छत्तीसगढ़ » कोरबा

Previous12Next
Posted Date : 14-Nov-2018
  • कमल रोहरा
    कोरबा, 14 नवंबर।  जिले की सुरक्षित विधानसभा सीट रामपुर जहां से कांग्रेस और भाजपा शासन काल में मंत्री रहे नेताओं की कर्म भूमि है। यहां पर वर्तमान में कांग्रेस विधायक है।  कांग्रेस के पुराने कार्यकर्ताओं और आम लोगों के बीच गुस्सा बना हुआ है। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि पिछले कार्यकाल में उनके द्वारा क्षेत्र में विकास कार्य की अनदेखी की गई है। वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी और जकांछ प्रत्याशी के बीच मुकाबले की चर्चा आम लोगों में बनी हुई है। आमतौर पर रामपुर विधानसभा क्षेत्र वैसे भी विधायक चुनने में समय-समय पर बदलाव करता रहा है और पुराना रिकार्ड फिर एक बार दोहराया जाए तो कोई बड़ी बात नहीं होगी।
    जिले की रामपुर विधानसभा क्षेत्र से किसी समय अविभाजित मध्यप्रदेश के उपमुख्यमंत्री रहे स्व. प्यारेलाल कंवर और ननकीराम कंवर के बीच ही मुकाबला होता रहा है।  वर्ष 1977 में पहली बार जनता पार्टी की टिकट पर ननकीराम ने विधायक बनने का गौरव हासिल किया था। लेकिन उसके बाद प्यारेलाल कंवर फिर निर्वाचित हो गए। इन दोनों के बीच ही मुकाबला होता रहा और प्यारेलाल कंवर तो कभी ननकीराम विजयी होते रहे। 
    वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में पहली बार प्यारेलाल कंवर के निधन के बाद कांग्रेस ने उनके भाई और रिटायर्ड डीएसपी श्यामलाल कंवर को चुनाव मैदान में उतारा। उन्होंने ननकीराम कंवर को शिकस्त देकर विधायक तो बन गए लेकिन उसके बाद उनकी कार्यशैली को लेकर सवाल उठने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह अब तक जारी है। श्यामलाल कंवर  पर स्थानीय लोगों का आरोप है कि एक चौकड़ी से घिरे रहते है और आम लोगों से दूरी बना रखी है। इतना ही नहीं स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता भी दबी जुबान से इस बात को स्वीकार करते है कि निष्ठावान कांग्रेसियों की उपेक्षा श्री कंवर कार्यकाल में हुई है। वहीं विकास कार्यो को लेकर भी जनता में नाराजगी है।
     सबसे बड़ा मुद्दा हाथी का है। रामपुर विधानसभा क्षेत्र जिले के सर्वाधिक हाथी प्रभावित क्षेत्र में माना जाता है और उनके उत्पात को रोकने के लिए विधायक द्वारा कोई पहल नहीं करने का आरोप स्थानीय लोगों द्वारा किया जा रहा है जबकि विधायक सदा सत्तारूढ़ दल पर रामपुर क्षेत्र की उपेक्षा करने का आरोप लगाते रहे है। 
    पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर के संदर्भ में स्थानीय ग्रामीणों का यह मानना है कि सत्ता में रहे या न रहे लेकिन वह क्षेत्र के लिए सक्रिय रहते है। उनके द्वारा स्थानीय लोगों की समस्याओं समय-समय पर उठाया जाता रहा है। प्रशासनिक अधिकारियों को कटघरें में खड़े करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते है जो उन्हें जनता के बीच लोकप्रिय बनाती है। उनके कार्यकाल के दौरान आम आदमी सीधे उनसे संपर्क कर सकता था और आज भी कर रहा है। ननकीराम की अपनी कार्यशैली रही है। जो ग्रामीणों को पसंद आती है।
    आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित रामपुर विधानसभा क्षेत्र से पहली बार जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने अपना उम्मीदवार फूलसिंह राठिया को बनाया है। आजादी के बाद से यहां पर राठिया समाज की बहुलता होने के बाद भी किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया गया और कंवर समाज से ही प्रत्याशी बनाया जाता रहा है। राठिया समाज से प्रत्याशी बनाए जाने के कारण यहां पर जकांछ सीधा मुकाबले में आ गई है। समाज के लोगों में भी अपने समाज से प्रत्याशी बनाए जाने को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा है।
     फूल सिंह राठिया समाज के अंदर एक अलग पहचान बनाने के साथ ही क्षेत्र के लोगों में भी उनकी पकड़ बनी हुई है।  पहले भी जनपद अध्यक्ष और जिला पंचायत सदस्य चुने जा चुके है। फूल सिंह राठिया की सक्रियता ने उन्हें पूरी तरह से मुकाबले में ला दिया है। जानकारों की मानें तो रामपुर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा और जकांछ के बीच ही मुकाबला नजर आ रहा है। जबकि कांग्रेस यहां पर तीसरे स्थान पर सिमटती नजर आ रही है। हालांकि मतदाता का रूख किस करवट बैठेगा यह तो नहीं कहा जा सकता लेकिन इतना जरूर है कि 11 दिसंबर को होने वाली मतगणना के परिणाम से रामपुर विधानसभा क्षेत्र से एक नया सूरज आकाश फलक पर नजर आएगा।

