छत्तीसगढ़ » सरगुजा

Previous123Next
Posted Date : 25-Apr-2019
  • सबसे ज्यादा कोतवाली क्षेत्र में
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अंबिकापुर, 25 अप्रैल।
    शहर में बाइक चोरी की घटनाएं बढ़ती जा रही है। एक मामले के आरोपी पकड़े नहीं जा रहे हैं कि शहर में दूसरी जगह बाइक चोरी हो जा रही है। यही वजह है कि मार्च व अप्रैल में ही शहर में अलग-अलग जगह से बदमाशों ने कई बाइक पार कर दी। इन 2 महीनों में चोरी के 2 दर्जन से अधिक मामलों में सर्वाधिक बाइक चोरी के मामले हैं। सबसे ज्यादा चोरी की वारदात कोतवाली क्षेत्र में हुई है।
    लगातार वारदातों के बीच गत 21 अप्रैल की रात अज्ञात चोरों ने स्टेडियम ग्राउंड के पीछे राजा गैस एजेंसी के सामने से एक और मोटरसाइकिल की चोरी कर ली। बताया गया कि गांधीनगर क्षेत्र निवासी मनीष यादव गत 21 अप्रैल की शाम 7 बजे अपनी मोटरसाइकिल राजा गैस एजेंसी के सामने खड़ा करके मैदान में घूमने गए थे। वापस आने पर उनकी मोटरसाइकिल चोरी हो चुकी थी। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात चोरों के विरुद्ध अपराध दर्ज कर लिया है। 
    चोरी के लगभग दो दर्जन मामले में अभी तक पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल सकी है। इधर घटनाएं थम नहीं रही है। लोग अपनी बाइक व स्कूटी की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। चोर अस्पताल, स्टेडियम व भीड़भाड़ वाले बाजार में बाइक चोरी कर रहे  है। 

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर, 25 अप्रैल।
    कैडेटों के मानसिक एवं चारित्रिक विकास के साथ-साथ शारीरिक विकास को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी अन्तर्भवन फुटबॉॅल प्रतियोगिता 16 से 23 अप्रैल के बीच आयोजित की गई। जिसमें सैनिक स्कूल के चारों जूनियर हाउस के साथ-साथ सीनियर हाउस के कैडेटों ने भाग लिया। 

    इस प्रतियोगिता में सैनिक स्कूल के जूनियर सदन तेजस, पिनाका, विजयंत और अरिहंत के साथ सीनियर सदन अर्जन सिंह, मानेकषॉ, करियप्पा और कटारी शामिल थे। इसमें दोनों वर्गों के चारों हाउस की प्रत्येक टीम ने दूसरे हाउस की टीमों से लीग मैच खेला। इन मैचों में जीत दर्ज कर जूनियर वर्ग से पिनाका और विजयन्त हाउस एवं सीनियर वर्ग से कटारी तथा करियप्पा हाउस फाइनल में पहुँचे। जूनियर वर्ग फाइनल मुकाबले में विजयन्त हाउस ने अपने प्रतिद्वंदी पिनाका हाउस को 2-0 से तथा सीनियर वर्ग के फाइनल मुकाबले में कटारी हाउस ने करियप्पा हाउस को पेनाल्टी शूट 4-3 से परास्त कर अपनी-अपनी श्रेणी में खिताब अपने नाम किए।

    प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि विद्यालय के प्राचार्य कर्नल जितेन्द्र डोगरा थे। जूनियर तथा सीनियर वर्गों के सम्मिलित प्रदर्शन के आधार पर करियप्पा तथा विजयन्त सदन को प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया गया। प्राचार्य के द्वारा विजेता और उपविजेता खिलाडिय़ों को मेडल तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान कर उनका हौसला बढ़ाया गया। इस अवसर पर अपने संबोधन में कर्नल जितेन्द्र डोगरा ने कहा कि इस प्रकार के विशेष आयोजन से कैडेटों के अन्दर प्रारंभ से ही खेलों के प्रति रूचि जागृत होगी तथा उनमें टीम भावना का विकास होगा।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • राज्य में सार्वाधिक मतदान प्रतिशत रहा सरगुजा संसदीय क्षेत्र 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अम्बिकापुर, 24 अप्रैल।
    लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत तीसरे चरण के तहत सरगुजा लोकसभा क्षेत्र में मतदान 23 मई 2019 को संपन्न हुआ। कण्ट्रोल रूम से प्राप्त जानकारी के अनुसार सरगुजा लोकसभा क्षेत्र में औसतन 77.29 प्रतिशत मतदान रहा, जो राज्य में तीनों चरणों के दौरान संपन्न निर्वाचन में सर्वाधिक मतदान प्रतिशत है। सरगुजा लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत जिला सरगुजा, सूरजपुर तथा बलरामपुर-रामानुजगंज शामिल है।    

    सरगुजा जिले में 3 लाख 1 हजार 631 पुरूष, 3 लाख 3 हजार 833 महिला, अन्य 13 कुल 6 लाख 5 हजार 477 मतदाता है,जिनमें से 2 लाख 34 हजार 888 पुरूष, 2 लाख 34 हजार 29 महिला, अन्य 6 कुल 4 लाख 68 हजार 923 मतदाताओं ने मतदान किया। जिले का औसतन मतदान 77.45 रहा।
    सरगुजा जिले के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-9 लुण्ड्रा में 90 हजार 136 पुरूष एवं 90 हजार 360 महिला कुल 1 लाख 80 हजार 433 मतदाता है जिनमें से 74 हजार 196 पुरूष एवं 73 हजार 19 महिला, कुल 1 लाख 47 हजार 215 मतदाताओं ने मतदान किया। लुण्ड्रा विधानसभा क्षेत्र में 81.59 प्रतिषत मतदान रहा। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-10 अम्बिकापुर में 1 लाख 17 हजार 309 पुरूष, 1 लाख 17 हजार 392 महिला, अन्य 13 कुल 2 लाख 34 हजार 714 मतदाता है जिनमें से 87 हजार 204 पुरूष एवं 86 हजार 306 अन्य 6 महिला, कुल 1 लाख 73 हजार 516 मतदाताओं ने मतदान किया। अम्बिकापुर विधानसभा क्षेत्र में 73.93 प्रतिशेत मतदान रहा तथा विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-11 सीतपापुर में 94 हजार 196पुरूष, 96 हजार 134 महिला कुल 1 लाख 90 हजार 330 मतदाता है जिनमें से 73 हजार 488 पुरूष, 74 हजार 704 महिला, कुल 1 लाख 48 हजार 192 मतदाताओं ने मतदान किया। सीतापुर विधानसभा क्षेत्र में 77.86 प्रतिशत मतदान रहा। 

