छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Previous1234Next
20-Sep-2020 7:42 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 20 सितंबर। भोपालपटनम जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को हटाने सरपंच व सचिव संघ लामबंद हो गए हंै। सीईओ को तत्काल पद से हटाने की मांग को लेकर उन्होंने सीईओ जिला पंचायत पोषण लाल चंद्राकर को ज्ञापन सौंपा है।

 भोपालपटनम ब्लॉक के सरपंच  व सचिव संघ ने शनिवार को बीजापुर पहुंचकर जिला पंचायत सीईओ से मिलकर उन्हें भोपालपटनम जनपद पंचायत के सीईओ को हटाई की मांग करते हुए उन पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि जनपद पंचायत भोपालपटनम के डिप्टी कलेक्टर मनोज बंजारे के द्वारा पूरे ग्राम पंचायत के सरपंच को मानसिक रूप से प्रताडि़त करते है, एवं अभी तक कोई काम का प्लानिंग नहीं किए हंै और हर कार्य में बाधा पहुंचा रहे है ं। कोविड 19 के संकटकाल के समय शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं का संचालन ठीक ढंग से नहीं किया जा रहा है। साथ ही योजना के बारे में गलत जानकारी  कलेक्टर बीजापुर को लिख के दे रहे हैं । सीईओ श्री बंजारे द्वारा आज तक 3 माह से कोई बैठक नहीं लिया गया।  समस्त ग्राम पंचायतों का कोई भी निर्माण कार्य जाँच कर कुछ ना कुछ निर्माण कार्य में त्रुटि निकलकर पेमेट नहीं दिया जाता है और न ही नोटिस दिया जाता है। स्वयं कार्य करके भ्रष्टाचार करने का निर्णय ले रहे है। सीईओ जनपद पंचायत के रवैये के कारण क्षेत्र मेंं ग्रामीण विकास बाधित हो रहा है।

सरपंच व सचिवों ने कहा कि  जल्द ही उनकी मांगोंं को पूरा नहीं  किया गया तो वे आगामी दिनों में  आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जाएंगे।


20-Sep-2020 3:47 PM

जल्द नहीं हटाने पर दी आंदोलन की चेतावनी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 20 सितंबर। भोपालपटनम जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को हटाने सरपंच व सचिव संघ लामबंद हो गए हंै। सीईओ को तत्काल पद से हटाने की मांग को लेकर उन्होंने सीईओ जिला पंचायत पोषण लाल चंद्राकर को ज्ञापन सौंपा है।

भोपालपटनम ब्लॉक के सरपंच  व सचिव संघ ने शनिवार को बीजापुर पहुंचकर जिला पंचायत सीईओ से मिलकर उन्हें भोपालपटनम जनपद पंचायत के सीईओ को हटाई की मांग करते हुए उन पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि जनपद पंचायत भोपालपटनम के डिप्टी कलेक्टर मनोज बंजारे के द्वारा पूरे ग्राम पंचायत के सरपंच को मानसिक रूप से प्रताडि़त करते है, एवं अभी तक कोई काम का प्लानिंग नहीं किये है और हर कार्य में बाधा पहुंचा रहे है । कोविड 19 के संकटकाल के समय शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं का संचालन ठीक ढंग से नहीं किया जा रहा है। साथ ही योजना के बारे में गलत जानकारी  कलेक्टर बीजापुर को लिख के दे रहे हैं । सीईओ श्री बंजारे द्वारा आज तक 3 माह से कोई बैठक नहीं लिया गया।  समस्त ग्राम पंचायतों का कोई भी निर्माण कार्य जाँच कर कुछ ना कुछ निर्माण कार्य में त्रुटि निकलकर पेमेट नहीं दिया जाता है और न ही नोटिस दिया जाता है । स्वयं कार्य करके भ्रष्टाचार करने का निर्णय ले रहे है । सीईओ जनपद पंचायत के रवैये के कारण क्षेत्र में ग्रामीण विकास बाधित हो रहा है। 

सरपंच व सचिवों ने कहा कि  जल्द ही उनकी मांगों को पूरा नही  किया गया तो वे आगामी दिनों में  आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जाएंगे।

 


19-Sep-2020 9:04 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बीजापुर, 19 सितंबर। भारत के नियाग्रा के रूप में प्रसिद्ध चित्रकोट और तीरथगढ़ जैसे कई जलप्रपात बस्तर के जंगलों में है। इनमें से कई जलप्रपात अब भी रोशनी में नहीं आ सके हंै। हालांकि आदिवासियों को इन झरनों के बारे में कई वर्षों से जानकारी है। लेकिन आम पर्यटकों की पहुंच इन झरनों तक नहीं होने से बाहर के कोई पर्यटक यहां तक नहीं पहुंच पाते।

बीजापुर जिले के लंकापल्ली गांव में एक मनमोहक झरना लंकापल्ली जलप्रपात है। बीजापुर जिला मुख्यालय से इस जलप्रपात की दूरी लगभग 44 किमी है। नक्सली क्षेत्र होने के चलते लोग इस झरने के तरफ आ नहीं पाते। लंकापल्ली जलप्रपात के घने जंगलों और खूबसूरत पहाड़ों के बीच करीब 100 फ़ीट ऊपर से पानी गिरते हुए खूबसूरत जलप्रपात का दृश्य दिखाई देता है। यहां का दृश्य इतना मनोरम और सुंदर दिखाई देता है कि जो भी पर्यटक इस झरने का दीदार करता है,वह दुबारा यहां आने की इच्छा जरूर जताता है।

