छत्तीसगढ़ » कवर्धा

29-May-2020 5:39 PM

कवर्धा, 29 मई। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कार्यभार ग्रहण के कुछ देर बाद कलेक्टोरेट परिसर में संचालित विभिन्न कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया तथा अधिकारी-कर्मचारियों से परिचय प्राप्त किया। 

ज्ञात हो कि रमेश कुमार शर्मा ने कबीरधाम जिले के कलेक्टर के पद पर कार्यभार ग्रहण किया है। कलेक्टर श्री शर्मा ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद जिले के प्रमुख अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक लेकर कोरोना वायरस (कोविड-19) के रोकथाम एवं नियंत्रण तथा उनके संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत क्वारंटीन सेंटरों के बारे में विस्तृत जानकारी ली। 

बैठक के बाद कलेक्टर श्री शर्मा ने जिला कार्यालय के संयुक्त परिसर में संचालित भू-अभिलेख,मॉडल रिकार्ड रूम, खाद्य विभाग, जिला कोषालय, उद्यानिकी, पशुपालन तथा जिला कार्यालय के रूम नंबर 22 में लिपिकीय कक्ष का निरीक्षण किया तथा वहां पदस्थ कर्मचारियों से परिचय प्राप्त किया। 

निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर जे.के. धु्रव, जिला कार्यालय के अधीक्षक राजेन्द्र धु्रव उपस्थित थे।
 


28-May-2020 10:32 PM

कवर्धा, 28 मई। जिले के नवपदस्थ कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कार्यभार ग्रहण के कुछ देर बाद कलेक्टोरेट परिसर में संचालित विभिन्न कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया तथा अधिकारी-कर्मचारियों से परिचय प्राप्त किया। 

 श्री शर्मा ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद जिले के प्रमुख अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक लेकर कोरोना वायरस (कोविड-19) के रोकथाम एवं नियंत्रण तथा उनके संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत क्वॉरंटीन सेंटरों के बारे में विस्तृत जानकारी ली। बैठक के बाद कलेक्टर श्री शर्मा ने जिला कार्यालय के संयुक्त परिसर में संचालित भू-अभिलेख,मॉडल रिकार्ड रूम, खाद्य विभाग, जिला कोषालय, उद्यानिकी, पशुपालन तथा जिला कार्यालय के रूम नंबर 22 में लिपिकीय कक्ष का निरीक्षण किया तथा वहां पदस्थ कर्मचारियों से परिचय प्राप्त किया। निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर जे.के.ध्रुव, राजेन्द्र ध्रुव उपस्थित थे।

 

 

 


28-May-2020 6:46 PM

कवर्धा, 28 मई। कबीरधाम जिले के नए कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने आज कार्यभार ग्रहण किया है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने नवपदस्थ कलेक्टर श्री शर्मा को कार्यभार ग्रहण कराने की औपचारिकताएं पूरी की।  इस अवसर पर श्री शरण ने कलेक्टर श्री शर्मा को जिले की नई जिम्मेदारी मिलने के लिए शुभकामनाएं और बधाई दी। कलेक्टर श्री शर्मा ने भी श्री कुमार को नई जिमेदारी मिलने पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। श्री शरण ने जिले के सभी प्रमुख प्रशासनिक अधिकारियों का परिचय भी कराया। सभी अधिकारियों कर्मचारियों ने श्री शर्मा और श्री शरण को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम के, अपर जेके धु्रव, जिला कोषालय अधिकारी भोजेश देशमुख विशेष रूप से उपस्थित थे।

 


26-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कवर्धा, 26 मई 2020।
मल्टीयूटिलिटि सेन्टर राजानवागांव में महिला स्वसहायता समूह द्वारा उत्पादित कई प्रकार की पौष्टिक सब्जियों का उपयोग कबीरधाम जिले के विभिन्न राहत शिवरो में हो रहा है। महिला समूह द्वारा उत्पादित सब्जियां राजाढ़ार के राहत शिविर से लेकर भागूटोला, दशरंगपुर एवं अन्य स्थानों में हो रहा है। 

