छत्तीसगढ़ » बलोदा बाजार

Previous123456Next
Date : 01-Apr-2020

पत्नी-बेटी पर कुल्हाड़ी से हमला, पत्नी की मौत, बेटी गंभीर, पंच गिरफ्तार 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भाटापारा/ कसडोल, 1 अप्रैल।
बलौदाबाजार जिला क्षेत्रान्तर्गत भाटापारा ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम लेवई में पंच ने घरेलू आपसी विवाद के चलते अपनी पत्नी तथा पुत्री पर धारदार कुल्हाड़ी से प्राण घातक हमला कर दिया। उपचार के दरम्यान पत्नी की मौत हो गई, वहीं पुत्री की  हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। आरोपी पति को पुलिस गिरफ्तार कर लिया है।

ग्राम लेवई में पंच छेदीलाल ध्रुव का कल शाम को पत्नी सुशीला व बेटी नाबालिग से किसी सामान्य बात पर विवाद हो गया। आरोपी ने पास मे रखे कुल्हाडी से पत्नी व बेटी पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया जिससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। गांव वालों ने मदद कर उसे शासकीय अस्पताल पहुंचाया, जहां सुशीला की मौत हो गई वहीं बेटी गंभीर रूप से घायल है। आरोपी के दो बेटे है जिनकी उम्र 16 व 14 वर्ष है,  जिसमें एक बेटे ने गांव के कुछ प्रमुख लोगों को जानकारी दी। जिस पर ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़ कर रखा था और रात भर ग्रामीणों ने आरोपी की चौकीदारी की। सुबह पुलिस के पहुंचने के बाद आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया गया।

 ग्रामवासी व आरोपी के परिजन बताते है कि आरोपी पंच छेदीलाल ध्रुव मनोरोगी है। पंचायत चुनाव के दरम्यिान भी वह अपने हाथ में आग लगा लिया था जिसे काफी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने आग बुझाया था, जो उपचार के बाद ठीक हो गया। आरोपी छेदीलाल को हमेशा यह लगता था कि उसे कोई मारने आ रहा है। घटना के दिन भी उसके एक बेटे ने थाना प्रभारी अंकिता शर्मा प्रशिक्षु आईपीएस पुलिस को दिये प्रारंभिक बयान में बताया है कि आरोपी को ऐसा लग रहा था कि उसकी बेटी व पत्नी उसे मारने आ रही है और शायद इसी मनोरोग के कारण घटना घटित हुई।

थाना प्रभारी अंकिता शर्मा ने बताया कि आरोपी छेदीलाल ध्रुव (45 वर्ष) कुछ समय से अपना मानसिक संतुलन को बैठा है। घटना के दिन 30 मार्च को शाम करीब 5 बजे पत्नी सुशीला (35) के साथ मामूली बात पर झगड़ा कर लिया। इस दरम्यान आरोपी की पुत्री ने बीच बचाव किया। जिससे तैश में आकर घर में रखे टंगिया  से दोनों पर वार कर दिया। बताया गया है कि घटना के तुरंत बाद गम्भीर दोनों माता पुत्री को रायपुर रिफर किया गया था। जहां उपचार के दरम्यान सुशीला की 31 मार्च को मौत हो गई, वही दूसरी परमेश्वरी की हालत गंभीर बनी हुई है । 

 


Date : 01-Apr-2020

अधिक दर पर बेच रहे थे तेल, दो दुकानों पर जुर्माना

भाटापारा, 1 अप्रैल। एसडीएम व तहसीलदार के निर्देश पर नगर पालिका द्वारा सदर बाजार स्थित थोक तेल, गुड़ व्यापारी के दुकान में अधिक दर पर तेल बेचे जाने पर छापा मारते हुए पांच हजार रूपये का जुर्माना लगाया है। एक टिन तेल व्यापारी द्वारा 15 सौ रूपये में विक्रय किया जा रहा था जिसकी सूचना मिलने पर उक्त कार्रवाई की गई है, वहीं सदर बाजार स्थित एक डेली नीडस की दुकान से लगभग 57 पैकेट सिगरेट जब्त किया गया है। उक्त कार्रवाई में नगर पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक रविन्द्र शुक्ला एवं कर्मचारी कन्हैया ठाकुर शामिल थे।


Date : 01-Apr-2020

विधायक ने किया अस्पताल का निरीक्षण

सरसींवा, 1 अप्रैल। कोरोना वायरस के चलते बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव राय लगातार क्षेत्र के अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं। आज श्री राय बिलाईगढ़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर मरीजों का हाल चाल पूछा और कहा कि किसी भी तरह की क्षेत्रवासियों को समस्या होती है तो मुझे अवगत कराएं।

आज स्वास्थ्य केंद्र बिलाईगढ़ में निरीक्षण के दौरान विधायक ने डॉक्टरों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे विधानसभा में अभी तक कोरोना पॉजिटिव केस एक भी नहीं है ये हमारे विधानसभा के जनता के सक्रियता के कारण है। आम जन से पुन: आग्रह है आप सभी शासन के निर्देशों का पालन करें और किसी भी तरह की असुविधा हो तो हमें अवगत कराएं। स्वयं सुरक्षित रहे और अपने आसपास के लोगों को भी सुरक्षित रखे। बाहर में फंसे हमारे विधानसभा के लोगों की हर संभव मदद की जाएगी। आप सब भी जो बाहर से परिजन आते हैं उनका स्वास्थ्य केंद्रों में पहुंच कर टेस्ट कराएं।

