छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

Previous123Next
Date : 25-Jun-2019

मुश्किल में छुरिया बीएमओ, एक्सपायरी दवाओं को घर में रखने का मामला

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 जून।
एक्सपायरी दवाओं को घर में रखने की वजह से सुर्खियों में आई छुरिया बीएमओ डॉ. किरण चांदेकर विभागीय जांच के कारण मुश्किल में पड़ सकती है। बताया जाता है कि बीएमओ ने नियमानुसार दवाईयों को नष्ट नहीं किया बल्कि भारी मात्रा में सरकारी औषधि को घर में ही रख लिया। 

मिली जानकारी के अनुसार बीएमओ ने इस मामले में आलाधिकारियों को भी अंधेरे में रखा। बताया जाता है कि तहसीलदार ने बीएमओ के आवास में दबिश देकर जांच शुरू कर दी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया। तहसीलदार के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान सरकारी दवाईयां मिली। 

बीएमओ एक्सपायरी दवाओं को आवास में रखने का ठोस कारण बताने में नाकाम रहीं। इधर स्वास्थ्य विभाग की तीन सदस्यीय टीम ने कल पूरे मामले की छानबीन की। बताया जाता है कि औषधि निरीक्षक संजय झाड़ेकर ने अपनी टीम के साथ वस्तुस्थिति का पता लगाया। तहसीलदार की मौजूदगी में सीलबंद कमरे का ताला खोला गया। इसके बाद टीम ने जांच शुरू की। 

मिली जानकारी के अनुसार बीएमओ डॉ. चांदेकर का कलमबंद बयान लिया गया है। जांच टीम जल्द ही सीएमएचओ डॉ. मिथलेश चौधरी को रिपोर्ट सौंपेगी। इसके बाद वस्तुस्थिति का खुलासा होगा।


Date : 25-Jun-2019

नगर निगम की सफाई व्यवस्था की पोल खुली नालियों का गंदा पानी गलियों में फैला, सफाई नहीं होने से उठने लगी बदबू

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 जून।
पहली बारिश में ही नगर निगम की सफाई व्यवस्था की पोल खुल गई है। शहर के ज्यादातर वार्डों की नालियां कचरों से पटी पड़ी है। लिहाजा गंदा पानी नालियों से निकलकर सड़कों व रास्तों में फैलने लगा है। गंदे पानी के कारण मोहल्लों में बदबू फैलने लगी है। बरसात के सीजन में दूषित पानी जमा होने के कारण मच्छरों के पनपने का भी खतरा बढ़ गया है। प्लास्टिक और अन्य सामानों के ढेर लगने से नाली में गंदे पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। 

यहां यह बता दें कि राजनांदगांव नगर निगम के 51 वार्डों में से करीब 30 वार्ड में आए दिन साफ-सफाई को लेकर विवाद होता रहा है। नगर निगम पर सफाई व्यवस्था को पुख्ता नहीं बनाने का आरोप भी लगता रहा है। ज्यादातर वार्ड श्रमिक बाहुल्य इलाके में है। जहां साफ-सफाई को लेकर नगर निगम का ध्यान नहीं रहता। इधर बसंतपुर, शांतिनगर, चिखली, ढ़ाबा, मोतीपुर, तुलसीपुर, इंदिरा नगर, लखोली, कन्हारपुरी, स्टेशनपारा, गौरीनगर समेत अन्य सघन वार्डों में सफाई व्यवस्था पटरी से उतर गई है। बताया जाता है कि वार्डों के पार्षदों के रवैये को लेकर भी लोगों में नाराजगी है। 

मिली जानकारी के मुताबिक वार्ड के पार्षद इस मामले में सफाई ठेकेदार को जवाबदार बता रहे हैं। इधर नालियों की सफाई को लेकर नगर निगम का शुरूआती अभियान भी ठंडा पड़ गया है। आमतौर पर जून के प्रथम पखवाड़े में शहर के ड्रेनेज सिस्टम को दुरूस्थ करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाता है। बताया जाता है कि इस बार अभियान को लेकर सफाई विभाग ने खास पहल नहीं की। जिसके चलते वार्डों में मानसून के पहले ही दौर में नालियां बदबूदार हो गई है।

इधर नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी अजय यादव ने 'छत्तीसगढ़Ó  से चर्चा में कहा कि वार्डों में सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कहीं किसी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है। उधर 51 वार्डों में से 26 वार्ड ठेकेदारों के अधीन है। बताया जाता है कि ठेके वाले वार्डों में ही सफाई व्यवस्था को लेकर वार्ड के लोग पार्षदों को घेर रहे हैं। बहरहाल नांदगांव नगर निगम के ज्यादातर वार्डों की नालियां बजबजा रही है। बदबू और दुर्गंध के कारण लोगों में आक्रोश है।


Date : 25-Jun-2019

किसानों को बीज अंकुरण परीक्षण के बाद बोआई की सलाह

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 25 जून।
मानसून की शुरूआती बारिश के साथ ही जिले में खरीफ फसलों की बोआई शुरू हो गई है। जब किसान अच्छी फसल लेने की सोचते हैं तब बीज की महत्ता बढ़ जाती है, क्योंकि अच्छे बीज पर अच्छी उत्पादकता निर्भर करती है। बीज अगर स्वस्थ होंगे तो पौधे भी स्वस्थ होंगे। फसलों में कीट व्याधि का प्रकोप कम होगा और उत्पादकता एवं उत्पादन में वृद्धि होगी। वहीं यदि बीज सही नहीं तो बीज का अंकुरण अच्छा नहीं होगा। अच्छे या गुणवत्तापूर्ण बीज को परखने के लिए बीजों के अंकुरण का प्रतिशत पैमाना होता है  इसलिए बीज का अंकुरण परीक्षण बहुत जरूरी है। बीजों के अंकुरण के परीक्षण के लिए उन्नत तकनीक अपनाने से बीजों की गुणवत्ता की अच्छी पहचान होती है।

