर एक युवती ने बलात्कार का आरोप लगाया है। मंगलवार को  युवती की रिपोर्ट पर कटघोरा पुलिस ने पूर्व जेल प्रहरी के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध कायम कर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है।

कटघोरा उप जेल के  निलंबित जेल प्रहरी धीरेंद्र सिंह परिहार से जुड़ा हुआ है। यह निलंबित जेल प्रहरी पूर्व में रिश्वत कांड के चलते चर्चा में आया था। पिछले साल ही दिसंबर में आरोपी ने एक कैदी के परिजन से दस हज़ार की घूस मांगी थी, तब उसे एसीबी की टीम द्वारा दस हज़ार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था । फिलहाल आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार जमानत पर बाहर हैं। युवती ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि आरोपी धीरेंद्र सिंह परिहार अक्सर जब वह घर पर अकेली रहती थी तो बुरी नियत से उसके घर घुस जाया करता था। एक दिन आरोपी ने सारी हदें पार कर दी और उसके साथ बलात्कार की घटना को अंजाम दे दिया। आरोपी ने युवती को घटना की जानकारी किसी अन्य को देने पर जान से मारने की भी धमकी दी। युवती ने इस घटना की जानकारी कटघोरा थाने पहुंच कर दी और फिर कटघोरा पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर भादवि की धारा 376 और 450 के तहत अपराध कायम कर लिया है।  कटघोरा पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने छापा मार रही है।

 

 


28-Jun-2020 2:28 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। प्रदेश के किसान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आगामी हरेली त्यौहार से शुरू की जा रही गोधन न्याय योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को तेज गति देने वाला प्रयास साबित हो सकती है। सरकार के गोबर खरीदने के निर्णय से अभी से ही ग्रामीणों में खुशी का माहौल है। गांव-गांव में चर्चा है कि गोबर से गांव की अर्थ व्यवस्था को आगे बढ़ाने और मजबूत करने का काम एक किसान मुख्यमंत्री ही कर सकता है। कोरबा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस योजना को लेकर भारी उत्साह है। पढ़े-लिखे पशुपालक और पशुधन विकास विभाग से जुड़े अधिकारी तथा विशेषज्ञ अभी से ही इस योजना के फायदों को लेकर अपने-अपने तर्क और सुझाव लोगों के बीच साझा कर रहें हैं। कोरबा जिले के केवल 197 गोठान गांवों में पशुधन से मिलने वाले गोबर से ग्रामीणों को सालाना 17 करोड़ रूपये से अधिक की अतिरिक्त आय मिल सकती है। केवल गोठान गांव से मिले गोबर से यदि कम्पोस्ट खाद बना दी जाये तो यह आय लगभग दस गुना तक बढ़कर 171 करोड़ रूपये तक पहुंच सकती है। इस पूरे कैलकुलेशन के पीछे पशुधन विशेषज्ञों का पूरा गणित है।

 

