छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous123456789...1415Next
Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के निर्देशानुसार नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए राजनांदगांव शहर के विभिन्न स्थलों को लगातार सेनीटाइज करने का कार्य किया जा रहा है। नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने बताया कि मानव मंदिर चौक, जूनीहटरी, फ्रुट मार्केट, नोहर पान सेंटर, सिनेमा लाइन, आजाद चौक, भारत माता चौक, तिरंगा चौक, मामा भांजा मजार, पुराना गंज लाइन, लखोली नाका चौक से पुन: पुराना गंज चौक के दोनों तरफ, पुराना गंज चौक, बालोद रोड बस स्टैंड, व्यवसायिक परिसर, उदयाचल हाट बाजार, नंदई चौक, मोहारा ओवरब्रिज बाईपास रोड के नीचे को सेनिटाइज किया गया।


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
देश और प्रदेशों में कोरोना वायरस के खिलाफ छिड़ी जंग से देहात गांवों की महिलाएं लॉकडाऊन के नियम की परवाह किए बगैर खेतों का रूख कर रही हंै। सोशल डिस्टेंसिंग की पाबंदी से अनजान नांदगांव के टप्पा गांव की महिलाओं की सिर्फ यह समझ है कि घर में खाली रहने के बजाए खेतों की मरम्मत करते वक्त काटने का एक सशक्त जरिया है।  तस्वीर / 'छत्तीसगढ़' / अभिषेक यादव


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। जिले के महाराष्ट्र सीमा के सड़क चिरचारी में दूसरे राज्यों से आए व्यक्तियों और श्रमिकों के लिए जिला प्रशासन द्वारा शिविर लगाया गया है। शिविर के लिए सहयोग करने में शासकीय महिला अधिकारी-कर्मचारी भी पीछे नहीं हैं। डोंगरगांव महिला कर्मचारी संघ द्वारा शिविर में रहने वाले लोगों के लिए 450 नग दैनिक उपयोग की सामग्री उपलब्ध कराई गई है। इनमें इनमे तेल, पेस्ट, साबुन और बिस्किट के पैकेट शामिल हैं। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने महिला अधिकारियों-कर्मचारियों के इस सहयोग के लिए उनकी सराहना की है।

 


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव/मानपुर, 4 अप्रैल।
लॉकडाउन में मानपुर के घने जंगलों में सागौन की तस्करी करते 6 आरोपियों को ग्रामीणों की मदद से वन अमले ने पकड़ा। आरोपियों से एक ट्रैक्टर समेत सागौन की लकडिय़ां जब्त की गई है। 

मिली जानकारी के अनुसार लॉकडाउन के चलते पूरा ग्रामीण क्षेत्र बंद है, लेकिन सागौन तस्कर इसका फायदा उठा रहे हैं। बताया गया कि रात 8 बजे आमाकोड़ो जंगल से एक ट्रैक्टर से सागौन का 8 नग गोला अवैध परिवहन करते हुए आमाकोड़ों के ग्रामीणों द्वारा पकड़ा गया। साथ ही वनविभाग को सूचना देकर उसके हवाले किया गया। आरोपियों में रंजीत, दानुराम, राजूराम, सुनील, जयपाल व राय सिंह सभी हलोरा निवासी शामिल हैं। वन विभाग के कर्मचारियों ने रात्रि लगभग 8 बजे आमाकोड़ो में तत्काल मौके पर पहुंचकर ट्रैक्टर व सागौन के गोले को नापकर जब्ती की कार्रवाई की। 

वन परिक्षेत्र अधिकारी दक्षिण मानपुर अयुब शेख का कहना है कि हां आमाकोड़ा के जंगल से अवैध सागैन परिवन करते ग्रामीणों द्वारा पकड़ा गया है। ट्रैक्टर के साथ कार्रवाई की जा रही है।


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता

अंबागढ़ चौकी, 4 अप्रैल। लॉकडाउन से उपजे परिस्थितियों में चौकी, मोहला व मानपुर के बाजारों में फल, सब्जी एवं किराना सामान निर्धारित दर से अधिक मूल्य में बेचने की निरंतर शिकायतें आ रही है।

