छत्तीसगढ़ » बेमेतरा

Posted Date : 15-Nov-2018
  • आशीष मिश्रा
    बेमेतरा, 15 नवंबर (छत्तीसगढ़)। मतदान को केवल अब पांच दिन शेष है। राजनीतिक दलों की कवायद चरम पर है। प्रत्याशियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा है। जिले की दो सीटों साजा, नवागढ़ में भाजपा-कांग्रेस के बीच सीधा संघर्ष है जबकि बेमेतरा में त्रिकोणीय लेकिन दिलचस्प मुकाबला है। भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, योगी आदित्यनाथ, हेमा मालिनी की सभाएं हुई है जबकि राज बब्बर ने कांग्रेस की और अजीत जोगी ने जनता कांग्रेस की ओर से सभाएं ली हैं। गत विधानसभा चुनाव में जिले के तीनों विधानसभाओं में भाजपा का कब्जा था। भाजपा ने निवृत्तमान तीनों विधायकों पर भरोसा जताते हुए उन्हें पुन: प्रत्याशी बनाया है जबकि कांग्रेस ने केवल साजा सीट पर पूर्व प्रत्याशी को रिपीट करते हुए बाकी दो सीटों पर नए चेहरे पर दांव लगाया है। लिहाजा तीनों विधानसभा सीटों पर मुकाबला अब रोचक मुकाम में है।
    कुछ अपवादों को छोड़कर बेमेतरा व साजा कांग्रेस की परम्परागत सीट मानी जाती है। सन् 1977 के जनता लहर में भी बेमेतरा में कांग्रेसी उम्मीदवार ने जीत का परचम लहराया था। बतौर विपक्षी उम्मीदवार इस सीट पर केवल स्वर्गीय महेश तिवारी ने दो मर्तबे 1990 व 1998 में जीत दर्ज की है। इस दोनों जीत में दल की अपेक्षा महेश तिवारी का व्यक्तित्व ज्यादा प्रभावी था। जबकि 2013 में कांग्रेस प्रत्याशी के प्रति नाराजगी के कारण पड़े '' निगेटिव वोट '' को भाजपा की जीत का बड़ा कारण माना गया। लेकिन लगातार 15 वर्षो से भाजपा षासनकाल के चलते जिले में भाजपा का संगठन लगातार मजबूत हुआ। इसका श्रेय भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा को भी जाता है। 
    बेमेतरा सीट पर भाजपा विधायक अवधेष चंदेल का मुकाबला कांग्रेस प्रत्याशी आशीष छाबड़ा एवं जोगी कांग्रेस के योगेश तिवारी से है। पिछले एक वर्श से अधिक समय से योगेश तिवारी की क्षेत्र में लगातार सक्रियता के चलते मुकाबला त्रिकोणीय एवं रोचक हो गया है। कांग्रेस प्रत्याशी आशीष छाबड़ा जिला कांग्रेस कमेटी एवं नगरपालिका परिषद बेमेतरा के निवृत्तमान अध्यक्ष थे। सन् 1980 के बाद पहली मर्तबे कांग्रेस ने सामान्य वर्ग से प्रत्याशी बनाया है।
     तीनों प्रत्याशी युवा व सामान्य वर्ग से है। हालंकि कांग्रेसी उम्मीदवार की घोषणा काफी विलंब से हुई, लेकिन अपनी दावेदारी के चलते जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के कारण आशीष छाबड़ा हमेशा चर्चा में रहे। क्षेत्र में चल रही चर्चाओं को यदि हार-जीत का पैमाना माने तो तीनों प्रत्याषियों के बीच नजदीकी मुकाबला है। भाजपा, कांग्रेस एवं जोगी कांग्रेस तीनों दलों के अंदरुनी गुटबाजी एवं घोशित प्रत्याशी को लेकर आंतरिक असहमति भले हो लेकिन खुलकर विरोध में किसी दल या नेता अब तक नही आए है। पिछड़ा वर्ग बाहुल्य होने के कारण बेमेतरा विधानसभा में साहू, कुर्मी मतदाताओं की संख्या प्रभावी व निर्णायक है, लेकिन अभी तक इनके लामबंद होकर किसी एक दल को समर्थन देने के संकेत नही मिले है। प्रत्याशियों के अपने-अपने दावे जरुर है लेकिन इस वर्ग के प्रमुख नेताओं के अपने ही दल के प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार के समाचार मिले है। अनुसूचित जाति के मतदाताओं के लामबंद होकर जोगी कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने के संकेत अवश्य मिले है।
    साजा में मुख्य मुकाबला कांग्रेसी रविन्द्र चौबे एवं मौजूदा विधायक लाभचंद बाफना के बीच है लेकिन जिस तरह बाफना की उम्मीदवारी को स्थानीय बनाम बाहरी का रंग देकर प्रमुख भाजपाइयों ने विरोध का बिगुल फूंका है उससे उसकी संभावनाओं पर असर दिखने लगा है। रही-सही कसर बसंत अग्रवाल के भाजपा से निष्कासन एवं उसकी उम्मीदवारी ने पूरी कर दी है। संपन्न कार्यकाल में बाफना के परिजनो पर जिस तरह से षासकीय कामकाज में हस्तक्षेप एवं कथित रुप से भ्रष्टाचार के आरोप लगे उससे भी क्षेत्र में असंतोष है। बाफना पर भाजपा कार्यकर्ताओं को उपेक्षित करने तथा कांग्रेसियों पर भरोसा करने का भी आरोप है। ऐसी स्थिति में गत् चुनाव की तुलना में इस बार भाजपाइयों के तेवर चरम पर है। 
    नवागढ़ में लगातार तीन बार जीत चुके भाजपा प्रत्याशी दयालदास बघेल का मुकाबला कांग्रेसी गुरुदयाल बंजारे से है। हालंकि यहां बसपा प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश बाजपेयी भी अपनी किस्मत अजमा रहे है। गत् दिनों कांगे्रसी टिकट के प्रबल दावेदार रहे देवादास चतुर्वेदी के भाजपा प्रवेश से कांग्रेस को करारा झटका लगा है लेकिन फिर भी कांग्रेस मुख्य मुकाबले में है। लगातार तीन मर्तबे जीत दर्ज करा चुके दयालदास बघेल ने क्षेत्र में विकास के अनेको कार्य किए है। इस दौरान समूचे विधानसभा क्षेत्र में उनके समर्थकों की बड़ी फौज भी है। कांग्रेस भी बघेल को चुनौती देने एकजुट एवं सक्रिय है। यहां भी मुकाबला रोचक मुकाम पर है। 
    मतदाताओं का रुख फिलहाल खामोश है। कांग्रेस के घोशणा पत्र में जिस तरह से कर्ज माफी, दो साल से लंबित बोनस एवं 2500 रुपए प्रति क्विंटल में धान खरीदने का ऐलान किया गया है, इससे किसानों के मतों के धु्रवीकरण से इंकार नहीं किया जा सकता। महामाया व अर्ली वैरायटी के धान की कटाई हो जाने के बावजूद धान खरीदी केन्द्रों में पर्याप्त धान की आवक नहीं होने को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा है। 
    ऐसी स्थिति में कांग्रेस को बड़े पैमाने में लाभ की उम्मीद है। हालंकि भाजपा शासनकाल ने अनेक विकास कार्यों को अंजाम तो दिया है लेकिन कहीं-कहीं सत्ता विरोधी लहर की गूंज भी है। एन्टीइन्कमवेन्शी सरकार के साथ-साथ मौजूदा विधायकों के प्रति भी परिलिक्षित हो रही है। समूचे जिले में स्टार प्रचारकों की अनेक सभाएं भी हुई हंै। संसाधन एवं कार्यकर्ताओं के लिहाज से भी उम्मीदवार बराबरी पर है।
    मतदातओं का अंतिम रुख क्या होगा यह कह पाना फिलहाल जल्दबाजी होगी , लेकिन मतदाताओं की खामोशी किसी बड़े व अप्रत्याशित निर्णय की ओर संकेत जरुर करते है।

