छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

Date : 08-Dec-2019

मरवाही में दंतैल गणेश के विचरण से दहशत, 12 हाथियों ने अलग से डेरा जमाया, छह माह में तीसरी बार हाथियों की आमद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 8 दिसम्बर।
मरवाही-पेंड्रा इलाके में एक बार फिर हाथियों के दल ने दस्तक दी है। इस झुंड से अलग कई लोगों की जान लेने वाला दंतैल हाथी गणेश भी टिका हुआ है। वन विभाग की टीम अलग-अलग इन हाथियों पर निगरानी रख रहा है और कच्चे घरों में रहने वालों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। 

‘छत्तीसगढ़’ को मरवाही वन मंडल के राकेश मिश्रा ने बताया कि हाथियों का एक दल फुलवारी ग्राम के आसपास विचरण कर रहा है। इन हाथियों की संख्या 12 है, जिनमें तीन बच्चे भी हैं। दूसरी ओर रविवार की सुबह 10 बजे के आसपास दंतैल हाथी गणेश को कोटमीखुर्द गांव में देखा गया, उसके बाद आगे बढक़र रामगढ़ गांव के समीप पहुंच गया। कल इस हाथी को पहली बार केंदा सर्किल के ग्राम सेमरा में देखा गया था। संभवत: यह कोरबा वन मंडल की ओर से यहां पहुंचा है। बीते 6 माह से यह हाथी कोरबा, रायगढ़ धरमजयगढ़ आदि इलाकों विचरण कर रहा है। 

दरअसल, इन इलाकों में करीब एक दर्जन लोगों की मौत इस हाथी के हमले से हो चुकी है इसलिए पेन्ड्रा-मरवाही इलाके के ग्रामीणों में इसके पहुंचने से दहशत है। हाथी गणेश को रेडियो कॉलर लगाया गया है जिससे उसके लोकेशन की पुख्ता जानकारी मिल जाती है। 

12 हाथियों का दल अलग घूम रहा है। इनमें से कुछ हाथी कल झंडी गांव में पहुंच गए थे। वन विभाग के कर्मचारियों ने उन्हें गांव से बाहर खदेडऩे की कोशिश की तो वे आज पेन्ड्रा रेंज के मुरमुर गांव के बाहर जाकर टिके हुए हैं। 

डीएफओ मिश्रा ने बताया कि दोनों ही जगह पर वनरक्षक तैनात हैं और हाथियों की गतिविधियों पर निगाह रखी जा रही है। ग्रामीण इन्हें न छेड़ें और देखने की उत्सुकता में इक_ा न हों, इसके लिए मुनादी कराई गई है। लोगों को शाम के बाद घर से नहीं निकलने की सलाह दी गई है। कच्चे घर जिन्हें हाथी नुकसान पहुंचा सकते हैं उनमें रहने वालों को शाम के समय सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया जा रहा है। वन विभाग की प्राथमिकता किसी तरह की जनहानि को रोकना है। हाथी यदि सडक़ पार करते हैं तो वहां यातायात भी रोक दिया जाता है। 
पेन्ड्रा-मरवाही इलाके में इस साल हाथियों का झुंड बार-बार प्रवेश हो रहा है। बीते कुछ सालों में हाथियों की आमद मरवाही वन मंडल में बढ़ गई है। इसी साल जुलाई में बेलपत इलाके में ही 40 हाथियों का दल पहुंच गया था जो कुछ दिनों के बाद अपने आप पसान के रास्ते कटघोरा वनमंडल की ओर बढ़ गया था। बीते अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में मरवाही विकासखंड के ग्राम मझगंवा में 22 हाथियों के दल ने डेरा डाल लिया था। जनहानि रोकने के लिए यहां के नीलगिरी प्लांटेशन के आसपास के मकानों को खाली भी कराया गया था। इसके अलावा बेलगहना, खोडरी इलाके में भी हाथियों का आना-जाना बढ़ गया है।

 


Date : 06-Dec-2019

प्रधानपाठक ने छात्र-छात्राओं से करवाई लिपाई, बच्चों से काम करवाना गलत, होगी जांच-बीईओ

छत्तीसगढ़ संवाददाता

करगीरोड (कोटा), 6  दिंसबर। शासकीय प्राथमिक शाला रिगरिगा में बच्चों से स्कूल की सफाई और गोबर से लिपाई करवाने का मामला सामने आया है। मामला कोटा विकासखंड का है। यहां के शासकीय प्राथमिक स्कूल रिगरिगा में शिक्षक ने बच्चों के हाथ में झाड़ू और गोबर थमाकर उन्हें लिपाई के काम में लगा दिया।

जानकारी के मुताबिक पहले शिक्षक द्वारा बच्चों से गोबर मंगवाया गया। इसके बाद उन्हें स्कूल के सामने के बरामदे की लिपाई और सफाई के काम में लगा दिया गया। जब मीडिया द्वारा बच्चों से पूछा गया तो बच्चों ने बताया कि प्रधानपाठक अच्छे लाल साहू के कहने पर लिपाई कर रहे हैं।

