छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

Previous12Next
Date : 19-Oct-2019

आरक्षकों की नई भर्ती पर रोक, पुरानी भर्ती प्रक्रिया रद्द करने पर हाईकोर्ट ने शासन से जवाब मांगा 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 19 अक्टूबर।
आरक्षक भर्ती की प्रक्रिया निरस्त करने के बाद नई भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करने पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। भर्ती की लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण आवेदकों की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने राज्य शासन से 18 नवंबर के पहले जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। 

भाजपा शासनकाल में, सन् 2017 में 2259 आरक्षकों की भर्ती के लिए प्रक्रिया शुरू की गई थी। इसमें करीब नौ लाख युवाओं ने आवेदन किया था। इनमें से 55 हजार युवाओं ने शारीरिक दक्षता परीक्षा पास कर ली थी। दिसम्बर 2018 में लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों की सूची भी तैयार कर ली थी, लेकिन परिणाम जारी नहीं किये गए। इस बारे में मंत्री ताम्रध्वज साहू और पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी से कई बार सवाल भी किये गये थे। 

आखिरकार डीजीपी ने कुछ कानूनी दिक्कतों का हवाला देकर भर्ती प्रक्रिया को स्थगित कर दिया। इसके खिलाफ 2017 की परीक्षा के आवेदक आशीष सिंह, परमेश्वर यादव, रूपेश साहू व अन्य ने अधिवक्ता नौशिना अली, निशांत जायसवाल, अजय कुमरानी व टोपीलाल बरेठ के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दायर की। याचिका में कहा गया कि पूर्व में ली गई परीक्षा में हजारों लोगों ने शारीरिक दक्षता परीक्षा और उसके बाद लिखित परीक्षा पास कर ली है। उन्हें नियुक्त पत्र न देकर सरकार नई भर्ती करने जा रही है। याचिका में पुरानी भर्ती प्रकिया पर नियुक्ति पत्र जारी करने और नई भर्ती पर रोक लगाने की मांग की गई है। 

याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करते हुए जस्टिस गौतम भादुड़ी की बेंच ने नई भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करने पर 18 नवंबर तक के लिए रोक लगा दी है राज्य शासन को जवाब प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। 

 

 


Date : 18-Oct-2019

अवैध संबंध के शक में प्रेमी ने अपनी प्रेमिका की हत्या, आरोपी बंदी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 18 अक्टूबर।
अवैध संबंध के संदेह में प्रेमी ने अपनी प्रेमिका की बीती रात हत्या कर दी। सीपत पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक सोंठी की अनंत कुंअर (40 वर्ष) का गांव के ही सुनील शर्मा से प्रेम संबंध था। दोनों के बीच पति-पत्नी की तरह सम्बन्ध थे। बीती रात करवा चौथ पर आरोपी सुनील उससे मिलने शराब के नशे में पहुंचा और उसने उस पर अवैध संबंध का आरोप लगाया। महिला पर उसने लोहे के टुकड़े से लगातार हमला कर दिया, जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इस बीच सीपत पुलिस सूचना मिलने पर वहां पहुंच गई और आरोपी को महिला के घर से ही गिरफ्तार कर लिया। मृतक महिला के पति गणेश ने कुछ साल पहले उसे छोड़ दिया था और दूसरी शादी कर ली थी। 

 

 


Date : 18-Oct-2019

एसईसीएल ने रेल्वे को सीएसआर से दिए 128.58 करोड़, आठ जोन के स्टेशनों में बनेंगे 529 आधुनिक टॉयलेट 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 18 अक्टूबर।
भारतीय रेलवे को एसईसीएल ने सीएसआर मद से 128.58 करोड़ रुपये देने का निर्णय लिया है। इस राशि से देश के आठ रेलवे जोन के 529 रेलवे स्टेशनों में प्री-फेब्रिकेटेड टॉयलेट का निर्माण किया जायेगा। एसईसीएल और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बीच इसे लेकर एमओयू पर हस्ताक्षर गुरुवार को हुआ।

 एमओयू के अनुसार आठ रेलवे जोन, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे, मध्य रेलवे, उत्तर मध्य रेलवे, पश्चिम मध्य रेलवे, पश्चिम रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे, दक्षिण मध्य रेलवे और पूर्वी तट रेलवे जोन में ऐसे 529 टायलेट बनाए जाएंगे, जो प्री-फेब्रिकेटेड होंगे। सभी टॉयलेट रेलवे स्टेशन से लगे परिसर में बनाये जाएंगे। रेलवे की किसी मानक एजेंसी के जरिये यह काम कराएगी। 
एमओयू पर एसईसीएल की ओर से कार्मिक एवं सीएसआर महाप्रबंधक एके पाढ़ी और रेलवे की ओर से एसईसीआर के चीफ इंजीनियर प्रदीप कुमार ने हस्ताक्षर किये। इस दौरान एसईसीआर से डिप्टी चीफ इंजीनियर पीई गवरैया, डीजीएम साकेत रंजन तथा सीनियर पीआरओ संतोष कुमार उपस्थित थे। एसईसीएल की ओर से सिविल के वरिष्ठ प्रबंधक सीके पाठक, जनसम्पर्क के उप प्रबंधक मिलिंद चहांदे तथा सीएसआर के सहायक प्रबंधक संपत गेलम उपस्थित थे। 

 

 


Date : 18-Oct-2019

मिट्टी के दीये बेचने वालों को तंग न करें, न कोई टैक्स वसूलें- कलेक्टर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 18 अक्टूबर।
दीपावली पर्व पर मिट्टी के दीये बनाने वाले कुम्हार व दूसरे समुदाय के ग्रामीणों के प्रति मुंगेली जिले के कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे की संवेदनशीलता की सराहना की जा रही है। 

