छत्तीसगढ़ » रायगढ़

Posted Date : 19-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    खरसिया, 19 जनवरी। गैंग बनाकर मोबाइल लूटने की वारदात करने वाला गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने दो अपचारी बालक समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से दो बाइक एवं दो मोबाइल जप्त किए गए हैं।
    पुलिस  के अनुसार  17 जनवरी को सविता राय उम्र 40 वर्ष निवासी टीआईटी कॉलोनी खरसिया जब अपने रेडमी कंपनी कीमत 6000 रुपए के मोबाइल पर बात करती हुई जा रही थी तब बाइक सवार दो लोग जो मुंह पर कपड़ा बांधे हुए थे उसके हाथ से मोबाइल लूटकर फरार हो गए। इस प्रक्रम में सविता राय की गले की चैन भी टूट गई लेकिन चैन वहीं गिर गई जो बाद में मिल गई। इस मामले में सविता राय की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 30 /18 धारा 392 का प्रकरण दर्ज किया जाकर पुलिस ने मामले की विवेचना शुरू की तब पता चला कि इसी प्रकार की एक अन्य घटना 26 दिसंबर 2018 को खरसिया के हॉस्पिटल रोड में हुई थी जब लल्लन प्रसाद सिंह के  हाथ से तीन अज्ञात बाइक सवार युवक रास्ते चलते मोबाइल लूटकर ले गए थे। इस लूट में ओप्पो कंपनी का मोबाइल कीमत 12000 अज्ञात लुटेरे लूटकर ले गए। इस घटना की रिपोर्ट 17 जनवरी 2019 को की गई।   
     पुलिस ने छानबीन शुरू की तो पता चला कि अपचारी बालक  एवं परमेश्वर उर्फ बबल ठाकुर दिया के द्वारा सविता राय का मोबाइल लूटने के बाद अपना सिम लगाकर उपयोग करने पर पुलिस की निगाह में चल गया और पकड़ा गया उनके पास से रेडमी कंपनी का मोबाइल कीमत 6000 एवं बाइक पुलिस ने जप्त कर गिरफ्तार किया और न्यायिक रिमांड में भेज दिया है। इसी प्रकार ललन सिंह का मोबाइल लूट में परमेश्वर उर्फ बबलू, एक अपचारी बालक, दीपक चौहान नवासी ठाकुरदिया के द्वारा घटना को अंजाम दिया गया।इनके पास से ओप्पो मोबाइल कीमत 12000 एवं एक बाइक जब्त कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।  

     

     

     

