छत्तीसगढ़ » दन्तेवाड़ा

Previous1234Next
Date : 01-Apr-2020

शांतिपूर्ण रहा नक्सली बंद, पालनार में टांगे बैनर पोस्टर 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 1अप्रैल।
जिले में नक्सली संगठन द्वारा बुधवार को आयोजित नक्सली बंद शांतिपूर्ण रहा। जिले में कोई भी अपनी घटना अप्रिय घटना की खबर नहीं है। वहीं पालनार के बाजार पारा में नक्सली बैनर पोस्टर बुधवार सुबह नजर आए। इनमें नागरिकता कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के विरोध की अपील की गई है। उक्त बैनर व पोस्टरों को ज़ब्त कर लिया।

कुआकोण्डा थाना क्षेत्र के पालनार गांव में मंगलवार रात नक्सली बैनर पोस्टर लगाया गये। पालनार के बाजार पारा में नक्सली बैनर पोस्टर बुधवार सुबह नजर आए। इनमें नागरिकता कानून, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के विरोध की अपील की गई है। नागरिकता कानून को हिंदुत्ववादी को एजेंडे का क्रियान्वयन बताया गया।उक्त पोस्टर में शिक्षकों से भी जनगणना कार्य का बहिष्कार करने की अपील की गई है। इसका मुख्य कारण जनगणना कार्य को हिंदू धर्म से जोडऩा है। नक्सली पोस्टर मलांगिर एरिया कमेटी द्वारा लगाए गए हैं। पालनार स्थित द्वारा बुधवार सुबह उक्त बैनर व पोस्टरों को ज़ब्त कर लिया। 

इस संबंध में कुआकोंडा थाना प्रभारी सलीम खाखा ने बताया कि कुआकोंडा में पूर्ण शांति है। नक्सलियों द्वारा किसी भी घटना को अंजाम नहीं दिया जा सका है। पुलिस द्वारा सघन सर्चिंग जारी है।

 


Date : 01-Apr-2020

तालाबंदी 14 अप्रैल तक, जरूरी वस्तुओं की खरीदी पर छूट 

दंतेवाड़ा,1अप्रैल। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के द्वारा जारी आदेश तथा राज्य शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी टोपेश्वर वर्मा ने जिले में कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं स्वास्थ्यगत आपातकालीन स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए आगामी 14 अप्रैल को मध्य रात्रि अर्थात रात्रि 12 बजे तक पूर्णतया तालाबंदी आदेश पारित किया है। उक्त तालाबंदी अर्थात लॉक डाउन के दौरान अत्यावश्यक वस्तुओं तथा सेवाओं की उपलब्धता हेतु सम्बन्धित निर्माण, भण्डारण, पैकेजिंग, परिवहन, वितरण एवं विक्रय गतिविधियों पर छूट रहेगी।  
 


Date : 01-Apr-2020

नक्सली बंद में किया प्रेशर बम निष्क्रिय

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 1 अप्रैल। दंतेवाड़ा में नक्सली बंद के दौरान बुधवार को थाना अंतर्गत कोंडासावली सीआरपीएफ शिविर के निकट प्रेशर बम खोजा गया। बम निरोधक दस्ते द्वारा बम को निष्क्रिय कर दिया गया।

नक्सली बंद के दौरान सीआरपीएफ 231वीं बटालियन के जवानों की टुकड़ी तलाशी अभियान में निकली थी। इसी दौरान जवानों ने संदिग्ध तार को देखा। उक्त स्थान की तलाशी ली गई। जिसमें प्रेशर बम प्लांट करने का पता चला। उक्त बम का वजन 10 किलोग्राम था। सीआरपीएफ के पुलिस के बम निरोधक दस्ते द्वारा उक्त बम को सावधानीपूर्वक निष्क्रिय कर दिया गया।

ज्ञात हो कि कोंडासावली गांव जगरगुंडा के सरहदी इलाके में स्थित है। इसके चलते कोंडासावली अति संवेदनशील क्षेत्र में शामिल है।

 


