छत्तीसगढ़ » कांकेर

Previous12Next
Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 18 जनवरी। बस्तर संभाग के कमिश्नर  धनंजय देवांगन ने कांकेर विकासखण्ड के प्राथमिक, माध्यमिक शाला एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल आतुरगांव का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कक्षा 11वीं के बच्चों से विषय भौतिक के गति के समीकरण पूछा, बच्चों द्वारा सहीं जवाब नहीं देने पर विद्यालय के प्राचार्य  व्ही.पी. सिंग को फटकार लगाते हुए उनके दो वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए। उन्होंने निरीक्षण करते हुए आतुरगांव के मतदान केन्द्र का अवलोकन कर बी.एल.ओ. से छूटे हुए मतदाताओं के मतदाता सूची में नाम जोडऩे एवं काटने की जानकारी ली। 
    बी.एल.ओ से फार्म 6 एवं 7 का सत्यापन करने तथा आवेदक मतदाता ग्राम में निवास करते हैं या नहीं इसका भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए। 

  •  

Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 18 जनवरी।  महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था कांकेर में प्रथम दीक्षांत समारोह एवं वार्षिकोत्सव का शुक्रवार को आयोजन किया गया। 
    शासकीय महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था कांकेर से सत्र 2017-18 में उत्तीर्ण प्रशिक्षणार्थियों को राष्ट्रीय व्यवसाय प्रमाण पत्र वितरण किया गया। साथ ही प्रशिक्षणार्थियों के द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की मनमोहक प्रस्तुति भी दी गई। महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था कांकेर में दीक्षांत समारोह एवं वार्षिकोत्सव का आयोजन आई.टी.आई. परिसर में किया गया। 
    इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा सलाम, विशिष्ट प्रशिक्षणार्थियों अतिथि जनपद पंचायत उपाध्यक्ष श्री मिलाप मण्डावी तथा जनपद सदस्य श्रीमती मनिषा देवी कुलदीप थे।

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • संयुक्त कलेक्टर द्वारा धान खरीदी केंद्रों का औचक निरीक्षण

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 17 जनवरी। कलेक्टर रानू साहू के निर्देशानुसार संयुक्त कलेक्टर सी.एल. मार्कण्डेय, जिला विपणन अधिकारी विजय कोड़ोपी, सहायक खाद्य अधिकारी एम.एन. पाढ़ी, एवं मण्डी निरीक्षक कांकेर नेताम एवं मण्डी उप निरीक्षक चारामा की टीम द्वारा धान खरीदी केन्द्र चवांड़, गितपहर, हल्बा एवं नरहरपुर धान उपार्जन केन्द्रों ़का औचक निरीक्षण किया गया। 
     आकस्मिक निरीक्षण के दौरान खरीदी केन्द्र चवांड़ में दो कृषक द्वारा धान बिक्री हेतु लाया जाना पाया गया, टीम द्वारा कृषक द्वारा लाये गये धान के गुणवत्ता एवं समिति स्तर पर तौले गये बारदानों को पुन: तौल कर देखा गया, जिसमें धान की खरीदी में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं पाया गया। गितपहर एवं हल्बा के धान खरीदी केन्द्र में उपार्जन कार्य आज बंद पाया गया। समिति प्रबंधक द्वारा बताया गया कि ग्राम हल्बा में मड़ई होने के कारण कृषकों द्वारा धान का आवक टोकन नहीं लिया गया था। हल्बा के उपार्जन केन्द्र में पूर्व से क्रय किया जाकर संग्रहित धान के बोरों का भौतिक सत्यापन करने पर लगभग 9 सौ बोरी सरना धान की आवक मोटा धान में क्रय किया जाना बताया जाकर मोटा धान की छलनी में एक साथ संग्रहित किया जाना पाया गया। संयुक्त कलेक्टर श्री मार्कण्डेय ने समिति प्रबंधक को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश सहायक खाद्य अधिकारी को दिए। 
        नरहरपुर धान खरीदी केन्द्र के औचक निरीक्षण में 150 ग्राम से 250 ग्राम अधिक धान प्रति बोरा कृषकों से क्रय किया जा रहा था, जिसके कारण समिति प्रबंधक विष्णु सिन्हा नरहरपुर एवं खरीदी केन्द्र प्रभारी को किसानों के सामने जमकर फटकार लगाते हुए हिदायत दी गई कि कृषकों से अधिक धान न क्रय किया जाए।
    जुनवानी के किराना व्यापारी  वीरसिंह साहू के गोदाम परिसर से चार 466 बोरी धान लगभग 186 क्ंिवटल एवं ग्राम कोचवाही तहसील नरहरपुर में घसियाराम कोर्राम के वाहन क्रमांक सी.जी.-05, 0603 में लदे धान 150 बोरी (60 क्ंिवटल धान) अवैध परिवहन किये जाते हुए पाये जाने पर मण्डी अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई। उपर्युक्त किराना व्यापारी एवं वाहन में धान परिवहन किये जाते समय धान से संबंधी किसी भी प्रकार के वैध कागजात नहीं पाया गया। संयुक्त कलेक्टर श्री मार्कण्डेय के निर्देशन पर मण्डी विभाग द्वारा जब्ती बनाया जाकर मण्डी अधिनियम के तहत कार्यवाही प्रस्तावित किया गया।

