छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

Posted Date : 25-Apr-2019
  • डीकेएस अस्पताल में खरीदी-भर्ती में गड़बड़ी के आरोप है

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर, 25 अप्रैल। डीकेएस अस्पताल रायपुर के अधीक्षक रहे डॉ. पुनीत गुप्ता की अग्रिम जमानत याचिका आज हाईकोर्ट ने मंजूर कर ली। कल इस मामले में सुनवाई के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।  

    डॉ. गुप्ता के खिलाफ 15 मार्च को गोलबाजार थाना रायपुर में धारा 420, 409, 467, 468 आदि के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी। तब से पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। बुधवार को हाईकोर्ट में जस्टिस अरविन्द सिंह चंदेल की बेंच ने उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई कर फैसला सुरक्षित रखा था। 

    डॉ. पुनित गुप्ता पर डीकेएस अस्पताल में उपकरण खरीदी के लिए जारी टेंडर में 50 करोड़ रुपये की गड़बड़ी का आरोप है। नियुक्तियों में भी फर्जीवाड़ा के आरोप पुलिस ने लगाए हैं। बचाव पक्ष की ओर कोर्ट में कहा गया कि उनके खिलाफ राजनीतिक द्वेषवश कार्रवाई की जा रही है। टेंडर और भर्ती के लिए समितियों का गठन किया था जिसने निर्णय लिया था, लेकिन दुर्भावनावश केवल उनके खिलाफ ही एफआईआर दर्ज की गई। जिस जांच रिपोर्ट के आधार पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है वह भी प्रमाणिक नहीं है। 

    मालूम हो कि डॉ. पुनीत गुप्ता प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद हैं। 

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बिलासपुर, 25 अप्रैल। पांच साल के मासूम विराट सराफ के अपहरण को लेकर पुलिस को अब तक कोई सुराग नहीं लगा है। हाईकोर्ट ने भी इस मामले में पुलिस की विफलता को लेकर टिप्पणी की है। अब तक अपहरण करने वालों ने फिरौती आदि के लिए फोन भी किसी को नहीं किया है। पूरे शहर में इस घटना को लेकर चिंता देखी जा रही है। 

    बीते 20 अप्रैल को शाम करीब सात बजे कश्यप कॉलोनी करबला रोड स्थित घर के पास से बर्तन व्यवसायी विवेक के बेटे विराट का तब अपहरण कर लिया गया था, जब वह दोस्तों के साथ खेल रहा था। एक वैगन आर में पहुंचे चार लोगों ने विराट को नाम लेकर पूछा और अपने साथ ले गये। मतदान की तैयारी में व्यस्त पुलिस प्रशासन में इस घटना को लेकर हडक़म्प मच गया और चुनाव के लिए की गई चौक-चौराहों में बरती जा रही मुस्तैदी की भी पोल खुल गई। पुलिस को सिर्फ 200 मीटर आगे तक का लोकेशन मिला, जिसमें वाहन को पुराना बस स्टैंड से आगे की ओर बढ़ते देखा गया था। सीसीटीवी फुटेज में किसी की भी पहचान नहीं हो रही है। बाद में यह भी साफ हुआ कि तारबाहर अंडर ब्रिज के नीचे से वाहन गुजरा है। 

    पुलिस ने कल देर रात तक सिरगिट्टी, तारबाहर और इंडस्ट्रियल एरिया में विराट की पतासाजी की कोशिश की लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। इस मामले में छानबीन के लिए दूसरे जिलों से भी पुलिस अधिकारी भी बुलाये गये हैं। 

    हाईकोर्ट के एक्टिंग चीफ जस्टिस प्रशान्त मिश्रा और जस्टिस पीपी साहू की बेंच में एक मामले में रिपोर्ट पेश करने के लिए पुलिस ने चुनाव को कारण बताते हुए समय देने की याचिका लगाई थी। 
    जस्टिस मिश्रा ने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था की स्थिति चिंताजनक है। अपहरण और हत्याएं हो रही हैं। 

