छत्तीसगढ़ » कोरबा

Previous12Next
Posted Date : 25-Apr-2019
  • मतदान कर वोटर सेल्फी जोन फोटो खींचकर किया अपनी खुशी का इजहार
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 25 अप्रैल।  
    भारत निर्वाचन आयोग तथा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी छत्तीसगढ़ के निर्देशानुसार कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी किरण कौशल के मार्गदर्शन में स्वीप कार्यक्रम अंतर्गत संचालित किये गये मतदाता जागरूकता अभियान में सभी समुदाय के मतदाताओं को मतदान करने के लिए प्रेरित किया गया था। 
    मतदाता जागरूकता अभियान अंतर्गत जिले के शहरी ग्रामीण क्षेत्रों में विविध कार्यक्रम संगोष्ठी, परिचर्चा, निबंध, भाषण, पोस्टर निर्माण, नारा लेखन, चित्रकला प्रतियोगिता, रंगोली, मेंहदी प्रतियोगिता तथा मानव श्रंृखला के द्वारा ''मैं हॅंू मतदाता-भारत भाग्य विधाताÓÓ थीम पर स्वीप मोनो आकृति निर्माण का कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें बड़ी मात्रा में पहली बार वोट डालने वाले नवीन युवा मतदाताओं सहित महिलाओं, दिव्यांगों, वरिष्ठ मतदाताओं, थर्ड जेण्डर समुदाय, कुष्ठ प्रभावित मतदातागण सहित आम नागरिकों ने अपनी सहभागिता दी थी। जिसके परिणाम स्वरूप बड़ी संख्या में युवा मतदाता सहित सभी मतदाताओं ने लोकसभा निर्वाचन में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 
    जिला स्वीप नोडल अधिकारी एवं डीपीओ साक्षरता मिशन सतीश प्रकाश सिंह ने बताया कि जिले में स्वीप कार्यक्रम अंतर्गत संचालित किये गये मतदाता जागरूकता अभियान में नवीन युवा मतदाताओं ने बढ़-चढकऱ अपने मताधिकार का प्रयोग किया तथा कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी किरण कौशल के निर्देशानुसार कोरबा जिले के प्रत्येक मतदान केन्द्र में समुचित दूरी पर या परिसर के बाहरी दीवार पर वोटर सेल्फी जोन हेतु एक 20 गुणा 30 साईज का पोस्टर चस्पा किया गया था। जिसमें विशेषकर नवीन युवा मतदाताओं ने मजबूत लोकतंत्र के निर्माण के लिए मतदान केन्द्रों में लगाई गई वोटर सेल्फी जोन में मतदान करने के पश्चात अपनी सेल्फी खींचकर अपने खुशी जाहिर की है। स्वीप कार्यक्रम अंतर्गत संचालित मतदाता जागरूकता अभियान में सभी समुदाय के मतदाताओं शासकीय-अशासकीय विभागों, शैक्षणिक संस्थानों, सभी महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं का सक्रिय सहयोग प्राप्त हुआ है।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • चौक-चौराहों से लेकर व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में चुनावी चर्चा
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 25 अप्रैल ।
    लोकसभा चुनाव निपटने के बाद अब शहर के चौक- चौराहे से लेकर व्यावसायिक संस्थान, सरकारी द तरों में परिणाम को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। वैसे तो भाजपा बनाम गठबंधन दलों के बीच मुकाबला है। इस बार देश में
    किसकी सरकार बनेगी। कोरबा संसदीय सीट पर कौन प्रत्याशी जितेगा इसकी खूब चर्चा है। किसी ने मुकाबला बराबर का बताया तो कोई एकतरफा जीत का दम कर रहा है। 23 मई को परिणाम सामने आने तक आम जनता के बीच यही चर्चा रहेगी।

    मतदान दिवस मंगलवार को शहर का माहौल पूरी तरह चुनावी रहा। सुबह से उत्साह का माहौल था। मतदान केंद्रों के बाहर शाम पांच बजे तक गहमा-गहमी रही। पार्टी, उम्मीदवार व कार्यकर्ता दिन-रात एक कर अधिक से अधिक मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने और अपने पक्ष में वोटिंग कराने जुटे थे। निर्वाचन आयोग के मतदान प्रतिशत को लेकर अपडेट से चिंता भी नजर आई। शाम पांच बजे मतदान समाप्त होने के बाद उन्होंने राहत की सांस ली। अब मशीनें स्ट्रांग
    रूम में कैद हो गई हैं, जो गणना के दिन खुलेंगी। ऐसा नहीं कि मतदान के बाद शहर का चुनावी माहौल खत्म हो गया। बुधवार को मतदान के प्रतिशत व इसके अलावा प्रमुख घटनाएं चर्चा का विषय रहीं। प्रत्याशियों के साथ मतदान केंद्रों में बनाए गए सेल्फी पाइंट, संगवारी केंद्र को लेकर बातचीत हो रही है। सबसे प्रमुख विषय आगामी दिनों में आने वाले परिणाम का रहा। इस दिन का हर किसी को बड़ी बेसब्री से इंतजार है। हर कोई जानना चाहता है कि उनका वोट कितना सार्थक साबित होगा। क्या उन्होंने जिसके पक्ष में मतदान किया, उस पार्टी की सरकार बनेगी। 

    कुछ लोगों को परिणाम कम वोटों के अंतर से आने का भरोसा है। वहीं कई ऐसे भी है, जो माहौल के मुताबिक आंकलन करते हुए परिणाम एकतरफा होने की बात कहते रहे हैं। इनमें ऐसे भी शामिल थे, जिनका मानना था कि नोटा कई जगहों पर समीकरण बिगाड़ सकता है। ये वे लोग हैं, जिन्होंने शुरू से दोनों पार्टी के उम्मीदवारों को नकारते हुए नोटा में बटन दबाने का फैसला कर चुके थे। ऐसे भी थे, जो मतदान प्रतिशत के आधार पर परिणाम की भविष्यवाणी करते रहे।

    चुनाव की आपाधापी खत्म
    टिकट की घोषणा से लेकर मतदान तक एक माह के बीच सुबह की भोर से लेकर देर रात तक भाग दौड़ के बीच आखिरकार प्रत्याशियों को फुर्सत से चाय पीने का मौका मिल गया। दोनों ही भाजपा-कांग्रेस के प्रत्याशियों ने बुधवार को परिवार और समर्थकों के साथ समय बिताया। इसके अलावा विधानसभा वार पड़े वोटों की समीक्षा की। भाजपा प्रत्याशी ज्योतिनंद दुबे ने दोस्तों के साथ नुक्कड़ में चाय पी। अपने मजदूर साथियों व व्यवसायियों के साथ समय बिताया। कांग्रेस प्रत्याशी ज्योत्सना महंत ने भी अपना समय परिवार और मित्रों के साथ बिताया।

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 25 अप्रैल।
    सीतामणी इलाके में बुधवार को दोपहर उस वक्त सनसनी फैल गई, जब एक 12 वर्षीय बच्चे की रक्तरंजित लाश वैष्णो दरबार के पास मिली। पुलिस ने जांच-पड़ताल करते हुए जब संदेह के आधार पर एक अन्य नाबालिग लडक़े से पूछताछ की तो वही हत्यारा निकला। मामूली सी बात को लेकर हुए विवाद में उसने गला घोंटकर मार डालना बताया है।
    जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के सीतामणी स्थित वैष्णो दरबार के पास 12 वर्षीय बालक उत्तम की रक्तरंजित लाश बुधवार दोपहर एक बजे देखी गई। बताया गया कि शनि मंदिर के पास रहने वाली सकुन बाई रोजी-मजदूरी कर अपना व बच्चों का जीवन-यापन करती है। वह रोज की तरह काम पर गई थी जबकि उसका छोटा पुत्र उत्तम अपनी मौसी मालती के साथ वैष्णो दरबार के पास गया था। मालती वैष्णो दरबार के नजदीक छोटेलाल नामक व्यक्ति के द्वारा घर पर ही खोले गए कपड़े की दुकान पर काम करती है और मौसी के द्वारा दुकान में कार्य करने के दौरान उत्तम भी वहां मौजूद था। कुछ घंटे उपरांत उत्तम कहीं नजर नहीं आया। मौसी मालती ने जब तलाश शुरू की तो उसे वैष्णो दरबार के पास उत्तम के पड़े होने की जानकारी मिली। वहां उत्तम को मृत देख मालती चीख पड़ी। आसपास के लोगों ने सूचना पुलिस को दी। 

