छत्तीसगढ़ » मुंगेली

Posted Date : 07-Dec-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    मुंगेली, 6 दिसंबर। ओपन रियल ताईक्वांडो चैम्पियनशिप छत्तीसगढ़ 2018 प्रतियोगिता सरस्वती शिशु मंदिर तिफरा में सम्पन्न हुआ, जिसमें चैम्पियन बिलासपुर प्रथम स्थान अर्जित किया गया। द्वितीय स्थान पर भिलाई, तृतीय स्थान पर बालौद के साथ चतुर्थ स्थान पर मुंगेली ने कब्जा जमाया। इसके साथ ही मुंगेली के 4 खिलाडिय़ों को गोल्ड मैडल, 5 को सिल्वर व 7 खिलाडिय़ों को ब्रॉन्ज मैडल मिला।
    ओपन रियल ताईक्वांडो चैम्पियनशिप छत्तीसगढ़ 2018 प्रतियोगिता सरस्वती शिशु मंदिर तिफरा में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि किरन पाल चावला, विशिष्ट अधिकारी रेल्वे के पुलिस अधिकारी थे। प्रतियोगिता में बिलासपुर, मुंगेली, दुर्ग, रायपुर, भिलाई, बालौद, भाठापारा, धमतरी, कर्वधा, रायगढ़, अनुपपुर (मध्यप्रदेश) सहित 11 स्थानों से 310 खिलाडिय़ों ने भाग लिया। जिसमें मुंगेली के 16 खिलाड़ी शामिल हुए। जिसमें ऑल ओवर चैम्पियनशिप आयोजक बिलासपुर के खाते में गया, द्वितीय स्थान पर भिलाई, तृतीय स्थान पर बालौद व चतुर्थ स्थान पर मुंगेली ने कब्जा जमाया। 
     मुंगेली के 16 खिलाडिय़ों में से 4 खिलाडिय़ों को गोल्ड, 5 खिलाडिय़ों को सिल्वर व 7 खिलाडिय़ों को ब्रॉन्ज मेडल मिला। स्वर्ण विजेता मुंगेली के अंजु सोनवानी, स्वाति दिवाकर, मिथलेश्वर, आर्यन वेस्ट बंगाल कोलकाता में होने वाले नेशनल प्रतियोगिता के लिए चयनित हुए। वहीं प्रियेश, अमित कुमार, श्यामाचरण, सतीश, हरिशकुमार को सिल्वर मेडल मिला, कोमल, कुनाल, प्रकाश, सक्षम, ईतवारी, पूजा, सुषमा को ब्रॉन्ज मेडल प्राप्त हुआ। प्रतियोगिता में मुंगेली जिला से जनरल सेक्रेटरी कोच एवं रेफरी के रूप में व टीम लीडर गिरधर सोनवानी शामिल हुए।

  •  

Posted Date : 30-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    मुंगेली, 30 नवंबर। सिलतरा के मध्यम तेज गेंदबाज श्रवण का गत दिनों दिल्ली में आयोजित नेशनल दिव्यांग क्रिकेट टूर्नामेंट में छत्तीसगढ़ की टीम में चयन हुआ था। वहां एक मैच में बेस्ट फील्डर का पुरस्कार मिला। उनकी मेहनत व लगन को देखकर छत्तीसगढ़ दिव्यांग क्रिकेट संघ भी हर तरह से मार्गदर्शन दे रही है।
    सन राइस क्रिकेट सोसाइटी मुंगेली में ग्राम सिलतरा के श्रवण राजपूत उर्फ अश्विनी 2 महीनों से जबरदस्त मेहनत कर रहे हंै, उन्हें अकादमी हरसंभव मदद कर रही है। अभी कुछ दिनों पहले दिल्ली में आयोजित नेशनल दिव्यांग क्रिकेट टूर्नामेंट में छत्तीसगढ़  की टीम में चयन हुआ था। वहां एक मैच में बेस्ट फील्डर का पुरस्कार मिला। सन राइस क्रिकेट सोसाइटी मुंगेली के कोच व संचालक जलेश यादव ने बताया कि यहां बेटियों को भी शुरू से 6 सालों से निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है, वैसे ही दिव्यांग खिलाडिय़ों को भी अकादमी निशुल्क प्रशिक्षण दे रही है, ताकि वे अपने परिवार, राज्य व देश का नाम रोशन करें। 
     श्रवण 20 किलोमीटर बस से आता जाता है। अभी कुछ वर्ष पहले कुछ कारणों से उनका एक हाथ काटना पड़ा था। आज वह एक हाथ से बैटिंग व मध्यम तेज गेंदबाजी करता है। उनके आत्मविश्वास व मेहनत को देखकर सभी लोगों ने हर्ष व्यक्त किया व शुभकामनाएं दी। 

