छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous123Next
Posted Date : 20-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 20 जुलाई। कोरिया राज परिवार के सदस्य एवं छग के प्रथम वित्तमंत्री डॉ रामचंद्र सिंहदेव के निधन की खबर मिलते ही आज सुबह शहर की दुकानें स्वस्फूर्त बंद हैं। स्कूलों में शोकसभा के बाद छुट्टी दे दी गई। आज शाम तक उनका शव यहां लाया जाएगा। कल 21 जुलाई को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जिला मुख्यालय स्थित पैलेस में डॉ सिंहदेव के अंतिम दर्शन करने के लिए भारी संख्या में लोगों के जुटने के मद्देनजर आवश्यक तैयारियॉं की जा रही हैं। अति विशिष्ट लोगों के आगमन को लेकर भी जिला प्रशासन के द्वारा तैयारियांॅ की जा रही हंै। राजमहल परिसर में ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 
    कोरिया राज परिवार के डॉ. रामचंद्र सिंहदेव ने हमेशा ही कोरिया जिले विकास को लेकर सजग रहते थे साथ ही कोरिया के विकास को लेकर हमेशा ही चिंता करते थे।  गत 9 जुलाई को  उन्होंने छत्तीसगढ़ प्रतिनिधि से खास बातचीत में कोरिया जिले में कम बारिश को लेकर चिंता व्यक्त की थी।  सक्रिय राजनीति से एक दशक से दूर हो चुके डॉ. सिंहदेव   जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण करने दिन भर निकल जाते। ग्रामीणों  की समस्याओं को सुनते और जिला स्तर पर समस्याओं का हल निकलने की स्थिति में कलेक्टर से बात कर समस्या का निदान करवाते। राज्य स्तर पर की समस्या पर मुख्यमंत्री को पत्र लिखते थे। 
    डॉ. सिंहदेव लंबे समय से सक्रिय राजनीति में रहे और अपनी राजनीतिक जीवन की शुरूआत निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर बैकुण्ठपुर विधान सभा क्षेत्र से चुनाव वर्ष 1966 में प्रत्याशी बने तब रिकार्ड मतों से उन्होंने जीत हासिल कर बैकुण्ठपुर का विधायक बने इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा बाद में कांग्रेस पार्टी से जुड़ गये। 
    वे लगातार बैकुण्ठपुर विधान सभा क्षेत्र से छ: बार विधायक  रहे। तब मप्र सरकार में लंबे समय तक सिंचाई मंत्री के रूप में भी अपनी जिम्मेदारी डॉ. सिंहदेव के द्वारा बखूबी निभाई गयी। इनके कार्यकाल में मप्र व वर्तमान छग में कई छोटे व बड़े बांध बनाये गये। सिंचाई सुविधाओं का अपने कार्यकाल के द्वौरान डॉ सिंहदेव ने विस्तार किया। डॉ. सिंहदेव को जल संसाधन मामले का विशेषज्ञ माना जाता रहा है। इसके लिए उन्हे  उन्हें पी-एचडी की मानद उपाधि भी दी गयी थी।  

  •  

Posted Date : 20-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 20 जुलाई। कोरिया जिले में हाथियों को  रोकने करंट बैरिकेट के बाद अब मंत्री जी का पूजा-पाठ भी काम न आया। हाथियों को शांत करने दो दिन पहले जिस जगह श्रम मंत्री ने पूजा-पाठ किया, उसी इलाके में आज सुबह हाथियों ने एक महिला को कुचल मारा। 
    बैकुंंठपुर रेंजर अखिलेश मिश्रा ने बताया कि महिला की उम्र 60 से 65 वर्ष बताई जा रही है। शौच के लिए  गई थी जहां 5 हाथियों के दल  ने  उसे कुचल  मार। हाथियों के दल पर विभाग निगाह रखे हुए है, फिलहाल ग्रामीणों को जंगल में ना जाने की सलाह दी गई है। 
    कई दिन से बैकुंठपुर के माटीझरिया में डेरा डाले हाथियों का दल अमरपुर होते हुए चिरमिरी के गेल्हापानी पहुंच गया, वहीं पोडीथाना अंर्तगत आने वाले ग्राम पलथाजाम में अलसुबह शौच करने गई महिला कुंति बाई को कुचल कर मार डाला। सूचना मिलते की कोरिया वनमंडल के डीएफओ, बैकुंठपुर और चिरमिरी रेंजर के अलावा पुलिस कर्मी भी पहुंचे। शव को जंगल से निकलवाकर  पोस्टमार्टम के लिए भेजा। 

    वहीं इस दल से बिछड़ा  एक हाथी मनेन्द्रगढ़ के पाराडोल की ओर जाते देखा गया है। वहीं बैकुंठपुर के सलका में जमे 11 हाथियों का दल दो दिन पहले मनसुख में एक ग्रामीण का घर तोड़ा था। शुक्रवार को यह दल चिल्का पिपरहिया में पहुंच गया है।  ग्रामीण रतजगा कर रहे हंै। वन विभाग ग्रामीणों को हाथी के आने पर पटाखे ना फोडऩे की सलाह दे रहा है, बावजूद इसके   पटाखे फोड़े जा रहे है जिससे हाथी और गुस्से में आकर आतंक मचा रहे हंै। 