पशुधन विकास विभाग के उप संचालक डॉ. एस.पी.सिंह के मुताबिक पूरे कोरबा जिले में सात सौ से अधिक गांव हैं। जिनमें से अभी तक केवल 197 गांवों में ही नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत सुव्यवस्थित गोठानों का निर्माण पूरा हो गया है। इन गोठान गांवों में पशु संगणना के अनुसार एक लाख 56 हजार 279 पशु हैं। औसतन छह किलोग्राम गोबर प्रतिदिन प्रति पशु के हिसाब से एक दिन में ही इन गांवों में नौ लाख 37 हजार 674 किलोग्राम गोबर का उत्पादन संभावित है। इस हिसाब से कोरबा जिले के 197 गोठान गांवों में ही प्रति वर्ष लगभग 34 करोड़ 22 लाख 51 हजार किलोग्राम गोबर का उत्पादन हो सकता है। विशेषज्ञों की मानें तो यदि राज्य सरकार पचास पैसे प्रति किलो की दर से भी ग्रामीणों से गोबर खरीदती है तो कोरबा के केवल गोठान गांवों से ही प्रतिदिन ग्रामीणों को चार लाख 68 हजार 837 रूपये और प्रतिवर्ष 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार 505 रूपये की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। इसी गोबर से यदि वर्मी कम्पोस्ट खाद बना लिया जाये तो उसका रेट लगभग दस गुना बढ़ सकता है। दो किलो गोबर से एक किलो खाद उत्पादन के मान से भी केवल गोठान गांवों से ही लगभग 17 करोड़ 11 लाख 25 हजार किलो से अधिक खाद का उत्पादन हो सकता है। जिले में वर्तमान में गोठानों में उत्पादित होने वाले वर्मी कम्पोस्ट को महिला स्व सहायता समूहों द्वारा दस रूपये प्रतिकिलो की दर से बेचा जा रहा है। पशुधनों के गोबर से बनी खाद को भी यदि इसी दर पर बेचा जाता है तो ग्रामीणों को 171 करोड़ 12 लाख 55 हजार रूपये की सालाना अतिरिक्त आमदनी मिल सकती है।  


28-Jun-2020 2:17 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला के साथ वार्ड बॉय ने छेड़छाड़ करते हुए दुष्कर्म करने का प्रयास किया। शोर मचाने के बाद वार्ड बॉय भाग गया। मंगलवार को महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कराया है।

इस संबंध में  मिली जानकारी के अनुसार ,ओडिशा से कोरबा लौटी महिला अपने 2 बच्चो के साथ कटघोरा विकासखंड के क्वॉरेंटाइन सेंटर में रह रही थी। क्वॉरेंटाइन सेंटर से  उसे इलाज के लिए उसे जिला अस्पताल लाया गया था।  महिला  ने बताया कि उसने वार्ड बॉय से गर्म पानी मांगा तब, वह महिला को रूम में आने की बात कहने लगा। महिला के नही जाने पर  आरोपी ने महिला से बच्चों को जल्दी सुला देने को कहा। इसके बाद रात करीब 11 बजे वार्ड बॉय शुभम गोस्वामी  महिला के वार्ड में प्रवेश किया।  महिला को इंजेक्शन लगाने के बाद उससे छेड़छाड़ करने लगा और दुष्कर्म करने का प्रयास किया।महिला ने बाहर बैठे सुरक्षा कर्मियों को चिल्लाते हुए आवाज लगाई।  तब तक वार्ड बॉय मौके से फरार हो गया। महिला ने इसकी शिकायत रामपुर चौकी में की है। घटना को गंभीरता से लेते हुए रामपुर चौकी प्रभारी और उनकी टीम ने आरोपी को रात में ही खोज निकाला और गिरफ्तार कर लिया है। 


28-Jun-2020 2:15 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कोरबा, 28 जून। सांसद श्रीमती ज्योत्सना चरणदास महंत  के प्रयास से अब जिले के 86 हजार पेंसन हितग्राहियों को प्रतिमाह तीन सौ रुपये अतरिक्त दिया जाएगा। इसका लाभ पेंशन की राशि से गुजर-बसर करने के लिए निर्भर है। विशेष पिछड़ी जनजाति, परित्यक्ता, विधवा, नि:शक्तजन एवं वृद्धजनों को मिलेगा । 