    सूरजपुर जिले में 3 लाख 30 हजार 223 पुरूष, 3 लाख 26 हजार 77 महिला, अन्य 4 कुल 6 लाख 56 हजार 304 मतदाता है,जिनमें से 2 लाख 57 हजार 43 पुरूष, 2 लाख 44 हजार 673महिला, अन्य 1 कुल 5 लाख 1 हजार 717 मतदाताओं ने मतदान किया। जिले का औसतन मतदान 76.45 रहा।

    सूरजपुर  जिले के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-4 प्रेमनगर  में  1 लाख 9 हजार 105 पुरूष एवं 1 लाख 8 हजार 598 महिला, अन्य 1, कुल 2 लाख 17 हजार 704 मतदाता है जिनमें से 86 हजार 160 पुरूष एवं 81 हजार 664 महिला, कुल 1 लाख 67 हजार 824 मतदाताओं ने मतदान किया। प्रेमनगर विधानसभा क्षेत्र में 77.09 प्रतिषत मतदान रहा। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-5 भटगांव में 1 लाख 13 हजार 81 पुरूष, 1 लाख 11 हजार 235 महिला, अन्य 1 कुल 2 लाख 24 हजार 317 मतदाता है जिनमें से 87 हजार 260 पुरूष एवं 82 हजार 545 महिला, कुल 1 लाख 69 हजार 805 मतदाताओं ने मतदान किया। भटगांव विधानसभा क्षेत्र में 75.70 प्रतिषत मतदान रहा तथा विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-6 प्रतापपुर में 1लाख 8 हजार 37 पुरूष, 1 लाख 6 हजार 244 महिला, अन्य 2 कुल 2 लाख 14 हजार 283 मतदाता है जिनमें से 83 हजार 623 पुरूष, 80 हजार 464 महिला, अन्य 1, कुल 1 लाख 64 हजार 88 मतदाताओं ने मतदान किया। प्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र में 76.58 प्रतिशत मतदान रहा। 

    बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 1 लाख 97 हजार 544 पुरूष, 1 लाख 94 हजार 497 महिला, कुल 3 लाख 92 हजार 41 मतदाता है,जिनमें से 1 लाख 56 हजार 625 पुरूष, 1 लाख 51 हजार 56 महिला, कुल 3 लाख 7 हजार 681 मतदाताओं ने मतदान किया। जिले का औसतन मतदान 78.48 रहा।

    बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-7 रामानुजगंज में  97 हजार 534 पुरूष एवं 94 हजार 190 महिला, कुल 1 लाख 91 हजार 724 मतदाता है जिनमें से 77 हजार 20 पुरूष, 72 हजार 636 महिला, कुल 1 लाख 49 हजार 656 मतदाताओं ने मतदान किया। रामानुजगंज विधानसभा क्षेत्र में 78.06 प्रतिषत मतदान रहा। विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-8 सामरी में 1 लाख 10 पुरूष, 1 लाख 307 महिला, कुल 2 लाख 317 मतदाता है जिनमें से 79 हजार 605 पुरूष एवं 78 हजार 420 महिला, कुल 1 लाख 58 हजार 25 मतदाताओं ने मतदान किया। सामरी विधानसभा क्षेत्र में 78.89 प्रतिशत मतदान रहा। 

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अम्बिकापुर,  24 अप्रैल।
    सरगुजा जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. पी.एस. सिसोदिया द्वारा सीतापुर जनपद अंतर्गत आने वाले उप स्वास्थ्य केन्द्र डांगबुड़ा पहुंचकर फूड पॉइजनिंग के संबंध में आवश्यक प्रबंधन हेतु निर्देशित किया गया। 


    उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पूरी ईमानदारी एवं संवदेना के साथ प्रभावितों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के निर्देश दिए। गौरतलब है कि विवाह समारोह में भोजन करने के पश्चात कुछ लोगों को फूड पॉइजनिंग की शिकायत हुई थी। जाँच के दौरान गुलाब जामुन, हडिय़ा शराब और चावल विषाक्त पाया गया। सीएमएचओ द्वारा विषाक्त खाद्य पदार्थो को गड्डे में डालकर ऊपर से मिट्टी डलवा दी गई। 

    फूड पॉइजनिंग से प्रभावित लोगां को उपचार के पश्चात छुट्टी दे दी गई। सीएमएचओ ने स्वास्थ्य विभाग के अमले को मौके पर तैनात रहने के निर्देश दिए हैं। प्रभावितों में सरजु लकड़ा, कविता, रोनक, रिया, नीवन, निलेश, अभय, रीतिक, रजन्ती, संजना, अल्का, अफ्रीम, नुटख, रामवंती, अनुराधा, बुटरी, प्रिन्सी, विरेन्द्र, सोनमती, सोनिया शामिल हैं। इस अवसर पर बी.एम.ओ. डॉ. रविशंकर सिंह, डॉ. प्रणव,  दिव्या लोचन, मिथलेश सिंह, संदीप मिश्रा, जय कुमार, सुरेन्द्र, रितेश, ममता, आशा किरण एवं अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।  

