छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Previous123456789Next
18-Jun-2021 8:35 PM (19)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 18 जून। देश में लगातार बढ़ती महंगाई और बेरोजग़ारी के विरोध में शुक्रवार को जि़ला कांग्रेस कमेटी के बैनर तले जि़ला मुख्यालय सहित उसूर, भोपालपटनम व भैरमगढ़ ब्लॉक मुख्यालय में कांग्रेस ने सांकेतिक चक्काजाम कर मोदी सरकार और भाजपा पर देश की जनता से किए वादों से मुकरने, देश को ठगने और देश की जनता से झूठ बोलने व अपने उद्योगपति मित्रों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया। 

चक्काजाम के दौरान विधायक विक्रम मंडावी ने कहा कि भाजपा और मोदी सरकार ने देश की जनता से किए गए वादों में से एक भी वादा आज तक पूरा नहीं किया। मोदी सरकार अब तक देश में दो योजनाएं लेकर आई थी, जिसमें पहली योजना नोटबंदी और दूसरी योजना जीएसटी थी। ये दोनों ही योजनाएं पूरी तरह फैल हो गई है। जिसके कारण देश में बेरोजग़ारी और महंगाई लगातार बढ़ रही है।

 विधायक मंडावी ने आगे कहा कि क्या भाजपा के पंद्रह साल बनाम कांग्रेस के ढाई साल पर भाजपा बहस करेगी? देश में पेट्रोल, डीज़ल के अलावा खाद्य तेल और घरेलू गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, जिससे आम लोगों का बजट बिगड़ता जा रहा है। 
देश में बेतहाशा महंगाई और बेरोजग़ारी पर भाजपा नेता क्या मोदी सरकार की नाकामी पर मोदी मंत्रिमंडल को मेडल देंगे ? भाजपा नेता अपनी हार को अब तक पचा नहीं पा रहे हंै और जनादेश का अपमान कर मीडिया में बने रहने के लिए लगातार अनर्गल बयानबाज़ी करने में लगे हुए हैं। 

प्रदर्शन के दौरान जि़ला पंचायत अध्यक्ष शंकर कडिय़ाम, जि़ला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालू राठौर, पीसीसी सचिव अजय सिंह, नगरपालिका परिषद बीजापुर के अध्यक्ष बेनहुर रावतिया, जि़ला पंचायत उपाध्यक्ष कमलेश कारम, जि़ला पंचायत सदस्य नीना रावतिया उद्दे, युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष एजाज खान मौजूद रहे।


18-Jun-2021 7:37 PM (15)

भोपालपट्टनम, 18 जून। जोगी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने  खाद-बीज उपलब्ध कराने राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के जिला अध्यक्ष एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जमुना सकनी ने कहा कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी के निर्देशानुसार खाद-बीज गोदामों के निरीक्षण लिए जांच दल गठित किया गया था।जांच दल के जानकारी अनुसार जिले के सभी रसायनिक खाद गोदामों में कृषि पदार्थों की कमी पाया गया है कहीं कहीं तो अभी तक एक भी बार खाद-बीज नहीं पहुंचा है। भूपेश सरकार अपने आप को किसान हित में काम करने का बड़ा ढोंग कर रही है,जमीनी हकीकत कुछ और है।दो सूत्रीय मांग को लेकर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया है। प्रथम-जिले के सभी गोदामों में रासायनिक खाद आदि की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाने संबंधी,  द्वितीय-विगत वर्ष जिले में अधिक बारिश के कारण कई किसानों का फसल बाढ़ के चपेट में आने से पूर्ण क्षति हुआ है, जिसके कारण किसानों के पास धान का बीज तक नहीं है। ऐसे किसानों को इस वर्ष मुफ्त में खाद और बीज वितरण करने संबंधी मांग की गई। इस अवसर पर पार्टी से गुड्डू कोरसा बीजापुर ब्लाक अध्यक्ष,सुधारक के.जी.पूर्व युवा अध्यक्ष, चन्द्रशेखर अंगनपल्ली उसूर ब्लाक अध्यक्ष,रोशन झाड़ी युवा जिला अध्यक्ष, गुण्डी तेलम, चन्देश माड़वी,महिला नेत्री सुनीता तिवारी, दीपक मरकाम प्रदेश प्रतिनिधि, शिवैया कुडिय़म भोपालपट्टनम ब्लाक अध्यक्ष आदि उपस्थित थे।


17-Jun-2021 8:11 PM (19)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 17 जून।
भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार के विधायक विक्रम मंडावी पर कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन किये जाने के आरोप के बाद अब बीजापुर में सियासी बयान बाजी का दौर शुरू हो गया हैं।
जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता मोहित चौहान ने एक बयान जारी कर भाजपा जिलाध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा अध्यक्ष महज सुर्खियों में बने रहने के लिए बेतुकी बयान बाजी कर रहे हैं। प्रवक्ता चौहान का कहना है कि दरअसल क्षेत्रीय विधायक बीजापुर जिले के विकास के लिए जिस प्रतिबद्धता से काम कर रहे है। उससे भाजपा बैकफुट पर आ गई हैं। इसी के चलते भाजपा को विधायक की लोकप्रियता रास नहीं आ रही है और वे बेतुकी बयान बाजी कर रही हैं। चौहान का कहना है कि 15 साल तक प्रदेश में भाजपा की सरकार रही। लेकिन कभी भी पूर्व विधायक व वर्तमान जिलाध्यक्ष पामेड़ की जनता का न कभी हालचाल जाना और न कभी उनकी कोई समस्याओं से अवगत हुए। अब सरकार बदली है और वर्तमान विधायक पामेड़ तक पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याओं का निराकरण कर रहे हैं। लेकिन ये भाजपा को रास नहीं आ रहा हैं।

