छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Previous12Next
Posted Date : 29-Aug-2018
  • बीजापुर, 29 अगस्त (छत्तीसगढ़)। जिले में स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता और बेपरवाही के कारण शर्मसार कर देने वाली तस्वीरें लगातार निकल कर सामने आ रही हैं। अभी खाट में ढोकर शव ले जाने और ऑक्सीजन की कमी से बच्ची की मौत का मामला ठंडा भी नहीं हुआ कि तीसरा मामला निकल कर सामने आया है। 
    उसूर ब्लॉक के टेकमेटला गांव के बुजुर्ग ग्रामीण हेमला हड़मा लकवाग्रस्त हो गया था। परिजनों द्वारा उसे इलाज के लिए खाट का कांवड़ बना टेकमेटला गांव से आवापल्ली लाया गया। 13 किमी. का पैदल सफर तय कर किसी तरह आवापल्ली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे तो अस्पताल में ताला लटक रहा था। परिजनों को बेइलाज उसी कांवड़ में ढोकर वापस लौटना पड़ा।
     ज्ञात हो कि 4 दिनों के अंदर 3 अलग-अलग मामले सामने आए हैं। मंत्री गागड़ा के गृह क्षेत्र में 24 अगस्त को शव को खाट पर ढोकर दाह संस्कार के लिए परिजनों द्वारा अपने घर ले जाने का मामला प्रकाश में आया था। उसके ठीक 2 दिन बाद 27 अगस्त को एम्बुलेंस में ऑक्सीजन खत्म होने से 5 साल की बच्ची की मौत हो गई थी। अब खाट में ढोकर 13 किमी. का पैदल सफर कर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचने के बाद भी बीमार बुजुर्ग को इलाज नहीं मिला। 
    इस संबंध सीएमएचओ डॉ. पुजारी से बात की गई तो उन्होंने अभी इस मामले की जानकारी नहीं है कहा। जानकारी जुटाकर ही किसी तरह की प्रतिक्रिया देने की बात कही।

  •  

Posted Date : 03-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 3 अगस्त। आज सुबह बासागुड़ा सप्ताहिक बाजार में नक्सलियों के हमले में दो जवान घायल हो गए। जवानों में एक ही हालत  गंभीर बतायी जा रही है। बताया गया कि एक जवान की पीठ में गोली लगी है, जबकि दूसरे जवान पर चाकू से हमला किया गया है। दोनों जवान बासागुड़ा थाना क्षेत्र में बतौर सहायक आरक्षक के तौर पर सदस्थ हैं।
    घटना के बाद बाजार पूरी तरह से खाली हो गया। जवानों ने बाजार स्थल को  अपने कब्जे में ले लिया। घायल जवानों को बेहतर उपचार के लिए बीजापुर जिला अस्पताल लाया गया है।

  •  

Posted Date : 19-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर, 19 जुलाई। दंतेवाड़ा-बीजापुर जिले के सरहदी क्षेत्र तिमेनार के जंगल में गुरूवार तड़के मुठभेड़ में जवानों ने 8 नक्सलियों को मार गिराया है। घटना स्थल से आठों शवों के साथ भारी मात्रा में हथियार, गोला बारूद समेत विस्फोटक सामान बरामद किया गया है। तिमेनार घनघोर जंगली इलाका होने के कारण एवं लगातार बारिश होने से शवों को जंगला से निकालने में जवानों को वक्त लग रहा है। बैकअप पार्टी रवाना हो चुकी है। दंतेवाड़ा एसपी कमलोचन कश्यप ने घटना की पुष्टि की है।
    पुलिस को बीजापुर व दंतेवाड़ा जिले के सरहदी क्षेत्र तिमेनार के जंगलों में माओवादियों के कई बड़े लीडर के साथ भारी तादात में नक्सलियों के इकट्ठा होने की सूचना मिली थी। बुधवार को मुख्यालय से डीआरजी व एसटीएफ की संयुक्त टीम सर्चिंग आपरेशन के लिए रवाना किया गया था। सर्चिंग के दौरान गुरूवार तड़के 6 बजे दंतेवाड़ा-बीजापुर के सीमावर्ती गांव तिमेनार के जंगल में सुरक्षा बलों की मुठभेड़ नक्सलियों से हो गई। नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई करते फायरिंग की। मुठभेड़ करीब ढाई से तीन घंटे तक चलती। इस बीच नक्सली जवानों को भारी पड़ता देख भाग निकले।
    दंतेवाड़ा के एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से जवानों ने 8 नक्सलियों के शव, 2 इंसास बंदूक, 303 बोर की 2 रायफल, एक 12 बोर की रायफल के साथ ही भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद किया है। शवों में 4 महिला एवं 4 पुरूषों की है।
     बताया जा रहा है कि जिस जगह पर मुठभेड़ हुई है वह इलाका बेहद ही दुर्गम है। घनघोर जंगलों व पहाड़ों से घिरा हुआ है। रूक-रूक कर हो रही तेज बारिश के चलते शवों को वहां से निकालने में जवानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बैकअप पार्टी को भी रवाना कर दिया गया है।

