छत्तीसगढ़ » सुकमा

Previous123456Next
21-Oct-2020 9:47 PM 25

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

 तोंगपाल, 21 अक्टूबर। 227वीं वाहिनी केरिपुबल के द्वारा तोंगपाल में 21 अक्टूबर को वाहिनी मुख्यालय में पुलिस स्मृति दिवस मनाया गया। इस अवसर पर मनोज कुमार गौतम, कमाण्डेन्ट 227वीं वाहिनी केरिपुबल ने शहीद स्मारक स्थल पर  शहीद जवानों को याद किया और पुष्पमाला चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

उन्होंने अधिनस्थ अधिकारी, जवानों को सम्बोधित करते हुए पुलिस शहीद दिवस के महत्व के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि समुद्र तल से 13,500 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख के बर्फीले हॉट स्प्रिंग में सन् 1959 में केरिपुबल की एक टुकड़ी तैनात थी। 21 अक्टुबर 1959 को लद्दाख के हॉट स्प्रिंग में केरिपुबल के एक छोटे से गश्ती दल पर चीनी सेना द्वारा घात लगाकर हमला किया गया । इस चीनी आक्रमण का बल के जवानों ने डटकर मुकाबला किया। मातृभूमि की रक्षा के लिए लड़ते हुए 10 जवानों ने सर्वोच्च बलिदान दिया। हमारे बल के लिए व हम सबके लिए गौरव की बात है कि केरिपुबल के इन वीर जवानों के इस असाधारण शोर्य को याद करने के लिए 21 अक्टूबर को देशभर में सभी पुलिस बल द्वारा इस दिन को पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष भी वीरता एंव बलिदान की परम्परा को कायम रखते हुये देशभर में 235 एंव केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 29 सभी पुलिस बल के अधिकारियों व जवानों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुये अपने प्राण न्योछावर कर दिये।

इस अवसर पर अश्विनी कुमार झा द्वितीय कमान अधिकारी, खान सलीम अहमद , उपकमाण्डेन्ट , मो.नाजिल , चिकित्सा अधिकारी , वाहिनी के अधिनस्थ अधिकारी एवं जवान उपस्थित रहे ।


21-Oct-2020 9:30 PM 22

तोंगपाल, 21 अक्टूबर। सुकमा जिले के विकासखण्ड छिन्दगढ़ के ग्राम पंचायत कूकानार के बुजुर्ग बुधरा को 8 माह से वृद्धावस्था पेंशन की राशि नहीं मिल रही है. इस बीच बुजुर्ग की तबियत भी खराब रहने लगी व ज्यादा दूर चलने में भी असमर्थ है।

मतदाता परिचय पत्र के अनुसार बुधरा की उम्र 72 वर्ष है, परन्तु उसने अपनी उम्र 80 वर्ष के आस-पास होना बताया व कहा कि पिछले 8 माह से उसकी तबियत खराब है व पेंशन भी नहीं मिल रहा है। पेंशन की राशि मिल जाने से डॉक्टर को दिखाने की भी बात की। उसने बताया कि मैंने पेंशन के सम्बन्ध में कई बार सरपंच पति गोबरे भदौरिया को बताया, परन्तु उन्होंने उपसरपंच मुकुंददास से संपर्क करने हेतु कहा।

इस संबंध में 'छत्तीसगढ़Ó ने जनपद कार्यालय छिन्दगढ़ के विभागीय लिपिक महेश से संपर्क किया तो उन्होंने सचिव व सरपँच से बुधरा के एकाउंट नंबर व आधार नंबर की मांग कर देखने के बाद ही कुछ कहने की बात की। कूकानार के उपसरपंच मुकुंददास से चर्चा करने पर उन्होंने जल्द ही बुधरा को पेंशन दिलवाने का आश्वासन दिया।


21-Oct-2020 9:11 PM 19

दोरनापाल, 21 अक्टूबर। पुलिस स्मृति दिवस पर बुधवार को शहीद पुलिस कर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर शहीदों को याद किया गया। दोरनापाल एसडीओपी ने पुलिस कर्मिर्यों को स्मृति दिवस के बारे में जानकारी देते हुए कर्तव्यनिष्ठा का संकल्प दिलाया। 
पुलिस स्मृति दिवस के अवसर पर दोरनापाल पुलिस द्वारा शहीद पुलिस के जवानों को नमन कर पुष्प माला अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। पुलिस जवानों द्वारा शहीद जवानों को सलामी दी गई। जिला पुलिस व अन्य राज्यों के पुलिस जवानों द्वारा किये गये उनके त्याग, बलिदान को याद कर उनके सम्मान में पुष्प माला अर्पित कर उनको याद किया गया।
एसडीओपी अखिलेश कौसिक व पुलिस बलों के शहीद जवानों के त्याग, बलिदान पर प्रकाश डालते हुये पुलिस के जवानों को संयमित होकर पूर्ण अनुशासन के साथ सतर्कता के साथ अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाहन करने की सलाह दी। इस अवसर पर दोरनापाल एसडीओपी अखिलेश कौसिक, उपनिरीक्षक नरेश रावटे, उपनिरीक्षक संदीप सिंह व पुलिस कर्मचारी मौजूद रहे। 
 


