छत्तीसगढ़ » दन्तेवाड़ा

Previous123456789...4142Next
शरद पूर्णिमा पर दीप यज्ञ, खीर का वितरण
21-Oct-2021 9:16 PM (12)

बचेली,  21 अक्टूबर। गायत्री सत्संग भवन में शरद पूर्णिमा पर्व उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर गायत्री सत्संग भवन परिसर में प्रात: यज्ञ, संध्या दीप यज्ञ संपन्न हुआ। बुधवार की संध्या को खीर का वितरण प्रसाद के रूप में किया गया। गायत्री परिवार के वरिष्ठ परिजन एवं समन्वयक सुनील कुमार बेलचंदन ने शरद पूर्णिमा के महत्व को बताया। इसके अलावा मंदिरों में व लोगों ने घरों में विशेष पूजा अर्चना कर चाँद की रोशनी में खीर रखकर प्रसाद के रूप में उसका सेवन किया।

स्वैच्छिक रक्तदान शिविर 23 को
21-Oct-2021 5:23 PM (16)

दंतेवाड़ा, 21 अक्टूबर। कलेक्टर दीपक सोनी के निर्देशानुसार 1 से 30 अक्टूबर तक राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस का आयोजन किया जा रहा है। उक्त निर्देश के परिपालन में 23 अक्टूबर को समय प्रात: 10 बजे से वृहद स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन इंडियन रेडकॉस सोसायटी, शाखा दन्तेवाड़ा के सहयोग से जिला चिकित्सालय दन्तेवाड़ा में किया जाएगा। उक्त स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में आपके विभाग अन्तर्गत कार्यरत अधिकारियों/कर्मचारियों को रक्तदान करने हेतु प्रोत्साहित करे साथ ही लेख है कि रक्तदान करने के इच्छुक कर्मचारियों को जिला चिकित्सालय दन्तेवाड़ा में उपस्थित होने हेतु आवश्यक सहयोग प्रदान करना सुनिश्चित करेगें। जिससे जरूरतमंद मरीजों को रक्त उपलब्ध कराया जा सके। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जी सी शर्मा ने जिले के आमजनों, स्वयंसेवी संगठन, सामाजिक संगठन एवं पत्रकार बंधुओं से अपील की है कि उक्त शिविर में भाग लेकर रक्तदान शिविर को सफल बनाएं।
 

नक्सल पीडि़तों को दो करोड़ की सहायता
20-Oct-2021 8:55 PM (33)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

 दंतेवाड़ा, 20 अक्टूबर। दंतेवाडा जिले में आत्मसमर्पण कर रहे नक्सली भी शासन की योजनाओं से लाभांवित हो रहे है। प्रशासन भी ऐसे क्षेत्रों में विकास की पहुंच बनाने में प्रयासरत है, ताकि आत्मसमर्पित नक्सली मुख्यधारा से जुडक़र शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेकर सुकुन की जिंदगी चलती रहे।

अब तक 636 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है, जिन्हें शासन द्वारा 10-10 हज़ार रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई है। उन्हें अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जा रही हैं। अब तक आत्मसमर्पित नक्सलियों में से 120 लोगों को शासकीय नौकरी प्रदान की गई है।

आत्मसमर्पित नक्सलियों में से 532 लोगों का राशन कार्ड, 407 लोगों का आधार कार्ड, 440 लोगों का मतदाता पत्र कार्ड बनाया जा चुका है। 392 लोगों को बैंक खाता की सुविधा दी गयी है। 459 लोगों को स्वास्थ्य बीमा कार्ड का लाभ दिया गया है। जिससे उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो सके। 108 को आवास की सुविधा प्रदान की गई है। 190 लोगों को शासकीय सेवा हेतु प्रशिक्षण दिया गया है। जिससे उन्हें अपनी आजीविका चलाने में सहुलियत हो।

आत्मसमर्पित नक्सलियों को उनकी मंशानुसार कृषि, पशुपालन, अण्डा उत्पादन आदि के लिए ट्रेक्टर, बीज, उपकरण, पम्प, शेड निर्माण, गाय, बकरी, मुर्गी आदि का वितरण किया जा रहा है। बकरी पालन हेतु 6 लोगों को 10 बकरी 1 बकरा वितरण कर 4.08 लाख की राशि प्रदान की गई है। आत्मसमर्पण के बाद ऐसे नक्सलियों को टेकनार गौशाला में पशुपालन व कुक्कुट पालन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ताकि वे गांव में ही खेती किसानी के साथ रोजगार अपनाकर क्षेत्र के विकास में कार्य करें।

जिससे समाज में शांति एवं भाईचारा बने रहें।

महाराकरका गावं सरेंडर नक्सलियों द्वारा पशुपालन करने वाला पहला मॉडल गांव बन रहा है। इस गांव में सरेंडर नक्सली सरकारी मदद से 1-2 नहीं बल्कि मछली, बकरी, बतख, गाय, कडक़नाथ मुर्गा पालन आदि के कई सारे काम किये जायेंगे। आत्मसमर्पित नक्सलियों को मनरेगा योजनान्तर्गत विभिन्न दिवसों पर मानव दिवस का रोजगार प्रदान किया जा रहा है। इसके तहत 65 लोगों को मनरेगा जॉब कार्ड प्रदान किया गया है। आत्मसमर्पित नक्सली जो बड़े गुड्रा के श्री प्रकाश करटाम और उनके साथियों को कृषि के लिए 1 ट्रैक्टर प्रदान किया। जिससे वे कृषि कार्य करके अपना गुजारा चलाकर सामान्य नागरिक की तरह जीवन यापन कर पाएंगे। विगत 2 वर्षों में नक्सल प्रभावित 51 व्यक्तियों को शासन द्वारा 191.60 लाख की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की गयी है। साथ ही 24 नक्सल पीडि़तों में से 11 को शासकीय नौकरी, 24 को राशन कार्ड प्रदान किया गया है। 78 बच्चों को छात्रवृत्ति राशि दी गयी है।