स्कूल के प्रधानपाठक अच्छे लाल से जानकारी ली गई तो उन्होंने इस बात को कबूल भी किया। इसका कारण उन्होंने सफ़ाई कर्मी का अनुपस्थित होना बताया और कहा कि ठंड के दिनों में धूप में बैठकर बरामदे में पढ़ाने के लिए साफ-सफाई करवाई है।

इस संबंध में कोटा विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी एम.एल पटेल ने कहा कि इस तरह बच्चों से स्कूल में काम करवाना गलत है। नोटिस देकर जांच करने की बात कही गई है।


Date : 04-Dec-2019

नि:शुल्क कैंसर जांच व परामर्श शिविर, शिविर का मुख्य उद्देश्य कैंसर के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करना और  को कैंसर सही समय पर पहचान कर उसका उपचार सुनिश्चित करना है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 4  दिसंबर। जिला अस्पताल बिलासपुर में गैर संचारी रोग विभाग एवं बाल्को मेडिकल सेंटर रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में नि:शुल्क कैंसर जांच एवं परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 43 लोगों की ब्रेस्ट कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा कैंसर,और ओरल कैंसर स्क्रीनिंग हुई जिसमें 3 लोगों का पैप स्मियर टेस्ट किया गया ।कैंसर जांच एवं परामर्श शिविर का मुख्य उद्देश्य कैंसर के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करना और  को कैंसर सही समय पर पहचान कर उसका उपचार सुनिश्चित करना है ।

आयोजित हुए कैंसर जांच एवं परामर्श शिविर की जानकारी देते हुए गैर संचारी रोग के नोडल अधिकारी डॉ.बीके वैष्णव ने बताया जांच एवं परामर्श के उपरांत संभावित मरीजों के पैप स्मियर टेस्ट एवं एफएनएसी के सैंपल  जांच के लिए भेजे गए हैं । शिविर में शहरी क्षेत्रों के अलावा चकरभाटा पीएचसी से भी रेफरल मरीज भी आए थे।

बाल्को मेडिकल सेंटर रायपुर के डॉ.आशुतोष दास शर्मा ने बताया कैंसर के मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। समय रहते इस रोग के बारे में लोगों को पता नहीं लग पाता है। पता चलने तक स्थिति बिगड़ चुकी होती है। ऐसे में अगर शुरुआती स्टेज पर ही कैंसर के लक्षणों का पता चल जाए, तो समय पर इलाज शुरू करके मरीज की जान बचाई जा सकती है। इसके लिए बाल्को मेडिकल सेंटर रायपुर छत्तीसगढ़ सरकार के स्वास्थ्य विभाग के साथ हुए अनुबंध के तहत जिलों में कैंसर जांच शिविर लगाकर लोगों की जांच की जा रही है । अगर किसी व्यक्ति में कैंसर के लक्षण पाए जाते हैं, तो उसे चिकित्सकीय परामर्श भी दिया जाएगा। जिलों में डॉक्टरों की एक पूरी टीम जाएगी और कैंसर की प्रारंभिक जांच के तहत सभी टेस्ट मुफ्त में किए जाएंगे।साथ ही बाल्को मेडिकल सेंटर पर जो भी जांच होगी उस को शासन से हुए अनुबंध के तहत मिनिमम दर पर किया जायेगा । टीम में बाल्को मेडिकल सेंटर रायपुर के डॉ.जुबेर शेख, डॉ.शैलेंद्र देशमुख मौजूद रहे।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे 4 (2015-16) के अनुसार छत्तीसगढ़ में  15-49 की महिलाओं को गर्भाशय ग्रीवा का कैंसर शहरी क्षेत्रों में 20.5त्न महिलाओं में था जबकि ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं में 16.5त्न था । कुल 17.5 प्रतिशत महिलाएं गर्भाशय ग्रीवा कैंसर पीडि़त थी । वही स्तन कैंसर के आंकडों की बात करें तो शहरी क्षेत्रों में 7.6 प्रतिशत महिलाओं में स्तन कैंसर की समस्या थी तो वहीं ग्रामीण क्षेत्र की 7.2 प्रतिशत महिलाऐं स्तन कैंसर से पीडित थी । कुल 7.3 प्रतिशत महिलाएं स्तन कैंसर से पीडि़त थी ।


Date : 03-Dec-2019

एसईसीएल मुख्यालय में सेवानिवृत्त अधिकारियों, कर्मचारियों को भावभीनी विदाई दी और उनके बेहतर नये जीवन की कामना की
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 3 दिसम्बर।
एसईसीएल से सेवानिवृत्त अधिकारी कर्मचारियों को वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में स-समारोह भावभीनी विदाई दी गई और उनके बेहतर नये जीवन की कामना की। 

सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारी कर्मचारियों में मुख्य प्रबंधक अरुण कुमार राय, वरीय वित्त प्रबंधक एमआई हसन, चीफ सिविल ड्रॉफ्ट्समैन हैदरअली खान तथा असिसेन्ट सुपरवाइजर देवेन्द्र सिंह ठाकुर शामिल हैं। 