Date : 31-Mar-2020

सीएम ने दंतेवाड़ा की आंबा कार्यकर्ता से की फोन पर बातचीत

दंतेवाड़ा, 31 मार्च। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज लॉकडाउन के दौरान आंगनबाडिय़ों के बच्चों का हाल चाल जानने के लिए दंतेवाड़ा जिले के चूड़ी टिकरा की कार्यकता शीला देवी को फोन लगाया। मुख्यमंत्री का फोन आने पर श्रीमती शीला ने प्रसन्नता जाहिर की। मुख्यमंत्री ने उनसे पूछा कि अभी आंगनबाड़ी बंद है, तो बच्चों को भोजन कैसे मिल रहा है। श्रीमती शीला ने बताया कि वे घर-घर जाकर बच्चों को पौष्टिक आहार वितरित कर रहे हैं। बच्चों के पोषण की स्थिति ठीक है।

श्री बघेल ने उनसे यह भी पूछा कि अभी आप लोग क्या काम कर रहे हैं। श्रीमती शीला ने बताया कि वे लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए साबुन से बार-बार हाथ धोने, लोगों को तीन फीट की दूरी बनाए रखने की समझाईश दे रही हैं। मुख्यमंत्री ने उनकी सराहना की और कहा कि लोगों को कोरोना से बचाव की जानकारी तो दें और यह भी बताए कि बचाव में ही सुरक्षा है। 
श्री बघेल ने श्रीमती शीला को अपने काम के दौरान अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा का ध्यान रखने की सलाह दी। मुख्यमंत्री ने उनसे यह भी पूछा कि गांव में लोग क्या काम रहे हैं। श्रीमती शीला ने बताया कि लोग घरों में ही रहते हैं। वे लोगों को यह भी बता रहे हैं कि बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकले और अपनी सुरक्षा का ध्यान रखें।

 


Date : 31-Mar-2020

खाद्य बैंक से दूर होगी अनाज की कमी

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 31 मार्च ।
कोरोना वायरस कोविड-19 के कारण घोषित लॉक डाउन के दौरान जिले में जरूरतमन्द लोगों के लिये पुराने कलेक्टोरेट दन्तेवाड़ा के कस्तूरबा सभागार में खाद्यान्न बैंक की स्थापना की गई है। 

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने उक्त खाद्यान्न बैंक में विभिन्न दानदाताओं, सामाजिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं से प्राप्त होने वाले फूड पैकेट तथा अन्य राशन सामग्री के वितरण व्यवस्था हेतु कार्यपालन अभियंता ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण दन्तेवाड़ा सन्तोष नाग मोबाइल नंबर 094790-36821 तथा कार्यपालन अभियंता जलसंसाधन विभाग दन्तेवाड़ा श्री शंकर ठाकुर मोबाइल नंबर 094242-81778 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इसके साथ ही उक्त नोडल अधिकारियों के सहयोग के लिए उप अभियंता द्वय श्री मरावी एवं श्री चंद्रशेखर सहित एसडीओ जलसंसाधन श्री आरके ठाकुर तथा डाटा एंट्री आपरेटर श्री चंद्रशेखर जुर्री को नियुक्त किया गया है। 

इसी तरह तहसील स्तर पर खाद्यान्न बैंक स्थापित किया गया है। जिसके तहत गीदम जनपद पंचायत कार्यालय में करारोपण अधिकारी श्री श्याम लाल सलाममोबाइल नंबर094060-03960, जनपद पंचायत कुआकोंडा में एडीओ श्री एचएन देवांगन मोबाइल नंबर078797-51879,जनपद पंचायत कटेकल्याण में एसएडीओ श्री योगेश उईके मोबाइल नंबर075872-55492 तथा तहसील कार्यालय बड़ेबचेली में राजस्व निरीक्षक श्री लखीराम पांडेय 093993-07496 एवं श्री अमित मरावी मोबाइल नंबर094792-60480 को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उक्त सभी खाद्यान्न बैंक और नोडल अधिकारियों के बारे में व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये गए हैं, ताकि जरूरतमन्द लोगों को त्वरित फूड पैकेट अथवा अन्य राशन सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित किया जा सके।

 


Date : 31-Mar-2020

कोरोना के बीच आज नक्सल बंद

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 31 मार्च।
जिले के बचेली के समीप कमेली गांव में मंगलवार को नक्सली पर्चे नजर आए। नक्सलियों ने  1 अप्रैल को दंडकारण्य बंद का आह्वान किया गया है।  नागरिकता संशोधन कानून(सीएए) और एनपीआर के विरोध में उक्त बंद आयोजित किया गया है। नक्सलियों ने शासन की साम्राज्यवादी नीतियों का विरोध किया है। आम जनता से शासन के विरुद्ध जन युद्ध में आवाज उठाने की अपील की गई है। उल्लेखनीय है कि कुछ पर्चे में 23 मार्च की तिथि लिखी हुई है। 