शिकायतों की पड़ताल करने मोहला एसडीएम ने अपना शासकीय वाहन छोड़ ग्राहक बनकर पैदल भ्रमण कर जगह-जगह छापामार कर शिकायतों की जांच की। एसडीएम को मोहला में कई स्थान पर सब्जी, फल एवं खाद्य सामग्री अधिक दाम पर बेचे जाने की शिकायतें सही मिली। इसके बाद मुनाफाखोरी कर रहे दर्जनभर व्यापारियों के खिलाफ अर्थदंड की कार्रवाई की गई।  मोहला एसडीएम सीपी बघेल ने मोहला सहित कई स्थानों में छापामार कर फल, सब्जी एवं किराना सामान को अधिक मूल्य पर बेच रहे व्यापारियों के खिलाफ एक-एक हजार एवं 5-5 हजार रुपए का अर्थदंड लगाया।

जानकारी के अनुसार एसडीएम श्री बघेल को कई स्थानों में प्याज का भाव 40 रुपए से अधिक मिला। कई किराना दुकानों में खाद्य सामग्री निर्धारित मूल्य से अधिक दर तथा कई सामग्री प्रिंट रेट से अधिक दर पर  बेचे जाने की शिकायतों को सही पाय। एसडीएम श्री बघेल ने मुनाफाखोरी कर रहे ऐसे दर्जनभर व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई की।

 बताया जाता है कि फल व सब्जी व्यापारियों पर एक-एक हजार का अर्थदंड तथा किराना व्यापारियों के उपर 5-5 हजार का अर्थदंड लगाया है। साथ ही यह चेतावनी दी गई है कि यदि वे अगली बार निर्धारित मूल्य से अधिक दर पर खाद्य सामग्री बेचते मिले तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई मुनाफाखोरी में लगे हुए व्यापारियों में हडक़ंप  है।

इधर एसडीएम श्री बघेल ने बताया कि जिन जिन स्थानों में खाद्य सामग्री अधिक दर पर बेचे जाने की शिकायतें मिल रही है, वहां पर शिकायतों की जांच की जा रही है। शिकायत सही मिलने पर उनके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के निर्देशानुसार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री शाहिद भाई, जिला पंचायत सदस्य महेंद्र यादव, कांग्रेसी नेता प्रवीण मेश्राम ने जिला प्रशासन द्वारा सडक़ चिरचारी में चलाए जा रहे  राहत शिविर में पहुंचकर यहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

इस दौरान प्रदेश कांग्रेस के महासचिव शाहिद भाई ने यहां ठहरे मजदूरों से व्यवस्था के संबंध में बातचीत की, जिस पर मजदूरों ने यहां किए जा रहे व्यवस्था को लेकर संतुष्टि जाहिर की। वहीं भोजन वितरण में देर तक लाइन में खड़े रहने की बात कही।

राहत शिविर में अन्य प्रदेशों से आए लगभग 5 सौ मजदूर हैं, जो अपने घर जाना चाहते हैं, जिस पर शाहिद भाई ने उन्हें हालातों के मद्देनजर लॉकडाउन की समझाइश दी और लॉकडाउन तक यहीं रहने को कहा। वहीं प्रदेश की भूपेश बघेल सरकार द्वारा ऐसे ही फंसे लोगों के हित में चलाए जा रहे योजनाओं की जानकारी भी दी। इसके साथ ही उन्होंने मजदूरों को बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने जिला प्रशासन को निर्देशित किया है कि राहत शिविर में रह रहे लोगों के लिए भोजन की दिक्कत न हो। वहीं उनके ठहरने के लिए भी बेहतर प्रबंध किए जाएं।

