छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Date : 19-Nov-2019

विस्फोटकों को किया निष्क्रिय, गंगालूर में जवानों को नुकसान पहुंचाने की फि राक में थे नक्सली

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 19 नवम्बर।
साप्ताहिक हाट के दिन मंगलवार को जवानों ने गंगालूर के कुरसमपारा में नक्सलियों के लगाए तीन विस्फोटकों को डिफ्यूज कर एक बड़ी वारदात टाल दी। जवान इन तीनों बमों को डिफ्यूज करने के बाद और भी बमों की तलाश में शाम तक जुटे थे। 

एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया कि मंगलवार को साप्ताहिक हाट था। थाने से कोई डेढ़ किमी दूर मंगलवार की दोपहर एक से ढाई बजे तक जवानों ने तीन आईईडी बम ढूंढे। इन्हें खोदकर निकालना खतरनाक और मुश्किल था। इस वजह से इन्हें डिफ्यूज कर दिया गया। इलाके के आसपास की सर्चिंग भी की गई। समझा जाता है कि सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की नीयत से नक्सलियों ने आईईडी बम लगाए थे। 

 


Date : 19-Nov-2019

सोशल मीडिया पर पर्यटन को लेकर मुहिम, बीजापुर खींच लाई पर्यटकों को, विधायक विक्रम ने सभी का किया स्वागत 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 19 नवम्बर।
पर्यटन की संभावनाओं को समृद्ध करने में जुटी दर्शनीय बीजापुर नामक वाट्सएप ग्रुप से जुड़े सदस्यों की पहल पर पहली बार पर्यटन के उद्देश्य से बाहर से लोग यहां पहुंचे थे। इस्पात नगरी भिलाई से पहुंचे छह पर्यटकों ने बीजापुर स्थित विभिन्न दर्शनीय स्थलों का भ्रमण किया, वहीं रची-बसी आदिवासी संस्कृति से मुखातिब होने के साथ ही जीवन शैली को करीब से जानने का प्रयास भी किया। 

पहली बार पर्यटन के उद्देश्य से यहां पहुंचे पर्यटकों का बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी ने भी स्वागत किया। विधायक ने आमंत्रण देकर उनसे अपने निजी आवास में सौजन्य भेंट की। खुशी जाहिर करते हुए विधायक ने कहा कि बीजापुर जिला नैसर्गिक सुंदरता से परिपूर्ण होने के साथ ही आदिवासी संस्कृति, प्रचलित लोक बोली भी यहां की एक विशेषता है। यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और इस दिशा में विधायक होने के नाते वे प्रयासरत् भी है कि माओवाद के नाम से चर्चित बीजापुर की छवि बदले और यहां मौजूद प्राकृतिक सुंदरता से बाहरी लोग भी रूबरू हो। 

नेचर लवर्स-बर्ड फ ोटोग्राफ र्स के लिए आदर्श स्थल 
बीजापुर आए बीएसपी कर्मी एवं बर्ड फ ोटोग्राफ र ईश्वर पटेल ने यहां मौजूद सघन वन की प्रशंसा करते हुए दुर्लभ पक्षियों के मिलने और बर्ड फ ोटोग्राफ ी के लिए बीजापुर को आदर्श स्थल बताया। प्रहलाद कुमार कश्यप ने ग्राम्य जीवन शैली और खान-पान की प्रशंसा की। उन्हें चापड़ा यानि लाल चींटी की चटनी बेहद ही प्रिय लगी। आनंद कुमार ने नेच्यूरल ब्यूटी को सराहा। आनंद कुमार ने पाया कि बीजापुर प्रदूषण मुक्त होने के साथ यहां लोग भी मिलनसार और शांतिप्रिय है। शरीत कुमार बर्मन ने बर्ड फोटोग्राफ ी की प्रबल संभावनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि वन विभाग को इस ओर शोध के लिए प्रयास करने चाहिए।

 


Date : 18-Nov-2019

बीजापुर भाजपा की कमान श्रीनिवास के हाथ, अध्यक्ष बोले संगठन को एक सूत्र में पिरोकर रखना ही उद्देश्य

