छत्तीसगढ़ » कोरबा

Date : 16-Feb-2020

माकपा ने किया टैक्स वसूली अभियान का विरोध

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 16 फरवरी।
माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने नगर निगम के द्वारा किसानों, झुग्गी झोपड़ी, गरीबों एवं दिहाड़ी मजदूरी करने वालों पर भारी भरकम सम्पति कर लादने और जबरन वसूली अभियान का कड़ा विरोध किया है और इसे माफ करने की मांग की है।

इस संबंध में एक ज्ञापन भी माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के नेतृत्व में माकपा के पार्षद सुरती कुलदीप, राजकुमारी कंवर और अन्य माकपा नेताओं द्वारा महापौर को सौंपा गया। माकपा ने प्रदेश के राजस्व मंत्री और निगम आयुक्त के नाम भी पत्र प्रेषित कर टैक्स माफ करने की मांग की है। 

उन्होंने कहा कि यदि निगम गरीबों के बकाया संपत्ति कर को माफ करने पर विचार नहीं करता, तो पार्टी के नेतृत्व में आम जनता सड़क पर उतरकर संघर्ष करने के लिए बाध्य होगी। झा ने कहा कि महापौर चुनाव के पूर्व हुए समझौते में कांग्रेस ने सार्वजनिक रूप से माकपा की इस शर्त को माना था कि गरीबों पर बकाया संपत्ति कर को माफ किया जाएगा। लेकिन अब कांग्रेस इस वादे पर अमल करने के बजाए इससे मुकर रही है।

उन्होंने कहा कि गरीबों को 20 सालों के टैक्स एक साथ जमा करने के नोटिस दिए जा रहे हैं और शिविरों में आम जनता को बुलाकर अधिकारियों द्वारा डराया-धमकाया जा रहा है। उन्होंने महापौर से स्पष्ट करने को कहा है कि क्या वे निगम साकार ऐसे ही चलाना चाहते हैं? क्या अधिकारियों पर उनका कोई नियंत्रण है या वे खुद ही अधिकारियों से नियंत्रित हो रहे हैं? 

माकपा नेता ने कहा कि मोदी सरकार की सत्यानाशी नीतियों से आम जनता का वैसे ही बुरा हाल है। आय की तुलना में महंगाई तेजी से बढ़ रही है। ऐसे समय में आम जनता को राहत देने के बजाए यदि नगर निगम आम जनता पर करों का बोझ लादने की कोशिश करेगा, तो इसका तीखा विरोध किया जाएगा।  माकपा ने कहा है कि यदि कांग्रेस अपने वादों से मुकरती है, तो माकपा जनता को लामबंद कर संघर्ष करने के अपने वादे पर अमल के लिए बाध्य होगी।


Date : 15-Feb-2020

सड़क पर शव रखकर सफाई कर्मियों का प्रदर्शन, 10 लाख मुआवजा व नौकरी की मांग को लेकर घेराव

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 15 फरवरी।
दर्री क्षेत्र में शुक्रवार की सुबह कचरा इक_ा कर एसएलआरएम सेंटर की ओर जा रहे दो महिला सफाई कर्मियों को तेज रफ्तार यात्री बस के चालक ने अपनी चपेट में ले लिया था। हादसे में एक महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई। वहीं दूसरे की हालत नाजुक बनी हुई है। घटना के बाद कल कई घंटे कोरबा-दर्री मार्ग पर चक्काजाम किया गया। शनिवार को भी सफाई कर्मियों ने नगर पालिक निगम के प्रशासनिक भवन साकेत के सामने सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन किया। साकेत भवन का घेराव करते हुए मृत महिला सफाई कर्मी के आश्रित को नौकरी व 10 लाख रुपए मुआवजा की मांग करते रहे है। इस दौरान पुलिस बल भी काफी संख्या में तैनात रही।