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौर में नक्सलियों का दंडकारण्य बंद गैर जिम्मेदाराना है। बंद ले जनता को असुविधा हो सकती है। पुलिस हर स्थिति से निबटने के लिए तैयार है। अंदरूनी संवेदनशील इलाकों में पुलिस के जवानों को सतर्क कर दिया गया है।

 


Date : 31-Mar-2020

प्रशासन के प्रयासों से पहुंचा सेनिटाइजर

छत्तीसगढ़ संवाददाता

दंतेवाड़ा, 31 मार्च। दंतेवाड़ा में सेनिटाइजर का सूखा मंगलवार को दूर हुआ। जिले में कोविड-19 वैश्विक महामारी से लोहा लेने सेनिटाइजर की पहली  खेप मंगलवार को दंतेवाड़ा पहुंची। श्लेक्टर टोपेश्वर वर्मा और सीईओ जिला पंचायत सच्चिदानंद आलोक के विशेष प्रयासों से उक्त रसायन दंतेवाड़ा पहुंचा। बलौदा बाजार से 100 लीटर सेनिटाईजर की खेप जिला कार्यालय  पहुंची। इस संबंध में संयुक्त कलेक्टर अभिषेक अग्रवाल ने बताया कि सेनिटाइजर को जिला अस्पताल और सभी स्वास्थ्य केंद्रों में वितरित किया जाएगा। जिससे कोरोना विषाणु को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने जिले के नागरिकों से घरों में रहने की अपील की है। जिससे कोरोना के खिलाफ जारी जंग को जीता जा सके।


Date : 30-Mar-2020

कोरोना से लडऩे जुटी पुलिस, ग्रामीणों को बांटे साबुन 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
 दंतेवाड़ा, 30 मार्च।
दंतेवाड़ा में पुलिस नक्सली मोर्चे के साथ-साथ कोविड-19 से भी लोहा ले रही है। 
एसपी अभिषेक पल्लव ने जिले के बालूद में हाथ धोने के वैज्ञानिक तरीके का प्रदर्शन किया। जिसे ग्रामीणों ने रुचि पूर्वक देखा और समझा। इसके उपरांत बालूद, मेटापाल जारम और चितालूर गांव के ग्रामीणों में रोगाणु नाशी साबुन का वितरण किया गया। इस दौरान 1000 से अधिक साबुन वितरित किए गए और और ग्रामीणों को इसके उपयोग की समझाइश दी गई।


Date : 30-Mar-2020

नक्सलियों ने मुठभेड़ को बताया फर्जी

दंतेवाड़ा, 30 मार्च। नक्सलियों ने एक बार फिर पुलिस पर निशाना साधा है।। गंगालूर एरिया कमेटी सचिव नें प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगाया है। नक्सली पर्चे में एसपी अभिषेक पल्लव द्वारा फर्जी मुठभेड़ में ग्रामीणों की हत्या का आरोप लगाया गया है।उल्लेखनीय है कि विगत 19 मार्च को गमपुर इलाके में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी।इस दौरान पुलिस ने नक्सलियों को मार गिराया था। एरिया कमेटी सचिव ने इस मुठभेड़ को साजिश कहा है। पुलिस द्वारा फर्जी मुठभेड़ कर ग्रामीणों की हत्या करना बताया गया है। नक्सली लीडर नें राज्य शासन से  दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक को बर्खास्त करने की मांग की है।

 


