छत्तीसगढ़ » सुकमा

Date : 25-Jan-2020

आदिवासियों को लगाया लाखों का चूना, ओडिशा से चिटफंड कंपनी के 2 अफसर बंदी, बोलेरो जब्त

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 25 जनवरी।
जिला पुलिस बल ने शनिवार को माइक्रो फ ाइनेंस कंपनी के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को ओडिशा के मलकानगिरी से गिरफ्तार किया है। साथ ही आरोपियों के पास से एक नई बोलेरो भी जब्त की गई है। 

गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों पर आरोप है कि उन्होंने पैसे डबल करने के नाम पर लोगों से निवेश कराए और बाद में पैसे लेकर फ रार हो गए। फि लहाल पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने माइक्रो फ ाइनेंस कंपनी के मैनेजर भावतोष चौधरी और डिप्टी मैनेजर चंद्रकांत गोयली को गिरफ्तार किया है। दोनों पर आरोप है कि इन्होंने पैसे डबल करने और ज्यादा ब्याज का लालच देकर लोगों से पैसे निवेश करवाया और बाद में पैसे लेकर फ रार हो गए। बताया गया कि इलाके के कई ग्रामीण आरोपियों के खिलाफ  लिखित शिकायत दे चुके थे। इसके बाद जिला पुलिस ने विशेष टीम का गठन किया और आरोपियों को धर दबोचा।

 


Date : 22-Jan-2020

खबर से नाराज सरपंच ने पत्रकार को दी मारपीट की धमकी, शिकायत दर्ज, पत्रकारों ने कहा- 24 घंटे में कार्रवाई हो नहीं तो करेंगे धरना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 22 जनवरी।
सुकमा जिले के दोरनापाल में मंगलवार को ग्राम पंचायत पुनपल्ली सरपंच मिडियम जोगा ने सुकमा जिले के पत्रकार अमन भदौरिया को ख़बर प्रकाशन पर धमकी दे डाली। जिले भर के पत्रकारों के अलावा दक्षिण बस्तर पत्रकार संघ द्वारा भी घटना की निंदा की गई है। घटना की लिखित शिकायत उक्त पत्रकार व दोरनापाल के अन्य पत्रकारों द्वारा दोरनापाल थाना में की गई है। मामले पर पुलिस द्वारा कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। 

घटना के प्रत्यक्षदर्शी पत्रकार पवन शाह के अनुसार सरपंच द्वारा नशे में पत्रकार को धमकी दी गई और पत्रकार का दायरा बताने लगे। 

 मामला कोंटा ब्लॉक के पुनपल्ली में शौचालयों में गड़बड़ी का है, जिसमें पत्रकार द्वारा 24 नवम्बर को ख़बर प्रकाशित किया गया था। इसके बाद 21 जनवरी को वार्ड क्र 14 के मतदान केंद्र की कवरेज के दौरान पत्रकार को पुलिंग बूथ से दूर बुलाकर धमकियां देने लगा। पत्रकार अमन भदौरिया के अनुसार सरपंच उस वक्त उत्तेजित था और ख़बर चलने पर मारपीट की धमकी समेत देख लेने तक की धमकी सार्वजनिक रूप से दे रहा था और मारपीट पर उतारु था। बीच बचाव के बाद जाकर मामला शांत हुआ। 

इस मामले पर सुकमा प्रेस क्लब ने बुधवार सुबह 10.30 बजे बैठक आहुत की जिसमें पत्रकारों ने निर्णय लिया कि अब उक्त सरपंच पर जब तक उचित कार्रवाई नहीं होती तब तक पत्रकार उसके खिलाफ प्रदर्शन करेंगे और पुलिस प्रशासन से 24 घण्टे के अंदर कार्रवाई करने की अपील की। कार्रवाई न होने पर थाने के सामने धरना-प्रदर्शन करने की बात भी कही गई है। बैठक में लीलाधर राठी, सूर्यपाल सिंह , नागेंद्र चौधरी,सलीम शेख, फाहरुक अली राजा राठौर, बालकृष्ण मिश्रा,शिवा यादव,धर्मेन्द्र सिंह, मनीष सिंह, मोहन ठाकुर,के. शंकर, नागेंद्र ओलम,पवन शाहा, अमन भदौरिया अन्य पत्रकार मौजूद रहे।