20-Oct-2020 9:29 PM 23

छत्तीसगढ़ संवाददाता

तोंगपाल, 20 अक्टूबर। 227वीं वाहिनी के.रि.पु.बल द्वारा अति संवेदनशील नक्सल प्रभावित क्षेत्र झीरमघाटी, झीरमगांव, कोयलाभट्टी, तोंगपाल एवं कुमाकोलेंग आदि के आदिवासी बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं स्वरोजगार से जोडऩे के लिए भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे विशेष प्रोजेक्ट सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत 30 युवाओं को 15 दिन 01 से 19 अक्टूबर तक राजमिस्त्री प्रशिक्षण दिया गया तथा वाहिनी के विभिन्न कैम्प लोकेशनों का भ्रमण करा कर कैम्प में चल रहे विभिन्न प्रकार के निर्माण संरचनाओं/कार्यों की जानकारी दी गई। इसके बाद युवाओं को औजार व प्रमाणपत्र दिया।

इस अवसर पर मनोज कुमार गौतम, कमाण्डेंट 227वीं वाहिनी ने कहा कि वाहिनी के ए.ओ.आर. में निवासरत ग्रामीण आदिवासी बेरोजगार युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं स्वरोजगार से जोडऩे के लिए सीआरपीएफ 227वीं वाहिनी द्वारा विशेष प्रोजेक्ट सिविक एक्शन प्रोग्राम  के तहत राजमिस्त्री प्रशिक्षण दिया गया है। जिसमें युवाओं को राजमिस्त्री काम से संबंधित सभी बारीकियों को मास्टर ट्रेनर द्वारा सिखाया गया। जिससे ग्रामीण युवाओं को अपने राजमिस्त्री कौशल का इस्तेमाल कर स्वरोजगार स्थापित करने में मदद मिलेगी और अच्छी जीविकोपार्जन कर सकेंगे। प्रशिक्षण के दौरान सभी युवाओं के लिए दोपहर के खाने का इंतजाम भी बटालियन द्वारा किया गया ।

राजमिस्त्री प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके उपरोक्त युवाओं को राजमिस्त्री कार्य से संबंधित सभी औजार करनी, गोली, गुर्माला , लेवल पाईप, गूनिया , रस्सा, अल्युमिनियम फट्टा, तगड़ी, टेप, रपा, छन्नी, हथौड़ी, गैती, सब्बल, टाईल्स कट्टर, कैरिबैग  तथा प्रमाणपत्र इत्यादि वितरण किये गए।

इस कार्यकम में  मनोज कुमार गौतम, कमाण्डेंट, अश्विनी कुमार झा, द्वितीय कमान अधिकारी, खान सलीम अहमद, उप कमाण्डेन्ट, बद्रीलाल जाट, उप कमाण्डेन्ट,  नाजिल मोहम्मद एन ., चिकित्सा अधिकारी, प्रमोद कश्यप, टी.आई. तोंगपाल , मदननाग, सरपंच तोंगपाल एवं मैशन प्रशिक्षण में सम्मिलित होने वाले युवाओं के साथ-साथ 227 वी वाहिनी के जवान भी उपस्थित रहे।


19-Oct-2020 10:17 PM 26

सुकमा, 19 अक्टूबर। अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना के अन्तर्गत प्री-मैट्रीक, पोस्ट मैट्रीक एवं मेरीट कम मीन्स छात्रवृत्ति के नवीनीकरण के लिए अब छात्रों को विगत वर्ष के परीक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करने की बाध्यता से छूट दी गई है।  अब छात्र विगत वर्ष की परीक्षा में उत्र्तीण होने भर से छात्रवृत्ति हेतु आवेदन के लिए पात्र माने जाएगें। छात्रवृत्ति के लिए पंजीयन हेतु डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट स्कॉलरशीपस डॉट जीओव्ही डॉट इन पर 31 अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन भर सकते हैं।   सहायक आयुक्त, आदिम जाति विकास विभाग सुकमा  बद्रीश कुमार सुखदेवे ने बताया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजऱ भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के निर्देशानुसार अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना में तीनों योजनाओं के अंतर्गत विद्याथियों को इस सत्र में नवीनीकरण के लिए विगत वर्ष में न्यूनतम अंक प्राप्त करने की अनिवार्यता से छूट प्रदान की गई है। 


19-Oct-2020 7:46 PM 25

सुकमा, 19 अक्टूबर। प्रयास बालक एवं कन्या आवासीय विद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2020-21 में कक्षा नवमीं में प्रवेश के लिए प्राक्चयन परीक्षा पांच नवम्बर दिन गुरूवार को प्रात: 10.30 बजे से आयोजित की जाएगी। 

उल्लेखनीय है कि नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव व सावधानी को ध्यान में रखते हुए प्रयास आवासीय विद्यालय में वर्ष 2020-21 में कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए परीक्षा निरस्त किया गया था। इस परीक्षा के संबंध में आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास नया रायपुर से जारी दिशा निर्देशों के अनुसार सभी जिलों में परीक्षा केन्द्रों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

पूर्व में निर्धारित किए गए परीक्षा केन्द्र यदि कन्टेन्टमेंट जोन में आते हों तो परीक्षार्थियों के लिए वैकल्पिक परीक्षा केन्द्र की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। परीक्षार्थियों को प्राप्त आवेदन पत्रों के आधार पर आवश्यकतानुसार परीक्षा कक्ष में 2 विद्यार्थियों के मध्य शारीरिक दूरी में बैठाने के निर्देश दिए गए हैं। 