जिले में आत्मसमर्पित नक्सलियों व नक्सल पीडि़त परिवारों के लिए शहीद महेंद्र कर्मा कॉलोनी के नाम से आवासीय परिसर का निर्माण किया जा रहा है। जिसके लिये 338.38 लाख की राशि स्वीकृत की गई है। सरेंडर कर चुके नक्सली अब नक्सल पीडि़त परिवारों के साथ मिलकर डेनेक्स टेक्सटाइल प्रिंटिंग फैक्ट्री भी चलाएंगे, जो छत्तीसगढ़ की ऐसे पहली फैक्ट्री होगी जिसका जिम्मा नक्सल पीडि़त परिवारों और सरेंडर नक्सलियों के हाथों में होगा। साथ ही उन्हें इस कार्य हेतु प्रशिक्षण भी दिया जा  रहा है। महिलाओं को बिहान अन्तर्गत स्व-सहायता समूहों में जोड़ा जा रहा है, जिससे वे सशक्त हो सके। नक्सलियों ने जिन हाथों से ढहाया था स्कूल, आत्मसमर्पण पश्चात उन्हीं हाथों से फिर से मासापारा के स्कूल को दोबारा बनाया।

जिला अस्पताल में जेनेरिक मेडिकल स्टोर शुरू
20-Oct-2021 8:50 PM (17)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 20 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना का शुभारंभ किया। इस योजना तहत दंतेवाड़ा जिले के जिला चिकित्सालय में 1 दुकान का शुभारंभ मुख्यमंत्री ने किया।

श्री धन्वंतरी जेनेरिक  मेडिकल स्टोर्स से उपभोक्ताओं को सस्ते मूल्य पर गुणवत्तापूर्ण दवाइयां उपलब्ध कराई जाएंगी। उपभोक्ताओं को दवाइयों पर न्यूनतम 50 प्रतिशत छूट का लाभ मिलेगा।

जिला अस्पताल में आज से संचालित इस जेनेरिक मेडिकल स्टोर में 251 जेनेरिक दवाइयां, 27 सर्जिकल उत्पाद, 69 हर्बल उत्पाद की दवाइयां बिक्री की जाएंगी। जो सस्ती होने के साथ गुणवत्तापूर्ण पूर्ण होंगी। शुभारंभ मौके पर सीएम श्री बघेल ने कहा कि सभी आय वर्ग के लोगों को समानता से कम कीमत पर दवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पूरे प्रदेश में श्री धन्वंतरी मेडिकल स्टोर्स शुरू की गई है, ताकि निम्न वर्ग के लोग भी दवाई ले सकें।

 इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष पायल गुप्ता, नगर पालिका उपाध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप सिंह, कलेक्टर दीपक सोनी, डिप्टी कलेक्टर सुरेंद्र ठाकुर, सीएचएमओ डॉ. जी सी शर्मा, सिविल सर्जन डॉ. आर एल गंगेश, डॉ देश दीपक, नगर पालिका सीएमओ लालसिंह मरकाम, जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।

श्रम पोर्टल पर हजार ने कराया पंजीयन
20-Oct-2021 6:26 PM (29)

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 20 अक्टूबर। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों का डेटाबेस तैयार करने के लिए ई-श्रम पोर्टल लाँच किया गया है। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को अब ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराने के उपरांत ही सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलेगा। जिला में असंगठित श्रमिकों का पंजीकरण करने के लिए उन्हें जागरूक किया जा रहा है, ताकि ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को ई-श्रम पोर्टल से जोड़ा जा सके।

 जिला श्रम एवं रोजगार विभाग द्वारा बताया गया कि जिले में अब तक असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले 1031 श्रमिक ई-श्रम पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा चुके हैं। विभाग द्वारा श्रमिकों को गांव-गांव जाकर जागरूक किया जा रहा है ताकि असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले सभी श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने उन्हें सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा सके। ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित श्रमिकों का पंजीकरण बिल्कुल नि:शुल्क है। पंजीकरण उपरांत श्रमिकों व मजदूरों के यूनिक आई-कार्ड बनाए जाते हैं। इस यूनिक आईडी कार्ड बनते ही असंगठित श्रमिकों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना सहित सरकार की ओर से दी जाने वाली विभिन्न योजनाओं का लाभ भी मिलता है। यूनिक आइडी कार्ड बनते ही असंगठित श्रमिकों को वे किस वर्ग से है का खाका तैयार करने के बाद सामाजिक सुरक्षा योजनाएं जोकि मंत्रालय और सरकार द्वारा चलाई गई जा रही हैं, का लाभ आसानी से मिल सकेगा। यूनिक आई कार्ड के माध्यम से श्रमिकों को आसानी से ट्रैक किया जा सकेगा। आपदा के समय इन असंगठित श्रमिकों तक आसानी से मदद पहुंचाई जा सकेगी। सरकार रोजगार के अवसर भी सृजित कर सकेगी, साथ ही यदि कहीं किसी विशेष वर्ग के श्रमिकों की जरूरत होगी तो इसी यूनिक आईडी के माध्यम से इन लोगों को सूचित भी कर दिया जाएगा।

 ई-श्रम पोर्टल पर छोटे किसान, पशुपालक, कृषि क्षेत्र में लगे मजदूर, ईंट भ_ों पर काम करने वाले मजदूर, मछली विक्रेता, मोची, घरों में काम करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले, न्यूजपेपर वेंडर, कारपेंटर, प्लंबर, रिक्शा व आटो रिक्शा संचालक, मनरेगा मजदूर, दूध विक्रेता, स्थानांतरित लेबर, नाई, ऐसे मजदूर जो किसी संगठन के साथ नहीं जुड़े हो वह सब अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

असंगठित श्रमिकों व मजदूरों के पंजीकरण के लिए आवेदक की उम्र 16 से 59 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक किसी भी संगठित समूह या संस्था का सदस्य नहीं होना चाहिए। पंजीकरण के लिए आवेदक के पास आधार कार्ड नंबर, बैंक पासबुक की फोटो कापी व मोबाइल फोन नंबर होना अनिवार्य है। इस संबंध में अधिक जानकारी श्रम एवं रोजगार विभाग या सीएससी से प्राप्त की जा सकती है।