इस दौरान द्वारिका देवांगन अध्यक्ष नगर पंचायत बिलाईगढ़, ताराचंद देवांगन अध्यक्ष ब्लाक कांग्रेस कमेटी सरसीवां,  पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष युशूफ उपस्थित रहे।


Date : 01-Apr-2020

लॉकडाउन में पुलिस कर रही जरूरतमंदों की मदद, राशन बांटे

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भाटापारा, 1 अप्रैल।
कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए केंद्र व राज्य सरकार सरकारों द्वारा दिए जा रहे आदेशों का नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र की पुलिस मुस्तैदी के साथ पालन करवाने में लगी है। प्रशासन की ओर से एसडीएम महेश राजपूत व तहसीलदार प्रवीण तिवारी लगातार लॉकडाउन का पालन करवा रहे है साथ ही जरूरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचे, इसके लिए समाज सेवी संस्थाओं को भी प्रेरित कर रहे हैं।

ग्रामीण क्षेत्र की कमान प्रशिक्षु आईपीएस अंकिता शर्मा संभाल रही हंै, वहीं शहर को थाना प्रभारी महेश ध्रुव सम्हाल रहे हैं। ग्रामीण थाने में 110 ग्रामों तथा शहर में सतत पेट्रोलिंग चलाई जा रही है तथा पटपर, अर्जुनी एवं सेमरिया घाट रोड में तीन प्रमुख केंद्र बनाए गए हैं। सेमरिया घाट की सीमा बेमेतरा जिले से लगती है जिसे पूरी तरह से सील कर दिया गया है। वहां अधिकांश समय प्रशिक्षु आईपीएस स्वयं अपने पुलिस बल के साथ रहती हैं। 

शहर थाना प्रभारी महेश ध्रुव ने भी बस स्टैंड, फौवारा चौक, नाका नंबर 1, रेल्वे स्टेशन एवं पटपर नाका अन्य मार्ग सहित प्रमुख स्थानों पर अपने पुलिस बल तैनात किये है। बाइक एवं चार पहिया वाहनों से सतत पेट्रोलिंग की जा रही है। इस दौरान लोगों से घरों में ही रहने की अपील भी कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त पुलिस अधिकारी जरूरतमंदों को भोजन भी उपलब्ध करा रहे हैं। 

प्रशिक्षु आईपीएस अंकिता शर्मा ने सेमरिया गांव के मजदूर जो कि कर्नाटक से आए हुए थे उनको भोजन सामग्री बांटी वहीं शहर प्रभारी महेश ध्रुव देवारपारा, शांति नगर एवं सेंट मेरी स्कूल कॉलोनी में भोजन के पैकेट अपने साथियों के साथ बंटवा रहे है, वहीं एसडीओपी के बी द्विवेदी लगातार समीक्षा करते हुए पुलिसिंग को बेहतर बनाने प्रयास कर रहे हैं।


Date : 01-Apr-2020

एसडीएम ने व्यापारियों की ली बैठक, खाद्य पदार्थों के मूल्य पर की चर्चा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भाटापारा, 1 अप्रैल।
एसडीएम महेश राजपूत व तहसीलदार प्रवीण तिवारी तथा एसडीओपी केबी द्विवेदी ने थोक किराना व्यापारी संघ एवं चिल्हर किराना व्यापारी संघ तथा थोक सब्जी विक्रेता संघ की एक बैठक ली। 

बैठक में लगातार मिल रही शिकायत काला बाजारी के विषय में बताया गया और खाद्य पदार्थों के मूल्य सुनिश्चित करने निर्देश दिये गए। बैठक में व्यापारियों को आ रही शिकायतों पर प्रशासन द्वारा हर संभव मदद का भरोसा दिलाया गया। व्यापारियों ने बताया कि वर्तमान मे परिवहन से लेकर मजदूरों के दर बढ़े हुये हैं, जिसके कारण दरों में उतार चढ़ाव आया है दो तीन दिनों में परिवहन की व्यवस्था सुचारू रूप से प्रारंभ होने पर स्थिति सामान्य होगी।

एसडीएम ने व्यापारियों से अपील की कि हरसंभव इस आपात स्थिति में सहयोग करें ताकि आम जनता को उचित दर पर खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो सके।  लॉकडाउन से उत्पन्न हालात में आम जनता को कोई तकलीफ  न हो इसके लिए प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है, वहीं एसडीएम महेश राजपूत ने बताया कि किसानों की समस्याओं के समाधान के लिये हेल्प लाइन नम्बर जारी किया गया है। किसान जिला स्तरीय हेल्प लाइन नम्बर 07727-222054 से सम्पर्क कर अपनी समस्या का निदान पा सकते हैं।

 उन्होंने बताया कि लॉक डाउन के बावजूद पशुचारा, बीज, कीटनाशक और उर्वरक की दुकानें खुली रहेंगी। जिला प्रशासन द्वारा उपरोक्त दुकानों को प्रतिबंध से मुक्त घोषित कर दिया गया है। 

उन्होंने सभी दुकानदारों को सवेरे 8 से शाम 4 बजे तक खोलने के निर्देश दिए हैं। दुकानदार अपने दुकान में आने वाले ग्राहकों के लिये सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।


Date : 31-Mar-2020

बेमौसम बारिश से नदी में पानी बढ़ा पाल कछार फसल बर्बाद, सैकड़ों किसानों को लाखों का नुकसान

