छत्तीसगढ़ » दन्तेवाड़ा

Previous12Next
Posted Date : 17-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बचेली, 16 नवंबर। एनएमडीसी लिमिटेड के हीरक जंयती वर्ष समारोह के अवसर पर बैलाडिला आयरन ओर माईन्स बचेली कॉम्पलेक्स में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। स्थानीय हॉकी ग्राउड मैदान में 15 नवम्बर, गुरूवार को शाम 7 बजे से एनएमडीसी बचेली के विभिन्न समितियों एंव विघालय द्वारा शानदार प्रस्तृति दी गई । कार्यक्रम की शुरूआत मुख्य अतिथि बचेली परियोजना के अधिशासी निर्देशक टी एस चेरियन के द्वारा दीप प्रज्जवलित कर तत्पश्चात् गायत्री परिवार द्वारा स्वागत गीत गाने के बाद कार्यक्रम को प्रारंभ किया गया। 
    विभिन्न समितियों व प्रकाश विघालय, केन्द्रीय विघालय, डीएवी पब्लिक स्कूल बचेली के बच्चों के द्वारा दी गई सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति में पूरे भारत की झलक दिखाई दी बंगाल का दुर्गा पूजा, गोवा का कार्निवल, पंजाब का भांगडा, केरल का लोक नृत्य, उड़ीसा का भगवान जगन्नाथ की प्रस्तृति दिखाई, राजस्थानी लोक संगीत, बस्तर का गौर नृत्य, छत्तीसगढ़ी नृत्य सहित कई अन्य प्रदेशों के सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। बस्तर की गौर नृत्य यहॉ की सांस्कृति को बहुत ही सुन्दर प्रस्तुत किया।
     कार्यक्रम के अंत में आकर्षक अतिशबाजी भी हुई। अभी तक जितने कार्यक्रम हुए उनमे से यहॉ सांस्कृतिक कार्यक्रम ने सभी का मनमोह लिया। लोगो ने जमकर तारीफ और लोग कार्यक्रम के अंतिम तक रहे।   इस अवसर पर टी एस चेरियन कर्मचारी एंव अधिकारियों को हीरक जयंती वर्ष की बधाई देते हुए कहा कि जो एनएमडीसी इस मुकाम पर पहॅुची है वो आप लोगो के ही मेहनत का फल है। आज एनएमडीसी भारत का नहीं विश्व में एक बहुत बड़ा उघम है जो अपने क्षेत्र में भी योगदान दे रहा है। जब एनएमडीसी का नाम लेते है तो सिर्फ कर्मचारियों का ही नाम नहीं बल्कि पुरे बैलाडिला क्षेत्र के विकास के कारण जाना जाता है, विश्व में नम्बर 1 ले जाने के लिए आप सभी लोगो का योगदान की जरूरत है।
    हीरक जंयती वर्ष के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय महिला कब्बड्ी एंव तीरदांजी प्रतियोगिता में जिसमें विजेता और उपविजेता टीम को पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा आर्केस्र्ट, मुकाबला-ए-कव्वाली, सर्वधर्म भजन, सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन हुअस था। साथ ही स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हुए इंडोर गेम जैसे बैंडमिटन, टीटी, केरम, चेस का जिसमें विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। इस हीरक जंयती वर्ष के दौरान विभिन्न खेलकूद का आयोजन किया गया था। 

  •  

Posted Date : 17-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    कोण्डागांव, 16 नवंबर। वर्ष 2018-19 मे समर्थन मुल्य पर धान एवं मक्का खरीदी के लिए जिले के 24 लेम्पस समितियों के 43 उपार्जन केन्द्रों में धान विक्रय के लिए 23 हजार 780 एवं मक्का विक्रय के लिए 2 हजार 385 किसानों का पंजीयन किया गया है। 
    15 नवंबर तक 20 उपार्जन केन्द्रों में 225 किसानों के माध्यम से 8 हजार 466 क्विण्टल धान विक्रय किया गया है। 21 धान खरीदी केन्द्रो में बोहनी नही हुई धान खरीदी केन्द्र अमरावती, छिनारी, ईरागांव, तोडासी, खाले मुरवेण्ड, किबईबालेंगा, धनोरा, फरसगांव, बडेकनेरा, कोरगांव, मुनगापदर, मर्दापाल, मुलमुला, बवई, रांधना, भण्डारसिवनी, लंजोडा, काटागांव, शामपुर व हिरापुर में खरीदी प्रारंभ नहीं हुई है। वर्ष 2017-18 में 22049 पंजीकृत किसानों में से 9 उर्पाजन केन्द्रो में खरीदी हुई इसी तरह 17 हजार 611 किसानों के द्वारा 63 लाख 9493.80 क्विण्टल धान का खरीदी किया गया। और यह धान खरीदी वर्ष 2018-19 में 31 जनवरी 2019 तक धान व 31 मई 2019 तक मक्का की खरीदी अनलिमिटेड धान खरीदी किया जाएगा।

  •  

Posted Date : 17-Nov-2018
  • आरोपी दो मंजिल से कूदा, गिरफ्तार

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बचेली, 16 नवंबर। एनएमडीसी सिविल विभाग के उपमहाप्रबंधक पर एक युवक ने जानलेवा हमला किया । फिर उन्हें आपोलो अस्ताल बचेली ले जाया गया। 
    हमला करने के बाद युवक दो मंजिला बिल्ंिडग से कूदा, मिली जानकारी के अनुसार घटना दोपहर 12:30 बजे के बताई जा रही है सिविल विभाग के प्रमुख एम.  चौकसे प्रकाश विघालय में चल रहे निर्माण कार्य का निरिक्षण करने अपने दल के साथ पहुॅचे थे कि चिंगदुपारा निवासी दीपक नाग कुदाल से हमला कर दिया। और वहॉं से भागकर उपर से कूद गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफतार कर लिया है। 
    युवक नशा का आदी है। बताया जा रहा है कि ठेकेदार द्वारा पैसे नहीं दिए जाने कारण शायद उसने ऐसा किया है मामले की जांच चल रही।   