  •  

Posted Date : 09-Jul-2018
  • धनोरा नाला भरने से दर्जनों गांव का संपर्क टूटा
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 9 जुलाई। जिले में 48 घंटे से ज्यादा समय से हो रही भारी बारिश के चलते कई गांवों का संपर्क बीजापुर से टूट गया है। इसके चलते जनजीवन पर भी इसका प्रतिकूल असर पड़ा है। इलाके के कई नदी नाले उफ ान पर हैं। मिंगाचल में पुल बन जाने से राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात सामान्य है, जबकि बीजापुर के आसपास के नदी नाले उफ ान पर हैं।
    जिला मुख्यालय से करीब 8 किलोमीटर और राष्ट्रीय राजमार्ग से महज 3 किलोमीटर दूर धनोरा से बोरजे तोयनार जाने वाले मार्ग पर बने पूल में पानी भर जाने से इस मार्ग पर दो दिनों से आवागमन प्रभावित हो गई है। इस पूल को लोक निर्माण विभाग ने बनाया था। पूल की हाईट कम होने की वजह से हर साल इसपर कुछ घंटो की बारिश से यह भर जाता है। गांव के ग्रामीणों ने इसे लेकर कई बार क्षेत्रीय विधायक व जिला प्रशासन को अवगत भी कराया है। बावजूद इस ओर किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। पूल में पानी भरने से किसान भी परेशान हैं। उनकी खड़ी फ सल पर इसका असर हो रहा है। पुल में पानी भरे रहने से किसान, शिक्षक, स्कूली बच्चें, मरीजों को खासी तकलीफ  उठानी पड़ रही है।
    बताया गया है कि शनिवार की सुबह इसी मार्ग से होकर कुछ शिक्षक स्कूल गए थे, लेकिन वापसी में उन्हें धनोरा नाला के बाढ़ ने रोक लिया। रविवार को भी यहां पानी करीब 2 से 3 फ ीट पूल से ऊपर बह रहा था। इसी दौरान एक गर्भवती महिला को प्रसव के लिए बीजापुर अस्पताल आना था। इस विषम परिस्थिति में आसपास के लोगों ने महिला को जैसे तैसे कर पूल पार करवाया गया। तब जाकर महिला सुरक्षित अस्पताल पहुंच सकी। 

  •  

Posted Date : 02-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बीजापुर, 2 जुलाई। बीजापुर पुलिस ने मुठभेड़ में एक वर्दीधारी नक्सली को मार गिराया है। गंगालूर के ए_पाल के जंगलों में हुई मुठभेड़ में मारे गए  इस नक्सली के शव के साथ एक इंसास रायफल और भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद हुई है।
    पुलिस के मुताबिक डीआरजी की टीम आज अपने रूटिन सर्चिंग पर निकली हुई थी। इसी दौरान ए_पाल के जंगलों में मौजूद नक्सलियों के साथ डीआरजी के जवानों की मुठभेड़ हो गई। कुछ देर चली गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से भाग निकले।  
    बीजापुर एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि सर्चिंग के दौरान एक वर्दीधारी नक्सली का शव मिला है। उसकी पहचान नहीं हो पायी है। ज्ञात हो कि इससे पहले शनिवार को सुकमा में एक इनामी नक्सली को जवानों से मार गिराया था।

  •  

Posted Date : 19-Jun-2018
  • सभी बीजापुर के एक परिवार के

    छत्तीससगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 19 जून। जिले के मद्देड़ थाना क्षेत्र के पेगड़ापल्ली में जहरीले गैस रिसाव से पिता-पुत्र समेत 4 की मौत हो गई। वहीं घटना में 2 अन्य घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल रिफ र किया गया है।
    मिली जानकारी के मुताबिक पेगड़ापल्ली गांव के कोत्तुरपारा में एंजा परिवार में शौचालय निर्माण किया जा रहा है। यहां सेप्टिक टैंक के ऊपर शौचालय बनाया जा रहा है। मंगलवार की सुबह करीब 8 बजे टैंक की सेन्ट्रिंग खोलने पहले मजदूर हरदास कश्यप  गया। काफ ी देर तक उसके बाहर न आने पर मकान मालिक इंजा मदनैया  भी अंदर गए। जब वे भी बाहर नहीं निकले तब उन्हें देखने पुत्र पंकज इंजा  टैंक में उतर गया। इसके बाद ग्रामीण इंजा शंकर भी गया। उसकी भी अंदर मौत हो गई। 
     इसके बाद वहां मौजूद  इंजा रामबाबू ,इंजा तिरलेश व इंजा पवन अंदर गए। तब उन्हें जहरीले गैस का पता चला और वे बाहर निकले। वे तीनों गंभीर है। घायल रामबाबू का जिला अस्पताल और तिरलेश व पवन का मद्देड़ स्वास्थ्य केंद्र में उपचार चल रहा है। बताया गया है कि इंजा मदनैया नारायणपुर में कृषि उपज मंडी के कर्मचारी थे। वे कुछ दिन पहले ही यहां आये थे। वहीं पुत्र पंकज मद्देड़ स्कूल में क्लर्क के पद पर कार्यरत थे।  इस  घटना से गांव में मातम है।

  •  

Posted Date : 15-Jun-2018
  • चहारदीवारी पर  लिखे हैं नारे, बंद करने की भी  चेतावनी