उन्होंने आदेश जारी किया है कि दीपावली पर्व पर मिट्टी के दीये बेचने के लिए आने वाले ग्रामीणों को अपनी दुकान लगाने में किसी प्रकार की असुविधा न हो, इसका पूरी तरह ध्यान रखा जाये। नगरपालिका और नगर पंचायत क्षेत्र में इनसे किसी प्रकार की कर वसूली नहीं की जाये साथ ही लोगों को मिट्टी के दीये के उपयोग के लिए प्रोत्साहित किया जाये। उक्त आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चितकिया जाये। कलेक्टर ने यह आदेश मुंगेली, पथरिया, लोरमी व सरगांव के सभी राजस्व अधिकारियों तथा नगर निकायों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों के लिये जारी किया है। 

ज्ञात हो कि मुंगेली क्षेत्र में न केवल कुम्हार बल्कि दूसरे ग्रामीण भी दीपावली के अवसर पर  अतिरिक्त कमाई अथवा जीविकोपार्जन के लिए मिट्टी के दीये बनाते हैं और बाजार लेकर आते हैं। बीते कुछ वर्षों से बाजार में उन्हें दोहरी परेशानी होती है। एक तो मोम के चाइनिज दीये चलन में आ गये हैं, दूसरे दीपावली पर लगने वाले अस्थायी बाजार में उन्हें बैठने के लिए जगह नहीं मिलती। वे बाजार के आखिरी कोने में बैठकर कुछ बेच पाने की कोशिश करते हैं। नगर निकायों के कर्मचारी या ठेकेदार भी उनसे मनमानी वसूली करते हैं। ऐसे में मुंगेली कलेक्टर के आदेश से कुम्हारों और ग्रामीणों को राहत मिली है। 

 

 


Date : 18-Oct-2019

ननि के ईई पंचायती पर ठेकेदार ने कराया था हमला, पकड़े गए तीन आरोपियों ने पूछताछ में किया खुलासा
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 18 अक्टूबर।
नगर निगम के कार्यपालन यंत्री पी. के. पंचायती पर ठेकेदार अतुल शुक्ला ने हमला कराया था। हमलावरों ने पुलिस को गुमराह किया था कि रास्ते में हुए विवाद के कारण यह घटना हुई थी लेकिन कॉल रिकॉर्ड खंगालने से इसके पीछे ठेकेदार का हाथ होने की बात सामने आई। 

पंचायती पर 18 जून की सुबह तकरीबन साढे आठ बजे तीन लोगों ने तब हमला किया गया था जब वे अपने घर नेहरू नगर से रिंग रोड दो की ओर सैर के लिए साइकिल पर निकले थे। हमलावरों ने उनकी बेदम पिटाई की थी और नाक की हड्डी टूटने के कारण उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सिविल लाइन पुलिस को पंचायती ने बताया था कि वे हमलावरों को नहीं पहचानते। इस बीच सीसीटीवी फुटेज से हुलिया देखकर पुलिस ने आरोपी की पहचान सकरी के विक्की पांडेय के रूप में की। हमले के बाद से वह फरार था, जिसे बीते एक अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया। 

गिरफ्तार अन्य आरोपियों बिट्टू विश्वकर्मा और अरूण साहू ने पुलिस को बताया कि उन्होंने विक्की पांडेय के कहने पर हमला किया था। तीनों आरोपी रिमांड पर जेल भेज दिये गये थे। इस बीच पुलिस ने खोजबीन कर पता किया तो मालूम हुआ कि हमले की घटना से ठीक पहले और बाद में आरोपी विक्की पांडेय और नगर निगम के ठेकेदार अतुल शुक्ला के बीच फोन पर लगातार बात हुई है। पुलिस ने विक्की को रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो पता चला कि उसने ठेकेदार अतुल शुक्ला के कहने पर हमला किया था। पुलिस ने ठेकेदार के खिलाफ धारा 120बी  के तहत अपराध दर्ज किया है। 

 


Date : 18-Oct-2019

जूनियर डॉक्टरों का चाय ठेले पर विवाद, मोहल्ले वालों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, आरोपियों पर बलवे का जुर्म दर्ज 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 18 अक्टूबर। रात को दो बजे चाय पीने के लिए मगरपारा एक चाय की स्टाल पर महिला से गाली-गलौच करना सिम्स के जूनियर डॉक्टरों को महंगा पड़ गया। मोहल्ले वालों ने उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर लकड़ी, ईंट, पत्थरों से घायल कर दिया। दो डॉक्टरों के सिर पर भी चोटें आई है। हमलावरों के खिलाफ पुलिस ने बलवा का जुर्म दर्ज किया है।

जानकारी के मुताबिक सिम्स के जूनियर डॉक्टर जितेन्द्र गिल और राकेश अग्रवाल चाय पीने के लिए रात को दो बजे मगरपारा पहुंचे थे। उन्होंने अपनी बाइक ठेले से लगाकर खड़ी कर दी। इस पर चाय स्टाल संचालक महिला फरीदा बेगम और उसके परिवार के सदस्यों ने गाड़ी को दूर खड़ी करने के लिए कहा। डॉक्टरों ने उनसे गाली-गलौच कर दी। इसके बाद विवाद बढ़ गया। डॉक्टरों ने फोन करके अपने साथी डॉक्टर सचिन गुप्ता को बुला लिया।

 इधर मगरपारा के आठ दस लोग जवाब में खड़े हो गये। डॉक्टरों ने फोन करके फिर और साथी डॉक्टरों को बुला लिया। तब डॉ. सुरेन्द्र जाट, डॉ. युगल किशोर नंदे सहित दो तीन और जूनियर डॉक्टर वहां पहुंच गये। डॉक्टर उन्हें गालियां देते हुए देख लेने की धमकी देने लगे। तब मगरपारा के सलमान सहित दर्जन भर युवकों ने उन्हें घेर लिया और उनको बैट, स्टिक से पीटने लगे तथा पत्थर से भी उन पर हमला किया गया। स्थिति बिगड़ते देख सभी डॉक्टर वहां से भाग खड़े हुए। उन्होंने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।

 पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ धारा 147, 148, 294, 323, 336, 506 के तहत जुर्म दर्ज किया है। दो जूनियर डॉक्टर सिम्स में भर्ती कराये गए हैं, जिनको सिर पर चोट लगी है।


Date : 18-Oct-2019

कांग्रेस नेता पर शादी का झांसा दे रेप का आरोप, एफआईआर दर्ज, सोशल मीडिया से हुई थी दोस्ती

 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 18 अक्टूबर। सोशल मीडिया के जरिये युवती से एक कांग्रेस नेता ने दोस्ती की और शादी का झांसा देकर नौ माह तक शारीरिक शोषण करता रहा। युवती ने सिविल लाइन थाने में आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट दर्ज कराने के पहले युवती ने थाने में भी युवक को बुलाकर बात की।

जानकारी के अनुसार सिविल लाइन थाना क्षेत्र की 21 वर्षीय एक युवती की सोशल मीडिया इंस्टाग्राम के जरिये  कुदुदंड के कांग्रेस नेता नवीन तिवारी के साथ जनवरी माह में दोस्ती हुई। इसके बाद दोनों में मुलाकात हुई। पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक युवती को कांग्रेस नेता कई बार अभिषेक विहार में अपने एक मित्र के यहां ले गया और वहां उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाये। युवक ने युवती को शादी करने का झांसा दिया था। यह सिलसिला सितम्बर माह तक चला।

गुरुवार को दोपहर युवती ने सिविल लाइन थाने पहुंचकर युवक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। रिपोर्ट लिखाने से पहले युवती ने फोन करके युवक को बुलाया और अलग में दोनों के बीच कुछ बातचीत हुई थी। संभवत: यह बात समझौते के लिए हो रही थी। बातचीत के बाद युवक थाने से वापस चला गया, जिसके बाद युवती ने एफआईआर दर्ज कराई। नवीन तिवारी के खिलाफ धारा 376 तथा 506 के तहत जुर्म दर्ज किया गया है।

पुलिस के मुताबिक अभी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। मामले में प्रतिपरीक्षण किया जायेगा इसके बाद कार्रवाई की जाएगी।


Date : 18-Oct-2019

पेन्ड्रा के पत्रकार बालकृष्ण अग्रवाल की सडक़ दुर्घटना में मौत 

बिलासपुर, 18 अक्टूबर। पेन्ड्रा के पत्रकार बालकृष्ण अग्रवाल की गुरुवार को एक सडक़ दुर्घटना में मौत हो गई। घटना कल करीब दो बजे की है। बालकृष्ण अग्रवाल (31 वर्ष) एक अन्य पत्रकार साथी मुकेश विश्वकर्मा के साथ बाइक पर पेन्ड्रा से गौरेला आ रहे थे। पेन्ड्रा के पेट्रोल पम्प के पास उनकी बाइक एक कार के बगल से गुजर रही थी, इसी समय कार चालक ने अपनी ओर दरवाजा अचानक खोल दिया। बाइक कार के दरवाजे से टकरा गई। मुकेश विश्वकर्मा छिटककर सडक़ से दूर जा गिरे जबकि बाइक चला रहे बालकृष्ण सामने से आ रही ट्रक की चपेट में आ गये। घटनास्थल पर ही बालकृष्ण की मौत हो गई, जबकि घायल मुकेश विश्वकर्मा का अस्पताल में चल

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि न ही ट्रक की रफ्तार तेज थी न ही बाइक सवार तेज गति से चल रहे थे। कार का दरवाजा अचानक खोले जाने के कारण यह दुर्घटना हुई। घटना के बाद कार चालक फरार हो गया, जिसकी सीसीटीवी में मिले फुटेज के आधार पर खोजबीन की जा रही है। बालकृष्ण चार भाईयों में सबसे छोटे थे। उनके एक भाई अनिल अग्रवाल अधिवक्ता हैं। 
अन्य पारिवारिक व्यवसाय संभालते हैं। बालकृष्ण अग्रवाल एक दैनिक समाचार पत्र संवाददाता होने के अलावा एक होटल भी संचालित करते थे। उनकी पहचान एक मृदुभाषी किन्तु बेबाक पत्रकार के रूप में थी। वे करीब 10 सालों से पत्रकारिता से जुड़े थे।

 

 


Date : 17-Oct-2019

आतंकवाद के शिकार मजदूर सोंठीराम की पुलवामा में ही अंत्येष्टि, श्रम विभाग ने परिजनों को राहत राशि दी 

जांजगीर जिले में पलायन एक गंभीर समस्या, कोई रिकॉर्ड नहीं रखते सरकारी विभाग, लेह में बादल फटने से नौ साल पहले लापता 37 मजदूरों का अब तक पता नहीं 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 17 अक्टूबर।
जांजगीर-चाम्पा जिले के मजदूर सोंठीराम सागर की आतंकवादियों के हाथों हुई मौत ने एक बार फिर यहां भीषण रूप से व्याप्त पलायन की समस्या की ओर ध्यान खींच दिया है। नौ साल पहले लेह लद्दाख में बादल फटने से तीन दर्जन से ज्यादा मजदूरों के लापता होने की घटना भी उन्हें जम्मू-कश्मीर जैसे जोखिम भरे इलाके में जाने से नहीं रोक पाया है।

