छत्तीसगढ़ » बीजापुर

Previous12Next
Posted Date : 16-Nov-2018
  •  गुणवत्ता ऐसी की साल भर भी टिक नहीं पाई 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बीजापुर, 15 नवम्बर। अनियमितता व भ्रष्ट्राचार को करीब से देखना है तो संवेदनशील गांव चेरपाल आकर देखा जा सकता है।  एक ठेकेदार ने  गुणवत्ताविहीन स्कूल भवन का निर्माण कर नियमों को ताक पर रख दिया है।
    बीजापुर से महज 15 किलोमीटर दूर चेरपाल में लोक निर्माण विभाग द्वारा बनवाया गया स्कूल भवन भ्रष्ट्राचार की भेंट चढ़ कर रह गया है। 49 लाख के हाई स्कूल भवन के निर्माण का जिम्मा वनमंत्री महेश गागड़ा के बेहद करीबी ठेकेदार गोपाल सिंह पवार को दिया गया था। स्तरहीन हुए निर्माण के चलते भवन के कमरों से दरवाजे गायब है। सीलिंग फ र्स और दीवारें खुद ही घटिया स्तर के निर्माण की पोल खोल रहे है। मजेदार बात तो ये है कि भवन को बने अभी महज 2 साल भी नहीं हुए है और स्कूल भवन की स्थिति खराब हो गई है। बताया गया है कि स्कूल भवन का काम ठेकेदार ने 32 प्रतिशत एबाव में लिया था। इसके बावजूद स्कूल भवन के निर्माण में जमकर भ्रष्ट्राचार किया गया है। मामला सामने आने के बाद लोक निर्माण विभाग के जिम्मेदारों ने ठेकेदार पर कार्यवाई किये जाने की बात कह रहे है।
    ब्रिक्स से खड़ी कर दी इमारत
    ठेकेदार गोपाल सिंह पवार ने चेरपाल के जिस हाई स्कूल की इमारत खड़ी की है। दरअसल वो सीमेंट की ईंटों से निर्मित की गई है जबकि पीडब्यूडी के नियम के मुताबिक भवनों में कतई भी सीमेंट ईंटों का इस्तेमाल नहीं जाना है। बावजूद रसूखदार ठेकेदार ने नियमों को दरकिनार कर सीमेंट ईंटों से स्कूल की इमारत खड़ी कर दी।
    ईई ने जारी की नोटिस
    लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन अभियंता व्हीके चौहान ने कहा कि ठेकेदार को नोटिस जारी कर सात दिनों के अंदर मरम्मत करने को कहा गया है। काम नहीं करने की स्थिति में ठेकेदार पर कार्यवाई की जाएगी।

  •  

Posted Date : 14-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 14 नवंबर।  यहाँ से करीब 7 किलोमीटर दूर माओवादियों ने चुनाव कराकर लौट रहे बीएसएफ जवानों के वाहन को बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ा दिया। इसमें बीएसएफ के चार जवानों सहित 6 लोग घायल हो गए। इनमें से दो की हालत नाजुक बताई गई है।
    पहले चरण के विधानसभा चुनाव को सम्पन्न कराने यहाँ बीएसएफ सहित अन्य सुरक्षाबल के जवान आए हुए थे।इन्हें 20 नवम्बर को होने वाले दूसरे चरण के चुनाव के लिए रवाना होना था। इसी के चलते बुधवार की सुबह 9 बजे के करीब मोदकपाल से बीएसएफ के जवान बीजापुर की ओर वापस लौट रहे थे। तभी राष्ट्रीय राजमार्ग 63 में बीजापुर से करीब 7 किलोमीटर दूर महादेव घाट के आगे वाली मोड़ पर माओवादियों ने जवानों व सामानों को लेकर आ रही दस चक्का ट्रक को बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ा दिया। धमाका इतना शक्तिशाली था कि ट्रक के परखच्चे उड़ गए। ट्रक डाला और कैबिन दो हिस्सों में बंट गया। इसमें सवार बीएसएफ के एएसआई नरेश सिंह, कास्टेबल भगवान सिंह, निरंजन सिंह, आलोक सिंह, जिलाबल का जवान गणपति वासम और ड्राइवर प्रीतम घायल हो गए।  इनमें दो जवानों को गंभीर चोट आई है। सभी को घायलों को रायपुर रिफर किया गया है।
    घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र के लिए अतिरिक्त बल रवाना किया गया तथा घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है।
    गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों में नक्सलियों ने इस तरह के कई हमले किए हैं। कुछ दिन पहले ही नक्सलियों ने दंतेवाड़ा में हमला किया था। इस दौरान एक बस को निशाना बनाया गया। इस घटना में पांच लोगों की जान  चली गई थी, जिसमें एक सीआईएसएफ जवान और चार आम नागरिक शामिल थे। हमले में दो अन्य जवान घायल भी हुए थे।
    70 से 80 किलो बारूद इस्तेमाल होने की आशंका
    माओवादियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 63 में बीजापुर से भोपालपट्नम के बीच इतना शक्तिशाली विस्फोट किया कि उससे सड़क में करीब 10 फीट का गड्डा हो गया है। इससे कयास लगाया जा रहा है कि इस घटना को अंजाम देने माओवादियों ने करीब 70 से 80 किलो बारूद का इस्तेमाल किया रहा होगा।