एसईसीएल मुख्यालय के सीएमडी सभाकक्ष में हुए इस कार्यक्रम में कार्मिक निदेशक डॉ. आरएस झा, तकनीकी निदेशक योजना परियोजना एम के प्रसाद, वित्त निदेशक एसएम चौधरी, कल्याण महाप्रबंधक ए.के.पाढ़ी, विभिन्न विभागों के अध्यक्ष, अधिकारी कर्मचारी, श्रम संघों के प्रतिनिधि उपस्थित थे। अतिथियों ने सेवानिवृत्त अधिकारियों, कर्मचारियों को शाल, श्रीफल तथा पुष्पाहार से सम्मानित किया। उन्हें पीएफ व ग्रेच्युटी की राशि भी प्रदान की गई। 

 


Date : 03-Dec-2019

मीसा बंदी को सम्मान निधि देने का निर्देश दिया हाईकोर्ट ने, पूर्ववर्ती सरकार ने लोकतंत्र सेनानियों के लिए सम्मान निधि की व्यवस्था शुरू की थी, जिसे छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनने के बाद बिना कारण बताये बंद कर दिया

बिलासपुर, 3 दिसम्बर। हाईकोर्ट ने एक लोकतंत्र सेनानी (मीसा बंदी) की याचिका पर सुनवाई करते हुए निर्देश दिया है कि राज्य सरकार भौतिक सत्यापन के बाद उनकी सम्मान निधि तुरंत जारी करे और भविष्य में कभी भी राशि नहीं रोकी जाये।

मीसा बंदी असित भट्टाचार्य ने अधिवक्ता सुप्रिया उपासने के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि पूर्ववर्ती सरकार ने लोकतंत्र सेनानियों के लिए सम्मान निधि की व्यवस्था शुरू की थी, जिसे छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनने के बाद बिना कारण बताये बंद कर दिया गया है। मामले की सुनवाई जस्टिस पी. सैम कोसी की कोर्ट में हुई। कोर्ट ने पाया कि सम्मान निधि बंद करने की कोई स्पष्ट वजह सामने नहीं आई है। अतएव, राज्य सरकार भट्टाचार्य का भौतिक सत्यापन कर सम्मान निधि जारी करे और भविष्य में इसे कभी न रोके।

 


Date : 03-Dec-2019

हाईकोर्ट : अम्बिकापुर ननि के परिसीमन की अधिसूचना को यथावत रखा, ऐसे मामलों को चुनौती नहीं दी जा सकती

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 3 दिसम्बर। अम्बिकापुर नगर निगम की परिसीमन की दी गई चुनौती की याचिका को सोमवार को हाईकोर्ट में खारिज कर दिया गया। उच्च न्यायालय ने व्यवस्था दी है कि राज्य शासन को संविधान के अनुच्छेद 243 जेडजी के तहत यह अधिकार है कि वह किसी नगर निगम को परिसीमन के अंतर्गत ला सकता है। ऐसे मामलों को चुनौती नहीं दी जा सकती। परिसीमन की याचिका पर सुनवाई चीफ जस्टिस पी.आर. रामचंद्र मेनन एव जस्टिस पार्थ प्रीतम साहू की डबल बेंच ने की। नगर निगम अम्बिकापुर के पार्षद मनोज कुमार व अन्य लोगों ने राकेश झा व अन्य के जरिये हाईकोर्ट में दो अलग-अलग याचिकाएं दायर की थी। इनमें परिसीमन के बाद जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा प्रारंभिक प्रकाशन की सूची का हवाला देते हुए कहा गया था कि राजनीतिक विद्वेष के कारण सत्ताधारी दल के नेताओं के इशारों पर वार्डों में फेरबदल किया गया है।

 


Date : 03-Dec-2019

हवाई सेवा आंदोलन: मुख्य सचिव से सीएम द्वारा घोषित 27 करोड़ शीघ्र जारी करने की मांग, 39वें दिन भी जारी रहा अखंड धरना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 3 दिसम्बर।
हवाई सुविधा के लिये जारी अखंड धरना के बीच जन संघर्ष समिति ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री द्वारा चकरभाठा एयरपोर्ट के लिए स्वीकृत राशि 27 करोड़ रुपये जारी करने की मांग की है ताकि हवाई अड्डे के विस्तार का काम तेजी से हो सके। 

मुख्य सचिव को समिति की ओर से लिखे गये पत्र में सुदीप श्रीवास्तव ने कहा है कि इस राशि से थ्री सी कैटेगरी का हवाई अड्डा बनाने के लिए तुरंत काम शुरू हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने जो राशि घोषित की है उसमें 2 सी वीएफआर से 3 सी वीएफआर में उन्नयन के लिए 1.835 करोड़ रुपये, नये टर्मिनल भवन व सिविल कार्य के लिए 6.7 करोड़, बिजली के काम के लिए 8 आठ करोड़ तथा रन वे विस्तार व अन्य कार्यों के लिए 10 करोड़ 45 लाख रुपये शामिल हैं। मंगलवार को 39वें दिन भी अनेक संगठन राघवेन्द्र राव सभा भवन प्रांगण में धरने पर बैठे। इसमें बिलासपुर के अलावा अन्य शहरों के प्रतिनिधि भी शामिल हो रहे हैं। 

 

 