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के महामारी से बचाव के लिए कबीरधाम जिले के सभी सीमाओं में एवं विभिन्न स्थानों पर राहत शिविर संचालित किया जा रहा है। राहत शिविरों में प्रवासी लोगो के लिए भोजन की व्यवस्था प्रशासन द्वारा किया जा रहा है।छत्तीसगढ़ शासन की मंशा अनुरूप ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाते हुए आजीविका के साधन से जोडऩे के लिए बहुत सी गतिविधियां संचालित किया जा रहा है इसी क्रम में मल्टीयूटिलिटि सेन्टर में अलग-अलग पांच महिला समूह सब्जी उत्पादन के गतिविधियों से जुड़ी हुई है। 

भारत माता महिला स्व.सहायता समूह की अध्यक्ष सुनिता श्रीवास ने बताया कि गत महीने से समूह कि महिलाएं सब्जी उत्पादन में लगी हुई हैं। समूह द्वारा गवार फल्ली, करेला, बरबटटी जैसे अन्य सब्जियां उत्पादन कर रहीं है। भारत माता समूह द्वारा बोड़ला शिविर में सब्जियां उपलब्ध करा रही है। खुले बाजार के साथ शिविर में समूह द्वारा 9,620 रूपये से अधिक मूल्य के सब्जियों का विक्रय कर लाभ कमाया गया है। 

सांई राम महिला स्व.सहायता समूह कि अध्यक्ष दु्रपति मानिकपूरी ने बताया कि 13 क्विंटल से अधिक भिंडी एवं लगभग 3.5 क्विंटल गवार फल्ली का उत्पादन हो गया है जिसे मांग अनुसार राहत शिविर चिल्फी, राजाढ़ार में दिया गया है। समूह कि महिलाओं द्वारा सब्जी उत्पादन से 14368  रूपये से अधिक का लाभ कमाया गया है। इसी तरह राधारानी महिला स्व.सहायता समूह द्वारा 13648 रुपये, कूमकूम भाग्य महिला स्व.सहायता समूह द्वारा 10560 रुपये एवं मां दूर्गा महिला स्व.सहायता समूह द्वारा 4278 रुपये का लाभ केन्द्र में हरी सब्जी उत्पादन कर कमा गया है

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने बताया कि नोवेल कोरोना वायरस के कारण बाहर से प्रवासी मजदूरों का जिले में आना लगातार जारी है। ऐसे मजदूरों के लिए जिले के बॉर्डर में राहत शिविर संचालित कर चाय, नाश्ता, भोजन की पूरी व्यवस्था की जा रही है, जिससे किसी को  भी भूखा न रहना पड़े। राहत शिविरों में खादय सामग्रियों के लिए सब्जी कि आपूर्ति महिला स्व.समूह द्वारा नियमित रूप से किया जा रहा है। श्री अवनीश कुमार शरण ने आगे बताया कि मल्टीयूटिलिटि सेन्टर राजानवागांव में सब्जियों का उत्पादन जैविक खेती से हो रहा है, जो बहुत ही पौष्टिक है। राहत शिविर में सब्जियो को उचित मूल्य पर बेचने से महिला समूह को भी सीधे आर्थिक लाभ हो रहा है।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कबीरधाम श्री विजय दयाराम के. जानकारी देते हुए बताया कि पांच महिला समूह आजीविका के कार्य से जुड़ी है। सब्जी उत्पादन से महिला समूह को आर्थिक लाभ हो रहा है और प्रवासी मजदूरों के लिए राहत शिविर में पौष्टिक हरी सब्जियां उपलब्ध हो रहा है। 

समूह द्वारा बाघूटोला क्वॉरंटीन सेंटर में 20 किलो भिन्डी, चिल्फी कोरंटाईन सेंटर में भिन्डी, गवार फल्ली, बरबटटी सब मिलाकर 65 किलो बोड़ला हाई स्कूल में 88 किलो राहत शिविर राजाढ़ार में भिन्डी, बरबटटी, गवार फल्ली, खीरा एवं अन्य सब्जियां को मिलाकर 5.7 क्वींटल उपलब्ध कराया गया है। तथा राहत शिविर महराजपूर में लौकी, खीरा, भिन्डी मिलाकर दिया गया। इस तरह लगभग 15,000 रूपये से अधिक की सब्जियां सिर्फ राहत शिविर में उपलब्ध कराते हुए समूह ने आर्थिक लाभ कमाया है। 
--

 


