इतिहास

  आज का इतिहास 23 मई
आज का इतिहास 23 मई
23-May-2019

23 मई 1848 को पैदा होने वाले लिलिएनथाल ऐसे शख्स हैं जिन्होंने इंसान को पहली बार उड़ना सिखाया. उनकी उड़ान ने क्रांति कर दी.
अमेरिका के राइट बंधुओं ने पहला हवाई जहाज बना कर दुनिया को हैरान कर दिया लेकिन असल में उड़ने के ख्वाब को पहली बार हकीकत में बदला जर्मनी के ओटो लिलिएनथाल ने. लिलिएनथाल ने ग्लाइडर बनाया और उससे कई उड़ानें भरीं. बार बार उड़कर उन्होंने साबित कर दिया कि इंसान उड़ान भरने वाली मशीन विकसित कर सकता है.
पंछियों को कई साल तक करीब से देखने के बाद लिलिएनथाल ने ग्लाइडर बनाया. उसके पंख पंछियों जैसे ही बनाए गए. पंखों को साधने के लिए उन्हें लकड़ी से कसा. इसके बाद लिलिएनथाल बर्लिन में 10 मीटर ऊंची इमारत में गए. छत से उन्होंने छलांग मार दी. उनकी साहसिक छलांग ने इंसानी सभ्यता का सदियों पुराना उड़ने का सपना साकार कर दिया.इसके बाद उन्होंने तमाम ऊंची चोटियों से कई बार उड़ान भरी. बिना इंजन के सिर्फ हवा की मदद से उन्होंने कुल पांच घंटे उड़ान भरी. वह 1896 में बर्लिन के पास एक ऊंची पहाड़ी पर गए. वहां से उन्होंने तीन बार सफल उड़ान भरी. लेकिन चौथी बार ग्लाइडर नाक के बल गिरा. लिलिएनथाल ने उसे संभालने की भरसक कोशिश की लेकिन कामयाब नहीं हुए. धरती से 15 मीटर की ऊंचाई पर ग्लाइडर का संतुलन पूरी तरह बिगड़ गया और वह पूरी रफ्तार से गिरा. लिलिएनथाल लिलीनथाल को गंभीर चोटें आई. अगले दिन 10 अगस्त 1896 को उनकी मौत हो गई.
अमेरिका के राइट बंधुओं ने लिलिएनथाल की तकनीक का गहरा अध्ययन किया. इसके आधार पर ही वो पहला हवाई जहाज बनाने में सफल हुए. विल्बर राइट के मुताबिक, "लिलिएनथाल ने इंसान के हजारों साल के बोझ को अकेले झटक दिया." लिलिएनथाल को आज ग्लाइडर किंग के नाम से जाना जाता है.

  • 1805- गवर्नर-जनरल लॉर्ड वेलेजली ने एक आदेश के अंतर्गत दिल्ली के मुग़ल बादशाह के लिए एक स्थायी प्रावधान की व्यवस्था की थी।
  • 1949 - पश्चिम जर्मनी संविधान को अंगीकार करने के बाद औपचारिक रूप से अस्तित्व में आया।
  • 1950 -अश्वेत अमेरिकी आविष्कारक एफ.एम. जोन्स को शीतलन (रेफ्रीजेरेशन) नियंत्रण प्रणाली के लिए पेटेंट जारी किया गया।
  • 1962-पहली बार मानव के हाथ का प्रत्यारोपण हुआ जिसे डॉ. डॉनल्ड ए. मैल्ट तथा जे. मैकहान ने संपादित किया।
  • 1977 - बेनिन ने संविधान को अंगीकार किया।
  • 1984 - बछेन्द्री पाल दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को फ़तह करने वाली पहली भारतीय महिला बनी।
  • 1999 - योहानिस रौ संघीय जर्मनी के नए राष्ट्रपति नियुक्त।
  • 2001 - पाकिस्तान का भारत को एम.एफ़.एन. का दर्जा देने से पुन: इंकार।
  • 2004 - बांग्लादेश में तूफ़ान के कारण मेघना नदी में नाव डूबने से 250 डूबे। सिंगापुर में जहाज़ के टैंकर से टकराने के कारण 4 हजार कारें डूबी।
  • 2008 -  भारत ने सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल पृथ्वी-2 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।  
  • 2009 - भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति  रोह मू ह्यून ने अपने घर के नज़दीक पहाडिय़ों से छलांग लगाकर आत्महत्या की।
  • 2010 - मुख्य न्यायाधीश के.जी. बालाकृष्णन की अध्यक्षता में भारत के उच्चतम न्यायालय की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने बिना विवाह किये महिला और पुरुष का एक साथ रहना अपराध नहीं माना। 
  • 1919 - जयपुर राजघराने की राजमाता महारानी गायत्री देवी का जन्म हुआ। 
  • 2010 - नक्सली आंदोलन के जनक भारतीय कानू सान्याल का निधन हुआ। 
  • 1908 - अमेरिकी भौतिक शास्त्री जॉन बारडीन का जन्म हुआ, जो 1956 और 1972 दो बार भौतिकी के लिए नोबेल पुरस्कार के सहविजेता रहे। सन् 1956 का पुरस्कार उन्हें विलियम शोक्ले और वॉल्टर ब्रैटन के साथ ट्रान्जि़स्टर की खोज के लिए, तथा 1972 का नोबेल लियॉन एन. कूपर तथा जॉन आर. श्रीफर के साथ सुपरकन्डक्टर का सिद्धांत विकसित करने के लिए प्राप्त हुआ।  (निधन- 30 जनवरी 1991)-
  • 1707 -स्वीडन के वनस्पति विज्ञानी  कैरोलस लीनियस का जन्म हुुआ, वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने वंश (जीनस) और प्रजाति (स्पिशीज़) के जरिए जीवधारियों के नामकरण का एक तरीका सुझाया।  (निधन-10 जनवरी 1778)
  • 1960-फ्रांसीसी इंजीनियर, रसायनज्ञ और नियॉन लाइट के आविष्कारक  ज्यॉर्जेस क्लाउड का निधन हुआ। क्लाउड पहले व्यक्ति थे जिन्होंने सीलबंद नियॉन ट्यूब में विद्युत आवेश प्रवाहित कराया और 1902 में नियॉन प्रकाश लैम्प की खोज की। (जन्म-24 सितम्बर 1870)
  • 1949- अमेरिकी भौतिकशास्त्री  विलियम वैब्सटर हैन्सन का निधन हुआ, जिन्होंने राडार निर्माण के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इन्हें माइक्रोवेव तकनीक के संस्थापक के रूप में भी जाना जाता है। (जन्म 27 मई 1909)
  •   महत्वपूर्ण दिवस-अंतर्राष्ट्रीय तिब्बत मुक्ति दिवस ।

अन्य पोस्ट

Comments