  •  

Posted Date : 13-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 13 नवंबर। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कटघोरा विधानसभा के कटघोरा में मंगलवार को भाजपा प्रत्याशी लखनलाल देवांगन के पक्ष में प्रचार करते हुए सभा में कांग्रेस को जलबिन तड़पती मछली करार दिया। उन्होंने कहा कि सत्ता से दूर कांग्रेस बिना पानी की मछली की तरह तड़प रही है। कांग्रेस का एकमात्र उद्देश्य डॉ रमन को हटाना है, जबकि उनको नहीं मालूम कि मैं आपके आशीर्वाद से मुख्यमंत्री हूँ.सीएम ने कहा कि भले ही लखन यहां सीधा है, लेकिन विधानसभा में क्षेत्र की समस्याओं के लिए जमकर गरजता है, और विकास को लेकर कटघोरा पहुंचता है। भारतीय जनता पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता इस चुनाव को लड़ रहा है। सोमवार को 18 विधानसभा का मतदान हुआ है, ये 18 विधानसभा सीट में से अधिकांश में कमल खिलेगा, राजनांदग़ांव में कमल खिलेगा, इसके बाद अब कटघोरा में फिर से कमल खिलेगा।
    रमन ने कांग्रेस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने गरीबों के लिए कोई योजना नहीं बनाई। उनके पास कोई सोच नहीं है। गरीबों की चिंता तब होती है जब 2003 में भाजपा की सरकार बनती है। गरीबों के जीवन मे परिवर्तन लाने का काम हम करते हैं शिक्षा, स्वास्थ्य में काम हो रहा है। छत्तीसगढ़ में 11 लाख आवास देने में काम चल रहा है। 2022 तक छत्तीसगढ़ का कोई पारा टोला मंझरे में कोई घर नहीं बचेगा जहां बिजली न हो।
    उन्होंने कहा कि आज चुनाव देख कांग्रेस वाले को चावल याद आ रहा है। भाजपा सरकार ने 2007 में 11 साल पहले चावल की योजना लाई थी। डॉ रमन ने कभी वोट के लिए चावल की योजना नहीं लाई थी। आज चुनाव आ रहा है अलग अलग राजनैतिक पार्टी अलग अलग मंडी में जैसे सौदा लगते है वैसे कांग्रेस वाले कहते है 2100 दे देंगे। जोगी महाराज कहते है 2500 दे देंगे। आम आदमी पार्टी कहते हैं 2500 दे देंगे। भाजपा की ही सरकार है जो बोनस सहित 2400 धान की कीमत दे रहे है। मुख्यमंत्री ने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के गठबंधन को लेकर भी कटाक्ष  करते हुए कहा कि यह अजब संयोग है कि नागर को हाथी खींचेगा। उन्होंने छत्तीसगढ़ी में कहा कि अगर हाथी ह नागर ला लेकर खेत म घुस जाहि त का धान बचही।

  •  

Posted Date : 05-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोरबा, 5 नवंबर। भाजपा प्रत्याशी  पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर से छत्तीसगढ़ ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। 
    0  विगत चुनाव में आप गृह मंत्री थे और सामने श्यामलाल कंवर एक नवोदित प्रत्याशी मगर आप कैसे हार गए
    00  बीते चुनाव में भी रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता भाजपा को वोट देना चाहती थी। मुझे कल ही एक व्यक्ति ने बताया उस समय पुलिस वाले हमारे कार्यकर्ताओं को थाने ले गए थे वह भी बेवजह कोई भी ऐसा काम नहीं किया था उन्होंने जो कानून के विरुद्ध हो मगर उन्हें थाने में डराया गया था और यह बात आप लोगों के भी जानकारी में होगी। इस चुनाव में ऐसी स्थिति नहीं है मैं यह बोल रहा हूं मेरा विरोधी इससे सतर्क होगा.....मगर देखेंगे।
    0 क्या 2018 के चुनावी समर में पुन:भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन पाएगी
    00 अफकोर्स, मुझे 65 प्लस के संदर्भ में शंका होती थी। मुझे 65 प्लस के संदर्भ में मगर अब जब मैंने माननीय अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति को समझा कार्यशैली बताई उससे लगता है हम 70 प्लस हो सकते हैं । मैं आपको उदाहरण बताऊं एक पोलिंग बूथ में 1 प्लस 2 होते थे मगर अब एक बूॉथ में बीस कार्यकर्ता तैनात किए गए हैं इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं।
    0 टिकट वितरण के संबंध में जो विरोध हुआ है वह चर्चा का बयास बना हुआ है 29 विधानसभा सीटों पर भाजपा के कार्यकर्ता विरोध में चुनाव समर में है।
    00 ऐसा कुछ सीटों पर हो सकता है......हमारे जिले में ऐसी कोई बात नहीं है अनुशासन स्पष्ट दिखाई देता है कही बगावत नहीं है।
    0 कोरबा विधानसभा से नवोदित विकास महतो को प्रत्याशी बनाया गया है क्षेत्र में पुराने वरिष्ठ नेताओं को तरजीह नहीं देकर एक नये शख्स को टिकट देना पार्टी को नुकसान नहीं पहुंचाएगा?
    00 वह किस उद्देश्य से कमजोर है विकास सांसद पुत्र है जिस घर में सांसद हो उसका राजनीतिक अनुभव परीपक्त्ता कम है ऐसा मैं नहीं मानता... फिर विकास पैसे वाला है?
    0  पूर्व में भाजपा परिवारवाद का विरोध करती थी कि कांग्रेस में परिवारवाद है भाजपा में क्या परिवार वाद नहीं है?
    00  विकास महतो के बाद दूसरा आएगा तब आप परिवारवाद कह सकते हैं लगातार.... एक के बाद दूसरा आया तो आप नहीं कह सकते वैसे हमारे यहां भी श्रीमती जी जिला पंचायत सदस्य हैं जो जीत सकते हैं उसे ही तो लाना पड़ेगा।
    0  अभी भाजपा का मुख्य मुद्दा है उससे दिगर आप रामपुर क्षेत्र में क्या और किन मुद्दों को ले जाकर मतदाताओं से वोट मांग रहे हैं?
    0 0 देखिए...! आपको बड़ा ताज्जुब होगा देश की यह पहली पार्टी है जो अंन्तयोदय पर विश्वास करती है अंतिम छोटे से आदमी पर कंस्ट्रक्ट करती है आप विकास की बात करेंगे कि रामपुर क्षेत्र में विकास नहीं हुआ है आप लामपहाड़ लेमरूपहाड़ के बारे में जानते होंगे वहां छोटी-छोटी बस्तियों तक में पहुंच मार्ग बन चुके हैं । मैं बताऊं कांग्रेस के समय में गली में कंक्रीट का काम नहीं हुआ था विकास हुआ है उसे आप देखो आज गरीब आदमी के घर पक्का मकान बन रहा है प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीब से गरीब तक मोबाइल पहुंच रहा है गैस चूल्हा मकान टिफीन साइकिल सब कुछ सरकार दे रही है कांग्रेस के समय में विकास हुआ ही नहीं आज गरीब पलायन करने नहीं जा रहे आधी बस्ती उठकर पलायन कर जाती थी।
    0 रामपुर क्षेत्र में हाथियों के हमले से गरीब आदिवासी मर रहे हैं फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।
    00 मैं वन मंत्री था तब अभ्यारण के लिए प्रयास किया था राज्य सरकार ने स्वीकृत किया मगर केंद्र ने इसे रिजेक्ट कर दिया कोलफिल्ड के कारण ऐसा हुआ मैंने पुन: छ माह से माननीय प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को चि_ी लिखी थी । इस संबंध में मैं आपको बता देना चाहता हूं कि जितना सरकार नुकसानी का व्यय उठाती है कंपनसेट करती है उससे कम खर्च में आप हाथियों को व्यवस्थित कर सकते हैं।  जब एक स्थान पर भोजन मिलेगा तो हाथी नुकसान क्यों करेगा एक स्थान से दूसरे स्थान भगाया जाता है  इसलिए हाथी आक्रमक हो जाते हैं। अधिकारी और मंत्री को भी पता नहीं होता कि हाथी एक ऐसा जानवर है उसका सेंस आदमी से भी ज्यादा है कोई गाली देता है तो हाथी समझ जाता है किमुझको गाली दे रहा है। एक आदमी ने ऐसा ही किया बोला मैं हाथी आया तो उसको ऐसा मारता.....हाथी अचानक आया और उसे मार कर चला गया।  बुजुर्ग लोग समझाते थे कि हाथी को गाली मत देना.....
    0 कोरबा जिला में स्टार प्रचारक कब और कौन आ रहा है?
    00 इस संदर्भ में कोई सूचना नहीं है..... जब आना होगा तो आएंगे
    0  जनता कांग्रेस से फूलसिंह  चुनावी मैदान में है राठिया बंधुओं के वोट भाजपा से उधर चले जाने की चर्चा है
    00 हो सकता है,कांग्रेस के वोट ज्यादा काटे ....यह तो समय बताएगा....।