बीज अंकुरण परीक्षण
किसान अपने खेतों में फसल लेने के लिए बीज की व्यवस्था या तो कर लिये हैं या कर रहे हैं। इसमें एक बात ध्यान में रखना बहुत जरूरी है कि बीज के स्त्रोत जैसे सोसायटी एवं गांव के किन्ही उत्कृष्ट कृषक से अदला-बदली द्वारा व्यवस्था की है तो बीजों के अंकुरण सही होने का कोई जीवंत प्रमाण नहीं होता है, इसलिए बोआई से पहले बीज का अंकुरण जांच करना बहुत जरूरी होता है। खेतों में डाले गये बीज का अंकुरण सही नहीं होने पर वह स्थान पूरे फसल काल तक खाली रह जाता है एवं इस स्थान पर डाले गए रासायनिक एवं जैविक खाद प्रभावहीन हो जाता है, इसलिए बोआई से पहले बीज अंकुरण परीक्षण बहुत ही जरूरी है। इसके लिए बीज की साफ-सफाई कर छोटे एवं अस्वस्थ्य दाने अलग कर लेना चाहिए तथा बिना छांटे 100 बीज गिनकर गीली बोरी में कतार में रखकर लपेट कर रख देना चाहिए। साथ ही बोरी में हल्की नमी बनाए रखना चाहिए।  तीन-चार दिनों में बीज अंकुरण होने के बाद अंकुरित बीज की संख्या  गिन लेना चाहिए, क्योंकि यही बीज अंकुरण प्रतिशत होगा। विभिन्न बीजों के उचित अंकुरण क्षमता के मापदंड अलग-अलग होते हैं। जैसे धान 80-85 प्रतिशत, उड़द 75 प्रतिशत, सोयाबीन 70-75 प्रतिशत है। अंकुरण परीक्षण में उपरोक्त मापदंड से थोड़ा अंतर होने पर बीज की मात्रा बढ़ाकर बोआई नहीं करना चाहिए, जहां से बीज लिए हैं वहां वापस कर देना चाहिए। इसके बाद तुरंत नजदीकी कृषि अधिकारी को जानकारी देनी चाहिए। बीज के अंकुरण का पौध संख्या पर विशेष प्रभाव पड़ता है, इसलिए बीज के अंकुरण जांच करके ही बीज की बोआई करना चाहिए। 

 

 


Date : 25-Jun-2019

गर्मियों की छुट्टी के बाद स्कूल खुले

राजनांदगांव, 25 जून। गर्मियों की छुट्टी के बाद सोमवार को स्कूल खुल गए। स्कूलों की  रौनक बढ़ गई। स्कूल के पहले दिन का उत्साह  बच्चों के चेहरों में  साफ  दिखा।  खेलों  में मस्ती के साथ  पहले दिन की पढ़ाई भी हुई। जिले के अनेक स्कूलों में शाला प्रवेश उत्सव के साथ नए शिक्षा सत्र के पहले दिन की शुरुआत हुई। इन स्कूलों में नव प्रवेशी बच्चों का स्वागत किया गया। संगी साथियों के साथ स्कूल जाते बच्चों की खुशी देखते ही बन रही थी। स्कूलों में  पाठ्यपुस्तकों और शाला गणवेश का वितरण भी किया गया।


Date : 24-Jun-2019

मानसून की पहली बौछार के साथ बुआई में आई तेजी

जिले में पौने चार लाख हेक्टेयर में होगी खरीफ की बोनी
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 जून।
जिले में मानसून की पहली फुहार के साथ ही बुआई में तेजी आ गई है। मानसून के लेटलतीफी के कारण खेती कार्य भी प्रभावित हुआ है। किसानों में मानसून के देरी से चिंता का माहौल था। मानसून के सक्रिय होते ही अब किसान जुताई के साथ बुआई भी करने लगे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक जिले में पौने चार लाख हेक्टेयर में फसलें बोयी जाएंगी। यानी 3 लाख 71 हजार हेक्टेयर में धान के अलावा अन्य फसलों की पैदावार होगी। दलहन तथा तिलहन का रकबा काम किया गया है। इस वर्ष 24 हजार 800 हेक्टेयर क्षेत्रफल में दलहन की बोनी कराई जा रही है, तो वहीं 30 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में तिलहन बोनी का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कृषि विभाग के अधिकारियों की माने तो बारिश शुरू होने के बाद जिले में बोनी का कार्य शुरू कर दिया गया है। धान बोनी से लेकर दलहन, तिलहन की बोनी भी कराई जा रही है। जिले में अब तक 26 मिमी वर्षा दर्ज होने के बाद खेती-किसानी के कार्य में तेजी आ गई है। 

सोसायटियों से खाद-बीज के उठाव में तेजी
जिले में किसानी कार्य में तेजी आने के साथ ही समितियों से खाद-बीज का उठाव भी किसान तेजी से कर रहे हैं। इस वर्ष खाद वितरण का लक्ष्य 56800 मीटिरिक टन है। अधिकारियों की माने तो किसानों द्वारा अब तक 31720 मीटिरिक टन खाद का उठाव कर लिया गया है।

 


Date : 24-Jun-2019

नंदई चौक में पाइप लाइन की मरम्मत शुरू

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 जून।
भीषण गर्मी और पेयजल संकट के बीच नंदई चौक से गुजरने वाली पाईप लाइन लिकेज की सूचना पर नगर निगम की टीम ने सोमवार को पहुंचकर सुधार कार्य शुरू कर दिया है।  बताया जा रहा है कि उक्त स्थान से बीते कुछ दिनों से  पानी निकल रहा था। ऐसे में निगम की टीम सूचना के बाद उक्त पाइप को सुधार के लिए सोमवार को सुधार अमला के साथ पहुंच गया।

बताया जा रहा है कि उक्त पाईप के लिकेज होने से सप्लाई वाले क्षेत्र में कम समय के लिए लोगों को पेयजल मिल पा रहा था। जिससे लोगों में भीषण गर्मी के बीच पानी कम मिलने से आक्रोश की स्थिति भी निर्मित हो गई थी। बताया जा रहा है कि प्रभावित क्षेत्र के लोगों को पेयजल के अलावा निस्तारी के लिए भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। ऐसे में सोमवार को निगम का सुधार अमला सूचना के बाद मरम्मत कार्य में जुट गया है। उक्त पाईप लाइन में सुधार के बाद ऐसी आशंका जताई जा रही है कि उक्त प्रभावित क्षेत्र में अब पर्याप्त पानी पहुंचेगा और लोगों को राहत मिलेगी।

