छत्तीसगढ़ » महासमुन्द

Previous1234Next
Posted Date : 22-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़  संवाददाता
    पिथौरा, 22 जुलाई। सिरपुर क्षेत्र के गांव केसलडीह में शुक्रवार को हाथी को करंट से मारने वाले आरोपियों को वन विभाग ने 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया। आरोपी चारों ग्रामीणों को गिरफ्तार कर न्यायालय में शनिवार शाम को पेश किया गया, जहाँ से उन्हें 14 दिनों के लिए न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में हाथी की मौत करंट से होने की पुष्टि हुई है।
    विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वन विकास निगम के कक्ष क्रमांक 53 में शिकार के लिए कुछ ग्रामीणों ने जमीन में लकड़ी की खूंटी बना कर उस पर बिजली का तार लगाया गया था, जिसमें खेतों की ओर आ रहा एक 15 वर्षीय नर हाथी फंस गया था जिससे उसकी मौत हो गई थी। हाथी के शव का पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें उसके पैर, जबड़ा और शरीर में करंट से झुलसने का निशान पाए गए थे।
    करंट प्रवाहित तार हाथी के शव के कुछ ही दूर था, लिहाजा वन विभाग के वरिष्ठ अफसर रेंजर विश्वनाथ मुखर्जी ने शंका के आधार पर जांच शुरू की और घटनास्थल के समीप के खेत मालिक से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान पता चला कि उक्त खेत दो भाइयों का है और उन्होंने खेत 2 अन्य ग्रामीणों को किराए पर दिया हुआ है। खेती के दौरान ही उन्हें पता चला कि उनके खेत में जंगली सुअर एवं चीतल करने आते हंै। 
    आरोपियों ने खेत के पास स्थित 11000 केवी तार को वन्य प्राणियों के शिकार हेतु बिछाई गई तार से जोड़ दिया था, परन्तु आरोपियों के बिछाए जाल में वन्य प्राणी तो नहीं फंसा बल्कि जंगल में अकेला विचरण कर रहा हाथी फंस गया और करंट से उसकी मौत हो गई। बहरहाल महासमुंद रेंजर श्री मुखर्जी की सक्रियता से केशलगढ़ निवासी भीखम खडिय़ा (35), हीरालाल बिंझवार, (31), तुलाराम (70) और भोजराम (45)को शिकार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।
    हाथियों के रहवास की व्यवस्था हो
    महासमुंद जिले के अनेक हिस्सों में हाथियों का डेरा है। शासन-प्रशासन के अनेकों प्रयासों के बाद भी ये हाथी जस के तस डटे हुए हंै। जानकारों के अनुसार हाथियों ने इस क्षेत्र को अपना कॉरिडोर बना लिए है, लिहाजा इनके यहां से हमेशा के लिए चले जाने की संभावना कम ही है। वन्य प्राणी प्रेमियों एवं कुछ संगठन पूर्व से ही यह मांग कर रहे हैं कि यहां डेरा जमाए हाथियों को खदेडऩे की बजाय इन पर थोड़ा रहम कर इनके यही रहवास के प्रयास किये जाये, जिससे ये मानव मित्र की तरह रह सके।

  •  

Posted Date : 20-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पिथौरा, 20 जुलाई। पिथौरा से लगे सिरपुर क्षेत्र में बीती रात एक जंगली हाथी शिकारियों की करंट प्रवाहित तार की चपेट में आने से मारा गया। महासमुंद वन विभाग के अफसर घटना स्थल पहुंच चुके है।
          ग्रामीण  के अनुसार हाथी प्रभावित सिरपुर क्षेत्र के पास ग्राम केसलडीह में बीती रात एक जंगली हाथी  का शव वन विकास निगम क्षेत्र के कक्ष क्र 146 में पड़ा देखा। पास ही एक ट्रांसफॉर्मर से 11000 के व्ही  करंट प्रवाहित तार भी है।   करंट युक्त फंदा छोटे जानवरों, जंगली सुअर एवम चीतल को फंसाने के लिए लगाया गया था। 
    घटना की सूचना के बाद महासमुंद के रेंजर विश्वनाथ मुखर्जी दल बल के साथ पहुंच चुके है। इसके अलावा वन विकास निगम के एसडीओ श्री नायक भी घटना स्थल पहुंचे। घटना की पुष्टि महासमुंद वन विभाग ने करते बताया कि पोस्टमॉर्टम के बाद उसे घटना स्थल पर ही दफनाया जाएगा। घटना की जांच वन विकास निगम द्वारा की जाने की संभावना है। 