पत्रकार लीलाधर राठी का कहना है कि घटना की हम कड़ी निंदा करते है इसको लेकर प्रेस क्लब में बैठक हुई जिसमें ये प्रस्ताव पारित हुआ कि शिकायत के 24 घण्टे के अंदर कार्रवाई हो, अन्यथा हम धरना प्रदर्शन की तैयारी भी कर रहे हैं । सलीम शेख ने कहा कि ये घटना निंदनीय है। इस घटना की शिकायत पत्रकार साथी द्वारा थाने में की गई है। बैठक में ये निर्णय लिया गया है कि 24 घण्टे में सरपंच के खिलाफ कार्यवाही हो अन्यथा हम दोरनापाल थाने के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे और सम्बंधित सरपंच के खिलाफ लड़ते रहेंगे।पत्रकार राजा राठौर ने कहा कि कल किसी भी पत्रकारों के साथ ऐसा हो सकता है । पुलिस को इस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई पुलिस को करनी होगी। फारुक अली का कहना है कि पत्रकार समाज का आईना होता है और पत्रकार द्वारा मामला उजागर किये जाने के बाद इस तरह की घटनाओं का होना निंदनीय है।

 


Date : 22-Jan-2020

हफ्ते भर में मिले मलेरिया के 5400 मरीज, कलेक्टर ने दिए स्कूलों और घर-घर जाकर जांच करने के निर्देश  

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 22 जनवरी।
जिला प्रशासन कलेक्टर के मार्ग दर्शन में छत्तीसगढ़ सरकार की मलेरिया मुफ्त योजना के तहत  पिछले कुछ माह से जिले के अस्पतालों में मलेरिया से पीडि़त मरीजों की संख्या में इजाफ ा हुआ था। लगातार मलेरिया की शिकायत के बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने एक अभियान चलाया है। जिसमें घर घर स्वास्थ्य विभाग की टीम दस्तक दे रही है और मलेरिया जांच कर रही है। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी डॉ. सीवी प्रसाद बंसोड़ ने बताया कि जिले के करीब 3 लाख लोगों का मलेरिया जांच का टारगेट है, जिसमें सुरक्षा बल के जवान भी शामिल है। यह अभियान 15 जनवरी को शुरू किया गया था। इन 7 दिनों में हमारी टीम ने लगभग 86 हजार लोगों का मलेरिया जांच किया है। जिसमे करीब 5400 लोगो को मलेरिया पॉजिटिव निकला है। जिसमे सबसे ज्यादा कोंटा इलाके के गांवों में और आंगनबाड़ी और पोटाकेबिनो के छात्रों को मलेरिया निकला है। उन सभी मलेरिया पीडि़तों को तीन खुराक दवा देनी है जो 14 दिनों तक चलेगा। जिसमे पहला खुराक हमारी टीम दे दी है बाकी दवा को उनके शिक्षकए परिजन या मितानिन को दी गई है। यह अभियान। 14 फ रवरी तक चलेगा। उसके बाद इस अभियान का फ ॉलोअप भी किया जाएगा।वही कलेक्टर चंदन कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम हर घर और हर स्कूल जाएगी और वहां पर मलेरिया जांच करेगी साथ ही इसका इलाज भी करेगी। यह अभियान छेड़ा गया है, जिसमे स्वास्थ्य विभाग की टीम बेहतर कार्य कर रही है आने वाले दिनों में इसका परिणाम जरूर दिखेगा।


Date : 21-Jan-2020

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चार नक्सल आरोपियों को गिरफ़्तार किया,  नक्सलियों पर पुलिस पार्टी पर हमला सहित कई अन्य वारदातों को अंजाम देने का आरोप 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 21 जनवरी।
चिंतलनार थाना क्षेत्र में  मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चार नक्सल आरोपियों को गिरफ़्तार किया। चारों नक्सलियों पर पुलिस पार्टी पर हमला सहित कई अन्य वारदातों को अंजाम देने का आरोप है। फिलहाल जवानों ने चारों नक्सलियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