Date : 29-Mar-2020

मदद को बढ़े हाथ, युवक ने राहत कोष में दिए 1 लाख 

दंतेवाड़ा 29 मार्च। वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने के लिए दंतेवाड़ा में भी नागरिकों द्वारा विभिन्न प्रकार से सहायता की जा रही है। इनमें नगद सहायता और खाद्य पदार्थों की आपूर्ति शामिल है। जिले की व्यवसायिक नगरी गीदम के युवा रजनीश पुराना सुराना ने कोरोना राहत कोष में  एक लाख 11 हजार 111 रूपये दान किया है। उन्होंने अपनी बेटी के प्रथम जन्मदिन की खुशी में कोरोना राहत कोष में उक्त धनराशि दान दी है। इसी कड़ी में गीदम के ही युवा संतोष गुप्ता ने खाद्य पदार्थों की सामग्रियां सामग्रियों का पैकेट तैयार किया है। इसमें चावल, आटा, दाल, मसाले और तेल शामिल हंै। जरूरतमंदों को उक्त सामग्रियों का वितरित किया जाएगा जिससे कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व लौहनगरी किरंदुल के अब्दुल कयूम सिद्दीकी ने अपने लॉज को घरेलू नजरबंदी के लिए दान करने की घोषणा की थी। इससे कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सके।

 


Date : 29-Mar-2020

नक्सलियों ने ग्रामीण को पीटा पुलिस ने कराया इलाज

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 29 मार्च।
दंतेवाड़ा में नक्सलियों का अमानवीय चेहरा फिर से सामने आया है। लॉकडाउन के दौरान किरंदुल थाना अंतर्गत अति संवेदनशील गुमियापाल निवासी ग्रामीण की नक्सलियों ने पिटाई कर दी। इसके बाद पुलिस फोर्स को एंबुश लगाकर जाल में फंसाने की कोशिश की गई। पुुलिस ने साजिश को नाकाम कर दिया।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि नक्सलियों द्वारा योजनाबद्ध तरीके से ग्रामीण को पीटा गया। इसके बाद एंबुश लगाया गया। यह एंबुश हिरोली गांव से पेरपा गांव तक लगाया गया था। पुलिस दल द्वारा उक्त मार्ग में आवाजाही करने पर नक्सली पुलिस पर हमला करने की फिराक में थे। पुलिस ने सावधानीपूर्वक कार्य किया। पुलिस द्वारा स्थानीय ग्रामीणों की सहायता से नक्सली प्रताडि़त पोदिया कुुंंजाम को किरंदुल लाया गया। किरंदुल में एनएमडीसी द्वारा संचालित परियोजना अस्पताल में दाखिल करवाया। इसके साथ ही पीडि़त ग्रामीण को खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराए गए, जिससे ग्रामीणों को राहत मिली।

 थाना प्रभारी किरंदुल दया किशोर बरुआ ने मानवीय पुलिसिंग की मिसाल पेश की। पीडि़त ग्रामीण के परिजनों ने पुलिस का आभार व्यक्त किया। पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने भी सराहना की। 

 


Date : 29-Mar-2020

खाद्य पदार्थ करें मुहैया-कलेक्टर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 29 मार्च ।
कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु घोषित तालाबंदी के दौरान सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए जिला प्रशासन पूरा ध्यान दे रही है। इस दिशा में विशेष रूप से अनाज, खाद्यान्न और सब्जियों की उपलब्धता सुनिश्चित किये जाने हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। इन सामग्रियों के परिवहन के लिए वाहनों को अनुमति देने के साथ ही आवश्यक समन्वय भी किया जा रहा है। दूसरे जिलों से आपूर्ति होने वाली आलू-प्याज और हरी सब्जियां मंगायी जाये। वहीं स्थानीय स्तर पर हरी सब्जियों की आपूर्ति के लिए उद्यानिकी विभाग द्वारा ग्रामीण इलाकों के सब्जी उत्पादकों के साथ सम्पर्क कर समन्वय किया जाये और सब्जियों की आपूर्ति हेतु आवश्यक प्रयास किया जाये। उक्त निर्देश कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक के दौरान अधिकारियों को दिए। 

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बैठक के दौरान आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पर सतत निगरानी रखे जाने सहित कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने अधिकारियों को निर्देशित किया। वहीं आवश्यक वस्तुओं की निरंतर आपूर्ति के लिए समीपस्थ बस्तर जिले के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करने कहा। इसके साथ ही आवश्यक वस्तुओं के परिवहन हेतु वाहनों की समुचित व्यवस्था करने का निर्देश दिया। उन्होंने जिले के सभी उचित मूल्य दुकानों में दो महीने का खाद्यान्न एवं अन्य जरूरी सामग्रियों का भंडारण शीघ्र किये जाने कहा। इसके साथ ही खाद्यान्न वितरण के दौरान सामाजिक अलगाव के निर्देशों का परिपालन करने का निर्देश देते हुए उपभोक्ताओं के बीच एक मीटर की दूरी रखे जाने कहा। वहीं उचित मूल्य दुकानों में सेनेटाइजर, साबुन और पानी की व्यवस्था कर व्यक्तिगत स्वच्छता सुनिश्चित करने कहा। उन्होंने खाद्यान्न वितरण के दौरान लोगों को कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के बारे में अनिवार्य रूप से समझाईश देने का निर्देश अधिकारियों को दिया। 