ऐसे पहुंचे लंकापल्ली जलप्रपात

 बीजापुर जिला मुख्यालय से 30 किमी का सफर कर आवापल्ली तहसील पहुंचेंगे। आवापल्ली से 10 किमी का सफऱ कर इलमिड़ी। फिर इलमिड़ी से 3 किमी का सफर कर लंकापल्ली गांव। इस गांव से 3 किमी का पैदल सफर कर लंकापल्ली जलप्रपात तक पहुंचा जा सकता है और आप जब इस झरने पर पहुंचेंगे तो आपकी पूरी थकान एक क्षण में गायब हो जाएगी।

ग्रामीणों की मदद से पहुंचे लंकापल्ली जलप्रपात

जब पत्रकारों की टीम अपने सफर पर निकली तो हमारे सामने दो नदियों को पार करना था और इन नदियों से हमें अपने दुपहिया वाहनों को भी पार करना था। बरसात की वजह से इन नदियों का जलस्तर बढ़ चुका था, लेकिन हमने हार नहीं मानी और ग्रामीणों ने हमारी वाहनों को नदी के उस पार पहुंचाया और ग्रामीण हमारे गाइड बने और हमें लंकापल्ली जलप्रपात पहुंचाया।

साल भर जलप्रपात का दीदार करने के लिए आते हंै लोग

इस लंकापल्ली जलप्रपात का दीदार करने के लिए साल भर हजारों की संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। जिसमें ज्यादातर जिले के और बस्तर के युवा पहुंचते हंै। नव वर्ष में युवाओं का पिकनिक स्पॉट बन जाता है यह जलप्रपात। बारिश के महीने में अपनी सुंदरता से यह जलप्रपात सबको अपनी और आकर्षित करता है।

 


15-Sep-2020 9:50 PM

बीजापुर, 15 सितंबर। यहां सीएएफ की पायनियर प्लाटून में पदस्थ एक आरक्षक पिछले तीन दिनों से लापता है। जवान का सुराग पाने में पुलिस के हाथ अब तक खाली है। मिली जानकारी के मुताबिक बिलासपुर निवासी सीएएफ जवान मल्लूराम सूर्यवंशी रविवार की सुबह 5 बजे से बीजापुर के नए पुलिस लाइन से फरार है। बताया गया है कि जवान पिछले कुछ दिनों से मानसिक तनाव से गुजर रहा था। साथ उसकी मनोदशा भी ठीक नहीं थी। इधर लापता जवान की पतासाजी में पुलिस जुटी हुई है। लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली है।


15-Sep-2020 9:25 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 15 सितंबर। गंगालूर क्षेत्र के ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए रैली निकाली। ग्रामीणों ने इस बार कोरोना का अफवाह फैलाकर उगाही करने का आरोप लगाया है। इतना ही नहीं सीएमएचओ को बदलने की मांग भी की है।

मंगलवार को बीजापुर ब्लाक के गंगालूर क्षेत्र के  चेरपाल, गंगालूर, पदेडा, सावनार, पालनार, कोरचोली, मनकेली, गोरना व बुडला पुसनार के सैकड़ों ग्रामीणों ने गंगालूर से पामलवाया तक एक रैली निकाली। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि गंगालूर क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग के लोग बिना कोरोना लक्षण वालों को बेवजह उठा लाकर अस्पतालों में भर्ती कर रहे हैं। इतना ही नहीं उनका खाने-पीने व इलाज भी ढंग से नहीं किया जा रहा है।

ग्रामीणों का आरोप है कि सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना का अफवाह फैलाकर उसके नाम से अवैध वसूली की जा रही है। ग्रामीणों का कहना था कि इससे पूर्व भी कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन को ज्ञापन दिया था। किंतु उस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

इधर, आज सौंपे गए ज्ञापन में ग्रामीणों ने मांग की है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की जगह नए प्रभारी नियुक्त किया जाए, उप स्वास्थ्य केंद्र गंगालूर के प्रभारी सहित वर्तमान के सभी स्टाफ को हटाकर नए डॉक्टर और स्टाफ की नियुक्ति किया जाए, वहीं चेरपाल उप स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी एवं स्टाफ को तत्काल हटाकर नए डॉक्टर व स्टाफ की नियुक्ति किया जाए। कोरोना संक्रमण के चलते ग्रामीणों की रैली पामलवाया में ही रोक दी गई। यहां से प्रशासनिक अफसर ग्रामीणों के बीच पहुंचे और उनकी मांगों का ज्ञापन लिया।


15-Sep-2020 9:22 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 15 सितंबर। जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा डोर-टू-डोर जाकर सर्दी-खांसी, बुखार आदि लक्षण वाले व्यक्तियों का सर्वेक्षण करने सहित उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। वहीं इन लक्षणों वाले व्यक्तियों को दवाई देने के साथ ही होम क्वॉरंटीन में रहने सहित सजगता संबंधी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने की समझाईश दी जा रही है। एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा अन्य प्रांत या जिलों से आने वाले लोगों का सर्वेक्षण करने सहित सर्दी-खांसी, बुखार लक्षणों वाले व्यक्तियों का कोरोना जांच कर इन्हें होम क्वॉरंटीन में अनिवार्य रूप से रहने समझाईश दी जा रही है।