     

  •  

Posted Date : 14-Nov-2018
  • बीजापुर, 14 नवम्बर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में नक्सलियों ने एक बार फिर सुरक्षाबल के जवानों को निशाना बनाया है। नक्सलियों ने इस बार जवानों को ले जा रहे एक ट्रक को निशाना बनाते हुए महादेव घाट इलाके में आईईडी ब्लास्ट किया। इस विस्फोट में बीएसएफ के 4, डीआरजी के एक जवान के अलावा एक आम नागरिक भी घायल हो गया है।
    इस हमले के तुरंत बाद वहां पहुंची बैकअप टीम ने इन घायल जवानों को तुरंत जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां दो जवानों की स्थिति नाजुक बताई जा रही है। गंभीर रूप से घायल जवानों को रायपुर एयरलिफ्ट किया जा रहा है। अभी भी इलाके में मुठभेड़ जारी है। एसपी मोहित गर्ग ने इस पूरे मामले की पुष्टि की है।
    प्राप्त जानकारी के मुताबिक बीजापुर जिला मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर की दूरी पर नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट किया। ब्लास्ट के बाद नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग भी की। जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ अभी भी जारी है। एहतियात के तौर पर जवानों ने राहगीरों को सीआरपीएफ कैंप में रोक लिया है। सूचना मिलते ही घटनास्थल के लिए बैकअप पार्टी रवाना कर दी गई। सुरक्षा के मद्देनजर जवानों ने महादेव घायल इलाके की सर्चिंग तेज कर दी है। (न्यूज 18)

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    भोपालपटनम, 9 नवम्बर। बीजापुर वनमंडल अधिकारी गुरूनाथन एन के मार्गदर्शन एवं भोपालपटनम वन परिक्षेत्र अधिकारी चापड़ी के नेतृत्व में सुरक्षा कर्मियों की दल बल के साथ भोपालपटनम इन्द्रवती नदी घाट पर लगभग रात 9 से 10 बजे के बीच सागौन तस्करों को दर दबोचा गया। इस दौरान तस्करों ने अंधेरा का फायदा उठा कर मौके से भागने में काम याब हो गए। मौके से वन विभाग ने 23 नग सागौन ल_ा जब्त किया गया जो 4 घन मीटर बताया गया है। जिसकी अनुमानित लागत लगभग 3 लाख 50 हजार बताया गया। ज्ञात हो कि इसी माह के प्रथम सप्तह में तेलंगाना, महारास्ट्र एवं छत्तीसगढ़ के तीनों राज्यों के डीएफओ, रेंजर और आला अधिकारियों का बैठक भोपालपटनम रेंज में की गई। जिसमें अंतरराज्यीय सागौन तस्करों पर लगाम कसने की रणनीति तैयार किया गया। जिसमें तीनों राज्यों के आला अधिकारियों ने संयुक्त रूप से इस तस्कारी पर लगाम लगाने की सहमति बनाई। इस तरह लगातार भोपालपटनम रेंज को सफलता हासिल हो रहा है। बताया जा रहा कि और आने वाले दिनों में और भी रणनीति बनाकर वन तस्करी पर पूरी तरह से लगाम लगाने की प्रयास किया जाएगा। इस कार्रवाई में मोहन सिंह, वनपा डी विजय कश्यप, जव्वा परमानंद, जलंधर यादव, तोकल नागेश एवं सभी वन सुरक्षा कर्मियों का दल शामिल थे।

  •  

Posted Date : 28-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 28 अक्टूबर।  बासागुड़ा में कल शाम हुए नक्सल विस्फोट में शहीद  एवं  घायल जवानों को देर रात रायपुर लाया गया। रविवार की सुबह माना स्थित बटालियन के परेड ग्राउंड में शहीद जवानों को अंतिम सलामी दी गई। सलामी के बाद शहीद जवानों  एएसआई एम रहमान पश्चिम बंगाल, हेड कांस्टेबल ड्राइवर बीएम बेहरा ओडिशा, कांस्टेबल सीएच प्रवीण आंध्र प्रदेश, कांस्टेबल जी श्रीनू कुमार आंध्र प्रदेश के पार्थिव शरीर को उनके गृहग्राम रवाना किया गया। नक्सलियों ने कल  बासागुड़ा के आवापल्ली आ रहे सीआरपीएफ के जवानों की बख्तरबंद गाड़ी को  विस्फोट से उड़ा दिया था। विस्फोट से गाड़ी में सवार 4 जवान घटना स्थल पर ही शहीद हो गए थे।  2 जख्मी जवानों का रायपुर में इलाज चल रहा है।