जांजगीर-चाम्पा के बंसुला ग्राम का सोंठीराम सागर (35 वर्ष) अपने परिवार और रिश्तेदारों के साथ पिछले जुलाई माह में दक्षिण कश्मीर स्थित आतंकवाद प्रभावित पुलवामा जिले के काकापुरा गया था। वहां एक ईंट भ_े में वह काम कर रहा था। बुधवार की दोपहर तीन बजे काकापुरा रेलवे स्टेशन के पास निहामा इलाके में उसे दो आतंकवादियों ने गोली मार दी। वह इस समय टहलने के लिए स्टेशन की ओर निकला था। तीन दिन पहले भी आतंकवादियों ने इसी तरह राजस्थान के एक बेकसूर ट्रक ड्राइवर को गोली मार दी थी। पुलवामा पुलिस ने दोनों आतंकवादियों को पकडऩे के लिए जाल बिछाया लेकिन वे अब तक गिरफ्त में नहीं आये हैं। सोंठीराम सागर अपनी सात माह की पुत्री, पत्नी, मां महेतरीन बाई (65 वर्ष) भाई पूरन सागर (38 वर्ष) और दिलहरण (25 वर्ष), बहन गीता, पति पूरन भी उनके साथ गया। पूरन के तीन बच्चे जिनमें दो पुत्र हैं, वे भी साथ गये थे। एक अविवाहित बहन अनिता भी उनके साथ गई थी। सोंठी की दो बहुओं व उनकी एक बेटी भी साथ में थे। इस तरह से पूरा परिवार ही पुलवामा में ईंट-भ_े में काम कर रहा है। घटना की जानकारी मिलने के बाद आज पुलिस व श्रम विभाग के अधिकारी उनके परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे। गांव में सोंठी के पिता कन्हैया और चाचा मिले। उनके परिजन को श्रम विभाग की ओर से एक लाख रुपये की अंतरिम सहायता दी गई, साथ ही पांच हजार रुपये अंत्येष्टि के लिए दिये गए। सोंठीराम की अंत्येष्टि उनके परिजनों की मौजूदगी में काकापुरा में ही कर दी गई है। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मृतक के परिवार के लिए चार लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। 

ज्ञात हो कि जांजगीर-चाम्पा जिले में मजदूरों का पलायन बरसों से एक गंभीर समस्या बनी हुई है। फसल की बोनी का काम खत्म होने के बाद गांव के गांव खाली हो जाते हैं। ये मजदूर उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, गोवा जैसे राज्यों में ईंट भ_े और इसी तरह के दूसरे कठिन श्रम वाले कामों में ले जाये जाते हैं। बंसुला गांव से भी सोंठीराम के अलावा दूसरे परिवारों के मजदूर बड़ी संख्या में कमाने-खाने के लिए प्रदेश के बाहर गये हैं। पलायन करने वाले मजदूरों का पंचायतों में रजिस्टर रखने, उन्हें ले जाने वाले सरदार का नाम-पता लिखने तथा श्रम विभाग में पंजीयन कराने का प्रावधान है पर न तो श्रम विभाग और न ही पंचायत विभाग इसे लेकर गंभीर है। 

सन् 2010 में इसी जम्मू-कश्मीर के लेह इलाके में बादल फटने से जिले के 56 मजदूर प्रभावित हुए थे। इनमें से 37 श्रमिकों का अब तक पता नहीं चल सका है। ये मजदूर बनारी, महंत, खैरा, बोड़सरा, नवागढ़, सलखन, तनौद और अमोरा महंत गांव से थे। तत्कालीन विधायक मोतीलाल देवांगन लापता मजदूरों को आर्थिक सहायता देने के लिए पत्राचार किया था लेकिन अधिकांश के परिजनों को कोई राहत नहीं मिली। छत्तीसगढ़ सरकार ने तब आहत और मृत श्रमिकों के परिजन को मदद पहुंचाई थी। 
    

  


Date : 17-Oct-2019

महिला आयोग के सदस्यों को हटाने का आदेश हाईकोर्ट ने निरस्त किया, राज्य सरकार की अपील खारिज 

बिलासपुर, 17 अक्टूबर। हाईकोर्ट ने महिला आयोग के सदस्यों को हटाने के राज्य शासन के आदेश को निरस्त कर दिया है। उन्हें हटाने का आदेश एकल पीठ ने पहले ही निरस्त कर दिया था, जिसे डबल बेंच में चुनौती दी गई थी। 

ज्ञात हो कि महिला आयोग की सदस्य ममता साहू, पद्मा चंद्राकर और तुलेश्वरी सिन्हा की नियुक्ति सन् 2017 में तत्कालीन भाजपा सरकार ने की थी। विधानसभा चुनाव के बाद सन् 2018 में दोनों को नई सरकार बनने के बाद पद से हटा दिया गया था। इसके विरुद्ध इन तीनों सदस्यों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। उन्होंने कहा था कि उनका पद संवैधानिक है और नियमानुसार उनकी नियुक्ति की गई है। राज्य सरकार को उन्हें हटाने का अधिकार नहीं है। हाईकोर्ट की एकल पीठ ने याचिकाकर्ताओं के पक्ष में फैसला दिया था, जिसके विरुद्ध राज्य सरकार ने डबल बेंच में अपील की थी। डबल बेंच ने भी उसी आदेश की पुष्टि करते हुए राज्य सरकार की अपील को खारिज कर दिया है। 


Date : 17-Oct-2019

वल्र्ड हैंड वाशिंगडे पर आंगनबाड़ी केंद्रों में साबुन से हाथ धोकर स्वस्थ और स्वच्छ रहने का संदेश दिया