5 सौ से अधिक ग्रामीणों का बना आधार
20-Oct-2021 5:36 PM (22)

दन्तेवाड़ा, 20 अक्टूबर। कलेक्टर दीपक सोनी के निर्देशानुसार विकासखण्ड गीदम के अंतर्गत  इंद्रावती पार के ग्राम पंचायत चेरपाल, कौरगांव, तुमरीगुंडा एवं पाहुरनार में आधार कार्ड बनवाने हेतु शिविर का आयोजन किया गया।

शिविर में कौरगांव में 214, चेरपाल, तुमरीगुंडा एवं छोटे करका में कुल 140, पाहुरनार व बड़ेकरका में 81 हितग्राहियों ने पंजीयन कराया। पूर्व में लगे मेगा कैम्प के जरिये ग्राम पंचायत चेरपाल में 50 हितग्राहियों को आधार कार्ड का वितरण किया गया था। विगत दिवस कटेकल्याण विकासखण्ड के ग्राम चिकपाल में भी आधार कार्ड बनवाने के लिए शिविर का आयोजन किया गया।

इस शिविर में आसपास के ग्राम पंचायत मारजूम, चिकपाल, जंगल पारा के साथ आसपास के ग्रामीण बड़ी संख्या में पहुँचे, जहाँ कुल मिलाकर 569 हितग्राहियों ने पंजीयन करवाया। ये ऐसे गांव हैं जो पहुंच विहीन एवं दुर्गम क्षेत्रों में स्थित हैं जहां शासन की योजनाओं को पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्हें मूलभूत सुविधाएं प्रदान कर मुख्य धारा से जोडऩे की कोशिश की जा रही है जिससे उन्हें वंचित योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके। आगामी दिवसों में अन्य ग्रामों में भी शिविर का आयोजन किया जाएगा।

जिससे जिले के अधिक से अधिक ग्रामीण जन सरलता से आधार कार्ड बनवा सके और विभिन्न शासकीय योजनाओं का लाभ ले सकें।
 

ईद मिलादुन्नबी पर अस्पताल में मरीजों को फल वितरित
19-Oct-2021 8:51 PM (33)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली, 19 अक्टूबर।  नगर में मंगलवार को जश्ने ईद मिलादुन्नबी पर सुबह नगर में जुलूस निकाला गया। इसके बाद मुस्लिम समुदाय के द्वारा अपोलो अस्पताल में मरीजों को फल व कपड़े वितरित कर स्वस्थ होने की कामना की। पुरूष मरीजों को लुंगी व महिला मरीजों को साड़ी वितरण किया गया।

 इस दौरान अपोलो चिकित्सा प्रशासक डॉ. एसएम हक, सिविल विभाग के सहायक महाप्रबंधक जेडएन अंसारी, मस्जिद कमेटी के अध्यक्ष फखरे आलम, फिरोज नवाब, महबूब बाशा, शेख मीणा हज, आफताब आलम, अख्तर खान, सलमान नवाब, मोहम्मद मुश्ताक, शबीना आलम, सैयद मोहम्मदीन एवं अन्य की मौजूदगी रही।

सुबह नगर में जुलूस निकाला गया। मस्जि़द से निकलकर अस्पताल चौक, राजीव गांधी चैक, घड़ी चौक, घासीदास चौक, हाईटेक कॉलोनी, श्रमवीर चौक होते हुए वापस मस्जि़द पहुंचा। जगह-जगह पर शरबतों के साथ स्वागत किया गया। इसमे आबशार आलम, इमरान आलम, शाहबाज खान, अरशद, शकील, सद्दाम, सलमान व अन्य मौजूद रहे। मस्जि़द पहुॅचने के पश्चात परचम कुशाई की रस्म अदा कर नगर में एवं मुल्क की तरक्की के लिए दुआ की गई।

न.पा अध्यक्ष ने बांटे आयुष्मान कार्ड
19-Oct-2021 8:46 PM (31)

किरन्दुल, 19 अक्टूबर। किरंदुल के च्वाइस सेंटरों में आयुष्मान कार्ड बनाई जा रही है। नगर के राम सीएसी सेंटर में आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए अब तक 1500 लोगों ने आवेदन किया है, जिनमें 998 हितग्राहियों के बन चुके आयुष्मान कार्ड का वितरण मंगलवार को नगरपालिका अध्यक्ष मृणाल राय ने किया। नगरपालिका अध्यक्ष ने कहा कि आयुष्मान कार्ड से सभी बीपीएल परिवार को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ आसानी से मिल पाएगा। मौके पर सांसद प्रतिनिधि राजू रेड्डी,रवि दुर्गा, किशोर जाल मौजूद थे।

समय-सीमा की बैठक
19-Oct-2021 6:50 PM (23)

दंतेवाड़ा, 19 अक्टूबर। कलेक्टर दीपक सोनी ने कलेक्टरेट के सभा कक्ष में समय-सीमा की बैठक सोमवार को ली। बैठक में उन्होंने निर्धारित अवधि में ही आवेदनों को निराकरण करने के निर्देश दिये। नगरीय क्षेत्र में वन अधिकार पट्टा वितरण के संबंध में जानकारी ली, लोक सेवा गारंटी में, नजूल व्यस्थापन आबंटन, भूमिहिन कृषक न्याय योजना के प्रगति की जानकारी ली। स्वामी आत्मानंद स्कूल में प्रयोग शाला निर्माण के सबंध में जानकारी ली।