सासंद ने अपने  जनसंपर्क के दौरान खासकर ग्रामीण अंचलों में जन-जन के बीच जाकर यह समझा कि वर्तमान में जो पेंसन राशि दी जा रही है वह काफी कम है। इसके बाद सांसद श्रीमती महंत ने  विगत दिनों कोरबा जिला खनिज संस्थान न्यास की शासी परिषद की बैठक में उन्होंने खनिज मद से पेंशन हितग्राहियों को 300 रुपए अतिरिक्त देने का प्रस्ताव रखा। जनहितैषी इस प्रस्ताव को परिषद ने अपनी मंजूरी सर्वसम्मति से दी। वर्तमान में विधवा पेंशन योजना में 350 रुपए, नि:शक्तजन पेंशन योजना में 500 रुपए, वृद्धावस्था पेंशन में 60 से 79 वर्ष आयु के लिए 350 रुपए एवं 80 वर्ष या अधिक आयु पर 650 रुपए, सामाजिक सुरक्षा पेंशन में 350 रुपए, सुखद सहारा में 350 रुपए एवं मुख्यमंत्री पेंशन योजना में 350 रुपए प्रदाय किया जा रहा है। सांसद की पहल पर अब उपरोक्त राशि में 300 रुपए अतिरिक्त जोड़कर हितग्राहियों को प्रदाय किया जाएगा। नि:संदेह अतिरिक्त राशि मिलने से पेंशन हितग्राहियों के गुजर-बसर में अपेक्षाकृत अधिक सहारा प्राप्त होगा। सांसद की इस विशेष पहल से जिले के कुल 86035 पेंशन हितग्राही लाभान्वित होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में जनपद पंचायत कोरबा में कुल 15030, जनपद पंचायत करतला क्षेत्र में 16732, जनपद पंचायत कटघोरा में 9642, जनपद पंचायत पाली में 14360 एवं जनपद पंचायत पोड़ी उपरोड़ा में 14781 कुल 70545 पेंशन हितग्राही हैं। नगरीय क्षेत्र अंतर्गत नगर पालिक निगम क्षेत्र में 12791, नगर पालिका परिषद दीपका में 376, नगर पालिका परिषद कटघोरा में 1308, नगर पंचायत पाली में 239 एवं नगर पंचायत छुरीकला में 776 कुल 15490 पेंशन हितग्राही दर्ज है। सांसद की पहल पर अब जिला खनिज संस्थान न्यास द्वारा प्रतिमाह 300 रुपए के दर से 2 करोड़ 58 लाख 10 हजार 500 रुपए की अतिरिक्त राशि हितग्राहियों को प्राप्त होने वाली पेंशन से पृथक मिलेगी। शासी परिषद की बैठक में उपस्थित एवं वीडियो कान्फ्रेंसिंग से हिस्सा ले रहे प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, कटघोरा विधायक पुरूषोत्तम कंवर, पाली-तानाखार विधायक मोहितराम केरकेट्टा, पूर्व महापौर रेणु अग्रवाल, सांसद प्रतिनिधि प्रशांत मिश्रा, पूर्व पार्षद मनीष शर्मा व अन्य ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव का अनुमोदन किया और इस तरह का प्रस्ताव लाने पर अपना आभार भी जताया।


24-Jun-2020 7:22 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
तीन युवकों ने एक महिला का अपरहण कर दुष्कर्म किया। पुलिस ने तीनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला पसान थाना क्षेत्र में ग्राम अमझर का है। महिला ने मंगलवार को अपरहण व दुष्कर्म की शिकायत पुलिस से की थी। जानकारी के मुताबिक 19 जून की रात को तीनों आरोपियों ने महिला का अपरहण कर ग्राम करीमाटी के सुनसान इलाके में बने एक मकान में ले गए। पीडि़ता के मुताबिक तीनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीडि़ता किसी तरह बचकर अपने घर पहुँची। मंगलवार को पीडि़ता अपने परिजनों के साथ थाना पहुँच कर इस मामले की शिकायत की। पुलिस ने पीडि़ता की शिकायत पर धारा 376, 366, 506 व 34 के तहत जुर्म दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही थी। बुधवार को पुलिस ने तीनों आरोपी रामदयाल, शिवदयाल व शिवशंकर को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार आरोपीयो व पीडि़ता पहले से परिचित है।