4 सितम्बर को जिले में कुल 3986 परिवारों का डोर-टू-डोर सर्वेक्षण किया गया, जिसमें 65 व्यक्तियों में सर्दी-खांसी तथा बुखार के लक्षण पाये गये। इन सभी लोगों का स्वास्थ्य जांच कर उन्हे नि:शुल्क दवाई उपलब्ध कराई गई। वहीं उक्त सभी व्यक्तियों को एहतियात बरतने सहित होम क्वारंटीन में रहने कहा गया। एक्टिव सर्वलांस दलों द्वारा भैरमगढ़ ब्लॉक में 1179 परिवारों, बीजापुर ब्लॉक में 388, उसूर ब्लॉक में 407 तथा भोपालपटनम ब्लॉक में 1124 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया। वहीं नगर पालिका परिषद बीजापुर सहित नगर पंचायत भैरमगढ़ एवं भोपालपटनम में कुल 620 परिवारों का डोर-टू-डोर सर्वेक्षण किया गया। एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा उक्त सर्वेक्षित सभी परिवारों के लोगों को कोविड-19 के संक्रमण संबंधी सलाह दी गई। वहीं बुखार या ठंड लगने, थकान, शरीर में दर्द, सिर दर्द, स्वाद या सुंगध का पता नहीं लगने, गले में खरास, नाक बहने, उल्टी-दस्त होने पर तत्काल नजदीकी कोरोना जांच केन्द्र में जाकर जांच कराये जाने की समझाईश दी गई।

ज्ञातव्य है कि जिले में जिला अस्पताल सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भोपालपटनम, आवापल्ली, गंगालूर, भैरमगढ़ और नेलसनार में कोविड-19 की जांच सुविधा उपलब्ध है। इसके साथ ही हरेक ब्लॉक में दो-दो मोबाइल टीम द्वारा कोविड-19 का परीक्षण किया जा रहा है।


13-Sep-2020 10:14 PM

बीजापुर, 13 सितंबर। यहां से तीन किमी दूर कोतापल के जंगल में एक आरक्षक का शव पेड़ पर लटका हुआ मिला। पुलिस ने जवान का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर थाना में पदस्थ आरक्षक किशोर अजमेरा निवासी गोटाईगुड़ा भोपालपटनम की लाश रविवार की सुबह कोतापल के जंगल में लटकी हुई मिली। इसकी खबर लगने के बाद पुलिस ने मौके पर जाकर शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। टीआई शशिकांत भारद्वाज ने बताया कि घटना का कारण अभी पता नहीं लग पाया है। पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है।


13-Sep-2020 9:37 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 13 सितंबर। जिले में कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु एक्टिव सर्विलांस दलों द्वारा घर-घर जाकर सर्दी, खांसी, बुखार आदि लक्षण वाले व्यक्तियों का सर्वेक्षण करने सहित उनका स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है। इसके साथ ही अन्य प्रांत या जिलों से आने वाले लोगों का सर्वेक्षण किया जा रहा है तथा उक्त लक्षण वाले व्यक्तियों का कोरोना जांच किया जा रहा है। इसी कड़ी में 12 सितम्बर को जिले में कुल 4660 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया, जिसमें 181 लोगों में सर्दी, खांसी तथा बुखार के लक्षण पाये गये। इन सभी लोगों का जांच कर उन्हें दवाई उपलब्ध कराई गई।

सर्विलांस दलों द्वारा 12 सितम्बर को नगरपालिका परिषद बीजापुर में 590, नपं भैरमगढ़ में  99 तथा नपं भोपालपटनम में 66 परिवारों का घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया गया। वहीं भोपालपटनम ब्लाक में 1753, बीजापुर ब्लाक में 392, भैरमगढ़ में  1345 तथा उसूर ब्लाक में 415 परिवारों का डोर-टू-डोर सर्वे किया गया। उक्त सर्वेक्षित सभी परिवारों के लोगों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु परामर्श दी गई।

 कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम संबंधी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने का आग्रह जनसाधारण करते हुए कहा है कि जिले के किसी भी नागरिक को सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत आदि लक्षण दिखायी देने पर तुरंत अस्पताल पहुंच कर कोरोना की जांच कराएं। कोरोना वायरस के अन्य लक्षण भी संक्रमित होने के बाद आम तौर पर 2 दिन से लेकर 14 दिन के भीतर उभरने लगते हैं, जिसमें बुखार या ठंड लगना, थकान, शरीर में दर्द, सिर दर्द, स्वाद व सुगंध का न आना, गले में खरास, नाक बहना, उल्टी एवं दस्त का होना भी कोरोना वायरस के लक्षण हैं। इस प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत नजदीकी कोरोना जांच केन्द्र में पहुंचकर कोरोना जांच करायें। कोरोना संक्रमण से मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, बचाव ही सबसे आसान तरीका है। इस दिशा में मास्क पहनें, सेनेटाईजर का उपयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। भीड़ वाले जगहों में जाने से बचें और सजगता के साथ अपने आप का बचाव करें। कोरोना के लक्षण दिखायी देने पर बिना किसी भय के तत्काल अपना परीक्षण अवश्य करवायें।

  जिला अस्पताल बीजापुर सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भोपालपटनम, आवापल्ली, गंगालूर, भैरमगढ़ और नेलसनार में कोविड-19 की जांच की जा रही है। इसके साथ ही जिले के प्रत्येक ब्लाक में दो-दो मोबाईल टीम के द्वारा कोविड-19 का परीक्षण किया जा रहा हैं। जिले के सभी नागरिकों से आग्रह है कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए जिला प्रशासन को सक्रिय सहयोग प्रदान करें। इसके साथ ही जनसाधारण किसी भी प्रकार की भ्रामक जानकारी या अफवाह से बचें और अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के बारे में जानकारी प्रदान करें।


13-Sep-2020 9:33 PM

राजेश और रमेश को भाई-बहनों ने पढ़ाई के लिए बढ़ाया मनोबल

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 13 सितम्बर। जिले के धुर नक्सल प्रभावित इलाके के सामान्य कृषक परिवारों के बच्चों ने देश की सर्वोच्च इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन्स को क्रेक कर अपनी मेहनत और लगन को साबित कर दिखाया है। वहीं साधनों की कमी तथा दूरस्थ इलाके से होने के बावजूद इस सर्वोच्च इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में अपना परचम लहराकर अन्य बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत बन गए हैं।