राहत शिविर में चिकित्सकों से चर्चा करते महामंत्री शाहिद भाई ने सभी लोगों की नियमित जांच के अपडेट भी लिए। शिविर की व्यवस्था देख रहे अधिकारियों से बातचीत कर भोजन वितरण के दौरान लगने वाली कतार को कम करने उन्होंने भोजन वितरण काउंटर बढ़ाने की बात भी कही। इस दौरान शाहिद भाई ने जिला प्रशासन द्वारा राहत शिविर में की जा रही व्यवस्था पर संतुष्टि जाहिर की है। वहीं राज्य के सीमावर्ती बाघनदी क्षेत्र के समीप एक स्कूल भवन में चल रहे राहत शिविर का भी शाहिद भाई ने निरीक्षण किया। यहां लगभग 5 दर्जन लोग एक कैंप में रह रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री के सामने यहां रह रहे लोगों ने कहा कि अगर भोजन बनाने के बर्तन और रसद मिल जाए तो वे लोग स्वयं अपना भोजन तैयार करना चाहते हैं, जिस पर शाहिद भाई ने कलेक्टर से चर्चा की। इसके बाद कलेक्टर ने भी सामग्री और बर्तन उपलब्ध कराने संबंधित अधिकारियों को निर्देश देने की बात कही।

यहां राहत शिविर में ठहरे लोगों की नियमित स्वास्थ्य परीक्षण को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री ने सीएमएचओ को अवगत कराया। इस दौरान शिविर में ठहरे लोगों को राज्य शासन द्वारा हर संभव मदद दिए जाने का आश्वासन भी प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री ने दिया है।


Date : 04-Apr-2020

प्रदीप मेश्राम

राजनांदगांव, 4 अप्रैल (छत्तीसगढ़ संवाददाता)। छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र की सीमा पर राजनांदगांव जिले के चिरचारी वन डिपो में अस्थाई राहत शिविर में ठहरे बिहार-झारखंड के 80 युवाओं की पैदल सफर करने की कहानी दिल को पसीज कर देती है। कोराना वायरस के चलते राष्ट्रव्यापी बंद से देशभर में रोजाना कई तरह की तस्वीरें सामने आ रही है। बंद से खासतौर पर दिहाड़ी मजदूरों को भटकने के हालात पैदा कर दिए है।

21 दिन के राष्ट्रीय लॉकडाउन के बीच गुजरात के सूरत में एक कपड़ा कारखाना में काम करने वाले युवा पैदल ही अपने गृह राज्य जाने के लिए निकल पड़े। सूरत शहर से शुरूआत में चुनिंदा युवा का एक गु्रप सफर करने निकला। इसके बाद दोनों राज्य के युवाओं की संख्या बढ़ते हुए 80 तक पहुंच गई। दिन-रात करीब सप्ताहभर में 9 सौ किमी की पैदल यात्रा करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा पर यह दल किसी तरह पहुंचा। प्रशासन की मदद से सभी को वन डिपो के अस्थाई कैंप में ठहराया गया।

लॉकडाऊन के चलते संकट में फंसे सभी लोग इस बात को लेकर हैरान है कि बिना सूचना के एकाएक कारखाना और शहर बंद कर दिए गए। लॉकडाउन की वजह से दिहाड़ी मजदूरों पर कहर टूट गया। कई वर्षों से फैक्ट्रियों में कायर्रत मजदूरों को चंद मिनटों में ही संस्थानों से बेदखल कर दिया गया।

‘छत्तीसगढ़ ’ से चर्चा करते बिहार के एक युवा रविन्द सिंह ने अपनी पीड़ा को साझा करते कहा कि पैदल चलने के दौरान भोजन-पानी का संकट रहा। परिवहन व्यवस्था बंद होने की वजह से सभी के सामने सिर्फ पैदल चलना ही एकमात्र विकल्प रहा। रविन्द्र ने बताया कि कुछ जलगांव में कुछ राजनेताओं की मदद से भोजन नसीब हुआ। वहीं कुछ शहरों में प्रशासन ने सीमित दूरी के लिए वाहन मुहैय्या कराया।

