छत्तीसगढ़ » दन्तेवाड़ा

Date : 25-Jun-2019

सुरक्षित यातायात अभियानपुलिस ने शराबी चालकों पर लगाया जुर्माना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 25 जून
।दंतेवाड़ा यातायात पुलिस का सुरक्षित यातायात अभियान जारी है।इसी कड़ी में रविवार को टेकनार मार्ग में पुलिस नें जांच शिविर लगाया।इस दौरान दो दर्जन से अधिक वाहन चालकों की जांच की गई।इसमें श्वांस विश्लेषक से वाहन चालकों में शराब के स्तर का विश्लेषण किया गया।उक्त जांच में 5 वाहन चालकों में शराब का स्तर निर्धारित मानक से अधिक पाया गया।इस पर पुलिस नें धारा 185 अंतर्गत कार्यवाही की।वाहन चालकों को शराब के नशे में वाहन न चलानें की सवाह दी गई।जिससे सफर  सुरक्षित रहे।इस दौरान विभागीय कर्मचारियों की सराहनीय भूमिका रही।

 

 

 


Date : 25-Jun-2019

नक्सल नेता ने लगाया भूपेश और लखमा पर आदिवासियों को धोखा देने का आरोप
आंदोलन में साथ देने के लिए एनएमडीसी कर्मियों को दी बधाई 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
किरंदुल, 25 जून।
 माओवादियों की दरभा डिवीजन कमेटी के सचिव सांई नाथ ने प्रेस नोट जारी कर एनएमडीसी की 13 नम्बर लोह अयस्क खदान अडानी को दिये जाने व आदिवासियों की आस्था पर्वत नन्दराज की खुदाई की लीज दिए जाने का विरोध करते हुए उद्योग मंत्री कवासी लखमा व प्रदेश सरकार पर गम्भीर आरोप लगाया है। 

प्रेस नोट में मंत्री कवासी लखमा पर आंदोलनकारियों का साथ न देकर कनाडा घूमने ओर उद्योगपतियों को छत्तीसगढ़ में उद्योग लगाने का निमंत्रण देने का आरोप लगाया है।  वहीं भूपेश बघेल सरकार पर आंदोलन को शांत करने के लिये फर्जी ग्राम सभा व वनों की कटाई की जांच का झूठा आदेश देने का नाटक करते हुए टीम गठित कर ग्रामीणों को बहलाने का आरोप लगाया है। जारी प्रेस नोट में 7 जून से 13 जून तक किरन्दुल और बचेली में बड़े उद्योगपति अडानी के खिलाफ आंदोलन को जनाक्रोश बताया कि अपने आस्था के प्रतीक नन्दराज पर्वत को बचाने के लिये प्रकट हुआ है । प्रेस नोट में एनएमडीसी के मजदूर व आंदोलन में समर्थन देने वालो को बधाई की बात लिखी है। 


Date : 24-Jun-2019

सर्वसुविधा युक्त भवन के बावजूद शासकीय आदर्श पूर्व माध्यमिक विघालय को नहीं मिला हाईस्कूल का दर्जा 

आधे किमी के दायरे में है दो हाईस्कूल, इनके पास उचित भवन तक नहीं 

बचेली, 24 जून। जहॉं सारी सुविधाएं है वहॉं के स्कूल का उन्नयन नहीं किया गया, जबकि इसके विपरीत जिन स्कूल में सुविधाओं का अभाव उस स्कूल को उन्नयन कर दिया गया है। नगर पालिका बचेली के वार्ड क्रं. 4 स्थित शासकीय आदर्श पूर्व माध्यमिक विघालय है, जो वर्ष 1982 में स्थापित हुआ था तथा पिछले 35 वर्षो से माध्यमिक स्तर पर संचालित है। इस स्कूल का उन्नयन हाईस्कूल में किय जाने की मांग पिछले कई समय से की जा रही है। यह स्कूल नगर के मध्य भाग में होने के कारण छात्र-छात्राओं की दर्ज संख्या अधिक रहती है एवं वर्तमान में एनएमडीसी सीएसआर के तहत बने सर्वसुविधा युक्त भवन भी है। 

वही इसके विपरीत इस स्कूल से करीब 3 किमी दूर पुराना मार्केट हायर सेकेंडरी स्कूल का उन्नयन कर हाईस्कूल का दर्जा दिया गया है। जहॉ न तो इस स्कूल के पास सही भवन है और न ही छात्र-छात्राओं की दर्ज संख्या अधिक रहती है। इसी स्कूल के नजदीक एक और हाईस्कूल है। 