परीक्षा के दौरान चिकित्सक एवं चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था के साथ ही किसी विद्यार्थी का स्वास्थ्य खराब होने पर उनको पृथक कक्ष में बैठाने की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए हैं। 
 


19-Oct-2020 7:43 PM 19

सुकमा, 19 अक्टूबर। दिव्यांग तुलाराम नाग की नियुक्ति को लेकर धुरवा समाज ने सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष कवासी हरीश से मुलाकात की। आरोप है कि खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम विभाग में लेखापाल पद पर कार्यरत तुलाराम नाग को बिना किसी कारण व सूचना के नौकरी से हटाया गया है। जिसे लेकर धुरवा समाज के पदाधिकारियों द्वारा सुकमा जिपं अध्यक्ष कवासी हरीश से मुलाकात कर आग्रह किया कि तुलाराम को उनकी आर्थिक स्थिति को देखते हुए किसी भी शासकीय कार्यालय में भर्ती कराया जाए। इस दौरान कवासी हरीश द्वारा समाज की बातों को ध्यान से सुनकर एवं गंभीरता से लेते हुए विधायक व कैबिनेट मंत्री कवासी लखमा एवं जिला प्रशासन से बात करने का आश्वासन दिया औऱ कहा कि तुलाराम के साथ न्याय जरूर होगा औऱ बहुत जल्द उसको शासकीय कार्यालय में लेने का प्रयास किया जाएगा।
 


18-Oct-2020 10:03 PM 8

छत्तीसगढ़ संवाददाता
तोकापाल,18 अक्टूबर।
जनपद पंचायत तोकापाल के ग्राम पंचायत पाराकोट आश्रित ग्राम इरिकपाल में 2016-17 में स्वीकृत कुंआ अब तक नहीं बन पाया है।

इरिकपाल निवासी साहानु पिता कालिया ने बताया कि 2016-17 में उनके नाम मनरेगा से कुंआ स्वीकृति हुई थी जिसकी लागत 2.45 लाख था। इस काम को 2016 -17 में ही मेरे खेत पर रोजगार सहायक हरेश कश्यप द्वारा प्रारंभ किया गया था लेकिन करीब 10 दिन काम करा कर बन्द कर दिया, दस दिनों में केवल 8 फीट गहरा खोद कर छोड़ा गया। 

हितग्राही साहानु ने रोजगार सहायक पर आरोप लगाया है कि फर्जी मस्टररोल भर कर केवल 8 फीट खोदाई कर के 1.7 लाख रुपये आहरण किया। साथ ही कुंआ कार्य का लगने वाला बोर्ड बिना लगाए ही उसका भी 7,500 रुपये भी निकाल लिया गया है। यह सारी जानकारी हमने ऑन लाइन प्रिंट निकाल कर पता किया। इस मामले की शिकायत पिछले 2-3 वर्षों से जनपद सीईओ, जिला पंचायत सीईओ तथा कलेक्टर को कर रहें हैं लेकिन अब तक इस मामले में किसी ने भी कोई कार्रवाई नहीं की है। 

इससंबंध में वर्तमान सरपंच धनी कश्यप ने कहा कि यह मेरे कार्यकाल का नहीं है इसके बारे में मुझे पता नहीं।                
इस संबंध में पाराकोट रोजगार सहायक हरेश ने कहा कि कुंआ निर्माण का मजदूरी 70 हजार निकाला गया है लेकिन जांच के बाद ही कुंआ निर्माण शुरू करने पुराने सरपंच ने कहा था।
 


18-Oct-2020 9:14 PM 10

सुकमा, 18 अक्टूबर। क्षत्रिय समाज की बेटी छाया तोमर ने अपनी मां की इच्छानुसार मुखग्नि दी। स्व. इन्द्रा देवी तोमर विगत साल भर से कैंसर की बीमारी से जूझ रही थीं तथा उनकी देखभाल उनकी बेटी छाया तोमर द्वारा किया जा रहा था। मां की अंतिम इच्छा को पूरा करते हुए बेटी ने उनका अंतिम संस्कार कर उन्हें मुखग्नि दी।


16-Oct-2020 10:40 PM 4

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

तोंगपाल, 16 अक्टूबर। जिला मुख्यालय से लगभग 65 किमी दूर छिन्दगढ़ विखं के ग्राम पंचायत कुमाकोलेंग के धुर नक्सल प्रभावित ग्राम गोविंदपाल के ग्रामीणों की समस्याओं को नजदीक से देखने व उनसे मिलने उनके गांव पहुंची समाज सेविका अधिवक्ता दीपिका शोरी गाँव से पहले ही नदी पर पुल नहीं होने के कारण गांव तक नहीं पहुंच पाने के कारण उनकी तकलीफों को शासन के समक्ष रखते हुए बताया कि बरसात में यहाँ के ग्रामीण नदी में पुल न होने से बहुत ही समस्या का सामना करते हैं। सुकमा से किसी तरह आप नामा नामक गाँव तक तो पहुंच सकते हैं, परन्तु उसके बाद आपको इस नदी को पारकर गोविंदपाल जाना होगा जो कि किसी चुनौती से कम नहीं है। यहाँ के ग्रामीण कई वर्षों से इस नदी पर एक पुल की मांग कर रहे हैं पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उन्होंने यहां के ग्रामीणों से पूछा कि कभी कोई अप्रिय घटना हुई है। इस पर ग्रामीणों ने बताया कि कई बार बकरियां नदी के तेज बहाव में बह जाती हैं, जिससे हमें आर्थिक क्षति पहुंचती रहती है।