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर /दुधावा,  17 जनवरी। तेंदुआ खाल के साथ दो लोगों को पुलिस व वन विभाग की संयुक्त टीम ने गिरफ्तार किया है। वन विभाग के रेंजर एम.एल.रामटेके के अनुसार पकड़े गए तेंदुए की खाल की कीमत लगभग 5 लाख आंकी गई है।
    नरहरपुर विकासखंड के चौकी अंतर्गत दुधावा पुलिस व वन विभाग को मुखबीर से सूचना मिली कि कुछ लोग तेंदुए खाल बेचने के फिराक में दुधावा डैम के पास घूम रहे हैं। सूचना मिलने पर पुलिस व वन विभाग की टीम ने छापामार कर दुधावा डैम के पास बैठे दो लोगों को पुलिस ने तेंदुआ खाल के साथ गिरफ्तार किया। जिसमें तीन लोगों के शामिल होने की जानकारी मिली जिसमें से एक व्यक्ति फरार हो गया। तेंदुआ खाल की कीमत लगभग पांच लाख बताया गया है। पकड़े गए दोनों आरोपी ओडिशा निवासी बताया जा रहे हैं। जिसमें आरोपी का नाम ईश्वर व परदेसी है। दोनों आरोपियों के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

     

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 16 जनवरी।  जिले के 125 स्काउट्स गाइड ने राज्य स्तरीय पर्वतारोहण एवं साहसिक गतिविधियां एवं आपदा प्रबंधन शिविर अतर्राष्ट्रीय स्तर की सतपुड़ा एडवेंचर क्लब पचमढ़ी म.प्र. में 5 जनवरी से 14 जनवरी तक दस दिवसीय शिविर में भाग लेकर  लौटे। अन्र्तराष्ट्रीय सतपुड़ा एडवेचर क्लब पचमढ़ी म.प्र. के लीडर ऑफ कैम्प आनंद पाडे के दिशा निर्देश में 10 दिनों तक विभिन्न एतिहासिक स्थलों की 200 कि.मी. की ट्रेकींग कर चैरागढ़, महादेव, गुप्त महादेव, राजेन्द्र गिरी, अम्बेगढ़, बेगम महल जैसे कई स्थानों का भ्रमण किया। इसके साथ साथ साहसिक गतिविधियों के अन्तर्गत पैरासोलिंग, राक क्लाईविंग, रेफलिंग, जीपलेन, एटीबी बाईक, मंकीब्रिज, कमाण्डो हवाई ब्रिज का ट्रेनिंग कर सहभागिता अर्जित की तथा आपदा प्रबंधन के विशेष प्रशिक्षण लेकर बच्चों को प्रशिक्षित किया गया। साथ ही साथ स्वच्छता अभियान चलाकर पचमढ़ी को स्वच्छ रखने का जनजागरण किया।  कांकेर जिले के दल प्रभारी वजीद खान जिला संगठन आयुक्त स्काउट गाइड एवं सहायक अभिमन्यु कुंवर, विवेक मानिक पुरी, किरण ठाकुर, पुनीता नेताम, प्रद्युमन श्रीवास, सुरेश कोरेटी, धार्मिक मरकाम, खोमिन साहू ने जिले का नेतृत्व कर उत्कृष्ठ कार्य का सहयोग प्रदान किया।

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 16 जनवरी। जिला एनएसयूआई ने सीट नही वृद्धि किये  जाने में विरोध में विश्वविद्यालय प्रशासन का शासकीय महाविधालय के सामने पुतला फूंका। एनएसयूआई प्रदेश सचिव चमन साहू ने बतलाया कि विश्वविधालय प्रशासन और महाविद्यालय प्रशासन की घोर लापरवाही की वजह से बहुत सारे  छात्र  इस साल परीक्षा फार्म नही  भर पा रहे हैं। इस दौरान एनएसयूआई प्रदेश सचिव चमन साहू ,शहर अध्यक्ष अमन गायकवार्ड ,जिला संयोजक तबरेज खान,शहर उपाध्यक्ष विकास चौरसिया ,कमल साहू शेक सरफाज ,लष्मी नारायण ,अजय साहू ,चेतन विश्कर्मा ,गुरुदास विस्वास ,फैजल खान ,तानिया साहू ,यामिनी देवांगन, इमरान ,उदय मजूमदार ,रिज्जू ,आदि एनएसयूआई कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 17-Jan-2019
  • बस्तर में माओवाद का खात्मा करने में मिलेगी मदद-आईजी 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    काँकेर, 16 जनवरी। छत्तीसगढ़ के कांकेर में पुलिस ने ओपन चैलेंज कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया है अंतागढ़ के खेल मैदान में आज दो दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ।बस्तर के आईजी पुलिस विवेकानंद सिन्हा और विधायक अनूप नाग ने कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारंभ किया यहां कांकेर जिले के 170 टीमों ने हिस्सा लिया है और दो दिनों तक अंतागढ़ में ओपन चैलेंज कबड्डी प्रतियोगिता का नागरिक आनंद उठाएंगे। विधायक अनूप नाग ने कहा कि बस्तर में पुलिस प्रशासन ने खेल को बढ़ावा देने के लिए बेहतर काम किया है। वहीं, बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि कबड्डी प्रतियोगिता से बस्तर में माओवाद का खात्मा करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस जनता की रक्षक है और संरक्षक भी है, बस्तर की जनता पुलिस के साथ है। अंतागढ़ जैसे इलाके में पुलिस ने खेल और खिलाडिय़ों को बेहतर मौका देने के लिए आयोजन किया है। जिसमें बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।कांकेर जिला पंचायत अध्यक्ष सुभद्रा सलाम भी बतौर खिलाड़ी कबड्डी खेलने मैदान पर उतरीं थीं।

     

     