बिलासपुर, 17 अक्टूबर। वल्र्ड हैंड वाशिंगडे पर आंगनबाड़ी केंद्रों में नौनिहालों ने साबुन से हाथ धोकर स्वस्थ और स्वच्छ रहने का संदेश दिया।जिलेकी2,763 आंगनबाड़ी कें द्रों पर वल्र्ड हैंडवाशिंग डे के तहत आयोजित हुई हाथ धुलाई की गतिविधि को बच्चों ने पूरे उत्साह के साथ अपनाया। जिले के लगभग दो लाख बच्चों के साथ उनके माता-पिता और अन्य अभिभावकों ने भी आंगनबाड़ी केंद्रों पर हाथ धुलाई कर कार्यक्रम में सहयोग कर अच्छी एवं स्वस्थ आदत का विकास किया। आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को साबुन से हाथ धोने, साफ कपड़े पहनने, केन्द्र और घर के आसपास सफाई रखने, स्वच्छ जीवन जीने, बीमारियों से मुक्ति पाने की जानकारी दी गई।

 


Date : 17-Oct-2019

अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय में छात्रों को  रेकी के माध्यम से आध्यात्मिक जागरूकता का संदेश 

बिलासपुर, 17 अक्टूबर। अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं को रेकी के माध्यम से आध्यात्मिक जागरूकता का संदेश दिया गया। विश्वविद्यालय के यूटीडी ग्राउन्ड में रेकी डिवाइन हीलिंग फाउन्डेशन की ओर से यह कार्यक्रम रखा गया था। इसमें मुख्य अतिथि रेकी मास्टर ममता मां, रेकी मास्टर नरेन्द्र सिंह और आराधना ने रेकी की चमत्कारिक शक्ति के बारे में बताया। उन्होंने रेकी प्रशिक्षण, रेकी स्पर्श द्वारा ऊर्जा का रूपान्तरण, रेकी द्वारा सम्पूर्ण उपचार एवं ध्यान पद्धति की जानकारी तथा रेकी उपचार के दौरान बरती जाने वाली सावधानी की जानकारी भी दी। शारीरिक एवं योग विभाग के संचालक एचओडी सौमित्र तिवारी अध्यापकगण विनोद पटेल व शारदार पटेल तथा योग प्रशिक्षक मोनिका पाठक इस अवसर पर उपस्थित थे। 

योग कक्षा द्वितीय सेमेस्टर की छात्र छात्रा अरुण कुमार, अभिषेक पटेल, हीरालाल गुप्ता, हितेश वर्मा, विकास, नीता, गुंजा, धानी, सीता पांडे, शुभम तथा प्रथम सेमेस्टर की छात्र छात्रा रामेश्वर, मुकेश, नीलम, मनीषा, दीपिका, अपर्णा, शिव भूषण, नीरज, माया, कंचन ठाकुर सहित लगभग 60 विद्यार्थियों ने इसका लाभ उठाया।

 


Date : 17-Oct-2019

होटल, पान ठेलों में धूम्रपान करने वालों पर जुर्माना, स्कूलों में निगरानी और शपथ के लिए निर्देश जारी 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 17 अक्टूबर।
सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों के खिलाफ जिले में कार्रवाई शुरू कर दी गई है। साथ ही ऐसी दुकानें जहां बिना चेतावनी लिखे तम्बाकू उत्पाद बेचे जा रहे हैं उन पर भी जुर्माना लगाया जा रहा है। तम्बाकू प्रोडक्ट का सेवन करने वालों में 14 प्रतिशत से ज्यादा नाबालिग हैं इसलिये शैक्षणिक संस्थानों को भी तम्बाकू मुक्त बनाने के लिए सख्त निर्देश जारी किये गए हैं। 

कार्रवाई के लिए अभी शहरी क्षेत्रों पर फोकस किया जा रहा है। 16 अक्टूबर को एक अभियान चलाकर कोटपा अधिनियम 2003 के तहत मोपका, व्यापार विहार और नेहरू चौक में होटलों और पान ठेलों में सिगरेट, बिड़ी पीते हुए लोगों पर चालानी कार्रवाई की गई। कुछ ऐसे दुकानदारों पर भी कार्रवाई की गई जो बिना चेतावनी का बोर्ड लगाये ही तम्बाकू उत्पाद बेच रहे थे। कार्रवाई के दौरान 2900 रुपये जुर्माना वसूल किया गया। 

 ज्ञात हो कि जिला प्रशासन ने एक अक्टूबर को करीब 58 विभाग के अधिकारियों की बैठक ली थी और सभी शासकीय दफ्तरों तथा सार्वजनिक स्थलों को धूम्रपान मुक्त करने के लिए अभियान चलाने का निर्देश दिया था। कोटपा अधिनियम 2003 जिले में लागू कर दिया गया है और इसकी धारा 4 और 6 के अंतर्गत सभी कार्यस्थलों और दुकानों में धूम्रपान प्रतिबंधित होने का बोर्ड लगाया जाना है। जुर्माने की कार्रवाई मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रमोद महाजन के निर्देशन में व नोडल अधिकारी के.के. जायसवाल के नेतृत्व में की गई। कार्रवाई में खाद्य विभाग की निरीक्षक अविशा मरावी और औषधि निरीक्षक देवेन्द्र कुमार विंध्यराज ने सहयोग दिया। 

दूसरी ओर,जिला शिक्षा अधिकारी ने जिले के सभी शासकीय-अशासकीय स्कूलों के प्राचार्यों को भारत सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश का हवाला देते हुए दो अक्टूबर से 26 जनवरी 2020 तक सभी शैक्षणिक संस्थानों के तम्बाकू मुक्त बनाने का अभियान चलाने का निर्देश दिया ह । विद्यालयों में शिक्षक, कर्मचारी और विद्यार्थी तम्बाकू मुक्ति की शपथ लेंगे और प्रतिवेदन जिला कार्यालय भेजेंगे। 