  •  

Posted Date : 28-Jun-2018
  • वैन, नोट बनाने का सामान, प्रिंटर,  मोबाइल जब्त
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 28 जून। जिले व पड़ोसी ओडिशा में नकली नोट खपाने वाले गिरोह के 7 सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एक आरोपी फरार है। आरोपियों से 7 लाख 37 हजार 500 रूपये के नकली नोट, एक वैन, प्रिंटर, मोबाईल एवं नोट बनाने का सामान बरामद किया गया है।
    पकड़े गये आरोपियों के नाम  गौतम कुमार  टोण्डर  आरंग जिला रायपुर, कृष्ण कुमार  गेंड्रे  मुसवाडीह  बलौदाबाजार, चमरू पटेल करनापाली बसना, मनमोहन दास अमसेना आरंग, रूपानंद उर्फ रूपेश  बैतारी, बसना , सुरेन्द्र चौहान  बिलखन बसना, कमल बरिहा पिता कन्हैया बरिहा बिलखण्ड थाना बसना जिला महासमुंद हैं। 
    पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने बताया कि कई दिनों से सूचना मिल रही थी कि जिले में नकली नोट छापने का अवैध कारोबार किया जा रहा है। बाजार, शराब दूकान, पेट्रोल पम्प आदि स्थानों में खपाने का प्रयास किया जा रहा है। जिस पर  क्राईम ब्रांच की टीम को प्रभावी कार्यवाही करने निर्देशित किया गया था।
    27 जून को  सूचना मिली कि विगत दो-तीन दिनों से बसना पिरदा क्षेत्र में एक बिना नम्बर की स्लेटी रंग वाली मारूति वैन संदिग्ध हालत में घूम रही है और इसके जरिये सम्भवतया नकली नोटों का कारोबार होता है। क्राईम ब्रांच की एक टीम बसना रवाना हुई एवं बसना स्टाफ के साथ पिरदा बाजार जाकर सूचना की तस्दीक की। 
    पिरदा बाजार में खड़ी  स्लेटी रंग के बिना नम्बर मारूति वैन  में 4 युवक  मिले जिनसे पूछताछ करने पर उन्होंने अपना नाम  गौतम कुमार, कृष्ण कुमार, चमरू पटेल, मनमोहन दास बताया। इनसे बारिकी से पूछताछ करने पर गौतम कुमार ने बताया कि तीन-चार माह पूर्व साथी गोविंद बरिहा  टेडगीडीपा, कमल बरिहा  बिलखन के साथ मिलकर कमल बरिहा के घर में प्रिंटर मशीन से 2000, 500, एवं 100 रूपयों के नकली नोट छपाई का काम सीखा और नकली नोटों को बाजार में खपाने के लिए सुरेन्द्र चौहान  बिलखन को 2000-500 रूपये के करीब 33000 रूपये, कृष्ण कुमार  को करीब 100-100 रूपये के सहित करीब 7 हजार 200 रूपये, चमरू पटेल को 500-100 के कुल 18000 रूपये, मनमोहन दास  को 100-100 रूपयेे कुल 9300 रूपयें, रूपानंद  को 100-100 रूपये के करीब 26000 रूपये, कमल बरिहा 2000 के  4,36,000 रूपये तथा गोविंद बरिहा  को 500 के कुल 13000 रूपये के नकली नोट चलाने के लिए दिये। 
    इन्होंने नकली नोट छापने के लिए प्रिंटर मशीन व सामग्री को कमल बरिहा के घर होना बताया तथा अपने पास 2000 रूपये के नकली नोट कुल करीब 2 लाख 8,000 को अपने पास  वेन में रखना बताया और इसे पिरदा बाजार में चलाने हेतु आना स्वीकार किया।   
    गौतम कुमार टोण्डर से 2000 रूपये के  2,08,000 रूपये, आरोपी चमरू पटेल से 500 रूपये के 28 नग नकली नोट कुल 14,000  एवं 100 रूपये के 40 नग कुल 4000 तथा  कृष्ण कुमार गेंड्रे से 100 रूपये 72 नग कुल 7200 रूपये, मनमोहन दास से  100 रूपये के 93 नग कुल 9300 के नकली नोट को जब्त किया गया।  
    गौतम कुमार, कमल बरिहा एवं गोविंद बरिहा द्वारा 100-100 के कुल 26000 रूपये के नकली नोट  उनके घरों से जब्त किया गया।    कमल बरिहा से 2000 रूपये के 218 नग  कुल 4,36,000 रूपये सहित पेपर, स्याही, नोट छापने का सामान जब्त किया गया। 

  •  

Posted Date : 26-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पिथौरा, 26 जून।  विगत पांच छह वर्षों बाद एक बार फिर क्षेत्र में नक्सल आमद की सूचना मिली है। सूचना के बाद महासमुंद एवम बलौदा बाजार जिला सशस्त्र  पुलिस बल देवपुर के जंगलों में सर्चिंग शुरू कर दी है। नक्सल आमद की पुष्टि महासमुंद एस पी  नेे की है।  ज्ञात हो कि  छह वर्ष पूर्व पिथौरा ब्लाक के सांकरा थानान्तर्गत मुठभेड़ में आठ नक्सली मारे गए थे।
    विगत सप्ताह भर से नगर से 3 किमी दूर लक्ष्मीपुर तालाब में कुछ संदिग्ध लोगों को देखे जाने की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी थी। कई स्थानों से लगातार सूचना के बाद  जिला सशस्त्र बल की एक टुकड़ी भेजकर 24 जून को  जंगली क्षेत्र में सर्चिंग कराई गई थी। इसके बाद आज सूचना मिली कि एक दर्जन नक्सली बलौदाबाजार के बया, बिलाईगढ़ से लगे सीमा क्षेत्र में देखे गए हैं। इसके बाद आज सुबह से बलौदा बाजार और महासमुंद जिला पुलिस बल के आधा सैकड़ा जवान संयुक्त रूप से  देवपुर के आसपास सर्चिंग में हैं।

  •  

Posted Date : 26-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बागबाहरा, 26 जून। आज सुबह  बागबाहरा परिक्षेत्र के विधायक गोद ग्राम बकमा में वन चौकीदार को हाथियों ने पटक कर मार डाला। 
    ग्राम बकमा में आज सुबह से 4 हाथियों का दल  वन क्षेत्र क्रमांक 124 बास प्लांट में पहुंचा था। जहां  चौकीदार चिंता राम साहू (62 वर्ष)को पटककर मार डाला।  जानकारी मिलते ही वन अमला घटनास्थल की ओर रवाना हुआ है। वन परिक्षेत्र अधिकारी बागबाहरा मनोज चन्द्राकर  ने बताया कि अब तक जिले के हाथी भगाने की एक्सपर्ट टीम अभी तक नही पहुची है । बागबाहरा फारेस्ट के सभी कर्मचारी इन हाथियों के झुंड को भगाने के लिए तैनात हैं।
    वन सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों से जिले में ओडिशा से पिथौरा की ओर आकर  बागबाहरा बन परिक्षेत्र में दाखिल इन  4 हाथियों   में से एक शावक बताया जा रहा है।  वन विभाग  के मुताबिक ओडिशा से आए ये हाथी सिरपुर परिक्षेत्र में विचरण कर रहे  19 सदस्यीय दल से अलग है।