  •  

Posted Date : 15-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    सारंगढ़, 14 जनवरी। सारंगढ़ विधायक उत्तरी गनपत जांगड़े ने विभिन्न कार्यक्रम में शिरकत की। सर्वप्रथम कोसीर के उत्तरा सोनी के पितृ शोक पर दशगात्र कार्यक्रम में पहुंची और परिवार को सांत्वना प्रदान कर शोक प्रकट किया। उसके बाद कोसीर के कहरा पारा में आयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल होने पहुंची। यहां उत्तरी जांगड़े ने फाइनल में पहुंची दोनों टीमों को बधाई दी और आयोजन समिति को धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही मकर संक्रांति की बधाई दी। विधायक हाईस्कूल खेल भांठा मैदान कोसीर में आयोजित संकुल स्तरीय बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन समारोह में पहुंची, जहां पर कबड्डी के फाइनल मुलाबले का आनंद उठाया। कबड्डी में पाट ने रक्सा को रोमांचक मुकाबले में 1 पॉइंट से मात दी और जीत का परचम लहराया। 
     इसके बाद स्वागत व पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन हुआ। मुख्य अतिथि सारंगढ़ विधायक उत्तरी गनपत जांगड़े, विशिष्ट अतिथि सहायक खण्ड शिक्षा अधिकारी मुकेश कुर्रे, जिला कांग्रेस सचिव गनपत जांगड़े, जिला पंचायत सदस्य मीरा जोल्हे, जनपद सभापति छेदुराम साहू, जनपद सदस्य सियाराम सोनी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष विष्णु चन्द्रा, कार्यक्रम के संरक्षक कन्या हाईस्कूल प्राचार्य नूतन चन्द्रा, लेन्ध्रा संकुल प्रभारी, कोसीर संकुल प्रभारी चुनेंद्र लहरे, सहायक नरसिंह श्रीवास, विधायक मीडिया प्रभारी गोल्डी लहरे की गरिमामयी उपस्थिति में कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। मुकेश कुर्रे ने संकुल गतिविधियों की सम्पूर्ण जानकारी दी और अतिथियों को कीमती समय देने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही बच्चों को जीत की बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की और आगे बढ़ते रहने कहा ।
     मीरा जोल्हे ने भी बच्चों को सम्बोधित किया। मुख्य अतिथि उत्तरी जांगड़े ने बच्चों को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की और खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ते रहने कहा। जहां भी जरूरत पड़े, अवगत कराने कहा और सभी को मकर संक्रांति की अग्रिम बधाई दी। 
     विजयी टीमों को विधायक ने शील्ड व मैडल से पुरस्कृत किया। कबड्डी में माध्यमिक शाला पाट ने प्रथम स्थान व रक्सा ने द्वितीय, खो खो में रक्सा की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। इस तरह पूरे प्रतियोगिता में कुम्हारी के विद्यालय ने 300 अंकों के साथ प्रथम स्थान पर रहे। कोसीर संकुल ने नवनिर्वाचित विधायक उत्तरी जांगड़े को शील्ड देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में संकुल के शिक्षक-शिक्षिकाएं व बड़ी संख्या में बच्चे मौजूद रहे।

  •  

Posted Date : 13-Jan-2019

  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    खरसिया/रायगढ़, 13 जनवरी। जिले में प्रधानमंत्री आवास बनवाने के नाम पर हितग्राहियों से लाखों रुपए ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने में पुलिस को उल्लेखनीय सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने इस मामले में दबोचे गए आरोपियों से 15 एटीएम कार्ड, 5 मोबाईल व कम्प्यूटर सेट, जेसीबी मशीन, बाईक व नगद राशि जब्त की है। 
    इस संबंध में प्रेसवार्ता के दौरान नव पदस्थ पुलिस अधीक्षक राजेश अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि थाना खरसिया क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बानीपाथर एवं ग्राम करपीपाली में निवासरत निवासी हेमलाल रौतिया व भारत राम कलार के गांव दो अज्ञात व्यक्ति मोटर सायकल में पांच जनवरी को आकर स्वयं को जनपद पंचायत का अधिकारी बताकर प्रधानमंत्री आवास हितग्राही के सर्वे के नाम पर इनका आधार नंबर व मोबाइल नम्बर तथा थम मार्फो मशीन से उनके अंगूठे का डिजीटल निशान लेकर इनके साथ धोखाधड़ी की इनके निजी बैंक खातों से 10000 व 1900 रुपए आहरण कर प्राप्त कर लिए।
     घटना की रिपोर्ट कल दोनों पीडि़त ग्रामीणों द्वारा थाना खरसिया में दर्ज कराया गया है। रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 420, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया गया।
    प्रारंभिक विवेचना में खरसिया पुलिस द्वारा लैलूंगा थाना क्षेत्र के चार संदेहियों को हिरासत में लेकर हिम्मत अमली से पूछताछ किया गया। संदेहियों द्वारा पुलिस को पूछताछ में बताएं कि इनके द्वारा थम मार्फो मशीन एवं यूट्यूब में वीडियो देखकर विभिन्न सॉफ्टवेयर का उपयोग कर थाना क्षेत्र लैलूंगा, जिला जांजगीर-चांपा, जिला बलरामपुर, जिला जशपुर के कई ग्रामों एवं थाना क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास योजना के गरीब हितग्राहियों के साथ छल कपट कर कई लाख रुपए कमाए हैं। 
    इसी क्रम में इनके द्वारा थाना खरसिया क्षेत्र के ग्राम बानीपाथर व करपीपाली में भी घटना को अंजाम दिया गया था। 
    आरोपी धर्मेंद्र महंत, संजय तिर्की, बबलू उर्फ श्रवण महंत, चैतन कुमार यादव से पूछताछ कर उनके अपराध के कबूलनामे व उनसे घटना में प्रयुक्त उपकरण व नगदी जप्त कर आरोपियों को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। 