इसी तरह एक युवा सुधीर यादव ने बताया कि सूरत से निकलने के दौरान कई तरह की दुविधा और चुनौतियां थी। घर जाने की धुन से पता नहीं चला कि सभी सैकड़ों मील तय कर छत्तीसगढ़ राज्य पहुंच गए। उनका कहना है कि राजनांदगांव प्रशासन की शिविर में मामूली राहत है। सुधीर का कहना है कि सरकार की ओर से सभी की उनके गृहराज्य भेजने की मांग को प्राथमिकता देनी चाहिए।

इसी तरह झारखंड के शैलेष यादव का कहना है कि उनके और अन्य साथियों के पैरों में झाले पड़ गए। शरीर दर्द से कराह रहा है। शैलेष का कहना है कि परिवार के लोग चिंता में है। शैलेष का कहना है कि शिविर में रहने की किसी की इच्छा नहीं है। घर-परिवार से दूर रहने की वजह से सभी मानसिक दबाव में है।चिरचारी राहत शिविर में रहने वाले लोगों में 95 फीसदी झारखंड और 5 फीसदी बिहार के युवा है। वर्तमान में शिविर में 7 सौ से अधिक लोगों को ठहराया गया है।

शिविर में कुछ युवा ऐसे भी है, जिन्होंने साईकिल से सफर किया है। शिविर में अलग-अलग ग्रुप में रहने वाले युवा कमाने-खाने के लिए नागपुर, सूरत जैसे शहरों में गए थे। अचानक लॉकडाऊन का फैसला करने से ट्रेन, बस और अन्य परिवहन सेवाएं बंद कर दी गई। यही से इन युवा मजदूरों पर आफत टूट गई। लॉकडाउन की वजह से छत्तीसगढ़ राज्य की सीमाओं को सील करने से आगे का सफर पर रूकावट खड़ी हो गई है। ऐसे में शिविर में रहने के अलावा इन युवाओं के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं रह गया है।


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में शहर के जरूरतमंदों के लिए प्रशासन भोजन उपलब्ध करा रहा है। कलेक्टर जेपी मौर्य की निगरानी में स्थानीय म्युनिसिपल स्कूल स्थित गांधी सभागृह में भोजन बनाने और पैकिंग का कार्य चल रहा है। वहीं जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी भी इस दौरान मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि देशभर में कोरोना संक्रमण के कहर के चलते देशभर में जहां आगामी 14 अप्रैल तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। वहीं शहर के विभिन्न क्षेत्रों के जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने  कलेक्टर श्री मौर्य ने शहर के दानदाताओं से मदद की अपील की गई है। इसके चलते शहर के अधिकांश दानदाताओं द्वारा जरूरतमंदों के भोजन की व्यवस्था की गई है। ऐसे में जिला प्रशासन भी जरूरतमंदों को पर्याप्त साधन उपलब्ध कराने मुस्तैदी से जुटा हुआ है। वहीं जिलेभर के व्यापारियों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा जिलेभर के नागरिकों से लॉकडाउन का पालन करने का आह्वान किया है।
 


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को  रोकने देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन का आदेश जारी है। इसके तहत आम जनता को आवश्यक सामग्रियों के क्रय के लिए प्रतिदिन समय की छूट दी गई है। इस छूट के चलते दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होने पर एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने कड़ी कार्रवाई करने का फरमान जारी कर दिया है। 
एसपी श्री शुक्ला का कहना है कि प्रतिदिन कुछ समय के लिए आवश्यक खरीदी-बिक्री के लिए छूट दी गई है, लेकिन कुछ संस्थाओं द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है। एसपी ने आदेश जारी करते कहा कि जिस दुकान या संस्थान द्वारा जानबूझकर सोशल डिस्टेंसिंग के निर्देशों की अवहेलना करते पाया जाएगा, उनके विरूद्ध पुलिस द्वारा दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।  साथ ही यह भी आदेश दिया गया है कि बिना पुलिस एवं प्रशासन की पूर्व अनुमति के किसी भी प्रकार की मुफ्त खाद्य सामग्री जैसे अंडा, चिकन आदि का वितरण कोई भी संस्थान नहीं करेगा अन्यथा उसके विरूद्ध भी दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। 

