छत्तीसगढ़ » कोरिया

Previous123456789...3738Next
आईजी-कलेक्टर ने जामपारा उर्पाजन केन्द्र पहुंच कर धान खरीदी का किया शुभारंभ
01-Dec-2021 7:23 PM (22)

किसानों को मिठाई के साथ पहनाया गमछा, धान खरीदी हुई शुरू

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 1 दिसंबर। कोरिया जिले में 1 दिसंबर से किसानो से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरूआत हो गयी। सरगुजा संभाग के आईजी के साथ कलेक्टर, एसपी, सीईओ की उपस्थिति में बैकुंठपुर के जामपारा में धान खरीदी की शुरूआत की गई। इस अवसर पर किसानों को गमछा और मिठाई खिलाई गई।

कोरिया जिले भर के किसानों ने अपने क्षेत्र के समितियो में धान विक्रय करने के लिए धान लेकर पहुंचे और अपना धान विक्रय किया। खरीफ वर्ष  2021-22 में खरीदी के पहले दिन सरगुजा संभाग के आईजी और कलेक्टर, एसपी जिला पंचायत सीईओ के द्वारा धान खरीदी केंद्रों की व्यवस्था देखने के लिए पहुंचे। जामपारा में पहले दिन 20 लघु किसानों से 554 क्विंटल धान खरीदी का टोकन काटा गया है।

जानकारी के अनुसार कोरिया जिले में इस बार 7 नए उपार्जन केंद्र बनाये जाने के साथ ही कुल 40 उपार्जन केन्द्र हो गये है जिनके माध्यम से धान खरीदी की जा रही है। इस वर्ष समय पर मानूसनी बारिश होने के कारण धान की फसल खरीदी के एक माह पूर्व अक्टूबर महीने से ही धान की कटाई का कार्य शुरू हो गया था और नवम्बर महीने तक  80 प्रतिशत से अधिक क्षेत्रों में धान की कटाई का कार्य पूरा कर लिया गया। कटाई के साथ-साथ धान की मिसाई का कार्य भी चलता रहा।

 बड़े किसानों व मध्यम किसानों द्वारा धान कटाई कर थ्रेसर से धान की मिसाई कार्य पूरा किया गया, जिसके चलते धान खरीदी के पहले ही दिन बैकुण्ठपुर जनपद क्षेत्र के कई समितियों में  भारी संख्या में किसान धान विक्रय करने के लिए पहॅुॅच वही धान विक्रय करने के लिए किसानों के द्वारा टोकन करने की शुरूआत होने के साथ ही टोकन कराने के लिए समितियों में पहुॅच कर कतार लगाकर टोकन कटाना शुरू कर दिये ताकि वे अपना धान समितियों में विक्रय कर सके।

 विभिन्न संस्थाओं को बारदाने जमा करने के निर्देश

जिले के विभिन्न समितियों के माध्यम से 1 दिसंबर से धान खरीदी की शुरूआत हो गयी है, लेकिन बीते वर्ष की तरह इस वर्ष भी बारदानें की कमी से समितियों को जूझना पड़ रहा है। बारदानों की कमी से धान खरीदी प्रभावित हो सकती है। इसकी जानकारी कलेक्टर कोरिया को होने के बाद कलेक्टर ने शिक्षा विभाग, आदिवासी विकास विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियो पत्र जारी कर निर्देश दिया है कि वारदाने वापस कराये जाये।

जानकारी के अनुसार स्कूलों में मध्यान्ह भोजन हेतु प्रतिमाह चावल उचित मूल्य दुकान से प्रदाय किया जाता है, इसी तरह आंगनबाड़ी केंद्र तथा जिले के विभिन्न छात्रावास व आश्रमों में उचित मूल्य दुकान द्वारा चावल प्रदाय किया जाता है। चावल उठाव करने के बाद जब चावल की बोरी खाली होती है, तब उसे उचित मूल्य दुकान को वापस करना होता होता है लेकिन विद्यालयों आंगनबाड़ी केंद्र तथा आश्रम छात्रावासों से जिम्मेदारों के द्वारा खाली बारदाने को उचित मूल्य दुकान को वापस नहीं करते हंै। कई विद्यालय व छात्रावास प्रभारियों द्वारा खाली बारदाने को अपने घर के उपयोग में ले जाते हंै तथा विक्रय भी कर देते रहे है।  जिसे लेकर कलेक्टर कोरिया ने उक्त सभी विभाग के जिला अधिकारियों को पत्र लिखकर वारदाने उचित मूल्य दुकान को लौटाने के निर्देश जारी किये है, ताकि 1 दिसंबर से शुरू हुई धान खरीदी केंद्रों में वारदाने की कमी से धान खरीदी प्रभावित न हो।

नाबालिग चला रहे हैं वाहन, प्रशासन कर रहा है अनदेखी
01-Dec-2021 6:23 PM (17)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 1 दिसंबर।
नाबालिगों के द्वारा नियम विरूद्ध तरीके से तथा खतरनाक तरीके से सडक़ों पर दो पहिया व कुछ नाबालिगों द्वारा चार पहिया वाहन लापरवाही पूर्वक चलाये जा रहे हैं, जिससे कि छोटी-बड़ी दुर्घटना होने की आशंका लगातार बन रही है। जिसे लेकर ऑल इंडिया ह्यूमन राईट के प्रमुख शैलेद्र श्रीवास्तव ने पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर नाबालिगों के दो पहिया तथा चार पहिया वाहन चालन पर रोक लगाने की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि शहर में कई नाबालिग तथा किशोर के द्वारा लापरवाही व तेज गति सेत्र बाईक तथा कुछ चार पहिया भी दौड़ा रहे हंै। जिनके द्वारा कई बार देखा जाता है कि एक हाथ में बाईक की हैंडल तथा दूसरे हाथ में मोबाईल पकड़े रहते हंै तथा सरपट गति से वाहन चलाते हुए गुजरते हैं, ऐसी स्थिति मेंं दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। साथ ही इसी लापरवाही के कारण छोटी मोटी दुर्घटनाएं भी हो रही है।

जानकारी के अनुसार कई स्कूल छात्र छात्राओं के द्वारा स्कूल के प्रारंभ व स्कूल छूटने के बाद तेज गति से दो पहिया बाईक् स्कूटी चलाते हुए शहर के सडक़ से आना-जाना करते हंै जिन पर किसी तरह की रोक  व कार्रवाई नहीं होने के कारण लगातार स्कूली छात्र छात्राओं द्वारा दो पहिया वाहन तेज गति से चलाते हुए स्कूल आते जाते हंै। जिस पर पुलिस कार्रवाई करने की जरूरत है, साथ ही अभियान चलाकर जांच करने की जरूरत है।
 

विधायक ने नए धान खरीदी केन्द्र का किया उद्घाटन
01-Dec-2021 5:35 PM (15)

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 1 दिसम्बर।
विधायक गुलाब कमरो अपने विधानसभा क्षेत्र के दौरे के दौरान ग्राम पंचायत खिरकी पहुंचे जहां उन्होंने 20 लाख की लागत से नवनिर्मित नवीन पंचायत भवन सह उचित मूल्य की दुकान का लोकार्पण किया साथ ही भारी संख्या में उपस्थित ग्रामीण जनों की समस्याएं सुनीं और उनका निराकरण किया। इस दौरान विधायक ने क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों की जानकारी व शासन के योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि विधानसभा क्षेत्र सोनहत, मनेन्द्रगढ़, जनकपुर सभी विकासखंडों के ग्रामीण अंचलों व वनांचलों में नवीन ग्राम पंचायतों की सौगात कांग्रेस सरकार ने दी है। इससे पहले 15 साल की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में कोई भी नया ग्राम पंचायत निर्माण नहीं कराया गया।

कमर्जी नवीन धान खरीदी केंद्र का शुभारंभ
ग्राम पंचायत खिरकी के बाद विधायक कमर्जी पहुचे जहां उन्होंने नवीन धान खरीदी केंद्र का उद्घाटन  किया और सभी किसानों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार किसानों की सरकार है। पहले किसानों का कर्जा माफ इसके बाद न्याय योजना मिला कर 25 सौ रूपए में धान की खरीदी की जा रही है। छत्तीसगढ़ के बराबर धान की कीमत कहीं भी नहीं दी जा रही है। विधायक ने कहा कि ये सरकार मोबाइल और छाता बांटने वाली सरकार नही है। कांग्रेस सरकार चाहती है कि लोगों के जीवन में कैसे बदलाव लाया जाए तथा किसानों की आय को बढ़ाया जाए। प्रदेश में 15 साल भाजपा की सरकार रही, लेकिन एक भी नया धान खरीदी केन्द्र नहीं खोला गया। किसानों की सुविधाओं का ख्याल नही रखा गया, लेकिन महज 3 साल में हमने 2 नवीन सहकारी समिति के साथ 7 नए धान खरीदी केंउ्र की स्थापना किया है, जिससे किसानों की सुविधाओं में इजाफा होने के साथ उनके परिवहन खर्च के साथ समय की भी बचत होगी।

विधायक ने कहा कि किसानों को सुविधाएं प्रदान करने हरसंभव प्रयास किया जा रहा है, चाहे वो कमर्जी हो चाहे रामगढ़, नागपुर या कुंवारपुर, बहरासी हो या फिर कटगोड़ी, डोडक़ी, सिंगरौली, कमर्जी हो सभी तरफ से किसानों का ख्याल रखा गया है। उन्होंने कहा की क्षेत्र में कोदो कुटकी रागी पहली बार कांग्रेस सरकार में खरीदी की जा रही है। विधायक ने कहा कि इस साल पंजीयन अधिक हुआ है। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पंजीयन और रकबे में वृद्धि हुई है। हमारी कोशिश है कि किसान ज्यादा धान बेच सके।

विधानसभा क्षेत्र में 44 नए ग्राम पंचायत बनाये गए
विधायक गुलाब कमरो ने ग्राम पंचायत ठिसकोली में 20 लाख से बनी नवनिर्मित नवीन पंचायत भवन सह उचित मूल्य की दुकान का लोकार्पण किया साथ ही ग्राम पंचायत नेउर में 20 लाख लागत से बनी नवीन पंचायत भवन एवं उचित मूल्य की दुकान का भी लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों की समस्याओं को सुना और त्वरित निराकरण भी किया। विधायक गुलाब कमरो ने कहा कि 15 साल भाजपा की सरकार रही पर नए पंचायत नहीं बना सकी, लेकिन हमने 3 साल में ही 44 नए ग्राम पंचायत भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र में बनाये जिससे ग्रामीण अंचलों में मूलभूत सुविधाओं का विस्तार होगा।