Date : 03-Dec-2019

वनवासी ग्राम छपरवा के छात्रों ने विधानसभा का भ्रमण किया, सीएम, स्पीकर व मंत्रियों से भी की मुलाकात 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 3 दिसम्बर।
वनवासी शिक्षा दूत स्व प्रभुदत्त खेडा द्वारा स्थापित शाला अभयारण्य शिक्षण समिति छपरवा के विद्यार्थियों ने शैक्षणिक भ्रमण के तहत विधानसभा का अवलोकन किया।

इस बच्चों को प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंग, आदिम जाति कल्याण मंत्री अमरजीत भगत, विधायक सत्यनारायण शर्मा,  मुख्य सचिव आर पी मंडल, संचालक शिक्षा पी दयानंद से मुलाकात का अवसर भी मिला।  

इन बच्चों के साथ सजग टीम के संदीप चोपडे, सहायक संचालक अजय नाथ परियोजना संचालक, मनोज वैद्य, कौस्तुब चटर्जी, रविकांत चारी,संजय शरण और स्मिता चोपड़े, प्राचार्य व शिक्षक, शाला विकास समिति के अध्यक्ष भी उपस्थित थे।


Date : 03-Dec-2019

कांग्रेस में 47 नामों पर सहमति, महापौर पद के दर्जनभर दावेदार पार्षद टिकट के लिए एड़ी चोटी का डोर लगा रहे, विधायक साहू लम्बी बैठक लेकर रायपुर गए, बुधवार को सूची जारी होने की संभावना 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 3 दिसम्बर।
नगर निगम चुनाव के 70 वार्डों में से कांग्रेस ने चुनाव प्रभारी विधायक धनेन्द्र साहू की मौजूदगी में भारी गहमा-गहमी के बीच हुई बैठक के बाद 47 नाम फाइनल कर दिये गए हैं लेकिन इसकी घोषणा शेष सीटों पर सहमति बन जाने के बाद ही की जाएगी। ज्यादातर सीटों पर महापौर के दावेदारों के बीच अंतिम निर्णय लेने में दिक्कत हो रही है। रायपुर में इसके लिए बैठक चल रही है जिसके बाद चार दिसम्बर को नाम फाइनल हो सकता है। 

अप्रत्यक्ष प्रणाली से नगरीय निकाय अध्यक्षों व महापौर का चुनाव का कार्यक्रम निर्धारित करने के बाद पार्षद पद के दावेदारों के बीच परिदृश्य ही बदल गया है। पहले पार्षद पद पर उन सक्रिय कार्यकर्ताओं को टिकट देने की योजना बनाई गई थी जिन्होंने विधानसभा और लोकसभा चुनावों में अपने क्षेत्र में अच्छा काम किया लेकिन अकेले कांग्रेस के बीच से ही दर्जन भर नाम सामने आ चुके जो पार्षद की टिकट चाहते हैं। इनकी निगाह पार्षदों के बीच से चुने जाने वाले महापौर की कुर्सी पर है। 

सोमवार को बिलासपुर के प्रभारी विधायक धनेन्द्र साहू ने शहर के एक होटल में देर रात चली रायशुमारी के बाद जिन 47 नामों पर सहमति बनी। इनमें वार्ड 52 से जिला कांग्रेस अध्यक्ष का नाम फाइनल हो गया तो शहर कांग्रेस अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर का नाम वार्ड 33 से फाइनल होते  रह गया। बोलर के अलावा यहां से विधायक शैलेष पांडेय के करीब शैलेन्द्र जायसवाल भी दावेदार हैं। 

बोलर प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव के करीबी हैं तो जायसवाल विधायक शैलेष पांडेय के। यहीं से वरिष्ठ कांग्रेस नेता विजय पांडेय भी दावेदार हैं। ये सभी नाम ऐसे हैं जिन्हें जीतने पर महापौर पद पर लडऩे का मौका मिल सकता है। पिछली बार कांग्रेस से सीधे चुनाव में रामशरण यादव खड़े हुए थे। 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नजदीकी प्रमोद नायक भी वार्ड 24 से दावेदार हैं, जहां से यादव ने टिकट मांगी है। पूर्व महापौर राजेश पांडेय ने वार्ड क्रमांक 30 से टिकट मांगी है, जहां से प्रदेश कांग्रेस सचिव महेश दुबे भी दावेदार हैं। ये दोनों भी महापौर पद के दावेदार हैं। वार्ड 29 से बीडीए के पूर्व उपाध्यक्ष शेख गफ्फार का नाम फाइनल हो चुका है, जिन्होंने भी महापौर पद की दावेदारी कर रखी है। चार बार पार्षद रह चुकीं शहजादी कुरैशी को वार्ड 31 से लडऩा है लेकिन यहां से तैय्यब हुसैन ने भी दावेदारी कर रखी है। वार्ड क्रमांक 27 से रविन्द्र सिंह और राकेश शर्मा के बीच नाम तय होना है। ये दोनों भी महापौर पद की दावेदारी कर सकते हैं। वार्ड 57 में डॉ. महंत के करीबी बसंत शर्मा व अटल श्रीवास्तव के करीबी सुधांशु मिश्रा के बीच नाम फाइनल किया जाना है। बसंत शर्मा भी जीतने पर महापौर पद की दावेदारी कर सकते हैं।