ज्ञात रहे कि कल एनटीपीसी की ओर से आ रही गायत्री ट्रेवल्स की बस क्र. सीजी-10जी-1436 के चालक ने एरिगेशन चौक मुख्य मार्ग पर बने छोटे ओव्हर ब्रिज पर गलत साइड से आकर सफाई रिक्शा को चपेट में ले लिया। सतनाम नगर निवासी सफाई कर्मी कुसुम कुर्रे और शांति बंजारे दर्री के एसएलआरएम सेंटर से सुबह 7 बजे रिक्शा लेकर कार्यक्षेत्र कलमीडुग्गू धनुहारपारा गए थे। वहां से कचरा लेकर वापस लौटते वक्त हादसा हो गया। रिक्शा के साथ चल रही कुसुम लता और शांति बंजारे में से कुसुमलता बस के नीचे फंसकर ओव्हर ब्रिज के रेलिंग की दूसरी ओर लटकती रही। उसे काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला जा सका और इस दौरान जिसने भी इस दृश्य को देखा, उसकी रूह कांप उठी। स्थानीय लोगों ने डायल 112 की मदद से दोनों घायलों को अस्पताल भिजवाया जहां इलाज के दौरान कुसुम लता की मौत हो गई। मामले में मृत सफाई कर्मी के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजा एवं आश्रित को नौकरी दिए जाने की मांग की जा रही है। शनिवार को भी महिला सफाई कर्मी की मौत के बाद साकेत भवन के बाहर हंगामा मचा रहा। साकेत भवन का घेराव करते हुए सफाई कर्मियों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस बल भी भारी संख्या में तैनात रहा।

नहीं हुआ कचरा उठाव
सड़क दुर्घटना में सफाई कर्मी की मौत को लेकर सफाई कर्मी एकजुट हो गए हैं। शनिवार को सफाई कर्मियों ने काम बंद रखा। किसी भी वार्ड में सफाई का काम नहीं हुआ। वहीं कर्मियों ने शनिवार सुबह नगर निगम का घेराव कर दिया। जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में सफाई कर्मी शामिल थे।


Date : 15-Feb-2020

4 दिन से लापता बालक की कुएं में मिली लाश, परिजनों ने जताया हत्या का संदेह

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 15 फरवरी।
रामपुर चौकी अंतर्गत आरामशीन क्षेत्र से 4 दिन पूर्व लापता हुए 8 वर्षीय बालक की लाश स्थानीय कुएं से बरामद की गई है। मामले में परिजनों ने हत्या का संदेह जाहिर किया है। पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर विवेचना की जा रही है।
आरामशीन मोहल्ला निवासी अभिषेक साहू 8 वर्ष पिछले 4 दिन से लापता था, परिजन उसकी खोजबीन में जुटे हुए थे। रामपुर चौकी पुलिस को भी गुमशुदगी की सूचना दी गई थी। परिजनों व शुभचिंतकों से भी बालक के संबंध में पतासाजी की जा रही थी। इसी बीच लापता बालक अभिषेक साहू के खोजबीन के दौरान शनिवार की सुबह आरा मशीन क्षेत्र के एक कुएं में उसकी लाश मिली। बालक का शव कुएं में देखे जाने की सूचना जल्द ही आसपास में फैल गई और इसके साथ मौके पर काफी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई। रामपुर चौकी प्रभारी राजेश चंद्रवंशी स्टाफ के साथ यहां पहुंचे। इसके बाद मृतक का शव कुएं से बाहर निकाला गया। पंचनामा और परिजनों के बयान के साथ शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। मृतक के परिजनों ने इस बात की आशंका जताई है कि अभिषेक की हत्या करने के बाद उसे कुएं में फेंक दिया गया ताकि मामले को सामान्य घटना से जोड़ा जा सके। पुलिस ने संदिग्ध मौत का मामला दर्ज कर लिया है। शव परीक्षण रिपोर्ट में तथ्यों का खुलासा हो सकेगा। इसके आधार पर आगे पुलिस इस मामले की विस्तृत जांच करेगी।

 


Date : 14-Feb-2020

कोरबा जिला पंचायत में भी कांग्रेस, कंवर ने रामेश्वरी जगत को 2 वोटों से हराया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 14 फरवरी।
नगरीय निकाय चुनाव में दमदार प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस ने जनपद पंचायत में जहां जीत का परचम लहराया है वहीं जिला पंचायत में भी पंजा की पकड़ मजबूत हो गई है। कांग्रेस समर्थित शिवकला कंवर जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हो गई है। उन्होंने भाजपा समर्थित रामेश्वरी जगत को 2 वोटों से परास्त कर दिया।

