छत्तीसगढ़ » रायगढ़

Previous123Next
Posted Date : 21-May-2018
  •  छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 21 मई।  विस्फोटक की अवैध खरीदी बिक्री के मामले में देर रात क्राईम ब्रांच पुलिस टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए विस्फोटक से भरी एक वैन को पकड़ा है। जिसमें 120 बोरी नाईट्रेट पावडर, 2 सौ डेकोनेटर तथा 20 बारूद की बत्ती बरामद की है। पुलिस अधीक्षक दीपक झा के निर्देश के बाद अब तक की इस बड़ी कार्रवाई में प्रकाश अग्रवाल सहित अन्य 3 लोग हिरासत में लिए गए हैं साथ ही साथ एक टीम जांजगीर चांपा भी रवाना कर दी गई है।  
      पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने बताया कि देर रात क्राईम ब्रांच टीम को सूचना मिली थी कि टिमरलगा क्षेत्र में वैन क्र. सीजी 11 एबी 3193 से बड़ी मात्रा में विस्फोटक उतारा जा रहा है। प्रकाश अग्रवाल नाम के व्यक्ति इस क्षेत्र में क्रशर उद्योगों को अवैध रूप से बारूद की सप्लाई करते आ रहा था और इसी व्यापारी के यहां 120 बोरी नाईटे्रट पाउडर, 2 सौ नग डेकोनेटर की छड़ तथा 20 बारूद की बत्ती सहित अन्य कई सामान जब्त किए हैं। 
    जिस वैन को क्राईम ब्रांच की टीम ने पकडा है उसके पास न तो ट्रांसपोर्टिंग संबंधी कोई कागजात थे और न ही बारूद के कागजात। पूछताछ के दौरान वैन चालक अपने साथियों के साथ  भागने की कोशिश कर रहा था जिसे पुलिस ने देर रात ही दबोच लिया। वहीं विस्फोटक मंगाने वाले प्रकाश अग्रवाल को भी भागने के बाद एक ढाबे से गिरफ्तार किया। चूंकि पूरे मामले में प्रकाश अग्रवाल ही मुख्य सरगना है, जो जांजगीर चांपा से अवैध रूप से विस्फोटक  मंगाकर आसपास के क्षेत्र में सप्लाई करता था। 
     पुलिस अधीक्षक का यह भी कहना है कि चूंकि मामला काफी गंभीर है और सारंगढ़ क्षेत्र पहले से ही नक्सली प्रभावित रहा है और समय- समय पर नक्सलियों की आमद की जानकारी मिलती रही है। ऐसे में बिना कागजात के विस्फोटक आना अपने आप में बड़ी घटना है।  जिस वैन से विस्फोटक का जखीरा लाया जा रहा था वह जांजगीर चांपा की बताई जाती है और उस व्यापारी के साथ-साथ बिचौलियों को भी जल्द ही धर दबोचा जाएगा। 

  •  

Posted Date : 12-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 12 मई।  जिले के खरसिया विधानसभा क्षेत्र से एक साथ लापता 3 स्कूली बच्चों की पुलिस ने  तलाश तेज कर दी है। अलग-अलग 3 टीमें बनाई गई हंै और सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। 
    खरसिया के तालाबपारा मोहल्ले परसो शाम 10 एवं 12 साल के उम्र वाले तीन बच्चे एक साथ निकले थे लेकिन कल शाम 6 बजे तक घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने  पुलिस  को सूचना दी। पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने बताया कि परसों से लापता इन तीनों बच्चों की उम्र 10 से 12 साल है तथा इन्हें खोजने के लिए खरसिया पुलिस चौकी टीम सहित अलग से दो टीमें बनाई गई है। उनका कहना है कि तीनों बच्चे अपने घर से एक साथ निकले थे। लापता बच्चों में  प्रवीण गोस्वामी पिता रामभवन गोस्वामी उम्र 12 साल, सागर उर्फ पिंटू पिता लालजीत उम्र 10 साल, प्रियांशु भाठ पिता मनोहर भाठ उम्र 10 साल है।
    खरसिया पुलिस के मुताबिक तीनों बच्चे  एक साथ जादू देखने के नाम पर अपने मोहल्ले से निकले थे।  तीनों  गरीब परिवार से  हैं चूंकि उनके माता-पिता उन्हें घर में छोड़कर मजदूरी के लिए सुबह से निकल जाते हैं और इसलिए ये  मोहल्ले में ही खेलते रहते थे।  

  •  

Posted Date : 26-Apr-2018
  • लोग लाश से पंजे काटकर ले गए
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़,  26 अप्रैल। जिले के बंगुरसिया सर्किल के संबलपुरी बीट में आज सुबह एक मादा भालू की लाश मिली। वन कर्मियों के मुताबिक शिकारियों ने जंगली सुअर के शिकार के लिए यह विस्फोटक रखा होगा। शिकारी भालू का नाखून भी काट कर ले गए हैं।
    आज सुबह करीब छह बजे बंगुरसिया सर्किल के संबलपुरी बीट के बादपाली गांव के करीब एक मादा भालू का शव सड़क किनारे पड़ा हुआ था।  ग्रामीणों ने वन अमले को इसकी जानकारी दी। वन विभाग के मुताबिक  प्रांरभिक जांच में  पाया गया कि उसके मुंह में गंभीर चोट के निशान हैं और कीड़े भी लग रहे थे। अनुमान लगाया गया कि जंगली सुअर के बिछाए जाने वाले विस्पोटक सामग्री को चबाने से उसके जबड़े में गंभीर चोट आई और वह खाना व पानी नहीं पीने के कारण  उसकी मौत हो गई। शिकारी आगे के दोनों पैरों के पंजे से उसके सात नाखून को शिकारी काट कर ले गए।   
    जिला सेव फारेस्ट के अध्यक्ष गोपाल अग्रवाल भालू की मौत से यह लग रहा है कि वह विस्फोटक सामाग्री को चबाया है और विस्फोट होने से उसके मुंह में चोट लगा है। कर्मचारी भी मुख्यालय में नहीं रहते हैं। नाखून को भी शिकारी काटकर ले गए हैं। 
    वहीं एसडीओ, एन आर खुंटे का कहना है कि मादा भालू की मौत हुई है और उसके मुंह में चोट के निशान हैं। विस्फोटक सामग्री चबाने के कारण चोट नहीं लग रहा है, वैसे मामले में जांच की जा रही है।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 22 अप्रैल। बीती रात सरगुजा क्षेत्र से करीब 22 हाथियों का एक दल धरमजयगढ़ वन मंडल के कापू वन परिक्षेत्र में पहुंच गया और वहां करीब तीन घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। हांलाकि इससे कोई जनहानि नहीं हुई।  
    वन विभाग ने बताया कि  आज सुबह इसकी सूचना मिली।  विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंच कर नुकसान का आंकलन करने में जुट गए हैं।  ग्रामीणों का घर जंगल के करीब होने के कारण यहां हाथियों ने घरों को उजाड़ा है। फिलहाल मामले में आंकलन कर मुआवजा की तैयारी की जा रही है।
     धरमजयगढ़ वन मंडल में पूर्व में 96 हाथियों का दल अलग-अलग रेंज के जंगल में विचरण कर रहा था, लेकिन अब इनकी संख्या बढ़ कर सौ से अधिक हो चुकी है और 103 हाथी अब धरमजयगढ़ वन मंडल में विचरण कर रहे हैं। ऐसे में अधिकारी ग्रामीणों को हाथियों से बचाव के उपाए भी बता रहे हैं।  