25-May-2020

कवर्धा, 25 मई। छत्तीसगढ़ सरकार ने बस्तर की झीरम घाटी में 25 मई को प्रतिवर्ष  झीरम श्रंद्धाजलि दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्णय लिया है। इसी तारतम्य में आज कवर्धा कलेक्टोरेट परिसर में अधिकारी-कर्मचारियों ने  दो मिनट का मौन धारण कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।  इस अवसर पर कलेक्टर अवनीश कुमार शरण, अपर कलेक्टर जेके धु्रव, डिप्टी कलेक्टर वीपी चन्द्रवंशी, अरुण सोनकर अनिल सिदार, सहित कलेक्ट्रेट के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। इसके आलावा जिले के सभी शासकीय कार्यालय जिला महिला व बाल विकास कार्यालय, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, समाज कल्याण  में जिला पंचायत कार्यालयों में अधिकारी- कर्मचारियों की उपस्थिति में दो मिनट मौन धारण कर श्रद्धांजलि दी।
 

 


25-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 25 मई।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर जिले के क्वॉरंटीन सेंटर में  रहने वाली महिलाओं ( शिशुवती एवं गर्भवती) के खानपान पर विशेष ध्यान देते हुए कवर्धा जिला प्रशासन की ओर से पौष्टिक आहार किट दिया जा रहा है।

कबीरधाम जिले के क्वॉरंटीन सेंटर में रहने वाले सभी को सामान्य भोजन तो दिया जा रहा है और उनके स्वास्थ्य की देखभाल भी की जा रही है। क्वॉरंटीन में रह रही गर्भवती महिलाओं और शिशुवती माताओं के स्वास्थ्य परिक्षण कर उन्हें विशेष पौष्टिक आहार दिए जाने का निर्णय लिया गया। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन कवर्धा एवं स्वास्थ्य विभाग, कवर्धा की ओर से सभी क्वॉरंटीन सेंटरों की निरीक्षण कर वहां ऐसी महिलाओं को चिन्हांकित किया गया। इसके बाद विशेष आहार किट उनको दिए जाने का फैसला लिया गया। रविवार से इसकी शुरूआत कवर्धा ब्लॉक के ग्राम पंचायत दशरंपुर और गुड़ा से कर दी गई है। साथ ही गर्भवतियों की विशेष देखभाल करने संबंधित ग्राम पंचायत क्षेत्र में कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं मितानिनों को जिम्मेदारी दी गई है।

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने बताया कि जिले के क्वॉरंटीन सेंटरों में अलग-अलग प्रदेश व जिले से प्रवासी श्रमिक और लोग आ रहे हैं। प्रवासी श्रमिकों में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं और शिशुवती माताएं हैं, जिन्हें 14 दिनों के क्वॉरंटीन में रखा गया है। शासन के आदेशानुसार जिले के क्वॉरंटीन सेंटरों में रहने वाली महिलाओं का सर्वे करवाया, जिसमें लगभग 250 से 300 महिलाएं चिन्हित हुई हैं। उन महिलाओं को अतिरक्त आहार के तौर पर पौष्टिक आहार किट दिया जा रहा है। ऐसी महिलाओं के लिए क्वॉरंटीन सेंटरों में अलग से रूम की व्यवस्था भी की गई है।
 


23-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कवर्धा, 23 मई। वन मंत्री तथा कवर्धा विधायक मो. अकबर ने रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कबीरधाम जिले के विकास संबंधी काम-काज की समीक्षा की। उन्होंने इस दौरान जिला प्रशासन सहित जिले के जिला, जनपद पंचायत और नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधियों से भी चर्चा की। वन मंत्री श्री अकबर ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस (कोविड-19) के कारण लॉकडाउन के संकट की इस घड़ी में लोगों की सुरक्षा और उनके सुगम जीवन-यापन के लिए राज्य शासन द्वारा हर संभव पहल की जा रही है। उन्होंने इसमें शासन-प्रशासन के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी सक्रिय होकर लोगों को इनका अधिक से अधिक लाभ दिलाने का आव्हान किया।  वन मंत्री ने वर्तमान में अधिक से अधिक विकास और निर्माण कार्यों को संचालित कर लोगों को सुगमता से रोजगार उपलब्ध कराने के लिए विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि इसके तहत गांव-गांव में मनरेगा आदि योजना केे अंतर्गत प्राथमिकता से कार्य प्रारंभ कराएं और अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराएं। साथ ही उन्होंने वनोपजों के संग्रहण कार्य का भी सुव्यवस्थित संचालन कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार सहित अतिरिक्त आमदनी का भरपूर लाभ दिलाने के लिए आवश्यक निर्देश दिए। 