 जिले के एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय भैरमगढ़ में अध्ययनरत अनिल तेलम, राजेश गोटा और रमेश वेंजाम जेईई मेन्स क्रेक करने के बाद अब जेईई एडवांस की परीक्षा में सम्मिलित होंगे, ताकि इन्हें आईआईटी, एनआईटी जैसी उच्च प्रौद्योगिकी संस्थानों में पढ़ाई करने का अवसर मिल सके। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के इन बच्चों की सफलता पर उन्हें बधाई देने के साथ ही जेईई एडवांस परीक्षा की बेहतर तैयारी और इस परीक्षा में सफल होने के लिए शुभकामनाएं दी है। उन्होंने उक्त बच्चों की अच्छी तैयारी के लिए आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराने का निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिया है।

जेईई मेन्स क्वालीफाई करने वाले इन बच्चों में भोपालपट्टनम निवासी राजेश गोटा और बीजापुर एरमनार निवासी रमेश वेंजाम ने बताया कि उनकी पढ़ाई-लिखाई उनके भाई-बहन करवा रहे हैं। राजेश के पिताजी का निधन हो चुका है और बड़े भाई नागेश गोटा एवं महेश गोटा खेती-किसानी कर उसकी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे रहे हैं। राजेश भी अपने भाईयों के सपने को साकार करने के कृतसंकल्प है और पढ़ाई पर पूरा ध्यान केंद्रित कर दिया है। उसने बताया कि अब तो हर हालत में जेईई एडवांस की बेहतर तैयारी करना है।

एरमनार के रमेश वेंजाम तो अपने माता लक्ष्मी वेंजाम तथा दो छोटी बहनों विमला एवं रमीला के साथ समय-समय पर खेती-किसानी करते हैं। इसके बावजूद पढ़ाई के प्रति पूरी तरह समर्पित हैं। रमेश ने बताया कि उसके छोटी बहन विमला और रमीला गुदमा तथा धनोरा में क्रमश: 10 वीं और 8 वीं पढ़ रहे हैं। रमेश ने अपनी सफलता के लिए गुरुजनों के प्रेरणा तथा मार्गदर्शन का स्मरण करते हुए बताया कि शिक्षकों ने उसे निरन्तर आगे बढऩे के लिये प्रोत्साहित किया, जिससे वह अच्छी तैयारी कर पाया।

जिले के आवापल्ली निवासी अनिल तेलम के पिता शिक्षक हैं, इसलिए वह अपने लक्ष्य के प्रति सजग है और जेईई एडवांस की योजनाबद्ध ढंग से तैयारी कर परीक्षा में सफल होकर इंजीनियरिंग की उच्च शिक्षा हासिल करने कटिबद्ध है।

 इन बच्चों के प्राचार्य  गोविंद राम जैन ने बताया कि घोर माओवाद प्रभावित इलाके के इन बच्चों की सफलता से हम सभी खुश हैं, लेकिन अब इनके जेईई एडवांस परीक्षा की तैयारी तथा इस परीक्षा में सफलता पर हम लोगों का ध्यान है। इस ओर बच्चों को आवासीय सुविधा उपलब्ध करवा कर उन्हें बेहतर तैयारी करवाएंगे।

जिले के सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्रीकांत दुबे इन बच्चों की सफलता से प्रभावित होकर कहते हैं कि अब उक्त बच्चों को जेईई एडवांस परीक्षा की तैयारी करवाने पूरा ध्यान देंगे, इस दिशा में उक्त बच्चों को उनके शिक्षकों के साथ ही अन्य विशेषज्ञ शिक्षकों से मार्गदर्शन सुलभ कराया जाएगा।


13-Sep-2020 9:15 PM

नक्सली घटना पर संदेह-एसपी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 13 सितंबर।
आज तोयनार थाना क्षेत्र के ग्राम दुपेली से 2 किमी आगे मिड़ते में एक सहायक आरक्षक पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने दिन दहाड़े कातिलाना हमला कर दिया। धारदार हथियारों से किये गए हमले में जवान बुरी तरह से घायल हो गया है। उन्हें बेहतर उपचार के लिए रायपुर भेज दिया गया है।

इस संबंध में एसपी कमलोचन कश्यप ने कहा कि नक्सली घटना पर संदेह है। परिवारों से इस मामले पर बात हुई है। आपसी रंजिश का मामला भी हो सकता है। मामला दूसरा लग रहा। पूरे मामले की पुलिस तफ्तीश कर रही है, अभी तक इस मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

कुटरू थाना में पदस्थ केतुलनार निवासी सहायक आरक्षक लच्छू माड़वी पर कुछ अज्ञात हमलावरों ने जानलेवा हमला कर बुरी तरह से घायल कर दिया। घायल जवान के खून से लथपथ होने के बाद बेहोशी की हालात में गिर जाने से मृत समझ कर हमलावर भाग खड़े हुए। 

गंभीर अवस्था में जवान को बेहतर इलाज के लिए बीजापुर लाने के बाद गंभीर स्थिति को देखते हुए हेलीकॉप्टर से रायपुर भेज दिया गया है। जवान की स्थिति नाजुक बनी हुई है। घटना रविवार दोपहर 12 बजे के करीब मिड़ते चौक में हुई है। पुलिस इसे नक्सली घटना पर संदेह कर तफ्तीश में जुटी है। घटना में 8 से 9 अज्ञात हमलावरों की संख्या में शामिल होना बताया जा रहा है। 

