छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Posted Date : 22-Apr-2019
  • एक दिन पहले ही बच्चों को दी गई छुट्टी, नहीं तो हो सकती थी बड़ी घटना 

    इससे पहले भी यहां बाढ़ ने मचाई थी तबाही, 30 लाख का नुकसान
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 22 अपै्रल
    । बालक रेसिडेंशियल स्कूल पेगड़ापल्ली में बीती रात आंधी तूफ ान ने ऐसा कहर मचाया कि यहां बांस के स्ट्रक्चर से बने अतिरिक्त कक्ष व बच्चों के रेसिडेंश गिरकर धराशाही हो गए। इससे पोटाकेबिन को करीब 2 लाख रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

    रविवार की रात इलाके में चली तेज आंधी तूफ ान की जद में आकर भोपालपटनम तहसील के पेगड़ापल्ली में संचालित बालक रेसिडेंशियल स्कूल पोटाकेबिन में बांस स्ट्रेक्चर से बने बच्चों के रेसिडेंश व अतिरिक्त रूम हवा की मार झेल नहीं सके और गिरकर धराशाही हो गए। एक दिन पहले ही यहां अध्यनरत 353 बच्चों को  गर्मी की छुट्टी देकर उन्हें घर भेजा गया है। अन्यथा एक बड़ी घटना घट सकती थी। ज्ञात हो कि इससे अगस्त में भारी बारिश होने की वजह से यहां बाढ़ का पानी घुस गया था। इससे पोटाकेबिन पूरी तरह जलमग्न हो गया था और संस्था को करीब 20 से 25 लाख का नुकसान हुआ था। जिसकी राशि अब तक संस्था को नहीं मिल सकी है। डीपीसी, बसमैया व अधीक्षक नागराज पतंगी ने बताया कि हवा तूफान से संस्था में नुकसान हुआ है। वहीं बांस से निर्मित पोटाकेबिन आंधी तूफ ान को झेलने लायक नहीं रह गए है।

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • एसपी ने दी दस-दस हजार प्रोत्साहन राशि
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 21 अप्रैल।
    रविवार को इलाके में सक्रीय नक्सलियों की नेशनल पार्क एरिया को तगड़ा झटका लगा है। यहां के 15 नक्सल आरोपियों ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। इसमें एक लाख इनाम की महिला नक्सली भी शामिल हैं।
    यहां पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभागार में कलेक्टर केडी कुंजाम, पुलिस अधीक्षक गोवर्धन ठाकुर व सीआरपीएफ 85 के कमान्डेंट सुधीर कुमार की मौजूदगी में नेशनल पार्क एरिया के 15 नक्सलियों ने नक्सलवाद की खोखली विचारधारा से क्षुब्ध होकर मुख्यधारा में लौट आए हंै। नक्सलियों ने अफसरों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। इनमें एक लाख की इनामी सीएनएम की महिला कमांडर इरपा वाचम, राजू राम वाचम, बंजाराम गोटा, वड्डे शंकर ने अपने अपने भरमार बंदूक के साथ सरेंडर किया है। इसके अलावा सुक्कू वाचम, रैनू वाचम, राजू वाचम, सुक्कू पल्लो, ओवाराम वाचम, सुक्कू वाचम, कु.जुर्री पल्लो, बुधरी तेलम, मांडी तेलम, सुनीता वाचम, व कु. जिम्मो वाचम शामिल है। 

    आत्मसमर्पित नक्सलियों में सीएनएम, मिलिशिया, डीएकेएमस, व आरपीसी  के सदस्य है। उक्त नक्सलियों के विरुद्ध विभिन्न थानों में अपराध दर्ज हैं। आत्मसमर्पित नक्सलियों को एसपी ने दस-दस हजार रुपये नगद प्रोत्साहन के तौर पर दी। 

