छत्तीसगढ़ » बलोदा बाजार

Posted Date : 30-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बलौदाबाजार, 30 अप्रैल। बलौदाबाजार में करंट  से पति-पत्नी  की मौत हो गयी है। मृतक सनत लहसे पेशे से शिक्षक था।  घटना कल शाम की  है, जानकारी आज सुबह हुई।
    मिली जानकारी के मुताबिक कपड़े सुखाने वाले तार में अचानक करंट दौड़ गया, जिसकी वजह से ये हादसा हुआ है। हालांकि इस घटना का कोई चश्मदीद नहीं है, लिहाजा कयास लगाये जा रहे हैं कि पत्नी संतोषी नहाने के बाद कपड़ा सुखाने के लिए बाहर आयी, जैसे ही तार पर गीले कपड़े डाले, करंट की चपेट में वो आ गयी। इधर पत्नी को करंट से छटपटता देख पति सनत ने उसे बचाने की कोशिश की और इस दौरान वो भी इस करंट की चपेट में आ गया। हादसे में दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी। पति-पत्नी ही सिर्फ घर पर रहते थे, लिहाजा बचाने के लिए भी कोई सामने नहीं आया। चौकाने वाली बात ये है कि घटना कल की है और जानकारी पड़ोसियों को आज लगी। वो भी उस वक्त जब एक व्यक्ति शादी का कार्ड देने शिक्षक के घर पहुंचा। शिक्षक प्रधान पाठक के रूप बिलाईगढ़ के भोथीडीह स्कूल में पदस्थ था। मूल रूप से सिमगा के रहने वाले सनत अपनी पत्नी के साथ किराये के मकान में पवनी गांव में रहते थे। पुलिस मौके पर पहुंचकर घटना की जांच कर रही है।

  •  

Posted Date : 09-Dec-2017
  •  गोरेलाल तिवारी

    कसडोल, 9 दिसंबर।  कसडोल तहसील क्षेत्र के 230 ग्रामों में अधिकांश जगह अल्प वर्षा से सूखे की स्थिति है। कसडोल बलार जलाशय कमांड क्षेत्र के 25 गांव, सोनाखान, भुसड़ी पाली,  नवांगाव कंजिया देवतराई चिखली तथा अर्जुनी महराजी के 30 गांव एवं बार इलाके के 22 वन ग्राम सूखे की चपेट में है। शहीद वीरनारायण सिंह के शहादत दिवस 10 दिसम्बर को प्रतिवर्ष मनाया जाता है किंतु दुर्भाग्य की बात है कि आज भी शहीद के परिवार और उसके गांव की गरीब जनता आजादी के 70 साल बाद भी दो जून की रोटी जुटाने घरबार छोड़ कर बाहर जाना पड़ता है। 
    सोनाखान इलाके से सर्वाधिक 
    जैसा कि अनुमान लगाया जा चुका था कि दीपावली के बाद भारी संख्या में बाहर जाने की खबर सही साबित हुआ है। तत्कालीन समय में अपुष्ट खबरें मिली थी कि मजदूर दलाल सरदार गांव गांव घूम रहे हैऔर पलायन करा रहे है। शहीद के गांव सोनाखान, कसौंदी, बंग्लापाली, महकम, भुसड़ी पाली, नवागांव, कोठारी, तालदादर, नवागांव जोगीडीपा,  कौहाकुड़ा, बिटकुली, मिरगिदा, पठियापाली, सलिहाभांठा, चिखली, बासीन पाली,  चनहाट, देवतराई, सण्डी, पोड़ी नवागांव(बलार, सारसडोल, पचपेड़ी आदि ग्रामों की गलियां सुनी पड़ गई है तथा घरों में ताले लटके अथवा बच्चों की देखभाल के लिए बड़े बूढ़ों को घरबार देखने छोड़ दिया गया है । इसी तरह सोनाखान से सटे अर्जुनी, महराजी पंचायत के 10 गांव में भी मजदूर गए हैं। गांव की वीरानी और लोगों से ली गई जानकारी के अनुसार शहीद वीरनारायण सिंह के उक्त ग्रामों से 1 हजार से भी अधिक मजदूर बाहर गए हैं।
    शहीद के ग्रामों से हर साल 
    किसी जमाने में राजा वीरनारायण सिंह के 350 गांव हुआ करते थे। देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी दिलाने यूपी की महारानी लक्ष्मीबाई के समकालीन 1857 के छत्तीसगढ़ के प्रथम वीर सेनानी शहीद वीरनारायण सिंह के उक्त गांव आज भी गरीबी को भोग रहे है ।जंगल पहाड़ों पठारों के बीच बसे उक्त ग्रामों में किनारों से नदी नाले तो बहते है किंतु सिंचाई का एक भी साधन उपलब्ध नहीं हो पाया है।
    एकमात्र सोनाखान का मखुरहा बांध भी कई सालों से अधूरा पड़ा हुआ है। शहीद दिवस पर स्मारक देखने भले ही प्रदेश और देश भर के लोग सोनाखान पहुंचते है किंतु उनके वंशजों ग्रामों की जनता आज भी आखेट युग का जीवन जीने मजबूर है। घर ठीक से है न पीने को शुद्ध पानी न अस्पताल और न हि शिक्षा की समुचित ब्यवस्था जिससे पिछड़े अनुसूचित जाति जनजाति के बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त कर अपनें और अपनें परिवार का जिंदगी संवार सकें। प्रायमरी मिडिल स्कूलों में कहीं भवन नहीं, तो कही बच्चे नहीं तो दोनों है तो शिक्षकों की कमी अथवा अनियमित होनीं की समस्या आम बात हो गई है। सोनाखान शहीद का जन्म एवं कर्म भूमि जहां बमुश्किल हायर सेकेण्डरी स्कूल की मान्यता मिली है किंतु आज भी उक्त विद्यालय हाई स्कूल भवन में संचालित है। गौरतलब हो कि एकमात्र हायर सेकेण्डरी स्कूल सोना खान में 12 करीब गांव के छात्र-छात्रा अध्ययनरत हैं ।
    नवांगाव में भी हायर सेकेण्डरी नहीं
    शहीद के ही गांव जिसे ऊपर टोला कहा जाता है सेंटर का गांव नवांगाव है। यहां जन भागीदारी से मिडिल स्कूल संचालित था जिसे बमुश्किल है स्कूल की मान्यता प्राप्त हो चुकी है। इस स्कूल में नवांगाव तलदादर कोठारी कंजिया जोगी डीपा, कौहाकुड़ा, बिटकुली, मिरगिड़ा, पठियापाली, चनहाट के बच्चे पढऩे आते है। हाई स्कूल में एक शिक्षकीय ब्यवस्था है। यहां से पढ़कर बच्चे नजदीकी स्कूल नहीं होने से आगे की पढ़ाई से वंचित हो रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि शिक्षा विभाग विधायक सनम जांगड़े को अवगत कराया जा चुका है किंतु समाधान नही हुआ है ।