  •  

Posted Date : 18-Jul-2018
  • एक हाथी झटके से बेहोश
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 18 जुलाई। कोरिया जिले में जंगली हाथियों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को हाथी कोरिया कॉलरी पहुंच गए और आधा दर्जन मकान तोड़ डाले, वहीं माटीझरिया में जिस ओर करंट बैरिकेट्स लगाए गए थे, उन्हें चकमा देकर एक हाथी एक घर में घुस तोडफ़ोड़ करने लगा कि घर की बिजली के करंट की चपेट में आ गया, आधे घंटे तक बेहोश रहने के बाद भाग खड़ा हुआ।  इधर करंट बैरिकेट्स से हाथियों के जिस दल ने झटके खाए,  उन्होंने गांव में घुसने का रास्ता बदल दिया।  
    हाथियों के कारण कोरिया कालरी क्षेत्र के लोगों की नींद उड़ी हुई है  रतजगा करने मजबूर हंै। एक ही क्षेत्र के कुछ किमी की दूरी पर दो हाथियों का दल विचरण कर रहा है।
    वन विभाग की टीम हाथियों पर नजर बनाये हुए है और कोशिश की जा रही है कि हाथियों के दल ग्रामीण आबादी वाले क्षेत्रों में न घुसे। इसके लिए  रविवार को सीसीएफ सरगुजा संभाग के के बिसेन जिले के हाथी प्रभावित क्षेत्रों में दौरा कर स्थिति का जायजा लिया था। जिसके बाद जिन क्षेत्रों में हाथी का दल मौजूद है, उसके निकट के गांव में करंट  बैरिकेट्स लगवाए गए थे जिससे   हाथी उसके आगे नहीं  बढ़ेंगे, पीछे ही हटेंगे। माटीझरिया में लगे करंट बैरिकेट्स से हाथियों के दल ने झटके खाए, परन्तु उन्होंने गांव में घुसने का रास्ता बदल दिया, वहीं दल से बिछड़कर एक हाथी बंजारीडांड की नर्सरी में डेरा डाल रखा है, तो सलका में 11 हाथियों के दल ने कल मनसुख और सलका में एक-एक ग्रामीण के घर तोड़ डाले। 
    मकान तोड़ते करंट 
    से  एक हाथी बेहोश

    जनपद पंचायत बैकुंठपुर अंतर्गत ग्राम माटीझरिया क्षेत्र के जंगलों में 7 हाथियों का 7  दल जमा हुआ है। जिस क्षेत्र में करंट बैरिकेट्स लगाए गए हैं उस क्षेत्र से हाथी करंट के झटके खाकर वापस पीछे लौट जा रहे थे। लेकिन इसी गांव में जिन क्षेत्रों में बैरिकेट्स नहीं लगाए गए  हैं  वहां कुछ हाथी पहुॅंच गए।  घर तोडऩे के दौरान एक हाथी घर की बिजली के करंट की चपेट में आकर  बेहोश हो गिर गया।  ग्रामीणों ने बिजली तार को निकाला जिससे उसकी जान बच गई। 15  मिनट बाद वह वहां से चला गया। 
    14 लाख से अधिक क्षतिपूर्ति  
    वन विभाग के द्वारा हाथी प्रभावित क्षेत्रों में ग्रामीणों के घरों को नुकसान पहुंचाने पर क्षतिपूर्ति का आंकलन तैयार कर मंगलवार को प्रभावित 18 गामीणों केा मुआवजा राशि का वितरण कर दिया। जानकारी के अनुसार वन विभाग के द्वारा ग्राम बंजारीडांड व माटीझरिया में जिन ग्रामीणों के घरो को हाथियों के दल के द्वारा नुकसान पहुंॅचाया गया था उन प्रभावित ग्रामीणों में से 18 ग्रामीणों केा 14 लाख रूपये से ज्यादा की मुआवजा राशि का वितरण गत दिवस किया गया।

  •  

Posted Date : 15-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 15 जुलाई। कोरिया जिले के बैकुंठपुर जनपद में बीते 8 दिनों से दो हाथियों ने डेरा डाला है।  बैकुंठपुर के माटीझरिया में अब तक 25 से ज्यादा मकान तोड़ दिए हंै। ग्रामीण रतजगा कर रहे हैं। इधर वन विभाग करंट बैरिकेट्स लगाकर ग्रामीणों के लिए सुरक्षा घेरा बनाने में जुटा हुआ है।
    सीसीएफ सरगुजा केके बिसेन का कहना है कि इस बैरिकेट्स के लगने से हाथियों को सिर्फ हल्का झटका लगेगा और दुबारा वे ग्रामीणों के घरों की ओर रूख नहीं करेंगे।
    वहीं बैरिकेट्गि कार्य में माटिझरिया पहुंचे डीएफओ श्री आओ ने बताया कि जिन लोगों के घर हाथियों ने तोड़ डाले हैं उनके मुआवजे के लिए आंकलन  जारी है। बैरिकेटिंग से ग्रामीणों को सुरक्षा मिलने की संभावना है।
    जानकारी के अनुसार बीते 8 दिनों से बैकुंठपुर के सलका और माटिझरिया में दो हाथियों के दल ने डेरा डाल रखा है, सलका में 11 तो माटीझरिया में 7 हाथियों का दल है। माटिझरिया में स्थित हाथियों को दल ग्रामीणों के मकानों को तोड़कर धान, चावल चट कर रहे हंै। ये दिनभर यहां पहाड़ों के बीच रहते हंै, रात को ये ग्रामीणों के बीच पहुंच जाते हैं। कल रात भी माटीझरिया में 5 लोगों के घरों का नुकसान पहुंचाया। वहीं ग्रामीण इससे बचने के लिए रात भर इधर उधर भागते रहे। 
    दूसरी ओर वन विभाग ग्रामीणों को हर हाल में हाथियों से दूर रहने की सलाह दे रहा है। वहीं ग्रामीण हाथियों को भगाने पटाखों का इस्तेमाल कर रहे हंै जिससे हाथी और गुस्सा कर उनके मकानों को तोड़ रहे हंै। 
    रविवार को  सीसीएफ केके बिसेन ने श्रीनगर से पाइप, बैटरी और तार के साथ कुछ जानकार भी भेजे। बैकुंठपुर रेंजर अखिलेश मिश्रा टीम को लेकर माटीझरिया पहुंचे जहां ग्रामीणों के बताए मार्ग जिस रास्ते हाथी गांव में आते हंै, वहां बैरिकेटिंग की गई। साथ ही इन्र्वटर और बैटरी की सुरक्षा का जिम्मा ग्रामीणों का सौंपा गया, ग्रामीणों को बैरिकेटिंग से दूर रहने की हिदायत दी गई। शाम  7 से सुबह 7 बजे तक बैरिकेटिंग में लगे तार में करंट प्रवाह किया जाएगा। जिससे गांव की ओर आने वाले हाथियों को रोका जा सके। इसी तरह ग्राम टेंगनी में भी ऐसी ही बैरिकेटिंग का कार्य शुरू किया गया है। 