    कोतवाली पुलिस ने मौके पर जाकर आवश्यक पड़ताल करते हुए जांच शुरू की तो छोटेलाल का 15 वर्षीय पुत्र ही हत्यारा निकला। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि दुकान में दोनों लडक़ों के बीच किसी बात को लेकर विवाद और हाथापाई हो गई थी। अपचारी बालक ने हाथापाई के दौरान उत्तम को मारा और गमछा से गला घोंट दिया। दोपहर के वक्त चूंकि आसपास का इलाका सूना था और इसी सूनेपन में हुए विवाद को किसी ने नहीं देखा तथा सूनेपन का फायदा उठाकर अपचारी बालक ने लाश को कंधे पर रखकर दुकान से कुछ दूर वैष्णो दरबार के पास फेंक दिया। इसके बाद दुकान बंद कर घर चला गया। इधर पुलिस की जांच के दौरान अपचारी बालक घटनास्थल पर ही मौजूद रहकर आसपास घूम रहा था, लेकिन उसके बारे में संदेह होने पर जब हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ की गई तब उसने अपराध करना कबूल कर लिया।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 25 अप्रैल।
    प्रेम को साबित करने के लिए कई बार अग्नि परीक्षा के दौर से भी गुजरना पड़ता है। टीनएजर युवा पीढ़ी हाथों में ब्लेड चलाकर अपनी प्रेम का इजहार करते पहले भी देखे गए हैं, इससे जुदा एक मामला सामने आया है, जिसमें पति ने अपने प्यार का सबूत देने के लिए टंगिया से अपनी उंगली काट कर पत्नी को दे दी। ये पूरा मामला रजगामार चौकी क्षेत्र ग्राम औराई की है।

     यहां रहने वाले मुकुंद की शादी बासीनखार निवासी ज्योति से हुई है। इस दंपत्ति के दो पुत्र भी हैं। एक दिन निजी मामलों को लेकर मुकुंद ने अपनी पत्नी की बेदम पिटाई कर दी। इससे नाराज पत्नी अपने मायके बासीन खार चली गई। उसे मनाने के लिए मुकुंद कई बार अपने ससुराल भी गया, लेकिन पत्नी ने लौटने से इंकार कर दिया। जब ज्योति नहीं मानी तो आखिरकार मुकुंद अपनी रूठी पत्नी को मनाने के लिए लोमहर्षक फैसला लिया। उसने टांगी से अपने
    बाएं हाथ की छोटी उंगली को काट लिया और प्लास्टिक के डिब्बे में उंगली को रखकर 60 किलोमीटर दूर अपने ससुराल बासीनखार साइकिल से पहुंच गया। मुकुंद का पत्नी के प्रति जुनून पहले भी रहा है। उसने शरीर के कई अंगों में गोदना से अपनी पत्नी का नाम लिखवाया है। ससुराल पहुंचने के बाद उसकी पत्नी और ससुराल के अन्य सदस्य घबरा गए और मुकुंद को लेकर रजगामार चौकी पहुंचे। पुलिस ने मुकुंद को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां मुकुंद का प्रथमिक इलाज कर चिकित्सकों ने उसे घर भेज दिया।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 25 अप्रैल।
    मतदान केंद्र दूर होने, वाहन नहीं होने और तेज धूप का बहाना बनाकर न जाने कितने मतदाताओं ने लोकतंत्र के इस महापर्व से खुद को दूर कर लिया। लेकिन जिले के ही सुदूर वनांचल में बसने वाले आदिवासी पहाड़ी कोरवाओं की जीवटता के आगे ये सारे बहाने बौने साबित हुए। कुकरीचोली, खोखराआमा और कासीपानी से सैकड़ों मतदाता न सिर्फ  मतदान करने 11 किमी दूर सतरेंगा पहुंचे, बल्कि यह सफ र नाव में बैठकर पूरा किया। यह पूरा इलाका रामपुर विधानसभा क्षेत्र में आता है। यहां के दर्जन भर गांव के लिए मतदान केंद्र सतरेंगा में स्थापित किया गया था।  गौरतलब है कि इस पूरे क्षेत्र में मतदान को लेकर पहाड़ी कोरवाओं में जबरदस्त जगरुकता है। यहां का औसतम मतदान ही 80 फ ीसदी के करीब आकर ठहरता है। कोरवाओं की सबसे बड़ी समस्या इलाके में नदी पर पुल निर्माण नहीं होना है। कोरवा ग्रामीण बीते तीन दशकों से नदी पर पुल की मांग कर रहे हैं।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    कोरबा, 25 अप्रैल। कोरबा संसदीय क्षेत्र में शामिल कोरबा जिले की चारों विधानसभाओं के सभी मतदान केंद्रों से मतदान दलों की सुरक्षित वापसी हो गई है। 22 अप्रैल को रवाना हुए सभी मतदान दल कल देर रात तक आईटी कालेज पहुंचते रहे।
    मतदान दलों के आईटी कालेज पहुंचने के बाद ईवीएम मशीनों को जमा करने,विभिन्न प्रपत्रों एवं जानकारियों का मिलान करने के बाद सीलबंद मशीनों को चारों विधानसभावार स्ट्रांगरूमों में रखा गया है। मशीनों एवं अन्य सामानों को जमा करने में प्रेक्षक जितेन्द्र उपाध्याय, अजय कुमार शुक्ला, कलेक्टर किरण कौशल, एडीएम प्रियंका महोबिया सहित जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी अलसुबह तक आईटी कालेज में तैनात रहे। सुबह करीब आठ बजे राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के समक्ष स्ट्रांग रूम में सभी मशीनों को रखकर स्ट्रांग रूम को सील किया गया। अब यह स्ट्रांग रूम 23 मई को मतगणना के दिन ही राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों और अधिकारी-कर्मचारियों की उपस्थिति में खोला जाएगा।

        आईटी कालेज के प्रथम तल पर चारों विधानसभाओं के लिए अलग-अलग स्ट्रांग रूम बनाये गये हैं। स्ट्रांग रूमों में रखी गई ईवीएम मशीनों की चाक-चौबंद सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के आंतरिक घेरे में कलेक्टर से लेकर किसी भी अधिकारी, कर्मचारी या किसी भी व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहेगा। सबसे आंतरिक घेरे में केवल मु य निर्वाचन पदाधिकारी की अनुमति से ही प्रवेश हो सकेगा। दूसरे घेरे में सुरक्षा कर्मियों के रहने की भी व्यवस्था होगी। दूसरे घेरे के बाहर राजनैतिक दल के प्रतिनिधियों के रुकने या सोने की समुचित व्यवस्था होगी। मशीनों की सुरक्षा में एसएसबी
    पैरा मिलिट्री फोर्सेस की पूरी कंपनी तैनात की गई है। जिला पुलिस के अधिकारी और कर्मचारी भी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। चारों स्ट्रांग रूमों के बाहर परिसर पर फोकस किये हुए सीसीटीवी कैमरों से किसी भी गतिविधि पर बारीक नजर रखी जायेगी। इसके साथ ही सीसीटीवी कैमरों के डिस्प्ले 24 घंटे राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के रुकने वाली जगह पर प्रदर्शित होते रहेंगे। सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग प्रतिदिन आधार पर सुरक्षित की जायेगी। केवल पास धारक व्यक्तियों को ही सुरक्षा के द्वितीय घेरे तक जाने की अनुमति होगी।

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • कई ट्रेनों में रिजर्वेसन वेटिंग की लंबी लिस्ट

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 25 अप्रैल।
     भीषण गर्मी के कारण कई स्कूलों में छुट्टियां लग चुकी है, वहीं कई स्कूल अभी भी खुल रहे है, जिन स्कूलों में अभी छुट्टियां नहीं लगी है उन स्कूलों में भी चालू माहांत तक छुट्टियां लग जाएगी। गर्मी की छुट्टियां लगते ही ट्रेनों में भी भीड़ बढ़ गई है। बच्चे अपने परिजनों के साथ गर्मी की छुट्टियां मनाने दूसरे राज्यों के विभिन्न धार्मिक व पर्यटक स्थलों में जाते है तो कोई अपने रिश्तेदारों के यहां घुमने जाते है। इसके लिए कई लोगों ने पहले से ही ट्रेनों में रिजर्वेसन करा रखे है, जिसके चलते लंबी दूरी की कई ट्रेनों में रिजर्वेसन की वेटिंग लिस्ट बढ़ी हुई है। 

