छत्तीसगढ़ » बलरामपुर

Previous12Next
Date : 29-Mar-2020

घर-घर जाकर किया जा रहा रेडी-टू-ईट पैकेट का वितरण

बलरामपुर, 29 मार्च। नॉवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए जिले के सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों को बंद रखा गया है। आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है, किन्तु आंगनबाड़ी केन्द्र बंद होने के कारण ये सेवायें भी बाधित थी। बच्चों को पूरक पोषण आहार की आवश्यकता है ताकि बच्चों को इस परिस्थिति में दिक्कतों का सामना करना न पड़े और उनका स्वास्थ्यगत समस्याएं न हो। पूरक पोषण आहार की महत्ता को देखते हुए कलेक्टर संजीव कुमार झा के निर्देश पर जिले के समस्त आंगनबाड़ी एवं मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों के 03 से 06 वर्ष आयु वर्ग के सामन्य, मध्यम एवं गंभीर कुपोषित बच्चों को गर्म भोजन के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में 125 ग्राम रेडी-टू-ईट प्रतिदिन के मान से 750 ग्राम रेडी-टू-ईट का पैकेट आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका द्वारा घर-घर जाकर सोशल डिस्टेन्सिंग एवं सभी सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए वितरित किया जा रहा है। साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं द्वारा ग्रामीणों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने हेतु आवश्वक जानकारी दी जा रही है।


Date : 28-Mar-2020

फूलसाय एवं दसरू को मिला नि:शुल्क चावल एवं दाल

बलरामपुर, 28 मार्च। लॉकडाउन की वजह से आम नागरिकों को कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसीलिए शासन द्वारा लिए गए सभी राहत भरे फैसलों को जिले में भी लागू कर आम नागरिकों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा के निर्देशानुसार नागरिकों को राशन, दवाईयां सहित अन्य आवश्यक सामग्रियां उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही श्रमिको के लिए अलग से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है, संकटकालीन स्थिति में श्रमिक इन नम्बरों 9926168168 तथा 9926556090 पर संपर्क कर सहायता प्राप्त कर सकते हैैं।

कलेक्टर ने दिव्यांगों को विशेष सहायता देने की पहल की है, उन्होंने अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देशित किया है कि दिव्यांगों की सहायता को भी प्राथमिकता दें। उन्होंने कण्ट्रोल रूम से मांगे गए सहायता तत्काल उपलब्ध करवाने को कहा है,कलेक्टर संजीव कुमार झा ने जानकारी दी है की बिहान मार्ट के माध्यम से भी लोगो को जरुरत का सामान घर पहुंचाया जा रहा है। विकासखंड राजपुर के ग्राम पंचायत खोखनीया के फूलसाय के 20 किलो अनाज और दाल प्रदान किया गया।, इसी प्रकार विकासखंड कुसमी के सेमरा निवासी दसरू को 5 किलो चावल घर पहुँचाया गया। इसी क्रम में कण्ट्रोल रूम में फोन कर राजेश टोप्पो नामक व्यक्ति ने सहयोग की अपील की थी, उसका भी तत्काल निराकरण कर आर्थिक सहायता दी गई।

 


Date : 27-Mar-2020

किराना व सब्जियों के दाम बढ़े

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रामानुजगंज, 27 मार्च। लॉकडाउन के घोषणा के पहले ही दिन थोक किराना व्यपारियों द्वारा किराना के रोजमर्रा की सामग्री में 30 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी कर दी गई, वहीं खुदरा बिक्री दर में भी वृद्धि हो गई। लॉकडाउन के 1 दिन पहले जहां सरसों तेल 95 रुपए लीटर था, वहीं अब 125 रुपए लीटर बिकने लगा है। आटा दाल सहित अन्य रोजमर्रा के खाद्य सामग्री के दामों मे भी भारी बढ़ोतरी हो गई है जिससे आम उपभोक्ता त्रस्त है।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के 24 घंटे के अंदर किराना के सभी रोजमर्रा के उपयोग में आने वाली खाद्य सामग्री के रेट में थोक व्यापारियों के द्वारा 30 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी कर दी गई जिससे खुदरा बिक्री दर में भी बढ़ोतरी हो गई है। इस ओर प्रशासन गंभीरता से विचार नहीं करता है तो आने वाले समय में खाद्य सामग्री की किल्लत एवं रेट में और बढ़ोतरी की भरपूर संभावना है।सब्जी के थोक मार्केट में भी आलू प्याज की कीमतों में देढ़ गुना वृद्धि हो गई।

कोरेना  पीडि़तों की मदद के लिए उठे हाथ- नगर के कई लोगों के द्वारा कोरेना पीडि़तों के मदद के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष एवं मुख्यमंत्री राहत कोष में राशि भेजी जा रही है। ईरा पब्लिक के संचालक राकेश गुप्ता के द्वारा जहां 25000 रुपए भेजे गए वहीं उनके स्कूल के सभी शिक्षकों के द्वारा अपने 2 दिन का वेतन भी भेजा जा रहा है, वहीं कांग्रेसी नेता कौशल जायसवाल के द्वारा 5000 की सहायता राशि भेजी गई।


Date : 27-Mar-2020

ग्राम पंचायतों में जरूरतमंद परिवारों के लिए राशन व्यवस्था करने के निर्देश

बलरामपुर, 27 मार्च। नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सम्पूर्ण जिला बलरामपुर-रामानुजगंज में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 लागू किया गया है एवं सम्पूर्ण जिले को लॉकडाउन किया गया है। जिसके कारण निर्माण कार्य इत्यादि भी प्रभावित हो रहे हैं। इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी संजीव कुमार झा ने जिले के प्रत्येक ग्राम पंचायत में 2 क्विंटल चावल एवं 25 किलो दाल की व्यवस्था तत्काल ग्राम पंचायत में उपलब्ध कराने के निर्देश दिये  हैं।उन्होंने सब्जी या अन्य अनुशांगिक खाद्य पदार्थों की आवश्यकता पड़े तो मूलभूत की राशि अथवा 14वें वित्त की राशि का सामाजिक निगमित दायित्व मद से जरूरतमंद परिवारों के लिए राशन आचावल, दाल, सब्जी की व्यवस्था करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने अतिआवश्यक समय पर ऐसे परिवारों को नि:शुल्क राशन चावल, दाल, सब्जी भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने को कहा है।


