छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Date : 19-Aug-2019

15 दिनों से कटे मार्ग को जवानों ने किया बहाल

बीजापुर, 19 अगस्त।
जिले के अंतिम छोर पर बसे सर्वाधिक नक्सल प्रभावित गांव पामेड़ थाना में पदस्थ जवानों ने एक बार फिर ग्रामीणों की मदद कर मिसाल पेश की है। पामेड़ से धर्मावरम के बीच बने पुल के बारिश में बह जाने से यह मार्ग 15 दिनों से बंद रहा। इस मार्ग पर लोगों को आने-जाने में हो रही परेशानी को देखते हुए पामेड़ पुलिस व एसटीएफ  के जवानों ने श्रमदान कर मार्ग बहाल कराया है।

बता दें कि पामेड़ से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर स्थित धर्मावरम मार्ग पर एक छोटा सा पुल का निर्माण कराया गया है। इन दिनों क्षेत्र में हो रही भारी बारिश की वजह से यह पुल पानी से कट कर बह गया था। पुल पर करीब 15 फ ीट लंबा व 5 फ ीट गहरा गड्डा हो गया था। इसके चलते एमपुर, रासपल्ली, मेहंदीगुड़ा व पिनाचंदा गांव के ग्रामीण पामेड़ से कट गए थे और उन्हें रोजमर्रा के सामानों के लिए काफ ी परेशानी हो रही थी। ग्रामीणों की परेशानियों को देखते हुए पामेड़ थाना के उपनिरीक्षक भास्कर शर्मा, एसटीएफ  प्रभारी महंत, सीसी यादराम बघेल व एपीसी रात्रे ने जवानों के साथ मिलकर श्रमदान कर कटे हुए सड़क पर मिट्टी डाल कर व पूल के गड्डो में पत्थर भरकर इस मार्ग को बहाल कराया। जवानों के प्रयास से एक बार फि र यह मार्ग वैकल्पिक रूप से आने जाने के लायक हो गया है। 

सुरक्षा के साथ मदद
पामेड़ थाना क्षेत्र जिले का सर्वाधिक नक्सल प्रभावित क्षेत्र है। इस इलाके में नक्सलियों की तूती बोलती है। इस इलाके में ग्रामीण भी दहशत हो रहते है। विकास के काम यह ठप से है। नक्सली खौफ  की वजह से ग्रामीण भी कटे मार्ग को बहाल नहीं कर सक रहे थे। पामेड़ थाना व एसटीएफ  के जवानों ने आगे आकर सड़क व पूल पर श्रमदान कर मार्ग को बहाल किया।

 


Date : 19-Aug-2019

चार युवाओं ने छोड़ा माओवाद का दामन, बड़ी वारदातों में शामिल दो पर 11 लाख का इनाम

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 19 अगस्त।
जिले के अलावा सुकमा और दंतेवाड़ा में बड़ी वारदातों में मुख्य भूमिका निभाने वाले चार नक्सलियों ने  आज सुबह सीआरपीएफ के डीआईजी कोमल सिंह, एसपी दिव्यंाग पटेल एवं 85 बटालियन के कमाण्डेंट यादवेन्द्र सिंह यादव के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। इनमें राकेश उईका उर्फ  बिल्लू उईका पर आठ लाख जबकि कक्केम सुक्कू उर्फ सुखलाल पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था। ब्याह रचाने वाले बुधरू मोडिय़ाम और सोमारी कड़ती ने भी समर्पण किया। ये सभी बड़ी वारदातों में शामिल थे। 

पुलिस  के अनुसार राकेश उईका पीएलजीए बटालियन एक के कंपनी नंबर एक का दक्षिण बस्तर डिविजन का सेक्शन कमाण्डर था। एसएलआर और एलएमजी रखने वाला राकेश दरभा डिविजन में सक्रिय था। पश्चिम बस्तर स्मॉल एक्शन टीम कमाण्डर मनीष एवं गंगालूर एलओएस कमाण्डर दिनेश ने 2010 में उसकी भर्ती कंपनी मेंबर के तौर पर की। तब से अब तक वह पीएलजीए बटालियन एक में सेक्शन कमाण्डर के तौर पर काम कर रहा था। 