     

  •  

Posted Date : 10-Jul-2018
  • कांग्रेस ने गुणवत्ता पर उठाए सवाल, जांच-कार्रवाई की मांग
    खडग़वां का चिरमी बंजारीडाड सड़क
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 10 जुलाई।  खडगवॉ विकासखंड अंतर्गत ग्राम चिरमी से बंजारीडॉड तक के जिस सड़क निर्माण के समय  छत्तीसगढ़ ने जो सवाल उठाए थे वो सच साबित हुए। 6 महीने के भीतर कई जगह से उखड़ी  सड़क में  बड़ी बड़ी दरारें आ गईं। वही इसके सपोर्ट बनाए लाखों के बीम वाल भी क्रेक हो गए। 
    वहीं इस संबंध में एक बार फिर लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अधिकारी श्री मेशराम सड़क की स्थिति  देखने के बाद ही कुछ कहने की बात कर रहे है। वहीं कांग्रेस नेता गुलाब कमरो का कहना है निर्माण के समय ही इसकी गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे थे, लोक निर्माण विभाग की इस सड़क और ओडगी से आमगांव की सरकार निष्पक्ष जांच कराए और दोषियों पर कार्यवही की जाए। छत्तीसगढ ने 20 नवंबर 2017 के अंक में लोनिवि के एक सड़क निर्माण कार्य को लेकर गुणवत्ता पर सवाल उठाया था और जानकारों के हवाले से बताया था कि ऐसे में तो सड़क निर्माण एक वर्ष भी टिकना मुश्किल है। लोनिवि के द्वारा जिले के खडगवॉ विकासखंड अंतर्गत ग्राम चिरमी से बंजारीडॉड तक सडक को नया रूप देकर चौड़ीकरण का कार्य कराया गया था जिसमें गुणवत्ता के अभाव के कारण आज एक वर्ष पूर्ण होने के पूर्व ही सड़क कई जगहों से धंसती जा रही है। यह हालत उस समय की है जब पहली बरसात हुई है अभी तो पूरी बरसात बाकी है। ऐसे में सडक के कई जगहों पर धंसने की संभावना है। जानकारी के अनुसार खडग़वां जनपद क्षेत्र में ग्राम चिरमी से बंजारीडॉड तक सडक का नये सिरे से मरम्मत एवं चौडीकरण का कार्य 200 करोड़ों रूपये खर्च कर शुरू किया गया था। जिसे लेकर उस दौरान ग्रामीणों में भी नाराजगी थी। 
    जब इसकी जानकारी निर्माण कार्य के दौरान दैनिक छत्तीसगढ ने लोनिवि के कार्यपालन अभियंता मेशराम को दिया तो उन्होंने कहा कि मैं स्वयं जाकर निर्माण कार्य देखता हूॅ यदि नियमों के अनुरूप कार्य नहीं हो रहा होगा तो ठेकेदार के विरूद्ध कार्यवाही होगी लेकिन यह सिर्फ थोथा बयान ही साबित हुआ। घटिया निर्माण कार्य काये जाने के कारण आज पहली बारिश में ही चिरमी बंजारीडांड सडक में जगह जगह पर दरार के अलावा कहीं कहीं पर सड़क धंसती जा रही है।
    पुलिया की बीम व फुटपाथ पर भी दरार
    चिरमी से बंजारीडांड तक करोड़ों रूपये की लागत से बनाये गये सड़क की हालत अब किसी से छिपी नही है। इस सड़क मार्ग पर बनाये गये एक स्थान के ह्यूम पाईप पुलिया की बीम में भी दरारे आ गयी है। इसके अलावा सड़क के दोनों ओर बनाये गये सीसी फुटपाथ पर भी जगह जगह पर दरार साफ दिखाई दे रही है। इस सडक के निर्माण कार्य में शुरू से ही लापरवाही बरती गयी। विभागीय जिम्मेदार अधिकारी को जानकारी होने के बावजूद किसी प्रकार की कार्यवाही नही की गयी और मनमाने पूर्वक कार्य करा दिया गया। 
    32 प्रतिशत कम दर पर लिया काम
    उक्त सड़क के निर्माण कार्य के लिए ठेकदार के द्वारा 32 प्रतिशत कम दर पर कार्य लिया। इसे लेकर सवाल उठते रहे है कि जब इतनी कम प्रतिशत में कार्य लिया गया तो फिर सड़क निर्माण कार्य में गुणवत्ता कितनी होगी यह बताने की जरूरत नही होगी। नियमानुसार पहले से पूरी तरह से सड़क की डामर उखाड़ कर जीएसबी बिछाया जाना था, परन्तु बिना उसे उखाड़े उस पर डब्युबीएम कर उस पर बीटी कर दिया गया था वही डब्ल्युबीएम भी काफी ढीला  बनायी गयी थी। यही कारण है कि ठेकेदार के द्वारा निर्माण कार्य के शुरूआत से लेकर अंत तक मनमानी पूर्वक गुणवत्ता को ताक में रखकर कार्य कराया गया जिसका नतीजा अब सबके सामने है। क्या अब भी संबंधित ठेकेदार के विरूद्ध विभागीय अधिकारी कार्यवाई करेंगे। 
    यह रही तकनीकी खामियां
    जानकारों के अनुसार चिरमी से बंजारीडॉड सडक निर्माण कार्य में उस दौरान सड़क में लगाई जा रही मिट्टी आसपास के खेतों से खोद कर लाई जा रही थी, जबकि मिट्टी की जांच और मुरूम लाकर सोल्डर बनाया जाना था, परन्तु वहां ऐसा नहीं किया गया। जीएसबी निम्न स्तर का किया गया है, जिसमें मात्र नदी के रेत निकाल कर सीधे डाल दिया गया जबकि नियमानुसार इसका मिक्सर बनाकर सडक में डाला जाना चाहिए था। डब्ल्यूबीएम कार्य बिना डब्ल्युबीएम प्लांट के जेसीबी से मिक्स कर बिछाया जा रहा है। इसकी मोटाई भी काफी कम है। पुल पुलिया, रिर्टनिंग वाल का निर्माण छोटी मिक्चर मशीन से किया गया। जिसके कारण एक वर्ष भी नव निर्मित सड़क टिक नहीं पाया। 