 


Date : 24-Jun-2019

कुछ स्कूलों में समय से पहले तो कुछ में नवप्रवेशी बच्चों का स्वागत

पहले दिन स्कूलों में रही अव्यवस्था, खेल-खेल में बीता दिन

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 24 जून।
सप्ताहभर की देर से खुले सरकारी और गैर स्कूलों में पहला दिन अव्यवस्था का आलम रहा। वहीं कुछ स्कूलों में पूर्व की समयानुसार बच्चे सुबह 7 बजे से पहुंचे, लेकिन ताला लगने के कारण बच्चे परिसर में ही खेलते रहे। ग्रामीण और शहरी स्कूलों में सोमवार को स्कूल खुलने के बाद बच्चों की धमाचौकड़ी नजर आई। पूरा दिन खेल-खेल में ही बीत गया। नए शिक्षा सत्र की शुरूआत के पहले दिन नवप्रवेशी बच्चों का टीका लगाकर शिक्षकों ने स्वागत किया। वहीं बच्चों को पाठ्य पुस्तक देकर शिक्षण सत्र का आगाज किया गया। बताया जाता है कि स्कूलों में आज रौनकता के साथ अस्त-व्यस्त माहौल नजर आया। 

मिली जानकारी के मुताबिक पूरा पखवाड़ा प्रवेशोत्सव के रूप में मनाया जाएगा। शिक्षा में बेहतर सुधार लाने तथा शिक्षकों की उपस्थिति को नियमित तौर पर बनाए रखने के लिए सरकार ने प्रवेश उत्सव मनाने का निर्णय लिया है। बताया गया है कि कलेक्टर जेपी मौर्य ने जिला शिक्षा अधिकारी के जरिए शिक्षा विभाग को सख्त निर्देश दिया है। बच्चों को तय समय पर पाठ्यपुस्तक, गणवेश एवं अन्य शैक्षणिक संसाधन मुहैया कराने का कलेक्टर ने फरमान जारी किया है। गौरतलब है कि कलेक्टर ने हाल ही में आए 10वीं एवं 12वीं के नतीजों को लेकर नाराजगी जाहिर की है। जिले में इस बार किसी भी छात्र ने प्रदेश के टॉपटेन में जगह नहीं बनाई। 18 जून के बजाय राज्य सरकार ने 24 जून से स्कूल खोलने के निर्देश दिए थे। भीषण गर्मी के कारण सरकार ने स्कूल खोलने की तारीख को एक सप्ताह बढ़ा दिया था। राजनांदगांव जिले के सभी विकासखंड शिक्षा अधिकारियों की बैठक लेकर कलेक्टर ने आवश्यक सुझाव और निर्देश दिए हैं। 

बताया जाता है कि जिले में कुल 2500 से अधिक सरकारी स्कूल संचालित हो रही है। हालांकि शिक्षकों की कमी के कारण अपेक्षित नतीजे नहीं मिल पा रहे हैं। जिसके चलते राजनांदगांव जिले का प्रदर्शन प्रदेश में फिसड्डी रहा है। बताया जाता है कि इस बार कलेक्टर ने पूरे सत्र में सुनियोजित तरीके से शिक्षण कार्य करने के निर्देश दिए हैं। इधर शहर के बसंतपुर, लखोली, शांतिनगर, राहुल नगर, मोतीपुर, कौरिनभाठा समेत अन्य स्कूलों में आज पहला दिन बिना पढ़ाई किए ही निकल गया। स्कूल के बंदोबस्त में ही शिक्षकों का वक्त निकल गया। उधर ग्रामीण इलाकों में भी बच्चे  देरी से पहुंचे। हालांकि हल्दी स्कूल में बच्चों का बकायदा शिक्षकों का स्वागत किया गया और प्रोत्साहन स्वरूप बच्चों को पुस्तकें वितरित की गई। परिजनों की मौजूदगी में स्कूल के शिक्षकों ने सभी का स्वागत किया।

 

 


Date : 24-Jun-2019

लालबत्ती में सवारी के लिए जोड़-तोड़, शहर और जिलेभर से दर्जनभर कांग्रेसी दौड़ में

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 जून।
निगम और मंडलों में लालबत्ती की सवारी करने के लिए कांग्रेस में सियासी जोड़-तोड़ शुरू हो गई है। डेढ़ दशक बाद सत्ता में लौटे कांग्रेसी कार्यकर्ता सरकार से मनोनीत मंत्री का दर्जा हासिल करने की उम्मीद लेकर उठापटक कर रहे हैं। 
बताया जाता है कि राजनांदगांव शहर में जहां आधा दर्जन नेताओं ने लालबत्ती पाने के लिए कवायद शुरू कर दी है। वहीं जिले में कुछ पूर्व विधायक और कर्मठ कार्यकर्ता भी सरकार से आस लगाए बैठे हैं। राजनीतिक रूप से अगला कुछ कार्यकर्ताओं के लिए बेहद अहम है। बताया जाता है कि निगम, मंडल और आयोग में अध्यक्ष और सदस्य बनने के लिए पुराने कांग्रेसी नेता अपनी काबिलियत के आधार पर दावा ठोंक रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से राजनांदगांव से लालबत्ती पाने इच्छुक नेताओं ने राजधानी में काफी उठापटक की है। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजनांदगांव जिले में नियुक्ति करने से पूर्व शीर्ष नेताओं के साथ राय मशविरा करेंगे। बताया जाता है कि लालबत्ती के लिए काबिल नेताओं का नब्ज टटोला जाएगा। कार्यकर्ताओं की मंशा और संगठन की पसंद को भी दृष्टिगत रखकर इस पर निर्णय लिया जाएगा। 