घायल जवान 2 माह से बीजापुर पुलिस लाइन में डीआरजी के रूप में ड्यूटी कर रहा है। वर्तमान में बीजापुर के जेल बाड़ा के पास रहता है। जवान लच्छू माडवी आज अपने मोटरसाइकिल से मिड़ते गांव किसी काम से जा रहा था, मिड़ते चौक के पास अचानक 8 से 9 की संख्या में अज्ञात हमलावरों ने जवान के ऊपर धारदार हथियार से हमला कर दिया। 

बताया जा रहा है कि घटना में 3 महिला भी शामिल थीं। जवान बुरी तरह से घायल होने बाद गिर पड़ा। लोगों की चीख पुकार करने के बाद बेहोशी की हालत में पड़े जवान को मृत समझकर हमलावर भाग खड़े हुए।

घटना की जानकारी मिलने के बाद तुरन्त पुलिस मौके पर पहुंची। जवान का खून काफी निकल चुका था। बताया गया है सिर पर बहुत ज्यादा चोट पहुची है। जिससे जवान संभल नहीं पाया और गिर पड़ा। पुलिस इलाज के लिए बीजापुर लेकर आई। फिलहाल जवान की हालत नाजुक बताई जा रही है। उन्हें बेहतर उपचार के लिए रायपुर भेज दिया गया है। जवान का मोटरसाइकिल के साथ साथ मोबाइल भी हमलावर अपने साथ ले गए।


13-Sep-2020 8:57 PM

बीजापुर, 13 सितंबर। यहां से तीन किमी दूर कोतापल के जंगल में एक आरक्षक का शव पेड़ पर लटका हुआ मिला। पुलिस ने जवान का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर थाना में पदस्थ आरक्षक किशोर अजमेरा निवासी गोटाईगुड़ा भोपालपटनम की लाश रविवार की सुबह कोतापल के जंगल में लटकी हुई मिली। इसकी खबर लगने के बाद पुलिस ने मौके पर जाकर शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। टीआई शशिकांत भारद्वाज ने बताया कि घटना का कारण अभी पता नहीं लग पाया है। पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है।


13-Sep-2020 2:45 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बीजापुर, 13 सितंबर।
आज सुबह तोयनार थाना क्षेत्र के मिड़ते गांव में नक्सलियों ने जवान पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया। जवान की हालत नाजुक है। घटना की पुष्टि बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने की है।

रविवार सुबह करीब 11 बजे मिड़ते गांव में नक्सलियों ने जवान लच्छू माड़वी पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर भाग गए। सडक़ पर घायल जवान को मौके पर पहुंच पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जवान की हालत नाजुक है। घायल जवान जिला मुख्यालय जेल बाड़ा का निवासी है। 


13-Sep-2020 2:20 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भोपालपटनम, 12 सितंबर।
भोपालपटनम ब्लाक में आये दिन बिजली की आंख मिचौली से नगरवासी एवं क्षेत्रवासियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि जब शिकायत शासन प्रशासन को की जाती है तब समस्या का समाधान तो हो जाता है फिर उसके बाद समस्या जस का तस बन जाती है। 

क्षेत्रवासियों का कहना है कि पिछले 5-6 दिनों से बिजली का दिन रात आना जाना लगातार हो रहा है। सितंबर का आगमन होते ही तेज धूप पड़ रही है जिससे दिन में उमस अधिक पड़ रही है। वर्तमान में लोग कोविड 19  कोरोना महामारी के चलते शासन-प्रशासन के नियमों लॉकडाउन का पालन करते अपने अपने घरों में रह रहे हैं जिससे दिन में उमस और रात में गर्मी एवं मच्छरों से परेशान हो रहे हैं। बिजली कभी रात 11 बजे कभी 12 बजे गुल हो जाती है और सुबह 5 या 6 बजे ही आती है। 

 इस मामले की जानकारी लेने स्थानीय सबस्टेशन जाकर पूछने पर वहां के कर्मचारी कहते हैं कि आगे से अवरोध है। ब्लाक में क्षेत्र लोग दूर-दूर से बैंक एवं सरकारी कार्यलयों में काम लेकर आते है उन्हें मूल प्रतियों का फोटो कॉपी भी कराना पड़ता है जिससे ग्रामीण बिजली का इंतजार करते करते शाम हो जाने से अपने गाँव चले जाते हैं जिससे उनका दिन बेकार चला जाता है।  इधर नगर पंचायत में लगी स्ट्रीट लाइट माह में बड़े मुश्किल से 10 दिन ही जलती है। इन अव्यवस्थाओं से लोग परेशान हैं, वहीं मूलभूत सुविधाओं को जनता तक सही ढंग से नहीं पहुंचा पाने से प्रशासन से आमजन खफा है।

भोपालपटनम के जेई  एनएस राठिया ने बताया कि हेवीलाइट के कारण इंसुलेटर पंचर हो जाता है जिसके कारण प्रत्येक पोल को चेक करना पड़ता है। फाल्ट जल्दी नहीं मिलता है ये हेवीलाइट का पठार क्षेत्र मद्देड़ और पेगड़ापल्ली के बीच का है। पटनम मद्देड़ के बीच का फाल्ट को जल्दी सुधार होता है अगर गीदम के आसपास फाल्ट होने से मैं कुछ नहीं कर सकता।
 


12-Sep-2020 10:25 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भोपालपटनम, 12 सितंबर। कोरोना से शिक्षक की मौत के बाद ग्रामीणों में दहशत है। पालक बच्चों को मोहल्ला क्लास में नहीं भेज रहे हैं, वहीं शिक्षकों को भी गांव आने पर मनाही कर दी है।

 कोरोना संक्रमण काल में स्कूल बंद हैं, जिसके विकल्प पर पढ़ाई तुम्हारे पारा अंतर्गत गली मोहल्ला पढ़ाई का संचालन विकासखंड भोपालपटनम के समस्त ग्रामों में किया जा रहा है। गांव से बच्चे भी अध्यापन के लिए गली मोहल्ला स्कूल में आ रहे हैं।