समस्याओं का किया त्वरित निराकरण
विधायक गुलाब कमरो ने कई ग्रामों में जनसम्पर्क अभियान के तहत आमजनों व ग्रामीणों से
रूबरू होकर उनकी समस्या जानीं और त्वरित निराकरण की सराहनीय पहल की। उन्होंने ग्रामीणों को शासन द्वारा चलाये जा रहे योजनाओं, विकास कार्यों व क्रियान्वयन की जानकारी दी। विधायक ने क्षेत्रो में चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण कर अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश भी दिए। साथ ही कई जरूरतमंद हितग्राहियों को आर्थिक सहायता के चेक भी प्रदान किए। इसी दौरान विधायक ने स्कूली बच्चों से मुलाकात कर अपने अनुभव भी साझा किए।
 

ननि चुनाव: शिवपुर चरचा में 3, बैकुंठपुर में 2 ने भरा पर्चा
01-Dec-2021 3:34 PM (23)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 1 दिसंबर।
तीन दिन तक नामांकन के लिए कोई भी उम्मीदवार के सामने नहीं आने के बाद अब आईजी की उपस्थिति में जिला प्रशासन ने कमान अपने हाथ में ले ली। निर्दलीय उम्मीदवारों के नामांकन भरने के लिए पुलिस ने उम्मीदवारों को लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी, उन्हें लाकर फौरन ही फार्म भरवाया गया है। दोपहर 3 बजे तक खबर लिखे जाने तक 3 चरचा शिवपुर और 2 बैकुंठपुर नगर पालिका में चुनाव के लिए नामांकन भर चुके थे।

प्रदेश कांग्रेस को चुनाव समिति के एक सदस्य ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में बताया कि दोनों नगर पालिकाओं के लिए प्रत्याशियों के नाम तय कर लिए गए हैं। स्थानीय विवाद को सुलझाने की कोशिश हो रही है। कल तक अधिकृत प्रत्याशी घोषित किए जा सकते हैं।

कोरिया जिले के नगरीय निकाय शिवपुर चरचा व नगर पालिका बैकुंठपुर में नगरीय निकाय चुनाव होने हैं, लेकिन कोरिया जिले के विभाजन पश्चात अन्यायपूर्ण परिसीमन को लेकर उपजे विरोध के बाद समस्त राजनीतिक दलों के द्वारा दोनों निकायों में चुनाव बहिष्कार का करने का फैसला कर रखा है।

इधर, बुधवार की सुबह सरगुजा संभाग के आईजी के कोरिया पहुंचते ही कलेक्टर कार्यालय को पुलिस की छावनी में तब्दील कर दिया गया, स्व सहायता समूह की महिलाएं, होम गार्ड के जवान, निजात अभियान से जुड़े ऐसे लोगोंं को कलेक्टर तक लाया गया और उन्हें बकायदा फार्म भरवाया गया। नामांकन की प्रक्रिया में अभी तक किसी भी राजनैतिक दलों ने नामांकन नहीं भरा है। सिर्फ निर्दलीय उम्मीदवारों को बुलाकर फार्म भरवाया जा रहा है।

सर बोलेंगे तो हम भर देंगे
कलेक्टर कार्यालय में लाए गए उम्मीदवारों से जब चर्चा की गई कि आप किस वार्ड से चुनाव लडऩे के लिए फार्म भरने आए तो कई उम्मीदवारों ने कहा कि जैसे सर बोलेंगे, वैसा करेंगे, बोलेंगे, चुनाव लडऩा है तो वो चुनाव लड़ लेंगे। चुनावी मौसम में ऐसा नजरा देख हर कोई हैरान है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि लोकतंत्र में उम्मीदवार खुद चुनाव लडऩे सामने नहीं आ रहे हंै, बल्कि प्रशासन उन्हें स्वयं लाकर फार्म भर कर लड़वाने में जुटा हुआ है।

कांग्रेस के अध्यक्ष रायपुर तलब
27 नवंबर से चुनाव के लिए नामांकन पत्र प्रदान किये जा रहे हैं, जबकि नामांकन पत्र लेकर जमा करने की अंतिम तिथि 3 दिसंबर तक निर्धारित की गयी है। राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों के द्वारा जिला निर्वाचन अधिकार को अपनी मंशा से अवगत करा दिया गया है। इसी बीच कांग्रेस के जिला अध्यक्ष को आज 1 दिसंबर को प्रदेश नेतृत्व द्वारा चुनाव के लिए पैनल नामों की सूची लेकर रायपुर बुलाया गया है।

अब होगा चुनाव
चुनाव बहिष्कार के निर्णय के दौरान राजनीतिक दलों व कोरिया बचाव मंच के पदाधिकारियों द्वारा यह कहा गया था कि जो भी चुनाव प्रक्रिया में भाग लेगा, उसका सामाजिक रूप से बहिष्कार किया जाएगा, इस बात के डर को लेकर भी कोई भी नामांकन पत्र लेने नहीं पहुंच रहे थे, परन्तु अब प्रशासन के सक्रिय होने के बाद अलग अलग वार्डों से प्रशासन ऐसे लोगों को स्वयं लाकर फार्म भरवा रहा है। जिससे तय है कि अब चुनाव होगा।

ननि चुनाव: तीसरे दिन भी किसी ने नहीं लिया नामांकन
30-Nov-2021 8:16 PM (29)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 30 नवंबर।
कोरिया जिले के दोनों नगरीय क्षेत्रों में होने वाले नगरीय चुनाव के लिए तीसरे दिन भी किसी ने नामांकन पत्र नहीं लिया। सभी दलों के बहिष्कार के निर्णय के बाद निर्दलीय भी नामांकन फार्म लेने आगे नहीं आ रहे हैं, वहीं 3 दिसंबर को नामांकन फार्म जमा करने की अंतिम तिथि है, जबकि अब सिर्फ दो दिन ही बचे हैं। कोरिया जिले के बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगर पालिका में 20 दिसंबर को मतदान होगा, वहीं 3 दिसंबर को मतों की गिनती के बाद परिणाम सामने आएंगे, परन्तु नामांकन पत्र लेने के लिए बीते 3 दिन से कोई नहीं आया है।

 दरअसल, कोरिया के विभाजन के विरोध में सभी राजनैतिक दलों ने चुनाव के बहिष्कार का ऐलान कर रखा है। कोरिया विभाजन को लेकर 16 अगस्त से बैकुंठपुर में कोरिया बचाओ मंच के बैनर तले क्रमिक धरना प्रदर्शन जारी था, वहीं मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद 63वें दिन आंदोलन समाप्त हो गया। बाद में 11 नवंबर को जारी राज्य सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना में खडग़वां विकासखंड को नवीन जिले में जोड़े जाने को लेकर विरोध शुरू हो गया। जिसके बाद बैठक कर यह निर्णय लिया गया कि होने वाले नगर पालिका चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा, जिसके बाद सभी दलों ने एकजुट होकर 27 नवंबर को कलेक्टर को पत्र सौंपा।

कांग्रेस ने स्थगित तो भाजपा के मंडल अध्यक्षों ने दिया पत्र
27 नवंबर को कांग्रेस के पर्यवेक्षकों के सामने सभी संभावित प्रत्याशियों ने चुनाव नहीं लडऩे की मंशा जाहिर की, जिसके बाद जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर को शाम 6 बजे पत्र देने का निर्णय किया गया, जिसके बाद कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नजीर अजहर ने चुनाव स्थगित का पत्र दिया, वहीं बैठक में भाजपा के जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल ने चुनाव के बहिष्कार की घोषणा की थी, परन्तु बहिष्कार का पत्र चरचा और बैकुंठपुर के भाजपा मंडल के अध्यक्षों ने दिया।

एनओसी लेने लगी भीड़
एक ओर चुनाव के लिए नामांकन पत्र लेने के लिए अब सिर्फ दो दिन बचे है, राजनैतिक दलों से जुड़े लोग नगर पालिका कार्यालय से एनओसी लेने पहुंच रहे हंै। मंगलवार को बैकुंठपुर नगर पालिका कार्यालय में काफी संख्या में ऐसे लोग देखे गए, जिन्हें अचानक एनओसी लेने आना पड़ा। जिससे लग रहा है आने वाले दो दिनों में नामांकन पत्र लेने के लिए कोई न कोई आगे जरूर आएगा।

आज से धान खरीदी, टोकन लेने किसानों की कतारें
30-Nov-2021 8:15 PM (18)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया) 30 नवंबर। प्रदेश में 1 दिसंबर से समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन केंद्रों के माध्यम से किसानों से धान की खरीदी की शुरूआत होगी। जिसके लिए प्रशासन ने सभी तरह के आवश्यक व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए है। वहीं धान खरीदी केन्द्रों पर पहले दिन टोकन लेने किसानों की लंबी-लंबी कतारें देखी गई।

कोरिया जिले में ज्यादातर किसानों ने धान की फसल काटकर धान को विक्रय करने के लिए तैयार कर लिया है, हालांकि अभी भी कई किसानों के खेतों में धान की फसल कट कर पड़ी हुई है। एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो जाएगी, जिसके बाद काफी संख्या में किसान विभिन्न खरीदी केन्द्र पहुंचेंं और टोकन लेने के लिए उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ा। वहीं बीते वर्ष की तरह कई नई समितियों की भी शुरूआत की है।

खरीदी की तैयारी पूरी
कोरिया जिले की सभी समितियों में कलेक्टर श्याम धावड़े के निर्देश पर समितियों में तराजू बांट का सत्यापान, ममी मापक यंत्र का सत्यापन हो चुका है, डैमेज के रखने की व्यवस्था, घेराव, खरीदी के तमाम रिकार्ड व रजिस्टर, तिरपाल, सुजा, सुतली लाइटिंग की व्यवस्था पूरी कर ली गई है। इससे पूर्व कलेक्टर ने कई केन्द्रों को दौरा करके सभी व्यवस्था पूरी करने का निर्देश दिए थे।

गांव-गांव में बिचौलिए हो चुके हंै सक्रिय
एक तरफ सरकार किसानों के धान उपज का सही दर देने के लिए समर्थन मूल्य घोषित कर धान खरीदी की शुरूआत करने जा रही है। इसी बीच बिचौलिये भी गांव-गांव में सक्रिय हो गये हैं और बिचौलियों के द्वारा किसानों से कौड़ी के भाव से धान की खरीदी करना शुरू कर दिये हैं। किसानों से खरीदी किये गये धान को दूसरे किसानों के खातों के माध्यम से समितियों को बेचने का कार्य किया जाएगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कोरिया जिले के बैक्ुंठपुर के साथ सोनहत वनांचल क्षेत्र के गांव-गांव में बिचौलिये सक्रिय हंै और ग्रामीण किसानों को झांसे में लेकर 10 रूपये प्रति किलो की दर से धान की खरीदी करने में जुटे हुए हंै। वर्तमान में शादी विवाह का सीजन चल रहा है, ऐसे में ग्रामीण परिवारों को रूपये की जरूरत है इसलिए ग्रामीण किसान अपनी आवश्यकता के लिए तत्काल नगद रूपये मिलने की आस के चलते बिचौलियों को धान जरूरत के अनुसार बेच रहे हंै। इस दिशा में प्रशासन को इसकी जांच कराकर बिचौलियों पर कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है।