इधर राजनांदगांव शहर से लालबत्ती की दौड़ में वरिष्ठ कांग्रेसी श्रीकिशन खंडेलवाल, निगम के नेता प्रतिपक्ष हफीज खान, पूर्व शहर अध्यक्ष जितेन्द्र मुदलियार, जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुरेन्द्रदास वैष्णव,  पूर्व पार्षद हेमंत ओस्तवाल, एनएसयूआई के पूर्व महासचिव निखिल द्विवेदी, समेत अन्य कार्यकर्ताओं का नाम सामने आया है। बताया जाता है कि जातिगत और सामाजिक समीकरण भी नियुक्ति के लिए एक प्रमुख मापदंड होगी। कहा जा रहा है कि नगरीय निकाय चुनाव के मद्देनजर भी नियुक्ति की जाएगी। हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में छह माह पुरानी कांग्रेस सरकार को राज्य में करारी शिकस्त झेलनी पड़ी है। बताया जाता है कि करीब 5 माह बाद होने वाले निकाय चुनाव में पार्टी वापसी करने की मंशा लेकर नियुक्ति  का ऐलान करेगी। बताया जाता है कि लालबत्ती को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में मची आपाधापी को देखते हुए प्रदेश सरकार चुनिंदा लोगों को ही मौका दे सकती है। फिलहाल शहर में लालबत्ती को लेकर चर्चाएं चल रही है। 

पूर्व विधायक भी लालबत्ती पाने लगा रहे जोर
कांग्रेस के कुछ पूर्व विधायक भी लालबत्ती पाने के लिए जोर लगा रहे हैं। बताया जाता है कि विधानसभा चुनाव में पत्ता साफ होने के बाद तेजकुंवर नेताम लालबत्ती में सवारी करने पूरजोर कोशिश कर रही हैं। वहीं पार्टी के कुछ और ग्रामीण नेताओं ने खुद को नियुक्ति के लिए पात्र बताया है। राजनीतिक रूप से कुछ पूर्व विधायकों ने पुराने संबंधों को देखते हुए राज्य के सांगठनिक नेताओं से संपर्क भी साधा है। पूर्व मंत्री धनेश पटिला भी पद की लालसा लिए आला नेताओं के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। बताया जाता है कि महिला नेत्रियों ने भी महिला आयोग और अन्य निगमों में जगह बनाने के लिए जमकर कोशिश की है। इस दौड़ में शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष हेमा देशमुख भी एक सशक्त दावेदार मानी जा रही है। ऐसे में नियुक्ति होने तक कांग्रेस नेताओं के बीच आपसी राजनीतिक प्रतिद्वंद्ध बरकरार रहेगी।

 

 

 


Date : 24-Jun-2019

राजद्रोह का मामला हटने के बाद मांगेलाल मिले सीएम से कहा- सोशल मीडिया में भड़ास निकालना एक चूक

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 24 जून।
सोशल मीडिया में विद्युत कटौती पर राजद्रोह मामला दर्ज होने के बाद सुर्खियों में आए मांगेलाल अग्रवाल ने मुख्यमंत्री से पहली बार भेंट करते अपनी चूक पर अफसोस जताया है। मांगेलाल के मुताबिक हड़बड़ी में सोशल मीडिया में उन्होंने एक वीडियो पोस्ट कर दिया जिसे अब तूल नहीं दिया जाना चाहिए। मांगेलाल ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि राजद्रोह की धारा को हटाना एक संवेदनशील सरकार का प्रतीक है। 

मुसरा के मांगेलाल ने कल जिलाध्यक्ष नवाज खान के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात की। सीएम बघेल से मिलने के लिए मांगेलाल अपने परिवार के साथ पहुंचे थे। मांगेलाल ने विद्युत कटौती के वीडियो को वायरल करने पर भी मुख्यमंत्री से माफी मांगी। मांगेलाल को इस बात का गुमान नहीं था कि यह मामला राजद्रोह  तक पहुंच सकता है। मुख्यमंत्री से भेंट करते हुए मांगेलाल की पत्नी और अन्य सदस्यों ने राजद्रोह की धारा से मुक्त करने पर सहृदयता से आभार व्यक्त किया। सीएम ने भी मानवीय भूल मानते हुए परिवार के साथ गर्मजोशी से मुलाकात की। 

मांगेलाल प्रकरण में सीएम की नेक व्यक्तित्व छलका - नवाज
जिला कांग्रेस कमेटी ग्रामीण के अध्यक्ष नवाज खान ने कहा कि मांगेलाल अग्रवाल घटना के बाद से भाजपा की ओछी राजनीति से प्रताडि़त हो रहे थे और वे  सपरिवार मुख्यमंत्री से  मिलकर आभार जताने की इच्छा जताई थी। जिसके चलते उन्हें सपरिवार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कराई गई। इस दौरान मुख्यमंत्री से मांगेलाल ने जहां अपने भावनात्मक पोस्ट पर क्षमा मांगते कहा कि आप जैसे नेक व्यक्तित्व के कारण ही आज मैं यहां खड़ा हूं और मजबूत व्यक्ति ही ऐसे निर्णय लेने के लिए सक्षम होते है। नवाज ने कहा कि जबसे छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार भूपेश बघेल के नेतृत्व में कमान संभाली है, तब से छग में आम जनता भयमुक्त हो गई है और योजनाओं का लाभ सीधे जनता को मिल रही है। 

 

 


Date : 23-Jun-2019

स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत शहरवासियों को शहर की सफाई के प्रति जागरूक करने एवं निगम द्वारा की जा रही सफाई कार्य में सहभागिता निभाने चौपाल कार्यक्रम आयोजित 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 23 जून।
स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत शहरवासियों को शहर की सफाई के प्रति जागरूक करने एवं निगम द्वारा की जा रही सफाई कार्य में सहभागिता निभाने कलेक्टर के मार्गदर्शन में नगर निगम द्वारा वार्डों में 29 मई से 29 जून तक संध्या 6.30 से 7 बजे तक रात्रि में सफाई पर चौपाल कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसका 29 मई को मोतीपुर क्षेत्र के वार्डों के लिए महापौर मधुसूदन यादव व कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य द्वारा शुभारंभ किया गया था।