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कसडोल, 31 मार्च। बेमौसम बारिश से नदी में पानी की धार बढ़ जाने से क्षेत्र के सैकड़ों किसानों की पाल कछार फसल बर्बाद हो गई है। जिससे उनको लाखों का नुकसान हुआ है।

पिछले माह अंतिम सप्ताह बेमौसम बारिश लगातार 3 से 4 दिनों तक होने की वजह से जोंक एवं महानदी में धार बढ़ गई, जिससे नदी पाल कछार की फसल जिसमें साग सब्जी के अलावा ककड़ी, तरबूज, खरबूज की क्षेत्र के सैकड़ों किसान खेती किए हुए थे, बुरी तरह प्रभावित हो गया है। खासकर तरबूज और खरबूज जो 15 दिनों बाद बाजार में उतरने वाला था, बर्बाद हो गया है। बचाखुचा फसल को कड़ी मशक्कत के बाद किसान सहेज कर कमाई तो दूर मूल की आस लिए बैठे थे कि कोरोना की लॉकडाउन नें मंसूबों पर पानी फेर दिया, जिससे किसानों को काफी नुकसान हुआ है।

कसडोल विकास खण्ड और विधान सभा क्षेत्र में प्रभावित बलदाकछार, अर्जुनी, पीपरछेड़ी, दौनाझर, घिरघोल, पीपरछेड़ी, पुटपुरा, नन्दनिया, परसदा, बोरसी, नवापारा, नारायणपुर, हरदी, सिंघारी, परसापाली, डोंगरीडीह, दर्रा, चांटीपाली, लाटा सिरिया डीह, मोहतरा, चिचपोल, सोनाईडीह, मुडिय़ाडीह, सिनोंधा, छेछर भद्रा, मलदा, मडक़डा, थरहीडीह सहित पलारी ब्लॉक के कुछ ग्रामों के सैकड़ों लोग महानदी पाल कछार खेती नुकसान से प्रभावित हुए हैं। इसी तरह जोंक नदी के किनारे के टिपरूंग,  कोट, मोतीपुर, रामपुर, खैरा झबड़ी, धमलपुर, हसुवा, बलौदा आदि कई गांव के सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं। तरबूज खरबूज ककड़ी के साथ साथ नदी के भीतर प्याज, गोभी, बरबट्टी, लौकी, तरोई, आलू, करेला आदि कई प्रकार के सब्जी की खेती किए हुए हैं, जो नदी में पानी की धार बढ़ जाने से भारी नुकसान हुआ है ।

लॉकडाउन से परिवहन और खरीददार की कमी

जोंक एवं महानदी पाल कछार में साग सब्जियों, तरबूज, खरबूज की सैकड़ों किसानों ने खेती की हैं। बेमौसम वर्षा , ओला आंधी तूफान से बर्बादी के बाद किसी तरह फसल बचा भी था उसे बाजार में बेचकर कमाई तो दूर मूल वसूल होने की उम्मीद में थे, किंतु ऐन वक्त पर कोरोना की मार ने किसानों की मंसूबों पर पानी फेर दिया है। कोरोना की मार से खरीददार नहीं पहुंच रहे हैं। कहा जा रहा है मार्केट नहीं है । स्थानीय स्तर पर हाट बाजार बंद होने, घरों में लोगों के बंद रहने से खरीददार भी नहीं मिल रहे हैं। परिणामस्वरूप बाड़ी में ही खासकर तरबूज सड़ रहे हैं, जिससे किसान मायूस हो गए हैं। इस विषम परिस्थिति में किसानों के समक्ष परिवार का गुजर बसर की चिंता और कर्ज का बोझ लद गया है।

पाल कछार किसानों का कहना है कि राजस्व पटवारियों द्वारा रबी फसल धान गेहूं का सर्वे कर मुआवजा प्रकरण तैयार किया है, किंतु पाल कछार की बर्बादी को सर्वेक्षण तो दूर देखकर भी मुंह मोड़ लिया है। पीडि़त किसान शिवचरण जायसवाल, दिलहरण जायसवाल ने बताया कि ठकुरदिया में 7 एकड़ में खेती किया है। गणेशराम जायसवाल, फिरत साहू ,लेखराम साहू ,हेतराम पटेल,सीता राम पटेल आदि अनेकों किसान कोई 2 एकड़, कोई 3 एकड़ में तरबूज की खेती किए हैं। जिनका तैयार फसल नदी पाल कछार में पड़ा सड़ रहा है।

ग्राम बोरसी में खेती किए कृषक समुंद राम साहू, चन्दराम यादव, भीमसिंह जायसवाल आदि तथा ग्राम पहनदा के किसान बलदाऊ जायसवाल, अच्छेलाल पटेल, गोरेलाल पटेल, राजेश्वर पटेल, धनीराम साहू आदि अनेक किसानों ने बताया है कि फसल क्षति पालकछार का सर्वे वंचित कर शासन प्रशासन नें गरीब किसानों के साथ सौतेला व्यवहार किया है। क्षेत्र के उक्त गांवों के सभी सैकड़ों किसान नदी पालकछार से पीडि़त हैं, जो मुआवजा के अभाव में आर्थिक संकट से पीडि़त हैं। पता चला है कि अधिकांश ग्रामों के किसानों ने ग्रामीण सहमति से खेती किए हैं जिन्हें पट्टा नहीं मिला है, किन्तु हुई क्षति से इंकार तो नहीं किया जा सकता है।

एसडीएम कसडोल टीसी अग्रवाल का कहना है कि पालकछार किसानों को फसल बेचने की छूट है। वे कहीं भी ले जाकर तरबूज बेच सकते हैं, किंतु लॉक डाउन के प्रभाव से इंकार नहीं है।