दूसरे दिन नामांकन पत्र लेने कोई नहीं आया
29-Nov-2021 8:40 PM (33)

कोरिया बचाओ मंच ने दोहराई मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 29 नवंबर।
कोरिया जिले के विभाजन को लेकर एक ओर सभी दलों ने बहिष्कार का बिगुल फूंक रखा है, वहीं नामांकन पत्र लेने के दूसरे दिन आज भी एक भी नामांकन पत्र लेने कोई नहीं आया, वहीं कोरिया बचाओ मंच ने  सबसे पहले अपनी मांग को दोहराया है। उनका कहना है कि कोरिया वन मंडल का विभाजन बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, उन्हें हर हाल में खडग़वां के साथ कोरिया वनमंडल का विभाजन नहीं चाहिए।

नगरीय  निकाय चुनाव के नामांकन पत्र लेने के दूसरे दिन सोमवार को बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगर पालिका क्षेत्र के लिए किसी ने भी नामांकन पत्र नहीं लिया। दोपहर तीन बजे तक नामांकन पत्र की बोहनी तक नहीं हो पाई। वहीं कोरिया बचाओ मंच के पदाधिकारी कलेक्टर कार्यालय पहुंचे, मंच कोरिया वनमंडल के विभाजन को लेकर भी काफी आक्रोशित दिखा।

कोरिया बचाओ मंच के शैलेश शिवहरे, अनिल शर्मा, भानु पाल, विजय सिंह ठाकुर, अनुराग दुबे, सुनील शर्मा, घनशयाम साहू ने बताया कि कोरिया वनमंडल में 6 परिक्षेत्र हैं। इसे इस तरह से बनाया गया था ताकि कोई इसको तोड़ न सके, इसमें खडग़वां, चिरमिरी से लेकर कोटाडोल भी साथ है। कोरिया जिले के विभाजन के साथ हम कोरिया वनमंडल के विभाजन के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ेंगे। हमारा कोरिया जिला की टूट को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

जीरो बैलेंस वाला खाता
बीते 27 से 29 नवम्बर तक किसी ने नामांकन फॉर्म नहीं लिया है, वहीं सूत्रों की माने तो चुनाव की तैयारी में उम्मीदवार लगे हुए हंै, दूसरी ओर उम्मीदवारों को जीरो बैलेंस खाता खुलवाकर फॉर्म के साथ बताना है। ऐसा नहीं करने पर नामांकन निरस्त हो जाएगा।

आ सकता है पक्ष में फैसला
नगरीय चुनाव के बहिष्कार के फैसले की गूंज कांग्रेस में दिखी जा रही है। कांग्रेस के सूत्र बताते हंै कि शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत और संसदीय सचिव अम्बिका सिंहदेव ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इस मामले पर बात भी की है, जिसके बाद तीसरी बार जिला प्रशासन ने प्रस्ताव रायपुर भेजा है।

कांग्रेस ने की चुनाव स्थगित करने की मांग
28-Nov-2021 7:01 PM (84)

बाकी दल ने किया बहिष्कार का ऐलान

कलेक्टर को ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 28 नवंबर।
आखिर वहीं हुआ, जिसका अनुमान लगाया जा रहा था। कांग्रेस ने नगरीय चुनाव को स्थगित करने का पत्र कलेक्टर को सौंपा, जबकि अन्य दलों ने चुनाव के बहिष्कार का पत्र सौंपकर विरोध जताया।

ज्ञात हो कि कोरिया जिले के भेदभावपूर्ण विभाजन के खिलाफ कोरिया बचाओ मंच के बैनर तले सभी राजनैतिक दलों ने बहिष्कार का ऐलान किया था। शनिवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षकों के हस्ताक्षर सहित जिला अध्यक्ष ने कलेक्टर को पत्र दिया तो उनके साथ सपा, बसपा, गोंगपा, भाजपा के बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर मंडल अध्यक्षों ने भी बहिष्कार का पत्र दिया, वहीं शनिवार से शुरू हुए नामांकन फार्म लेने की प्रक्रिया में फार्म लेने की बोहनी तक नहीं हो पाई।

शनिवार को नगरीय चुनाव के बहिष्कार को लेकर कोरिया बचाओ मंच और कोरिया की जनता कांग्रेस के कदम की ओर टकटकी लगाकर देख रही थी। दोपहर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पर्यवेक्षकों के साथ कांग्रेस की बैठक के बाद यह तय हो गया कि कांग्रेस इस चुनाव में आगे बढऩे को तैयार नहीं है। जिसकी जानकारी प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों को दी गई। इसकी जानकारी कोरिया बचाओ मंच को कांग्रेस ने दी। जिसके बाद दिनभर से इस फैसले का इंतजार कर रहे कोरिया बचाओ मंच के पदाधिकारियों ने भाजपा सहित सभी दलों को कलेक्टर से मिलने सायं 6 बजे का समय दिया, जिस पर सभी तैयार हो गए।

उधर, कलेक्टर धान खरीदी की वीसी मेें चले गए। ठीक 6 बजे कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नजीर अजहर, शैलेन्द्र सिंह कलेक्टर कार्यालय पहुंचें, जहां सपा, गोंगपा, बसपा के जिला अध्यक्ष मौजूद थे। कुछ देर बाद कांग्रेस के पार्षद विजय सिंह ठाकुर, कोरिया बचाओं मंच के वरिष्ठ सदस्य अनिल शर्मा भी पहुंच गए।

दूसरी ओर भाजपा के चुनाव प्रभारी बैकुंठपुर में इस मुद्दे पर बैठक ले रहे थे, 7 बजे भाजपा के जिला अध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल के साथ शैलेष शिवहरे, मंडल अध्यक्ष भानू पाल, अनुराग दुबे सहित कई नेता कलेक्टर कार्यालय पहुंच गए। इसके बाद लोगों को आने का सिलसिला जारी रहा, जिसमें प्रशांत सिंह, सुनील शर्मा, चरचा मंडल अध्यक्ष सहित कई दावेदार भी मौके पर उपस्थित रहे।

लगभग ढाई घंटे तक कलेक्टर कार्यालय में काफी गहमागहमी रही। रात 8.30 बजे कलेक्टर वीसी खत्म होते ही बाहर आए और वहीं उपस्थित सभी जिला अध्यक्षों से मिले। सभी राजनैतिक दलों के जिला अध्यक्षों ने कलेक्टर को बहिष्कार करने का पत्र सौंपा।

पहले दिन नहीं हुई बोहनी
नगरीय निकाय चुनाव में 27 नवंबर से नामांकन पत्र लेने की प्रक्रिया की शुरूआत हुई। बैकुंठपुर नगर पालिका के रिटर्निंग आफिसर जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर श्याम धावड़े और चरचा शिवपुर नगर पालिका के लिए रिटर्निंग आफिसर ज्ञानेन्द्र सिंह ठाकुर पूरे दिन अलग-अलग कक्ष में बैठे, वहीं नामांकन पत्र लेने आने वालों की कोरोना जांच करने के लिए टीम भी उपस्थित रही। इस दौरान दोनों नगरीय निकाय में चुनाव लडऩे के लिए नामांकन नहीं लिया। इसमें कोरिया बचाओ मंच के बहिष्कार के ऐलान का असर देखा गया, बैकुंठपुर में तो चुनाव को लेकर किसी भी तरह का माहौल नहीं देखा जा रहा वहीं चरचा शिवपुर में भी ऐसा ही कुछ हाल है।

अब आगे क्या
चुनाव के बहिष्कार के बाद अब 3 नवंबर तक प्रशासन नामांकन को लेकर अपना काम करेगा,  वहीं कोई निर्दलीय न मैदान में उतर जाए, इस पर कोरिया बचाओ मंच नजर बनाए रखेगा। वहीं चुनाव के बहिष्कार को लेकर कांग्रेस के पर्यवेक्षकों की उपस्थिति और उनकी रिपोर्ट का सरकार पर बड़ा असर पडऩे की संभावना जताई जा रही है क्योंकि कांग्रेस द्वारा सौंपे गए पत्र में दोनों पर्यवेक्षकों ने भी हस्ताक्षर किए हैं।

 सूत्रों की माने तो दोनों पर्यवेक्षकों ने कोरिया विभाजन को लेकर कोरिया जिले में बनी स्थिति से प्रदेश कांग्रेस कमेटी सहित शीर्ष मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री को भी अवगत कराया है। बैठक की रिपोर्ट तैयार कर दोनों पर्यवेक्षक देर शाम बैकुंठपुर से रायपुर के लिए रवाना हो गए, वे मामले की रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौपेंगे।

प्रस्तावना भारतीय संविधान की आत्मा है- डॉ. पाण्डेय
27-Nov-2021 8:12 PM (28)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
चिरमिरी, 27 नवंबर।
भारतीय संविधान के निर्माण की प्रक्रिया बहुत लंबी रही है, संविधान सभा में लंबे विचार विमर्श और संवाद के बाद संविधान को अंतिम रूप दिया गया और फिर 26 नवंबर 1949 को संविधान अंगीकृत किया गया। भारतीय संविधान की प्रस्तावना ही संविधान की आत्मा है। उक्त बातें शासकीय लाहिड़ी स्नातकोत्तर महाविद्यालय चिरमिरी के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, राजनीतिशास्त्र  विभाग और हिन्दी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में संविधान दिवस के अवसर पर ‘भारतीय संविधान- अवधारणा एवं स्वरूप’ विषय पर आयोजित व्याख्यान में मुख्य वक्ता के रूप में रासेयो कार्यक्रम अधिकारी और हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. राम किंकर पाण्डेय ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहीं।

उन्होंने भारतीय संविधान की अवधारणा उसके विकास की प्रक्रिया और उसमें निहित महत्वपूर्ण प्रावधानों पर विस्तार से अपनी बात रखी।    संविधान दिवस के गरिमामय कार्यक्रम की शुरुआत महाविद्यालय के स्मार्ट कक्ष में महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. आरती तिवारी ने की। उन्होंने कहा कि हमारा संविधान दुनिया का सबसे वृहद संविधान है।