इसी कड़ी में 21 जून को वार्ड नं. 23, 24, 25, 26, 27 व 37 के लिए जयस्तंभ चौक में रात्रि में सफाई पर चौपाल कार्यक्रम आयोजित किया गया।  जिसमें स्वच्छता का संदेश देते स्वच्छता एवं पानी बचाने संबंधी संक्षिप्त फिल्म का प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर नगर निगम आयुक्त चंद्रकांत कौशिक ने कहा कि नगर निगम सफाई में जो खर्च करता है वो आप लोगों के सहयोग से कम हो सकता है और सफाई व्यवस्था सुधर सकती है। इसी उद्देश्य से वार्डों में स्वच्छता पर चौपाल लगाया जा रहा है। 

स्वच्छता चौपाल में प्रधानमंत्री आवास के लिए उत्कृष्ठ कार्य करने पर सामाजिक विशेषज्ञ ललित मानकर एवं लोककर्म विभाग में उत्कृष्ठ कार्य करने पर निम्र श्रेणी लिपिक टीकेन्द्र साहू (संजय) को स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन सहायक अभियंता राजकुमार साहू एवं संचालन उप अभियंता हरिशंकर वर्मा ने किया। इस अवसर पर निगम के अधिकारी व कर्मचारी सहित वार्डवासी उपस्थित थे।

 


Date : 23-Jun-2019

इंदामरा के रिफाइनरी यूनिट में लगी आग, दमकल कर्मियों की मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 23 जून।
नेशनल हाईवे के समीप ग्राम इंदामरा स्थित आईबी ग्रुप के रिफाइनरी यूनिट में 21-22 जून की दरम्यानी रात को अचानक आग लग गई। आग लगने की खबर से वहां अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया था। घटना की सूचना पर मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची और काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। बताया गया कि इस घटना से लगभग 12 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

मिली जानकारी के अनुसार 21-22 जून की दरम्यानी रात को ग्राम इंदामरा स्थित एबीस एक्सपोर्टस इंडिया प्रा. लि. की रिफाइनरी यूनिट में अचानक आग लग गई। धीरे-धीरे आग ने बड़ा रूप धारण कर लिया और धूं-धूं कर जलने लगी। यूनिट से उठता आग और धुंए को देख समीप के गांव के लोगों में हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई थी। बताया गया कि यूनिट में आग लगने के बाद लोगों में हड़कंप और भय का वातावरण निर्मित हो गया था। 

इधर आग लगने की घटना की सूचना लालबाग थाना एवं फायर ब्रिगेड को दी गई। बताया गया कि सूचना मिलते ही राजनांदगांव, खैरागढ़, डोंगरगांव, डोंगरगढ़, दुर्ग एवं भिलाई व रायपुर के फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची। 
बताया गया कि रातभर काफी मशक्कत के बाद सुबह 9 बजे तक आग पर काबू पाया जा सका। फायर ब्रिगेड की टीम द्वारा कड़ी मशक्कत कर आग पर काबू पाने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

बताया गया है कि उक्त आगजनी की घटना में रिफाइनरी यूनिट की बिल्डिंग, मशीनरी, इलेक्ट्रिक सामान, इलेक्ट्रिक पेनल बोर्ड, आईल पैकिंग मटेरियल, कैमिकल्स, कूड आयल, वेग्स, मशीनरी स्पेयर पार्टस, मशीनरी क्लाथ्स सहित अन्य सामान जलकर खाक हो गए। 

उक्त आगजनी से लगभग 12 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। पुलिस को उक्त घटना की सूचना असिस्टेंट जनरल मैनेजर रिफाइनरी यूनिट इंदामरा राजेश गजानन ने दी है।


Date : 23-Jun-2019

बेसहारा पशुओं को रोजगार का माध्यम बनाना होगा, हमारी उपलब्धि डेयरी को बढ़ावा देकर लाई जा सकती है नई क्रांति-केन्द्रीय मंत्री गिरिराज

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 23 जून।
आईबी ग्रुप द्वारा राष्ट्रीय स्तर का पोल्टी सेमीनार 22 जून को एक निजी होटल में आयोजित किया गया। सेमीनार में मुख्य अतिथि के रूप में भारत शासन के पशुपालन, डेयरी, मत्स्य पालन केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शामिल हुए। 

श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों की आय को दोगुना करने के उद्देश्य से जो नया विभाग बनाकर देश में पशुपालन, डेयरी विकास व मछली पालन को बढ़ावा देने का जो दायित्व उन्हें सौंपा है। उनकी कोशिश होगी कि वे इसके माध्यम से नई योजनाएं बनाकर परिवर्तन ला सकें। मोदी के सपनों को साकार करने के लिए वे हर संभव प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि जिसे लोग आवारा पशु कहते हैं उसे मैं बेसहारा मानता हंू, उसे आगे चलकर हम रोजगार का माध्यम बना सकें तो हमारी उपलब्धि होगी। 

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान में 30 करोड़ पालतू जानवर है। जिसमें 10 करोड़ भैंस व लगभग 20 करोड़ गाय-बैल हैं। डेयरी को बढ़ावा देकर देश में नई क्रांति लाई जा सकती है। नस्ल सुधार व सिर्फ बछिया पैदा करने के तरीके से भी दूध का उत्पादन बढ़ाया जा सकता है। इसी तरह मछली उत्पादन के जरिए किसानों की आय बढ़ाई जा सकेगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 50 हजार करोड़ रुपए का मछली एक्सपोर्ट होता है। 9 हजार किमी क्षेत्र में मत्स्यपालन चल रहा है। मत्स्य पालन को और बढ़ावा देने की योजनाएं बनाएंगे। पोल्टी के जरिए अंडा व मुर्गा व्यवसाय बढ़ाकर बेरोजगारी दूर की जा सकती है। पोल्ट्री को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। इसमें आ रही समस्याओं को दूर किया जा जाएगा। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जाहिर किया कि आईबी ग्रुप ने देश-विदेश के पशुपालन, डेयरी, मत्स्य पालन के विशेषज्ञों को आमंत्रित कर केंद्र सरकार की मंशा के अनुरूप काम करते हुए यह शानदार आयोजन किया। जिससे इस क्षेत्र से जुड़े लोगों को प्रेरणा मिलेगी। इस दौरान आईबी ग्रुप के प्रबंध निदेशक बहादुर अली भी मौजूद थे।