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अम्बिकापुर, 24 अप्रैल।
    जिला पंचायत सरगुजा की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी ने बताया है कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में ग्रामीण क्षेत्र के शिक्षक पंचायत संवर्ग कर्मचारियों को वेतन भुगतान हेतु छ: करोड़ रूपए की राशि पुनराबंटित की गई है। उन्होंने बताया है कि अम्बिकापुर, लखनपुर, उदयपुर, लुण्ड्रा, बतौली, सीतापुर एवं मैनपाट जनपद पंचायतों से प्राप्त जानकारी के आधार पर विहित शर्तो के अधीन राशि पुनराबंटित की गई है। 

    जनपद पंचायत अम्बिकापुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 1 करोड़ 53 लाख 48 हजार 896 रूपए की राशि पुनराबंटित की गई है। इसी प्रकार लखनुपर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 92 लाख 22 हजार 385 रूपए, उयदपुर जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 69 लाख 57 हजार 214 रूपए, लुण्ड्रा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 1 करोड़ 14 लाख 41 हजार 362 रूपए, बतौली जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 63 लाख 48 हजार 590 रूपए, सीतापुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 67 लाख 60 हजार रूपए एवं मैनपाट जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को 39 लाख 21 हजार 553 रूपए की राशि पुनराबंटित की गई है।     

    जिला पंचायत की सीईओ ने सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को बताया है कि आबंटन का अग्रिम रूप से आहरण नहीं किया जाएगा। प्रत्येक माह वेतन भुगतान के लिये आवश्यक राशि एजुकेशन पोर्टल में दर्ज शिक्षक पंचायत के सत्यापित डाटा के आधार पर तथा वास्तविक गणना अनुसार ही आहरण किया जाएगा। इस राशि का उपयोग किसी भी प्रकार के एरियर्स के भुगतान हेतु नहीं किया जायेगा। वर्तमान वित्तीय वर्ष के वेतन भुगतान हेतु ही उपयोग किया जाएगा। 

    आहरण, भुगतान एवं पुनराबंटन प्रचलित प्रक्रिया अनुसार किया जाएगा। प्रत्येक माह के 5 तारीख तक व्यय का विवरण प्रेषित करने के निर्देश दिए गए हैं तथा समय-सीमा में वेतन का भुगतान करते हुए पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं।   

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • अम्बिकापुर 24 अप्रैल। लोकसभा निर्वाचन के तहत सरगुजा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत सरगुजा, सूरजपुर एवं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के आठ विधानसभा क्षेत्र प्रेमनगर, भटगांव, प्रतापपुर, रामानुजगंज, सामरी, लुण्ड्रा, अम्बिकापुर एवं सीतापुर में   23 अप्रैल को प्रात: 7 बजे से सायं 5 बजे तक निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं निर्विघ्न मतदान सम्पन्न हुआ।   

    सरगुजा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत सूरजपुर जिले में 710, बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 664 एवं सरगुजा जिले मेंं 778 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए थे। इस प्रकार सरगुजा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के कुल 2 हजार 152 मतदान केन्द्रों में मतदान सम्पन्न हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरगुजा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में औसतन 70.91 प्रतिशत मतदान सम्पन्न हुआ। इस प्रकार सरगुजा संसदीय क्षेत्र के 10 प्रत्याशियों में से अपनी पसंद के प्रत्याशियों के लिए मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। सरगुजा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में सरगुजा जिले में 6 लाख 5 हजार 478 मतदाता, सूरजपुर जिले में 5 लाख 48 हजार 71 मतदाता तथा बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 5 लाख 274 मतदाता हैं। इस प्रकार तीनों जिलों को मिलाकर कुल मतदाताओं की संख्या 16 लाख 53 हजार 823 है।   सायं 5 बजे तक विधानसभा क्षेत्र प्रेमनगर में 70 प्रतिशत मतदान, भटगांव में 65 प्रतिशत, प्रतापपुर में 70 प्रतिशत, रामानुजगंज में 70.20 प्रतिशत, सामरी में 71.40 प्रतिशत, लुण्ड्रा में 75.76 प्रतिशत, अम्बिकापुर में 71.90 प्रतिशत एवं सीतापुर में 74.30 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था।     बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 5 बजे तक कुल 70 प्रतिशत मतदान हुआ। विधानसभा क्षेत्र प्रतापपुर में 71 प्रतिशत, रामानुजगंज में 70 प्रतिशत एवं सामरी में 71 प्रतिशत मतदान हुआ।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • ईवीएम की सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ तैनात 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर, 24 अप्रैल।
    लोकसभा निर्वाचन 2019 के तृतीय चरण का मतदान जिले में 23 अप्रैल 2019 को निर्विघ्न संपन्न हुआ तथा मतदान दलों द्वारा ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट मषीन सहित आज सकुषल वापसी हुई। सरगुजा लोकसभा क्षेत्र के सामान्य प्रेक्षक श्री विभूति पटनायक, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सारांष मिश्रर तथा लोकसभा प्रत्याषियों के प्रतिनिधियों के समक्ष विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-9 लुण्ड्रा, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-10 अम्बिकापुर एवं विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-11 सीतापुर, सभी मतदान केन्द्रों के ईव्हीएम सह व्हीव्हीपेट मशीनों को शासकीय पॉलीटेकनिक कॉलेज स्थित स्ट्रॉंग रूम में सीलबंद किया गया। 

    ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट मषीनों को विधानसभावार बनाये गये स्ट्रांग रूम में सीलबंद करने के पूर्व अधिकारियों एवं प्रत्याषियों के प्रतिनिधियों द्वारा निरीक्षण कर जायजा लिया गया। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री डॉ.सारांष मिश्रर ने बताया कि स्ट्रॉंग रूम में रखे इन ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट मषीनांं को  केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के सुरक्षाकर्मियों द्वारा कड़ी सुरक्षा की जायेगी। उन्होंने बताया कि स्ट्रॉग रूम की निगरानी के लिए पर्याप्त सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं जिसका डिस्पले डिवाईस कक्ष में लगा है। इसके साथ ही प्रत्याषी तथा उनके प्रतिनिधियों की सुविधा के लिए सीसीटीवी कैमरे का डिस्पलेभी मुख्य प्रवेष द्वार के हॉल में स्थापित किया गया है जिससे स्ट्रांग रूम के सामने की स्थिति को देखा जा सकता है। कलेक्टर ने बताया कि स्ट्रांग रूम के आस-पास आवागमन की पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। लेकिन हॉल में लगे सीसीटीवी कैमरे के डिस्पले देखने हेतु सुरक्षा बलों द्वारा संधारित पंजी में प्रविष्टि दर्ज कर प्रवेष कर सकते ह कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकार डॉ सारांष मित्तर ने बताया कि स्ट्रांग रूम में बंद ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपैट मषीनों को मतगणना दिनांक 23 मई 2019 को सामन्य प्रेक्षक एवं प्रत्याषियों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में स्ट्रांग रूम से निकाला जाएगा। ज्ञातब्य है कि सरगुजा लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत सरगुजा, सूरजपुर तथा बलरामपुर-रामानुजगंज जिले आते हैं। लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत कुल 2 हजार 152 मतदान केन्द्र बनाये गये है। सरगुजा लोकसभा क्षेत्र में विभिन्न राजनैतिक दलों के 10 प्रत्याषियों द्वारा चुनाव लड़ा गया।

    स्ट्रांग रूम के सीलिंग के दौरान जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी, अपर कलेक्टर श्री कुलदीप शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री ओम चंदेल, अनुविभागीय दण्डाधिकारी एवं सहायक निर्वाचन अधिकारी श्री अजय त्रिपाठी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नयनतारा सिंह सहित प्रत्याषियों के प्रतिनिधियों एवं अधिकारी उपस्थित थे।

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • महापौर ने लिया जायजा, तालाब को सुंदर बनाने कवायद शुरू
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अंबिकापुर, 24 अप्रैल। 
    नगर के भाथूपारा तालाब को सुंदर बनाने की कवायद शुरू कर दी गई है।काफी दिनों से पेंडिंग इस तालाब के काम को लेकर और तालाब के अस्तित्व को लेकर वहां के रहवासियों द्वारा आवाज उठाई जा रही थी।आज महापौर डॉ अजय तिर्की ने तालाब का जायजा लिया। साथ में निगम के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

    बुधवार को महापौर डॉ अजय तिर्की ने नगर के भाथू पारा तलाब का जायजा लिया। तलाब को लेकर वहां के रहवासियों द्वारा कई बार नगर निगम में आवेदन देकर उसके अस्तित्व को बचाए जाने की मांग की गई थी। रिंग रोड के निर्माण के दौरान निकली मिट्टी तालाब के किनारे डाल देने से तालाब के अस्तित्व को संकट पैदा हो चुका था। जिसे लेकर वहां के रहवासी काफी आक्रोशित भी थे। बरसो पुराने इस तालाब का उपयोग आसपास के लोग करते चले आ रहे हैं,परंतु वर्तमान में गंदे पानी की निकासी नहीं होने के कारण गंदा पानी तालाब में जाने से उसका पानी भी खराब हो चुका है। 

    महापौर ने बताया कि तालाब का जायजा लेते दौरान उक्त तालाब में जिस ओर से गंदा पानी आ रहा है उसे किनारे से दूसरी ओर निकाले जाने के निर्देश दिए गए हैं।उन्होंने कहा कि इस तालाब के सौंदर्यीकरण को लेकर काफी दिनों से वह प्रयासरत थे। चुनाव और रिंग रोड के निर्माण को लेकर तालाब के सौंदर्यीकरण का काम रुका हुआ था।अब चुकी उस ओर रिंग रोड का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और चुनाव भी बीत चुका है तो अब तालाब के सुंदरीकरण का काम शुरू करवाया जाएगा।तालाब में एक ओर घाट का निर्माण करते हुए पेड़ पौधे भी लगाए जाएंगे।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    उदयपुर, 23 अप्रैल।
    सरगुजा लोकसभा के विकास खण्ड उदयपुर अंतर्गत फतेहपुर पोलिंग बूथ में अधिकतर ग्रामीणों ने अभी तक मतदान का बहिष्कार किये हुए है। दोपहर लगभग 12 बजे तक 16 ग्रामीणों ने मतदान किया था। 
    लोगों का विरोध इस बात से है कि परसा कोल ब्लॉक के लिए भूमि अधिग्रहण किए जाने से सम्बंधित सर्वे बगैर ग्रामीणों को विश्वास में लिए और बिना किसी सूचना के किया जा रहा है।खदान के लिए भूमि प्रदान नही किये जाने और सर्वे का विरोध सहित अन्य मुद्दों के संबंध में विगत कुछ दिनों पूर्व कलेक्टर सरगुजा को फतेहपुर एवं हरिहरपुर के ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार करने का ज्ञापन सौंपा हुआ था,परंतु प्रशासन की ओर से ग्रामीणों की मांग के संबंध में कोई सार्थक पहल नहीं किए जाने की वजह से ग्रामीण मतदान नहीं करने का निर्णय लिए।फत्तेपुर पोलिंग में कुल 551 मतदाता है जिनमें 271 पुरुष और 280 महिला मतदाता शामिल है।

