छत्तीसगढ़ » कांकेर

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    काँकेर, 9 नवंबर। चुनावी प्रचार के अंतिम पड़ाव में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का अंतागढ़ विधानसभा क्षेत्र के पखांजुर में आगमन हुआ। जहां  जनता ने गर्मजोशी से स्वागत किया।  कार्यकर्ता उन्हें अपने बीच पाकर काफी उत्साहित नजर आए।
    उन्हें देखने और सुनने के लिए श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में लोगों की भारी भीड़ जुटी भीड़ को संभालने और राहुल की सुरक्षा के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। भीड़ को काबू करने  ें  स्थानीय कांग्रेस नेताओं को  बंगाली  में उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करना पड़ा।  अंत में कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, टी एस सिंहदेव, चरणदास महंत ने राहुल का स्वागत किया। कार्यक्रम में स्थानीय व जिला कांग्रेस के पदधिकारी बड़ी संख्या में मौजूद रहे। 

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    कांकेर /चारामा, 9 नवंबर। पुसवाड़ा बाजार के पास परसु राम साहू  सातलोर, भागवत  जवरतरा हेमंत कोराम पुसवाडा, घनश्याम पटेल   पुसवाडा , विनोद मंडावी   कुम्हानखार के कब्जे से 2040 रुपया, सुनील मरकाम   दसपुर ,दिलीप निषाद  दसपुर ,शैलेंद्र निषाद    दसपुर  घटनास्थल  नयापारा  बेवरती के कब्जे से 3120 रुपया, मनोज जैन  ,गन्नू राम विश्वकर्मा, तेजराम पटौटी , नीरज सलाम , दीपक शांडिल्य  ,जवाहर  कोकड़ी, के कब्जे से 6220   रुपया घटनास्थल शीतला मंदिर कोकड़ी , बीरबल मंडावी  ,अरुण मंडावी ,तोमेश कुमार मंडावी  ,समल, कैलाश कुंजाम, संदीप  सभी साकिनान ग्राम डुमाली घटनास्थल डुमाली तालाब के कब्जे से 4360 रुपया, मिथलेश कुमार सलाम , शिवप्रसाद सलाम ,नारायण कुमार देवांगन  सभी साकिनान  सरंगपाल, घटनास्थल डुमाली तलाब के पास कब्जे से4340 रुपया,  बंटी तेलाशी  अघन नगर, कार्तिक राम  ू श्याम नगर, शक्ति मंडावी  अघन नगर, विजय मरकाम  अघन नगर, बंटी राम चावला कंकालिन पारा, सुदामा   एम जी वार्ड कांकेर, घटनास्थल पहाड़ के नीचे अघन नगर के कब्जे से 8200 रुपया जब्त किया गया। 
    विकास रजक, रेख राज  निषाद, जुगल यादव, संतोष ,सतीश मांझी , नंद किशोर साहू सभी  साकिनान शीतला पारा कांकेर घटनास्थल शीतला पारा कांकेर पानी टंकी के कब्जे से2450 रुपया जप्त किया, मुकेश चारामा, राजू गोस्वामी भाटापारा चारामा के कब्जे से2100 रुपया घटनास्थल मछली मार्केट के पीछे मे लुक छिप कर रुपये-पैसे की हार जीत का दाव लगा कर जुआ खेलने  की सूचना पर घेराबंदी रेड कार्यवाही कर 23 आरोपियों को पकड़ा गया। जिसके कब्जे से कुल जुमला रकम 32780 रुपया, ताश के 52 पत्ते जप्त किया गया।

  •  

Posted Date : 09-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पखांजूर, 9 नवंबर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार पखांजूर (बस्तर) में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पैसों की कमी नहीं है। यहां जल, जंगल, जमीन समेत प्राकृतिक संसाधनों का भरपूर भंडार हैं, लेकिन यहां की जनता को उसका फायदा नहीं मिलता। श्री गांधी ने जोर देकर कहा कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनती है तो किसानों का 10 दिनों में कर्जा माफ कर दिया जाएगा, वहीं दो साल का किसानों को बकाया बोनस भी दिया जाएगा। 
    उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि ये दोनों नेता अपने 10-15 उद्योगपति दोस्तों से राय लेकर आगे फैसला लेते हैं। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने मनरेगा योजना के लिए एक साल का 35 हजार करोड़ दिए थे और उससे करोड़ों लोगों की जिंदगी बदली थी। मोदी सरकार ने साढ़े चार साल में इस योजना पर 10 साल की राशि खर्च कर अपने 15 उद्योगपति मित्रों को लाभ पहुंचाया। उनका 3 लाख 50 हजार करोड़ कर्ज माफ कर दिया है।  उन्होंने अपने उद्योगपति दोस्त अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़  गिफ्ट किया। 
    कांग्रेस अध्यक्ष श्री गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि नीरव मोदी समेत प्रधानमंत्री के कुछ दोस्त उद्योगपति यहां बैंकों से करोड़ों का ऋण उठाकर विदेश फरार हो गए, जबकि इसकी जानकारी वित्त मंत्रालय को थी। यह सब जनता का पैसा था। उन्होंने कहा कि देश की रक्षा के लिए यूपीए सरकार ने 126 हवाई जहाज 5 सौ करोड़ की दर से खरीदने का  फैसला लिया था, लेकिन मोदी सरकार यह हवाई जहाज करीब चार गुना अधिक कीमत पर खरीद रही है। 

     