  •  

Posted Date : 28-Oct-2018
  • दो साल पहले बम लगाने के संकेत
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 28 अक्टूबर।  बासागुड़ा विस्फोट में आधा क्विंटल विस्फोटक का इस्तेमाल करने का अनुमान पुलिस ने लगाया है। विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि सड़क पर दस फीट गहरा गड्ढा बन गया। वाहन के इंजन और दीगर भाग कई मीटर दूर तक जाकर गिरे। 
    ज्ञात हो कि शनिवार  सुबह करीब साढ़े दस बजे मुरदोण्डा कैम्प से सीअरपीएफ की 168 बटालियन की बी कंपनी के जवान बासागुड़ा के लिए निकले थे। कैम्प के दो जवान बीमार थे और उन्हें बख्तरबंद  गाड़ी से बासागुड़ा के सीआरीएफ हॉस्पिटल भेजा गया था।  जवानों को हॉस्पिटल में छोड़कर वे वापस आ रहे थे। इस बख्तरबंद गाड़ी में छह जवान सवार थे। कुछ जवान मोटरसाइकिल में भी आगे पीछे थे। जब वे कैम्प से करीब एक किमी पहले तक आए तो माओवादियों ने विस्फोट कर दिया।
    विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि वाहन कई फीट उपर उछली और विस्फोट के गड्ढे में जा गिरी। इसका इंजन बीस फीट दूर ओर इसके हिस्से चालीस से पचास फीट दूर जा गिरे। सड़क के पत्थर करीब सौ फीट तक फैल गए और सड़क बारह फ ीट फट गई। करीब  दस फीट गहरा गड्ढा बन गया। वाहन का अगला हिस्सा पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया वहीं पीछे की एक सीट को छोड़कर बाकि सीटें भी क्षतिग्रस्त हो गईं। धमाके से पूरा इलाका दहल गया। इसकी गूंज पांच किमी तक सुनाई दी।  बताया गया है कि करीब साठ मीटर लंबा तार मिला है। इससे अनुमान लगाया गया है कि विस्फोट साठ मीटर दूर से कमाण्ड किया गया था। ये वाहन मॉडिफाइड थी ओर ऐसा  फायरिंग से सुरक्षा के लिए किया गया था। 
    दोनों ओर घने जंगल, बाहरी नक्सलियों का हाथ  
    सड़क किनारे दोनों ओर घनी झाडिय़ां और जंगल हैं। समझा जाता है कि माओवादी कई दिनों से ताक में थे। कुछ अफसरों के मुताबिक वारदात  करने वाले नक्सली गुट का पता लगाना मुश्किल है क्योंकि चुनाव के वक्त वारदात को अंजाम देने बाहर से भी नक्सली आते हैं। ये इलाका, मद्देड़, जगरगुण्डा, दक्षिण बस्तर डिविजनल कमेटी एवं पश्चिम बस्तर कमेटी का बॉर्डर इलाका है। हो सकता है कि बाहर से आए नक्सलियों ने इस वारदात को अंजाम दिया हो।  

  •  

Posted Date : 27-Oct-2018
  • पचास किलो से अधिक विस्फोटक का इस्तेमाल 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 27 अक्टूबर।  जापुर, 27 अक्टूबर। नक्सलियों ने सीएम डॉ रमन सिंह के प्रवास से दो दिन पहले यहां से चालीस किमी दूर आवापल्ली थाना क्षेत्र के मुर्दोण्डा में शनिवार की शाम करीब चार बजे सीआरपीएफ  की एमपीवी को विस्फोट कर उड़ा दिया। इमसें चार जवान शहीद  और दो जवान घायल हो गए। ये सभी जवान सीआरपीएफ 168 बटालियन के हैं। ये सभी एरिया डोमिनेशन पर निकले थे।  बासागुड़ा थानाक्षेत्र के मुर्दोण्डा गांव के नजदीक नक्सलियों ने ब्लास्ट कर बंकर गाड़ी को उड़ा दिया इसके बाद फायरिंग शुरू कर दी। उल्लेखनीय है कि सीएम रमन सिंह आज ही बस्तर के चुनावी प्रचार पर हैं और आज सुकमा जिले में सभाएं लीं।
     एसपी मोहित गर्ग एवं एएसपी दिव्यांग पटेल के मुताबिक शनिवार की सुबह सीआरपीएफ  की 168 बटालियन की बी कंपनी के छह जवान एमपीवी(माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल) से सुबह करीब 10 बजे लोकल एरिया डॉमिनेशन के लिए रवाना हुए थे।  शाम करीब 4 बजे इसी वाहन से कैम्प की ओर लौट रहे थे। कैम्प से एक किमी दूरी पर दुर्गा मंदिर के समीप नक्सलियों ने वाहन को निशाना बनाते ब्लास्ट कर दिया। इसमें वाहन में सवार 4 जवानों की मौके पर ही शहादत हो गई। 
    एसपी मोहित गर्ग ने चार जवानों की शहादत की पुष्टि करते कहा कि विस्फोट में पचास किलो से अधिक विस्फ ोटक के इस्तेमाल किए जाने का अनुमान है। नक्सलियों ने ब्लास्ट के बाद फायरिंग भी की। अभी इस बात का पता नहीं चला है कि विस्फोट में अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल हुआ है या फिर दीगर एक्सप्लोसिव का। 
    ऑपरेशन पर नहीं थे जवान
    पुलिस अफ सरों के मुताबिक सीआरपीएफ के जवान कैम्प से लोकल एरिया डॉमिनेशन के लिए निकले थे। इस वजह से वे आसपास ही थे। दरअसल, ऑपरेशन पर जाने के दौरान उनके साथ डीआरजी के जवान होते हैं। इसमें डीएफ  के जवान नहीं थे। 
    ये हैं शहीद
     एएसआई मीर माथुर रहमान, निवासी पश्चिम बंगाल, हवलदार ड्राइवर बीएम बेहरा, ओडिशा, आरक्षक जनरल  सीएच प्रवीण सीमांध्र व आरक्षक जीडी जी श्रीनू कुमार  सीमांध्र । 
    घायल-हवलदार बाबूराव सिद्धेश्वर महाराष्ट्र एवं आरक्षक जीडी परमार, हार्दिक सुरेश कुमार गुजरात शामिल हैं। घायलों को रायपुर भेजा जा रहा है। 

