छत्तीसगढ़ » रायगढ़

Previous123456789...4344Next
18-Apr-2021 6:20 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सारंगढ़, 18 अप्रैललॉकडाउन में गरीब निराश्रित लोगों की मदद के लिए  समाजसेवी सतीश यादव ने  हाथ बढ़ाया है। वैन में खाद्य सामग्री लेकर शहर में जगह-जगह जरूरतमंदों को वितरित कर रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के चलते लोग अपने घरों में रह रहे हैं। ऐसे में रोजाना मेहनत मजदूरी कर गुजर बसर करने वालों के सामने खाने-पीने का संकट गहरा गया है। इनकी मदद के लिए अब समाजसेवी सतीश यादव ने कदम बढ़ाया है।

आर्थिक दृष्टि से कमजोर बीस पच्चीस परिवारों को खाद्य सामग्री मुहैया कराया सेवा फाउंडेशन गरीब बस्ती में और शहर से बाहर कच्ची बस्तियों में जाकर यहां के वाशिंदों को कोरोना से बचाव की जानकारी दी। खाने-पानी की सामग्री भी उपलब्ध कराई।  समाजसेवी सतीश यादव  सारंगढ़ ने लोगों ने भी गरीब लोगों की सहायता करके शहर में चर्चा का विषय बन गए है।

 सेवा फाउंडेशन सारंगढ़ के लोग इन लोगों के  दैनिक जरूरतों सहित अन्य आवश्यक सामग्री पहुंचा रहे है। उन्होंने गरीबों को मास्क और सैनिटाइजर की दिए हैं। सेवा फाउंडेशन  सतीश यादव ने कहा कि जब सुख के समय लोग उन्हे  प्यार देते है तो उनका भी फर्ज बनता है कि इस महामारी के दौरान जरूरतमंद लोगों की सहायता की जाए। उन्होंने आमजन से अपील की है कि सभी अपने घरों में रहे और लॉकडाऊन का पालन करें। आपदा की घड़ी में जरूरतमंद परिवारों की मदद करना एक बहुत बड़ा पुण्य है। उन्होंने मौजूद ग्रामीणों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक भी किया


18-Apr-2021 5:27 PM 14

सीएमएचओ ने कहा- बढ़ाए जा रहे हैं बेड

रायगढ़, 18 अपै्रल।  जिले के निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजो के लिए बेड भी कम पड़ते जा रहे हैं। निजी अस्पताल कोरोना मरीजों से भरा हुआ है। वहां ऑक्सीजन, वेंटिलेटर से लेकर सामान्य बेड तक पूरी तरह पैक हो गया है। अब प्रशासन ने निजी अस्पतालों को बीएड बढ़ाने और नए अस्पतालों को भी कोरोना मरीजों के लिए अलग बेड शुरू करने के आदेश दिए हैं।

इस संबंध में रायगढ़ जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी ने बताया कि सरकारी अस्पताल में बेड उपलब्ध हैं जबकि निजी अस्पतालों को बीएड बढ़ाने और कई निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए नया कोविड वार्ड शुरू करने कहा गया है। साथ में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की ज्यादा से ज्यादा उपलब्धता पर ध्यान देने की कोशिश शुरू कर दी गई है।  
 


18-Apr-2021 5:26 PM 13

सैलानियों को बोटिंग सहित अन्य वाटर एडवेंचर्स की मिलेगी सुविधा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
शहर से 10 किलोमीटर दूर जिंदल वर्मी कंपोस्ट प्लांट से आगे पहाड़ों के बीच टीपाखोल जलाशय को सैलानियों और जिलेवासियों के लिए पिकनीक स्पॉट की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। कलेक्टर भीम सिंह व जिला पंचायत सीईओ डॉ.रवि मित्तल ने टीपाखोल जलाशय का निरीक्षण कर जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों को इसके निर्देश दिए।

कलेक्टर  ने टीपाखोल जलाशय के निरीक्षण के दौरान इसके भौगोलिक परिदृश्य की प्रशंसा की। कलेक्टर ने कहा कि शहर के नजदीक और चारों तरफ से पहाड़ों से घिरा हुआ यह जलाशय लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र बना हुआ। इसलिए इसे विकसित कर सैलानियों और जिले वासियों के लिए प्राकृतिक दृश्यों से परिपूर्ण एक अच्छा पिकनिक स्पॉट बनाया जा सकता है। इस दौरान कलेक्टर ने जलाशय की पूर्ण जानकारी ली। जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता ने बताया कि टीपाखोल जलाशय का निर्माण 1975 में कराया गया था। 35 हेक्टेयर में बने इस जलाशय के लेफ्ट बैराज केनाल (एलबीसी) से खैरपुर और कृष्णापुर क्षेत्र की सिंचाई होती है, वहीं राइट बैराज केनाल (आरबीसी) से वर्तमान में कालोनी के रूप में विकसित होने से किसी तरह की सिंचाई नहीं होती है। 

कार्यपालन अभियंता ने बताया कि जलाशय में 30 फुट तक पानी भरा रहता है। इससे एलबीसी क्षेत्र को खरीफ और रबी दोनों ही समय पर्याप्त मात्रा में सिंचाई के लिए पानी दिया जाता है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में किसी तरह की सुविधा नहीं होने के बाद भी यहां विकेंड पर पिकनीक मनाने आने वालों की भीड़ रहती है। इस पर कलेक्टर ने कहा कि शहर से पास होने और मनमोहक प्राकृतिक दृश्य होने के कारण जलाशय को पिकनीक स्पॉट और वाटर एडवेंचर्स के रूप में विकसित करने की अपार संभावनाएं हैं।

