छत्तीसगढ़ » नारायणपुर

Posted Date : 03-Dec-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    भानुप्रतापपुर, 3 जिसंबर। आज दोपहर धान लेकर रानवाही सरकारी धान खरीदी केंद्र जा रहा ट्रक्टर बेकाब होकर पुल से गिर गया जिससे उसकी मौके पर ही मोैत हो गई।
    मिली जानकारी के अनुसार  भानुप्रतापपुर थाना क्षेत्र के ग्राम मोहगांव से दो ट्रेक्टर में धान लेकर सतीश नामक युवक निकला था। एक ट्रैक्टर खुद चला रहा था। रास्ते में पुल पर में ट्रैक्टर अचानक बेकाबू  हो गया और  नीचे गिर गया जिससे ट्रेक्टर में दबने औऱ पानी में डूबे रहने से  उसकी मौत हो गई। अभी तक पुलिस घटना स्थल पर नही पहुंची है। शव दबा हुआ है।  

  •  

Posted Date : 01-Dec-2018
  • विद्यार्थियों को दी गई बुरी आदतों और नशे से दूर रहने की समझाईश 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    नारायणपुर, 30 नवम्बर। नारायणपुर के सरकारी कॉलेज स्वामंी आत्मानंद में छत्तीसगढ़  राज्य एड्स नियंत्रण समिति द्वारा रेड रिबन क्लब का गठन किया। इस क्लब में कॉलेज के विद्यार्थियों को शामिल किया गया है। इसी सिलसिले में गुरूवार को एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज की प्राचार्या डॉ श्रीमती एसएम तिमोथी ने की। डॉ मिमोथी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए क्लब की स्थापना एवं उसके उद्देश्य के बारे में विद्यार्थियों को बताया। उन्होंने युवा वर्ग से बुरी आदतों, नशे की लत से दूर रहने का आव्हान किया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के तौर पर आमंतित्र डॉ प्रशांत गिरी ने एड्स के बारे में फैली भ्रांतियों के बारे में जानकारी दी। वहीं आईसीटीसी काउंसलर ने भी छात्र-छात्रओं को एड्स को लेकर जागरूक करने और इसे दूर करने के उपाय और बचाब का तरीका समझाया। रेड रिबन के नोडल अधिकारी बीडी चांडक ने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए निबंध, पोस्टर, नारालेखन के अलावा भी अनेक कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित किये जाते है। 
    30 नवम्बर से 2 दिसम्बर तक स्वैच्छिक रक्तदान करने एड्स दिवस प्रतियोगिता के साथ ही ग्राम कुम्हली ग्राम पंचायत गढबेंगाल में एड्स जागरूकता रैली का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम में विद्यार्थियों को रेड रिबन क्लक की सामग्री का वितरण किया गया। डॉ लोकेश्वर साहू ने संतुलित भोजन और नियमित व्यायाम की समझाईश दी। इस अवसर पर कॉलेज के प्राध्यापकगण के साथ ही स्टॉफ  के सदस्य और भारी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे। 

  •  

Posted Date : 28-Nov-2018
  • पोटाकेबिन के 18 बालक-बालिका का चयन 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    नारायणपुर, 24 नवम्बर। देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय मलखम्भ प्रतियोगिता-2018 में नक्सल प्रभावित जिले नारायणपुर के नजदीक स्थित पोर्टाकेबिन देवगांव के 12 बालक एवं 6 बालिकाएं (12 से 14 वर्ष ) का चयन राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए हुआ है। इनमें से 6-6 बालक-बालिका 12 वर्ष आयु वर्ग के मलखम्भ में शामिल होंगे। वहीं 6 बच्चे 14 वर्ष की मलखम्भ प्रतियोगिता में शिरकत करेंगे, ये सभी बच्चे अपने प्रशिक्षक  मनोज प्रसाद के साथ कल बुधवार 28 नवम्बर को सवेरे रेल द्वारा रायपुर से नईदिल्ली के लिए रवाना होंगे। 
    सभी चयनित बालक-बालिकायें एवं उनके प्रशिक्षक ने कलेक्टर  टोपेश्वर वर्मा से सौजन्य मुलाकात कर जानकारी दी। श्री वर्मा ने बच्चों आत्मीय बातचीत कर अपनी शुभकामनाएं और बधाई दी। उन्होंने सर्दी के मौसम को ध्यान में रखते हुए बच्चों का विशेष ध्यान देने हिदायत दी। उन्होंने बच्चों के जाने-आने, रहने, भोजन आदि के बारे में जानकारी ली। उन्होंने सभी बच्चों को प्रशिक्षक द्वारा बताये गये मलखम्भ के अभ्यास को बिना जरूरी सावधानी के साथ करने की सलाह दी तथा प्रतियोगिता में विजय होने की शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अशोक चौबे, जिला शिक्षा अधिकारी जीआर मंडावी, जिला समन्वयक राजीव गांधी शिक्षा मिशन आरपी मिरे, विकासखंड शिक्षा अधिकारी श्री पाणीग्राही के अलावा अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