  •  

Posted Date : 25-Oct-2018
  •  बीजापुर, 25 अक्टूबर। स्थानीय पुलिस लाइन में पदस्थ सहायक आरक्षक उमेश बेलड़ी ने  आज सुबह  खुद को गोली मार ली। आवाज सुनकर अन्य जवान मौके पर पहुंचे और उन्हें तत्काल अस्पताल ले गए। डॉक्टरों के अनुसार गोली सीेने में लगी है और  स्थिति नाजुक है। कारणों का पता नहीं चल पाया है।   

  •  

Posted Date : 24-Oct-2018
  • नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव ने भाजपा के 15 सालों की खामियां गिनाईं
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    भोपालपटनम/बीजापुर, 24 अक्टूबर। कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार में भोपालपटनम पहुंचे कांग्रेस विधायक दल के नेता व घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष टीएस सिंह देव ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही दस दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा। साथ ही 25 सौ रुपए धान का समर्थन मूल्य किया जाएगा।
    अपने निर्धारित समय से विलम्ब से भोपालपट्नम पहुंचे नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव ने महती सभा को संबोधित करते हुए  कहा कि धान के साथ गेंहू, गन्ना और चना को भी कांग्रेस सरकार समर्थन मुल्य में खरीदेगी। साथ ही आउट्सोर्सिंग को पूरी तरह खत्म करते हुए स्थानीय बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी। इसके आलावा कांग्रेस की सरकार बनने पर प्रत्येक परिवार को 35 किलो चावल देने की बात कही। 
    श्री सिंहदेव ने भाजपा सरकार की 15 सालों की खामियां भी गिनाई। उन्होंने कहा कि आज भी लोगों को सड़क, स्वास्थ्य, पानी, बिजली नहीं मिल सकी है। आदिवासियों को उनका अधिकार भी नहीं मिल सका है। आदिवासियों को 3 से 4 सालों तक जेल में रख उन्हें रिहा किया जा रहा है। यह कहा तक उचित है। बेटियों के साथ क्या हो रहा है। भाजपा सरकार ने जो वादा किया था। उसे अबतक पूरा नहीं किया गया। श्री देव ने कहा कि अब समय आ गया है। इसका फैसला आपको 12 नवम्बर को करना है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि फू ल छाप सरकार को हटा कर कांग्रेस की सरकार लाए। 
    नेताप्रतिपक्ष यही नहीं रुके उन्होंने भाजपा सरकार पर मोबाइल वितरण के नाम पर बड़े पैमाने पर किये गए कमीशन खोरी का आरोप भी लगाया। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री राजेश तिवारीए सचिव सत्तार अली, अजय सिंह, अध्यक्ष लालू राठौर, शंकर कुडियम, नीना रावतिया उद्दे, दिलीप बाफ ना, अशोक तलांडी, कुसाल खान, अनीस खान, अल्वा मदनैया, बंदम बिच्मैया, कामेश्वर गौतम, मिच्चा मुतैया, सालिक नागवंशी, अश्वनी अल्लेम, मनोज अवलम सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।
    बसंत ताटी ने दो सौ समर्थकों के साथ थामा कांग्रेस का हाथ
    भोपालपट्नम क्षेत्र के कद्दावर नेता जिला पंचायत सदस्य व पूर्व भाजपा नेता बसंत राव ताटी अपने दो सौ समर्थक कार्यकर्ताओं के साथ नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंह देव के समक्ष कांग्रेस प्रवेश किया। श्री देव ने श्री ताटी को कांग्रेस का गमछा पहनाकर पार्टी प्रवेश कराया।