  •  

Posted Date : 09-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

     बेमेतरा, 9 नवंबर। परपोंडी थाना प्रभारी एसआई आनंद कोमरा व थाना के हवलदार गौकरण वर्मा के खिलाफ एक एक्सीडेंट के मामले में आरोपी को बचाने के गंभीर आरोप लगा है। ग्रामीणों ने इसे लेकर सोमवार को एसपी एचआर मनहर के पास शिकायत दर्ज कराई है। मामला 20 अक्टूबर का हैं, ग्राम पथर्री खुर्द में दोपहर साढ़े तीन बजे ट्रैक्टर चालक द्वारा लापरवाही पूर्वक वाहन चलाने से गांव के स्वाती  की मौत हो गई थी।
     एसपी कार्यालय पहुंचे मृतक के पिता लालाराम वर्मा ने बताया कि 20 अक्टूबर को पुलिस ने एक्सीडेंट किए ट्रैक्टर क्रमांक सीजी 08 यू 4723 को मौके से जब्त किया था,जिसे थाने में रखा गया था। वही उसकी बेटी का निधन होने पर दुसरे दिन 21 तारीख को थाना में जानकारी देने आए तो वहा एक्सीडेंट किए हुए ट्रैक्टर नही था। इसे लेकर ने थाना प्रभारी आनंद कोमरा से पुछा गया तो उन्होंने थाना से ही ट्रैक्टर चोरी होने की बात कहीं। 
    इस पर पिता व ग्राम पथर्री खुर्द के ग्रामीणों ने थाने में खुब हल्ला मचाया। मामले को देखते हुए थाना प्रभारी से ट्रैक्टर के मालिक को फोन लगाकर ट्रैक्टर जमा करने को कहा। ट्रैक्टर को थाना में जमा होने पर ग्रामीण व मृतक के परिजन वापस घर लौट गए।
    ग्रामीणों ने बताया कि इस मामले में थाना प्रभारी शुरु से ही गोल-मटोल जवाब देते आ रहें हैं। ग्रामीणों के मुताबिक 22 तारीख को फिर थाना में मृतक के पंचनामा संबंधित दस्तावेज की प्रक्रिया पूरी करने पहुंचे तो थाना में एक्सीडेंट किए हुए वाहन नही था। 
    थाना प्रभारी से पुछा तो बताया कि जिस गाड़ी से एक्सीडेंट हुआ है उसका बीमा नही था। इसके चलले बीमा वाली दुसरी गाड़ी को रखा गया है। 
    मृतक के पिता लालाराम के मुताबिक थाना प्रभारी उन्हें बीमा राशि दिलानें को लेकर आरोपी ट्रैक्टर चालक व मालिक से राजिनामा होने की बात कही व भारी भरकर बीमा राशि दिलाने आश्वासन दिया। लेकिन लालाराम राजिनामा नही होने की बात की। एसपी कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों थाना प्रभारी आनंद कोमरा व हवलदार गौकरण वर्मा के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने मांग किया है। 
    मामला बेहद गंभीर है,इसे लेकर जांच टीम बनाई जाएगी। जांच एसडीओपी द्वारा किया जाएगा। जांच में आरोप सही पाए गए तो कार्रवाई की जाएगी। 
    एचआर मनहर, पुलिस अधीक्षक- बेमेतरा.
    एक्सीडेंट हुए गाड़ी का ही जब्ती बनाई गई थी। अब लोग-बाग बढ़ा-चढ़ा कर बता देते है, क्या करे। सभी आरोप बेबुनियाद है। मुझे आगे कुछ नही कहना। 
    आनंद कोमरा, थाना प्रभारी- परपोंड़ी