कार्यक्रम में राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक प्रिंस कुमार सिंह ने मौलिक अधिकार के महत्व पर और ज्योतिर्मय तिवारी ने संविधान में वर्णित नीति निदेशक तत्व और मौलिक कर्तव्यों पर अपनी बात रखी। कार्यक्रम में विषय की प्रस्तावना प्रस्तुत करते हुए  डॉ. उमाशंकर मिश्रा ने संविधान के निर्माण की प्रक्रिया का उल्लेख किया। संविधान दिवस पर यह यह आयोजन राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, राजनीति शास्त्र विभाग और हिन्दी विभाग के संयुक्त तत्वावधान में हुआ, जिसका सफल संचालन डॉ. उमाशंकर मिश्रा ने किया। कार्यक्रम का समापन वंदे मातरम के सामूहिक गान के साथ हुआ, जिसका गायन नंदा हलधर और ईशा ने किया।

उक्त कार्यक्रम में अनुराधा सहारिया, मंजीत सिंह, भागवत जांगडे, मोहिनी राठौर, आकृति तिवारी, रामनारायण पनिका, डॉ. संदीप सिंह, विकास खटिक , विजय बघेल, आदि उपस्थित रहे।

चुनाव बहिष्कार की घोषणा के बाद भी हलचल, भाजपा के लिए राह आसान नहीं
27-Nov-2021 6:19 PM (25)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर (कोरिया), 27 नवंबर। नगरीय निकाय चुनाव को लेकर भले ही राजनैतिक दलोंं ने बहिष्कार की घोषणा कर रखी हो, परन्तु प्रमुख राजनैतिक दलों ने चुनाव प्रभारी नियुक्त कर स्थानीय नेताओं पर चुनाव में उतरने का दबाव बना दिया है। भाजपा और कांग्रेस दोनों दल चुनावी तैयारियों में जुट गए है, बस इंतजार ये हो रहा है कि पहल कौन करता है। इन सबके बावजूद भाजपा के लिए चुनाव आसान नहीं है।

कोरिया जिले के बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर में नगरीय चुनाव 20 दिसंबर को होना है। कोरिया बचाओ मंच के बैनर तले सभी राजनैतिक दलों ने 63 दिन धरना प्रदर्शन किया, और जब कोरिया से अलग हुए नवीन जिले के अधिसूचना जारी हुई तो भाजपा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रदेंशाध्यक्ष ने सार्वजनिक रूप से चुनाव बहिष्कार का ऐलान किया। परन्तु अब नामांकन पत्र दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके साथ ही चुनावी हलचल तेज हो गई है।

मुद्दों पर रहा विपक्ष मौन

भाजपा के कार्यकाल में कांग्रेस ने बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगर पालिका पर कब्जा जमाया था, 2019 से अब तक कांग्रेस के तीन साल के का कार्यकाल में भाजपा की मजबूत विपक्ष की भूमिका में कम दिखाई दी। दोनों ही पालिकाओं में कांग्रेस के खिलाफ अपेक्षाकृत विरोध प्रदर्शन कम हुए हैं।

अब तक कांग्रेस की नपा सरकार में नगरीय क्षेत्रों में समस्याओं को अंबार रहा है, वर्ष 2019 में सरकार आते ही रेत के दाम आसमान छूने लगे, भाजपा ने बड़े विरोध करने का ऐलान किया। बावजूद भाजपा, कांग्रेस घेरने में नाकाम रही है।

इसी तरह बीते 4 वर्षो से शहर को जगह जगह खोद कर जल आवर्धन योजना की पाईप लाइन विस्तार का कार्य किया जा रहा है। ठेकेदार पर मनमानी का आरोप लगा, लेकिन भाजपा इस मुद्दे को लपकने में नाकामयाब रही। शहर के कुछ जागरूक नागरिकों ने कलेक्टर को तकनीकी त्रुटियों के साथ शिकायत की, जिसके बाद से ठेकेदार ने शहर भर में खोदे गढ्ढों को व्यवस्थित ढंग से भरना शुरू किया, लोगों को गढ्ढोंं से निजात मिला। छोटी-छोटी समस्याओं के प्रति भाजपा नेताओं का उदासीन रवैया चुनाव में भारी पड़ सकता है। जबकि प्रदेश में सरकार होने का फायदा मिल सकता है।

पर्यवेक्षकों के आगे कांग्रेस नेताओं ने जिला विभाजन पर जताई आपत्ति
27-Nov-2021 5:15 PM (32)

प्रतिनिधिमंडल मिलेगा सीएम से

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 27 नवंबर।
कोरिया जिले के गलत विभाजन को लेकर नगरीय चुनाव के बहिष्कार पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने दो पर्यवेक्षकों को कोरिया भेजा, दोनों की उपस्थिति में आज राजीव भवन में बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर के कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ संभावित प्रत्याशियों ने खुलकर अपनी दिल की बात रखी और कोरिया के साथ हुए अन्याय हो पुरजोर तरीके से उठाया। पर्यवेक्षक पूरे मामले की रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष को सौपेंगे, वहीं कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जाकर भी मिलेगा।

25 नवंबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के नेतृत्व में हुई बैठक में पहुंचें कोरिया जिला अध्यक्ष नजीर अजहर बैकुंठपुर लौटे और 26 नवंबर को पूरे दिन घर से नहीं निकले, उन्होंने कह दिया कि शनिवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा दो पर्यवेक्षकों को कोरिया भेजा जा रहा है, उनकी उपस्थित में बहिष्कार के निर्णय को लेकर प्रेस कॉफ्रेंस करेंगे।
 शनिवार को पर्यवेक्षक जेपी श्रीवास्तव और गोपाल थवाईत पहुंचें, राजीव भवन में पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में कांग्रेस के पदाधिकारियों की बैठक शुरू हुई। चार घंटे से ज्यादा समय चली बैठक मेें कांग्रेस के पदाधिकारियों ने कोरिया के विभाजन को लेकर खुलकर बात रखी।

उन्होंने बताया कि कोरिया का विभाजन बेहद ही भेदभावपूर्ण तरीके से किया गया है, जिसे वो कभी बर्दाश्त नहीं करेंगें, इस विभाजन से सबसे ज्यादा आहत और परेशान यहां का आदिवासी समाज हो रहा है। जिसकी बात सुनी जानी चाहिए। पर्यवेक्षकों ने सभी की बात विस्तार से सुनी। अब इस पूरी बैठक की पर्यवेक्षक रिपोर्ट तैयार करेंगे और उसे प्रदेश अध्यक्ष को सौपेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री से अब अंतिम बार मिला जाएगा, यदि कुछ बात बनती है तो ठीक नहीं तो बहिष्कार होगा।

कोरिया के प्रति लगाव
रायपुर की बैठक से वापस आए कांग्रेस जिला अध्यक्ष नजीर अजहर के बेहद तनाव में थे, 26 नवंबर को वो पूरे दिन घर से बाहर नहीं आए, दरअसल, उन्होंने सार्वजनिक तौर पर नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार करने की बात कही थी, वहीं शनिवार को हुई बैठक में उनका पूरा साथ कांग्रेस के सभी पदाधिकरियों ने दिया।

वहीं सूत्रों की माने तो उनके द्वारा लिया गया बहिष्कार का फैसला पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुहर नहीं लगाई। बैठक में मिली फटकार के बाद भी उन्होने कोरिया के विभाजन में कोरिया के साथ हुए गलत की बातें बिना डरे पुरजोर तरीके से रखी। उन्होंने कहा कि डेढ़ विकासखंड के जिले के निर्माण के साथ कांग्रेस को नुकसान हो सकता है।

नौकरी लगाने के नाम पर युवती से ठगी, आरोपी रिश्तेदार सहित 3 पर जुर्म दर्ज
26-Nov-2021 8:09 PM (50)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 26 नवम्बर। नौकरी लगाने के नाम पर डेढ़ लाख की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। पीडि़ता की शिकायत पर मनेंद्रगढ़ पुलिस ने 3 आरोपियों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर विवेचना में लिया है।

    थानांतर्गत वार्ड क्र. 13 सब्जी मंडी के पास किराए के मकान में निवासरत शिकायतकर्ता 29 वर्षीया सुप्रिया सोनी ने मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में इस आशय की शिकायत दर्ज कराई है कि रिश्तेदार न्यू बस स्टैंड जयपुर (राजस्थान) निवासी 29 वर्षीय दीपक सोनी के द्वारा उसे फोन कर कहा गया कि वह शिक्षित युवती है। नौकरी लगवा देगा, लेकिन कुछ रूपए खर्च करने होंगे।

युवती ने बताया कि रिश्तेदार होने की वजह से वह दीपक सोनी की बातों में आकर उसे रूपए देने के लिए तैयार हो गई। आरोपी दीपक के द्वारा अपने साथी खेमचंद सोनी एवं जाहिद खान के खाता में मनी ट्रांसफर के माध्यम से 1 लाख 50 हजार रूपए दिए गए। काफी दिन बीत जाने के बाद जब उसकी नौकरी नहीं लगी तो उसके द्वारा रकम वापस किए जाने की मांग की गई। इस पर आरोपी दीपक सोनी ने पहले कहा कि उसकी माता की तबीयत खराब है ठीक हो जाने पर वह रकम वापस कर देगा, लेकिन उसने रकम वापस नहीं की। बाद में दोबारा पैसा मांगने पर उसने जान से मारने की धमकी दी।

युवती ने बताया कि दीपक से रकम वापस नहीं मिलने पर उसके द्वारा खेमचंद सोनी एवं जाहिद खान को फोन कर रकम की मांग की गई, तो उन्होंने भी उसे जान से मारने की धमकी दी।

पीडि़त युवती ने बताया कि आरोपियों की धमकी से वह भयभीत है। इधर पुलिस ने युवती की शिकायत की जांच की तो पाया कि आरोपी दीपक सोनी द्वारा पीडि़ता से नौकरी लगवाने के लिए डेढ़ से 2 लाख रूपए मांग कर 17 दिसंबर 2020 को पहली बार 3 हजार रूपए खेमचंद सोनी के गूगल पे में डलवाया गया। इसके बाद खेमचंद के बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते में 5 फरवरी 2021 को 10 हजार, 9 फरवरी 2021 को 10 हजार, 27 फरवरी 2021 को 5 हजार, 9 मार्च 2021 को 1 लाख रूपए एवं जाहिद खान के सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के खाता में 13 फरवरी 2021 को 14 हजार रूपए खाता एवं गूगल पे के माध्यम से लगभग 1 लाख 50 हजार रूपए की धोखाधड़ी की गई है।

पुलिस ने आरोपी आरोपी दीपक सोनी, खेमचंद सोनी एवं जाहिद खान के विरूद्ध ठगी व जान से मारने की धमकी देने का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।