एसएल सिन्हा तहसीलदार कसडोल का कहना है कि पालकछार तरबूज के क्षति की शिकायत है। जिसके सर्वे का पटवारियों को निर्देश दे दिया गया है, किंतु पट्टा धारी किसानों को ही लाभ मिल पाएगा।

 


Date : 31-Mar-2020

लॉकडाउन को सफल बनाने ग्रामीण अंचलों में की जा रही नाकेबंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कसडोल, 31 मार्च। लॉकडाउन का नगर सहित ग्रामीण अंचल में जनता स्वत: जागरूक होने से सफलता मिल रही है। नगर कसडोल में सीएमओ आरसी तिवारी द्वारा लगातार लाऊडस्पीकर से लोगों को बगैर जरूरी काम के घर से नहीं निकलने का आदेश प्रसारित कर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। प्रशासनिक अधिकारी एसडीएम टीसी अग्रवाल, तहसीलदार एसएल सिन्हा, टीआई दीनबन्धु उईके द्वारा संयुक्त रूप से अथवा अलग-अलग टीमों में क्षेत्र का लगातार जायजा लिया जा रहा है।

जरूरी सामानों की कमी नहीं

लॉक डाऊन में खाद्य सामानों की दुकानों, किराना फल साग सब्जियों, मेडिकल, अस्पताल, बैंक, पेट्रोल पंप आदि को छूट दिया गया है। लॉकडाउन के परिपालन में भीड़ को कंट्रोल तथा दूरी बनाए रखने नगर सहित हाट बाजारों तथा हटरियों को नगर, गांव सभी जगह बंद कर दिया गया है, किंतु जगह जगह बिरले साग सब्जी की दुकानें लगवाई जा रही है। लोगों को इसकी कमी नहीं हो रही है। सब्जी बिक्रेताओं को दूरी बनाए रखने कहा गया है। इसी तरह किराना दुकानों राशन दुकानों को सुबह 8 से 4 बजे शाम तक खोलने के निर्देश के साथ साथ जरूरत मन्दों को निश्चित समय से अवगत करा दिया गया है। शाम 4 बजे के बाद पूरी गलियां तथा मुख्य मार्किट सूनसान हो रहा है तथा लोग घरों में रहने लगे हैं ।

महंगाई पर भी लगाया गया है अंकुश

प्रशासनिक अधिकारियों को लगातार महंगाई की शिकायतें मिलने पर कारोबारियों पर अंकुश लगाया गया है, जिससे साग सब्जी पूर्व की भांति सही रेट पर बेचा जा रहा है। सबसे ज्यादा शिकायत किराना दुकानों में महंगी दरों पर बेचकर समय का फायदा उठनें की थीं। जिला कलेक्टर बलौदाबाजार कार्तिकेय गोयल के निर्देश पर छापामार कार्रवाई करते हुए तहसीलदार एसएल सिन्हा द्वारा ग्राम कटगी में 3 दुकानों से जुर्माना करते हुए रिया किराना दुकान को सील कर दिया जाने की बात कही है। इसी तरह एसडीएम कसडोल टीसी अग्रवाल की अध्यक्षता में कसडोल किराना व्यापारी संघ की सोमवार को आवश्यक बैठक लेकर सही दाम में बेचने तथा उल्लंघन पाए जाने पर आपराधिक मामला दर्ज करनें की जानकारी दी गई है। उक्त अवसर पर तहसीलदार एसएल सिन्हा, थाना प्रभारी आदि उपस्थित थे।

ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन प्रारंभ से ही सफल

कसडोल तहसील क्षेत्र में 2 नगर पंचायत कसडोल एवं टुंड्रा सहित 117 ग्राम पंचायतें हैं। ग्रामीणों में कोरोना वायरस को लेकर जबरदस्त जागरूकता आई है। कई ग्रामों में गांव प्रवेश पर अन्य लोगों का प्रतिबंध लगा दिया गया है जो रास्तों के अवरोध कर ड्यूटी करते देखे गए हैं। बार नवापारा के 30 गांव अभ्यारण्य वन परिक्षेत्र में बाहरी व्यक्तियों के फिजूल प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इतना ही नहीं कमाने खाने के लिए अन्य प्रांतों शहरी इलाकों में गए स्थानीय लोगों को भी बगैर जांच कराए प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। जिन्हें गांव के बाहर ही रोककर पुलिस थाना तथा प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना दी जा रही है। पुलिस अधीक्षक बलौदाबाजार प्रशांत कुमार ठाकुर के निर्देश पर लॉक डाऊन को सफल बनाने कसडोल सहित बया,राजा देवरी,सोनाखान,गिरौदपुरी, गिधौरी(टुंड्रा,),लवन सहित पुलिस विभाग अपने अपने क्षेत्र में  टीम बनाकर पूरे क्षेत्र में अहम भूमिका निभा रही है।

 


Date : 31-Mar-2020

45 लीटर कच्ची शराब समेत आरोपी गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ संवाददाता

कसडोल, 31 मार्च। अवैध रूप से महुआ शराब बनाकर बेचने वाले आरोपी को सरसींवा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के कब्जे से 45 लीटर कच्ची महुआ शराब बरामद किया गया। कार्रवाई के दौरान अवैध रूप से महुआ शराब बनाकर खेत में जमीन अंदर छुपाकर रखे करीब 155 लीटर शराब को जब्त किया गया। महुआ पास करीब 10 क्विंटल को नष्ट किया गया।