बयान में प्रवक्ता चौहान ने कहा कि इन दिनों भाजपा के पास मौजूदा सरकार व विधायक को घेरने का कोई मुद्दा नहीं हैं।
उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर भाजपा अध्यक्ष ने जो आरोप विधायक पर लगाए हैं। वही कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियांं प्रधानमंत्री ने भी बंगाल चुनाव में उड़ाई थी। तो क्या भाजपा जिलाध्यक्ष पीएम से इस्तीफा मांगेंगे।


17-Jun-2021 1:10 PM (49)

'छत्तीसगढ़' संवाददाता
बीजापुर, 17 जून।
  जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से पुलिस ने तीन नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से दो नक्सलियों के पास से बोरी भर दवाइयां भी बरामद हुई हैं। 

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आवापल्ली में जिला बल व सीआरपीएफ 168 बटालियन की संयुक्त टीम ने वाहनों की चेकिंग के दौरान वाहन क्रमांक सीजी 20 जे 2433 से दो व्यक्तियों को पकड़ा। इनके पास रखे एक प्लास्टिक के बोरे में अंग्रेजी दवाइयां, दर्द निवारक, एंटी बायोटिक इंजेक्शन, ग्लूकोज के बॉटल, सेनिटाइजर व नक्सली पाम्पलेट बैनर बरामद किया गया। एक ने अपना नाम कोरसा लालैया (40) पुसबाका व दूसरे ने कोरसा शंकर (20) पुसबाका बताया। इन्हें दवाइयों के परिवहन हेतु वैध कागजात प्रस्तुत करने कहे जाने पर कोई दवाई की पर्ची नहीं होना बताया। पकड़े गए व्यक्ति से बारीकी से पूछताछ पर नक्सली संगठन के सदस्य पुनेम हुंगा निवासी गुंडम थाना बासागुड़ा को उक्त दवाइयां पहुंचाने की बात बताई। इसके पूर्व भी 2-3 बार दवाई व अन्य सामग्री पहुंचाना बताया। 

दूसरी ओर गंगालूर थाना क्षेत्र के चोखनपाल से सर्चिंग के दौरान जिला बल व डीआरजी के जवानों ने पुसनार निवासी सोमलू पोटाम के घर से लूट की घटना में शामिल रहे नक्सली लक्ष्मण माड़वी उर्फ कोन्दा (30) चोखनपाल को पकड़ा। पकड़े गए  नक्सलियों के विरुद्ध थाना आवापल्ली व गंगालूर में वैधानिक कार्रवाई कर रिमांड पर न्यायालय बीजापुर में पेश किया गया।


14-Jun-2021 7:29 PM (22)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भोपालपट्टनम, 14 जून। जोगी कांग्रेस की जिला अध्यक्ष एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जमुना सकनी ने जारी विज्ञप्ति में आरोप लगाते हुए कहा है कि ‘धान का कटोरा’ कहा जाने वाला छत्तीसगढ़ में किसानों के साथ धोखा हो रहा है। आज किसानों को कृषि पदार्थ मजबूरन कालाबाजारियों से चौगुने दाम में खरीदना पड़ रहा है।जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) मांग करती है कि राज्य सरकार तत्काल यूरिया और अन्य कृषि पदार्थों की आपूर्ति सुनिश्चित करें। 

इस समस्या के निराकरण हेतु पार्टी प्रदेश नेतृत्व के निर्देशानुसार जिले में जांच समिति गठित कर युरिया, सुफरफॉस्फेट, डीएपी, पोटाश, गिपसम, जिंकटेड पाउडर उपलब्धता का गोदामों में जा कर भौतिक स्थल निरीक्षण कर उनकी कमी और व्यापक कालाबाजारी की विस्तृत जानकारी कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। ज्ञापन सौपने के पश्चात कृषि पदार्थों की कमी और व्यापक कालाबाजारी के विरुद्ध जिला मुख्यालय में एक दिवसीय धरना भी किया जायेगा।  इस आंदोलन के लिए निम्नानुसार समय-सारिणी का निर्धारण किया गया है:-गोदामों का स्थल निरीक्षण 15 जून, कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन 17 जून, एक दिवसीय सांकेतिक धरना 19 जून को दो पहर 12 बजे से 2बजे तक किया जाना निर्धारित है।

जांच समिति में दीपक मरकाम, गुड्डू कोरसा, सल्मैया अंगनपल्ली, रामचन्द्रम ऐरोला, चन्द्रशेखर अंगनपल्ली, शिवैया कुडिय़म, सुधाकर के.जी.,रोशन झाड़ी, जम्मू सिंह ठाकुर, विकास सड़मेक, किशोर सण्डरा,सुनीता तिवारी, अंजली तेलम, मुकेश हेमला, सोमा पद्दाम शामिल किया गया है।