  •  

Posted Date : 16-Nov-2018
  • दंतेवाड़ा,15 नवम्बर। जिले के किरंदुल थाना के चोलनार स्थित छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के 17 वी कम्पनी के जवान वकील शिन्दे का शव संदेहास्पद  हालात में गुरूवार को मिला।जानकारी के मुताबिक मृतक की तबियत खराब चल रही थी,वह इलाज के लिये किरंदुल अस्पताल गया हुआ था।किरंदुल से लौटते हुये चोलनार के समीप सड़क में जवान का शव मिला। शव के चेहरे पर कपड़ा बंधा हुआ था। इसके मद्देनजर दुर्घटना से मौत सवालों के घेरें में है। मृतक उत्तर प्रदेश का निवासी बताया गया है। किरंदुल पुलिस के अनुविभागीय अधिकारी धीरेंद्र पटेल ने मामले को संज्ञान में लिया है।उन्होंने घटना की जांच के निर्देश दिये हैं।

  •  

Posted Date : 16-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    बचेली, 15 नवंबर। एनएमडीसी नवरत्न कंपनी काम्पलेक्स बचेली में  15 नवम्बर 2018 को 61वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस दौरान एनएमडीसी गेस्ट हाउस बैला क्लब कला मंच में कार्यक्रम रखा गया था। महाप्रबंधक टी.एस. चेरियन ने कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारी को इस कंपनी के बारे में विस्तृत जानकारी दी। 
    हर साल की तरह इस साल भी चांदी एवं सोने के सिक्का महाप्रबंधक के हाथों सभी अधिकारी एवं कर्मचारीयों को दिया गया। 35 साल पूर्ण करने वाले 17 कर्मचारियों को 20 ग्राम सोने का सिक्का, 30 साल पूर्ण करने वाले 10 कर्मचारियों को 10 ग्राम सोने का सिक्का, 25 साल पूर्ण करने वाले 22 कर्मचारियों को 100 ग्राम चांदी का सिक्का, 20 साल पूर्ण करने वाले 15 कर्मचारियों को 50 ग्राम चांदी का सिक्का कुल 64 कर्मचारियों व अधिकारियों को दिया गया। इस कार्यक्रम का संचालन एस. के. महापात्रो वरिष्ठ प्रबंधक (कार्मिक) ने किया।   धन्यवाद ज्ञापन एस. एस. सतपथी  प्रबंधक कार्मिक ने किया। 
    इसी कार्यक्रम में महाप्रबंधक श्री एच एन सिंह, पी.के. मजुमदर संयुक्त महाप्रबंधक (प्लांट), पदनाभम नाईक संयुक्त महाप्रबंधक (औधोगिक अभियांत्रिक), जे पी सिंह संयुक्त महाप्रबंधक (सम्रागी), के मोहन संयुक्त महापबंधक (कार्मिक), के पी अन्थोनी संयुक्त महाप्रबंधक (खनन), के सी गुप्ता संयुक्त महाप्रबंधक (माईनिंग), दोनों यूनियन एसकेएमएस के सचिव टी एस शंकर राव, अध्यक्ष बलवंत कुमार कौशल  और इंटक सचिव बीनू मैथ्यू, अध्यक्ष अशोक नाग, उपमहाप्रबंधक डॉ राजू श्रीवास्तव (प्रयोगशाला), उपमहाप्रबंधक अमिताभ त्रिपाठी (भूविज्ञान), सहायक महाप्रबंधक सुनील उपाध्याय सीएसआर एंव राजभाषा विभाग, कार्मिक विभाग से एमएस पूजापण्डा, शैलेन्द्र सोनी, नरेन्द्र अमबादे एवं सभी विभागों के उच्च अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे। कर्मचारी सोने एवं चांदी के सिक्के पाकर खुश होकर एनएमडीसी को धन्यवाद दिया।  कार्यक्रम कें समाप्ति के बाद सभी लोगों के लिए दोपहर का भोजन आयेाजन किया गया था। सेवानिवृत्त  कर्मचारियों को मिठाई पैकेट दिया गया।

  •  

Posted Date : 14-Nov-2018
  • बोट पंडुम भी नहीं कर सका मतदान में इजाफा

    शहरी वोटरों की सक्रियता में कमी

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा,14 नवम्बर। दंतेवाड़ा विधानसभा में मतदान 60.62 फीसदी दर्ज किया गया। उक्त आंकड़ा गत् विधानसभा चुनाव को पीछे न छोड़ सका। उल्लेखनीय है कि उक्त चुनाव में 61 फीसदी मतदान दर्ज किया गया था। 
    ज्ञात हो कि चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा जन जागरूकता की कड़ी में बोट पंडुम की मुहिम छेड़ी गई थी। इसमें ग्राम स्तर तक मतदाताओं को  जागरूक करने की पहल शामिल थी। परंतु, बोट पंडुम की मुहिम अपेक्षित परिणाम नहीं ला सकी। इसका कारण मतदाता जागरूकता अभियान हेतु कम समय का होना सम्भावित है।
    नक्सलियों बहिष्कार की दहशत
    नक्सलियों द्वारा गांव-गांव में चुनाव बहिष्कार की धमकी दी गई थी। इसी कड़ी में पोटाली के किकिरपारा स्थित मतदान केंद्र में भी बहिष्कार के नारे लिखे गये थे। मतदान के दिन भी उक्त नारे मिटाये नहीं गये थे, जिससे ग्रामीण मतदाताओं में दहशत रही। नक्सलियों ने मतदाताओं को मतदान करने पर मौत के घाट उतारने की धमकी थी। इसके चलते विस्थापित मतदान केंद्रों सहित अंदरूनी गांवों के मतदाताओं ने मतदान से दूरी बना ली थी। दहशत का आलम था कि पालनार से अरनपुर सड़क पर स्थित समेली गांव के बोडेपारा के मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग नहीं किया। गौरतलब है कि नीलावाया मुठभेड़ के फलस्वरूप भी नक्सलियों की चुनाव बहिष्कार की अपील ने जनमानस पर प्रभाव छोड़ा। शहरी वोटरों ने अपेक्षित अनुमान से कम मतदान किया। यह भी मतदान प्रतिशत कम होने का कारक रहा।
    चुनाव प्रचार फीका
    सियासी दलों के कार्यकर्ताओं ने अंदरूनी गांवों से दूरी बनाई, वहीं भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को गांव में घुसने मनाही थी। संवेदनशील गांवों में कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अधिक प्रचार किया। अन्य दलों की मौजूदगी नगण्य रही। इसके चलते भाजपा प्रचार में पिछड़ गई, वहीं चुनावी फिजा में सियासी खुमार नहीं चढ़ सका।
    ईवीएम प्रदर्शन की कमी
    ग्राम स्तर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का प्रदर्शन किया जाना चाहिये था। जबकि प्रशासन द्वारा शहरी क्षेत्रों में ही ईवीएम प्रदर्शन कराया गया था। ग्राम पंचायत स्तर पर डेमो कराये जाने से मतदाता जागरूकता में मैदानी इजाफा होने की प्रबल संभावना थी। ज्ञात हो कि ग्रामीण मतदाता ईवीएम में अवांछित बिन्दुओं पर प्रेस कर रहे थे।

