छत्तीसगढ़ » कांकेर

Posted Date : 03-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 3 दिसंबर। कांकेर जिले के अंतागढ़ विकासखंड के तोड़ोकी थाना के ग्राम सरंडी में बीती रात नक्सलियों ने बेलेराम ध्रुव नामक ग्रामीण की हत्या कर दी। मृतक  पुलिसकर्मी का भाई है जिस पर नक्सलियों ने मुखबिरी का शक जताते हुए उसकी गला रेतकर हत्या कर दी। ज्ञात हो कि नक्सली 2 दिसंबर से  शहीदी सप्ताह मना रहे हैं।

  •  

Posted Date : 16-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कांकेर, 16 नवंबर। बीती रात नक्सलियों ने एक ग्रामीण को घर से उठाकर ले जाकर गोली मार हत्या कर दी।
    छत्तीसगढ़ एवं महाराष्ट्र बार्डर में सक्रिय भा.क.पा.(माओवादी) कसनसुर एरिया कमेटी के लगभग 30-40 माओवादियों द्वारा थाना बांदे क्षेत्रांतर्गत ग्राम पीवी 111 निवासी अजीत पोद्दार के घर को चारो ओर से घेर कर उठाकर साथ ले जाकर जबेली जाने के चौराहे के पास गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद शव को फेक कर महाराष्ट्र की ओर चले गए। थाना बांदे में कसनसुर एरिया कमेटी के माओवादी कमाण्डर महेश उर्फ शिवाजी, अजय उर्फ मानसिंग, सुमन व अन्य माओवादियों के खिलाफ हत्या का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

  •  

Posted Date : 06-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 6 नवंबर। जिले के बांदे स्थित बीएसएफ कैंप में देर रात प्रभास प्रशांत दिवाकर नामक जवान ने गोली मारकर खुदकुशी कर ली।  जानकारी के मुताबिक वह पिछले कुछ दिनों से बेहद परेशान था।  महाराष्ट्र निवासी यह जवान कुछ दिन पहले छुट्टी से घर से लौटा था।
    मिली जानकारी के मुताबिक बांदे के 114वीं नंबर बटालियन में पदस्थ जवान प्रशांत ने कैंप में देर रात अपनी  सर्विस रायफल से खुद को गोली मार ली। गोली चलने की आवाज सुनकर हड़कंप मच गया।  साथियों ने उसे तुरंत अस्पताल पहुंचाया लेकिन  तब तक प्रशांत की मौत हो चुकी थी।  बताया जाता है कि इसी महीने उसका तबादला बांदे में हुआ था।  शव का पोस्टमार्टम कर गृह ग्राम महाराष्ट्र के लिये रवाना कर दिया गया है।   
    पखांजूर एसडीओपी राजेंद्र जायसवाल ने बताया कि आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। कोई सुसाइड नोट भी मौके से नहीं मिला है।

  •  

Posted Date : 27-Oct-2017
  • भारी मात्रा में गोला बारूद, हथियारों का जखीरा बरामद  
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कांकेर, 27 अक्टूबर। थाना कोयलीबेड़ा के ग्राम चिलपरस जंगल में जिला बल, डीआरजी, बीएसएफ , एसटीएफ  की संयुक्त टीम ने 26 अक्टूबर को माओवादी ट्रेनिंग कैंम्प को ध्वस्त किया है। इस दौरान जवानों को नक्सलियों के साथ मुठभेड़ भी हुई। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली भाग गए। जवानों ने माओवादियों द्वारा कैम्प में छुपाकर रखे भारी मात्रा में विस्फोटक, गोला बारूद, हथियारों का जखीरा बरामद किया है। 
    नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत 'इंटर डिस्ट्रीक 'वाईंट ऑप्स शौर्य-142' के तहत 24 अक्टूबर को जिला बल, डीआरजी कांकेर, &5 बीएन बीएसएफ कोयलीबेड़ा, एसटीएफ  एवं जिला नारायणपुर की संयुक्त टीम नक्सली कैम्प की सूचना पर उदनपुर से माड़ के ग्राम ककनार, ईरगानार, डोबेहोड़ की ओर गस्त सर्चिंग पर रवाना हुई थी। 26 अक्टूबर को वापसी के दौरान ग्राम चिलपरस जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। दोनों ओर से फायरिंग हुई। इस बीच माओवादी जंगल/पहाड़ी का फायदा उठाकर भाग गए। मुठभेड़ स्थल का घेराबंदी कर बारीकी से तलाशी ली गई तो वहां मााओवादी ट्रेनिंग कैम्प मिला। 
    जिसे संयुक्त टीम द्वारा ध्वस्त किया गया। माओवादियों द्वारा कैम्प में छुपाकर रखे भारी मात्रा में विस्फोटक, गोला बारूद, हथियारों का जखीरा, नक्सली बैनर, पोस्टर, साहित्य, दैनिक उपयोग का सामान, बर्तन बरामद किया गया। 