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 15 जून। जिले के भोपालपटनम में बरदेली रोड पर संचालित सरकारी शराब दुकान नक्सली दहशत के चलते तय वक्त से चार घंटे पहले ही बंद कर दिया जाता है।  नक्सलियों ने इस दुकान के  गेट व चहारदीवारी पर नारे लिखकर, दुकान बंद करने की चेतावनी दी है। 
    नगर पंचायत की सीमा से लगे बरदेली रोड पर पहले से ही नक्सली खौफ  है। कुछ माह पहले नक्सलियों ने इसी रोड पर ब्लास्ट किया था। इसके बाद नक्सलियों ने शराब दुकान की दीवार और गेट पर नारे लिखे हैं। इन नारों को पखवाड़े भर बाद भी नहीं मिटाया गया है। 
    नक्सलियों ने  कार्ल माक्र्स की जयंती मनाने की अपील करते लिखा है कि पुजारी कांकेर, आईपेंटा और गढ़चिरौली में उनके साथी मारे गए हैं। वे और भर्ती करेंगे। कार्ल माक्र्स को अपना गुरू बताते नक्सलियों ने ब्राहमण हिंदूओं को दलित,आदिवासियों, अल्पसंख्यकों, महिला और मजदूरों का विरोधी  और फ ासीवादी बताया है। इस धमकी के बाद कर्मचारियों ने शराब दुकान शाम 5 बजे बंद करना शुरू कर दिया जबकि इसका वक्त दोपहर 12 से रात 9 बजे तक का है। खबर है कि इस बारे में जिला आबकारी कार्यालय से निरीक्षण के लिए एक पत्र एसडीएम और तहसीलदार को भेजा गया है। 
    स्थानीय लोगों का आरोप है कि नक्सल भय के बहाने  कर्मचारी 4 बजे ही दुकान बंद कर देते हैं और ब्राण्डेड शराब  कोाचियों को पीछे से बेचते हैं। इस वजह से 5 बजे के बाद कोचियों की चांदी हो गई है। वे औने पौने दाम पर  देर रात तक बेचते रहते हैं।  

  •  

Posted Date : 22-May-2018
  • भोपालपट्टनम में  भूमिपूजन-लोकार्पण
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 22 मई। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बीजापुर जिले के तहसील मुख्यालय भोपालपट्टनम में विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं। नक्सलियों ने जिन स्कूलों को ध्वस्त किया सरकार ने उन्हें फिर से बनाकर और पोटा केबिन के माध्यम से बच्चों की शिक्षा की बेहतर व्यवस्था की। गांव-गांव को विकास से जोडऩे के लिए अंचल में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। गांवों का विद्युतीकरण किया जा रहा है, स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर की जा रही है। 
    मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बीजापुर के अस्पताल को देखकर रोना आता था। आज बीजापुर में सर्वसुविधायुक्त अस्पताल बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दे रहा है। बीजापुर जिले के विकास को देखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी बीजापुर के जांगला के दौरे पर आए थे। उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना में अगले छ: माह में हर घर में बिजली के कनेक्शन दे दिए जाएंगे। भोपालपट्टनम के कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप और वन मंत्री महेश गागड़ा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।  
    मुख्यमंत्री ने भोपालपट्टनम में लगभग 312 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से लगभग 104 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण और लगभग 208 करोड़ रूपए की लागत के कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंचल में लगभग 132 करोड़ रूपए की लागत से पुल-पुलियों का निर्माण किया जा रहा है। बीजापुर से भोपालपट्टनम तक बारहमासी सड़क बन गई है। भोपालपट्टनम के पास बन रहे अंतर्राज्यीय पुलों का निर्माण पूर्ण होने पर भोपालपट्टनम व्यापार और व्यवसाय के एक बड़े केन्द्र के रूप में उभरेगा। इससे क्षेत्र की अर्थ व्यवस्था में काफी परिवर्तन आएगा। 
    मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 6336 किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के बोनस के रूप में लगभग 7 करोड़ 68 लाख रूपए की राशि का वितरण कम्प्यूटर पर क्लिक कर किसानों के खाते में किया। उन्होंने श्रम विभाग सहित विभिन्न विभागों  की कल्याणकारी योजनाओं में हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की योजना के तहत श्रमवीरों को 1000 साइकिलों का वितरण किया। 
        उन्होंने आम सभा में बताया कि बीजापुर में 132 केवी  क्षमता का निर्माणाधीन विद्युत उपकेन्द्र जल्द पूरा होगा। इससे भोपालपट्टनम क्षेत्र के गांवों में बिजली के कम.वोल्टेज की समस्या का समाधान हो जाएगा। डॉ. सिंह ने कहा कि भारत नेट और बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत ग्रामीण अंचलों में इन्टरनेट और मोबाईल कनेक्टिविटी देने के लिए आप्टिकल केबल बिछाये जा रहे हैं। भोपालपट्टनम क्षेत्र में भी अगले दो माह में केबल बिछा दिए जाएंगे और लोगों को बेहतर मोबाईल कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने सूचना क्रांति योजना स्काई की जानकारी देते हुए कहा कि विकास यात्रा के दूसरे चरण में महाविद्यालय के विद्यार्थियों, महिलाओं, किसानों, श्रमवीरों और ग्रामीणों को 55 लाख स्मार्ट फोन नि:शुल्क वितरित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना और आयुष्मान भारत योजना की जानकारी ग्रामीणों को दी।   