  •  

Posted Date : 05-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    काँकेर, 5 नवंबर। मिशन 2018 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस बीजेपी ने अपने प्रत्याशी तय कर चुनावी बिगुल फूंक दिया है जहां प्रथम चरण के अंतिम समय में जिले के 3 विधानसभा में कांग्रेस -बीजेपी एवम निर्दलीय प्रत्याशी के बाद से ही दोनों पार्टियों में कहीं ना कहीं जबरदस्त गुटबाजी भीतरघात व आपसी समन्वय खुलकर सामने आ चुकी है । विधान सभा चुनाव के प्रथम चरण के अंतिम समय में प्रत्याशी लगातार मतदाताओं के बीच वोट माँगते घूम रहे हंै।  
    शंकर के बनाए किले को 
    भेद पाएंगे शिशुपाल ?
    सबसे पहले हम बात करें कांकेर  विधानसभा की जहां वर्तमान विधायक शंकर ध्रुवा की टिकट काटे जाने से नाराज विधायक शंकर धुर्वा सहित उनके कार्यकर्ता पार्टी के ऊपर गंभीर आरोप लगाकर निर्दलीय चुनाव लडऩे के एलान के बाद सरेंडर कर देना प्रत्याशी के लिय बड़ी राहत की बात पहुँची ष
    लेकिन बीते 5 साल के विधायक के कार्य की मानें तो आमजन व ग्रामीण इलाकों में विधायक शंकर धुर्वा की जबरदस्त लोकप्रियता को देखने के बावजूद कांग्रेस पार्टी द्वारा टिकट काटा जाना स्वयं विधायक ही नही कार्यकर्ताओं में भी जमकर आक्रोश देखने को मिला।  विधायक की लोकप्रियता को देखकर कुछ लोग तो यह कहने से भी नहीं चूक रहे हैं कि केंद्र में बीते संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के दौरान प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह की छवि को दूसरा रूप शंकर धुर्वा को मानते हैं यानी कांकेर के मनमोहन सिंह के रूप में विधायक की छवि व पहचान बनी हुई थी।  ऐसे हालातों में कांग्रेस के पैराशूट प्रत्याशी शिशुपाल शोरी क्या शंकर के बनाए हुए किले को भेद पाएंगे? आसान नहीं होगा।
     वहीं इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है कि कांग्रेस विधानसभा के प्रत्याशी को अधिकांश लोग जानते ही नहीं है यह ये कहा जाए कि कांकेर में पैराशूट प्रत्याशी उतारकर कॉंग्रेस महज अपने सिम्बाल के भरोसे चुनाव जीत पाने में कितनी सफल होगी यह कह पाना बेहद मुश्किल होगा। वही दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी हीरा मरकाम भी कांकेर विधानसभा के लिए नए प्रत्याशी हैं। भाजपा के प्रत्याशी हीरा मरकाम को भी अधिकांश इलाकों में मतदाता जानते ही नहीं है महज कार्यकर्ताओं और सिम्बाल के भरोसे चुनाव मैदान में दोनों प्रत्याशी की जंग नूरा कुश्ती से कम नहीं होगी। 
    अंतागढ़  भाजपा के 
    भीतर मचा भूचाल
    अंतागढ़ में कांग्रेस के पूर्व विधायक मंतूराम पवार जिन्होंने भाजपा में शामिल होकर अंतागढ़ विधानसभा से प्रत्याशी बनाने की लगभग 90 फीसदी उम्मीदवारी तय मानी जा रही थी, इसी तरह वर्तमान विधायक भोजराज नाग ने भी विधानसभा में अपनी दावेदारी पेश किया था। मंंतूराम या भोजराज के बीच एक किसी एक को टिकट दिया जाना था लेकिन अंतिम समय में सांसद विक्रम उसेंडी को टिकट दिए जाने से अंतागढ़ में भाजपा के भीतर भूचाल मचा हुआ है ।  प्रत्याशी तय होने के बाद से ही अंतागढ़ में भाजपा कार्यकर्ताओं में मायूसी साफ तौर पर देखा जा सकता है। 
     मंतू, भोजराज व सांसद विक्रम उसेंडी इन तीनों भाजपा के कद्दावर नेताओं का गृहग्राम अंतागढ़ होने से यहां की राजनीतिक फिजाएं कुछ अलग ही हो चली हंै। इसी बीच अंतागढ़ विधानसभा में सांसद के टिकट पक्की होने के बाद से ही भीतरघात से इंकार भी नहीं किया जा सकता। वहीं मंतूराम पवार वर्तमान विधायक भोजराज नाग के कट्टर समर्थकों ने तो चुनाव से लगभग दूरी बनाए हुए है।