सभी स्कूलों में एक सहायक नोडल की नियुक्ति कर कोटपा एक्ट का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेंगे। तम्बाकू उत्पाद अधिनियम 2008 (कोटपा) में तम्बाकू उत्पाद के विज्ञापनों पर रोक, व्यापार, वाणिज्य, उत्पादन और प्रदाय करने तथा वितरण के नियम बनाये गए हैं। इसकी धारा 6 में नाबालिगों और शैक्षणिक संस्थानों के आसपास तम्बाकू उत्पाद तथा सिगरेट की बिक्री प्रतिबंधित की गई है। इसका पालन न करने पर 200 रुपये का जुर्माना भी तय किया गया है। 

पूरे विश्व सहित भारत में तम्बाकू का सेवन बढ़ रहा है। गेट्स –दो की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में हर साल तम्बाकू जनित रोगों से 13 लाख लोगों की मौत हो रही है। ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे 2009 के मुताबिक 13 से 15 वर्ष के 14 प्रतिशत से अधिक बच्चों को तम्बाकू की लत है। 
0-0


Date : 17-Oct-2019

16 सौ राशन कार्डों का फर्जी नवीनीकरण, खाद्य विभाग ने लिखाई रिपोर्ट, मंत्री ने लगाई थी अधिकारियों को फटकार 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 17 अक्टूबर।
खाद्य विभाग की आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल करके 1613 राशन कार्डों का फर्जी नवीनीकरण करा लिया गया है। मामला सामने आने पर खाद्य विभाग के अधिकारियों ने सिविल लाइन थाने में अज्ञात आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कराया है। इस गड़बड़ी की शिकायत खुद कांग्रेसियों ने खाद्य मंत्री अमरजीत भगत से दो दिन पहले बिलासपुर प्रवास के दौरान की थी। खाद्य विभाग ने मंत्री की फटकार लगने के बाद बुधवार की रात में रिपोर्ट दर्ज कराई। 

बीपीएल परिवारों के राशन कार्ड के नवीनीकरण कार्य के लिए खाद्य विभाग ने जगह-जगह शिविर लगाये थे। प्राप्त आवेदनों की पात्रता की जांच के बाद विभाग इन कार्डों का नवीनीकरण करा रहा है। 

 इन आवेदनों की डेटा इंट्री का काम व्यापार विहार स्थित रेसिलायंस सॉफ्ट नामक एजेंसी को दिया गया था। कम्पनी को एक्सेस के लिए अलग पासवर्ड आईडी दी गई है। खाद्य विभाग के पास अलग पासवर्ड आई डी हैं। किसी ने खाद्य विभाग की आईडी व पासवर्ड का इस्तेमाल करके अवैध तरीके से 1613 राशन कार्डों का नवीनीकरण किया है। 
खाद्य निरीक्षक अजय कुमार मौर्य की शिकायत के बाद सिविल लाइन पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 420 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया है। 

 


Date : 17-Oct-2019

हाईकोर्ट बार एसोसिएशनके अध्यक्ष पद पर चौथी बार अध्यक्ष बने केशरवानी
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 17 अक्टूबर।
हाईकोर्ट बार एसोसियेशन के अध्यक्ष पद पर चंद्रकुमार केशरवानी ने चौथी बार जीत हासिल कर ली है। उन्होंने प्रतिद्वन्द्वी निरुपमा बाजपेयी को 110 मतों से पराजित किया। पांच बार सचिव रहे अब्दुल वहाब को इस बार हार का सामना करना पड़ा है। केशरवानी के साथ बार एसोसियेशन की पूरी कार्यकारिणी में नये लोगों की टीम है। 
हाईकोर्ट बार एसोसियेशन के लिए मतदान मंगलवार को हुआ था। बुधवार को मतों की गिनती हुई और रात में इसका परिणाम घोषित किया गया। केशरवानी को कुल 250 मत मिले। उनके निकटतम प्रतिद्वन्द्वी निरुपमा बाजपेयी को 140 मत हासिल हुए। बार एसोसियेशन के 940 सदस्यों में से 636 ने मतदान में भाग लिया था। केशरवानी सन् 2011 से अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ते आये हैं। सन् 2013 में उन्हें विवेकरंजन तिवारी ने परास्त किया था। इसके बाद वे लगातार इस पद पर चुने जा रहे हैं। अध्यक्ष पद के लिए रमाकांत पांडेय, शैलेष आहूजा और उत्तम पांडेय भी मैदान पर थे। 

पांच बार हाईकोर्ट के सचिव रहे अब्दुल वहाब खान को इस बार हार का सामना करना पड़ा। उन्हें राकेश मोहन पांडेय ने परास्त किया। कोषाध्यक्ष पद पर अनिल त्रिपाठी को 226 और पवन श्रीवास्तव को 225 मत मिले। श्रीवास्तव की मांग पर चुनाव अधिकारी शैलेन्द्र दुबे ने मतों की दुबारा गिनती कराई और त्रिपाठी को ही निर्वाचित घोषित किया गया। पराजित प्रत्याशी पवन श्रीवास्तव का कहना है कि हम इसके खिलाफ अपील करेंगे क्योंकि कुल मतपत्रों की संख्या दुबारा की गिनती में बढ़ गई थी। 
उपाध्यक्ष पद पर उमाकांत चंदेल, सह-सचिव पद पर वरूनेन्द्र मिश्रा, लाइब्रेरी सचिव पद पर अरविन्द दुबे चुने गये हैं। कार्यकारिणी में विवेक सिंघल, अच्युत तिवारी, अभिषेक पांडेय,आशुतोष शुक्ला, चंद्रप्रकाश लहरे, अजय चंद्रा व जितेन्द्र गुप्ता ने जीत हासिल की।

 

 