  •  

Posted Date : 25-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    सरसीवां, 25 नवंबर। नगर से 8 किलोमीटर दूर ग्राम गिरसा में शनिवार की सुबह एक तेज रफ्तार कार ने चार अलग-अलग बाइक को ठोकर मार दी। हादसे में बाइक सवार तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं 3 लोग गंभीर रूप से घायल हंै। कार की डिक्की से लगभग 100 किलो गांजा बरामद किया गया है। आरोपी चालक को गिरफ्तारी कर लिया गया है। मृतकों को शासन द्वारा 25-25 हजार मुआवजा राशि तत्काल दिया गया।
     बताया गया कि कार में गांजा परिवहन करने की सूचना पर  क्राइम ब्रांच की टीम कार का पीछा कर रही थी। घटना सुबह 9.30 बजे की है। कार गिरसा पहुंची तो चालक कार पर नियंत्रण नहीं रख सका और एक के बाद चार बाइक को ठोकर मार दी। हादसे में दो लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। मृतकों में अभिमन्यु पटेल गगोरी, घुनाव सतनामी मल्दा सारंगढ़ हैं। दोनों मवेशी बाजार गिरसा आ रहे थे। हादसे के बाद लोगों ने चक्काजाम कर दिया था। जो तीन घंटे बाद खत्म हुआ।

  •  

Posted Date : 25-Sep-2017
  • कसडोल थाना घेरा, चक्काजाम, 
    एसपी के  आश्वासन के बाद दाहसंस्कार