  •  

Posted Date : 03-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बेमेतरा, 3 नवंबर। नाबालिक लड़कियों को भगा ले जाने के अलग-अलग पांच मामले में आरोपियों को पकडऩे में पुलिस को सफलता हासिल की है। अलग-अलग थाने में दर्ज प्रकरणों में पकड़े गए आरोपीयो को मोबाइल लोकेशन के आधार पर ढूढ़कर पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया है।  एसपी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने नाबालिक लड़कियों को बहला फुसला कर साथ होकर फरार होने वाले पांच प्रकरणों में आरोपियों को दीगर प्रान्त व शहर जाकर गिरफ्तार किया गया है। बेरला थाने में इस तरह के कुल चार प्रकरण दर्ज किए गए हैं। जिसमे पहले प्रकरण में बेरला थाने के मुड़पार की लड़की को भगा ले जाने की रिपोर्ट पर कार्यवाही करते हुए आरोपी के मोबाइल लोकेशन के आधार पर कार्तिक यादव के कब्जे से बालिका को छुड़ाया गया और परिजन के सुपुर्द किया गया।मामले में कार्तिक पर धारा 36 , 3 के तहत प्रकरण दर्ज किया है।
    दूसरे प्रकरण में ग्राम जमघट की लड़की की गुम होने की रिपोर्ट 5 जून को दर्ज कराई गई थी। जिस पर विवेचना कर मोबाइ लोकेशन के आधार पर आरोपी राजू चौहान को पुणे महाराष्ट्र में पकड़ा गया।  
    तीसरे प्रकरण में बेरला थाने के ग्राम तबलखोर गांव की लड़की 2 सितम्बर से नदारद थी। जिसे बहला-फुसला कर ले जाने के संदेह पर राजू निषाद व दीपक निषाद के कब्जे से लड़की को पुणे महाराष्ट्र में छुड़ाया गया। दोनों आरोपियों पर  प्रकरण दर्ज किया कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।
    चौथा प्रकरण ग्राम भिलौरी की है। जहां 24 अक्टूबर को नाबालिग लड़की घर से नदारद थी। जिसे बहला-फुसला कर ले जाने के संदेही टेकराम निषाद के कब्जे से पुणे महाराष्ट्र से छुड़ाया गया। वही आरोपी के खिलाफ बेरला थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।  इसीतरह नांदघाट थाने के ग्राम मरदेही की नाबालिक लड़की 18 अगस्त को घर से कंही चली गई थी। जिसके बाद पता-साजी में बात सामने आई कि गांव के ही धर्मेंद्र डोंन्द्रे भी नदारद है। युवक के काल डिटेल व मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी को पुणे महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया है। पीडि़ता के बयान पर आरोपी पर प्रकरण दर्ज किया गया है। एसपी मनहर ने बताया कि पुलिस ने सभी मामले के आरोपियों को पकडऩे के लिए टीम बनाई गई थी।
    खंडसरा में कार से मिले दो लाख रुपए 
    बेमेतरा, 3 नवंबर। खंडसरा चौकी क्षेत्र में वाहनों की जांच पड़ताल के दौरान पुलिस ने दो लाख रुपए जप्त किये हैं। पुलिस ने मोतिमपुर निवासी महेन्द्र जाट से रुपए जप्त किये। वाहन मालिक ने नकद के बारे में वैध जानकारी मांगी गई है। वाहन मालिक दस्तावेज प्रस्तुत नही कर सका। इसलिये जब्ती की कार्यवाही की गई। पुलिस के अनुसार महेन्द्र जाट चार पहिया वाहन से बेमेतरा आ रहा था। चेक पोस्ट में वाहन की जांच में यह रुपए पकड़े गए।
    यह नोट 500-500 के चार बंडल में मिले। पुलिस ने वाहन मालिक महेन्द्र जाट के खिलाफ 102 के तहत प्रकरण कायम किया है।