स्कूलों में मनाया गया संविधान दिवस
26-Nov-2021 6:23 PM (29)

बाबा साहेब अंबेडकर को याद कर प्रस्तावना का पाठन किया

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर(कोरिया), 26 नवंबर।
संविधान दिवस के अवसर पर 26 नवंबर को जिले भर के स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का पाठन किया गया। इस अवसर पर कई विद्यालयों में संविधान की प्रस्तावना का पाठन करने के साथ ही भाषण परिचर्चा आदि कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

कार्यक्रम की शुरूआत पूर्वान्ह  11 बजे जिले के सरकारी व निजी स्कूलों में संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर शुरूआत की गयी और उनकी जीवनी व उनके योगदान के बारे में उपस्थित विद्यार्थियों को विस्तार से जानकारी बताई गयी। इस तरह संविधान दिवस पर जिले भर के स्कूलों में कार्यक्रम का आयोजन कर संविधान दिवस मनाया गया।

उल्लेखनीय है कि स्कूल शिक्षा विभाग के अवर सचिव ने सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर संविधान दिवस मनाये जाने के निर्देश दिये थे और निर्देश में उल्लेख किया गया था ेिक संविधान की प्रस्तावना का पाठन किया जाये इसके लिए ऑनलाईन वेब पोर्टल के माध्यम से प्रस्तावना का पाठन कराया जाये। जहां कम्प्यूटर की सुविधा न हो तथा मोबाईल इंटरनेट की सुविधा न हो, वहां ऑफलाईन मोड में संविधान की प्रस्तावना का पाठन करना सुनिश्चित कराया जाये। इसी निर्देश के पालन में जिले के सभी स्कूलों में संविधान दिवस के अवसर पर संविधान के प्रस्तावना का पाठन किया गया।
 

नपा चुनाव में कांग्रेस की राह नहीं है आसान
26-Nov-2021 6:14 PM (25)

बहिष्कार सफल हुआ तो ही फायदा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 26 नवम्बर।
कोरिया जिले के बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगर पालिका चुनाव 20 दिसंबर को होना है। परन्तु बीता कार्यकाल को लेकर कांग्रेस की कोई खास उपलब्धि नहीं है, जिससे उसकी राह आसान हो सके। वही हाल में कोरिया के विभाजन का पूरा ठीकरा कांग्रेस पर फूट रहा है, यदि चुनाव हुआ तो कांग्रेस को खासा नुकसान होने के पूरे आसार अभी से दिखने लगे है और बहिष्कार हुआ तो कांग्रेस नुकसान से बच जाएगी।

कोरिया के विभाजन से कांग्रेस को नुकसान सिर्फ बैकुंठपुर विधानसभा ही नहीं मनेन्द्रगढ़ और भरतपुर सोनहत में भी होना तय है। ऐसे में आगामी दिनों में होने वाले बैकुंठपुर विधानसभा के बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर नगरीय चुनाव को लेकर कांग्रेस अब तक बैकफूट पर नजर आ रही है। बैकुंठपुर और चरचा शिवपुर दोनों नगर पालिका में कांग्रेस के अध्यक्ष काबिज थे, बैकुंठपुर में बीते 5 साल में कांग्रेस की कोई खास उपलब्धि नजर नहीं आई है, सरकार आने के बाद से बैकुंठपुर शहर के बीचोंबीच गुजरने वाला एनएच 43 में बड़े बड़े गढ्ढों को भरने का कार्य 3 वर्ष में नहीं हो पाया।

कांग्रेस की विधायक अंबिका सिंहदेव के बनने के बाद सिर्फ गांधी पार्क का जीर्णोद्धार हो सका है। बाकि कांग्रेस के अध्यक्ष रहते शहर के सौंदर्यीकरण, साफ सफाई, पार्किंग की समस्या, पेयजल की सुविधा पर हालात वैसे के वैसे है। पूरे कार्यकाल में लोग बेहद नाराज रहे। वहीं चरचा शिवपुर में कुछ हद तक कॉलरी क्षेत्र होते हुए कुछ कार्य हुए है जो आज भी देखे जा सकते है।

हावी है गुटबाजी
कोरिया कांग्रेस में विधानसभा चुनाव पूर्व और वर्तमान में जबरदस्त गुटबाजी हावी है, कांग्रेसी एक दूसरे से पटकनी देने में कोई किसी से कम नहीं है। सरकार आने के बाद गुटबाजी और तेज हो चुकी है, शीर्ष नेताओं के अपने गुट है, एक विधानसभा वाला दूसरे विधानसभा पर रायपुर से दबाव डालकर नीचा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड रहा है। जिसके कारण कांग्रेस का चुनाव में सफलता प्राप्त की डगर बेहद कठिन होती जा रही है। बैकुंठपुर के साथ रायपुर स्तर से जारी भेदभाव के कारण भी कोरिया कांग्रेस की हालत पतली हो चुकी है। दबाव ऐसा है कि कोई भी खुलकर आलाकमान हो अपनी व्यथा बताने आगे नहीं आ रहा है।

लोगों में नाराजगी
चरचा शिवपुर और बैकुंठपुर में सभी दलों के द्वारा कोरिया के विभाजन को लेकर बहिष्कार की घोषणा के बाद तय है कि कांग्रेस भाजपा में प्रदेश स्तर से चुनाव को लेकर दबाव आना शुरू हो गया है। कांग्रेस-भाजपा के जिला अध्यक्षों ने सार्वजनिक रूप से बहिष्कार की घोषणा कर चुके हैं, वहीं कोरिया के विभाजन को लेकर आमजन में कांग्रेस के प्रति बेहद गुस्सा देखा जा रहा है।

लोगों का कहना है कि यदि विभाजन किया भी गया तो यहां के लोगों की आवाज पूरजोर तरीके से मुख्यमंत्री तक नहीं रखी गई, वहीं मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचें प्रतिनिधिमंडल को जिस तरह से तिरस्कृत किया गया, उसका भी घाव दिल में छुपाए लोग बेहद क्षुब्ध होकर बात को दबाए बैठे हैं।

कांग्रेस को अच्छे से यह बात का अंदाजा है कि यदि चुनाव हुआ तो नुकसान होगा, परन्तु यदि बहिष्कार हुआ तो कुछ लाभ हो सकता है। ऐसे में बहिष्कार की घोषणा कांग्रेस के बाद उसे न तो उगलते बन रहा और न ही निगलते।
 

संबोधन के अध्यक्ष और सचिव को तत्काल प्रभाव से पदमुक्त करने एवं नए चुनाव हेतु प्रस्ताव पारित
26-Nov-2021 5:32 PM (25)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 26 नवम्बर।
साहित्य, कला, समाज एवं पर्यावरण विकास हेतु संकल्पित संस्था संबोधन साहित्य एवं कला विकास संस्थान मनेंद्रगढ़ द्वारा अध्यक्ष विनोद तिवारी एवं सचिव नरेंद्र अरोड़ा की सदस्यता शुल्क निर्धारित समय पर नहीं जमा होने के कारण सदस्यता समाप्त करने तथा पद मुक्त करने हेतु पारित अविश्वास प्रस्ताव पर अनुमति प्रदान करने पंजीयक फर्म एवं सोसायटी रायपुर को पत्राचार किया गया है।

संबोधन के कार्यकारिणी सदस्य एवं विचार मंच के विभागाध्यक्ष बीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि 18 सदस्यों द्वारा अध्यक्ष एवं सचिव को तत्काल प्रभाव से पदमुक्त करने एवं नए चुनाव कराने का प्रस्ताव बहुमत से पारित किया गया है। पारित अविश्वास एवं पुन: निर्वाचन के प्रस्ताव की सूचना पंजीयक फम्र्स एंड सोसायटी रायपुर को प्रेषित कर दी गई है एवं नई कार्यकारिणी के गठन हेतु निर्देश मांगे गए हैं। विज्ञप्ति में आगे कहा गया है कि 27 मार्च 2021 की वार्षिक बैठक में इसकी जानकारी दे दी गई थी जिसमें उन्होंने क्षमा याचना करके संविधान के अनुरूप संस्था को संचालित करने की बात कही थी, लेकिन संविधान का पालन नहीं किया। 44 साल के लंबे कार्यकाल में अध्यक्ष एवं सचिव द्वारा सदस्यता शुल्क जमा न करने के कारण सदस्यता समाप्ति की यह पहली घटना होगी।

संस्था उपाध्यक्ष हारून मेमन ने बताया कि संस्था संविधान के नियम (5स) के अनुसार पुन: आवेदन देकर सदस्यता ली जा सकती है, लेकिन संस्था की समझाईश के बाद भी उन्होंने पुन: आवेदन नहीं किया जिससे संस्था को कठोर निर्णय लेने के लिए बाध्य होना पड़ा। सदस्यता समाप्त हो जाने के बावजूद भी अनाधिकार पद पर बने रहने, चयनित कार्यकारिणी सदस्यों को हटाने एवं भ्रम की स्थिति पैदा करने की गतिविधियों पर सदस्यों ने चिंता प्रकट करते हुए इसे तत्काल रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने का निर्णय लिया, ताकि संस्था के प्रति साहित्यकारों, कलाकारों एवं शुभचिंतक सदस्यों का विश्वास बना रहे।

अध्यक्ष ने आरोप को गलत बताया
पद से पृथक किए जाने के संदर्भ में जब संबोधन साहित्य एवं कला विकास संस्थान के अध्यक्ष विनोद तिवारी से उनका पक्ष लिया गया तो उन्होंने सदस्यता शुल्क जमा नहीं करने के आरोप को गलत बताया। उन्होंने कहा कि विधिवत शुल्क काटा गया है। रसीद सभी के पास है। पैसा बैंक में जमा है, जिसे स्टेटमेंट में देखा जा सकता है। वहीं संविधान का पालन नहीं करने के विषय में उन्होंने कहा कि संस्था विधिवत रजिस्ट्रेशन के नियमों के तहत संचालित है। इसकी विधिवत जानकारी पंजीयक कार्यालय को 2 माह पूर्व भेज दी गई है। अध्यक्ष तिवारी ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा विगत कुछ माह से समानांतर संगठन चलाकर संगठन को तोडऩे का प्रयास किया जा रहा है जो किसी भी दृष्टिकोण से सही नहीं है।

शिक्षा में नवाचार के लिए शिक्षिका विधात्री सम्मानित
26-Nov-2021 5:24 PM (35)

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 26 नवम्बर।
कोरोना काल में देश में शिक्षा को लेकर वेबीनार और घरेलू सामानों के माध्यम से बच्चों को शिक्षा से जोड़े रखने और शिक्षित करने की महत्वपूर्ण चुनौतिपूर्ण अपने दायित्वों का निर्वाह करने के लिए सम्मान मिलने पर बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं। देश में ऐसे शिक्षकों से ही शिक्षा क्षेत्र का भविष्य उज्जवल होगा।