बीजापुर, 18 नवंबर। यहां जिला भाजपा संगठन के हुए चुनाव में श्रीनिवास मुदलियार को भाजपा जिला अध्यक्ष की कमान निर्विरोध रूप से सौंपी गई है। उनके अध्यक्ष बनने पर पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा, पूर्व जिला अध्यक्ष जी. वेंकट सहित संगठन के लोगों ने उन्हें बधाई दी है।जिला भाजपा कार्यालय में संपन्न हुए संगठन चुनाव में आज बीजापुर जिला अध्यक्ष के लिए श्रीनिवास मुदलियार के नाम का प्रस्ताव संजय लुक्कड़ ने रखा। इसका समर्थन नीलम गणपत ने कर श्री मुदलियार को निर्विरोध जिला अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया। नव निर्वाचित जिला अध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार ने कहा कि उनका पहला उद्देश्य संगठन को एक सूत्र में पीरोकर रखना है। 

उन्होंने कहा कि जिस तरह से पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा व पूर्व जिला अध्यक्ष जी. वेंकट ने कार्यकर्ताओं को जिस नीति के तहत संगठन से बांध कर रखा है। उसी तरह वे भी उनके मार्गदर्शन में आगे कार्य करते रहेंगे। नवनियुक्त अध्यक्ष ने इस दौरान भूपेश सरकार को भी आड़े हाथो लिया। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार के पास कोई सिद्धांत नीति और न कोई योजना है। इसलिए कोई भी उचित निर्णय सरकार नहीं ले पा रही है। श्री मुदलियार ने कहा की  हम जनता के बीच जाकर सरकार की नाकामी बताएँगे और सरकार के किये वायदे को पूरा करवाएंगे। 

इस अवसर पर पालिका अध्यक्ष भाग्यवती पुजारी, घासीराम नाग, उर्मिला तोकल, सुखलाल पुजारी, जग्गू तेलामी, नकुल ठाकुर, नीता शाह, ओमकार तारम, जिलाराम राना, गौतम राव, टी शिबू, भुवन चौहान सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

 


Date : 16-Nov-2019

उदंती में वारदातों को अंजाम दिया और बीजापुर में 7 ने किया नक्सल समर्पण, सभी पर था इनाम

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 नवम्बर।
पुलिस अफ सरों के सामने सात इनामी नक्सलियों ने समाज की मुख्यधारा में जुडऩे के मकसद से शनिवार को आत्मसमर्पण कर दिया। इनमें से एक महिला समेत दो नक्सली उदंती एरिया में कई वारदातों को अंजाम दे चुके थे। इन समर्पित नक्सलियों को सरकार की ओर से 10-10 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि दी गई।


यहां पुलिस ऑफिसर्स मेस में आईजी पी. सुंदरराज, सीआरपीएफ  डीआईजी कोमल सिंह एवं एसपी दिव्यांग पटेल के सामने इन नक्सलियों ने सरेण्डर कर दिया। बासागुड़ा थाना क्षेत्र के कोत्तागुड़म गांव का रामजी उर्फ बिच्चेम कारम (24) उदंती में एलओएस डिप्टी कमाण्डर था और उस पर तीन लाख रूपए का इनाम था। वहीं बीजापुर थाना क्षेत्र के चिन्नाजोजेर गांव की रंजिता ओयाम (23) भी उदंती एलओएस की मेंबर थी। उस पर एक लाख रूपए का इनाम रखा गया था। 

मिरतूर थाना क्षेत्र के कोकरा गांव का लखमू मोडिय़म (32) नेशनल पार्क एरिया कमेटी में प्लाटून नंबर दो का डिप्टी कमाण्डर था। उस पर तीन लाख रूपए का इनाम था। वहीं मिरतूर थाना क्षेत्र के हल्लूर गांव का लक्खू तेलाम उर्फ  जित्तू (28) नैशनल पार्क एरिया कमेटी में प्लाटून नंबर दो का मेंबर था और उस पर दो लाख रूपए का इनाम रखा गया था। बीजापुर थाना क्षेत्र के कोकरा गायतापारा की रहने वाली  संगीता मोडिय़ाम (25) नेशनल पार्क एरिया कमेटी में मेंबर थी और उस पर दो लाख रूपए का इनाम था। 