विगत दिवस कोरोना संक्रमण के कारण पूर्व माध्यमिक शाला संड्रापल्ली के शिक्षक चिडेम धरमैया का निधन हो गया। स्व. धरमैया द्वारा भी गली मोहल्ला पढ़ाई का संचालन किया जाता था। उनकी कक्षा में यापला, भट्टीगुड़ा, संड्रापल्ली एवं अन्य गांवों से बच्चे आकर अध्यापन करते थे। शिक्षक की कोरोना से मौत की खबर सुनकर आसपास के ग्रामीणों ने गली मोहल्ला पढ़ाई में बच्चों को भेजना बंद कर दिया है।  सुबह जैसे ही संड्रापल्ली के शिक्षक गांव में पहुंचे तो ग्रामीणों ने गांव में ना आने की सख्त हिदायत दी गई है। जिसके कारण गली मोहल्ला पढ़ाई प्रभावित होता दिख रहा है।

विकासखंड के सभी शिक्षक अपनी जान जोखिम में डालकर गली मोहल्ला पढ़ाई का संचालन कर रहे हैं। किंतु कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सारे शिक्षक डर महसूस कर रहे हैं।

पालक भी अपने बच्चों को भेजने से डर रहे हैं। उक्त विज्ञप्ति छत्तीसगढ़ तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के जिला शाखाध्यक्ष प्रांतीय सचिव आनकारी सुधाकर मुख्यालय भोपालपटनम ने जारी की है।


12-Sep-2020 10:17 PM

छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 12 सितम्बर। जिला प्रशासन द्वारा संचालित महत्वाकंक्षीय परियोजना छू लो आसमान कोचिंग संस्था ने कोरोना संकट काल में भी प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रतियोगी परीक्षा में उत्कृष्ट परिणाम देते हुए बीजापुर जिले का गौरव बढ़ाया है, और अपने नाम के अनुरूप आदिवासी क्षेत्र के बच्चों को कामयाबी के आसमान छूने में सहायक साबित हुआ है।

राष्ट्रीय स्तर के आयोजित प्रवेश परीक्षा जेईई मेन 2020 का परिणाम 11 सितंबर को घोषित किया गया जिसमें संस्था के 33 फीसदी विद्यार्थियों ने क्वालीफाई किया। इस परीक्षा में संस्था के कक्षा बारहवीं, गणित संकाय के अध्ययनरत 10 विद्यार्थी शामिल हुए थे जिसमें 3 विद्यार्थी भार्गव साहू, मुरलीधर कावटी और हंसा मारपल्ली ने कामयाबी हासिल की है।

ज्ञात हो कि यह परीक्षा केंद्र सरकार की राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा प्रतिवर्ष में दो बार जनवरी तथा अप्रैल में आयोजित कराई जाती है। कोविड 19 महामारी के कारण अप्रैल की परीक्षा को तिथि को आगे बढ़ाकर इसी माह के 1 से 6 सितंबर को आयोजित किया गया था।

संस्था के प्राचार्य अंगनपल्ली बसमैया द्वारा चयनित विद्यार्थियों तथा शिक्षकगणों को सफलता के लिए बधाई देते हुए बताया कि, संस्था, आदिवासी अंचल के अभावग्रस्त दूर-दराज गांव के होनहार बच्चों के सपनों को पंख देने के उद्देश्य से संचालित किया जाता है, जहां राष्ट्रीय व राजकीय स्तर के विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ-साथ शैक्षणिक पढ़ाई कराई जाती है यंहा कक्षा नौवीं से 12वीं की कक्षाएं लगाई जाती है। साथ ही इस परियोजना व अन्य शिक्षा क्षेत्र में कार्यों के लिए जिला शिक्षा अधिकारी व जिला प्रशासन की सरहाना की हैं।

प्राचार्य यह भी जानकारी दी कि अभी संस्था में आठ विषय-विशेषज्ञों की कार्यकुशल समूह में गुंजन सिंह (बायो), रामहरि साहू (गणित), दिग्विजय साहू (गणित), कुलदीप कुमार (रसायन), अजय कुमार वर्मा (भौतिकी), हेमंत साहू (भौतिकी), अनिल शर्मा (अंग्रेजी), तथा हेमचंद जंघेल (हिंदी) कार्यरत है, जिनकी उचित मार्गदर्शन से बच्चों का सर्वांगीण विकास हो रहा है।चयनित विद्यार्थियों में हंशा मारपल्ली जिले के भोपालपटनम ब्लॉक के दुद्धेड़ा ग्राम, भार्गव नगर बीजापुर तथा मुरलीधर कावटी भोपालपटनम ब्लॉक के गुल्लागुड़ा ग्राम के निवासी है।

ज्ञात हो कि संस्था ने इस वर्ष बोर्ड परीक्षाओं में शत-प्रतिशत परिणाम दिया है जिसमें 12वीं के भार्गव साहू ने 84 फीसदी के साथ जिले के प्रवीण सूची में प्रथम स्थान प्राप्त किया था तथा दसवीं की आयुषी मिश्रा ने  92 फीसदी प्रतिशत के साथ जिले के प्रवीण सूची में दूसरा स्थान प्राप्त किया था।

संस्था के शिक्षकों ने सफलता का श्रेय प्राचार्य के उचित मार्गदर्शन वह बच्चों के मेहनत को दिया है और बताया कि हम शिक्षक एक सीढ़ी की भांति साधन रूप में कार्य करते हैं जो बच्चों को सफलता के शिखर में चढ़ाने में सहायक होता है।