  •  

Posted Date : 21-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    राजनांदगांव, 21 जून।  कांग्रेस ने  आज यहां  किसान जनसंकल्प रैली का आयोजन किया। स्थानीय ईमाम चौक से प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बैलगाड़ी हांकते रैली शुरू की। संकल्प रैली शहर के जीई रोड़, रामाधीन मार्ग, तिरंगा चौक, भारत माता चौक, हलवाई लाइन, सिनेमा लाइन, गुरूनानक चौक होते हुए रैली जिला कार्यालय पहुंची। जनसंकल्प रैली में कांग्रेस जिलाध्यक्ष नवाज खान, जितेन्द्र मुदलियार, श्रीकिशन खंडेलवाल, आफताब आलम, सुदेश देशमुख, सुजीत दत्ता बापी, हेमा देशमुख, संध्या दीदी, रमेश खंडेलवाल, रमेश डाकलिया, योगेश मुदलियार,  निखिल द्विवेदी, नरेश शर्मा, विप्लव शर्मा, सौरभ तिवारी,  शुभम शुक्ला,  देवेन्द्र यादव,  राजिक सोलंकी, कमलजीत सिंह पिंटू समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता शामिल थे।

  •  

Posted Date : 21-Jun-2018

  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 21 जून। आज सुबह योग मंच पर विधायक विमल चोपड़ा और पूर्व राज्य मंत्री पूनम चंद्राकर उलझ पड़े।  दरअसल विधायक पुलिसिया लाठी चार्ज पर बरसने लगे  जिस पर उन्हें बीच में टोकते हुए मंच पर बैठे पूर्व राज्य मंत्री ने कहा कि यह योग का मंच है, अधिकांश स्कूली बच्चे हैं। अत: यहां राजनीति की नहीं बल्कि योग की बातें होनी चाहिए।  
    आज सुबह तय कार्यक्रम के अनुसार जिला प्रशासन के अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों तथा स्कूली बच्चों के अलावा शहर के कुछ नागरिक भी योग का अभ्यास करने आदर्श हाई स्कूल मैदान पहुंचे थे। मंच पर बैठे अतिथियों तथा उपस्थित जन समूह ने बखूबी योग अभ्यास किया। इसके बाद जब अध्यक्षीय उद्बोधन की बारी आई तो विधायक डॉ. चोपड़ा पुलिसिया लाठी चार्ज के किस्से शुरू कर दिए। 
    इस पर  पूनम चंद्राकर ने उन्हें टोका। इसके बाद भी विधायक ने राजनीतिक भाषण जारी रखा।  इससे पूनम चंद्राकर ने कटाक्ष किया और दोनों में विवाद गहराने लगा था कि मंच के नीचे बैठे लोगों की ओर से आवाज आई यहां योग की बातें सुनने आये हैं, राजनीतिक नहीं। 
    इसके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संसदीय सचिव एवं बसना विधायक  रूप कुमारी चौधरी ने कलेक्टर को आदेश किया कि बच्चों को जाने दिया जाए। बस फिर क्या था कलेक्टर के आदेश के बाद मिनट भर में मैदान एकदम खाली हो गया। 
    बच्चों को जाते देख विधायक चोपड़ा खुद ही मंच से नीचे उतरे और मैदान के गेट की ओर बाहर निकल गये। इस बीच उन्हें जाने से किसी ने भी नहीं रोका बल्कि मंच का संचालन फिर से शुरू हुआ और अतिथियों ने कार्यक्रम की समाप्ति की घोषणा की। 

    क्या कहा विमल चोपड़ा ने
    मुझे कार्यक्रम की अध्यक्षता करने के नाम पर किसी ने बुलाया नहीं और न ही किसी ने आकर इस बाबत जिक्र भी किया। बस आमंत्रण पत्र में मुझे कार्यक्रम का अध्यक्ष बना दिया गया। मैं फिर भी यहां पहुंचा। कुछ लोग तो सोच रहे हैं कि कल-परसों ही पुलिस की लाठी खाकर आज कैसे मंच तक पहुंच गया। 
    इसके साथ ही जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन पर  बरसने लगे कि मंचस्थ पूनम चंद्राकर ने उन्हें टोकना शुरू कर दिया।