  •  

Posted Date : 24-Oct-2018
  • जकांछ के सकनी चंदै्रया के प्रचार में पहुंचे पार्टी प्रमुख
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 24 अक्टूबर। जकांछ के चुनाव प्रचार में पहुंचे पार्टी सुप्रीमो और पूर्व सीएम अजीत प्रमोद कुमार जोगी ने अपने चिरपरिचित अंदाज में भाजपा और मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पर कड़वे जुबानी तीर छोड़ते उन्हें छल करने वाला बताया लेकिन वे कांग्रेस और उनके नेताओं पर कोई टिप्पणी करते नहीं सुने गए। 
    छजकां अध्यक्ष अजीत जोगी ने धान के समर्थन मूल्य, बोनस, तेंदूूपत्ता संग्राहकों को जूते, बेरोजगारी आदि मसलों पर लपेटते कहा कि भाजपा के चुनावी वादे झूठे निकले। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने चुनावी घोषणा हलफ नामे में की है और उनकी सरकार बनने पर ये वादे झूठे हुए तो कोई भी उन्हें कठघरे में खड़ा कर सकता है और इसमें दो साल की कैद है।
     उन्होंने भाजपा प्रत्याशी महेश गागड़ा व कांग्रेस प्रत्याशी विक्रम मण्डावी को भी शपथ पत्र में घोषणा करने की चुनौती दी। सीएम डॉ रमन सिंह पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते उन्हें धोखेबाज कहा। जोगी ने कहा कि जब वे सीएम थे तो छग का बजट चार हजार करोड़ रूपए का था और अब एक लाख पच्चीस हजार करोड़ रूपए का है लेकिन अब भी काम पूरे नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्होंने 12 जातियों को आरक्षित वर्ग में लाने का प्रस्ताव दिया था परंतु रमन सरकार ने इस प्रस्ताव पर ध्यान नहीं दिया। 
    उन्होंने बालिका पैदा होने पर उसके नाम से एक लाख की एफ डी सरकार बनने पर करवाने और छग के 25 लाख बेरोजगारों को रोजगार देने का वादा किया। उन्होंने जिले में 90 फ ीसदी पदों पर लोकल बेरोजगारों की भर्ती व काबिज लोगों को पट्टा देने का भी वादा किया। 
    उन्होंने सकनी चंद्रैया को वोट देने की अपील लोगों से की। सभा में गायिका सीमा कौशिक, विधानसभा प्रभारी विजय झाड़ी, जेसीसी नेता राजू कलमू,चलमैया अंगनपल्ली, मुकेश हेमला, यूकेश हेमला, आसिफ शेख, शंकर फुं गटी, श्रवण झाड़ी, महेश दुर्गम, रामास्वामी दुर्गम, सुरेश पुलसे, नरेन्द्र पदम, रौशन झाड़ी, शकंर झाड़ी, शंकर दुर्गम, हितेश मोडिय़म, महेश धुर्वा, गणपत यालम एवं अन्य मौजूद थे। सभा का संचालन पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष सुनील मिश्रा ने किया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जमुना संकनी ने भाजपा से पार्टी में प्रवेश किया। उनके अलावा कांग्रेस से बालकृष्ण सड़मेक, दीपक काका, बीआर हेमला, जी मट्टी,  राजेन्द्र एनल, किशोर तोड़ेम, सुधाकर, बीजेपी से सड़वली जंगम, बुटी मज्जी एवं सपा से नीलेश मोडिय़म ने जकांछ का दामन थामा। 
    शेर, शेरनी और गठबंधन
    अजीत जोगी ने सकनी चंद्रैया को बीजापुर का शेर और उनकी पत्नी श्रीमती जमुना सकनी को शेरनी बताते कहा कि इस चुनाव में बीजापुर सीट में गठबंधन नजर आ रहा है। बसपा और सीपीआई के नेता भी सकनी चंद्रैया का पूरा साथ दे रहे हैं। सभा में बीएसपी के मनोज नाग, आयतूराम मण्डावी, डीडी सोनवानी, अजय कुडिय़म, तम्माराव भण्डारी, सीपीआई के कमलेश झाड़ी एवं गोयाराम तेलम मौजूद थे।
    सकनी ने लगाई दहाड़
    जकांछ उम्मीदवार सकनी चंद्रैया ने सत्ता पक्ष पर राजनीतिक दबाव डालने का आरोप मढ़ते कहा कि अबका चुनाव सच और झूठ, अमीर और गरीब, विकास और विनाश, बराबरी और गैर बराबरी का चुनाव है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा चुनाव में अनुचित साधनों का इस्तेमाल कर रही है। सरकार शराब बेच रही है और युवाओं को शराब में डूबोकर छग को लूटने की साजिश रच रही है। ये अमीर धरती के गरीब लोगों को और गरीब बनाने की भाजपा की चाल है।
     श्रीमती जमुना सकनी ने जोगी के मुख्यमंत्रित्व काल में बेरोजगारों के लिए किए गए कार्यों की तारीफ करते कहा कि तब शिक्षाकर्मियों की नियुक्ति में लोकल युवाओं को लिया जाता था। नियुक्ति भी जनप्रतिनिधि करते थे। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता मिलता था। विस प्रभारी विजय झाड़ी ने कहा कि कार्यकर्ताओं में जोश भरा हुआ है और वे जरूर सकनी चंद्रैया की जीत तय करेंगे। उन्होंने कहा कि जेसीसी का आधार झूठ नहीं है। 

