छत्तीसगढ़ » सूरजपुर

Posted Date : 14-Nov-2018
  •  छत्तीसगढ़ संवाददाता
    सूरजपुर, 14 नवंबर।  जिले के भटगाव विधानसभा क्षेत्र के लटोरी में चुनाव प्रचार के लिए पहुँचे मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अलग-अलग विधानसभा में  प्रचार किया। आज भटगांव विधानसभा के लटोरी में रजनी त्रिपाठी के पक्ष में प्रचार के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री  ने एक बार फिर राजनांदगांव में खुद की बड़ी जीत और भाजपा की 65 प्लस जीत का दावा किया।
     मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सर्वे रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि देश के बड़े-बड़े चैनल, बड़े अखबार कह रहे हैं कि बीजेपी को 56 सीट मिलेगा, कोई बोल रहा है 60 सीट आयेगा, मैं 56 और 60 सीट में नहीं पड़ता, मेरा तो मानना है कि 65 प्लस सीट बीजेपी को मिलेगा।
    मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इस दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भी निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव में जब चुनाव में चार दिन बचे हैं, तो कांग्रेस कह रही है बोनस देंगे, 1 रुपये किलो चावल देंगे। कांग्रेस ने भाजपा की योजनाओं को नकल कर अपना घोषणा पत्र बनाया है।
     कांग्रेस चुनाव के चार दिन पहले पहले कह रही है कि 1 रुपये किलो चावल देंगे, हम 128 महीने से गरीब जनता को एक रुपये किलो चावल दे रहे हैं, एक किलो चावल इसलिए नहीं बनायी कि मुख्यमंत्री बनना है, इसलिए नहीं कि चुनाव जीतना है, इसलिए दिया ताकि कोई कोई बच्चा भूखा नहीं सोये, क्योंकि बच्चा नहीं सोता है, तो मां भी रात में नहीं सोती, चावल देने से सरकार नहीं बनती। नेता, नीति, नीयत से सरकार बनती है। उनका एकसूत्री कार्यक्रम है डाक्टर रमन को हटाओ।
    इनकी भी सरकार थी 55-60 साल थी। 2001-02 और 2003 में छत्तीसगढ़ की क्या हाल था, ये बताने की जरूरत नहीं है। चार दिन चुनाव बचा है, तो धान खरीदी की बात कर रहे हैं, एक रूपये किलो चावल देने की बात कह रहे है।  मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि जब मुख्यमंत्री बना तो धान का समर्थन मूल्य 700 रुपये थाज्.अब 2000 रुपये हो गया, अगले 5 साल में 2500-2600 रुपये हो जायेगा।