     इसी बीच हमने अन्तागढ़ विधानसभा के ग्राम मासबरस ईर्राबोडी खसगांव टेमरुपानी जैसे इलाकों में सरकारी योजनाओं सड़क बिजली पानी जैसी योजना की जानकारी ग्रामीणों से चाही तो ग्रामवासियों ने कहा कि बदहाल जज़ऱ्र सड़क लचर स्वास्थ्य सुविधा व पानी की समस्याओं व विकास के लिए सीधे विधायक प्रत्याशी विक्रम को जि़म्मेदार बताया।
     इसी तरह पाखन्जूर जो बंगाली बहुल्य इलाका माना जाता है वहाँ भी विक्रम उसेण्डी के खिलाफ  आक्रोश  है। नमोशूद्र बंगाली समाज में साँसद विक्रम उसेण्डी के रवैये के खिलाफ बंग समाज में विरोध के  लहर से इंकार नही किया जा सकता है।  वहीं अन्तागढ़ कांग्रेस की बात करें तो रिटायर्ड पुलिस अधिकारी को मैदान में उतारा गया है जहां लोगों के लिए पैराशूट प्रत्याशी के रूप में देख रही है। कांग्रेस प्रत्याशी नाग नए चेहरे व कांग्रेस के टिकट दावेदारों व नाराज कार्यकर्त्ताओ के चलते विधानसभा आसान नहीं है। कांग्रेस की आंतरिक कलह गुटबाजी भीतरघात जगज़ाहिर है इसका सीधा असर कांग्रेस प्रत्याशी पर पडऩे की आंशका जताई गई है।
    थोपा गया कांग्रेस प्रत्याशी  
    भानुप्रतापपुर विधानसभा में इस बार त्रिकोणीय नही चहुकोणीय मुकाबले से इनकार बिल्कुल भी नहीं किया जा सकत। भानुप्रतापपुर विधानसभा की बात करें तो कभी कांग्रेस के कर्मठ सिपाही रहे आदिवासी नेता मानक दर पट्टी लगातार कांग्रेस के उपेक्षा के शिकार होकर अंतत: 2 वर्ष पूर्व जोगी कांग्रेस में शामिल होकर 2 वर्ष पूर्व भानुप्रतापपुर के विधानसभा प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में उतर चुके हैं।  और खास बात यह है कि आदिवासियों में जबरदस्त पकड़  है। वह 2 साल से अपने विधानसभा में चुनावी तैयारी  करते आ रहे हैं।
     इसी तरह कांग्रेस के विधायक व प्रत्याशी मनोज मंडावी अपने बीते 5 सालों में कोई खास कार्य नहीं किए जाने भानूु्रतापपुर विधानसभा के अधिकतर ग्रामीण इलाकों में विधायक मनोज मंडावी के प्रति नाराजगी के बीच उन्हें प्रत्याशी देने से ग्रामीण इलाकों में आक्रोश व्याप्त है। इतना ही नही अतिउत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा यह भी कहने से नहीं चूक रहे हंै कि यह चुनाव हम बेहद आसानी से निकाल रहे हंै।  
    वर्तमान विधायक के कार्यकाल की बात करें तो विधायक मनोज मंडावी अपने विधायक कार्यालय में 5 सालों में पांच बार भी जनता की समस्याओं को नहीं सुना होगा। कार्यालय महज 5 सालों में धूल खाता नजऱ आया है जबकि लोगों की समस्याओं के लिए विधायक ने कभी सुध नहीं ली। 
    इस मिशन 2018 विधानसभा के लिए बीजेपी ने अपने प्रत्याशी के रूप में राजनीति के चतुर खिलाड़ी चाणक्य कहलाने वाले देवलाल दुग्गा को टिकट देकर भानूप्रतापपुर में चौकड़ी संघर्ष बना दी है।   दुग्गा को टिकट दिए जाने के बाद भानुप्रतापपुर विधानसभा में प्रत्याशी को लेकर भाजपा में टिकट कटने व गुटबाजी जैसी समस्याएं उत्पन्न हुई थी लेकिन संग़ठन के दबाव पर कार्यकर्ताओं द्वारा कार्य तो किया जा रहा है। भाजपा प्रत्याशी की मुसीबत भी कम नहीं है अंदरूनी इलाकों में दुग्गा का जमकर विरोध ग्रामीणों में देखा गया है लेकिन निर्दलीय चुनाव लडऩे वाले अपनी जीत के दावे कर रहे होंगे लेकिन इस बार के मुकाबले में कई दिग्गज को जनता सबक सिखाने के मूड पूरी तरह बना चुकी है। 