  •  

Posted Date : 03-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बेमेतरा, 3 नवंबर। विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल के एन्टी दिन 15 लोगो ने नामांकन भरे। फार्म भरने से पहले सभी नेताओं ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए रैली निकाली। अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र के चुनाव लड़ रहे नेताओ ने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए शहर में रैली निकाली। पार्टी से टिकिट नही मिलने से नाराज नेताओं ने भी चुनाव लडऩे नामांकन फार्म भरा है। इसमें साजा विधानसभा से धमधा निवाई लोचन साहू व बसंत अग्रवाल ने निर्दलीय प्रत्याशि के रूप में नामांकन फार्म जमा किया है। 
    अंतिम दिन होने के चलते कलेक्टोरेट सुरक्षा को लेकर पुलिस ने कार्यालय के में गेट में बेरिगट्स लगा रखा था। जहां चुनाव के लिए फार्म भर रहे नेताओं समेत उनके गिनती के कार्यकर्ताओं को भीतर भेजा। इस दौरान पुलिस व नेताओं के बीच कहा-सुनी भी हुई। कलेक्ट्रेड भवन के सामने विवाद होने की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने वीडियोग्राफी भी कराया है।
    बेमेतरा नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष आशीष छाबड़ा ने अपने समर्थकों के साथ नामांकन जमा किया। नामांकन जमा करने के पूर्व कांग्रेस भवन से रैली निकली , जंहा कलेक्ट्रेड में नामांकन जमा करने के बाद गुरुकृपा पैलेस में सभा में सभी कांग्रेसी नेताओं ने संबोधित किया। 
    नवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस पार्टी की ओर से चुनाव लड़ रहे गुरुदयाल बंजारे ने भी फार्म भरा। इससे पहले नवागढ़ से मोटरसाइकिल रैली निकालकर बेमेतरा कांग्रेस कार्यालय पहुचे। जहा से बेमेतरा व नवागढ़ दोनों कांग्रेस प्रत्याशि ने एक साथ कलेक्ट्रेड जाकर अपना-अपना नामांकन फार्म जमा किये।
    गाजे -बाजे के साथ पहुंचे योगेश्
    जनता कांग्रेस ने किसान भवन से रैली निकाली जो शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए जिला कार्यालय पहुची। इस दौरान जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी के बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र प्रत्याशी योगेश तिवारी ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए नामांकन दाखिल किया। उनके साथ कार्यकर्ताओ , वरिष्ठ किसान , महिला कमांडो की भीड़ थी।महिलाएं भी योगेश तिवारी के साथ कलेक्टर कार्यालय तक पैदल चली। साजा विधानसभा क्षेत्र के लिए बसंत अग्रवाल व लोचन साहू ने भी नामांकन फार्म जमा किया। बसंत अग्रवाल ने मोटरसाइकिल रैली के साथ शक्ति प्रदर्शन किया। बसंत अग्रवाल के रैली में भाजपा के वरिष्ठ नेता भी शमी थे।
    जिला पुलिस ने शुक्रवार को अंतिम दिन का नामांकन होने के चलते यातायात व्यवस्था को लेकर तैयारी नही की। इसके कारण शहर के कवर्धा रोड , सिमगा रोड, दुर्ग रोड में ट्रेफिक जैम की स्थिति बनी रही। दोपहर1बजे के बाद निकली रैली एक साथ होने के चलते शहर से कलेक्ट्रेड तक नेशनल हाईवे पर दोपहर 4:30 बजे तक ट्रैफिक जाम की स्थिति बनी रही

  •  

Posted Date : 02-Nov-2018
  • राहुल को गरीबी का बारे में पता नहीं-रामकृपाल

    छत्तीसगढ़ संवाददाता  
    बेमेतरा, 2 नवंबर। राहुल गांधी को गरीबी के बारे में पता नहीं है, वे केवल गरीबी को पढ़ कर जानते हैं। जबकि मोदी ने गरीबी से जिया है और समझा है, उनके पिता चाय बेचते थे। उक्त बातें जिला मुख्यालय पहुंचे केन्द्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने पत्रकारों से चर्चा में कही। 
    सीडी कांड के सवाल पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस की इस हरकत को जनता स्वीकार नहीं करेगी। आगे कहा कि छत्तीसगढ़ का विकास देश में रोल मॉडल है। वे नामांकन दाखिल करने वाले अपनी पार्टी के तीनों दावेदारों के साथ पहुंचे थे। नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने भाजपा के कार्यकर्ताओं एवं दावेदारों से चर्चा की और रवाना हो गए।
    केन्द्रीय मंत्री के सामने तीनों विस के भाजपा प्रत्याशियों ने भरे नामांकन
    केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने किसान भवन के सामने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके बाद भाजपा के तीनों प्रत्याशी दयालदास बघेल, अवधेश चंदेल व लाभचन्द बाफना नामांकन दाखिल करने पहुंचे। उनके समर्थन में नवागढ़, बेमेतरा व साजा क्षेत्र के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे थे। सभी रैली के शक्ल में बाजे-गाजे के साथ रवाना हुए। साजा के दावेदार लाभचन्द बाफना ने अपना चौथा सेट जमा किया। अवधेश चंदेल और दयालदास बघेल ने अपना दूसरा सेट जमा किया। 
    22 अभ्यर्थियों ने जमा किए नामांकन, 4 ने लिया फार्म
    नामांकन के एक दिन बाकी रहने पर कल फार्म जमा करने वालों की संख्या अधिक रही। लगभग 22 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन फार्म जमा किया और चार ने फार्म लिया। फार्म जमा करने भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी एवं बसपा के दावेदार पहुंचे थे। वहीं निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी नामांकन दाखिल किया। कलेक्ट्रेट भवन के तीनों रिटर्निंग कमरों में भारी गहमा -गहमी रही। समर्थकों के साथ पहुंचे दावेदार जोश एवं उत्साह के साथ नामांकन दाखिल करते रहे। पार्टी के अधिकृत दावेदारों के अलावा बगावत कर चुनाव लडऩे का ऐलान करने वाले भी पहुंचे थे।
    इन्होंने भी भरा नामांकन
    बसपा से नवागढ़ विस के दावेदार ओमप्रकाश बाजपेई व जनता कांग्रेस से बेमेतरा विस उम्मीदवार योगेश तिवारी ने रिटर्निंग अधिकारी के सामने पहला सेट जमा किया। वहीं तिवारी आज दूसरा सेट जमा करेंगे। कल कलेक्ट्रेट परिसर में पूर्व दिनों की अपेक्षा अधिक बल तैनात किया गया था। समर्थकों को बेरिकेट्स के बाहर ही रोक दिया गया था। वहीं आम आदमी पार्टी के दावेदारों को टोपी उतारने पर ही प्रवेश की अनुमति दी गई।
    नवागढ़ व साजा से 1-1 , बेमेतरा से 2 ने लिए फार्म
    गुरुवार को साजा से 1, बेमेतरा से 2 व नवागढ़ से 1 ने फार्म लिया। जिला कार्यालय में अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों के लिए बनाए गए नामांकन फार्म प्राप्ति के लिए बनाए गए कमरों में पहुंच कर प्रारूप-3 का फार्म लिया। साजा विधानसभा क्षेत्र के लिए अशोक कुमार सिंघानिया, बेमेतरा यशवंत साहू व सुशील कोशले एवं नवागढ़ के लिए आनंदराम डहरिया के नाम शामिल हैं।