क्षेत्र की साहित्यकार और चेतना महिला संगठन की अध्यक्षा अनामिका चक्रवर्ती ने शिक्षिका विधात्री सिंह के नवाचारी शिक्षक सम्मान से सम्मानित होने पर बधाई देते हुए कहा कि ऐसे ही शिक्षक समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाते हैं। इसी तारतम्य में प्रबल स्त्री फाउंडेशन की अध्यक्ष रश्मि सोनकर ने कहा कि समाज में स्त्री किसी भी रूप में अपनी भूमिका निभाए वह अपना श्रेष्ठ देने का प्रयास करती है और सीमित संसाधनों में भी बेहतर परिणाम देती है।

ज्ञात हो कि विगत दिनों प्राथमिक शाला, सिंगरौली (जनकपुर) की सहायक शिक्षक विधात्री सिंह को कोरोना काल में बच्चों को शिक्षा से जोड़े रखने के नवाचारी मगर सहज, सरल प्रयासों के कारण उन्हें शिक्षक कला व साहित्य अकादमी कोरिया और नवाचारी गतिविधियां समूह दुर्ग द्वारा सम्मानित किया गया है।

प्रयास आवासीय विद्यालय के लिए डीएवी की छात्रा का चयन
26-Nov-2021 5:20 PM (20)

मनेन्द्रगढ़, 26 नवम्बर। आज बालिकाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं, इसका प्रत्यक्ष उदाहरण डीएवी, जनकपुर की कक्षा 9वीं की छात्रा समृद्धि त्रिपाठी है, जिसने छत्तीसगढ़ की राज्य स्तरीय परीक्षा में 8वां स्थान प्राप्त कर प्रयास आवासीय विद्यालय, रायपुर के लिए चयन हुआ है।

शिक्षक दंपत्ति शारदा प्रसाद त्रिपाठी और प्रियंका त्रिपाठी की ज्येष्ठ पुत्री समृद्धि बड़ी होकर भारतीय प्रशासनिक अधिकारी बनना चाहती है। छात्रा की उपलब्धि पर साहित्यकार अनामिका चक्रवर्ती, प्रबल स्त्री फाउंडेशन की अध्यक्ष रश्मि सोनकर और कोरिया साहित्य व कला मंच के मृत्युंजय सोनी ने बधाई व शुभकामनाएं प्रेषित की है।

किसानों का रकबा हुआ शून्य, राजस्व अमला जुटा सुधार करने
26-Nov-2021 5:00 PM (33)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 26 नवंबर।
कोरिया जिले में गिरदावरी में रकबा शून्य होने के कारण किसान परेशान है, वहीं मामले की जानकारी होते ही कलेक्टर ने सभी एसडीएम को रकबा की जांच कर दुरूस्त करने के निर्देश दिए हंै। बीते दो दिन से बैकुंठपुर एसडीएम कार्यालय में पूरा राजस्व अमला रकबे के सुधार में जुटा हुआ है।

जानकारी के अनुसार कोरिया जिला किसानों के रकबे की गिरदावरी पूरी करने में राज्य में प्रथम स्थान पर आया था, परन्तु हड़बड़ी में गड़बड़ी हो गयी, कई किसानों का रकबा शून्य कर दिया गया, कुछ दिन तो इसका पता नहीं चला, परन्तु बाद में जैसे-जैसे धान खरीदी की तारीख करीब आने लगी, किसान सहकारी समिति का रूख कर अपना रकबा जानने पहुंचने लगे तो उन्हें पता चलने लगा कि उनका रकबा शून्य हो चुका है। जिसके बाद कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर इसकी शिकायत की गई।

बैकुंठपुर के ग्राम पंचायत कुडेली के सोमार साय ने कलेक्टर से शिकायत की है कि वे सरभोका सहकारी समिति मे धान का विक्रय करते आ रहे है। उनका कहना है उनका कुल 10 खसरा मे 1.4400 हे भूमि है, जिस पर वो धान की खेती करते हैं, परन्तु उनका रकबा शून्य कर दिया गया है, ऐसे में वो धान कैसे बेच पाएंगे।

वहीं गदबदी, रटंगा, सारा, सलका, जलियाडांड, भंडारपारा, दुधनियां के एक दर्जन से ज्यादा किसानों ने कलेक्टर को पत्र लिखकर उनका रकबा सुधारने की मांग की है। किसानों का कहना है वो सभी पंजीकृत किसान है, सब पर सरकारी का ऋण है। ऐसे में वो कैसे अपना कर्ज चुका पाएंगें।

जिला प्रशासन को इसकी जानकारी लगते ही जिले भर में हुई इस त्रुटि को दुरूस्त करने राजस्व अमले को निर्देश दिए गए, जिसके बाद कल पूरा दिन एसडीएम कार्यालय बैकुंठपुर में रकबे के सुधार कार्य जोरों पर जारी रहा। आज भी सुधार कार्य में अमला लगा रहेगा, इस कार्य को दो दिन में दुरूस्त करने के निर्देश जिला प्रशासन ने दिए है।
 

सपा-बसपा भी आई चुनाव बहिष्कार के समर्थन में
26-Nov-2021 4:54 PM (25)

27 नवंबर से शुरू होगा नामांकन, 6 दिसंबर को नाम वापसी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 26 नवम्बर।
नगरीय निकाय चुनाव को लेकर कोरिया बचाव मंच का समर्थन करते हुए जहां पूर्व में जिले का गलत परिसीमन को लेकर नाराज होकर आयोजित बैठक में कांग्रेस भाजपा गोगपा के पदाधिकारियों द्वारा पूर्व में ही यह सार्वजनिक तौर पर  नगरीय निकाय चुनाव के बहिष्कार की घोषणा की गयी थी। इसके बाद अब बसपा व सपा के पदाधिकारियों ने भी जनता के समर्थन में नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार करने की लिखित समर्थन दिया है।

जानकारी के अनुसार बैकुंठपुर और शिवपुर चरचा नगर पालिका में होने वाले नगरीय चुनाव में चुनाव बहिष्कार के ऐलान के बाद कई और दल अब समर्थन में आगे आ रहे हैं। भाजपा, कांग्रेस, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के बाद बसपा के पूर्व जिला अध्यक्ष ने खडग़वां जनपद के लोग कोरिया जिले में शामिल होना चाहते हैं, लेकिन जनभावनाओं के विपरीत सरकार द्वारा नये जिला मनेंद्रगढ़ चिरमिरी भरतपुर में शामिल कर अधिसूचना जारी की गयी। वहीं खडग़वां को लेकर कोरिया बचाव मंच द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है जिसका बसपा समर्थन करती है और शिवपुर चरचा तथा बैकुंठपुर नगर पालिका चुनाव का बसपा भी बहिष्कार करती है।

उन्होंने कहा कि दोनों जगहों पर बसपा अपना प्रत्याशी नहीं उतारेगा। इसी तरह समाजवाटी पार्टी के जिला अध्यक्ष महेश यादव ने कोरिया बचाव मंच का सपा पूरी तरह से समर्थन करता है और कोरिया जिले के विभाजन के पश्चत गलत परिसीमन के विरोध में सपा भी नगर पालिका बैकुंठपुर तथा नगर पालिका शिवपुर चरचा में होने वाले चुनाव का बहिष्कार करते है। सपा दोनों ही नगरीय निकाय में अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी। इस तरह अब सभी प्रमुख राजनीतिक दलो के पदाधिकारियों के द्वारा नगरीय निकाय चुनाव का जिले का गलत परिसीमन केा लेकर चुनाव बहिष्कार की घोषणा कर चुके है। लेकिन अपने घोषणा पर कितने खरे उतरते है यह तो नामांकन प्रक्रिया के दौरान ही पता चल सकेगा।

पैनल कर रहे है तैयार
एक ओर बहिष्कार को हर कहीं बात हो रही है जबकि दूसरी ओर राजनीतिक पार्टियां वार्ड वार चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों के पैनल तैयार कर रही है।
सूत्रों की माने में भाजपा और कांग्रेस दोनों की दल प्रत्याशियों के 3-3 नामों के पैनल तैयार कर लिए हंै। ऐसे में कोरिया बचाओ मंच का दोनों नगरीय निकाय के चुनाव का बहिष्कार पर किए अपने वादे को तोडऩे राजनीतिक दल कोई न कोई बहाना बनाने की जुगत में भी लगे हुए हंै।

27 से नामांकन प्रक्रिया शुरू
नगरीय निकाय चुनाव कार्यक्र्रम के तहत 27 नवम्बर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी। इस दिन से नामांकन भरने शुरू हो जाएगा। इसमें ऑनलाईन और ऑफलाइन दोनों तरह से भरा जाएगा, ऑनलाइन फार्म भरने के बाद उसका प्रिंट निकाल कर जमा करना होगा। फार्म के साथ 3 फोटो, शपथ पत्र, नगर पालिका का एनओसी, उम्मीदवार उसी नगर पालिका का निवासी होना चाहिए वो नगर पालिका क्षेत्र में किसी भी वार्ड से चुनाव लड़ सकता है, उन्हें एक प्रस्तावक जिस वार्ड से चुनाव लडने चाहते है लाना होगा, इसके अलावा बैलेट पेपर में क्या नाम रहेगा उसके लिए भी एक फार्म भरना होगा। इस तरह और भी कई औपचारिकता पूरी करना होगा।

3 दिसंबर तक नामांकन होगा, 6 दिसंबर को नाम वापसी और फिर 20 को मतदान और 23 दिसंबर को मतगणना होगी और परिणाम सामने आएगा।
 

संरक्षित क्षेत्र हरचोखा सीमामढ़ी में फिर अवैध रेत खुदाई शुरू
25-Nov-2021 11:10 PM (30)

ग्रामसभा लीज को कर चुकी है निरस्त, ग्रामीण फिर देंगे धरना

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया), 25 नवम्बर।
कोरिया जिले के भरतपुर में कोटाडोल के बाद संरक्षित क्षेत्र हरचोखा की मवई नदी में फिर से अवैध रेत खुदाई शुरू हो गया है।
जिस स्थान से दुबारा अवैध रेत उत्खनन का कार्य शुरू किय गया है उस स्थान से चंद दूरी पर रामवनमगन मार्ग का पहला पड़ाव सीतामढ़ी स्थित है। 8 माह पूर्व यहां की ग्राम सभा ने रेत की लीज का निरस्त कर दिया था। वहीं एक फिर ग्रामीण अवैध रेत उत्खनन को लेकर एकजुट होकर धरना देने की रणनीति बना रहे हैं।