  •  

Posted Date : 20-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 20 जून। बीती रात विधायक तथा उनके समर्थकों पर लाठी चार्ज के विरोध में आज सुबह से ही शहर बंद है। तनाव के हालता के बीच चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। सिटी कोतवाली छावनी में तब्दील है। पुलिस ने एक दर्जन विधायक समर्थकों पर मामला दर्ज किया है। इधर विधायक डॉक्टर विमल चोपड़ा चौक-चौराहों पर अपने समर्थकों के साथ घूम रहे हैं।  वहीं दोपहर एक बजे स्वीपर कालोनी के सैकड़ों लोग अंकित की गिरफ्तारी की मांग करते सिटी कोतवाली पहुंचे हैं। व्यापारी भी बंद का विरोध करते दुकानें खोलने लगे हैं। 
    ज्ञात हो कि कल महासमुन्द मिनी स्टेडियम में कोच के साथ हुई मामूली विवाद के बाद कोच पर हुई पुलिसिया कार्रवाई का विरोध करने पहुंचे स्थानीय विधायक और विधायक समर्थकों पर पुलिस ने लाठियां भांजी। इससे दर्जन भर विधायक समर्थक घायल हुए और विधायक समर्थकों के पथराव से दर्जन भर  जवान भी घायल हुए हैं। पुलिस ने विधायक के 12 समर्थकों पर मामला दर्ज कर लिया है।  
    घटनाक्रम के अनुसार कल स्थानीय मिनी स्टेडियम में पास के वार्ड नं. 25 के स्वीपर कालोनी के बच्चे मनी स्टेडियम में खेल रहे थे। इसी दरमियान कोच अंकि त लुनिया ने बच्चों के साथ गाली-गलौच करते मारपीट की। बच्चों के साथ मारपीट की जानकारी जब स्वीपर कालोनी के लोगों को हुई तो वे भी मिनी स्टेडिम पहुंचे और विवाद बढऩे लगा। इसकी जानकारी सिटी कोतवाली तक पहुंची तो सिटी कोतवाली के पेट्रोलिंग पार्टी ने उप निरीक्षक समीर डूंगडूंग को मामले को सुलझाने के लिए मिनी स्टेडियम भेजा। पुलिस पार्टी के पहुंचने के बाद घटना स्थल पर मौजूद स्वीपर कालोनी के बच्चों के परिजन अपने बच्चों के साथ हुई मारपीट की जानकारी पुलिस को दे ही रहे थे कि इसी बीच पुलिस उप निरीक्षक के साथ अंकित लुनिया उलझ गये। 
    पुलिस और अंकित के बीच विवाद के बाद पुलिस अंकित और स्वीपर कालोनी के बच्चों को साथ लेकर थाने पहुंची और चाईल्ड केयर डेस्क में मामले की रिपोर्ट लिखने का क्रम शुरू हुआ। चूंकि अंकित लुनिया विधायक समर्थक माने जाते हैं अत: अपने समर्थक के साथ हो रहे घटना की जानकारी लेने साढ़े 9 बजे विधायक और उसके समर्थक सिटी कोतवाली पुहंचे। जहां विधायक समर्थकों ने उप निरीक्षक समीर डूंगडूंग पर अंकित लुनिया के साथ मारपीट करने का आरोप लगाते हुए उस पर एफआईआर दर्ज करने की मांग करते हुए हंगामा खड़ा कर दिया। 
    मामले की जानकारी पाकर एसडीओपी विनोद मिंज, सीएसपी उदय किरण सिटी कोतवाली पहुंचे थे। विधायक के साथ  कुछ महिला खिलाड़ी पहुंची थी जिन्होंने पुलिस पर छेड़छाड़ का भी आरोप लगाया। विधायक समर्थकों और पुलिस के बीच बहस चल रही थी कि स्वीपर कालोनी के बच्चों के परिजन भी दलबल के साथ थाना पहुंचे और पुलिस पर मामले में अपराध दर्ज करने की मांग करने लगे।
    विधायक विमल चोपड़ा, अंकित  के साथ मारपीट की बात कहते हुए उप निरीक्षक  डंूगडूंग पर एफआरदर्ज करने की मांग करते हुए थाने के मुख्य द्वार के सामने धरने पर बैठ गये। पुलिस के साथ विधायक-समर्थकों का विवाद बढ़़ता चला गया। तब पुलिस ने भीड़ को हटाने  लाठी चार्र्ज कर दिया। 
    इसी दौरान पुलिस पर पथराव शुरू हो गया जिसमें पुलिस के एसडीओ विनोद मिंज, एसआई संदीप मंडले, एसआई वीणा साहू सहित 7 पुलिस आरक्षक घायल हो गये। वहीं लाठी चार्ज से भी विधायक सहित विधायक के एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये। घायलों का रात में ही जिला सरकारी अस्पताल में प्राथमिक उपचार व डॉक्टरी मुलाहिजा किया गया।  
     पुलिस अधिकारियों को कहना है कि  मिनी स्टेडियम में हुए मामूली विवाद को सुलझाने पेट्रोलिंग पार्टी गई हुई थी। तब कोच अंकित  ने उप निरीक्षक समीर डंूगडंूग के साथ अभद्र व्यवहार किया जिसे पुलिस बलपूर्वक थाने ले आयी। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही थी कि विधायक विमल चोपड़ा और उसके समर्थकों ने थाना पहुंच कर शासकीय कार्य में बाधा डालते हुए पुलिस के साथ विवाद शुरू कर दिया। वहीं कुछ लोगों ने थाने पर पथराव कर दिया। पुलिस ने उग्र विधायक समर्थकों को हटाने हल्का बल प्रयोग किया है जिसमें पुलिस अधिकारी और जवान को चोटें आई हंै वहीं विधायक समर्थकों को भी चोटें आई है। 
    पुलिस ने शासकीय कार्य में बाधा डालने वाले विधायक समर्थक अभिषेक लुनिया, अंकित लुनिया, नीलेश पांडे, देवी चंद राठी, पवन साहू, मोहन साहू, अरविंद प्रहरे, महेन्द्र जैन, राकेश सचदेवा, नईम खान, गोविंद, भरत साहू पर  अपराध दर्ज किया गया है। वहीं स्वीपर कालोनी के मनोज कुमार की रिपोर्ट पर सिटी कोतवाली ने अभिषेक लुनिया, अंकित लुनिया, नीलेश पांडे केे खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। 

  •  

Posted Date : 16-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पिथौरा, 16 जून। नगर से 4 किमी दूर ग्राम मुढ़ीपार के पास  बंद ढाबा के पीछे एक युवती की सिर कुचली लाश मिली है। मृतका की शिनाख्त नहीं हो पाई है। पखवाड़े भर के भीतर क्षेत्र में यह पांचवीं हत्या है।  
    मुढ़ीपार के पास एनएच 53 के किनारे  एक बन्द ढाबा है। इसके ठीक पीछे  जींस एवम शर्ट पहने लगभग 22-23 साल की युवती मृत अवस्था में पड़ी मिली।  उसका सिर पत्थर से कुचल दिया गया है जिससे उसकी पहचान नहीं हो सकी है। घटना स्थल पर मौजूद पुलिस के अधिकारियों ने इस संबंध में कुछ भी  कहने से इंकार कर दिया। 
     गत पखवाड़े ही पिथौरा थाना के ग्राम किशनपुर में 4 हत्याएं हुई थीं।   आरोपी को गिरप्तार किया जा चुका है। जबकि इसके पूर्व पिथौरा थानान्तर्गत कोई आधा दर्जन हत्याओं के आरोपी अब तक पुलिस पकड़ से बाहर हंै। 