वह सुकमा जिले के तिम्मापुर जगरगुण्डा में 2011 में कोया कमाण्डों के आठ जवानों की हत्या, भेज्जी में सीआरपीएफ के गश्ती दल के चार जवानों की हत्या, 2013 में चिंतागुफा में हेलीकॉप्टर पर फायरिंग, मिनपा कैम्प में हमला कर सीआरपीएफ के तीन जवानों की हत्या, 2014 में कसालपाड़ में सीआरपीएफ के चार जवानों की हत्या एवं हथियारों की लूट, बुरकापाल हमला,  2015 में पीडमेल में एसटीएफ के आठ जवानों की हत्या, 2016 में पोगटपल्ली में सीआरपीएफ के जवानों पर फायरिंग, 2017 में भेज्जी इलाके के कोत्ताचेरू एवं गोरखा के बीच घात लगाकर सीआरपीएफ और डीएफ के बारह जवानों की हत्या एवं तोण्डामरका  में डीआरजी के तीन जवानों की हत्या में राकेश उईका शामिल था। 

बुधरू मोडिय़ाम गंगालूर एरिया कमेटी में जनमिलिशिया कमाण्डर एवं सप्लाई टीम का मेंबर था। बारह बोर की बंदूक लेकर चलने वाले बुधरू को 2001 में डीवीसी सदस्य हरिराम ने संगठन में भर्ती किया था। उसने गंगालूर एरिया  में चार साल तक डीवीसी गोपी के साथ काम किया। वह सप्लाई टीम का मेंबर अब तक था। 

कमाण्डर से नहीं बनी तो छोड़ा नक्सलपंथ, रचाया ब्याह
कक्केम सुक्कू उर्फ सुखलाल भैरमगढ़ एरिया कमेटी में प्लाटून नंबर 13 का सेक्शन डिप्टी कमाण्डर था। एसएलआर रखने वाला सुक्कू पश्चिम बस्तर डिवीजन में काम कर रहा था। उसे 2003 में एसीएम संतोष ने संगठन में शामिल किया।  इस बीच उसकी कमाण्डर वेल्ला से नहीं बनी तो उसने नक्सलपंथ से तौबा कर लिया और गंगालूर एलओएस मेंबर सोमारी कड़ती से ब्याह रचाकर घर बसा लिया। सोमारी कड़ती ने भी सोमवार को सरेण्डर किया। सोमारी को 2006 में डीवीसी संतोष ने संगठन में भर्ती किया था। 2006 से 2012 तक वह गंगालूर एलओएस सदस्य थी। 2013 से 2019 तक वह नक्सली स्कूल में थी। 

डीआरजी के साथ अच्छा तालमेल
सीआरपीएफ डीआईजी कोमल सिंह ने कहा कि उनकी फोर्स  और डीआरजी के जवानों में अच्छा तालमेल है और ये एक ही टीम हैं। समर्पण के बारे में उन्होंने कहा कि ये जिला बल और सीआरपीएफ के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। चार युवा नक्सलपंथ छोड़ आज मुख्यधारा में शामिल हुए हैं। 

 


Date : 17-Aug-2019

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर विधायक विक्रम ने पीडि़तों को बांटे मुआवजा चेक 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 17 अगस्त।
बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व क्षेत्रीय विधायक विक्रम शाह मंडावी ने भोपालपटनम इलाके में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और बाढ़ पीडि़तों से मुलाकात कर उनका हाल जाना। विधायक मंडावी ने पीडि़त परिवारों को मुआवजा चेक बांटे।

बात दें कि बीते दिनों इलाके में अनवरत बारिश की वजह से जिले के भोपालपटनम क्षेत्र में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। यहां तिमेड़, मट्टीमरका में बहने से दो लोगों की मौत हो गई थी। वहीं बाढ़ की त्रासदी से लोगों को काफ ी नुकशान भी उठाना पड़ा था। आज बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व स्थानीय विधायक विक्रम मंडावी ने भोपालपटनम क्षेत्र का दौरा कर वहां के हालात का जायजा लिया। विधायक मंडावी ने बाढ़  पीडि़तों से मिलकर उनकी समस्याओं से रूबरू हुए। उन्होंने बाढ़ पीडि़ता बिक्कूबाई के घर गोल्लागुड़ा जाकर उन्हें शासन द्वारा प्राकृतिक आपदा के तहत दी जाने वाली राहत राशि का चेक सौंपा। इसके बाद तहसील कार्यालय में विधायक मंडावी ने बाढ़ पीडि़त ग्रामीणों को चेक का वितरण किया। साथ ही उन्होंने पीडि़तों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। 