  •  

Posted Date : 16-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 15 जनवरी। मंगलवार को नरहरपुर ब्लॉक के देवीनवागांव की 35 वर्ष पुरानी मछुआ सहकारी समिति को उप पंजीयक के द्वारा परिसमापन कर नई समिति बनाने के खिलाफ सदस्यों ने पुन: कलेक्टर जनदर्शन पहुंचकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर न्याय की गुहार लगाई है।
    कलेक्ट्रेट पहुंचे देवी नवागांव मछुआ सहकारी समिति के अध्यक्ष इतवारी, उपाध्यक्ष गिरवर, सचिव देवचरण, सदस्य पार्वती, पांचू राम, महेंद्र पुरब, अक्षय महेतर ने बताया कि बीते 35 वर्ष पुरानी समिति को परिसमापन में डाल दिया गया है, जबकि समिति का पंजीयन लगातार जारी है। इस समिति में कुल 30 लोग शामिल हैं। 
    समिति के सदस्यों ने आरोप लगाया कि देवी नवागांव की सबसे पुरानी समिति से जुड़े लोगों का मछली पालन कर जीविकोपार्जन होता है। ऐसी स्थिति में उप पंजीयक के अधिकारी द्वारा बिना जांच के समिति को भंग कर दिया गया है। सदस्यों ने यह भी बताया कि 1989 में मछुआ सहकारी समिति का गठन किया गया था। इस समिति में मौजूदा समय में 35 सदस्य से अधिक लोग जुड़े हुए हैं। हर साल उप पंजीयक के अधिकारी के द्वारा समिति के आय-व्यय का लेखा-जोखा सहित ऑडिट भी किया जाता है और प्रतिदिन शाम को अधिकारी समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों से मिलकर मानिटरिंग भी कराया जाता है। फिर भी 35 वर्ष पुरानी समिति को समापन में डालकर नई समिति गठित किया गया, जो जांच का विषय है।
    समिति ने कलेक्टर से की थी शिकायत 
    31 अक्टूबर 2018 को देवीनवागांव समिति ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर समापन की शिकायत कलेक्टर व उपपंजीयक अधिकारी से की थी। तब की स्थिति में अधिकारी ने समिति के सदस्यों को आश्वस्त करते कहा था कि पूर्व की समिति में अगर 21 सदस्यों की संख्या पूरी होगी तो उसी समिति को बहाल कर दिया जाएगा, लेकिन 2 माह बीत चुके हंै और जांच टीम व अधिकारियों द्वारा मछुआ समिति कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। देवीनवागांव मछुआ सहकारी समिति की खबर को 'छत्तीसगढ़Ó ने भी प्रमुखता से प्रकाशित किया था।
    परिसमापन आदेश निरस्त कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग 
    देवीनवागांव मछुआ सहकारी समिति के लोगों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर मांग की कि हमारी  समिति का ऑडिट प्रतिवर्ष हो रहा है और कार्यवाही पंजी लिखी जा रही है। हमारे पास मत्स्यआखेट पंजी है हमारी समिति कार्यशील है, इसलिए हमारी समिति को परिसमापन में लाने के आदेश को तत्काल निरस्त कर समिति को बहाल किया जाए। साथ ही आचार संहिता लागू होने की स्थिति में जब किसी भी कर्मचारियों का स्थानांतरण नहीं होता है, ऐसी स्थिति में 35 वर्ष पुरानी समिति को क्यों और किसके आदेश से परिसमापन किया गया है तथा जो भी दोषी हो, उस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की गई है। 
    जॉन खलको उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं ने बताया कि समिति के द्वारा आवेदन दिए जाने पर परिसमापन को निरस्त कर बहाल कर दिया जाएगा। जांच टीम की रिपोर्ट को सही पाया गया है।

  •  

Posted Date : 15-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    काँकेर, 14 जनवरी। चाईल्ड लाईन कांकेर के द्वारा मेले में लगे दुकानों और हॉटलो में बालश्रम रोकने और लोगों को इसके प्रति जागरूक करने के लिए कांकेर और गोविन्दपुर मेले में अभियान चलाया गया जिसमें चाईल्ड लाईन के सदस्यों द्वारा होटलों और दुकानो में पहुंच निरीक्षण कर दुकान मालिक और होटल संचालक से मिलकर कार्य करने वालों की जानकारी मांगी गई।  साथ ही उन्हें बालश्रम अपराध और कानूनी सजा की जानकारी दिया गया। चाईल्ड लाईन के द्वारा लगातार 03 सालों से मेले में अभियान चलाया जा रहा है जिसका असर कांकेर और गोविन्दपुर मेले में देखने को मिला मेले में केाई भी बाल श्रमिक नहीं मिले न ही इस वर्ष मेले में बाल भीक्षावृत्त के मामले सामने आये।  अभियान में चाईल्ड लाईन जिला समन्वयक अमित बघेल, चाईल्ड लाईन स्टाफ महेश साहू, विनोद यादव, खिलेश्वर जैन, विकास ठाकुर, सीमा यदु, नीसा साहू, दिपिका सिंहसार मौजूद रहे । जिला समन्वयक अमित बघेल के द्वारा यह जानकारी दिया गया कि आस पास जितने भी मेला होगा वहां चाईल्ड लाईन कांकेर की टीम ये अभियान चलायेगी ताकि बच्चों पर हो रहा शोषण बंद हो सके। 

     

     