Date : 17-Oct-2019

बिलासपुर के पार्सल में मेरठ स्टेशन पर मिला 15 लाख का गांजा, पार्सल ऑफिस में हडक़म्प, आरपीएफ ने मामले की छानबीन शुरू की 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 17 अक्टूबर।
बिलासपुर से भेजे गये एक पार्सल से मेरठ रेलवे स्टेशन में 15 लाख रुपये का गांजा बरामद किया गया है। आरपीएफ ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। 
मेरठ रेलवे स्टेशन पर बिलासपुर से आया पार्सल कई दिनों तक पड़ा हुआ था। इसे बिलासपुर के चंद्रशेखर यादव नाम के व्यक्ति की ओर से मेरठ के सुशील कुमार के नाम पर लीज होल्डर के माध्यम से बुक किया गया था। पार्सल में कपड़े होना बताया गया था। पार्सल के लिए किसी का दावा नहीं होने पर मेरठ पार्सल ऑफिस के कर्मचारियों को संदेह हुआ। उन्होंने इसकी जानकारी जीआरपी और आरपीएफ को दी। अधिकारियों ने पार्सल को खोला तो कम्बलो में लिपटा हुआ गांजे के पैकेट निकले। गांजे का वजन 61 किलो निकला जिसकी कीमत लगभग 15 लाख रुपये बताई जा रही है। 

बिलासपुर से भेजे गये पार्सल में गांजा मिलने की जानकारी मेरठ के रेलवे अधिकारियों ने यहां दी। इसके बाद बिलासपुर रेलवे स्टेशन के पार्सल ऑफिस में हडक़म्प मच गया। इस मामले में पार्सल ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों की लापरवाही साफ दिखाई दी है जिन्होंने सामान का छानबीन किये बिना ही पार्सल को बुक कर लिया। बिलासपुर रेल मंडल के सुरक्षा आयुक्त आर के शुक्ला ने पूरे मामले की जांच का निर्देश दिया है। आरपीएफ पार्सल बुक करने वाले का पता लगा रही है। 


Date : 17-Oct-2019

आकर्षक नृत्य संगीत के साथ एनटीपीसी में हिन्दी पखवाड़ा पुरस्कार वितरण समारोह

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 16 अक्टूबर। एनटीपीसी सीपत में एक से 14 सितम्बर तक मनायेगा। हिन्दी पखवाड़ा के दौरान हुई प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत करने के लिए समारोह रखा गया, जिसे अनेक प्रतिभागियों ने अपनी आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं।

विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत करने के लिए पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन नगर परिसर में नवनिर्मित कला निकेतन सभागार में संगीतमय प्रस्तुति केसाथ किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एनटीपीसी सीपत के मुख्य महाप्रबंधक पद्मकुमार राजशेखरन थे। कार्यक्रम में संगवारी महिला समिति की अध्यक्ष कमला पद्मकुमार, महाप्रबंधक, प्रचालन एवं अनुरक्षण अनिल कुमार चौधरी, श्रीमती चौधरी, मानव संसाधन विभाग केअध्यक्ष रविशंकरकौल आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे। अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया।


Date : 16-Oct-2019

धूम्रपान एवं तंबाकू मुक्त अभियान, शासकीय कार्यालयों में धूम्रपान पर पाबंदी, उल्लंघन पर 200 रुपये का जुर्माना 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 16 अक्टूबर।
जिले में कोटपा अधिनियम के तहत धूम्रपान एवं तंबाकू मुक्त अभियान की शुरूआत शासकीय कार्यालयों से कर दी गई है। धूम्रपान करते पाये जाने पर 200 रुपये का जुर्माना किया जायेगा। सभी शासकीय कार्यालयों के बाहर धूम्रपान रहित क्षेत्र का बोर्ड लगाया जाएगा। 

कलेक्टर डॉ.संजय अलंग ने टीएल की बैठक में विस्तृत जानकारी देते हुए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

लोगों में जागरूकता लाने के लिये एन.सी.सी. के बच्चों एवं ट्रैफिक पुलिस के जवानों के के साथ मिल-जुलकर सभी चौक-चौराहों, बस स्टैण्ड, रेल्वे स्टेशन में धूम्रपान के नुकसान के बारे में जानकारी दी जाएगी। 

साथ ही शिक्षण संस्था कैम्पस से 100 गज के दायरे में किसी भी प्रकार का तंबाखू पदार्थ बेचना एवं सेवन करना अपराध होगा। सार्वजनिक स्थानों में शॉपिंग मॉल एंव सिनेमा हाल भी शामिल हैं, जिसमें धूम्रपान करना दण्डनीय अपराध है। इसकी निगरानी संबंधित संस्थान के मालिक, प्रोपाइटर, प्रबंधक या पर्यवेक्षक या संबंधित प्रभारी रखेंगे। इनके प्रवेश द्वारों पर स्पष्ट रूप से धूम्रपान रहित क्षेत्र का अनिवार्य रूप से लगाने कहा गया है। ऐसे होटल जिसमें 30 कमरे हों या किसी रेस्तरा जिसमें 30 या उससे अधिक व्यक्तियों से बैठने की क्षमता हो। 

ऐसे स्थानों पर अलग व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। यहां डेंटिस्टों को तंबाकू खाने वाले मरीजों को नशामुक्ति के लिये काउंसिलिंग की ट्रेनिंग देने एवं डेंटीस्ट क्लीनिकों में इस तरह के मरीजों की जानकारी के लिये रजिस्टर संधारण करने कहा जायेगा, जिससे मरीजों के आंकड़ों के संबंध में सही जानकारी मिल सकेगी।

बिलासपुर में वर्तमान में तीन जगहों पर नशामुक्ति केन्द्र संचालित हो रहा है। जिसमें जिला अस्पताल, त्रिवेणी डेंटल कॉलेज एवं न्यू होराईजन डेंटल कॉलेज शामिल हैं। जिला अस्पताल में मुफ्त इलाज भी किया जाता है। 

 