जिन अन्य प्रमुख वार्डों में सहमति नहीं न पाई है उनमें वार्ड 44 में सैय्यद निहाल और राकेश सिंह, वार्ड 56 में शिल्पी तिवारी और आशा पांडेय, वार्ड 34 में ओम कश्यप और विनय कश्यप, वार्ड 50 में संजय जायसवाल व अरुण के बीच नाम फाइनल किये जाने की संभावना है। 

 


Date : 03-Dec-2019

प्रमोशन में आरक्षण देने में राज्य सरकार ने माना सुप्रीम कोर्ट-हाईकोर्ट की गाइडलाइन का पालन करने में अफसरों ने भूल की

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 3 दिसम्बर।
प्रमोशन में आरक्षण देने के मामले में राज्य सरकार ने हाईकोर्ट में स्वीकार किया है कि इस नियम में सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट की गाइडलाइन का पालन करने में अधिकारियों ने भूल की है। राज्य सरकार को इस बारे में अब 9 दिसंबर को नया जवाब दाखिल करना है।

उल्लेखनीय है कि सरकारी कर्मचारियों को प्रमोशन में आरक्षण देने की अधिसूचना 22 अक्टूबर को राज्य शासन ने जारी की थी। इसके तहत अनुसूचित जाति का आरक्षण बढ़ाकर 13 प्रतिशत तथा अनुसूचित जन-जाति का आरक्षण 32 प्रतिशत कर दिया गया है। इसकी वैधानिकता को विष्णु तिवारी व गोकुल सोनी ने अधिवक्ता प्रफुल्ल भारत व विवेक शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में चुनौती दी है। 

याचिका पर सुनवाई चीफ जस्टिस पी. आर. रामचंद्र मेनन और जस्टिस पी.पी. साहू की डबल बेंच में हुई। याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार ने पूर्व आदेशों तथा शीर्ष न्यायालयों के निर्देशों का पालन किये बिना यह अधिसूचना जारी की है। सुप्रीम कोर्ट में सात जजों की पीठ ने कहा है कि क्रिमीलेयर को प्रमोशन में आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने भी फरवरी 2019 में इस आशय का आदेश दिया है। 

हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा उपस्थित थे। उन्होंने स्वीकार किया कि नियम बनाते समय अधिकारियों ने दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया है। 

 


Date : 02-Dec-2019

संस्कृति के साथ शिक्षा और रोजगार की भाषा भी है छत्तीसगढ़ी, डॉ. सी वी रामन विवि में मनाया गया छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बिलासपुर, 2 दिसम्बर।
डॉक्टर सी वी रामन विश्वविद्यालय में रविंद्र नाथ टैगोर विश्व कला एवं संस्कृति केंद्र के द्वारा छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर राजभाषा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. विनय पाठक ने कहा कि छत्तीसगढ़ी केवल लोक-कला, संस्कृति और साहित्य की भाषा ही नहीं बल्कि शिक्षा और रोजगार की भी भाषा है। आज छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार देने में यह सक्षम भाषा है, क्योंकि विभिन्न स्तर के पाठ्यक्रमों और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में छत्तीसगढ़ी के प्रश्न पूछे जा रहे हैं। डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय भी छत्तीसगढ़ी को लेकर बहुत बेहतर कार्य कर रहा है। 

इस अवसर पर उपस्थित समन्वय साहित्य समिति के अध्यक्ष डॉ राघवेंद्र दुबे ने कहा कि डॉक्टर सी वी रामन विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी का प्रमुख केंद्र बना हुआ है । यहां पाठ्यक्रम के साथ-साथ छत्तीसगढ़ी आयोजन भी प्रमुखता से किए जा रहे हैं।  भविष्य में डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी भाषा संस्कृति साहित्य के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए बड़े केंद्र के रूप में उभरेगा। 

शिक्षक डॉ बलदाउ प्रसाद निर्मलकर ने कहा कि हमें हर क्षेत्र में, हर रूप में , हर परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ी को स्वीकार करना चाहिए और इस पर कार्य भी करना चाहिए। 

कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रवि प्रकाश दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ी भाषा का सहज और सरल है, भाषा बहुत ही मीठी और आसानी से समझ आने वाली है। इस भाषा पर हमें गर्व होना चाहिए। विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी के सभी क्षेत्रों में रिचार्ज पर कार्य कर रहा है । कार्यक्रम में उपस्थित विश्वविद्यालय के कुलसचिव गौरव शुक्ला ने कहा कि सीवीआरयू छत्तीसगढ़ी भाषा के साथ, छत्तीसगढ़ी कला-संस्कृति साहित्य के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए संकल्पित है । इसी क्रम में प्रति वर्ष रामन लोक कला महोत्सव विश्वविद्यालय में आयोजित किया जाता है।  जिसमें पूरे प्रदेश के कलाकारों को आमंत्रित किया जाता है, जो अपने कार्यक्रम की प्रस्तुति देते हैं। इस वर्ष भी यह आयोजन किया जाएगा । इसके साथ-साथ रेडियो रमन में भी छत्तीसगढ़ी के कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं । साथ ही अंचल के कलाकारों की रिकॉर्डिंग कराकर उन्हें एक मंच प्रदान किया जाता है। शुक्ला ने बताया कि युवा इस विषय से। जुड़ भी रहे हैं। कार्यक्रम में डॉ वेद प्रकाश मिश्रा,  आयोजन की समन्वयक काजल मोइत्रा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन त्रिलोकी सिंह क्षत्री ने किया। 
कार्यक्रम में बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के विभागाध्यक्ष प्राध्यापक अधिकारी और विद्यार्थी उपस्थित थे। राजभाषा दिवस के अवसर पर डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रंगारंग प्रस्तुति भी दी।