    हैरानी यह भी हो रही है कि अभी तक अपहरणकर्ताओं की ओर से फिरौती या किसी तरह की ब्लैकमेलिंग के लिए कोई फोन परिजन के पास नहीं आया है। बर्तन के अलावा विवेक सराफ का कबाड़ का काम भी है। अपहरण के पीछे व्यवसायिक प्रतिद्वन्द्विता या लेन-देन के विवाद के पहलू पर पुलिस की जांच चल रही है। 

    पूरे शहर में इस घटना को लेकर चिंता व्यक्त की जा रही है। विशेषकर गर्मी के दिनों में स्कूलों में अवकाश चल रहा है, तब खेलने-कूदने घर से निकलने वाले बच्चों की सुरक्षा को लेकर अभिभावक चिंतित हैं। व्हाट्स अप ग्रुपों में विराट की फोटो शेयर की जा रही है और अपहर्ताओं से उसे सकुशल छोड़ देने की अपील की जा रही है। कई संगठन मंदिरों में पूजा-पाठ करने के लिए भी एकत्र हो रहे हैं। 

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • बिलासपुर, 25 अप्रैल । नगर विधायक शैलेश पांडे पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली में प्रचार के लिए जाएंगे। इसके लिए उन्हें रायबरेली कांग्रेस संगठन से आमंत्रण आया है। इसके बाद प्रदेश प्रभारी पी एल पुनिया और प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी है।                        

    पांडे का रायबरेली में जन्म हुआ है इसलिए उनका वहां से विशेष जुड़ाव है। पांडे के साथ उनकी चुनाव संचालन की पूरी टीम आज रवाना हुई। उनके साथ प्रदेश युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष आशीष मोनू अवस्थी, बिट्टू वाजपेई ,शाश्वत  तिवारी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी भी गए हैं।

     

  •  

Posted Date : 25-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता

    बिलासपुर, 25 अप्रैल। हड्डी टूटने का गलत ऑपरेशन करने पर उपभोक्ता फोरम ने डॉ. प्रकाश लाडिकर के खिलाफ पौने 9 लाख रुपया हर्जाना पटाने का आदेश पारित किया है। 
    जानकारी के मुताबिक महमंद निवासी गीता पॉल बाइक दुर्घटना में 12 मई 2016 को घायल हो गईं। उन्हें इलाज के लिए डॉ. लाडिकर के अस्पताल में लाया गया। डॉक्टर ने बताया कि उनके लिए रॉड बाहर से मंगाने होंगे। 16 मई 2016 को ऑपरेशन हुआ। दूसरे दिन डॉक्टर ने बताया कि कम्पाउन्डर की गलती से स्क्रू गलत लग गई है, फिर से ऑपरेशन कर स्क्रू ठीक करना पड़ेगा। इसके बाद डॉक्टर ने दुबारा ऑपरेशन किया। इसके बाद भी जब तकलीफ बनी रही तो वे अपोलो हास्पिटल में जांच कराने गये। वहां बताया गया कि डॉ. लाडिकर ने गलत इलाज किया है। उन्हें करीब 2.5 लाख रुपये खर्च कर फिर से ऑपरेशन कराना होगा। जबकि डॉ. लाडिकर ने 1.34 लाख रुपये लिये थे। इसके बाद पीडि़ता ने अन्य डॉक्टरों को भी रिपोर्ट दिखाई और जांच कराई, जिसमें पाया गया कि लाडिकर नर्सिंग होम में उसका गलत ऑपरेशन किया गया है। 

    डॉ. लाडिकर के पास पीडि़ता शिकायत लेकर पहुंची। पीडि़ता ने कोर्ट को बताया कि उससे वहां दुर्व्यवहार किया गया और इलाज की राशि भी वापस नहीं की। 
    जिला उपभोक्ता फोरम ने इस मामले में सुनवाई करते हुए डॉ. लाडिकर और न्यू इंडिया इंश्योरेंस कम्पनी को संयुक्त रूप से इलाज का खर्च 4.65 लाख, मानसिक क्षत्तिपूर्ति के 4 लाख और वाद व्यय तीन हजार ब्याज सहित पटाने का आदेश पारित किया है। 