उल्लंघन पर होगा दंडात्मक कार्रवाई
लॉकडाउन के चलते आवश्यक सामग्रियों के क्रय के लिए दी गई छूट के दौरान देखा जा रहा है कि परिवार के एक सदस्य की जगह पूरा परिवार घरों से बाहर दिखाई दे रहा है। इस पर पुलिस प्रशासन ने निर्णय लिया है कि लॉकडाउन के दौरान ट्रेफिक नियमों/लॉकडाउन में जारी निर्देशों का उल्लंघन पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।
 


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में जिला भाजपा अपनी जवाबदेही की भूमिका भली-भांति निभा रही है। भाजपा जिलाध्यक्ष मधुसूदन यादव ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री एवं विधायक डॉ. रमन सिंह एवं सांसद संतोष पांडे की संवेदनशील सोच से प्रेरणा लेकर जिले के वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन में भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता शहर के विभिन्न वार्डों में भोजन एवं मास्क वितरण कर रही है।

दक्षिण मंडल अध्यक्ष तरूण लहरवानी एवं मार्गदर्शक रमेश पटेल के नेतृत्व में महावीर चौक स्थित अस्थाई सब्जी मंडी एवं मुख्य जिला चिकित्सालय चौक में जिला भाजपा द्वारा 4 हजार मास्क नि:शुल्क वितरित किए गए। इसी तरह उत्तर मंडल अध्यक्ष अतुल रायजादा के नेतृत्व में मोतीपुर चौक, लखोली, आशा नगर में मास्क का वितरण किया गया है। साथ ही कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आम जनता से सोशल डिस्टेंसिंग की अपील भी की जा रही है। 

जिलाध्यक्ष श्री यादव ने बताया कि भाजपा के तीनों मंडलों द्वारा अपने कार्यकर्ताओं से कोरोना राहत कोष के तहत सहयोग राशि एकत्र की जा रही है। जिसके तहत दक्षिण मंडल अध्यक्ष श्री लहरवानी एवं पदाधिकारियों द्वारा अपने कार्यकर्ताओं से डेढ़ लाख रुपए एकत्र किए जा चुके हैं। इसी तरह उतर मंडल अध्यक्ष श्री रायजादा की टीम भी 80 हजार रुपए का संग्रह कर चुकी है। 

श्री यादव ने बताया कि जिला भाजपा द्वारा लगातार जन जागरण एवं जागरूकता का अभियान निरंतर जारी है। मंगलवार को भी दक्षिण मंडल द्वारा राजनांदगांव जेल में 230 कैदियों को जेलर के माध्यम से मास्क का वितरण किया गया।


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 04 अप्रैल। कोरोना वायरस संक्रमण को ध्यान में रखते मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत मानपुर में गंभीर कुपोषित बच्चों एवं एनीमिक गर्भवती महिलाओं के घर-घर जाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका द्वारा सूखा राशन वितरण किया जा रहा है। जिलेभर में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं निष्ठापूर्वक अपना कर्तव्य निभा रही हैं। सेक्टर पालेभट्टी परियोजना मानपुर के अंतर्गत आगंनबाड़ी कार्यकर्ताएं सेवा भावना के साथ घर-घर जाकर गंभीर कुपोषित बच्चों एवं एनिमिक महिलाओं तक सूखा राशन पहुंचा रही है।
 


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। कमला कॉलेज रोड में एक लावारिस गाय के पैर में फ्रैक्चर की सूचना प्राप्त होते ही पशु चिकित्सालय राजनांदगांव की टीम द्वारा मौके पर जाकर प्लास्टर कर आवश्यक उपचार किया गया।


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल।  पूज्य सिंधी समाज द्वारा दो हजार 500 किलो चावल और 600 किलो सोयाबीन तेल कोरोना राहत भोजन केंद्र को दिया गया है। इसके साथ ही समाज की ओर से जिला राहत कोष में एक लाख 11 हजार रुपए की सहायता भी दी गई है। पूज्य सिंधी समाज के पदाधिकारियों ने  राशन सामग्री नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक को सौंपा। इस अवसर पर पूज्य सिंधी समाज के मंशाराम मोटलानी, रूपचंद भीमनानी उपस्थित थे।