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी सचिव अजय सिंह, जिला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडिय़ाम, जिला पंचायत सदस्य चापा सुरेन्द्र, जिला पंचायत सदस्य बसंत राव ताटी, जिला कांग्रेस अध्यक्ष लालू राठौर, नगर पंचायत भोपालपटनम अध्यक्ष कामेश्वर गौतम, ज्योति कुमार,  अशोक तलांडी,  के जी सत्यम, रमेश पामभाई, कुशाल खान के अलावा तहसीलदार भोपालपटनम शिवनाथ बघेल नायब तहसीलदार अविनाश चौहान के अलावा अन्य अधिकारी कर्मचारी एवं ग्रामीण उपस्थित थे।


Date : 17-Aug-2019

देश की आंतरिक सुरक्षा में सीआरपीएफ की भूमिका अहम-यादव

बीजापुर, 17 अगस्त।
सीआरपीएफ  की 85 बटालियन के कमाण्डेंट यादवेन्द्र सिंह यादव ने कहा है कि देश की आंतरिक सुरक्षा में सीआरपीएफ की भूमिका अहम है और इसके सीआरपीएफ  का सामाजिक सरोकार भी है। 

यहां 85 बटालियन के मुख्यालय परिवर्तन कैम्प में जश्ने आजादी के मौके पर कमाण्डेंट यादवेन्द्र सिंह यादव जवानों और स्कूली बच्चों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आजादी का महत्व समझाते हुए देश की अखण्डता एवं कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सीआरपीएफ  की भूमिका की जानकारी दी। उन्होंने आपस में भाईचारा एवं सदभाव बनाए रखने पर जोर देते देश में सक्रिय विघटनकारी ंताकतों से निपटने का सुझाव दिया। 

कमाण्डेंट यादवेन्द्र सिंह ने बताया कि सीआरपीएफ हर राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश में महती योगदान दे रही है। नक्सलवाद, अलगाववाद, उग्रवाद आदि से निपटने के अलावा कानून व्यवस्था बनाए रखते हुए प्राकतिक आपदा में सीआरपीएफ भी राहत पहुंचाती है। उनके उदबोधन के पहले नयापारा स्थित परिवर्तन कैम्प में अध्यापकों, जवानों और स्कूली बच्चों की मौजूदगी में ध्वजारोहण किया गया। इस मौके पर मिष्ठान्न वितरण किया गया। इस दौरान डिप्टी कमाण्डेंट दीपक कुमार, चिकित्सा अधिकारी डॉ उदय कुमार, सुबेदार मेजर शैलेन्द्र कुमार एवं अन्य अफ सर मौजूद थे। स्थानीय महिलाओंं और बालिकाओं ने अफ सरों और जवानों को रक्षाबंधन पर राखी बांधी। 

नक्सल कैपिटल में फहरा तिरंगा
यहां से बारह किमी दूर धुर नक्सल प्रभावित गांव मनकेली में सीआरपीएफ  की 85 बटालियन के जवानों ने पहली बार जाकर ध्वजारोहण किया। इस दौरान सहायक कमाण्डेंट अतुल कुमार यादव, अभय सिंह राणा समेत 85 बटालियन के जवान, ग्रामीण एवं बच्चे मौजूद थे। यहां ग्रामीणों को मिष्ठान्न वितरण किया गया। ज्ञात हो कि मनकेली गांव अति संवेदनषील हैै। इसके पहले भी यहां सिविक एक्षन कार्यक्रम चलाया गया था, तब यहां दो सौ से भी अधिक स्पाइक होल पाए गए थे।


Date : 16-Aug-2019

बस की ठोकर से दो मौतें, भैरमगढ़ के गणेश बाहर नाला के पास हादसा

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 अगस्त।
आज दोपहर जगदलपुर से बीजापुर आ रही भारत ट्रेवल्स की यात्री बस की ठोकर लगने से दो बाइक सवार ग्रामीणों की मौत हो गई। शवों को भैरमगढ़ अस्पताल में रखा गया है, वहीं बस को जांगला थाना में खड़े कराया गया है।
मिली जानकारी के मुताबिक भारत ट्रेवल्स यात्री बस यात्रियों को लेकर बीजापुर आ रही थी। दोपहर करीब 2 बजे बस भैरमगढ़ से आगे गणेश बाहर नाला के पास पहुंची ही थी कि तभी सामने से आ रही बाइक और बस में जबरदस्त भिड़ंत हो गई। बस और बाइक में टक्कर इतनी जोरदार थी कि बाइक सवार दोनों ग्रामीणों की मौके पर ही मौत हो गई। खबर लिखे जाने तक मृत ग्रामीणों की पहचान नहीं हो सकी थी। दोनों शव भैरमगढ़ अस्पताल में रखे है। इधर भारत ट्रेवल्स की बस को जांगला थाना में खड़े कराया गया है।