 

 


23-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
कवर्धा, 23 मई।
एसपी द्वारा जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारियों एवं थाना, चौकी और कैंप प्रभारियों को सख्त निर्देश दिया गया है कि क्वॉरंटीन सेन्टर एवं होम क्वॉरंटीन व्यक्तियों की प्रतिदिन सरप्राईज चेंकिंग समय समय पर करते रहें ताकि यह बाहर निकलकर किसी और के संपर्क में न आयें। 

उन्होंने कहा कि इस बात का विशेष ध्यान रखे कि क्वॉरंटीन सेन्टर में रखे गये मजदूर व अन्य लोग आरोपी नहीं है बल्कि वह आम जनता को सुरक्षित रखने के लिये 14 दिन तक क्वॉरंटीन में रह रहे हैं तथा क्वॉरंटीन अवधि के बाद उन्हें सुरक्षित उनके घर भेजा जा रहा है इसीलिये किसी प्रकार का उनसे दुव्र्यव्हार ना करें। ना ही किसी व्यक्ति विशेष  को उनसे दुव्र्यव्हार करने दें। 

जिले के सभी थाना क्षेत्रों में पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश भी दिये हैं जिसके लिये रक्षित निरीक्षक को 01-01 वाहन विशेष  तौर पर सभी थानों को और पेट्रोलिंग के लिये उपलब्ध कराने का आदेश दे दिया गया है। जिले के स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा प्रवासी मजदुरों के मदद के लिये सामने आ रहे है ऐसे सदस्यों को थाने स्तर से परिचय पत्र उपलब्ध करायें ताकि ड्युटी में तैनात जवानों को उनकी सही पहचान हो सके, जिससे अनावश्यक घुमने वालों के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई की जा सके।

 

 

 

 


21-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बोड़ला, 21 मई।
पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्यतिथि नगर पंचायत बोड़ला में मनाई गई। इस अवसर पर नगर पंचायत अध्यक्ष सावित्री देवी साहू, नगर पंचायत उपाध्यक्ष संतोष अवस्थी, पार्षदगण एवं सभापति ने उनको याद किया।

कार्यक्रम में सबसे पहले राजीव गांधी के तैलचित्र पर गुलाल लगाकर फूल माला चढ़ाकर 2 मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। अपने उद्बोधन में वक्ताओं नगर पंचायत अध्यक्ष सावित्री साहू, उपाध्यक्ष संतोष अवस्थी, पार्षद सभापति ओम प्रकाश शर्मा एवं सेवादल के दीपक माग्रे आदि ने बारी बारी से राजीव गांधी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए देश को उनके योगदान को याद करते हुए मुख्य रूप से संचार क्रांति, पंचायती राज सशक्तीकरण, व्यस्क मताधिकार पर विस्तार से प्रकाश डाला गया।

इस अवसर पर शमशाद बेगम पर्यटन भाई शशि खरे ओम प्रकाश शर्मा विसर्जन धुर्वे दयाराम खुसरो भरत गुप्ता अर्जुन पटेल के अलावा अध्यक्ष प्रतिनिधि रामचरण साहू ब्लॉक कांग्रेस कमेटी व सेवादल के दीपक माग्रे  युवक कांग्रेसी बंटी खान पूरन मानिकपुरी डोगेन्द्र वर्मा,नारायण साहू ,अनुज वर्मा सहित नगर पंचायत के समस्त कर्मचारी उपस्थित थे।


19-May-2020

कवर्धा, 19 मई। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजय दयाराम के. ने दो जनसूचना अधिकारी एवं ग्राम पंचायत सचिव के आगामी एक वार्षिक वेतन असंचयी प्रभाव से रोक लगा दी है। जनपद पंचायत पंडरिया के जनसूचना अधिकारी एवं ग्राम पंचायत कांदावानी और वर्तमान पदस्थापना भेलकी डालचंद मानिकपुरी द्वारा प्रकरण में अपीलार्थी द्वारा चाही गई जानकारी समयावधि में उपलब्ध नहीं कराने एवं प्रथम अपीलीय अधिकारी के आदेश का पालन न करने के फलस्वरूप संबंधित का छत्तीसगढ़ पंचायत सेवा (अनुशासन तथा अपील) नियम 1999 लघु शासित के तहत आगामी एक वार्षिक वेतन असंचयी प्रभाव से रोक लगा दिया है। 