  •  

Posted Date : 21-Jan-2018
  • दर्जनों वारदात में शामिल  
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 21 जनवरी। कक्षा दसवीं का एक टॉपर छात्र एटीएम धोखाधड़ी के आरोप में पकड़ा गया है। वह एटीएम केबिन में खड़े रहकर दूसरे व्यक्तियों के पिन कोड नम्बर पताकर उनके खातों से रुपये निकलाता था। उसे क्राईम ब्रांच तथा कोतवाली पुलिस ने लैलूंगा से पकड़ा। उसने रायगढ़ तथा ओडिशा में कई जगहों पर वारदात की बात कबूली है। 
    पुलिस के अनुसार थाना चक्रधरनगर में  कार्यरत सिपाही तुलसीराम नाग नौ जनवरी की दोपहर इतवारी बाजार एटीएम गया था। जहां उसने मिनी स्टेटमेंट निकालने के बाद रुपये निकालने के लिए अपना एटीएम कार्ड मशीन में डाला।  प्रोसेसिंग चल ही रहा था कि एटीएम कक्ष में मौजूद एक लड़के ने अपना कार्ड एटीएम   मशीन में डालने का छलकर नाग के जाने के बाद उसके खाते से 20,000 रुपये निकाल लिया। सिपाही ने 12 जनवरी को थाना कोतवाली में इसकी शिकायत की थी।  विवेचना के दौरान  एटीएम तथा आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज प्राप्त किया गया। क्राईम ब्रांच ने संदेही की गतिविधियों की जानकारी एकत्र कर उसे रायगढ़ लेकर आए।  उसने नाग के एटीएम खाते से 20,000 रुपये निकालने की बात कबूली है। 
    अपचारी  10वीं में स्कूल का टॉपर रहा है। वर्तमान में कक्षा 12वीं की ओपन परीक्षा में बैठने की तैयारी कर रहा है। 
    अपचारी ने सारे वारदात अकेले करने की जानकारी देते बताया कि उसके द्वारा केवल ऐसे एटीएम सेंटर में वारदात किया जाता था जहां एटीएम मशीनों में एक विशेष प्रकार की खराब होती थी जिसमें कुछ देर तक डिस्पले नहीं आता था। अपचारी किशोर ने ओडिशा में एक दर्जन से अधिक वारदात करना बताया। उसे जल्द ही किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष भेजा जाएगा।  

     

  •  

Posted Date : 09-Jan-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता ने पहुंचाया
     रायगढ़, 9 जनवरी। आज रायगढ़ जिले के लिए शैडो कलेक्टर नियुक्त सुशील साह सर्किट हाउस से सीधे रायगढ़ कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। वर्तमान कलेक्टर शम्मी आबिदी से मुलाकात की। अपने पहले दिन के कार्यकाल में उन्होंने जनदर्शन जैसे महत्वपूर्ण कार्य को समझने के साथ-साथ उसे क्रियान्वयन  की बात कही।  
    महासमुंद जिले के सराईपाली ब्लाक के गांव लाती के रहने वाले सुशील साहू कहते हैं कि मूल रूप से वह एक गरीब परिवार से पले बढ़े हैं और खेती किसानी के जरिए उनके घर का खर्चा चलता है। किसान के बेटे सुशील कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा आयोजित यूथ स्पार्क खेलेगा छत्तीसगढ़ जीतेगा छत्तीसगढ़ प्रतियोगिता में सफलता हासिल करने के बाद उन्हें मौका मिला।  जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचने से पहले सुशील साहू रायपुर से देर रात रायगढ़ पहुंचे थे और स्टेशन से आटो पकड़कर सर्किट हाउस में रात गुजारी। पहले दिन वह साढ़े 10 बजे कार्यालय पहुंचकर अपना काम शुरू करना चाहते थे, लेकिन उनके पास सरकारी वाहन लेने के लिए नहीं पहुंची तो वे पैदल ही सड़क पर निकल गए थे। 
    इस दौरान छत्तीसगढ़ संवाददाता नरेश शर्मा ने उन्हें अपने दुपहिया में बिठाकर कलेक्टर दफ्तर पहुंचाया। वर्तमान कलेक्टर ने बताया कि आज दिन भर सुशील उनके साथ रहेंगे और सरकार की मंशा के अनुरूप उन्हें जन दर्शन के कार्यों के अलावा अन्य मीटिंग में भी साथ में बैठाकर कार्यों को समझाया जाएगा। 