जिले में क्रियाशील गोठान, औद्योगिक निर्माण, चारागाह निर्माण, बाड़ी विकास, गोठानो में मल्टीएक्टीविटी सेन्टर और राईस मिल वितरण के सबंध में जानकारी ली। राजीव गांधी किसान न्याय योजना और वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के तहत अधिक से अधिक हितग्राहियों का पंजीयन कर योजना से लाभान्वित करने को कहा। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को जल जीवन मिशन योजना में प्रगति लाने के निर्देश दिए। हाट बाजार क्लीनिक योजना की जानकारी लेते हुए, हमर लैब के तहत सभी तरह की जांच सुविधा करने हेतु निर्देश दिए। समयानुसार मितानिनों को भुगतान करने हेतु निर्देशित किया गया। सुपोषण अभियान के संबंध में जानकारी ली। आश्रम छात्रावास, पोटाकेबिन में बच्चों को पूर्ण सुविधाएं मिले साथ ही सुरक्षा दृष्टि से बेहतर हो ये सुनिश्चित करने को कहा। श्री सोनी ने कहा कि सभी अधिकारी-कर्मचारी आपसी समन्वय रखते हुए टीम भावना और लक्ष्य के अनुरूप समय-सीमा में कार्य करें। बैठक में जिला पंचायत सीईओ अश्विनी देवांगन, संयुक्त कलेक्टर अभिषेक अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार एवं सभी विभागो के अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर ने दी ट्राई साइकिल
19-Oct-2021 5:48 PM (22)

दंतेवाड़ा, 19 अक्टूबर। कलेक्टर दीपक सोनी ने संयुक्त जिला कार्यालय परिसर में दिव्यांग को बैटरी चलित ट्रायसाईकल प्रदान कर उनकी राह आसान कर दी। दंतेवाड़ा निवासी छन्नूराम निषाद आत्मज लोकनाथ निषाद को बैटरी चलित ट्रायसाईकल प्रदान किया गया।  छन्नूराम अस्थिबाधित दिव्यांग है। वह किराना की दुकान चलाता है।अब उन्हें दैनिक क्रियाकलापों के साथ ही आसपास आने-जाने में काफी सहुलियत होगी। छन्नूराम ने कलेक्टर  का आभार व्यक्त किया। इसके उपरांत खुशी-खुशी अपने घर की ओर प्रस्थान किया।
 

पीएम आवास में गबन का आरोपी भानुप्रतापपुर से गिरफ्तार
18-Oct-2021 8:54 PM (22)

दंतेवाड़ा, 18 अक्टूबर। दंतेवाड़ा के गीदम नगर में धोखाधड़ी के आरोपी को पुलिस द्वारा सोमवार को भानुप्रतापपुर से हिरासत में ले लिया गया।

पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि बस्तानार पंचायत अंतर्गत ग्राम बागमुंडी पनेड़ा में 24 हितग्राहियों का प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत राशि स्वीकृत हुई थी। आरोपी सूर्यकांत उसारे (28 वर्ष) द्वारा योजना के हितग्राहियों को झांसा दिया गया। आरोपी ने कुछ हितग्राहियों के मकान अधूरे निर्माण किये, वहीं कुछ के मकान नहीं बनाये।  इसके चलते रविवार को गीदम थाने में आरोपी के विरुद्ध आवेदन दिया गया। पुलिस द्वारा मामले की प्रथम दृष्टया जांच की गई। आरोपी के विरुद्ध पर्याप्त सबूत पाए जाने पर उसके विरुद्ध धारा 420 दर्ज किया गया।

जुर्म दर्ज होते ही आरोपी फरार हो गया था। इसके चलते पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में गीदम थाना बल को भानुप्रतापपुर रवाना किया गया। थाना प्रभारी जय सिंह खूंटे के दल ने आरोपी को भानुप्रतापपुर से हिरासत में ले लिया। इसके उपरांत आरोपी को दंतेवाड़ा न्यायालय में पेश किया गया। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया।

 

एनएमडीसी नर्सिंग पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए लिखित परीक्षा
17-Oct-2021 10:52 PM (24)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली, 17 अक्टूबर। एनएमडीसी बचेली के सीएसआर के बालिका शिक्षा योजना के अंतर्गत बस्तर संभाग के आदिवासी छात्राओं के लिए नर्सिंग पाठ्यक्रम में नि:शुल्क शिक्षा देने 17 अक्टूबर को लिखित परीक्षा का आयोजन बचेली के प्रकाश विद्यालय में हुआ।

 40 पदों के लिए आयोजित इस परीक्षा में स्थानीय सहित बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर, बस्तर, कोंडागांव जिले की 1300 छात्राएं परीक्षा देने बचेली पहुंची। शीघ्र ही अपोलो एवं एनएमडीसी द्वारा चयनित छात्राओं को विभिन्न माध्यमों से आागमी प्रक्रिया के लिए सूचित किया जाएगा। चयन के उपरांत चयनित छात्राओं की स्वास्थ्य परीक्षा होगी, जो छात्राएं स्वास्थ्य परीक्षण में स्वस्थ पाई जाएगी, उनको नर्सिंग की पढ़ाई हेतु अपोलो इंस्टीट्यूट आफ नर्सिंग भेजा जायेगा। यहां पर यह उल्लेखनीय है कि इन छात्राओं का संपूर्ण खर्च जैसे पढ़ाई, किताबें, प्रेक्टिकल, यूनिफार्म, हॉस्टल एवं भोजन इत्यादि सभी सुविधाए एनएमडीसी द्वारा प्रदाय की जाएगी।

इस योजना अंतर्गत चयनित लगभग सारी छात्राएं अपनी पढ़ाई के उपरांत बस्तर आकर विभिन्न सरकारी तथा गैर सरकारी अस्पतालों में चयनित होकर काम करती हैं। इससे यह फायदा होता है कि उन्हें स्थानीय भाषा का ज्ञान होता है, जिसकी वजह से स्थानीय आबादी, समुदाय का ये छात्राएं बेहतर उपचार कर पाती है।

 50 प्रश्नों को एक घंटा में करना था हल,  सामान्य ज्ञान सहित विज्ञान से संबंधित पूछे गये प्रश्न

छात्राओं ने बताया कि 50 प्रश्न पूछे गये थे, जिसके लिए एक घंटा का समय दिया गया था। जिसमें शिक्षा दिवस कब मनाया जाता है? प्रदेश का सबसे विकसित जिला कौन सा है? छग का हाईकोर्ट कहां है? सहित अन्य समान्य ज्ञान के प्रश्न एवं इसके अलावा रसायन, वनस्पति, जीव विज्ञान से भी प्रश्न पूछे गये थे। प्रश्न पत्र का माध्यम अंग्रेजी भाषा में था।