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    सूरजपुर,1 नवम्बर। जिले के  भटगांव विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशी घोषित होने के बाद भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक दलों में बगावत शुरू होने से चुनाव में मुकाबला दिलचस्प होने के आसार बनते नजर आ रहे हैं। 
    इस विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के कई बागियों के चुनाव मैदान में उतरने की खबरों से भाजपा संगठन की बेचैनी बढ़ गई है। वहीं कांग्रेस द्वारा वर्तमान विधायक को पुन: चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा किए जाने से नाराज पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री छतरलाल सांवरे ने पार्टी से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लडऩे की घोषणा कर पार्टी की परेशानी बढ़ा दी है।
    गौरतलब है कि परिसीमन के बाद सामान्य हुई भटगांव विधानसभा सीट से स्थानीय प्रत्याशी को भाजपा से टिकट दिए जाने की मांग के बावजूद कार्यकर्ताओं एवं विधानसभा क्षेत्रवासियों की मांग को नजरअंदाज करते बाहरी प्रत्याशी को भाजपा द्वारा उम्मीदवार घोषित किए जाने से वर्ष 2013 में भाजपा को भटगांव विधानसभा सीट गवानी पड़ी थी। इस बार भी भाजपा कार्यकर्ताओं एवं क्षेत्रवासियों द्वारा स्थानीय प्रत्याशी को उम्मीदवार घोषित किए जाने की मांग की जा रही थी, किंतु भाजपा संगठन द्वारा पिछले विधानसभा चुनाव में पराजित पूर्व विधायक रजनी रविशंकर त्रिपाठी को पुन: प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद से पार्टी में बगावत नजर आने लगी है।
    भटगांव विधानसभा सीट के लिए  टिकट की दौड़ में अव्वल रहे अजय गोयल को टिकट नहीं मिलने से नाराज उनके सैकड़ों समर्थक कार्यकर्ताओं ने रायपुर से लौट रहे भाजपा के कद्दावर नेता अजय गोयल का आतिशी स्वागत करते हुए उनके निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का संकेत दे दिया था। इतना ही नहीं अजय गोयल ने पार्टी संगठन पर उनके साथ अन्याय करने का आरोप लगाते हुए जिले में सक्रिय एवं कद्दावर नेताओं के रहने के बावजूद राजनीति से दूर रहने वाले को प्रत्याशी बनाए जाने पर नाराजगी जाहिर की थी। उसके बाद से ही वे विधानसभा क्षेत्र में घूम घूम कर पार्टी कार्यकर्ताओं से संपर्क करने में जुटे हैं और उन्हें कार्यकर्ताओं का भरपूर समर्थन भी मिल रहा है। उनके द्वारा बुधवार को निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल कर दिया गया है।
    वहीं लटोरी क्षेत्र के ग्राम हीराडबरी सम्बलपुर निवासी भाजपा नेत्री एवं जिला पंचायत सदस्य किरण सिंह केराम ने बाहरी प्रत्याशी को टिकट दिए जाने के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए भटगांव विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लडऩे का ऐलान कर भाजपा की परेशानी बढ़ा दी है। भाजपा नेत्री ने भाजपा संगठन पर  क्षेत्रवासियों की मांग को नजरअंदाज करते हुए पूर्व में पराजित एवं बाहरी महिला को पुन: प्रत्याशी घोषित किए जाने का विरोध करते  कहा कि  मांग को नजरअंदाज करने  से भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ साथ क्षेत्र वासियों में  आक्रोश है।
    उन्होंने कहा कि करीब दो लाख मतदाताओं वाले इस विधानसभा क्षेत्र में करीब 75 से 80 हजार आदिवासी एवं सवा लाख सामान्य मतदाता है। उसके बावजूद बाहरी व्यक्ति को प्रत्याशी बनाया जाना क्षेत्रवासियों के साथ कुठाराघात है। उन्होंने कहा कि चुनाव हारने के बाद से ही क्षेत्र से नदारद रहने वाली प्रत्याशी को टिकट दिए जाने के कारण ही क्षेत्रवासियों की मांग पर उनके द्वारा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लडऩे का निर्णय लिया गया है। 
    गौरतलब है कि वर्तमान में पार्टी से नाराज चल रहे भाजपा नेता व जिला पंचायत उपाध्यक्ष गिरीश गुप्ता की खास समर्थक माने जाने वाली आदिवासी भाजपा नेत्री एवं जिला पंचायत सदस्य किरण सिंह केराम ने सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित जिला पंचायत सदस्य सीट क्रमांक 4 से 17 प्रत्याशियों को पटकनी देते हुए 5128 मत पाकर जिला पंचायत सदस्य बनने का गौरव हासिल किया था।
    जिला पंचायत सूरजपुर के महिला बाल विकास विभाग के सभापति पद पर आसीन श्रीमती केराम ने वरिष्ठ भाजपा नेता बनारसी जायसवाल, देवमन राजबाडे, राजू जायसवाल एवं कांग्रेस नेता कुमार सिंहदेव जैसे दिग्गज नेताओं को जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में पटकनी दी थी। 
    इधर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम नरकालो निवासी भाजपा नेत्री एवं मध्यान भोजन रसोईया कल्याण संघ की प्रदेश अध्यक्ष यशोदा साहू ने भी बाहरी एवं पिछले चुनाव में पराजित पूर्व विधायक को टिकट दिए जाने का विरोध करते हुए पार्टी से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लडऩे का ऐलान कर दिया है।
    कांग्रेस नेता बागी होकर लड़ेंगे चुनाव-कांग्रेस से टिकट की दौड़ में शामिल पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री छतरलाल सांवरे ने विधायक पारसनाथ राजवाड़े को प्रत्याशी बनाए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए पार्टी से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में बुधवार को नामांकन भरने का ऐलान कर कांग्रेस संगठन की परेशानी बढ़ा दी है।   उनकी पत्नी बिंदा देवी सांवरे जिला पंचायत क्षेत्र क्रमांक 2 से जिला पंचायत सदस्य हैं। श्री साँवरे की क्षेत्र में लगातार सक्रियता से ऐसा माना जा रहा है कि  चुनाव में कांग्रेस की परेशानी बढ़ सकती है।