बीजापुर थाना क्षेत्र के चेरकंटी की रहने वाली राजकुमारी यादव (26) पर एक लाख रूपए का इनाम था और वह गंगालूर एरिया कमेटी में चेतना नाटय मण्डली की अध्यक्ष थी। तोयनार थाना क्षेत्र के गुज्जाकोण्टा की रहने वाली हुंगा मोडिय़ामी पर एक लाख रूपए का इनाम था और नैशनल पार्क एरिया कमेटी में जनमिलिशिया डिप्टी कमाण्डर थी। सरेण्डर करने वाले माओवादियों को प्रोत्साहन राशि के अलावा पुनर्वास नीति के तहत अन्य सुविधाएं भी दी जाएंगी। 

आत्मसमर्पण के दौरान सीआरपीएफ  के आला अफ सर पी कुजूर, विवेक डबरियाल, ए भट्टाचार्य, जतिन किशोर, हरविंदर सिंह, शैलेन्द्र, प्रशांत कुमार आदि मौजूद थे। 

 


Date : 16-Nov-2019

नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में तेजी आएगी और इसकी व्यूहरचना में बदलाव हालात देखकर किया जाएगा- आईजी पी. सुंदरराज

फोर्स की कामयाबी-इस साल हिंसक वारदातों में 40 फीसदी कमी आई

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 16 नवम्बर।
बस्तर संभाग के नए आईजी पी. सुंदरराज ने कहा है कि नक्सलियों के खिलाफ  ऑपरेशन में तेजी आएगी और इसकी व्यूहरचना में बदलाव हालात देखकर किया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि बस्तर रेंज में इस साल हिंसक वारदातों में चालीस फ ीसदी कमी आई है और ये अच्छा संकेत है। 

आईजी पी. सुंदरराज यहां पुलिस आफि सर्स मेस में शनिवार को पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पहले जहां फ ोर्स नहीं घुसती थी, अब वहां भी फ ोर्स का ऑपरेशन चल रहा है और कामयाबी भी मिल रही है। सुरक्षाबलों और नागरिकों को नुकसान कम हो रहा है लेकिन ऐसा नहीं है कि फ ोर्स लापरवाह हो जाएगी। फ ोर्स हमेशा सतर्क है। कोबरा, सीआरपीएफ, सीएएफ, डीएफ और डीआरजी के तालमेेल से ऑपरेशन अच्छा चल रहा है। 

उन्होंने कहा कि पुलिस की नीति नितांत पारदर्शी है। उन्होंने कहा कि नक्सलियों के लिए आज भी सरेण्डर के द्वार खुले हुए हैं। वे मुख्यधारा में शामिल हो सकते हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीआरपीएफ के डीआईजी कोमल सिंह, एसपी दिव्यांग पटेल के अलावा सीआरपीएफ  के आला अफ सर पी कुजूर, विवेक डबरियाल, ए भट्टाचार्य, जतिन किशोर, हरविंदर सिंह, शैलेन्द्र, प्रशांत कुमार आदि मौजूद थे। 

लोगों की रजामंदी पर होंगे काम
विकास कार्यों के बारे में आईजी पी. सुंदरराज ने कहा कि आम जनता की मंशा के अनुरूप काम किया जाएगा। उन पर कुछ भी थोपा नहीं जाएगा। सड़क, बिजली, पानी, मोबाइल टॉवर, स्कूल आदि का निर्माण उनकी मांग के अनुसार ही किया जाएगा। शासन की मंशानुरूप विकास, विश्वास और सुरक्षा पर ध्यान दिया जाएगा। ऐसे इलाकों में लोगों का विश्वास जीतना भी जरूरी होता है। 