सीएसआर के तहत दंतेवाड़ा जिला में कई गतिविधियां हैं संचालित

 एनएमडीसी के नैगमिक सामाजिक दायित्व यानि सीएसआर के अंतर्गत दंतेवाड़ा जिला में कई गतिविधियां संचालित है। जिनमें लगभग अनेक गतिविधियां राज्य, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुकी है। एनएमडीसी बालिका शिक्षा योजना एक ऐसी पहल है जिसके अंतर्गत बस्तर क्षेत्र की गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाली 40 आदिवासी छात्राओ को भारत वर्ष में प्रसिद्व अपोलो स्कूल ऑफ नर्सिंग हैदराबाद में नर्सिंग कोर्स हेतु भेजा जाता है। इस योजना के तहत 40 छात्राओं के 10 बैच अपोलो स्कूल ऑफ नर्सिंग में पढ़ाई हेतु हैदराबाद भेजा जा चुका है। अब तक जितनी भी छात्राएं पढ़ाई पूरी करके इस संस्थान से निकली हैं, उनमें से लगभग सभी को नौकरी प्राप्त हो चुकी है।

  आदिवासी संघ के अध्यक्ष अशोक नाग ने बताया कि कोविड गाइडलाइनों का पालन करते हुए पिछली बार 200 छात्राओं को बुलाया गया था, लेकिन बाद में समाज के आपत्ति जताने के बाद प्रबंधन ने हमारी मांगों को माना, 2600 से अधिक फॉर्म आये थे जिसमें 1300 वैध परीक्षा में शामिल हो रहे हंै। प्रथम पाली में दंतेवाड़ा, बीजापुर, बस्तर एवं द्वितीय पाली में नारायणपुर, कोंडागांव, सुकमा जिले की छात्राओं की परीक्षा हुई। छात्राओं के लिए भोजन की व्यवस्था मंगल भवन में की गई थी। साथ ही सभी के आने का किराया भी एनएमडीसी द्वारा वहन किया जाएगा।

 गौरतलब है कि इस वर्ष की यह परीक्षा दो बार स्थगित हो चुकी है। पहली बार यह परीक्षा 26 सिंतबर को आयोजित होना था लेकिन उसी दिन व्यापमं की पीएटी की परीक्षा होने के कारण स्थगित हुआ एवं 29 सितंबर को प्रशासन द्वारा परीक्षा पर रोक लगाई गई। जिसके बाद अब 17 अक्टूबर को आयोजित हुआ। कई छात्राओ के साथ उनके अभिभावक भी आये हुए थे। परीक्षा देने के बाद कई छात्राएं खुश दिखी तो कईयों में मायूसी भी थी।

परीक्षा के संचालन के दौरान सीएसआर उपमहाप्रबंधक सुनील उपाध्याय, प्रबंधक विवेक रक्षा, देबाशीष पाल, भांसी आईटीआई प्राचार्य कमलेश साहु, जावंगा स्थित पॉलीटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य मुकेश ठाकुर, शिक्षको, आदिवासी संघ के अध्यक्ष अशोक नाग, सहित पॉलीटेक्निक कॉलेज व् आईटीआई के स्टाफ एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे। सुरक्षा व्यवस्था के दौरान स्थानीय पुलिस एवं सुरक्षा गार्ड की तैनाती रही।

हर्षोल्लास के साथ मना बतुुकुम्मा पर्व
17-Oct-2021 10:48 PM (23)

बचेेली, 17 अक्टूबर। आंध्र सांस्कृतिक एसोसिएशन भवन में नगर के आंध्र समाज की महिलाओं द्वारा रविवार को बतुकुम्मा पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।  बटुकुम्मा के चारों ओर चक्कर लगाते हुए महिलाएं गाती झूमती नजर आई। इसमें फूलों से सात परत से गोपुरम मंदिर की आकृति बनाई जाती है। तेलुगु में बतुकुम्मा का अर्थ होता है देवी मां जिंदा है। सभी महिलाएं इसके चारों ओर गोला बनाकर क्षेत्रीय बोली में एक सुर में गाना गाते हुए परिवार की सुख, समृद्धि व खुशहाली की कामना की।   दरअसल यह तेलंगाना में महिलाओ द्वारा मनाया जाने वाला एक क्षेत्रीय पर्व है। पूरे तेलंगाना क्षेत्र में यह पर्व शालिवाहन संवत के अमावस्या तिथि से शुरू हो कर नौ दिनों तक मनाया जाता है। अंतिम दिन बतुकुम्मा को पानी में विसर्जित किया जाता है।

वेतन लंबित, इंटक ने दी आंदोलन की चेतावनी
17-Oct-2021 5:59 PM (31)

यूनियन के पदाधिकारियों ने बोनस लौटाया, 2 दिनों में वेतन नहीं देने पर भूख हड़ताल

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली, 17 अक्टूबर। मजदूर हितों के लिए आवाज़ बुलंद करने वाली मजदूर संगठन मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन (इंटक) ने एक बार फिर गांधीवादी तरीके से बचेली के ठेका श्रमिकों और किरंदुल परियोजना में कार्यरत अपोलो की नर्सिंग स्टाफ़ के माह भर से लंबित वेतन पर एनएमडीसी प्रबंधन को आड़े हाथ लेते हुए उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

गौरतलब है कि एनएमडीसी में नियमित कर्मचारियों के साथ एक बड़ा वर्ग ठेका श्रमिकों का भी है, जो उत्पादन और देश के विकास में नियमित कर्मचारियों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर अपना सकारात्मक योगदान दे रहा है,  वहीं किरंदुल परियोजना में कार्यरत अपोलो नर्सिंग स्टाफ़ ने भी वैश्विक महामारी के दौर में लगातार विगत दो वर्षों से दिन-रात एक कर अपनी सेवायें क्षेत्र को दी, मगर यूनियन के संज्ञान में आया है कि महीने के आधे दिवस बीत जाने के पश्चात भी नर्सिंग स्टाफ़ वेतन की समस्या से जूझ रही है, वहीं ठेका श्रमिकों को भी लंबित वेतन भुगतान नहीं हुआ है।