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 30 अक्टूबर। करीब एक महीने पहले बांगो थाना के पोंड़ी-उपरोड़ा स्थित छात्रावास से एकाएक गायब हुई महिला नगर सैनिक की लाश बेलगहना में पटरी पर कटी अवस्था में बरामद की गई है। हालांकि पुलिस को लाश की बरामदगी बीते 29 सितम्बर को हो चुकी थी, लेकिन शिनाख्त नहीं हो पाने की वजह से उसका कफऩ-दफन कर दिया गया था। एक महीने तक चले पड़ताल और विवेचना के बाद जब बरामद लाश की सच्चाई से पर्दा उठा। सुनीता की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके कथित प्रेमी ने ही गला दबाकर की थी। सबूत मिटाने की नीयत से उसने लाश को पटरी पर रख दिया था, ताकि इस पूरे हत्याकांड को हादसे के शक्ल दे सके। बेलगहना पुलिस ने मृतका के प्रेमी को भी हिरासत में ले लिया है। पुलिस को यह कामयाबी सोशल मीडिया से हासिल हुई। दरअसल पुलिस ने मृतका की फोटो सोशल मीडिया में पोस्ट करते हुए लोगों से पहचान की अपील की थी, जिसके बाद मृतका की शिनाख्त होने के बाद उसके फोन कॉल डिटेल जांचे गए और कत्ल का यह मामला परत दर परत खुलता गया।
     बिलासपुर एएसपी अर्चना झा ने बताया कि 27 सितम्बर को उन्हें सलका रोड के पास रेल पटरी पर महिला की क्षत-विक्षत लाश मिली थी। महिला की पहचान के लिए पुलिस ने एसपी आरिफ शेख से मार्गदर्शन लिया और फिर विवेचना शुरू की गई। पुलिस ने जिले के साथ ही दीगर जिलों के थानों से भी जानकारी जुटी, जबकि इस दौरान गुमशुदगी का रिपोर्ट भी खंगाला गया। अर्चना झा ने बताया कि इस दौरान फोरेंसिक रिपोर्ट और अन्य रिपोर्ट के आधार पर जानकारी पुख्ता हो गयी कि महिला की हत्या रेल से कटने के पहले गला दबाकर हुई है। जांच पड़ताल, गुमशुदगी तलाश और साइबर सेल की मदद से जानकारी मिली कि मृतक महिला का नाम सुनीता पोर्ते है। मृतका नगर सैनिक पद पर कार्यरत थीं, दूसरी तरफ परिजनों ने भी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी।
    इसी बीच साइबर सेल को जानकारी मिली कि महिला का किसी मनोज यादव नाम के शख्स से मौत के पहले लगातार बातें हुई हैं। जब मनोज की पतासाजी की गयी तो वह रतनपुर से पुलिस के हत्थे चढ़ गया। मनोज को हिरासत में लेकर पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने ह्त्या के सारे राज उगल दिए।
     आरोपी मनोज ने बताया कि सुनीता पोर्ते से उसका करीब 6 साल तक प्रेम चला। इसी बीच सुनीता ने राकेश पोर्ते से शादी कर ली। राकेश पोर्ते की मौत के बाद सुनीता को अनुकम्पा नियुक्ति मिली। एक बार फिर उससे नजदीकी बढ़ी। आरोपी मनोज का सुनीता पर यह भी इल्जाम है कि उसके कई लोगों से अनैतिक संबंध थे। इस बीच मृतका मनोज यादव पर एक लाख रूपए देने के लिए दबाव बनाने लगी थी।
    दूसरे युवकों से सम्बन्ध और पैसे की मांग से वह काफी परेशान हो गया था और फिर उसने इन्हीं परेशानियों के चलते सुनीता को हमेशा के लिए मौत की नींद सुलाने का फैसला किया। वह पहले तो सुनीता को बैक से बेलगहना से गया जहाँ उसने सलका रोड के पास केकराखोली रेलवे फाटक के पास पहले गला दबाकर उसकी हत्या की और फिर लाश को ठिकाने लगाने के मकसद से रेलवे ट्रेक पर उसके शव को रख दिया। ट्रेन से काटने के बाद वह सुनीता के पर्स और मोबाईल को भी साथ ले गया और निशान मिटाने की नियत से सभी सामानों को आग के हवाले कर दिया।
     कातिल मनोज को यकीन था की वह कभी नहीं पकड़ा जाएगा, लेकिन फोन पर हुई बातचीत और दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग ने इस पूरे अंधे क़त्ल के पहेली को सुलझा दिया। बिलासपुर पुलिस अब कोरबा पुलिस से सम्पर्क में है और जल्द ही आरोपी मनोज को कोरबा लाकर पूछताछ की जाएगी।
    भृत्य की लाश फंदे पर लटकती मिली
    कोरबा, 30 अक्टूबर। कटघोरा थानांतर्गत तहसील क्षेत्र में स्थित पीडब्लूडी कॉलोनी में उस वक्त सनसनी फैल गई, जब पीडब्लूडी में कार्यरत भृत्य रवि कुमार यादव की लाश कालोनी स्थित मकान में फंदे पर लटकती हुई मिली। रवि ने बीती रात कुर्सी के सहारे अपने गमछे को फंदा बनाया और झूल गया। आज सुबह जब काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भीतर से कोई जवाब नहीं मिला तो दरवाजा तोड़ा गया, जहां रवि की लाश फंदे पर लटक रही थी। इसकी सूचना कालोनी के लोगों ने तत्काल कटघोरा पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए सीएचसी रवाना कर दिया है। पीडब्लूडी क्रमांक एक के एसडीओ एसके रहमान ने बताया कि मृतक रवि विवाहित था। वह पिछले चार सालों से कटघोरा लोनिवि में पदस्थ था, उसने किन वजहों से यह आत्मघाती कदम उठाया यह साफ नहीं है। रवि के मौत की सूचना उसके परिजनों को दे दी गई है। 
    पुलिस उसके सहकर्मियों से बातचीत कर वजह जानने का प्रयास कर रही है। फिलहाल वह कालोनी के एक मकान में अकेले ही रहता था।