Date : 27-Mar-2020

कलेक्टर ने किसानों से की कृषि कार्य करते समय आवश्यक सावधानी बरतने की अपील

बलरामपुर, 27 मार्च। जिले में लोक स्वास्थ्य एवं लोकहित के दृष्टिगत नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 व उससे जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव हेतु, एक साथ, एक स्थान पर समूहों में एकत्रित/उपस्थित होने परिणामस्वरूप उक्त बीमारी के संभावित खतरे की रोकथाम एवं नियंत्रित करने के लिए बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में किसानों द्वारा फसल कटाई एवं कृषि से संबंधित अन्य कार्य के संबंध में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी संजीव कुमार झा ने दिशा-निर्देश जारी की है। उन्होंने कृषकों से फसल कटाई एवं अन्य कृषि कार्य जिसमें दो या दो अधिक व्यक्तियों/मजदूरों की आवश्यकता पड़ती है, उन कार्यों को करते समय व्यक्तियों/मजदूरों के बीच कम से कम 1-2 मीटर की दूरी रखते हुए कटाई का कार्य करने एवं कार्य में आते-जाते समय निर्धारित दूरी बनाकर चलने, फसल कटाई के दौरान व्यक्तियों/मजदूरों द्वारा नाक, मुंह में कपड़ा, गमछा या मास्क लगाने तथा फसल कटाई के दौरान व्यक्तियों/मजदूरों के द्वारा समय-समय पर अपने हाथ साबुन व पानी से धोने की अपील की है।
 


Date : 27-Mar-2020

पंजीकृत मजदूरों के लिए  हेल्पलाईन नम्बर जारी

बलरामपुर, 27 मार्च। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोना वायरस कोविड-19 एक संक्रामक बीमारी है। जो विश्व के विभिन्न देशों में कुछ ही हफ्तों में महामारी का रूप ले रही ही है। संक्रमण से बचाव हेतु स्वास्थ्यगत् आपातकालीन स्थिति के तहत जिले समस्त क्षेत्र को लॉक डाउन किया गया है। लॉक डाउन से उत्पन्न परिस्थितियों के परिप्रेक्ष्य में संकटापन्न जरूरमंद पंजीकृत श्रमिकों/कर्मकारों को आवश्यकतानुसार तात्कालिक सहायता प्रदान करने हेतु जिला हेल्पलाई नम्बर 99261-68168 एवं 99265-56090 जारी करते हुए श्रमिकों के प्रकरणों को 24 घंटे के भीतर निराकरण करने के लिए कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा की अध्यक्षता में समिति गठित की गई है। गठित समिति में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हरीष एस. को सदस्य, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विजय कुमार कुजूर को सदस्य एवं नोडल अधिकारी तथा सहायक श्रम पदाधिकारी को सदस्य सचिव होंगे। कलेक्टर की अनुपस्थिति समिति की अध्यक्षता जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा की जाएगी।

 


Date : 26-Mar-2020

दवाई दुकान में छापा, सेनिटाइजर व मास्क जब्त

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बलरामपुर, 26 मार्च। भारत सरकार द्वारा नॉवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचने जारी की गई एडवाइजरी का कलेक्टर संजीव कुमार झा के मार्गदर्शन में सख्ती से पालन किया जा रहा है। कलेक्टर ने अनावश्यक तौर पर लोगों को घरों से नही निकलने की अपील की है। इसके साथ ही कलेक्टर ने संक्रमण से बचने के हर सम्भव उपाय करने की हिदायत नागरिकों को दी है। वहीं मुनाफाखोरी के चलते सेनेटाइजर व मास्क को निर्धारित दर से अधिक में बिक्री करने वाले वाड्रफनगर के जितु मेडिकल स्टोर संचालक के विरुद्ध कलेक्टर के मार्गदर्शन में खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्यवाही कर सेनेटाइजर व मास्क को जब्त किया है।

खाद्य एवं औषधि प्रशासन नया रायपुर से हेल्पलाईन पर प्राप्त शिकायत के आधार पर वाड्रफनगर स्थित जीतू मेडिकल स्टोर में मास्क एवं सेनिटाइजर की कालाबाजरी हो रही है। इस पर इंस्पेक्टर विकास दुबे द्वारा छापामार कार्रवाई करते हुए दुकान की तलाशी ली गई।

निरीक्षण के दौरान 35 नग हैण्ड सेनिटाइजर, जिसकी कीमत 155 रूपये 100 मिली बताई गई है, जो निर्धारित दर से अधिक पायी गयी। इसके अतिरिक्त 09 नग मास्क भी प्राप्त हुआ। मेडिकल स्टोर संचालक द्वारा आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा-3 में जारी आदेश का उल्लंघन पाये जाने पर ड्रग इंस्पेक्टर विकास दुबे द्वारा समस्त सामग्री को जब्त कर मेडिकल संचालक के विरूद्ध आवश्यक कार्रवाई हेतु कलेक्टर कार्यालय को प्रतिवेदन प्रस्तुत की है।


Date : 26-Mar-2020

ट्रैक्टर के पहिए के नीचे दबकर मजदूर की मौत

लॉकडाउन के दौरान सरपंच निकलवा रहा था रेत

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बलरामपुर, 26 मार्च। बलरामपुर-रामानुजगंज जिला के चांदो थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम मनोहरनगर में बुधवार की दोपहर रेत लोड ट्रैक्टर की चपेट में आने से एक मजदूर की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मजदूर ट्रैक्टर में चढ़ते समय गिरकर ट्रैक्टर के पहिए के नीचे आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक जिले के ग्राम पंचायत गौतमपुर का सरपंच हरिचरण कच्छप बुधवार की दोपहर खुद के ट्रैक्टर क्रमांक से मनोहरनगर के रिगढ़ी नदी से रेत की ढुलाई करवा रहा था। इस कार्य में ग्राम जोधपुर निवासी 19 वर्षीय जगलु खलखो पिता रामरूप खलखो अपने 4 साथी मजदूरों के साथ काम कर रहा था। नदी से रेत लोड करने के बाद ट्रैक्टर जब घाट चढऩे लगा तो नीचे खड़ा जगलु वाहन में बैठने लगा। इसी दौरान वह फिसल गया और ट्रैक्टर के पहिए के नीचे आ गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।