आई.आई.टी. में बीटेक के प्रवेश के लिए अगले चरण जेईई एडवांस की परीक्षा इसी माह के दिनांक  27 को संपन्न होगी, जिसका पंजीयन दिनांक 12 से 18 तक होना है, चयनित सभी बच्चों को आगामी परीक्षा के लिए प्राचार्य व शिक्षकों ने शुभकामनाएं दी।


12-Sep-2020 10:06 PM

'छत्तीसगढ़ संवाददाता

बीजापुर, 12 सितम्बर। ग्राम पंचायत नैमेड़ के व्यापारी संघ ने वैश्विक महामारी कोविड- 19 के बचाव एवं व्यापारिक गतिविधियों के बेहतर संचालन के लिए नैमेड़ में शनिवार को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए जागरूकता रैली निकाली।

ग्राम पंचायत नैमेड़ के सरपंच ओयाम लच्छु एवं व्यापारी संघ के पदाधिकारियों द्वारा घर-घर जाकर लोगों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने व सेनिटाइजर एवं भीड़ भाड़ जगहों में सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए मास्क का उपयोग करने कहा। नैमेड़ में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोगों को जागरूक रहने को कहा गया।

व्यापारी संघ के अध्यक्ष ताताराव ने कहा कि प्रत्येक सोमवार एवं मंगलवार को नैमेड़ की समस्त दुकानें पूर्णत: बंद रहेगी तथा सभी दुकानदारों को कोविड-19 के नियमों का पालन करना अनिवार्य है। नैमेड़ की दुकानें सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक दुकानें खुली रहेगी। सभी दुकानदार अपने-अपने दुकानों में सेनिटाइजर रखना अनिवार्य है। सेनिटाइजर एवं मास्क उपयोग न करने पर दुकानदारों के ऊपर 500 रुपये का जुर्माना लिया जाएगा।

इस अवसर पर व्यापारी संघ के सदस्य सनत प्रधान, तुलसी राव, फागू उरसा,  शंकर  लाल सेन्ड्रा, श्रवण सेन्ड्रा, रिंकू सिंह, सोनू भदौरिया, प्रमोद पटेल, रामकुमार, बाला सेन, शेखर पटेल, महावीर राना , डमेश्वर पटेल, बुधराम मज्जी, राहुल, सुब्बल, परमेश राव, सखाराम मौर्य, रूपेश शाहू, संजू राना, अशमन कशयप, गणेश, राजू उप्पल,हरीश मंडल, रमेश, परमानंद, विक्की, सूरज, देवेंद्र नाग, पवन, हरीश, शेख, अनिल, गोलू, मुकेश,सुरेश, विपिन बघेल, हिन्दू, रमाकांत, बलराम मौर्य, नागेश राव, सुरेन्द्र एवं ग्राम नैमेड़ के ग्रामीण मौजूद थे।


11-Sep-2020 9:19 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

बीजापुर, 11 सितंबर। शुक्रवार को भैरमगढ़ तहसील के पोंदुम में अपनी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर सैकड़ों ग्रामीणों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया और राज्यपाल के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।

किसान संघ व बेरोजगार संघ के झंडे तले भैरमगढ़ तहसील के पातरपारा, केशकुतुल, मिरतुर, पुल्लादी, मदपाल और बेचापाल के तकरीबन 500 से अधिक ग्रामीणों ने पोंदुम में रैली निकाली और अपनी मांगों को पूरा करने की मांग की।  भैरमगढ़ से 4 किमी की दूरी पर स्थित पोन्दुम गांव में ग्रामीणों का प्रदर्शन दोपहर साढ़े 12 से लेकर 2 बजे तक चला।

एसडीएम ए आर राणा, तहसीलदार जुगल किशोर पटेल ने बताया कि उन्हें ग्रामीणों की रैली की सूचना मिली थी। लेकिन कोरोना महामारी के कारण ग्रामीणों को भैरमगढ़ मुख्यालय से 4 किमी की दूरी पर ही रोक दिया गया। जिला प्रशासन व पुलिस की टीम पोन्दुम गांव पहुंची और ग्रामीणों से बातचीत की गई। ग्रामीणों ने यहां राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

ये है प्रमुख मांगें

 निर्दोष कैदियों को जेल से रिहा करो, निर्दोष लोगों को नक्सली बताकर जैल भेजना बंद करो, ऑनलाइन शिक्षा नीति से ग्रामीण क्षेत्रों में ऑफलाइन करना, बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देना, मिरतुर में धान खरीदी केंद्र खोला जाए, फसल नुकसान मकान क्षतिग्रस्त हुए लोगों को मुआवजा देना, नेलसनार हॉस्पिटल में डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों की पदस्थापना करना, 14वें वित्त मद खातों से राशि आहरण - वितरण पर लगाये गए रोक हटाने एवं नगद भुगतान की अनुमति देना, रेत खदानों, मुरुम खदानों का ठेकेदारी प्रथा से हटाकर ग्राम पंचायतों को परमिट देने जैसे कई मांगों को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया।


10-Sep-2020 9:22 PM

बीजापुर, 10 सितम्बर। क्षेत्रीय विधायक व बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विक्रम मंडावी व कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने कोविड-19 डेडिकेटेड अस्पताल पहुंचकर वहां की व्यवस्थाओं का जहां जायजा लेकर संबंधित अफसरों को जरुरी निर्देश दिए।