 


Date : 23-Jun-2019

मेजबान हॉकी छत्तीसगढ़ क्वार्टर फाइनल में कप्तान तरूण ने दागे 5 गोल
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 23 जून।
स्पोटर्स कॉम्पलेक्स बहतराई बिलासपुर में खेले जा रहे 9वीं हॉकी इंडिया सब जूनियर बालक नेशनल हॉकी प्रतियोगिता के पांचवें दिन 5 मैच खेले गए।

जिसके तहत पहला मैच मेजबान टीम हॉकी छत्तीसगढ विरूद्ध हॉकी जम्मू एंड कश्मिर के मध्य खेला गया। हॉकी छत्तीसगढ की टीम ने अपनी मेजबानी पारी खेलते मैच के शुरूआत से अपना दबाव हॉकी जम्मू एंड कश्मिर के उपर बनाए रखा और मैच के 2रे ही मिनट में कप्तान तरूण यादव ने गोल कर 1 गोल बढ़त दिला दी। तत्पश्चत मैच के पांचवे मिनट में हॉकी छत्तीसगढ़ को पैनाल्टी कार्नर मिला, जिसे कप्तान तरूण यादव फिर से गोल के रूप में बदल कर 2 गोल की बढ़त बनाई। इसके मुकाबले हॉकी जम्मू एंड कश्मिर ने गोल करने के प्रयास करते रहे, किन्तु उन्हें किसी प्रकार की कोई सफलता की आस न दिखाई और मैच के 14वें मिनट में हॉकी छत्तीसगढ़ की ओर से अर्जुन यादव ने गोल उसी प्रकार मैच के 20वें मिनट में सोनू निषाद ने गोल किया। मैच के 22वें मिनट में तरूण यादव, 25वें मिनट में समीर यादव, 28वें मिनट में रितेश सूर्यवंशी, 30वें मिनट में निखिल बोई, 33वें मिनट में सागार यादव, 48वें मिनट में तरूण यादव, 53वें मिनट में समीर यादव, 54वें मिनट में रितेश रितेश सूर्यवंशी, 57वे मिनट में समीर यादव व 60वें मिनट में कप्तान तरूण यादव ने गोल कर क्वाटर फाइनल में अपना स्थान पक्का किया।

दूसरा मैच हॉकी मध्य भारत विरूद्ध हॉकी गुजरात के मध्य खेला गया। इसमें हॉकी मध्य भारत ने एक आसान सी जीत हॉसिल की, फिर भी वह इस चैम्पियनशिप से बाहर हो गई। हॉकी मध्य भारत ने अपने खेल की शुरूआत से गोल दागने चालू कर दिए थे और 3रें मिनट में कप्तान इरबाज खान ने गोल कर 0 के मुकाबले 1 गोल से बढ़त बना ली। 10वें मिनट इरबाज खान व  14वें मिनट में युवराज चौहान ने गोल किया। इसी तरह हॉकी गुजरात की ओर से 20वें मिनट में विकास यादव ने गोल किया। मैच के 29वें मिनट में अरबाज खान, 30वें, 37वें, 47वें, 49वें, 54वें, 57वें व 58वें मिनट में आरबाज खान, मोहित करमा, अजय डांगी, अरबाज खान, घनश्याम यादव, अरबाज खान व इरबाज खान ने गोल किया और मैच के 60वें मिनट में हॉकी गुजरात की ओर से अजय बारीअ ने गोल किया, किन्तु मध्यप्रदेश का यह जीत कोई रंग नहीं लाई और वह इस प्रतियोगिता से बाहर हो गई।
तीसरा मैच हॉकी हिम विरूद्ध हॉकी कुर्ग के मध्य खेला गया। मैच के 43वें मिनट में कप्तान धनजय प्रजापति ने गोल कर अपनी टीम को जीत की ओर ले गई। 56वें मिनट में गौतम पासवान, 57वें मिनट में नीरज कुमार यादव, 58वें मिनट में जावेद अंसारी व 59वें मिनट में गौतम पासवान ने गोल कर अपनी टीम को 0 के मुकाबले 5 गोल जीत हासिल कराई।
चौथा मैच हॉकी उत्तराखंड विरूद्ध हॉकी मिजोरम के मध्य खेला गया। मैच के 40वें मिनट में रूपेश कुमार ने गोल कर अपनी टीम को जीत की एक आस दिखाई। 44वें मिनट में फायज हसन, 46वें मिनट में शहनवाज हसन व 56वें मिनट में फायज हसन ने गोल कर अपनी टीम को 0 के मुकाबले 4 गोल से जीत दिलाई।

पंाचवा व अंतिम मैच तेलांगना हॉकी विरूद्ध अंाध्रा हॉकी मध्य खेला गया। मुकाबले में तेलांगना हॉकी 4-3 से जीत हॉसिल की। तेलांगना हॉकी ने मैच के शुरूआती समय से में अपना अच्छा खेल का प्रदर्शन किया और 6वें मिनट में धरम वीर ने गोल किया। मैच के 8वें व 11वें मिनट में शेखर लवदय ने किया। 23वें मिनट में धरमवीर, 43वें, 47वें व 57वें मिनट में शेखर, रंजीत, संदीप नायक ने गोल किया।

 

 


Date : 23-Jun-2019

राजस्व एवं खनिज विभाग के अधिकारियों ने भर्रेगांव में रेत के अवैध भंडारण स्थलों पर छापामार कार्रवाई की

राजनांदगांव, 23 जून। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के निर्देश पर राजस्व एवं खनिज विभाग के अधिकारियों द्वारा 22 जून को संयुक्त रूप से राजनांदगांव विकासखंड के ग्राम भर्रेगांव में रेत के 27 अवैध भंडारण स्थलों पर छापामार कार्रवाई की गई है। सहायक खनिज अधिकारी एचडी भारद्वाज ने बताया कि इन 27 अवैध रेत भंडारण स्थलों पर अवैध रेत जब्ती की कार्रवाई की गई। सहायक खनिज अधिकारी ने बताया कि भर्रेगांव में अवैध रूप से भंडारित लगभग 2 हजार ट्रेक्टर ट्राली रेत जब्त की गई। उन्होंने बताया कि खुटेरी के स्वीकृत रेत घाट में खनिज नियम और पर्यावरण नियमों के उल्लंघन के कारण नोटिस जारी कर रेत घाट बंद करा दिया गया।