     

  •  

Posted Date : 09-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर 9 जुलाई। कोरिया जिले में हाथियों के दो दल खडगवांॅ व बैकुण्ठपुर जनपद क्षेत्र में विचरण कर रहे हंै।  आज हाथियों के एक दल ने बंजारीडांड  में   आधा दर्जन से ज्यादा घरों को तोड़ दिया।  प्रभावितों को सुरक्षित जगह भेज दिया गया है। हाथियों का यह दल कल 8 जुलाई को खडगवांॅ जनपद क्षेत्र के वन ग्राम बहालपुर क्षेत्र के जंगल में था। 
    ग्रामीणों ने बताया कि दहशत के कारण वे रतजगा कर रहे हैं। क्षेत्र में हाथियों ने सबसे ज्यादा नुकसान बंजारीडॉड में ही किया है। बताया गया कि इसके पूर्व खडगवांॅ जनपद क्षेत्र के ग्राम बारी व आस पास के क्षेत्र में हाथियों के दल ने नुकसान पहुंचाया था। इधर वन अमला हाथियों को जंगलों की ओर भगाने की कोशिश में जुटा है। समाचार लिखे जाने तक हाथियों का दल बंजारीडॉड क्षेत्र के जंगलों में ही विचरण कर रहा है। 
    वहीं दूसरा दल बैकुंठपुर जनपद क्षेत्र के सलका सलबा, रोबो बकिरा क्षेत्र में घुमने की जानकारी है। गौरतलब है कि इस क्षेत्र के कांदाबारी के जंगलों में प्रतिवर्ष हाथियों का आगमन होता रहता है। ये फसल के दिनों में जमकर नुकसान पहुॅंचाते हैं। 
    ज्ञात हो कि जिले के सोनहत जनपद क्षेत्र में भी हाथियों का कहर आये दिन बना रहता है। इसी जनपद क्षेत्र में गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान स्थित है जहांॅ हाथियों की संख्या काफी है। इस पार्क क्षेत्र से निकलकर हाथियों का दल पिछले महीने ग्रामीण क्षेत्रों में पहुॅंच गया था। उस दौरान सोनहत के ग्राम ओदारी में  नुकसान पहुॅंचाया  था। इसके बाद  केराझरिया, वन ग्राम आनंदपुर, केतकीझरिया के जंगलों से होते हुए नगर क्षेत्र के जंगलों में पहुॅंचा था। 

  •  

Posted Date : 03-Jul-2018
  • झगराखाण्ड  के खोगापानी पुलिस की अभिनव पहल

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    मनेन्द्रगढ़, 3 जुलाई। गलत सोहबत से एक किशोर चोरी करने लगा। परिजनों के लाख समझाने पर भी नहीं सुधरा। पुलिस ने इस बच्चे को सुधारने का जिम्मा उठाया। एक निजी स्कूल में उसे भर्ती करा दिया। अब वह नियमित स्कूल जाने लगा है।
    झगराखाण्ड थाना क्षेत्र के खोगापानी पुलिस चौकी के प्रभारी समेत पुलिस स्टॉफ ने जो अनूठी मिसाल पेश की है उसने न केवल एक किशोर को जीने की नई राह दी है वरन्  पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है। अभी तक पुलिस सिर्फ अपराधियों से निपटने अपराध को रोकने का काम करती थी लेकिन इस पहल ने पुलिस का नया चेहरा लोगों के सामने आया है। 
    नगर पंचायत खेांगापानी क्षेत्र में रहने वाले सज्जन मलिक पेशे से सफाई कर्मचारी हैं। इनके घर में इनकी पत्नी समेत इनके बच्चेे रहते हैं। इनके बच्चों में से एक किशोर बचपन में गलत सोहबत के कारण अपराध की दुनिया की ओर बढऩे लगा था। अपने बच्चे को छोटी मोटी चोरियों के साथ गलत कामों में बढ़ता देख उसके पिता ने कई बार उसे समझाया लेकिन किशोर पर अपने परिजनों की समझाईश का कोई असर नहीं हुआ। 
    इस बात की जानकारी मिलने पर खोंगापानी चौकी प्रभारी राकेश शर्मा और अन्य पुलिस कर्मियों ने कई बार उसे अपराध से दूर रहने को कहा। लेकिन तब भी उसके आदत में कोई सुधार नहीं हुआ। ऐसे में किशोर को सुधारने के लिये चौकी प्रभारी ने पहल की। परिजनों की सहमति से चौकी प्रभारी राकेश शर्मा ने अन्य पुलिस कर्मियों के सहयोग से राशि एकत्रित कर उसका नाम नगर पंचायत खोंगापानी क्षेत्र में आने वाले एक अच्छे निजी स्कूल में उसका दाखिला कराया। परिजनों की माली हालत को देखते हुए उसकी स्कूल ड्रेस, बस्ते, कॉपी किताब के साथ उसे वह हर जरूरी सामान मुहैया कराया जिससे वह नियमित रूप से स्कूल जा सके। 
    दरअसल चोरी के एक मामले में जब पुलिस ने उस किशोर की अंकसूची चौकी मंगवाई थी तो उसमें बच्चे ने अपने लक्ष्य के बारे में यह लिखा था कि वह आगे चलकर पुलिस बनकर देश की सेवा करना चाहता है। और इसी को देखते हुये सभी पुलिस कर्मियों ने मिलकर उस बच्चे को पढ़ाने का बीड़ा उठाया। बहरहाल खोंगापानी पुलिस के इस पहल की चारों ओर सराहना हो रही है।  