    गर्मी के दिनों में स्कूलों में छुट्टियां जैसे ही लगती है वैसे ही लंबी दूरी की टे्रनों में भी भीड़ बढ़ जाती है, जिसके चलते ट्रेनों में लोगों को कन्फर्म टिकट नहीं मिल पाता। छत्तीसगढ़ से होकर अन्य राज्यों में जाने वाली ज्यादातर ट्रेनों इन दिनों हाउस फूल चल रही है। टे्रनों में रिजर्वेसन कराने पहुंच रहे लोगों को कन्फर्म टिकिट नहीं मिल पा रही है। खासकर छत्तीसगढ़ से अमृतसर, जम्मू जाने वाली ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट बढ़ी हुई है। इसके अलावा पटना, बिहार जाने वाली ट्रेेनें भी हाउस फूल चल रही है, जो लोगों की परेशानी का कारण बना हुआ है, हालांकि गर्मी के दिनों में टे्रनों में होने वाली भीड़  को देखते हुए रेलवे प्रशासन द्वारा कई ट्रेनों में अतिरिक्त कोच की व्यवस्था करती है जिससे यात्रियों को असुविधा से बचाया जा सके। 

    चुनावी ड्यूटी से नहीं लौटे बस
    लोकसभा चुनाव के लिए यात्री बसों के अलावा अन्य सवारी वाहनों को अधिग्रहित किया गया है, मंगलवार को चुनाव संपन्न होने के बाद भी बुधवार तक अधिग्रहित बसें नहीं लौटी है। वहीं जो गिनती की बसें चल रही है वह भी बारात के लिए बुक है। जिसके कारण बस में यात्रा करने वालों को परेशानी हो रह है। शादी के सीजन में आवागमन के लिए यात्रियों को बस एवं अन्य साधन नहीं मिलने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

    चुनावी अधिग्रहण एवं बारात के लिए बुक हो जाने के कारण लोगों को बस नहीं मिल सकी। जो लोग किराए पर कार या अन्य चार पहिया वाहन लेना चाह रहे थे उनको भी हताश होना पड़ा। बाहर जाने के लिए घर से निकले लोगों को हलाकान होना पड़ा। अधिकांश बसें बारात के लिए बुक कर ली गई थीं। इसलिए नियमित रूट पर बसों का टोटा रहा। जो इक्का-दुक्का बसें चलीं भी, उनमें पैर रखने के लिए भी जगह नहीं थी। लोग बस स्टॉप पर खड़े वाहनों का इंतजार करते रहे, लेकिन उन्हें कोई साधन नहीं मिला। जीप व आटो वालों ने इस मजबूरी का जमकर फायदा उठाया। लोगों ने ट्रकों में भी यात्रा की। 

    यात्री ट्रेनों पर भी इसका असर साफ दिखाई दिया।  बस स्टैंड में वीरानी छाई बसों के शादी में बुक हो जाने से जिला मुख्यालय के बस स्टैंड में विरानी छाई रही। यहां से शिवरीनाराण, खरौद ,केरा रोड , चांपा, अंबिकापुर सहित दीगर स्थानों के लिए एक दर्जन बसें चलती हैं। बस स्टैंड में शिवरीनारायण एवं चांपा की ओर जाने के लिए यात्रियों की भीड़ लगी हुई थी, लेकिन बसे नहीं आने से यात्रियों ने दूसरे साधनों का उपयोग किया।

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरबा, 24 अप्रैल।
     गत 23 अप्रैल को कोरबा लोकसभा सीट के लाखों मतदाताओं ने अपना जनादेश ईवीएम में कैद कर दिया। वोटिंग के बाद जहां कल विधानसभावार मतदान प्रतिशत जारी किया गया था, वहीं अब पोलिंग बूथों का मतदान प्रतिशत भी सामने आने लगा है। 

    भाजपा प्रत्याशी ज्योतिनंद दुबे के गृहनगर दीपका के एक पोलिंग बूथ में महज 32.6 फीसदी वोट पड़े है जिसे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी है। हाांकि इस बूथ पर गत िधानसभा चुनाव से 4.6 फीसदी मतदान अधिक हुआ है। विधानसभा चुनाव में 28 फीसदी मतदान हुआ था। नगर पालिका दीपका क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 14 वीरसावरकर नगर में बनाए गए बूथ क्रमांक 122 में कुल 1320 मतदाता पंजीकृत है। इसमें एसईसीएल के प्रगति नगर कॉलोनी का आधा हिस्सा और खदान क्षेत्र शामिल हैं। इसमें 389 महिला और 931 पुरूष मतदाता शामिल हैं। जिनमें से 161 महिलाओं एवं 264 पुरूष मतदाताओं ने मतदान किया है। इस तरह 32.6 फीसदी मतदान के साथ इस बूथ में अलग तरह का रिकॉर्ड कायम हुआ है। 

    दिलचस्प बात यह है कि पोलिंग बूथ की दूरी प्रगति नगर से तो ज्यादा नहीं है लेकिन निजी कंपनी में कार्यरत कर्मचारी मतदाताओं को जो पोलिंग बूथ दिया गया है वह मतदान केन्द्र काफी दूर है। माना यह जा रहा है कि इसी दूरी के कारण इस बूथ में कम मतदान हुआ है। दीपका क्षेत्र से मजदूर नेता ज्योतिनंद दुबे को भाजपा ने टिकट दिया है, इस लिहाज से खासकर दीपका क्षेत्र में स्थानीय प्रतिनिधि होने के कारण बंफर वोटिंग की संभावना व्यक्त की जा रही थी। परंतु उक्त पोलिंग बूथ में कम मतदान का अनूठा रिकॉर्ड बनाकर नई राजनीतिक चर्चा को जन्म दे दिया है।

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कोरबा, 24 अप्रैल। कोरबा संसदीय सीट के लिए मतदान की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है। इस सीट के लिए जिले के कटघोरा, रामपुर, कोरबा एवं पाली तानाखार विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्थाओं के बीच मतदान संपन्न हो गया। मतदान दल ईवीएम में कैद जनादेश को लेकर स्ट्रांग रूम लौट चुके हैं, वैधानिक प्रक्रिया के बाद स्ट्रांग रूम में ईवीएम को मतदान दलों ने रखा। ईव्हीएम में डाले गए वोटों की गिनती 23 मई को की जाएगी। तब तक के लिए इन मशीनों को आईटी कॉलेज स्थित स्ट्रांग रूम में बंद कर दिया गया है। मतदान संपन्न होने के बाद वोटिंग मशीनों व व्हीव्ही पेट को पोलिंग पार्टियां लेकर झगरहा आईटी कॉलेज पहुंची तथा वहां बनाए गए स्ट्रांग रूम में जमा किया। पोलिंग पार्टियोंं के आने का सिलसिला देर शाम से ही शुरू हो गया था जो रात तक चला। इस दौरान पोलिंग पार्टियां स्ट्रांग रूम पहुंचकर मशीनों को जमा करते रहे। चुनाव में डाले गए वोटों की गिनती 23 मई को की जाएगी। तब तक ईव्हीएम व व्हीव्हीपेट स्ट्रांग रूम में सुरक्षाबलों की निगरानी में कैद रहेगी। मतगणना दिवस इसे बाहर निकाला जाएगा और वोटों की गिनती होगी। ज्ञात रहे कि लोकतंत्र के महापर्व में जिले के मतदाताओं ने 23 अप्रैल को काफी उत्साह पूर्वक हिस्सा लिया और लगभग 73.15 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग कर प्रत्याशियों के भाग्य को ईव्हीएम में कैद किया। रामपुर में 77.53 फीसदी, कोरबा में 67.17, कटघोरा में 74.25 व  पाली तानाखार में 71.36 प्रतिशत वोट पड़े है, जबकि मतदान का प्रतिशत कोरिया जिले के भरतपुर- सोनहत में 76.95, मनेंद्रगढ़ में 70.25, बैकुण्ठपुर में 76 तथा बिलासपुर के मरवाही विधानसभा क्षेत्र में 73 प्रतिशत रहा। कोरिया व बिलासपुर जिले के ईव्हीएम को संबंधित जिला मुख्यालयों के स्ट्रांग रूम में रखा गया है।
    ——--

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 24  अप्रैल।
    स्टेट बैंक के अधिकारी के नाम से फोन कर पहले तो एटीएम कार्ड ब्लॉक करने का झांसा दे गोपनीय सूचनाएं प्राप्त करने के साथ ठगी की घटनाएं अब पुरानी हो चुकी है। ऐसे मामलों में शिकायत होने पर पकड़ाने के बाद गिरोह ने दिशा बदली है। डीजे बुकिंग करने के नाम से अब गिरोह अपना काम कर रहा है। कोरबा के कई संचालकों को हजारों की चपत लग चुकी है। रामपुर पुलिस के पास ऐसी शिकायतें आयी है। संचालकों को पुलिस ने सचेत किया है।