Date : 23-Jun-2019

अंतरराष्ट्रीय नशा निवारण दिवस 26 जून को

राजनांदगांव, 23 जून। अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस 26 जून को जनसमुदाय की सहभागिता से नशापान के विरूद्ध व्यापक जनमत तैयार करने के लिए जिले में भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने विभिन्न विभागों को संयुक्त रूप से कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। 

कार्यालय कलेक्टर समाज कल्याण विभाग द्वारा इस संबंध में ज्ञापन भी जारी किया गया है। ज्ञापन में कहा गया है कि नशापान की प्रवृत्ति बहुतायत से परिलक्षित हो रही है, जो सभी के लिए चिंता का विषय है। इसकी रोकथाम के लिए समुदाय में जागरूकता लाने की आवश्यकता है। ज्ञापन के अनुसार रेडियो एवं दूरदर्शन से नशा मुक्ति कार्यक्रमों का प्रसारण, सभी विभागों के समन्वय से नशापान के विरूद्ध समुचित कार्रवाई, जनसामान्य की सहभागिता से रैली, प्रदर्शनी, प्रतियोगिताएं, सांस्कृतिक कार्यक्रम, परिचर्चा, संगोष्ठियां और कार्यशाला, यथा संभव नशा पीडि़तों से प्रत्यक्ष संवाद कर उन्हें नशा मुक्ति के दुष्परिणामों की जानकारी देना, नशा मुक्ति साहित्यों का वितरण, नशा तथा एड्स प्रभावित क्षेत्रों में व्यापक प्रचार-प्रसार और विद्यार्थियों में नशापान के विरूद्ध जागरूकता लाने के कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। विद्यार्थियों में नशापान के विरूद्ध जागरूकता लाने के लिए विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों और विद्यालयों में नशापान न करने के लिए प्रेरक उद्बोधन के भी कार्यक्रम कराने कहा गया है। स्थानीय परिवेश के अनुरूप अन्य कार्यक्रम भी आयोजित किए जा सकते हैं।


Date : 23-Jun-2019

भाजपा ने जिला कार्यालय के सामने सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया और राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन, गलत नीतियों से प्रदेश आज दिवालियेपन की कगार पर

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 23 जून।
भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को जिला कार्यालय के सामने फ्लाई ओवर के नीचे धरना देकर राज्य की भूपेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया और राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपा। वक्ताओं ने बिजली कटौती, किसानों की कर्जमाफी में गड़बड़ी, भ्रष्टाचार, बिगड़ती कानून व्यवस्था सहित अन्य मुद्दों को लेकर सरकार को घेरा।

पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पांडे ने कहा कि कांग्रेस सरकार की गलत नीतियों के चलते ही आज प्रदेश आर्थिक दिवालियेपन की कगार पर पहुंच चुकी है। हालत यह है कि विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल पा रहा है। कर्ज लेकर राज्य सरकार जरूरी खर्च चला रही है। विधानसभा चुनाव में किए गए वादों को पूरा न कर पाने का आरोप लगाते हुए श्री पांडे ने कहा कि डेढ़ लाख सरकारी कर्मचारी की भर्ती करने का वादा करने वाली कांग्रेस सत्ता में बैठते ही नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी जैसे योजनाएं लाकर लोगों को गुमराह कर रही है। 2017-18 में 60 हजार पुलिस के सिपाहिी की भर्ती प्रक्रिया को लेकर आवेदकों के आंदोलन के बाद हाईकोर्ट के निर्देश पर भी रिजल्ट जारी नहंी की जा सकी है। किसानों की कर्जमाफी का राग सरकार अलाप रही है। जबकि आज भी किसान इसके लिए भटक रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि अल्पकालीन कृषि ऋण की माफी कर वाहवाही लूटी जा रही है। धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपए क्विंटल तो कर दिया गया, परन्तु उसका लाभ सिर्फ 16 लाख पंजीकृत किसानों को हो रहा है। 28 लाख ऐसे भी किसान है, जिन्होंने धान नहीं बेचा, उसके अंतर की राशि को लेकर सरकार जवाब नहीं दे पा रही है। फसल बीमा के लाभ से किसान वंचित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि 15 साल बाद सत्ता मिलते ही कांग्रेस के विधायक रेत खदानों के संचालन में उलझे हुए हैं। जमीन के दलाल सक्रिय होकर अनाप-शनाप तरीके से पैसा कमाने में जुटे हुए हैं।

 प्रदेश में कानून व्यवस्था लचर होते जा रही है। हत्या, मारपीट, दुर्घटनाएं बढ़ रही है। प्रदेश में अराजकता का माहौल बन रहा है, जिस प्रदेश में बिजली का उत्पादन भरपूर हो रहा है वहां बिजली बिल हाफ करने की आड़ में जमकर बिजली कटौती की जा रही है।

धरना प्रदर्शन में जिला भाजपा अध्यक्ष संतोष अग्रवाल, पूर्व सांसद अशोक शर्मा, पूर्व मंत्री लीलाराम भोजवानी रजिंदरपाल सिंह भाटिया, पूर्व महापौर शोभा सोनी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भरत वर्मा, सतीश कन्नौजे समेत अन्य लोग मौजूद थे।

 


Date : 23-Jun-2019

भाजपा का धरना अस्तित्व बचाने का असफल प्रयास- कांग्रेस
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजनांदगांव, 23 जून।
छग की जनता ने ऐतिहासिक जनाधार के साथ भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली कांग्रेस को राज्य की कमान सौंपी। साथ ही विकास और योजनाओं के नाम पर भ्रष्टाचार व बंदरबाट करने वाली 15 वर्ष की भाजपा सरकार का सफाया कर उन्हें 15 के आंकड़ों में समेट कर उन्हें उनके करनी का एहसास कराया है। 