नगरीय निकाय चुनाव के बाद ग्रामीण सत्ता में भी कांग्रेस की जीत का सिलसिला कायम रहा। आज हुए जिला पंचायत के अध्यक्ष पद के चुनाव में कांग्रेस को जीत मिली। पार्टी ने शिवकला कंवर को प्रत्याशी घोषित किया। उन्होंने निर्धारित समय पर नामांकन दाखिल किया। भाजपा ने इस पद के लिए रामेश्वरी जगत को मैदान में उतारा। कुल 12 सदस्यों वाले जिला पंचायत कोरबा के लिए हुए चुनाव में शिवकला को 7 और रामेश्वरी को 5 वोट प्राप्त हुए। इस तरह दो मतों के अंतर से शिवकला ने मैदान मार लिया। जिला पंचायत सदस्यों के निर्वाचन के साथ ही स्थिति स्पष्ट हो गई थी। राजनीति में कई तरह की उलटफेर की संभावनाएं होती है। इसलिए अटकलबाजी का दौर भी बना हुआ था। खासबात यह है कि भाजपा के 4 ही सदस्य चुनाव में जीते थे लेकिन उसने पांच स्थान अर्जित किए लेकिन बाजी कांग्रेस के हाथ लगी। नजीते की घोषणा के साथ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने जिला पंचायत कार्यालय परिसर के सामने उत्साह दिखाया। इससे पहले नगरीय निकायों के चुनाव में कांग्रेस ने नगर निगम सहित नगर पालिका और नगर पंचायतों में जीत का परचम लहराया था। जीत का क्रम जारी रखने के साथ उसने एक दिन पहले संपन्न हुए जनपद पंचायत के चुनाव में भी एक तरफा जीत हासिल की थी।

प्रवेश को लेकर आपस में भिड़़ेे कांग्रेसी
जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव के शुरूवात में ही पंचायत कार्यालय परिसर मे हंगामा हो गया। कांग्रेस के कार्यकर्ता प्रवेश नहीं मिलने पर आपस में भिड़ गए । पार्टी से जीते उम्मीदवार जैसे ही जिला पंचायत कार्यालय पहुंचे उन्हें एक कक्ष के अंदर बैठा दिया गया इतने में कक्ष के भीतर कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कंवर, ग्रामीण अध्यक्ष उषा तिवारी अंदर गई। उनके साथ कुछ और कार्यकर्ता अंदर जाना चाहते थे पर पुलिस ने रोक दिया। इतने में प्रवेश को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए। उनका कहना था जीते हुए प्रत्याशियों के अलावा किसी अन्य को प्रवेश ना दिया जाए। जो गैर प्रत्याशी हैं उन्हें बाहर किया जाए। अंतत: पुलिस को विधायक एवं ग्रामीण अध्यक्ष को भी कक्ष के भीतर से बाहर निकालना पड़ा, तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। इस दौरान जिला पंचायत परिसर में कांग्रेसी एक-दूसरे को गालियां भी देते रहे। पुलिस को मामला शांत कराने में मशक्कत करनी पड़ी।

 

 

 


Date : 14-Feb-2020

कोरबा में दर्री एरिगेशन चौक समीप संकरे पुल पर महिला सफाईकर्मियों को तेज रफ्तार बस की ठोकर, पुलिया से नीचे गिरीं, हालात गंभीर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 14 फरवरी।
दर्री एरिगेशन चौक के समीप मुख्य मार्ग पर बने संकरे पुल से कचरा इक_ा कर लौट रही दो महिला सफाई कर्मियों को तेज रफ्तार बस चालक ने टक्कर मार दी। हादसे में कचरा गाड़ी क्षतिग्रस्त हुई है। दोनों कर्मचारी पुलिया से नीचे गिर गए। एक कर्मचारी के पैर में पुल का रॉड भी घुस गया। दोनों की हालत गंभीर है जिन्हें एनटीपीसी चिकित्सालय से बिलासपुर के अस्पताल रेफर किया गया है। महिला सुरक्षाकर्मियों और स्थानीय लोगों ने चक्काजाम कर दिया। घंटों मार्ग पर जाम लगे रहने से दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लगी रही।