  •  

Posted Date : 26-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    भानुप्रतापपुर, 25 नवंबर। क्राइम ब्रांच कांकेर एवं चौकी कच्चे की संयुक्त कार्रवाई में 2 लाख 25 हजार के सामान के साथ चोरी के एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। उसका साथी फरार है।
    कांकेर जिले के चौकी कच्चे में 4 नवंबर 18 को रात्रि में एक घर में चोरी की घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक के. एल. ध्रुव ने क्राइम ब्रांच कांकेर व साइबर सेल को निर्देशित किया था। एसडीओपी अमोलक सिंह ढिल्लों के नेतृत्व व मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रांत सोन के हमराह साइबर सेल कांकेर एवं चौकी कच्चे की टीम गठित की गई। अज्ञात चोर की पतासाजी हेतु अलग-अलग थाना क्षेत्र एवं दिगर जिलों में भेजी गई टीम लगातार मुखबीरों व थाना के माध्यम से जानकारी प्राप्त करने लगी।
    पतासाजी के दौरान संदेह के आधार पर 40-50 से लोगों से पूछताछ किया गया। मुखबिरों से पता चला कि दल्ली के कुछ व्यक्ति दिनांक घटना समय को कच्चे में देखे गए हैं। टीम द्वारा मुखबिरो को एलर्ट कर संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखने कहा गया। 24 नवंबर को मुखबीर से पता चला कि शंकर कुमार नाम का व्यक्ति दल्ली राजहरा में कुछ सोने चांदी के सामान बेचने की फिराक में घूम रहा है। जिस पर टीम द्वारा तत्काल दल्ली राजहरा पहुंचकर घेराबंदी कर शंकर को दबोचा गया। पूछताछ के दौरान शंकर पुलिस को गुमराह कर इधर-उधर की बात करने लगा एवं अपने पास रखे सोना-चांदी के आभूषणों के संबंध में संतोषप्रद जवाब नहीं दे पाया।
    आखिर में शंकर ने बताया कि 4 नवंबर को वह एवं साथी युसूफ खान रात में शराब पीने कच्चे मोटरसाइकिल से आए थे। शराब पीने के बाद उक्त दिनांक को भी रात में सूने मकान की रेकी कर शाहिद रूमी के घर में घुसकर सोना का मंगलसूत्र एक नग, नेकलेस एक नग, सोने का तीन अंगूठी, चांदी का पायल 1 जोड़ी, बिछिया 2 नग, चांदी का कटोरी-चम्मच, जैकेट एक नग, मोबाइल एवं कुछ नगदी चोरी कर वापस दल्ली राजहरा चले गए। साथी युसूफ नगद रकम, मोबाइल एवं चांदी का कुछ सामान अपने साथ लेकर जरूरी काम होना बता कर कहीं चला गया और सोने-चांदी के आभूषणों को बिक्री कर रकम अपने पास रखने आने पर बंटवारा करने बोला था।
    शंकर कुमार 19 वर्ष पंडर दल्ली थाना दल्ली जिला बालोद के कब्जे से उक्त सोना चांदी के आभूषण एवं घटना में प्रयुक्त वाहन क्रमांक सीजी 07 जे 8728 हीरो होंडा सीडी डॉन को पुलिस ने जब्त कर लिया है।
    कार्रवाई के दौरान उनि विक्रम सोन क्राइम ब्रांच प्रभारी कांकेर उनि होमचंद नागरची प्रभारी साइबर सेल कांकेर उनि विनोद नेताम चौकी प्रभारी कच्चे सउनि रमेश भगत चौकी कच्चे प्रधान आरक्षक अर्जुन मरकाम, प्रेम सिंह आरक्षक ओम प्रकाश, सचिन सोरी, यशवंत नेताम, अभिषेक दुबे, शक्ति सिंह, इमामुद्दीन कुरेशी, श्रवण कुमार ,दिनेश ध्रुव, शैलेंद्र साहू का सराहनीय कार्य रहा।