  •  

Posted Date : 14-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 13 जनवरी। पैराडाईज हायर सेकेण्ड्री स्कूल में स्वामी विवेकानंद युवा दिवस के रूप में मनाई गई । इस अवसर पर स्वामी विवेकानंद जी के छायाचित्र को माल्यार्पण के पश्चात प्राचार्य रश्मि रजक द्वारा स्वामी विवेकानंद के जीवन के बारे में बताया गया तथा उनके जीवन से हमे देश भक्ति, मानव सेवा, त्याग एवं ईश्वर भक्ति आदि गुणों को अपनाने की प्रेरणा दी । 
    इस अवसर पर भण्डारीपारा स्थित प्री प्रामयरी कक्षाओं के बच्चों को योग के कुछ आसन  तथा ध्यान का अभ्यास कराया गया। विगत दिनों हुए खेल कूद के प्रतिभागियों को इस अवसर पर पुरूस्कार प्रदान किया गया । युवा दिवस के इस अवसर पर शिक्षक दीपा व्यास, स्वाति गुप्ता, एकता मजुमदार, यांगसिंग डोमा, वर्षा रमानी, मेघा सेवा, ममता रावल आदि शिक्षक उपस्थित थे। ईमलीपारा स्थित हायर सेकेण्ड्री में युवा दिवस पर विशेष रूप से योग एवं ध्यान की कक्षा मीडिल, हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्ड्री बच्चों के लिए आयोजित की गई, युवा दिवस के इस अवसर पर बच्चों ने योग एवं ध्यान का अभ्यास के साथ स्वामी विवेकानंद के संदेश को जीवन में अपनाने की प्रेरणा ली । वरिष्ठ शिक्षक करणा दुर्गा के द्वारा युग पुरूष स्वामी विवेकानंद के द्वारा विश्व के लिए किये गये कार्यो का उल्लेख किया गया है तथा उनका मूलमंत्र ''उठो, जागो, संघर्ष करो, जब तक मंजिल प्राप्त ना होÓÓ के विषय में विस्तार से बताया गया ताकि इस मंत्र को बच्चेे अपने विद्यार्थी जीवन में अपना सके । इस अवसर पर बच्चों ने स्वामी विवेकानंद के बारे में भाषण प्रस्तुत किया । युवा इस अवसर पर प्रीति झा, भावना सिंग, अवतार सिंह, दीपांजली गगोई, संतोषी यादव, सांतवनी सेनापति, रूबी खान, जया सिन्हा, रविशंकर पटेल, चकेश्वर सोनवानी, धीरसिंग कुशवाहा, लालूप्रंसाद कुशवाहा, रितु शर्मा, दिव्यानंद केशरी आदि उपस्थित रहे।

     

     

     

     

     

  •  

Posted Date : 14-Jan-2019
  • 5 किमी पैदल चलकर लोगों की समस्याओं से रूबरू हुए कलेक्टर

    पहली बार कलेक्टर को गांव में देखकर गदगद हुए ग्रामीण
    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 13 जनवरी। जिले के दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बसे गांव जिवलामारी पहुंचकर कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने लोगों की समस्या सुनीं तथा उनके निराकरण का पहल किया। कांकेर विकासखण्ड के पहाड़ी में बसे गांव जिवलामारी में पहुंचने के लिए पुलिस अधीक्षक के.एल. ध्रुव के मार्गदर्शन में विगत दिनों 3 किलोमीटर पहाड़ी को काट कर रास्ता बनाया गया था, जहॉ आज जिले के मुखिया कलेक्टर श्रीमती रानू साहू दलबल के साथ पहंॅुचे। उन्होंने वहॉ के प्राथमिक विद्यालक के विद्यार्थियों से बातचीत की, कक्षा 5वीं के बच्चों ने 20 तक का पहाड़ा धाराप्रवाह पढ़कर सुनाया, जिसे सुनकर कलेक्टर गदगद हो गई तथा विद्यालय के शिक्षकों को बधाई दिया। 
    विद्यालय के शिक्षक अरविंद कुरेटी ने बताया कि वह प्रतिदिन 3 किलोमीटर पैदलचलकर स्कूल पहुंचता है। कलेक्टर ने विद्यालय के सभी छात्र छात्राओं को स्वेटर और बुर्जुंगों और महिलाओं को शाल भेंट किया। ग्रामीणों से चर्चा कर कलेक्टर ने उनकी समस्या सुनीं, इस गांव में 17 परिवार बसते हैं, गांव में 6 हैण्डपंप है, जिनमें से 2 हैण्डपंप का पानी पीने योग्य है, शेष हैण्डपंपों का पानी आयरन युक्त होने के कारण लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी को भू-जल सर्वे कर आयरनयुक्त पानी का निदान ढूढने के लिए कलेक्टर ने निर्देशित किया। ग्रामीणजन अपने निस्तार के लिए तालाब एवं झरिया का पानी उपयोग में लाने की जानकारी कलेक्टर को दिया, जिस पर वे स्वयं 05 किलोमीटर पैदलचलकर वहां तक पहुंची। ग्रामीणों के मांग पर कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने मनरेगा के अंतर्गत भूमि समतलीकरण तथा तालाब जाने के रास्ते में पुलिया निर्माण का प्रस्ताव भेजने के लिए ग्राम पंचायत के सचिव को निर्देशित किया। तहसीलदार कांकेर को वन अधिकार मान्यता पत्र के लिए वन भूमि पर काबिज पात्र परिवारों का सर्वे कर कृषि प्रयोजन हेतु वनअधिकार पट्टा प्रदान करने के लिए सर्वे करने के निर्देश दिए। अपने गांव में पहली बार कलेक्टर के साथ जिले के आला अफसरो को देखकर ग्रामीणजन गदगद हो गये। कलेक्टर श्रमती रानू साहू के साथ निर्वाचन प्रेक्षक (व्यय) श्री राजेश चन्द्रा, अपर कलेक्टर एम.आर चेलक, संयुक्त कलेक्टर सी.एल मार्कण्डेय, तहसीलदार टी.के साहू, सहायक खनीज अधिकारी सनत साहू, नायब तहसीलदार केशकर भी जिवलामारी पहंचे थे।

     

     

     

  •  

Posted Date : 14-Jan-2019
  • कांकेर, 13 जनवरी। दूध नदी को बचाने विगत 5 वर्षों से मुहिम चला रहे समाजसेवी संस्था राजा पारा पार्षद अजय पप्पू मोटवानी मोहन सेनापति जितेंद्र देव सहित राजा पारा वार्डवासियों ने मिलकर जब प्रशासनिक व राज्य सरकार से मदद की आस टूटी तब समिति के लोगों ने आमजनों राहगीरों से चंदा मांग कर पैसे जुटाकर दूध नदी की सफाई का बीड़ा उठाया।