ग्रामीणों ने बताया कि बरसात के दिनों में हमारे गाँव में गर्भवती व शिशुवती माताओं व बीमार व्यक्तियों को बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता है, क्योंकि स्वास्थ्य सेवा से संबंधित कोई भी लाभ हमें इस नदी पर पुल न होने की वजह से प्राप्त नहीं होता है। गाडिय़ां नदी के उस पार तक ही आती हैं, ऐसे में गर्भवती, शिशुवती माताओं व बुजुर्गों को नदी पार करवाने बहुत ही डर लगता है कि कहीं कोई दुर्घटना न हो जाए।

 गोविंदपाल के 10वीं में अध्ययनरत सुनील एवं नामा के सोनाधर ने बताया कि कई दफा हम लोगों ने पुल निर्माण के संबंध में शासन-प्रशासन को अवगत करवाया, परन्तु आज तक निर्माण नहीं करवाया जा रहा है जबकि प्रत्येक चुनाव में नेताओं के द्वारा हमसे पुल निर्माण का वादा किया जाता है।

 ग्रामीणों की इस समस्या पर सुश्री शोरी ने प्रशासन से अपील करते हुए मांग की है कि ग्रामीणों की इस समस्या का जल्द से जल्द निराकरण किया जाए, क्योंकि शहरों से जुड़े हर गाँव पूरी तरह आधुनिक युग से जुड़े हंै तो कम से कम गोविंदपाल के ग्रामीणों को पुल की सुविधा तो मिलनी ही चाहिए।


15-Oct-2020 9:04 PM 5

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
तोंगपाल, 15 अक्टूबर।
जिला प्रशासन सुकमा यूनिसेफ के सहयोग से सीख कार्यक्रम छिन्दगढ़ ब्लाक के प्राथमिक शाला के बच्चों के लिए हिंदी, गणित, विज्ञान और खेल से संबंधित रोचक वीडियो, ऑडिओ और वर्कशीट के माध्यम से इस कोरोनाकाल में विगत 6 महिने से संचालित किया जा रहा है, जिसके सफल संचालन से प्रेरित होकर राज्य के यूनिसेफ से शिक्षा विशेषज्ञ मधुसूदन शेषागिरी और शिखा राणा ने कुकानार संकुल के दो विद्यालय ग्राम देवनाथपारा और बढ़ाईपारा में संचालित सीख कार्यक्रम के संचालन प्रक्रिया का अवलोकन कर शिक्षिका संतोषी ध्रुव और थामेश्वरी चौहान से इस कार्यक्रम से जुड़ी जानकारी ली गई। इन शिक्षकों के अनुभव सुनकर सराहना की। साथ ही संकुल समन्वयक राजेश राठौर से भी अनुभव को साझा किया।  

इस अवसर पर उपस्थित पालकों से भी सीख कार्यक्रम के बारे में पूछा गया। पालकों का कहना था कि इस कोरोना वायरस के कारण हमारे गाँव के विद्यालय जब से बंद है, तभी यह कार्यक्रम हमारे बच्चों के लिए आया जो वरदान से काम नहीं है और वाट्सअप ग्रुप के माध्यम से सोमवार को हिंदी, बुधवार को गणित और शुक्रवार को खेल एवं विज्ञान की गतिविधि मिलती गई। जिससे हमारे बच्चों को शिक्षिकाओं के द्वारा लगातार हमारे पारा, घर में आकर बच्चों को सीखाया जा रहा है, इसलिए हमारे गांव के सरपंच पंच ने मिलकर जगह का चयन कर लाड़ी बनवाया गया। अब हमारे ही बच्चे नहीं अपितु निजी संस्था आश्रम शाला और पोटाकेबिन में रहने वाले बच्चे भी यहां आकर खेल-खेल में बहुत अच्छे से सीख रहे हैं और हमें भी घर में आकर बताते हैं।  मास्क, हाथ धोने के लिए साबुन की भी व्यवस्था किया गया है, सामाजिक दूरी को ध्यान में रखकर सारी गतिविधि होती है।

मधुसूदन शेषागिरी ने कहा कि शिक्षकों के द्वारा संचालित किया जा रहा यह सीख कार्यक्रम सरहानीय है और बच्चों को सिखाई गई सारी गतिविधि का याद होना, इस कार्यक्रम को सफल बनाता है। हम आशा करते हैं, कि इसी तरह से आगे भी संचालित रहेगा। शिखा ने कहा कि शिक्षकों पालकों ,बच्चों का हर्ष देखकर लगता है कि हम आगे भी इसी तरह से संचालन में भागीदारी जारी रखेंगे और इस कार्यक्रम नियमित सहयोग करते रहेंगे।