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

     कोरबा, 30 अक्टूबर। पाली-तानाखार सीट इस बार भी खास सुर्खियों में है। चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस के विधायक एवं प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके ने भाजपा प्रवेश कर लिया, भाजपा ने उन्हें टिकट भी दे दिया है। दलबदल की इस राजनीति के बीच इस सीट के इतिहास को एक बार फिर दोहराया जा रहा है। जिन नेताओं ने इस सीट पर दल बदल किया है, उनकी राजनीति चमकी है। हीरा सिंह मरकाम और रामदयाल उइके इसके ताजा उदाहरण कहे जा सकते हैं। इनसे पहले भी इस सीट से विधायक रहे नेताओं की स्थिति ऐसी ही रही है। 
     प्रदेश में दल बदलने वाले नेताओं का भविष्य भले ही गर्त में चला गया हो, पर यहां के नेताओं की राजनीति चमकती रही है। यह बात और है कि इस सीट पर नेताओं की पार्टी के प्रति निष्ठा पर सवालिया निशान जरूर लगा रहा है। पाली-तानाखार विधानसभा सीट की जीत का रास्ता गोंडवाना आदिवासी समाज की गलियों से गुजरता है। आंकड़ों के मुताबिक 2 लाख 12 हजार 232 मतदाताओं वाले इस विधानसभा क्षेत्र में 1लाख 37 हजार समाज के मतदाता हैं, जिसने इस समाज को साध लिया उसकी जीत पक्की हो जाती है। दलबदल कर चुनाव लडऩे वाले नेताओं ने अब तक बखूबी इस समाज को साधा है। यहां से गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हीरा सिंह मरकाम और कांग्रेस से मोहित केरकट्टा चुनाव मैदान में हैं। पहले कांगे्रेस से पूर्व आईपीएस भारत सिंह मरावी के नाम की चर्चा थी, लेकिन पार्टी ने उनकी जगह मोहित को मैदान में उतार कर चौंका दिया है। 
         पालीतानाखार सीट पर पाला बदलने का इतिहास लगभग 4 दशक पुराना है। छत्तीसगढ़ की राजनीति में दल बदलने वाले नेता तरुण चटर्जी, अरविंद नेताम,विद्या चरण शुक्ला,पवन दीवान सहित अन्य की दल बदलने के बाद राजनीति ढलान पर चली गई हो लेकिन पालीतानाखार में जिस नेता ने जितना दल बदला उसकी राजनीति उतनी चमकी है। इतिहास गवाह है कि वर्ष 1977 के बाद जो भी यहां से विधायक बना है उसने देर सबेर दल जरूर बदला है।
     सबसे पहले विभाजित मध्य प्रदेश काल में भाजपा से अमोल सिंह सलाम विधायक चुने गए और बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए। वर्ष 1985 में भाजपा ने हीरा सिंह मरकाम को मैदान में उतारा। विधायक चुने जाने पश्चात मरकाम ने बाद में भाजपा छोड़कर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी बना ली। उधर भाजपा से कांग्रेस में आए अमोल सिंह सलाम 1998 में चुनाव लड़े पर उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद भी पार्टी ने उन्हें राज्य सेवा आयोग का सदस्य बनाया। राज्य गठन के बाद भी स्थिति बरकरार रही।
    पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के लिए अपनी मरवाही सीट छोडऩे वाले भाजपा विधायक रामदयाल उइके ने वर्ष 2003 में दल बदल कर कांग्रेस के झंडे तले यहां से चुनाव लड़ा। लगातार तीन बार विधायक रहने के साथ ही उइके का राजनीतिक कद बढ़ा और प्रदेश कांग्रेस में कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया। अब फिर वह भाजपा में आ गए हैं और पार्टी ने मैदान में उतारा है। ऐसे में यह साफ रहा है कि पालीतानाखार सीट पर नेताओं की पार्टी की निष्ठा पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है। नेताओं ने चोला बदल जमकर अपनी राजनीति चमकाई है। इस बार भी कुछ ऐसा ही इतिहास दोहराया गया है, पर दिलचस्प पहलू यह भी रहा है कि दलबदलू नेताओं को जनता कई बार सबक भी सिखा चुकी है। भाजपा प्रत्याशी रामदयाल उइके के पक्ष में पूरी तरह भाजपा कार्यकर्ता जुट नहीं पा रहे हैं। जबकि कांग्रेस में भी मोहित को लेकर विरोध है। ऐसे में यह तय है कि यहां मुकाबला त्रिकोणीय होगा और जीत-हार का अंतर कम मतों से होने का अनुमान है। 