    यह खबर डीजे सिस्टम पर काम करने वाले संचालकों के लिए महत्वपूर्ण हो सकती है। शादी, विवाह, बर्थडे पार्टी और विभिन्न प्रकार के रैलियों में डीजे की सेवा देने वाले संचालकों को अपरिचित व्यक्ति की ओर से आए फोन कॉल को रिस्पांस देना घाटे का सौदा हो सकता है। कोरबा नगर और आसपास के क्षेत्र में एक हफ्ते के भीतर कई लोग लंबा नुकसान कर बैठे। आईटीआई रामपुर क्षेत्र के रहने वाले किशन यादव के द्वारा कृष्णा डीजे का संचालन किया जाता है। दो दिन पहले उसके पास कॉल आया। संबंधित व्यक्ति ने डीजे बुक करने की बात कही। ऑनलाइन ट्रांजक्शन के जरिए संचालक को झांसे में लिया। इस खेल को यादव समझ नहीं पाये।

     कुछ देर बाद उसके मोबाइल पर संदेश आया जिसमें जानकारी दी गई कि खाते से 10 हजार रुपए की कटौती हो गई है। अन्य व्यक्ति के जरिए जब कॉलर को फोन किया गया तब पता चला कि वह कोरबा क्षेत्र का नहीं बल्कि दूरदराज का है और उसके द्वारा ठगी के लिए नया तरीका इजाद किया गया है। ट्र्रू कॉलर के माध्यम से नंबर तलाशा गया जिसमें उसकी लोकेशन राजस्थान की दर्शायी गई। संबंधित ने अपने नाम के स्थान पर आर्मी फीड कर रखा है। उसने स्वीकार किया कि कोरबा क्षेत्र के कई लोगों को अब तक ठगा जा चुका है और इस तरह का खेल आगे भी जारी रहेगा। पीडि़त डीजे संचालक किशन यादव की ओर से मामले की लिखित शिकायत रामपुर चौकी में की गई है। पुलिस ने शिकायत को जांच में लेने की बात कही है।

    सुर्खियों में रहा जामताड़ा गिरोह
    कोरबा जिला सहित अनेक इलाकों के लोगों को आर्थिक चपत लगाने का काम झारखंड के चर्चित जामताड़ा गिरोह ने पिछले वर्षों में किया। एटीएम कार्ड ब्लॉक होने का भय दिखाकर गिरोह ने गोपनीय जानकारी लेकर खाते से काफी रकम उड़ायी। गिरोह के कई सदस्यों को कोरबा पुलिस ने दबोचा भी।

    डीजे संचालकों को किया सचेत
    डीजे बुकिंग के नाम पर ठगी करने की घटनाएं हो रही है। पुलिस को इस तरह की शिकायत मिली है। इस आधार पर क्षेत्र के सभी डीजे संचालकों को सचेत किया गया है। उन्हें कहा गया है कि मोबाइल पर डीजे बुक करने के आशय से आने वाले फोन को गंभीरता से न लें और मामलों की पुष्टि करें। ऐसा करने पर लोग ठगी का शिकार होने से बच सकेंगे।
    -अशोक शर्मा, चौकी प्रभारी रामपुर

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    कोरबा, 24 अप्रैल। एसईकेएमसी का आईआर एसईसीएल प्रबंधन ने चालू कर दिया है। इंटक से संबद्धता प्राप्त होने के कारण एसईकेएमसी को आईआर का दर्जा दिया है। जिसके खिलाफ में केकेएस ने स्थगन के लिए याचिका लगायी है। हाईकोर्ट में याचिका लगने के बाद विरोधी पार्टी से जवाब मांगा है। जिसके बाद ही स्थगन के मामले में सुनवाई होगी। केकेएस ने तत्काल स्थगन देने की मांग की थी। लेकिन हाईकोर्ट ने मना करते हुए अन्य विरोधी पक्षों से जवाब मांगने के बाद सुनवाई की बात कही है। इस संबंध में केकेएस का कहना है कि उसका संगठन भी इंटक से संबद्धता प्राप्त है। इसलिए केकेएस को आईआर मिलना चाहिए। इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. संजीवा रेड्डी ने संबद्धता दिया है। जबकि इधर एसईकेएमसी को इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष महाबल मिश्रा ने संबद्धता प्रदान की है।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • मतदान शांतिपूर्ण, लौटे दलों का फूल देकर कलेेक्टर ने किया स्वागत

    चंद्रकांत पारगीर
    बैकुंठपुर, 24 अप्रैल  (छत्तीसगढ़ ) ।
    लोक सभा निर्वाचन  2019 के लिए तृतीय चरण का मतदान 23 अपै्रल को कोरिया जिले में शंांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करा लिया गया। जिले के तीनों विधान सभा क्षेत्र से मतदान दलों के वापसी पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कोरिया ने गुलाब फूल देकर स्वागत किया गया। देर रात तक जिला मुख्यालय बैकुठपुर के शा आदर्श रामानुज हासे स्कूल में मतदान दलों का आना लगातार जारी रहा। जैसे जैसे मतदान दल पहुॅचते रहे वैसे वैसे सामग्री जमा करने की प्रक्रिया पुरी करने में जुट गये। दूसरे दिन तडके तक सामान का कार्य चलता रहा। जिले में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न होने पर प्रशासन ने राहत की सांस लेने के साथ ही मतदान दलों को धन्यवाद दिया। 

    कोरबा लोक सभा संसदीय क्षेत्र क्रमांक 4 के अंतर्गत कोरिया जिले के तीनों विधान सभा क्षेत्र क्रमांक भरतपुर सोनहत, मनेंद्रगढ तथा बैकुण्ठपुर आते है। बीते लोक सभा चुनाव 2014 की तुलना में इस बार मतदान प्रतिशत कम रहा। जानकारी के अनुसार बीते लोक सभा चुनाव  2014 की तुलना में भरतपुर सोनहत व बैकुण्ठपुर विधान सभा क्षेत्र में इस बार मतदान प्रतिशत कम रहा जबकि मनेंदगढ विधान सभा क्षेत्र में मतदान प्रतिशत थोडा बढ़ा  है। जिसके कई वजह हो सकती है जिनमें से एक इस दौरान तेज गर्मी भी प्रमुख कारणों में से एक है इसके अलावा महुआ व विवाह का सीजन भी प्रमुख कारणों में से एक है। जानकारी के अनुसार पिछले लोक सभा चुनाव 2014 में भरतपुर सोनहत विधान सभा में 79.85 प्रतिशत मतदान हुआ था जबकि इस बार यह घटकर 66.34 प्रतिशत हो गया।

     मनेंद्रगढ़ विधान सभा क्षेत्र में बीते लोक सभा में 68.85 प्रतिशत तथा इस बार पिछली बार की तुलना में पॉच प्रतिशत की बढोतरी होकर 68.90 प्रतिशत पहुॅचा। वही बैकुण्ठपुर विधान सभा क्षेत्र में वर्ष  2014 के लोक सभा में 74.80 प्रतिशत मतदान हुए थे लेकिन इस बार यह प्रतिशत गिरकर  69.27 प्रतिशत हो गया। जिला प्रशासन द्वारा स्वीप कार्यक्रम के तहत पूरे जिले में मतदाता जागरूकता अभियान चलाया गया इसके बाद भी मतदान प्रतिशत बीते लोस चुनाव की तुलना में बढऩे की बजाय घट गया है। 
    इस बार मतदान तिथि के आस पास विवाह के मुहूर्त भी रहे जिसके चलते मतदान पर असर हुआ इसके अलावा महुआ का सीजन साथ ही तेज गर्मी के कारण भी मतदान कम हुआ। जानकारी के अनुसार जिले के मतदान केंद्रों में सुबह के निर्धारित समय पर लोग अपने अपने मतदान केंद्रों में पहुॅच गये थे और पूर्वान्ह 11 बजे तक केंद्रों में भीड लगी रही लेकिन इसके बाद मतदान केंद्रों में  ईक्का दुक्का लोग पहुॅचने लगे। वोटिंग प्रतिशत शुरूआती कुद धंटों के दौरान ही हुआ है। इससे स्पष्ट है कि धूप की वजह से मतदान प्रभातिव हुआ अन्यथा मतदान का प्रतिश बढता हालांकि प्रशासन के द्वारा कई मतदान केंद्रों में छाया के लिए टेंट की व्यवस्था की गयी है लेकिन अनेक मतदान केंद्र ऐसे भी रहे जहॉ खुले आसमान के नीचे मतदाताओं को लाईन में खडा होना पड रहा था। मतदान प्रक्रिया के दौरान लाईन में लोग धूप के बावजूद खडे हुए थे धूप बढऩे के बाद केंद्रों  मतदाताओं की कतार लगनी बंद हो गई थी।

