छत्तीसगढ़ » नारायणपुर

Date : 04-Dec-2019

बस्तर आईटीबीपी कैंप में खूनखराबा, सिपाही ने 5 साथी मारे, फिर कर ली खुदकुशी

छत्तीसगढ़ संवाददाता

नारायणपुर, 4 दिसंबर। नारायणपुर जिले में आज सुबह आईटीबीपी कैंप में  एक जवान ने अन्य जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग की। इसके बाद उसने खुद को भी गोली मार ली। इस घटना में आरोपी जवान सहित 6 की मौत हो गई। वहीं दो गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को तत्काल हेलिकॉप्टर से रायपुर के नारायण अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई है।

घटना जिला मुख्यालय से 65 किमी दूर कडेनार में आज सुबह 9 बजे हुई। बताया जा रहा है कि जवानों के बीच आपसी मन मुटाव और छुट्टी नहीं मिलने के कारण बने तनाव ग्रस्त माहौल के चलते उक्त घटना हुई।  

शहीद जवानों में महेंद्र सिंह-हिमाचल प्रदेश, मसुदुल रहमान-पश्चिम बंगाल, सुरजीत सरकार-पश्चिम बंगाल, बिश्वरूप महतो-पश्चिम बंगाल, दलजीत सिंह-पंजाब, बीजीश-केरल शामिल हैं, जिसमें से मसुदुल रहमान ने फायरिंग की थी।

दो घायल जवानों सीताराम दून-राजस्थान, जीडी उल्लास-केरल को रायपुर के नारायणा अस्पताल लाया गया है। डॉक्टरों ने घायलों को खतरे से बाहर बताया है।

घटना की खबर मिलते ही डीजीपी डीएम अवस्थी ने आईजी और एसपी को घटना स्थल पहुंचने के निर्देश दिए हैं।

एसपी ने मोहित गर्ग ने ‘छत्तीसगढ़’ को घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि आज सुबह 9 बजे क्रॉस फायरिंग में 6 जवान शहीद हो गए, वहीं 2 घायल हो गए। घायलों को रायपुर अस्पताल भेजा गया। एसपी ने फायरिंग करने वाले जवान के बारे में पहले किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं होनी की बात कही।

  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उक्त घटना को दुखद बताया है। उन्होंने कहा कि  कारणों की जांच होनी चाहिए और इस प्रकार की घटना को रोकने के लिए उपाय होने चाहिए। उन्होंने मृतक जवानों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू  ने बताया कि इस मामले की विस्तृत जानकारी मंगाई जा रही है। जवानों की छुट्टी तय रहती है, उन्हें छुट्टी के लिए रोका नहीं जाता है। इसलिए छुट्टी की वजह से घटना नहीं हुई होगी। उन्होंने कहा कि फ्रस्टेशन की कोई बात नहीं है। जवानों के बीच किसी बात को लेकर आपसी विवाद हुआ होगा। थोड़ी देर में घटना से जुड़ी और जानकारी आ जाएगी। इस मामले में जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि आखिर जवानों ने आपस में फायरिंग क्यों की। घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए रायपुर लाया गया है।

आपसी मनमुटाव और छुट्टी के तनाव से हुई घटना -कलेक्टर 

घटना के संबंध में कलेक्टर पीएस एलमा ने कहा कि कुछ दिनों से जवानों के बीच आपसी मतभेद की खबरें आ रही थी। जवानों के बीच आपसी मनमुटाव इतना ज्यादा बढ़ गया कि हिंसक रूप ले लिया। यह घटना नारायणपुर से बारसुर रोड़ के बीच अबूझमाड़ से सटे घने जंगल में हुई है। घटना में 6 जवान शहीद हो गए और 2 गंभीर रूप से घायल हो गए हंै। घायल जवानों को रायपुर भेजा गया।

ज्ञात हो कि ऐसी वारदात दो साल पहले हो चुकी है। नौ दिसंबर 2017 को बीजापुर के बांसागुड़ा कैंप में सीआरपीएफ के जवान द्वारा की गई गोलीबारी में चार जवान शहीद हो गए थे, जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल हुआ था।