  •  

Posted Date : 27-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर/रायपुर, 27 अक्टूबर। विधानसभा के पहले चरण की सीटों में गायों की मौत का मामला एक बार फिर गरमा सकता है। बताया गया कि चार साल पहले नारायणपुर के खड़कागांव में भानुप्रतापपुर के भाजपा प्रत्याशी देवलाल दुग्गा की मौजूदगी में हुई कथित तौर पर गौ बलि का मामला चुनाव प्रचार में प्रमुखता से उठ सकता है। कांग्रेस इस प्रकरण को जोर शोर से उठाने की रणनीति बना रही है और इसका असर न सिर्फ भानुप्रतापपुर बल्कि अन्य सीटों पर भी पडऩे की संभावना जताई जा रही है। 
    प्रदेश कांग्रेस के मीडिया वाट्सऐप ग्रुप में गौ बलि मामले में घिरे दुग्गा के खिलाफ छपी अखबारों की कतरनें जारी कर चुकी है। उनके प्रत्याशी बनने पर यह भी कहा गया कि भाजपा ने जिसे भानुप्रतापपुर से प्रत्याशी बनाया है, उस पर गौ हत्या का आरोप है। पांच साल पुराना यह मामला चुनाव के समय तूल पकड़ सकता है। 
    दुग्गा को प्रत्याशी बनाए जाने से भाजपा में गुस्सा है और पार्टी का एक खेमा उन्हें प्रत्याशी बनाए जाने के बाद से प्रचार के लिए निकल नहीं रहा है। पार्टी के रणनीतिकारों को दुग्गा के खिलाफ नाराजगी का एहसास होने के बाद वनौषधि बोर्ड के चेयरमैन रामप्रताप सिंह और जगदलपुर के पूर्व महापौर किरणदेव को वहां भेजा था। दोनों ने जिले के पदाधिकारियों के साथ अलग-अलग बैठकें की है और नाराज पदाधिकारियों को समझाने की कोशिश भी की। 
    चर्चा है कि समझाइश के बाद कुछ पदाधिकारी अभी भी नाराज हैं जिन्हें अब दूसरे जगहों पर प्रचार के लिए भेजा जा सकता है। इन सबके बीच गौ बलि का पुराना मामला चुनाव प्रचार में सामने आ सकता है। चार साल पहले नारायणपुर के खड़कागांव में गौ बलि का मामला सुर्खियों में रहा। तब यह बात भी चर्चा में रही कि अजजा आयोग के अध्यक्ष पद पर रहते देवलाल दुग्गा की मौजूदगी में कथित तौर पर गौ बलि दी गई थी। इसको लेकर वहां काफी बवाल मचा था। बाद में दुग्गा ने इस मामले पर सफाई भी दी थी। उन्होंने सिर्फ यह माना था कि उस दिन वे गांव में मौजूद थे। बाद में पुलिस कार्रवाई के बाद यह मामला ठंडा हो गया लेकिन इस मामले को लेकर संघ परिवार के लोगों ने पार्टी में भी शिकायत की थी। 
    सूत्र बताते हैं कि दुग्गा का नाम तय होने के बाद से बड़ी संख्या में स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ-साथ गौ सेवा का आवाज बुलंद करने वाले संघ परिवार से जुड़े लोगों में नाराजगी बताई जा रही है। पहले भी दुर्ग-बेमेतरा जिले की गौशालाओं में सैकड़ों गायों की मौत के मामले को लेकर भाजपा-सरकार की भारी किरकिरी हो चुकी है। प्रदेश कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने विरोध स्वरूप पदयात्रा से लेकर धरना-प्रदर्शन और आंदोलन चलाया था। कई लोगों पर कार्रवाई भी हुई थी। लेकिन अब गौ बलि प्रकरण को लेकर कांग्रेस चुनाव प्रचार में प्रमुखता से इस मुद्दे को उठा सकती है और इसका असर कांकेर और भानुप्रतापपुर से सटे सीटों पर भी पडऩे के संकेत हैं। 

  •  

Posted Date : 05-Oct-2018
  •  

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर/ नरहरपुर, 5 अक्टूबर। नरहरपुर में अटल विकास यात्रा के समापन, तेंदूपत्ता बोनस वितरण एवं आदिवासी सम्मेलन पर आयोजित सभा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधा कि हम मोदी-रमन के नेतृत्व में लड़ेंगे, राहुल बाबा बताएं क्या सीडी बांटने वाले के नेतृत्व में लड़ेंगे चुनाव? यहां के कांग्रेसी नेता फर्जी सीडी बनाते हैं। वह सीडी बनाने वाले नेता को नेता बना रही है। ऐसे सीडी बनाने वाले नेता जनता के सामने क्या मुंह लेकर जाएंगे। कांग्रेस फर्जीवाड़े की राजनीति कर रही है और हम विकास की राजनीति करते हैं। आज की तारीख में माताओं-बहनों के सामने ऐसे ही सीडी बनाने वाले हैं और ऐसे लोगों को हिसाब-किताब करने के लिए माताएं-बहनें तैयार हैं।
    उन्होंने कहा कि 86 विधानसभा और ग्यारह हजार किमी का जनसंपर्क करने वाले मुख्यमंत्री बहुत ही कम होते हैं और वह भी जब वे तीन पारी पूरी कर चुके हों। ऐसे में रमन सिंह चौथी बार सरकार बनाने आ रहे हैं। ऋषियों की पुण्यभूमि पर उनकी यात्रा का समापन हो रहा है।  राÓय में चौथी बार भी रमन सिंह की सरकार बनाएं। 2019 में नरेन्द्र मोदी को प्रचंड बहुत से जिताएं। राÓय और केन्द्र दोनों स्थानों पर सरकार बनाने का संकल्प लें। उन्हें आप अपना आशीर्वाद दें। 
    उन्होंने कहा कि रमन सिंह की सरकार ने विकास और केवल विकास किया है। हिसाब-किताब मांगने वालों को मैं बताना चाहता हूँ कि रमन सिंह के 15 साल, नरेन्द्र मोदी के 5 साल और उनके 55 साल को जनता खुद देख रही है कि क्या हुआ और क्या नहीं हुआ।  छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जब भी सरकारें रही वे वनवासी भाईयों को पट्टा देने के नाम पर छलती रही। रमन सिंह की सरकार ने & लाख से Óयादा वनवासी भाईयों को वनअधिकार पट्टा दिए।
    इसके पहले मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि आज मैं यहां अटल विकास यात्रा का समापन करने आया हूं। 86 विधानसभाओं से गुजरते इस पुण्य धरती से बेहतर जगह मैंने कहीं नहीं पाया, क्योंकि यह ऋषि मुनियों का क्षेत्र रहा है। ऐसी धरती पर आपका आशीर्वाद लेने आया हूं, आपका आशीर्वाद मिला तो मैं समझूंगा कि मेरी यात्रा सफल हो गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपने मुझ पर भरोसा किया, छत्तीसगढ़ के विकास में एक-एक पल मैंने बिताया है, और विकास को गति दी। आपने अभी तक जितना विकास देखा है उससे चार गुना विकास आपको अगले पांच साल में दिखेगा। 
    सभा को संबोधित करते उन्होंने कांग्रेस पर  तंज कसा और कहा कि हमारे मित्र भ्रम फैलाते राज करते रहे, गरीबों के लिए कोई योजना नहीं बनाई। आज बस्तर करवट बदल रहा है। एक नया स्वरूप में उभर रहा है। रेल और रोड की कनेक्टिविटी बढ़ी है, और हमने कई योजनाएं शुरू की हंै। अगले कुछ दिनों में किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी कर और बोनस एक साथ दे रहे हैं। आपका आशीर्वाद इस विकास को बढ़ाएगा। 
    इस अवसर पर उनके द्वारा जिले के 31 हजार 457 तेंदुपत्ता संग्राहकों को 18 करोड़ 91 लाख 5 हजार रूपये का बोनस वितरण किया गया। इसके अलावा 22 करोड़ 39 लाख रूपये के विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण व भूमिपूजन भी किया। इनमें 16 करोड़ 76 लाख रूपये के 11 विकास कार्यों का लोकार्पण और 5 करोड़ 33 लाख 45 हजार रूपये के 9 विकास कार्यों का भूमिपूजन शामिल है। कार्यक्रम में 4 हजार 600 से अधिक हितग्राहियों को 1 करोड़ 77 लाख 73 हजार रूपये के सामग्रियों का वितरण भी किया गया। इस अवसर पर वन मंत्री  महेश गागड़ा, लोकसभा सांसद  विक्रम उसेण्डी, विधायक  भोजराज नाग सहित अनेक जनप्रतिनिधि  उपस्थित थे। 