दुर्घटना आज सुबह 10.30 बजे हुई। बिलासपुर से यात्रियों को लेकर आ रही गायत्री ट्रेवल्स की बस क्र. सीजी-10जी-1436 के चालक ने एरिगेशन चौक मुख्य मार्ग पर बने छोटे पुलिया पर सफाई रिक्शे को अपनी चपेट में ले लिया। दर्री क्षेत्र में निवासरत कुसुमलता और शांति बंजारे दर्री की ओर से कचरा इक_ा कर संडे मार्केट की ओर उसे डंप करने जा रही थी।
पुलिया पर विपरित दिशा से आ रही बस के चालक ने रॉंग साइड से वाहन परिचालन करते हुए हादसे को अंजाम दिया। रिक्शे के साथ चल रही दोनों सफाई कर्मी कुसुम लता और शांति बंजारे को ठोकर लगने से गिरने के साथ अगल-बगल में छिटक गई। उन्हें सिर और अन्य हिस्से में चोटे आयी है। दुर्घटना की सूचना मिलते ही डायल 112 की मदद से उन्हें एनटीपीसी के विभागीय असपताल भिजवाया गया। दुर्घटना की खबर मिलते ही दर्री सीएसपी खोमन लाल सिन्हा और दर्री टीआई रामेन्द्र सिंह दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे। आक्रोशित लोगों ने मुआवजा व कार्यवाही की मांग को लेकर चक्काजाम कर दिया।

चालक के साथ यात्री भी भागे
दुर्घटना के बाद जहां आरोपी बस चालक मौका देखकर भाग निकला वहीं बस में सवार यात्रियों ने भी मानवता को तार-तार करते हुए घायलों को बचाने की बजाए अपना सामान लेकर चला जाना ही बेहतर समझा। हादसे के बाद बस से अधिकांश यात्री उतरकर अपने-अपने गंतव्य पर रवाना हो गए थे।

डेंजर पाइंट फिर भी नहीं ऐहतियात
जिस संकरे पुल में हादसा हुआ है उसे पुलिस द्वारा डेंजर पाइंप भी घोषित किया गया है। पिछले 10 वर्षों से घोषित डेंंजर पाइंट को सुधारने कोई कवायद नहीं की गई है। यहां लगातार सड़क हादसे घटित होते हैं लेकिन इसके बाद भी पुलिस प्रशासन इस ओर संज्ञान नहीं ले रहा है।


Date : 13-Feb-2020

दीपका खदान से डीजल चोरी कर भागते कीचड़ में फंसी बोलेरो, मौके पर ही छोड़कर गिरोह के सदस्य भाग निकले

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 13 फरवरी।
दीपका खदान से डीजल चोरी कर भागते समय कीचड़ में फंसी बोलेरो तो मौके पर ही छोड़कर चोर गिरोह के सदस्य भाग निकले। बोलेरो में कुल 175 लीटर डीजल था, जिसे जब्त कर पुलिस के हवाले किया गया। शिकायत पर दीपका पुलिस ने मामले मे केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जब्त वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर उनकी तलाश की जा रही है। हालांकि नंबर प्लेट के दोनों तरफ नंबर लिखे होने से पुलिस की दुविधा बढ़ गई है।