  •  

Posted Date : 02-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बेमेतरा, 2 नवंबर। खाद्य विभाग के उडऩदस्ता दल ने बगैर मंडी शुल्क पटाए धान का अवैध परिवहन कर रहे चार कोचिए से 2 लाख 72 हजार कीमत का 170 क्विंटल धान जब्त किया हैं। वहीं धान परिवहन में प्रयुक्त दो मालवाहक भी जब्त किए गए हैं। 
    उल्लेखनीय है कि 1 नवंबर से जिले के 86 उपार्जन केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी प्रारंभ हो गई है। इसलिए धान की अवैध बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए खाद्य विभाग की ओर से निरंतर कार्रवाई की जा रही है। जहां विभाग के उडऩदस्ता दल ने अब तक 170 क्विंटल धान जब्त किया है। जिसमें बहेरा निवासी कोचिए धनीराम वर्मा से 93 क्विंटल, रिखीराम जायसवाल नवागढ़ से 12 क्विंटल, जलेश्वर साहू भैंसा से 5 क्विंटल एवं कामदेव देवांगन देवरबीजा से 50 क्विंटल धान बरामद किया गया हैं। इस कार्रवाई में खाद्य अधिकारी भूपेन्द्र मिश्रा, खाद्य निरीक्षक लक्ष्मण कश्यप, नीतू सिंह समेत अन्य शामिल थे।
    जिला खाद्य अधिकारी मिश्रा के अनुसार कार्रवाई के दौरान पकड़े गए कोचिए मंडी का सौदा पत्रक दिखाने में नाकाम रहे। नतीजतन सभी पर मंडी अधिनियम के तहत प्रकरण बनाकर आगे की कार्रवाई के लिए कृषि उपज मंडी विभाग को भेजा जाएगा। 
    प्रावधानों के तहत संबंधित कोचियों से 5 गुना मंडी शुल्क वसूला जाएगा। जानकारी के अनुसार धान खरीदी के लिए 2 प्रतिशत मंडी शुल्क लिया जाता हैं। 
    खाद्य अधिकारी ने बताया कि धान के बढ़े समर्थन मूल्य व बोनस राशि के लालच में कोचिए कुछ पंजीकृत किसानों से मिलीभगत कर, उनके टोकन पर खरीदी केन्द्रों में धान खपाते हैं। वहीं ये कोचिए मंडी शुल्क पटाए बगैर किसानों से औने-पौने दाम पर धान खरीदते हैं। इसलिए इस गड़बड़ी को रोकने के लिए धान खरीदी सत्र के दौरान खाद्य विभाग की यह कार्रवाई जारी रहेगी। 
    विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इस खरीफ सत्र में 4 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा गया हैं। बीते सत्र में अल्प वर्षा के कारण ढाई लाख क्विंटल धान की खरीदी हुई थी। उल्लेखनीय है कि इस सत्र में धान के समर्थन मूल्य में 200 रूपए प्रति क्विंटल वृद्धि होने के साथ खरीदी केन्द्रों में धान ग्रेड ए 1770 रूपए एवं धान मोटा 1750 रूपए प्रति क्विंटल खरीदा जा रहा हैं। वहीं प्रति क्विंटल पर 300 रूपए बोनस मिलना है। 
    उपार्जन केन्द्रों में धान बेचने जिले के 98 हजार किसानों ने 1 लाख 40 हजार रकबा का पंजीयन कराया हैं। धान खरीदी के पहले दिन खाद्य विभाग के उडऩदस्ता दल ने जिले के कई खरीदी केन्द्रों में पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। भिंभौरी केन्द्र में निरीक्षण के दौरान विभाग के सचिव मनोज सोनी ने कई खामियां पाई। जिसमें आद्रतामापी यंत्र खराब मिला। वहीं मिलर से बिना जांचे बारदाना लिए गए थे, जो कटे-फटे मिले जिसे वापस करने के निर्देश दिए गए। वहीं प्रबंधक को पाई गई खामियों को जल्द दुरूस्त करने कहा गया।

     

  •  

Posted Date : 01-Nov-2018
  • समर्थकों के साथ रैली निकाल चौबे ने दाखिल किया नामांकन