    इस दौरान एसपी गोवर्धन ठाकुर ने कहा कि हिंसा किसी भी मसले का हल नहीं है। उन्होंने नक्सलियों से अपील करते हुए कहा कि वे हिंसा छोड़कर समाज की मुख्यधारा से जुड़े और सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का लाभ लें। इस अवसर पर एसडीओपी कुटरू अशोक जोन पन्ना, एसडीओपी फरसेगढ़ खोमन सिन्हा, उप पुलिस अधीक्षक ऑप्स केसी टोप्पो, उप पुलिस अधीक्षक हेडक्वाटर सुधीर कुजूर उपस्थित रहे।

     

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • बीजापुर, 21 अप्रैल। एक लाख की इनामी महिला नक्सली समेत 15 ने आज बीजीपुर एसपी के सामने समर्पण  किया। इनमें एक सीएनएम अध्यक्ष, 5 मिलिशिया सदस्य, 8 डीकेएएमएस अध्यक्ष और एक  आरपीसी सदस्य शामिल है।  साथ ही 3 भरमार बंदूक का भी समर्पण नक्सलियों ने किया है।

     

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • बीजापुर, 21 अप्रैल ( छत्तीसगढ़ )। पामेड़ पुलिस और ग्रेहाउंड की संयुक्त टीम ने रविवार को दो नक्सलियों को मार गिराया है। पुलिस ने दोनों नक्सलियों के शव के साथ हथियार भी बरामद किया है। इनमें से एक पर 1 लाख को इनाम घोषित था। बीजापुर एसपी गोवर्धन ठाकुर ने बताया कि जिले के पामेड़ पुलिस और ग्रेहाउंड ने संयुक्त ऑपरेशन बीजापुर जिले में चलाया। टीम आज सुबह सर्चिंग पर निकली हुई थी। उसी दौरान उनका सामना नक्सलियों से हो गया। घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों को देख फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की। इस बीच जवानों ने दो नक्सलियों को मार गिरा। घटना स्थल से शव के साथ हथियार भी बरामद किया गया है।  

  •  

Posted Date : 19-Apr-2019
  • दो माह पहले मनकेली में पाटे गए थे दो सौ स्पाइक होल
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 19 अप्रैल।
    यहां से 8 किमी दूर मनकेली गांव की ढाई साल की एक बालिका की जान सीआरपीएफ  की 85 बटालियन के जवान के खून से बची। ये वही गांव है, जहां से दो माह पहले ही नक्सलियों के बनाए दो सौ से भी अधिक स्पाइक होल इसी बटालियन के जवानों ने पाटे थे। 

    सूत्रों के मुताबिक मनकेली गांव की ढाई साल की वनिता कुरसम की तबीयत खराब थी। उसे मलेरिया हो गया था और खून की कमी भी थी। उसे जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उसे ए पॉजीटिव खून की आवश्यकता थी। बालिका के पिता को बुधवार को उनके किसी परिचित ने सीआरपीएफ  की 85 बटालियन के मुख्यालय परिवर्तन कैम्प से संपर्क करने की समझाइश दी। इस समझाइश पर बालिका के पिता वहां गए  और फिर कमाण्डेंट सुधीर कुमार ने तत्काल इसकी व्यवस्था करवा दी। जवान मोनाश कुमार ने बालिका के लिए ब्लड दिया। नगरपालिका में पदस्थ सहायक राजस्व निरीक्षक शेखर बंसोर (40) हॉस्पिटल में भर्ती थे। उन्हें 85 बटालियन के हवलदार विक्रांत बैस ने ए-पॉजीटिव ब्लड दिया। बटालियन के जवानों ने कई बार लोगों को रक्तदान कर उनकी जान बचाई है। कमाण्डेंट सुधीर कुुमार का कहना है कि किसी को भी मेडिकल सुविधा की जरूरत हो तो वे कैम्प में आकर संपर्क कर सकते हैं। इसके पहले भी 85 बटालियन की ओर से कई लोगो को उच्चस्तरीय स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई गई है। कमाण्डेंट सुधीर कुमार का कहना है कि ग्रामीणों की लगातार मदद से उन्हें व्यवस्था से जोडऩे फोर्स प्रयासरत रही है। 'व्यक्ति नहीं बल्कि विचार समापन सिद्धांतÓ के तहत नक्सलवाद से लडऩे का 85 बटालियन का यह अनूठा सिद्धांत और कई बेमिसाल उदाहरण इस क्षेत्र में उल्लेखनीय हैं। नक्सलियों  को फोर्स को हानि पहंचाने के पहले समझना चाहिए कि सीआरपीएफ  ने शत्रु और मित्र मेें बिना किसी विभेद के कार्य किया है। वे यहां किसी पारिवारिक संबंध की स्थापना के लिए नहीं बल्कि शांति स्थापना के प्रयास के लिए अपना योगदान सुनिश्चित कर रहे हैं ताकि अगली पीढ़ी एक सुनहरे भविष्य की ओर बढ़ सके।