 श्री वर्मा ने नगरीय ईलाकों में काम-धंधे प्रभावित होने वाले गुमटी, ठेले वालों सहित दिहाड़ी मजदूरों के लिए नि:शुल्क सूखा राशन उपलब्ध कराने अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही बेघर, निसहाय और अन्य जरूरतमन्द लोगों को नियमित रूप से दोनों पहर नि:शुल्क भोजन सुलभ कराये जाने व्यापक पहल करने कहा। उन्होंने इस दिशा में समाजसेवी तथा स्वयंसेवी संस्थाओं सहित जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों की मदद लेने कहा। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत,एस आलोक, डीएफओ संदीप बलगा और एसडीएम सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी शामिल थे।

 


Date : 28-Mar-2020

बाहर से आए लोगों समेत कोरोना के संदेही लोगों की सूचना देने निगरानी प्रकोष्ठ गठित

दंतेवाड़ा, 28 मार्च। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी टोपेश्वर वर्मा ने कोरोना वायरस के संभाव्य प्रसार को रोकने की दिशा में बाहर से आये व्यक्तियों का घर-घर जाकर सर्वे करने तथा कोरोना के संदेही लोगों की सूचना जिला स्तर पर देने और पीडि़तों की उपचार व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु तहसील स्तरीय सतत निगरानी प्रकोष्ठ गठित किया है। 

 

 


Date : 28-Mar-2020

कलेक्टर ने अपने मानदेय से एक लाख की राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा की

दंतेवाड़ा, 28 मार्च। कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने नगर पंचायत चुनाव से प्राप्त मानदेय की राशि में से एक लाख रूपये मुख्यमंत्री राहत कोष में सहायता राशि के रूप में जमा की। साथ ही जिले के गणमान्य नागरिकों, जनप्रतिनिधियों,अधिकारी-कर्मचारियों और आम जनता से मुख्यमंत्री सहायता कोष में सहयोग करने की अपील की। कलेक्टर ने कहा कि जनसाधारण द्वारा प्रदान की जाने वाली सहयोग राशि से मजदूरों सहित जरूरतमन्दों लोगों की बेहतर मदद की जा सकती है। इस दिशा में जनसाधारण मानव सेवा के इस पुनीत कार्य के लिये स्वेच्छापूर्वक दान करें।
 


Date : 28-Mar-2020

नक्सल प्रभावित बालुद के राशन दुकान में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

दंतेवाड़ा, 28 मार्च। कोरोना वायरस के संभावित खतरे को देखते हुए केंद्र- राज्य सरकार सहित  जिला प्रशासन दंतेवाड़ा 24 घंटे कार्य कर रही है। जागरूकता ही सुरक्षा के मूलमंत्र के साथ दंतेवाड़ा  जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र बालुद ग्राम के शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर राशन वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। लोग स्वयं दुकान के सामने थोड़ी-थोड़ी दूरी पर किये गए मार्किंग पर लाइन लगाकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं, इतना ही नहीं लोग किसी भी तरह से भीड़ नहीं लगा रहे हैं।

नगर पालिका क्षेत्र में किया गया छिड़काव
कोविड-19 के खिलाफ जंग में नगर पालिका पूरी तरह से मुस्तैद होकर कार्य कर रहा है, पालिका के द्वारा समस्त वार्डों में सफाई अभियान चलाकर विशेष सफाई कराई गई, ना केवल सफाई बल्कि पूरे क्षेत्र में ब्लीचिंग पाउडर का भी छिड़काव कराया गया है, पालिका के सफाई कर्मियों द्वारा क्षेत्र में निरंतर  कार्य किया जा रहा है।