अप्रत्याशित बदलाव आया है बीजापुर में 
आईजी सुंदरराज ने कहा कि हाल ही के वर्षों में बीजापुर जिले में आमूलचूल परिवर्तन आया है। तिमेड़ पर पुल बन जाने से तेलंगाना और महाराष्ट्र से सीधे सड़क मार्ग से ये ेिजला जुड़ गया है और इससे विकास में तेजी आएगी। इधर, रामपुरम का पुल बन गया है और तारूड़ में भी एक पुल एक माह में बन जाएगा। इससे हैदराबाद से बारिश के समय में भी आसानी से आवाजाही हो सकेगी। जिले में सड़कें अच्छी बन गई हैं। इसमें सीआरपीएफ  के जवानों की भी अहम भूमिका है। 


Date : 15-Nov-2019

निलंबित अधीक्षक समेत तीन को पुलिस ले गई थाने, दुगईगुड़ा में बच्चे के साथ मारपीट का मामला

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 15 नवंबर।
उसूर ब्लॉक के दुगईगुड़ा पोटा केबिन के निलंबित अधीक्षक भीमा सोड़ी और दो अनुदेशकों को करीब एक माह पहले हुई बच्चे के साथ मारपीट के मामले में पुलिस शुक्रवार की दोपहर पकड़कर आवापल्ली थाने ले गई। 

पूर्व अधीक्षक भीमा सोड़ी, अनुदेशक संतोष यालम व कामेष यालम को आवापल्ली पुलिस शुक्रवार की दोपहर बच्चे से मारपीट के मामले में थाने ले गई। बताया गया है कि इन तीनों के खिलाफ  20 अक्टूबर को पोटा केबिन के एक बच्चे के साथ मारपीट के मामले में उसके पिता की ओर से दर्ज कराई गई एफ आईआर पर कार्रवाई की गई। 

उन पर आरोप है कि सातवीं में पढ़ रहे एक छात्र के साथ इन तीनों ने बेदम पिटाई की थी। ये मामला 18 अक्टूबर का है। तीनों पर विभिन्न धाराओंं के तहत अपराध दर्ज किया गया है। कलेक्टर ने अधीक्षक को निलंबित कर दिया था और यहां का प्रभार एक शिक्षक को दिया था। इस मामले में बच्चे के अलावा एक शिक्षक और दो अनुदेशकों के बयान लिए गए थे। इधर, आवापल्ली टीआई मोहन निषाद के मुताबिक गिरफ्तारी की कार्रवाई अभी प्रकिया में है। 

 


Date : 14-Nov-2019

जवान ने खून देकर गर्भवती महिला की बचाई जान, महिला के रिश्तेदारों ने मदद के लिए 168 बटालियन के अधिकारियों व जवानों को धन्यवाद प्रेषित किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 14 नवंबर।
सीआरपीएफ के जवान ने खून देकर गर्भवती महिला की जान बचाई। महिला के रिश्तेदारों ने मदद के लिए 168 बटालियन के अधिकारियों व जवानों को धन्यवाद प्रेषित किया।

 यहां से 30 किमी दूर उसूर ब्लाक के पावरेल गांव की एक महिला को प्रसव पीड़ा के चलते जिला अस्पताल लाया गया। सुशीला सोढ़ी ने यहां अस्पताल में ऑपरेशन से दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया। बुधवार की रात को ही महिला को रक्त की कमी हो गई औऱ डाक्टरों ने जल्द ही रिश्तेदारों को ओ पॉजिटिव रक्त की व्यवस्था करने को कहा। रिश्तेदारों ने काफी प्रयास किया पर रक्त की व्यवस्था नहीं हो पाई। रिश्तेदारों ने मीडियाकर्मियों से मदद मांगी। मीडियाकर्मियों ने इसकी सूचना सीआरपीएफ के 168 बटालियन को दी। सूचना मिलते ही 168 के जवान जिला अस्पताल पहुंचे और जी. विजयकुमार ने महिला को अपना रक्त देकर गर्भवती की जान बचाई। महिला के रिश्तेदारों ने मदद के लिए 168 बटालियन के अधिकारियों व जवानों को धन्यवाद प्रेषित किया। बता दें कि सीआरपीएफ जवान देश की सुरक्षा और नक्सलियों के साथ लोहा लेने में सक्षम तो है ही। साथ ही मानवता के कार्य कर वह समाज मे भी अपनी एक अलग पहचान बना रहे हैं।