    विस चुनाव में हुई थी जमकर वोटिंग 
    कोरिया जिले में पॉच महीने पहले विधान सभा चुनाव 2018 के दौरान  जिले के तीनो विधान सभा क्षेत्र में जमकर वोटिंग हुई लेकिन लोक सभा में विभिन्न वजहों से मतदान प्रतिशत कम रहा। जानकारी के अनुसार जिले के भरतपुर सोनहत विधान सभा क्षेत्र जो क्षेत्रफल की दृष्टी से सबसे बडा विस क्षेत्र है जहॉ विधान सभा चुनाव  2018 के दौरान 84 प्रतिशत वोटिंग हुई थ्ीा। इसी तरह दूसरे नम्बर पर बैकुण्ठपुर विधान सभा क्षेत्र रहा जहॉ 81 प्रतिशत तथा तीसरे नम्बर पर मनेंद्रगढ विधान सभा क्षेत्र में 74 प्रतिशत मतदान हुआ था। उस दौरान ठण्ड का मौसक होने के कारण मतदाताओं की कतार धूप में भी लगी रही लेकिन इस दौरान धूप की वजह से मतदाता कतार में नही लगे जिसके चलते दोपहर होने के साथ ही जिले के अधिकांश केंद्रों में विरानी छायी रही केवल सुबह के कुछ घंटों तक केंद्रों में कतार व मतदाताओ में उत्साह देखा गया। 

    मतदान को लेकर जिले की कुछ रोचक घटनाएॅं
    लोक सभा चुनाव  2019 के अंतर्गत गत  23 अपै्रल को कोरबा लोक सभा संसदीय क्षेत्र क्रमांक 4 के तहत कोरिया जिला आता है जिसके तीनों विधान सभा क्षेत्र. में मतदान हुआ। इस दौरान जिले में कुछ रोचक घटनाएॅ भी हुई जो सुर्खियों मेे है। जानकारी के अनुसार कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधान सभा क्षेत्र में दो मतदान केंद्र झोपडी में अस्थाई तौर से बनाये गये जिसमे से एक शेराडॉड मतदान केंद्र तथा एक अन्य शामिल है। शेराडॉड मतदान केंद्र क्रमांक 143 में सिर्फ चार मतदाता ही है यह प्रदेश का सबसे छोटा मतदान केंद्र है यहॉ एक ही परिवार के तीन सदस्य तथा एक वन कर्मी मतदाता के रूप में दर्ज है। भरतपुर सोनहत विधान सभा क्षेत्र में ही मतदान केंद्र क्रमांक 139 कॉटो में मतदाताओं की संख्या एक दर्जन से कम है यहॉ मात्र  11 मतदाता ही है जिनमें से 10 मतदाताओं ने वोट दिये। इसी तरह भरतपुर सोनहत विधान सभा क्षेत्र में रेवला मतदान केंद्र में कुल मतदाताआं की संख्या 19 है। जिले में सिर्फ शेराडॉड मतदान केंद्र में 100 प्रतिशत मतदान हुआ। यहॉ जितने मतदता है उससे कही ज्यादा मतदान दल के अधिकारी शामिल रहे। इसके अलावा जिले के खडगवॉ विकासखंड अंतर्गत ग्राम कोचका में दो सगी बहन साधना व रचना का विवाह  22 अपै्रल की रात्रि में हुआ और दूसरे दिन  23 अप्रेल को विदाई के पूर्व दोनों ने शादी के जोडे में ही मतदान केंद्र पहुॅच कर मतदान कर यह संदेश दिया कि देश के भविष्य के लिए मतदान कितना जरूरी है।  

    केंद्र में सेल्फी पर मतदान अधिकारी निलंबित
    कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ विधान सभा क्षेत्र अंतर्गत मतदान केंद्र क्रमांक 148 बडा बाजार चिरमिरी में एक मतदान अधिकारी को मतदान केंद्र के अंदर सेल्फी लेना भारी पड गया। जानकारी के अनुसार इस मतदान केंद्र मे मतदान अधिकारी क्रमांक  3 संदीप शर्मा मॉक पोल  के दौरान ईव्हीएम में दूसरे नम्बर का बटन दबाते हुए सेल्फी लेकर सोशल मीडिया वाट्स अप के एक ग्रुप में डाल दिया जिसकी जानकारी प्रशासन तक पहॅॅुच गयी जिसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने पदीय कर्त्तव्यों के निर्वहन में लापरवाही बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इसके अलावा शिकायत यह भी रही कि कई मतदान केद्र में अंदर मोबाईल प्रतिबंध लगने के बावजूद कई मतदाता मतदान केंद्र के अंदर तक मोबाई्रल लेकर गये तथा मतदान के पश्चात वही पर सेल्फी भी ली। 

    भारी मतों से जीतेगी भाजपा-देवेंद्र तिवारी
    23 अपै्रल को मतदान समाप्ति पश्चात भाजपा के जिला महामंत्री देवेंद्र तिवारी ने कहा कि इ बार भाजपा फिर भारी मतों से जीत दर्ज करेगे। उन्होने विश्वास भरे लहजे में कहा कि जिस तरह से लोगों में वोटिंग के लिए उत्साह देखा गया वह भाजपा के पक्ष में रहा। उन्होनें कहा कि देश में नरेंद्र मोदी सरकार  को लेकर लोगो का नजरियॉ साफ है और लोगों में विश्वास है। यही कारण है कि इस बार फिर कोरबा संसदीय सीट भाजपा जीत रही है और जिले के तीनों विधान सभ क्षेत्र में भारी लीट से जीत दर्ज करेंगे। 
    ज्ीत कांग्रेस की होगी, ज्योत्सना महंत होगी अगली सांसद- शैलेन्द्र सिंह
    मतदान के बाद कांग्रेस के महामंत्री शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि जनता का रूख बताता है कि कांग्रेस बडे अंतर से कोरबा संसदीय सीट जीतने वाली है, जनता को कांग्रेस का तीन माह का कार्यकाल भाया है, लोगों ने मतदान ने बढचढ कर हिस्सा लेकर कांग्रेस की प्रत्याशी ज्योत्सना महंत को जीत दिलाने में कोई कसर नहीं छोडी है, 23 मई को इसका पता चल जाएगा।

    कई कर्मचारी मतदान से  वंचित
    तीसरे चरण के लोक सभा चुनाव में कई शासकीय कर्मचारी अपने मताधिकार  का प्रयोग करने से वंचित रह गये। जबकि प्रशासन के द्वारा मतदाता जागरूकता के लिए स्वीप कार्यक्रम चलाकर लोगों को ज्यादा से ज्यादा मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करते रहे। सूत्रों से जानकारी के अनुसार रिजर्व दल में शामिल किये गये जिन्हे प्रथम बार के प्रशिक्षण में सूची में नाम नही था जबकि अंतिम व दूसरे प्रशिक्षण कार्यक्रम 16 अपै्रल को उन्हे बुलाया गया। इसके पूर्व पहले चरण के प्रशिक्षण के दौरान ही इलेक्शन ड्यूटी सर्टिफिकेट के लिए फार्म भराये गये थे दूसरे चरण में ऐसा नही किया गया। जिसके चलते सिर्फ दूसरे चरण के चुनाव प्रशिक्षण में पहुंचने वाले रिजर्व दल के कर्मी को ईडीसी जारी नहीं हो सका और चुनाव तिथि के एक दिन पूर्व रिजर्व दल ड्यूटी में लग गये जिन्हे सेक्टर आफिसर अपने साथ ले गये तथा कुछ जगहों पर रिजर्व दल को रखा गया जिन्हे ईडीसी जारी नही होने के कारण मतदान से वंचित रहे। इसके अलावा मतदान दल के कई कर्मियों को पोस्टल बैलेट भी जारी नहीं होने की शिकायते हंै। 