विजिट के बाद यूनिसेफ की टीम  जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा श्याम सुन्दर चौहान और सभी ब्लाक  से आये बीईओ, बीआरसीसी से मुलाकात कर इस कार्यक्रम को सभी ब्लाक में संचालित करने हेतु चर्चा किया गया और उन स्कूल में जो अभी ईजीएल जिला प्रशासन के सहयोग से कोंटा ब्लाक में  पुन: प्रारम्भ हुई, सभी विद्यालयों में भी ऑफलाइन सीख पिठारा देकर संचालन हेतु योजना बनाई गई। साथ ही ईजीएल बदलता सुकमा के तहत संचालित 100 विद्यालय में भाषा पठन, लेखन, शिक्षण, पुस्तकालय कार्यक्रम  को विस्तारित कर और 250 नए प्राथमिक विद्यालय में प्रारम्भ करने हेतु कलेक्टर चन्दन कुमार और जिला शिक्षा अधिकारी जे.के.प्रसाद से चर्चा किया गया, जिसके तहत जल्द ही यह कार्य प्रारम्भ करने हेतु कलेक्टर ने अपनी राय दी। 
 


15-Oct-2020 8:23 PM 7

तोंगपाल, 15 अक्टूबर। जिला प्रशासन सुकमा यूनिसेफ के सहयोग से सीख कार्यक्रम छिन्दगढ़ ब्लाक के प्राथमिक शाला के बच्चों के लिए हिंदी, गणित, विज्ञान और खेल से संबंधित रोचक वीडियो, ऑडिओ और वर्कशीट के माध्यम से इस कोरोनाकाल में विगत 6 महिने से संचालित किया जा रहा है, जिसके सफल संचालन से प्रेरित होकर राज्य के यूनिसेफ से शिक्षा विशेषज्ञ मधुसूदन शेषागिरी और शिखा राणा ने कुकानार संकुल के दो विद्यालय ग्राम देवनाथपारा और बढ़ाईपारा में संचालित सीख कार्यक्रम के संचालन प्रक्रिया का अवलोकन कर शिक्षिका संतोषी ध्रुव और थामेश्वरी चौहान से इस कार्यक्रम से जुड़ी जानकारी ली गई। इन शिक्षकों के अनुभव सुनकर सराहना की। साथ ही संकुल समन्वयक राजेश राठौर से भी अनुभव को साझा किया।  

इस अवसर पर उपस्थित पालकों से भी सीख कार्यक्रम के बारे में पूछा गया। पालकों का कहना था कि इस कोरोना वायरस के कारण हमारे गाँव के विद्यालय जब से बंद है, तभी यह कार्यक्रम हमारे बच्चों के लिए आया जो वरदान से काम नहीं है और वाट्सअप ग्रुप के माध्यम से सोमवार को हिंदी, बुधवार को गणित और शुक्रवार को खेल एवं विज्ञान की गतिविधि मिलती गई। जिससे हमारे बच्चों को शिक्षिकाओं के द्वारा लगातार हमारे पारा, घर में आकर बच्चों को सीखाया जा रहा है, इसलिए हमारे गांव के सरपंच पंच ने मिलकर जगह का चयन कर लाड़ी बनवाया गया। अब हमारे ही बच्चे नहीं अपितु निजी संस्था आश्रम शाला और पोटाकेबिन में रहने वाले बच्चे भी यहां आकर खेल-खेल में बहुत अच्छे से सीख रहे हैं और हमें भी घर में आकर बताते हैं।  मास्क, हाथ धोने के लिए साबुन की भी व्यवस्था किया गया है, सामाजिक दूरी को ध्यान में रखकर सारी गतिविधि होती है।

मधुसूदन शेषागिरी ने कहा कि शिक्षकों के द्वारा संचालित किया जा रहा यह सीख कार्यक्रम सरहानीय है और बच्चों को सिखाई गई सारी गतिविधि का याद होना, इस कार्यक्रम को सफल बनाता है। हम आशा करते हैं, कि इसी तरह से आगे भी संचालित रहेगा। शिखा ने कहा कि शिक्षकों पालकों ,बच्चों का हर्ष देखकर लगता है कि हम आगे भी इसी तरह से संचालन में भागीदारी जारी रखेंगे और इस कार्यक्रम नियमित सहयोग करते रहेंगे।

विजिट के बाद यूनिसेफ की टीम  जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा श्याम सुन्दर चौहान और सभी ब्लाक  से आये बीईओ, बीआरसीसी से मुलाकात कर इस कार्यक्रम को सभी ब्लाक में संचालित करने हेतु चर्चा किया गया और उन स्कूल में जो अभी ईजीएल जिला प्रशासन के सहयोग से कोंटा ब्लाक में  पुन: प्रारम्भ हुई, सभी विद्यालयों में भी ऑफलाइन सीख पिठारा देकर संचालन हेतु योजना बनाई गई। साथ ही ईजीएल बदलता सुकमा के तहत संचालित 100 विद्यालय में भाषा पठन, लेखन, शिक्षण, पुस्तकालय कार्यक्रम  को विस्तारित कर और 250 नए प्राथमिक विद्यालय में प्रारम्भ करने हेतु कलेक्टर चन्दन कुमार और जिला शिक्षा अधिकारी जे.के.प्रसाद से चर्चा किया गया, जिसके तहत जल्द ही यह कार्य प्रारम्भ करने हेतु कलेक्टर ने अपनी राय दी। 