 


Date : 14-Nov-2019

युवा महोत्सव पर विविध स्पर्धाओं का आयोजन, कलेक्टर एवं जनपद सीईओ ने कहा-सर्वश्रेष्ठ बनने प्रतिभा को निखारें

बीजापुर, 14 नवंबर। स्पर्धा में भाग लेना जरूरी है और इसमें हार-जीत मायने नहीं रखती। सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश हमेशा करती रहनी चाहिए, क्योंकि इससे प्रतिभा निखरती है। ये बातें डिप्टी कलेक्टर एवं जनपद सीईओ प्रदीप वैद ने यहां मिनी स्टेडियम में गुरूवार को आयोजित युवा महोत्सव के समापन अवसर पर कही। 

सीईओ ने सभी विद्यार्थियों को बाल दिवस की शुभकामनाएं देते कहा कि सबसे खुशी की बात ये है कि बच्चों ने बढ़चढ़कर इसमें हिस्सा लिया। यहां विजेता सभी हैं। इस स्पर्धा से प्रेरणा लें और सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करें। 

समापन समारोह के मुख्य अतिथि जिला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुडिय़म थे। इस मौके पर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष लालू राठौर ने कहा कि कार्यक्रम को सफल बनाने में सभी ने भरसक कोशिश की। बच्चों ने अच्छा प्रदर्शन किया। ये बच्चे ही जिले का भविष्य हैं और वे ही जिले की दशा दिशा तय करेंगे। उन्होंने शिक्षा और खेल क्षेत्र में जिले का नाम रौशन करने की अपेक्षा बच्चों से की।

 इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के व्यापारी प्रकोष्ठ के सचिव बब्बू राठी, जिला कोषाध्यक्ष संतोष गुप्ता, बीईओ मो. जाकिर खान, बीआरसी कामेश्वर दुब्बा, प्राचार्य प्रभाकर राजा शर्मा, व्याख्याता भालेन्द्र शर्मा, खेल अधिकारी डी. सुबैया एवं शिक्षक-शिक्षिकाएं मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक जितेन्द्र कोण्डरा ने किया।

 युवा महोत्सव पर निबंध लेखन, तात्कालिक भाषण स्पर्धा, गेड़ी दौड़, एकल नाटक, लोक गीत एवं लोक नृत्य, बांसुरी -तबला वादन, क्विज, वाद-विवाद स्पर्धा, व्यंजन स्पर्धा, प्रेेरणास्पद नाटक आदि स्पर्धाएं हुईं। विजेताओं को नगद पुरस्कार दिए गए। विजेता अगले माह जिला स्तरीय स्पर्धा में भाग लेंगे। 

 


Date : 13-Nov-2019

कुकिंग स्पर्धा में भोपालपटनम ने बाजी मारी, बीजापुर दूसरा और भैरमगढ़ को तीसरा स्थान

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बीजापुर, 13 नवंबर।
जिले में तय कुकिंग कास्ट में गुणवत्तायुक्त मध्यान्ह भोजन बनाने की स्पर्धा में भोपालपटनम के रसोइयों ने बाजी मार ली। इस स्पर्धा में बीजापुर ब्लॉक को दूसरा और भैरमगढ़ ब्लॉक को तीसरा स्थान मिला।