  •  

Posted Date : 10-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा,9 नवम्बर। जिले में आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की बानगी नजर आयी है। राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा शासकीय सम्पत्तियों पर पार्टी के झंडे लगाये जा रहे हैं। जिला मुख्यालय के दंतेश्वरी सरोवर के रेलिंग पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के चुनाव चिन्ह अंकित झंडे लगाये गये है।बड़ी संख्या में लगाए गये झंडों मेंं हंसिया व धान की बाली अंकित है।उल्लेखनीय है कि शासकीय बोर्डों पर किसी राजनीतिक दल के बैनर व झंडे आदि लगाना प्रतिबंधित है।  इसी कड़ी में दंतेवाड़ा विकासखंड के ग्राम मसेनार में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के साइन बोर्ड पर भारतीय जनता पार्टी का झंडा लगाया गया है,इसमें चुनाव चिन्ह कमल अंकित है।उक्त आचरण आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन की श्रेणी में है।
    कार्यवाही होगी- सिदार
    इस विषय पर डिप्टी कलेक्टर लिंगराज सिदार नें कहा कि मामला गम्भीर है। सम्बंधित स्थानों पर उडऩदस्ते को भेजकर कार्यवाही की जाएगी।आचार संहिता का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

  •  

Posted Date : 06-Nov-2018
  • अंबिकापुर/राजपुर, 6 नवंबर।  कल देर शाम तेज रफ्तार बोलेरो वाहन की ठोकर से मोटरसाइकिल सवार तीन  की मौत हो गई। मृतकों में मां-बेटी और देवर शामिल है।

    पुलिस  के अनुसार राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम लडुआ खूंटी पारा निवासी सुनीता उरांव, अपनी छोटी बच्ची अमृता और देवर अरविंद के साथ अपने मायके लुण्ड्रा के ग्राम करौली  गई थी। वहां से तीनों मोटरसाइकिल से  गांव जा रहे थे। राजपुर थाना क्षेत्र के गागर नदी पुल के समीप तेज रफ्तार बोलेरो ने उनकी मोटरसाइकिल को ठोकर मार दी। घटनास्थल पर ही अरविंद और अमृता की मौत हो गई। गंभीर हालत में सुनीता ने अस्पताल में दम तोड़ा।   

  •  

Posted Date : 06-Nov-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा,5 नवम्बर। जिले में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कश्मकश चरम पर है।इसी कड़ी में गत् दो नक्सली घटनाओं नेंं चुनावी परिदृश्य में आमूलचूल बदलाव किया है।
    विधानसभा के कांटे के मुकाबले में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रचार अभियान सबसे तेज संचालित किया जा रहा है।पार्टी का गांवोंं में जनाधार वर्षों से है,परंतु नक्सली बहिष्कार की वजह से कम्युनिस्ट पार्टी के पक्ष में मतदान नही हो पाती है।पार्टी को उम्मीद है कि इस चुनाव में गांवों में कम्युनिस्ट के चुनाव चिन्ह पर मत मिलेगा।जिससे कम्युनिस्ट का विधायक क्षेत्र की आवाज बुलंद करेगा। 
    गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में कम्युनिस्ट पार्टी से पूर्व विधायक नंदाराम सोरी अंतिम बार चुनावी मैदान में उतरे है,विनम्र छवि के नंदाराम शांत स्वभाव के कामरेड प्रत्याशी है।नंदाराम को पंचायत पार्टी के सुधरूराम कुंजाम से वोट कटनें का खतरा मंडरा रहा है।इस दल को बस्तर में कम आंकना भूल होगी।
    कांग्रेस प्रचार में आगे
    उल्लेखनीय है कि पालनार में भाजपा के जिला पंचायत सदस्य पर नक्सली हमले के बाद भाजपा का प्रचार अभियान नगरों तक सिमट गया था।इसी दौरान अरनपुर के नीलावाया गांंव में नक्सलियों के एम्बुश में चार लोगों की शहादत हुई।उक्त घटनाओं से चुनावी वातावरण में उथल पुथल की स्थिति बन गई है।
    कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा नें चुनाव पर नक्सली सर के मुद्दे को गौण बताया।उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश को नक्सली मुक्त होनें का खोखला दावा कर रही है,तो हाल की घटनाएं क्या नक्सली घटनाएं नही है।
    श्रीमती कर्मा नें कहा कि मुझे चुनावी प्रचार में नक्सलियों से भय नही है।भाजपा सरकार के झूठे विकास की पोल जनता के सामनें खोल रही हूं।आप प्रत्याशी से कांग्रेस को मामूली नुकसान की बात कही।कितने मतों से चुनाव जीतेंगी के सवाल पर उन्होंनेंं जवाब देनें से इंकार किया।
    आप से गुंडागर्दी 
    निजात का भरोसा
    आम आदमी पार्टी प्रत्याशी बल्लू राम भवानी को सघन प्रचार आत्मविश्वास प्रदान कर रहा है।शहर व गांवों में पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा झाड़ू लगाकर अलग अंदाज में प्रचार किया जा रहा है।बल्लू भवानी के अनुसार भाजपा और कांग्रेस की गुंडागर्दी से मुक्ति और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन आप पार्टी की प्राथमिकता है।यह दल कांग्रेस के वोटों का विभाजन करेगा।
    भाजपा प्रचार में पीछे
    भाजपा का चुनाव प्रचार अभियान तुलनात्मक रूप से पिछड़ रहा है।पालनार में नंदलाल मुड़ामी पर हमले के बाद से कार्यकर्ता अंदरूनी इलाकों में नही पहुंच रहे है।पार्टी का प्रचार नगरीय इलाकों में किया जा रहा है।सत्ता विरोधी लहर और भीतरघात भाजपा को भारी पड़ सकता है।
    18 पोलिंग बूथ विस्थापित
    जिले में अंदरूनी गांवों के 18 मतदान केंद्रों कै विस्थापित किया है।इसके कारण उक्त गांवों से मतदाताओं के निकलनेंं की सम्भावना नगण्य हो सकती है।गत् विधानसभा चुनाव में 26 मतदान केंद्र विस्थापित किये गये थे।