    ग्रामीणों से बात करने पर उन्होंने कहा अगर उच्चाधिकारी हमारी मांगों पर विचार करें और सार्थक पहल हो,हम ग्रामीणों से बात करें तो हम मतदान कर सकते है।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • अंबिकापुर, 23 अप्रैल। नगर से लगे दरीमा थाना क्षेत्र के ग्राम करजी मतदान केंद्र में बीती रात ग्रामीणों में घुसकर पीठासीन अधिकारी के साथ मारपीट की। इसकी शिकायत दरिमा थाना में की गई है। पुलिस आज पीठासीन अधिकारी को मुलायजा के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल लेकर पहुंची थी।

    पुलिस ने बताया कि करजी मतदान केंद्र में पीठासीन अधिकारी के रूप में चंद्रशेखर तिवारी को भेजा गया था। मतदान दलों के लिए वहां के सरपंच के कहने पर कुछ ग्रामीण खाना बना रहे थे। इसी बीच खाना ठीक नहीं बनने की बात को लेकर पीठासीन अधिकारी ने ग्रामीणों को कहा। जिस बात पर विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। बाद में रात को ग्रामीणों में घुसकर पीठासीन अधिकारी के साथ मारपीट कर दी। रात को ही इसकी सूचना दरिमा थाना पुलिस को दे दी गई थी। 

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर, 23 अप्रैल।
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ सारांश मित्तर द्वारा लोकसभा निर्वाचन में कर्तव्यस्थ कर्मचारियों के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। 
    जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार उदयपुर विकासखण्ड के प्राथमिक शाला आमाडूगू के सहायक शिक्षक  नैनसाय पैकरा को पीठासीन अधिकारी के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुए 17 मार्च 2019 को सेंट जेवियर्स  हायर सेकेण्डरी स्कूल नवापारा अम्बिकापुर में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया था, किन्तु नैनसाय पैकरा प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे, जिसके कारण जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा श्री पैकरा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसी प्रकार उदयपुर विकासखण्ड के प्राथमिक शाला तिलहरडूगू पारा चकेरी के सहायक शिक्षक  त्रिपाल टोप्पो को मतदान अधिकारी क्रमांक 2 के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुए सेन्ट जोन्स हायर सेकेण्डरी स्कूल अम्बिकापुर में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया थाए किन्तु श्री टोप्पो प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे, जिसके कारण जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा श्री टोप्पो को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। लुण्ड्रा विकासखण्ड के शासकीय माध्यमिक शाला बांसा के प्रधान अध्यापक रतन सिंह को पीठासीन अधिकारी के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुये 17 मार्च को सेन्ट जेवियर्स बीएड कॉलेज में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया था, किन्तु  रतन सिंह के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।  

    मैनपाट विकासखण्ड के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नर्मदापुर के सहायक ग्रेड  सूरज कुमार भगत को मतदान अधिकारी क्रमांक 3 के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुए उर्सूलाईन हिन्दी एवं इंग्लिश मीडियम स्कूल अम्बिकापुर में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया था किन्तु श्री भगत के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। 

    बतौली विकासखण्ड के प्राथमिक शाला सुकरहवा के सहायक शिक्षक  बलदुलार राम को मतदान अधिकारी क्रमांक 2 के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुए 17 मार्च को सेन्ट जेवियर्स बीएड कॉलेज में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया था, किन्तु  बलदुलार राम के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। 

    ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी सुखनंदन बड़ा को पीठासीन अधिकारी के रूप में कर्तव्यस्थ करते हुए  उर्सूलाईन हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम स्कूल अम्बिकापुर में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु निर्देशित किया गया था किन्तु श्री बड़ा के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। 

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • मतदान न करने की चेतावनी
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अम्बिकापुर/बलरामपुर, 23 अप्रैल। 
    सरगुजा संसदीय सीट के बलरामपुर जिला अंतर्गत सामरी विधानसभा के बंदरचुआं पचफेड़ी नाला के पास आज सुबह नक्सलियों ने विस्फोट किया।  हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है फिर भी लोगों में  दहशत का माहौल है।  क्योंकि नक्सलियों ने ग्रामीणों को मतदान नहीं करने की चेतावनी दी थी। सूचना पर सुरक्षा बल मौके पर रवाना हो गए हैं। 

    ग्रामीणों  के अनुसार सुबह लगभग 7 बजे बंदरचुआं सीआरपीएफ कैंप से लगभग 4 किमी दूर पचफेड़ी नाला के पास नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट किया है। ग्रामीणों से इसकी सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है। पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद ही कुछ और स्पष्ट जानकारी मिल पाएगी।

    गौरतलब है कि बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के चुनचुना-पुंदाग क्षेत्र में लंबे समय से नक्सलियों की आमद  होती रही है। इस क्षेत्र में पूर्व में कई बड़ी नक्सल वारदात हो चुकी हैं। पुलिस नक्सली आमद के मद्देनजर लगातार इस क्षेत्र में सर्चिंग करती है। इसके बावजूद नक्सली थोड़ा भी मौका पाते हैं तो कोई ना कोई घटना को अंजाम देकर झारखंड की ओर निकल जाते हैं।
    इस घटना को लेकर सरगुजा रिटर्निंग ऑफिसर सारांश मित्तल ने  बताया कि बंदरचुआं में ब्लास्ट किए जाने की सूचना मिली है, किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। बलरामपुर कलेक्टर के अनुसार ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। सरगुजा रेंज आईजी कैसी अग्रवाल  ने बताया कि मुझे  ब्लास्ट की जानकारी दी गई है, लेकिन इसकी पुष्टि अब तक नहीं हुई है।

     