Date : 26-Mar-2020

लॉकडाउन के चलते मंदिरों में छाया रहा सन्नाटा, नहीं पहुंचे श्रद्धालु

परमिशन की आस में थाने के बाहर घंटों खड़ा रहा दूल्हा, वापस हुई बारात

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रामानुजगंज, 26 मार्च। रामानुजगंज के वार्ड 9 में स्थित मां महामाया मंदिर में नवरात्र के पहले दिन लॉकडाउन के चलते आज इक्का दुक्का श्रद्धालु ही पूजा-अर्चना करने पहुंचे। वहीं पहाड़ी माई मंदिर में भी श्रद्धालु पूजा अर्चना करने नहीं पहुंचे। सुबह आरती के बाद मंदिरों में ताले लगा दिए गए।

लॉकडाउन के बाद पुलिस द्वारा कल बरती गई सख्ती का असर आज देखने को मिला। जो लोग अनावश्यक रूप से इधर-उधर घूम रहे थे एवं भीड़ लगा रहे थे वे आज सडक़ों पर नहीं दिखे। रामानुजगंज के सभी दुकानदारों के द्वारा लॉकडाउन के बाद पूर्णता अपने दुकानों को बंद कर दिया गया है। जिला प्रशासन के दिशा निर्देश के अनुसार निर्धारित समय पर ही किराना दुकान खुल रहे हैं। वहीं दवा दुकान दिन भर खुले रह रहे हैं।

दुकानों के बाहर नगर पंचायत

ने करवाई मार्किंग

 नगर के सभी दवा एवं किराना दुकानों में सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए नगर पंचायत के द्वारा चुने से गोल घेराव एक एक मीटर दूरी पर करवा दिया गया है जहां पर ग्राहक खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर आवश्यक सामग्री ले सकते हैं। वहीं सब्जी बाजार में भी लोगों की भीड़ ज्यादा न हो इसके लिए निर्धारित दूरी पर ही सब्जी बाजार लगाने के लिए आज चुने से मार्किंग कराई गई। नगर पंचायत अध्यक्ष रमन अग्रवाल ने बताया कि सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए शासन से प्राप्त निर्देशों का पालन नगर में किया जा रहा है। साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी संजीव कुमार झा ने कोरेना संक्रमण से पूरी मुस्तैदी से निपटने के लिए हेल्पलाइन नंबर 07831273177, 07831273012 जारी करते हुए जिले वासियों से यह अपील की है कि वे जो भी जरूरत हो राशन, दवाई या अन्य कोई सहायता चाहिए तो वे इस हेल्पलाइन नंबर पर चौबीस घंटे अपनी समस्याओं को दर्ज करा सकते है प्रशासन उनकी त्वरित मदद करेगा।

बुधवार को जहां झारखंड का दूल्हा अपनी दुल्हन के साथ पैदल कन्हर पुल पार कर झारखंड गया था तो आज छत्तीसगढ़ का दूल्हा झारखंड जाने के लिए घंटों वाहन जाने देने की अनुमति की आस में थाने के बाहर खड़ा रहा, परन्तु अनुमति नहीं मिलने के कारण बरात बैरंग छत्तीसगढ़ के रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम चरगड़ वापस हो गया।

पुलिस दिखी मुस्तैद

पुलिस अधीक्षक टी आर कोसीमा के निर्देश पर अंतर्राज्यीय कन्हर बैरियर में जहां पुलिस मुस्तैदी के साथ नाका सील कर दिया गया है वहीं पुलिस की पेट्रोलिंग 24 घंटे हो रही है। पुलिस द्वारा जहां लोगों को लगातार समझाइश दी जा रही है वहीं अनावश्यक रूप से भीड़ इक_ा करने वालों एवं अनावश्यक रूप से घूमने वालों के विरूद्ध सख्ती भी दिखा रही है।

खुले दुकान को किया सील

प्रशासन के बार-बार समझाइश एवं चेतावनी के बाद भी चांदनी चौक में एक दुकान को खोला गया था जिसे तहसीलदार भरत कोशिक सीएमओ सुमित मेहता के द्वारा सील कर दिया गया।


Date : 26-Mar-2020

लॉक डाउन के दौरान राशन, दवाईयां एवं कोई अन्य सहायता के लिए करें संपर्क-कलेक्टर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बलरामपुर, 26 मार्च। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोना वायरस (कोविड-19) एक संक्रामक बीमारी है। जो विश्व के विभिन्न देशों में कुछ ही हफ्तों में महामारी का रूप ले रही ही है। संक्रमण से बचाव हेतु स्वास्थ्यगत् आपातकालीन स्थिति के तहत् जिले समस्त क्षेत्र को लॉक डाउन किया गया है। लॉक डाउन की स्थिति में जिला स्तर पर कोरोना कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है, जिसका दूरभाष क्रमांक 07831-273012 एवं 07831-273177 है।

कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु जिला प्रशासन ने कुछ कड़े एवं महत्वपूर्ण फैसले लिये गये हैं, जिसमें लॉकडाऊन तथा कफ्र्यू शामिल है। नागरिको से इन निर्देशों का पालन करने की अपील प्रशासन द्वारा की गई है क्योंकि इन फैसलों का सीधा सरोकार जनता के स्वास्थ्य से है। नागरिकों को इस दौरान कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिला प्रशासन ने नागरिको की सहायता के लिए हेल्पलाईन नंबर जारी किया है, जिसमें कोरोना वायरस से बचाव, लक्षण, सावधानियां, जांच तथा उपचार की जानकारियों के साथ ही लॉक डाउन के दौरान राशन, दवाईयां एवं कोई अन्य आपात सहायता के लिए संपर्क किया जा सकता है।

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने बताया कि प्रशासन की पूरी टीम नागरिको के सहयोग हेतु समर्पित भाव से कार्य कर रही है इसीलिए नागरिक भी शासन के निर्देशों का अक्षरश: पालन कर  दायित्व का निर्वहन करें। कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु जिला प्रशासन ने कुछ कड़े एवं महत्वपूर्ण फैसले लिए है जिसमें लॉक डाऊन तथा कफ्र्यू शामिल है। नागरिको से इन निर्देशों का पालन करने की अपील प्रशासन द्वारा की गई है क्योंकि इन फैसलों का सीधा सरोकार जनता के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा से है। कोरोना वायरस से बचाव, लक्षण, सावधानियां, जांच तथा उपचार की जानकारियों के साथ ही लॉकडाउन के दौरान राशन, दवाईयां एवं कोई अन्य आपात सहायता के लिए कोरोना कंट्रोल रूम में संपर्क किया जा सकता है।

 कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने बताया कि प्रशासन की पूरी टीम नागरिको के सहयोग हेतु समर्पित भाव से कार्य कर रही है इसीलिए नागरिक भी शासन के निर्देशों का अक्षरश: पालन कर दायित्व का निर्वहन करें। कलेक्टर ने कंट्रोल रूम में संपर्क करने वाले नागरिको को तत्काल सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए है।

कंट्रोल रूम लगाई गई कर्मचारियों की ड्यूटी

कलेक्टर संजीव कुमार झा ने कोरोना कंट्रोल रूम के सुचारू रूप से संचालन हेतु प्रात: 8 बजे से सायंकाल 4 बजे तक डाटा एन्ट्री ऑपरेटर विकास सिंह परिहार, मोबाईल नम्बर 084618-30007 एवं फर्राश राजेन्द्र किस्पोट्टा, सायंकाल 4.00 बजे से रात्रि 8.00 बजे तक डॉटा एन्ट्री ऑपरेटर राय सिंह, मोबाईल नम्बर 082259-17820 एवं चैकीदार श्री जगजीवन राम तथा रात्रि 12.00 बजे से प्रात: 8 बजे तक सहायक ग्रेड-03 श्री मोहन सिंह, मोबाईल नम्बर 075664-82151 एवं चैकीदार श्री उदय गुप्ता की ड्यूटी लगाई है।


Date : 26-Mar-2020

एक्टिव सर्विलेंस हेतु ग्राम स्तरीय समिति गठित

बलरामपुर, 26 मार्च। नॉवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु एक्टिव संर्विलेंस के लिए कलेक्टर संजीव कुमार झा ने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हरीष एस. को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। होम क्वारोन्टाइन व्यक्ति एवं समीपस्थ घरों में एक्टिव सर्विलेंस हेतु ग्राम स्तरीय समिति गठित कर अधिकारियों-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाते हेतु प्रतिदिन इसकी जानकारी निर्धारित प्रपत्र में राज्य सर्विलेंस सेल को भेजने हेतु आदेशित किया है। ग्राम स्तरीय समिति में सर्व मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को सहायक नोडल अधिकारी एवं क्षेत्र के संबंधित पटवारी, संबंधित ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजन, रोजगार सहायक, सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानित एवं कोटवार को सदस्य बनाया गया है।

 


Date : 24-Mar-2020

जिला के समस्त सीमाक्षेत्र में 31 मार्च तक पूर्णत: तालाबंदी

बलरामपुर, 24 मार्च। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी संजीव कुमार झा ने आदेश जारी कर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के समस्त सीमाक्षेत्र में 31 मार्च तक पूर्णत: तालाबंदी (लॉक डाउन) करने का आदेश जारी किया है। आदेश में उल्लेखित है कि कोरोना वायरस (कोविड-19) एक संक्रामक बीमारी है। इस बीमारी से भारत समेत पूरे विश्व के देशों के लिए खतरा उत्पन्न हो गया है। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह तथ्य परिलक्षित है कि कोरोना वायरस (कोविड-19) के सम्पर्क से पीडि़त, संदेही से दूर रहने की सख्त हिदायत है। छत्तीसगढ़ शासन के द्वारा यह निर्देशित किया गया है कि इससे बचने के सभी संभावित उपाय अमल में लाया जाए। अत: कोविड-19 के संभाव्य प्रसार को देखते हुए इसके प्रसार रोकने के लिए कड़े सामाजिक अलगाव के उपयोग को अपनाना उचित एवं आवश्यक हो गया है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा इस संबंध में आदेश प्रसारित किए गए हैं।
महामारी रोग अधिनियम 1897 के संदर्भ में शासन द्वारा जारी पत्र  अंतर्गत दिए गए शक्तियों का प्रयोग करते हुए जिला बलरामपुर-रामानुजगंज के समस्त सीमा क्षेत्र के अंतर्गत संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्यगत् आपातकालीन स्थिति को नियंत्रण में रखने हेतु दिनांक 31 मार्च 2020 रात्रि 12.00 बजे तक पूर्णता तालाबंदी (लॉक डाउन) की जाती है एवं इस क्रम में बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के समस्त सीमा क्षेत्र के अंतर्गत निम्नांकित गतिविधियों पर तत्काल प्रभाव से दिनांक 31 मार्च 2020 रात्रि 12.00 बजे तक रोक लगाई जाती है। यह भी आदेशित किया जाता है कि जिले के समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय, अशासकीय कार्यालयों को तत्काल प्रभाव से बंद किया जाता है। सभी पदाधिकारी तथा कर्मी अपने घर से सरकारी कार्यो का निष्पादन करेंगे, परन्तु वे मुख्यालय का परित्याग नहीं करेंगे, आवश्यकता पडऩे पर कार्यालय प्रमुख उन्हें कार्यालय में बुला सकेंगे।
जिले में समस्त सार्वजनिक परिवहन सेवायें, जिसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो-रिक्शा, बसें, रिक्शा, ई-रिक्शा इत्यादि भी शामिल हैं के परिचालन को तत्काल प्रभाव से बंद किया जाता है। केवल इमरजेंसी मेडिकल सेवा वाले व्यक्तियों को वाहन द्वारा आवागमन की अनुमति रहेगी। ऐसी निजी वाहन जो इस आदेश के अंतर्गत आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं के उत्पादन एवं उनके परिवहन का कार्य कर रहे हों, उन्हें भी अपवादिक स्थिति में तात्कालिक आवश्यकताओं को देखते हुए परिवहन की छूट रहेगी।

 आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के आवागमन को छोड़कर जिले के सभी सीमाओं को एतद् द्वारा सील किया जाता है। किसी भी माध्यम (सड़क, रेल एवं अन्य माध्यम) से जिले में बाहरी लोगों के आवागमन को तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाता है।

अन्तर जिला बस के परिवहन को भी तत्काल प्रभाव से बंद किया जाता है। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में निवासरत् नागरिकों को भी जिले के सीमा से बाहर जाने पर प्रतिबंधित किया गया है।