  •  

Posted Date : 07-Oct-2018

  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 7 अक्टूबर। कटघोरा- पसान मार्ग पर तेज रफ्तार ट्रेलर ने कार को रौंद दिया। कार के चिथड़े उड़ गए।  दो की मौके पर मौत हो गई जबकि एक की हालत नाजुक है। उसे पेंड्रा के अस्पताल में भर्ती किया गया है। 
    पुलिस ने बताया कि घटना आज सुबह  पसान थाना क्षेत्र में ग्राम तिलाइडांड के पास हुई। जटगा के रास्ते कार  में तीन ग्रामीण पसान की ओर जा रहे थे। ग्राम तिलाई डांड के पास  विपरित दिशा से आ रही ट्रेलर ने कार को टक्कर मार दी।आमने-सामने हुई टक्कर के बाद कार ट्रेलर में फंस गई और दो  की मौके पर मौत हो गई। दोनों जटगा क्षेत्र के निवासी हैं। (बाकी पेजï 5 पर)
    उनकी शिनाख्त नहीं हो सकी है।
     लाश कार में  फंसी है, निकालने के लिए गैस कटर मशीन मंगाई गई है। कार में सवार तीसरे व्यक्ति को भी गंभीर चोटें आई है। उसे पेंड्रा के सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया है। 

  •  

Posted Date : 19-Sep-2018
  • कोरबा में 109 करोड़  का लोकार्पण-शिलान्यास 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 19 सितंबर। राज्य सरकार ने प्रदेश में महिला सशक्तिकरण को अपना मूलमंत्र बनाया है। संचार क्रांति योजना में 40 लाख महिलाओं को नि:शुल्क स्मार्ट मोबाइल फोन दिए जा रहे हैं। अब तक 20 लाख महिलाओं को मोबाइल फोन मिल चुके हैं। राज्य सरकार ने बेटियों की नि:शुल्क शिक्षा, महिलाओं के स्वास्थ्य और आर्थिक स्वावलम्बन के लिए अनेक योजनाएं प्रारंभ की हैं, जिनका लाभ लेकर महिलाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं।   हाथियों से प्रभावित इस क्षेत्र में सभी कच्चे मकान पक्के बनाए जाएंगे।  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज अटल विकास यात्रा के तहत कोरबा के वनांचल मदनपुर में आयोजित सभा को सबंोधित कर रहे थे। 
      इस मौके पर उन्होंने  लगभग 109 करोड़ रूपये के 54 कार्यों का लोकार्पण, शिलान्यास और भूमिपूजन किया। उन्होंने लगभग 96 करोड़ 59 लाख रूपए की लागत से पाली-सिल्ली तक 21.50 किलोमीटर लम्बी सड़क के उन्नयन और सुदृढ़ीकरण कार्य का शिलान्यास किया। आमसभा में उन्होंने 10 हजार 649 हितग्राहियों को शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि वितरित की।  
     डॉ. सिंह ने  कहा कि  प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी द्वारा खनिज बहुल जिलों में जिला खनिज न्यास के गठन के फैसले से सिर्फ कोरबा जिले को ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ को विकास कार्यो के लिए अतिरिक्त आर्थिक संसाधन मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरबा जिले में आने वाले 50 वर्षों तक विकास कार्यों के लिए आर्थिक संसाधनों की कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि कोरबा जिले में 150 करोड़ रूपए की लागत से दंतेवाड़ा और बीजापुर से भी बड़े एजुकेशन हब का निर्माण किया जा रहा है। जिला खनिज न्यास की राशि से ही कोरबा में सेन्ट्रल इन्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी (सिपेट) की स्थापना की जा रही है। इन दोनों ही संस्थानों का लाभ पूरे छत्तीसगढ़ को मिलेगा। डॉ. सिंह ने बताया कि डीएमएफ से इस क्षेत्र में 211 करोड़ रूपए की लागत से 761 कार्य स्वीकृत हुए है और पूरे कोरबा जिले में एक हजार 52 करोड़ रूपए की लागत के 2767 काम स्वीकृत हुए हैं। 
    सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में इस क्षेत्र को गरीब परिवार की 45 हजार 453 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन और पूरे कोरबा जिले में एक लाख 25 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कोरबा जिले के इस क्षेत्र में 22 हजार 328 गरीब परिवारों को डेढ़ लाख रूपए की लागत के पक्के मकान बनाकर दिए जा रहे हैं। इनमें से 10 हजार 900 मकान पूरे हो चुके हैं। इस योजना में पूरे जिले में 44 हजार मकान बनाए जाएंगे। उन्होंने समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, आयुष्मान भारत योजना, मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजनाओं की जानकारी दी। 
    आमसभा को लोकसभा सांसद बंशीलाल महतो और पूर्व गृह मंत्री  ननकीराम कंवर ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री  भईयालाल राजवाड़े, संसदीय सचिव  लखन देवांगन और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष बनवारी लाल अग्रवाल सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।   