  •  

Posted Date : 16-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 16 मई। जिले के चिन्नाकोडेपाल में बुधवार को नक्सलियों ने पुलिया निर्माण करवा रहे मुुंशी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी, वहीं निर्माण कार्य में लगे चार वाहनों को आग के हवाले कर दिए। पर्चे फेंक कर ठेकेदार को भी जान से मारने की धमकी दी है। 
    चिन्नाकोडेपाल में शिवशक्ति कंट्रक्शन कंपनी द्वारा पुलिया का निर्माण कराया जा रहा था। पुलिया निर्माण में लगभग 20 मजदूर कार्य कर रहे थे। बुधवार दोपहर को कुछ हथियारबंद नक्सली वहां पहुंचे और मुंशी को अपने कब्जे में लेकर अन्य मजदूरों को धमकी-चमकी देकर वहां से भगा दिया। नक्सलियों ने कार्य में लगे चार वाहनों में आग लगा दी। इन वाहनों में दो एग्जाज मशीन, एक ट्रक एवं एक जीप है। आगजनी के बाद बीजापुर निवासी मुंशी बटोहीपाल को नक्सलियों ने धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। घटना स्थल पर नक्सलियों ने पर्चे भी फेंके हंै। नक्सलियों ने पर्चे में पुलिया निर्माण करवा रहे ठेकेदार जयकुमार और राहुल को भी जान से मारने की धमकी दी है। पर्चा मद्देड़ एरिया कमेटी के द्वारा फेंका गया है। 
     

  •  

Posted Date : 04-May-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 4 मई। नक्सलियों के आज बंद का आंशिक असर देखने को मिला।  नक्सल धमकी के मद्देनजर बस ऑपरेटरों ने अंदरूनी इलाकों में संचालन बंद रखा, लेकिन इन इलाकों में टैक्सियां चल रही हैं।
    नक्सली दहशत के चलते शुक्रवार को ऑपरेटरों ने फरसेगढ़, कुटरू, बेदरे, बासागुड़ा, गंगालूर व भोपालपटनम मार्ग पर बसों का संचालन बंद रखा, हालांकि जगदलपुर व बीजापुर के बीच बसों की आवाजाही सामान्य थी। अंदरूनी इलाकों में टैक्सियोंं से लोग आ जा रहे थे। माओवादियों ने बुधवार की रात बासागुड़ा मार्ग पर धारावरम में चार पेड़ों को काटकर सड़क पर गिरा दिया था। गुरूवार की सुबह सीआरपीएफ  की 229 बटालियन के नुकनपाल कैंप से गए जवानों ने ग्रामीणों की मदद से पेड़ों को हटाया और फि र आवागमन सामान्य हुआ। 
    बम बरामद- सीआरपीएफ  की 168 बटालियन के जवानों ने बासागुड़ा और तर्रेम के बीच शुक्रवार की सुबह चार बम बरामद किए। नक्सलियों ने ये बम गश्त में जाने वाले जवानों को नुकसान पहुंचाने की नीयत से लगाए थे। सभी बमों को निष्क्रिय किया गया।  
    ज्ञात हो कि नक्सलियों ने महाराष्ट्र-छग सीमा पर हुई मुठभेड़ को फर्जी बताते और आईपेंटा में उनके आठ साथियों के मारे जाने के विरोध में 4 मई को बंद का आह्वान किया था। माओवादियों ने तेलंगाना, छग और महाराष्ट्र में बंद की अपील की है। 

    नक्सलियों ने पुलिया उड़ाई
    छत्तीसगढ़-तेलंगाना सीमा की घटना

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
     जगदलपुर, 4 मई। छत्तीसगढ़-तेलंगाना सीमा पर शुक्रवार को  नक्सलियों ने एक पुलिया को ब्लास्ट कर उड़ा दिया। घटना तेलंगाना के कोत्तगुडम जिले के चेरला मण्डल कल्वेरु की है। घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है।
    ज्ञात हो कि कल सुकमा जिले के कोंटा क्षेत्र में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। पुलिस ने एरिया कमांडर सोयम कामा को मार गिराया था। सोयम पर 5 लाख रुपए का ईनाम था। कुछ दिनों पहले तेलंगाना से आई ग्रेहाउंड फोर्स ने भी छत्तीसगढ़ के बीजापुर में घुसकर नक्सलियों के खिलाफ  कार्रवाई की थी। इस नक्सली ऑपरेशन में 8 नक्सली ढेर हो गए थे। इसी को लेकर नक्सलियों में बौखलाहट देखी जा रही है और वे घटनाओं को अंजाम देने की कोशिश कर रहे हैं।