15-Oct-2020 7:35 PM 6

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

सुकमा, 15 अक्टूबर। ऑल इंडिया स्टूडेन्टस् फेडरेशन/ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन का मांगों को लेकर बेमुद्दत धरना गुरुवार को 16वें दिन भी जारी रहा। कोन्टा ब्लाक की महिला फेडरेशन ने धरना स्थल पहुंच कर समर्थन दिया।

 ज्ञात हो कि नागरिक आपूर्ति निगम विभाग में लेखापाल पद पर कार्यरत तुलाराम नाग को बिना किसी कारण व सूचना के नौकरी से हटाया गया है, इसके विरोध में ऑल इंडिया स्टूडेन्टस् फेडरेशन/ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन विगत 29 सितम्बर से बेमुद्दत धरने पर है।

प्रदर्शनकारी तुलाराम नाग को पुन: नियुक्त करने, स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार दिया जाने की मांगों को लेकर विगत 16 दिनों से धरने पर हैं। इसके समर्थन में कोन्टा ब्लॉक की अखिल भारतीय महिला फेडरेशन ने आज धरनास्थल पहुंच कर तुलाराम नाग को पुन: नियुक्ति करने की मांग की और कहा आपके मांग व धरना के साथ है और साथ रहेंगे। अपने हक अधिकार की लड़ाई तेज करने की बात कही है।

इस दौरान अखिल भारतीय महिला फेडरेशन के ब्लॉक उपाध्यक्ष -ललिता सरियम, सचिव - ओयाम गंगोत्री ,कोषाध्यक्ष - लीना ओयाम अनिश्चित कालीन धरना की समर्थन में बैठे रहे। इस दौरान ऑल इंडिया स्टूडेन्टस् फेडरेशन /ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


14-Oct-2020 9:59 PM 11

अमन सिंह भदौरिया

दोरनापाल, 14 अक्टूबर (छत्तीसगढ़)। एसडीएम की जानकारी के बिना खाद्य अधिकारी द्वारा एजेंसी को दुकान जारी करने का मामला सामने आया है।

मामला कोंटा विकासखंड के नगर पंचायत दोरनापाल व ग्राम पंचायत गोगुंडा का है जिसे हाल ही में ग्राम पंचायत बनाया गया है। गोगुंडा में जिला खाद्य अधिकारी केआर पिस्दा द्वारा एसडीएम की जानकारी के बिना संचालनकर्ता एजेंसी की नियुक्ति कर दी गई है।

'छत्तीसगढ़Ó की टीम ने नियम की जानकारी निकाली जिसके तहत छत्तीसगढ़ सार्वजनिक वितरण (नियंत्रण) आदेश 2016 की कंडिका  09,  2 के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रो में पीडीएस प्रणाली का प्राधिकृत अधिकारी एसडीएम होते हैं।  मामले में 'छत्तीसगढ़Ó की पड़ताल में पता चला कि ब्लॉक के प्रमुख अधिकारी की जानकारी के बगैर खाद्य अधिकारी द्वारा प्रक्रिया पूरी की गई और व्यापक प्रसार किये बिना समिति का चयन कर उन्हें दुकान देकर अनुबंध पत्र जारी कर दिया।

'छत्तीसगढ़Ó द्वारा 3 दिनों की पड़ताल में नियमत: इसकी निविदा आमंत्रित की जानी चाहिए जो विभाग के अनुसार नहीं किया गया इसके साथ जारी विज्ञापन की प्रतिलिपि तहसील, उपतहसील एसडीएम कार्यालय के सूचना पटल सहित पंचायत ऑफिस में चस्पा किया जाना था जो कि कहीं भी नहीं पाया गया।

खाद्य अधिकारी ने बताया कि दोरनापाल सीएमओ को हमने सूचनार्थ पत्र जारी किया है जब कि सीएमओ कृष्णा राव का कहना है कि उन्हें खाद्य विभाग से कोई पत्र नहीं मिला।

निविदा विज्ञापन की जानकारी निकालने पर पता चला कि दोरनापाल की दुकान हेतु एसडीएम की बजाए खाद्य अधिकारी ने खुद ही विज्ञापन जारी कर दिया, जबकी गोगुंडा ग्राम पंचायत की दुकान के लिए कोई निविदा जारी ही नहीं की गई। मिली जानकारी के अनुसार दोरनापाल व गोगुंडा की दुकान हेतु निविदा प्रक्रिया में केवल 1 ही समूह ने भाग लिया।

इस संबंध में एसडीएम कोण्टा, हिमांचल साहू का कहना है कि खाद्य विभाग द्वारा ऐसा कोई मामला मेरे संज्ञान में नहीं लाया गया है और मुझे इसकी जानकारी होती तो हम धारा 9 ,1 और 9, 2 के तहत निविदा आमंत्रित कर प्राप्त आवेदनों कि जांच कर कलेक्टर को भेजते। इससे पहले गगनपल्ली में हमने प्रक्रिया के तहत दुकान जारी की थी, मगर जब विभाग प्रथम पक्षकार को दरकिनार कर सीधे खुद ही प्रक्रिया पूरी करेंगे, तो ये सीधा गलत विषय है, जो कि अंधेरे में रखकर किया गया। अब मामला मीडिया के माध्यम से मेरे संज्ञान में आया है, तो सम्बन्धित विभाग से पत्राचार किया जाएगा कि ऐसा किस कारण से किया गया।