  •  

Posted Date : 26-Dec-2017
  • सखी की सहायता से परिजन पहुंचे रायगढ़

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 26 दिसंबर। पंजाब के पटियाला से लापता हुई गर्भवती महिला को लेने उसके परिजन रायगढ़ पहुंच गए हैं। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती बहन को देख, भाई के आंखों से आंसू छलक पड़े। जो करीब 6 माह से लापता बहन को पंजाब व हरियाणा में चप्पा-चप्पा खोजने के बाद मृत मान चुके थे। परिजनों ने बताया कि रायगढ़ के लोगों ने उसकी मानसिक विक्षिप्त बहन के साथ कुछ अनहोनी नहीं होने दी। वही सखी सेंटर की मदद से परिजनों को खोज, अब उसे सुपुर्द करने की तैयारी की जा रही है। उसके भाई तथा उसके जीजा एवं अन्य रिश्तेदार खुशी से गदगद हैं चूंकि उन्हें लगभग  सात महीने बाद उनकी बहन न केवल जीवित मिली बल्कि उसके पेट में पल रहा बच्चा भी स्वस्थ्य है। 
     इसे संयोग ही कहा जाएगा कि एक महिला  केलो बाई अपने ससुराल वालों की प्रताडऩा के चलते 7 माह तक अपने परिजनों से न केवल दूर रही बल्कि उसके पेट में पल रहे बच्चे को भी दर-दर की ठोंकरे खानी पड़ी। लेकिन एक पहल के जरिए अब वह अपने परिवारवालों के साथ वापस मायके लौट  रही है।  कई माह से लापता व विक्षिप्त बहन को पंजाब के पटियाला से लेने आए भाई ने कहा कि उनके द्वारा पंजाब के साथ हरियाणा के चप्पे-चप्पे में बहन को खोजा गया। पर समय बीतने के साथ उम्मीद भी खत्म हो रही थी। पर अचानक पटियाला पुलिस घर पहुंची और केलो के जिंदा होनी की सूचना दी।  उससे फोन पर बात भी कराई गई। जिसके बाद गर्भवती केलो को लेेने के लिए उसके परिजन रविवार की देर रात रायगढ़ पहुंचे। 
    रायगढ़ के नेतनागर में पिछले 3 माह से लावारिश रूप से घूम रही महिला की जानकारी स्थानीय ग्रामीणों ने सखी सेंटर को दी थी। सखी सेंटर ने विक्षिप्त महिला केलो की काउंसलिंग की। जहां पंजाब के पटियाला का नाम आया। उसके बाद उसके परिजनों तक पहुंचने की पहल की गई। जिसमें करीब 72 घंटे बाद सफलता मिली। अपनी बहन को अस्पताल में पाकर उसका भाई इच्छाराम खुशी से फूला नहीं समा रहा है और उसकी आंख की चमक भी बता रही है कि जिस बहन को उन लोगों ने मरा हुआ मान लिया था वह आज जीवित उनके सामने खड़ी है। पंजाब के संगरूर जिले के ग्राम भवानीगढ़ से होते हुए ये तीनों आज रायगढ़ पहुंचे। 
    उसके जीजा जग्गी ने  दास्तां बताते हुए कहा कि ससुराल वालों ने इसकी चार माह की बच्ची को भी कहां छुपा दिया है यह पता नहीं चल पा रहा है और केलो को कुछ खिलाकर गाड़ी में बैठा दिया था। 7 माह से वे परिवार के साथ मिलकर खोजने में मशगूल थे और पंजाब पुलिस को भी इसकी सूचना दी थी। अब उन्हें उनकी साली जीवित मिली है तो वे उसे न केवल पालेंगे बल्कि ससुराल से दूर रखकर उसके पेट में पल रहे बच्चे की भी देखभाल करेंगे। उन्हें भरोसा है अब उन्हें इंसाफ मिलेगा। 
    वहीं सखी वन स्टाफ की प्रमुख बताती है कि तीन दिन पहले ही उन्हें  नेतनागर के पास इस महिला की बेहोशी में पड़े होने की सूचना मिली थी और तत्काल इस महिला के पास उनकी टीम पहुंचकर उसे अस्पताल में दाखिल कराया था और महिला मानसिक रूप से खासी परेशान थी और उससे पूछताछ के बाद अंदाजा लगाया कि वह पंजाब की है तब इंटरनेट के माध्यम से इसका पता लगा कर घरवालों को सूचना दी। अब घरवालों को बुलाकर उन्हें सुपुर्द किया जा रहा है।  बहरहाल मेडिकल कॉलेज से अपनी बहन को उसका परिवार वापस पंजाब ले जा रहा है और परिवार वालों को यह उम्मीद है कि उसकी बहन को अब वहां की पुलिस इंसाफ दिलाएगी। 

  •  

Posted Date : 24-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 24 दिसंबर। दक्षिण पूर्व रेलवे के रायगढ़ स्टेशन से कुछ दूर पर स्थित केबिन के पास ओएचई तार टूटने से मुंबई हावड़ा व हावड़ा मुंबई मार्ग पर रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस मार्ग पर चलने वाली आधा दर्जन से अधिक यात्री गाडिय़ां अपने निर्धारित समय से कई घंटे लेट चल रही हैं। सुधार कार्य शुरू कर दिया गया है और इसमें अभी भी कई घंटे लगने की संभावना है। 
    ओएचई तार टूटने से अभी भी हावड़ा से अहमादाबाद जाने वाले अहमादाबाद एक्सपे्रस, पुरी से निजामुद्दीन जाने वाली उत्कल एक्सपे्रस के अलावा झारसुगड़ा से गोदियां जाने वाली पैसेंजर तथा दुर्ग से पटना जाने वाली दानापुर एक्सपे्रस, निजामुद्दीन से पुरी जाने वाली उत्कल एक्सपे्रस भी अपने निर्धारित समय से करीब दो से तीन घंटे लेट चल रही है। बिलासपुर से टिटलागढ़ जाने वाली पैसेंजर को रद्द कर दिया गया है।  
    सहायक स्टेशन मास्टर आरके महतो का कहना था कि सुबह करीब 9 बजे ओएचई तार टूटने से रेल यातायात प्रभावित हुआ है और उसको सुधारने का प्रयास जारी है। जल्द ही रेल यातायात व्यवस्था बहाल कर दिया जाएगा।
    रेल यातायात प्रभावित होने से रायगढ़ स्टेशन पर यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और रेलवे कर्मचारी भी रेल विभाग द्वारा समय पर चलने वाली ट्रेनों के बारे में पूरी तरह से जानकारी नहीं दे पा रहे हैं। यहां तक डिस्पले बोर्ड में भी सही जानकारी नहीं मिल रही है। यात्रियों का कहना है कि पूछताछ विभाग से भी कोई  जानकारी नहीं मिल पा रही है। कई घंटेे से वे यहां ट्रेनों का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन कौन सी ट्रेन कब आएगी इसकी जानकारी तक देने वाला नहीं है। 