  •  

Posted Date : 27-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 27 अप्रैल। बीजापुर जिले के उसूर ब्लॉक के इरमिडी थाना क्षेत्र में शुक्रवार को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में पुलिस ने 8 नक्सलियों को मार गिराया है। मारे गए नक्सलियों में 2 पुरुष एवं 6 महिला है। सभी के शव मिल गए हैं। घटना स्थल से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किया गया है। नक्सल डीजी डीएम अवस्थी ने प्रेस कांफ्रेंस कर नक्सल ऑपरेशन में मिली बड़ी कामयाबी का खुलासा किया।
    डीएम अवस्थी ने कहा कि मुठभेड़ छत्तीसगढ़-तेलंगाना बार्डर के बेहद करीब इनमिडी थाना क्षेत्र से 13 किमी दूर पहाड़ी पर हुई। श्री अवस्थी ने इस पूरे ऑपरेशन में एयरफोर्स के सहयोग का जिक्र किया। एयरफोर्स के पायलट ने जिस तरह से अपनी जान पर खेलकर घोर नक्सल क्षेत्र में हेलीकाप्टर को लैंड किया और फिर नक्सलियों के शव को लेकर आए अपने आप में काबीले तारीफ है।
    श्री अवस्थी ने कहा कि ये पूरा ऑपरेशन तेलंगाना ग्रे-हाउंड और छत्तीसगढ़ पुलिस जिसमें एसटीएफ, डीआरीजी, एसटीएफ, सीआरपीएफ और कोबरा के जवान शामिल थे, उनके साथ हुई है।
    श्री अवस्थी के कहा कि जिस तरह के हथियार बरामद हुए हंै उससे साफ है कि मारे गए नक्सलियों में कई बड़े ईनामी नक्सली भी हैं। हालांकि इस बारे में पूरी जानकारी उनकी शिनाख्ती के बाद ही मिल पाएगा। बीजापुर में आठों शवों की शिनाख्ती की जाएगी। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ दो घंटे से ज्यदा चली। इस दौरान कुछ बड़े नक्सलियों को भी गोली लगी है। उसे लेकर नक्सली भागने में सफल रहे। इस मुठभेड़ में और कई नक्सली घायल हुए हैं।
    घटना स्थल से 8 नक्सलियों के शव बरामद किया गया, जिसमें 2 पुरुष एवं 6 महिला के हंै। साथ ही काफी मात्रा में हथियार व नक्सल सामान भी बरामद किया गया है। बरामद हथियारों में 1 एसएलआर, 1 थ्री नॉट थ्री रायफल, 4 ग्रेनेड्स, 6 राकेट लान्चर, 3 एचई ग्रेनेड, 10 किट बैग, 4 जोड़ी नक्सली वर्दी एवं नक्सल साहित्य समेत नक्सली उपयोग की सामग्री बरामद किया गया है। क्षेत्र में अभी भी सर्चिंग जारी है। 
    पुलिस सूत्रों के मुताबिक तेलंगाना से आई ग्रेहाउंड का दस्ता इस इलाके में गुरूवार को ही पहुंच गया था। इलमिडी से डीएफ  व डीआरजी की फोर्स भी इनके साथ थी। सुबह आइपेंटा की पहाड़ी पर जवानों ने माओवादियों की घेराबंदी शुरू कर दी। नक्सलियों ने जवानों को देख फायरिंग शुरू कर दी। मुठभेड़ बाद मौके की सर्चिंग पर आठ नक्सलियों के शव मिले। शवों को जिला मुख्यालय लाया गया है। इनकी शिनाख्त की जा रही है। 
    मुठभेड़ में ग्रेहाउंड के तीन जवान भी घायल हुए हैं। घायल जवानों को तेलंगाना ले जाया गया है। ज्ञात हो कि दो साल पहले ग्रेहाउंड ने इसी इलाके में नक्सली विवेक को मार गिराया था।
    एरिया का नक्शा भी मिला
    नक्सलियों के साहित्य के साथ इलमिड़ी एरिया का नक्शा भी पुलिस ने बरामद किया है। इस नक्शे में माओवादियों ने थाने और कैम्पों की पोजिशन को भी दर्शाया है।  
    ज्ञात हो कि कल ही अबूझमाड़ इलाके में 60 नक्सलियों ने 7 भरमार बंदूक के साथ आत्मसमर्पण किया था। नक्सलियों ने बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा के सामने समर्पण किया था। समर्पण करने वाले नक्सलियों में 20 महिला और 40 पुरूष हैं। 

  •  

Posted Date : 25-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 25 अप्रैल। नक्सलियों ने कुटरू से 10 किमी दूर दरबा पंचायत के सरपंच सोमारू राम माड़वी की मंगलवार की रात हत्या कर दी। नक्सलियों ने उस पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाते वारदात को अंजाम दिया है।
    पुलिस के मुताबिक कुटरू-माटवाड़ा मार्ग पर बसे दरबा गांव में बीती रात करीब 50 माओवादी सरपंच सोमारू के घर आ धमके। सरपंच को घर से बाहर लेकर आए और डण्डे से बेदम पिटाई की। नक्सलियों ने कुल्हाड़ी मारकर उसकी हत्या कर दी। सरपंच का शव बुधवार की सुबह कुटरू लाया गया। 

     