वहीं जिला खाद्य अधिकारी, सुकमा के. आर. पिस्दा ने बताया कि हमने कलेक्टर महोदय के अनुमोदन से पूरी प्रक्रिया की है। एसडीएम छुट्टी पर थे और हमको पूरी व्यवस्था जल्दी करनी थी, मगर हमने एसडीएम को पत्र भेजा था। नगर पालिका क्षेत्र में कोई दुकान आबंटित किया जाना है तो उसको हमें सूचित करने की आवश्यकता नहीं है। दोरनापाल के लिए प्रेस विज्ञापन जारी किया था। शासन का कोई निर्देश नहीं है कि मैं सूचनार्थ चस्पा के लिए भेजूं। व्यापक प्रचार प्रसार के लिए हम बाध्य नहीं हैं। हमने गोगुंडा को छोड़कर बाकी सभी का निविदा जारी किया था।


13-Oct-2020 8:16 PM 4

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

सुकमा, 13 अक्टूबर। रविवार को ऑल इंडिया स्टूडेन्टस फेडरेशन/ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के नेतृत्व में सुकमा ब्लाक में मंत्री कवासी लखमा, हरीश कवासी, नागरिक आपूर्ति निगम विभाग के अधिकारी आनन्द एक्का का गांव-गांव में पुतला दहन किया गया।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि दिव्यांग  तुलाराम नाग को नागरिक आपूर्ति निगम विभाग कार्यरत लेखापाल पद से बिना किसी कारण व सूचना दिये हटाया गया है ,इसलिए तुलाराम नाग को पुन: नियुक्ति करने की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन 15वाँ दिन जारी है, लेकिन शासन प्रशासन मांग को आश्वासन नहीं दे रहा है। इसलिए आक्रोश कार्यकर्ताओं द्वारा गांव-गांव में पुतला दहन किया गया। ग्राम कोर्रा, कोण्डरे,बुड़दी ,कुड़केल, चिंगावरम में पुतला दहन किया गया है।


13-Oct-2020 1:22 PM 2

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
सुकमा, 13 अक्टूबर।
कल दोपहर को जगदलपुर मार्ग पर पुलिस जवान से एसबीआई से कुछ दूरी पर दिनदहाड़े 2 लाख की लूट हो गई थी। सूचना पर पुलिस ने ओडिशा के 2 आरोपियों को देर रात घेराबंदी कर ओडिशा के बालीमेला थाना अंतर्गत चित्तापारी गांव से पकड़ लिया है। पुलिस ने आशंका व्यक्त की है कि आरोपियों का एक संगठित गिरोह है, जो इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहा है। इस संबंध में आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
 
आज सुबह साढ़े 10 बजे सुकमा एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि भारतीय स्टेट बैंक सुकमा से पुलिस के जवान कवासी सोमडू के द्वारा निकाले गए दो लाख रुपये को सोमवार दोपहर को जगदलपुर मार्ग पर दो अज्ञात व्यक्ति द्वारा लूट लिया गया था।
 
जानकारी मिलने पर सुकमा पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई कर आरोपियों की पतासाजी की गई। आरोपियों का ओडिशा के मलकानगिरी जिले का होना पाया गया। पुलिस की विशेष टीम के द्वारा घेराबंदी कर ओडिशा के बालीमेला थाना अंतर्गत चित्तापारी गांव से आरोपी कार्तिक दास एवं आउर काली को पकड़ा गया और उनके पास से लूट की रकम दो लाख रुपये एवं घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल को जब्त किया।

कार्रवाई में ऐके नाग थाना प्रभारी सुकमा, राकेश यादव, थाना प्रभारी छिंदगढ़ सहित टीम का योगदान रहा।


12-Oct-2020 8:48 PM 1

सुकमा, 12 अक्टूबर। सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष कवासी हरीश लखमा के आह्वान पर नगरनार स्टील प्लांट के निजीकरण के विरोध में चल रहे धरनाप्रदर्शन के पश्चात सुकमा जिले में आज पोस्टकार्ड अभियान शुरु हुआ। पोस्टकार्ड अभियान 31 अक्टूबर तक जारी रहेगा।

 सुकमा तथा बस्तर क्षेत्र के सभी जगह में डोर टू डोर जाकर पोस्टकार्ड भराया जा रहा है।  बस्तर संभाग के सबसे बड़े स्टील प्लांट के निजीकरण के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पोस्टकार्ड के माध्यम से पत्र लिखकर डी मर्जर वापस लेने की मांग की है।

केंद्र सरकार इस फैसले को वापस लें - राजू साहू

सुकमा नगरपालिका अध्यक्ष जगन्नाथ राजू साहू के नेतृत्व में पोस्टकार्ड अभियान प्रारंभ हुआ। राजू साहू ने कहा कि केंद्र सरकार का यह फैसला गलत है। क्योंकि बस्तर का सबसे बड़ा प्लांट नगरनार से बस्तर के युवाओं को काफी उम्मीदें हैं। यहां के युवाओं को नौकरी मिलेगी, लेकिन केंद्र सरकार ने गलत फैसला लेकर यहां के युवाओं के सपनों को तोडऩे का काम किया है। जिसके कारण लगातार विरोध दर्ज किया जा रहा है।