  •  

Posted Date : 09-Jun-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    पिथौरा,  9 जून।  बारनवापारा अभ्यारण्य में एक बायसन संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिला। मृत बायसन के पास पानी भरी बाल्टी मिलने से मामला संदिग्ध नजर आने लगा है। इस संबंध में अभ्यारण्य के रेंजर से संपर्क नहीं हो पाया।
    मिली जानकारी के अनुसार बार अभ्यारण्य के अकलतरा से लोरिदखार मुख्य मार्ग में गुरुवार की रात एक बायसन की मौत हो गयी। ग्रामीणों के अनुसार  7 से 8 साल के नर बायसन के मृत   पड़े होने की जानकारी अकलतरा बीट गार्ड को दी थी। परन्तु बीटगार्ड ने इस घटना को गम्भीरता से नही लिया। ग्रामीण बताते है कि जिस स्थान पर बायसन का शव पड़ा था पास ही   पानी से भरी एक बाल्टी भी पड़ी थी।  अनुमान लगाया जा रहा है कि  मृत बायसन  प्यासा  रहा होगा जिसे पानी पिलाने का प्रयास किया होगा, परन्तु डी हाइड्रेशन के चलते उसकी मौत हो गयी होगी। 
    बार क्षेत्र के कुछ जल स्त्रोत सूख गए हंै जिससे प्यासे वन्य प्राणी  गांवों के आस पास मंडराने लगे हैं। यह भी आशंका जताई जा रही है कि चीतल शिकार के प्रयास में बायसन  फंस गया हो और शिकारी  पानी लाकर उसे बचाने का प्रयास किए हों। बहरहाल  कसडोल के पशु चिकित्सक को बुलाकर पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

  •  

Posted Date : 02-Jun-2018
  • हथियार बरामद,  चोरी के सामान भी 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
     पिथौरा, 2 जून।  समीपस्थ ग्राम किशनपुर में स्वास्थ्यकर्मी परिवार की हत्या का आरोपी पड़ोसी युवक निकला। गिरफ्तार युवक ने प्रारंभिक पूछताछ में अपना अपराध कबूल कर लिया है। निशानदेही पर उसके घर से हत्या में प्रयुक्त कत्तल (मांस काटने का औजार) और चोरी के सामान बरामद किए गए हैं। इधर आरोपी के घर के बाहर जुटी भीड़ को देखते हुए पुलिस ने आरोपी के  परिवार के सभी सदस्यों को अभिरक्षा में ले लिया है। ग्रामीणों की मानें तो घटना का कारण मृतक परिवार द्वारा मजदूरी नहीं दिया जाना है। पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए घटना का खुलासा आज शाम किए जाने की जानकारी दी है।
    ज्ञात हो कि पिथौरा के समीप किशनपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्वास्थ्य कर्मी एएनएम योगमाया साहू उसके पति चेतन एवम दो बच्चों की बुधवार रात हत्या कर दी गई थी। ग्रामीणों के मुताबिक बीती देर रात पुलिस ने किशनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के 100 मीटर के भीतर निवासरत एक 23 वर्षीय युवक धर्मेन्ध्र बरिहा पिता मेघनाथ को पूछताछ के लिए पिथौरा थाना लाया था।  पूछताछ में ही उसने हत्या का अपराध कबूल लिया। ग्रामीणों  के अनुसार आज  अलसुबह क्राइम ब्रांच की टीम आरोपी धर्मेंद्र को लेकर उसके घर पहुंची थी। निशानदेही पर  हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद कर जब्त किए गया।
    प्रत्यक्ष दर्शी ग्रामीणों के अनुसार आरोपी  के घर से हत्या में प्रयुक्त कत्तल के अलावा मृतक चेतन के कपड़े, 3 हजार रुपये, मंगलसूत्र एवं झुमका तथा एक लैपटॉप भी बरामद किया गया।
    6 हजार के लिए हत्या
    सूत्रों  के अनुसार मृतक चेतन साहू आरोपी की मजदूरी के 6 हजार रुपये  नहीं दे रहा था जिसके कारण अक्सर चेतन के बारे भला-बुरा बोलता रहता था। माना जा रहा है कि यही हत्या का कारण हो सकता है। आरोपी अपने परिवार के तीन भाईयों में सबसे बड़ा है। पूरा परिवार मजदूरी करता है।
     आरोपी पिथौरा की परचून दुकानों एवं गैरेज के ट्रक खाली करता था। ग्रामीणों ने पत्रकारों को आरोपी की एक पुरानी तस्वीर भी दी।
    आरोपी के घर के सामने भीड़ जुटी
    इधर गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही आरोपी  के घर के सामने सैकड़ों लोग जमा हो गए। पुलिस ने आरोपी के परिजनों को भी अपनी अभिरक्षा में ले लिया है। पिथौरा थाना को भी सील कर दिया गया है। भीतर किसी  को भी नहीं जाने दिया जा रहा है।
     आज शाम होगा खुलासा 
    एसपी संतोष सिंह के निर्देशन में इस सामूहिक अंधे कत्ल का खुलासा पुलिस ने मात्र 48 घंटे के भीतर कर दिया। पुलिस को कल ही सुराग हासिल हो गया था। चार टीमें बनाई गई थीं, इसका नेतृत्व सीएसपी संजय ध्रुव कर रहे थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार इसका पूरा खुलासा आज शाम एस पी महासमुंद द्वारा महासमुंद या पिथौरा में किया जाएगा। 