  •  

Posted Date : 26-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 26 जून। कोरिया जिले के कोटाडोल थाने में पदस्थ गोपी वर्मा नामक जवान ने गोली मार खुदकुशी कर ली।  पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।  
     27 वर्षीय गोपी वर्मा राजनांदगाँव जिले के गाँव मुंगेलीकाला का रहने वाला था। आरक्षक की कंपनी रामगढ़ में तैनात है और वह  थाना कोटाडोल में कार्यरत था।
    पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला ने बताया कि जवान ने किन कारणों से आत्महत्या की है, सभी बिन्दुओं पर जांच जारी है, एसडीओपी सहित कई अधिकारी मौके पर हंै, शव का पोस्टमार्टम करा उनके परिजनों तक पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है।
    जानकारी के अनुसार कोरिया जिले के कोटाडोल थाने में पदस्थ आरक्षक गोपी वर्मा ने आज सुबह पुराने थाना परिसर में  अपनी सर्विस रायफल से खुद को गोली मार ली। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
    गोली की आवाज सुनते ही थाने में पदस्थ अन्य जवान दौड़े और  बचाने का प्रयास किया। सूचना पर तहसीलदार भी मौके पर पहुंचे। वहीं पुलिस अधीक्षक ने  तत्काल जांच टीम गठित कर जांच शुरू करने के निर्देश जारी कर दिए हंै। पुलिस मृत जवान के कॉल डिटेल खांगलने के साथ उसके अन्य संबंधों पर जांच कर रही है। 

  •  

Posted Date : 25-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 25 जून। कोरिया के विकासखंड सोनहत के ग्राम पोड़ी एवं अमहर के जंगलों में हाथियों का दल विचरण करने की जानकारी मिली है। फिलहाल हाथी पोड़ी एवं अमहर के बीच के जंगलों में है ग्रामीणों पांच हाथियों के होने की जानकारी है लेकिन दो हाथियों को  देखा गया है। हाथियों की आमद से ग्रामीणों में दहशत है।  
    उल्लेखनीय है कि हाथियों का दल इसके पहले रजौली, पोड़ी एवं अमीर क्षेत्र में घर एवं फसल को नुकसान पहुंचा चुका है। हाथियों के आने की सूचना वन विभाग को भी मिल चुकी है।  वन टीम ने ग्रामीणों को हाथियों से दूर रहने कहा है। विभाग हाथियों को ग्राम से दूर जंगलों की ओर खदेडऩे में जुटा हुआ है।

  •  

Posted Date : 20-Jun-2018
  • कांग्रेस, जोगी कांग्रेस, कामगार संगठन का साथ

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 20 जून। अफसरों केसमझाने के बाद भी आज पुलिस परिजनों ने रैली निकाली और मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान कांग्रेस नेता गुलाब कमरो, जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी बिहारी राजवाड़े, अखिल भारतीय असंगठित कामगार कांग्रेस के नीलेश पांडेय  सहित मनीलाल राजवाड़े, गणेश राजवाड़े, विजय सिंह ठाकुर, उपस्थित थे।
    ज्ञात हो कि प्रदर्शन को देखते हुए सोमवार  शाम एसपी ने  पुलिस लाइन पहुंच कर पुलिस कर्मियों को समझाया था।  मंगलवार को आला अधिकारियों ने देर रात पुलिस कर्मियों के परिजनो से मुलाकात कर मामले को आगे ना बढ़ाने की हिदायत दी थी।  आज सुबह  हर संभव दबाव बनाया गया कि रैली में कोई नहीं जाए। बावजूद इसके काफी संख्या में परिजन कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। इसके पहले सुबह से पुलिस लाईन के मुख्य द्वार पर लोगों के आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।  मुख्य गेट पर पुलिस बल तैनात कर दिये गए थे। जिससे कि प्रस्तावित धरना प्रदर्शन को रोका जा सके।
    कांग्रेस नेता गुलाब कमरो ने कहा कि जवान 24 घंटे का काम करते है। बारिश ठंड आंधी में जवान हर कहीं मुस्तैद नजऱ आते है ऐसे में प्रशासन उनकी मांगों को लेकर उन्हें रोकने का प्रयास भी किया जिसकी मैं निंदा करता हूँ और मांगों का समर्थन करता हूं।
    जोगी कांग्रेस के बैकुंठपुर के प्रत्याशी बिहारी राजवाड़े का कहना है कि पुलिस जवान जिल्लत की जिंदगी जीने को मजबूर है, सुविधाओं पर राज्य सरकार ने कभी धयान नही दिया, मांगो पर सरकार विचार करते हुए मांग पूरी करे।  युवा नेता नीलेश पांडेय का कहना है कि पुलिस जवानों का दर्द सरकार को समझना चाहिए।

  •  

Posted Date : 17-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
     बैकुंठपुर, 17 जून। मोबाइल सिग्नल ढंूढते कोयले से लदे वैगन पर चढ़ गया। बातें करते हाई वोल्टेज तार की चपेट में आने से मौत हो गई। घटना कोरिया जिले के रेल्वे स्टेशन दर्रीटोला की है।  पुलिस के अनुसार ग्राम पंचायत उजियारपुर के छापरपार का रहने वाला 21 वर्षीय जयप्रकाश नामक युवक किसी विवाह समारोह में गया था। आज सुबह वहां से लौटते समय बरबसपुर के समीप रेल्वे स्टेशन दर्रीटोला में मोबाइल नेटवर्क नहीं मिलने पर वह कोयले से लदे वैगन में चढ़ गया और बात करने लगा।  इस दौरान वह हाईटेंशन तार की चपेट में आ गया और वहीं उसकी मौत हो गई। 