ग्राम छिरचुआ सबरिया डेरा में भारी मात्रा में अवैध रूप से महुआ शराब बनाकर रखने एवं विक्रय करने की सूचना मिली। जिस पर थाना प्रभारी सरसींवा आर.एस. सिंह ने टीम गठित कर छापा मारा। यहां आरोपी फगनुराम गोड़ छिरचुआ द्वारा अपने घर बाड़ी में एक नीले रंग की 50 लीटर क्षमता वाली प्लास्टिक ड्रम में छिपाकर रखे करीब 45 लीटर हाथ भ_ी कच्ची महुआ शराब  कीमती  4500/- रुपए को जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है।

कार्रवाई के दौरान सबरिया डेरा के लोगों द्वारा अवैध रूप से महुआ शराब बनाने हेतु खेत/नाला में छिपाकर रखें करीबन 10 क्विंटल महुआ पास को जब्त कर नष्ट किया गया तथा लावारिस हालत में खेत में जमीन अंदर छिपाकर रखे करीब 150 लीटर हाथ भट्टी कच्ची महुआ शराब को जब्त किया गया है।


Date : 31-Mar-2020

लॉकडाउन के दौरान भारी मात्रा में महुआ शराब जब्त, महुआ पास नष्ट किया 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

टुण्डरा/गिधौरी, 31 मार्च। थाना गिधौरी टुण्ड्रा द्वारा लॉकडाउन के दौरान भारी मात्रा में महुआ शराब जप्त एवं महुआ पास नष्ट किया गया। पुलिस अधीक्षक बलौदा बाजार प्रशांत ठाकुर के निर्देशानुसार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलौदा बाजार निवेदिता पाल, एसडीओपी बिलाईगढ़ संजय तिवारी के मार्गनिर्देशन में थाना क्षेत्रों में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन हेतु निर्देशित किया गया है। इसी तारतम्य में थाना प्रभारी गिधौरी टुण्ड्रा उप.निरीक्षक ओम प्रकाश त्रिपाठी  के नेतृत्व में वरिष्ठ अधिकारियों  के आदेश का कड़ाई से पालन हेतु लगातार थाना क्षेत्र के सभी ग्रामों में सघन पेट्रोलिंग कर रहे थे कि मुखबीर से सूचना मिली कि ग्राम बलौदा के सबरियाडेरा कुछ लोग शराब बना रहे हैं।

थाना प्रभारी द्वारा सूचना को वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराकर थाना स्टाफ के ग्राम बलौदा से सबरियाडेरा में छापा मारा गया। पुलिस के आने की भनक लगने से शराब बनाने वाले लोग भाग गए। यहां से लावारिस हालत में करीब 150 लीटर कच्ची महुआ शराब तथा शराब बनाने में उपयोग में लाने वाले बर्तन एवं अन्य सामान जब्त किये एवं करीबन 11 से 12 क्विंटल महुआ पास को भारी मात्रा में नष्ट किया।

 

 


Date : 31-Mar-2020

अधिक दर पर बेच रहे थे तेल, दो दुकानों पर जुर्माना

छत्तीसगढ़ संवाददाता

भाटापारा, 31 मार्च। एसडीएम व तहसीलदार के निर्देश पर नगर पालिका द्वारा सदर बाजार स्थित थोक तेल, गुड़ व्यापारी के दुकान में अधिक दर पर तेल बेचे जाने पर छापा मारते हुए पांच हजार रूपये का जुर्माना लगाया है। एक टिन तेल व्यापारी द्वारा 15 सौ रूपये में विक्रय किया जा रहा था जिसकी सूचना मिलने पर उक्त कार्रवाई की गई है, वहीं सदर बाजार स्थित एक डेली नीडस की दुकान से लगभग 57 पैकेट सिगरेट जब्त किया गया है। उक्त कार्रवाई में नगर पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक रविन्द्र शुक्ला एवं कर्मचारी कन्हैया ठाकुर शामिल थे।


Date : 31-Mar-2020

महाराष्ट्र से मजदूरों को झारखंड ले जाते पुलिस ने रोका

छत्तीसगढ़ संवाददाता

भाटापारा, 31 मार्च। महाराष्ट्र से मजदूरों को झारखंड ले जाते पुलिस ने रोका। आरोपी चालक के विरूद्ध कार्रवाई की गई। सभी को क्वारंटाइन पर रखकर  आवास भोजन की व्यवस्था की गई।

नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के गंभीरता को देखते हुये शहर थाना निरीक्षक महेश कुमार ध्रुव के नेतृत्व में शहर क्षेत्र में आने जाने वाले की निगरानी एवं कानून व्यवस्था हेत चौक-चौराहे पर बल तैनात कर सतत निगाह रखी गई। इसी दौरान विकास कुमार यादव झारखंड ने अपने वाहन क्रमांक  एमएच 04 जेयू 1894 में लगभग 19 व्यक्ति को बैठाकर महाराष्ट्र मुबंई से झारखंड के विभिन्न जिलों में छोडऩे के लिए ले जा रहा था। आरोपी के विरूद्ध धारा 188 भादवि और महामारी अधनियम 1897 की धारा 03 के तहत कार्रवाई की गई। उसे सख्त से सख्त निर्देश देकर होम क्वारंटाइन पर रखा गया है। उक्त घटना की सूचना श्रम विभाग को सूचना दी गई है तथा 20 लोगों के लिए आवास भोजन का उचित व्यवस्था किया गया है। संबंधित राज्य के हेल्प लाईन नंबर में विधिवत सूचना भी दी गई है।