  •  

Posted Date : 31-May-2018
  • घटना पिथौरा किशनपुर के प्राथमिक उप स्वास्थ्य केंद्र की
    छत्तीसगढ़  संवाददाता
    पिथौरा, 31 मई। समीप के ग्राम किसनपुर में ग्राम की महिला स्वास्थ्य कर्मी के घर बीती रात अज्ञात लोगों ने घर घुसकर महिला स्वास्थ्य कर्मी, पति व उनके दो पुत्रों की निर्मम हत्या कर दी। सुबह काम करने वाली नौकरानी जब वहां पहुंची तब मामले की जानकारी मिली। पुलिस के मुताबिक पहली नजर में मामला लूट-हत्या का लगता है।
     जिला क्राइम ब्रांच की टीम,फोरेंसिक एक्सपर्ट सहित स्वयम एस पी महासमुंद घटना स्थल पहुंचकर जांच में जुट गए हंै। अब तक हत्या के कारणों का एवम हत्यारे का कोई सुराग नहीं मिला है।  इस घटना से पूरा गांव सकते में हैं।  
      मिली जानकारी के अनुसार किसनपुर ग्राम के मध्य स्थित प्राथमिक उप स्वास्थ्य केंद्र में ही एएनएम योगमाया साहू (30 वर्ष) पति चैतन्य साहू(35 वर्ष)  पुत्र तन्मय साहू (9 वर्ष),कुणाल साहू(6 वर्ष) के साथ रहती थी। आज सुबह जब काम करने वाली बाई त्यागी राणा पहुंची तो इन सबके का रक्त रंजित शव बिखरे पड़े देखा। उसने मितानिन हिरौंदी बाई साहू को इसकी जानकारी दी। इसके बाद  ग्राम सरपंच सुरेश खूंटे को बुलाया गया जिन्होंने पुलिस को जानकारी दी। 
    मृतकों के परिजनों एवम ग्रामीणों के अनुसार मृतक परिवार मूलत:कसडोल विकासखण्ड के ग्राम रीको कला का निवासी है। योगमाया के किसनपुर में ही एएनएम थी। पूरा परिवार अस्पताल परिसर में ही रहता था। 
     घटना कल रात संभवत: 2 बजे की बताई जा रही है। ग्रामीणों ने बताया कि रात में हवा एवम बिजली चमकने के साथ उस समय बारिश भी हो रही थी।  अस्पताल की ओर से कुछ चीख पुकार की आवाजें भी आसपास रहने वाले ग्रामीणों ने सुनी थी। अक्सर प्रसव के दौरान इस तरह की आवाजें आती रहती थीं इसलिए ग्रामीणों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। घर में आलमारी खुला हुआ था, कपड़े इधर उधर बिखरे पड़े थे जिससे लूट हत्या का अनुमान लगाया जा रहा है।

  •  

Posted Date : 29-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बागबाहरा, 29 मई। मंगलवार सुबह नगर के मुख्य मार्ग पर क्रेन की चपेट में 12 वर्षीय बालक की मौत हो गई। पुलिस ने क्रेन को जब्त कर लिया है। चालक फरार है।
    मिली जानकारी के अनुसार महासमुंद जिले के बागबाहरा नगर पालिका क्षेत्र में मंगलवार सुबह करीब साढ़े सात बजे गुरुनानक ऑटो के सामने एक क्रेन ने हर्ष पिता दिलीप गजेंद्र को अपनी चपेट में ले लिया। इससे उसकी कमर बुरी तरह से कुचल गई। घायल अवस्था में उसे बागबाहरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां प्राथमिक इलाज के बाद रायपुर रेफर कर दिया गया। 
     अस्पताल प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार रायपुर ले जाते समय हर्ष ने मंदिर हसौद के समीप दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद पुलिस ने क्रेन को जब्त कर लिया है। चालक मौके से फरार हो गया है।

     

  •  

Posted Date : 12-May-2018
  • छत्त्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 12 मई।  बीती रात में स्थानीय अम्बेडकर चौक स्थित श्रीराम किराया भंडार में  आग लग गई। इससे दुकान में रखे लाखों  का टेंट खाक हो गया। आग के कारणों का पता नहीं चल सका है। कैसे लगी, इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है।  
     प्राप्त जानकारी अनुसार कल 11 मई की देर रात अम्बेडकर चौक स्थित श्रीराम  किराया भंडार में आग लग गई। देखते ही देखते आग पूरे दूकान में फैल गई और  भीतर रखे पाल, परदे, गद्दे, प्लास्टिक के ड्रमों सहित अन्य सामान जल कर राख हो गये। आग लगते ही आसपास के लोगों में अफरा तफरी मच गई।  जब तब दमकल घटना स्थल पहुंचती तब तक दुकान में रखा सारा सामान जल कर खाक हो गया था। 
    गौरतलब है कि अम्बेडकर चौक स्थित नगर पालिका के 10 दूकान मौजूद हैं। समय रहते अगर आग को बुझाया नहीं जाता तो आसपास के दूकानों में आग लग जाती।  पुलिस का अंदाज है कि दूकान में सार्ट सर्किट से आग लगी होगी।  

  •  

Posted Date : 11-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 11 मई। स्थानीय  पुलिस ने आज दो लोगों को  हीरे के साथ गिरफ्तार किया है। आज शाम पुलिस इसका खुलासा करेगी। मिली जानकारी के अनुसार आरोपी खेमसिंग  निवासी खरसिया थाना देवभोग गरियाबंद  तथा नीलाधर उर्फ श्याम लाल  गांड़ा निवासी मोलामुड़ा, देवभोग गरियाबंद को 8 नग  हीरे के साथ पकड़ा है। इनके पास से हीरे परखने की मशीन भी बरामद किया गया है।   
     पुलिस के मुताबिक इन्होंने बताया कि महासमुन्द के कुछ लोगों ने इनसे हीरे की मांग की थी। उन्होंने हीरे की तलाश शुरू कर दी।  इनके पास ओडिशा का एक आदमी हीरा लेकर आया और उनसे हीरा लेकर ये महासमुन्द पहुंचे थे कि पुलिस के गिरफ्त में आ गये। बहरहाल दोनों से पूछताछ जारी है। पुलिस पता लगा रही है कि महासमुन्द में किसने इनसे हीरा मंगाया था और ओडिशा से इन्हें हीरा लाकर देने वाला कौन है? 

  •  

Posted Date : 10-May-2018
  • चोपड़ा ने सरकार पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 10 मर्ई। महासमुंद की सैकड़ों निराश्रित महिलाओं ने पेंशन बढ़ाने की मांग को लेकर गुरुवार को यहां धरना दिया। उन्होंने चेतावनी दी है कि मांग पूरी नहीं होने पर वे सभी दो अक्टूबर को दिल्ली जंतर-मंतर में पहुंचकर धरना-आंदोलन करेंगे। 
    महासमुंद विधायक विमल चोपड़ा ने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले चुनाव में निराश्रित, विधवा, परित्यागता, विकलांग आदि लोगों की पेंशन दोगुना करने का वादा किया था, पर उसमें सिर्फ 50 रुपये का इजाफा हुआ। जबकि दिल्ली समेत आसपास के राज्यों में लोगों को यह पेंशन दो से तीन हजार रुपये तक मिल रही हैं। छत्तीसगढ़ में यह पेंशन कम से कम एक हजार रुपये मासिक किया जाए। 
    उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि ये सभी गरीब महिलाएं महासमुंद शहर से बसों में आई हैं। उनके जैसे प्रदेश में करीब 20 लाख लोग पेंशन के हकदार हैं, लेकिन सरकार अपना वादा पूरा नहीं कर रही है। ऐसी स्थिति में वे सभी सरकार से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि बढ़ती महंगाई में पर्याप्त पेंशन नहीं मिलने से गरीब वर्ग के लाखों लोग परेशान हैं। 