12-Jun-2021 9:22 PM (31)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 12 जून।
सिलगेर गोलीकांड को लेकर एक बार फिर पूर्व मंत्री व बीजापुर के पूर्व विधायक महेश गागड़ा ने राज्य सरकार पर आदिवासियों को गुमराह करने और कंफ्यूज होने का आरोप लगाया।
यहां प्रेस वार्ता में सिलगेर मामले को लेकर पत्रकारों को संबोधित कर रहे पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने मुख्यमंत्री पर कंफ्यूज में होने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस की ओर से गठित जाँच दल को हास्यप्रद बताया। श्री गागड़ा ने कहा कि अगर सरकार वाकई में जांच करवाना चाहती है तो राजनीतिक सदस्यों का दल न बनवाकर रिटायर्ड जजों  से निष्पक्ष रूप से जांच करवाती। लेकिन सरकार की मंशा साफ नही है।

सरकार और कांग्रेस कंफ्यूज में है। इसलिए प्रशासन को आगे कर दिया गया हैं। इसमे भी स्पष्टता नही है। घटना सुकमा जिले का है  लेकिन मोर्चा बीजापुर के कलेक्टर एसपी संभाले हुए हैं। अपनी गलती छुपाने के लिए कांग्रेस अब मोदी सरकार पर बस्तर में कैम्प लगाने का आरोप लगा रही है। जबकि कैंप लगाना या हटाना प्रदेश की आंतरिक सुरक्षा का मामला है। जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होती है। फोर्स कहाँ रखना है, कहाँ नही,लेकिन आंदोलनरत लोगों के बीच जाकर कांग्रेस और सरकार के लोग प्रधानमंत्री मोदी पर आरोप लगा रहे हैं, कि कैम्प व फोर्स प्रधानमंत्री मोदी ने लगा रखा है। सरकार पहले स्पष्ट हो जाये कि उन्हें करना क्या है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार का झूठा आरोप कतई सही नही है चूंकि कैंप केंद्र सरकार का मसला नही है।
श्री गागड़ा ने आगे कहा कि यहां कि वर्तमान स्थिति ऐसी है कि आदिवासी कोविड से मरे या गोली से सरकार को इसकी चिंता नही है। वो महज गुमराह और झूठ की राजनीति में व्यस्त है। जबकि ऐसे आरोप के बजाय घटना की जांच कर आवश्यक कार्यवाही व आदिवासियों की सुरक्षा पर जोर देना चाहिए।

कांग्रेस का आदिवासी हितैषी होना सिर्फ घोषणा पत्र में दिखता है। जमीनी हकीकत यह है कि बेगुनाह आदिवासियों को सिर्फ गोली और मौत नसीब हो रही है।


12-Jun-2021 9:22 PM (29)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 12 जून।
भाजपा नेताओं ने प्रदेश सरकार के ढाई साल पूरे होने पर कई मुद्दों पर घेरते हुए राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा। भाजपा नेताओं ने राज्य सरकार की गोठान योजना व कर्ज माफी को लेकर गंभीर आरोप लगाए।
कांग्रेस सरकार के ढाई वर्ष पूर्ण हो रहे हैं। इसे लेकर शनिवार को यहां भाजपा कार्यालय में  जिला भाजपा प्रभारी श्रीनिवास राव मद्दी, पूर्व मंत्री महेश गागड़ा,पूर्व विधायक डॉ. सुभाऊ कश्यप, भाजपा जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार व जिला महामंत्री सतेंद्र सिंह ठाकुर ने संयुक्त प्रेसवार्ता लेकर कांग्रेस सरकार पर खूब निशाना साधा। भाजपा नेताओं ने कांग्रेस सरकार पर प्रदेश की जनता को धोखा देने व गोठान योजना में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। नेताओं ने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में प्रमुख बिंदु में किसानों की कर्जमाफी रही है। इसे लेकर डॉ सुभाऊ कश्यप ने दावा किया कि कर्जमाफी सिर्फ कांग्रेस समर्थित किसानों के हुए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का किसान हितैषी होना महज एक ढोंग है। श्री कश्यप ने आरोप लगाया कि  2500 समर्थन मूल्य के नाम पर रकबा कम कर किसानों का अपमान किया गया हैं।
वहीं भाजपा पदाधिकारियों ने आगे कहा कि सरकार ने ढाई साल में केवल गेड़ी नाच करने का कार्य काम किया है। जबकि जमीनी कार्य कुछ नही हुआ।जमीनी स्तर पर कुछ हुआ है तो महज भूमिपूजन हुआ है। भाजपा नेताओं ने कहा कि सरकार ने गोठान योजना का बहुत प्रचार प्रसार किया गया था। लेकिन वह योजना भी शोषण,भ्रष्टाचार का अड्डा बनकर रह गई। भाजपा नेताओं ने कहा कि गंगाजल की कसम खाकर शराब बंदी का वादा करके सत्ता में आये। लेकिन आज उसके विपरित शराब बंदी के नाम पर घर मे शराब परोसने का कार्य सरकार कर रही है।

वहीं भाजपा का कहना है कि कांग्रेस ने जितने भी घोषणा किये थे वो महज जुमला बनकर रह गया है,बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, स्वसहायता समूह का कर्जा माफ,नक्सल क्षेत्र में कौशल विकास के लिए 1 करोड़ रुपये देने का वादा,आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्थायी करने और दस हजार वेतनमान देने, कोटवार, पटेल, चरवाहों को मासिक रुपये देने जैसे थोक में वादा किया गया था। लेकिन आज सरकार मुकर रही हैं।