Date : 29-Mar-2020

प्रशासन ने लोगों को घर में रहने दी सलाह
फेक न्यूज पर कार्रवाई की तैयारी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भाटापारा, 29 मार्च।
 प्रशासन ने आम जनता को कोरोना कोविड-19 के महामारी के बचाव के लिए आमजन को घर मे रहने की सलाह दी है। साथ ही प्रतिदित चल रहे सोशल मिडिया पर भ्रामक प्रचार पर भी प्रशासन संज्ञान लेने जा रहा है।

 विदित हो कि कुछ दिनो से सोशल मीडिया पर विभिन्न तरह की भ्रामक प्रचार जारी है जिसमें संख्या को लेकर एवं जिन लोगों द्वारा विदेश प्रवास पर जाने के बाद शहर पहुंचे हैं, उन्हें प्रशासन द्वारा 14 दिन घर पर ही रहने की सलाह दी है लेकिन कुछ तत्वों द्वारा उन घरों के बाहर लगे पर्ची की फोटो खींचकर फोटो शाप से संदिग्ध बताते हुये भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। साथ हीं कुल 8 लोग के सैंपल जांच हेतु गया है किन्तु सोशल मिडिया पर आंकड़ों को ज्यादा बताकर भ्रम व भय पैदा कर रहे है जिसको लेकर भी प्रशासन संज्ञान लेकर कार्रवाई की तैयारी में है।

एसडीएम महेश राजपूत ने महामारी को देखते हुए लाक डाउन का पूर्ण पालन करने की अपील की है। उन्होंने नितांत आवश्यक सामानों को लेने को छोड़ बाहर न निकलने की सलाह दी है।
विकासखंड चिकित्सा अधिकारी राजेश अवस्थी ने बताया कि पूरे शहर में शासकीय व निजी हास्पिटल मिलाकर 65 बेड व्यवस्था की गई है अभी तक 8 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजा गया है जिनमें रिपोर्ट अभी आई नहीं है।

 विकासखंण्ड क्षेत्र मे कोरोना पॉजीटिव के लक्षण अभी तक देखने मे नहीं आया है। ऐहतियात बरती जा रही है बेहतर होगा कि आम जनता लॉकडाउन का पूर्ण पालन करें।  

 


Date : 29-Mar-2020

लॉकडाउन का उल्लंघन, 3 दुकानदारों पर प्रकरण दर्ज

भाटापारा, 29 मार्च। लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 3 दुकानदारों पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। कोरोना वायरस के रोकथाम हेतु भारत शासन एवं जिला दंडाधिकारी द्वारा निर्धारित कफ्र्यू के लिए समय भी निर्धारित किया गया है जिसके तहत आपातकालीन सेवा के लिए प्रात: 8 से शाम 4 बजे तक लोग सामान खरीद सकते हैं। पुलिस द्वारा शाम 4:40 बजे दीनदयाल उपाध्याय नगर दुर्गा किराना स्टोर्स के संचालक घनश्याम ने दुकान खोलकर उक्त आदेश का उल्लंघन किया, वहीं भरत किराना स्टोर्स के संचालक धनेश्वर ओझा शाम 4:50 बजे तक खुला पाया गया तथा भगत सिंह वार्ड मारूति किराना स्टोर्स के संचालक हरिश मंगलानी शाम 6:15 बजे दुकान खुला पाये जाने पर  तीनों के खिलाफ  प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई।


Date : 29-Mar-2020

छत्तीसगढ़ के सैकड़ों मजदूर लखनऊ-पुणे में फंसे, वापस लाने गुहार

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भाटापारा, 29 मार्च।
भाटापारा तहसील व आसपास के लगभग सैकड़ों मजदूर लखनऊ-पुणे शहर समेत देश के अन्य प्रांतों में फ ंसे हुए हैं। लॉकडाउन से जहां उनको खाने की परेशानी है, वहीं ठेकेदारों ने हाथ खड़े कर दिए हैं। जिन बिल्डरों के यहां काम करने गये थे, उन्होंने भी अपने संस्थानों में ताले लगा दिये। छोटे-छोटे बच्चे भूखे सो रहे हैं। मजदूरों ने राज्य सरकार से गुहार लगाई है कि उन्हें किसी तरह वापस लाया जाए।

लखनऊ में रोजी मजदूरी करने गए सैकड़ों ग्रामीण लॉकडाउन में फंसे हुये हैं। उन्हें खाने-पीने को नहीं मिल रहा है, वहीं पुलिस डंडे बरसा रही है। भाटापारा के मजदूरी करने गये संतू साहू व मुंगेली जिला के डालाराम साहू ने फोन से बताया कि दो दिन में कुछ खाने को मिल रहा है, यहां छत्तीसगढ़ के हजारों की संख्या में मजदूर हैं, जो भूखे मर रहे हैं। छत्तीसगढ़ शासन से अनुरोध है कि छत्तीसगढ के निवासियों को वापस ले जाये, अन्यथा हमें अपने खर्चे पर वापस आने के लिए स्वीकृति दिलाये। स्वास्थ्य जांच कराकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को ले जाने व्यवस्था की जाए।