यहां जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान में स्पर्धा का आयोजन बुधवार को किया गया था। इसमें भोपालपटनम ब्लाक के मद्देड़, भोपालपटनम और रूद्रारम, बीजापुर से तुमनार, कैका एव ंतोयनार, भैरमगढ़ से चिहका, भैरमगढ़ एवं पातरपारा, उसूर से धरमारम, पामेड़ एवं चेरामेंगी संकुल के रसोइयों एवं स्व सहायता समूह की महिलाओं ने हिस्सा लिया। प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय क्रम पर आए टीमों को शिक्षा विभाग की ओर से क्रमश: छह, चार व दो हजार रूपए का पुरस्कार दिया गया। निर्णायकों ने भोजन चखकर अंक दिए। निर्णायकों में बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य प्रभाकर राजा शर्मा, बालिका उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्या राजरानी पामभोई, बीईओ मो जाकिर खान,  व्याख्याता भालेन्द्र शर्मा, संजय पारा प्राथमिक ष्षाला के बच्चे शामिल थे।

 इस मौके पर  डीईओ केके उद्देष ने रसोइयों से कहा कि कभी-कभी बच्चे स्कूल आने के इच्छुक नहीं होते, भोजन स्वादिष्ट होगा तो वे खुद ब खुद रूचि लेकर आएंगे। उन्होंने कहा कि विजेता टीम रायपुर में राज्यस्तरीय स्पर्धा में भाग लेगी। इस दौरान वे पूरी तरह ड्रेस कोड के साथ जाएं। बीईओ मो जाकिर खान ने उम्मीद जताई कि यहां से राज्यस्तरीय स्पर्धा में भाग लेने वाली टीम जरूर जिले का नाम रौशन करेगी। इस मौके पर सीएसी अरब खान, आनंद टिंगे, प्रेमप्रकाश चापड़ी, दिलीप दुर्गम,  धुरवा सत्यम, बल्लूराम नेताम, शिक्षक जितेन्द्र कोण्डरा, एवं अन्य कर्मचारी मौजूद थे। 

ये बनाया था रसोइयों ने 
रसोइयों को दस बच्चों का भोजन तैयार करने कहा गया था। उन्होंने प्लेन राइस, पुलाव, पुड़ी, दाल, मिक्स वेज, खीर, सलाद, चटनी एवं पापड़ परोसा था। प्राथमिक शाला के एक बच्चे के लिए 4.91 रूपए एवं माध्यमिक शाला के बच्चे के लिए 6.71 रूपए मध्याहन भोजन के लिए निर्धारित है और इसी तय राशि में बच्चों को पौष्टिक भोजन दिया जाना है। 

 

 


Date : 12-Nov-2019

कॉलेज के अतिथि शिक्षक मिश्रा हटाए गए, छात्रों से दुर्व्यवहार का आरोप था, जांच में शिकायत सही मिली

बीजापुर, 12 नवंबर। यहां शहीद वेकंट राव महाविद्यालय में पदस्थ अतिथि व्याख्यता को हटा दिया गया है। एबीवीपी की शिकायत के बाद महाविद्यालय के प्राचार्य ने जांच कर उक्त कार्रवाई की है।

बता दें कि बीते दिनों एबीवीपी ने शहीद वेंकट राव महाविद्यालय में पदस्थ अतिथि शिक्षक मयंक मिश्रा भूगोल संकाय पर छात्रों के साथ दुव्र्यवहार करने के साथ मानसिक प्रताडि़त करने का आरोप लगाया लगाकर  प्राचार्य को ज्ञापन देकर उनको महाविद्यालय से हटाने की मांग की गई थी। एबीवीपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य फुलचंद गागड़ा ने इस मामले को लेकर कॉलेज प्रबंधन से मिलकर तत्काल शिक्षक को हटाने की मांग की थी। शिक्षक को नहीं हटाये जाने की स्थिति में महाविद्यालय में आंदोलन की चेतावनी दी थी। 

इसके बाद प्राचार्य ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच समिति बनाकर इस मामले की जांच कराई गई। जांच में छात्रों के साथ दुव्र्यवहार व उन्हें प्रताडि़त करने की बात सही पाई गई। जिस पर प्राचार्य ने 11 नवम्बर को कार्रवाई करते हुए विवादित अतिथि शिक्षक को महाविद्यालय से हटा दिया है।