जिले में संचालित एसईसीएल की दीपका, गेवरा व कुसमुंडा में कोयला उत्खनन के लिए रखे भारी-भरकम मशीनों से डीजल चोरी की घटनाएं नहीं थम रही है। अब तो चोर गिरोह के सदस्य पुलिस पकड़ में आने से बचने गाड़ी के नंबरों में भी फेरबदल कर दे रहे हैं। दीपका खदान की सुरक्षा में लगे उपनिरीक्षक मनोज कुमार तिवारी को डीजल चोरों के खदान में घुसने की जानकारी हुई। इसके बाद गश्त दल के आने की खबर से वाहनों से डीजल निकाल रहे चोर गिरोह के सदस्य बोलेरो में भागे। इस दौरान उनकी बोलेरो कुछ दूर आगे जाकर कीचड़ में फंस गई। जब बोलेरो कीचड़ से नहीं निकली तो डीजल चोर वाहन को मौके पर छोड़कर भाग निकले। गश्त दल मौके पर पहुंची तो पाया कि बोलेरो के आगे के नंबर प्लेट में सीजी 04 एटी 0737 व पीछे के नंबर प्लेट में सीजी 04 टीए 0737 लिखा हुआ था। 

 


Date : 12-Feb-2020

खदान प्रभावित भू-विस्थापितों की समस्याएं बनी हुई है जिसे लेकर कटघोरा एसडीएम ने एसईसीएल अफसरों की बैठक ली 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 12 फरवरी।
कुसमुंडा विस्तार परियोजना को पर्यावरणीय अनुमति मिल चुकी हैं। इसी के साथ खदान से कोल उत्पादन की तैयारी की जा रही है लेकिन अब भी खदान प्रभावित भू-विस्थापितों की समस्याएं बनी हुई है जिसे लेकर कटघोरा एसडीएम ने एसईसीएल अफसरों की बैठक ली है।

एसईसीएल के कुसमुंडा खदान के लिए जमीन अधिग्रहण के बाद नौकरी के लिए दर-दर भटक रहे भूविस्थापितों के लिए एक बार फिर नौकरी की आस जगी है। कल कुसमुंडा हाउस में कटघोरा एसडीएम सूर्यकिरण तिवारी द्वारा एसईसीएल के अधिकारियों एवं भूविस्थापितों की बैठक बुलाई गई थी, जिसमें भूविस्थापितों की समस्याओं पर विस्तार से चर्चा की गई तथा उनके कागजातों का परीक्षण कर 232 में से 56  को रिजेक्ट कर 18 0 लोगों का लिस्ट फाइनल किया गया। 

बैठक में बताया गया कि एसईसीएल प्रबंधन एक सप्ताह के भीतर एसईसीएल मुख्यालय बिलासपुर प्रेषित करेगा। बैठक में कुसमुंडा सीजीएम रंजन शाह के अलावा नोडल अधिकारी श्री बाघवन व आरआई बालकृष्ण पांडेय उपस्थित थे।


Date : 12-Feb-2020

सीएए, एनआरसी को लेकर वामपंथी दलों ने विरोध प्रदर्शन किया, तैयारियों में जुटे माकपा कार्यकर्ता

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 12 फरवरी।
सीएए, एनआरसी को लेकर वामपंथी दलों ने मोर्चा खोल रखा है। कानून संशोधन की मांग को लेकर गत दिनों विरोध प्रदर्शन किया गया था। अब पुन: मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के बैनर तले विरोध प्रदर्शन की तैयारी की जा रही है। विरोध प्रदर्शन में पोलिट ब्यूरो मेंबर वृंदा करात आम सभा लेंगी। स्थानीय कार्यकर्ताओं ने करात के प्रवास को लेकर तैयारी शुरू कर दी है।

विभिन्न मुद्दों को लेकर सीपीएम कार्यकर्ता चरणबद्ध आंदोलन कर रहे हैं। वर्तमान में सीएए, एआरसी मुद्दे पर भी वामपंथी पार्टियों ने धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया। कोयलांचल क्षेत्र होने से जिले में सीपीएम समर्थकों की संख्या काफी अधिक है। पार्टी ने इसका फायदा उठाने का निर्णय लिया है। 

पार्टी के वरिष्ठ नेता जगह-जगह दौरा कर अभियान से सभी लोगों को जोड़ रहे हैं। इसके साथ ही स्थानीय स्तर की समस्याओं को प्रमुखता से उठाकर केंद्र की नीति का विरोध जता रहे हैं। सीपीएम पोलिट ब्यूरो मेंबर वृंदा करात भी 18  फरवरी को इन्हीं मुद्दों को लेकर कोरबा प्रवास पर आ रही हैं। उनके प्रवास को लेकर कार्यक्रम तय कर लिया गया है और पार्टी पदाधिकारी तैयारी में जुट गए हैं। 