  •  

Posted Date : 09-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 9 अपै्रल। प्रधानमंत्री के बीजापुर दौरे का विरोध जताते हुए नक्सलियों ने सोमवार को जमकर उत्पात मचाया। पहले बीजापुर-भोपालपटनम मार्ग पर कोडेपाल के पास एक के बाद एक कई विस्फोट किए, उसके बाद कुटरू के पास गश्त से लौट रहे जवानों से भरी बस को विस्फोट कर उड़ा दिया। आईईडी विस्फोट से 2 जवान घटना स्थल पर ही शहीद हो गए, वहीं 7 घायल हैं।  घटना स्थल बीजापुर जिला मुख्यालय से 30-35 किलोमीटर दूर है। घटना की पुष्टि डीआईजी पी. सुन्दर राज ने की है।
    एएसपी दिव्यांश पटेल ने बताया कि बस कुटरू गई थी। इसमें ड्राइवर के अलावा आठ जवान सवार थे। वे नक्सली पर्चों को निकालते आ रहे थे। सुरक्षा के लिए रास्ते में आरओपी लगी थी और बस के पीछे तीन व आगे चार बाइक पर जवान चल रहे थे। तभी तुमला के पास बस को नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ा दिया। बस नाले के किनारे जा गिरी और इसके परखच्चे उड़ गए। नक्सलियों ने गोलीबारी नहीं की और ब्लास्ट के बाद चले गए। 
    मौके पर ही ड्राइवर लवन गावड़े निवासी बालोद व आनंद राव निवासी मिन्नूर मद्देड़ शहीद हो गए। घायल जवान संतोष कुमार,  मनीष वाचम, सुखराम माड़वी, मासाराम कुडिय़म, सुखनाथ मंडावी, भोजराज मौर्य एवं पैकूराम घायल हो गए। इनका इलाज जिला हॉस्पिटल में चल रहा है। घायलों का हाल जानने डीआईजी रतनलाल डांगी व एएसपी दिव्यांश पटेल हॉस्पिटल पहुंचे थे। 
    बीजापुर-भोपालपटनम मार्ग पर सीरियल ब्लास्ट
     इससे पहले नक्सलियों ने आज सुबह बीजापुर-भोपालपटनम मार्ग पर कोडेपाल के पास एक के बाद एक 10 विस्फोट किए हैं। सीरियल विस्फोट के बाद नक्सली और पुलिस जवानों के बीच मुठभेड़ भी हुई, जिसमें एक जवान घायल हो गया है। मोदकपाल एसआई ने मुठभेड़ व ब्लॉस्ट की पुष्टि की है। 
    मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर-भोपालपटनम मार्ग पर सीआरपीएफ 85 बटालियन के जवान सोमवार सुबह महादेव घाट से कोडपाल के बीच रोड ओपनिंग के लिए निकले हुए थे। इसी दौरान नक्सलियों ने महादेव घाट पर विस्फोट कर जवानों पर फायरिंग करना चालू कर दिया। पुलिस पार्टी ने भी जवाबी फायरिंग की। बताया जा रहा है कि इस दौरान नक्सलियों ने एक के बाद एक 10 धमाके किए। पुलिस व नक्सलियों के बीच गोलीबारी में एक जवान घायल हो गया। 
    पर्चा फेंक पीएम दौरे का विरोध
    नक्सली पीएम नरेन्द्र मोदी के दौरे का विरोध कर रहे हैं।  नक्सलियों ने बीजापुर-भोपालपट्टनम सड़क पर महादेव घाट के पास बड़ी संख्या में पोस्टर्स और बेनर्स फेंके हैं। प्रधानमंत्री 14 अपै्रल को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आने वाले हैं। पीएम यहां आयुष्मान भारत योजना को देश को समर्पित करेंगे, साथ ही कई योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी करेंगे। 
    पर्चें में नक्सलियों ने नरेन्द्र मोदी पर बस्तर के विकास के नाम पर अमूल्य खनिज संपदा को कॉरपोरेटस को सौंपने का आरोप लगाया है। पर्चा में नक्सलियों ने वर्ष 2019-22 तक नक्सल आंदोलन के खत्म नहीं होने की बात कही है। दक्षिण बस्तर सब जोनल ब्यूरो की ओर से जारी किए गए प्रेस नोट में नक्सलियों ने स्वीकार किया है कि तड़पाल, कलेड़ा और मोददुम मुठभेड़ में दर्जनों नक्सली मारे गए। इससे बड़ा नुकसान हुआ है। 
    कल भी नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर 5 घटनाओं का जिक्र किया था, जिससे पूर्व भाजयुमो अध्यक्ष और पूर्व जिला पंचायत सदस्य जगदीश कोड्रा और तुमनार सड़क निर्माण कार्य के ठेकेदार विशाल सरवैया की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। 
    नक्सलियों ने लिखा था कि किस्टराम के कासाराम में एंटीलैंडमाइन व्हीकल में ब्लॉस्ट कर 9 जवानों की हत्या की थी। ये बैनर-पोस्टर भाकपा माओवादी पश्चिम डिवीजन कमेटी ने लगाए हैं। पोस्टर-बैनर से इलाके के लोगों में दहशत है। 

     