भाजपा नेताओं ने सीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अपना राजधर्म निभाना छोड़ राहुल गांधी का धर्म निभाने में व्यस्त रहते हैं। इसी का नतीजा है। उनके असम चुनाव प्रचार में व्यस्त रहने की वजह से प्रदेश को कोरोना ने जकड़ लिया। जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए। नेताओं ने आरोप लगाया कि कोविड इंजेक्शन को लेकर प्रदेश सरकार ने भ्रम फैलाया। जो इनकी आदत है। जिसका खमियाजा जनता को भुगतना पड़ा।

इंजेक्शन को भाजपा का इंजेक्शन कहकर देश के वैज्ञानिकों का अपमान कांग्रेस ने किया है। वे प्रधानमंत्री की बात को हमेशा राजनीतिक विरोध के तौर पर लिया है। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट की बात नही मानती है तो प्रधानमंत्री की बात मानने का सवाल ही नहीं उठता।

 


11-Jun-2021 9:14 PM (31)

बीजापुर, 11 जून। कुछ दिनों से उसूर ब्लॉक से बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित पाए जा रहे थे। लेकिन अब इस ब्लॉक में कोरोना के केस कम होते जा रहे हैं। इसके उलट भैरमगढ़ ब्लॉक में इन दिनों कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ हैं। शुक्रवार को जिले से कुल 69 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। 

कोरोना के शाम तक के आये रिपोर्ट के मुताबिक शुक्रवार को उसूर ब्लॉक से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव भैरमगढ़ ब्लॉक में मिले हैं। रिपोर्ट के मुताबिक उसूर ब्लॉक में जहां 21 कोरोना संक्रमित मिले है। वही भैरमगढ़ ब्लॉक 29 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जबकि भोपालपटनम ब्लॉक में 10 एवं बीजापुर ब्लॉक में 9 कोरोना के केस दर्ज किये गए है। शुक्रवार को जिले से कोरोना के कुल 69 केस पाए गए हैं। 
इनमें से 3 का ट्रूनॉट, 2 का आरटीपीसीआर व अन्य सभी का एंटीजन किट से टेस्ट किया गया हैं। फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होम आइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं, उन्हें कोविड सेंटर में भर्ती किया गया है।


11-Jun-2021 5:55 PM (26)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 11 जून।
सिलगेर गोलीकांड मामले में आदिवासियों के मारे जाने पर आज तक कोई कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। यह सवाल जोगी कांग्रेस के प्रदेश संयुक्त महासचिव चन्द्रैया सकनी ने उठाते हुए कहा है कि यह बेहद शर्म की बात है कि आदिवासियों के साथ अत्याचार, उनकी नृशंस हत्या पर राज्य की कांग्रेस सरकार चुप्पी क्यूं साध रखी है, सच को सामने लाने वाले विपक्षी दलों और अन्य सामाजिक संगठनों को क्यों रोका जा रहा है।

प्रदेश सरकार बस्तर के भोले भाले आदिवासियों की आवाज कुचलने का प्रयास कर रही है,जबरन बिना गांव वाले के सहमति से नीजी जमीन में कैम्प लगवाने का फरमान जारी कर एवं शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलित निहत्थे ग्रामीणों पर गोली दाग कर,लाठी चलवा कर,महिला और बच्चों तक अपना जुल्म ढाने से बाज नहीं आ रही है।यह बेहद निन्दनीय है और उससे भी बढक़र बस्तर के जनप्रतिनिधि इस मामले में मौन रहकर अपने ही आदिवासी भाई बहनों को बलि चढऩे हेतु अनाथ जैसे छोड़ दिये हैं। क्या यही दिन देखने के लिये ग्रामीण आदिवासी इन लोगों को अपना प्रतिनिधि चुनकर ऊंचे बड़े पद पर बिठाये?

छत्तीसगढ़ में मुख्य विपक्षी और केंद्र के  सत्ता में काबिज भाजपा नेताओं के बयान अनुसार राज्य के कांग्रेस सरकार यदि सिलगेर मामले में लीपापोती कर रही है तो भाजपा के नेता लोग को भूपेश सरकार पर ढूलमूल रवैया का आरोप लगाने के बजाय केंद्र में बैठे मोदी सरकार से जांच कराने हेतु मांग करनी चाहिए।ताकि सच्चाई सामने आ सके और राज्य सरकार पर दोषियों के ऊपर कड़ी कार्रवाई करने हेतु बाध्य करनी चाहिए।ऐसा ना कर भाजपा के लोग सिलगेर घटना में केवल अवसर तलाश रहे हैं। आखिर निर्दोष आदिवासियों की मौत पर राजनीति क्यों हो रही है?मारे गए आदिवासियों को कब मिलेगी न्याय?
 


08-Jun-2021 9:15 PM (59)

जिला प्रशासन और ग्रामीणों के बीच सकारात्मक चर्चा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता 
बीजापुर, 8 जून।
पिछले 27 दिनों से सिलगेर में चल रहा आंदोलन बुधवार को खत्म हो सकता है। मंगलवार को जिला प्रशासन व ग्रामीणों के बीच हुई सकारात्मक चर्चा के बाद यह बात निकलकर सामने आ रही है।

दरअसल आंदोलनरत ग्रामीणों से वार्ता करने के लिए जिला प्रशासन की टीम तर्रेम पहुंची थी। वहीं आंदोलन कर रहे ग्रामीणों की ओर से एक प्रतिनिधि मंडल ने जिला प्रशासन के अफसरों से चर्चा की।  ग्रामीणों की तरफ से सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी व 8 से 10 ग्रामीण इस वार्ता में शामिल हुए। जिला प्रशासन की ओर से डीआईजी सीआरपीएफ कोमल सिंह, कलेक्टर रितेश अग्रवाल और एसपी कमलोचन कश्यप ने ग्रामीणों से चर्चा की। चर्चा लगभग दो घंटे तक चली।