सभी दूकानें, व्यवसायिक प्रतिष्ठान, कार्यालय, फैक्ट्री, गोदाम, साप्ताहिक हाट-बाजार आदि अपनी सम्पूर्ण गतिविधियों को बंद रखेंगी। जिले के अंतर्गत स्थित औद्योगिक/व्यापारिक संस्थानों को निम्न परिस्थितियों के अंतर्गत छूट रहेगी, ऐसी औद्योगिक इकाईयां जो दवाईयों के उत्पादन एवं निर्माण से संबंधित हैं उनको इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। ऐसी इकाईयां जो आवश्यक वस्तुओं जैसे- खाद्य एवं खाद्य से संबंधित पदार्थो, डेयरी यूनिट इत्यादि से संबंधित है, उन्हें भी इस प्रतिबंध से छूट रहेगी। ऐसी इकाईयां जिन्हें उक्त प्रतिबंध से छूट प्रदान की जा रही है उनके लिए आवश्यक होगा कि वे न्यूनतम अनिवार्य आवश्यकता तक ही कर्मचारियों/अधिकारियों को उपयोग करेगी एवं संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य शासन तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों के द्वारा महामारी से सुरक्षा हेतु दिए जा रहे निर्देशों का अक्षरश: पालन अनिवार्य रूप से करेंगी। इन इकाईयों के प्रबंधन द्वारा कर्मचारियों के सामूहिक आवागमन हेतु वाहन व्यवस्था किसी भी स्थिति में उपलब्ध नहीं कराया जावेगा। सभी प्रकार के निर्माण एवं श्रम कार्य (सिर्फ मनरेगा को छोड़कर) तत्काल प्रभाव से स्थगित किया गया है। सभी धार्मिक, सांस्कृतिक एवं पर्यटन स्थल आम जनता के लिए पूर्णत: बंद रहेंगे। विदेश से आने वाले सभी नागरिक/अन्य राज्यों से आए हुए नागरिक जो होम क्वारेंटाइन की निगरानी में रखे गए हैं, उन्हें यह निर्देशित किया जाता है कि वे स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा निर्धारित क्वारेंटाइन की अवधि का कड़ाई से पालन करेंगे। इसमें किसी प्रकार की चूक होने पर उनके विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के धारा 188 के तहत कार्यवाही की जावेगी, जिसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार होंगे।

सभी नागरिक अपने घर में ही रहेंगे, बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के क्रम में बाहर जाने पर सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का अनुपालन करेंगे। किसी भी स्थिति में एक से अधिक व्यक्तियों (इसमें ड्रायवर भी शामिल है) को घर से बाहर जाने से प्रतिबंधित किया जाता है। घर से बाहर जाने की स्थिति में प्रत्येक व्यक्ति को अनिवार्यत: अपना वैध पहचान पत्र साथ में रखना होगा।

आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले निम्नलिखित कार्यालय/प्रतिष्ठान को उपरोक्त प्रतिबंधों से बाहर रखा जाता है। पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक, कोषालय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय एवं उनके अधीनस्थ समस्त कार्यालय, अनुविभागीय दण्डाधिकारी, तहसील, थाना एवं चैकी, ये सभी कार्यालय आम जनता के लिए बंद रहेंगे। 

भारत के अधीनस्थ केन्द्रीय कार्यालय, कानून व्यवस्था एवं स्वास्थ्य सेवा से संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मी, स्वास्थ्य सेवायें (जिसके अंतर्गत सभी अस्पताल, मेडिकल कालेज, लायसेंस प्राप्त पंजीकृत क्लीनिक भी शामिल है), दवा दुकान, चश्मे की दूकान एवं दवा उत्पादन की इकाई एवं संबंधित परिवहन, खाद्य आपूर्ति से संबंधित परिवहन सेवायें, उचित मूल्य की दुकान (सार्वजनिक वितरण प्रणाली), खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, दूध, ब्रेड, फल एवं सब्जी चिकन, मटन, मछली एवं अंडा के विक्रय/वितरण/भंडारण/परिवहन की गतिविधियां, दुग्ध संयंत्र (मिल्क प्लांट), घर पर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता एवं न्यूज पेपर हॉकर प्रात: 6:30 बजे से 9:30 बजे तक लॉकडाउन से मुक्त रहेंगे। मास्क, सेनेटाईजर, दवाईयां, ए.टी.एम. वाहन, एल.पी.जी. गैस सिलिंडर का वाहन एवं अन्य आवश्यक वस्तुयें/सेवायें, जो इस आदेश में उल्लेखित हो, को परिवहन करने वाले वाहन, बिजली, पेयजलापूर्ति एवं नगरपालिका सेवायें, जेल, अग्निशमन सेवायें, ए.टी.एम., टेलीकॉम/इंटरनेट सेवायें/आई.टी. आधारित सेवायें, मोबाईल रिचार्ज एवं सर्विसेस दुकाने, पेट्रोल/डीजल पंप एवं एल.पी.जी. गैस के परिवहन एवं भंडारण की गतिविधियां, पशु चारा, पोस्टल सेवायें, खाद्य, दवा एवं चिकित्सा उपकरण सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की ई-कामर्स आपूर्ति, टेक अवे/होम डिलीवरी रेस्टोरेंट/पूर्व से विभिन्न होटलों में रूके हुए अतिथियों के लिए डायनिंग सेवायें, सुरक्षा कार्य में लगी सभी एजेंसियां (निजी एजेंसियों सहित), अनवरत उत्पादन प्रक्रिया अपनाने वाले औद्योगिक संस्थान अथवा फैक्ट्री (जिसमें ब्लास्ट फर्नेश, बायलर आदि हों), सीमेंट, स्टील, शक्कर, फर्टिलाईजर एवं खान (माईन्स)-ये सभी संस्थान न्यूनतम अनिवार्य आवश्यकता तक ही कर्मचारियों/अधिकारियों का उपयोग करेंगे एवं संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य शासन तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों के द्वारा महामारी से सुरक्षा हेतु दिए जा रहे निर्देशों का अक्षरश: पालन अनिवार्य रूप से करेंगे। प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया, राज्य सरकार द्वारा विशेष आदेश से निर्धारित कोई सेवा। 

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के सीमा क्षेत्र में स्थित समस्त शासकीय एवं अशासकीय बैंकों के लिए निर्देश जारी किये गए हैं। सभी बैंक अपने संस्थान में न्यूनतम अनिवार्य आवश्यकता तक ही कर्मचारियों/अधिकारियों का उपयोग करेंगे एवं संक्रमण विस्तार को दृष्टिगत रखते हुए भारत सरकार, राज्य शासन तथा समय-समय पर अन्य संस्थानों के द्वारा महामारी से सुरक्षा हेतु दिए जा रहे निर्देशों का अक्षरश: पालन अनिवार्य रूप से करेंगे। सभी बैंक अपने संस्थान में एक समय में अधिकतम पांच ग्राहकों को ही प्रवेश देंगे। बैंक द्वारा संचालित ए.टी.एम. में पर्याप्त मात्रा में मुद्रा की उपलब्धता बैंक प्रबंधन द्वारा सुनिश्चित की जावेगी। 