इसी प्रकार जनपद पंचायत पंडरिया के जनसूचना अधिकारी एवं ग्राम पंचायत कांदावानी सालिक राम धु्रव द्वारा प्रकरण में अपीलार्थी द्वारा चाही गई जानकारी समयावधि में उपलब्ध नहीं कराने एवं आयोग के कार्य में बाधा पहुंचाया गया, जिसके फलस्वरूप संबंधित का छत्तीसगड़ पंचायत सेवा (अनुशासन तथा अपील) नियम 1999 लघु शासित के तहत आगामी एक वार्षिक वेतन असंचयी प्रभाव से रोक लगा दिया है।


19-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कवर्धा, 19 मई।
कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने कबीरधाम जिले में कोविड-19 कोरोना वायरस के रोकथाम, नियत्रंण तथा वायरस के संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है। 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रसार को रोकने तथा इस पर नियंत्रण के लिए जिले कबीरधाम के सभी सीमा क्षेत्र के अंतर्गत संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्यगत आपातकालीन स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए आगामी 17 अगस्त 2020 की रात्रि 12.00 बजे तक दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 के अंतर्गत धारा 144 को बढ़ाया गया है। पूर्व में भारत सरकार तथा छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जारी पत्र के परिपालन में विभिन्न अतिरिक्त गतिविधियां के लिए छूट प्रदान की गई थी। 

जिले में जारी आदेश के तहत सभी प्रकार के सामाजिक, राजनैतिक, खेल-कूद, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्य, अन्य सभा प्रतिबंधित रहेंगे। सभी धार्मिक स्थल, पूजा स्थल जनसाधारण के लिए बंद रखा जाएगा। साथ ही धार्मिक सभाओं पर कड़ाई से प्रतिबंध रहेगा। जिले में समस्त सार्वजनिक परिवहन सेवायें, जिसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो-रिक्शा, बसें, ई-रिक्शा, रिक्शा इत्यादि भी शामिल हैं, के परिचालन को तत्काल प्रभाव से बंद रहेंगी।


19-May-2020

कवर्धा, 19 मई। कलेक्टर व जिला दण्डाधिकारी अवनीश कुमार शरण ने कबीरधाम जिले के विकासखण्ड पंडरिया अंतर्गत ग्राम पोलमी व पुटपुटा (उपस्वास्थ्य केन्द्र पोलमी एवं भाकुर) से एक एवं विकासखंड सहसपुर लोहारा अंतर्गत ग्राम बीरनपुर व तालपुर (उपस्वास्थ्य केन्द्र दनियाखुर्द) से एक संभावित मरीजों की कोविड-19 के पी.सी.आर. टेस्ट के बाद ग्राम पोलमी, पुटपुटा, बीरनपुर एवं तालपुर को कंटेन्मेंट जोन घोषित किया है। कंटेन्मेंट जोन में गतिविधियां में सख्त परिधि नियंत्रण, प्रवेश एवं निर्गमन केन्द्र की स्थापना, आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं तथा आपातकालीन चिकित्सा व्यवस्था, बिना जांच के किसी भी व्यक्ति एवं परिवहन सुविधा प्रतिबंधित, कन्टेंमेंट जोन में बाहर आने एवं जोन से बाहर जाने वाले व्यक्तियों का विस्तृत जानकारी संधारण करने के लिए कहा गया है। कन्टेंमेंट जोन पर इस कार्यालय से जारी आदेश अनुमति, छूट, लागू नहीं होंगे। इन सभी निर्धारित गतिविधियों पर सर्व संबंधित विभाग निगरानी, कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। 


19-May-2020

कवर्धा, 19 मई। जिले में छह नए कोरोना पॉजिटिव केस पाए जाने के बाद जिले में कंटेंमेंट जोन रेंगाखार कला, चमारी, सुतिया, तितरी एवं समनापुर घोषित किए गए थे। इन स्थानों से पिछले 15 दिवस में कोई भी नए पॉजिटिव केस नहीं आये है, इसलिए कंटेंमेंट जोन की अधिसूचना को समाप्त करते हुए चिन्हित क्षेत्रों को कुछ निर्देशों के साथ विमुक्त किया गया है, जिसके तहत कंटेंमेंट जोन में जिन व्यक्तियों को होम क्वॉरंटीन किया गया है, उनके कंटेंमेंट अवधि तक यथास्थिति बनी रहेगी, चिन्हांकित क्षेत्र अंतर्गत सभी दुकानें एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान शासन के नियमानुसार संचालित होंगे। चिन्हित क्षेत्रों में किसी भी व्यक्ति को कोरोना से संबंधित लक्षण होने पर तत्काल कंट्रोल रूप के दूरभाष 07741-232609 पर सूचित करेंगे। 
 