सोमवार को पार्टी की रायपुर में हुई बैठक में भी कई मुद्दों पर चर्चा कर वृहद आंदोलन चलाने का निर्णय लिया गया है। इसी दौरान वृंदा करात की सभा कराने का भी प्रस्ताव पारित किया गया। जानकारों का कहना है कि 17 फरवरी को पोलिट ब्यूरो मेंबर रायपुर आएंगी और कार्यकर्ताओं की बैठक लेकर रिचार्ज करेंगी। तदुपरांत 18  फरवरी को सुबह विशाखापट्टनम-कोरबा लिंक एक्सप्रेस से कोरबा आएंगी। शाम चार बजे सनसाइन स्कूल मैदान बांकीमोंगरा में आमसभा को संबोधित करेंगी।


Date : 11-Feb-2020

गौरेला-पेण्ड्रा- मरवाही को जिला बनाने पर विधायक ने सीएम का जताया आभार

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
कोरबा, 11 फरवरी।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के 28 वें जिले के रूप में गौरेला-पेण्ड्रा- मरवाही के गठन को मंजूरी दे दी। गौरेला-पेण्ड्रा के नया जिला घोषित होते ही कोरबा जिले के पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड के लगभग 40 ग्राम पंचायतों का नए जिले में विलय की भी संभावना तेज हो गई है। इन पंचायतों के अंतर्गत आने वाले लगभग 200 गांव नए जिले में शामिल हो सकते हैं। 

नया जिला गठन पर पाली-तानाखार क्षेत्र के विधायक मोहितराम केरकेट्टा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा है कि गौरेला-पेण्ड्रा जिला में पसान और आसपास के क्षेत्रों को शामिल करने से यहां के रहवासियों को प्रशासनिक कामकाज के लिए लंबी दूरी तय नहीं करनी होगी। 

श्री केरकेट्टा ने बताया कि पूर्व में किसी भी पंचायत को नए जिले में शामिल नहीं करने का विचार था किंतु स्थानीय ग्रामवासियों ने जिला गठन की सुगबुगाहट होने पर अपनी मंशा नए जिले में शामिल होने के बारे में जारी कर दी थी। ग्रामवासियों की मंशा से पुन: मुख्यमंत्री को डॉ. चरणदास महंत एवं राजस्व मंत्री के द्वारा अवगत कराया गया। आखिरकार कुछ पंचायतों को गौरेला-पेण्ड्रा जिला में शामिल करने की सहमति मिल गई है। श्री केरकेट्टा ने बताया कि वर्तमान में पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड में 114 ग्राम पंचायत हैं जिनमें से 36  से 40 पंचायत गौरेला-पेण्ड्रा जिला में शामिल हो सकते हैं। इन गांवों से कोरबा जिला मुख्यालय की दूरी करीब 115 किलोमीटर है जबकि गौरेला-पेण्ड्रा बमुश्किल 25 से 30 किलोमीटर पड़ेगा। पंचायतों को नए जिले में शामिल करने के संबंध में वहां के सरपंचों व पंचायत प्रतिनिधियों से राय-मशविरा करने के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा। विधायक श्री केरकेट्टा ने यह भी कहा कि करीब 40 पंचायत नए जिले में शामिल तो होंगे।

कंतु इनका विधानसभा क्षेत्र पाली-तानाखार ही रहेगा, उसमें कोई परिवर्तन नहीं होगा। जिले के सीमांत व गौरेला-पेण्ड्रा की प्रारंभिक सीमा से लगे ग्राम चंद्रौटी, मातिन, तेलियामार, साढ़ामार, बोकरामुड़ा, गोलाबहरा, सिर्री, कर्री, पंडरीपानी, पुटीपखना, लैंगा, कुम्हारीसानी, सेमरा, कुम्हारी दर्री, पोड़ीकला, सारिसमार, सैला, बाघिनडांड, पत्थर फोड़, कारीमाटी, तुलबुल, धवलपुर आदि गांव नए जिले में शामिल हो सकते हैं।