वहीं पुणे के चाकन में फं से निपनिया क्षेत्र के निवासी नानू वर्मा ने बताया कि ग्राम कोटमी, निपनिया, तारेगांव, कोसमंदा, मेहना व नांदघाट के लगभग 30 लोग फंसे हुए है। जिस बिल्डर के यहां काम करने आये थे उन्होंने परिसर में ताला जड़ दिया है। कर्नाटक के ठेकेदार नंदप्पा राठौर लापता है न बिजली है न पानी है खाने के लिए कुछ नहीं मिल रहा है, जिससे परिवार सहित परेशानियों से जूझ रहे हैं। छत्तीसगढ़ शासन हमे ले जाये वर्ना हमारी स्थिति और बदहाल हो जाएगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आग्रह है कि छत्तीसगढ़ निवासियों की रक्षा करें तथा उन्हें सुरक्षित छत्तीसगढ़ लाने की व्यवस्था करें नहीं तो भूख प्यास से मर जाएंगे। फ ंसे मजदूरों में डालाराम साहू का मोबाईल नंबर 6263443789, वहीं नानूराम वर्मा का मोबाईल नंबर 81888268026/7387073145 है। 


Date : 28-Mar-2020

लॉकडाउन, रोजमर्रा के सामानों -सब्जियों के दाम बढ़े 

सरसींवा, 28 मार्च। कोरोना वायरस के चलते देश में 21 दिन के लॉकडाउन होने के बाद क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों के किराना व्यापारियों द्वारा रोजमर्रा के सामानों में दाम बढ़ा दिया गया है, जिससे आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

एक तो इस क्षेत्र में खासकर गरीब तबके के लोग निवास करते हैं, दूसरा उनका काम बंद है और तीसरा  बढ़ती महंगाई की मार झेल पाने की स्थिति में नहीं है। क्षेत्र में जब से लॉकडाउन हुआ है तब से छोटे तबके के रोजमर्रा के व्यापार करने वाले पान दुकान, खोमचा, आइसक्रीम ठेला, जैसे छोटे-छोटे कारोबारियों की सारी दुकानें बंद हो गई है, जिसके कारण हाथों में पैसा नहीं आ पा रहा है  और ऊपर से यहां के किराना व्यापारियों द्वारा रोजमर्रा के सामानों का दाम को बढ़ा दिया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में प्याज 30 रुपये किलो, आलू 30 रुपये किलो, वहीं तेल आटा बेसन चना सभी जरूरत की चीजों का दाम बढ़ा दिये गये है। सब्जी में भिंडी 60 रुपये किलो, गवारफली 80 रुपये किलो, टमाटर 40 रुपये किलो, गोभी 40 रुपये किलो, बैगन 30 रुपये किलो के हिसाब से यहां सामानों की बिक्री हो रही है, जबकि महीना रोज पूर्व यहां प्याज 18 से 20 रु किलो, आलू 17 से 18 रुपये प्रति किलो बिक रहा था, वहीं अब बढ़कर 30 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

 स्थानीय लोगों का कहना है कि बड़े तबके के लोग तो कितना भी महंगाई बढ़ जाए वो अपने अवश्यकताओं का सामान  खरीद ही लेतेहैं, वही कुछ गरीब तबके के लोग रोजमर्रा के सामान खरीद ही नहीं पा रहे हैं। सामान्य तबके के लोग को भी सामानों के दाम बढ़ जाने से  रोजमर्रा के सामान खरीदने  में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यदि शासन-प्रशासन के अधिकारी क्षेत्र में बिक रहे दुकानों में अचानक छापामार कार्रवाई करें तो बहुत से ग्रामीण अंचल के व्यापारी सामान अधिक दाम पर बेचते पाए जाएंगे।  
 


Date : 28-Mar-2020

विदेश यात्रा छुपाने वाले पर जुर्म दर्ज

भाटापारा, 28 मार्च। विदेश यात्रा छुपाने वाले एक युवक के खिलाफ पुलिस ने जुर्म दर्ज किया है। पुलिस को 01 व्यक्ति के विदेश से घुमकर 18 मार्च को नेपाल से आने की सूचना मिली। वह बेखौफ  होकर चौक चौराहे पर घूम रहा था और विदेश से आने की सूचना शासन प्रशासन, पुलिस विभाग को नहीं दिया था। प्रशासन द्वारा खोज खबर लेने पर वह व्यक्ति घर में नहीं मिलता था, उसे किसी तरह से पकड़ा गया। अपने विदेश दौरा का यात्रा वृतांत को छिपाने मामले में उक्त आरोपी के खिलाफ  जुर्म दर्ज किया गया है। उसे सख्त निर्देश देकर होम क्वारंटाइन पर रखा गया है।

 

 


Date : 27-Mar-2020

लॉकडाउन से दुकानों में सामान के स्टॉक खत्म हो रहे, अनाजों की कमी नहीं होगी - एसडीएम

छत्तीसगढ़ संवाददाता

भाटापारा, 27 मार्च। लॉक डाउन के चलते किराना दुकानों में सामान के स्टॉक खत्म होने के कगार पर है चूंकि ज्यादातर मिल व उद्योग लॉकडाउन के कारण उत्पादन की स्थिति में नहीं है जिससे सामानों का उत्पादन नहीं हो पा रहा है इसको लेकर जब आम लोग किराना दुकानों में जाते है तो सामानों की कमी की जानकारी मिलती है सबसे महत्वपूर्ण अनाज चावल दाल तेल आदि है।