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा।
    लोकतंत्र के महापर्व में वोटों की आहूति देने मतदाताओं का भारी उत्साह नजर आया। घड़ी के कांटों ने जैसे ही सुबह 7 बजने का इशारा किया इसके साथ ही कोरबा संसदीय क्षेत्र के मतदान केन्द्रों में मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। संसदीय क्षेत्र के 15 लाख से अधिक मतदाताओं ने अपनी पसंद का सांसद चुनने भारी उत्साह दिखाया। युवा, बुजुर्ग व महिलाओं सहित हर वर्ग ने मतदान में बढ़-चढकऱ हिस्सा लिया। शुरूआत में मतदान का प्रतिशत कम रहा। जैसे-जैसे समय बीतता गया मतदान का प्रतिशत बढ़ता गया। दोपहर 1 बजे तक कोरबा लोकसभा क्षेत्र के आठों विधानसभा क्षेत्र को मिलाकर 39.17 प्रतिशत मतदान हो चुका था। जिसमें कोरबा जिला के रामपुर विधानसभा में 44.73, कोरबा विधानसभा में 40.05, कटघोरा विधानसभा में 46.67 एवं पाली-तानाखार में 34.49 प्रतिशत मतदान हो चुका था। कोरबा जिले के चारों विधानसभा में दोपहर 1 बजे तक 41.48 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। वहीं कोरबा लोकसभा क्षेत्र के मरवाही में दोपहर 1 बजे तक 33.46, भरतपुर-सोनहत में 33 प्रतिशत, मनेन्द्रगढ़ में 41 प्रतिशत, बैकुंठपुर में 40 प्रतिशत मतदान हुआ था। मतदान के शुरूआती पहले दो घंटे में 10.36 प्रतिशत मतदान हुआ था। 9 बजे के बाद मतदान प्रतिशत में तेजी आई। 11 बजे तक कोरबा लोकसभा क्षेत्र में 23.25 प्रतिशत मतदान हुआ। जिसमें रामपुर में 24.45, कोरबा में 25.75, कटघोरा में 20.69, पाली-तानाखार में 21.27, भरतपुर-सोनहत में 17, मनेन्द्रगढ़ में 25, बैकुंठपुर में 23 एवं मरवाही में 28 प्रतिशत मतदान हुआ था। शुरूआत में जिले के चार में से तीन विधानसभा क्षेत्र कोरबा कटघोरा, रामपुर में सुबह से मतदाताओं ने कतार लगाकर उत्साहपूर्वक मतदान शुरू किया, जबकि पाली तानाखार क्षेत्र में मतदान की शुरूआत निराशाजनक रही। मतदान केन्द्रों के बाहर सुरक्षा के तगड़े इंतजाम देखने को मिले। जिले में चुनाव के दौरान कोई अप्रिय स्थिति की घटना नहीं हुई। जिला निर्वाचन अधिकारी किरण कौशल सहित एसपी जितेन्द्र सिंह मीणा मतदान केन्द्रों में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे।

    देर से शुरू हुआ मतदान
    पंप हाउस के मतदान केंद्र क्रमांक 76 समेत करीब आधा दर्जन मतदान केंद्रों में ईव्हीएम में खराबी आने से मतदान में विलंब हुआ। धूप में खड़े इमलीडुग्गू में नाराज लोगो ने हंगामा भी किया। मतदान केंद्र 193 की ईव्हीएम मशीन में आई खराबी की वजह से 2 घंटे से मतदाता कतार में खड़े रहे।यहां 7.20 बजे मतदान शुरू हुआ था। कुछ लोगों के वोट के देने के बाद मशीन खराब हो गई, इसे सुधारने का प्रयास किया गया पर नहीं सुधरी, दूसरी मशीन आने के बाद मतदान शुरू हो सका। उधर छिंदपुर में ईव्हीएम खराब होने से आधा घंटा मतदान रुका रहा, विकास नगर कुसमुंडा में भी यही आलम रहा। कटघोरा मोहनपुर बूथ क्रमांक एक में काम मशीन खराब होने के कारण 2 घंटे बाद मतदान शुरू हुआ।

    ज्योत्सना ने दोहराया समग्र विकास का संकल्प 
    कोरबा लोकसभा क्षेत्र कांग्रेस के सांसद प्रत्याशी श्रीमती ज्योत्सना चरण दास महंत ने लोकतंत्र के इस महापर्व में अपनी आहुति देते हुए मतदान कर कोरबा लोकसभा के समग्र विकास के संकल्प को फिर एक बार दोहराया। श्रीमती महंत ने कहा कि कोरबा,कोरिया,बिलासपुर जिले में पडऩे वाले आठों विधानसभा कोरबा,कटघोरा,रामपुर,पाली तानाखर,मरवाही, मनेंद्रगढ़, भरतपुर सोनहत, बैकुंठपुर,के मतदाताओं में खासा उत्साह और शांति पूर्वक हो रहे मतदान पर संतोष जताया। हालांकि वह खुद व उनका परिवार उनको वोट नहीं दे पाया। क्योंकि उनका मतदाता क्षेत्र जांजगीर-चांपा जिला है।

    झलकियां
    0 पाली-तानाखार विधानसभा क्षेत्र के ग्राम केराकछार में ईवीएम में खराबी आने के कारण एक घंटा 40 मिनट विलंब से सुबह 8.40 बजे मतदान प्रक्रिया शुरू हुई।
    0 कोरबा विधानसभा के टीपी नगर स्थित साडा कन्या स्कूल मतदान केन्द्र क्रमांक 174 के ईवीएम में आई खराबी।
    0 झगरहा स्थित दिव्यांग मतदान केन्द्र को तिरंगा रंग के गुब्बारों से सजाया गया। 
    0 जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने दिव्यांग एवं अन्य मतदान केन्द्रों का किया निरीक्षण।
    0 रामपुर विधानसभा के मतदान क्रमांक 235 में 95 वर्षीय देवमति ने पहला वोट डाला।
    0 जिला पंचायत कोरबा सीईओ इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल ने कतारबद्ध होकर मतदान उपरांत युवाओं को किया प्रेरित।
    0 भाजपा प्रत्याशी ज्योतिनंद दुबे ने गृहनगर दीपका में सपरिवार उपस्थित होकर मतदान किया।
    0 जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती किरण कौशल एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियंका ऋषि महोबिया ने कतारबद्ध होकर किया मतदान।

    0 राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, महापौर रेणु अग्रवाल ने सपरिवार कतारबद्ध होकर मतदान किया। 
    0 कई मतदान केन्द्रों में दिव्यांग मतदाताओं को नहीं मिली व्हीलचेयर।
    0 भीषण गर्मी व तेज धूप के बाद भी मतदान केन्द्रों के बाहर लगी रही लंबी भीड़।

    13 प्रत्याशी मैदान में
    कोरबा लोकसभा सीट में 13 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि भाजपा प्रत्याशी ज्योतिनंद दुबे एवं कांग्रेस प्रत्याशी ज्योत्सना महंत के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है। इसके अलावा चुनावी मैदान में बसपा से परमित सिंह, एआरपीआई से चंद्रभूषण कंवर, भापंपा से राजकुमार यादव, भाभूपा से राजेश पाण्डेय, भाट्रपा लीलांबर सिंह, राजपा से सुमन लाल खाण्डे, निर्दलीय दीपक साहू, प्रमोद शर्मा, रामदयाल उरांव और लखनलाल देवांगन अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। कोरबा संसदीय क्षेत्र के 15.7 लाख मतदाता इनकी किस्मत का फैसला कर चुके हैं।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 23 अप्रैल।
    लोकतंत्र की मजबूती के लिए वोट देना कितना महत्वपूर्ण होता है । यह शायद जिले के दिव्यांग मतदाता बखूबी जानते है।  लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने का जज्बा लेकर दिव्यांग लक्ष्मी नारायण निषाद, रुकमणी बरेठ और सुनीता गुप्ता ने आज सुबह होते ही अपनी-अपनी ट्रायसिकल निकाली और बिना देर किए अपना बहुमूल्य वोट डाल आये।