     

  •  

Posted Date : 24-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता 
    करगीरोड(कोटा), 24 अप्रैल।
    लोकसभा 2019 के छत्तीसगढ़ के तीसरे चरण में हुए बिलासपुर लोकसभा के चुनाव में सुबह से ही मतदाताओं में काफी उत्साह देखा गया, शहरी क्षेत्र को अगर छोड़ दे तो ग्रामीण इलाकों में बंपर मतदान होने की सूचना प्राप्त हुई है, खासकर महिलाओं ने कड़ी धूप में अपने अपने घरों से निकलकर लाइन में लगकर पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा मतदान करने उत्साहित दिखी।  

    सुबह से ही कोटा नगर पंचायत के 14 मतदान केंद्रों में मतदाताओं ने मतदान करने में जबरदस्त उत्साह दिखाया मतदान क्रमांक 188/189 182/181 में सुबह से ही मतदान करने के लिए महिलाओं बुजुर्गों और युवाओं में काफी उत्साह दिखा बाकी अन्य मतदान केंद्रों में शुरुआत में धीमी मतदान दिखाई पड़ी दोपहर होते-होते मतदान केंद्रों में भीड़ दिखाई पड़ी 3:00 बजे तक नगर पंचायत कोटा के मतदान केंद्रों में 45 से 50त्न मतदान हो चुका था, शाम 5 बजे के बाद लगभग 65 से 70त्न प्रतिशत मतदान होने की सूचना प्राप्त हुई, 6:00 बजे के बाद चुनाव-आयोग द्वारा अपने वेबसाइट में कोटा विधानसभा में 63 फीसदी मतदान होने की पुष्टि कोटा नगर के 15 वार्डों के 14 मतदान केंद्रों में कुल 13769 मतदाताओं में से 9107 मतदाताओं ने अपने मत का इस्तेमाल किया, जिसमे की 74 डाकमत का भी उपयोग किया गया था।

    मतदान के दौरान कोटा विधानसभा के मतदान केंद्र खरगा में ग्रामीणों द्वारा बुनियादी समस्याओं को लेकर मतदान का बहिष्कार कर दिया, बहिष्कार की सूचना प्राप्त, होते ही प्रशासन अलर्ट हुआ मौके पर जनपद पंचायत कोटा सीईओ राजेन्द्र पांडे सहित पुलिस अधिकारी खरगा मतदान केंद्र पहुंचकर ग्रामीणों को समझाइश दी काफी देर मान-मनुव्वल के बाद फिर से मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। दोपहर 12:00 बजे तक एक भी वोट इस मतदान केंद्र में नहीं डाला गया था, उसके बाद ग्रामीणों ने मतदान करना शुरू किया।   मतदाताओं द्वारा भी सेल्फी लेने की होड़ भी मची रही। 

     मतदान क्रमांक-211 टिकरीपारा में दिव्यांग मतदाताओं के लिए आदर्श मतदान केंद्र भी बनाए गए थे जहां पर के कर्मचारी दिव्यांग थे, पर सामान्य मतदाताओं के साथ दिव्यांग मतदाता भी मतदान करने पहुंचे थे। मतदान करने के बाद सेल्फी की होड़ में अधिकारीगण भी पीछे नहीं रहे, मतदान करने और मतदाताओं के उत्साहवर्धन करने के लिए इसी कड़ी में एसडीओपी कोटा अभिषेक नारायण सिंह ने ड्यूटी के दौरान ही मतदान करने के बाद सेल्फी लेते हुए सोशल मीडिया पर अपनी फोटो पोस्ट किया, इसके बाद एसडीएम कोटा आशुतोष चतुर्वेदी ने भी मतदान करने के बाद सेल्फी लेकर सोशल मीडिया में पोस्ट किया।

     