बस्तर आईजी सुंदरराज पी., सुकमा एसपी सलभ सिन्हा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी के दिशानिर्देश पर चलाए जा रहे नक्सल उन्मूलन के तहत सफलता मिली है। चिंतलनार थाना क्षेत्र के जवान इलाके की सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान मोरपल्ली इलाके में उन्होंने 4 नक्सलियों को धर दबोचा। बताया गया कि जवानों को देखकर नक्सलियों ने भागने का प्रयास किया,फुर्ती दिखाते हुए पुलिस जवानों ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस टीम में चिंतलनार थाना प्रभारी उपनिरीक्षक सत्यवादी साहू,उपनिरीक्षक होशियार सिंह पैकरा के साथ जिला बल साथ थी।


Date : 20-Jan-2020

नवनिर्वाचित नगर पालिका सदस्यों के पदभार ग्रहण समारोह में शामिल होने मंत्री कवसी लखमा सोमवार को अपने गृह जिला सुकमा पहुंचे, नगरवासियों ने उनका भव्य स्वागत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 20 जनवरी।
नवनिर्वाचित नगर पालिका सदस्यों के पदभार ग्रहण समारोह में शामिल होने मंत्री कवसी लखमा सोमवार को अपने गृह जिला सुकमा पहुंचे। यहां नगरवासियों ने उनका भव्य स्वागत किया। इस दौरान मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि ऐसा लग रहा है, जैसे सुकमा में ही स्वर्ग है।

पदभार शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन शहर के पुराने कलेक्ट्रेट में दोपहर 1:30 बजे के बीच किया गया। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष राजू साहू सहित अन्य सदस्यों ने पदभार ग्रहण किया। इस दौरान राजू साहू ने शहर की जनता से कहा है कि वे अपने सभी वादों को पूरा करने का भरपूर प्रयास करेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि जहां बात विकास की आएगी, वे सदा जनता के साथ खड़े रहेंगे। उनका उद्देश्य है कि सुकमा के विकास की नई इबारत गढ़ी जाए, ताकि लोग कांग्रेस और उनके कार्यकर्ताओं के विकास कार्यों की मिसाल बनें। इस कार्यक्रम में प्रदेश के मंत्री कवासी लखमा, जिला पंचायत सदस्य हरीश कवासी, करण देव, बोड्डू राजा, मौसम जया, बबिता मंडावी, शेख सज्जार सहित जिले के सभी कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे।


Date : 19-Jan-2020

नगरीय निकाय चुनाव में इस बार कांग्रेस ने प्रदेश के लभगग आधे से ज्यादा निकायों पर अपना कब्जा जमाया, नवनिर्वाचित अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महापौर का शपथ ग्रहण समरोह जारी 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 19 जनवरी।
नगरीय निकाय चुनाव में इस बार कांग्रेस ने प्रदेश के लभगग आधे से ज्यादा निकायों पर अपना कब्जा जमाया है। इसके बाद से नवनिर्वाचित अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और महापौर का शपथ ग्रहण समरोह जारी है। इसी कड़ी में 20 जनवरी सोमवार को प्रदेश के वनांचल में स्थित सुकमा नगर पालिका में पदभार ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया है।
पदभार शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन शहर के पुराने कलेक्ट्रेट में दोपहर 11 बजे से 1.30 बजे के बीच किया गया है। इस कार्यक्रम में प्रदेश के मंत्री कवासी लखमा, जिला पंचायत सदस्य हरिश कवासी, करण देव, बोड्डू राजा, मौसम जया, बबिता मंडावी, शेख सज्जार सहित जिले के सभी कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे।

सुकमा नगर पालिका के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राजू साहू ने नगरवासियों से अपील की है कि अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर शपथ ग्रहण समारोह के साक्षी बनें। साथ ही राजू साहू ने नगर की जनता को धन्यवाद दिया है कि उन्होंने कांग्रेस को 25 साल बाद सेवा का मौका मिला है।