    आमतौर पर जहा कुछ सामान्य मतदाता जो किसी प्रकार से दिव्यांग नही होते वो आज के दिन अपना वोट डाल कर घर में आराम फरमाते है, ऐसे में इन दिव्यांग मतदाताओं द्वारा खुद अपना फर्ज निभाकर अपने दिव्यांग साथियों को वोट डालने की अपील अपने आप में प्रेरणादायक है। कोरबा जिला के दिव्यांग लक्ष्मी नारायण निषाद  ने मतदान दिवस को प्रात: ही अपना वोट अपने मतदान केंद्र पम्प हाउस कॉलोनी में डाला। बचपन से ही पैर नि:शक्त होने के बावजूद उसने कभी भी मतदान करना नही छोड़ा। हर बार अपना वोट जरूर डालते है। उसने बताया कि कई दिव्यांग साथियों को मतदान केंद्र में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी नहीं होती, ऐसे साथियों को मतदान केंद्र में व्हील चेयर, रैम्प आदि व्यवस्था के संबंध में बताते हैं।   पोड़ी बाहर वार्ड की सुनीता गुप्ता ने बताया कि वह भी दोनों पैर से नि:शक्त है। जब से उसे मालूम हुआ कि मतदान करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और दिव्यांगो के लिए विशेष व्यवस्था होती है तब से वह वोट डालने से नही चूकती। अपने ट्रायसिकल से मतदान केंद्र पहुँचकर न सिर्फ वोट डाली। घूम घूम कर वह अपने साथियों को मतदान करने प्रेरित भी कर रही थी। बुधवारी वार्ड निवासी रुकमणी बरेठ ने बताया कि उसने अब तक तीन बार मतदान किया है। आज अंधरी कछार स्कूल के बूथ में मतदान करने पहुँची रुकमणी ने बताया कि वोट डालकर एक अलग खुशी का अहसास हुआ। 

    कोरबा जिले में कुल 4799 दिव्यांग मतदाता है। इनके लिए जिले में चार दिव्यांग मतदान केंद्र संडेल, झगरहा, अमरपुर और माचाडोली लालपुर में बनाया गया है। लोकतंत्र के निर्माण में जिले के दिव्यांग मतदाताओं की अहम भागीदारी है। दिव्यांग युवा मतदाता लक्ष्मीनारायण निषाद, सुनीता गुप्ता और रूकमणी बरेठ द्वारा शारीरिक रूप से दिव्यांग होने के बावजूद भी अपने स्वयं कीे ट्राईसायकल में मतदान करने  दी जा रही जागरूकता का यह संदेश सराहनीय है।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • कोरबा, 23 अप्रैल। पसान पुलिस ने अवैध रूप से शराब बेचते एक विक्रेता को पकड़ा था। जिसे पकडकऱ थाना स्थित हवालात में रखा गया था। भोजन कराने के लिए उसे हवालात से निकाला गया था। इस दौरान झांसा देकर वह पुलिस हिरासत से फरार हो गया। पुलिस ने उसके खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर उसकी गिरफ्तारी कार्रवाई प्रारंभ कर दी है। पसान थाना अंतर्गत ग्राम तेलियामार निवासी सुकुल सिंह केरकेट्टा 40 वर्ष को पसान पुलिस ने सोमवार 22 अप्रैल को अवैध शराब बेचते पकड़ा था। जिसके खिलाफ पुलिस ने अपराध क्रमांक 43/19 धारा 34,2 आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर हवालात में बंद कर दिया था। दोपहर लगभग 12 बजे उसे भोजन कराने के बाद न्यायिक रिमांड पर कटघोरा न्यायालय लाया जाना था। उसके लिए भोजन लेने आरक्षक हेमंत कंवर पास के होटल गया था। इसी दौरान मतदान कार्य के लिए सीएसईबी के सुरक्षा कर्मियों ने थाने में आमद दी। जो रजिस्टर में आमद दर्ज करा रहे थे। जिसका फायदा उठाकर सुकुल सिंह पुलिस हिरासत से भाग निकला । जिसके खिलाफ पुलिस ने धारा 224 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर उसकी पतासाजी प्रारंभ कर दी है।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बालकोनगर,  23 अप्रैल। बालको के औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण विभाग ने वसुंधरा दिवस-2019 पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए। बालकोनगर के विभिन्न स्कूलों के लगभग 500 छात्र-छात्राओं ने डॉ. अंबेडकर स्टेडियम में आयोजित चित्रकला स्पर्धा, पर्यावरणीय मॉडल व क्राफ्ट और फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में भागीदारी की। बच्चों के साथ आए अभिभावकों ने ऑन द स्पॉट क्वीज स्पर्धा में भाग लिया। सही उत्तर देने वाले प्रतिभागी पुरस्कृत किए गए।

     इस वर्ष वसुंधरा दिवस की थीम है - 'प्रोटेक्ट अवर स्पीशीज़Ó। कार्यक्रम में बालको के निदेशक (ऊर्जा) जी. वेंकटरेड्डी ने सभी नागरिकों को जैव विविधता के महत्व से अवगत कराया। उन्होंने बच्चों का आह्वान करते हुए कहा कि वे अधिक से अधिक संख्या में वृक्ष लगाकर अपने पर्यावरण की रक्षा करें। औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण महाप्रबंधक कृष्णा व्ही. कुलकर्णी ने पर्यावरण के संरक्षण और उसके संवर्धन पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि बालको द्वारा पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अनेक कदम उठाए गए हैं। जी. वेंकटरेड्डी, बालको के मुख्य वित्तीय अधिकारी रोहित सोनी, कृष्णा व्ही. कुलकर्णी और औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण सह महाप्रबंधक अजय शर्मा ने विभिन्न स्पर्धाओं के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। उप मुख्य वित्तीय अधिकारी संदीप मोदी, प्रशासन प्रमुख अवतार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. विवेक सिन्हा सहित अनेक बालको अधिकारियों ने विभिन्न स्पर्धा के प्रतिभागियों की हौसला अफजाई की। पर्यावरणीय मॉडल व क्राफ्ट और फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में दिल्ली पब्लिक स्कूल, बालको के पार्थों प्रतीम दास व विजया वाजपेयी, मिनीमाता उच्चतर माध्यमिक स्कूल की नीतू सिंह ठाकुर और कमलिनी एम.जी.एम. नर्सरी की सुनीति सिंह शामिल थीं।

     कार्यक्रम में औद्योगिक स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण सह महाप्रबंधक पी.एस. हरि और हितेंद्र भुपतावत ने उत्कृष्ट योगदान दिया। अग्निशमन सहायक प्रबंधक मुदित खरे के नेतृत्व में अग्निशमन टीम ने प्रहसन के माध्यम से नागरिकों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। बच्चों और उनके अभिभावकों को बालको अग्निशमन सेवा की ओर से आग बुझाने और आपातकालीन स्थितियों में जरूरतमंदों की मदद संबंधी जानकारी दी गई। बालको प्रबंधन और बालकोनगर चेंबर ऑफ कॉमर्स के संयुक्त तत्वावधान में संचालित 'पहल' कार्यक्रम के अंतर्गत नागरिकों को पर्यावरण संवेदी थैली वितरित किए गए। कार्यक्रम का संचालन पर्यावरण सहायक प्रबंधक श्री प्रियरंजन त्रिवेदी ने किया।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • भाजपा-कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला कड़ी सुरक्षा के बीच होगा मतदान
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 22 अप्रैल।
    कोरबा लोकसभा सीट के लिए मंगलवार 23 अप्रैल को मतदान होगा। निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान की तैयारी पूर्ण कर ली गई है। चुनावी मैदान में 13 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, लेकिन प्रमुख मुकाबला भाजपा-कांग्रेस के बीच माना जा रहा है। एक तरफ भाजपा प्रत्याशी ज्योतिनंद दुबे मोदी लहर के बूते तो दूसरी तरफ कांग्रेस प्रत्याशी ज्योत्सना महंत सीएम भूपेश बघेल सरकार के विकास कार्यों के दम पर जीत का दावा कर रही हैं। 15 लाख 7 हजार 77 मतदाता चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे।

    कोरबा लोकसभा सीट पर तीसरे चरण के तहत मंगलवार 23 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। इसके बाद 23 मई को मतगणना होगी और चुनाव परिणाम घोषित किए जाएंगे ।कोरबा लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी ने ज्योतिनंद दुबे, कांग्रेस पार्टी ने ज्योत्सना  महंत, बहुजन समाज पार्टी ने परमीत सिंह, अंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया ने चंद्र भूषण कंवर और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने तुलेश्वर हीरा सिंह मरकाम को चुनाव मैदान में उतारा है। इस सीट पर कुल 13 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं। 

    इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के डॉ. बंशीलाल महतो ने जीत दर्ज की थी। उन्होंने अपने करीबी कांग्रेस प्रतिद्वंदी डॉ. चरणदास महंत को हराया था। 