  •  

Posted Date : 22-Apr-2019
  • करगीरोड( कोटा ),  22 अप्रैल। वार्ड क्रमांक 11 में गौरीशंकर सिद्ध हनुमान मंदिर में छप्पन भोग का प्रसाद के साथ पूजा-पाठ, भजन-कीर्तन एवं दोपहर 12 बजे भगवान का जन्म उत्सव मनाया गया। दिन भर पूजा पाठ करने के बाद शाम 6.30 बजे से विशाल भंडारा का आयोजन किया गया। 

    मंदिर में हनुमान जी की दुर्लभ मूर्ति स्थापित है जो कि अहिरावण को पैर से दबाए हुए है। यह मंदिर लगभग 120 वर्ष पुराना है। यहां दूर-दूर से श्रद्धालु अपनी मनोकामना लेकर आते हैं। विशाल भंडारे का आयोजन करते 12 वर्ष हो चुका है। 

    कोटा नगर में भी हनुमान जयंती पर पंचमुखी हनुमान मंदिर मेन रोड हनुमान मंदिर, रेलवे स्टेशन हनुमान मंदिर, बस स्टैंड हनुमान मंदिर, पड़ाव पारा हनुमान मंदिर, कोटासागर हनुमान मंदिर में भजन कीर्तन, हनुमान चालीसा का पाठ, सुंदरकांड का पाठ, जगह-जगह भंडारा एवं प्रसाद का वितरण किया गया। प्रसाद एवं भंडारे का सिलसिला सुबह से लेकर रात्रि 12 बजे चलता रहा।

     

     

  •  

Posted Date : 21-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर, 21 अप्रैल। बर्तन व्यापारी विवेक शराब के 6 साल के बेटे विराट के अपहरण मामले अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है।  वैसे पुलिस इसे चुनौती मान  खोजबीन में लगी हुई है। विवेक सराफ और उनके परिवार के लोगों से भी बात की गई वे अभी ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते। वे अपने स्तर पर भी इस मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं।
     मालूम हो कि शनिवार की शाम 6.00 बजे ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल के 6 साल के छात्र विराट सराफ  का अपहरण कर लिया गया था। वह अपने घर के सामने भाजपा कार्यालय के पास स्थित छोटे से मैदान में दूसरे बच्चों के साथ कबड्डी  खेल रहा था। इसी दौरान एक मारुति वैगन आर गाड़ी में चार लोग बैठकर पहुंचे। विराट से उन लोगों ने नाम पता पूछा और अपनी गाड़ी में बिठाकर ले गए। क्या बात हुई इसके बारे में पुलिस को अंदाजा नहीं है लेकिन वह चुपचाप गाड़ी में बैठ गया था। उसके साथ खेल रही एक बच्ची ने विवेक के घर जाकर बेटे को कार में बिठाकर ले जाए जाने की जानकारी दी।
     इसके बाद हड़कंप मच गया। घटना के 20 घंटे बीत जाने के बाद भी बहुत ज्यादा सुराग पुलिस को नहीं लगा है। कश्यप कॉलोनी भाजपा कार्यालय के पास से भारत होजरी तक की 500 मीटर की दूरी तक सीसीटीवी कैमरे में कार का लोकेशन मिला है। लेकिन इसके बाद आगे कहां गाड़ी ले जाई गई इसके बारे में पुलिस को कुछ भी पता नहीं चल रहा है।
    एडिशनल एसपी ओंकार शर्मा का कहना है कि शहर के अन्य स्थानों पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरों की मदद से शहर के बाहर से निकलने वाले रास्तों की पड़ताल की जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि यह अपहरण सिर्फ फिरौती के लिए किया गया है ऐसा लगता है। विवेक सराफ के मौजूदा नौकरों और पुराने छोड़ चुके नौकरों से भी पूछताछ की गई है। पर उनसे कोई  विशेष जानकारी नहीं मिली। उन्होंने बताया कि  प्रदेश के थानों में इस घटना की  सूचना भेजी गई है और सतर्कता बढ़ती जा रही है।  उन्होंने दावा किया है कि बालक को सकुशल छुड़ा लिया जाएगा।
    विवेक सराफ और उनके परिवार के लोगों से भी बात की गई वे अभी ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते हैं। वे अपने स्तर पर भी इस मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं।