 


Date : 16-Aug-2019

छह घंटे की चालीस रूपए मजदूरी, रसोईयो ने कहा कलेक्टोरेट दर पर भुगतान का चुनावी वादा झूठा निकला

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 अगस्त।
स्कूलों और आश्रमों में रोजाना छह घंटे काम करने वाले रसोईयों ने कहा है कि उन्हें माह में केवल 1200 रूपए पगार दी जाती है और ये नाकाफ ी है, जबकि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान रसोइयों को कलेक्टोरेट रेट पर भुगतान की बात कही थी। 

 छग महिला पुरूष मध्याह्न भोजन रसोईया संघ की जिलाध्यक्ष रंभा झा ने बताया कि इस आशय का एक ज्ञापन संगठन के प्रांतीय संरक्षक जयदेव साहा एवं संभागीय अध्यक्ष सुरेश साहू ने आदिम जाति कल्याण मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम को भेजा है। श्रीमती झा का कहना है कि अब रसोइयों के वेतन में सिर्फ  तीन सौ रूपए की ही वृद्धि की गई है। इसे लेकर रसोइयों में अंसतोष है। रसोइयों का कहना है कि उन्हें इसकी बजाए अंशकालीन कर्मचारी का भुगतान किया जाना चाहिए। दस से बीस दर्ज संख्या वाले आंगनबाडिय़ों में काम करने वाली सहायिकाओं को 3250 रूपए मानदेय दिया जाता है, जबकि रसोइयों को सिर्फ 1200। ये रसोइयों के साथ अन्याय है क्योंकि रसोईए पांच से छह घंटे सेवा देते हैं। पद से निकाले गए रसोइयों को पुन: काम पर रखने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। संगठन ने निकाले गए रसोइयों को फिर से काम पर लेने की मांग की है। 


Date : 16-Aug-2019

युवा कल्याण समिति गंगालूर ने किया खेल स्पर्धा का आयोजन, कबड्डी में गंगालूर, वॉलीबाल में चेरपाल ने मारी बाजी

बीजापुर, 16 अगस्त। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर युवा कल्याण समिति गंगालूर द्वारा सीनियर व जूनियर वर्ग के लिए कबड्डी व व्हॉलीबाल खेल स्पर्धा का आयोजन किया।इसमें सीनियर वर्ग कबड्डी में गंगालूर ने व व्हॉलीबाल में चेरपाल ने बाजी मारी। 

क्षेत्र में खेल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से 15 अगस्त को यहां खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें कबड्डी व व्हालीबाल की जूनियर एंव सीनियर टीमें शामिल थी। युवा कल्याण समिति की ओर से स्वतंत्रता दिवस पर ग्राम पंचायत गंगालूर समेत आसपास के युवाओं को खेल के लिए प्रोत्साहित करने बीते दिनों गंगालूर में कबड्डी व व्हालीबाल का आयोजन किया गया। स्पर्धा में कबड्डी सीनियर वर्ग में बालक छात्रावास गंगालूर ने कब्जा जमाया। दूसरे क्रम पर पेद्दापारा गंगालूर की टीम रही। व्हॉलीबाल में चेरपाल की टीम ने बाजी मारी। यहां गंगालूर की टीम सेकंड रही। इसी तरह जूनियर वर्ग कबड्डी में तामोड़ी आश्रम ने पहला स्थान पाया। जबकि दूसरे क्रम पर गोंगला आश्रम की टीम रही। 

खेल के समापन के मौके पर मुख्य अतिथि सरपंच मंगल राना व विशिष्ट अतिथि सीआरपीएफ कमांडेंट चंद्रभान सिंह, कोबरा 210 बटालियन के डीसी अमित जोशी समिति के सलाहकार फूलचंद गागड़ा, संतोष हेमला व सन्नू पुनेम विशेष रूप से उपस्थित थे। इस दौरान खिलाडिय़ों को संबोधित करते हुए कमांडेंट चन्द्रभान सिंह ने कहा कि समाज और देश का विकास शिक्षा से संभव है। इसलिए युवा खेल के साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी कार्य करें, ताकि देश दुनिया मे यहां का नाम रौशन हो। 