    रविवार को दूध नदी बचाओ समिति के लोगों के अलावा नगर के बुद्धिजीवियों ने भी अभियान में शामिल होकर दूध नदी बचाने हर संभव मदद का आश्वासन समिति को दिया है।  दूध नदी बचाओ समिति के प्रमुख व पार्षद पप्पू मोटवानी ने बताया कि बीते 5 सालों से दूध नदी के लिए विभाग व सरकार से महज आश्वासन ही मिला।   दूध नदी बचाओ समिति के फैसले के बाद समिति चंदा एकत्र कर जहां तक नदी की सफाई होगी।अभियान में रविवार को जिले के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर क्लॉडियस  शामिल हुए।  

     

  •  

Posted Date : 12-Jan-2019
  • बच्चों को रोजाना ताजा खाना और मीठे दूध देने के दिए निर्देश 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    परलकोट, 11 जनवरी। अचानक आंगनबाड़ी केंद्र में पहुची पखांजूर एस डी एम।आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों की स्वास्थ्य का लिया जायजा और आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चो को भी पढ़ाया ।बच्चों को समय अनुसार पोषण आहार देने का दिया निर्देश। शिक्षा गुणवत्ता अभियान और कुपोषण के खिलाफ जारी जंग अफसरों को गांवों की ओर खींच लाई है। दोनों ही अभियानों में अधिकारी न केवल हाथ बंटा रहे हैं बल्कि शिक्षा व महिला एवं बाल विकास विभाग की गतिविधियों को देखने समझने आंगनबाडिय़ों का ज्यादा से ज्यादा निरीक्षण भी कर रहे हैं। 
    गुरुवार को पखांजुर एसडीएम निशा नेताम मण्डावी ने बांदे क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्रों का द्वारा कर निरीक्षण किया तथा रेडी टू ईट फूड उत्पादन केन्द्र का अवलोकन कर महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं से चर्चा कर उन्हें प्रोत्साहित किया एसडीएम सबसे पहले जाकर पहले खुद आंगनबाड़ी के बच्चों को पढ़ाया और पढ़ाई का स्तर जानने बच्चों से कई सवाल भी किए।आंगनबाड़ी के बेहतर संचालन के लिए शाबासी भी दी। आंगनबाड़ी से वह सीधे पास ही स्थित रेडी टू फूड उत्पादन केन्द्र देखने पहुंचे। महिलाओं से उत्पादन की जानकारी लेने के साथ ही उन्होंने काम में आने वाली दिक्कतों के बारे में पूछा। महिलाओं के जवाब से प्रभावित एसडीएम ने महिलाओं से मन लगाकर काम करने को कहा। उन्होंने पंजियों का भी अवलोकन किया।
    आंगनबाड़ी भवनों में छोटे बच्चे और गर्भवती और शिशुवती महिलाएं आती हैं, इनके पोषण, स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है, क्योंकि वे संक्रमण से जल्दी प्रभावित होते हैं। व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए उन्होंने अधिकारियों को आंगनबाड़ी केंद्रों की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए।
    एसडीएम निशा नेताम मंडावी ने  कहा कि पोषण आहार की गुणवत्ता में समझौता न किया जाए तथा रोज गर्म और ताजा भोजन महिलाओं और बच्चों को दिया जाए। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को दिए जाने वाले मीठे सुगंधित दूध को संक्रमण से बचाने के लिए परिवहन और संग्रहण के उचित प्रबंध करने के निर्देश भी दिए।

     

     

  •  

Posted Date : 10-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 9 जनवरी। जिले में लगातार नक्सलियों के निशाने में बेकसूर ग्रामीण मौत के शिकार हो रहे है तथा काँकेर जिले के अधिकांश संवेदनशील इलाकों में ग्रामीण नक्सलियों के निशाने में आकर जान गवा रहे है 
    जिले के आमाबेड़ा इलाके के ग्राम कामता में नक्सलियों ने बीती रात पुलिस मुखबिरी के शक पर एक ग्रामीण की गला दबाकर हत्या कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार मृतक का नाम सुरेश हुपेंडी बताया जा रहा है जो आमाबेड़ा थानाक्षेत्र के हिरनपाल का रहने वाला था. वही घटना के बाद मृतक के मामा ने बताया कि बीती रात काफी संख्या में नक्सली कामता गांव पहुंचे और सुरेश पर पुलिस के लिए काम करने का आरोप लगाते हुए घर से बाहर निकाल जंगल की ओर ले गए और उसकी हत्या कर दी। 
    सुरेश के शव को सुबह गांव के पास से ही बरामद किया गया है। नक्सलियों ने शव के पास पर्चा भी फंेका है. नक्सलियों के द्वारा ग्रामीण की हत्या से क्षेत्र के ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। वहीं पुलिस ने घटना के बाद इलाके में सर्चिंग बढ़ा दी है।  

     