संयुक्त शाला विकास प्रबंधन समिति के अध्यक्ष ने बताया कि शासकीय आदर्श पूर्व माध्यमिक शाला का उन्नयन हाईस्कूल में किये जाने से बच्चो को अध्ययन करने में सुवधि होगी। कई वर्षो से हमारी मांग रही थी, लेकिन पहले हमारे पास भवन नही था, परंतु अब वर्तमान में एनएमडीसी बचेली के सीएसआर विभाग द्वारा दो मंजिला नवनिर्मित शाला भवन बनाकर दिया गया है। साथ ही इस भवन में शौचालय की व्यवस्था है साथ ही खेल का मैदान भी है। आधा किमी के दायरे में दो हाईस्कूल है जबकि इस स्कूल को हाईस्कूल का दर्जा देने कई समय से मांग की जा रही है। 

यहॉ पर हाईस्कूल के पर्याप्त कक्ष भी है जबकि कई मीडिल स्कूलों को हाईस्कूल में बदला जा चुका है। रेल्वे कॉलोनी, डीएनके 2, ग्राम नेरली, बड़ेपारा, न्यू मार्केट, आरईएस कॉलोनी के बच्चो को हाईस्कूल के लिए पुराना मार्केट जाना पड़ता है,  जो कि इन क्षेत्रो से काफी दूर है। बच्चे आने-जाने में ही थक जाते है। इसलिए शासन से मांग की गई थी कि न्यू मार्केट वार्ड क्रं 4 के माध्यमिक स्कूल का उन्नयन कर हाईस्कूल का दर्जा दिया जाये। इस संबंध में कलेक्टर से मांग की जा चुकी है साथ ही वर्ष मई 2018 में पूर्व सीएम के बचेली में विकास यात्रा के दौरान भी मांग की गई थी। इसके अलावा कई बार इस स्कूल के उन्नयन की मांग की जा चुकी है। 

 संबंधित विभाग का इस सबंध में कहना है कि शासन को इसके लिए प्रस्ताव भेजा गया है, आदेश के बाद वार्ड 4 के आदर्श माध्यमिक विघालय का उन्नयन कर दिया जायेगा। 


Date : 23-Jun-2019

दो साल से पशु चिकित्सालय में डॉक्टर नहीं, पशुपालक हो रहे परेशान, स्थानांतरण के बाद से ही रिक्त है पद 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बचेली, 23 जून।
पुराना मार्केट बचेली स्थित कृत्रिम गर्भाधान केन्द्र पशु चिकित्सालय में दो साल से अधिक समय से पशु चिकित्सक नहीं होने से परेशानी हो रही है। पशुपालकों को बीमार पशुओं के उपचार के लिए भटकना पड़ रहा है।
पशु चिकित्सक के नहीं होने का खामियाजा पशु मालिकों को भुगतना पड़ रहा है। सिर्फ दो स्टाफ के भरोसे केन्द्र चल रहा है। जानवरों को विभिन्न प्रकार की बीमारियां हो रही है जिसमें नगर के गायों में गारिया जिसे खुरसाड़ा भी कहते हैं, यह बीमारी हो रही है, लेकिन इसका इलाज करने वाले कोई नहीं है। दो साल पूर्व से पदस्थ डॉक्टर के गरियाबंद स्थानांतरण होने के बाद से यहां डॉक्टर का पद खाली है। 

 इस संबंध में हर स्तर पर प्रशासन से मांग की जा चुकी है। मई 2019 में जिला कलेक्टर से पशु चिकित्सक पदस्थ करने की मांग की गई थी, उससे पहले वर्ष मार्च 2018 में केन्द्रीय विद्यालय मैदान में आयोजित लोक समाधान शिविर में भी पशु चिकित्सालय में डॉक्टर नहीं होने की समस्या को लिखित आवेदन दिया गया था। उस वक्त भी सिवाय आश्वासन के कुछ नहीं मिला है। 

जिला पशु चिकित्सक का इस संबंध में कहना है कि शासन से हमारे द्वारा मांग की जा चुकी है, वहां से डॉक्टर आने पर तत्काल पदस्थ किया जाएगा।  

 