इस दौरान कलेक्टर ने जलाशय की पिचिंग वर्क, बोटिंग सहित वाटर एडवेंचर्स को शामिल करते हुए स्टीमेट बनाने और जलाशय को बेहतरीन पिकनिक स्पॉट के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। इस दौरान उपस्थित आसपास के ग्रामीणों ने मुख्य मार्ग से जलाशय तक जाने वाली सडक़ का सुधार करने और जलाशय के किनारे रेलिंग लगाने की मांग की। इस पर कलेक्टर श्री सिंह ने रेलिंग वर्क का भी स्टीमेट बनाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान नवपदस्थ सहायक कलेक्टर सुश्री रोमा श्रीवास्तव,  प्रतीक जैन सहित जलसंसाधन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

मनरेगा से होगी जलाशय परिसर की सफाई
निरीक्षण के दौरान जलाशय के किनारे और आसपास के क्षेत्र में झाडियां उगने और कचरा फैलने की बातें सामने आई। इस पर कलेक्टर  ने जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता को मनरेगा के तहत जलाशय परिसर में उगे झाडियां, घास व परिसर में पड़े कचरे की सफाई कराने के निर्देश दिए।

महिला स्व-सहायता समूह को मिले मछली पालन का लाभ
निरीक्षण के दौरान जलाशय में मछली पालन करने वाली महिला स्व-सहायता समूह की सदस्यों ने कलेक्टर भीम सिंह से चर्चा की।
उन्होंने बताया कि जलाशय में मछली पालन के लिए समुचित व्यवस्था करने की मांग की। इस पर कलेक्टर भीम सिंह ने सहायक संचालक मछली पालन विभाग को समूह की महिलाओं को विभागीय योजनाओं के माध्यम से लाभान्वित करते हुए सभी जरूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 
 


18-Apr-2021 5:25 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
पूंजीपथरा थाना क्षेत्र अंतर्गत तराईमाल निवासी नाबालिग के द्वारा चूहा मार दवा का सेवन करने से मौत हो जाने का मामला सामने आया है। पुलिस मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया है।

मिली जानकारी अनुसार नाबालिक लडक़ी एक लडक़े से प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती थी। लडक़ी के घर पर बैठक हुई जहां शादी को लेकर चर्चा हुई। परंतु अभी उम्र नहीं हो पाने के कारण शादी नहीं हो पाई। जिसके वजह से नाबालिक प्रीति सतनामी पिता मदन राम सतनामी ने 15 अप्रेल को चूहामार दवा सेवन कर ली जिसके बाद गंभीर हालत में उसे जिला अस्पताल रायगढ़ लाया गया। 

जहां 16 अप्रैल को रात 8:15 बजे आईसीयू में उसने दम तोड़ दिया।
 


18-Apr-2021 5:24 PM 8

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
गत 12 अपै्रल को कोरबा जिले के पुलिस चौकी राजगामार से लापता तरुण शर्मा पिता कमला कांत शर्मा उम्र 28 वर्ष को आज चौकी कनकबीरा पुलिस चौकी के बार्डर ग्राम से सकुशल दस्तयाब किया गया है। बीती रात्रि में तरूण शर्मा के परिजन चौकी प्रभारी कनकबीरा उप निरीक्षक गिरधारी साव को सारंगढ़ क्षेत्र में तरूण को देखे जाने की सूचना दिये थे ।

जानकारी के अनुसार तरूण शर्मा के परिजन चौकी प्रभारी को कॉल कर बताया कि 12 अप्रैल को तरूण को बाइक लेकर घर से कहीं चला गया है, जिसे किसी ने सारंगढ़ क्षेत्र में घूमते देखना बताए हैं कहकर तरूण को उनके चौकी क्षेत्र में खोजबिन करने का निवेदन किया। चौकी प्रभारी गुम युवक और उसके बाइक नम्बर की जानकारी व्हाटसअप पर मंगवाए। तरूण के परिजन काफी भावुक होकर बताए कि तरूण की मानसिक स्थिति कमजोर है, जिस पर चौकी प्रभारी उन्हें आश्वासन दिए कि तरूण मिल जाएगा।

शनिवार की सुबह चौकी प्रभारी उप निरीक्षक साव ग्राम भ्रमण कर लॉकडाउन व्यवस्था देखने निकले, इस दौरान गांव के पंच, सरपंचों को तरूण का फोटो दिखाकर पूछताछ किया। ग्राम गंधरचुवा में गांव के एक व्यक्ति द्वारा एक लावारिस बाइक को जंगल में देखना बताया तब चौकी प्रभारी जंगल जाकर तस्दीक किया। तरूण शर्मा की बाइक जंगल में मिली पर आसपास तरूण नहीं मिला। 