गांव में रद्द हुआ छठी का कार्यक्रम
कोविड-19 के तहत जारी एडवाईजरी का पालन करते हुए स्थानीय ने छठी का कार्यक्रम रद्द किया। ग्राम गढ़मिरी के पटेलपारा निवासी छोटेलाल के घर छठी का कार्यक्रम तय किया गया था, परन्तु क्षेत्र के नायब तहसीलदार विद्याभूषण साव तथा टीआई के समझाइश पर छठी का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया।


Date : 28-Mar-2020

कोरोना से बचने ग्रामीणों ने कसी कमर 

दंतेवाड़ा, 28 मार्च। वैश्विक महामारी कोविड-19 की भयावहता को दंतेवाड़ा में भी महसूस किया जाने लगा है। इसके चलते स्थानीय ग्रामीणों द्वारा निज गांव की सीमाएं सील की जा रही हैं। जिससे कोविड-19 के कहर से बचा जा सके। कुआकोंडा विकासखंड के गढ़मिरी गांव के जनप्रतिनिधियों सह ग्रामीणों द्वारा शनिवार को निज गांव की सीमाओं को सील कर दिया गया। इससे दूसरे गांव के व्यक्ति अथवा नगर के व्यक्ति गढ़मिरी में प्रवेश न कर सके। इस सीमा बंदी के चलते का उद्देश्य गढ़मिरी गांव को कोरोनावायरस से रक्षा करनी है। 

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व कुआकोण्डा विकासखंड के श्याम गिरी ग्राम पंचायत अंतर्गत  खूंटेपाल गांव के जागरूक युवकों द्वारा निज गांव की सीमाएं सील कर दी गई थी। जिससे दूसरे गांव अथवा नगर के नागरिक खुंंटेपाल में प्रवेश न कर सकें। उक्त प्रकरणों को  कोरोना  महामारी से बचाव की दिशा में सार्थक कदम माना जा सकता है। ग्रामीणों की ऐसी  जन जागरूकता की सराहना की जा रही है।

वन का अमला जोखिम में जुटा
इन दिनों वन विभाग द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर संग्रहकों से इमली और महुआ की खरीदी की जा रही है। इमली का न्यूनतम समर्थन मूल्य 31 प्रति किलो और महुआ का समर्थन मूल्य 17 प्रति किलो की दर से भुगतान किया जा रहा है। पर फॉरेस्ट गार्ड और बीट गार्ड आदि कर्मचारियों को मास्क उपलब्ध नहीं कराया जा सका है। जिससे मैदानी अमले में भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खतरा मंडरा रहा है। 

इस विषय में वन परिक्षेत्र अधिकारी अशोक सोनवानी ने 'छत्तीसगढ़' से कहा कि वन विभाग द्वारा महामारी कोविड-19 से बचाव हेतु मास्क वितरण नहीं किया गया है। 

 


Date : 28-Mar-2020

लॉकडाउन से सड़कें सूनी

दंतेवाड़ा, 27 मार्च। जिला मुख्यालय में कोविड-19 महामारी के चलते लॉकडाउन जारी है इसके फलस्वरूप सड़कें सूनी हो गई है। वहीं सड़कों से गुजरने वाले यात्रियों को जवानों द्वारा रोका जा रहा है यात्रियों से उनका परिचय और आवागमन का कारण पूछा जा रहा है। आवश्यक वस्तुओं की दुकानें मेडिकल स्टोर्स और दुग्ध उत्पादों की दुकानें निश्चित समय में खुल रही है। जिससे उपभोक्ताओं को वांछित वस्तुएं मिल सके। जिला प्रशासन द्वारा दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तु का उचित मूल्य सुनिश्चित कराया जा रहा है। नागरिकों से दैनिक उपयोग की वस्तुओं के अनावश्यक भंडारण न करने की अपील की गई है। इसके बावजूद हालात यह है कि उपभोक्ताओं द्वारा खाद्यान्नों और वस्तुओं की आवश्यकता से अधिक खरीद की जा रही है। उपभोक्ताओं को भविष्य में दैनिक उपयोग की वस्तुओं की कमी होने की आशंका है।
 


Date : 26-Mar-2020

फेरी वालों पर करोना की मार 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 26 मार्च।
दंतेवाड़ा में वैश्विक महामारी कोरोना छोटे व्यापारियों पर कहर बन रही है। जिले में घूम-घूम कर कपड़े बेचने के लिए एक दल आया था। दल के पुरुषों द्वारा गांव गांव जाकर कपड़े बिक्री किया जाता था। इस वर्ष भी उत्तर प्रदेश निवासी फेरीवाले दंतेवाड़ा पहुंचे थे। इसी दौरान कोविड-19 का दौर शुरू हो गया जिसके चलते इस परिवार को बीच में ही रुकना पड़ा।