Date : 23-Jun-2019

कोहरे की चादर से ढका बैलाडीला पहाड़, दो दिन से बारिश, मौसम सुहावना

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बचेली, 23 जून।
पिछले दो दिनों से दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा के बैलाडीला क्षेत्र में मानसून अपने पूरे शबाब पर है। देर से ही सही इस बार बचेली किरंदुल क्षेत्र में मानसून आया और यहां का मौसम सुहावना हो गया है। लौह नगरी बचेली स्थित बैलाडीला की पहाडिय़ों में मानो ऐसा लग रहा है जैसा कोहरे की चादर ने ढक रखा हो। सौंदर्य से सराबोर यह दृश्य उत्तरभारत में स्थित पहाडिय़ों की याद दिलाती है। मौसम केंद्र के अनुसार इन क्षेत्रों में अभी कुछ दिन और बारिश होगी। 


Date : 22-Jun-2019

योगासनों की जानी बारीकियां, दंतेवाड़ा में मेंढका डोबरा मैदान में आयोजन

दंतेवाड़ा, 22 जून।विश्व योग दिवस के मौके पर जिला मुख्यालय के मेंढका डोबरा मैदान में हजारों नागरिकों द्वारा योग अभ्यास किया।जिससे चहुंओर ऊंकार नाद गुंजायमान हुआ।समारोह के मुख्य अतिथि लखेश्वर बघेल नें अपनें सम्बोधन में योग की महत्ता को प्रतिपादित किया।

भारत के ऋषियों की विरासत योग है।जिसकी उपयोगिता के चलते  संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रतिवर्ष 21जून को विश्व योग दिवस का आयोजन किया जाता है।अध्यक्ष, जिला पंचायत कमला नें योग के पांचवे संस्करण के आयोजन पर प्रसन्नता जाहिर की।उन्होनें कहा कि योग से हमें स्वस्थ जीवन जीनें में सहयोग मिलता है।इस अवसर पर कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा नें वर्तमान व्यस्त जीवन शैली में योग आसनों के माध्यम से तनाव का निदान किया जाता है।योग से उर्जा का संचार भी होता है।इस मौके पर कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा जिला पंचायत सीई एस आलोक सहित अधिकारी गण उपस्थित थे। 


Date : 22-Jun-2019

एड़समेटा मुठभेड़, उच्चतम न्यायालय में दायर याचिका पर न्यायालय ने संज्ञान लिया, सीबीआई करेगी जांच 

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दंतेवाड़ा,22 जून। बीजापुर जिले के गंगालूर थाना क्षेत्र अंतर्गत एड़समेटा गांव में वर्ष 2103 में हुए पुलिस मुठभेड़ की जांच की याचिका मानव अधिकार संगठनों द्वारा की गयी थी। उच्चतम न्यायालय में दायर याचिका पर न्यायालय ने संज्ञान लिया। इस प्रकरण की जांच छत्तीसगढ़ राज्य से बाहर के जांच दल द्वारा करवाने आदेशित किया। इसी तारतम्य में केंद्रीय जांच ब्यूरो का दल जल्द ही घटनास्थल पहुंचेगा। घटनास्थल में मुठभेड़ के गवाहों के बयान दर्ज करेगा। इसके साथ ही साक्ष्य जुटाएगा।

यह जानकारी देने ह्युमन राइट्स लॉ नेटवर्क के वकील और याचिकाकर्ता की छह सदस्यीय टीम ग्रामीणों के पास देने दंतेवाड़ा पहुंची थी।  इसमें याचिकाकर्ता डिग्री प्रसाद चौहान, किशोर नारायण, राणा विश्वास, एलनाँर भी थी।

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एल. नागेश्वर राव और एमआर शाह की बेंच ने सुनवाई करते हुए कहा कि बीजापुर के गंगलुर थाने के एडसमेटा इलाके में जो मुठभेड़ 17 मई 2013 को हुई थी। उसके लिए राज्य सरकार ने घटना के 11 दिन बाद 28 मई को एसआईटी गठित की थी। आखिरी सुनवाई में एसआईटी द्वारा इन छह सालों में जो कारवाई की गई थी उसकी जानकारी एफिडेविड़ में मांगी गई थी। इसमें बीजापुर एसपी जो जानकारी दी है। उसमें लिखा है कि इन छह सालों पांच लोगों के बयान दर्ज किए गए और माओवादियों का पकडऩे की कार्रवाई चल रही है। इस जवाब के बाद सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि वे एसआईटी की जांच से संतुष्ट नहीं है। एसआईटी ने छह साल में बिल्कुल भी प्रभावी रूप से काम नहीं किया। एसआईटी की इसी रवैये को देखते हुए ही मामले की तेजी से जांच के लिए इस मामले को सीबीआई को दिया जाता है।
गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी इस मामले में सीबीआई जांच की मांग करती रही है लेकिन सत्ता में आने के बाद भूपेश बघेल की सरकार ने राज्य के मामलों में सीबीआई को दखल देने पर रोक लगा दी थी।