  •  

Posted Date : 23-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    मुंगेली, 23 नवंबर। विधानसभा चुनाव के वोटिंग पश्चात मुंगेली व लोरमी विधानसभा के ईवीएम को चातरखार स्थित शासकीय कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय के स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रखा गया है। स्ट्रांग रूम को सील करने के बाद इसकी सुरक्षा के लिए बंदूकधारी जवानों को तैनात किया गया है। सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।
    जिले के अंतर्गत तीनों विधानसभा क्षेत्र के मतदान दल मुंगेली पहुंचने के बाद चातरखार स्थित शासकीय कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय में तीनों विधानसभा क्षेत्र प्रत्याशियों व उनके निर्वाचन प्रतिनिधियों के सामने ईवीएम की गिनती कराई गई। इसके बाद सील किया गया। तत्पश्चात बिल्हा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने वाले क्षेत्र के ईवीएम मशीन को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बिलासपुर भेज दिया गया। चूंकि बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के कुछ मतदान केंद्र मुंगेली जिले में थे। मतदान दलों को मुंगेली जिले से रवाना किया गया और यहां जमा करने के पश्चात सभी ईवीएम मशीनों को बिलासपुर भेज दिया गया। मुंगेली एवं लोरमी विधानसभा के ईवीएम मशीन को जिले के स्ट्रांग रूम में सुरक्षित रख लिया गया है। 
    मशीनों के जमा होते ही मुंगेली विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी पुन्नूलाल मोहले, कांग्रेस प्रत्याशी राकेश पात्रे, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस प्रत्याशी चन्द्रभान बारमते, आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी रामकुमार गंधर्व सहित लोरमी विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी तोखन साहू, कांग्रेस प्रत्याशी शत्रुहन चंद्राकर, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस प्रत्याशी धर्मजीत सिंह के भाग्य का फैसला कैद हो गया है जो 11 दिसंबर को खोला जाएगा। 

  •  

Posted Date : 23-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    मुंगेली, 23 नवंबर। मतदान की भागदौड़ के बाद अब हार-जीत के कयासों का दौर शुरू हो गया है। पिछले 15-20 दिनों की भागदौड़ में प्रत्याशियों का पूरा रूटिन गड़बड़ा गया है। प्रत्याशियों के स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा असर नींद का रहा।
    विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने के बाद बुधवार को प्रत्याशियों सहित कार्यकर्ताओं ने राहत महसूस की। वहीं आम जनता को कानफोड़ू चुनाव प्रचार, बैनर, बिल्ला पांपलेट व घरों में लगातार पहुंचने वाले कार्यकर्ताओं से निजात मिली। अधिकतर यात्री वाहनों को चुनाव कार्य के लिए अधिग्रहण कर लिया गया था। जिसके कारण यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने पहुंचने के लिए भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके चलते यात्री एक माह से परेशान थे। वहीं यात्री बसों के वापस आने से बस स्टैंड में चार दिनों के सन्नाटा के बाद आज चहल-पहल दिखाई दी। 
    मुंगेली विधानसभा में 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इन सभी के प्रचार में कार्यकर्ताओं का हुजूम दिन रात लगा हुआ था। शासकीय कर्मचारियों एवं शिक्षकों की ड्यूटी चुनाव कार्य में लगी हुई थी। जिसके कारण पढ़ाई प्रभावित हुई। मतदान समाप्त होने के बाद भाजपा, कांग्रेस, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस सहित निर्दलीय प्रत्याशी एक माह से लगातार दिन रात लगातार चुनाव प्रचार में जुटे हुए थे, वे लोग बुधवार को चैन की नींद सोये। 
    भाजपा प्रत्याशी पुन्नूलाल मोहले, कांग्रेस प्रत्याशी राकेश पात्रे, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस प्रत्याशी चन्द्रभान बारमते व उनके कार्यकर्ता  दिन भर मतदान पर गुणा-भाग करते रहे। वहीं अपने कार्यकर्ताओं से इस बात की जानकारी लेते रहे कि किसने कितना भीतरघात किया और किसने निष्ठा से काम किया। इसके साथ ही मतदान में हमें कहां से कितना वोट मिल सकता है इसका कयास लगाते रहे। 
    चुनाव के दौरान चुनाव प्रचारक के रूप में लोगों को उम्मीद थी कि यहां फिल्मी कलाकार व स्टार प्रचारक सहित अन्य कलाकारों को देखने की तमन्ना अधूरी रही।

  •