  •  

Posted Date : 23-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    अम्बिकापुर, 23 अप्रैल। सरगुजा संसदीय क्षेत्र में मंगलवार को तीसरे चरण के मतदान में यहां के युवा,व्यस्क,महिला व बुजर्गों ने मतदान को लेकर काफी उत्साह देखा गया प्रात: 7 बजे से ही सरगुजा के कई मतदान केंद्रों में लंबी -लंबी कतारें दिखी।नए मतदाता चुनाव को लेकर काफी उत्साहित नजर आए। युवाओं ने मतदान के बाद सेल्फी लेते नजर आए। सरगुजा में दोपहर 1बजे तक 46.91प्रतिशत मतदान हो चुका था।गौरतलब है कि सरगुजा संसदीय सीट में मुकाबला भाजपा प्रत्याशी रेणुका सिंह व कांग्रेस प्रत्याशी खेलसाय सिंह के बीच है।

    कैबिनेट मंत्री टीएस सिंह देव ने राजमोहनी देवी कॉलेज में अपने भतीजे आदी व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उत्साहपूर्ण मतदान किया।
    स्कूल शिक्षा मंत्री डॉक्टर प्रेमसाय सिंह प्रतापपुर में मतदान किए।मतदान के पश्चात प्रेमसाय सिंह अपने समर्थकों के साथ सेल्फी खींचाते नजर आए।

    सरगुजा संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी रेणुका सिंह सपरिवार परशुरामपुर बूथ में मतदान किया।
    सरगुजा संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी खेलसाय सिंह ने श्रीनगर स्थित शिवपुर बूथ में लाइन में लगकर मतदान किया।
    -राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने सनावल बूथ में मतदान किया।

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • स्याही मोड़ के पास हादसा,वाहन के परखच्चे उड़े
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    अम्बिकापुर/बलरामपुर, 22 अप्रैल।
    सरगुजा संसदीय क्षेत्र में 23 अप्रैल को होने वाले मतदान को लेकर सोमवार को बलरामपुर से मतदान सामग्री लेकर निकले मतदान दल का स्कार्पियो   बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के वाडफनगर के समीप स्याही मोड़ के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस घटना में 4 लोग घायल हो गए व दो गंभीर रूप से घायल हैं। वाहन में सवार चालक व सामने की ओर बैठा एक मतदान दल कर्मी बुरी तरह से वाहन में फंस गए हैं,जिन्हें निकालने का प्रयास स्थानीय लोगों व पुलिस के द्वारा किया जा रहा है। सामने की ओर बैठे दोनों लोगों के शरीर से काफी रक्तस्राव हो रहा था जिसके कारण दोनों की स्थिति काफी गंभीर बताई जा रही है। समाचार लिखे जाने तक शिक्षक गणेश कुमार की मौत की सूचना है।

    जानकारी के मुताबिक बलरामपुर से सोमवार की सुबह ग्राम करमडीहा में मतदान संपन्न कराने 6 मतदान दल के कर्मी स्कार्पियो   में सवार होकर ग्राम करमडीहा जाने निकले थे। मार्ग में उनकी वाहन अनियंत्रित होकर सड़क किनारे स्थित पेड़ से जा टकराई। दुर्घटना इतनी जबरदस्त थी कि वाहन के सामने का हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। घटना के बाद आसपास के लोगों ने वाहन में सवार 6 में से चार घायलों को बाहर निकाला व इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने संजीवनी के माध्यम से चार घायलों को तत्काल वाड्रफनगर अस्पताल भिजवाया। ग्रामीणों व पुलिस के द्वारा वाहन के सामने की ओर बुरी तरह से फंसे मतदान दल के दो कर्मियों को बाहर निकालाने का प्रयास किया जा रहा था। समाचार लिखे जाने तक घायल मतदान दल के कर्मियों का नाम पता नहीं चल पाया था और ना ही उन्हें बाहर निकाला जा सका था।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • खेल साय और रेणुका के बीच सीधा मुकाबला
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर, 22 अप्रैल
    । सरगुजा संसदीय क्षेत्र में 23 अप्रैल को होने वाले मतदान को लेकर चुनाव प्रचार रविवार की शाम थमने के बाद भाजपा की प्रत्याशी रेणुका सिंह एवं कांग्रेस प्रत्याशी खेल साय सिंह ने डोर टू डोर जाकर अपने-अपने समर्थन में लोगों से वोट देने की अपील की। सरगुजा संसदीय सीट में इस बार भाजपा-कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है।सरगुजा संसदीय क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में इस बार नमक,चना राजनीतिक पार्टियों के लिए बड़ा मुद्दा है।शहरी क्षेत्र में नमक,चना कोई बड़ा मुद्दा नहीं है लेकिन सरगुजा के ग्रामीण क्षेत्र में नमक चना कितना प्रभाव डालेगा आगामी 23 मई को मतगणना के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

    चुनाव प्रचार प्रसार थमने के पूर्व जहां भाजपा नमक चना बंद होने को लेकर कांग्रेस पर हमला करती रही। वहीं कांग्रेस ने इसे एक सिरे से खारिज करते हुए सरासर गलत व भ्रामक प्रचार बताते हुए अपना बचाव किया।कांग्रेस के नेताओं ने पूर्व में हुए कई आम सभा में सरगुजा के लोगों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि गरीबों का नमक चना बंद नहीं होगा।गरीबों को उच्च क्वालिटी का नमक चना उपलब्ध कराएंगे। बरहाल सरगुजा में नमक,चना को लेकर हुई राजनीति काफी गर्म है।सरगुजा के ग्रामीण मतदाता आज होने वाले मतदान में इसका फैसला कर देंगे की नमक,चना का असर कितना है।प्रचार के आखिरी दिन भाजपा-कांग्रेस पार्टियों के प्रत्याशियों के साथ पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी अपने अपने क्षेत्र में डोर टू डोर प्रचार कर अपनी पूरी ताकत झोंक दी। प्रचार थमने के बाद सरगुजा संसदीय सीट से कांग्रेस से प्रत्याशी खेलसाय सिंह ने सरगुजा के कई क्षेत्रों में सघन जनसंपर्क कर अपने पक्ष में मतदान करने की लोगो से अपील किए।भाजपा प्रत्याशी रेणुका सिंह ने भी कई जगह पहुंच अपने पक्ष में वोट डालने की अपील की।