  •  

Posted Date : 31-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा,31 अक्टूबर।जिले के अरनपुर थाना के नीलावाया गांव में हुई मुठभेड़ में शहीद जवानों की संख्या बढ़कर तीन हो गयी है। रायपुर में बुधवार को उपचार करवा रहे जवान राकेश कौशल ने दम तोड़ दिया। शहीद राकेश बारसूर अंतर्गत सरगीगुड़ा निवासी थे।
    पुलिस महानिरीक्षक विवेकानंद सिन्हा ने दंतेवाड़ा में प्रेस वार्ता लेकर घटना की जानकारी दी । उन्होंने बताया कि इस घटना में खून व घिसटनें के निशान देखकर दो या तीन नक्सलियों के ढेर होने की प्रबल सम्भावना है। जवानों ने बड़ी बहादुरी से नक्सलियों का सामना किया।उन्होंने बताया कि दो एकके-47 रायफलें मिल चुकी है। वहीं एक एके-47 और कैमरा नक्सली लूट चुके हैं। इस दौरान डीआईजी रतलाल डांगी एसपी अभिषेक पल्लव और कलेक्टर सौरभ कुमार भी मौजूद थे।  

     

  •  

Posted Date : 30-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    किंरदुल/ दोरनापाल/दंतेवाड़ा, 30 अक्टूबर।  दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाना क्षेत्र में मंगलवार को नक्सलियों के घात लगाकर किए गए हमले में दो जवान शहीद हो गए वहीं  दूरदर्शन के कैमरामेन की भी मौत हो गई। हमले में दो जवान भी जख्मी हुए हैं। घायल जवानों को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। जवानों के सहयोग के लिए जिला मुख्यालय से अतिरिक्त फोर्स रवाना किया गया है।
    मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली से दूरदर्शन की 3 सदस्यों की एक टीम रिपोर्टिंग के लिए आई थी। सुरक्षा के लिए पुलिस बल भी साथ था। आज सुबह अरनपुर थाना क्षेत्र में  निलावाया के जंगल पहुंची तो पहले से मौजूद नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुए हमले से जवान संभल नहीं पाए और नक्सलियों के निशाने पर आ गए। मुठभेड़ में सब इंस्पेक्टर रुद्रप्रताप सिंह और सहायक आरक्षक मंगलराम घटनास्थल पर ही शहीद हो गए। वहीं विष्णु नेताम और राकेश गौतम घायल हो गए। साथ ही दूरदर्शन के कैमरामैन अच्युतानंद नंद साहू की भी मौत हो गई।
    बताया गया कि मुठभेड़ लगभग एक घंटे तक चली। घटना की सूचना मिलने ही जिले से अतिरिक्त पुलिस बल घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है। घायल जवानों को जिला अस्पताल लाया गया है। दंतेवाड़ा एसपी भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं।
    इधर घटना के संबंध में डीआईजी पी. सुंदर राज ने पत्रकारों को बताया कि अभी पुलिस पार्टी घटनास्थल से वापस नहीं लौटी है। टीम के आने के बाद ही घटना की मुख्य वजह बता पाएंगे। 
    उन्होंने कहा कि चुनाव बहिष्कार करने के लिए नक्सली लगातार पुलिस और चुनाव दल को दिक्कत पैदा करने के लिए घटना को अंजाम दे रहे हैं। चुनाव को लेकर नक्सली बौखला गए हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली से दूरदर्शन की टीम यहां चुनाव कवरेज करने के लिए आई थी। यह टीम भी नक्सलियों के एम्बुश में फंस गई और उसके कैमरामैन की मौत हो गई।
     ज्ञात हो कि दंतेवाड़़ा का निलावाय क्षेत्र में 1998 के बाद पहली बार मतदान कराया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने हाल ही में यहां मतदान केन्द्र निर्धारित किया था। इस ऐतिहासिक पल को कव्हरेज करने दिल्ली दूरदर्शन की टीम मतदान केन्द्र के साथ ही आसपास के इलाकों के कव्हरेज के लिए यहां पहुंची थी। केमरामैन का कैमरा नक्सली लूटकर ले गए हैं।

    राज्यपाल-सीएम ने शोक जताया  
    राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने  नक्सल हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है। डॉ. सिंह ने इस हमले में पुलिस के दो जवानों दूरदर्शन नई दिल्ली के एक कैमरामेन की शहादत पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है।  
    स्वास्थ्य लाभ की कामना की है और अधिकारियों को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करवाने के निर्देश दिए हैं।

     