  •  

Posted Date : 09-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 9 अप्रैल। प्रधानमंत्री के बीजापुर दौरे का विरोध जताते हुए नक्सलियों ने आज बीजापुर भोपालपटनम मार्ग पर एक के बाद एक 10 विस्फोट किए विस्फोट में एक जवान के घायल होने की सूचना है। वहीं विस्फोट के बाद मुठभेड़ की खबर है।
    मिली जानकारी के मुताबिक बीजापुर भोपालपटनम मार्ग पर सीआरपीएफ 85 बटालियन के जवान महादेव घाट से कोडपाल के बीच रोड ओपनिंग के लिए निकले हुए थे। इसी दौरान नक्सलियों ने महादेव घाट पर विस्फोट कर जवानों पर फायरिंग करना चालू कर दिया। पुलिस पार्टी ने भो जवाबी फायरिंग प्रारम्भ कर दिया है। विस्फोट में 1 जवान के घायल होने की खबर भी है। पुलिस व नक्सलियों के बीच गोलीबारी जारी है। बताया जा रहा है कि इस दौरान नक्सलियों ने एक के एक बाद 10 धमाके किए हैं।
      प्रधानमंत्री के दौरे से पहले मिला नक्सली पर्चा
    इधर एक पर्चा जारी कर नक्सलियों ने वर्ष 2019-22 तक नक्सल आंदोलन के खत्म नहीं होने की बात कही है।  दक्षिण बस्तर सब जोनल ब्यूरो की ओर से जारी किए गए प्रेस नोट में नक्सलियों ने स्वीकार किया है कि तड़पाल, कलेड़ा और मोददुम मुठभेड़ में दर्जनों नक्सली मारे गए। इससे बड़ा नुकसान हुआ है। नक्सलियों ने इस पर्चे में पटनम के भाजपा नेता जगदीश और पीएमजीएसवाय के ठेकेदार की हत्या की जिम्मेदारी भी ली है। नक्सलियों ने सुकमा के किस्टारम के कासाराम में एंटीलैंडमाइन हमले में 9 जवानों की हत्या कर 4 हथियार लूटने का दावा भी किया है।

  •  

Posted Date : 03-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 3 अप्रैल। जिला बल, डीआरजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने अलग-अलग थाना क्षेत्रों से आगजनी व विस्फोट की घटना में शामिल रहे 9 नक्सल-आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
    बीजापुर थाना से सीआरपीएफ  85 बटालियन और जिला बल की संयुक्त टीम एरिया डामिनेशन के लिए पोंजेर की ओर रवाना हुई थी। मुखबिर की सूचना पर जवानों ने ग्राम पोंजेर से आगजनी मामले में लिप्त दो वारंटी नक्सलियों माडवी बुधराम व गुड्डू माडवी को घेराबंदी कर पकड़ा गया। इन पर गंगालूर मार्ग पर बीते 14 मार्च को पामलवाया के पास 1 जेसीबी, 1 अजाक्स, 2 बारब्रेटर रोलर, 1 डबल ड्रम रोलर, तथा 1 पानी टेंकर में आग लगाने का आरोप है। दूसरी तरफ  भोपालपट्नम थाना क्षेत्र से डीआरजी और जिलाबल के जवानों ने विस्फोट व आगजनी मामले के 7 नक्सलियों को धर दबोचा है। बारेगुडा में निर्माण कार्य में लगे दो जेसीबी वाहन में आगजनी की घटना में शामिल रहे नक्सली पूनेम हनुमैया, कोर्राम कन्हैया, पवन कुम्मरम तथा पेंटैया तोडसम को पकड़ा गया। वहीं वरदली के जंगल से विस्फोट में शामिल चिडेम कन्हैया, नानैया कुमरम व मड़े इस्तारी को पकड़ा गया। उक्त नक्सली 23 मार्च को उल्लूर के पास विस्फोट की घटना में शामिल रहे। पकडे गए सभी नक्सलियों को न्यायालय बीजापुर में पेश किया गया।

  •  

Posted Date : 03-Apr-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भोपालपटनम/बीजापुर, 3 मार्च। नक्सलियों की मद्देड़ एरिया कमेटी ने भोपालपटनम ब्लॉक में कार्यरत एक शिक्षाकर्मी पर कई आरोप लगाते गंभीर परिणाम भुगतनेे की चेतावनी दी है। नक्सलियों ने नगर पंचायत के बीचो-बीच और रूद्रारम में पर्चे लगाकर ये धमकी दी है। पूर्व भाजयुमो नेता जगदीश कोण्डरा की हत्या के कुछ दिनों बाद ऐसे पर्चे मिलने से नगर में दहशत का माहौल है। 
    नगर पंचायत में लगे पर्चे को पुलिस ने बरामद किया है। लेकिन सोमवार की दोपहर तक रूद्रारम में एक घर के बांस की बाड़ में लगे पर्चे को नहीं हटाया गया था। लोग दहशत के कारण इसे नहीं हटा रहे हैं। 
    बताया गया कि शिक्षाकर्मी रूद्रारम निवासी है और उन पर नक्सलियों ने 2003 में हमला किया था। नक्सलियों ने आरोप लगाया है कि उन्हें दो से तीन बार चेतावनी दी गई है, लेकिन वे नहीं सुधरे। नक्सलियों ने उन पर नेतागिरी करने, पुलिस से नजदीकी रखने और एक विवाहिता को भगा कर ले जाने का आरोप लगाया है। नक्सलियों ने कहा है कि वे विवाहिता को गांव लेकर आए और शिक्षक की तरह काम करें। समाज के साथ अच्छे से रहे नहीं तो हश्र ठीक नहीं होगा। 
    भोपालपटनम नगर पंचायत में शाम ढलते ही खौफ  बढऩे लगता है। पूर्व भाजयुमो नेता की हत्या के बाद से ग्रामीण रात को बाहर निकलने से डरतेे हैं। अब नगर में पर्चे मिलनेे से दहशत और बढ़ गई है। इधर पुलिस ने भी आसपास सर्चिंग बढ़ा दी है। 