    सामान बांटे थे गांव में 
    सीआरपीएफ  की 85 बटालियन की ओर से 11 फरवरी को मनकेली में सिविक एक्शन प्रोग्राम भी किया गया। इस दिन जब जवान गांव गए तो वहां चारों ओर छह-छह फीट लंबे और तीन से चार फीट गहरे स्पाइक होल मिले। इनकी संख्या दो सौ से भी ज्यादा थी। ये गांव अतिसंवेदनशील है। 

     

  •  

Posted Date : 19-Apr-2019
  • प्रेम और 'क्षमा' पर धर्मगुरूओं का फोकस

    गुड फ्रइडे: गिरिजाघरों में हुई विषेष प्रार्थना सभाएं
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 19 अपै्रल।
    ।यहां शुभ शुुक्रवार को मसीहियों ने नगर के मुख्य मार्ग में क्रुस लेकर मातमी जुलूस निकाला और ईसा मसीह का संदेश दिया। यहां सभी गिरिजाघरों में गुड फ्रइडे को विशेष प्रार्थना सभाओं को आयोजन हुआ। 

    शुभ शुक्रवार की दोपहर सभी कलिसियाओं के लोगों ने रैली निकाली, ये रैली अप्राता कलेक्टोरेट के समीप मेथोडिस्ट चर्च से निकली। इस दौरान गीतों के जरिए यीशु मसीह के संदेश को ईसाइयोंं ने लोगों तक पहुंचाया।  ये रैली  मुख्य मार्ग से होते गंगालूर रोड़ की ओर बढ़ी जहां केथोलिक चर्च में रैली का समापन हुआ। कैथोलिक चर्च में प्रार्थना सभा हुई। इस अवसर पर फादर साजू सीएमआई ने यीशु मसीह के जीवन की जानकारी देते प्रेम और क्षमा पर अपने प्रवचन का सार रखा। उन्होंने कहा कि यदि कोई आपसे दुव्र्यवहार करता है तो उसे क्षमा करें और प्रेम के जीवन में बढ़ते जाएं। रैली में पास्टर कमलू तेलम, साजू सीएमआई, थॉमस पैथोटी, सुदर्शन कश्यप, रमेश नाग, जयवंत पॉल, डेविड कुमार, डी जर्मयाह,जोशुआ राव, प्रसाद पॉल, अर्जुन वेणजे, शंकर पुजारी, सामनाथ उरसा, चंद्रू लेकाम, लक्ष्मैया गुड्डू, कृष्णा कोरसा एवं अन्य धर्मगुरू मौजूद थे। इस रैली में कैथोलिक चर्च, मेथोडिस्ट चर्च, पेंतीकॉस्टल चर्च, फिलाडेल्फिया चर्च एवं अन्य कलिसियाओं के लोगों ने हिस्सा लिया। 

  •