इतिहास

  इतिहास में 15 अप्रैल
इतिहास में 15 अप्रैल
Date : 15-Apr-2019

लियोनार्दो दा विंची शायद मानव इतिहास की अकेली ऐसी शख्सियत है जो वाकई बहुमुखी प्रतिभा थी. विंची पेंटर, इंजीनियर, वैज्ञानिक, गणितज्ञ, मूर्तिकार, डॉक्टर, आविष्कारक, भूगोल शास्त्री, संगीतकार, लेखक और वनस्पति विज्ञानी थे.
15 अप्रैल 1452 को इटली के विंची पहाड़ों में बसे कस्बे तुस्कान में लियोनार्दो दा विंची का जन्म हुआ. उनके पिता अमीर परिवार से थे. वो जिस महिला से प्यार करते थे वो समाज के निचले माने जाने वाले तबके से आती थीं. जन्म के बाद लियोनार्दो को उनकी मां से छीन लिया गया. कहा गया कि वो विंची परिवार की बहू बनने लायक नहीं है.
लियोनार्दो के पिता की दूसरी महिला से शादी कर दी गई. बचपन में लियोनार्दो ने अपने चाचा के साथ खूब वक्त बिताया. पिता और दादा जहां वकालत के काम काज में व्यस्त थे, वहीं लियोनार्दो अपने चाचा के साथ प्रकृति का आनंद उठाया करते थे. चाचा ने ही बच्चे के भीतर जिज्ञासा भरी. वो झरने के पास ले जाकर लियोनार्दो को बताया करते कि पानी में बुलबुले क्यों उठते हैं, और बाहर से साधारण से दिखते कीड़े के अंदर कितना जटिल तंत्र होता है.
लियोनार्दो जब किशोरावस्था में आए तो उनका परिवार इटली के मिलान शहर आ गया. घरवालों को लगता था कि लियोनार्दो बुद्धू किस्म का बच्चा है. पिता को लगा कि यह जीवन में कुछ नहीं कर पाएगा, इसीलिए लियोनार्दो को एक पेंटर के पास काम सीखने भेज दिया गया. बस वहीं से लियोनार्दो का पेंटर के तौर पर सफर शुरू हुआ. उन्होंने पहली बार अंडे की जगह ऑइल पेटिंग का प्रयोग किया. तभी पेंटर ने उनके महान कलाकार बनने की भविष्यवाणी कर दी.
लेकिन विंची का सफर पेंटिंग पर भी खत्म नहीं हुआ. असल में उनके भीतर की जिज्ञासा हर चीज का हल खोजती. पंछियों को देखकर उन्होंने हवाई जहाज का खाका तैयार कर दिया. विंची ने घोड़ों और इंसानों की हूबहू प्रतिमाएं भी बनाई. उन्होंने बताया कि दिल, यकृत और पेट कैसे काम करता है. विंची ने अद्भुत सुंदरता का समीकरण भी खोज लिया. विंची के मुताबिक हर चीज में एक अनुपातिक संबंध होता है. मसलन इंसान का कान उसके चेहरे का एक तिहाई होता है. चार अंगुलियों की चौड़ाई, हथेली के बराबर होती है. उन्होंने पुरुष के शरीर के आकार के समीकरण हल कर दिये.
वैसे आम तौर पर विंची को मोनालीसा तस्वीर के लिए जाना जाता है. लेकिन यह तो उनकी बहुमुखी प्रतिभा का बस अंश मात्र है. विंची के कई समीकरण तो आज भी अनसुलझे हैं. असल में वो मिरर राइटिंग करते थे, यानी ऐसे लिखते थे कि आम लोगों को उसे पढऩे के लिए दर्पण की जरूरत पड़ती है.
लेकिन इन तमाम उपलब्धियों के बावजूद दुनिया को लियोनार्दो की निजी जिंदगी के बारे में बहुत ही कम जानकारी है. विंची हमेशा इसे लोगों से छुपा कर रखते थे. उपलब्धियों, मानसिक उलझनों और जिज्ञासा के बीच दो मई 1519 को विंची ने दुनिया को अलविदा कहा. तब से लेकर अब तक करीब 700 साल गुजर चुके हैं लेकिन उनके जैसी दूसरी प्रतिभा पैदा नहीं हुई.