     

  •  

Posted Date : 14-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 14 दिसंबर। रायगढ़ घरघोड़ा मार्ग पर आज सुबह तिरूमाला बालाजी अलॉयज की जनसुनवाई में में जा रही पुलिस बस में  आग लग गई।  सवार जवानों ने कूदकर जान बचाई। दमकल ने जब तक आग पर काबू पाया  तब तक बस पूरी तरह  खाक हो चुकी थी। 
    आज सुबह  तिरूमाला बालाजी अलॉयज की जनवाई में सुरक्षा व्यवस्था के लिए जा रही पुलिस बस में बंजारी मंदिर के समीप अचानक  आग लग गई ।  घटना से अफरा-तफरी मच गई और बस में सवार जवानों ने कूद कर जान बचाई। घटना स्थल रायगढ़  से  करीब 20 किमी 

    दूर होने के चलते फायर बिग्रेड पहुंचने में  देरी हुई।  
    इस संबंध में सिटी कोतवाली थाना प्रभारी आर.के.मिश्रा का कहना था कि मामले की जांच की जा रही है। बस से बाहर निकलते तथा  कांच तोड़ते  उर्दना में प्रशिक्षण ले रहे कुछ नव आरक्षकों को चोटें आईं  जिनका प्राथमिक उपचार पुलिस अस्पताल में किया गया है। बस चालक उदयसिंह का कहना है कि बस में शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी।  

  •  

Posted Date : 04-Dec-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 4 दिसंबर। स्थानीय नगर निगम में स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय घोटाले  के दोषी ठेकेदारों पर कार्रवाई न होने से नाराज महापौर ने आंदोलन की चेतावनी दी है। 
    ज्ञात हो कि ठेकेदारों तथा अधिकारियों की मिलीभगत के चलते कागजों में ही शौचालय पूरा बनाकर करोड़ों की राशि निकाल ली गई। जांच में पूरे तथ्य सामने आने के बाद भी किसी भी ठेकेदार पर कार्रवाई तो दूर जवाब-तलब तक नहीं किया जा रहा है। 
    अब इस मामले में जांच समिति के सदस्य तथा निगम के पार्षद अपनी आवाज मुखर करते हुए कार्रवाई की मांग कर रहे हंै और दोषी ठेकेदारों पर एफआईआर नहीं होने पर सामान्य सभा के बीच मामले को उठाने की बात कह रहे हैं। 
    इतना ही नहीं महापौर ने सीधे-सीधे यह चेतावनी दी है कि इतने गंभीर मसले पर दोषी ठेकेदारों  पर कार्रवाई नहीं होना इस बात का संकेत है कि कमीशनखोरी के भार में दबे अधिकारी इनको बचाने में लगे हैं और इस मामले को लेकर वे कलेक्टर से मिलेंगी और कार्रवाई नहीं होने पर खुद धरने पर बैठ जाएंगी। 
    किस ठेकेदार ने बनाए कितने 
    निगम क्षेत्र में शौचालय निर्माण करने वाले प्रमुख ठेकेदारों के नाम और उनके द्वारा निर्मित शौचालय की संख्या प्रकाशित हुई है। योजना अनुसार 2000/- रू. हितग्राही का अंशदान एवं 18000/- रू. शासन का) अर्थात प्रति शौचालय 20 हजार की लागत निर्धारित है। इस आधार पर ठेकेदारों को भुगतान किया गया है।
    सूची प्रस्तुत है।
    1. संजय अग्रवाल(1133 शौचालय)-  2 करोड़ 26लाख 60 हजार  
    2. जयकिशन अग्रवाल (827 शौचालय) - 1 करोड़ 65 लाख 40 हजार  
    3. फास्ट ट्रैक निर्माण एजेंसी- कौशल अग्रवाल (539 शौचालय)- 1करोड़ 7लाख 80 हजार  
    4. एस.आर.कंपनी- नितेश पांडेय, सौरभ अग्रवाल, राकेश (421 शौचालय) - 84 लाख 20 हजार  
    5. अजय शर्मा फर्म (328 शौचालय)-  65 लाख 60 हजार  
    6. विराट कंस्ट्रक्शन -रितेश अग्रवाल, विकास केडिय़ा (318 शौचालय) - 63 लाख 60 हजार  
    7. जनचेमन फर्म- मुक्ति मेहर ( 295 शौचालय) - 59 लाख रुपये
    8. सोसायटी ऑफ पीपुल्स वेलफेयर - मुकेश कुमार सिंह  (265 शौचालय) -  53 लाख  
    9. फिरत जायसवाल फर्म (299 शौचालय )     - 59 लाख 80 हजार  
    10. रितेश पांडेय फर्म (236 शौचालय) - 47 लाख 20 हजार 
    11. राजेश गुप्ता फर्म (223 शौचालय) -  44 लाख 60 हजार  
    12. विजय सिंघानिया फर्म (175 शौचालय)- 35 लाख  
    13. अनिल डालमिया फर्म (159 शौचालय) -  31 लाख 80 हजार  
    14. प्रदीप मिश्रा फर्म (153 शौचालय)-  30 लाख 60 हजार  
    15. सूरज जायसवाल फर्म (111 शौचालय) -  22 लाख 20 हजार  
    16. अली अशरफ फर्म (100 शौचालय)     -  20 लाख 

     