  •  

Posted Date : 08-Sep-2017
  • पंजी में बच्चों को भोजन देने का खाता तैयार
    तहसीलदार ने औचक निरीक्षण में पाया गंभीर त्रुटि

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कांकेर, 8 सितंबर।  जिला मुख्यालय से महज 10 कि.मी की दूरी पर बसे ग्राम पंचायत कोकड़ी में गुरूवार को तहसीलदार टी.पी.साहू के द्वारा औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान  प्रशासन के निर्देश और राज्य सरकार की योजनाओं की तिस तरह क्रियान्वयन हो रहा है सामने  आया।
     गुरूवार को ग्राम पंचायत कोकड़ी में दोपहर 01 बजे टी.पी.साहू ने नवीन पूर्व मा.शाला में औचक निरीक्षण में पहुंचे तहसीलदार ने पाया कि प्रधान पाठक आत्माराम मरकाम भोजन के लिए घर गए थे । नन्हें बच्चों को दी जाने वाली मध्यान्ह भोजन बना नहीं था । मध्यान्ह भोजन बनने वाली रसोई में ताला लटका मिला, तहसीलदार ने रसोई का ताला खुलवाया, तो खाना बनाने के सारे पात्र खाली मिले। स्कूल में मौजूद स्टाफ उच्च श्रेणी शिक्षक हीरालाल सिन्हा, शिक्षक पंचयायत श्रीमती अनिता भाउ, श्रीमती पुष्पा चंद्रवशी से मध्यान्ह भोजन नही बनाने का कारण पूछा तथा माध्यन्ह भोजन पंजी की जानकारी मांगी, स्कूल स्टाफ ने बताया कि मध्यान्ह भोजन बनाने वाली रसोईया राही नेताम आज नहीं पहुंची इसलिए मध्यान्ह भोजन नही बनाया गया।
     मध्यान्ह भोजन की पंजी की जानकारी मांगने पर मध्यान्ह भोजन की जो पंजी दी गई उसमें 30 बच्चो के मध्यान्ह भोजन गुरूवार को दिये जाने की प्रविष्ठी पाई गई, तहसीलदार के औचक निरीक्षण में बच्चों को मध्यान्ह भोजन बिना दिए मध्यान्ह भोजन की पंजी में दर्ज कर दी गई थी। तथा पंजी में दर्जे उपस्थिति को व्हाईटनर के जरिए लीपा-पोती कर साक्ष्य छुपाने की कोशिश कि गयी थी। जिस पर तहसीलदार ने मौजूद स्टाफ की कार्यशैली पर नाराजगी व्यक्त करते मध्यान्ह भोजन पंजी को जब्त कर कलेक्टर को मामले की जानकारी से अवगत कराया  तथा आगे की कार्यवाही के लिए जिला शिक्षा अधिकारी सहित उच्च अधिकारियों को पत्र व्यवहार करने की तैयार किये जाने की बात कही ।
    तहसीलदार टी.पी. साहू ने बताया कि औचक निरीक्षण के दौरान स्कूल में त्रुटि पाई गई है बच्चों के साथ भोजन बिना दिये पंजी तैयार कर मिटाने की कोशिश की गई थी पंजी जप्त कर कलेक्टर को मामले की जानकारी दी गई है तथा उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर जांच करायी जायेगी। 
    आत्माराम मरकाम प्रधान पाठक ने बताया कि तहसीलदार साहब के निरीक्षण के दौरान जाति प्रमाण पत्र शिविर में बच्चों के परिजनों के यहां जाने की जानकारी बतायी । मध्यान्ह पंजी में गड़बड़ी की बात स्वीकार किया।