    आरोपियों से सामान जब्त
    खरसिया पुलिस द्वारा आरोपियों से घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल, 15 एटीएम कार्ड, 5 नग मोबाइल, 3 नग थम मार्फो मशीन, एक कंप्यूटर सेट नगदी रकम करीब 5000 व घटना कार्य कर प्राप्त किए गए रकम से खरीदी गई जेसीबी मशीन, एक बुलेट मोटरसाइकिल जब्त किया गया है। घटना के संबंध में रायगढ़ पुलिस द्वारा अन्य जिलों को आरएम व पत्राचार कर अपराध व अपराधियों के तरीका-ए-वारदात से सूचित किया गया है। 

  •  

Posted Date : 10-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायगढ़, 10 जनवरी। सारंगढ़ तहसील कार्यालय जहां हर रोज सैकड़ों लोगों का आना जाना लगा रहता है, लेकिन यहां कहीं पर भी शौचालय की व्यवस्था नहीं है। जिसकी वजह से खासकर महिलाओं को मानसिक पीड़ा झेलना पड़ता है। टॉयलेट नहीं होने से महिलाओं को विशेष परिस्थिति में काफी समस्या होती है जबकि पुरूष वर्ग शासकीय भवनों के पीछे ही टायलेट करने मजबूर होते हैं।
    वहीं तहसील कार्यालय की सफाई व्यवस्था पर भी ध्यान नहीं दिया जाता है। जिसकी वजह से गंदगी पसरी रहती है इन परेशानियों को लेकर अधिवक्ता संघ ने पिछले कई साल से अधिवक्ता कक्ष में पृथक से बाथरूम बनाने की मांग शासन प्रशासन से कर चुके हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकल सका और अनुविभाग का मुख्य कार्यालय ही सुविधाविहिन ही रह गया है। वह भी ऐसे समय में जब पूरे देशभर में भारत शासन द्वारा स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा हो और तहसील कार्यालय में शौचालय की व्यवस्था न होना प्रशासन तंत्र द्वारा इस स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ाए जाने जैसी स्थिति है। तहसील कार्यालय के विभिन्न शाखा में कार्यरत महिला कर्मचारियों विशेष परिस्थिति में अधिकारियों का बाथरूम उपयोग करना पड़ता है। इस परिसर में जहां कर्मचारियों के साथ साथ आम नागरिकों को सार्वजनिक जगहों में परेशानियां झेलनी पड़ती है हमने इस मुद्दे पर तहसील कार्यालय में पदस्थ महिला कर्मचारी व किसी काम से आए कुछ ग्रामीण महिलाओं से शौचालय बाथरूम न होने से हो रही परेशानी के संबंध में चर्चा किया तहसील कार्यालय के भूईंया शाखा के आपरेटर पूजा बरेठ, एसडीएम शाखा के स्टेनो रंजीता वर्मा नायब तहसीलदार कार्यालय की सहायक ग्रेड -3 कांता उरांव ने परिसर में महिलाओं के लिए विशेष व्यवस्था की आवश्यकता बताते हुए अपनी पीड़ा बताई। 
    क्या कहती हैं महिलाएं
    इस संबंध में जब महिलाओं से चर्चा की गई, तो उनका कहना था कि बाथरूम की सुविधा महिलाओं के लिए नहीं है। पक्षकारों को भी भारी परेशानी होती है जितने भी कलेक्टर आते हैं सबके पास लिखित मांग की गई सभी ने आश्वासन दिया, लेकिन समस्या का समाधान आज तक नहीं हुआ है। इससे यहां आने वाली महिलाओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