ग्रामीणों की ओर से सोनी सोरी ने कहा कि कोरोना को देखते हुए उनका प्रतिनिधि मंडल बुधवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपेगा। उन्होंने इस आंदोलन को गुरुवार को खत्म करने की बात कही है। सोनी सोरी ने ये भी कहा कि कोरोनाकाल चल रहा है और कोरोनाकाल में हजारों की संख्या में ग्रामीण आंदोलन कर रहे हंै, जिससे कोरोना मरीजों की संख्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में ग्रामीणों ने इस महामारी को रोकने के लिए आंदोलन को खत्म करने पर भी विचार किया है। 

उन्होंने बताया कि ग्रामीण कोरोना टेस्ट करवाने के लिए भी प्रशासन की मदद करने की तैयारी कर रहे है। कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने भी ग्रामीणों की बातें सुनकर उन्हें आश्वासन दिया है कि शासन की सारी योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को मिलेगा, वहीं एसपी कमलोचन कश्यप ने कहा कि मंगलवार को ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल से सकारात्मक चर्चा हुई है।


06-Jun-2021 9:55 PM (40)

बीजापुर, 6 जून। जिले के उसूर ब्लॉक से  इन दिनों कोरोना के चौंकाने वाले आंकड़े लगातार सामने आ रहे हैं। बीते दिनों ही इस ब्लॉक से 70 कोरोना के केस मिले थे। आज फिर इसी ब्लॉक से 69 संक्रमित पाए गए हैं। जिले में शाम तक कुल 86 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं।

रविवार को जिले से आये कोरोना के शाम तक के डेली रिपोर्ट के मुताबिक उसूर ब्लॉक से कोरोना पॉजिटिव के 69 केस मिले हैं। इनमें पुसबाका से 34 व रासपल्ली 25 संक्रमित पाए गए हैं। जबकि गगनपल्ली से 1, उसूर से 2,  बुडग़ीचेरु से 3, गलगम से 1, इरापल्ली से 1, पेद्दागेलूर से 1 व तर्रेम से 1, केस मिले है। वही भैरमगढ़ व भोपालपटनम ब्लॉक से 4-4  एवं बीजापुर ब्लॉक से 9 कोरोना पॉजिटिव केस पाए गए हैं। इस तरह रविवार को जिले से कोरोना के कुल 86 केस दर्ज किये गए हैं।
 इनमें से  11 का टू्रनॉट व अन्य सभी का एंटीजन किट से टेस्ट किया गया हैं। ज्ञात हो कि उसूर ब्लाक इन दिनों कोरोना का हॉट  स्पॉट के रूप में तब्दील होता जा रहा है, जो प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा के लिए चिंता का सबब बन रहा है। यहां सर्वाधिक केस सिलगेर से लगे गांवों से दर्ज किए जा रहे हैं। अब फिर से इसी क्षेत्र से बड़ी संख्या में संक्रमित पाए गए हैं। फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होम आइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं, उन्हें कोविड सेंटर में भर्ती किया गया है।


05-Jun-2021 9:02 PM (36)

बीजापुर, 5 जून। जिले का उसूर ब्लॉक इन दिनों कोरोना का हार्ट स्पॉट के रूप में तब्दील होता जा रहा है। शनिवार को यहां से फिर 70 पॉजिटिव केस मिले है। जिसमें अकेला पुसबाका से 40 संक्रमित पाए गए हैं। जिले में शनिवार को  कोरोना के 99 केस पाए गए हैं।

शनिवार को जिले से आये कोरोना के शाम तक के दैनिक रिपोर्ट के अनुसार उसूर ब्लॉक में शनिवार को 70 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें से केवल पुसबाका से ही 40 संक्रमित पाए गए हैं। जबकि गगनपल्ली से 5, बासागुड़ा, लिंगगिरी, आवापल्ली, टेकमेटला व नम्बी से 2-2 तथा छुटवाई, कमलापुर, मुरदण्डा, कोरसागुड़ा, पोलमपल्ली, उसूर, पेद्दागेलूर, लंकापल्ली, चेरामंगी व तर्रेम से 1-1 केस मिले है। वही बीजापुर और भैरमगढ़ ब्लॉक में 12- 12 एवं भोपालपटनम ब्लॉक में 5 कोरोना पॉजिटिव केस पाए गए हैं। इस तरह शनिवार को जिले से कुल 99 केस दर्ज की गई हैं।  इनमें से एक 13 का टू्रनॉट व अन्य सभी का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया हैं। ज्ञात हो कि उसूर ब्लाक इन दिनों कोरोना का हॉटस्पॉट के रूप में तब्दील होता जा रहा हैं। यहां सर्वाधिक केस सिलगेर से लगे गांवों से दर्ज किए जा रहे हैं। अब इसी क्षेत्र से बड़ी संख्या में संक्रमित पाए गए हैं। फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होमआइसोलेशन में किया जा रहा है। 
जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं।
 उन्हें कोविड सेंटर में भर्ती किया गया है।


04-Jun-2021 9:11 PM (35)