  •  

Posted Date : 07-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 6 जनवरी। पैराडाईज हायर सेकेण्ड्री स्कूल में चल रहे तीन दिवसीय वार्षिक खेलकूद का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह विशिष्ट अतिथि मोहन सेनापति एवं प्राचार्य रश्मि रजक के द्वारा सम्पन्न कराया गया। तीन दिवस तक चले इस वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता में 20 खेलों में लगभग 650 बच्चों ने भाग लिया, 302 बच्चों को पुरस्कार, प्रमाण पत्र एवं शील्ड एवं मेडल मिला। 
    तीन दिवस तक चले इस वार्षिक प्रतियोगिता में प्री प्रायमरी तथा प्रायमरी, मीडिल तथा हाई तथा हायर सेकेण्ड्री के बच्चों ने भाग लिया । प्री प्रायमरी तथा प्रायमरी के बच्चों के लिए म्यूजिकल चेयर, शेक रेस, पटेटो रेस, मैस रेस, रोलिंग बाल, स्लो साइकिल रेस, स्पून रेस, स्वीट् रेस आदि खेलों में प्रथम स्थान पर आने वाले बच्चों को गोल्ड मेडल, द्वितीय को सिल्वर मेडल तथा तृतीय को ब्रॉस मेडल प्रदान किया गया। 
    टीम गेम में बालक कबड्डी में प्रथम ओरेज हाउस तथा द्वितीय ग्रीन हाउस को शिल्ड एवं पुरस्कार प्राप्त हुआ। कबड्डी बालिका में ग्रीन हाउस प्रथम एवं यलो हाउस ने द्वितीय स्थान शील्ड प्राप्त किया। खो-खो बालक में प्रथम स्थान पर रेड तथा द्वितीय स्थान का ग्रीन हाउस ने शील्ड प्राप्त किया। रोलिग बाल बालक में प्रथम स्थान ओरेज हाउस तथा द्वितीय स्थान रेड हाउस ने प्राप्त किया। रोलिग बाल बालिका में रेड हाउस प्रथम एवं द्वितीय स्थान यलो हाउस ने प्राप्त किया। 
    इस अवसर पर चारों हाउसेस द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया तथा वाद-विवाद, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिताओं को सम्पन्न कराने में संयोजक शिक्षक दिपांजली गगोई, सांतवनी सेनापति, संतोषी यादव, दिपा व्यास, स्वाती गुप्ता, एकता मजुमदार, यांगशिंग डोमा, ममता रावल, वर्षा रमानी, गीता गुरूंग, मेघा सेवा, वीरसिंग, हिमायनी रजक, प्राची ठाकुर, तीरथ साहू आदि शिक्षकों के विशेष योगदान से सम्पन्न हुआ। 
    वॉलीबाल में प्रथम रेड हाउस, द्वितीय यूलो हाउस ने प्राप्त किया। क्रिकेट बालक में प्रथम यलो हाउस एवं द्वितीय स्थान का शिल्ड ओरेज हाउस ने प्राप्त किया। खेलों को सम्पन्न कराने में खेल संयोजक शिक्षक करणा दुर्गा, प्रीति झा, भावना सिंग, पवित्र बढ़ाई, जया सिन्हा, रचना शर्मा, रूबी खान, रितु शर्मा, रविशंकर पटेल, स्वाती माणेक, दिव्यानंद केसरी, दिप्ती सोनी का विशेष योगदान रहा।
    तीन दिवसीय खेल कूद प्रतियोगिता पैराडाईज स्कूल के विशाल खेल कूद मैदान में सफलता पूर्वक सम्पन्न कराने में एवं लगभग 300 विजेताओं को मेडल, प्रमाण पत्र एवं पुरस्कार प्रदान करने में प्राचार्य रश्मि रजक, मैनेजर योगेश रजक एवं खेल शिक्षक द्रोण निर्मलकर एवं खेल शिक्षक अवतार सिंह का विशेष स्थान रहा।

     

  •  

Posted Date : 07-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    काँकेर, 6 जनवरी। रविवार को जीवनदायिनी दूध नदी बचाओ समिति व जनसहयोग समाजसेवी संगठन अध्यक्ष/राजापारा पार्षद अजय पप्पू मोटवानी साई संगठन के अध्यक्ष मोहन सेनापति सहित सफाई अभियान के सदस्यों के द्वारा सुबह 8 से 10 बजे तक दूध नदी में स्वच्छता अभियान चलाया गया।
    सुबह बड़ी संख्या में समाजसेवी व वार्डवासियों सहित बच्चों व दूध नदी बचाओ समिति ने दूध नदी के किनारे कटीली झाडिय़ां, कांच के टुकड़े, कांच की बोतलें, डिस्पोजल खाली, बोरियां, टायर आदि को हटाकर नदी को साफ-सुथरा करने का प्रयास किया।
    स्वच्छता अभियान के बाद दूध नदी बचाओ समिति के प्रमुख पप्पू मोटवानी ने बताया कि विगत 4 वर्षों से शासन प्रसासन के बिना मदद के सफाई अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में सांसद विधायक से लेकर प्रसासनिक अफसर शामिल हो चुके हैं। दूध नदी को बचाने के लिए ज़ल्द ही समिति की बैठक कर आगे की रणनीति तैयार किया जाएगा। स्वच्छता अभियान में प्रमुख रूप से अजय पप्पू मोटवानी राजापारा वार्ड पार्षद व समाजसेवी मोहन सेनापति करण नेताम, संतु रजक, लेखु राम पटेल, अभिषेक सोनी, रवि पटेल, आकाश चौरसिया, विकास चौरसिया, मोनटु तमबोली गुड्डा ठाकुर जीवन पटेल आदि उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 07-Jan-2019
  • राजपरिवार के सदस्यों ने पूजा-अर्चना कर की मेले की शुरूआत 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    काँकेर, 6 जनवरी। रियासतकालीन परम्परा के अनुसार 4 दिनों तक चलने वाले काँकेर मेले का रविवार को राज दरबार से एक साथ आंगा देव सहित सभी देवी देवताओं को कांकेर मेले में पहुंचे, जहाँ विधि विधान से चारों तरफ आंगा देव सहित डाँग की परिक्रमा पूर्ण कर राजपरिवार की उपस्थिति में विशेष पूजा-अर्चना कर मेला प्रारंभ किया गया।
    काँकेर मेले के लिए सुबह से ही राजमहल में नगर के आसपास के आंगा देव व डाँग पहुंचे, जहाँ सभी देवों के साथ राजपरिवार के सदस्य पैदल नगर के विभिन्न मार्गों से सीधे मेलाभाठा पहुंचे। तत्पश्चात आंगा देव सहित सभी देवों को सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपकर मेले की औपचारिक शुरुआत हो गई।
     सभी देवी देवताओं के साथ राजमाता त्रिपुरेश्वरी, महाराज कुमार, सूर्य प्रताप देव, अश्वनी प्रताप देव सहित राजपरिवार के सदस्यों ने पूजा-अर्चना की। दोपहर को अंचल के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों से पहुंचे देवी देवताओं की टोली महल पहुंची जहाँ राज परिवार के सदस्यों द्वारा पूजा-अर्चना की गई। इसके बाद राज परिवार के सदस्य व राज पुरोहित के अगुवाई में आंगा देव,गायता और डांग पकड़े लोगों की टोली नेशनल हाइवे के मुख्य मार्गों से होकर मडई भाटा मैदान पहुंचा ,जहाँ महाराजा व् उनके परिवार द्वारा विधि विधान से स्तम्भ की पूजा कर मड़ई की शुरुआत किया गया। इसके बाद रीति रिवाज के अनुसार सभी देवी देवताओं ने मड़ई की परिक्रमा की, वहीं गाजे बाजे की धुन में देवी देवता सिराहा गुनिया भी थिरकते रहे। दर्शन करने पहुंचे ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों ने अपनी मन्नत लेकर आशीर्वाद माँगा।
     मीना बाजार, हवाई झुला लुभा रहा 
    मेले में इस बार मीना बाजार के साथ हवाई झुला अन्य आकर्षक झूले पहुंचा है, जिसका लुप्त युवक युवतियों के साथ बड़ों ने भी उठाया। मेले में होटल, खिलौना, सब्जी गिफ्ट की दुकान बच्चों के लिए मैजिक डांस सहित अन्य का लोगों ने लुप्त उठाया, वहीँ सबसे अधिक युवक-युवतियों में आकाश झुला में झूलकर आनंद लेते रहे।
    मेला के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग को किया गया डायवर्ट 
    4 दिनों तक चलने वाले काँकेर मेले को लेकर सुरक्षा की दृष्टिकोण से प्रशासन ने  जगदलपुर व रायपुर से आने वाले बड़ी वाहनों के रूट को डायवर्ट करते सेन चौक से किया गया है। 
    सुरक्षा चाक चौबंद चप्पे-चप्पे पर 
    पुलिस की टीम तैनात 
    4 दिनों तक चलने वाले मेले को लेकर पुलिस अधीक्षक केएल ध्रुव के निर्देशानुसार मेले में तीन पुलिस सुरक्षा सहायता केंद्र बनाया गया है। साथ ही कोतवाली पुलिस के जवान वर्दी सहित सादे ड्रेस में सुरक्षा के रूप में सेवा दे रहे है तथा यातायात पुलिस केजुराम रावत की टीम भी भीड़ से निपटने पूरी तरह मुस्तैद दिखी।