इस अवसर पर  समितिके महेश हेमला,सुनील हेमला,किशोर हेमला, प्रवीण हेमला, प्रवीण झाड़ी, शान्तु पोटाम, संजू पोटाम, संतोष हेमला, रत्तू हेमला, मनकू पुनेम, सोहन नक्का, अजय नक्का, सलीम नक्का, राजू हेमला, शम्भू हेमला, अर्जुन पुनेम, छोटेलाल, दुला ताती, रमेश पुनेम अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

 


Date : 14-Aug-2019

5 दिवसीय गायत्री परिवार का कार्यकर्ता प्रशिक्षण 

बीजापुर, 14 अगस्त। गायत्री शक्तिपीठ में पांच दिवसीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का सफ ल समापन किया गया। इस अवसर पर यहां वन महोत्सव कार्यक्रम का आयेाजन भी किया गया। इसमें स्थानीय विधायक विक्रम मंडावी ने शामिल होकर रुद्राक्ष के पौधे रोपे।

गायत्री परिवार के सौजन्य से क्षेत्रिय विधायक विक्रम शाह मंडावी तथा डीएफ ओ गुरूनाथन एन ने औषधियुक्त पौधा रूद्रक्ष का रोपण किया। बीजापुर गायत्री शक्तिपीठ में शांतिकंज से आये परिर्वाजक आरपी आदित्य, ओमेश देशमुख, पुन्नू लाल नेताम द्वारा भोपालपटनम, उसूर, भैरमगढ़ और बीजापुर के कार्यकर्ताओं को कर्मकाण्ड, डफ ली, हारमोनियम, गायन और स्वावलंबन बनने के गुर पांच दिवसीय शिविर के माध्यम से बताया गया। पांच दिवसीय कार्यकर्ता समापन के अवसर पर बस्तर में विलुप्त प्रजातियों के औषधियों की जानकारी दी गई साथ ही उसे बचाने के प्रयास में गायत्री परिवार आगे आकर अपने परिजनों को संकल्प के माध्यम से गायत्री शक्ति पीठ बीजापुर द्वारा वृक्षा रोपण का भी आयोजन कराया। इसमें मुख्य रूप से विधायक विक्रम शाह मण्डावी, प्रदेश कांग्रेस सचिव अजय सिंह और जिला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडियम तथा वन मंडलाधिकारी गुरूनाथन एन शामिल होकर पांच दिवसीय गायत्री परिवार के कार्यकर्ता प्रशिक्षणार्थियों को वनों से फ ायदे की जानकारी दी। 

वनमण्डलाधिकारी ने वन औषधि रोपणी से खुश होकर गायत्री परिवार की सराहना की। वहीं विधायक विक्रम मण्डावी ने गायत्री परिवार द्वारा समय-समय पर पूजा पाठ के साथ युवक तथा ग्रामीणों को स्वलम्बन की ओर अग्रसित करते आ रहा है, जिससे हमारे ग्रामीणों में जागरूकता भी आ रही है,।

वहीं बस्तर के जंगल के साथ औषधि सरंक्षण के क्षेत्र में सबसे आगे रहा मगर विलुप्त होता प्रजाति के सरंक्षण में गायत्री परिवार आगे आकर जो औषधि रोपण का कार्य कर रही है बहुत ही अच्छा है। गायत्री परिवार के जेपी राजपूत ने गायत्री परिवार के द्वारा स्कूल, आवासी विघालय, मंदिरों में नीम, फ लदार पौधा तथा औषधि लगाने का संकल्प लेने की बात कही। 
इस कार्यक्रम के आयेजन में शांति कुंज हरिद्वार उतराखण्ड से आये परिवार्जक के साथ संतोष गुप्ता, सुब्बाराव, संतोष अग्गीवार, राज बहादुर, के संतोष कुमार, विश्वकर्मा, पार्षद पुरुषोत्तम सल्लुर सहित गायत्री परिवार के सदस्य मौजूद थे।

 


Date : 13-Aug-2019

सभी वादे पूरे, भूपेश सरकार का अगला कदम पट्टा, विधायक मण्डावी बोले, कर्जमाफी को ले अफवाहें उड़ाई गई