  •  

Posted Date : 26-Nov-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 26 नवंबर।  सहेली के साथ घूमने निकली नाबालिग से गैंगरेप के मामले में पुलिस ने दो नाबालिग सहित एक युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में से दो नबालिग हंै।
    पीडि़ता के रिश्तेदार ने बताया कि नाबालिग कल शाम अपनी सहेली के साथ  घूमने जाने के लिए निकली थी। काफी देर तक नहीं लौटने पर भी उसका पतासाजी किया गया, पर वह नहीं मिली। देर रात वह बदहवास हालत में  घर पहुंची, तब उसके  साथ हुए बलात्कार की जानकारी मिली। 
    वहीं सिटी कोतवाली पुलिस के एएसआई कुसूम ने बताया कि रिश्तेदारों की शिकायत के बाद देर रात तीनों  को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए तीन में से दो नाबालिग हैं और उसी मोहल्ले के रहने वाले हैं।  पुलिस का कहना है कि पीडि़त किशोरी को जबरन उठाकर उसके साथ बलात्कार किया गया है।   

     

  •  

Posted Date : 24-Nov-2017
  • 3 साल नहीं लड़ पाएंगे चुनाव, आयोग का आदेश
    चुनावी खर्च का ब्यौरा नहीं दिया 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायगढ़, 24 नवंबर। चुनाव की तिथि नजदीक आने के बाद अब चुनाव आयोग ऐसे प्रत्याशियों पर कार्रवाई करके उन पर तीन साल के लिए चुनाव लडऩे पर रोक लगाने जा रहा है जिन्होंने चुनावी मैदान में उतरने के बाद नियमानुसार संबंधित निर्वाचन अधिकारी के पास समय सीमा के भीतर अपने चुनाव खर्चे का ब्यौरा पेश नहीं किया था। लोक प्रतिनिधित्व 1951 की धारा 10 क के तहत निरर्हित घोषित करते हुए संबंधित निर्वाचन अधिकारियों को पत्र भेजकर सूचना देने के लिए कहा गया है। 
    आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस आदेश में रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र के प्रत्याशी राम नारायण अयाम तथा धनंजय राठिया सहित  दुर्ग के 2, बिलासपुर के 1, राजनांदगांव के 3, रायपुर के 1, महासमुंद के 15 प्रत्याशी शामिल हंै। इसी तरह विधानसभा चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों में से रायगढ़ से जयकिशोर प्रधान, खरसिया से अजय कुमार सिदार, धर्मजयगढ़ से त्रिभुवन सिंह राठिया और बसिल बेग को भी समय सीमा के भीतर अपना चुनावी खर्चा ब्यौरा पेश नहीं करने पर तीन साल के लिए आयोग करार घोषित किया है। 
    रायगढ़ चुनाव कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय दलों के साथ चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों में से कुनकुरी विधानसभा के नेस्टोर कुजूर, पत्थलगांव के अनिल कुमार परहा, पाटन विधानसभा क्षेत्र के 2 , वैशाली नगर का 1, कर्वधा के 3, केशकाल के 2, रायपुर उत्तर के 2, धमतरी के 2, दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र से 3, पंडरिया के 1, भिलाई नगर से 1, लोरमी से 2, मुंगेली से 1, बसना से 2, खल्लारी से 1 महासमुंद से 1, रायपुर पश्चिम से 1, रायपुर उत्तर से 8, डोडी लहरा से 2, जगदलपुर से 2, भरतपुर से 3, मनेन्द्रगढ़ से 3, पे्रमनगर से 2, भटगांव व से 3, प्रतापपुर से 1, सराईपाली से 1, राजिम से 1, बिंद्रानवागढ़ से 3, बेमेतरा से 2 , गुडरदेही से 2, डोंगरगढ़ से 1, लुंडरा से 2, अंबिकापुर से 4, कटघोरा से 1, चंद्रपुर से 1, खल्लीरी से 1, संजारी बलौद से 1,नारायणपुर से 1, सीतापुर से 1, खैरागढ़ से 1, राजनांदगांव से 2, डोंगरगांव से 1, मानपुर मोहला से 1, जगदलपुर से 1, मरवाही से 2 प्रत्याशी शामिल हंै। 
    इस संबंध में जिले के निर्वाचन कार्यालय के अधिकारी ने बताया कि अलग-अलग जिला निर्वाचन अधिकारियों को यह आदेश दिल्ली मुख्य निर्वाचन से भेजे जा चुके हैं और इसी आदेश के तहत रायगढ़ लोकसभा के 2 प्रत्याशी के साथ-साथ जिले की रायगढ़, खरसिया तथा धर्मजयगढ़ क्षेत्र में चुनाव लडऩे वाले इन प्रत्याशियों को नोटिस भेजकर जानकारी दे दी गई है।

  •  

Posted Date : 19-Nov-2017
  • ठेकेदार व मुंशी ने भी पल्ला झाड़ा 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 19 नवंबर। केन्द्र सरकार के श्रम मंत्रालय के तहत बनाए जा रहे भवन तथा कार्यालय स्थल में स्कूली बच्चों को स्कूल से वंचित करके काम लिया जा रहा है। बड़े खतरे के बीच काम करते बच्चों को न तो ठेकेदार रोक रहा है और न ही स्थल में तैनात मैनेजर। दिनदहाड़े इस स्थल में सुबह से लेकर शाम तक नन्हें बच्चे रेत व ईंट गिट्टी ढो रहे हैं। जो बच्चे निर्माण स्थल में काम कर रहे हैं उनकी उम्र 10 से 12 साल है और तीनों बच्चों के माता-पिता जांजगीर चांपा जिले के रहने वाले हैं। 15 दिनों से रायगढ़ में रहकर वे रोजी रोटी कमाने के लिए यहां बसे हुए है जिसके चलते बच्चों का स्कूल जाना भी बंद है। 
    श्रम मंत्रालय के तहत  हाउसिंग तथा कार्यालय योजना  नन्हें बच्चे स्कूल ड्रेस में रेत तथा ईंटा का ढोने का काम कर रहे हैं। सुबह से लेकर देर शाम तक यही नाजारा यहां देखने को मिल रहा है। जबकि मौके पर बच्चों की मां भी अपने बच्चों को रोकने से परहेज करती है। श्रम मंत्रालय के इस स्थल में काम कर रहे बच्चों को न तो ठेकेदार रोक रहा था और न ही इंजिनियर के द्वारा मना किया जा रहा था। 
    जब बच्चों की मांं से बच्चों के काम करने की बात पूछा गया तो वह भागती नजर आयी और बातचीत के दौरान उसने यह कहा कि पेट पालने के लिए काम तो लेना ही पड़ेगा। इसके बाद हमने चौकीदार के अलावा ठेकेदार के मुंशी और उसके पिता से बात की तो सभी का अलग-अलग ढंग से जवाब था। अपने बच्चों के बारे में पिता का कहना था कि वह जांजगीर-चांपा से यहां आया है और 15 दिन से बच्चे स्कूल नहीं जा रहे हैं और खेलते समय बच्चे ऐसा कर रहे हैं।  
    श्रम मंत्रालय के इस निर्माण स्थल पर रायगढ़ जिले के श्रम विभाग कार्यालय तथा हाउसिंग के तहत मकान बनाए जा रहे हैं परिसर में कई लोग बिना सुरक्षा के काम करते नजर आ रहे थे और नन्हें बच्चे भी बाहर से रेत घमेले में उठाकर सिर पर रख कर काम करते नजर आ रहे थे। इसे कैमरे में कैद करने के बाद श्रम विभाग के क्षेत्र प्रभारी बीपी पटेल  से पूछा तो  उनका कहना था कि मीडिया के माध्यम से उन्हें इसकी जानकारी मिली है। तो वे जांच कर जल्द ही कार्रवाई करेंगे।     