  •  

Posted Date : 29-Oct-2018
  • वाड्रा के मित्र को राफेल का काम न मिला तो...
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 29 अक्टूबर। केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को आरोप लगाया कि देश को तोडऩे की साजिश रचने वाले अरबन माओवादियों के कांग्रेस से संबंध है। यही वजह है कि दस साल में मनमोहन सरकार में माओवादियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई। श्री प्रसाद ने राफेल डील में घोटाले के राहुल गांधी के आरोपों का तीखा प्रतिवाद किया और कहा कि राबर्ट वाड्रा के दामाद के मित्र को काम नहीं मिलने पर समस्या पैदा हुई है। 
    श्री प्रसाद ने प्रेस कॉफ्रेंस में जोर देकर कहा कि यूपीए सरकार के समय राफेल विमान की डील हुई थी, उससे नौ फीसदी कम पर खरीदी के लिए डील की गई। उन्होंने राफेल कंपनी के सीईओ के एक अखबार में छपे इंटरव्यू का हवाला देते हुए कहा कि अंबानी से रिश्ते 2012 से बने हैं। बाद में अंबानी परिवार में बंटवारा हो गया और वर्तमान में अनिल अंबानी को काम मिला है। यह आरोप कि अनिल अंबानी को तीस हजार करोड़ का काम दिया गया है। यह पूरी तरह गलत है। कंपनी ने यह साफ किया है कि उन्हें मात्र साढ़े आठ सौ करोड़ का काम दिया गया है। नागपुर के पास उनकी जमीन है वहां राफेल के स्पेयर पाटर्स की निर्माण की इकाईयां लगेंगी। 
    श्री प्रसाद ने बताया कि बाकी निर्माण का काम महेन्द्रा व अन्य कंपनियां करेंगी। उन्होंने कहा कि यूपीए की सरकार ने इस सौदे को दस साल तक लटकाए रखा। केन्द्रीय कानून मंत्री ने इस पूरे सौदे में भ्रष्टाचार के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि बिना दक्षिणा के कांग्रेस पार्टी और गांधी परिवार काम नहीं करती है। राहुल गांधी राफेल सौदे पर सवाल उठा रहे हैं। पाकिस्तान भी यही चाहता है कि भारत की वायु सेना की ताकत नहीं बढ़े। राहुल देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।
    केन्द्रीय कानून मंत्री ने नक्सलवाद पर कहा कि एनडीए सरकार ने नक्सलवाद को राष्ट्रीय स्तर पर कम करने में अहम भूमिका निभाई है। पहले डेढ़ सौ जिलों में नक्सलवाद का प्रभाव था और अब 70-80 जिलों में ही नक्सलवाद है। माओवादियों पर प्रभावित कार्रवाई हुई है तो दूसरी तरफ उनके पुनर्वास के लिए कदम उठाए गए हैं। 
    श्री प्रसाद ने माओवादियों से सवाल किया है कि सत्ता बंदूक की नली से हासिल होती है, तो इसमें आम आदमी कहां है? उन्होंने नक्सलियों के प्रति सहानभूति रखने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं से पूछा कि नक्सलियों के समर्थन में बड़ी-बड़ी बातें करते हैं तो पुलिस के जवान मारे जाते हैं उनका मानवाधिकार है या नहीं। यह दोहरा मापदण्ड है। ये लोग माओवादियों को सहयोग करते हैं। यदि वे चुनाव लड़ेंगे तो उनकी जमानत जब्त हो जाएगी। 

     

  •  

Posted Date : 29-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर/ दंतेवाड़ा, 29 अक्टूबर।   दंतेवाड़ा जिले में रविवार रात नक्सलियों के हमले में भाजपा नेता जिला पंचायत सदस्य नंदल मुदियामी गंभीर रुप से घायल हो गए। रात को उन्हें  रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां एक निजी अस्पताल में पहुंच कर वहां इलाज के लिए भर्ती दंतेवाड़ा जिला पंचायत सदस्य नंदलाल मुड़ामी से मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। 
    दंतेवाड़ा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोरखनाथ बघेल ने बताया कि यह हमला रात लगभग आठ बजे उस समय हुआ जब दंतेवाड़ा जिला पंचायत  सदस्य नंदल मुदियामी पालनार गांव स्थित अपने घर पर थे। वह खाना खा रहे थे कि धारदार हथियारों से लैस नक्सलियों ने उन्हें खींचते बाहर निकाल और  हमला कर दिया।
    घटना के तुरन्त बाद उनके रिश्तेदारों ने पुलिस को सूचित किया और उन्हें दंतेवाड़ा अस्पताल ले जाया गया।   मुदियामी का इलाज किया गया और फिर उनकी  गंभीर हालत को देखते रायपुर रवाना किया गया। पुलिस के अनुसार हमलावरों का पता लगाने के लिए क्षेत्र में एक तलाशी अभियान चलाया गया है।  गौरतलब है कि  नक्सलियों ने मतदाताओं से विधानसभा चुनाव का बहिष्कार किये जाने का आह्वान किया है।