आवेदनकर्ता डिग्री प्रसाद चौहान ने बताया कि एडसमेटा की घटना मध्य भारत में आदिवासी मूलवासियों के सुनियोजित जनसंहार का महज एक उदाहरण है, हकीकत तो यह है कि नक्सल उन्मूलन के नाम पर आदिवासी मूलवासियों के आखेट का अभियान अपने चरम पर है,। प्रायोजित और फर्जी मुठभेड़ के अनगिनत घटनाएं अपने न्याय की बाट जोह रहे हैं। उम्मीद है एडसमेटा जनसंहार पर सुप्रीम कोर्ट का हालिया जजमेंट न्याय के राह में मील का पत्थर साबित होगा।
 
टीम ने एडसमेटा के 15 प्रभावित ग्रामीणों से मुलाकात की और उनसे जानकारी ली। इस दौरान यहां ग्रामीणों ने कहा कि कोर्ट के इस फैसले से वह बेहद खुश हैं, लेकिन मामले की जांच राजधानी में बैठकर सिर्फ कागज में न हो। बल्कि वे गांव आएं और यहां ग्रामीणों के बीच आकर सच्चाई के का पता लगाएं।

आम आदमी पार्टी नेत्री ने उच्चतम न्यायालय के आदेश का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के साथ न्याय होना चाहिये। इसमें देर हुआ है परंतु अंधेरे न हो।

यह है मामला
बीजापुर के एडसमेटा गांव के करीब के जंग में 17 मई 2013 की देर रात को सुरक्षाबलों और माओवादियों के बीच गोलीबारी में तीन बच्चे और सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के एक जवान समेत आठ ग्रामीणों की जान चली गई थी। घटना के बाद ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि वे सभी देवगुड़ी में बीज त्यौहार मनाने के लिए इक_ा हुए थे , इसी दौरान पुलिस मौके पर पहुंची और फायरिंग कर दी। इसमें मारे गए सभी लोग बेगुनाह हैं। मारे गए आठ लोगों में तीन बेहद कम उम्र के बच्चे थे । वहीं घटना में पांच लोग घायल हो गए थे। इन सभी को पुलिस माओवादी मानती है।


Date : 21-Jun-2019

नम्बर-13 खदान अडानी को देने के विरोध में जांच, ग्रामसभा की कमेटी पर भी आरोप, कुंजाम ने उठाए सवाल  
 छत्तीसगढ़ संवाददाता
किरन्दुल, 21 जून।
 नम्बर-13 खदान अडानी को देने के विरोध में जांच कमेटी पर भी आरोप लगने शुरू हो गए हंै। शुक्रवार को अखिल भारतीय आदिवासी महासभा के अध्यक्ष एवं भाकपा के पूर्व विधायक मनीष कुंजाम हिरोली ग्राम पंचायत पहुंचे जहां उन्होंने हिरोली व आस पास के गांवों के लगभग 2000 ग्रामीणों की बैठक ली। 

ग्रामीणों ने मनीष कुंजाम को बताया कि जुलाई 2014 में 13 नम्बर पहाड़ी पिथोरमेटा को लेकर ऐसी कोई ग्रामसभा नही हुई। उन्होंने बताया इसी बात से पूरी जांच शक के दायरे में आ गई है। जांच कमेटी द्वारा हिरोली पंचायत सचिव बसन्त नायक का बयान जिला मुख्यालय के बंद कमरे में लिया जाएगा जबकि उसका बयान हिरोली गांव में सभी के सामने होना चाहिये ताकि ग्रामीणों को उनके सवालों के जबाब वो दे सकंे कि 1500 मतदाताओं में से सिर्फ 106 लोगो के हस्ताक्षर प्रस्ताव रजिस्टर में क्यों हंै जिसमें पिता /पति का नाम नहीं है। गांव में एक नाम के 4-4 लोग होते है तो किसने हस्ताक्षर किए इसकी जांच किस आधार पर की जाएगी। 