    पछले लोकसभा चुनाव में बंशीलाल महतो को 4 लाख 39 हजार दो वोट हासिल हुए थे। जबकि कांग्रेस के डॉ. चरणदास महंत को 4 लाख 34 हजार 737 वोट मिले थे ।पिछली बार इस सीट पर कुल 73.35 फीसदी मतदान हुआ था। हालांकि इस बार बीजेपी ने बंशीलाल महतो का टिकट काट दिया और उनकी जगह ज्योतिनंद दुबे को चुनाव मैदान में उतारा है।

     कोरबा लोकसभा सीट पर वर्ष 2009 में कांग्रेस के डॉ. चरण दास महंत ने बाजी मारी थी। उन्होंने बीजेपी की करुणा शुक्ला को हराया था। साल 2009 के लोकसभा चुनाव में चरण दास महंत को  3 लाख 14 हजार 616 वोट मिले थे और करुणा शुक्ला को 2 लाख 93 हजार 879 वोट मिले थे। इस सीट पर मतदान 58.42 फीसदी रहा था। कोरबा लोकसभा सीट साल 2008 में अस्तित्व में आई। इसके बाद यहां साल 2009 में लोकसभा चुनाव हुए और कांग्रेस ने जीत का परचम फहराया। हालांकि साल 2014 में उसे बीजेपी के हाथों हार का सामना करना पड़ा । डॉ. बंशीलाल महतो ने डॉ. चरणदास महंत को हराया। कोरबा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आठ विधानसभा सीटें आती हैं। इनमें भरतपुर-सोनहत (एसएसटी), रामपुर (एसएसटी), पाली-तानाखार (एसएसटी), मनेन्द्रगढ़, कोरबा, मरवाही (एसएसटी), बैकुंठपुर और कटघोरा विधानसभा सीटें शामिल हैं।
    इस लोकसभा सीट पर साल 2014 में पुरुष मतदाताओं की संख्या 7 लाख 25 हजार 821 थी, जिनमें से 5 लाख 46 हजार 46 ने वोटिंग में हिस्सा लिया था ।वहीं पंजीकृत 6 लाख 93 हजार 789 महिला वोटरों में से 5 लाख 6 हजार 674 महिला वोटरों ने वोट डाला था। इस तरह कुल 14 लाख 19 हजार 610 मतदाताओं में से कुल 10 लाख 52 हजार 720 ने चुनाव में अपनी हिस्सेदारी दर्ज की थी । वर्ष 2019 में वोटरों की संख्या काफी बढ़ गई है। इस बार 15 लाख 7 हजार 779 मतदाता है। जिसमें महिला मतदाताओ की संख्या 7 लाख 49 हजार 526 तथा पुरूष मतदाताओं की संख्या 7 लाख 58 हजार 198 तथा तृतीय लिंग मतदाताओं की संख्या 58 है।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • कोरबा, 22 अप्रैल। ईवीएम मशीनों की कमिशनिंग के बाद उन्हें मतदान के लिए आईटी कालेज झगरहा स्थित स्ट्रांग रूम में रखा गया था। मतदान से एक दिवस पूर्व सोमवार को सुबह 5 बजे रिटर्निंग आफिसर द्वारा राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम खोला गया। जिसके बाद मतदान दलों को मतदान सामग्री उपलब्ध कराकर मतदान केन्द्रों के लिए रवाना किया गया। 

     23 अप्रैल को मतदान होगा। इसे लिए जिले में 1081 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं, जिनमें 4324 मतदान कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। रिजर्व पोलिंग कर्मी सहित इनकी संख्या 5300 है। उन्हें मतदान सामग्रियों के साथ सोमवार को आईटी कालेज से सुरक्षा बलों के साथ रवाना किया गया। कोरबा लोकसभा के आठ विधानसभा क्षेत्र के 2007 मतदान केन्द्रों में वोट डाले जाएंगे। इन 2007 मतदान केन्द्रों में 1081 मतदान केन्द्र कोरबा जिले के चार विधानसभा के अंतर्गत आते हैं। जिनके लिए सोमवार को आईटी कालेज से मतदान सामग्रियों का वितरण किया गया। पूर्व की अपेक्षा इस बार मतदान सामग्रियों के साथ मतदान दल के रवानगी का काम सुबह 5 बजे से किए जाने की तैयारी की गई थी।

     निर्वाचन विभाग द्वारा प्रत्येक मतदान केन्द्र में चार कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। जिनमें एक पीठासीन अधिकारी, एक सहायक पीठासीन अधिकारी, एक आब्जर्वर, एक मतदान कर्मी एवं दो सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। मतदान दल केन्द्रों में पहुंचेंगे जहां रात गुजारने के बाद अगली सुबह वे मतदान कार्य में जुट जाएंगे। मतदान कर्मियों के लिए मतदान केन्द्रों में पर्याप्त सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 22 अप्रैल ।
    ग्राम बरपाली से लापता व्यवसायी की लाश बालको क्षेत्र के कचंदी नाला पुल के नीचे से सड़ी-गली हालत में बरामद की गई है। घटनास्थल से थोड़ी दूर पर मृतक की बाइक भी मिली है। पुलिस ने हत्या की आशंका जाहिर करते हुए तफ्तीश शुरू कर दी है।

    जानकारी के अनुसार बरपाली निवासी एवं व्यवसायी दौलतराम अग्रवाल (25 वर्ष) 17 अप्रैल से लापता था। वह उरगा क्षेत्र में कपड़े का व्यवसाय करता था और उसके लापता होने से चिंतित परिजनों ने गुमशुदगी की सूचना उरगा थाना में दर्ज कराई थी। पुलिस व परिजन उसकी तलाश में लगे थे कि आज उसका शव मिलने की सूचना मिली। 

    बताया गया कि आज सुबह जब दौलतराम के परिजन कुछ अन्य लोगों के साथ बालको थाना क्षेत्र के ग्राम नकटीखार इलाके से गुजर रहे थे, तभी दौलतराम की बाइक नजर आई। बाईक के आधार पर आसपास ढूंढते नाले की तरफ गए कि कचंदी नाला पुल के पास तेज दुर्गंध महसूस हुई। जब करीब जाकर देखा तो एक लाश नजर आई। शव मिलने की सूचना पर बालको पुलिस मौके पर पहुंची। शव की पहचान दौलतराम के रूप में की गई है। पुलिस ने शव को मर्ग, पंचनामा बाद पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का होना मानकर विभिन्न पहलुओं पर जांच की जा रही है। लापता व्यवसायी का शव मिलने की खबर से बरपाली वासियों व परिजनों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। 

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कोरबा, 22 अप्रैल।
    कोरबा क्षेत्र के विधायक व प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा प्रेस क्लब तिलक भवन में पत्रवार्ता आहुत कर कहा कि पिछले 15 साल के शासनकाल में जो न हो सका उसे कांग्रेस की सरकार ने सत्ता में आने के बाद 15 दिनों में करने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि पुराना कोरबा जो पूर्व की सरकार में उपेक्षित रहा, उसे विकसित करने कांग्रेस सरकार ने योजना बनाई है। यहां के वेयर हाऊस में भव्य गार्डन बनाया जाएगा और मनोरंजन के साधन के साथ ही अन्य कार्य कराये जाएंगे। 

    सीएसईबी चौक से ध्यानचंद चौक तक व एनटीपीसी की आगे की सडक़ का चौड़ीकरण कराया जा रहा है। नया ट्रांसपोर्टनगर, एल्युमिनियम पार्क  की स्थापना बाईपास सडक़ों का निर्माण, फाटकों से मुक्ति दिलाने अण्डरग्राउण्ड पुल-पुलियों का निर्माण होगा। सडक़ दुर्घटना रोकने जिले की सडक़ों का चौड़ीकरण के साथ शहर में भारी वाहनों के प्रवेश से मुक्ति दिलायी जाएगी। राजस्व मंत्री ने कहा कि डीएमएफ के मद से कोरबा जिले में आवश्यक जरूरतों को पूरा किया जाएगा न कि इस मद का दुरूपयोग होगा। खदान प्रभावित लोगों के लिए विशेष प्राथमिकता के साथ-साथ शिक्षा और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने डीएमएफ को वरदान के रूप में आने वाले समय में जिले के लोगों के बीच देखा जाएगा। पत्रवार्ता में राजस्व मंत्री के अलावा वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुभाष धुप्पड़, जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद, ग्रामीण अध्यक्ष श्रीमती उषा तिवारी, श्यामसुंदर सोनी भी उपस्थित थे।

     

  •  



Previous12Next