  •  

Posted Date : 18-Oct-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर/दंतेवाड़ा, 18 अक्टूबर। दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में इस बार मौजूदा कांग्रेस विधायक श्रीमती देवती कर्मा को घर में ही चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि उनके पुत्र छविन्द कर्मा के तेवर बागी हैं और वे निर्दलीय प्रत्याशी की हैसियत से चुनाव मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं। इससे परे भाजपा नए चेहरे पर दांव लगाने की सोच रही है। इन सबके बीच भाकपा की दमदार मौजूदगी से मुकाबला रोचक होने के आसार हैं। 
    दंतेवाड़ा सीट से दिवंगत कांग्रेस नेता और बस्तर टाइगर के नाम से  मशहूर महेन्द्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा दूसरी बार विधानसभा में जाने की कोशिश कर रही है। हालांकि पार्टी ने अभी तक अधिकृत रूप से प्रत्याशी घोषित नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें ही प्रत्याशी बनाएगी। देवती के साथ दिक्कत यह है कि उनकी उम्मीदवारी का घर में ही विरोध हो रहा है। उनके बेटे छविन्द्र  ने निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रखी है। 
    पार्टी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और उप नेता कवासी लखमा ने उन्हें समझाइश देने की कोशिश की, पर वे अड़े हुए हैं। फिर भी पार्टी नेताओं को भरोसा है कि देर सबेर वे नाम वापस ले लेंगे। देवती कर्मा पहले राजनीति में सक्रिय नहीं रही है, लेकिन पति के गुजरने के बाद पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया। पिछला चुनाव वे करीब 6 हजार मतों से जीती थी। पिछले चुनाव का आंकड़ा यह बताता है कि कांगे्रस प्रत्याशी देवती कर्मा को जहांं 38.23 प्रतिशत मत मिले थे जबकि निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के  भीमा मंडावी को 32.70 प्रतिशत मत से संतुष्ट होना पड़ा। वांमपंथी दल के कोआसी को महज 11.96 प्रतिशत मत मिला जबकि नोटा में इस क्षेत्र में सर्वाधिक 8.18 प्रतिशत मत ही प्राप्त हुआ।  देवती कर्मा विधायक के बनने के बाद क्षेत्र में काफी सक्रिय रही हैं, लेकिन इस बार उन्हें पुराने कर्मा सर्मथकों के बिखराव के चलते नुकसान उठाना पड़ सकता है। 
    दूसरी तरफ भाजपा यहां लगातार मेहनत करती रही है। सरकारी योजनाओं के जरिए लोगों के बीच पैठ बनाने की कोशिश हुई है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह यहां अटल विकास यात्रा के दौरान करोड़ों की सौगात दी थी और एक तरह से पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश हुई है। भाजपा से पूर्व विधायक भीमा मंडावी, सुखदेव तांती, जिला पंचायत अध्यक्ष कमला नाग के नाम प्रमुखता से उभरकर सामने आए हैं। 
    कांग्रेस-भाजपा से परे भाकपा ने भी यहां मेहनत की है और ग्रामीण इलाकों में पार्टी का अच्छा जनाधार है। दंतेवाड़ा से वर्ष 1980 से 2008 के मध्य वांमपंथी दल से स्व. महेन्द्र कर्मा, वारसा दुलाराम, मनीष कुंजाम, नंदा सोरी विधायक रहे और इस बीच 2013 के विधानसभा चुनाव में भीमा मंडावी को हार का सामना करना पड़ा और वांमपंथी दलों को मतदाताओं ने नकार दिया था।
    इस बार भी भाकपा यहां चुनाव मैदान में ताकत दिखाने की तैयारी में हैं। भाकपा को जोगी पार्टी और बसपा ने भी समर्थन किया है। इससे पार्टी थोड़ी ताकत बढ़ी है। क्षेत्र का एक हिस्सा नक्सल प्रभावित है।
    वर्तमान में दंतेवाड़ा विधानसभा बस्तर संभाग के चर्चित विधानसभाओं से एक है। कुआकोंडा जनपद के बैलाडीला जिसमें किरंदूल, बचेली और भांसी सहित क्षेत्र शामिल है।  छजकां-बसपा-सीपीआई गढ़बंधन के प्रत्याशी नंदा सोरी इन दोनों राष्ट्रीय पार्टियों को टक्कर देने की मुड़ में  दिखाई दे रहा है। इसके अलावा यहां से आप पार्टी भी चुनाव मैदान में अपने प्रत्याशी संभवत: सोनी सोरी को बतौर प्रत्याशी बनाये जाने की चर्चा जोरों पर है। इन सबके चलते यहां मुकाबला कांटे का होने के आसार हैं। 

  •  

Posted Date : 16-Sep-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा,  16 सितंबर। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आज  ऐतिहासिक बारसूर कस्बे में  आयोजित विशाल  आमसभा में जिले के विकास के लिए करीब 137 करोड़ रुपये के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। उन्होंने हितग्राहियों को करीब 11 करोड़ 61 लाख रूपये लागत की सामग्री का वितरण भी किया। 
    मुख्यमंत्री डॉ सिंह  ने 83 करोड के 67 लाख14  हजार रूपए के विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास किया। इनमें जिले के विभिन्न 11 ग्रामों में 100 सीटर पोटा केबिन, बालक, बालिका छात्रावास भवन निर्माण कार्य, जिले के उपस्वास्थ्य केंद्रों में आधुनिक उपकरण एवं जिला चिकित्सालय में सीटी स्केन मशीन की स्थापना तथा 25 स्वास्थ्य केंद्रों में हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर का क्रियान्वयन कार्यों का शिलान्यास प्रमुख है।  इसके अलावा सड़क, पुलिया निर्माण आदि का भी शिलान्यास किया।
     मुख्यमंत्री  ने 53 करोड़ 27 लाख 13 हजार रूपए के निर्माण कार्यों का लोकार्पण भी किया। इनमें आश्रम भवन कटुलनार, बड़े पनेड़ा, फरसपसाल एवं ईवीएम भवन, नेरली समूह जलप्रदाय योजना  जिले के विभिन्न 23 ग्रामों में डीएमएफ फंड से पुलिाया निर्माण, जिले के विभिन्न 11 ग्रामों में डीएमएफ फंड से मुरूमीकरण निर्माण कार्य, ग्राम चितालूर, भांसी, कुम्हाररास में रिटेनिंग वॉल एवं नाली निर्माण, मेंडोली, जारम, कतियाररास, बालपेट, चितालूर के शैक्षणिक संस्थाओं में भवन एवं विभिन्न निर्माण कार्य, जनपद पंचायत दंतेवाड़ा के पांच ग्राम पंचायतों में पानी टैंकर प्रदाय कार्यों का लोकार्पण किया। 
    उन्होंने  जिले के विभिन्न 6 ग्रामों में आरसीसी नाली निर्माण कार्य तथा आरसीसी पुलिया निर्माण  ग्रामों में 69 सोलर हैंड पंप संयंत्र, 27 हाईमास्ट संयंत्र की स्थापना कार्यों का लोकार्पण  भी किया।  इसके साथ ही शासन की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत करीब 11 करोड़ 61 लाख रूपये लागत की सामग्री का वितरण हितग्राहियों को किया गया।