  •  

Posted Date : 14-Nov-2017
  • नरेश शर्मा
    रायगढ़,14 नवंबर।  उम्र 66 साल, पहले बढ़ाई, फिर मजदूरी। फिर  एक निजी स्कूल में चौकीदार प्रेमलाल ने अपनी बॉडी ऐसे बना ली है जिसे  आज का युवा भी देखता रह जाए। प्रेमलाल सुबह साढ़े 4 बजे उठते हंै और व्यायाम करने के बाद अपने काम काज में लग जाते हंै।  न कोई खास डाइट है और न ही हर रोज दूध और अंडे के लिए जेब में पैसा। बस जो भी रूखा-सूखा मिला खा लिया। 
    स्थानीय युवा इनकी तुलना हॉलीवुड एक्टर अरनॉल्ड श्वार्जनेगर से करते हैं। पर इनको न तो अरनॉल्ड की तरह अच्छी डाइट नसीब है और न ही जिम और ट्रेनर। जिस उम्र में लोग तमाम रोगों से घिर जाते हैं और उनकी दिनचर्या में दवाओं की एक झोली हरदम साथ रहती है उसी उम्र में गौशालापारा निवासी 66 वर्षीय प्रेम लाल निषाद की बॉडी देख युवा भी शरमा जाते हैं।  
    चौकीदार की नौकरी करने वाले प्रेमलाल अपने लिए दो जून की रोटी मुश्किल से जुटा पाते हैं।  (बाकी पेजï 5 पर)
    वर्ष 1966 में आई धर्मेंद्र और मीना कुमारी की फिल्म फूल और पत्थर ने प्रेमलाल की जिंदगी का मकसद ही बदल दिया।  इन्हें धर्मेंद्र की बॉडी इतनी अच्छी लगी कि ये हर रोज पुशअप और ईंट लेकर बाइशेप बनाने लगे। डंडे में दोनों तरफ ईंट बांधकर चेस्ट की एक्सरसाइज करने लगे।  फिर इलाके में एक साधारण जिम में जहां महीने में 100 रुपये देने पड़ते हैं कसरत कर रहे हैं। 
    66 साल की उम्र में ये हर रोज 400 पुशअप और 70 बेंच प्रेस, 50-50  राउंड बाइशेप और ट्राइशेप की एक्सरसाइज करते हैं।  प्रेमलाल बताते हैं कि चुस्त-दुरुस्त होने से ये अपनी जिंदगी को पूरे आनंद के साथ जी रहे हैं।  इन्होंने बताया कि ये अक्सर देखते हैं कि इनके साथ काम करने वाले बिस्तर पकड़ लेते हैं।  प्रेमलाल कहते हैं कि ये केवल दिनचर्या ठीक रखते हैं और एक्सरसाइज नियमित करते हैं। खाना समय पर खाते हैं।  ये सुबह 4 बजे उठ जाते हैं और रात में 9 बजे तक सो जाते हैं। प्रेमलाल को देखकर उनके स्कूल में पढऩे वाले छात्र भी उनके जैसा बनना चाहते हैं। वे प्रेमलाल को प्यार से सल्लू याने सलमान खान बोलते हंै।  
    लाइफ स्टाइल मुख्य कारण
    66 साल के प्रेमलाल के स्वस्थ्य शरीर व बॉडी बिल्डिंग के मामले में मेडिकल कॉलेज की डायटिशियन तब्बसुम खान के मुताबिक लाइफ स्टाइल किसी व्यक्ति के शरीर पर प्रभाव डालती है। कोई व्यक्ति सही समय पर नींद, खाना और कसरत करता है तो किसी स्पेशल डाइट की जरूरत नहीं है।  व्यक्ति के लिए उसका लाइफ रूटीन एंटी एज का काम करती है। सही समय पर खाना और सोना व्यक्ति के उम्र के संतुलन बनाकर रखता है।   (छत्तीसगढ़)

     