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बेमेतरा, 1 नवंबर। प्रदेश के दिग्गज नेता एवं साजा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी रविन्द्र चौबे ने बुधवार को दस हजार से भी अधिक समर्थकों के साथ रैली निकालकर अपना नामांकन दाखिल किया। सुबह 10 बजे से ही साजा क्षेत्र के कांग्रेसी कार्यकर्ता स्वफूर्त बेमेतरा पहुंचने लगे थे। दोपहर 12 बजे कांग्रेस भवन से हजारों कार्यकर्ता रैली के रूप में चौबे के साथ निकले। जिससे बेमेतरा शहर में ट्रैफिक जाम की स्थिति बन गई थी।
    श्री चौबे ने दोपहर 1.35 बजे अपना नामांकन दाखिल किया। इसके बाद हजारों कार्यकर्ताओं के साथ शहर के गुरुकृपा पैलेस पहुंचे। कार्यकर्ताओं का उत्साह देखकर चौबे ने उनको संबोधित करते हुए कहा कि देश की पहचान बनाने वाले एवं देश को एकजुट करने वाले बड़े कांग्रेसी नेताओं सरदार वल्लभ भाई पटेल एवं इंदिरा गांधी को याद करने का दिन है आज। कांग्रेस पार्टी जो कहती है वह करती है। मेरा सौभाग्य है कि मुझे 8 बार देश की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस द्वारा साजा से विधानसभा प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतारा गया है। मुझे साथ और आशीर्वाद देने के लिए हजारों की संख्या में क्षेत्र के साथी खड़े हंै। पिछली बार कुछ दलालों एवं धोखेबाजों के कारण हम पीछे रह गए थे, लेकिन इस बार किसानों की ताकत हमारे साथ है। 
    उन्होंने कांग्रेस के घोषणा पत्र में सभी किसानों का पूरा कर्ज माफ, मुफ्त बिजली, पानी, फसल का उचित मूल्य, महिलाओं को सम्मान के साथ आत्मनिर्भर बनाना एवं युवाओं को रोजगार दिलाने की बात कही। चौबे ने कहा कि पिछले 15 वर्षों से भाजपा की सरकार प्रदेश की जनता को लूट रही है। हमारे जंगल, जमीन, पानी, रेत चोरी करने वाले एवं गिट्टी का कमीषनखाने वाले आज प्रदेष में राज कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 1400 किसानो ने आत्महत्या की, पर रमन और मोदी का दिल नही पसीजा। जहां किसान आत्महत्या कर रहे थे वहीं मुख्यमंत्री रमन सिंह राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय के साथ सुवा नाच करने में मगन थे। इस पूंजीपति एवं दलालों की सरकार को जनता ने उखाड़ फेकने का संकल्प कर लिया है। बैकुंठपुर से दंतेवाड़ा तक जनता जाग गई है। 
    कार्यक्रम को वरिश्ठ कांग्रेसी नेता प्रदीप चौबे ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर संतोष वर्मा, अशोक बिंदल, ओम वर्मा, मनहरण सिन्हा, मनोज जायसवाल, मोहम्मद अकबर, बंशी पटेल, आशीष छाबड़ा, मनीश बिंदल, जर्नादन ठाकुर, ओमी महिलांग, पुन्नी पटेल, शिवकुमार, सतीश जोशी, मुरारी तिवारी, जितेन्द्र उपाध्याय, गोरेलाल चंद्राकर, सुनीता गुप्ता, जीवन सिंह, नारद पटेल, संतोश बघेल, रोशन सिन्हा सहित हजारों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

  •  

Posted Date : 31-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 

    बेमेतरा, 31 अक्टूबर। जिला मुख्यालय के कई वार्डों में महिलाओं ने असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाने के लिए अपने वार्डों में लाठी व टॉर्च लेकर सीटी बजाकर गश्त करना शुरू कर दिया है। महिलाओं ने टीम का गठन कर पुलिस अधीक्षक कार्यालय को लिखित में सूचना देकर समय पर मदद की मांग की है। 
    प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के कचहरी पारा, सिंघोरी, मौहभाठा, सुन्दर नगर, वार्ड 15 व वार्ड 20, किसान पारा की महिलाओं ने अपने-अपने वार्डों में महिलाओं का समूह बनाकर रात में गश्त देना शुरू कर दिया है। महिलाओं की पहल के बाद शहर में रात शराब पीकर हो-हल्ला व परेशान करने की वारदात भी कम होने लगी हंै। महिलाओं ने बताया कि रोजाना रात में शराब पीकर लोगों को परेशान करने वालों की हरकतों को देखते हुए उन्होंने समूह बनाकर गश्त करने की पहल की है।
    समूहों से जुड़ी महिलाओं के अनुसार मोहल्लों मस असामाजिक तत्वों के द्वारा शांति के वातावरण को भंग करने का प्रयास किया जा रहा है। जिसके कारण वार्डवासीयो की परेशानियों को देखते हुए समूह बनाकर शांति ब्यवस्था बनाए रखने का प्रयास किया जा रहा है। सदस्य माहेश्वरी साहू, सवन बाई, उर्मिला वर्मा, नर्मदा वर्मा, लता साहू, कुमारी साहू, मोहनी साहू, मीना राव, कुंती वर्मा सहित कई महिलाएं है जो कई महीने से शहर की शांति व्यवस्था को कायम रखने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही हंै। शहर के अलावा कंतेली, ढाबा, लोलेसरा, गांगपुर, बैजी, देवसरा आदि गांवों की महिलाएं भी महिला कमांडो टीम बनाकर गांवों में बेहतर माहौल बनाने में सक्रिय होकर काम कर रही हंै।
    12 से अधिक टीम सक्रिय
    बेमेतरा थाना प्रभारी राजेश मिश्रा ने बताया कि शहर के विभिन्न वार्डों में महिलाओं ने टीम बनाकर गश्त देना शुरू कर दिया है। इस पर टीम द्वारा जब भी मदद मांगी जाती है, मदद किया जाता है। वहीं आने वाले समय पर भी पुलिस हमेशा मदद करती रहेगी। शहर में 12 से अधिक समूह सक्रिय होकर काम कर रही हैं, वे पुलिस की भी मदद कर रही है।