भरतपुर के कोटाडोल में अवैध रेत उत्खनन से हर कोई परेशान है, तो इस कारोबार से जुड़े लोगों ने संरक्षित क्षेत्र हरचोखा की मवई नदी से अवैध रेत खुदाई और रेत को मप्र उप्र भेजने की शुरूआत कर दी है, सीतामढ़ी से लगा रेत के भंडार पर पूरी रात खुदाई होती है और रात में कई हाइवा रेत भरकर राज्यों से बाहर भेजा जा रहा है। ऐसा बीते एक सप्ताह से जारी है।

ग्रामसभा ने निरस्त करने का किया था प्रस्ताव पारित
ग्राम पंचायत हरचोखा ने 13 फरवरी 2021 को विशेष ग्रामसभा का आयोजन कर जिला प्रशासन द्वारा दी गई खुदाई की लीज को कैंसिल कर दिया था। प्रस्ताव में कहा गया था कि अवैध रेत उत्खनन से गांव का जलस्तर नीचे जा चुका है।

 रेत खदान से मवेशियों को पानी पीने में असुविधा के साथ कई मवेशी गढ्ढों में गिरकर जांन गंवा चुके है। भारी भरकम ट्रकों के चलने से सडक़ टूट चुकी है। नदी सूखने की कगार पर पहुंच गई है, रेत उत्खनन के कारण ग्रामीणों में डर व्याप्त है। इस तरह कई कारण बताकर विश्ेाष ग्राम सभा में रेत उत्खनन की लीज निरस्त करने का प्रस्ताव पारित किया गया था।

जनपद सदस्य ने एसडीएम को सौंपा था ज्ञापन
हरचोखा में अवैध रेत उत्खनन को लेकर क्षेत्र के जनपद सदस्य सुखपाल सिंह मरावी ने एसडीएम को ज्ञापन सौप कर इसे बंद करने की मांग की थी उन्होने अपने ज्ञापन में बताया था कि हरचोखा सीतामढ़ी को पर्यटन क्षेत्र घोषित किया गया है। इसकी खूबसूरती को बरकार रखने के लिए रेत की लीज निरस्त किया जाए, रेत के ठेकेदार द्वारा रतनजोत प्लांटेशन में लगे पेड़ों को काटकर रास्ता बनाया गया है उस पर अपराध दर्ज किया जाए। ठेकेदार को जिला प्रशासन ने जितने क्षेत्र की लीज दी है उससेे कई गुणा ज्यादा क्षेत्र से अवैध रेत की खुदाई की जा रही है। उन्होने भी गांव के जलस्तर में आ रही कमी की बात अपने सौपें ज्ञापन में कहा था।
 

बादल छटते ही मौसम हुआ ठंडा
25-Nov-2021 7:41 PM (23)

लोगों ने निकाले गर्म कपड़े

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 25 नवम्बर।
मौसम के साफ होने के साथ ही अब दिन व रात के तापमान में कम होने लगी है। गत 24 नवंबर से जिले में आसमान पूरी तरह से साफ हो गये दूसरे दिन 25 नवंबर को भी सुबह से ही सूर्य आसमान में चमकता रहा।इसके पूर्व तीन चार दिनों तक आसमान में बादल छाये रहे जिसके कारण ठण्ड का असर नही हो रहा था लेकिन बादलों के छंटते ही दिन के साथ रात के तापमान में कमी आने लगी। जिसके चलते 25 नवम्बर की सुबह के समय कंपकंपी भरी ठण्ड का असर ज्यादा रहा।

इसी तरह से लगातार मौसम साफ रहता है तो लगातार दिन व रात का तापमान में कर्मी दर्ज की जाती रहेगी। जिससे कि अब धीरे धीरे ठण्ड तेज होना शुरू हो जायेगा। अभी तक जिले में ज्यादा ठण्ड का असर नही रहा लेकिन अब बादल छंट गये है तब दिनों दिन ठण्ड में बढोतरी आती जायेगी। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अभी शहरी क्षेत्रो के मुकाबले ज्यादा ठण्ड का असर देखने को मिल रहा है वही वनांचल  पठारी क्षेत्रों में ठण्ड में बढोतरी हुई है यही कारण है कि सुबह के समय लोग अलाव जलाकर ठण्ड दूर कर रहे है। वही इस दौरान सुबह की धूप भी सुहानी लगने लगी है। वही सुबह व शाम को मौसम में नमी के कारण ठण्डी हवाओं से ठण्ड की गति लगातार तेज होगी। दिसम्बर माह में सबसे ज्यादा ठण्ड का असर रहता है। नवम्बर माह के समाप्त होने के लिए अब कुछ ही दिन शेष बचे हुए है इसके बाद दिसम्बर माह में ठण्ड अपने चरम पर होगा। इसी माह में स्कूलों में ठण्ड को देखते हुए शीतकालीन अवकाश की घोषणा भी की गयी है।

ठण्ड के बढने के साथ ही गर्म कपडों की मॉग हर वर्ष इस सीजन में बढ जाती है। शहर के स्कूलपारा मुख्य मार्ग के किनारे कई अस्थाई दुकाने गर्म कपडों की लगी हुई है जहॉ दिन भर खरीददारों की भीड जुटी रहती है। अभी ठण्ड अपने शुरूआती दौर में है ऐसे समय में  लोग अपने को ठण्ड से बचाने के लिए गर्म कपडों का उपयोग करते है जिस कारण खरीदी भी  अब तेज हो गयी है। शहर के कई स्थाई दुकानों में गर्म कपडों के एक दाम होने की वजह से ज्यादातर लोग अस्थाई दुकानों में खरीदी करना पसंद करते है जहॉ पर मोलभाव कर खरीदी की जा रही है। इस सीजन में अच्छी आमदनी व्यापारी प्राप्त करते है।
 

42 हाथियों की खडग़वां वन परिक्षेत्र में मौजूदगी
25-Nov-2021 7:25 PM (25)

फसलें रौंदी, मकान तोड़े, रतजगा कर रहे ग्रामीण

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 25 नवम्बर।
कोरिया जिले के हाथी प्रभावित वन परिक्षेत्र खडग़वां में 42 सदस्यीय हाथियों का दल विचरण कर रहा है। जिससे प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीण रतजगा कर रहे है। हालांकि वन विभाग की टीम हाथियों की आवाजाही पर नजर बनाये हुए है और कोशिश की जा रही है कि रहवासी क्षेत्र में हाथियों का दल प्रवेश नहीं कर पाये लेकिन कई ग्रामीण क्षेत्र के किनारे तक हाथियों का दल पहुंच रहा है जिसे लेकर लोगों में डर का माहौल बना हुआ है।

ंमिली जानकारी के अनुसार 25 नवम्बर की स्थिति में हाथियों का दल वन परिक्षेत्र खडग़वां के बीट बेलबहरा के कक्ष क्रमांक 598 क्षेत्र में विचरण करते देखे गये। इस क्षेत्र के कारीमाटी नामक जंगल क्षेत्र में हाथियों की मौजूदगी बनी हुई है। इस क्षेत्र से हाथियों के दल को मरवाही या मनेंद्रगढ़ वन मण्डल क्षेत्र में जाने की संभावना वन विभाग लगा रहा है।

उल्लेखनीय है कि बेलबहरा व कोडा बीट क्षेत्र में बीते तीन चार दिनों से 42 सदस्यीय हाथियों का दल घुम रहा है जो दो दलों में बंटकर घूम रहे हैं। जिसके कारण क्षेत्र के लोग दिन के साथ रात में भी हाथियों से सतर्क होकर रह रहे हैं। प्रभावित क्षेत्र के लोग रात में भी चैन की नींद नहीं सो पा रहे हैं। इन क्षेत्रों के लोगों का कहना है कि कब किसी गॉव में हाथी चला जाये कोई भरोसा नही उन्हें वन विभाग पर भी भरोसा नही है जिस कारण कई ग्रामीण मशाल जलाकर रात काट रहे हैं। अपनी जांन के साथ ग्रामीणों केा अपने फसल केा लेकर भी चिंता सताते रहती हैै।

वन परिक्षेत्र खडगवां के बेलबहरा बीट अंतर्गत एक गांव में हाथियों के दल द्वारा 24 नवम्बर को एक ग्रामीण के स्कूटी को पटकर कर नुकसान पहुंचाया गया। इस दिन किसी भी क्षेत्र में फसल नुकसान की जानकारी नहीं है लेकिन इसके पूर्व क्षेत्र के 15 किसानों के खड़ी व कटी फसल केा हाथियों के दल द्वारा नुकसान पहुंचाया गया तथा क्षेत्र में दो ग्रामीणों के घर को तोड़े जाने की भी खबर है।  

डर-डर कर कर रहे कटाई व मिसाई
हाथी प्रभावित खडग़वॉ वन परिक्षेत्र के कोडा व बेलबहरा बीट क्षेत्र अंतर्गत कई गॉवों के लोग हाथियों के डर के बीच में अपने खेतों से धान की कटाई कर खलिहानों तक पहुंचा रहे हैं, वही खलिहानों में कटाई कर रखे गये धान की मिसाई का भी डर के साये में करते हुए अनाज को घर में सुरक्षित रख रहे हैं।
 

खोंगापानी में सत्ता पक्ष के 5 पार्षदों ने इस्तीफे के लिए जिलाध्यक्ष से मांगी अनुमति
25-Nov-2021 6:33 PM (22)

अध्यक्ष पर लगाया सम्मान को ठेस पहुंचाने का आरोप

छत्तीसगढ़ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 25 नवम्बर।
नगर पंचायत खोंगापानी में सत्ता पक्ष के पार्षदों ने अपने ही अध्यक्ष पर उन्aहें अपमानित कर सम्मान को ठेस पहुंचाए जाने की लिखित शिकायत भाजपा जिलाध्यक्ष से करते हुए इस्तीफा देने हेतु अनुमति प्रदान किए जाने की मांग की है।