  •  

Posted Date : 30-Mar-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 30 मार्च। सर्चिंग पर गए सीआरपीएफ  का एक जवान नक्सलियों की आईईडी की जद में आ गया। जवान के दोनों पैरों में गंभीर चोट आई है। घायल जवान को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। उसे बेहतर इलाज के लिए हेलीकाप्टर से रायपुर भेजने की तैयारी की जा रही है।
     बीजापुर से सीआरपीएफ  85 बटालियन के जवान शुक्रवार को सुबह से सर्चिंग पर निकले थे। महादेव और चिन्नकवाली के बीच नक्सलियों द्वारा गड़ाए आईईडी ब्लास्ट हो गया। इसकी चपेट में आने से जवान लक्ष्मण राव गंभीर रूप से घायल हो गया। जवान के दोनों पैरों में चोट आई है।

  •  

Posted Date : 23-Mar-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 23 मार्च। जिले के भोपालपट्टनम के पास नक्सल विस्फोट में आने से दो जवान घायल हो गए।  प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए जगदलपुर या रायपुर भेजने की तैयारी की जा रही है।
    एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि जवान भोपालपट्टनम से उल्लूर के लिए सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान नक्सलियों ने इन्हें निशाना बनाते हुए विसफोट किया। घटना में  एसआई योगेश पटेल और सिपाही  इंद्रजीत सिंह को गम्भीर चोट आई है। भोपालपटनम के अस्पताल में प्राथमिक उपचार किया जा रहा है।
    ज्ञात हो कि दो दिन पहले ही कोंडागांव में नक्सलियों के बड़े नेताओं के जुटने की खबर आई थी। इसके बाद से बस्तर में एलर्ट जारी कर दिया गया था। आशंका जताई गई थी कि नक्सली बड़ी वारदात की फिराक में हैं।

  •  

Posted Date : 05-Jan-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 5 दिसंबर। गंगालूर थाना क्षेत्र के कावडग़ांव के जंगल में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने 3 वर्दीधारी नक्सलियों को मार गिराया। इनमें एक महिला शामिल है। घटनास्थल से  हथियार और नक्सल सामान बरामद किए गए हैं।
    पुलिस के अनुसार कोबरा 204 और जिला बल के जवानों के साथ यह मुठभेड़ हुई। घटना स्थल से तीन हथियार बरामद किए गए हैं। इनमें बरामद  एक 303 रायफल,एक भरमार बंदूक,एक कट्टा समेत भारी मात्रा में नक्सल सामान बरामद किए गए हैं। बीजापुर एसपी एम आर अहिरे ने घटना की पुष्टि करते कहा कि मारे गए नक्सलियों की पहचान की जा रही है।

  •  

Posted Date : 29-Dec-2017
  • प्रीति दुर्गम बनी बीजापुर के युवाओं की प्रेरणा

    छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    बीजापुर, 29 दिसम्बर। बीजापुर जिले में पली-बढ़ी प्रीति दुर्गम से इस कथित पिछड़े इलाके को नई पहचान मिली है। मूलत: उसूर की रहने वाली प्रीति दुर्गम का चयन डिप्टी कलेक्टर के लिए हुआ है। वह अजा वर्ग में इस पद पर अव्वल रही हैं। 
    जिला मुख्यालय में पदस्थ शिक्षक राऊतपारा निवासी दुर्गम नागेश व श्रीमती मीना दुर्गम की बेटी प्रीति बीजापुर की पहली युवती है, जो डिप्टी कलेक्टर बनी है। उनकी प्राथमिक शिक्षा अल्फ ा पब्लिक स्कूल से हुई। उसके बाद उन्होंने जगदलपुर में दीप्ती कान्वेंट व केन्द्रीय विद्यालय में बारहवीं तक की शिक्षा ग्रहण की। 2012 में सीआईएमटी भिलाई से कंप्यूटर साइंस में बीई करने के बाद नई दिल्ली में यूपीएससी की कोचिंग ली। वे फि र चार साल से छग में ही पीएससी की तैयारी कर रही थी। चार साल की मेहनत रंग लाई और वे डिप्टी कलेक्टर के लिए चयनित हो गईं। 
    अजा वर्ग में डिप्टी कलेक्टर के दो पद थे। इसमें भी वे टॉप पर रहीं। उन्होंने डिप्टी कलेक्टर के अलावा लेखाधिकारी, वाणिज्य कर अधिकारी, श्रम अधिकारी समेत विभिन्न पदों को चॉइस में रखा था। वे कहती हैं कि डिप्टी कलेक्टर में चयन को लेकर उन्हें थोड़ा संदेह था। चयन होने पर उन्हें काफी खुशी हुई। वे कहती हैं कि बचपन से ही उनकी इच्छा सिविल सर्विसेस में जाने की थी। उनका पैतृक निवास उसूर में है। इधर, राऊतपारा स्थित उनके निवास पर पर्व-सा माहौल है। सुबह से नाते-रिश्तेदारों व मित्रों का तांता लगा है। सुबह से ही पूरे परिवार को बधाई मिल रही है।

  •  



Previous12Next