Date : 16-Oct-2019

बच्चों की दक्षता में निखार लाने का अभियान चला, उपलब्धि हासिल हुई केवल दो प्रतिशत

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 16 अक्टूबर।
सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत आठवीं, 9वीं कक्षा के पढ़ाई में कमजोर बच्चों के लिये चलाये जा रहे निखार कार्यक्रम की उपलब्धि केवल दो प्रतिशत रही है। यानि 98 प्रतिशत बच्चों को इस योजना से लाभ ही नहीं पहुंचाया जा सका है। 

बिलासपुर सहित प्रदेश के कांकेर, बीजापुर, महासमुंद, रायपुर, कोरबा, दुर्ग, गरियाबंद, जांजगीर-चाम्पा और बलौदा बाजार जिले में बच्चों की समझ का स्तर उनकी कक्षा में होने वाली पढ़ाई के अनुरूप तक लाने के लिए निखार कार्यक्रम लागू किया गया है।  आठवीं कक्षा और विशेषकर नवमी कक्षा के बच्चों की उपलब्धियों में सुधार के लिए प्राथमिक कक्षा की पढ़ाई को बेस लाइन बनाया गया। बच्चों में देखा जाना था कि कितने बच्चों में कोर्स की समझ कक्षा तीन और पांच के स्तर की है तथा कितने बच्चे आठवीं के स्तर के हैं। इस आकलन के बाद बच्चों के स्तर में सुधार के लिए लगातार प्रयास किया जाना था। 
कार्यक्रम के अंतर्गत नियमित कक्षाओं में इन बच्चों के लिए 69 दिनों के भीतर 200 घंटे की पढ़ाई का कार्यक्रम रखा गया। फाउन्डेशन  पाठ्यक्रम के अंतर्गत प्रतिदिन एक-एक घंटे की हिन्दी, अंग्रेजी, गणित व विज्ञान की कक्षाएं भी आयोजित करने कहा गया था। 

अध्यापन में बेहतर स्तर के बच्चों को अपने कम स्तर के बच्चों की दक्षता में सुधार का दायित्व दिया गया। इसी तरह आगे के दिनों में 45 दिनों तक अंग्रेजी, गणित व विज्ञान में एक दूसरे का सहयोग कर दक्षता बढ़ाने की प्रक्रिया अपनाने तथा अंतिम चरण में इन विषयों पर छह दिनों का विशेष शिविर लगाने कहा गया था। 

इन चरणों के पूरा होने के बाद राज्य स्तरीय मूल्यांकन की बारी आई है। इस चरण में पता चला कि डाइट द्वारा संचालित यह कार्यक्रम सभी जिलों में विफल हुआ है।  समग्र शिक्षा अभियान के प्रबंध संचालक द्वारा इस सम्बन्ध में दसों जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी, डाइट के प्राचार्य और राजीव गांधी शिक्षा मिशन के जिला समन्वयकों को जारी पत्र से इसका पता चलता है।  पत्र में कहा गया है कि निखार कार्यक्रम के तहत बेसलाइन में कक्षा आठवीं और विशेषकर नवमीं कक्षा के बच्चों की दक्षता में सुधार के लिए चलाये जा रहे कार्यक्रम की उपलब्धि केवल दो प्रतिशत रही है। यह बहुत कम है। ऐसे में इस कार्यक्रम के लिए बहुत अधिक कार्य किये जाने की आवश्यकता है। जिला स्तर से फील्ड की रिपोर्ट उत्साहजनक नहीं है। 

अब प्रबंध संचालक ने निर्देश दिया है कि माह जनवरी तक तीन चरणों का अध्यापन कार्य पूरा कर लिया जाये। सभी दर्ज बच्चे निखार कार्यक्रम में अंतिम चरण तक भाग लें यह सुनिश्चित करें।  प्रत्येक बच्चे अभ्यास कार्य को पूरा कर लें और शिक्षक इन्हें जांच कर सुधार कार्य करायें। जिले के स्तर पर कार्यक्रम की सघन मॉनिटरिंग की जाये ताकि अपेक्षित परिणाम दिखाई दे। प्रत्येक जिले में नोडल अधिकारी जिला शिक्षा अधिकारी को बनाया गया है वे इस कार्यक्रम को निर्धारित मापदंड के अनुसार चलाकर अपेक्षित परिणाम सामने लाएं। 

निखार कार्यक्रम के तहत राज्य स्तरीय मूल्यांकन दिसम्बर 2019 में प्रस्तावित किया गया है। जिलों के शिक्षा अधिकारियों से इस अवधि में नियमित पाठ्यक्रम के साथ निखार कार्यक्रम के पाठ्यक्रम को भी जोड़ा जाये। 

 

 

 


Date : 16-Oct-2019

छठ पर्व पर दुर्ग से पटना के लिए चलेगी स्पेशल ट्रेन 

बिलासपुर, 16 अक्टूबर। छठ पूजा के दौरान दुर्ग और पटना के बीच एक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है। 08793 नंबर के साथ दुर्ग से यह ट्रेन 31 अक्टूबर गुरुवार को रवाना होगी तथा 08794 नंबर के साथ तीन नवंबर रविवार को छूटेगी। ट्रेन में 8 जनरल सीटें, पांच स्लीपर एक एसी थ्री दो एसी 2 और एससी थ्री की संयुक्त बोगी रहेगी। दुर्ग से यह ट्रेन 31 अक्टूबर को शाम 16.00 बजे रवाना होगी और शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे पटना पहुंचेगी। तीन नवंबर रविवार को पटना से यह ट्रेन रात 20.45 बजे रवाना होकर सोमवार 4 नवंबर को शाम 19.10 बजे दुर्ग पहुचेगी। स्पेशल ट्रेन का ठहराव रायपुर, बिलासपुर, चाम्पा, रायगढ़, झारसुगुड़ा, राउरकेला, हटिया, रांची, मूरी, बोकारो स्टील सिटी, चंद्रपुर, बोसजे गोमो, कोडरमा, गया और जहानाबाद में होगा। 


Previous12Next