     

  •  

Posted Date : 22-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 22 अगस्त। बालको वनपरिक्षेत्र के बेला गांव में आज एक हाथी की करंट से मौत हो गई। घटना के बाद से  भीड़ जुटने लगी है। वन विभाग ने दूसरे हाथी की मौजूदगी को देखते हुए पास न जाने की सलाह दी है।
    कई दिनों से बालको वन परिक्षेत्र में  दो दंतैल हाथियों ने जमकर उत्पात मचा रखा था। कई लोगों की जान ले ली थी व कई घरों को धराशायी कर दिया। इनमेेंं से एक हाथी की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई है। दूसरा हाथी भी उसकी लाश के आसपास मंडरा रहा है। वन विभाग का अमला मौके पर पहुंच गया है।

  •  

Posted Date : 17-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़  संवाददाता
    कोरबा, 17 अगस्त। कोरबा के मुड़ापार बाईपास में रहने वाली दो बहनों ने अपनी नाबालिग सहेली को घर में बुलाया। घर में ही खाने में कुछ नशीला पदार्थ मिलाया। उसे नशे की हालत में बहला-फुसलाकर घूमने के बहाने से अपने दो दोस्तों के हवाले कर दिया। दोनों युवकों ने जंगल में ले जाकर छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। पीडि़ता के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी है। मानिकपुर पुलिस ने जांच के बाद पीडि़ता की दोनों सहेलियों और दोनों लड़कों को गिरफ्तार कर लिया है। 
    पुलिस के अनुसार मुड़ापार बाईपास में रहने वाली एक नाबालिग लड़की को वहीं निवासरत दो सगी बहनों ने पहले तो उसे अपने घर बुलाया। उन्होंने सहेली को चाऊमीन बनाकर खिलाई, जिसमें कुछ नशीला पदार्थ मिला दिया था। इसके बाद उसे बहला-फुसलाकर घूमने के बहाने से स्कूटी में बैठाकर घंटाघर स्थित चौपाटी ले गई। वहां से फोन कर पंप हाउस में रहने वाले अपने दोस्त जुनैद खान और 15 ब्लॉक निवासी साहिल जागड़े को बाइक लेकर चौपाटी पहुंचने को कहा। यहां से युवक-युवतियों ने बाइक और स्कूटी को साझा कर नाबालिग को एक युवक के साथ बाइक पर बैठा दिया, जबकि दोनों बहनें भी दूसरे युवक के साथ बाइक में बैठ गई। चारों नाबालिग को लेकर बालको बैरियर से आगे कॉफी पॉइंट के पास पहुंचे। जंगल में जुनैद और साहिल ने नाबालिग से दुष्कर्म किया। वह इसके बाद देर शाम को नाबालिग को उसके घर लाकर छोड़ दिया।
    भय से पीडि़ता ने पहले तो घटना की जानकारी छुपाई। बाद में उसके निजी अंगों में दर्द होने लगा। माता-पिता उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। गंभीर हालत में उसको बिलासपुर के निजी अस्पताल में भर्ती किया गया, तब वहां मामले का खुलासा हुआ। पीडि़ता के पिता ने घटना की शिकायत मानिकपुर चौकी में दर्ज कराई थी। पुलिस ने पीडि़ता की दोनों सहेलियों और जुनैद और साहिल को गिरफ्तार कर लिया है।
    बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में निवासरत एक महिला के घर में कई लड़कियों का आना-जाना लगा रहता है। मोहल्लेवासियों ने बताया कि यहां यह महिला अनैतिक कृत्य लड़कियों से करवाती है, जिसके कारण मोहल्लेवासियों में आक्रोश है।

  •  

Posted Date : 10-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़  संवाददाता
    कोरबा, 10 अगस्त। आज सुबह सैर पर निकली बुजुर्ग महिला को दो युवक पुलिस बनकर  पहुंचे और गहने उतरवा पल्लू में बांध दिये। घर जाकर देखने पर पल्लू में रखे गहने नकली मिले।  सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची व आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। गहनों की कीमत 2.5 से 3 लाख है। 
    कोरबा के डी.डी.एम रोड निवासी वृद्ध महिला पुष्पा देवी जैन रोज की तरह आज सुबह  घर से बाहर निकल टहल रही थी। वह अपने घर से डेढ़ से 200 मीटर की दूरी पर थी, तभी अचानक दो युवकों ने उनके पास अपनी बाइक रोकी और जेब से कार्ड निकाल कर कहा कि हम पुलिस वाले हैं, आप इतने सारे गहने क्यों पहने हैं। अभी कुछ देर पहले ही लूट की घटना हुई है और अपनी बातों में फंसाकर बुजुर्ग महिला से सारे गहने उतरवा लिये, जिसमें दो सोने के कंगन, एक अंगूठी, एक चेन को उनकी साड़ी के पल्लू में बांध दिया। 
    पुष्पादेवी ने घर पहुंचकर पल्लू खोलकर देखा कि उसमें नकली सोने की चूडिय़ां थी। उन्होंने इसकी खबर तुरंत अपने बेटे उज्जवल  को दी।  पुलिस घटनास्थल पर पहुंच चुकी है व आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। पुलिस के मुताबिक वारदात के पीछे बाहरी गिरोह का हाथ है।

     

  •  

Posted Date : 05-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 5 अगस्त। जिले के कटघोरा में एक सौतेली मां ने 6 साल के बच्चे के नाजुक अंग को गर्म तेल से इसलिए जला दिया क्यांकि वह बार-बार पेशाब करने जाता था। बच्चे के बड़े पिता की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी मां के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।
    पुलिस के अनुसार पूछापारा निवासी बजरंग ने पहली पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी की और पहली शादी के बच्चे बबलू के साथ रहता है। कुछ दिनों से बच्चे के दिखाई न देने से बजरंग की भाभी जब उसके घर पहुंची तो बच्चे ने पूरा मामला बताया। उसने इसकी जानकारी अपने पति रवि को दी और फिर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई।
    बच्चे के बड़े पिता का कहना है कि बच्चा बार-बार पेशाब करने जाता था इसलिए परेशान होकर उसकी सौतेली मां ने गुस्से में आ कर खौलता तेल डालकर उसका नाजुक अंग जला दिया।