बीजापुर, 4 जून। शुक्रवार को बीजापुर जिले के भोपालपटनम ब्लॉक से अच्छी और राहत देने वाली खबर आई है। यहां से शुक्रवार को एक भी कोरोना पॉजिटिव के केस नहीं मिले हैं। जबकि भैरमगढ़ ब्लॉक से 20 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिले से कुल 36 कोरोना पॉजिटिव केस दर्ज की गई हैं।  
शुक्रवार को जिले से कोरोना के शाम तक के दैनिक रिपोर्ट में भोपालपटनम ब्लॉक से एक भी कोरोना पॉजिटिव के केस दर्ज नहीं हैं। जबकि भैरमगढ़ ब्लॉक से 20 लोग कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। वही उसूर व बीजापुर ब्लॉक से 8 -8 केस मिले हैं। इस तरह शुक्रवार को बीजापुर जिले से कोरोना पॉजिटिव के कुल 36 केस सामने आए हैं। इनमें से 4 का टूनॉट व अन्य सभी का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया हैं।  फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होम आइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं, उन्हें कोविड सेंटर में एडमिड किया गया है।


04-Jun-2021 9:04 PM (51)

  गर्मियों में प्रोजेक्ट कार्य के जरिये बच्चों को शिक्षा से जोडऩे की पहल     

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 4 जून।
कोरोना माहमारी के 15 महिने से बंद पड़े कक्षाओं के कारण बच्चों की प्रभावित हुई शिक्षा को पटरी पर लाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग की पहल पर आमाराईट के नाम से समर प्रोजेक्ट कार्य के रूप मे बीजापुर विकासखण्ड में एक अभिनव पहल शुरू की गई है। 
जिला शिक्षा अधिकारी प्रमोद ठाकुर के निर्देशन में विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी मोहम्मद जाकिर खान एवं खण्ड स्त्रोत समन्वयक कामेश्वर दुब्बा मार्गदर्शन में कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक के स्कूलों में आमाराईट परियोजना का आयोजन नियमित रूप से शुरू किया गया है। इस पहल के अंतर्गत स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्रदत्त प्रोजेक्ट कार्य सभी स्कूलों में वितरित कर सभी बच्चों के लिए उपलब्ध कराया गया है जिसमें शिक्षकों के माध्यम से सभी बच्चों को उनके कक्षा के अनुरूप प्रोजेक्ट कार्य सम्पन्न कराया जा रहा है। 
बीजापुर विकासखण्ड में 77 स्कूलों में लगभग 5000 बच्चों के साथ आमाराईट परियोजना कार्य प्रारंभ किया गया है जहां बच्चों को फोटो कॉपी,व्हाट्सएप व अन्य ऑनलाइन माध्यम से प्रोजेक्ट वर्क दिये गये है। प्रोजेक्ट वर्क में सामान्य ज्ञान, कोरोना महामारी, टीकाकरण जनजागरूकता के साथ पाठ्यक्रम से संबंधित सामान्य कार्य बच्चों को दिये जा रहे हंै। ये सभी प्रोजेक्ट कार्य ग्रीष्मकालीन अवकाश में 30 जून तक विद्यार्थियो को दिये जायेंगे, जिसके तहत् सभी विद्यार्थी अपने घरे में स्वयं तथा पालको के सहयोग से दिये गये प्रदत्त कार्य को पूरा कर संस्था में जमा करेंगे। आमाराईट को लेकर क्षेत्र के बच्चों में काफी उत्साह एवं सक्रियता देखी जा रही है, आनलाईन शिक्षण की सुचारू व्यवस्था नही होने से आफलाईन मोड में ज्यादातर बच्चें प्रोजेक्ट कार्य को पूरा कर रहे है। इन गतिविधियों में खेल तथा मनोरंजन होने से आमाराईट प्रोजेक्ट बच्चों को काफी आकर्षित कर रही है। अपने आस-पास के वातावरण, गतिविधियों तथा सामान्य ज्ञान के व्यवहारिक प्रश्न होने से बच्चों की इस कार्य के प्रति रूचि सहज रूप से दिख रही है। स्कूल के आस-पास रहने वाले बच्चें आमाराईट परियोजना को लेकर काफी आकर्षित है तथा अपने शिक्षकों से निरंतर सम्पर्क कर दिये गये कार्य को उत्साह के साथ पूरा कर रहे है इस नवाचार के जरिये बच्चों की रूकी हुई शिक्षा को फिर से गति देने में सफलता हासिल हो रही है।
आमाराईट प्रोजेक्ट को सुचारू रूप से क्रियान्वयन करने के लिए विकास के समस्त शिक्षको के साथ शाला प्रबंधन समिति एवं महिला समूहो का भी सहयोग मिल रहा है। शिक्षकों के माध्यम से सभी बच्चों को परियोजना कार्य घर-घर सम्पर्क कर सरल ढंग से एवं बच्चों की सुविधा अनुसार हल करने के लिए मार्गदर्शन दिया गया है। आमाराईट कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए संकुल समन्वयक, राजेश मिश्रा, विजेन्द्र भदौरिया, आनंद टिंगे, धुर्वा सत्यम, किशोर दुर्गम, प्रेम प्रकाश चापड़ी, लोकेश्वर सिंह चैहान, दिलीप दुर्गम, बल्लूराम नेताम, रमन झा, नवल सिंह यादव, कवल सिंह यादव, राजेश सिंह एवं किरण कावरे की सक्रिय भूमिका निभा रहे है।


03-Jun-2021 9:07 PM (171)

शाम तक जिले से 78 केस
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 3 जून।
गुरुवार को फिर से उसूर ब्लाक से कोरोना पॉजिटिव के बड़े आंकड़े निकलकर सामने आये हैं। यहां 44 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जबकि जिले में कुल 78 कोरोना के पॉजिटिव केस मिले हैं।