Date : 02-Dec-2019

गाय चराने गई नाबालिग से जंगल में गैंगरेप, 2 गिरफ्तार 
बिलासपुर में 3 दिन में दूसरी घटना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 2 दिसम्बर।
जिले में तीन दिन के भीतर गैंगरेप की दूसरी घटना सामने आई है। इस बार गाय चराने गई नाबालिग के साथ जंगल में दो आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया। किशोरी के बेहोश होने पर उसे खेत में ही छोड़कर आरोपी फरार हो गये थे। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

गौरेला की एडिशनल एसपी प्रतिभा तिवारी ने बताया कि पास के गांव की एक 16 वर्षीय किशोरी रविवार की सुबह के समय गाय चराने के लिए जंगल की ओर गई थी। शाम तक जब वह नहीं पहुंची तो उसकी नानी उसे खोजने के लिए निकली। उसे बेहोशी की हालत में एक खेत के मेड़ पर छोड़ दिया गया था। किशोरी को परिजन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गौरेला लेकर पहुंचे। 

होश आने पर किशोरी ने बताया कि दोपहर करीब दो बजे शराब की नशे में धुत दो आरोपी उसके पास पहुंचे। दोनों उसे जबरदस्ती उठाकर एक खेत के पीछे ले गए, उसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने घटना की रिपोर्ट दर्ज करने बाद आरोपी की तलाश की और छानबीन के बाद राम सिंह मरकाम (28 वर्ष) तथा मनोज वाकरे (20 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया।  दो दिन पहले बिलासपुर में रायपुर की एक युवती के साथ तीन लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था। इस मामले में भी आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। 


Date : 02-Dec-2019

संस्कृति के साथ शिक्षा और रोजगार की भाषा भी है छत्तीसगढ़ी, डॉ. सी वी रामन विवि में मनाया गया छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बिलासपुर, 2 दिसम्बर।
डॉक्टर सी वी रामन विश्वविद्यालय में रविंद्र नाथ टैगोर विश्व कला एवं संस्कृति केंद्र के द्वारा छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर राजभाषा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. विनय पाठक ने कहा कि छत्तीसगढ़ी केवल लोक-कला, संस्कृति और साहित्य की भाषा ही नहीं बल्कि शिक्षा और रोजगार की भी भाषा है। आज छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार देने में यह सक्षम भाषा है, क्योंकि विभिन्न स्तर के पाठ्यक्रमों और विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में छत्तीसगढ़ी के प्रश्न पूछे जा रहे हैं। डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय भी छत्तीसगढ़ी को लेकर बहुत बेहतर कार्य कर रहा है। 

इस अवसर पर उपस्थित समन्वय साहित्य समिति के अध्यक्ष डॉ राघवेंद्र दुबे ने कहा कि डॉक्टर सी वी रामन विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी का प्रमुख केंद्र बना हुआ है । यहां पाठ्यक्रम के साथ-साथ छत्तीसगढ़ी आयोजन भी प्रमुखता से किए जा रहे हैं।  भविष्य में डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी भाषा संस्कृति साहित्य के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए बड़े केंद्र के रूप में उभरेगा। 

शिक्षक डॉ बलदाउ प्रसाद निर्मलकर ने कहा कि हमें हर क्षेत्र में, हर रूप में , हर परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ी को स्वीकार करना चाहिए और इस पर कार्य भी करना चाहिए। 
कार्यक्रम में अध्यक्षता कर रहे डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रवि प्रकाश दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ी भाषा का सहज और सरल है, भाषा बहुत ही मीठी और आसानी से समझ आने वाली है। इस भाषा पर हमें गर्व होना चाहिए। विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ी के सभी क्षेत्रों में रिचार्ज पर कार्य कर रहा है । कार्यक्रम में उपस्थित विश्वविद्यालय के कुलसचिव गौरव शुक्ला ने कहा कि सीवीआरयू छत्तीसगढ़ी भाषा के साथ, छत्तीसगढ़ी कला-संस्कृति साहित्य के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए संकल्पित है । इसी क्रम में प्रति वर्ष रामन लोक कला महोत्सव विश्वविद्यालय में आयोजित किया जाता है।  जिसमें पूरे प्रदेश के कलाकारों को आमंत्रित किया जाता है, जो अपने कार्यक्रम की प्रस्तुति देते हैं। इस वर्ष भी यह आयोजन किया जाएगा । इसके साथ-साथ रेडियो रमन में भी छत्तीसगढ़ी के कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं । साथ ही अंचल के कलाकारों की रिकॉर्डिंग कराकर उन्हें एक मंच प्रदान किया जाता है। शुक्ला ने बताया कि युवा इस विषय से। जुड़ भी रहे हैं। कार्यक्रम में डॉ वेद प्रकाश मिश्रा,  आयोजन की समन्वयक काजल मोइत्रा उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन त्रिलोकी सिंह क्षत्री ने किया। 