  •  

Posted Date : 20-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर/रायपुर, 20 अप्रैल।
    कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि केंद्र में सरकार बनने के बाद कांग्रेस गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक करेगी। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को  नुकसान पहुंचाए बिना देश के 5 करोड़ गरीब परिवारों को हर महीने 6 हजार रुपये देगी। 

    श्री गांधी ने सकरी में आयोजित सभा में कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले जो भी वादे किए गए थे, उसे पूरा किया गया। सरकार किसानों के साथ है और यह मैसेज देना चाहते थे कि किसानों के साथ अन्याय हुआ है और इसलिए कर्जा माफ किया गया। कांग्रेस जो कहती है वह करती है। 

    श्री गांधी ने कहा कि मोदीजी वर्ष-2014 में सत्ता में आए थे और हर व्यक्ति के एकाउंट में 15 लाख जमा करने का वादा किया था, लेकिन वादा करना तो दूर गरीबों का 35 हजार करोड़ रुपये मेहुल चौकसी, नीरव मोदी भाग गए। उन्होंने न्याय योजना का विस्तार से जिक्र किया और कहा कि काफी सोच विचार कर इसको घोषणा पत्र में शामिल किया गया है। 

    श्री मोदी के उस बयान पर कि न्याय योजना के लिए पैसा कहां से आएगा, पर पलटवार करते हुए श्री गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सरकार आने के बाद कर्जमाफी की गई, उसी तरह यह योजना भी लागू की जाएगी। बिना अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचाए यह योजना लागू की जाएगी और देश के सबसे गरीब 20 फीसदी परिवारों को हर महीने 6 हजार रुपये उनके एकाउंट में जमा किया जाएगा। श्री गांधी ने कहा कि न्याय योजना से लोगों को रोजगार भी मिलेगा। 

    उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक करेगी। श्री गांधी ने कहा कि केंद्र में सरकार बनने के बाद किसानों के लिए अलग से बजट बनाएंगे। उन्होंने कहा कि साल के शुरूआत में ही किसानों के लिए अलग से बजट पेश किए जाएंगे। श्री गांधी ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और कांग्रेस प्रत्याशियों को जीताने की अपील की। 

     

     

  •  

Posted Date : 20-Apr-2019
  • बिलासपुर केंद्रीय विश्वविद्यालय
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर, 20 अप्रैल ।
    गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में विधि छात्रा पर गलत नीयत रखने और छात्र को धमकाने के आरोपी सहायक प्राध्यापक पीसी दलई के खिलाफ कोनी पुलिस ने जुर्म दर्ज किया है।  छात्रा ने कोनी थाने में  प्रोफेसर प्रवेश दलई के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में छात्रा ने बताया कि सहायक प्राध्यापक प्रवेश फोन कर परीक्षा में फेल करने की धमकी देता था और व्यक्तिगत रूप से अकेले मिलने के लिए परेशान करता था। 

    कल ही छात्र संगठनों, पीडि़त छात्रा के परिजनों के कड़े विरोध पर विश्वविद्यालय ने सहायक प्राध्यापक प्रवेश दलई को तत्काल निलंबित कर दिया। कल छात्रों ने दलई द्वारा छात्र से गाली-गलौज और छात्रा को अपशब्द कहने का ऑडियो कुलसचिव को दिया।  कुलसचिव कार्रवाई करने की बजाय छात्रा और उनके माता-पिता को समझाने में लगे रहे। इसके बाद  छात्रा और  अभिभावक कार्रवाई की उम्मीद में यूनिवर्सिटी में बैठे रहे। रात साढ़े 9 बजे जब कांग्रेस, अभाविप और पूर्व छात्र नेता पहुंचे। हंगामा मचा तो कुलसचिव ने निलंबन की कार्रवाई की।  वहीं  दलई का साथ देने वाले संविदा प्राध्यापक नितिन टोप्पो और रोहित रंजन की भी  सेवा समाप्त कर दी गई है। साथ ही तीनों प्राध्यापकों को विश्वविद्यालय ने लॉ विभाग में घुसने, अटेंडेंस लेने, उत्तरपुस्तिका का मूल्यांकन करने पर रोक लगा दी है। 