    धार्मिक स्थल पावड़ा का होगा कायाकल्प, दर्शनार्थियों के लिए बढ़ेगी सुविधाएं-कलेक्टर
    कोण्डागांव, 25 नवंबर। जिले में कई ऐसे धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थल मौजूद है जिनसे अब तक अन्य क्षेत्रों के लोग अनभिज्ञ है। इन स्थलों में भोंगापाल स्थित भगवान गौतम बुद्ध का स्तुप, गोबरहीन एवं पावड़ा के शिव मंदिर, बड़ेडोंगर में माँ दंतेवश्वरी मंदिर, आलोर के लिंगई माता मंदिर प्रमुख है। अत: ऐसे स्थलों के ऐतिहासिकता को कायम रखते हुए दर्शनार्थियों के लिए सुविधाऐं बढ़ाई जायेगी। अत: जिले के नक्शे में इन धार्मिक स्थलों के महत्व को उजागर करते हुए जिला प्रशासन द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे है। इन स्थलों में पहुंच मार्गो को दूरुस्त करने के साथ-साथ आवश्यक सुविधाएं जुटाई जायेगी ताकि अधिक से अधिक दर्शनार्थी एवं पर्यटक इनके दर्शन का लाभ ले सके।
    जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम द्वारा सुदूर अंचल क्षेत्र माने जाने वाले फरसगांव ब्लॉक के अंदरुनी गांव चिंगनार से 8 कि.मी. दूर बसे ग्राम पावड़ा में बहने वाली पावड़ा नदी के बीच प्रसिद्ध शिव मंदिर का अवलोकन करते समय उक्ताशय के विचार प्रगट किए गए। 
    गौततलब है कि इस दुर्गम क्षेत्र में पावड़ा नदी द्वारा प्राकृतिक चट्टानों को काटकर एक टापू सा आकार दिया गया है इसी टापू में प्राचीन शिव मंदिर स्थापित है और इस टापू के चारो ओर सात धाराओ का संगम है। स्थानीय ग्रामीणों की मानें तो पहले यह शिव लिंग नदी के मध्य उक्त टापू में खुले स्थल पर रखा हुआ था और सन् 1980 में 18गढ़ हल्बा समाज द्वारा इस शिव लिंग को एक मंदिर के रूप में स्थापित किया गया। 
    ग्रामीणों का यह भी मानना है कि ग्राम पावड़ा ''भगवान राम'' के वन गमन का मार्ग रहा है और प्रभु राम ने इस शिव लिंग की पूजा की थी। ग्रामीणों की मान्यता यह भी है कि रावण के भाई कुम्भकरण ने इस मंदिर में विचरण किया था जिसके पद चिन्ह आज भी मंदिर के चट्टानों पर दृष्टिगत होते हंै। वर्षों से क्षेत्र के निवासी यहां विशेष धार्मिक पर्वों में नदी में स्नान एवं पूजा-अर्चना के लिए आते है और यहां प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि में भव्य मेला का आयोजन होता है। 
    मौके पर जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने ग्रामीणों से चर्चा के दौरान कहा कि मंदिर दर्शन करने आए दर्शनार्थियों के लिए ह्यूम पाईप पुलिया का निर्माण किया जायेगा। इसके साथ ही यहां दूर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पेयजल की व्यवस्था एवं विश्राम हेतु शेड निर्माण भी किए जाएंगे। ज्ञात हो कि जिला प्रशासन द्वारा इसी वर्ष महाशिवरात्रि पर यहां भव्य मेला का आयोजन किया गया था और श्रद्धालुओं को लाने-ले जाने हेतु नि:शुल्क सिटी बस की व्यवस्था की गई थी।

  •