     

  •  

Posted Date : 05-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    काँकेर, 4 जनवरी।  कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज प्रात: जिला चिकित्सालय कांकेर का आकस्मिक निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली तथा मरीजों से बातचीत कर उपचार के संबंध में पूछताछ किया।  टीकरापारा कांकेर के महिला वार्ड में भर्ती मरीज श्रीमती अनुराधा वाल्मिकी के रूटीन चेकअप नहीं होने  पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होने संबंधित डॉ. मनीष नेताम को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश सिविल सर्जन डॉ. आर.सी. ठाकुर को दिये। कलेक्टर द्वारा अस्पताल में भर्ती मरिजों से उपचार के साथ ही दावाईयों की उपलब्धता, भोजन इत्यादि के संबंध में पूछताछ किया। मरीजों से उन्होने पूछा कि अस्पातल में दवाई के लिए पैसा तो नहीं लिया जाता, भोजन ठीक से मिलता है या नहीं ? मरीजों द्वारा बताया गया कि अस्पताल में नि:शुल्क दवाई मिलती है साथ ही भोजन भी बढिय़ा मिलता है। कलेक्टर द्वारा अस्पताल की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने तथा ओ.पी.डी. निर्धारित समय प्रात: 8 बजे खोलना सुनिश्चित करने के लिए डॉक्टरों को निर्देशित किया। एस.डी.एम. कांकेर एवं तहसीलदार को अस्पताल का प्रतिदिन 
    9.30 बजे से 10 बजे के मध्य आकस्मिक निरीक्षण करने के निर्देश भी दिए गए। सिविल सर्जन को निर्देशित करते हुए कलेक्टर ने कहा कि अस्पताल की मूलभूत जरूरतों का प्रस्ताव अविलंब प्रस्तुत करें ताकि उनकी पूर्ति कर स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर किया जा सके। सिविल सर्जन डॉ. ठाकुर द्वारा सोनोग्राफी, पैथोलॉजी इत्यादि से संबंधित जरूरतों से कलेक्टर को अवगत कराया गया तथा स्टाफ नर्स की कमी के संबंध में बताया गया।  कलेक्टर रानू साहू ने तत्काल संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं जगदलपुर से दूरभाष पर चर्चा कर स्टाफ नर्स की कमी को दूर करने के निर्देश दिए। आकस्मिक निरीक्षण के समय कांकेर के एसडीएम सुश्री भारती चन्द्राकर और तहसीलदार टी.पी. साहू भी मौजूद थे।  

     