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बेमेतरा, 30 अक्टूबर। कल ग्राम सनकपाट की प्राथमिक शाला के 16 विद्यार्थियों को बीमार हालात में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शाम को बच्चों की हालत में सुधार होने पर घर भेज दिया गया। बताया जाता है कि इन बच्चों ने रतनजोत का बीज खा लिया था। इधर जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग से बच्चों की हालत को लेकर रिपोर्ट मांगी गई है।
    जिला मुख्यालय से 12 किमी दूर ग्राम सनकपाट की शाला में प्रार्थना कराने के बाद बच्चों को कमरे में भेजा गया था। कमरों में गए 2-3 बच्चे को उल्टी होने लगी और चक्कर आने लगा। देखते ही देखते 12 बच्चों के बीमार होने की शिकायत आई। इसके बाद और चार बच्चों को उल्टी होने लगी। एक-एक कर 16 बच्चों के बीमार पडऩे से स्कूल में अफरा- तफरी की स्थिति रही। शिक्षकों ने पालकों को भी सूचना दी। इसके बाद बच्चों को संजीवनी वाहन से जिला अस्पताल पहुंचाया गया। 
    सीएचएमओ डॉ. एसके शर्मा ने बताया कि सभी बच्चों की हालत पहले से ठीक है। जिला प्रशासन ने भी मामले की जानकारी मांगी थी, जिसे उपलब्ध करा दिया गया है। विकासखंड शिक्षा अधिकारी अरुण खरे ने बताया कि बच्चों की स्थिति में सुधार आया है, स्कूल से आए शिक्षक से जानकारी मांगी गई है।

  •  

Posted Date : 27-Oct-2018
  •  

     

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बेमेतरा, 27 अक्टूबर। अधिसूचना जारी होने के साथ  जिले के तीन विधानसभा क्षेत्रों के लिए पहले  शुक्रवार को 11 लोगों ने नाम निर्देशन पत्र का सेट खरीदा इनमें साजा के लिए 02, बेमेतरा के लिए 03 व नवागढ़ वि.स. के लिए 06 लोग शामिल है। जिला कार्यालय में अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों के लिए बनाए गए नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति हेतु बनाए गए कक्षों में पहुंचकर प्रारूप 3 का फार्म लिया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि नवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए हरिकिशन कुर्रे, टेकराम कोशले, ओमप्रकाश बाचपेयी, भास्कर चंद, भरतलाल पाटले एवं रमाकांत राय शामिल है। इसी तरह बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के लिए संजीव अग्रवाल, संजय फूलचंद सुराना एवं चुरावन साहू तथा साजा विधानसभा क्षेत्र के लिए लाभचंद बाफना एवं अशोक तांदुलकर शामिल है। आज पहले दिन जिले के 03 विधानसभा क्षेत्रों के किसी भी अभ्यर्थी ने अपना नाम निर्देशन पत्र जमा नहीं किया। 
    कलेक्टर ने बताया कि शनिवार 27 अक्टूबर को बैंकों में निगोसियेबल इंस्ट्रयूटमेन्ट एक्ट के अंतर्गत अवकाश रहेगा। 28 अक्टूबर को भी रविवार के कारण नाम निर्देशन पत्र स्वीकार नहीं किए जा सकेंगे।
    बेमेतरा के व्यय प्रेक्षक अंकित आनन्द  
    बेमेतरा, 27 अक्टूबर। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा निर्वाचन के दौरान बेमेतरा जिले के लिए व्यय प्रेक्षक के रूप में  अंकित आनंद नियुक्त किया गया है। जिनका मोबाईल नंबर 9425509906 है। विधानसभा निर्वाचन 2018 के संबंध में जानकारी लेने के लिए टोल-फ्री नंबर स्थापित किया गया है। जिसमें 07711950 एवं 1800111950, आयकर से संबंधित जानकारी के लिए 18002337010 तथा कलेक्टोरेट बेमेतरा में कंट्रोल नंबर - 07824-222326 स्थापित किया गया है।

  •  

Posted Date : 20-Oct-2018
  •  छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बेमेतरा, 20 अक्टूबर। जिले में अलग-अलग हादसे में 5 की मौत हो गई। बीती रात  टाउन हाल के समीप अज्ञात वाहन  ने बाईक सवार तीन युवकों को अपनी चपेट में ले लिया जिससे  मौके पर ही दो युवकों की मौत हो गई। वही एक युवक के पैर में गंभीर चोटें आई हंै। 
    प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार तीनों युवक बेमेतरा से दुर्ग की ओर जा रहे थे। वही टाउन हाल के समीप चुनाव के मद्देनजर ट्रेक्टर, ट्रक के पुराने टायर और ड्रम को सड़क के दोनों ओर रखकर चेक पॉइंट बनाया गया है। जहाँ से गुजरते समय बाइक को  पीछे से आ रहे वाहन ने ठोकर मारी और रौंदते निकल गई। 
    मृतकों की पहचान ग्राम बावा सिंघोरी टिकेश्वर साहु  व विनोद साहु  के रुप में की गई है। जबकि गंभीर  रूप से  जखमी प्रवीण गोस्वामी  को रायपुर  भेजा गया है।
    इधर बाइक टक्कर  में तीन ग्रामीणों की मौत हो गई। साजा थाना क्षेत्र के मोहगांव में दशहरा देखकर  अपने गांव बुधवारा जा रहे पिता धीरू पटेल और पुत्र कृष्णा पटेल तथा गोपी साहू नामक युवक की मौत हो गई तथा एक गंभीर हो गया। दोनों मोटसिाकिल में दो दो लोग सवार थे।