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के विभागाध्यक्ष प्राध्यापक अधिकारी और विद्यार्थी उपस्थित थे। राजभाषा दिवस के अवसर पर डॉ सी वी रामन विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने छत्तीसगढ़ी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रंगारंग प्रस्तुति भी दी।


Date : 01-Dec-2019

रायपुर की एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करने वाली युवती के साथ बिलासपुर में गैंगरेप का मामला सामने आया, पुलिस ने आरोपी के दोस्त व दो अन्य युवकों को देर रात गिरफ्तार किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 1 दिसम्बर।
रायपुर की एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करने वाली युवती के साथ बिलासपुर में गैंगरेप का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी उसके दोस्त व दो अन्य युवकों को देर रात गिरफ्तार कर लिया। 

मिली जानकारी के अनुसार 22 साल की यह युवती मूलत: सरगुजा की रहने वाली है। वह रायपुर के एक कॉल सेंटर में काम करती है। उसकी पहचान रायपुर के तेलीबांधा निवासी युवक मासूम बेग से पहचान हुई। बाद में दोनों के बीच दोस्ती हो गई। मासूम बिलासपुर आया था। उससे मिलने युवती भी शुक्रवार को बिलासपुर पहुंची। 

सरकंडा के पुराने पुल के पास से मामूम ने पीडि़ता को अपनी बाइक पर बिठाया और सरकंडा के अटल आवास में ले गया। यहां पर मासूम ने अपने दो साथियों को शशिकांत वैष्णव और चंद्रप्रकाश को बुला लिया। सभी शाम तक वहां बीयर और हुक्का पीते रहे। इस बीच आरोपी मासूम बेग बहाने करके कमरे से बाहर निकल गया। युवती ने इस पर आपत्ति भी जताई। दोनों युवकों से युवती ने कहा कि वह उसे उसकी सहेली के पास 27 खोली छोड़ दें। रात करीब 9 बजे दोनों युवक सहेली के घर छोडऩे के नाम पर उसे स्कूटी में लेकर निकले पर 27खोली जाने की बजाय उसे वे रतनपुर रोड के पास कोनी ले गए। उन्होंने वहां युवती से मारपीट की और उसके हाथ को ब्लेड से काट भी दिया। दोनों युवकों ने युवती को धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। दोनों आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद उसे वहीं छोड़कर फरार हो गये। युवती ने अपनी सहेली को किसी तरह घटना की जानकारी दी। सहेली उसके पास पहुंची और लेकर रात करीब 11 बजे महिला थाना पहुंची। 

एसपी प्रशांत अग्रवाल घटना की गंभीरता को देखते हुए खुद महिला थाना पहुंचे। उन्होंने एडिशनल एसपी साबित लाल चौहान, टीआई जे.पी.गुप्ता सहित अन्य पुलिस अधिकारियों की टीम को आरोपियों की पतासाजी में लगाया। पुलिस ने दो आरोपियों शशिकांत और चंद्रप्रकाश को नूतन चौक और मुक्तिधाम चौक के पास से गिरफ्तार किया। मुख्य आरोपी मासूम अपने घर की छत पर छिपा हुआ था, उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। तीनों के खिलाफ धारा 376 डी, 324 और 506 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। 

 


Date : 01-Dec-2019

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू, कलेक्टर ने सेंदरी, बिरकोना, सरकंडा समितियों का किया निरीक्षण

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 1 दिसम्बर।
जिले की 130 सहकारी समितियों में आज एक दिसम्बर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी प्रारंभ किया गया। जिले में 4.66 लाख 840 मीट्रिक टन धान आने की संभावना है। कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने आज सेवा सहकारी समिति सेंदरी, बिरकोना और सरकंडा में धान खरीदी की व्यवस्था का निरीक्षण किया और प्रबंधकों और आपरेटरों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। 

कलेक्टर डॉ. अलंग ने सेवा सहकारी समिति सेंदरी में उपलब्ध बारदानों का निरीक्षण किया। बारदाने मार्कफेड, पीडीएस और मिलर्स से  प्राप्त किये गये हैं। उन्होंने खरीदी केन्द्र में रखी गई पंजी का निरीक्षण किया। इस समिति में 6 गांव आते हैं। समिति में 876 किसान पंजीकृत हैं। उनके धान का रकबा 1028 हेक्टेयर है। समिति प्रबंधक ने बताया कि गत वर्ष के मुकाबले इस बार धान का रकबा 40 हेक्टेयर बढ़ा है। कलेक्टर ने धान खरीदी में डिफाल्टर और नये किसानों से धान खरीदी  के समय विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश समिति प्रबंधकों को दिया। प्रत्येक समिति में मानक धान का नमूना रखे जाने हेतु निर्देश भी उन्होंने दिया। 