चौकी प्रभारी किसी अनहोनी की आशंका कर चौकी क्षेत्र में पाइंट, बेरियर ड्यूटी में लगे स्टाफ को मोबाइल पर तरूण की फोटो व्हाटसअप कर पतासाजी करने निर्देशित किया और स्वयं भी तरूण की पतासाजी में जुट गए। तभी सूचना मिली कि कलगीडिपा बार्डर पर बाहर गांव के एक युवक को घूमते देखा गया है, चौकी प्रभारी बिना समय गंवाए कलगीडिपा बार्डर पहुंचे, जहां तरूण मिला। चौकी प्रभारी को तरूण से बातचीत करने पर उसकी मानसिक स्थिति का पता चला। चौकी प्रभारी तरूण को चौकी लाए और उसके परिजनों को तरूण के सकुशल चौकी में होने की जानकारी मोबाईल पर दिया। जिसके बाद तरूण के परिजन चौकी पहुंचे जिनके सुपुर्द तरूण शर्मा को किया गया। तरूण के परिजन चौकी प्रभारी एवं स्टाफ को साधुवाद देकर तरूण को अपने साथ लेकर कोरबा रवाना हुए।
 


18-Apr-2021 5:22 PM 10

लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व नियंत्रण हेतु कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी रायगढ़ के कार्यालय से कंटेनमेंट अवधि में वृद्धि करते हुए लॉकडाउन 27 अपै्रल की रात्रि 12 बजे तक किया गया है। टेस्टिंग से नए संक्रमितों की पहचान हो रही है और कोविड 19 गाइडलाइन के पालन में उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देशन पर सभी थानाक्षेत्र अन्तर्गत पहले की तरह थानाक्षेत्र अन्तर्गत प्रभारियों द्वारा क्वॉरेंटीन, होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को जाकर चेक किया गया व समझाइश दी गई कि घर पर रहकर गाइडलाइन का पालन करें, किसी प्रकार की परेशानी हो तो स्वास्थ्य विभाग एवं थाने में सूचना देवें, अनावश्यक बाहर न निकलें अन्यथा कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

थाना, चौकी प्रभारियों द्वारा क्षेत्र में बनाए गए कंटेनमेंट जोन में कोटवार व लाउड स्पीकर के माध्यम से मुनादी कराकर लोगों को सचेत किया गया कि कंटेनमेंट जोन के बाहर न निकले। स्थानीय प्रशासन व पुलिस हर जरूरत की चीजों की व्यवस्था करेगी, बावजूद बाहर घूमते हैं, तो जुर्माने के साथ एफआईआर दर्ज किए जाएंगे।  
 


18-Apr-2021 5:21 PM 9

रिपोर्ट पॉजिटिव आई और देखते-देखते खत्म हो गई जिंदगी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
छत्तीसगढ़ के इस्पात नगरी रायगढ़ में शुक्रवार को फिर एक फ्रंटलाइन वारियर की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। स्वास्थ्य महकमे के इस फ्रंटलाइन वारियर को कोरोना के दोनों टीके लग चुके थे वहीं इनकी मौत ने फिरसे कोविड वैक्सीन की प्रामाणिकता पर सवाल खड़े कर दिये है।

रायगढ़ बीएमओ पैंकरा के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, सहदेव गुप्ता जो कि नेत्र सहायक के पद पर रायगढ़ जिले के लोइंग स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ थे। वो बीते कुछ दिनों से सर्दी-खासी से पीडि़त थे और ठीक नही होने पर उन्होंने अपना कोरोना टेस्ट करवाया जो कि पॉजिटिव निकला। गुप्ता को टेस्ट करवाने के बाद अस्पताल में दाखिल किया गया जहां 2 घन्टे के अंदर ही उनकी मौत हो गई। सहदेव गुप्ता को हेल्थ वर्कर होने के चलते पहले ही कोरोना से बचाव की दोनो वैक्सीन लगवाए जा चुके थे। 

यहां ये बताना भी आवश्यक है कि गुप्ता को पहले से डायाबिटीज की शिकायत थी। वैक्सीन लगने बाद भी ऐसी घटना ने एक बार फिर से कोरोना वेक्सीन की प्रमाणिकता पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। हालांकि इस मामले में विशेषज्ञों की राय ही अहम होगी लेकिन इनकी मौत भी लोगों के गले नहीं उतर रही है।  
 


18-Apr-2021 5:19 PM 13

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
रायगढ़ जिले के आदिवासी कांग्रेस नेता व जिला पंचायत उपाध्यक्ष रोहिणी राठिया का निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित हुए थे। उनको इलाज के लिए एक निजी चिकित्सालय में कुछ दिन पहले ही भर्ती किया गया था और आज सुबह उनकी मौत हो गई। जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष रोहिणी की मौत पर कांग्रेस में शोक का माहौल है। आदिवासी नेता होनें के साथ-साथ अपनी सक्रियता से घरघोड़ा ब्लाक सहित आसपास इलाके में वे काफी लोकप्रिय थे, और इसी सक्रियता की वजह से उन्होंने जिला पंचायत उपाध्यक्ष के पद पर काबिज होकर अपनी कुशल राजनीति का परिचय दिया था, उनकी मौत के बाद घरघोड़ा ब्लाक के बाकारूमा में भी शोक की लहर फैल गई है।

एक जानकारी के अनुसार निजी चिकित्सालय में उन्हें आक्सीजन बेड पर रखा गया था और लगातार इलाज के बाद भी उनकी तबियत में कोई सुधार नही आ रहा था। आज सुबह उनके निधन की खबर मिलते ही जिला कांग्रेस कमेटी के सदस्यों ने गहरा शोक प्रकट करते हुए उनके पार्थिव शरीर को गृह ग्राम बाकारूमा भेजने की पहल की है।  
 