    महिलाओं का आशीर्वाद रमन के साथ है इसलिए जीतते हैं...
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दुर्ग, 5 अक्टूबर। महिला सम्मेलन में भी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गंदे काम करने वालों को आगे कर रही है। कांग्रेस को मूल समेत उखाड़कर फेंकना है। 
    श्री शाह ने भीड़ भरी महिला महासम्मेलन की तारीफ करते हुए कहा कि यह उनके जीवन का सबसे बड़ा महाकुंभ है। भीड़ ने यह बता दिया कि हम जीत चुके। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि मातृशक्ति के दर्शन से वे तृप्त हो रहे हैं। महिलाओं को भाजपा की जीत सुनिश्चित करने की अपील की। श्री शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हर क्षेत्र में महिलाएं नाम रोशन कर रही है। उन्होंने कहा कि महिलाओं का आशीर्वाद रमन सिंह के साथ है, इसलिए वे जीतते हैं।

  •  

Posted Date : 02-Sep-2018
  • महाराष्ट्र सीमा पर मिला शव 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 2 सितंबर। बीते 26 अगस्त को कोयलीबेड़ा ब्लाक के ताड़वेली गांव से तीन ग्रामीणों को नक्सलियों ने अपहरण कर लिया था तथा अगले दिन ही एक ग्रामीण अपनी सूझबूझ से नक्सलियों को चकमा देकर गांव लौट गया था तथा दो ग्रामीणों की जांच पुलिस द्वारा की जा रही थी। 2 सितम्बर को पुलिस व सीआरपीएफ के जवानों को अपहरणकर्ता दो ग्रामीणों की लाश महाराष्ट्र बार्डर में मिली।  एक ने नक्सलियों के चंगुल से भागकर अपनी जान बचा ली थी।
    कांकेर एसपी के एल ध्रुव ने घटना की पुष्टि की है।  दोनो ग्रामीणों का शव महाराष्ट्र के गट्टा थाना से महज एक किलोमीटर दूर तदुड़ा के पास मिले है। 26 अगस्त की रात नक्सलियों ने उलिया गांव के पास से तीन ग्रामीण पांडुराम,सोंनु पड्डा और सोमजी पड्डा का अपहरण कर लिया था। अगवा ग्रामीणों में से पांडुराम ने सूझबूझ से नक्सलियों के चंगुल से भाग कर थाना पहुंचा था।
    पंडुराम की शिकायत पर पुलिस ने सोंनु और सोमजी को खोजने के लिए विशेष अभियान चलाया था, लेकिन रविवार की सुबह बांदे से सटे महाराष्ट्र के सीमावर्ती इलाके गट्टा में सोनू और सोमजी का शव बरामद हुआ है। कुछ दिन पहले भी नक्सलियों ने दो ग्रामीणों का अपहरण कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया था। पिछले एक सप्ताह में नक्सली चार ग्रामीणों की हत्या कर चुके हैं। जिले में लगातार बारिश के दौरान नक्सल मूवमेंट में कमी देखने को मिल रही थी लेकिन, जैसे ही बारिश थमी  नक्सलियो की सक्रियता तेजी नजर आ रही है ।  एक ही सप्ताह के अंदर 4 ग्रामीणों की हत्या से ग्रामीणों में भारी दहशत  है।