राजू साहू ने शहर की जनता से कहा है कि वे अपने सभी वादों को पूरा करने का भरपूर प्रयास करेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि जहां बात विकास की आएगी, वे सदा जनता के साथ खड़े रहेंगे। उनका उद्देश्य है कि सुकमा के विकास की नई इबारत गढ़ी जाए, ताकि लोग कांग्रेस और उनके कार्यकर्ताओं के विकास कार्यों की मिशाल दें।


Date : 19-Jan-2020

मलेरिया से निजात दिलाने अंदरूनी क्षेत्रों में जा रहे स्वास्थ्य कर्मी गांव-गांव घूम कर रहे ग्रामीणों की जांच

छत्तीसगढ़ संवाददाता
सुकमा, 19 जनवरी।
इन दिनों जिले में मलेरिया से पीडि़त मरीज ज्यादा आ रहे हैं जिससे निपटने के लिए कलेक्टर चंदन कुमार के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी गांव-गांव और जंगल-जंगल घूम रहे है। जो जहां मिल जाये वहां स्वास्थ्य कर्मचारी मलेरिया टेस्ट कर रहे हैं और साथ में जानकारी ले रहे हैं। 

ज्ञात हो कि सुकमा जिला मलेरिया जोन है। यहां आए दिन मलेरिया के मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। खासकर छोटे बच्चे ज्यादा आ रहे हैं। 

मलेरिया मुक्ति अभियान को लेकर कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया कि मलेरिया की शिकायत जिले में ज्यादा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से हर हेल्थ सेंटर में मलेरिया किट उपलब्ध है लेकिन उसके बाद भी जिलेभर में एक अभियान चलाया जा रहा है। जिसमे ज्यादा से ज्यादा गांवों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है।


Date : 18-Jan-2020

सुकमा के फुलपगड़ी थाना क्षेत्र में सर्च के दौरान सुरक्षा बल जवानों ने अनेक वारदातों को अंजाम देने वाले दो नक्सलियों को धर दबोचा

सुकमा, 18 जनवरी। फ ुलपगड़ी थाना क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवानों ने दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि दोनों नक्सली इलाके में कई वारदातों में शामिल थे। फि लहाल पुलिस ने दोनों कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। 

मिली जानकारी के अनुसार सीएएफ और जिला बल के जवान सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान फ ुलपगड़ी थाना क्षेत्र के जंगल से दो नक्सली को धर दबोचा। फिलहाल गिरफ्तार नक्सलियों के नाम का खुलासा नहीं हो पाया है।

 

 

 

 

 


Date : 18-Jan-2020

मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान का निरीक्षण, एएनएम ने मलेरिया के बारे में कुछ जानकारी एवं सुझाव दिए

कोंटा, 18 जनवरी। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान के तहत शुक्रवार को निरीक्षण में रायपुर से आए डॉ. विश्वास, डॉ आनंद राव और साथ में डॉ. कपिल कश्यप बीएमओ कोंटा द्वारा मरईगुड़ा और किस्टाराम में निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान बालक आश्रम मरईगुड़ा में जाकर बच्चों से पूछा कि मलेरिया टेस्ट हुवा की नहीं एवं पैर के अंगूठे में निशान को देखे। किस्टाराम में घर-घर जाकर सर्वे किया गया। एएनएम ने मलेरिया के बारे में कुछ जानकारी एवं सुझाव दिए गए। अभी तक गोलापल्ली सेक्टर में कुल 2745 लोगों का टेस्ट किया गया है, जिसमें 193 लोगों का सामान्य आया है। जिसको ंएसीटी किट एवं प्रिमाक्विन की मात्रा दे दिया गया है।


Date : 18-Jan-2020

दोरनापाल सीआरपीएफ कैम्प पर रात में मंडराए अज्ञात ड्रोन, नक्सल इलाके में सनसनी, ड्रोन कर रहा था पुसवाड़ा कैम्प व दोरनापाल हेडक्वार्टर की निगरानी, जवान अलर्ट