  •  

Posted Date : 22-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोरबा, 22 जुलाई। कोरबा में दो दिनों से भारी बारिश होने से बांगो डैम का जलस्तर बढ़ गया है। हालात यह है कि बांगो से जल विद्युत संयंत्र के अलावा डैम से तान नदी से आने वाला पूरा पानी हसदेव में प्रवाहित किया जा रहा है। 8 हजार क्यूसेक से अधिक पानी हसदेव में छोडऩे की वजह से डेम का गेट खोलना पड़ा। हालांकि पानी का स्तर अभी खतरे के निशान तक नहीं पहुंच पाया है। माचाडोली स्थित मिनीमाता हसदेव बांगो बांध में 60 फिसदी भराव पूर्ण हो गया है। पिछले एक पखवाड़े में बांध के जलस्तर में करीब 8 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 
    बांध की कुल भराव क्षमता 289433 मिलियन घन मीटर की तुलना में 174 7.01 मिलियन घन मीटर जल का भराव हो गया है। एकाएक बड़े जलस्तर की वजह से 8275 क्यूसेक पानी का बहाव हसदेव नदी में किया जा रहा है, जिससे बांगो बांध से 175 0 व तान नदी से 6525 पानी कोरबा की ओर छोड़ा गया बांध से इतनी बड़ी मात्रा में पानी छोडऩे की वजह से दर्री डैम का जलस्तर भी काफी ऊपर आ गया जिसकी वजह से गेट को खोल पानी छोड़ा गया। हालांकि अभी डैम में पानी का स्तर खतरे के निशान के नीचे है बावजूद एतिहात के तौर पर नदी के किनारे बसी बस्तियों को जल संसाधन विभाग की ओर से चेतावनी दी गई है कि वह जलभराव वाले क्षेत्र से दूर रहें।

  •  

Posted Date : 21-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 21 जुलाई। जमनीपाली के सरदार वल्लभभाई पटेल नगर स्थित कान्हा हैंडलूम में आज तड़के आग लग गई जिसमें लाखों  का कपड़ा जलकर राख हो गया। इस इमारत के ऊपरी मंजिल में रह रही एक बुजुर्ग महिला आग में फंस गई थी जिसे सुरक्षित निकाल लिया गया है। समाचार लिखे जाने तक आग  नहीं बुझाई जा सकी थी।

  •  

Posted Date : 21-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 21 जुलाई। आज सुबह बच्चों से भरी स्कूल वैन पुल से गिर गई। बच्चों को हल्की चोटें आई हैं। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।   मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह सेंट्रल स्कूल एनटीपीसी के बच्चों को ले जा रही टाटा मैजिक वैन दर्री सिंचाई कॉलोनी के पास बने पुल से 30 फुट नीचे जा गिरी। हादसे के समय 16 बच्चे सवार थे, इन्हें हल्की चोटेंआई हैं। पुलिस ने वाहन चालक मनोज यादव को गिरफ्तार कर लिया है।

  •  

Posted Date : 19-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 19 जुलाई।  पति और दो बच्चों के साथ बाइक से ससुराल लौट रही महिला ने बीती रात दर्री डेम में छलांग लगा दी। महिला को 15 घंटे बाद भी ढूंढा नहीं जा सका है। नगरसेना के चार गोताखोरों को महिला के रेस्क्यू में लगाया गया है। वे सभी लगातार डेम के गहराइयों में जाकर अरूणा सारथी को खोजने में जुटे हैं। थाना प्रभारी साधना सिंह भी मौके पर सदल बल डटी हुयी हैं। वे कल रात ही मौके पर जवानों के साथ पहुंच गई थी, लेकिन अँधेरा होने की वजह से कुछ दिखाई नहीं दे रहा था।
    इसकी सूचना उन्होंने शीर्ष पुलिस अधिकारियों को दी थी, जिसके बाद उनके निर्देश पर आज सुबह होमगार्ड के गोताखोरो ने अरूणा को खोजने की कोशिश शुरू कर दी। हालांकि डेम के लबालब होने से उन्हें भी कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इस बाबत सिंचाई विभाग को भी गेट खोलने-बंद करने में एहतियात बरतने की सूचना दी गयी है।
    मिली जानकारी के मुताबिक़ कटघोरा थाना के छिरहुट गाँव का निवासी शिव कुमार सारथी अपनी पत्नी अरूणा सारथी को लेकर उरगा थाना इलाके के उसके मायके गया हुआ था, जहाँ से वे दोनों बाइक पर सवार होकर अपने ग्राम छिरहुट वापिस लौट रहे थे। रात करीब 9.30 बजे उनकी गाड़ी जैसे ही दर्री बराज के ऊपर पहुंची, अरूणा ने अपने पति को बाइक रोकने को कहा और फिर बिना कुछ कहे सीधे बराज के भराव वाले किनारे जाकर छलांग लगा दी। पति शिव भी उसके पीछे दौड़ा था लेकिन वह उसे रोक पाने में नाकाम रहा।

  •  

Posted Date : 12-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा,12 जुलाई।  बिलासपुर-अंबिकापुर नेशनल हाइवे पर आज सुबह सड़क हादसे में एक परिवार के 2 की मौत हो गई जबकि 4 की हालत गंभीर बताई जा रही है। हादसे का शिकार परिवार बिलासपुर लोरमी का है।
    पुिलस के अनुसार आज सुबह 8 बजे तेज रफ्तार बेकाबू इनोवा कार बांगो थाना के ग्राम गुरसिया में पुलिया से जा टकराई। इसमें सवार एक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि एक अन्य की मौत अस्पताल में हो गई। अन्य 5 घायलों में से 4 की हालत गंभीर बताई गई है। इनका इलाज पोड़ीउपरोड़ा अस्पताल में  चल रहा है।
    हादसे के शिकार सभी लोग बिलासपुर लोरमी के रहने वाले हैं, जो किसी काम से सिंगरौली मध्यप्रदेश गए हुए थे। आज सुबह सिंगरौली से लौटते वक्त गुरसिया गांव के पास पुल पर यह हादसा हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कार  तेज रफ्तार थी, बेकाबू होकर पुल की रेलिंग से टकरा गई। हादसा इतना जबरदस्त था कि कार के इंजन वाला हिस्सा अंदर धंस गया है।