18-May-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
कवर्धा, 18 मई।
कबीरधाम जिले में श्रमिकों और अन्य नागरिकों के उनके सकुशल प्रदेश वापसी के बाद उनके गांव और जिले तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा बसों की व्यवस्था की जा रही है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण के निर्देश पर प्रवासी श्रमिकों को लाने-ले जाने के लिए लगाई गई सभी बसों को सेनेटाइजर किया गया है। 

प्रवासी श्रमिको की जिले वापसी के बाद  जिले में चेक पोस्ट में स्वास्थ्य परीक्षण स्वास्थ्य स्क्रीनिंग की जा रही है।  स्वास्थ्य परीक्षण के बाद सभी श्रमिकों को उनके गांव में संचालित क्वॉरंटीन सेंटर तक बसों के माध्यम से सकुशल सुरक्षित पहुँचाया जा रहा है। 

क्वॉरंटीन केंद्रों में प्रवासी श्रमिकों के लिए स्वल्पाहार, नास्ता, चाय और भरपेट भोजन की नि:शुल्क व्यवस्था की रही है। 
कोविट-19 कोरोना वायरस के रोकथाम, नियंत्रण तथा उनके संक्रमण को रोकने के लिए श्रमिकों को 14 दिन, 21 दिन अथवा चिकित्सा परामर्श के अनुसार क्वॉरंटीन की सीमा भी बढ़ाई जा सकती है।


18-May-2020

कवर्धा, 18 मई। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने कबीरधाम में कोविड-19 कोरोना वायरस के प्रभावी रोकथाम, नियंत्रण और उनके संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत कबीरधाम जिले में लागू धारा 144 को आगामी 3 माह तथा आगामी आदेश तक बढ़ाने का आदेश जारी किया है।

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी अवनीश कुमार शरण ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव और सुरक्षा के लिए सम्पूर्ण जिला कबीरधाम जिले में दंड प्रक्रिया संहिता 1973 के अंतर्गत प्रभावशील धारा 144 को 17 अगस्त रात्रि 12 बजे या आगामी आदेश तक  के लिये  लागू करने का आदेश जारी किया है। उन्होंने इस सम्बन्ध में समय - समय पर जारी उनके कार्यालय द्वारा अन्य आदेशो के तहत प्रतिबन्धों को भी लागू रखने के आदेश दिए है ।


17-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

कवर्धा, 17 मई। कबीरधाम जिले के कवर्धा-राजनांदगांव के मुख्यमार्ग पर स्थित नरोधी चेकपोस्ट पर जब प्रवासी श्रमिकों पुरूष, महिला और बच्चों के खाली पैरों पर जब चरण पादुका पहनाया गया तब खुशी से एक मां की ममता आंसू बन कर बहने लगा। अपनी जज्बातों को वह रोक नहीं पाई। उन्होंने बताया कि वह रेल से लम्बी यात्रा कर छत्तीसगढ़ पहुंची हैं। बस के माध्यम से कबीरधाम जिले तक पहुंचाया गया। अपना घर लौट कर अब बहुत अच्छा लग रहा है। 

कोरोना वायरस के लाकडाउन से उपजे विषम परिस्थितियों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विशेष प्रयासों से सैकड़ों किलोमीटर दूर लम्बी यात्रा करने के बाद सकुशल घर लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों को यह सहसा अंदाज भी नहीं था कि उनके घर वापसी से पहले ही जिले की दहलीज पर  उनके खली पैरों पर (चप्पल) चरण पादुका पहनाया जाएगा। ऐसा ही कुछ नजारा छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में देखने को मिल रहा है। कबीरधाम जिले के प्रदेश के सीमा द्वार कहलाने वाली चिल्फी धवाईपानी, बैरियर तथा दशरंपुर, नरोधी और पोलमी बैरियर पर प्रवासी पुरूष, महिला और छोटे-छोटे बच्चों के खाली पैरों पर जिले में प्रवेश के साथ चरण पदुका पहनाया जा रहा है।