गुरुवार को जिले से कोरोना के शाम तक के दैनिक रिपोर्ट में केवल उसूर ब्लॉक से 44 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिसमें छुटवाई से 15, बुडग़ीचेरु से 6, पामेड़ क्षेत्र से 5, राजपेटा से 3 व इंकाल, जीडपल्ली, लंकापल्ली, पोलमपल्ली, बोतेतोंग व सेन्द्रबोर से एक एक केस मिले है। बासागुड़ा में तैनात सीआरपीएफ कोबरा के भी 9 जवान संक्रमित पाए गए हैं। वहीं बीजापुर ब्लाक से 12, भैरमगढ़ ब्लाक से 20 व भोपालपटनम ब्लाक से 2 ही केस  सामने आए हैं।
  
गुरुवार को जिले से आये शाम तक के रिपोर्ट में कुल 78 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें से एक 11 का टूनॉट, 6 का आरटीपीसीआर व अन्य सभी का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया हैं। बता दें कि उसूर ब्लाक में इन दिनों कोरोना संक्रमण का दायरा बढ़ता ही जा रहा हैं। यहां सर्वाधिक केस सिलगेर इलाके से दर्ज किए जा रहे हैं। इस क्षेत्र से अब तक सौ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं।  फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होमाइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं। उन्हें कोविड सेंटर में एडमिड किया गया है।


02-Jun-2021 10:25 PM (53)

सीरियल्स, फि़ल्म के बाद वेब सीरीज़ में लीड रोल निभा रहा बीजापुर का कार्तिक

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
 बीजापुर,  2 जून। 
नक्सलगढ़ से निकलकर एक हीरा मुंबई में चमक रहा है। बीजापुर के इलमिड़ी का युवक सुपरस्टार अक्षय कुमार की फि़ल्म केसरी में दिखा। अब गुलशन ग्रोवर के साथ स्क्रीन पर अभिनय करता दिखेगा। दरअसल कार्तिक के. जी. इन दिनों अपनी हालिया रिलीज वेब सीरीज़ याराना को लेकर चर्चा में है। नक्सली घटनाओं की धुंध और दहशत के बीच मायानगरी में कार्तिक अपना भविष्य गढ़ रहा है।.

बस्तर में हीरे जैसे अभिनय छुपे हैं- कार्तिक बताते हैं कि बस्तर में टैलेंट की कमी नहीं है मगर यहां स्कोप नहीं है अभिनय और गायकी का। घर परिवार और आर्थिक सहयोग अगर मिले तो बेहतर मुकाम हासिल किया जा सकता है। बस्तर में हीरे जैसे अभिनय छुपे हैं जिनको परिवार और समाज के सहयोग से तराशा जा सकता है।

मैं बस्तर से हूं-  जब कभी मुझे पूछा जाता है कि कहां से हो तो मैं बस्तर से अपना परिचय देता हुँ। लोग गंभीर होकर पूछते हैं वही बस्तर जहां नक्सली रहते हैं। मुझे अच्छा लगता है कि मैं बस्तर से हूँ और मैं बस्तर की पहचान के साथ मुम्बई में लोगों से मिलता हूँ। बस्तर की कार्नर इलाके से निकला है कार्तिक इस नाम से साथी अभिनेता, कलाकार चर्चा करते रहते हैं।
संघर्ष के दिनों में ये भी किया-  परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत नहीं थी, जिसकी वजह से अभिनय में खासे बुरे हालातों से जूझना पड़ा। पैसे जुटाने के लिए ठेकेदार के यहां मुंशी, बीपीओ सेंटर में जॉब, ट्रेडिंग शॉप में कलर मिक्सिंग का काम भी मुझे करना पड़ा है। कुछ पैसे जुटाकर 4 साल पहले में मायानगरी की ओर चला गया। कठिन संघर्ष और दुविधा के बीच मुम्बई में रहकर मैंने अपने अभिनय के शौक को जारी रखा हुआ है।

इन प्लेटफार्म में कर रहे हैं काम- कार्तिक बताते हैं कि मैंने शुरुआती दिनों में मराठी टीवी सीरियल्स में छोटे अभिनय किये। उसके बाद सोनी टीवी के साथ सीरियल में अभिनय करने का मौका मिला जिसमे मैंने पुलिस कांस्टेबल का किरदार अदा किया। अक्षय कुमार स्टारर केसरी में मैंने एक छोटा सा किरदार निभाया है। गुलशन ग्रोवर जी के साथ एक मूवी कर रहा हूं, जो दोनो हॉरर मूवी अभी रिलीज़ होने वाली है। अभी जो सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट है मेरे जीवन का वो है एमएक्स- प्लेयर में वेब सीरीज याराना जिसमे जो दो दोस्तों की कहानी है जिसमे मैंने लीड रोल प्ले किया है। फस्र्ट सीजन में 2 एपिसोड रिलीज हुआ है जिसको अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। 

मौका मिला तो बस्तर पर मूवी बनाऊंगा- कार्तिक बताते हैं कि बस्तर में बहुत सी कहानियां हैं जिन पर अच्छी मूवी बनाई जा सकती है। अभी मुझे 4 साल मुम्बई में हुए हैं साथी कलाकारों और मेरे निर्देशकों से मैं इस बारे में चर्चा करता हूँ। मुझे कभी अवसर मिलेगा तो निश्चय ही मैं मेरे अपने बस्तर के किसी अच्छे पहलू की कहानी पर मूवी जरूर बनाने की कोशिश करूंगा।
 