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 13 अगस्त।
जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित द्वारा सामुदायिक भवन में किसान कर्जमाफी तिहार समापन समारोह आयोजित किया गया।

बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विक्रम शाह मण्डावी ने कहा कि उड़ती अफवाहों के बीच भूपेश सरकार ने सभी किसानों के कर्ज माफ कर इसके सबूत भी दे दिए हैं और सरकार अब अगला कदम सालों से वनों में काबिज लोगों को पट्टा देने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार ने तकरीबन सभी चुनावी वादे पूरे कर दिए हैं। अब वनों में पांच साल से अधिक समय से काबिज लोगों को पट्टा दिए जाने पर विचार चल रहा है। नरवा, घरूवा और बाड़ी अच्छी स्कीम है। इसके तहत नालों को बांधा जाएगा और तब किसान वर्षाकाल के बाद भी फसल ले सकेंगे। भविष्य में गोठान में चारे और एक केयरटेकर की भी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि किसानों के हित के लिए उनसे अफ सर चर्चा करेंगे। लैम्प्स में होने वाली दिक्कतों की भी जानकारी ली जाएगी।

 इस मौके पर जिपं सदस्य बसंत राव ताटी ने कहा कि सीएम भूपेश बघेल को किसानों की चिंता है और इसलिए सिंचाई की संरचनाओं को खड़ा करने पर विचार किया जा रहा है ताकि यहां के किसान भी पड़ोसी प्रांत तेलंगाना और महाराष्ट्र की तर्ज पर दोहरी फ सल ले सकें। 

जिपं सदस्य नीना रावतिया उद्दे ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अन्नदाता किसानों की सुध ली। उन्होंने किसानों के हित में काम करने के लिए बस्तर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष लखेश्वर बघेल एवं उपाध्यक्ष विक्रम मण्डावी की प्रशंसा की। उन्होंने जिले में सहकारी बैंक की एक दो शाखाएं और धान खरीदी केन्द्र खोलने की मांग भी की। 

इस मौके पर जिपं सदस्य कमलेश कारम ने कहा कि भूपेश सरकार ने अपने शुरूवाती आठ महीनों के कार्यकाल में किसानों पर ही फ ोकस किया। कार्यक्रम का संचालन एडीओ योगेन्द्र सिन्हा एवं जितेन्द्र कोण्डरा ने किया। इस अवसर पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडिय़म, सदस्य चापा सुरेन्द्र, भैरमगढ़ जनपद अध्यक्ष सरिता वाचम, लच्छूराम, रेंगा नागेश, ज्योति कुमार, प्रवीण उद्दे, बब्बू राठी, लक्ष्मण कड़ती एवं अन्य कांग्रेसी नेता मौजूद थे। 

9916  किसानों का कर्ज माफ
कर्जमाफ ी पर प्रतिवेदन पेश करते जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक जगदलपुर के अंकेक्षण अधिकारी कुंवर सिंह धु्रव ने बताया कि बीजापुर जिले में बैंक की चार शाखाएं और 32 आदिम जाति सेवा सहकारी समितियां संचालित हैं। इन समितियों के माध्यम से 9916   किसानों का 56 .46  करोड़ रूपए का कर्ज माफ  किया गया। उन्होंने बताया कि इस साल अभी तक 6 48 8  किसानों ने क्रेडिट कार्ड के जरिए 26 .8 1 करोड़ रूपए का ऋ ण लिया है। 

गंगालूर और आवापल्ली में खुलेंगे बैंक
सहकारिता निरीक्षक योगेश जुमड़े ने बताया कि इस वित्त वर्ष में गंगालूर और आवापल्ली में सहकारी बैंक खुलेंगे। इसके अलावा गुदमा, इलमिड़ी, बासागुड़ा एवं भद्रकाली में धान खरीदी केन्द्र खोले जाएंगे। इससे किसानों का लाभ  होगा। बैंक से पैसा निकालने और धान बेचने में दिक्कत नहीं आएगी। 


Date : 10-Aug-2019

लखमा बोले, नदी जल का दोहन करने बोधघाट प्रोजेक्ट शुरू होगा, मंत्री, सांसद और विधायकों ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया हवाई सर्वे

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 10 अगस्त।
आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने नदी जल का सही इस्तेमाल करने की वकालत करते कहा है कि बोधघाट परियोजना शुरू करने पर चर्चा हो रही है। उन्होंने बाढ़ के बाद की स्थिति का जायजा लेने के बाद कहा कि काफ ी नुकसान हुआ है और राहत राशि प्रभावितों को दी जाएगी, लेकिन रमन सरकार की तरह फ र्जी राहत कदापि नहीं। 