  •  

Posted Date : 12-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 12 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा आज किसानों को बोनस देने के लिए बोनस तिहार मनाया जा रहा था। इसी दौरान एक ओर रामनिवास टॉकीज रोड पर सैकड़ों कांगे्रसियों के द्वारा धरना प्रदर्शन कर भाजपा सरकार की नाकामी व वदाखिलाफी को लेकर जमकर नारेबाजी कर रहे थे। इसके बाद सैकड़ों कांग्रेसी धरना प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री का घेराव करने के लिए कार्यक्रम स्थल जा रहे थे कि रास्ते में ही पुलिस ने सैकड़ों कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया।
    सुबह करीब 11 बजे से रामनिवास टॉकीज चौक पर कांग्रेसियों के द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया। इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शहर नगेन्द्र नेगी ने वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार के द्वारा जनहित के लिए कुछ भी नहीं किया जा रहा है। शहर से लेकर गांव तक की सड़के जर्जरावस्था में और लाख विरोध के बाद भी सरकार का ध्यान नहीं है। उनका कहना था कि मुख्यमंत्री किसानों के हित की बात करते हैं, लेकिन उनके हित के लिए कुछ नहीं किया जाता है। चार सालों से बोनस नहीं दिया गया और अब चुनाव पास आ रहा है, तो एक साल का बोनस देकर फिर से किसानों को छलने का काम किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि हम बोनस तिहार का विरोध नहीं कर रहे हैं। बल्कि किसानों के चार साल के बोनस की मांग करने के लिए हम आज सड़क पर उतरे हैं। 
    इस दौरान भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई और धरना स्थल से निकल कर सैकड़ों कांग्रेसी मुख्यमंत्री का घेराव करने के लिए निकले, लेकिन विद्युत विभाग के सामने पुलिस के द्वारा पहले से कांग्रेसियों को रोकने के लिए बैरिगेट्स लगा दिए गए दिए और यहां कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर लिया गया।
     गिरफ्तारी देने वाले कांग्रेसियों में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शहर नगेन्द्र नेगी, निगम सभापति सलीम नियारिया, शाखा यादव, असरफ खान, संजय देवांगन, वसीम खान, लोकेश साहू, महिला कांग्रेस की स्नेहलता शर्मा, संजना शर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में कांगे्रसी शामिल थे।

     

  •  

Posted Date : 11-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 11 अक्टूबर। जिले के घरघोड़ा तहसील न्यायालय में सारंगढ़ विधानसभा की पूर्व बसपा विधायक काम्दा जोल्हें के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करते हुए आगामी माह न्यायालय में पेश होने का आदेश जारी किया है। 
    घरघोड़ा निवासी पीडि़त हुलसराम लहरे से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व विधायक काम्दा जोल्हें ने उससे उधारी की रकम तीन लाख रुपये वर्ष 2011 में ली थी और इस रकम को लौटाने के लिए कई बार सपंर्क किया, लेकिन काम्दा जोल्हें ने नगद पचास हजार रुपए देने के अलावा एक चेक दो लाख व दूसरा चालीस हजार का दिया था। दोनों चेक बाउंस हो गए। इसके बाद भी पूर्व विधायक काम्दा जोल्हे ने इस मामले में कोई जवाब नहीं दिया। 
    तब हुलसराम ने घरघोड़ा न्यायालय में एक परिवाद दायर किया। जिसमें पहले काम्दा जोल्हे को जमानत वारंट के आधार पर छोड़ा गया था और सुनवाई शुरू हो गई थी, लेकिन अब दूसरी पेशी के बाद वह न्यायालय के समक्ष पेश नहीं हो रही थी। ऐसे में न्यायिक मजिस्टे्रट प्रथम श्रेणी घरघोड़ा ने कल काम्दा जोल्हे के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करते हुए उसे अगली तिथि में पेश होने का आदेश दिया है। 

  •  

Posted Date : 07-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    रायगढ़, 7 अक्टूबर। लैलूंगा क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम झरन में एक युवक ने अपनी मां को डंडे से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी। युवक उसकी मां के चरित्र पर संदेह करता था। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा पर भेजा गया है।
     प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम झरन में उर्मिला कंवर (46 वर्ष) अपने लड़के गुरूवारू कंवर  और लड़की हरावती के साथ रहती थी।  पति सुखसाय की मौत पूर्व में हो चुकी थी।  गुरूवारू  अपनी मां के चरित्र पर शंका करता था और इसीको लेकर मां-बेटे में आए दिन विवाद होता था।  सुबह करीब 10 बजे इनका झगड़ा हिंसक रूप ले लिया और गुरूवारू  ने घर में रखे डंडे से पीट पीटक अपनी मां की हत्या कर दी। 
    घटना के समय घर पर कोई नहीं था। झगड़े की आवाज सुनकर गुरूवारू का बड़े पिताजी घर आकर देखा तो उर्मिला  मरी पड़ी थी। उसके चेहरे से खून निकल रहा था और उसके बगल में ही गुरूवारू  डण्डा लेकर खड़ा था।  उसने ही बताया कि अपनी मां को मार दिया है। घटना की रिपोर्ट पर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड के लिए न्यायालय पेश किया गया है।

  •  

Posted Date : 07-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 7 अक्टूबर। रायगढ़ वन परिक्षेत्र से तमनार रेंज की ओर हाथी का एक दल जा रहा था। जहां केलो नदी को पार करते दौरान एक हाथी का पानी में डूबने से मौत हो गई। उसके पीठ को देखने के बाद मामले की जानकारी देर शाम वन विभाग को लगी। 
    तमनार वनपरिक्षेत्र के प्रभारी रेंजर समीर जोनाथन ने बताया कि शाम को हाथी का केलो नदी में डूब जाने की सूचना मिली थी। तेज पानी व रात हो जाने के कारण उसे कल बाहर निकालना सम्भव नहीं था। ऐसे में आज सुबह से उसे निकालने का प्रयास किया गया और दोपहर डेढ़ बजे तक शव को बाहर निकाल कर आगे की कार्रवाई की गई है। 
    मिली जानकारी के अनुसार कल रात जुनवानी की आस से कसडोल तमनार रेंज की ओर हाथी का दल जा रहा था। रास्ते मे केलो नदी को पार करते दौरान एक हाथी पानी में फंस गया और उसकी संभवत: मौत हो गई। देर शाम को हाथी के पीठ को कुछ लोगों ने देखा और मामले की जानकारी वन अमला को दी गई, लेकिन रात होने व नदी में पानी का बहाव तेज होने के कारण उसे निकालना मुश्किल हो गया था।  आज सुबह से उसे पानी से बाहर निकालने के लिए अभियान चलाया गया। जहां करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद निकाल लिया गया। विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में उसका पोस्टमार्टम कर आगे की कार्रवाई की गई। 