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    कसडोल, 25 सितंबर। कक्षा ग्यारहवीं के छात्र और राष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी आलोक यादव ने कल फांसी लगाकर जान दे दी थी। आज कसडोल के सैकड़ों लोगों ने पुलिस पर प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए इस खुदकुशी के लिए जिम्मेदार ठहराया। आरोपी पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए मृतक की लाश लेकर चक्काजाम कर दिया। तीन घंटे तक थाने का घेराव किया अंत में एसपी आरएनदास के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ।
    ज्ञात हो कि कल रविवार बरघाट जंगल में सड़क के किनारे  फांसी पर आलोक यादव की लाश मिली थी।  कसडोल पुलिस ने पंच नामा कर शव को पोष्ट मार्टम के लिए कसडोल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कसडोल भेजा।  मृतक के पिता दीपक यादव सहित परिजनों ने प्रधान आरक्षक रात्रे पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार नहीं किए जाने तक पोष्टमार्टम कराने से मना कर दिया । परिवार वालों का आक्रोश तब और बढ़ा जब उनकी सहमति बगैर पोष्ट मार्टम करा दिया गया। मामला बिगड़ते देख उक्त प्रधान आरक्षक को तत्काल प्रभाव से लाइनअटैच कर दिया गया। 
    आज पूर्ण तैयारी के साथ शव  लेकर सैकड़ों की भीड़ ने थाने का घेराव कर दिया। इस दरम्यान एसडीओपी राजेश जोशी तथा एडिशनल एसपी विमल बैस कसडोल थाना पहुंच कर शांत करने का प्रयास किया किन्तु मामला नहीं सुलझने पर अंतत: एसपी श्री दास को पहुंचना पड़ा। 24घंटे के भीतर जांच कर कार्रवाई करने के आश्वासन पर भीड़ शांत हुई। इसके बाद दाह संस्कार किया गया।
    पुलिस अधीक्षक आर एन दास ने भीड़ के सामने ही एएसपी विमल बैस को जांच अधिकारी नियुक्त कर 24घंटे के भीतर रिपोर्ट देने को कहा। 
    मृतक आलोक फुटबाल का जूनियर राष्ट्रीय खिलाड़ी था। मृतक के पिता दीपक यादव और परिजनों का आरोप है कि 17 सितंबर को अन्य युवकों के साथ हुई विवाद की रिपोर्ट के बाद अशोक यादव से लगातार मोटी रकम की मांग प्रधान आरक्षक ताराचंद रात्रे और सिपाही शिवनारायण कुर्रे द्वारा की जा रहा थी, अन्यथा गिरफ्तार करने की धमकी दी जी रही थी। जिसके कारण उसने यह कदम उठाया?

     

  •  

Posted Date : 23-Aug-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कसडोल, 23 अगस्त । कसडोल के पारस नगर के एक घर से सटे बाड़ी में गला कटे खून से लथपथ सनी हुई घर की बहू जिसका नाम धनेश्वरी साहू 27 वर्ष पति धनेश्वर साहू  की लाश मिलने से सनसनी फ़ैल गई हैं । पुलिस को सुबह सूचना मिलने पर टी आई प्रणाली बैद्य पुलिस बल के साथ घटना स्थल पहुंचकर लाश का मुआयना कर पंचनामा किया।  मौत की वजह धारदार हथियार से गला कटने से ही होना पाया गया है किन्तु हत्या या आत्म हत्या की गई है इस पर पुलिस जांच में जुट गई है।
    घटना आज बीती रात सुबह तीन से चार बजे भोर की बताई जा रही है। सुबह 7बजे करीब जब घर के लोग बाड़ी में गए तो उन्हें मृत अवस्था में लाश पड़ी मिली । जिसकी सूचना पुलिस थाना कसडोल में की गई। सूचना के तुरन्त बाद टी आई प्रणाली बैद्य पुलिस बल के साथ पहुंचे । लाश का मुआयना करने पर लाश के पास धार दार सब्जी काटने का चाकू तथा सुसाइड नोट मिला है। जिसमें मृतिका ने स्वयं आत्म हत्या करने की बात लिखा हुआ है। पुलिस पंचनामा में लड़की के मायके पक्ष तथा ससुराल पक्ष से सास ससुर पति का बयान लिया गया है। मृतिका के दो छोटे छोटे बच्चे भी है ।
    घटना के संबंध में टी,आई वैद्य से पूछने पर बताया है कि प्रारम्भिक जाच में मृतिका का मानसिक संतुलन बिगड़ा हुआ होना बताया गया है । चूंकि उक्त विवाहिता जो सिंघारी गाव की जन्मी अपने नाना के घर ग्राम लाटा में पली बढ़ी शादी होकर आई थी। मृतिका के नाना गणेश राम साहू ने किसी प्रकार के विवाद से इंकार किया है।
     बताया गया है कि सुसाइड नोट की जांच की जा रही है जिसके बाद ही खुलासा होने की बात कही जा रही है।श्री बैद्य ने कहा है कि सभी पहलुओं पर विवेचना की जा रही है। 

     

  •