सुकमा और कोण्टा में बाढ़ के हालात देखने के बाद आबकारी मंत्री कवासी लखमा, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल, सांसद बस्तर दीपक बैज एवं नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप ने भोपालपटनम इलाके का हेलीकॉप्टर से निरीक्षण किया। यहां हेलीपैड पर पत्रकारों से चर्चा करते मंत्री कवासी लखमा ने बताया कि भोपालपटनम इलाके में किसानों का काफ ी नुकसान हुआ है और वहां जान-माल की क्षति भी हुई है। क्षतिपूर्ति राशि दी जा रही है। सुकमा में दस से बारह लोगों को बीस-बीस हजार रूपए दिए गए। यहां भी राहत राशि दी जा रही है। तेलंगाना के तुपाकलगुड़म में वॉटर प्रोजेक्ट के लिए गोदावरी के पानी का इस्तेमाल किए जाने और छग में इंद्रावती नदी के पानी का उपयोग नहीं किए जाने के एक सवाल के जवाब में मंत्री ने साफ  किया कि बोधघाट परियोजना शुरू की जाएगी। इस पर चर्चा चल रही है। डीएमएफ फ ण्ड और दीगर मदों से नाला बंधान किया जाएगा। इससे बाढ़ का खतरा कुछ हद तक कम होगा। उन्होंने कहा कि बस्तर में बारिश की वजह जंगल है जबकि छग के कई हिस्सों में सूखा है। 

इस अवसर पर विधायक विक्रम मण्डावी, राजसव सचिव निर्मल खाखा, कलेक्टर केडी कुंजाम, जिला पंचायत सीईओ डी राहूल वेंकट, डीएफओ एन गुरूनाथन, एसडीएम एआर राना,सीएमएचओ डॉ बीआर पुजारी, पीडब्ल्यूडी ईई वीके चौहान, उद्यानिकी के सहायक संचालक विनायक मानापुरे, कांग्रेस नेता नीना रावतिया उद्दे, शंकर कुडिय़म, लालू राठौर, ज्योति कुमार, कुषाल खान, पुरूषोत्तम सल्लूर, बब्बू राठी एवं अन्य मौजूद थे। 

विपक्ष भी मौन
मंत्री लखमा ने कहा कि सुकमा, कोण्टा और भोपालपटनम में  बाढ़ ने जबरदस्त तबाही मचाई। तीन खण्डों में हुई इस बारिश से आवाजाही पर असर पड़ा, एक-दो लोगों की जान गई और खेतों को नुकसान हुआ। यहां विधायकों, पटवारी से लेकर कलेक्टर तक ने राहत तुरंत पहुंचाई। इसकी तारीफ  की जानी चाहिए। इस दौरान विपक्ष ने भी हल्ला नहीं मचाया, ये भी अच्छी बात है। 


Date : 10-Aug-2019

विश्व आदिवासी दिवस पर निकली रैली, आमसभा, मांगों को लेकर सर्व आदिवासी समाज ने राज्यपाल के नाम डिप्टी कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 10 अगस्त।
सर्व आदिवासी समाज ने  शुक्रवार को विश्व आदिवासी दिवस बड़े ही हर्षौल्लास के साथ मनाया। नगर में एक तीर एक कमान सारे आदिवासी एक समान के नारे गूंजते रहे।

जिला मुख्यालय के मिनी स्टेडियम में सांस्कृतिक कार्यक्रम वनाच गाकर बड़े हर्षोल्लास के विश्व आदिवासी दिवस समारोह मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व बीजापुर विधायक विक्रम शाह मंडावी व कार्यक्रम की अध्यक्षता लक्ष्मीनारायण गोटा ने किया। समारोह को संबोधित करते हुए विक्रम मंडावी ने कहा कि सभी लोगों को संविधान का अधिकार जानना और समझना होगा कि कैसे सविधान में रहकर काम करना चाहिए। लोगों को जागरूकता के साथ बताना पड़ेगा क्योंकि इस क्षेत्र में अधिकतर लोग अशिक्षित हैं संविधान के बारे में  नहीं जानते। हम सबकी जिम्मेदारी है कि अपने अधिकार के बारे में उन्हें बताएं और अपने क्षेत्र का विकास कैसे करें। श्री मंडावी ने कहां की समाज ने बहुत कुुछ दिया है। सभी लोगों को समाज के लिए बढ़-चढ़कर सामाजिक गतिविधि में शामिल होकर सहयोग करना चाहिए सभी की जिम्मेदारी है। 