  •  

Posted Date : 21-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 21 अक्टूबर।  जिले के 14 मज़दूरों को तमिलनाडु में  बंधक बनाए जाने की सूचना है।  तमिलनाडु के सेलम जि़ले के आयोध्यापटनम इलाके के बीएसपी नाम की कंपनी में ये मजदूर काम कर रहे हैं।  
    कुबेर कश्यप और विक्की नामक दलाल ने इन्हें 9 हजार रुपये महीने वेतन दिलाने का झांसा देकर ले गए और फैक्ट्री में छोड़कर फरार हो गए। बंधक मजदूर उसूर ब्लॉक के आवापल्ली, इलमिडी और मुर्दोण्डा गांव के निवासी  बताए गए हैं। बंधक मजदूरों में से एक ने अपने परिजन को यह सूचना दी है। परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस से की है।

  •  

Posted Date : 20-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 20 अक्टूबर।  मिरतुर इलाके में  मुठभेड़ में तीन नक्सलियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है। तीनों के शव और हथियार बरामद किए गए हैं।
    पुलिस के अनुसार सर्चिंग पर निकले डीआरजी जवानों पर नक्सलियों ने धावा बोला।  दोनों ओर से  कई राउंड फायरिंग हुई। जवानों को भारी पड़ता देख नक्सली भाग गए। मुठभेड़ में मारे गए तीनों नक्सलियों का शव  बरामद कर लिया गया है। जवानों के मुताबिक मुठभेड़ में कुछ और माओवादियों को भी गोली लगी है जिसे नक्सली अपने साथ ले जाने में कामयाब हो गए। 
    वहीं फरसेगढ़ थाना क्षत्र में एसटीएफऔर डीआरजी ने सर्चिंग के दौरान नक्सलियों के कारखाने पर दबिश दी। हथियार बनाने के औजार बरामद कर कारखाने को तोड़ दिया।
     ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की पहल चरण की वोटिंग 12 नवंबर को होनी हैं। पहले चरण में बस्तर संभाग के सभी सीटों में मतदान कराया जाना है। लिहाजा नक्सल इलाका होने के चलते है, नक्सली हमले की आशंका को देखते हुए यहां बड़ी संख्या में जवानों की तैनाती की गई है। फोर्स लगातार इलाकों में सर्चिंग अभियान चलाकर नक्सलियों को खदेडऩे की कोशिश कर रही है ताकि इलाके में नक्सली कोई खलल न डाल सके और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराया जा सके।

  •  

Posted Date : 11-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 11 अक्टूबर। नक्सलियों ने चुनाव प्रचार में आने वोट मांगने आने वाले राजनीतिक दलों के नेताओं को जनअदालत में पेश करने और इलेक्शन को फ र्जी बताया है। नक्सलियों ने छग में विधानसभा चुनाव के बहिष्कार की अपील की है।
    भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी की ओर से ये पोस्टर जारी किए गए हैं। गंगालूर में हाईस्कूल के समीप कई जगहों पर ये पोस्टर पेड़ों पर बुधवार की सुबह लगाए गए थे। इन्हें गंगालूर थाने के जवानों ने निकाल दिया। नक्सलियों ने भाजपा को साम्राज्यवादपरस्त एवं ब्राह्मणीय हिन्दू फासीवादी बताते इस पार्टी और अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं को जन अदालत में खड़ा करने की बात कही है। नक्सलियों ने जनताना सरकार को मजबूत और विस्तारित करने कहा है। ज्ञात हो कि बस्तर में नक्सली नेता-अधिकारी एवं अन्य लोगों को अपहरण कर उन्हें जन अदालत में ले जा चुके हैं। इधर, पुलिस ने चुनाव के वक्त पहले से ही नेताओं को नक्सली हमले से सतर्क रहने कहा है।  

     

  •  

Posted Date : 05-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर/ भोपालपट्टनम, 5 अक्टूबर। नक्सलियों ने एक बार फि र विधानसभा चुनाव के बहिष्कार की अपील करते अपने तय स्थान नैशनल हाईवे 63 पर  गोरला नाले के आसपास पोस्टर टांगे और पर्च फेंके हैं। नक्सलियों ने फि र भाजपा नेताओं पर निशाना साधते कहा है कि ये पार्टी बड़े पूंजीपतियों की है। 
    भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) की पश्चिम बस्तर डिविजन कमेटी ने गोरला नाले और पेगड़ापल्ली गांव के बीच बड़ी संख्या में पर्चे फेंके हैं और पेड़ों पर बैनर टांगे हैं। पोस्टर में नक्सलियों ने भाजपा को हिन्दू फ ासीवादी बताया है। उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम डॉ रमन सिंह के खिलाफ  भी बातें लिखी हैं। पर्चे में नक्सलियों ने केन्द्र और राज्य सरकार की नीतियों को जनविरोधी बताया है। उन्होंने बैलाडिला को बड़े उद्योग घरानों को भी दिए जाने का विरोध किया है। 