18-Apr-2021 5:17 PM 66

मौत के बाद अंगूठी व 10 हजार नगद गायब होनें की शिकायत

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 18 अपै्रल।
रायगढ़ जिले के सारंगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय पत्रकार रंजीत ठाकुर की मौत के बाद उनके परिवार वालों ने सारंगढ़ थाने में एक लिखित शिकायत देते हुए रंजीत की मौत को स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही बताते हुए उसकी सोने की अंगूठी एवं जेब में रखे 10 हजार रूपए नगद के अलावा अन्य सामान गायब करने वालों पर कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के अनुसार रंजीत ठाकुर कोरोना से पीडि़त होनें के बाद 8 दिन पहले सारंगढ़ से रायगढ़ मेडिकल कालेज में भर्ती हुए थे और दो दिन पहले ही उन्होंने रायगढ़ प्रेस क्लब के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा को व्हाट्सअप के जरिए इलाज में गंभीर लापरवाही की जानकारी देते हुए सहयोग मांगा था इतना ही नही उन्होंने मेडिकल कालेज में मिलने वाले घटिया खाने के पैकेट की फोटो खींचकर बताया था कि कलेक्टर के आदेश के बाद भी घटिया खाना सप्लाई हो रहा है और उनके भर्ती होनें के बाद न तो आक्सीजन सिलेंडर लगाया गया है और न ही प्लस मीटर दवाई तो दूर की बात है। व्हाट्सअप में हुई यह बातचीत एक ठोस सबूत है चूंकि नरेश शर्मा से बातचीत के कुछ घंटो के बाद रंजीत ने आखरी सांस ली थी।

अब परिवार वालों ने इस मौत को स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के साथ-साथ व्हाट्सअप चैट व फोन कॉल का डिटेल देते हुए सारंगढ़ थाने में लिखित शिकायत दी है। जिसमें यह दर्शाया गया है कि रंजित को अगर समय पर इलाज मिलता तो आज वे उनके बीच होते, लेकिन लापरवाही ने उनकी जान ले ली। 

इस संबंध में दोषियों पर कार्रवाई की मांग उनके जीजा जर्नादन सिंह राजपूत ने की है। साथ ही साथ उन्होंने रंजीत के पिता और पत्रकार नरेश शर्मा द्वारा व्हाट्सअप में की गई बातचीत को बतौर सबूत दिया है। बहरहाल देखना यह है कि परिवार वालों के शिकायत के बाद पुलिस इसे जांच में लेती है या नही।
 


17-Apr-2021 6:07 PM 25

नरेश शर्मा
रायगढ़, 17 अप्रैल ('छत्तीसगढ़' संवाददाता)।
वर्ष 2021 की गर्मी रायगढ़ वन मंडल के लिए काफी खतरनाक साबित हो गई। यहां तीन माह मतलब 90 दिनों में 1216 जगह के जंगलों में आग लग चुकी है और इस आकड़े में महज सौ जगह ही ऐसा है, जो जंगल के बाहर का क्षेत्र है, शेष 1116 जगह वनभूमि है।

अगर जनवरी से मार्च माह में दावानल (जंगल की आग) को लेकर रायगढ़ वन मंडल के रेंज स्तर के आकड़ों पर नजर डाली जाए, तो सबसे खराब स्थिति रायगढ़ वन परिक्षेत्र की रही है, जबकि इससे पूर्व ऐसी स्थिति रायगढ़ की देखने को नहीं मिली थी। इसके बाद सारंगढ़, घरघोड़ा, बरमकेला गोमर्डा, तमनार व सारंगढ़ गोमर्डा और अंतिम में खरसिया वन परिक्षेत्र की है। अब स्थिति यह है कि जंगल में आग लगने के लिए कोई खास जगह ही नहीं बची है। जब जंगल धू-धू कर जल रहा था, तो रेंज अफसर से लेकर हर अधिकारी आग पर काबू पा लेने की बात कह रहे थे, पर उन अधिकारियों के सभी दावे आज खोखले साबित हो चुके हैं। अधिकारी उन लोगों पर आरोप लगाने में लगे हैं, जो महुआ बिनने के लिए जंगल जाते हैं और किसी पेड़ के नीचे महुआ के लिए आग लगाते हैं, पर अपने उन कर्मचारियों को दोषी नहीं मानते, जो जंगल जाने से ही परहेज करते हैं। जबकि ईमानदारी से अगर बीटगार्ड जंगल का भ्रमण करे, तो दावानल के साथ ही वन अपराध में काफी कमी आएगी।

एक नहीं बार-बार लगी आग
वन मंडल के हर रेंज में एक से दो बार एक ही जगह पर आग लगी। अगर बात सिर्फ रायगढ़ वन परिक्षेत्र की हो, तो रायगढ़ के गजमार पहाड़ी में चार से पांच बार आगजनी की घटना घटित हुई।रायगढ़ वन परिक्षेत्र के गजमार पहाड़ी, लोईंग, खैरपुर, बोइरदादर, रेगड़ा सहित सभी बीट के जंगल में आग लगने की घटना घटित हुई। यही नहीं रेल कॉरीडोर का कूप जलने व लाम्हीदरहा प्लांटेशन जलने का भी मामला पिछले दिनों सुर्खियों में था।