  •  

Posted Date : 09-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 9 मई। आज घोषित 10 वीं कक्षा के परिणाम में महासमुन्द जिले के कुल चार बच्चों को टाप टेन में स्थान मिला है। इनमें से कोई टीचर बनकर,कोई इंजीनियर बनकर तो कोई डाक्टर बनकर देश में नाम कमाना चाहते हैं साथ-साथ समाज सेवा भी करना चाहते हैं। यहां यह बताना जरूरी है कि इन बच्चों की मां अपने अपने घरों में गृहणी हैं और इन बच्चों ने किसी भी तरह की कोचिंग नहीं की है। इनके माता-पिता इनकी सफलता से बेहद खुश हैं और इन बच्चों ने भी अपनी सफलता का श्रेय अपने मा-बाप के साथ गुरुजनों को भी दिया है। छत्तीसगढ़ के साथ उनकी बातचीत का अंश-
     स्पंदन भोई-मैडम मैं देश के साथ-साथ समाज की सेवा करना चाहता हूं। हमारे पीछे हमारे समाज और परिवार को बहुत सी अपेक्षाएं हैं। पापा का नाम विद्याचरण और मा का नाम संयुक्ता है। मेरी एक बड़ी बहन है, लिष्टा। अभी वे बीएससी कर रही हैं। मेरी मां हालांकि गृहणी है लेकिन उन्होंने एमबीए किया है और पापा एडवोकेट हैं। मेरी सफलता का श्रेय परिवार और स्कूल पैकिन को जाता है। 
     मानस पटेल-अर्जुन्दा हाई स्कूल का छात्र है और इस वक्त कोटा में अपने बड़े भाई बहनों के साथ रहकर आगे की तैयारी कर रहा है। बड़ा भाई पद्मन भी कोटा में मानस के साथ आईआईटी की तैयारी कर रहा है। पिताजी का नाम गोकुल पटेल और मां का नाम भगवती पटेल हैं और दोनों गांव में रहकर खेती बाड़ी करते हैं। जबकि बड़ी दीदी भाग्यश्री और चोटी दीदी शृष्टी भी कोटा में ही रहकर पढ़ाई कर रही हैं। मानस कहता है-मेरा मन कहता है कि इंजीनियर बनकर देश में कोई ऐसा काम करूं जिसकी दुनिया में पहचान हो। 
     दिनेश भोई-महासमुन्द के पिरदा स्कूल का दिनेश भोई यह नहीं जानता था कि लगातार मेहनत से इतनी ऊंचाई तक पहुंच जायेगा। रिजल्ट आया तो पता चला कि मेहनत जरूर अपना रंग लाती है। बिना कोई कोचिंग दिनेश ने 10 वीं टाप टेन में स्थान बनाया। गांव वालों का उनके घर में तांता लगा है बधाईंयां देने। दिनेश की मां का नाम केछुआरी भोई और पिता का नाम धर्मराज भोई है। बड़ा भाई रूपेश कक्षा बारहवीं का छात्र है और आज उसका भी रिजल्ट आया है। किसान माता-पिता के इस लाडले को पूरा गांव बधाई दे रहा है। जब छत्तीसगढ़ ने उन्हें मंजिल के बारे  में पूछा तो उन्होंने कहा-मैडम, मैं शिक्षक बनूंगा और बच्चों को दुनिया की ऊंचाईयों को छूने का हुनर बताऊंगा। 

    आईएएस बनना चाहता है भूपेन्द्र
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बागबाहरा, 9 मई। छत्तीसगढ़ बोर्ड 10वीं की परीक्षा में टॉप टेन में आकर भूपेंद्र ध्रुव ने अपने माता पिता के साथ बागबाहरा और अपने स्कूल सरस्वती शिशु मंदिर का नाम रोशन कर दिया है। भूपेंद्र ध्रुव वरीयता सूची में 96.33 फीसदी अंक अर्जित कर दसवें स्थान पर हैं। भूपेंद्र का कहना है कि परीक्षा के लिए उन्होंने प्रतिदिन 6 से 8 घंटे तक पढ़ाई की। इसके साथ ही वे अपनी सफलता का श्रेय  गुरुजनों, माता पिता व अपनी बड़ी बहन मेघा को देते हैं। 
    भूपेंद्र आईएएस  बनना चाहता है, भूपेंद्र का प्रिय विषय गणित है और वे शुरू से मेधावी हैं। भूपेंद्र के पिता भंगिराम ध्रुव खल्लारी के पटवारी हैं। उनका कहना है कि बेटे ने उनका नाम रोशन कर दिया। भंगी राम  ध्रुव का कहना है कि भूपेन्द्र को और थोड़ा सहयोग की आवश्यकता है। आगामी परीक्षाओं में और अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

  •  

Posted Date : 02-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    पिथौरा,2 मई।  सांकरा थाना अंतर्गत छोटेलोरम ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम डोंगरीपाली में बीती रात मोबाइल फटने से घर में आग लग गई। बाहर सोने के कारण परिवार बाल-बाल बचा।
    पिथौरा से 20 किमी दूर सांकरा थानान्तर्गत  ग्राम डोंगरीपाली निवासी मोहरसाय पटेल के घर में चार्जिंग हेतु लगाया गया माइक्रोमैक्स मोबाइल देर रात फट गया। जिससे घर के पलंग सहित अन्य घरेलू सामानों में आग लग गई।  मिली जानकारी के अनुसार कल देर शाम  आए आंधी तूफान के कारण ग्राम डोंगरीपाली में बिजली बंद रहने के कारण मोहर साय का पूरा परिवार घर के बाहर सोया हुआ था। मोबाइल घर के अंदर पलंग में रखा हुआ था। तभी मध्यरात्रि अचानक घर के अंदर से किसी बम जैसे विस्फोट होने की आवाज आई। पूरा परिवार घर के अंदर भागा। अंदर देखा तो मोबाइल के साथ बिस्तर और अन्य घरेलू सामान में आग लगी थी। 
    माना जा रहा है कि बिजली बंद होने के कारण मोबाइल चार्जिंग में लगाकर पूरा परिवार बाहर सो रहा था। इस बीच बिजली आने से प्रारम्भिक हाई वोल्टेज के कारण ही मोबाइल में विस्फोट हुआ होगा।