इस दौरान विधायक विक्रम मंडावी एक नए 108 एम्बुलेंस को हरीझंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही जिला अस्पताल में स्थित कोविड जांच के लिए नए टू-नॉट उपकरण का लोकार्पण किया। इतना ही नहीं विधायक मंडावी व कलेक्टर अग्रवाल ने कोविड 19 हास्पिटल में भर्ती मरीजों से वीडियो कॉल करके उनके स्वास्थ्य का हालचाल जाना और उनके नाश्ते भोजन व साफ़ सफाई की जानकारी ली। विधायक व कलेक्टर ने मरीजों को दी जाने वाले भोजन को चख उसकी गुणवत्ता परखी। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडियम, सीएमएचओ डॉ. बीआर पुजारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


10-Sep-2020 8:56 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भोपालपटनम, 10 सितंबर। भोपालपटनम ब्लाक के अंतिम छोर पर बसे ग्राम तिमेड़ एवं महाराष्ट्र के पातगुडमके मध्य इन्द्रावती नदी पर बने पुल एवं एनएच 63 के आजू-बाजू हाईवे दोनों किनारों पर बसे हितग्राहियों को मकान एवं जमीन का उचित मुआवाजा राशि हितग्राहियों को सन 2014-15 में ही दिया गया था, लेकिन आज भी कुछ लोगों द्वारा उक्त जमीन पर अवैध कब्जा कर दुकान संचालन किया जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार पुल निर्माण के समय एनएच विभाग के द्वारा प्रभावित भूस्वामियों में अंकनपल्ली पुलैया,  उप्पल इलैया,  चिडेम मलैया,  सुहासिनी पेद्दापोल,  गुजजा प्रेम, अंकनपल्ली नागैया, पैय्यल सत्यम एवं टी मोहन राव को मुआवजा राशि दी गई थी।

 तिमेड़ ग्रामीणों का आरोप है कि एनएच द्वारा अधिग्रहित जमीन पर अवैध कब्जा कर पक्का दुकान बनाकर संचालन कर रहे हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि कुछ दबंग अपने धन बल के दम पर शासकीय जमीन पर कब्जा कर रहे हैं, पर शासन-प्रशासन मौन है।


09-Sep-2020 9:17 PM

जनप्रतिनिधियों, समाज प्रमुखों समेत मीडिया प्रतिनिधियों से बचाव-रोकथाम पर चर्चा

बीजापुर, 9 सितम्बर। जिले में कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण सहित उपचार के लिए शासन-प्रशासन द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का परिपालन करने सहित आम लोगों को जागरूक करना हम सभी की जिम्मेदारी है। इस दिशा में हम सभी लोगों को आगे आकर सहभागिता निभाना होगा, ताकि जिले में कोविड-19 के नियंत्रण में हम सफल हो सकें। यह अपील स्थानीय विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण विक्रम मंडावी ने जिला पंचायत के सभागार में कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के सम्बन्ध में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, समाज प्रमुखों, व्यावसायिक संगठनों तथा मीडिया प्रतिनिधियों की बैठक के दौरान की।

बैठक के दौरान कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने उपस्थित सभी लोगों से कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम सहित जांच एवं उपचार संबंधी विस्तृत चर्चा की। बैठक में पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडिय़म, सहित जिले के जनप्रतिनिधि, विभिन्न समाज प्रमुखों के साथ ही व्यावसायिक संगठनों के पदाधिकारी एवं मीडिया प्रतिनिधि मौजूद थे।  विधायक श्री मंडावी ने कहा कि कोविड-19 के बारे में जानकारी और सतर्कता ही बचाव है। इस हेतु स्वयं सजग रहने के साथ आम लोगों को जानकारी देकर उन्हें सावधानी बरतने के लिए अभिप्रेरित करें।

कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने कोविड-19 की रोकथाम सहित संक्रमितों के जांच एवं उपचार के लिए प्रशासन को सहयोग प्रदान करने का आग्रह करते हुए कहा कि जिले में कोविड संक्रमितों की संख्या निरंतर बढ़ रही है, जो चिंताजनक है। इसे मद्देनजर रखते हुए कोविड से बचाव एवं रोकथाम सहित जांच और उपचार की दिशा में सभी लोगों का सहयोग आवश्यक है। पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का अनुपालन पर बल देते हुए कहा कि प्रशासन की सख्ती के बजाय लोगों को स्वयं सजगता बरतना होगा। अतएव बचाव एवं नियंत्रण सहित जांच एवं उपचार के लिए आगे आकर सहभागिता निभायें।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीआर पुजारी ने जिले में कोविड-19 के जांच एवं उपचार सुविधाओं की जानकारी देते हुए बताया कि जिला अस्पताल सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भैरमगढ़, नेलसनार, गंगालूर, आवापल्ली तथा भोपालपटनम में कोरोना जांच की जा रही है। इसके साथ ही हरेक ब्लाक में दो-दो मोबाईल टीम द्वारा कोविड जांच किया जा रहा है। लक्षण वाले मरीजों तथा गंभीर मरीजों के उपचार हेतु 100 शैय्यायुक्त कोविड डेडीकेटेड अस्पताल है। वहीं कम लक्षण वाले मरीजों के लिए 100 शैय्यायुक्त कोविड केयर सेंटर बीजापुर में सुविधाएं उपलब्ध है।

इसके साथ ही भैरमगढ़ में 150, भोपालपटनम में 150 तथा बीजापुर में 100 शैय्यायुक्त कोविड केयर सेंटर है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिले में एंटीजन किट सहित आरटीपीसीआर जांच किया जा रहा है, कल 10 सितम्बर से ट्रू-नॉट मशीन द्वारा जांच सुविधा शुरू होने पर रिपोर्ट करीब 3 से 4 घंटे में मिलेगी। बैठक के दौरान क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों, समाज प्रमुखों, व्यावसायिक संगठनों के पदाधिकारियों तथा मीडिया प्रतिनिधियों ने सुझाव दिए। 


Previous1234Next