  •  

Posted Date : 29-Aug-2018
  • बीजापुर, 29 अगस्त (छत्तीसगढ़)। जिले में स्वास्थ्य विभाग की उदासीनता और बेपरवाही के कारण शर्मसार कर देने वाली तस्वीरें लगातार निकल कर सामने आ रही हैं। अभी खाट में ढोकर शव ले जाने और ऑक्सीजन की कमी से बच्ची की मौत का मामला ठंडा भी नहीं हुआ कि तीसरा मामला निकल कर सामने आया है। 
    उसूर ब्लॉक के टेकमेटला गांव के बुजुर्ग ग्रामीण हेमला हड़मा लकवाग्रस्त हो गया था। परिजनों द्वारा उसे इलाज के लिए खाट का कांवड़ बना टेकमेटला गांव से आवापल्ली लाया गया। 13 किमी. का पैदल सफर तय कर किसी तरह आवापल्ली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे तो अस्पताल में ताला लटक रहा था। परिजनों को बेइलाज उसी कांवड़ में ढोकर वापस लौटना पड़ा।
     ज्ञात हो कि 4 दिनों के अंदर 3 अलग-अलग मामले सामने आए हैं। मंत्री गागड़ा के गृह क्षेत्र में 24 अगस्त को शव को खाट पर ढोकर दाह संस्कार के लिए परिजनों द्वारा अपने घर ले जाने का मामला प्रकाश में आया था। उसके ठीक 2 दिन बाद 27 अगस्त को एम्बुलेंस में ऑक्सीजन खत्म होने से 5 साल की बच्ची की मौत हो गई थी। अब खाट में ढोकर 13 किमी. का पैदल सफर कर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचने के बाद भी बीमार बुजुर्ग को इलाज नहीं मिला। 
    इस संबंध सीएमएचओ डॉ. पुजारी से बात की गई तो उन्होंने अभी इस मामले की जानकारी नहीं है कहा। जानकारी जुटाकर ही किसी तरह की प्रतिक्रिया देने की बात कही।

  •  

Posted Date : 03-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 3 अगस्त। आज सुबह बासागुड़ा सप्ताहिक बाजार में नक्सलियों के हमले में दो जवान घायल हो गए। जवानों में एक ही हालत  गंभीर बतायी जा रही है। बताया गया कि एक जवान की पीठ में गोली लगी है, जबकि दूसरे जवान पर चाकू से हमला किया गया है। दोनों जवान बासागुड़ा थाना क्षेत्र में बतौर सहायक आरक्षक के तौर पर सदस्थ हैं।
    घटना के बाद बाजार पूरी तरह से खाली हो गया। जवानों ने बाजार स्थल को  अपने कब्जे में ले लिया। घायल जवानों को बेहतर उपचार के लिए बीजापुर जिला अस्पताल लाया गया है।

  •  

Posted Date : 19-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर, 19 जुलाई। दंतेवाड़ा-बीजापुर जिले के सरहदी क्षेत्र तिमेनार के जंगल में गुरूवार तड़के मुठभेड़ में जवानों ने 8 नक्सलियों को मार गिराया है। घटना स्थल से आठों शवों के साथ भारी मात्रा में हथियार, गोला बारूद समेत विस्फोटक सामान बरामद किया गया है। तिमेनार घनघोर जंगली इलाका होने के कारण एवं लगातार बारिश होने से शवों को जंगला से निकालने में जवानों को वक्त लग रहा है। बैकअप पार्टी रवाना हो चुकी है। दंतेवाड़ा एसपी कमलोचन कश्यप ने घटना की पुष्टि की है।
    पुलिस को बीजापुर व दंतेवाड़ा जिले के सरहदी क्षेत्र तिमेनार के जंगलों में माओवादियों के कई बड़े लीडर के साथ भारी तादात में नक्सलियों के इकट्ठा होने की सूचना मिली थी। बुधवार को मुख्यालय से डीआरजी व एसटीएफ की संयुक्त टीम सर्चिंग आपरेशन के लिए रवाना किया गया था। सर्चिंग के दौरान गुरूवार तड़के 6 बजे दंतेवाड़ा-बीजापुर के सीमावर्ती गांव तिमेनार के जंगल में सुरक्षा बलों की मुठभेड़ नक्सलियों से हो गई। नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई करते फायरिंग की। मुठभेड़ करीब ढाई से तीन घंटे तक चलती। इस बीच नक्सली जवानों को भारी पड़ता देख भाग निकले।
    दंतेवाड़ा के एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से जवानों ने 8 नक्सलियों के शव, 2 इंसास बंदूक, 303 बोर की 2 रायफल, एक 12 बोर की रायफल के साथ ही भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद किया है। शवों में 4 महिला एवं 4 पुरूषों की है।
     बताया जा रहा है कि जिस जगह पर मुठभेड़ हुई है वह इलाका बेहद ही दुर्गम है। घनघोर जंगलों व पहाड़ों से घिरा हुआ है। रूक-रूक कर हो रही तेज बारिश के चलते शवों को वहां से निकालने में जवानों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बैकअप पार्टी को भी रवाना कर दिया गया है।