उन्होंने बताया कि सरपंच बुधरी ने बताया मैं 2014 में अंगूठा लगाती थीऔर मैंने कोई हस्ताक्षर नहीं किया तो सरपंच के हस्ताक्षर किसके द्वारा किये गये। उन्होंने कहा कि इतनी महत्वपूर्ण ग्रामसभा में नोडल अधिकारी कलेक्टर को होना चाहिये था बजाए उसके बिना किसी नोडल अधिकारी के सभा हुई ,और अगर था तो कौन ? यह भी जांच का विषय है। 

पंचायतों में होने वाली हर ग्रामसभा के लिये जिला प्रशासन द्वारा नोडल अधिकारी नियुक्त किये जाते हंै फिर प्रशासन इतने महत्त्वपूर्ण ग्रामसभा में लापरवाह कैसे हो गया। इन सभी बातों से लगता है कि पूरी की पूरी ग्राम सभा फर्जी है और पूरी जांच प्रक्रिया से यह मालूम होता है कि राज्य शासन व जिला प्रशासन अडानी के इशारे पर काम कर रहे हंै और मामले की लीपापोती करने में लगे हंै।

 मनीष कुंजाम ने कहा कि सचिव बसन्त नायक को पूरी जनता के सामने आकर जबाब देना होगा।क्योंकि वह पंचायत के अधीनस्थ है और यह हम आदिवासी ग्रामीणों की आस्था से जुड़ा सवाल है।
 

 

 

 

 

 

 

 

 


Date : 21-Jun-2019

जगह-जगह उत्साह के साथ सामूहिक योग जीवन का अहम हिस्सा- महाप्रबंधक प्रजापति 

बचेली/किंरदुल, 21 जून।  एनएमडीसी किरंदुल में  बीआईओपी स्कूल के सभागार में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि श्री ए.के.प्रजापति, महाप्रबंधक ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का प्रारंभ किया। उन्होंने योग को जीवन का अभिन्न हिस्सा बताते हुए सभी को निरंतर योग करते रहने की  अपील की। 

योग प्रषिक्षक साधना स्तम, रीना साहू एवं वेदप्रकाष पाण्डे के मार्गदर्षन में योगासन करवाया गया। इस दौरान विभिन्न आसनो से होने वाले के लाभ के बारे में बताते हुए योग करवाया गया। इस अवसर पर उत्पादन संयुक्त महाप्रबंधक पंकज शर्मा, उपमहाप्रबंधक एस चटर्जी, जी गणपत, राजभाषा वरिष्ठ प्रबंधक संजय पाटील, कार्मिक वरिष्ठ प्रबंधक धर्मेन्द्र िंसंहा ने किया गया। कार्यक्रम  की सफलता में  कार्मिक विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों की अहम भूमिका रही।  

 

 


Date : 20-Jun-2019

खदान-13 की प्रशासनिक जांच : फर्जी ग्रामसभा का विरोध, हिरोली में 24 जून को बयान
छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 20 जून।
जिला प्रशासन द्वारा बैलाकन्डीवर ला की बहुचर्चित खदान-13 की प्रशासनिक जांच अगले चरण में पहुंच गई है।इस मसले में सभी सम्बंधित पक्षों का बयान दर्ज किया जाएगा।

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व नूतन कंवर इस जटिल प्रकरण की गुत्थियां सुलझानें में जुटे है।उन्होंनें बताया कि प्रशासन नें जांच तेज कर दी है।इस प्रकरण में ग्राम पंचायत हिरोली में सभी पक्षों का बयान दर्ज किया जाएगा।आगामी 24 जून को उक्त कार्यवाही की जाएगी।इस जांच के दौरान 100 से अधिक लोगों को बयान दर्ज करवानें सूचना दी गयी है।एसडीएम नें बताया कि प्रशासन की प्राथमिकता में हिरोली में फर्जी ग्रामसभा प्रकरण शामिल है।इसके चलते इस मामले में किसी प्रकार की शिथिलता बरते जानें की बात निराधार है।हिरोली के पंचायत सचिव बसंत नायक के गुमशुदगी की खबर पर एसडीएम नें अनभिज्ञता जाहिर की।उन्होंनें इस मामले में कहा कि प्रशासन निर्धारित समय सीमा में मामले की जांच पूर्ण करेगा।