    गौरतलब है कि सरगुजा लोक सभा सीट में छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद इस सीट से भाजपा पार्टी लगातार तीन बार अपना सांसद बनाने में कामयाब रही है। ।2019 के लोकसभा चुनाव में इस बार भाजपा की रेणुका सिंह व कांग्रेस के खेलसाय सिंह के बीच कड़ा व सीधा मुकाबला है।दोनों ही दलों के नेताओं ने अपने-अपने प्रत्याशियों को जिताने पूरी ताकत झोंक दी है।
    सरगुजा लोकसभा में सर्वाधिक गोड़ व कंवर जनजाति के लोग है।इसके अलावा कंवर जनजाति,खैरवार जनजाति,नागेशिया किसान,पंडो,कोरवा मांझी  रजवार समाज ,यादव समाज,पिछड़ा वर्ग में साहू,सोनी,बनिया, अल्पसंख्यक में मुस्लिम,सिख,ईसाई जाति के लोग भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    अम्बिकापुर 22 अप्रैल। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने पिछले विधानसभा चुनाव में बड़े-बड़े वादे करके जनता के वोट ले लिये और सरकार बनते ही जनता के साथ धोखा व छल किया। कर्ज माफी, बिजल बिल हाफ  तथा बेरोजगारी भत्ता जैसे कई वादे पूरे न कर कांग्रेस की सरकार ने अपनी असली नीयत दिखा दी। यह उद्गार भाजपा लोकसभा संयोजक भीमसेन अग्रवाल ने  अम्बिकापुर में शिवाजी चौक पर आयोजित एक सभा में व्यक्त किये। उन्होनें कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव में प्रदेश की आम जनता कांग्रेस को सबक सिखाने के लिये तैयार बैठी है। इस अवसर पर भाजपा लोकसभा सह-संयोजक अनुराग सिंहदेव ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुये कहा कि गरीबों को मिलने वाली चना, अमृत नमक, दाल-भात केन्द्र तथा ईलाज के लिये स्मार्ट कार्ड जैसी महत्वपूर्ण सुविधाओं को बंद करके भूपेश सरकार ने पाप किया है। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष अखिलेश सोनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश प्रगति के पथ पर अग्रसर है सरगुजा को विकास के रथ में आगे रखने के लिये भाजपा ने महिला उम्मीदवार रेणुका सिंह को अवसर दिया है । इस अवसर पर किसान मोर्चा प्रदेश महामंत्री भारत सिंह सिसोदिया ने कहा कि विपक्ष चाहे कितना भी जोर लगा ले, नरेन्द्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनने से नहीं रोक पायेगा। इस अवसर पर लोकसभा विस्तारक गुलाब सिंह चंदेल, तजिन्दर बग्गा, नगर महामंत्री शैलू सिंह, रिंकू वर्मा, संजय गुप्ता बोडा, वीर सोनी, शानू कश्यप, अंशुल श्रीवास्तव, सर्वेश तिवारी, गोलू यादव सहित अन्य भाजपा पदाधिकारी, कार्यकर्ता व आम जनता उपस्थित थी।

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • दो हजार 152 मतदान केन्द्रों के माध्यम से होंगे शामिल
    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर, 22 अप्रैल।
    लोकसभा निर्वाचन के तीसरे चरण के अंतर्गत  सरगुजा लोकसभा क्षेत्र में आगामी 23 मई को मतदान होगा। कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने बताया कि निर्वाचन की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है, सरगुजा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत सरगुजा सूरजपुर तथा बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के 16 लाख 53 हजार 823 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेगें। लोकसभा निर्वाचन के लिए सरगुजा जिले में 778 मतदान केन्द्र स्थापित किए गए हैं। इसी प्रकार सूरजपुर जिले में 710 एवं बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 664 मतदान केन्द्र हैं। इस प्रकार सरगुजा संसदीय क्षेत्र में कुल 2 हजार 152 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। 

    सरगुजा जिले में कुल मतदाताओं की संख्या 6 लाख 5 हजार 478 है। इनमें महिला मतदाताओं की संख्या 3 लाख 3 हजार 847, पुरूष मतदाताओं की संख्या 3 लाख 1 हजार 625 तथा तृतीय लिंग के मतदाताओं की संख्या 6 है। इसी प्रकार सूरजपुर जिले में कुल मतदाताओं की संख्या 5 लाख 48 हजार 71 है। इनमें महिला मतदाताओं की संख्या 2 लाख 73 हजार 62, पुरूष मतदाताओं की संख्या 2 लाख 75 हजार 5 तथा तृतीय लिंग के मतदाताओं की संख्या 4 है तथा बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में कुल मतदाताओं की संख्या 5 लाख 274 है। इनमें महिला मतदाताओं की संख्या 2 लाख 47 हजार 512, पुरूष मतदाताओं की संख्या 2 लाख 52 हजार 762 तथा तृतीय लिंग के मतदाताओं की संख्या 0 है। सरगुजा जिले में सर्विस वोटरों की संख्या 850, बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 328, सूरजपुर जिले में 239 संसदीय क्षेत्र में कुल सर्विस वोटर 1 हजार 417 है। दिव्यांग मतदाता की संख्या 8 हजार 752 एवं ब्रेल ईपिक धारी मतदाताओं की संख्या 1 हजार 10 है। सरगुजा जिले की कुल जनसंख्या 9 लाख 68 हजार 277, सूरजपुर जिले में 9 लाख 15 हजार 51 तथा बलरामपुर जिले में 8 लाख 69 हजार 793 है। 
     