  •  

Posted Date : 09-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुण्ठपुर, 9 मई। कोरिया के सोनहत इलाके में आज सुबह एक मिनी यात्री बस बेकाबू होकर पलट गई जिसमें  एक महिला की मौत हो गई जबकि तीन गंभीर रुप से घायल हैं।  25 सवारियों को मालूली चोटें आई हैं। घायलों को सोनहत अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बस में 60 यात्री सवार थे।
    जनपद मुख्यालय सोनहत में आज बाजार था।  क्ष़ेत्र के दूरस्थ ग्राम जोगिया से सोनहत आ रही बोल बम बस ग्राम कछाडी व छिंगुरा के बीच  एक पुलिया पर बेकाबू होकर पलट गयी। बताया जाता है कि इस मिनी बस की छत और  भीतर करीब 60 यात्री सवार थे। जिससे चालक नियंत्रण नहीं रख पाया।
    ज्ञात हो कि अभी विवाह का सीजन है।   प्रमुख बाजार में  लोग प्रतिदिन पहुॅंच रहे हैं। वनांचल क्षेत्रों में सीमित बस चलने के कारण इनमें यात्रियों की संख्या अधिक रहती है।  लोग बस की छत पर भी  बैठकर यात्रा करते हैं।  

  •  

Posted Date : 07-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 7 मई। कोरिया के मनेन्द्रगढ़ वनमंडल अंतर्गत जनकपुर रेंज में एक तेंदूए को मारकर जलाने का मामला सामने आया है। वन एसडीओ और रेंज अफसर जांच में जुटे हुए हैं। 
    वहीं इस संबंध में जनकपुर रेंजर रामसागर कुर्रे का कहना है कि 26 अप्रैल के बाद की घटना है, तेंदुए का शव पूरी तरह से जला हुआ पाया गया, जिसके बाद इस घटना में शामिल लोगों की तलाश की जा रही है, जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।  
    वहीं सर्किल प्रभारी डिप्टी रेंजर जगत सिंह का कहना है कि जब सूचना मिली तब तक सिर्फ तेंदूए की हड्डी ही बची मिली।  
    जनकपुर परिक्षेत्र के बडवाही सर्किल में एक तेंदुए को मारकर जलाए जाने का मामला तब सामने आया जब वहां पदस्थ एक वनकर्मी को तेंदुए का अधजला शव मिला।  जांच में यह बात सामने आई कि तेंदूए को मारकर  जलाया गया है।  रेंज अफसर और कर्मचारियों ने इसकी जानकारी एसडीओ को दी। अब मामले की जांच की जा रही है। 
    उल्लेखनीय है कि रेगूलर फारेस्ट रेंज जनकपुर और गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान का क्षेत्र आपस में लगा हुआ है, पार्क में काफी संख्या में तेंदुए हंै वहां इनकी गणना भी की जाती है, जबकि रेगूलर फारेस्ट में जानवरों की गणना पर कोई जानकारी देने को तैयार नहीं है। 

     

  •  

Posted Date : 07-May-2018
  • बैकुठपुर में सर्वआदिवासी समाज की रैली, प्रदर्शन
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 7 मई। जशपुर  बटुंगा में पत्थरगड़ी तोडऩे वाले आरोपियों के खिलाफ  कार्यवाही की मांग ओर गिरफ्तार नेताओं को रिहा करने की मांग के साथ सर्व आदिवासी समाज का धरना प्रदर्शन शुरू हो गया है। 
     आंदोलनकारियों का कहना है कि छग व केंद्र की भाजपा सरकार व उसके नेताओं के द्वारा संवैधानिक शिलालेख पत्थरगड़ी को असंवैधानिक बता रहे है जबकि ऐसा नहीं है।  जिले भर से आए आदिवासी समूह नगर पालिका के सामने बड़ी संख्या में इक_े हो चुके थे, और धरना-प्रदर्शन शुरू हो चुका था। आदिवासी नेताओं का संबोधन शुरू हो गया था और लोग जुटने भी शुरू हो गए थे। आज शाम पुतला दहन समेत कई कार्यक्रम रखे गए हैं। 
    राज्यपाल के नाम सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया कि प्रबल प्रताप सिंह जूदेव व उनके अन्य साथियों को गिरफ्तार किया जाए, और आदिवासी मुखियाओं पर फर्जी अपराध रद्द कर रिहा किया जाए।
    ज्ञापन के मुताबिक 5वीं अनुसूची और आदिवासी समुदाय के रूढ़ी प्रथा और प्रवृत्त निधि के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए रूढि़ प्रथा पारंपरिक पत्थलगड़ी को ग्राम के प्रमुख बैगा महतो पहान, पड़हा एवं आदिम जाति आदिवासियों की रूढ़ी प्रथा से शासित समुदाय के समक्ष सर्वसम्मति से रूढ़ी प्रथा पारंपरिक विधि से स्थापित किया जाए। उक्त आरोपियों द्वारा संविधान का उल्लंघन किया गया है। 
    सरगुजा पहुंची पत्थरगड़ी
    जशपुर से निकली पत्थरगड़ी अब जशपुर कोरिया के सरगुजा के बलरामपुर इलाके में पहुंच गई है। बलरामपुर  के घरघोड़ी में पत्थर गाड़े गए हैं। सामरी के कांग्रेस विधायक प्रीतम राम का कहना है कि  आदिवासी गांव में काम की कमी से उपजा असंतोष पत्थरगड़ी के रुप में उपजा है। 
    इधर आज भी जशपुर  बागीचा के कलिया गांव में पथरगड़ी को लेकर दो समुदायों में तनाव बरकारार है। यहां पत्थर हटाए जाने का मसीही समुदाया के लोगों ने विरोध किया। हिंदू समुदाय का कहना है कि मसीही समुदाय विरोध कर रहा है आदिवासी इसका विरोध नहीं कर रहे हैं। वहीं यहां के एक आदिवासी नेता का कहना था कि गांव में बाहर के लोग आ रहे थे इसे रोकने के लिए पत्थरगड़ी किया गया है। 
    ज्ञात हो कि कल रविवार को कलिया में पत्थलगड़ी समर्थक और विरोधी दोनों पक्ष अलग अलग स्थान पर बैठे हुए थे। वहीं बुटूंगा में पत्थलगड़ी समर्थक जुटने की कोशिश कर रहे थे।  कलिया में तनाव की जानकारी मिलते ही सुबह से भी भारी संख्या में जिले भर से पुलिस बल कलिया पहुंच गया। बगीचा की एसडीओपी पदमश्री तंवर के साथ डीएसपी और थाना प्रभारी रैंक के अधिकारी भी इस गांव में तैनात कर दिए गए। 