  •  

Posted Date : 08-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    सूरजपुर, 8 जुलाई । गृह मंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे पर नाबालिग युवती से बलात्कार का मामला सामने आया है।  सूरजपुर पुलिस अधीक्षक गिरिजाशंकर जायसवाल ने कहा है कि युवती की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी गई है। जहां पीडि़ता का कहना है कि उस और उसके परिवार पर मामला वापस लेने की धमकी दी जा रही है।  वहीं गृह मंत्री ने मीडिया से कहा है कि दोषी कोई भी हो पुलिस निश्चित तौर पर कार्रवाई करेगी।   
    मिली जानकारी के अनुसार मामला चार साल पुराना  है तब वह नाबालिग थी। पीडि़ता ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि  हाईस्कूल में पढऩे के दौरान शमोध पैकरा से उसकी मुलाकात हुई थी। मंत्री के भतीजे ने कहा कि उससे प्रेम करता है, और शादी करना चाहता है। शमोध पैकरा ने उसे शादी का झांसा देकर लगातार उसका यौन शोषण करता रहा। जब भी मैं शादी की बात करती, वह टाल देता कि तुम अभी नाबालिग हो, बालिग होने पर शादी कर लूंगा।
    पुलिस ने बताया कि युवती गर्भवती हो गई तो शमोध ने गर्भपात करने के लिए दवाब डाला। लेकिन, उसने इंकार कर दिया। बाद में युवती ने एक बच्ची को जन्म दिया। बेटी होने के बाद भी शमोध  अपने और अपने रिश्तेदारों के घर ले जाकर उसका दैहिक शोषण करता रहा। लेकिन, पिछले साल एसईसीएल में नौकरी लगने के बाद वह अचानक शादी से मुकर गया।
    इसकी शिकायत लेकर युवती जब चेंद्रा थाने पहुंची तो पुलिस ने गृह मंत्री के रिश्तेदार का मामला बताते कार्रवाई करने से हाथ खड़ा कर दिया।  दबाव डालकर समझौता करा दिया कि युवती अब इसकी कहीं शिकायत नहीं करेगी। 
    फिर समझौते के तुरंत बाद शमोध ने दूसरी लड़की से शादी कर ली।
    इसके बाद पीडि़ता महीने भर तक पुलिस अधिकारियों के चौखट पर दस्तक देती रही। जब विधानसभा का मानसून सत्र प्रारंभ हुआ तो  चेंद्रा थाने ने मंत्री के भतीजे के खिलाफ 376 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन, अभी तक कार्रवाई के नाम पर शून्य है।  
    पीडि़ता की मां का कहना है, उसके परिवार पर मानसिक दबाव बनाया जा रहा है। कुछ लोगों ने साफ-साफ अंजाम भुगतने की धमकी भी दी है।
    उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले के भतीजे की गुंडागर्दी और पुलिस पार्टी पर जानलेवा हमले का मामला सामने आया था।

  •  

Posted Date : 12-Jun-2018
  • सेराज अहमद
    सूरजपुर, 12 जून (छत्तीसगढ़)।  जिले के सुदूर वनांचल गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान के अंतर्गत आने वाले चांदनी बिहारपुर में हाथियों का दल 8 नन्हें शावकोंं के साथ घूम रहा है। इन शावकों का जन्म यहीं हुआ है। पिछले महीने से लगभग 60 हाथियों का दल इस इलाके में डेरा डाले हुए है जिससे ग्रामीणों में दहशत है।  
     ग्रामीणों  के अनुसार पिछले दिनों तेंदूपत्ता तोड़ाई के दौरान ग्रामीणों को  लगभग 60 जंगली हाथियों का झुंड  दिखा। उनके साथ 8  शावक भी थे। जंगली हाथियों द्वारा अब तक कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जा रहा है।  जंगल में रहकर बच्चे को पालन पोषण कर रहे हैं । वहीं  क्षेत्र में भारी संख्या में  हाथियों को देखे जाने पर दहशत है।                 
    इस संबंध में गुरुघासी दास राष्ट्रीय उद्यान के बीटगार्ड ने बताया कि वर्तमान में हाथी का समूह चाँदनी बिहारपुर  क्षेत्र में विचरण कर रहा है। गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बैकुण्ठपुर के पार्क परिक्षेत्र रिहंद अन्तर्गत सर्किल मोहरसोप छतरंग सीमा लाइन एवं वन परिक्षेत्र बिहारपुर की सीमा लाइन में विचरण करते हुए शांति से अपना जीवन यापन कर रहे हैं किसी भी प्रकार का क्षति या उग्र  व्यहार नहीं दिखा रहे हैं।  विदित हो कि यह स्थान नम उपयुक्त आच्छादित क्षेत्र है जिसमें छिपकर हाथी अपना वंश वृद्धि करते है। 
    वन विभाग के अनुसार हाथियों का समूह पिछले 4 साल से तमोर पिंगला अभ्यरण से गोंडबटी सर्किल तथा रमकोला से रेंड नदी पार कर गुरु घासीदास  राष्ट्रीय उद्यान बैकुण्ठपुर रेहन्ड रेंज के सर्किल मोहरशोप रेंज में प्रवेश करते हंै और गर्मी में यह रेहन्ड बीट, मोहरसोप बीट, बरंगा बीट में निवास करते हैं। बरसात से पहले  रेड नदी पार कर जाते हंै, वर्तमान में हाथियों के समूह से कोई गंभीर समस्या उत्पन्न नहीं हुई है।
    गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान वन गार्ड शिवराज सिंह ने बताया कि गांव वालों को सलाह दी गई है कि वे    हाथी विचरण क्षेत्र में न जाएं तथा हाथियों के भोजन को जंगल जाकर नुकसान न पहुंचाएं।
    वहीं गुरु घासीदास रेहड प्रभारी रेंजर रामदेव सिंह मरावी ने बताया कि क्षेत्र में हाथियों का समूह विचरण करते हैं किन्तु हमारे रेंज में जंगली हाथी नहीं है। बिहारपुर रेंज द्वारा जानकारी मिल पायेगी। किन्तु बिहारपुर रेंजर का मोबाइल कवरेज में नहीं होने से संपर्क नहीं हो सका।