24-Jun-2020 7:19 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
बालको क्षेत्र में आज दोपहर रूमगरा चौक के पास स्थित एक  घर के सामने से स्कूटी में रखे एक लाख रुपये किसी अज्ञात व्यक्ति ने पार कर दिया है। बालको पुलिस मौके पर पहुँच कर जांच में जुट गई है।

मिली जानकारी के अनुसार कोरबा न्यायालय में कार्यरत एक महिला दोपहर को अपने घर रूमगरा गयी हुई थी। वह घर के बाहर ही  स्कूटी खड़ी करके अंदर चली गई, जब वह  न्यायालय जाने के लिए बाहर निकली और एक्टिवा की  डिग्गी खोलो तब उसके होश उड़ गए। डिग्गी में रखे एक लाख रुपये घर के कागजात ड्राइविंग लाइसेंस सब गायब थे। इसकी सूचना महिला ने तुरंत बालको पुलिस को दी बालको टीआई लखन पटेल सहित अन्य पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई है।


24-Jun-2020 7:14 PM

पूरा मेडिकल स्टाफ सुरक्षित
'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
कोरोना संक्रमितों के ईलाज के लिए कोरबा के ईएसआईसी अस्पताल में स्थापित डेडीकेटेड कोरोना हास्पिटल  में अब तक 216 मरीज भर्ती हुए हैं। अस्पताल में सीएमएचओ डॉ. बी.बी. बोडे, अस्पताल इंचार्ज डॉ. प्रिंस जैन सहित लगभग 20 मेडिकल स्टाफ की टीम दिन-रात संक्रमितों के इलाज में लगी है। कोविड अस्पताल में इलाज के दौरान कोरोना की रोकथाम और इलाज के लिए शासन द्वारा जारी किये गये प्रोटोकाल का सख्ती से पालन किया जा रहा है।

कोविड अस्पताल से अभी तक 132 कोरोना संक्रमितों का इलाज पूरा हो गया है और उन्हें स्वस्थ्य होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। इसके साथ ही अस्पताल में मरीजों के इलाज में लगे किसी भी डॉक्टर, नर्स, लैब टेक्निशियन या अस्पताल के सफाई कर्मी तक में कोई संक्रमण नहीं हुआ है। अस्पताल प्रबंधन के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी पद्माकर शिंदे और अस्पताल कंसलटेंट डॉ. देवेन्द्र गुर्जर तथा उनकी टीम लगातार इलाज के लिए जरूरी सुविधाओं और दवाइयों आदि के इंतजाम में लगी है। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अस्पताल में बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट के भी पुख्ता इंतजाम किये गये हैं।

अस्पताल के इंचार्ज डाक्टर प्रिंस जैन ने बताया कि कोरोना संक्रमितों के ईलाज के लिए क्रमबद्ध तरीके से डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी कोविड अस्पताल में लगाई गई है। कोविड प्रोटोकाल के अनुसार 14 दिन ड्यूटी करने वाले डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को अगले 14 दिनों तक क्वारेंटाइन में रहना होता है। इस दौरान इन सभी की कोरोना जांच भी की जाती है।
 
डॉ. जैन ने बताया कि कोविड अस्पताल में काम करने वाले किसी भी मेडिकल स्टाफ की आज तक कोरोना की कोई रिपोर्ट पाजिटिव नहीं आई है। सभी मेडिकल स्टाफ कोरोना नेगेटिव पाये गये हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में जांजगीर-चांपा, जशपुर, कोरिया और कोरबा जिले के 216 संक्रमितों को इलाज के लिए भर्ती किया गया है। इनमें से 132 मरीज पूरी तरह ठीक होकर डिस्चार्ज कर दिये गये हैं। जांजगीर जिले के 13, जशपुर जिले के 36 सहित कोरबा के 83 मरीज कोविड अस्पताल के ईलाज से ठीक हो गये हैं। 