बीते वर्ष भी ठेका श्रमिकों के त्यौहार में बोनस को लेकर इंटक ने मोर्चा खोला था और सख्त तौर पर प्रबंधन को हिदायत दी थी कि जो ठेकेदार ठेका श्रमिकों के वेतन और बोनस में लापरवाही बरतेगा, उसे परियोजना में कार्य नहीं करने दिया जाएगा।

 नवरात्र के समापन के पश्चात तक ठेका श्रमिकों का वेतन उनके खाते में न पहुंचने पर मजदूर संगठन मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन के पदाधिकारी आशीष यादव और देबाशीष पॉल  ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अपना बोनस प्रबंधन को चेक के माध्यम से लौटते हुये चेतावनी दी है कि आगामी 2 दिवस के भीतर ठेका श्रमिकों और किरंदुल अपोलो नर्सिंग स्टाफ का लंबित वेतन नहीं दिया गया तो मजदूर संगठन मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन के दोनों पदाधिकारी प्रशासनिक भवन बचेली स्थित बाबा साहब अम्बेडकर की प्रतिमा के सामने भूख हड़ताल पर बैठेंगे।

आशीष यादव ने बताया कि लगातार विभागाध्यक्षों के संज्ञान में मामले को लाने के बावजूद प्रबंधन की बेरुखी की वजह से मजदूर संगठन ने यह रास्ता इख्तियार किया है। ठेका श्रमिक और नर्सिंग स्टाफ सदैव हमारी सहयोगी रही है और समय-समय पर संगठन भी इनके हितों की लड़ाई लड़ता रहा है, ऐसे में एक घर में खुशी का माहौल हो और दूसरे तरफ आर्थिक तंगी का आलम हो तो हम कैसे खुशी मना सकते हंै। इसी वजह से बचेली मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन शाखा के दोनों पदाधिकारियों ने अपना बोनस चेक प्रबंधन को लौटते हुये प्रबंधन से मांग की है कि आगामी 2 दिनों के भीतर यदि ठेका श्रमिकों को बकाया और किरंदुल अपोलो नर्सिंग स्टाफ को लंबित वेतन नहीं दिया गया तो संगठन आंदोलन को बाध्य होगी।

दशहरा पर्व, नहीं हुआ बड़ा आयोजन
16-Oct-2021 10:55 PM (27)

बचेली, 16 अक्टूबर।  बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा पर्व बचेली नगर में मनाया गया। कोरोना नियमों के चलते लगातार यह दूसरी बार है, जब भव्य आयोजन नहीं हुआ। छग सांस्कृतिक समिति के द्वारा स्थनीय केंद्रीय विद्यालय फुटबॉल मैदान में विधिवत पूजा कर 8-10 फ़ीट के रावण के पुतले का दहन किया गया। इस दौरान मैदान में 50-60 लोगों की मौजूदगी रही। आतिशबाजी भी की गई।

ज्ञात हो कि बचेली नगर में छग सांस्कृतिक समिति द्वारा 40-42 वर्षों से 50-55 फ़ीट के रावण के पुतले का दहन किया  जाता रहा है, लेकिन कोविड संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन से अनुमति ना मिलने के कारण यह लगातार दूसरी बार यह पर्व धूमधाम से नहीं मनाया जा सका।

सरकारी राशन दुकान की बागडोर अब महिलाओं के हाथ में
16-Oct-2021 10:50 PM (33)

तीन उचित मूल्य की दुकानों को उद्घाटन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली, 16 अक्टूबर। प्रदेश की भूपेश सरकार महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए नई-नई योजनाएं बना रही है। अब महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की पहल करते हुए बचेली नगर में तीन सरकारी राशन दुकानों की बागडोर महिला के हाथों में आई।

नगर पालिका वार्ड क्रं. 5, 8, 16 में शनिवार को शुभारंभ किया गया। इसका संचालन स्थानीय महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा किया जाएगा। तीन महिला समूह जीवन ज्योति, संगवारी, भगवती स्व सहायता समूह के द्वारा संचालन किया जाएगा।

इस अवसर पर महिला बाल विकास प्रभारी किरण जायसवाल ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में महिलाओं के पास कार्य नहीं था, लेकिन अब महिलाएं खुश है और आत्मनिर्भर बन रही है। दंतेवाड़ा जिला पंचायत अध्यक्ष तूलिका कर्मा एवं महामंत्री सलीम रज़ा उस्मानी का विशेष योगदान रहा। इसे महिला उत्थान की ओर एक अच्छा प्रयास बताया जा रहा है।

इस दौरान बचेली पालिकाध्यक्ष श्रीमती पूजा साव, उपाध्यक्ष उस्मान खान, ब्लॉक अध्यक्ष संतोष दुबे, पार्षद दमयंती साहु, चंपा मरकाम, लता नाग, लक्ष्मी साहू, बिन्द्रा नायक, रानी  व समूह की अन्य महिला सदस्य उपस्थित रही।

शोभायात्रा निकालकर दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन
16-Oct-2021 10:49 PM (32)

बचेली, 16 अक्टूबर। लौह नगरी बचेली में जगह-जगह पंडालों में स्थापित देवी माँ की प्रतिमाएं शुक्रवार को विसर्जित की गई। नौ दिनों तक आदिशक्ति माँ दुर्गा की भक्ति व सेवा में डूबे श्रद्धालुओं ने माँ दुर्गा की प्रतिमा को विसर्जित किया। पुराना मार्केट वार्ड 9 के लेबर हाटमेंट में स्थापित प्रतिमा का शोभायात्रा निकालकर प्रतिमा सहित जवारा का विसर्जन किया गया।

बंग समाज की महिलाओं ने सिंदूर उत्सव मनाया। समाज की महिलाओं द्वारा पारम्परिक रूप से यह उत्सव विदाई से पूर्व मनाया जाता है। महिलाओं ने जमकर सिंदूर खेला। माँ को सिंदूर लगाते हुए महिलाये काफी भावुक दिखी। विदाई के इस पल में उत्साह व उमंग का वातावरण दिखाई दिया।