विभाग की नजर में सूखे खास पत्ते ही जले
विभाग के शासकीय दस्तावेजों में आग से सिर्फ सूखे घास पत्ते ही जलने का उल्लेख किया गया है, लेकिन हकीकत इससे बिल्कुल विपरित है। जानकारों की माने तो आग से सबसे ज्यादा नुकसान वन व वन्यप्राणियों दोनों को होता है। वन्यप्राणी विचलित होकर इधर-उधर भागते हैं और कुत्तों व ग्रामीणों का शिकार बन जाते हैं। वहीं बांस व अन्य इमारती पेड़ भी जल जाते हैं। साथ ही पक्षियों के अंडे सहित कई प्रकार के छोटे कीड़े मकोड़ों की भी इससे जानें चली जाती है।

फायर वाचर के बाद भी जल रहे जंगल
सभी वन मंडल को शासन द्वारा अग्नि सुरक्षा के नाम पर राशि आबंटित की जाती है। साथ ही हर बीट में फायर वाचर रखने की भी अनुमति मिलती है। जंगल को आग से बचाने के लिए फायर लाईन कटाई की बात कही जाती है तो हर बीट में फायर वाचर रखने के बाद भी दो से चार बार उस बीट में आग लग जाना कई प्रकार के सवालों को जन्म दे रहे हैं।

वर्सन
नाविद सुजाउद्दीन, सीसीएफ बिलासपुर का कहना है कि चार महीने के लिए कैंपा मद से फायर वाचर मिलते हैं। जंगल को आग से बचाने के लिए फायर लाईन कटाई करते हैं। सेटेलाईट से आग की सूचना मिल जाती है। उसके बाद हम भी मानिटरिंग करते हैं। महुआ सीजन में ज्यादा आग की समस्या आती है। स्टाफ जंगल में रहते हैं और अगर कहीं स्टाफ बिल्कुल जंगल नहीं जाता है, तो उस पर विभागीय नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

प्रणय मिश्रा, वन मंडलाधिकारी, रायगढ़ का कहना है कि दावानल को रोकने के लिए प्रारंभ में फायर लाईन कटाई करते हैं। सेटेलाईट से या फिर आग की सूचना मिलने के बाद वन प्रबंधन समति के माध्यम से आग पर काबू पाया जाता है।

वन मंडल,  3 माह -1216 दावानल
रायगढ़ उपडिविजन -556 दावानल
घरघोड़ा उपडिविजन -400 दावानल
गोमर्डा अभ्यारण्य -260 दावानल

जनवरी से मार्च वन परिक्षेत्र दावानल संख्या
रायगढ़ 298
सारंगढ़ 258
घरघोड़ा 176
बरमकेला गोमर्डा 142
तमनार 143
सारंगढ़ गोमर्डा 118
खरसिया 81


17-Apr-2021 5:50 PM 18

सारंगढ़, 17 अपै्रल। छग क्रांतिकारी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष लैलून कुमार भारद्वाज ने छग के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व मुख्य सचिव अमिताभ जैन से संघ की ओर से मांग की है कि वैश्विक महामारी कोविड के रोकथाम व बचाव कार्य में छग के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है, हमें प्रसन्नता है। इस विषम परिस्थिति में हमारा योगदान समाज व देश हित में लग रहे है।

हम शासन प्रशासन के साथ इस लड़ाई में साथ है। परन्तु दुख के साथ अवगत कराना पड़ रहा है कि इस युद्ध में हमारे शिक्षकों का निधन हो गया। अन्य कर्मचारियों की भांति 50 लाख बीमा कवर दिया जावे। शत प्रतिशत शिक्षकों का वैक्सीनेशन नहीं हो पाया है, उम्र बंधन को समाप्त कर सबका वैक्सीनेशन कराई जावे। ड्यूटी दौरान दिवंगत शिक्षकों के परिवार को समस्त नियमो को शिथिल कर उनके परिवार को शिक्षक पद पर तत्काल अनुकंपा दी जावे की मांग रखी गई है। सरकार मानवीय संवेदना के साथ मांग पूरा करे।
 


17-Apr-2021 5:31 PM 18

गार्ड रूम से भारी मात्रा में देशी शराब जब्त  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 17 अपै्रल।
बरमकेला में लॉकडाउन का फायदा उठाकर शराब के अवैध बिक्री करने वाला देशी शराब भ_ी का गार्ड 37 पाव प्लेन के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया है।
जानकारी के मुताबिक बरमकेला तहसीलदार अनुज पटेल को कुछ समय से सूचना मिल रही थी कि देशी शराब भ_ी के गार्ड के द्वारा लॉकडाउन में शराब की अवैध रूप से बिक्री की जा रही है। जिस पर गार्ड रूम में छापेमार कार्रवाई करते हुए मौके से 37 पाव देशी शराब की जप्ती कर आरोपी गार्ड को पुलिस के हवाले कर दिया गया है, जिसमें विवेचना जारी है।
 


17-Apr-2021 5:29 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 17 अपै्रल।
रजघट्टा के ग्रामीणों को फरवरी माह का पीडीएस राशन भी नहीं मिल पाया है।
यह मामला खरसिया ब्लॉक के ग्राम पंचायत रजघट्टा का है। यहां पीडीएस राशन वितरण को लेकर अक्सर विवाद की स्थिति बनी रहती है। बताया जा रहा है कि पूर्व में पंचायत के रहवासियों को अन्य पंचायत द्वारा राशन वितरण किया जाता था। वहीं पीडीएस संचालक ने किन्ही कारणों से फरवरी माह का राशन लगभग आधे ग्रामीणों को वितरित ही नहीं किया। हालांकि अब राशन वितरण का जिम्मा रजघट्टा पंचायत को ही दे दिया गया है। परंतु यह समझना कठिन है कि जब मार्च और अप्रैल का राशन वितरित कर दिया गया तो फरवरी माह का बकाया राशन ग्रामीणों को क्यों नहीं दिया जा रहा है।