निजी प्रतिष्ठान, जो वर्णित गतिविधियों के लिए वांछनीय है एवं कोविड-19 के रोकथाम के प्रयासों से संबंधित है, खुले रहेगें। ऐसे सभी प्रतिष्ठान निर्धारित स्वास्थ्य मानकों का अनुपालन सुनिश्चित करेंगे। अगर किसी व्यक्ति को अपरिहार्य स्थिति में जिले से बाहर जाना आवश्यक हो या बाहर से जिले में प्रवेश करना आवश्यक हो तो संबंधित थाना क्षेत्र से निर्धारित फार्मेट में आवेदन जमा करने पर अनुमति दी जा सकेगी। उपर्युक्त आदेश के उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/प्रतिष्ठान, भारतीय दंड संहिता, 1860 के धारा 188 के तहत् दण्डनीय होंगे। उपर्युक्त वर्णित गतिविधियो में संशय होने पर जिला दण्डाधिकारी का निर्णय अंतिम होगा। 


Date : 24-Mar-2020

जिला कांग्रेस कमेटी बलरामपुर ने कहा- छत्तीसगढ़ सरकार के राहत भरे फैसले

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बलरामपुर/राजपुर, 24 मार्च।
जिला कांग्रेस कमेटी बलरामपुर के अध्यक्ष राजेंद्र तिवारी एवं प्रवक्ता सुनील सिंह ने कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए जिले के नागरिकों को घर में रहने की अपील की है और कहा है कि इस कठिन घड़ी में समूचे देश में परिस्थितियों अत्यंत विषम है। 

राज्य शासन द्वारा कोरोना वाइरस का फैलाव रोकने के लिये युद्धस्तर पर किये जा रहे प्रयासों के साथ आम जनता की सहूलियत का भी पूरी सम्वेदनशीलता से ध्यान रखा गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर आम जनता के लिए अनेक कल्याणकारी फैसले लागू किये गए हैं। इन फैसलों से गरीबों, स्कूली बच्चों, आम नागरिकों और व्यापारी वर्ग सहित सभी लोगों को 31 मार्च तक लॉक डाउन के दौरान बड़ी राहत मिलेगी। ऐसी दशा में राज्य शासन द्वारा दिए गए गाइडलाइन या दिशा-निर्देशों का हर नागरिक को पालन करना है, बलरामपुर रामानुजगंज जिला स्तर पर जिले के कलेक्टर द्वारा जारी की गई हर आदेश का पालन करना भी हर नागरिक का कर्तव्य है अपने घरों से निकलना सबसे पहला बचाव है।

परिस्थितियों को देखते हुए राज्य के नागरिकों के साथ साथ जिले के नागरिकों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के राशनकार्डधारकों को अप्रैल एवं मई माह 2020 का चावल का एकमुश्त वितरण करने का निर्णय लिया है। इसके लिए खाद्य विभाग द्वारा आबंटन जारी करते हुए अंत्योदय, प्राथमिकता और अन्नपूर्णा श्रेणी के राशनकार्ड धारकों को माह अप्रैल एवं मई 2020 के चांवल के साथ नमक और शक्कर का भी एकमुश्त वितरण माह अप्रैल 2020 में करने के निर्देश जारी किए गए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर अवकाश अवधि में स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन दिए जाने का निर्णय लिया गया है। इस योजना में मध्यान्ह भोजन हेतु 40 दिन का सूखा दाल और चावल बच्चों के पालकों को स्कूल से प्रदाय किया जाएगा। प्राथमिक शाला के प्रत्येक बच्चे को 4 किलोग्राम चावल और 800 ग्राम दाल तथा उच्चतर माध्यमिक शाला के प्रत्येक बच्चे को 6 किलोग्राम चावल और 1200 ग्राम दाल दी जाएगी।आंगनबाड़ी केन्द्र के बच्चों के लिए टेक होम राशन वितरण के निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी और मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों को 31 मार्च 2020 तक बंद किया है। राज्य सरकार ने इस अवधि में 03 से 06 वर्ष आयु के समान्य, मध्यम और गंभीर कुपोषित बच्चों को गर्म भोजन के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में 125 ग्राम रेडी टू ईट प्रतिदिन के मान से 750 ग्राम टेक होम राशन (रेडी टू ईट)का अनिवार्य रूप से वितरण के निर्देश दिए हैं । शेष हितग्राहियों को भी पात्रता अनुसार रेडी-टू-ईट का वितरण यथावत जारी रहेगा। 

प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में अनुज्ञा, परमिट, लायसेंस इत्यादि नवीनीकरण कराने की समय-सीमा एक माह की वृद्धि की गई है।राजस्व न्यायालयों में प्रकरणों की पेशी एक अप्रैल या उसके पश्चात रखने के निर्देश दिए गए हैं।वाणिज्यिक कर (पंजीयन) विभाग ने छत्तीसगढ़ बाजार मूल्य की पुनरीक्षित दरें जो एक अप्रैल से लागू होती है, उसे एक माह बढ़ाकर अब एक मई कर दिया है। पंजीयन कार्यालयों में मार्च के माह में होने वाली भीड़ की समस्या को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय किया गया है। प्रदेश के नगरीय निकायों में सम्पत्ति कर जमा करने की अंतिम तिथि 31 मार्च को बढ़ाकर अब 30 अप्रैल तक कर दिया गया है।कोरोना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम के उपायों के तहत छत्तीसगढ़ सरकार ने अल्कोहल आधारित हैण्ड सैनिटाईजर (हैण्ड रब सॉल्यूशन) के औद्योगिक निर्माण के लिए दो डिस्टिलरी को लाइसेंस दिया है।कोरोना के उपचार में लगे स्वास्थ्य विभाग के अमले को विशेष भत्ता देने का फैसला।