ज्योति कलश भवन की कमी होगी दूर
14-Oct-2021 10:15 PM (40)

भवन निर्माण का भूमिपूजन
दंतेवाड़ा, 14 अक्टूबर।
दंतेश्वरी माता मंदिर स्थित ज्योति कलश भवन में कलशोंं की अधिक संख्या के चलते समस्या हो रही थी। जिला प्रशासन द्वारा उक्त समस्या को दूर करने की दिशा में कदम उठाया गया। विधायक देवती कर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष तूलिका कर्मा और कलेक्टर दीपक सोनी के द्वारा मंदिर परिसर में बनाये जा रहे ज्योति कलश भवन के लिए भूमिपूजन किया गया। इस अवसर पर प्रधान पुजारी हरेन्द्रनाथ जिया, औषधि पादप बोर्ड उपाध्यक्ष छबिन्द्र कर्मा, एसडीएम अबिनाश मिश्रा, मुकुन्द ठाकुर और  मुकेश कर्मा सहित अन्य सदस्यगण मौजूद थे।

बालिका दिवस पर विभिन्न गतिविधियां
13-Oct-2021 11:38 PM (31)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 13 अक्टूबर। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर दंतेवाड़ा जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों में ‘मेरी बिटिया मेरी पहचान’ का आयोजन किया गया, जिसमें 951 आंगनबाड़ी की कार्यकर्ताओं, 1660 बच्चों और अभिभावकों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया।

इस अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम जैसे पौधारोपण, रंगोली, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। आंगनबाड़ी परिसर को मनमोहक रंगोलियों से सजाया गया। इसके साथ ही बच्चों का स्वागत कर अभिभावकों से 600 से ज्यादा पौधारोपण कराकर यह शपथ ग्रहण करवाया गया- जिस प्रकार इस पौधे को बढऩे के लिए पानी, खाद और धूप की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार अभिभावक भी अपने बच्चों के संपूर्ण विकास और उनके उज्जवल भविष्य के लिए हर मुमकिन प्रयास करें और उन्हें बेहतर शिक्षा मिले यह सुनिश्चित करें।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर-घर जाकर अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस और बालिका शिक्षा के महत्व पर चर्चा की। उनसे बिटिया के नाम के साथ मेरी बिटिया मेरी पहचान लिखकर अपने घर के बाहर लगाने का आग्रह किया, जिससे समाज में सकारात्मक संदेश और बालिका शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाई जा सके।

 इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्रों में सेल्फी जोन की स्थापना की गई, जिसमें अभिभावकों ने अपने बच्चों के साथ सेल्फी ली। अंत में शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया।

अष्टमी पर माई की डोली रवाना
13-Oct-2021 11:36 PM (43)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 13 अक्टूबर। नवरात्रि के आठवें दिन दंतेश्वरी मंदिर में बुधवार को देवी के महागौरी रूप की विधिवत पूजा की गई। देवी का आकर्षक श्रृंगार किया गया था। देवी के दर्शन के लिए सुबह से ही दर्शनार्थियों की कतार लग गई थी।

 दोपहर तक श्रद्धालुओं द्वारा माता के दर्शन करने की होड़ लगी रही। मंदिर की यज्ञशाला में अष्टमी के उपलक्ष्य में यज्ञ संपन्न हुआ,  जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने आहुति डाली।

दोपहर उपरांत माई की डोली मंदिर परिसर से बाहर निकाली गई। माई के सम्मान में जवानों द्वारा हर्ष फायरिंग की गई। फूलों से सुसज्जित डोली पर भक्तों द्वारा आस्था के फूल बरसाए जा रहे थे। डोली के पीछे जनसैलाब चल रहा था। रानी बगीचा में डोली की पूजा के पश्चात जगदलपुर रवाना किया गया। इस दौरान जिले के अधिकारी और बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

आपदा पीडि़तों को आर्थिक सहायता
13-Oct-2021 11:34 PM (33)

दंतेवाड़ा, 13 अक्टूबर। कलेक्टर दीपक सोनी ने प्राकृतिक आपदा से मृत्यु के प्रकरणों में राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 में दिए गए प्रावधानों के तहत मृतकों के निकटतम वारिसों के लिए चार-चार लाख रुपये की सहायता राशि स्वीकृत की है।

दन्तेवाड़ा तहसील अन्तर्गत ग्राम ग्राम भोगाम निवासी सुदार पिता रामू की पानी में डूबने से मृत्यु, होने के प्रकरण में उनके निकटतम वारिस मंगली, तथा गीदम अन्तर्गत ग्राम बारसूर कलमभाटापारा निवासी विजय कुमार नाग की पानी में डूबने से मृत्य होने के प्रकरण में उनके निकटतम वारिस पुरूषोतम नाग को चार लाख की सहायता राशि स्वीकृत की गई है।

आम के किसानों की कार्यशाला
12-Oct-2021 8:47 PM (39)

दंतेवाड़ा, 12 अक्टूबर। केंद्र और राज्य सरकार द्वारा दंतेवाड़ा जिले को आम के उत्पादों के गुणवत्तापूर्ण प्रसंस्करण और विपणन हेतु चयनित किया गया है। इसके फलस्वरूप आम उत्पादक किसानों की आमदनी को दोगुनी करने का उद्द

कलेक्टर दीपक सोनी के मार्गदर्शन में जिला उद्योग केंद्र और कृषि विज्ञान केंद्र के संयुक्त तत्वावधान में गीदम के जावंगा स्थित ऑडिटोरियम में मंगलवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण सह कार्यशाला का सफल आयोजन किया गया। समारोह के आरंभ में उद्योग केंद्र और कृषि विज्ञान केंद्र के अधिकारियों की मौजूदगी में द्वारा माता सरस्वती के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गई।

कार्यशाला में पहुंचे कलेक्टर का वरिष्ठ वैज्ञानिक, कृषि विज्ञान केंद्र नारायण साहू ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। मुख्य संबोधन में कलेक्टर ने कार्यशाला की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला।