  •  

Posted Date : 12-Aug-2018
  • बाढ़ में बहे युवक की तलाश जारी, अधिकांश मार्ग बंद
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
     कांकेर, 12 अगस्थ। विगत दो दिनों से कांकेर जिले में हो रही मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है  कांकेर जिले में अभी भी बारिश थमने का वही जिला प्रशासन ने नदी के तट पर रहने वालों सहित स्थानीय व्यापारियों से बाढ़ से बचने उपाय करने मुनादी कराई जा रही है मूसलाधार बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है। भारी बारिश से जिले में नदी नाले उफान पर हैं। जिला मुख्यालय में तो फिलहाल बारिश धीमी हुई है, लेकिन पहाड़ी इलाके आमाबेड़ा, अन्तागढ़ में लगातार हो रही बारिश से दूध नदी का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है, जिससे एक बार फिर शहर में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। नदी पुराने बस स्टैंड के डेम के ऊपर से बह रही है, जिस वजह से शहरवासी दहशत में हैं।
    दूध नदी में साल 2011, 2015 और 2016 में आई बाढ़ ने शहर में भारी तबाही मचाई थी। शहर के ऊपरी इलाकों में अभी तक बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है।  बता दें कि दूध नदी इन्ही पहाड़ी इलाकों से होकर निकलती है, जिससे इस इलाके में बारिश का असर दूध नदी के जल स्तर पर पड़ता है । नदी में बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान व्यपारियों को ही होता है क्योंकि शहर का मार्केट नदी के किनारे ही बसा हुआ है।
    नदी में युवक डूबा तलाश जारी  
    2 दिनों से लगातार बॉरिस के चलते दूध नदी अपने उफन पर है इसी के चलते सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नगर के एम जी वार्ड के युवक नाम अहमद खान बताया जा रहा है वो नदी पार करने के लिए पानी मे कूद गया लेकिन उसका कही अता पता नही चल रहा है गोता खोरो के द्वारा उसकी लगातार तलाश जारी है वही ग्राम पुसवाडा के नदी में 8 लोगों के फसे होने की खबर पर रेस्क्यू टीम बचाने के लिऐ रवाना होने की जानकारी मिली है।

  •  

Posted Date : 23-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पखांजुर/ कांकेर, 23 जुलाई। पखांजुर छात्रावास की 40 लड़कियों की तबीयत आज अचानक बिगड़ गई।  इन्हें तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  करीब एक दर्जन से ज्यादा की तबीयत ज्यादा खराब है। 
    जानकारी के मुताबिक पखांजुर मीडिल स्कूल छात्रावास में रहने वाली छात्राओं की कल रात का खाना खाने के बाद अचानक तबीयत बिगड़ गई। खाना खाते ही  कई छात्राओं को उल्टियां होने लगी। छात्राओं को तत्काल अस्पताल ले जाया गया। इधर घटना के बाद तत्काल जिला प्रशासन के अफसर अस्पताल पहुंचे और हाल जाना।  डॉक्टरों के मुताबिक यह फूड प्वाइजनिंग की समस्या हो सकती है।

  •  

Posted Date : 15-Jul-2018
  • कांकेर में 5 दिनों में दूसरी वारदात
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 15 जुलाई। जिले के पखांजुर इलाके में आज सुबह नक्सलियों के घात लगाकर किए गए हमले में बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए। जबकि एक जवान गंभीर रुप से जख्मी हो गया है। 5 दिन के भीतर पखांजूर क्षेत्र में ये दूसरी वारदात है। इससे पहले 9 जुलाई को भी छोटे बेठिया इलाके में बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए थे। 
    डीआईजी सुंदरराज पी  के मुताबिक मोहला से प्रतापपुर की तरफ बीएसएफ 175वीं बटालियन की पार्टी सर्चिंग के लिए निकली थी।  तड़के टीम के वापस आते समय  गाँव बरकोट साइड से पार्टी पर नक्सलियों की फायरिंग शुरू हो गयी, जिससे दो जवान शहीद और एक जवान घायल हो गया। शहीद जवानों के नाम लोकेन्द्र सिंह ,राजस्थान और मुख्तयार सिंह,पंजाब है। घायल जवान संदीप डे पश्चिम बंगाल का है। घायल जवान को रायपुर लाने के लिए एमआई-17 हेलिकॉप्टर ने उड़ान भरी थी, लेकिन खराब मौसम के कारण हेलिकॉप्टर को बीच रास्ते से ही लौटना पड़ा। जख्मी जवान की हालत गंभीर बतायी जा रही है।
    ज्ञात हो कि इससे पहले 9 जुलाई को भी बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गये हैं। ये घटना छोटे बेठिया इलाके की थी। उस दौरान संतोष लक्ष्मण और नित्यानंद नायक शहीद हो गए।
    इधर राज्यपाल  बलरामजी दास टंडन  और  मुख्यमंत्री  डॉ. रमन सिंह ने  इस नक्सल हमले की तीव्र निंदा की है । दोनों ने शहीद जवानों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी ओर से और छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से गहरी संवेदना प्रकट की है, तथा घायल जवान के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है ।

  •  

Posted Date : 07-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 7 जुलाई। जंगल से भटक कर गांव आ पहुंची एक मादा भालू अपने दो बच्चों सहित सूखे कुएं में गिर गई है। वन विभाग की टीम भालुओं को सुरक्षित बाहर निकलने में जुटी हुई है। 
    घटना कांकेर-कोरर मार्ग के मुरडोंगरी गांव की है। शनिवार की सुबह ग्रामीणों ने भालुओं को कुएं में गिरा देख वन विभाग को इसकी सूचना दी। खबर लगते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई है। भालुओं को अभी कुएं से निकाला नहीं का सका है। भालुओं को देखने लोगों का हुजूम कुएं के आस-पास उमड़ पड़ा है जो वन विभाग के रेस्क्यू में बाधा बन रहा है।  वन विभाग का कहना है कि जब तक लोगों की भीड़ है भालुओं को बाहर निकालना उचित नहीं होगा। मादा भालू अपने बच्चों के साथ है और बच्चों के साथ रहने के दौरान वह काफी हिंसक रहती है। 
    ऐसे में लोगों की जान को खतरा हो सकता है। सूखे कुएं में गिरने की वजह से भालुओं को ज्यादा खतरा नहीं है। सही समय देखकर बाहर निकाला जाएगा।