कवर्धा एसडीएम विपुल गुप्ता ने बताया कि कवर्धा-बेमेतरा मार्ग के दशरंपुर बैरियर, राजनांदगांव मार्ग के नरोधी बैरियर पर 500-500 नग चप्पल श्रमिकों को नि:शुल्क देने के लिए व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार राज्य के प्रवेश द्वारा चिल्फी धवाईपानी बैरियर पर भी श्रमिकों को चप्पल निशुल्क देने के लिए व्यवस्था बनाई गई है। कबीरधाम जिले में प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए सामाजिक संगठन आगे आ रहे है। जन सहयोग से श्रमिकों के लिए जिला प्रशासन द्वारा चरण पादुका नि:शुल्क दिया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के विशेष प्रयासों से कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए जारी लाकडाउन के बीच देश के अन्य राज्यों में फसे प्रवासी श्रमिकों की छत्तीसगढ. वापसी हो रही है। प्रवासी श्रमिक बड़ी संख्या में कबीरधाम जिले अपने गृह जिले पहुंच रहे है। प्रवासी श्रमिकों की जिले के सभी प्रवेश सीमा पर स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। इसके बाद सीधे संबधित ग्राम पंचायतों में बने क्वारेटाईन सेन्टर में बसो के माध्यम से पहुंचा जा रहा है। क्वारेटाईन सेंन्टर पर प्रवासी श्रमिकों  को 14 दिनों अथवा चिकित्सा परामर्श के अनुसार और अधिक दिनों के ठहराया जाएगा। क्वारेटाईन सेन्टर पर श्रमिकों के लिए भोजन,पानी, सोने के लिए बेहतर प्रबंधन किए गए है। जिले में 1087 क्वॉरंटीन सेन्टर बनाए गए हंै। 

 


16-May-2020

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बोड़ला, 16 मई। कबीरधाम जिले के सुदूर वनांचल के बैगा आदिवासी बाहुल्य विकासखंड बोड़ला के वनांचल क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत जनपद सदस्यों एवं ग्रामीणों ने सांसद से की थी। जिस पर सांसद संतोष पांडे विकासखंड के दलदली क्षेत्र में कल पहुंचे और ग्रामीणों से रूबरू हुए। श्री पांडे के साथ पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विदेशी राम धुर्वे,मंडल अध्यक्ष बरसाती राम वर्मा,पूर्व मंडल अध्यक्ष रामकिंकर वर्मा, दलदली से तिहारी राम, मनोज नायक,सलगी से भरत,सुरेश सरपंच केशमरदा,हीरा यादव सरपंच दलदली,विश्वनाथ सरपंच तरेगांव उपस्थित थे। जनपद सदस्य नरेश चंद्रवंशी ने बताया कि विकासखंड के दलदली एवं कई वनांचल क्षेत्र के गांव में आवास योजना में धांधली की शिकायतें ग्रामीणों द्वारा मिल रही थीं। गांव वालों ने बताया कि जनपद पंचायत के कार्यपालन अधिकारी के कहने पर हितग्राहियों के खाते का पैसा सीधे बोड़ला के ठेकेदार को बैंक से दे दिया गया। इस बात की जानकारी मिलने पर साथी जनपद सदस्यों जिनमें काशी उइके, बजरहा पटेल, रजवंतिन मोहन आदि ने शिकायत कर जांच में केशमरदा आने की मांग की। जिस पर संज्ञान लेते हए सांसद श्री पांडे जांच हेतु पंहुचे। मामले की उच्च स्तरीय शिकायत की बात कहते हुए जनपद सदस्यों एवं ग्रामीणें ने ठेकेदार एवं संबधित अधिकारी पर कड़ी कार्रवाई की मांग शासन प्रशासन से की है। मामले में कड़ी कार्रवाई नहीं किए जाने पर श्री चंद्रवंशी एंव साथियों  ने लॉकडाउन के बाद आंदोलन करने की बात कही।