भाजपा जिलाध्यक्ष के नाम सौंपे ज्ञापन में नगर पंचायत खोंगापानी के वार्ड क्र. 11 के पार्षद पी. मनी, वार्ड क्र. 2 की महिला पार्षद सीता कोल, वार्ड क्र. 5 की पार्षद लक्ष्मी यादव, वार्ड क्र. 12 की पार्षद ममता सिंह एवं वार्ड क्र. 14 की पार्षद मीरा यादव ने कहा कि नगर पंचायत अध्यक्ष धीरेंद्र विश्वकर्मा द्वारा पार्षदों के सम्मान को बार-बार अपमानित कर ठेस पहुंचाई जा रही है, जिससे वे जनता के बीच अपने पार्षद पद के दायित्व का निर्वहन कुशलतापूर्वक नहीं कर पा रहे हैं। शिकायत में आगे कहा गया कि अध्यक्ष का व्यवहार व कार्यशैली भाजपा पार्षदों के प्रति अच्छी नहीं है जिसकी सूचना समय-समय पर संगठन को दी जाती रही है। । 2 वर्ष समाप्ति की ओर है, लेकिन चाहे निर्माण कार्य हो या फिर सामग्री खरीदी, बीजेपी पार्षदों को कोई जानकारी नहीं दी जाती। यही नहीं केवल कांग्रेसी पार्षदों के वार्डों में काम हो रहे हैं जिसे प्रत्यक्ष रूप से देखा जा सकता है। इससे संगठन की छवि धूमिल हो रही है। भाजपा पार्षदों ने कहा कि वे संगठन के प्रति निष्ठापूर्वक कार्य करते हुए नगर पंचायत खोंगापानी के पार्षद पद से इस्तीफा देने हेतु जिलाध्यक्ष से अनुमति चाहते हैं।

जिलाध्यक्ष ने कहा - मुझे कोई जानकारी नहीं
नगर पंचायत खोंगापानी में एक साथ 5 बीजेपी पार्षदों के द्वारा अध्यक्ष पर आरोप लगाकर पार्षद पद से इस्तीफा हेतु जिलाध्यक्ष से अनुमति की मांग किए जाने का मामला प्रकाश में आने पर जब इस विषय में बीजेपी जिलाध्यक्ष कृष्णबिहारी जायसवाल से चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि इसकी उन्हें कोई जानकारी नहीं है और न ही उनके पास इस्तीफा से संबंधित किसी तरह का कोई ज्ञापन पेश किया गया है।
 

प्राइवेट फायनेंस कंपनी ने लॉकडाउन में बांटा लोन, अब रकम जमा करने के बाद भी किया जा रहा प्रताडि़त
25-Nov-2021 6:19 PM (32)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 25 नवम्बर।
कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान कामकाज बंद होने से जब लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे, उस दौरान शहर में नियम-कायदों को ताक पर रखकर चल रही प्राइवेट फायनेंस कंपनी ने लोगों की मजबूरियों का जमकर फायदा उठाया। पहले घर-घर जाकर लोन बांटा और अब जानकारी मिल रही है कि लोन में ली गई रकम जमा करने के बाद भी भोलेभाले कम पढ़े-लिखे एवं अशिक्षत लोगों को प्रताडि़त किया जा रहा है और उन्हें जेल भिजवाने की धमकी दी जा रही है।

नगर पंचायत खोंगापानी की कई महिलाओं ने एसडीएम के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर प्राइवेट फायनेंस कंपनी द्वारा परेशान किए जाने की लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की। सुनीता, भारती, सकुन, आशा, सीता, आरती, बरखा, लीलावती, फूलबाई, सोनकुंवर आदि महिलाओं ने अपनी शिकायत में कहा कि खोंगापानी आदिवासी क्षेत्र कोल दफाई में कई प्रायवेट फायनेंस कंपनी के संचालकों ने कोरोना काल में लॉकडाउन का फायदा उठाते हुए गरीब आदिवासी महिलाओं के घर पर जाकर उन्हें 30 से 50 हजार रूपए नगद ब्याज पर उपलब्ध कराए और किश्त के रूप में लोन में ली गई रकम चुकाने के लिए कहा गया, लेकिन अब ऐसी कई महिलाएं जिनके द्वारा लोन में ली गई रकम किश्त के रूप में जमा कर दी गई है, बावजूद उन्हें यह कहकर परेशान किया जा रहा है कि अभी भी उनके ऊपर लोन बकाया है।

महिलाओं ने अपनी शिकायत में अन्नपूर्णा, एचडीएफसी, वेल स्टार एवं बंधना आदि प्राइवेट फायनेंस कंपनी का जिक्र करते हुए कहा कि संबंधित कंपनियों के एजेंट द्वारा बार-बार उनके घर आकर गाली-गलौज करने एवं जेल भिजवाने की धमकी दी जा रही है। महिलाओं का कहना है कि लोन में ली गई रकम की पूरी किश्त उनके द्वारा जमा कर दी गई है, लेकिन लोन बकाया बताकर उन्हें प्रताडि़त किया जा रहा है। परेशान महिलाओं ने अपनी व्यथा बताते हुए कहा कि लॉकडाउन के बाद किसी प्रकार उनकी जिंदगी पटरी पर लौट रही है, लेकिन आए दिन प्राइवेट फायनेंस कंपनी के एजेंटों द्वारा उन्हें उनके मानसिक रूप से प्रताडि़त कर उनका जीना दूभर कर दिया है।

एसडीएम के निर्देश पर होगी कार्रवाई - तहसीलदार
तहसीलदार बजरंग साहू ने कहा कि खोंगापानी की कुछ महिलाओं ने उन्हें एसडीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर प्राइवेट फायनेंस कंपनी के खिलाफ शिकायत की है। एसडीएम अवगत कराया जाएगा और उनके निर्देश पर इस मामले में आगे नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
 

दोनों नगर पालिका में चुनाव न हो चुनाव- सर्व आदिवासी समाज
25-Nov-2021 5:24 PM (26)

चुनाव को लेकर न उत्साह और न ही कोई खुशी, पसरा है सन्नाटा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर (कोरिया) 25 नवम्बर।
छग राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा 15 नगरीय निकायों में चुनाव की तारीख घोषित कर दी है। इसके साथ ही नगरीय निकाय चुनाव की बिगुल बज गया। वहीं सर्व आदिवासी समाज कोरिया जिले के भेदभावपूर्ण विभाजन को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त को पत्र देकर जिले के दोनों नगरीय निकायों में चुनाव नहीं कराए जाने की मांग की है।

सर्व आदिवासी समाज कोरिया तथा कोरिया बचाव मंच के पदाधिकारियों के द्वारा आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग को एक ज्ञापन सौंपकर यह बताया कि कोरिया जिले का विभाजन मुख्यमंत्री द्वारा करने की घोषणा के बाद नया जिला मनेंदगढ़ चिरमिरी भरतपुर बना जिसके सीमाओं का निर्धारण किया गया। तब कोरिया के लोगों द्वारा अन्यायपूर्ण परिसीमन का आरोप लगातं हुए सर्व दलीय बैठक कोरिया बचाव मंच के तत्वाधान में किया गया, जिसमें गलत परिसीमन को लेकर प्रमुख राजनीतिक दलों द्वारा नगरीय निकाय चुनाव के बहिष्कार की घोषणा सार्वजनिक रूप से की गयी, जिसे लेकर कोरिया जिले में नगरीय निकाय चुनाव नहीं कराये जाने की मांग राज्य चुनाव आयुक्त से की गयी।

कोरिया जिले में नगर पालिका बैकुंठपुर तथा नपा शिवपुर चरचा में होना है।  इसके पूर्व ही भाजपा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष के साथ गोगपा के प्रदेशाअध्यक्ष द्वारा नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार करने की घोषणा जन भावनाओं के अनुरूप लिया गया है।

आयुक्त राज्य चुनाव आयोग को सौंपे ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि 16 नवम्बर को सर्वदलीय एवं आम नागरिकों द्वारा एक बैठक  आयोजित कर नगरीय निकाय चुनाव का बहिष्कार किया जायेगा। राजनीतिक दलों द्वारा निर्णय लिया गया कि वे अपने पार्टी की ओर से पार्षद अध्यक्ष का प्रत्याशी नहीं उतारेंगे।

दोनों नगरीय निकाय में सन्नाटा
राज्य चुनाव आयोग द्वारा चुनावी तारीख का ऐलान करने के बाद भी कोरिया जिले के दोनों नगरीय निकाय शिवपुर चरचा तथा बैकुंठपुर में सन्नाटा है। कही पर भी चुनावी शोरगुल नहीं सुनाई दे रही है और न ही तैयारियां ही दिखाई दे रही है सिर्फ जिला प्रशासन द्वारा अपनी तैयारी शुरू कर दी गयी है। चुनाव के पूर्व जो उत्साह देखा जाता है वो एकदम नदारद है। शिवपुर चरचा व बैकुंठपुर नगर पालिका क्षेत्र के वार्डों में किसी प्रकार की चुनावी हलचल नहीं दिखाई दे रही है। लोगों द्वारा इस बात की चर्चा की जा रही है कि आगे क्या होगा। उल्लेखनीय है कि 27 नवंबर से नाम निर्देशन पत्र मिलना शुरू हो जायेगा और 3 दिसंबर तक नामांकन प्राप्त करने का अंतिम दिन निर्धारित किया गया है। इस बीच ही पता चल सकेगा कि क्या होगा। हालांकि राजनीतिक दलों से जो नहीं जुड़े है उन्हें चुनावी मैदान में रोका नहीं जा सकता ऐसे में कई लोग चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरने की तैयारी में है।

करोड़ों के विकास कार्य की घोषणा
चुनावी तारीख घोषित होने के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बधेल द्वारा वर्चुअल रूप से जिले के नगरीय निकाय बैकुण्ठपुर तथा शिवपुर चरचा में करोड़ों रूपये के विकास कार्य की स्वीकृति प्रदान की गयी है। नगरीय निकाय चुनाव के पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा जिले के दोनों नगरीय निकाय चुनाव के पूर्व करोड़ों के विकास कार्य की सौगात देकर दोनों नगरीय निकाय क्षेत्र के मतदाताओं को रिझाने की कोशिश की गयी है। इस बात को निकाय क्षेत्र की जनता भी बखूबी जान रही है लेकिन कही न कही लोगों के मन में गलत तरीके से जिले के विभाजन का  दर्द भी सता रहा हैं।

तारीख ऐलान के बाद भी मतदाता खामोश
शिवपुर चरचा व बैकुंठपुर नगर पालिका क्षेत्र के मतदाता चुनाव की तारीख का ऐलान होने के बाद खामोश है। दोनों नगरीय निकाय के वार्डों में सन्नाटा है किसी तरह की चुनावी हलचल नही दिख रही है। हालांकि मतदाता चुनाव तिथि को अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे लेकिन यह तय है कि कोरिया जिले के विभाजन के बाद जिले के लोगों में अन्याय पूर्ण विभाजन को लेकर रोष है जिसका असर आगामी नगरीय निकाय चुनाव में भी देखने को मिल सकता है यदि इसी तरह की स्थिति बनी रहती है तो कांग्रेस को नुकसान पहुंच सकता है। दोनों नगरीय निकाय के ज्यादातर मतदाता भी गलत परिसीमन को लेकर नाराज है। जिसका असर आगामी चुनाव में साफ दिख सकता है।
 

Previous123456789...3738Next