  •  

Posted Date : 09-Jul-2018
  • धनोरा नाला भरने से दर्जनों गांव का संपर्क टूटा
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 9 जुलाई। जिले में 48 घंटे से ज्यादा समय से हो रही भारी बारिश के चलते कई गांवों का संपर्क बीजापुर से टूट गया है। इसके चलते जनजीवन पर भी इसका प्रतिकूल असर पड़ा है। इलाके के कई नदी नाले उफ ान पर हैं। मिंगाचल में पुल बन जाने से राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात सामान्य है, जबकि बीजापुर के आसपास के नदी नाले उफ ान पर हैं।
    जिला मुख्यालय से करीब 8 किलोमीटर और राष्ट्रीय राजमार्ग से महज 3 किलोमीटर दूर धनोरा से बोरजे तोयनार जाने वाले मार्ग पर बने पूल में पानी भर जाने से इस मार्ग पर दो दिनों से आवागमन प्रभावित हो गई है। इस पूल को लोक निर्माण विभाग ने बनाया था। पूल की हाईट कम होने की वजह से हर साल इसपर कुछ घंटो की बारिश से यह भर जाता है। गांव के ग्रामीणों ने इसे लेकर कई बार क्षेत्रीय विधायक व जिला प्रशासन को अवगत भी कराया है। बावजूद इस ओर किसी ने भी ध्यान नहीं दिया। पूल में पानी भरने से किसान भी परेशान हैं। उनकी खड़ी फ सल पर इसका असर हो रहा है। पुल में पानी भरे रहने से किसान, शिक्षक, स्कूली बच्चें, मरीजों को खासी तकलीफ  उठानी पड़ रही है।
    बताया गया है कि शनिवार की सुबह इसी मार्ग से होकर कुछ शिक्षक स्कूल गए थे, लेकिन वापसी में उन्हें धनोरा नाला के बाढ़ ने रोक लिया। रविवार को भी यहां पानी करीब 2 से 3 फ ीट पूल से ऊपर बह रहा था। इसी दौरान एक गर्भवती महिला को प्रसव के लिए बीजापुर अस्पताल आना था। इस विषम परिस्थिति में आसपास के लोगों ने महिला को जैसे तैसे कर पूल पार करवाया गया। तब जाकर महिला सुरक्षित अस्पताल पहुंच सकी। 

  •  

Posted Date : 02-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बीजापुर, 2 जुलाई। बीजापुर पुलिस ने मुठभेड़ में एक वर्दीधारी नक्सली को मार गिराया है। गंगालूर के ए_पाल के जंगलों में हुई मुठभेड़ में मारे गए  इस नक्सली के शव के साथ एक इंसास रायफल और भारी मात्रा में दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद हुई है।
    पुलिस के मुताबिक डीआरजी की टीम आज अपने रूटिन सर्चिंग पर निकली हुई थी। इसी दौरान ए_पाल के जंगलों में मौजूद नक्सलियों के साथ डीआरजी के जवानों की मुठभेड़ हो गई। कुछ देर चली गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से भाग निकले।  
    बीजापुर एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि सर्चिंग के दौरान एक वर्दीधारी नक्सली का शव मिला है। उसकी पहचान नहीं हो पायी है। ज्ञात हो कि इससे पहले शनिवार को सुकमा में एक इनामी नक्सली को जवानों से मार गिराया था।

  •  

Posted Date : 19-Jun-2018
  • सभी बीजापुर के एक परिवार के

    छत्तीससगढ़ संवाददाता
    बीजापुर, 19 जून। जिले के मद्देड़ थाना क्षेत्र के पेगड़ापल्ली में जहरीले गैस रिसाव से पिता-पुत्र समेत 4 की मौत हो गई। वहीं घटना में 2 अन्य घायल हो गए। उन्हें जिला अस्पताल रिफ र किया गया है।
    मिली जानकारी के मुताबिक पेगड़ापल्ली गांव के कोत्तुरपारा में एंजा परिवार में शौचालय निर्माण किया जा रहा है। यहां सेप्टिक टैंक के ऊपर शौचालय बनाया जा रहा है। मंगलवार की सुबह करीब 8 बजे टैंक की सेन्ट्रिंग खोलने पहले मजदूर हरदास कश्यप  गया। काफ ी देर तक उसके बाहर न आने पर मकान मालिक इंजा मदनैया  भी अंदर गए। जब वे भी बाहर नहीं निकले तब उन्हें देखने पुत्र पंकज इंजा  टैंक में उतर गया। इसके बाद ग्रामीण इंजा शंकर भी गया। उसकी भी अंदर मौत हो गई। 
     इसके बाद वहां मौजूद  इंजा रामबाबू ,इंजा तिरलेश व इंजा पवन अंदर गए। तब उन्हें जहरीले गैस का पता चला और वे बाहर निकले। वे तीनों गंभीर है। घायल रामबाबू का जिला अस्पताल और तिरलेश व पवन का मद्देड़ स्वास्थ्य केंद्र में उपचार चल रहा है। बताया गया है कि इंजा मदनैया नारायणपुर में कृषि उपज मंडी के कर्मचारी थे। वे कुछ दिन पहले ही यहां आये थे। वहीं पुत्र पंकज मद्देड़ स्कूल में क्लर्क के पद पर कार्यरत थे।  इस  घटना से गांव में मातम है।

  •  



Previous12Next