     

  •  

Posted Date : 06-Sep-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    किरंदुल, 6 सितंबर। दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल थाना अंतर्गत मड़कामीरास ओर सम्बलवार के बीच जंगलों में बीती रात नक्सल मुठभेड़ हुई। आज सुबह  सर्चिंग के दौरान मौके से  घायल एक नक्सली भीमा मडक़ामी को गिरफ्तार किया है, जिसे  अस्पताल में  भर्ती कराया गया है। जवानों ने घायल नक्सली को 12 किमी खाट पर रखकर ढोते अस्पताल पहुंचाया।
     एसडीओपी किरंदुल धीरेन्द्र पटेल ने बताया कि नक्सलियों की   सूचना  पर बीती रात डीआरजी ओर पुलिस की पार्टी किरंदुल थाना से रवाना की गई थी। जब जवान सम्बलवार और मड़कामीरास के जंगलों के बीच पहुचे वहां मौजूद नक्सलियों ने फारयरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्यवाही में नक्सली भाग खड़े हुए। आज सुबह   सर्चिंग में एक घायल नक्सली  मिला जिसको  एनएमडीसी हॉस्पिटल भर्ती कराया गया है। 
     डीआईजी रतनलाल डांगी ने बताया कि  लगभग एक घंटे की मुठभेड़ बाद  नक्सली घने जंगल और पहाड़ी की आड़ लेकर भाग गए। 
    मौके से एक घायल नक्सली को गिरफ्तार किया गया है, जिसकी भीमा मडक़ामी के रूप में शिनाख्त की गयी है। श्री डांगी ने बताया कि मुठभेड़ स्थल पर मौजूद परिस्थितिजन्य साक्ष्य, खून के धब्बे एवं घसीटे जाने के निशान से यह साबित होता है कि कुछ नक्सली मारे गए हैं और कई लहुलूहान हुए हैं, घायल साथियों को नक्सली अपने साथ ले जाने में कामयाब रहे।

     

  •  

Posted Date : 11-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा, 11 अगस्त। जिले के बड़े गुडरा क्षेत्र में बीती रात नक्सलियों ने मुखबिरी का आरोप लगाते हुए एक ग्रामीण की हत्या कर दी। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत है।
    शुक्रवार की रात कुछ नक्सलियों ने ग्रामीण लोकेश करटाम के घर धावा बोला। पहले नक्सलियों ने घर की बिजली सप्लाई बंद करने तार काट दी। दस-बारह की संख्या में नक्सली तीर धनुष लेकर दरवाजा तोड़कर लोकेश के घर घुस गए और लोकेश पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाते हुए धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। नक्सलियों ने मौके पर कुछ पर्चे भी छोड़े हैं जिसमें लोकेश पर पुलिस की मदद करने का आरोप लगाया है।
    मृतक की दो पत्नी है लक्ष्मी और सुकली। सुबह मामले की जानकारी कुआकोंडा थाना पुलिस को दी गई। कुआकोंडा थाना पुलिस और बड़े गुडरा से सीआरपीएफ के जवान घटना स्थल पहुंचे।

  •  

Posted Date : 10-Aug-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा/बचेली, 10 अगस्त। बीती रात बचेली में नक्सलियों ने 5 ट्रकों को आग के हवाले कर दिया। मौके पर पर्चे भी फेंके हैं जिसमें तिम्मेनार मुठभेड़ का बदला लेने की बात कही है। पर्चों में नक्सलियों द्वारा भैरमगढ़ एरिया कमेटी सचिव कामरेड़ सुमित्रा के शामिल होने का भी जिक्र किया है।
    किरन्दुल एसडीओपी धीरेन्द्र पटेल के मुताबिक घटना देर रात की है। ग्रामीण वेशभूषा में 30 से 40 की संख्या में नक्सली बचेली के पुराना मार्केट क्षेत्र पहुंचे। ट्रक में बैठे चालक व परिचालक को उठाकर वहां से 100 मीटर दूर ले गए। सभी का मोबाइल भी छीन लिए। उसके बाद ट्रकों में तोड़-फोड़कर आग लगा दी। एक 1 ट्रक दंतेवाड़ा व 4 बचेली के बताए जा रहे हैं। बचेली शहर के रिहायशी इलाके में हुई घटना के बाद ट्रक मालिकों के साथ ही आम लोगोंं भी भय का माहौल है। आगजनी के बाद नक्सली टेलिंग डेम के जंगल की ओर भाग गए। बताया जा रहा है कि करीब 1 करोड़ का नुकसान हुआ है।

    ज्ञात हो कि विगत 30 घंटे के भीतर जिले में यह चौथी नक्सली वारदात है। इससे पहले धुरली के पास 2 यात्री बसों समेत 3 वाहनों में आगजनी, कमालूर के पास रेल पटरी उखाडऩे और हल्बारास में पाइप लाइन कार्य में लगी जेसीबी मशीन में आग लगाने जैसी घटनाओं को नक्सली अंजाम दे चुके हैं।
    गौरतलब है कि बीते 3-4 सालों से जिले में सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव के चलते नक्सली वारदातों में कमी आई थी। अब नक्सली फिर से अपने अस्तित्व का विस्तार कर रहे हैं। दो दिनों के भीतर बचेली और कुआकोण्डा से लगे क्षेत्रों में नक्सलियों ने घटनाओं को अंजाम दिया है।