इस वर्ष यह व्यवस्था की गई है कि समिति में आने वाले धान की ढेरी लगाई जायेगी, फिर उसका तौल किया जायेगा। कलेक्टर ने नमीमापक यंत्र लगाकर धान की नमी को नापा। उन्होंने सेंदरी के किसान राजेन्द्र मिश्रा के धान को तौलकर धान खरीदी का शुभारंभ किया। 

ग्राम सेंदरी की सेवा सहकारी समिति को आदर्श खरीदी केन्द्र के रूप में तैयार किया गया है। यहां शौचालय, फर्स्ट एड बॉक्स और छायादार स्थान बनाये गये हैं जिससे धान बेचने के लिए पहुंचने वाले किसानों को सुविधा मिले। खरीदी केन्द्र में वृक्षारोपण भी किया गया है। 

कलेक्टर ने किसानों के बीच बैठकर बातचीत की और उनकी स्थानीय समस्याओं का समाधान भी किया, जिसपर किसानों ने प्रसन्नता जताई। 

कलेक्टर ने सेवा सहकारी समिति बिरकोना का भी निरीक्षण किया। इस समिति में इस वर्ष 734 किसानों ने पंजीयन कराया है। यह संख्या गत वर्ष के मुकाबले 80 अधिक है। धान का रकबा भी 69 हेक्टेयर बढ़ा है। कलेक्टर ने धान खरीदी की पंजी और कम्प्यूटर में दर्ज आंकड़ों का निरीक्षण किया और खरीदी कार्य सतर्कता के साथ करने का निर्देश दिया। उन्होंने बिरकोना समिति में ड्रेनेज की व्यवस्था को ठीक करने के लिए कहा। यहां पर भी उन्होंने तौल के लिए रखे गये धान का निरीक्षण किया और किसानों से बातचीत की।  कलेक्टर डॉ. अलंग ने सेवा सहकारी समिति सरकंडा में भी धान खरीदी का निरीक्षण किया। 
निरीक्षण के दौरान जिला विपणन अधिकारी सुश्री शोभना तिवारी, उप-पंजीयक सहकारी सेवायें श्रीमती पांडेय, खाद्य नियंत्रक श्री एस. मसीह, सम्बन्धित समितियों के प्रबंधक, सदस्य आदि उपस्थित थे। 

 


Date : 01-Dec-2019

चुनाव अभियान समिति में बिलासपुर विधायक शैलेष, अटल का नाम नहीं

छत्तीसगढ़ संवाददाता

बिलासपुर, 1 दिसम्बर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी की चुनाव अभियान समिति में बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय को शामिल किया गया है। इस समिति में मुख्यमंत्री के करीबी माने जाने वाले प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव का नाम नहीं है। एक अन्य विधायक रश्मि सिंह ठाकुर भी समिति में नहीं ली गई हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नगरीय निकाय चुनावों के लिए चुनाव अभियान समिति गठित की है, जिसमें पदाधिकारियों, मंत्री और विधायकों सहित 45 लोग शामिल हैं। यह समिति टिकट वितरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगी। इस सूची में बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय का ही जिले से शामिल है। इसके अलावा पूर्व सांसद करुणा शुक्ला भी रखी गई हैं।

सूची में पी.एल.पुनिया, मोहन मरकाम, भूपेश बघेल, डॉ. चंदन यादव, मोतीलाल वोरा, टी.एस. सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू, रविन्द्र चौबे, डॉ. शिवकुमार डहरिया, मो. अकबर, प्रेमसाय सिंह, कवासी लखमा, उमेश पटेल, अमर जीत भगत, जयसिंह अग्रवाल, गुरु रुद्र कुमार, अनिला भेडिय़ा, छाया वर्मा, दीपक बैज, ज्योत्सना महंत, अरविन्द नेताम, पी.आर.खूंटे, धनेन्द्र साहू, सत्यनारायण शर्मा, कुलदीप जुनेजा, देवेन्द्र यादव, अरुण वोरा, विकास उपाध्याय, रेखचंद जैन, डॉ. विनय जायसवाल, प्रकाश नायक, रामगोपाल अग्रवाल, राजेन्द्र तिवारी, रमेश वर्ल्यानी, गुरुमुख सिंह होरा, गिरीश देवांगन, राजेश तिवारी, शैलेष नितिन त्रिवेदी, आर. पी. सिंह, फूलोदेवी नेताम, अरुण ताम्रकार, पूर्णचंद्र पाढ़ी और आकाश शर्मा शामिल हैं।

प्रदेश कांग्रेस ने चुनाव घोषणा पत्र समिति भी बनाई है, जिसमें शहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र सिंह ठाकुर को रखा गया है। बिलासपुर के चुनाव प्रभारी धनेन्द्र साहू बनाये गये हैं। कोरबा के लिए अटल श्रीवास्तव को, जांजगीर विजय केशरवानी, मुंगेली बैजनाथ चंद्राकर को प्रभारी बनाने की घोषणा पहले की जा चुकी है।