उन्होंने आम उत्पादक किसानों से आम से अमचूर के अतिरिक्त अन्य उत्पादों को जिले में ही प्रसंस्कृत किये जाने की समझाइश दी।इस प्रक्रिया को पंचायतों के समूह बनाकर अमलीजामा पहनाने निर्देशित किया। उन्होंने 7 ग्राम पंचायतों के किसानों के समूह बनाकर आम के उत्पादों के मूल्यवर्धन की सलाह दी। जिला प्रशासन द्वारा इस प्रक्रिया में संपूर्ण सहयोग दिया जाएगा। किसानों द्वारा तैयार आम के उत्पादों को दंतेवाड़ा के ब्रांड डेनेक्स का नाम भी दिया जाएगा। इससे पूर्व जगदलपुर स्थित उद्यानिकी महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक आरके देवांगन ने आम के विभिन्न उत्पादों की जानकारी दी।उक्त उत्पादों के निर्माण की प्रक्रिया से भी अवगत कराया। इसके उपरांत सहायक संचालक उद्यान डिकलेश कुमार ने किसानों को संबोधित किया। उन्होंने किसानों को परंपरागत कृषि से हटकर आम उत्पादन से जुडऩे की सलाह दी।

इसी कड़ी में वैज्ञानिक श्री साहू ने किसानों को संबोधित किया। उन्होंने एक जिला-एक उत्पाद अंतर्गत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दंतेवाड़ा का चयन आम उत्पादकों के प्रसंस्करण हेतु किया जाना बताया। उन्होंने कार्यशाला के उद्देश्य से अवगत कराया। उन्होंने किसानों की विभिन्न समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुना। इसके उपरांत उनके समस्याओं के समाधान की जानकारी दी। श्री साहू ने किसानों से आत्मनिर्भर दंतेवाड़ा बनाने की अपील की। मंच संचालन संतोष ध्रुव ने किया।

प्रशिक्षक नेंं दी गहन जानकारी

इस अवसर पर रायपुर से पहुंचे मुख्य प्रशिक्षक परदेसी राम महानंद ने आम के विभिन्न उत्पादों का प्रदर्शन किया। उन्होंने कलेक्टर श्री सोनी को विभिन्न उत्पादों की जानकारी दी इनमें आम का शरबत, पना आम के अचार, अमचूर पाउडर और मुरब्बा प्रमुख रूप से शामिल थे कलेक्टर ने प्रशिक्षक के योगदान की सराहना की। इस मौके पर किसानों ने विशेषज्ञों से सवाल भी किये। जिनका वैज्ञानिकों नें जवाब दिये। इस अवसर पर प्रमुख रूप से महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र अर्जुन जुर्री, सहायक संचालक कृषि श्री पैंंकरा,रामसिंह नाग, और प्रबंधक श्री नेताम मौजूद थे।

स्कूल में बालिका दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम
12-Oct-2021 8:46 PM (27)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली /किरंदुल, 12 अक्टूबर।  किरंदुल नगर के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विघालय में विश्व बालिका दिवस के अवसर पर 9 से 11 अक्टूबर तक विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। संकुल प्राचार्य उमा ठाकुर व प्रधानाध्यपक राजेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि बैठक में बाल देवो भव:, छात्रो की उपस्थिति के संबंध में पठन एवं कौशल पर कमजोर एवं होशियार छात्रों के प्रदर्शन और विशेष रूप से बालिका शिक्षा पर अभिभावकों से चर्चा की गई।

साथ ही इस दिवस के उपलक्ष्य में संस्था में विभिन्न कार्यक्रम जैसे कुर्सीदौड़, कैरम, कबड्डी, चित्रकला, निबंध लेखन, लोकनृत्य एवं नाटक आदि कराया गया। संकुल प्राचार्य के द्वारा बालिकाओ के शिक्षा पर विशेष ध्यान देने हेतु पालकों से निवेदन किया गया।

कोरोना से मृत्यु पर 50 हजार की मदद
12-Oct-2021 6:41 PM (26)

दंतेवाड़ा, 12 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार कोविड-19 के कारण मृत व्यक्तियों के परिजनों को आर्थिक अनुदान सहायता उपलब्ध कराने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया गया है।

इसके लिये राज्य आपदा मोचन निधि के तहत 50 हजार रूपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण/जिला प्रशासन द्वारा (कोविड-19 के कारण मृत्यु तथा तत्संबंध में प्रमाण-पत्र के साथ) आवेदन प्राप्त होने के 30 दिनों की अवधि में अनुग्रह सहायता राशि रुपए 50 हजार रूपये का भुगतान किया जाएगा।

जिले में गठित समिति के द्वारा आवेदक के पास सीडीएसी द्वारा जारी मृत्यु के संबंध में अधिकारिक प्रमाण पत्र जमा किया जाना अनिवार्य है। आवेदक को निर्धारित प्रारूप में आवेदन प्रस्तुत किया जाना है।

नवरात्र: मां कात्यायनी की हुई पूजा रईएस कॉलोनी दुर्गा मंदिर में 111 ज्योत प्रज्जवलित
11-Oct-2021 9:21 PM (42)

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बचेली, 11 अक्टूबर। शारदीय नवरात्र के छठवें दिन सोमवार को मां दुर्गा के छठे स्वरूप मां कात्यायनी की पूजा विधि-विधान से की गई। बचेली नगर के वार्ड क्रं. 4 आरईएस कॉलोनी स्थित दुर्गा मंदिर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा व विधि विधान से पूजा की जा रही।

दुर्गा मंदिर समिति के अध्यक्ष आरएल दास ने बताया कि इस बार कोराना काल में जिला प्रशासन के निर्देशानुसार का पालन करते हुए पूजा किया जा रहा है। मंदिर प्रागंण में 111 मनोकामना ज्योत कलश की स्थापित की गई है। पिछली बार कोविड के कारण पूजा सही से सम्पन्न नहीं हो पाया था, इस बार इस पर्व को लेकर भक्तों में खासा उत्साह है।

 

Previous123456789...4142Next