  •  

Posted Date : 05-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    काँकेर, 4 जनवरी। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन  अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चैधरी ने शुक्रवार को जिले के अतिसंवेदनशील क्षेत्र कोयलीबेड़ा पहुंचकर शासकीय दफ्तरों एवं शैक्षणिक संस्थाओं तथा अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण कर व्यवस्था का जायजा लिया। आदर्श बालक छात्रावास के अधीक्षक महेन्द्र जुर्री के अनुपस्थित रहने पर उनका वेतन रोकने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए। कन्या प्राथमिक आश्रम की साफ-सफाई तथा बच्चों की बढिय़ा देखभाल से कलेक्टर रानू साहू बेहद खुश हुए तथा छात्रावास अधीक्षिका श्रीमती मनोत्री ध्रुवा की जमकर तारीफ की। कन्या आश्रम में वर्तमान में 115 बच्चें निवासरत हैं, जिनका बढिय़ा देखभाल व शिक्षा की व्यवस्था की गई है। इस आश्रम के बालिकाओं ने गोड़ी बोली में ''रेला'' गीत गाकर कलेक्टर का स्वागत किया। 
    कलेक्टर श्रीमती रानू साहू एवं जिला पंचायत सीईओ. सुश्री ऋचा प्रकाश चैधरी ने आज कोयलीबेड़ा पहुंचकर जनपद पंचायत कार्यालय, उप तहसील कार्यालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, पोषण पुनर्वास केन्द्र, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, आदर्श बालक छात्रावास, प्री मैट्रिक एवं पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास, कन्या प्राथमिक आश्रम का आकस्मिक निरीक्षण किया। कलेक्टर ने जनपद पंचायत कार्यालय में महिला स्व सहायता समूह के सदस्य महिलाओं से चर्चा की, जिन्होंने बैक खाता खोलने में हो रही दिक्कतों से अवगत कराया, जिसका समाधान करने के निर्देश जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रकाश कुमार भारद्वाज को दिए गये। उप तहसील कार्यालय में कलेक्टर ने दायरा पंजी, नामांतरण पंजी का अवलोकन किया तथा सभी प्रकरणों को पंजीबद्ध करने के निर्देश दिए, साथ ही लोकसेवागारंटी अधिनियम के प्रावधानो के अनुसार प्रकरणों का समय-सीमा में निराकरण करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने यहां पर पटवारियों से भी बातचीत की एवं समय सीमा में  नामांतरण, बंटवारा के प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए। नक्शा-खसरा को भूंईया कार्यक्रम में दर्ज करने की जानकारी ली। 
    सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कलेक्टर द्वारा अन्त:रोगी कक्ष में भर्ती मरीजों से बातचीत की गई। ग्राम बरपारा के धनीराम एवं ग्राम बदरेंगा के श्रीमती महेश्वरी से अस्पताल में उपचार के संबंध में पूछताछ किया।  
    कलेक्टर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने प्री एवं पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास तथा प्राथमिक कन्या आश्रम का भी निरीक्षण कर व्यवस्था का जायजा लिया। पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास में बाथरूम की आवश्यकता बताई गई, जिसका समाधान करने के लिए जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन को निर्देश दिए गए। कन्या प्राथमिक आश्रम की व्यवस्था से कलेक्टर बेहद खुश हुए तथा अधिक्षिका के कार्यों की प्रशंसा की। कलेक्टर ने छात्रावास/आश्रम के लिए दो बोर स्थापित करने तथा कन्या आश्रम के बाऊड्रीवाल बनाने  हेतु जनपद सीईओं प्रकाश भारद्वाज को निर्देश दिए गए।  निरीक्षण के दौरान पश्चिम भानुप्रतापपुर के वनमण्डलाधिकारी प्रभात मिश्रा भी मौजूद थे। 
    जिला अधिकारियों को प्रति शुक्रवार कोयलीबेड़ा पहुंचने के निर्देश
    शासकीय कार्यालयों एवं शैक्षणिक संस्थाओं के निरीक्षण पश्चात कलेक्टर ने जनपद पंचायत कार्यालय मे जिला स्तरीय अधिकारियों तथा क्षेंत्र के सरपंचों एवं ग्राम पंचायत सचिवों की बैठक लेकर स्वीकृत कार्यो एवं उनमें प्रगति की समीक्षा किया।  
    बैठक में जिला पंचायत सदस्या सुश्री शांता नुरूटी, पखांजूर एस.डी.एम श्रीमती निशा नेताम, अंतागढ़ के एस.डी.एम श्री सी.एल ओंटी, क्षेत्र के समस्त सरपंच सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

     

  •  

Posted Date : 05-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कांकेर, 4 जनवरी। जिला न्यायालय में नाबालिग से दुष्कर्म मामले में आरोपी को 20 साल की सज़ा और 75 हजार के अर्थदंड से दंडित किए जाने का फैसला लिया गया है जानकारी के अनुसार नाबालिग को प्रेम के जाल में फंसाकर घर से भगाकर उसके साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी को अपर सत्र न्यायाधीश प्रशांत शिवहरे ने सजा सुनाई है। 
    आरोपी को न्यायाधीश ने 20 साल की कैद और 75 हजार रुपए अर्थदंड देने की सजा सुनाई है बालोद जिले से 15 साल की नाबालिग किशोरी अपने माता-पिता के साथ बर्तन का व्यापार करने माकड़ी आई हुई थी। यहां वो चंद्रपुर महाराष्ट्र निवासी युवक अमोलक रायपुरिया के संपर्क में आई युवक नाबालिग को प्यार के जाल में फंसाकर अपने साथ 24 मार्च 2018 को घर से भगाकर अपने घर चंद्रपुर ले गया। वहां नाबालिग से कई बार शारीरिक संबंध बनाए। 
    किशोरी के पिता की शिकायत पर पुलिस ने खोजबीन शुरू की और 29 मार्च 2018 को चंद्रपुर से किशोरी को बरामद किया युवक को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं और पॉक्सो एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर न्यायालय में चालान प्रस्तुत किया गया. इसके बाद कोर्ट ने पीडि़ता के बयान, मेडिकल रिपोर्ट और परिस्तिथिजनक साक्ष्य के आधार पर 20 साल कैद और आर्थिक दंड की सजा सुनाई है।

  •  



Previous12Next