डा. जैन ने बताया कि आज 25 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। जिनमें 11 पुरूष एवं 14 महिलाएं शामिल हैं। अस्पताल में भर्ती किए गये मरीजों में से दो गर्भवती महिलाओं और दो बुजुर्गों को बेहतर इलाज के लिए रायपुर एम्स रिफर किया गया है। कोरबा के कोविड अस्पताल में वर्तमान में 80 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अस्पताल में भर्ती कोविड संक्रमितों में 78 कोरबा और दो कोरिया जिले के हैं।


24-Jun-2020 12:37 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
रामपुर चौकी पुलिस ने मंगलवार को एक  जुए के बड़े फड़ पर दबिश दी। वहा 11 जुआरियों को गिरफ्त में लेकर 6 लाख से अधिक की नगदी बरामद की गई है।

इस संबंध में पुलिस ने बताया कि  कोरबा तहसील कार्यालय के बगल में डी. श्रीनिवास का फार्म हाउस है। इस फार्म हाउस में जुआ का बड़ा फड़ लगने की सूचना मुखबिर से मिली थी। पुलिस अधीक्षक अभिषक मीणा, एएसपी उदय किरण तथा सीएसपी कोरबा राहुल देव शर्मा को अवगत कराते हुए इनके मार्गदर्शन व सीएसपी के नेतृत्व में चौकी प्रभारी ने मातहतों के साथ फार्म हाउस में दबिश दी। यहां पुलिस को देख जुआरियों में अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने मौके से 11 जुआरियों को पकड़कर 6 लाख  8 हजार 600 रुपए नगद, ताश की गड्डी, शराब की बोतल जब्त की है। 

पकड़े गए जुआरियों में तेजचंद्र रामानी, राम चावलानी, मनोज अग्रवाल, त्रिलोक चंद्र गुप्ता, सुखीराम अग्रवाल, लव पंजाबी, विनोद सिंधी, दीपक कुमार, देव कुमार, कृष्ण कुमार गोस्वामी और फार्म हाउस का मालिक डी. श्रीनिवास निवासी एरिगेशन कॉलोनी शामिल हैं। इन सभी के विरुद्ध 13 जुआ एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया है।


24-Jun-2020 12:33 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
गंभीर
रूप से अस्वस्थ हाथी का इलाज करने रायपुर, बंगलुरू के बाद दिल्ली से विशेषज्ञों की टीम पहुची है। पेट के संक्रमण के बाद हाथी को अब स्ट्रोमाइटिस (मुँह में छाला) हो गया है। 

कोरबा वन मंडल के कुदमुरा वन परिक्षेत्र में गत 9 दिनों से बीमार हाथी का इलाज चल रहा है। अब तक हाथी के स्वास्थ्य में सुधार नही हुआ है। अब दिल्ली से विशेषज्ञों की एक टीम का सोमवार को कोरबा पहुँची है।  टीम के सदस्यों ने मंगलवार को  कोरबा वन मंडल के कुदमुरा रेंज में कटरा डेरा गांव पहुंचकर गंभीर रूप से बीमार  हाथी के संबंध में आवश्यक जानकारी जुटाई और उसके उपचार के संबंध में चिकित्सकों से चर्चा की। 

9 दिनों से एक ही स्थिति में सोये रहने से हाथी की त्वचा कमजोर हो रही है। हाथी के मुँह में छाले (स्ट्रोमाइटिस) हो गया है जिसके कारण उसे निगलने में समस्या हो रही है। स्ट्रोमाइटिस के इलाज़ के लिए दवाइयों के अलावा ग्लिसरीन और हल्दी का पेस्ट और शहद का लैप लगाया जा रहा है। हाथी के स्वस्थ होने के लिए अपने शरीर के हिसाब से स्वयं से खाना खाना बहुत जरूरी हो गया है

 