  •  

Posted Date : 07-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 7 जुलाई। जमनीपाली -बाकीमोंगरा मुख्य मार्ग की जर्जर हालत को लेकर  महिलाओं ने आज जमनीपाली गेट नंबर 5 के  मुख्य मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। 
    आंदोलन कारियों का कहना था कि विभिन्न निर्माण एजेंसियों के फेरे में फंस चुके इस जर्जर  रोड में बारिश के दिनों में आए दिन हादसे हो रहे हंै। पैदल चलना भी दूभर है। आंदोलन की सूचना मिलने के बाद एसडीएम ने फोन पर  सड़क को जल्द सुधारे जाने की बात कही। जिम्मेदार अधिकारी को   ज्ञापन सौंपे जाने का वे इंतजार कर रहे हैं।  स्थानीय  व्यापारियों ने भी  समर्थन देते अपनी दुकानें बंद की हैं। समाचार लिखे जाने तक पुलिस आंदोलनकारियों को समझाने में जुटी थी।

  •  

Posted Date : 28-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़  संवाददाता
    कोरबा,  28 जून। दो दिन पहले छुरी में हुए सड़क हादसे के बाद आज फिर सर्वमंगला चौकी के बरमपुर के पास ट्रेलर ने स्कूटी सवार महिला को रौंद दिया,  जिससे महिला की मौके पर ही मौत हो गई। 
     मिली जानकारी के मुताबिक़ मृतका बांकिमोंगरा की रहने वाली थी, जो स्कूटी से कोरबा के लिये रवाना हुई थीं। घटना गुरूवार दोपहर करीब 12.30 की है। हादसे की सूचना तत्काल सर्वमंगला चौकी को दी गई। हादसे के बाद ट्रेलर का ड्राइवर वाहन छोड़कर फरार हो गया।

  •  

Posted Date : 22-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 22 जून। कटघोरा थाना के चंदनपुर के पास बीती रात दो बसों  में टक्कर से 11 सवारियों को चोटें आई हंै इनमें से तीन की हालत  नाजुक है।  हादसे में दोनों बस के ड्राइवर, क्लीनर, कंडक्टर के अलावा ट्रक के ड्राइवर को भी चोटें आयी हैं।
    मिली जानकारी के अनुसार अम्बिकापुर से रायपुर जा रही तेज रफ़्तार रॉयल बस  ने रायपुर से गढ़वा जा रही दुबे बस  को जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी की दोनों ही गाडिय़ां सड़क से उतर कर मिट्टी में जा धंसी। वहीं  रॉयल बस के पीछे चल रही एक ट्रेलर  भी बस से जा भिड़ी।  
    घायल सवारियों ने बताया कि दोनों  बस की रफ़्तार बहुत ज्यादा थी। दुबे बस सवार एक  ने बताया कि रॉयल बस ने सामने चल रहे ट्रक को जैसे ही ओवरटेक करने की कोशिश की वह सामने से आ रही दुबे बस से जा भिड़ी।  हादसे के दौरान ज्यादातर सवारी गहरी नींद में थे जबकि दो दर्जन भर सवारी बेहोशी की हालत में बसों से उतारे गए।
     सूचना कटघोरा पुलिस और अस्पताल प्रबंधन को दी गयी जिसके बाद एम्बुलेंस से सभी को सीएचसी कटघोरा में दाखिल कराया गया। कुल 12 लोगों को अस्पताल लाया गया था जिनमे से 9 को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। 3 सवारी की हालत गंभीर है जिनका इलाज जारी है।
    घायलों के नाम
    हादसे में जिन सवारियों को चोट पहुंची है उनमें रामलखन, नानसाय , सिल्वेस्टर, आरिफ हुसैन, सुरदर्शन, शिवचंद्र, आदित्य कुमार, ओमप्रकाश, रघुनाथ, संजय  और रमेश  शामिल हैं। इनमें से ज्यादातर रायपुर से गढ़वा जाने के लिए दुबे बस पर सवार थे। 

  •  

Posted Date : 09-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 9 जून। जिले के जनपद पंचायत करतला के ग्राम चांपा में आज सुबह आम बीनने गए घुँशी राम राठिया नामक ग्रामीण  को हाथी ने कुचल दिया जिससे उसकी मौके पर ही उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों में इस घटना के बाद दहशत  है।  पुलिस व वन विभाग को इसकी सूचना दे दी गई है। 
    ज्ञात हो कि इस इलाके में 32 हाथियों का दल जमा हुआ है। बताया जाता है कि एतमानगर के छातापखना जंगल में हाथी एक सप्ताह से डेरा जमाए हुए हैं। 
    पहले यह दल बांगो के आसपास घूम रहा था। पहले गांव में पहुंचकर कटहल को खा गए। अब हाथी बांगो बांध के किनारे ही रह रहे हैं। वन विभाग ग्राम लालपुर, कापा, नवापारा, धौराडांड, रिंगनिया, झाबर, बांधापारा, डांडपखना के आसपास गांवों में ग्रामीणों को सतर्क रहने की मुनादी की है। 15 हाथियों का झुंड केंदई परिक्षेत्र में घूम रहा है। वन परिक्षेत्र करतला व पसरखेत में 8 हाथी  घोटमार, चचिया, गेरांव, चांपा, सोलवा व कोल्गा जंगल में धान की फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं।  

  •  



Previous12Next