इन विसंगतियों को लेकर जब फूड इंस्पेक्टर शैलेंद्र एक्का से बात की गई तब उन्होंने फरवरी के राशन का वितरण पूर्ण रूप से ना होना स्वीकार किया। वहीं कहा कि प्रयास किया जाएगा कि मई माह में बकाया वितरण कर दिया जाए। साथ ही बताया कि भंडारण के लिए अक्सर सरपंच पति एवं सचिव उपलब्ध नहीं होते, ऐसे में राशन वितरण प्रभावित हो रहा है।
 


17-Apr-2021 5:26 PM 17

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 17 अपै्रल।
रायगढ़ पूर्वी अंचल के वन प्रबंधन समिति महापल्ली के अध्यक्ष शिशुपाल गुप्ता द्वारा जंगल से कटे हुए बल्ली 14 नग लाए जाने की शिकायत पर वनविभाग रायगढ़ के वनपरिक्षेत्राधिकारी आर के साहू व उनकी टीम ने मौके पर जाकर जब्त कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

इस संबंध में वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीणों ने वन समिति के अध्यक्ष शिशुपाल गुप्ता को महापल्ली जंगल से अपने टेक्टर में 14 नग बल्ली लोड करते पकड़ लिया जिसे अध्यक्ष ने यह कहकर अपने घर कोठार में ले आया कि यह अज्ञात व्यक्तियों द्वारा काट दिया गया था जिसे वन रक्षक को जानकारी देकर इसे उठवा रहा हूं। 

ग्रामीणों ने इसे सिरे से खारिज करते हुए अध्यक्ष द्वारा कटवा कर बेचने का आरोप लगाया। वहीं वन विभाग के कर्मचारियों ने विधिवत कार्रवाई करते हुए ट्रेक्टर सहित 14 नग बल्ली को जब्त कर रायगढ़ डिपो में लाया गया है। वहीं समिति अध्यक्ष के खिलाफ ग्रामीणों में रोष व्याप्त है तथा पद से पृथक कर नए वन प्रबंधन समिति के गठन की मांग भी कर रही है।
 


17-Apr-2021 5:25 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सारंगढ़/रायगढ़, 17 अपै्रल।
गोमर्डा अभ्यारण्य के टमटोरा क्षेत्र के तालाब में कछुआ की मौत हो गई। जिसकी जानकारी लगने के बाद विभाग के अधिकारियों के द्वारा उसे बाहर निकलवाया। पशु चिकित्सकों ने परीक्षण किया और पीएम के बाद उसका अंतिम संस्कार किया गया। 

इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक गोमर्डा अभ्यारण्य के टमटोरा के तालाब में कछुआ का शव तैर रहा था। जिसे देखने के बाद विभागीय कर्मचारियों ने मामले की जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को दी। इसके बाद अधिकारियों के निर्देश पर उसे बाहर निकाला गया और डॉक्टर ने चिकित्सकीय परीक्षण किया। पता चला कि कछुआ की प्राकृतिक रूप से मौत हुई है। 

इस संबंध में गोमर्डा अधीक्षक आरके सिसोदिया ने बताया कि टमटोरा वन परिसर के तालाब में वर्ष 2018 में सारंगढ़ के खाडा बंद तालाब से रेस्क्यू कर इसे टमटोरा तालाब में डाला गया था। मादा कछुआ की प्राकृतिक रूप से मौत हुई है। पशु चिकित्सा अधिकारी सारंगढ़ डॉ.जोल्हे, डॉ.भास्कर एवं विभागीय पशु चिकित्सक की टीम ने मृत कछुआ का पीएम किया। इसके बाद गोमर्डा अधीक्षक सिसोदिया व परिक्षेत्र सारंगढ़ की उपस्थिति में उसका अंतिम संस्कार किया गया।  
 


17-Apr-2021 5:22 PM 13

तीन दिनों में बिना मास्क 852 लोगों पर जुर्माना, लॉकडाउन के उल्लंघन पर 23 पर एफआईआर  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 17 अपै्रल।
कल मार्निंग वॉक पर निकले लोगों को पुलिस ने कसरत कराई। तीन दिनों में बिना मास्क 852 लोगों पर जुर्माना वसूला। वहीं लॉकडाउन के उल्लंघन पर 23 पर एफआईआर दर्ज किया गया। 

 पिछले तीन दिनों से लगातार लॉकडाउन ड्यूटी पर मुस्तैद अधिकारी व जवानों द्वारा जिला मुख्यालय एवं अनुविभाग के थानों में बिना मास्क के घूम रहे लोगों तथा बाइक लेकर अनावश्यक बाहर निकले लोगों पर जुर्माने की कार्रवाई की जा रही है।

प्राय: लोगों को सुबह के समय मार्निंग वॉक के बहाने निकलते देखा जा रहा है, जिन्हें चौक-चौराहों पर तैनात जवानों द्वारा जुर्माना के कार्रवाई करने के साथ कड़ी समझाईश दिया जा रहा है। शुक्रवार को कई थानाक्षेत्र में सुबह मार्निंग वॉक पर निकले लोगों को प्रभारियों द्वारा कान पकड़वा कर दुबारा अनावश्यक बाहर नहीं निकलने की समझाइश दी गई है। सुबह के बाद शाम तक सडक़ों पर केवल आवश्यक सेवाओं में लोगों की आवाजाही रहती है। 