सीआरपीएफ ने अपने ड्रोन को पीछा करने उड़ाया तो ड्रोन हुआ गायब, 3 महीने में दूसरी घटना, नक्सलियों द्वारा ड्रोन से नजर रखने की आशंका

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दोरनापाल, 18 जनवरी। सुकमा जिले के नक्सल प्रभावित कैम्पों में अज्ञात ड्रोन की निगरानी फिर से देखने को मिलने लगी है, इसको लेकर सुरक्षा एजेंसी सतर्क हो गए हैं। बीते दिनों किस्टाराम में ड्रोन देखे जाने के बाद दोरनापाल के सीआरपीएफ 74 वाहिनी के हेडक्वार्टर व अंदरूनी पुसवाड़ा कैम्प में नजर आया, जिसके बाद 74 वाहिनी मुख्यालय से अज्ञात ड्रोन का पीछा करने अपना ड्रोन उड़ाया, पर रेंज से बाहर हो जाने से ड्रोन को नहीं ढूंढा जा सका। इसकी पुष्टि सुकमा एसपी शलभ सिन्हा ने की है कि देर रात पुसवाड़ा में ड्रोन देखा गया वहीं सीआरपीएफ के अनुसार दोरनापाल में भी कैम्प के ऊपर ड्रोन मंडरा रहा था, जिसके बाद जवानों के अपना ड्रोन उड़ाया।

बता दें कि बीते 3 महीने से नक्सलप्रभावित सुकमा जिले के अंदरूनी कैम्पों में ये दूसरी बार अज्ञात ड्रोन के देखे जाने का मामला सामने आया है। जब दोरनापाल सीआरपीएफ मुख्यालय तक अज्ञात ड्रोन पहुंचा पर सुरक्षाबलों की मुस्तैदी और वक्त रहते जवानों के ड्रोन उड़ाने से पूरी तरह कैम्प का मुआयना नहीं कर सका। लम्बे समय से कैम्पों पर नजर से किसी कैम्प को निशाना बनाने की कोशिश की आशंका जताई जा रही है, हालांकि सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं और प्रदेश से लेकर केंद्रीय स्तर पर बैठक में इसकी चर्चा हो चुकी है जिसमें ड्रोन को देखते ही धरासायी करने के निर्देश जवानों को दिए गए हैं। साथ ही पता लगाया जा रहा है कि आखिर ड्रोन आ कहां से रहा है। पुलिस के अधिकारी अब इस बात की पुष्टि नही कर रहे हैं कि ये ड्रोन नक्सलियों का है कि या किसी और का है ।

अज्ञात ड्रोन का पीछा किया जवानों के ड्रोन ने

गौरतलब है कि शुक्रवार के रात 09 बजे नक्सल प्रभावित जिला सुकमा के दोरनापाल सीआरपीएफ 74 वाहिनी मुख्यालय के ऊपर और अंदरूनी इलाका पुसवाड़ा कैंप के आसपास रात में अचानक जवानों को ड्रोन दिखाई दिया जो 15 से 20 मिनट तक कैम्प के ऊपर मंडराता रहा। जिसके बाद पूरे इलाके में हडक़ंप मच गया है। बताया जा रहा है कि, ड्रोन देखे जाने के बाद आला अधिकारियों के निर्देश पर जवानों द्वारा कैम्प के ड्रोन से उसका पीछा करने की कोशिश की गई लेकिन कुछ ही मिनटों बाद वह अदृष्य हो गया। इसके बाद से ही ड्रोन के रेंज वाले इलाकों में सुरक्षाबलों द्वारा पूछताछ किया जा रहा है ।