24-Jun-2020 12:31 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
कटघोरा उप जेल में  एक कैदी की मौत से मामला सामने सामना आया है। बताया जा रहा है कि सोमवार की रात  को  कैदी की तबीयत खराब होने के बाद उसे हॉस्पिटल लाते समय कैदी की मौत हो गई। जिसका नाम राजकुमार चौहान निवासी  हरदीबाजार  24 वर्ष है। जो जेल में 302 के मामले बंद था, डॉक्टर ने बताया कि कैदी की मौत अटैक से हुई है। इस संबंध में मेडिकल ऑफिसर आरपीएस कंवर ने बताया कि मंगलवार की तड़के 3.45 बजे उसे अस्पताल लाया गया था जांच के दौरान पाया गया कि कैदी की मौत हो चुकी थी। मौत संभवत: कार्डियक अरेस्ट से हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
 

 


24-Jun-2020 12:28 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कोरबा, 24 जून।
दसवीं के परीक्षा परिणामों में बालिकाओं जिले का औसत रिजल्ट 78.65 प्रतिशत रहा है। जिसमें से 83.08 प्रतिशत बालिकाएं और 73.24 प्रतिशत बालक पास हुए हैं। कोरबा जिले में दसवीं की परीक्षा में छह हजार 471 बालक और सात हजार 886 बालिकाएं शामिल हुई थीं। जिसमें से चार हजार 740 बालक और छह हजार 552 बालिकाएं पास हुई हैं। जिले में दो हजार 59 छात्र और तीन हजार 303 छात्राओं को मिलाकर कुल पांच हजार 362 विद्यार्थी दसवीं की परीक्षाओं में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। द्वितीय श्रेणी में पास होने वाले पांच हजार 479 विद्यार्थियों में दो हजार 442 छात्र और तीन हजार 037 छात्राएं हैं। तृतीय श्रेणी में जिले के 451 विद्यार्थी पास हुए हैं। जिनमें 212 बालिकाएं और 239 बालक हैं। सात सौ 82 विद्यार्थियों को पूरक मिला है जिनमें 383 छात्र और 399 छात्राएं शामिल हैं।

बारहवीं में दो हजार 674 प्रथम श्रेणी में आये
जिले से कक्षा बारहवीं की परीक्षा में कुल दस हजार 188 विद्यार्थी शामिल हुए थे जिनमें चार हजार 523 बालक और पांच हजार 665 बालकाएं थीं। इनमें से सात हजार 992 विद्यार्थियों ने परीक्षा में सफलता हासिल की है। इस वर्ष चार हजार 712 बालिकाएं और तीन हजार 280 बालक बारहवीं की कक्षा में पास हुए हैं। बारहवीं की परीक्षा में इस वर्ष बालिकाओं का सफलता प्रतिशत 83.19 रहा जबकि 72.51 प्रतिशत बालक परीक्षा में पास हो सके। एक बालिका का रिजल्ट अपरिहार्य कारणों से रोका गया है। जिले में 980 बालक और एक हजार 694 बालिकाओं को मिलाकर दो हजार 674 विद्यार्थी बारहवीं की परीक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। द्वितीय श्रेणी में उत्तीर्ण होने वाले पांच हजार 035 विद्यार्थियों में दो हजार 909 बालिकाएं और दो हजार 126 बालक शामिल हैं। एक सौ चैहत्तर बालक और 109 बालिकाओं के साथ 283 विद्यार्थियों ने तृतीय श्रेणी में बारहवीं की परीक्षा पास की है। इस साल की बारहवीं की परीक्षा में एक हजार 316 विद्यार्थियों में से 679 बालकों और 637 बालिकाओं की सप्लीमेंट्री आई है। इस साल बारहवीं कक्षा में गृह विज्ञान संकाय में जिले का रिजल्ट 100 प्रतिशत रहा है। जिले में कला संकाय में कुल रिजल्ट 80.77 प्रतिशत, विज्ञान संकाय में 75.98 प्रतिशत, वाणिज्य संकाय 77.55 प्रतिशत, कृषि संकाय में 89.94 प्रतिशत, ललित कला संकाय में 16.66 प्रतिशत रहा।


Previous12Next