पंचायत संघर्ष समिति में पनपा आक्रोश
बैलाडीला की संयुक्त पंचायत संघर्ष समिति नें बैलाडीला की खदान-13 के मुद्दे पर आदिवासी जन आंदोलन छेड़ा था।इसमें हजारों आदिवासियों ने एनएमडीसी का जमकर घेराव किया था।जिससे एनएमडीसी की बैलाडीला और बचेली की लौह अयस्क खदानों में उत्पादन कार्य ठप्प हो गया था।इसके चलते राष्ट्रीय खनिज विकास निगम को करोड़ों रूपये का नुकसान उठाना पड़ा था।आदिवासी हड़ताल के छठवें दिन संघर्ष समिति और प्रशासन के मध्य सहमति बनी।समिति नें प्रशासन से लिखित में आश्वासन देनें की मांग की गयी थी।इस पर प्रशासन नें हिरोली में फर्जी ग्राम सभा की जांच एक पखवाड़े के अंदर करनें का लिखित आश्वासन दिया था।परंतु एक सप्ताह बीतनें के बावजूद भी जांच में तेजी नजर नही आई।इसके चलते संघर्ष समिति नें आक्रोश पनप रहा है।संघर्ष समिति के सदस्यों नें फर्जी ग्राम सभा की जांच शीघ्रातिशीघ्र करनें की मांग की है,अन्यथा पुन: आंदोलन किया जाएगा।बहरहाल,फर्जी ग्रामसभा का मुद्दा प्रशासन के लिये गले की हड्डी बन गया है।

 


Date : 19-Jun-2019

नक्सली कमांडर सहित तीन नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया

दंतेवाड़ा,19 जून। दंतेवाड़ा पुलिस को बुधवार को बड़ी सफलता मिली। पुलिस अधीक्षक के समक्ष केन्द्रीय समिति सुरक्षा की प्लाटून-3 के कमांडर सहित 3 नक्सलियों ने अपने हथियार डाले।

पुलिस अधीक्षक डॉ. अभिषेक पल्लव ने मीडिया को बताया कि केंद्रीय सुरक्षा समिति की प्लाटून -3 का कमांडर गुड्डू ऊर्फ सुरेश उर्फ वासुदेव (26) जिला बीजापुर ग्राम दोरागुड़ा ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया। वासुदेव वर्ष 2007 में नक्सली संगठन में शामिल हुआ। भैरमगढ़ एरिया कमेटी एलओएस सदस्य के रूप में भर्ती हुआ। इसी दौरान वर्ष 2014 से 2018 तक केन्द्रीय समिति सुरक्षा, ओडिशा राज्य में प्लाटून-3 में डिप्टी कमांडर के पद पर कार्य किया। इसके उपरांत वर्ष 2019 में  उक्त कम्पनी के कमांडर के पद पर कार्य किया। वर्तमान में डीवीसीएम कालाहांडी डिवीजन अंतर्गत रायगढ़ा एरिया कमेटी, सचिव के तौर पर दहशत फैला रहा था। इस पर राज्य शासन द्वारा 8 लाख रूपये का ईनाम घोषित किया गया था।

इसी कड़ी में नक्सली कमांडर दिलीप पुनेम (26) जिला बीजापुर ग्राम बेचापाल ने भी पुलिस के समक्ष हथियार डाल दिये। वहीं जनमिलिशिया सदस्य लक्ष्मण अटामी (31) ने आत्मसमर्पण किया। उक्त नक्सली बीजापुर जिले अंतर्गत भैरमगढ़ थाना के पल्लेवाया का निवासी है। वहीं जनमिलिशिया सदस्य मुन्ना लेकाम (24) वर्ष ने भी अपनें हथियार डाल दिये। उक्त नक्सली दंतेवाड़ा जिले के बारसूर थाना अंतर्गत ग्राम तुमरीगुंडा का निवासी है।

एसपी के मुताबिक नक्सलियों की भेदभाव पूर्ण नीति से स्थानीय मिलिशिया सदस्यों में निराशा व्याप्त हो गई है। वहीं राज्य शासन की पुनर्वास नीति भी नक्सलियों को आकर्षित कर रही है। इसके चलते नक्सलियों के संगठन से बात करना आसान हो गया है।