अब वहीं भाजपा जनता की तकलीफ की दुहाई देकर अपनी घडिय़ाली आंसू बहाते धरना प्रदर्शन कर अपना अस्तित्व बचाने का असफल प्रयास कर रही है।

जिला कांग्रेस प्रवक्ता रूपेश दुबे ने कहा कि मात्र 6 माह के कांग्रेस सरकार के खिलाफ भाजपाईयों के पास कहने के लिए कुछ नहीं है। मुद्दों एवं मानसिक दिवालियापन से जूझ रही भाजपा काल्पनिक और मुद्दाविहीन विषयों को आधार बनाकर धरना प्रदर्शन कर रही है। 

गिनती के चंद भाजपाईयों की उपस्थिति ही उनके धरना प्रदर्शन की पोल खोल दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 2500 रुपए प्रति क्विंटल धान खरीदी, बिजली बिल हॉफ, 5 डिसमिल से कम भूमि की रजिस्ट्री, तेंदूपत्ता संग्राहको का मानदेय,आंगनबाड़ी की बहनों का मानदेय बढ़ाने सहित अनेक ठोस निर्णय जनता के हितों में कांग्रेस सरकार ने ली है। जिसका सुखद परिणाम जनता के चेहरे पर साफ नजर आती है।

 


Date : 23-Jun-2019

प्रशासन विभाग द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए आय-संपत्ति प्रमाण पत्र जारी करनेअनुविभागीय अधिकारी राजस्व या तहसीलदार को निर्देश जारी किया

राजनांदगांव, 23 जून। राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए छत्तीसगढ़ में आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के संबंध में आ रही कठिनाईयों को देखते विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।  आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए भारत सरकार के अंतर्गत लोक पदों एवं सेवाओं तथा शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश में 10 प्रतिशत आरक्षण के संबंध में भारत सरकार के कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इस दिशा-निर्देश के अनुसार आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व या तहसीलदार को सक्षम अधिकारी नियुक्त किया गया है। 

छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 29 मई 2019 को परिपत्र जारी कर आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके अनुसार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के आवेदकों को आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त करने निर्धारित प्रारूप में आवेदन पत्र प्रस्तुत करना होगा। आवेदकों को आवेदन पत्र में उल्लेखित दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे। सक्षम प्राधिकारियों द्वारा आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के संबंध में वही प्रक्रिया अपनाई जाएगी जो वर्तमान में आय प्रमाण पत्र जारी करने के लिए प्रचलित है। प्रमाण पत्र जारी करने के पूर्व उद्घोषणा एवं दावा-आपत्ति के संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदारों द्वारा उनके क्षेत्राधिकार की सीमा के अंतर्गत ही प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे। सक्षम प्राधिकारी द्वारा आवेदन अमान्य करने के विरूद्ध आवेदक संबंधित जिला कलेक्टर के समक्ष प्रथम अपील तथा संभागीय आयुक्त के समक्ष द्वितीय अपील प्रस्तुत कर सकते हैं।

 


Date : 22-Jun-2019

पोल्ट्री और डेयरी उत्पाद  कार्यशाला का केंद्रीय मंत्री गिरीराज के हाथों शुभारंभ

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 22 जून।
मध्य एशिया की प्रतिष्ठित  पोल्ट्री और डेयरी उत्पाद कंपनी आईबी ग्रुप द्वारा आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला में शनिवार को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय के ख्याति प्राप्त पोल्ट्री और डेयरी एक्सपर्ट शामिल हुए। केंद्रीय पशुपालन एवं कुक्कुट आहार मंत्री गिरीराज सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। स्थानीय एक निजी होटल में आयोजित कार्यशाला में वैश्विक स्तर पर आईबी ग्रुप के साझेदारों ने भी भागीदारी दिखाई। ग्रुप के सीएमडी सुल्तान अली और एमडी बहादुर अली के हवाले से कंपनी के प्रमुख उद्बोधक डॉ. जायसवाल ने कंपनी की  सफलताओं को साझा किया। कंपनी की शुरूआती सफरनामे से लेकर मौजूदा आर्थिक ढांचे को लेकर भी जानकारी दी गई। कार्यशाला के पहले दिन महाराष्ट्र विश्वविद्यालय, नानाजी विश्वविद्यालय जबलपुर और कामधेनु विश्वविद्यालय के साथ कंपनी ने एक एमएमओयू में साझा दस्तखत कर पोल्ट्री और डेयरी उत्पाद के क्षेत्र में काम करने का फैसला किया। कार्यशाला में राजनांदगांव सांसद संतोष पांडे समेत कारोबार से जुड़े अन्य विशेषज्ञ विशेष रूप से उपस्थित थे।

 


Date : 22-Jun-2019

डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी मंदिर पहाड़ी के पीछे नए सीढियों का निर्माण शुरू
कलेक्टर ने तीन माह के भीतर कार्य पूर्ण करने का दिए निर्देश
छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 22 जून।
डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी ऊपर मंदिर पहाड़ी के पिछले हिस्से में श्रद्धालुओं के आने-जाने नए रास्ते के लिए सीढिय़ों का निर्माण शुरू हो गया है। लगभग 550 मीटर में सीढिय़ां बनाई जाएंगी। सीढिय़ों की चौड़ाई 3 मीटर रहेगी।
कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य और डोंगरगढ़ विधायक भुनेश्वर बघेल ने गत् दिनों स्थल निरीक्षण किया और मौके पर ही अधिकारियों से सीढिय़ों की प्रगति की जानकारी ली। 

उन्होंने आगामी तीन महीने के भीतर सीढिय़ों का निर्माण पूरा करने के निर्देश दिए। श्री मौर्य ने कहा कि पहाड़ी के पीछे तरफ नई सीढिय़ां बन जाने से मां बम्लेश्वरी के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को काफी सहुलियत होगी। इस अवसर पर खैरागढ़ के वनमंडलाधिकारी डीपी साहू, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व डोंगरगढ़ प्रेमप्रकाश शर्मा, मां बम्लेश्वरी मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी और अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

 


Previous123Next