पिछले तीन दिनों में जिले के सभी थाना क्षेत्र अन्तर्गत 852 व्यक्तियों पर बिना मास्क की कार्रवाई की गई है। जबकि दुपहिया लेकर अनावश्यक बाहर निकले 237 व्यक्तियों पर मोटर व्हीकल एक्ट की कार्रवाई की गई है एवं समन शुल्क बतौर जुर्माना वसूल किया गया है।  

23 लोगों पर  नामजद एफआईआर
जुर्माने की कार्रवाई के साथ ही लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जा रही है। अब तक 23 व्यक्तियों के विरुद्ध नामजद एफआईआर किए जा चुके हैं। थाना सारंगढ़, केडार कोतवाली खरसिया छाल पुसौर, भूपदेवपुर, कोतरारोड़ में एफआईआर दर्ज किया गया है, आगे भी यह कार्रवाई जारी रहेगी।
 


17-Apr-2021 5:19 PM 12

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 17 अपै्रल।
महज घर में पूजा कराने की बात को लेकर मां से विवाद के बाद नशेड़ी बेटे ने क्षुब्ध होकर डंडे से पीट-पीटकर मां की हत्या कर दी। बेटे ने हत्या के बाद घटना को छिपाने का भी प्रयास किया। पूछताछ में खुलासा होने के बाद पुलिस ने आरोपी पुत्र को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार गत 12 अपै्रल को थाना सारंगढ़ अन्तर्गत ग्राम मौहाढोडा में रहने वाली मोदो बाई सांवरा (80) को इलाज के लिए सीएचसी सारंगढ़ में लाया गया था, डॉक्टर द्वारा मोदो बाई को चेक करने पर मौत हो जाना बताने पर अस्पताली तहरीर पर थाना सारंगढ़ में मर्ग कायम कर जांच पंचनामा कार्रवाई में लिया गया। मर्ग जांच दौरान मृतिका के बेटे नंद गोपाल सांवरा (35) द्वारा उसकी मां की मृत्यु गिरने से सिर में चोट लगाने से होना बताया था। शव के पीएम रिपोर्ट पर सिर में आई गंभीर चोंट से अधिक रक्तस्त्राव होने एवं प्रकृति हत्या होना लेख किए जाने पर थाना प्रभारी सारंगढ़ निरीक्षक गौरीशंकर दुबे ने संदेह के आधार पर मृतिका के बेटे नंद गोपाल सांवरा से पूछताछ की।

नंद गोपाल पहले की तरह मां की मौत गिरने से आई चोट के कारण बताकर पुलिस को गुमराह कर रहा था, जब उससे कड़ी पूछताछ की गई तो उसने अपनी मां की हत्या करना कबूल कर बताया कि उसकी मां मृतिका मोदो बाई सांवरा घर में सुख शांति के लिए कई दिनों से पूजा पाठ कराने के लिए बोल रही थी, मां की बात को अनसुना कर देता था। 12 अपै्रल को शराब पिया हुआ था, जिसे पर मां कहने लगी कि पूजा कराने कह रही हूं, मान नहीं रहे हो और शराब पीकर गांव में घूम रहे हो।

 मां की बातों को सुनकर गुस्से में जाओ पूजा नहीं कराऊंगा कहकर झगड़ा विवाद किया और डंडा से उसकी मां के सिर में मारकर उसकी हत्या कर दिया। मर्ग जांच में घटना के बाद हत्या को दुर्घटना का रूप देने मृतिका की मौत गिरने से सिर मे चोंट आना कहकर आरोपी द्वारा साक्ष्य छिपाया गया। मर्ग जांच पर से 15 अपै्रल को आरोपी नंद गोपाल सांवरा के विरूद्ध धारा 302, 201 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है।
 


17-Apr-2021 2:09 PM 209

मेडिकल कॉलेज में अव्यवस्था से कराया था अवगत
पत्रकारों ने की जांच की मांग

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़/सारंगढ़, 17 अप्रैल।
सारंगढ़ के युवा पत्रकार रंजीत सिंह ठाकुर का निधन देर रात मेडिकल कॉलेज रायगढ़ में हो गया। पत्रकारों ने उनके निधन पर शोक जताया है। 

कोरोना संक्रमित होने के चलते पहले वह घर में तीन दिन तक होम आईसोलेशन में रहे। उसके बाद तबियत ज्यादा खराब होने के चलते उन्हें रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया और दो दिन बाद उनकी मौत हो गई। मौत से पहले उन्होंने जिले के वरिष्ठ पत्रकार नरेश शर्मा सहित अपने साथियों को व्हाट्सअप पर मैसेज के जरिए मेडिकल कॉलेज में सही ढंग का खाना नहीं मिलने सहित इलाज में भारी लापरवाही से अवगत कराया था और यह भी कहा था कि उसके हाथ-पैर कांप रहे हैं। ऑक्सीजन लगाने के बाद कोई उसके पास दवा व सुई लगाने नहीं आ रहा है। 