सांसद ने दिया कार्रवाई का भरोसा
हितग्राहियों में ग्राम बोदई के बैगा बुधराम वल्द फगनू, गेलही वल्द केजहा, चंदर सिंह वल्द देवान, नानबाई पति जेठू, मोहित वल्द सूनाराम आदि ने बताया कि जनपद के अधिकारियों द्वारा बोड़ला के ठेकेदार गुरदास को एक वर्ष पहले एक एक लाख रूप्ए दिया गया था, जिसके बाद ठेकेदार गुरदास द्वारा केवल नींव लेवल तक स्तरहीन गुणवत्ताहीन कार्य कर काम बंद कर दिया है। सांसद श्री पांडे ने केंद्र सरकार के हितग्राहीमूलक कार्य में अनियमितता बरतने पर वहां मौजूद आवास शाखा के कर्मचारी को तलब कर जानकरी लिए। उसने भी उच्च अधिकारियों का हवाला देते हुए आवास निर्माण में ठेकेदार को काम देने की बात कही। आवास निर्माण में सांसद ने मामले की उच्च स्तरीय जांच का भरोसा देते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात ग्रामीणों से कही।

 

 

 


15-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बोड़ला, 15 मई। गुजरात में छत्तीसगढ़ के कबीरधाम समेत अन्य जिलों के करीब सौ मजदूर अभी भी फंसे हुए हैं। मजदूरों ने गुजरात और छत्तीसगढ़ सरकार से मदद मांगी है।

जानकारी के अनुसार कबीरधाम जिले के बोड़ला, पंडरिया, सहसपुर, लोहारा व कवर्धा विकासखंड के मजदूर गुजरात में फंसे हुए हैं। मजदूरों ने स्थानीय शासन-प्रशासन समेत छत्तीसगढ़ सरकार से फोटो व वीडिओ के माध्यम से उन्हें वापस लाने की अपील की है। गुजरात के दाहोद जिले के झालूद गांव में फंसे बोड़ला विकासखंड के ग्रामपंचायत बैरख एवं ढोलबज्जा के भगवानी धुर्वे, दिनेश धुर्वे, विेदेशी राम धुर्वे, लामू धुर्वे, विश्राम धुर्वे, गणेश खुसरो ने छत्तीसगढ़ संवाददाता को फोन से बताया कि लॉकडाउन के दौरान वे गांधीनगर अहमदाबाद से पैदल आ रहे थे। उसी दौरान दाहोद जिले के झालूद गांव में सभी को रोककर 14 दिन के लिए क्वॉरंटीन कर दिया गया। क्वॉरंटीन अवधि पूर्ण होने पर उन्हें जाने नहीं दिया गया बल्कि उन्हें और 14 दिन के क्वॉरंटीन कर दिया गया। अब उन्होंने 28 दिन की क्वॉरंटीन अवधि पूर्ण कर ली है फिर भी उन्हें जाने नहीं दिया जा रहा है। सात बार उनका परीक्षण किया जा चुका है। हर बार उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। मजदूरों ने गुजरात व छत्तीसगढ़ सरकार से उन्हें उनके गृह ग्राम तक पहुंचाने की गुहार लगाई है।

मजदूरों ने बताया कि तहसीलदार द्वारा यह कहा जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में मजदूरों को बॉर्डर से वापस किया जा रहा और उन्हें स्वयं के खर्चे पर गाड़ी मंगाने को कहा जा रहा है। साथ ही उन्हें पैदल भी जाने नहीं दिया जा रहा है। तहसीलदार को उन्होंने मप्र सीमा तक छोडऩे भी कहा है लेकिन यह भी नहीं हो रहा है। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार से गुहार लगाई है।

भगवानी व उसके साथी स्थानीय प्रशासन से पैदल जाने की भी अनुमति मांग रहे हैं। खबर लिखे जाने तक उन्हें मदद नहीं मिली है। दूसरी ओर कबीरधाम जिले व विकासखंड के बदराडीह ,भोरमदेव बाघूटोला के शरद पटेल,जिराखन पटेल आदि ने बताया कि गुजरात के ही गांधीनगर व अहमदाबाद में दो दलों में जिले के चारों विकासखंड के साथ ही राज्य के ही अन्य पड़ोसी जिलों के 100 से अधिक मजदूर फंसे हुए हैं। वे भी वीडियो कॉल व फोन के माध्यम से वापस आने के लिए लगातार मदद मांग रहे हैं। छत्तीसगढ़ के श्रम विभाग में पंजीयन के बाद भी इनकी वापसी नहीं हो सकी है।