बड़ी वारदात की फिराक में हो सकते हैं नक्सली

बीते 3 महीने से बेशक अज्ञात रूप से  दूसरी बार ड्रोन के माध्यम से कैम्प पर नजर बना रहे है पर केवल नजर बनाना ही नक्सलियों का मकसद नहीं बल्कि निशाना बनाने कैम्पो की स्थिति जानने का सीधा संसाधन एक ड्रोन ही हो सकता है । जिन इलाकों में इस तरह के संसाधनों का अभाव हो वहां एक एक से अधिक ड्रोन का इस्तेमाल किया जाना सुरक्षा बलों के लिए चौका देना वाली बात है । बीते दिनों से सेंट्रल कमेटी मेम्बर रमन्ना की मौत के बाद से नक्सलियों की चुप्पी किसी बड़ी वारदात की ओर इशारा कर रही है। हालांकि लगातार इसको लेकर बैठकें जारी है और जवानों को अलर्ट मोड पर रखा गया है । मगर ड्रोन से नजर बनाना कैम्प में हमले की तैयारी के अलावा सुरक्षा एजेंसियों का ध्यान बांटना भी हो सकता है नक्सलियों की इस साजिश पर सुरक्षा एजेंसियां नजर बनाए हुए है । हालांकि अभी अधिकारी इसकी पुष्टि नही कर रहे ।

इस मामले में जब सुकमा एसपी शलभ सिन्हा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि, ड्रोन दिखाई देने की बात सामने आई है जिसका जवानों ने पीछा भी किया लेकिन जांच के बाद ही बताया जा सकता है कि वह ड्रोन नक्सलियों का ही है।

वहीं बस्तर आईजी पी सुंदरराज ने भी यही कहा कि, अभी इस बात की पुष्टि नहीं की जा सकती कि, ड्रोन नक्सलियों का ही है। वहीं आशंका यह भी जताई जा रही है कि, अभी राष्ट्रीय पर्व 26 जनवरी गणतंत्र दिवस नजदीक है। इस बात से यह आशंका जताई जा रही है कि, नक्सली इस दिन किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के फिराक में है। जवानों को अलर्ट किया गया है ।


Date : 17-Jan-2020

नाटक से बच्चों ने दी यातायात नियमों की जानकारी, नाटक को राठी मार्ट की ओर से 500 रुपए का पुरस्कार मिला 

सुकमा, 17 जनवरी। यातायात सप्ताह के दौरान उस वक्त लोग हैरत में पड़ गए, जब मंच पर यमराज और उनकी सेना उतर आई और लोगों को यातायात नियमों की जानकारी देने लगे। इस दौरान यम सेना ने एक नाटक किया, जिसे मौजूद लोगों ने खूब सराहा। वहीं इस नाटक को राठी मार्ट की ओर से 500 रुपए का पुरस्कार भी प्राप्त हुआ। 

मिली जानकारी के अनुसार 31वां राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा सप्ताह जागरूकता कार्यक्रम का शुक्रवार को समापन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन जिला मुख्यालय स्थित बस स्टैंड में किया गया। यहां यातायात पुलिस ने बीते एक सप्ताह में उनके द्वारा चलाये गए कार्यक्रमों की जानकारी दी। इसमे 57 चालकों का लाइसेंस रजिट्रेशन कराया गया। साथ ही वाहन चालकों को बीमा के बारे में जानकारी दी गई वही स्कूल व कालेजो में कई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। वहीं शाम को संवाद कार्यक्रम रखा गया था, जिसमें वाहन चालकों, नागरिक, बस एजेंट से चर्चा की गई और उनकी राय भी ली गई।

 जिला मुख्यालय के अलावा कई थानों में यातायात जागरूकता अभियान चलाया गया। वहीं यातायात प्रभारी परमिल दास ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2017 में सडक़ दुर्घटना में सुकमा जिले में 24 की मृत्यु, 2018 में 30 की मौत, 2019 में 42 मौत हुई है। लगातार आकड़ों में इजाफ ा हो रहा है, जिसे रोकना होगा। यातायात नियमों को तोड़ते है तो 11 प्रकरणों में 3 पर निलंबन की कार्रवाई की गई है। यातायाता 3934 प्रकरण दर्ज कर 13 लाख वसूले गए और 32 प्रकरण न्यायालय में पेश किया गया। एसपी शलभ सिन्हा, सीजीएम भारद्वराज, फ ारुख अली मौजूद थे।