अस्पताल में हुई लापरवाही से सारंगढ़ के पत्रकारों में गहरा रोष व्याप्त है। वहीं प्रेस के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा ने भी जिला प्रशासन से इस मामले में जांच की मांग की है। नरेश शर्मा का कहना है कि रंजित की मौत इलाज में लापरवाही के चलते हुई है तो मेडिकल कॉलेज में खराब व्यवस्था को दुरूस्त करने की आवश्यकता है। उनका कहना है कि रायगढ़ जिले में तेजी से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है और लॉकडाउन का भी असर न के बराबर हो रहा है और ऐसे में मरीजों का इलाज भी सही ढंग से न हो तो सवाल उठना लाजमी है। रायगढ़ में व्हाट्सअप पर रंजित के कल दोपहर को भेजे गए मैसेज में यह बात भी सामने आई थी कि उसकी तबियत लगातार खराब हो रही है, हाथ पैर कांप रहे हैं जिसको लेकर मेडिकल कॉलेज स्टाफ से उनकी बहस भी हुई थी।


रंजीत सिंह ठाकुर की मौत की खबर से सारंगढ़ स्तब्ध हो गया है। वैसे ही हृदय विदारक घटना पवन केजरीवाल के चले जाने से हुई थी। स्व. रंजीत सिंह ठाकुर को चाहने वालों ने व्हाट्सएप , फेसबुक में अपना भाव प्रकट करते रहे।
  
पत्रकार रंजित के निधन के बाद रायगढ़ प्रेस क्लब के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष नरेश शर्मा, पत्रकार संघ के जिला अध्यक्ष यशवंत सिंह ठाकुर, भरत अग्रवाल, ओमकार केशरबानी, गोपेश रंजन द्विवेदी, मिलाप बरेठा, गोल्डी नायक, अधिवक्ता संघ अध्यक्ष विजय तिवारी, प्रकाश चौधरी और अन्य अधिवक्ता व पत्रकार सभी ने श्रद्धांजलि  दी। इन सभी पत्रकारों ने कलेक्टर भीम सिंह से यह अपील की है कि पत्रकार रंजित की मौत इस बात को इशारा कर रही है कि मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों की हालत काफी खराब है, सही वक्त में इलाज तो दूर उनको खाना भी नहीं मिल पा रहा है ऐसे में वहां की व्यवस्था में सुधार लाने के लिए ठोस कदम उठाया जाना चाहिए।


16-Apr-2021 7:32 PM 23

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायगढ़, 16 अप्रैल।
जिला कलेक्टर भीम सिंह के मार्गदर्शन में रेलवे स्टेशन के कुलियों को लॉक डाउन अवधि हेतु नगर निगम रायगढ़ द्वारा राशन पैकेट दिया गया जिसे निगम आयुक्त आशुतोष पांडेय ने नगर निगम परिसर में उन्हें बुलाकर अपने हाथों से सूखा राशन का पैकेट दिया जिसे पाकर कुलियों ने कलेक्टर एवम आयुक्त को धन्यवाद ज्ञापित किया।

14 अप्रैल से लेकर 22 अप्रैल तक रायगढ़ पुर्णत: लॉकडाउन है और कल लॉकडाउन के प्रथम दिन शहर का जायजा लेने रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह,पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह व नगर निगम आयुक्त  अपने दल बल के साथ निकले निरीक्षण दौरान कलेक्टर रेलवे स्टेशन पहुँचे तब वहां के कुलियों ने कलेक्टर से गुहार लगाई कि उनकी स्थिति बहुत ही खराब है गाडिय़ों के कम चलने से उनको रोजी रोटी की दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है जिस पर संवेदनशील कलेक्टर ने तत्काल मानवता का परिचय देते हुए नगर निगम आयुक्त पांडेय को निर्देशित किया कि सभी कुलियों के लिए सुखा राशन की व्यवस्था की जाए। उसी के मद्देनजर रायगढ़ रेलवे स्टेशन के सभी कुलियों को बुला कर राशन पैकेट वितरण किया जिससे कि इस लॉकडाउन के समय उनको और उनके परिवार को दिक्कतों का सामना ना करना पड़े।

सभी कुली भाई राशन पाकर काफी हर्षित दिखे, और सभी ने तहे दिल से जिला कलेक्टर और नगर निगम को साधुवाद दिया। 
 


16-Apr-2021 6:04 PM 23

रायगढ़, 16 अप्रैल। कलेक्टर ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचावध्रोकथाम एवं सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुये 16 से 22 अप्रैल तक शासकीय उचित मूल्य दुकानों को सशर्त शर्तों के साथ संचालन के लिये अनुमति दी है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत जिले में संचालित समस्त शासकीय उचित मूल्य की दुकानों को 16 से 22 अप्रैल तक प्रात: 7 से दोपहर 12 बजे तक हितग्राहियों को टोकन जारी कर खाद्यान्न सामग्री वितरण करने की अनुमति होगी।

सभी शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के बाहर सोशन डिस्टेंसिंग का पालन किए जाने हेतु दो गज की दूरी पर घेरा बनाकर वितरण करना सुनिश्चित करेंगे। शासकीय उचित मूल्य दुकान के हितग्राहियों को वितरण के पूर्व शा.उ.मू.दुकान के संचालक द्वारा टोकन जारी किया जाएगा। तत्पश्चात ही खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। ताकि दुकान में अनावश्यक भीड़ न हो। शासकीय उचित मूल्य दुकान संचालक के द्वारा दुकान के बाहर सेनिटाईजर एवं हाथ धोने के लिये साबुन की व्यवस्था करना अनिवार्य होगा। खाद्यान्न लेने आने वाले हितग्राही को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

 


Previous123456789...4344Next