  •  

Posted Date : 27-Jul-2018
  • छत्तीसगढ़ संवाददाता
    दंतेवाड़ा, 27 जुलाई। नक्सलियों ने शनिवार से शहीदी सप्ताह मनाने का एलान किया है। इसके एक दिन पहले ही वे जमकर उत्पात मचाया। एनएमडीसी की ड्यूटी पर लगी एक एसयूवी को आग के हवाले कर दिया, वहीं पम्प हाउस के केबल वायर में भी आगजनी की। कर्मचारियों के मोबाइल भी लूट लिए। 
     नक्सलियों ने बीती रात एनएमडीसी की ड्यूटी पर लगी एक एसयूवी को आग के हवाले कर दिया। गाड़ी में मौजूद कर्मचारियों के मोबाइल फोन लूटकर जंगलों की तरफ भाग निकले। कर्मचारियों ने बताया कि 25 से 30 की संख्या में माओवादी अचानक सड़क पर आ धमके और गाड़ी को रोक लिया। सभी को डराया धमकाया और गाड़ी से उतरने को कहा। इसके बाद पैदल चलकर ये लोग सुरक्षित किरंदुल पहुंचे। माओवादियों ने यहां पम्प हाउस के केबल वायर में भी आगजनी की।
     नक्सली शहीदी सप्ताह के दौरान अपने मृतक साथियों को श्रद्धांजलि देते हंै और इलाके में इन्हें शहीद का दर्जा दिए जाने की अपील करते हैं। शहीद सप्ताह का समापन 3 जुलाई को होगा।
    नक्सली उन्मूलन प्रभारी गोरखनाथ बघेल ने कहा कि यह नक्सलियों का पारंपरिक दुष्प्रचार है। पुलिस इसे नाकाम करने के लिए तत्पर है। उन्होंने नक्सली बैनर की जानकारी से इंकार किया है।

  •  

Posted Date : 25-Jul-2018
  • राष्ट्रपति भवन में एक बरस पूरा करने की खुशी बस्तर में
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर/ दंतेवाड़ा, 25 जुलाई।  राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आज जगदलपुर पहुंचने पर विमान तल में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री और बस्तर जिले के प्रभारी प्रेमप्रकाश पाण्डेय और वन मंत्री  महेश गागड़ा सहित अनेक जनप्रतिनिधियों ने उनका आत्मीय स्वागत किया। इसके बाद वे हेलीकॉप्टर से जावंगा के लिए रवाना हुए। दंतेवाड़ा में मंत्री केदार कश्यप और विधायक देवती कर्मा ने राष्ट्रपति एवं मुख्यमंत्री का स्वागत किया। ज्ञात हो कि राष्ट्रपति आज अपने कार्यकाल का एक साल पूरा कर रहे हैं  और अपने इस खास दिन को वो आदिवासियों के बीच मना रहे हैं।
    आज सुबह करीब साढ़े दस बजे राष्ट्रपति जगदलपुर एयरपोर्ट पहुंचे। हल्की बूंदाबंदी के बीच उनका शानदार स्वागत किया गया। बारिश की वजह से उन्हें दंतेवाड़ा के लिए कुछ देर इंतजार करना करना पड़ा। करीब आधे घंटे की देरी से वो दंतेवाड़ा के लिए रवाना हुए। वहां से आदर्श ग्राम हीरानार पहुंचकर एकीकृत कृषि प्रणाली से खेती कर रहे किसानों और महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों से चर्चा की।
    राष्ट्रपति इस दौरान प्रसिद्ध मां दंतेश्वरी के मंदिर भी गये और वहां मां दंतेश्वरी का आशीर्वाद भी लिया। उन्होंने इस दौरान ई-रिक्शा की सवारी की। उन्होंने ई-रिक्शा चला रही सविता से बातचीत भी की।
    दंतेवाड़ा के वनवासी कल्याण आश्रम स्कूल के बच्चों से चर्चा की और उनके साथ भोजन किया।
    इसके अलावा अटल बिहारी वाजपेयी एजुकेशन सिटी परिसर में सक्षम स्कूल के दिव्यांग बच्चों और आस्था विद्या मंदिर के बच्चों से चर्चा की। 
    वे एजुकेशन सिटी में बीपीओ का शुभारंभ करने के बाद चित्रकोट आएंगे। वहां बस्तर का सुप्रसिद्ध चित्रकोट जलप्रपात देखेंगे।
    राष्ट्रपति रात्रि विश्राम के बाद अगले दिन 26 जुलाई को बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर में पूर्वान्ह 11 बजे स्वर्गीय बलिराम कश्यप स्मृति मेडिकल कॉलेज के नवनिर्मित अस्पताल भवन का लोकार्पण करने के बाद आम सभा को सम्बोधित करेंगे। मुख्यमंत्री  इन कार्यक्रमों में राष्ट्रपति के साथ शामिल होंगे। डॉ. सिंह दोपहर 12.45 बजे जगदलपुर विमानतल पर बिदाई देंगे। 
    आज विमानतल पर  बस्तर जिले के प्रभारी मंत्री  प्रेम प्रकाश पाण्डेय, वन मंत्री  महेश गागड़ा, बस्तर सांसद  दिनेश कश्यप, जगदलपुर विधायक  संतोष बाफना, युवा आयोग के अध्यक्ष  कमलचंद भंजदेव, वन विकास निगम के अध्यक्ष  श्रीनिवास राव मद्दी, जगदलपुर महापौर  जतीन जायसवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी, मुख्य सचिव  अजय सिंह, कमिश्नर  दिलीप वासनीकर, कलेक्टर  धंनजय देवांगन, पुलिस अधीक्षक डी श्रवण सहित जनप्रतिनिधिगण एवं वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।
    ज्ञात हो कि ये पहला मौका है जब राष्ट्रपति रात बस्तर में गुजारेंगे। वे इन दिनों अपने पूरे शबाब पर बहने वालीे इंद्रावती नदी के चित्रकोट जलप्रपात के प्राकृतिक सौंदर्य को भी निहारेंगे और यहीं बने रिसार्ट में रात्रि विश्राम करेंगे। सुरक्षा के मद्देनजर बस्तर आईजी विवेकानंद सिन्हा ओवरआल चीफ के रुप में तैनात किए गए हैं। वहीं  आईजी दीपांशु काबरा जगदलपुर और हिमांशु गुप्ता दंतेवाड़ा में जिम्मा संभालेंगे। डीआईजी नेहा चंपावत, अभिषेक पाठक, अजय यादव और आरएस नायक को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गयी है।   

     

  •  



Previous12Next