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 से पीडि़तों एवं प्रभावितों की सहायता के लिए विभिन्न संस्थानों तथा आम नागरिकों द्वारा प्रधानमंत्री सहायता राहत कोष भारत सरकार नई दिल्ली को 90 हजार रुपए का दान किया गया है। 
इसके अंतर्गत पाबूदान कांकरिया अधिवक्ता कामठी लाइन राजनांदगांव ने 50 हजार रुपए का चेक तथा मैकूलाल लोधी ट्रक मैन (एसईसीआर) नागपुर मंडल राजनांदगांव ने 40 हजार रुपए का चेक प्रधानमंत्री सहायता राहत कोष में जमा किया।
 


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। क्षेत्रीय विधायक डॉ. रमन सिंह की करोना संक्रमण के नाजुक क्षणों की गई पहल का जिला भाजपा अध्यक्ष  मधुसूदन यादव ने स्वागत करते कहा कि करोना संक्रमण के समय डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के मजदूरों व श्रमिकों की चिंता करते 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर व फोन में बात कर उनके रहने व खाने की व्यवस्था की और तो और विधायक निधि से 10 दस लाख रुपए जिला राहत आपदा कोष में देने की सहमति दी। साथ ही अपने एक माह का मानधन प्रधानमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की। वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा 4000 मास्क  का नि:शुल्क वितरण भी करवाया और लॉकडाउन के दौरान फोन के माध्यम से सैकड़ों लोगों से बातचीत कर कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन कर जनता के बीच जाकर सेवा करने की प्रेरणा भी दी।

मीडिया सेल द्वारा जारी विज्ञप्ति  में मधुसूदन यादव ने कहा कि डॉ. रमन सिंह संक्रमण की इस गंभीर परिस्थितियों से भली-भांति परिचित हैं और राजनांदगांव पर उनकी सतत नजर है। यहां की एक-एक घटना व प्रशासन के कार्यों का संज्ञान वे ले रहे हैं और प्रशासन कर्मी सफाई कामगारों की तरह स्वास्थ्य कर्मियों के कार्यों से पूर्ण संतुष्ट होते हुए उनकी प्रशंसा भी कर चुके हैं।

श्री यादव ने कहा कि जब सब कुछ ठीक चल रहा है और उनके दौरे से भी प्रशासनिक कसावट में भी फर्क पड़ता है, इसलिए डॉ. सिंह ने बिना तामझाम के फोन के माध्यम से अपनी जनप्रतिनिधि की जवाबदारी को निभाया है और उनके द्वारा फोन के माध्यम से दी गई प्रेरणा के फलस्वरूप ही आज मैं और मेरे जैसे अनेक भाजपा कार्यकर्ता कोरोना के खिलाफ जंग में लगे हुए हैं।


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव। कोरोना वायरस के चलते देश के साथ प्रदेश में भी लॉकडाउन की स्थिति है। ऐसे में शहर के गरीब निर्धन जनता की सहायता के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव जितेन्द्र उदय मुदलियार के मार्गदर्शन में युवा कांग्रेस के अध्यक्ष चेतन भानुशाली टीम के साथ सामने आ गए हैं। वे रोज लगभग 100 पैकेट भोजन सहित राशन सामग्री सुबह-शाम शहर के विभिन्न स्थानों में पहुंचकर दिहाड़ी मजदूरों के लिए व्यवस्था कर रहे हैं।
 


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 04 अप्रैल। नगर निगम क्षेत्र में एक हजार 690 जरूरतमंद व्यक्तियों को राहत के तौर पर राशन किट बांटने चिन्हांकित किया गया है। इन व्यक्तियों को 15 दिन के लिए भोजन किट वितरित कर दी गई। किट में चावल, आटा, दाल, तेल, नमक, मिर्च-मसाला शामिल हैं। चिन्हित व्यक्तियों को राशन किट बांटने के लिए 12 दल तैनात किए गए हैं। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने नगर निगम के लखोली और रेवाडीह में राशन किट वितरण व्यवस्था का निरीक्षण किया। उन्होंने अनेक व्यक्तियों को खुद भी किट प्रदान की।
 इस अवसर पर अपर कलेक्टर ओंकार यदु भी उपस्थित थे।
 