राज्य के सभी निजी संस्थानों, कारखानों, अस्पतालों, मॉल, रेस्टोरेंट आदि के नियोजकों से मानवीय संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए श्रमिकों एवं कर्मचारियों की छंटनी नहीं किए जाने और कोरोना वायरस (कोविड-19) से पीडि़त होने या अन्य कारणों से बीमार होने पर संवैतनिक अवकाश प्रदान करने के साथ ही आवश्यकता पडऩे पर उनसे घरों से भी कार्य लिए जाने के निर्देश दिए हैं।निम्नदाब उपभोक्ताओं की मीटर रीडिंग -बिलिंग पर 31 मार्च तक रोक, 'हाफ रेट पर बिजली योजनाÓÓ के तहत् मिलेगा एक मुश्त दो माह का लाभ।छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम के लिए जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र तिवारी, एवं प्रवक्ता सुनील सिंह ने आभार व्यक्त किया है।


Date : 23-Mar-2020

कोरोना का कहर, सरहद लॉकडाउन

बलरामपुर, 23 मार्च। कोरोना वायरस की कहर को देखते हुए बलरामपुर जिला में स्थित छत्तीसगढ़ राज्य की अंतिम छोर और उत्तर प्रदेश की बॉर्डर धनवार बैरियर को पूरी तरह से लॉक डाउन कर दिया गया है। धनवार बैरियर बार्डर में चेक पोस्ट भी लगाया गया है। इमरजेंसी वाले को चेक करके ही आने जाने दिया जा रहा है। आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।  धनवार बार्डर में वाड्रफनगर हास्पिटल के स्टाप कोरोना वायरस चेक करने के लिए लगे हुए हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ शासन के आदेश पर बलरामपुर जिला कलेक्टर के निर्देशानुसार वाड्रफनगर ब्लॉक के एस. डी. एम.ज्योति बबली बैरागी एस. डी. ओ. पी. धुर्वेश जायसवाल और वाड्रफनगर के तहसीलदार रामराज सिंह और उनके स्टाप सरहद धनवार बैरियर में सतत निगरानी में लगे हुए हैं। धनवार बैरियर पूरी तरह से लॉक डाउन के लिए इन सब की बहुत ही अहम भूमिका देखी जा रही है। छत्तीसगढ़ राज्य को कोरोना वायरस के बचाव के लिए अधिकारी एवं कर्मचारी भी धनवार बार्डर में कोरोना वायरस की वजह से बार्डर लॉक डाउन होने पर पहरा दे रहे हैं ।

 


Date : 23-Mar-2020

रेडी-टू-ईट पैकेट का टेक होम राशन वितरण 

बलरामपुर, 23 मार्च। नॉवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) एक संक्रामक बीमारी है। वर्तमान में पूरे विश्व में महामारी का रूप ले रही है।जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग ने जिले के समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों एवं मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रों के 03 से 06 वर्ष आयु वर्ग के सामन्य, मध्यम एवं गंभीर कुपोषित बच्चों को गर्म भोजन के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में 125 ग्राम रेडी-टू-ईट प्रतिदिन के मान से 750 ग्राम रेडी-टू-ईट के पैकेट टेक होम राशन का अनिवार्य से वितरण कराना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने शेष हितग्रायों को पात्रतानुसार रेडी-टू-ईट का वितरण यथावत् जारी रखने को कहा है।

 


Date : 21-Mar-2020

बलरामपुर में 4 लोग होम आइसोलेशन में सभी प्रशासन की निगरानी में 

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
राजपुर, 21 मार्च।
पूरे देश में इस समय कोरोना का कहर छाया है। शासन प्रशासन इसकी रोकथाम के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है और लोगो को जागरूक भी कर रही है। कोई भी व्यक्ति उसे लगता है कि वह इस वायरस का लक्षण उसमें दिखाई दे रही है तो तत्काल प्रशासनिक अधिकारियों की देख रेख में उसे चिकित्सा मुहैया उपलब्ध कराई जा रही है। इसी तारतम्य में शनिवार को राजपुर ब्लाक मुख्यालय के 2 गावों में बाहर से आये व्यक्तियों को एहतियातन तौर पर उनको होम आइसोलेशन की सलाह दी गई है।

एक युवती जो मुम्बई में रहकर एक मिशनरी संस्थान में कुक का काम करती है। गत 17 मार्च को वह अपने गांव पहुंचीं, जिसके बाद उसे शनिवार को सिर चकराने बुखार एवं सर्दी खांसी की शिकायत होने लगी। जब इसकी जानकारी ग्राम सचिव को लगी तो उन्होंने इसकी जानकारी अपने उच्च अधिकारियों को दी जिसके बाद डॉक्टरों की टीम वहां पहुंचकर उसकी जांच की। डॉक्टरों ने उसके पूरी परिवार को अभी निगरानी में रख कर उन्हें पूरे परिवार सहित घर पर ही रहने की सलाह दी है।

वहीं एक अन्य मामले में दूसरे जगहों से आये तीन लोगों को होम आइसोलेशन की सलाह दी गई ही। बताया जा रहा है कि ग्राम में दो व्यक्ति अभी कुछ दिन पहले बाहर से गांव में आये है और उन्हें सर्दी खाँसी व बुखार की समस्या हो रही थी। वहीं एक व्यक्ति जो कि एक ट्रेवल्स का बस चालक है उसे भी कुछ इसी तरह की शिकायत होने पर चिकित्सकों की टीम वहाँ पहुंचकर उनको होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है।


Date : 19-Mar-2020

लोक सेवा केन्द्र के 6 ऑपरेटरों की आईडी बन्द

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बलरामपुर, 19 मार्च।
लोक सेवा केन्द्र/च्वाईस सेंटर/सीएससी ऑपरेटर को प्रदत्त ई-डिस्ट्रिक्ट आईडी द्वारा विभिन्न प्रकार की सेवाएं ऑनलाईन दी जा रही है। ऑपरेटरों द्वारा आवेदनों को पूर्ण रूप से न भरने, संलग्न दस्तावेज अपूर्ण तथा स्केनिंग की गुणवत्ता निम्न स्तर के होने की सूचना प्राप्त हो रही थी। इस संबंध में कलेक्टर संजीव कुमार झा के निर्देशानुसार 06  मार्च एवं 7 मार्च को संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में ऑपरेटरों को सभी ऑनलाईन सेवाओं की तकनीकी जानकारी देने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया था। 

कलेक्टर संजीव कुमार झा के निर्देशानुसार अत्याधिक आवेदनों के निरस्त एवं वापसी तथा कार्यशाला में अनुपस्थित होने के कारण च्वाईस सेन्टर राजपुर के ऑपरेटर श्री सतनाम,दीपक कुमार सोनी एवं गणेश प्रसाद, कॉमन सर्विस सेन्टर रामानुजगंज के ऑपरेटर दिलकश अंसारी, वाड्रफनगर के इम्तियाज अहमद एवं अफसाना परवीन की आईडी को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है।

कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने कहा कि लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से नागरिकों को महत्वपूर्ण ऑनलाईन सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। जाति, आय, निवास व जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, नक्शा-खसरा जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेज इन्ही केन्द्रों के माध्यम से बनाये जाते हैं। उन्होंने कहा कि कई ऑपरेटर नियमानुसार कार्य नहीं कर रहे थे तथा समय-सीमा में कार्य पूर्ण न करना, आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड न करना, वापसी व निरस्त आवेदनों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही थी। निर्धारित समय में वापस भेजे गये आवेदनों को पुन: संशोधन न करना भी इनके कार्य में लापरवाही को दिखाता है। ई-जिला प्रबंधक चिप्स देवेश्वर कश्यप ने बताया कि जिन 06  ऑपरेटरों की आईडी बंद कर दी गई है वे आगे भी अपनी सेवाएं नहीं दे पाएंगे तथा अन्य लोक सेवा केन्द्रों के ऑपरेटरों को भी निर्देशित किया गया है कि कार्य में किसी प्रकार की अनियमितता न बरतें।

 


Date : 19-Mar-2020

अधिसूचना के संबंध में दावा आपत्ति 3 तक 

बलरामपुर, 19 मार्च। सहकारिता विभाग छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार प्राथमिक कृषि साख सहकारी सोसाईटियों को पुनर्गठित करने के लिए प्राथमिक कृषि साख सहकारी सोसाइटियों की पुनर्गठन योजना 2019 जारी की गई थी। सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं बलरामपुर ने जानकारी दी है कि जिले में सोसाइटियों का पुनर्गठन हेतु जारी अधिसूचना के संबंध में दावा आपत्ति आमंत्रित करने हेतु अधिसूचनाओं की प्रति सोसाईटी कार्यालयों, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित अम्बिकापुर के मुख्यालय एवं जिले में स्थित समस्त शाखाओं तथा कार्यालय सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं बलरामपुर के सूचना पटल पर चस्पा कर दी गई है। 

सोसाइटियों के पुनर्गठन संबंधी प्रस्ताव पर प्रभावित व परिणामी सोसाइटी के सदस्यों, सोसाइटियों एवं बैंक शाखाओं तथा अन्य द्वारा दावा-आपत्ति सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं बलरामपुर के समक्ष तीन प्रतियों में 03 अप्रैल 2020 तक प्रस्तुत कर सकते हैं।


Date : 18-Mar-2020

24 घंटे उपलब्ध रहेंगे चिकित्सक

बलरामपुर, 18  मार्च। कोरोना वायरस के बचाव एवं रोकथाम हेतु मरीजों के सहयोग हेतु जिला सर्विलेंस ईकाई बलरामपुर में हेल्पडेस्क की स्थापना की गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जानकारी दी है कि हेल्पडेस्क एवं मरीजों की सहायता के लिए डॉक्टरों सहित निम्न अधिकारियों-कर्मचारियो की ड्यूटी लगाई गई है, जो 24 घंटे सातों दिन अपनी सेवाएं देंगे। जारी आदेशानुसार जिला सर्विलेंस अधिकारी डॉ. अरूण कुमार, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. रवि लिंकन बड़ा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री स्मृति एक्का, जिला प्रबंधक डाटा श्री सौरभ कुमार कश्यप एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर श्री अनिल पैकरा को ड्यूटी तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक लगायी गई है। इस संबंध अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नम्बर 104 पर सम्पर्क कर सकते हैं।


Date : 17-Mar-2020

नियमों की अवहेलना पर होगी कार्रवाई, तम्बाकू उत्पाद विक्रेताओं के लिए कार्यशाला 

बलरामपुर, 17 मार्च। राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम कोटपा 2003 अन्तर्गत तम्बाकू उत्पाद विक्रेताओं हेतु कार्यशाला का आयोजन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ बलरामपुर के द्वारा किया गया। कार्यशाला में सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम कोटपा 2003 अंतर्गत धारा 4, 5, 6 सहित अन्य प्रावधानों के उल्लंघन करने पर जुर्माना राशि वसूली की कार्रवाई की विस्तृत जानकारी दी गई।

कार्यशाला के दौरान सार्वजनिक स्थानों में धूम्रपान पर प्रतिबंध, सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों के विज्ञापन पर प्रतिबंध, नाबालिकों और शैक्षणिक संस्थानों के आस-पास सिगरेट या अन्य तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध के उल्लंघन पर दण्ड तथा कारावास की जानकारी दी गई। तत्पश्चात जिला जन स्वास्थ्य अधिकारी छोटेलाल शर्मा ने सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद का व्यक्ति विशेष, परिवार एवं समाज पर पडऩे वाले दुष्प्रभाव के बारे में बताया।  उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार तम्बाकू के इस्तेमाल से हर साल लाखों लोगों की मौत हो जाती है। सन् 2030 तक तम्बाकू उत्पादों के इस्तेमाल के कारण होने वाली मौत का आंकड़ा सालाना 1 करोड़ तक पहुंच जाएगा, जिसमें से 90 प्रतिशत लोग मुख कैंसर से ग्रसित होंगे। छत्तीसगढ़ में 65 हजार कैंसर के मरीज हैं, जिसमें 28 हजार मरीजों को कैंसर तम्बाकू एवं सह उत्पादों के सेवन के परिणाम स्वरूप हुआ है। इस दौरान धुम्रपान के लत लगने के लक्षण के बारे में सम्पूर्ण जानकरी दी गई। तंबाकू में पाये जाने वाले नुकसानदायक केमिकल निकोटिन, फॉर्मेल्डिहाइड, अमोनिया, टार के दुष्प्रभाव के बारे में बताया गया। धुम्रपान से फेफड़ों का कैंसर, मुख का कैंसर, आंखो की बीमारी, पेट में छाले, स्ट्रोक व हार्ट अटैक की अधिक संभावना रहती है। कार्यशाला में तंबाकू छोडऩे के उपाय, घरेलू उपचार एवं धूम्रपान छोडऩे के फायदे की विस्तृत जानकरी दी गई। 
इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ज्ञानेश चैबे, जिला कार्यक्रम प्रबंधक स्मृति एक्का, विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक श्री नेत्र प्रकाश सोर, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी सहित तम्बाखू उत्पाद विक्रेता उपस्थित थे।

 


Previous12Next