     

  •  

Posted Date : 16-Apr-2018
  • थानखम्हरिया नपं  

    आशीष मिश्रा
    बेमेतरा, 16 अप्रैल (छत्तीसगढ़)। महिलाओं का स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ कर सफाई मित्र बनना समाज प्रमुखों को इतना नागवारा गुजरा, की परिवार सहित उन्हें समाज से बहिष्कृत करने का फरमान सुना दिया गया।  मामला जिले की थानखम्हरिया नगर पंचायत का है, जहां स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत डोर टू डोर कचरा कलेक्शन कर रही 5 महिला व 1 पुरूष को उसके परिवार सहित समाज से बाहर निकाल दिया गया है।  अब इन परिवारों की शादी, मृत्यु  सहित अन्य सुख-दुख के कार्यक्रमों में समाज के लोग व रिश्तेदार में शामिल नही होंगे। ऐसे में इन परिवारों की परेशानी बढ़ गई है।   थाना प्रभारी धनंजय सिन्हा स्वयं संज्ञान लेते हुए, समाज के लोगों को बुलाकर समझाने का प्रयास किया है। 
    एसडीएम साजा यूएस साहू ने कहा कि इस संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है। संबंधितों से जानकारी ली जाएगी। समाज से बहिष्कार करना गलत है। ऐसी कोई बात है तो दोनों पक्ष को बुलाकर समझाईश दी जाएगी।
    थानखम्मरिया समाज प्रमुख बबला निषाद का कहना है कि समाज प्रमुखों को इस कार्य से आपत्ति है, इसलिए समाज से बाहर निकाला गया है।  कचरा ईकट्ठा करना धीवर समाज का काम नहीं है। कचरा उठाने का काम  समाज की महिलाओं का नहीं है। इसे बर्दाश्त नही किया जाएगा। महिलाएं ये काम छोड़ दें, फिर उन्हें समाज में शामिल किया जाएगा।
    ज्ञात हो कि नगर पंचायत थानखम्हरिया में जय माता महिला स्व सहायता समूह की महिला सदस्य स्वच्छता मित्र के रूप में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन कर रही है। इसमें धीवर समाज की प्रभा निषाद, सावित्री निषाद, विमला निषाद, उषा निषाद, संगीता निषाद, कौशिल्या निषाद, एवं रामजी निषाद शामिल है, जिन्हें समाज से बाहर किया गया है। 
    महिलाओं ने  कहा- समाज दे रोजगार
    संबंधित महिलाओं ने हिम्मत दिखाते हुए समाज प्रमुखों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सभी ने एक स्वर में कहा की सरकार के इस अभियान से उन्हें रोजगार मिल रहा है। उनका परिवार चल रहा है। इसलिए वे इस काम को नहीं छोड़ेगी।  समाज प्रमुख उनके रोजगार की व्यवस्था करे तो काम छोड़ देंगी।
    कई समाजों की महिलाएं कर रही काम 
    धीवर समाज की महिलाओं को रूढि़वादी परंपराओं का दंश झेलना पड़ रहा है। वर्तमान में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत कई समाज की महिलाएं काम कर रही है।  सतनामी समाज, साहू समाज, गोड़ समाज सहित अन्य समाज की महिलाएं शामिल हंै, जो स्वच्छता मित्र के काम से मिल रहे वेतन से अपने परिवार का खर्च उठा रही हंै। 
    नपं. अध्यक्ष मनहरण सिन्हा ने कहा कि  महिलाओं को समाज से बहिष्कृत किया जाना सही नही है। ऐसा कोई काम नहीं लिया जा रहा जिससे समाज शर्मसार हो, समाज प्रमुखों को गौरवान्ति होना चाहिए की उनके समाज की महिलाएं नगर के सफाई अभियान जैसे महत्वपूर्ण अभियान की अपनी महती भूमिका निभा रही है। फोन पर समाज प्रमुख को समझाईश दी गई है।
    सीएमओ लालजी चंन्द्राकर ने कहा कि महिलाओं को सफाई कर्मी नहीं स्वच्छता मित्र के नाम से पुकारा जाए। इनसे नाली सफाई व मैला ढोने जैसा कोई कार्य नहीं कराया जा रहा है। इस संबंध में समाज प्रमुख को बुलाकर समझाया जाएगा।

  •  

Posted Date : 29-Jan-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बेमेतरा, 29 जनवरी।  जिला क्राईम ब्रांच ने नांदघाट थाना अंतर्गत ग्राम नगधा में 20 लाख कीमत का ढाई क्विंटल गांजा के साथ दो   को गिरफ्तार किया है।  परिवहन में प्रयुक्त स्कार्पियो  को भी जब्त किया गया है। 
    पुलिस अधीक्षक डीके गर्ग के अनुसार सूचना पर जिला क्राईम ब्रांच टीम ने बीती रात एक सफेद रंग के स्कार्पियो नम्बर सीजी 10 एस 7702 को घेराबंदी कर पकड़ा। तलाशी में राहुल  शर्मा और साहिद  खान  दोनों मप्र को 49 पैकेट वजन 250 किलो  गांजा  के साथ पकड़ा गया। उन्होंने  बताया कि  जिले के सभी थाना प्रमुखों को अवैध गांजा व शराब के खिलाफ अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हंै। इसके तहत सप्ताह भर के भीतर अवैध गांजा के चार अन्य मामलों में 257 किलो गांजा के साथ 6 आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। 

  •