  •  

Posted Date : 24-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 24 जून। आज तड़के यहां से महज 7 किमी  दूर  ग्राम नाथियांनवागाव के ईशान वन के समीप सड़क हादसे में रायपुर के तीन की मौत गई  व दो गंभीर रूप से घायल हो गए।  हादसा इतना जबरदस्त था कि गाड़ी के परखच्चे उड़ गए।  
    प्राप्त जानकारी के अनुसार रायपुर से झा परिवार जगदलपुर सगाई करने जा रहे था।  झा परिवार अपनी इण्डिगो वाहन क्रमांक सी जी 05 एस सी- 5535 में था।  राष्ट्रीय राजमार्ग 30 ईशान वन  के समीप तड़के  4 बजे  कांकेर पहुँचने के पहले कांकेर आतुरगाव की इनोवा वाहन  सी जी 04 सी टी 9000 से ज़बरदस्त भिड़ंत हो गई।  जिसमें मैथिलपारा रायपुर निवासी अचिन्त्य झा 40 वर्ष एवं अचिन्त्य झा के ससुर  उमानाथ ठाकुर 74 वर्ष तथा ड्राइवर सूचित तांडी 30 वर्ष की मौके पर ही मौत हो गई।  जितेंद्र ठाकुर एक अन्य को गंभीर  चोटें आई हैं।  इलाज के लिए रायपुर भेजा गया है। 
    इधर झा परिवार के परिजनों के मुताबिक अचिन्त्य झा  (ठुल्लू) तथा उनके  ससुर  दुर्ग निवासी  उमाकांत ठाकुर  की अंतिम यात्रा संध्या 4 00 बजे खोखो पारा पुरानी बस्ती स्थित डॉक्टर आशुतोष झा के निवास से मारवाड़ी श्मशान घाट के लिए प्रस्थान करेगी। 

  •  

Posted Date : 27-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर/पखांजूर, 27 मई। ग्राम पी.व्ही.31 काली मंदिर  शमशान घाट में हुई हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। प्रतीक्षालय में सोने को लेकर विवाद के चलते हुई थी हत्या। हत्या करने वाले आरोपी का मानसिक स्थिति ठीक नहीं है वहीं मृतक के मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं था। 24 मई को रात दोनों के बीच सोने की जगह को लेकर विवाद हुई थी। उसके बाद आरोपी ने डंडा से उसकी पिटाई कर हत्या कर दी।
    ग्राम पी. व्ही. 31 स्थित समशान घाट के प्रतीक्षालय में 25 मई सुबह मटोली निवासी रैजुराम कोमरा की लाश मिली थी। मृतक के मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। 8 वर्ष से व ग्राम मटोली में आपने जीजा के घर पर रहता था। दिन भर इधर उधर घुमा करता था। घटना के दिन रात 8 बजे आपने जीजा के घर से खाना खाकर निकला और अगलेदिन उस का प्रतीक्षालय में लाश मिली। हत्या के आरोपी वीरेंद्र बिस्वास का भी मानसिक दशा ठीक न होने के कारण वो भी दिन भर घूमकर रात के समय वहीं पर सोने आता था। घटना के दिन आरोपी आकर देखा की मृतक उसके जगह पर सोया हुआ है। आरोपी उसको हटाने की बहुत कोशिश की पर मृतक उस जगह पर सोने के लिए डटे रहा। गुस्से में आकर आरोपी बांस के डंडे से मुँह पर इतना वार किया की जगह पर ही उसका मौत हो गई। घटना के बाद आरोपी वहां से चला गया। पुलिस ने जांच शुरू की तो आरोपी के रोज इसी स्थान पर सोने तथा घटना के बाद से उसे वह नहीं देखे जाने की जानकारी मिली। पुलिस ने खोजी कुत्ता का मदद लिया आरोपी गांव के बहार पेड़ के नीचे सोता हुआ पाया गया उसके कपडे पर खून के दाग थे।

  •  

Posted Date : 24-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    सुकमा/ जगदलपुर/ नांदगांव/ कांकेर, 24 मई। नक्सलियों ने कल 25 मई को छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और ओडिशा में बंद का आव्हान किया है। इसके ठीक एक दिन पहले छत्तीसगढ़ के कांकेर, सुकमा, नांदगांव जिले से लेकर महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में कई वारदात की। सुकमा में विस्फोट में सीआरपीएफ का सब इंस्पेक्टर शहीद हो गया। वहीं दुर्गकोंदल में मोबाइल टॉवर उड़ा दिया। नांदगांव के मोहला-मानपुर और महाराष्ट्र के गढ़चिरोली में वन डिपो फूंका, पेड़ काटकर रास्ते बंद किए। 


    कांकेर के दुर्गूकोंदल में नक्सलियों ने  मोबाइल टॉवर उड़ाया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 24 मई।    बुधवार रात करीब 10  हथियारबंद   नक्सली दुर्गूकोंदल के कोंडे गांव पहुंचे। गांव में स्थित मोबाइल टावर को विस्फोट कर उड़ा दिया। वारदात बीएसएफ कैंप से 1 किमी दूरी पर ही हुई। फिलहाल इलाके में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। घटना की जानकारी के बाद दूर्गूकोंदल पुलिस ग्रामीणों से पूछताछ कर रही है। इलाके में पुलिस के जवान सर्चिंग कर रहे हैं। नक्सलियों की इस वारदात से इलाके में दहशत है।