     

     

  •  

Posted Date : 02-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    मनेन्द्रगढ़, 2 मई। मनेन्द्रगढ़ के नदीपार इलाके में आज सुबह सड़क के किनारे खड़ी एक बोलेरो व दो  कार में आग लगने से दहशत का माहौल बन गया। काफी मशक्कत के बाद जब दमकल ने आग पर काबू पाया तब तक तीनों गाडिय़ां जलकर खाक हो चुकी थी। 
    प्राप्त जानकारी के अनुसार मनेन्द्रगढ़ के नदीपार ईलाके में यूसुफ मेमन की दुकान है जहां वे गाडिय़ों की खरीदी बिक्री करते है। आज बुधवार की सुबह  9 बजे दुकान का नौकर दुकान खोलने पहुंचा तो उसने देखा कि गाडिय़ों में आग लगी हुई है। उसने तत्काल इस घटना की जानकारी यूसुफ मेमन को दी जिसके बाद नगर पालिका को सूचना दी गई।   वाहनों में आग लगी देखकर लोग भी घबरा गए. क्योंकि पास ही पेट्रोल पंप था। आग के कारणों का पता नहीं चल सका है।

  •  

Posted Date : 27-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 27 अप्रैल। कोरिया के बैकुंठपुर जनपद के ग्राम पंचायत कूड़ेली में कल फंदे में मिली युवती की हत्या की गई थी। हत्या के पहले उसके साथ बलात्कार किया गया था। तीन आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है इसमें से एक नाबालिग है।
    मामले का खुलासा करते हुए एएसपी नवोदिता पॉल शर्मा ने बताया कि तीन आरोपियों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया।  मुख्य आरोपी कृष्णा तिर्की (25)उर्फ दुर्गा और गोरेलाल खलखो (19) के साथ एक नाबालिक  ने 24 अप्रैल की रात 8 बजे युवती को खडग़वां शादी में ले गए। वहां  कृष्णा तिर्की ने  उसके साथ बलात्कार किया। युवती ने जब  उससे शादी करने की बात कही, तो वो गुस्से में आ गया। 
    उसके साथ   मारपीट की, विरोध करने पर  उसके दुपट्टे से गला घोंटकर मार डाला। फिर लाश को फंदे में डाल पेड़ पर लटका दिया।
    उल्लेखनीय है कि बैकुंठपुर कूड़ेली के हरिजनपारा की रहने वाली 17 वर्षीया किशोरी मंगलवार रात 9 बजे शादी देखने के लिए निकली थी, देर रात जब घर नहीं पहुंची तो घर वाले उसे ढूंढने निकले। उन्हें बुधवार दोपहर पता चला कि किसी लड़की का शव पेड़ पर फांसी पर लटका हुआ है।  किशोरी के परिजनों ने उसे पहचान लिया, फिर कोटवार की मदद से पुलिस को सूचना दी थी।

  •  

Posted Date : 26-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 26 अप्रैल। कोरिया जिला प्रशासन अब सरकारी भवनों को भगवा रंग देने में जुटा हुआ है, जिला अस्पताल और उससे लगे नए और पुराने भवनों को भगवामय कर दिया गया है।  इस संबंध में जिला अस्पताल के प्रभारी सीएस डॉ एस के गुप्ता का कहना है कि रंग का चयन हम सबने मिलकर तय किया था। 
    प्रशासन सरकारी भवनों को भगवामय करने में लगा है, इसकी शुरूआत जिला अस्पताल से की गई है। जिला अस्पताल के नए भवन को चारों ओर भगवामय कर दिया गया, वहीं इससे लगे नेत्र विभाग का भवन, पुराने अस्पताल भवन को भी भगवा रंग में रंगा गया है।  हालांकि अस्पताल प्रबंधन रंग के चयन को लेकर पीडब्ल्यूडी और सभी  अफसरों की राय बता रहा है।  जबकि बीते कुछ ही माह पहले कायाकल्प योजना के तहत जिला अस्पताल को सफेद रंग से रंगवाया गया था, उसके बाद फिर अचानक डीएमएफ से 25 लाख रू की राशि स्वीकृत कर जिला अस्पताल को भगवा रंग से रंग डाला गया।  
    जनकपुर में भी जारी है रंगाई-पुताई
    जानकारी के अनुसार भरतपुर के तहसील मुख्यालय जनकपुर के 100 बिस्तरीय अस्पताल में भी पुताई का काम जोरों पर है। सूत्रों के मुताबिक  डीएमएफ से यहां निचले तल की पुताई के लिए एक लाख जबकि ऊपरी तल के लिए 8 लाख रुपये की राशि जारी की गई है। दोनों काम बिना टेंडर जारी है। अभी अंदर की पुताई का काम चल रहा है।
    वेबसाईट पर अपलोड नहीं
    राज्य के खनिज सचिव के स्पष्ट निर्देश के बाद भी डीएमएफ की जानकारी वेबसाईट पर अपलोड नहीं की गई है।  कोरिया की वेबसाईट पर 3 जून 2017 का पत्र पोस्ट कर यह बताया गया है कि अप्रैल 2017 तक के स्वीकृत कार्यों की सूची उपलब्ध है, 
    परन्तु सूची में सिर्फ मार्च 2017 तक के ही स्वीकृत कार्यों की सूची है, वर्ष 2017-18 जिसमें अप्रैल 2017 से मार्च 2018 तक के स्वीकृत कार्यों की सूची अब तक वेबसाईड पर अपलोड नहीं  है।
    इधर सामाजिक कार्यकर्ता सुरेन्द्र सिंह छोटू ने प्रशासन पर भाजपा के लिए काम करने का आरोप लगाया है, उनका कहना है कि भाजपा के कार्यक्रम में भीड़ इक_ी करना हो या उनके कार्यकर्ताओं को उपकृत करने का काम हो,  हर तरह की मदद के लिए डीएमएफ का खजाना खोल रखा है। ना तो इसकी कोई जांच की जाती है। वे चुनाव आयोग को पत्र लिखेंगे, ताकि निष्पक्ष चुनाव कराए जा सके। 