  •  

Posted Date : 30-Jul-2017
  • आदिवासियों की समस्याओं को प्रमुखता से उठाया 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कांकेर, 30 जुलाई। जिला वनोपज संघ के अध्यक्ष पूर्व जनपद उपाध्यक्ष एवं युवा आदिवासी नेता नितिन पोटाई ने अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी बस्तर प्रवास के दौरान जगदलपुर के स्थानीय सर्किट हाउस में भेंट कर बस्तर एवं आदिवासियों के समस्याओं पर चर्चा करते हुए उनके समस्याओं को राहुल गांधी वे अवगत कराया। वनोपज संघ अध्यक्ष और आदिवासी नेता नितिन पोटाई ने राहुल गांधी को बताया कि छत्तीसगढ़ में लगभग 35 लाख आदिवासी, दलित एवं पिछड़ा वर्ग के लोग वनोपज संग्रहण के कार्य में लगे हुए हैं जिसे संग्रहण करने के लिए इन्हें दिन रात नदी, नाले पाकर कर जंगलों में जाना पड़ता है । कड़ी मेहनत के बाद ये वनोपज का संग्रहण कर पाते है लेकिन वर्तमान में केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा वनो से उत्पन्न होने वाले साल, बीज, लाख, टोरा, महुआ, हर्रा आदि के समर्थन मूल्य में भारी कमी की गई है जिसके कारण छत्तीसगढ़ के लगभग 35 लाख वनोपज संग्रहक परिवार को आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ रहा है और उन्हें वनोपज का वाजिब मूल्य नहीं मिल पा रहा है। इस संबंध में उनके द्वारा प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, केन्द्रीय जनजाति मंत्री, प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा गया है लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की गई है उन्होंने राहुल गांधी से कहा कि बस्तर में वनोपज से संबंधित लघु उद्योग की अपार संभावनाएं है अत: इस दिशा में सकारात्मक पहल करते हुए इससे संबंधित उद्योग लगाया जाना चाहिए ताकि यहां के वनोपज संग्रहक परिवार एवं बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके । 
    श्री पोटाई ने राहुल गांधी को बस्तर में पाये जाने वाले खनिज संसाधनों का जिक्र करते हुए कहा कि बस्तर में अनेक लौह खदान है लेकिन वर्तमान भाजपा सरीकार द्वारा इसे बाहर के बड़े-बड़े कपंनियों को ये खदाने लीज में दे दी गई है । इन खदानों में कार्य करने वाले सभी व्यक्ति छत्तीसगढ़ से बाहर के हैं । बस्तर के व्यक्ति यहां सिर्फ मजदूरी का कार्य करे हैं और इन्हें मिलने वाले वास्तविक लाभ से वंचित हो रहे है। परिवहन जैसे कार्यों में स्थानीय व्यक्त्यिों के वाहनों को खदानों में नहीं लगाया जा रहा है। 

  •  

Posted Date : 30-Jul-2017
  • भगवान शंकर के वेश भूषा में आकर्षण का केन्द्र बना रहा नन्हा बालक 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    कांकेर, 30 जुलाई। राजापारा देवभूमि में पहाड़ों के हसीन वादियों में विराजे भगवान भोलेनाथ के सावनमास के अंतिम सप्ताह को वार्ड पार्षद अजय पप्पू मोटवानी एवं वार्ड के लोगों ने भोले के भक्तों के द्वारा बाजे गाजे के साथ विशाल कांवड़ यात्रा का आयोजन किया गया । जिसमें भगवान शिव के रूप में नन्हा बालक पीयूष साहू आकर्षक वेशभूषा में में शामिल होकर आकर्षण का केन्द्र बने रहे । 
    सुबह 06.30 बजे पुलिस लाईन के सामने पहाड़ों में विराजे भगवान शंकर मंदिर के पास वार्ड सहित नगर के सैकड़ों भक्तों ने कांवड़ यात्रा में भाग लिया। जहां सबसे पहले भोले के भक्तों को केशरियां टी-शर्ट हॉफ पेन्ट व कांवड़ सामग्री पार्षद व वार्डवासियों के सौजन्य से नि:शुल्क प्रदान किया गया। सभी भक्तों ने एक वेशभूषा में राजमठ से बोल बम के जयकारे के साथ पैदल वार्ड भ्रमण करते हुए दूध नदी से विधि विधान से पूजा अर्चना कर कलश में जल भरकर कांवड़ के रूप में कावंडिय़ों ने पुराना बस स्टैण्ड, गांधी चौक होते हुए पुलिस लाईन के सामने स्थित भगवान शिव जी को जलाभिषेक किया गया। राजापारा के विशाल भगवान शिव मंदिर में धार्मिक अनुष्ठान कार्यक्रम के साथ भण्डारा चलता रहा। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से छ.ग. श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष/विहिप के संभागीय मीडिया प्रभारी अनुराग उपाध्याय, करण नेताम, शितल यादव, रज्जू लाल सोनी, बाबूलाल यादव, विनोद मेहरा, सूर्या यादव, दशरथ पटेल, पप्पू नायक, महिलाओं में पूर्व पार्षद लक्ष्मी देहारी, सुरेखा यादव, गुड्टी यादव, गीता कुंजाम, मीना यादव, लक्ष्मी यादव आदि उपस्थित थे । 
    भगवान शिव के रूप में नन्हा बालक 
    राजापारा में कांवड़ यात्रा के दौरान 10 वर्षीय नन्हा बालक भगवान शिव के वेषभूषा में कांवड़ यात्रा में चल रहे लोगों के बीच आकर्षण का केन्द्र बना रहा जहां एक ओर कांवड़ यात्रा में लोगों ने अपनी ओर से कांवड़ यात्रा का फल, बिस्कीट, पानी से स्वागत किया तो वही भगवान शिव के रूप में नन्हें बालक से आर्शिवाद लेने लोगों जमावाड़ा रहा । 

     

  •