Date : 04-Apr-2020

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 4 अप्रैल।
राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले के प्रायमरी एवं मिडिल स्कूल के कुल एक लाख 80 हजार 808 बच्चों को मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत 40 दिन के लिए चावल और दाल वितरण का कार्य शुरू हो गया। इनमें एक लाख 10 हजार 59 बच्चे प्रायमरी तथा 70 हजार 749 बच्चे मिडिल स्कूल के शामिल हैं। शिक्षकों द्वारा घर-घर जाकर चावल और दाल का वितरण किया जा रहा है। 

जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम ने बताया कि कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में जिले के बच्चों को राशन का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रायमरी स्कूल के प्रत्येक बच्चे को 40 दिन के लिए चार किलो चावल और आठ सौ ग्राम दाल तथा मिडिल स्कूल के प्रत्येक बच्चे को 40 दिन के लिए 6 किलो चावल एवं एक किलो 200 ग्राम दाल दिया जा रहा है।

श्री सोम ने बताया कि शिक्षक घर-घर जाकर राशन देने के साथ ही बच्चों और पालकों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए समझाईश दे रहे हैं। बच्चों और पालकों को मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, सेनेटाइजर का उपयोग करने, भीड़भाड़ वाली जगह में न जाने सोशल डिस्टेंस बनाए रखने तथा सर्दी, खांसी, बुखार होने पर तुरंत डॉक्टरों के पास जाने की सलाह देकर जागरूक किया जा रहा है।
 


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य की अपील पर कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन की स्थिति में जरूरतमंद लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था करने के लिए प्रशासन को सहयोग करने जिले की समाजसेवी संस्था और नागरिक लगातार आगे आ रहे हैं। 

इसी कड़ी में श्री माहेश्वरी पंचायत राजनांदगांव द्वारा एक सौ कट्टा चावल, दस टीन तेल, दो क्विंटल राहर दाल, 15 किलो पीसी धनिया, 15 किलो पीसी हल्दी और 15 किलो पीसी मिर्ची दी गई। पंचायत के पदाधिकारियों और सदस्यों ने गांधी सभागृह में अधिकारियों को यह सामग्री सौंपी। श्री माहेश्वरी पंचायत राजनांदगांव के अध्यक्ष पवन डागा, सत्यनारायण डागा, ओमप्रकाश लढ्डा, संजय लढ्डा, राजेश चितलांगया, हेमंत मालू, कमल गांधी, मदन राठी, रमेश डागा और सुरेश सोनी ने यह राशन सामग्री सौंपी।
 


Date : 04-Apr-2020

राजनांदगांव, 4 अप्रैल। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के विश्वव्यापी संक्रमण को दृष्टिगत रखते दूसरे प्रदेश/जिलों के श्रमिकों को विभिन्न स्थलों में क्वारेंटाईन किया गया है। जिनके भोजन व्यवस्था की जिम्मेदारी अनुविभागीय दंडाधिकारी राजनांदगांव को दी गई है। उनके सहायक के रूप में तहसीलदार राजनांदगांव एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत राजनांदगांव को बनाया गया है। इसके साथ ही भोजन तैयार करने एवं वितरण हेतु कलेक्टोरेट राजनांदगांव के परिसर के राहत शाखा का चयन किया गया है।भोजन व्यवस्था के सुचारू संचालन हेतु आवश्यक संसाधन एवं कर्मचारियों की व्यवस्था हेतु अनुविभागीय दंडाधिकारी राजनांदगांव को अधिकृत किया गया हैं। 

ज्ञातव्य हो कि पूर्व में इस कार्य हेतु आयुक्त नगर निगम राजनांदगांव जिम्मेदारी दी गई थी। 
 


Previous123456789...1415Next