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • लखनपुर, 22 अप्रैल। बीते कुछ दिनों से हो रहे क्षेत्र में बूंदा-बांदी के कारण कृषक वर्ग काफी परेशान एवं चिंतित नजर आने लगे है। किसानो ने बताया कि रवि फसल में गेहूं, मटर, चना, मसूर, सब्जी को काफी हद तक नुकसान होने का अंदेशा लगाया जा रहा है। खेतो में काटे गये फसल गेहूं का तथा खलिहानों तक लाये गये चना, मटर, मसूर, सरसो, दलहनी एवं तिलहनी फसलों में फफूंद लग कर दाना काला पडऩे से बाजार में कम रेट मिलने व फसल बर्वाद होने में किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच गई है।  ग्राम पंचायत केंवरी, बेलदगी, कोरजा, लटोरी, गोरता, नरकालो आस-पास के गांवो के कृषको का कहना है कि यदि ऐसे ही रोज-रोज बेेमौसम बारीश होता रहा तो उमस और भीगने के कारण खेत खलिहानों में कुछ खड़े और काटे गये फसल खराब हो सकते है। फसल को बचाने क्षेत्र के किसान काफी मशक्कत करने जुटे हुये है। कई क्षेत्र में एक दो रोज से आंधी बारीश से फसले को आंशिक क्षति होने की खबर है। 

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    अम्बिकापुर 22 अप्रैल।
    के.आर. टेक्निकल महाविद्यालय अम्बिकापुर इग्नू के अध्ययन केन्द्र में इंडक्शन प्रोग्राम सत्र जनवरी 2019 में कोआर्डिनेटर बिनय कुमार अम्बष्ट एवं सलाहकार तथा विद्यार्थीगण की उपस्थिति में संपन्न किया गया। अपने व्याख्यान में  बिनय अम्बष्ट ने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि अभी के समय में गुणवत्तापूर्ण रोजगार मूलक डिग्री अति आवश्यक है। इग्नू मे प्रवेश प्रक्रिया सरल व कम फीस होने के कारण आर्थिक दृष्टि से कमजोर विद्यार्थी भी आसानी से इग्नू के विभिन्न डिग्री-डिप्लोमा कोर्से कर सकते है। सरगुजा संभाग मे एकमात्र इग्नू स्टडी सेंटर के.आर. टेक्निकल महाविद्यालय है। 

    महाविद्यालय के सलाहकार ने बताया की इग्नू के स्टडी मटेरियल एवं उनके कंटेट तथा वेबसाईट में उपलब्ध विभिन्न जानकारीयों से अवगत कराया तथा स्टडी मटेरियल के स्टैण्डर्ड पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यह विश्वविद्यालय जन-जन का विश्वविद्यालय है इसलिये यहां अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों को लर्नर कहा जाता है और यह जानकारी दी की इग्नू के कोर्सेस, दूसरे विश्वविद्यालय के डिग्री के साथ-साथ या नौकरी पेशा वाले व्यक्ति इग्नू के दूरवर्ती पाठ्यक्रम में प्रवेश लेकर अतिरिक्त डिग्री-डिप्लोमा कर सकते हैं।

     एसटी व एससी वर्ग के विद्यार्थियों को बहुत से कोर्स में नि:शुल्क प्रवेश दिया जाता है तथा इग्नू का प्रवेश प्रक्रिया जनवरी एवं जुलाई दो सत्र में होता है जिसकी परीक्षाएं दिसम्बर एवं जून में होती है। विदित है कि के.आर. टेक्निकल महाविद्यालय अम्बिकापुर में इग्नू के विभिन्न पाठ्यक्रम एम.ए.आर.डी, पीजीडीआरडी, बीए, बीकॉम, बीबीपी,एम समाजशास्त्र, पीजीडीसीजे, पीजीसीसीएल, डीएनएचई, सीईएस, सीएफएन, सीएचआर, सीआईजी,  एमएसडब्ल्यू, सीआईटी, एमएसडब्ल्यू  एवं सर्टिफिकेट प्रोग्राम में छात्रों का पंजीयन होता है।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    लखनपुर 22 अप्रैल। लखनपुर स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गुमगरा कला में डॉक्टरों की भारी कमी है। इसकी वजह से यहां के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

     आलम यह है कि अस्पताल में नर्स और वार्ड बॉय ही मौजूद रहते हैं। इसके कारण रोजाना यहां आने वाले गंभीर मरीजों को तुरंत ही लखनपुर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रेफर कर दिया जाता है। यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां पदस्थ सहायक डॉक्टर कभी-कभी ही स्वास्थ्य केंद्र पहुंचते हैं जबकि मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी का साफ  कहना है कि जो डॉक्टर जहां पदस्थ हैं, वहीं रह कर अपनी ड्यूटी सुनिश्चित करें। एक अन्य डॉक्टर विनोद भार्गव की यहां पोस्टिंग थी, जिसे डॉक्टरों की कमी का हवाला देकर लखनपुर स्वास्थ्य केंद्र में बुला लिया गया। ऐसे में यहां मरीजों का इलाज स्टाफ  नर्स करती हैं।

     ग्रामीणों की मांग है कि, डॉ. विनोद भार्गव को वापस गुमगरा कला स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थापना की जाये, जिससे यहां के लोगों को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल सकेगा। बीएमओ डॉ. पीएस केरकेट्टा अपने डॉक्टरों का बचाव करते हुए बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गुमगरा कला में अभी एक डॉक्टर है। उनको बहुत सारे अन्य काम भी करने पड़ते है जैसे ट्रेनिंग, मीटिंग, फील्ड विजिट जिस कारण हमेशा मरीजों को नहीं देख पाते।

     

  •  



Previous123Next