  •  

Posted Date : 10-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायगढ़, 10 जनवरी।  रायगढ़ शहर के भीतर चोरी की घटना को अंजाम देने के साथ-साथ स्कूलों के किनारे बैठकर भूत बनकर डराने वाले दो युवकों को कोतवाली पुलिस ने आज गिरफ्तार किया है और उनके पास से चोरी के मोबाईल व पर्स भी जब्त किए हैं। पकड़े गए दोनों युवक शहर के ही रहने वाले हैं और कार्मेल स्कूल के अलावा कई जगह बैठकर सुबह व शाम भारी उत्पात मचाते हुए स्कूली बच्चों के बीच भय व आतंक फैलाते आ रहे थे। 
    सिटी कोतवाली थाना प्रभारी ने बताया कि आज शिकायत मिलने के बाद दोनों को पकड़ा गया और इनके पास से चोरी के पर्स तथा मोबाईल तथा कुछ नगदी भ्ज्ञी जब्त की गई है। उन्होंने इस बात को माना कि कुछ दिन पहले ही दोनों ने छोटी सी चोरी की घटना को अंजाम दिया था उसके बाद आज सुबह कार्मेल स्कूल के बच्चों को डराने संबंधी शिकायत फिर से मिलने पर दोनों को मौके से पकड़ा गया है। उन्होंने बताया कि दोनों युवक नशा भी करते थे और स्कूल के किनारे खंण्डहर में बैठकर स्कूली बच्चों को डराते आ रहे थे। इन दोनों से अन्य चोरी की घटनाओं के संबंध में भी पूछताछ की जा रही है। 

     

     

     

     

  •  

Posted Date : 07-Jan-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    खरसिया, 6 जनवरी। सेवानिवृत्त प्रधान पाठिका के स्टेट बैंक खाते से एटीएम का क्लोन बनाकर एक लाख पन्द्रह हजार रुपए पार कर दिए गए। सेवानिवृत्त प्रधान पाठिका ने इस गड़बड़ झाले की शिकायत भारतीय स्टेट बैंक के छाल शाखा में की है।
    प्राप्त जानकारी के अनुसार एलिस सिलवंती एक्का थानापारा छाल तहसील धर्मजयगढ़(68 वर्ष)भारतीय स्टेट बैंक की शाखा छाल में बचत खाता क्रमांक 3087 6741 290 है।
     वे माध्यमिक विद्यालय कटाईपाली सी छाल से रिटायर्ड प्रधान पाठिका हंै। उसके बचत खाते से 7 दिसंबर 8 दिसंबर 9 दिसंबर 10 दिसंबर 11 दिसंबर 1 जनवरी 2019 एवं 2 जनवरी 2019 को 20000, 20000 20000, 20000, 5500, 20000 एवं 10000 रुपये एटीएम का क्लोन बनाकर गया बिहार में निकाल लिए गए। जबकि एटीएम कार्ड छाल में प्रधान पाठिका श्रीमती एक्का के पास ही था। जब इस मामले की जानकारी श्रीमती एक्का को हुई तो उसने छाल की भारतीय स्टेट बैंक शाखा में आवेदन देकर मामले की शिकायत करते हुए संपूर्ण आहरित राशि को अपने बचत खाते में वापस जमा करवाए जाने की मांग की है।
     उल्लेखनीय है कि हाल के दिनों में एटीएम का क्लोन बनाकर बैंक खातों से रकम निकाले जाने के मामले अचानक बढ़ रहे हैं एवं हाल ही में इसमें संलग्न एक गिरोह भी पुलिस ने पकड़ा है।

     

     