  •  

Posted Date : 03-Oct-2017
  • 50 से अधिक गांव के लोगों ने किया खनन का विरोध

    अपनी जमीन अपना कोयला की तर्ज पर किया आंदोलन

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 3 अक्टूबर। रायगढ़ जिले के तमनार ब्लाक में 2 अक्टूबर महात्मा गांधी जयंती पर फिर से कोयला सत्याग्रह का आयोजन किया गया जिसमें अकेले तमनार ब्लाक के लगभग 50 गांव के लोग इकट्ठा होकर महात्मा गांधी के नमक कानून की तर्ज पर कोयला कानून को तोड़कर वहां की जमीनों से कोयला निकालते हुए अपना विरोध दर्ज करवाया। 
    बीते 5 साल से तमनार ब्लाक में यहां के ग्रामीण महात्मा गांधी की जयंती पर इसी प्रकार का कोल सत्यग्रह आयोजित करते आए है जिसमें पांच हजार से भी अधिक की संख्या में कोल ब्लाक से प्रभावित 50 गांव के ग्रामीण इकट्ठा होकर रैली निकालते हुए सरकार के विरूद्ध नारेबाजी करने के बाद वहां स्थित कोयला खदान में कोयला खोदकर अपना विरोध जताते आ रहें है। कल देर शाम आयोजित इस कोयला सत्याग्रह में तमनार ब्लाक के गारे पेलमा के अलावा आसपास के कई गांव के लोग मिलकर इस कोयला सत्याग्रह को हर साल मनाते आए हंै।
     इन ग्रामीणों का यह आरोप है कि तमनार ब्लाक में कोयला के अप्रचुर मात्रा में भंडार है और यहां केन्द्र और राज्य सरकार बड़ी-बडी कंपनियों को कोयला उत्खनन करने की अनुमती देकर गांव के गांव उजाड रहें है लेकिन अब प्रभावित ग्रामीण खुद कोयला खोदकर उद्योगों को शासन के नियमानुसार कोयला बेचने के लिए तैयार हैं लेकिन सरकार उनकी नही सुन रही है। जिसके चलते कल 2 अक्टूबर के दिन महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह की तर्ज पर कोयला सत्याग्रह करते हुए सरकार के कानून को तोड़ा तथा उनके नियम को गलत बताते हुए प्रभावित ग्रामीणों को उनके अधिकार देने की बात कही। सत्याग्रह सत्याग्रह के प्रमुख डॉ हरिहर पटेल तथा एनजीओ जन चेतना मंच के राजेश त्रिपाठी व सवित रथ के अलावा विभिन्न प्रांतों से आए लोगों के सामने पहले एक आम सभा आयोजित की गई उसके बाद ग्राम गारे से एक रैली निकालकर पेलमा स्थित एसईसीएल द्वारा संचालित कोयला खदान के पास ग्रामीणों ने कोयला खोदकर अपना विरोध दर्ज करवाया। 
    बीते पांच से आयोजित होनें वाले इस आंदोलन में तमनार वासियों ने पहले जिंदल द्वारा ली गई गारे पेलमा की कोयला खदान आबंटन का जमकर विरोध किया  था और अब नए नीलामी के तहत वर्तमान में ये खदाने एसईसीएल की कस्टोडियन में संचालित हो रही है और आने वाले समय में चार और नई कोयला खदानें शुरू होनें की सुगबुगाहट तेज हो गई है जिससे 150 से अधिक गांव नक्शे से गायब हो जाएंगे। 

     

  •  

Posted Date : 28-Sep-2017
  • कपड़ा लौटाने पर विवाद
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 28 सितंबर। जिले के खरसिया में बीती रात एक व्यापारी के साथ कपड़ा बदलने को लेकर हुए विवाद के बाद करीब दर्जन भर युवकों ने उसकी पीट-पीट कर हत्या कर दी। इस मामले में खरसिया पुलिस ने अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। शेष आरोपियों की तालाश जारी है। 
    पुलिस के मुताबिक रायगढ़ सिंधी कालोनी निवासी अर्जुन रोहड़ा की खरसिया  रेलवे स्टेशन सब्जी मंडी के पास कपड़ा दुकान  है। कल सुबह ग्राम सपिया निवासी विद्यानंद राठौर, लोकेश बंजारे उसकी दुकान से कपड़ा खरीद कर ले गए। देर शाम दोनों युवक कपड़ा  वापस करने पहुंचे और  रुपये वापिस मांगने लगे। तब अर्जुन ने कहा कि कपड़ा को बदलकर  दिया जाएगा, रुपये वापस नहीं होगा। इसी को लेकर उनके बीच  विवाद बढ़ गया। फिर इन दोनों ने अन्य साथियों को वहां बुला लिया और देखते ही देखते मामूली विवाद मारपीट में तब्दील हो गया। 
    विद्यानंद राठौर, लोकेश बंजारे अपने साथी गोपाल निषाद, भोला निषाद, राजेश राठौर, रामभगत राठौर, युधिष्ठर राठौर, राजकुमार, सहित अन्य लोगों के साथ मिलकर लात-घूसों से उसकी जमकर पिटाई की और मौके से फरार हो गए। 
    इस घटना में अर्जुन को गंभीर चोटें आईं। खरसिया चौकी में रिपोर्ट दर्ज करवाकर रायगढ़ लौट रहा था कि एकाएक  बेहोश होकर गिर गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। 
    अर्जुन की रिपोर्ट पर पुलिस ने विद्यानंद राठौर, लोकेश बंजारे, गोपाल निषाद, भोला निषाद, राजेश राठौर, रामभगत राठौर, युद्धिष्टिर राठौर, राजकुमार, सहित अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया था, लेकिन अर्जुन की मौत हो जाने के बाद अब पुलिस हत्या का अपराध भी कायम कर नौ आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।
    एसडीओपी, खरसिया अशोक वाडेगांवकर ने बताया किकपड़ा बदलने की बात पर उपजे विवाद में अर्जुन को युवकों ने पीटा था। बाद में अर्जुन की मौत हो गई। मामले में करीब नौ आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। शेष आरोपियों की तालाश जारी है। 

  •  



Previous123Next