 


Date : 10-Feb-2020

कोरबा-कुसमुंडा मार्ग पर 12 घंटे लगा रहा जाम, फंसी रही सिटी-स्कूल बस

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 10 फरवरी।
कोरबा-कुसमुंडा मार्ग पर आए दिन जाम लगने से राहगीर व स्थानीय लोग खासा परेशान हैं। सोमवार की सुबह 3 बजे से पुन: मार्ग पर लंबा जाम लगा रहा। ईमलीछापर चौक से लेकर सर्वमंगला चौक तक वाहनों की लंबी कतार लगी रही। जाम में स्कूली बस व सिटी बस भी फंस गई जिसके कारण बच्चे स्कूल नहीं पहुंच पाए। वहीं सिटी बस में यात्रा करने वाले यात्रियों को पैदल उतरकर गंतव्य तक जाना पड़ा। जाम में दोपहिया-चार पहिया वाहन भी फंसे रहे। दोपहर 3 बजे के बाद जाम को हटाया जा सका। इस दौरान 12 घंटे तक मार्ग पर लंबा जाम लगने रहने से लोग परेशान हुए। मार्ग पर जाम लगने के कारण इमलीछापर से लेकर सर्वमंगला चौक तक के व्यवसायियों का व्यवसाय भी प्रभावित रहा। 

जाम लगने का कारण भारी वाहनों के बढ़ते दबाव को बताया जा रहा है। एसईसीएल की गेवरा, कुसमुंडा व दीपका खदान से कोल परिवहन में नियोजित वाहनों का दबाव बढ़ गया है। वित्तीय वर्ष समाप्त होने को है, ऐसे में डिस्पैच बढ़ाने का दबाव भी एसईसीएल पर बनता जा रहा है। ऐसे में खदान परिसर में भारी वाहनों की कतार तो लगी रहती है। सड़क किनारे भी बारी के इंतजार में भारी वाहन खड़े रहते हैं जिसके कारण जाम की स्थिति निर्मित होती है।

 


Date : 10-Feb-2020

इंडियन ओपन-अंतर्राष्ट्रीय किक बाक्सिंग प्रतियोगिता, टीम रवाना, राज्य के 19 व जिले के 8 खिलाड़ी होंगे शामिल

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कोरबा, 10 फरवरी।
वाको इंडिया किकबाक्सिंग फेडरेशन के तत्वावधान में नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 9 से 13 फरवरी तक इंडियन ओपन अंतराष्ट्रीय किकबाक्सिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। वाको इंडिया एवं छग किकबाक्सिंग एसोसिएशन के महासचिव तारकेश मिश्रा ने बताया कि उक्त प्रतियोगिता में जार्डन, कजाकिस्तान, नेपाल, नाइजीरिया सहित अन्य विभिन्न देशों के किकबाक्सिंग खिलाड़ी एवं ऑफिसियल अपेक्षित हैं। प्रतियोगिता में राज्य से कुल 19 किक बाक्सर्स हिस्सा ले रहे जिसमें सर्वाधिक 8  खिलाड़ी कोरबा जिले के सीएमए छत्तीसगढ़ मार्शल आर्ट एवं किक बाक्सिंग एकेडमी से सृष्टि मिश्रा, मेहा गोस्वामी, काजल चौधरी, अजित कुमार शर्मा, हिमांशु राठौर, हर्षदीप यादव, मयंक डड़सेना, चांद साहू, रायपुर जिले से दीपक प्रसाद, दिग्विजय सिंह, बिलासपुर जिले से अभिषेक पाठक, आशुतोष पाठक बस्तर से शेख वसीम, रायगढ़ से अमरदीप सिंह, ममता सिंह तथा मुंगेली से व्यंकटेश्वर दास मनिकपुरी एवं दुर्ग जिले से लक्ष्मी तिवारी, अनुज दहाते,अलभ्य चौबे शामिल होंगे। टीम मैनेजर राम कुमार पांडे एवं अंजलि कुर्रे दल के साथ रहेंगे।