नूर हसन मुन्ना और मोहम्मद आजाद आजाद ने 'छत्तीसगढ़' को बताया कि प्रतिवर्ष दंतेवाड़ा आकर गांव-गांव में फेरी लगाते हैं। जिससे हमारी आजीविका चलती है। इस वर्ष कोविड-19 के चलते शासन द्वारा तालाबंदी की गई है इससे हमारे व्यापार पर बुरा प्रभाव पड़ा है हमारा परिवार रोजी रोटी से महरूम हो गया है जिला परिषद जिला प्रशासन पर द्वारा उक्त परिवार को चावल और शक्कर नि:शुल्क दिया गया है परिवार की महिलाओं ने प्रशासन से आटा देने की मांग की।

मास्क और सैनिटाइजर का टोटा
जिला मुख्यालय में संचालित मेडिकल स्टोर्स में कोविड-19 से बचने मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं है नागरिक मेडिकल स्टोर की दौड़ लगा रहे हैं इसके बावजूद भी उक्त सामग्रियां पहुंच से दूर है। 

शीघ्र व्यवस्था- कलेक्टर 
इस मुद्दे पर कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने कोविद-19 से बचने प्रशासन द्वारा मास्क का निर्माण कराया जा रहा है। वहीं सैनिटाइजर की व्यवस्था में समय लगेगा। कच्चे माल के अभाव मेंं इसके निर्माण में समस्या उत्पन्न हो गई। प्रशासन द्वारा  गरीब घर का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इसके अंतर्गत प्रशासन की टीम द्वारा घर पहुंच अनाज की व्यवस्था की जा रही है।


Date : 26-Mar-2020

एनएमडीसी ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उठाए कई कदम, लौह अयस्क खदानें और इस्पात संयंत्र आवश्यक सेवाओं की सूची में, लॉक आउट से मिली छूट

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बचेली, 26 मार्च।
केंद्र सरकार द्वारा लौह अयस्क खदानों और इस्पात संयंत्रों के संचालन को आवश्यक सेवाओं की सूची में रखा गया है। ऐसे में नवरत्न कंपनी एनएमडीसी छत्तीसगढ़ की बैलाडीला स्थित अपनी खदानों से देश के इस्पात संयंत्रों को लौह अयस्क की निर्बाध आपूर्ति के लिए भरसक प्रयास कर रही है। इस्पात मंत्रालय के निर्देशों के अनुरूप कंपनी द्वारा एक ओर जहां अपनी सभी खदानों और संयंत्रों में कार्मिकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए कदम उठाए गए हैं, वहीं जिला प्रशासन के सहयोग से सीएसआर के तहत स्थानीय लोगों के बचाव और उपचार की भी समुचित पहल की जा रही है। 

केंद्र सरकार द्वारा इस्पात संयंत्रों और लौह अयस्क, कोयला, डोलोमाइट के रूप में इसके कच्चे माल की आपूर्ति के लिए खदानों को आवश्यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा), 1981 के तहत आवश्यक सेवाएं मानते हुए इनके उत्पादन, आपूर्ति एवं वितरण को लॉक-आउट से छूट दी गई है। चूंकि एनएमडीसी से राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड समेत कई इस्पात संयंत्रों को लौह अयस्क की आपूर्ति की जाती है, ऐसे में दंतेवाड़ा जिला प्रशासन द्वारा भी कंपनी के किरंदुल और बचेली में स्थित बैलाडीला लौह अयस्क खदानों को प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है। 