कोया समाज के सुशील हेमला और अमित कोरसा ने गोंडी भाषा में संबोधित करते हुए कहा कि पंचायत की ग्राम सभा ही सबसे बड़ी सभा होती है। ग्राम सभा का प्रस्ताव के बाद ही काम होता है। अभी भी हमारे पंचायतों में रूढ़ीवादी ग्राम सभाएं संचालित हो रहे है। सर्व आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष अशोक तलांडी ने कहा कि आदिवासी भारत के मूल निवासी हैं। आदिवासी क्षेत्रों में पेशा कानून होने के बावजूद भी इन क्षेत्रों में पालन नहीं हो रहा। इसी के चलते आदिवासियों को अपना अधिकार पूर्ण रूप से नहीं मिल पा रहा है।

लक्ष्मीनारायण गोटा ने कहा कई बार शासन-प्रशासन और राज्यपाल के पास हमारे क्षेत्र की मूलभूत समस्या और अधिकारों को लेकर ज्ञापन दिया गया है उसके बाद भी हमारे क्षेत्र की समस्या जैसा का तैसा बना हुआ है इसीलिए हमे न्यायालय में आवेदन प्रस्तुत कर अधिकार मांगना चाहिए साथ ही कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आदिवासियों के पक्ष में बोलने के लिए हमारे प्रतिनिधित्व नहीं रहते। इसीलिए हम आदिवासी मूलभूत सुविधाओं से पिछड़े रहते हैं। कार्यक्रम को समाज के बुधराम साहनी, राकेश गिरी, सुनीत पैकरा, नीना रावतिया उद्दे, कामेश्वर दुब्बा ने भी संबोधित किया। वहीं कार्यक्रम का संचालन बृजलाल पुजारी ने किया।

युवाओं ने किया शक्ति प्रदर्शन
विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर सर्व आदिवासी समाज के युवाओं ने नगर में बाइक रैली निकालकर युवा शक्तियों का प्रदर्शन किया। विश्व आदिवासी दिवस का शुभारंभ नगर के देवता चिकट राज मंदिर में आदिवासी समाज के प्रमुखों ने देवता के समक्ष सेवा अर्जी किया इसके बाद युवाओं ने मोटरसायकल रैली निकाली। रैली नया बस स्टैंड पहुंचकर यहां स्थित अंबेडकर प्रतिमा में माल्यार्पण किया गया। सर्व आदिवासी समाज ने अपनी मांगों को लेकर राज्यपाल के नाम डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 

इस अवसर पर बीजापुर शंकर कुडियंम, भाग्यवती पुजारी, सुखमती भोगाम, नीना रावतिया, सुखलाल पुजारी, पार्वती साहनी,  डॉ बीआर पुजारी, संरक्षक बीएल पदमाकर, अध्य्क्ष अधिवक्ता लक्ष्मीनारायण गोटा, उपाध्यक्ष बीआर अमान, सचिव कमलेश्वर सिंह पैकरा, कोषाध्यक्ष कामेश्वर दुब्बा, उपाध्यक्ष भोला राम आमाद व मीडिया प्रभारी नंद किशोर राना, धनेश कुंजाम, थामेश जव्वा, प्रवीण उद्दे, मनोज मड़े, कामेश्वर जव्वा, हरिहर साहनी युवा प्रभाग, लक्ष्मण कड़ती, राम वासम, महेश मोडियाम व भोजन, सुखलाल कोरसा, ओमप्रकाश कंवर, संदीप भगत, रायसिंग मांझी, सत्यजीत कंवर, विश्वास तोगर, मुकेश भगत, डॉ बीआर पुजारी, बीआर अमान, हरिकृष्ण कोरसा, मंगल राना, राकेश गिरी, तारकेश्वर सिंह पैंकरा, बीआर कोरसा, जिलाराम राना, कामेश्वर दुब्बा, पीआर तेलम, धनन्जय नाइक, लक्ष्मीनारायण कडिय़ामि, बीआर मांझी, सत्यजीत कंवर एवं कमल सहित युवा प्रभाग के प्रतिनिधि शामिल थे।