  •  

Posted Date : 23-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोरर, 23 मई। जिले के अंतागढ़ में आज सीएम रमन सिंह की विकास यात्रा से पहले नक्सलियों ने भाजपा सांसद विक्रम उसेंडी के फार्म हाउस को धमाके से उड़ा दिया। नक्सलियों ने फार्महाउस में मौजूद चौकीदार  कीे पिटाई भी की।  मौके से पांच किलो का आईईडी बरामद किया गया है। 
    मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह बड़ी संख्या में नक्सलियों ने  बर्रेबेड़ा गांव पहुंचकर सांसद विक्रम उसेंडी के फार्म हाऊस को घेर लिया। फार्महाउस में बंधे जानवरों और देख रेख करने वाले चौकीदार को बाहर निकालकर फार्म हाऊस स्थित मकान को लैंड माइन से विस्फोट कर उड़ा दिया। दो कमरे ध्वस्त हो गए हैं। घटना में किसी की हताहत की सूचना नहीं है।  मौके पर पहुंचे सुरक्षा बलों द्वारा पांच किलो का आईईडी बरामद किया गया है। 
    कांकेर एसपी ने बताया कि इस घटना में संलिप्त नक्सलियों को पकडऩे के लिए सर्चिंग ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है। इलाके में बीएसएनल की मोबाइल सेवा ठप्प होने के कारण संपर्क स्थापित करने में दिक्कत हो रही है।
    ज्ञात हो कि तीन दिन पहले नक्सलियों ने किरंदुल के बचेली में जवानों के वाहन को धमाके से उड़ा दिया था। जिसमें मौके पर ही पांच जवान शहीद हो गए थे वहीं घायल दो जवानों ने इलाज के दौरान दम तोड़ा था। इस घटना के तीन दिन बाद फिर नक्सलियों ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है। घटनास्थल सीएम की सभा स्थल से 12 किमी दूर  है।  

  •  

Posted Date : 23-May-2018
  • अंतागढ़, 23 मई। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह आज विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के तहसील मुख्यालय अंतागढ़ में सामूहिक विवाह में शामिल हुए और जोड़ों को आशीर्वाद दिया। उन्होंने यहां क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 60 करोड़ 43 लाख रूपये की लागत के 125 कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया। उन्होंने इनमें से लगभग तीन करोड़ रूपए की लागत के 18 कार्यों का लोकार्पण और 57 करोड़ 38 लाख रूपये की लागत के 107 कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया।  
    आयोजित सभा को संबोधित करने के बाद  शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को लगभग 77 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए।
     इस अवसर पर  लोक सभा सांसद विक्रम उसेण्डी, स्कूल शिक्षा मंत्री Ÿकेदार कश्यप, वन मंत्री महेश गागड़ा और विधायक भोजराज नाग विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। 

  •  

Posted Date : 21-May-2018
  • कांकेर/चारामा, 21 मई।  दंतेवाड़ा  में कल शहीद कांकेर के रामकुमार यादव का पार्थिव शरीर आज सुबह पहुंचा। शहीद को अंतिम विदाई में भीड़ उमड़ पड़ी। 
    शहीद रामकुमार यादव के अंतिम  यात्रा उनके  निवास झुनियापारा से निकाली गई।  अंतिम यात्रा के पश्चात गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और फिर पूरे विधि विधान के साथ  अंतिम संस्कार किया गया । 
     इसी तरह जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित चारामा 
     विकासखण्ड के ग्राम चिनॉरी के  शहीद सालिकराम सिन्हा के पार्थिव शरीर जैसा ही गांव पंहुचा उनके अंतिम दर्शन के लिए पूरा गांव  उमड़ पडा। लोगों ने नम आंखों से शहीद  को विदा किया। 
    अंतिम सलामी के सलामी के दौरान विधायक शंकर ध्रुवा, डीआईजी पुलिस टीआर पैकरा, पुलिस अधीक्षक कन्हैयालाल ध्रुव, जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष हलधर साहू, कांग्रेस अध्यक्ष भुवनेश्वर नागराज, राजापारा पार्षद अजय पप्पू मोटवानी, जनपद सदस्य आशा राम नेताम सहित समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

    --

    विक्रम : निरा छिंदली, कोंडागांव
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोंडागांव, 21 मई। जिले के केशकाल थाना के निरा छिंदली निवासी शहीद विक्रम यादव को अंतिम विदाई देने पूरा गांव उमड़ पड़ा। पूरा गांव में मातम छाया हुआ है।
    शहीद प्रधान आरक्षक विक्रम यादव के परिवार में भाई और 4 बहन है। विक्रम  सबसे छोटा था और वह अपनी मां, पत्नी और दो बच्चों के  साथ रह रहा था।   विक्रम के परजिनों ने बताया कि15 दिन की छुट्टी बिताकर मंगलवार को  ड्यूटी में लौट गया था। विक्रम यादव के घर मे माँ सोमारी यादव  काफी बुजुर्ग हो चुकी हैं।
    विक्रम  की पत्नी सुलोचना यादव ने  बताया कि  सुबह  बात हुई थी और बताया कि हम लोग गश्त में जा रहे हैं फिर बच्चों के बारे में भी पूछा। घर में दो बच्चे हैं कमानी यादव  सातवीं और सौरभ यादव कक्षा तीसरी मेें है।  पड़ोसी तुलसीराम ने बताया कि सुबह ही मुझसे  बात हुई थी। कहा था कि मैं गश्त में जा रहा हूं, दो दिन बात मुख्यमंत्री आने वाले हंै।  वह बहुत मिलनसार था जब भी छुट्टी में आता तो सभी लोगों से मिलता जुलता और बात करता था। 

  •