    ज्ञात हो कि उक्त प्राध्यापक छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त पीसी दलई का बेटा है। जिसकी विश्वविद्यालय में नियुक्ति भी विवादों में रही। 

     

  •  

Posted Date : 19-Apr-2019
  • अमित जोगी की तीखी प्रतिक्रिया, कहा-गद्दार 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर, 18 अप्रैल।
    पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनकी पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ को गुरुवार को तेज झटका लगा। उनके पारिवारिक मित्र और बेहद करीबी अनिल टाह  कांग्रेस में शामिल हो गये। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने सोशल मीडिया पर इस घटना पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए उन्हें 'गद्दारÓ कहा है। टाह ने इस पर संयत प्रतिक्रिया दी है। 
    चुनाव प्रचार के आखिरी दौर में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के सबसे करीबी अनिल टाह ने भी उनका साथ छोड़ दिया। बीते तीन दिनों से चल रही चर्चाओं पर विराम तब लगा जब उन्होंने बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम लिम्हा में मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के समक्ष कांग्रेस में प्रवेश कर लिया। टाह का जोगी से केवल राजनीतिक नहीं बल्कि पारिवारिक रिश्ता भी है। जोगी जहां-जहां गये, टाह उनके साथ रहे। जोगी की पार्टी के संस्थापक सदस्यों में टाह भी एक हैं। उनके साथ स्थानीय नेता दिलीप मिरी भी कांग्रेस में लौट गये। जोगी कांग्रेस के जिला अध्यक्ष ज्वाला प्रसाद चतुर्वेदी भी कांग्रेस के प्रचार में लगे हैं।

    अनिल टाह ने पिछला चुनाव बेलतरा से जोगी की पार्टी से लड़ा था और माना गया कि उन्होंने कांग्रेस को बहुत नुकसान पहुंचाया, जिसके चलते भाजपा प्रत्याशी रजनीश सिंह को जीत मिल गई। टाह ने बिलासपुर से भी तीन बार चुनाव लड़ा है। उन्होंने यहां भी भाजपा की जीत में बड़ी भूमिका निभाई। टाह के कांग्रेस प्रवेश से अब बेलतरा और बिलासपुर में कांग्रेस को लाभ मिलने की संभावना है। 

    टाह के कांग्रेस प्रवेश की खबर पर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।  उन्होंने वाट्सअप, ट्विटर और फेसबुक पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि - मैंने अपने जीवन में अनिल टाह जैसा ग़द्दार नहीं देखा है। उनके कांग्रेस प्रवेश से हमारी पार्टी में जो ख़ुशी की लहर बही है, वो अभूतपूर्व है। चार बार नहीं चालीस बार वो अपने दल को चुनाव में निपटाएंगे, इसमें कोई संदेह नहीं है। मैं दावे के साथ अब बोल सकता हूँ कि बिलासपुर लोक सभा में भी अब कांग्रेस ऐतिहासिक मतों से निपटेगी। इसका भी श्रेय केवल 'बपौती टाह' को ही जाएगा।

    आगे अमित जोगी ने कहा है कि कुछ लोगों के लिए कितना भी कर लो, दुनिया से लड़ लो,कम होता है। सत्ता की सुगंध उन्हें खिंची ले ही जाती है। जब वो 1999  में हमारा साथ छोड़ चुके थे तो पापा (अजीत जोगी)  मुख्यमंत्री बने और जब से 2003 में वापस आए हैं, हम सत्ता से कोसों दूर हो गए। ऐसे लोग जितना दूर रहे उतना अच्छा है। 