  •  

Posted Date : 02-Jan-2019
  • ग्रामीणों ने ली राहत की सांस, रात भर चलता रहा ऑपरेशनछत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायगढ़, 2 जनवरी।  हाथियों के आतंक का पर्याय बने रायगढ़ जिले में बीते कई सालों से उत्पात जारी है। जिसके चलते दर्जनों लोग हर साल इनके शिकार होते हैं। साथ ही साथ खेतों में लगी फसल कच्चे मकान, बाडियों के अलावा स्कूल के दरवाजे व खिड़कियां भेंट चढ़ चुके हैं। 
    बावजूद इसके छत्तीसगढ़ शासन हाथियों के रहवास के लिए कोई बड़ी पहल नहीं कर पा रहा है। जिसके चलते बीते चार सालों के भीतर जंगली हाथियों की संख्या तेजी से बढ़ गई है। अब इनका दायरा भी दूसरे गांव तरफ बढ़ते जा रहा है। 
    पहले कभी धर्मजयगढ़ वन मंडल, रायगढ़ वन मंडल के आसपास के क्षेत्र हुआ करते थे और अब बीते सप्ताह भर से अपने झुंड से भटके हाथियों का एक दल खरसिया के ग्राम बरगढ़, बोतल्दा पहुंचकर वहां के लोगों को रात भर जागने के लिए मजबूर कर रहा है। कल दोपहर से एक बच्चे के साथ नर व मादा हाथी पहले जंगल में पहुंचे और उसके बाद गांव के बीच से होते हुए पास के जंगल में जब घुसे तो पूरे क्षेत्र में भय का वातावरण बन गया और जानकारी मिलते ही खरसिया वन विभाग की टीम, खरसिया एसडीएम के साथ-साथ खरसिया थाने की पुलिस टीम भी दोपहर से ही इनको खदेडऩे में जुटी रही। 
    बताया जा रहा है कि हाथी के बच्चे व नर मादा हाथी के लगातार ग्राम बोतल्दा व बरगढख़ोला के आसपास देखे जाने से पूरे गांव के लोग इकट्ठा होकर सुरक्षित स्थान की तरफ पहुंच गए। चूंकि हाथी के बच्चे के साथ नर व मादा सर्वाधिक आक्रोशित होते हैं और इसलिए मौके की नजाकत को समझते हुए गांव वालों ने इन तीनों हाथियों के लगातार विचरण होनें से तत्काल वन विभाग को सूचना देते हुए मदद मांगी। जानकारी मिलने के बाद एसडीओ टीसी पहारे व वन विभाग की टीम और खरसिया एसडीएम ने इन तीनों हाथियों को खदेडऩे की योजना बनाई और देर रात से लेकर आज दोपहर तक इन तीनों को कोरबा जिले से लगे करतला के जंगल व छाल क्षेत्र से लगे जंगल में खदेड़ा। तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली। हांलाकि विभाग के अधिकारियों ने हाथी जिस जंगल में हैं, उस ओर ग्रामीणों को जाने से मना कर दिया गया है। 
    शावक के कारण दूर नहीं जा पा रहे
    वन विभाग के एसडीओ टीसी पहारे ने बतया कि तीनों हाथियों में छोटा बच्चा होनें के चलते वे दूर नहीं जा पा रहे हैं। संभवत: नर व मादा हाथी अपने झुंड से भटककर इस क्षेत्र में पहुंचे हैं। उन्होंने यह बताया था कि एक्का-दुक्का बाड़ी का नुकसान हुआ है, चूंकि लगातार विचरण के चलते ये तीनों हाथी इस क्षेत्र में लोगों चिल्लाने से दौड़ रहे थे। जिससे तीनों हाथी इधर-उधर दौड़ रहे थे और बड़े किसी बड़े नुकसान से बचाने के लिए इनको जंगलों में खदेड़ा गया है। वहीं विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हाल ही में जंगली हाथियों का एक बड़ा दल कोरबा क्षेत्र में घुस गया था और वहां से खदेडऩे के बाद उस दल से नर व मादा हाथी अपने बच्चे के चलते भटककर अलग हो गए हैं और वे बरगढख़ोला तथा बोतल्दा गांव के आसपास घुम रहे थे। जिन्हें खदेड़ा गया है।

  •