  • 1854 -न्यूयॉर्क में कीट विज्ञान के लिए अनुसंधान करने की शुरूआत हुई।
  • 1941-आइगर आइवर सिकास्र्की ने एक घण्टे के लिए विमान से उड़ान भरी।
  • 1992-संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद ने लीबिया पर वायु और हथियार प्रतिबंध लगाने से संबंधित एक प्रस्ताव पारित किया और इस देश से बाहर इस देश की सारी सम्पत्ति को ज़ब्त कर लिया। 
  • 1994 - भारत सहित 109 देशों द्वारा  गैट समझौते की स्वीकृति।   मोरक्को में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार संगठन बनाने के समझौते पर हस्ताक्षर हुए। सन 1995 से इस संगठन ने अपना कार्य आरंभ किया।
  • 1998 - थम्पी गुरु के नाम से प्रसिद्ध फ्रैडरिक लेंज का निधन।
  • 1999 - पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो तथा उनके पति आसिफ़ अली जरदारी को सरकारी ठेकों में दलाली खाने के आरोप में पांच वर्ष की क़ैद की सज़ा, पाकिस्तान ने परमाणु क्षमता वाले अपने दूसरे प्रक्षेपास्त्र शाहीन-1 का परीक्षण किया।
  • 2003 - ब्रिटेन में आयरिश रिपब्लिकन आर्मी ने हथियार डाल देने का निर्णय लिया।
  • 2004 - राजीव गांधी हत्याकांड से जुड़े लिट्टे उग्रवादी वी. मुरलीधरन की कोलम्बो में हत्या की गई।
  • 2010 - भारत में निर्मित पहले क्रायोजेनिक रॉकेट जीएसएलवी-डी3 का प्रक्षेपण नाकाम हो गया।  
  • 1452 - इटली के चित्रकार, मूर्तिकार तथा इंजीनियर  लियोनार्डो दा विन्ची का जन्म हुआ। वे एक महान इंजीनियर और अन्वेषक थे जिन्होंने कई इमारतें, पुल, नहर आदि का निर्माण किया। खास कर के वे अपने चित्रों  मोनालिसा और  द लास्ट सपर  के लिए विश्व विख्यात हैं। (निधन-2 मई 1519)
  • 1874 -अमेरिकी वनस्पति वैज्ञानिक और आनुवंशिकविद्  जॉर्ज हैरीसन शल का जन्म हुआ, जो संकर मक्के के जनक के रूप में जाने जाते हैं। इनके अनुसंधान से मक्के की पैदावार दुगुनी हो गई।  (निधन-28 सितम्बर 1954)
  • 1873-नॉर्वेजियन खगोलशास्त्री तथा भौतिकविद्  क्रिस्टोफर हैन्सटीन का निधन हुआ, जो भूचुम्बकत्व पर किए अपने अनुसंधान के लिए जाने जाते हैं। (जन्म-26 सितम्बर 1784) 
  • 1993  -कनाडा के भू भौतिकशास्त्री  जे ट्यूज़ो विल्सन का निधन हुआ, जिन्होंने महाद्वीपों की संरचनाओं के बारे में बताया। उन्होंने प्लेट टेक्टॉनिक्स पर काम किया। 1960 में इन्होंने महाद्वीपीय या समुद्रीय बड़े बड़े भूभागों के लिए प्लेट शब्द का इस्तेमाल किया।  (जन्म-24 अक्टूबर 1908)
  • 1731 -ब्रिटिश दार्शनिक और भौतिकशास्त्री हेनरी काउन्डेश का फ्रांस में जन्म हुआ। उन्होंने उच्चस्तरीय शिक्षा प्राप्ति के पश्चात भौतिकशास्त्र रसायनशास्त्र आदि विषयों की शिक्षा दी। उन्होंने पहली बार यह प्रमाणित किया कि हाइड्रोजन , प्राकृतिक हवा से हल्का होता है और जिस किसी वस्तु में हाइड्रोजन गैस भर दी जाए वो उड़ सकती है। सन 1810 ईसवी में उनका निधन हुआ।

Related Post

Comments