    जोगी जी से बात करके कांग्रेस में लौटा-टाह 
    अनिल टाह ने कहा कि उन्होंने यह पाया कि जनता कांग्रेस में रहते हुए हम भाजपा को ही फायदा पहुंचा रहे हैं, जबकि गठन करने के समय ऐसा हमारा उद्देश्य नहीं था। इसीलिए कांग्रेस प्रवेश के न्यौते को उन्होंने स्वीकार किया है। कांग्रेस प्रवेश की जानकारी मैंने अजीत जोगी जी को दे दी थी। अमित जोगी की प्रतिक्रिया पर उन्हें कुछ नहीं कहना है, वह तो बच्चा है। 
    टाह को लिम्हा की सभा में प्रवेश दिलाने के दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल व अनेक पार्टी पदाधिकारी मौजूद थे। 

     

  •  

Posted Date : 19-Apr-2019
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बिलासपुर, 19 अप्रैल।
    दाधापारा एवं बिलासपुर में बीच ऑटोमेटिक सिंगनिलिंग का कार्य एवं बिलासपुर-रायपुर के बीच तीसरे लाइन के विद्युतीकरण के चलते 21  और 22 अप्रैल के बीच सुबह आठ बजे से अगले दिन सुबह 6 बजे तक कई ट्रेनों को रद्द किया जा रहा है। कई ट्रेनें गंतव्य से पहले समाप्त कर दी जायेगी, अनेक ट्रेनों को देर से रवाना किया जायेगा। 
    दोनों दिन  रायपुर और गेवरा रोड के बीच चलने वाली मेमू और पैसेंजर दोनों ओर से  रद्द की जा रही है। 21 अप्रैल को बिलासपुर रायपुर, रायपुर बिलासपुर मेमू, गेवरारोड बिलासपुर मेमू तथा बिलासपुर गेवरारोड मेमू रद्द रहेगी। बिलासपुर से इतवारी जाने-आने वाली एक्सप्रेस भी 21 अप्रैल को रद्द रहेगी। 20 अप्रैल को बरौनी से आने वाली गोंदिया एक्सप्रेस उसलापुर में ही समाप्त  हो जायेगी और उसलापुर से गोंदिया के बीच रद्द रहेगी।  गोंदिया और उसलापुर के बीच यह ट्रेन 21 अप्रैल को रद्द रहेगी। सारनाथ एक्सप्रेस बिलासपुर व दुर्ग के बीच 20 अप्रैल को तथा दुर्ग एवं बिलासपुर के बीच 21 अप्रैल को रद्द रहेगी। साउथ बिहार एक्सप्रेस 20 को बिलासपुर और दुर्ग के बीच तथा 22 अप्रैल को दुर्ग एवं बिलासपुर के बीच रद्द रहेगी। दुर्ग अम्बिकापुर एक्सप्रेस को 20 अप्रैल को उसलापुर व दुर्ग के बीच तथा 21 अप्रैल को दुर्ग व उसलापुर के बीच रद्द किया जायेगा। 
    टाटानगर इतवारी पैसेंजर 20 एवं 21 अप्रैल को बिलासपुर व इतवारी के बीच दोनों ओर से रद्द रहेगी। 21 अप्रैल को झारसुगुड़ा गोंदिया के बीच चलने वाली पैसेंजर दोनों तरफ से गोंदिया और बिलासुर के बीच रद्द रहेगी। 

    21 अप्रैल को कोरबा रायपुर एक्सप्रेस को एक घंटे देर से रवाना किया जायेगा। इसी दिन रायपुर से कोरबा लौटने वाली इस ट्रेन को 20 मिनट देर से रवाना किया जायेगा।  21 अप्रैल को इतवारी बिलासपुर एक्सप्रेस, विशाखापट्टनम कोरबा लिंक एक्सप्रेस, छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस और रायपुर कोरबा एक्सप्रेस को बिलासपुर रायपुर के बीच  पैसेंजर बनाकर रवाना किया जायेगा। 

     

     

  •