कंपनी द्वारा अपने प्रशासनिक भवनों में तैनात सभी कार्मिकों और अधिकारियों को घर से कार्य करने की अनुमति दे दी है। वहीं उत्पादन प्रक्रिया से जुड़े न्यूनतम कार्मिकों को पूरी सावधानी बरतते हुए ड्यूटी करने के निर्देश दिए गए हैं। इस महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कंपनी प्रबंधन ने सभी नियमित कार्मिकों-अधिकारियों, अनुबंधित और दैनिक वेतनभोगी श्रमिकों को एक हजार रूपये की धनराशि देने की घोषणा भी की है। यह राशि विभिन्न परियोजनाओं मेें इस मद में खर्च की जा रही राशि के अतिरिक्त होगी। वहीं ड्यूटी पर जाने वाले सभी कार्मिकों की चेक पोस्ट पर थर्मल स्कैनर के जरिए जांच की जा रही है। प्रोडक्शन एरिया के साथ ही सभी वाहनों का नियमित तौर पर सेनिटाइजेशन कराया जा रहा है। प्रमुख स्थानों पर हाथ धोने के साबुन के साथ ही पर्याप्त सेनेटाइजर रखवाए गए हैं। पोस्टर एवं पेंफलेट आदि के जरिए कार्मिकों को ड्यूटी के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के बाबत जागरूक किया जा रहा है। सभी परियोजना स्थलों में कार्मिक विभाग द्वारा करोना वायरस से जुड़े मामलों की रिपोर्टिंग के लिए कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं, जो बीमारी से जुड़े मामलों पर लगातार नजर रखे हुए हैं। कंपनी के हैदराबाद स्थित मुख्यालय से इसकी मॉनीटरिंग की जा रही है। 

कार्मिक या उनके कोई परिजन किसी अन्य शहर या प्रदेश से वापस आते हैं तो परियोजना अस्पताल में उनकी जांच कराई जा रही है। कुशल चिकित्सकों की देखरेख में सभी परियोजना अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा भी कई अन्य जगह संदिग्ध मरीजों को रखने की व्यवस्था की गई है। ऐसे कार्मिक या अधिकारी जो विदेश यात्रा से लौटे हैं, उन्हें 15 दिन क्वारंनटाइन करने के बाद मेडिकली फिट होने का सर्टिफिकेट दिखाने पर ही ड्यूटी ज्चॉइन कराई जा रही है। विजिटर्स का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। सभी टाउनशिप में जनजागरूकता के लिए होर्डिंग-बैनर इत्यादि लगाए गए हैं। कार्मिकों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि अनावश्यक यात्रा न करें। अपने घरों व आसपास साफ-सफाई के साथ ही लोगों को भीड़ भरे स्थानों या किसी समारोह से दूर रहने के लिए भी हिदायत दी गई है। 

कंपनी द्वारा अपने कार्मिकों और अधिकारियों के साथ ही परियोजना स्थलों के समीप रहने वाले ग्रामीणों और अन्य जरूरतमंदों को भी नैगम सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत नि:शुल्क मास्क और सेनिटाइजर वितरित किए जा रहे हैं। यह मास्क और सेनेटाइजर बनाने के लिए खासतौर पर दंतेवाड़ा के जनजातीय महिलाओं वाले स्वयंसेवी समूहों को चुना गया है, ताकि कोरोना वायरस से बचाव के साथ ही उनकी आय में भी बढ़ोत्तरी हो सके। इसके अलावा सभी परियोजना अस्पतालों में वंचित तबके के स्थानीय लोगों का नि:शुल्क उपचार कर दवा वितरित की जा रही है।
 


Date : 26-Mar-2020

जिला अस्पताल में 3 मरीज आइसोलेट पर

छत्तीसगढ़ संवाददाता
दंतेवाड़ा, 26 मार्च।
जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना के फैलाव को रोकने युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल में कोविड-19 रोगियों के लिये अलग वार्ड निर्धारित किया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में भी कोविड-19 की अलग शाखा  निर्धारित किया गया है। 

मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी एसपीएस शांडिल्य ने बताया कि जिले में कोविड-19 के तीन संदिग्ध मरीजों को आइसोलेट किया गया है। वहीं विगत दिनों एक मरीज का नमूना जांच के लिए भेजा गया है। रोगियों की जांच रिपोर्ट आने के उपरांत निर्णय किया जाएगा। नकारात्मक रिपोर्ट आने पर रोगियों को डिस्चार्ज किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा नागरिकों की जन जन जागरूकता हेतु प्रचार वाहन भ्रमण कराया जा रहा है। जिससे लोगों को जागरूक किया जा सके। बाहर से आने वाले मजदूरों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। 
उक्त मजदूरों को चिन्हित किया जा रहा है। जिससे उनकी मॉनिटरिंग की जा सके।


Previous1234Next