 इस दौरान हरीश  समर्थक ,सुकमा नगरपालिका अध्यक्ष जगन्नाथ राजू साहू,भूतपूर्व पार्षद रम्मू राठी,वरिष्ठ कांग्रेसी मनोज चौरसिया, एल्डरमैन नागराज कर्मा,एल्डरमैन मो. हुसैन, एल्डरमैन दिनेश दास, सेवादल अध्यक्ष मुकेश कश्यप, नीलम कश्यप, रिंकु दास, मनोज गुप्ता, लवी सुना, तरुण बारठ,आदि अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।


12-Oct-2020 8:43 PM 3

सुकमा, 12 अक्टूबर। जिला पंचायत अध्यक्ष कवासी हरीश ने  कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का नारा दिया है, जो वास्तविक रुप से जमीन पर नजर आने लगा है। आज छत्तीसगढ़ विकास की नई परिभाषा गढ़ रहा है।

हरीश ने कहा कि छग प्रदेश की आत्मा गांवों में बसती है और गांव के समुचित विकास के लिए धरसा विकास योजना लागू करने से गांववालों की मूलभूत समस्याओं से निजात मिलेगी।

उन्होंने आगे कहा कि गांव के अपने खेतों की ओर,अपने बाड़ी की ओर,अपने ब्यारा की ओर,तालाब और माता, देवगुड़ी, देवाला,खैरकाडार और अन्य डीही डोंगर जाने के कच्चे रास्ते को धरसा कहा जाता है। अधिकतर गांवों के धरसा को विकसित करने की जरूरत है, जिस पर पूरे गांव वालों का जीवन यापन चलता है।

उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि 15 साल बीजेपी के सरकार को मालूम ही नहीं था कि गाँव की मूलभूत जरूरतों में सुगम धरसा होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने छग में धरसा विकास योजना लागू कर ये बताया कि गांव में रहने वाले किसान मजदूर के वही सच्चे हमदर्द एवं साथी है और गांव की सम्पूर्ण जरूरतों को भलीभांति समझते  हुए समाधान के लिए पूरी तरह संकल्पित हंै।


12-Oct-2020 8:39 PM 1

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

तोंगपाल, 12 अक्टूबर। ग्राम गुडरा में संयुक्त ग्राम सभा बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें किसानों एवं जनप्रतिनिधियों की सहमति से मेखावाया लैम्पस के अंतर्गत आने वाले ग्राम गुडरा में धान खरीदी केंद्र संचालित करने हेतु निर्णय लिया गया।

बैठक में बताया गया कि धान खरीदी केंद्र मेखावाया लैम्पस जो कि छिन्दगढ़ के द्वारा संचालित किया जा रहा  है,  परन्तु मेखावाया से छिन्दगढ़ की दूरी लगभग 15 किमी है, जिससे किसानों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसलिए इस धान खरीदी केंद्र को ग्राम गुडरा में संचालित करने हेतु पूर्व में भी शासन-प्रशासन को अवगत कराया गया था, जिस पर  आज तक किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

इस संबंध में ग्रामसभा आयोजित कर समस्त किसानों एवं जनप्रतिनिधियों की सहमति से मेखावाया लैम्पस के अंतर्गत आने वाले ग्राम गुडरा में धान खरीदी केंद्र संचालित करने हेतु निर्णय लिया गया।

इस ग्राम सभा  में मेखावाया धान खरीदी केंद्र के अंतर्गत आने वाले समस्त ग्रामपंचायत के ग्राम प्रमुख हडमा पोडियामी, अमर पोयाम उप सरपंच गुडरा, हान्दा कवासी, लखन मरकाम, भीमा पोयाम, विरेन्द्र मरकाम, आनन्द, सन्तोष, राजा राम, गंगा बारसे, मनी मरकाम, लक्ष्मण, बुटु राम,  बिड़ा कवासी, ठोकडू पोडियामी, सुरेश कवासी, देवा पुजारी, बली राम नेगी आदि उपस्थित रहे।


11-Oct-2020 7:03 PM 2

सुकमा, 11 अक्टूबर। आज एसपी और पुलिस अफसरों ने जिले के नक्सल प्रभावित कई थाने पहुंच दरबार लगाकर जवानों का उत्साहवर्धन किया और उनकी समस्याएं जानी। 

रविवार को शलभ सिन्हा पुलिस अधीक्षक सुकमा, सुनील शर्मा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुकमा एवं जिले के पुलिस अनुविभागीय अधिकारी डॉ. अनुराग झा, कृष्णा पटेल, पंकज पटेल, प्रतीक चतुर्वेदी के साथ जिले के अतिसंवेदनशील थाना क्षेत्रों में पदस्थ डीआरजी एवं थानों में पदस्थ अधिकारी/कर्मचारियों का उत्साहवर्धन करने एवं समस्याओं का समाधान करने दरबार लगाया और समस्याओं से अवगत हुए। समस्याओं का यथासंभव त्वरित निराकरण भी किया। पुलिस अधीक्षक को देखकर जवानों में भारी जोश एवं उत्साह देखा गया। 


Previous123456Next