इस संबंध में एसडीएम महेश राजपूत ने बताया कि थोक किराना व्यापारी संघ एवं चिल्हर किराना व्यापारी संघ के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक कर उन्हें अनाज की कमी नहीं होने देने का निर्देश दिया गया। जिस पर पदाधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि अनाज एवं अन्य जरूरी सामानों के मूल्य बढ़ाये नहीं जाएंगे और आवश्यकता के अनुरूप सामान उपलब्ध है। एसडीएम महेश राजपूत ने बताया कि होम डिलीवरी सामानों की देने के लिए बैठक की जा रही है बहुत जल्द उस पर निर्णय लेकर वार्ड स्तर पर घरों मे सामान की होम डिलीवरी देने प्रयास किये जा रहे हैं, ताकि लोगों को घर से बाहर न निकलना पड़े। प्रशासन द्वारा हरसंभव प्रयास किया जा रहा है कि ज्यादा से ज्यादा आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता की जाये जिस पर प्रशासन प्रयासरत हैं।


Date : 26-Mar-2020

विधायक शिवरतन ने एक माह का वेतन राहत कोष में दिया

भाटापारा, 26  मार्च। क्षेत्रीय विधायक शिवरतन शर्मा ने एक माह का वेतन आपदा राहत कोष में देने का निर्णय लिया है. क्षेत्रिय विधायक शिवरतन शर्मा ने विश्वव्यापी प्रसार कर रहे नोवल कोरोना वायरस (कोविड़-19) महामारी की रोक थाम हेतु अपने एक माह के वेतन को आपदा राहत कोष में देने की घोषणा की है। 

विधायक शिवरतन शर्मा ने सभी नागरिकों से अपील की है कि वे अपने घरों में रहे भीड़ में ना जावे तथा सुरक्षा हेतु बताये जा रहे आवश्यक निर्देशो का पालन करे व किसी अफवाह में न आये न ही अफवाह फैलाये हम सभी मिलकर कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में जीत हासिल करेंगे तथा अपने क्षेत्र के लोगों की सुरक्षा करेंगे। शासन द्वारा दिये जा रहे निर्देशों का समय समय पर पालन करें। 
 


Date : 26-Mar-2020

राज्य शासन का सहयोग करने सुशील ने की अपील

भाटापारा, 26  मार्च। प्रदेश कांग्रेस सचिव सुशील शर्मा ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी सरकार द्वारा उठाये गये जनकल्याकारी कदम की सराहना करते आम जनों से भूपेश बघेल को  साथ देने की बात कही है। आज का समय हम लोगो को आपस में मिलकर समाज, परिवार, प्रदेश की जनता के प्रति अपनी जवाबदेही को समझकर इस कोरोना वायरस के खिलाफ अपने को सुरक्षित रख कर जंग लडऩे और लड़ कर जितने का समय है. प्रत्येक व्यक्ति को आर्थिक सहयोग मुख्यमंत्री कोष में देने आगे आना चाहिये।
तथा खुद को और अपने परिवार को इस कोरोना महामारी प्रकोप से बचाने लॉक डाउन को अपने घरों में रहकर सफल बनावे। 


Date : 26-Mar-2020

बिना कारण बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश निषेध, बाल्टी में पानी रख हैंडवाश-साबुन से हाथ-मुंह धुलाने के बाद प्रवेश कोसमकुंडा और ओडकाकान में कोरोना से बचने जनप्रतिनिधियों ने लिया फैसला

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सरसींवा, 26 मार्च।
कोरोना वायरस से बचने ग्राम पंचायत कोसमकुंडा और ओडकाकान में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित किया गया है। उक्त फैसला जिपं सदस्य कविता प्राण लहरे, कोसमकुंडा के सरपंच लक्ष्मण जांगड़े, ओडकाकन की सरपंच पूजा बंजारे के साथ कोटवार व रोजगार सहायक व ग्राम पंचायत के ग्रामीणों के द्वारा लिया गया।

बिलाईगढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत कोसमकुंडा और ग्राम पंचायत ओडक़ाकन के ग्राम पंचायत के सरपंच लक्ष्मण जांगड़े और पूजा बंजारे जिला पंचायत सदस्य बलौदाबाजार कविता प्राण लहरे की समझाईश से हमारे ग्राम पंचायत क्षेत्र में करोना  वायरस का प्रवेश ना हो सके, देश में फैले करोना जैसे महामारी से कैसे बचा जा सके इसके लिए ग्राम पंचायत के लोग एक आपस में निर्णय लेकर गांव के सीमा में ग्राम पंचायत के कुछ युवकों द्वारा पारी-पारी से अपनी सेवा दे रहे हैं। 

इस ग्राम पंचायत के सीमा में किसी भी बाहरी व्यक्ति के अपने ग्राम पंचायत के अंदर प्रवेश देने के पहले सीमा में उपस्थित सेवा दे रहे व्यक्तियों द्वारा पूछा जाता है कहां से आए हो और ग्राम पंचायत में किससे क्या जरूरी काम है और किससे मिलना है उसके बाद उक्त बाहरी व्यक्ति से सारी जानकारी ले लेने के बाद वस्तुस्थिति के बाद ही ग्राम के सीमा पर रखे गए बाल्टी में पानी, हैंडवाश-साबुन से हाथ मुंह धुलाने के बाद ग्राम पंचायत के अंदर प्रवेश दिया जाता है। 

उक्त कार्य में ग्राम पंचायत के सरपंच, पंच गण, कोटवार रोजगार सचिव के साथ-साथ ग्राम के समाज सेवा लोगों द्वारा यह कोरोना वायरस जैसे महामारी ना फैल पाए जिसके लिए बचाव में  यह कदम उठाया गया है, जिसके लिये अनेकों प्रकार के एहतियात बरता जा रहा है। 
 


Previous123456Next