  •  

Posted Date : 20-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भैयाथान, 20 अप्रैल। अंबिकापुर - दतिमा मार्ग पर  आज सुबह कार बेकाबू होकर पेड़ से जा टकराई जिससे सवार 2 बच्चों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि 4 को गंभीर चोटें आई हैं। हादसे का कारण चालक को झपकी आना बताया जा रहा है।
    पुलिस के अनुसार सलका अधीना  के  वजय स्वीट्स के मालिक विजय गुप्ता  परिवार के साथ ग्राम बात बतौली अपने रिश्तेदार के यहां शादी  से लौट रहे थे।    तड़के चार बजे अंबिकापुर - दतिमा मार्ग के राई जंगल में  चालक अमित गुप्ता को  झपकी आ गई और कार का संतुलन बिगड़ गया और रोड से 15 फीट दूर  पेड़ से जा टकराई।  जिससे चालक के बगल में बैठे विजय गुप्ता के दोनों बेटे नमन गुप्ता 8 वर्ष व सोनू गुप्ता 5 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई। घायलों में अमित गुप्ता समेत उसकी मां पार्वती गुप्ता, विजय गुप्ता और 
    उनकी पत्नी शर्मिला गुप्ता को गंभीर चोटें आई हैं।  
    घायल विजय गुप्ता ने फोन पर घटना की जानकारी दी। परिजनों ने घायलों को अम्बिकापुर मेडिकल कालेज अस्पताल पहुंचाया। घटना के बाद सलका में शोक की लहर है।  

  •  

Posted Date : 16-Apr-2018
  • सीएम ने लूंड्रा से मांगा मजबूत भाजपा विधायक

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अंबिकापुर, 16 अप्रैल। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सरगुजा लूंड्रा के बटवाही में प्रगति और आवास मेले में 110 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात दी। इस अवसर पर उन्होंने  लगभग 5 हजार लोगों को प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति पत्र हितग्राहियों को बांटा। इसके अलावा रूप सागर परियोजना एवं स्वाभिमान परियोजना का शुभारंभ किया। चार करोड़ 51 लाख के दो सड़कों का लोकार्पण एवं 41 करोड़ 25 लाख की लागत से 11 कार्यों का भूमि पूजन किया गया।
    इस अवसर  पर  मुख्यमंत्री ने कहा कि लंूड्रा ने जो भी मांगा डॉ. रमन ने दिया, अब 2018 के चुनाव में एक मजबूत विधायक चाहिए जो विधानसभा में अपनी बात सशक्त रुप से रख सके। आपने अब तक जो चुना उसे देख चुके हैं। उन्होंने सरकार के विभिन्न योजनाओं की भी जानकारी देते हुए सरकार के किए गए कार्यों की जानकारी दी।
    इस मौके पर  5 सौ हितग्राहियों को विद्युत कलेक्शन, प्रमाण पत्र, दो हितग्राहियों को टे्रेक्टर ट्राली, दो लोगों को मिट्टी परीक्षण प्रमाण पत्र, पांच लोगों को मोटराईड ट्राई सायकल, 25 लोगों को सोलर पम्प, चार सौ लोगों को गैस कनेक्शन व चूल्हा, 4792 लोगों को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति पत्र, 165 लोगों को राजमिस्त्री टूलकीट, एक हजार लोगों को स्मार्ट कार्ड वितरण, 274 लोगों को मच्छरदानी, चार सौ लोगों को सब्जी मिनीकीट एवं अन्य हितग्राहियों को सामाग्री वितरण किया।
    रूप सागर परियोजना में रघुनाथपुर, असकला, दोरना गांव महिला समूह का गठन हुआ है। यहां से लुण्ड्रा क्षेत्र के लोग दूध को विक्रय कर सकेंगे। फूड प्रोसेसिंग अंतर्गत खोवा-पनीर का उत्पादन किया जायेगा।
    स्वाभिमान परियोजना में  सीतापुर में दो लाख रूपये की लागत से यूनिट लगाया गया है। इस यूनिट में प्रतिदिन 200 नेफकीन पैड का निर्माण होगा। दो रूपये मेें एक नेफकीन पैड बनेगा और उसे तीन रूपये में सेल किया जायेगा। 

  •  

Posted Date : 10-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बैकुंठपुर, 10 अपै्रल। कोरिया जिले के सोनहत विकासखंड में कल शाम चार्ज हो रहे मोबाइल के फटने एक बालक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। गंभीर हालत को देख उसे अंबिकापुर  अस्पताल भेजा गया है। 
     सोनहत जनपद मुख्यालय के खुटरापारा में कल शाम चार्जिंग के दौरान मोबाईल में धमाके के साथ फट गया।  धमाका इतना तेज  था कि पास खड़े रवि कुमार सोनवानी (13 वर्ष) की अंतडिय़ांॅ  बाहर निकल गईं।  सोनहत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक इलाज के बाद उसे  कोरिया जिला अस्पताल भेजा गया।  एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल के कारण उसे जिला अस्पताल लाया गया। 

  •  



Previous123Next