  •  

Posted Date : 18-Apr-2018
  • मोबाइल ऐप से स्केन करने पर  कंट्रोल यूनिट का कोड बदला 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    महासमुन्द, 18 अप्रैल। आज भौतिक सत्यापन के दौरान ईवीएम में गड़बड़ीसामने आई है। कांग्रेस के प्रतिनिधियों ने आपत्ति दर्ज कराई है कि ईवीएम कंट्रोल यूनिट का कोड बार का मोबाइल ऐप से स्केन पर उसने तत्काल अपना कोड बार बदल दिया। 
     आज जिला कार्यालय में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि ईवीएम के भौतिक सत्यापन के लिए बतौर गवाह बुलाये गये थे। जब सत्यापन का दौर शुरू हुआ तो कक्ष में कांग्रेस  प्रतिनिधि पार्षद नानू भाई, एडवोकेट नरेन्द्र दुबे, एडवोकेट भरत ठाकुर भी वहां उपस्थित थे। संविदा कलेक्टर शिव कुमार तिवारी और अपर कलेक्टर श्री ध्रुव सत्यापन के लिए ड्यूटी में लगे थे। 
    इस दौरान कंट्रोल यूनिट सी यू एस 2 पोस्ट 2006 की जिस ईवीएम  को 18 अप्रैल 2018  को ईटीएस साफ्टवेयर के जरिये वेरीफाई किया गया था, ने अपनी आईडी एन कोड बदलकर जे कर दिया। इस मशीन ने आईडी ही नहीं वर्ष भी बदल दिया। जबकि बाक्स नम्बर, ईसीआईएल तथा स्टेटस ज्यों का त्यों था। 
    सत्यापन के समय ईवीएम कंट्रोल युनिट क्रमांक मैनुअल जी 00795 अंकित था। इस कोड बार का मोबाईल एप से स्केन करने पर एन 00 795 अंकित हुआ। जिसका प्रिंट सूची में भी यही नंबर है। 
    कांग्रेस का आरोप है कि पेज संख्या भी अंकित नहीं था लेकिन पेज नंबर अंकित कर करवाने के बाद सत्यापन कराया गया। 
    इसकी खबर मिलते ही जिला अध्यक्ष आलोक चंद्रकार, पूर्व विधायक अग्नि चंद्राकर तथा वरिष्ठ कांग्रेस नेता दाऊलाल चंद्रकार भी कलेक्टोरेट पहुंचे थे। इनके पहुंचने के बाद कांग्रेसियों ने कलेक्टोरेट में ही  प्रदर्शन शुरू कर दिया। इन्हें  कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। 

  •  

Posted Date : 15-Apr-2018

  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बसना, 15 अप्रैल। मप्र निवासी  ब्राह्मण युवक ने दलित बनकर दलित युवती से शादी कर ली।  शादी के बाद जब वह दुलहन को लेकर अपने गृहग्राम निकला तो बात खुल गई। लड़की के पिता व समाज के लोग थाने पहुंचे। अब आरोपी दूल्हा, उसके दोस्त समेत शादी में मध्यस्थता करने वाले 3 लोगों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। मामला बसना थाने का है।  
    मिली जानकारी के अनुसार मप्र विदिशा निवासी जितेन्द्र कुमार हार्वेस्टर चालक अक्सर सरायपाली आता जाता था। इस दौरान उसका परिचय सरायपाली पतेरापाली निवासी ट्रक चालक उपेन्द्र पुरी से हुआ। बातों बातों में उसने शादी न हो पाने की बात कही तो उपेन्द्र ने रिश्ता ठीक करने की बात कही।  उपेन्द्र ने अपने दोस्त दुर्गापाली निवासी पूर्व सरपंच महेन्द्र प्रधान और भालूपतेरा निवासी गंगाराम से मिलवाया और लड़की ठीक करने की बात कही। इन तीनों ने इसके एवज में 1 लाख रुपये लिए।
    इन तीनों ने बसना थाना अंतर्गत गांव के एक गरीब दलित परिवार से संपर्क किया। लड़की के पिता को अपने झांसे में लिया कि तुम्हारी जात बिरादरी का कमाऊ लड़का है। अपनी लड़की की शादी इससे करा दो तो अच्छे से रहेगी। उन्होंने शादी में मदद की बात कही। उनके झांसे में आकर लड़की का पिता राजी हो गया तो 25 हजार रुपये का सामान भी उसे दिला दिया।
    (बाकी पेजï 5 पर)
    इन तीनों ने  दिखावे के लिए शादी का कार्ड भी छपवा दिया। 11 अप्रैल को उसकी शादी हुई और वह 12 अप्रैल को अपनी दूल्हन  को लेकर विदिशा जा रहा ता। इसी दौरान समाज के अध्यक्ष ने अनजान बाहरी युवक से शादी करने पर दूल्हन के पिता से पूछताछ की फिर दूल्हे से भी जब पूछताछ करने लगा तो वह भागने लगा। ग्रामीणों ने दूल्हे और उसके साथी को पकड़ा  और सीधे एसीडीएम के पास ले आए। 
    आरोपी दूल्हे ने एसडीएम के सामने शादी के एवज में उपेन्द्र, महेन्द्र और गंगाराम को एक लाख रुपये देने की बात कही। उसका कहना था कि शादी कार्ड भी इन्होंने छपवाए थे।  बहरहाल पुलिस ने आरोपी दूल्हे, उसके दोस्त और शादी करवाने वाले तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

  •  



Previous1234Next