     

  •  

Posted Date : 10-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भैयाथान, 10 अप्रैल। सूरजपुर जिले के प्रतापपुर विकासखण्ड में आज सुबह फिर हाथी ने एक ग्रामीण की जान ले ली। दो दिनों में हाथी हमले से मौत की यह दूसरी घटना है। दोनों ग्रामीण महुआ बीनने के दौरान हाथी का शिकार हुए।
    मिली जानकारी के अनुसार घटना प्रतापपुर विकासखण्ड के ग्राम सोनगरा की है जो बोझा के पास ही है जहां कल एक ग्रामीण हाथी के हमले में मारा गया था।  आज सुबह  खासपारा निवासी मानसाय जब अपने घर और बनारस मुख्य मार्ग से थोड़ी ही दूर महुआ बीन रहा था। हाथी से आमना सामना हो गया और हाथी ने पटककर मार डाला। 
    बताया जा रहा है कि घटनास्थल के पास तीस से ज्यादा हाथी जमे रहे।  जिसके कारण शव को दोपहर लाया जा सका।  उल्लेखनीय है कि कल सोमवार को ग्राम बोझा में दंतैल हाथी ने खेत के पास महुआ बिन रहे एक ग्रामीण को जान से मार दिया था।

  •  

Posted Date : 24-Jan-2018
  • सूरजपुर भटगांव में प्रदर्शन, तनाव, आरोपी गिरफ्तार
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भैयाथान, 24 जनवरी। सूरजपुर जिले के भटगांव में एक मुस्लिम  युवक द्वारा  फेसबुक परें छठ पूजा करती महिलाओं की फोटो पोस्ट कर  टिप्पणी  से तनाव के हालात बन गए हैं। आरोपी की दूकान पर पथराव के बाद आज सुबह फिर हिन्दू संगठनों ने प्रदर्शन किया।  पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया है। वहीं  यहां सभी दूकानें बंद हंै। पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। कल ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था आज जेल भेज दिया गया है।
    जानकारी के अनुसार भटगांव बाजार पारा निवासी 30 वर्षीय युवक मो. हैदर रजा ने फेसबुक पर शाम पांच बजे छठ त्यौहार के दौरान स्नान कर पूजा कर रही महिलाओं का फोटो को पोस्ट करते हुए विवादित टिप्पणी कर दी। इसे लेकर नाराज हिंदूवादी संगठनों के पदाधिकारियों सहित स्थानीय लोग बड़ी संख्या में थाने पहुंच गए एवं थाने का घेराव कर दिया। इतना ही नहीं आरोपी के दूकान पर पथराव कर दिया। 
    हालात को देखते  पुलिस ने खंड कार्यवाह भैयाथान विरेंद्र कुमार शर्मा की रिपोर्ट पर  हैदर रज्जा के खिलाफ धारा 295क, 66 आईटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर गिरफ्तार कर किया। विरोध प्रदर्शन में विहिप, हिंदू जागरण मंच, धर्मसेना, हिंदू युवा वाहिनी के पदाधिकारी शामिल थे।

     

  •