02-Jun-2021 10:20 PM (51)

बीजापुर, 2 जून। बुधवार को एक बार फिर उसूर ब्लॉक से आये कोरोना संक्रमितों के ताजे आंकड़े ने प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। सिलगेर इलाके के नरसापुर से मिले कोरोना संक्रमितों के बाद अब उसी इलाके के गगनपल्ली से 27 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। जिले में कुल 61 केस सामने आए हैं। 

बुधवार को कोरोना की  शाम तक के दैनिक रिपोर्ट में बुधवार को उसूर ब्लाक से कुल 33 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिसमें केवल गगनपल्ली के पटेलपारा से 22 व आबापारा से 5 कोरोना पॉजिटिव मिले हंै। 

जबकि लिंगगिरी, तर्रेम, भण्डारपाल, पीएचसी बासागुड़ा से एक एक व पामेड़ क्षेत्र के 2 केस है। वही भैरमगढ़ ब्लाक से 16, बीजापुर ब्लाक से 10 और भोपालपटनम ब्लाक से महज 2 केस मिले हैं। बुधवार को जिले से आये शाम तक के रिपोर्ट में कुल 61 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें से एक ग्रामीण का टूनॉट व अन्य सभी का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया हैं। 

ज्ञात हो कि उसूर ब्लाक में इन दिनों कोरोना संक्रमण का दायरा बढ़ता जा रहा हैं। यहां सर्वाधिक केस सिलगेर इलाके से दर्ज किए जा रहे हैं। इस क्षेत्र से अब तक सौ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं।  फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होम आइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं। उन्हें कोविड सेंटर में एडमिड किया गया हैं।
 


01-Jun-2021 8:28 PM (31)

बीजापुर, 1 जून। जिले में मंगलवार को शाम तक 36 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें सर्वाधिक बीजापुर ब्लॉक से 13 संक्रमित पाए गए हैं।

बीजापुर जिले में मंगवार की शाम तक के आये दैनिक रिपोर्ट के मुताबिक भैरमगढ़ ब्लॉक में 12, भोपालपटनम ब्लॉक में 3, उसूर ब्लॉक में 8 एवं सर्वाधिक बीजापुर ब्लॉक में 13 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। संक्रमित पाए गए इन लोगों में 6 का टू्रनॉट व अन्य सभी एंटीजन किट द्वारा टेस्ट किया गया।

फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होमआइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं, उन्हें कोविड सेंटर में एडमिड किया गया है।


01-Jun-2021 7:59 PM (45)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भोपालपटनम, 1 जून।  कोरोना  पॉजिटिव शिक्षक ने कोविड वार्ड में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या का कारण अभी पता नहीं चल पाया है

पुलिस  के अनुसार नरेंद्र मिच्चा (41 वर्ष) कोंगूपल्ली शनिवार को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भोपालपटनम के रुद्राराम कोविड सेंटर में भर्ती किया गया था । उसने कल शाम 7 बजे कोविड सेंटर के बाथरूम में गमछे को गले बांधकर आत्महत्या कर ली।

 बीएमओ डॉ. अजय रामटेके ने बताया कि उस वार्ड में और भी लोग भर्ती थे। टीआई विनोद एक्का ने बताया कि शुरुआती जांच में पारिवारिक कारण बताया जा रहा है मृतक पेशे से शिक्षक रहे हैं और उनके घर में उनकी बंटी की भी तबियत खराब होने जानकारी मिली है।


31-May-2021 9:08 PM (34)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 31 मई। सोमवार को उसूर ब्लॉक के नरसापुर में एक बार फिर कोरोना वायरस फूटा है। इस बार यहां अलग-अलग गांव से नहीं बल्कि नरसापुर के एक ही पारा से 2 दर्जन ग्रामीण कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक सोमवार को आये जिले के कोरोना के दैनिक रिपोर्ट ने एक बार फिर प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा के लिए चिंता पैदा कर दी है। रिपोर्ट के मुताबिक उसूर ब्लाक के नरसापुर में केवल बिल्लीपारा से 24 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। दो दिन पहले ही नरसापुर क्षेत्र से कोरोना के 48 पॉजिटिव केस मिले थे। सोमवार को फिर से इसी क्षेत्र से बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमितों का मिलना प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा के लिए चिंता का सबब बन गया है।

यहां सभी संक्रमित ग्रामीणों का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया है। इसके अलावा बासागुड़ा से 5 पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें 4 सीआरपीएफ के जवान हैं। वहीं बीजापुर ब्लाक में 16 पॉजिटिव केस मिले हैं। इनमें से 11 जिला मुख्यालय के एवं 5 गंगालूर से हैं। भोपालपटनम ब्लाक से 3 व भैरमगढ़ ब्लाक से 14  पॉजिटिव केस सामने आए हैं। बीजापुर जिले में सोमवार की शाम तक के रिपोर्ट में कुल 62 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। 

इनमें से 12 लोगों का टूनॉट व अन्य सभी का एंटीजेन किट से टेस्ट किया गया। फिलहाल सभी संक्रमितों का उपचार होमाइसोलेशन में किया जा रहा है। जो गंभीर लक्षण वाले मरीज हैं, उन्हें कोविड सेंटर में एडमिड किया गया हैं।


Previous123456789Next